डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो मम्मी पापा

तस्वीर का शीर्षक ,

परी वाला कहानी: डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म, जब किसी को आपके लंड से चुद कर खुशियाँ मिलतीं है तो ऐसी खुशियाँ मैं हर एक असंतुष्ट महिला या लड़की को देना चाहूंगा.

सेक्सी फिल्म दिखाएं वीडियो पर

मैंने कस के अपनी आँखें बंद कर ली, मेरे मुँह से चीख निकली और मैंने जोर से कहा- फक मी मोर… रुको मत… मुझे चोदते रहो! और अंदर डालो! भोसड़ा बना दो इस निगोड़ी चुत का!जैसे ही मेरा क्लाइमैक्स खत्म हुआ, मैंने आँखें खोली तो रिया की बड़ी बड़ी आंखों से मेरी तरफ देखता पाया। वो तो ये भी भूल गयी की उसके अंदर भी 3-3 लंड हैं जो उसे धकापेल चोद रहे थे. नंगे सेक्सी व्हिडिओ हिंदीदोनों लड़कों ने अपने फनफनाते हुए लंड रूसी लड़की के मुंह में घुसेड़ दिए.

मैंने आँखें तरेर कर पूछा- ए, क्या इरादा है तेरा?रिया के होटों पे एक कमीनी सी हंसी आई और उसने कहा- रंडी बनने का!रिया ने मेरा हाथ पकड़ा और वो मुझे फिर से डांस फ्लोर पे ले गयी. सेक्सी लड़की देखनेअब मैं उसे देखता हुआ सीढ़ियाँ चढ़ रहा था और उसे देखकर मेरा लंड तन चुका था.

ऋतु ने अपनी बाहों से मेरी गर्दन के चारों तरफ फंदा बना डाला जिसकी वजह से उसके मम्मे मेरे चेहरे पर रगड़ खा रहे थे.डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म: अगले दिन जब आरती आई तो मैंने फिर से वैसा ही किया, मगर आज मैं ब्लूफिल्म देखने के साथ लंड भी हिला रहा था.

वो थोड़ी सी कसमसाईं क्योंकि बहुत दिनों बाद उनकी चूत को लंड नसीब हुआ था.मेरी बाइक पर मैं मेरी वाइफ और मेरी दोनों सालियां चलने को आई, तो मैंने मेरी छोटी साली को मेरे पीछे बिठा लिया ताकि मैं उसके मम्मों का मजा ले सकूँ.

सेक्सी वीडियो घोड़ा और औरत - डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म

कुछ देर के सफर के बाद, हमें एक स्पीड बोट पे छोड़ा गया जहां हमारा बहुत जम कर स्वागत हुआ.सेकेण्ड में कोई जगह नहीं मिली 18 वेटिंग आ रही थी, आप सबको तो पता ही है कि ऐ.

तब जगा तू… क्यों सुमन कुछ याद आया तुझे?सुमन- हाँ दीदी, सब कुछ याद आ गया. डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म इस बार फिर मैंने अपने मन में ठान लिया कि आज रात को मैं किसी भी हालत में लंड लेकर ही रहूँगा और इस अस्पताल की रात को फालतू नहीं जाने दूँगा.

उसकी दाईं टाँग बिल्कुल सीधी मेरी बाईं टाँग से चिपकी हुई थी तथा उसकी बाईं टाँग मुड़ी हुई थी और उसका घुटना मेरी दोनों टांगों के बीच में था.

डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म?

वो सिसकते हुए बोल रही थी- ओह बेटा, ऐसे ही, हाँ ऐसे ही चोदो, अपनी माँ को ओह ओह हाँ हाँ और जोर से, बस पूरा पूरा पेल के आह आह हां बेटा उईई ईईई आईई इसी तरह से ज़ोर-ज़ोर से धक्का लगाओ, इसी प्रकार से चोदो मुझे… आह… सीईईई. अब सुमन की कहानी शुरू हो गई है तो इन सबका धीरे-धीरे काम ख़त्म ही समझो. दोनों लड़कों ने अपने फनफनाते हुए लंड रूसी लड़की के मुंह में घुसेड़ दिए.

उस रात हम दोनों सेक्स की बाते करते हुए कुछ ज्यादा ही रोमांचित हो गये थे और पहली बार हमने फोन सेक्स किया. मैंने कहा- चंद्रा भाभी, कहां से आ रही हैं?भाभी- बस आंगनबाड़ी से, हम बच्चों वालियों की तो यही ड्यूटी रह गई है. मेरी बड़ी साली उसके बड़े पापा साथ रहती है और छोटी उसकी मम्मी और डैडी के साथ रहती है.

ये ब्रा पूरी तरह से ट्रांसपेरेंट और नेट वाली थी, जिसमें से बूब्स साफ दिख सकते थे. मैंने उनके दर्द की परवाह किए बिना ही एक और जोर का धक्का दे मारा और मेरा पूरा लंड उनकी चूत में जड़ तक घुस चुका था. उसके बाद हमने खाना खाया और अपने अपने रूम में चले गए लेकिन जब मैं अपने रूम में आई तो मैंने अपने अलमारी से एक पोर्न वीडियो की सीडी निकाल कर प्ले की और अपने कपड़े खोल कर अपनी चुत में उंगली करने लगी.

उसके बाद उस आदमी ने उन लड़कियों को इशारा किया, वो बारी-बारी से आगे आई और उस हॉल के बीच में आकर कैटवॉक करते हुए अपने कपड़े उतारते हुए दूसरी तरफ खड़ी हो गई, उसके बाद उन पहलवानों का नम्बर आया और वो भी उसी तरह कपड़े उतारकर लड़कियों के बगल में खड़े हो गये. मैं पहले ही बता चुकी हूँ कि मेरे बूब्स कोई खास बड़े नहीं थे पर फिर भी संतरे जितने तो थे ही.

अब आगे हम लोग सुमन की तरफ चलते हैं जहां बाप बेटी सेक्स का खेल चल रहा है.

ऋतु- अरे इसमें ज्यादा वक्त नहीं लगेगा… अपना लंड निकालो… जल्दी!मैंने जल्दी से अपनी पैंट नीचे उतारी और ऋतु झट से मेरे सामने घुटनों के बल बैठ गई.

अब तक की इस जवानी की कहानी में आपने पढ़ा कि सुमन और टीना दोनों कल रात संजय के लंड की गई मस्ती की बातें करते हुए मजा ले रही थीं. रीना और कविता दोनों दिल्ली साथ साथ पढ़ कर बड़ी हुईं और वहीं से दोनों ने पढाई पूरी करी. मोटी जांगहें और जीन्स में से फनफनाता हुआ लंड… बाल ऊपर की ओर बनाये हुए जो काफी कड़क थे और गंभीर स्वभाव और चोदू लुक ऐसा कि बस गांड और चूत खोलकर लाइन से लेट जाओ तो एक ही दिन में 100 लड़कियो को माँ बना दे.

मैंने कहा- यहां पर लंड तो चुसवाना ठीक नहीं है लेकिन उसकी महक जरूर दे दूंगा मैं आपको. तुझसे अब क्या छुपाना जब में गाँव गई थी, मेरे पति के चाचा के बेटे यानि भाई ने ही मुझे दबोच लिया था. मैंने धीरे धीरे लंड को उसकी योनि में दो इन्च तक अंदर बाहर करना शुरू किया.

अब सीधा चुदाई की कहानी पर आते हुए बताना चाहता हूँ कि संजना मेरी फ्रेंड थी.

मतलब तुम लाइफ को खूब एंजाय कर रही हो।टीना- छोटी सी लाइफ है यार एंजाय नहीं किया तो मज़ा क्या? फिर बुढ़ापे में पछताने से क्या फायदा अब मेरी सेक्स स्टोरी तो मैंने बता दी. फिर मेरी को जैसे बताया तो उसने रिसोर्ट के चार प्ले बॉय हमारे साथ भेज दिए. उधर रोहित खाने की टेबल पर बैठा हुआ सविता भाभी के बड़े-बड़े मम्मों को घूरते हुए सोच रहा था कि सविता की जवानी तो और भी अधिक कामुक हो गई है, इसके चूचियां तो शादी के बाद और फूल गई हैं, काश इनको चूसने का मौका मिल जाए.

इसी के चलते मैंने उससे सेक्स के लिए पूछ लिया और उसे भी कोई ऐतराज नहीं था क्योंकि वो भी मुझे लव करने लगी थी. कुछ देर तक लंड को साबुन लगा लगा के मैंने खड़ा किया और फिर भाभी को आवाज लगाई- भाभी, प्लीज़ मेरे कपड़े देंगी, मैं भूल गया हूँ. उन दिनों, मैं चंडीगढ़ की एक सोसाइटी में रहता था तथा एक एमएनसी में एग्जीक्यूटिव की पोस्ट पर था.

मोना उसको लेकर बाथरूम में चली गई और पहले दोनों ने अच्छे से शावर लिया.

मेम भी जागी हुई थीं, बाहर तेज बारिश की आवाज आ रही थी।मैंने मेम से बोला- चलो बाहर बारिश में चलें।‘कहाँ बारिश में?‘हूँ. यार मैं भी तो यहीं हूँ।फ्लॉरा- नहीं यार मैं नहीं कर सकती।टीना- अच्छा जाने दे.

डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म जमीला की गांड दूसरे किनारे पर पहुँच गई तो मैं रफीक से बोला- तुम अब नीचे खड़े होकर जमीला की चूत चोदो. वो कहने लगी- राज क्या कर रहे हो? हटो यहाँ से, छोड़ो मुझे!और अपनी मेक्सी नीचे कर दी.

डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म उस वक्त मैं चुदाई की पोजीशन में आ गया।पहले मैंने किस किया, उसके होंठों पर होंठ रखें। उसके बाद मैं अपने लंड को उसके चूत के ऊपर से लन्ड रगड़ने लगा। चूंकि उनके होंठों पर मेरे होंठ थे तो वे कुछ बोल नहीं पा रही थी।लेकिन मेरे लंड को अपने चूत के अंदर घुसा लेना चाहती थी. टीना- मेरी जान तेरा ये एटीट्यूड देख कर सबकी हवा निकल गई, इनको पता है कि ये जो बोलेंगे वो तू कर देगी.

मेरा आधा लंड अभी भी इलास्टिक में फंसा था, पर प्राची भाभी मेरे शिश्नमुंड को अपने हाथ से सहलाने लगीं.

सेक्सी वीडियो छोटी छोरी

टीना ने सुमन को लेट जाने को कहा और फिर वो उसके पास बैठ कर बोली- संजू मैं तुम्हारे पास लेटी हूँ मगर तुम्हें मेरी कसम है. संजय ने अब तक पूरा लौड़ा फिट कर दिया था और वो पूजा के होंठ चूसने लगा था. मैंने कहा- नहीं भाभी, मैं आपके सिवाय किसी और की चूत में अपना लंड नहीं दूंगा.

धीरे-धीरे से मैं अपने लंड को उनकी चूत के अन्दर-बाहर कर रहा था और वो भी अपना पिछवाड़ा हिला-हिला कर मेरा साथ दे रही थीं. पूजा सिसकार उठी… उसके शरीर में तरंगें उठने लगी और फिर उसे ऐसा लगा कि पूरे शरीर में करंट लग गया है. अब ऋतु ने मस्ती में बड़बड़ाना चालू कर दिया- ऊफ्फ आह्ह्हा उम्म्ह… अहह… हय… याह… और चोदो सालो… फाड़ दो मेरी चूत गांड… मेरे बूब्स दबाओ… फ़क मी हार्ड… यस ऊह्ह्ह!राहुल उसकी गांड में और मैं उसके स्तनों को जोर जोर से थप्पड़ मार रहे थे और उसके साथ ही धक्के भी मार रहे थे.

मैं बहुत डर गया और उसके मुँह पर हाथ रख दिया, अब तक मेरा टोपा उसकी चूत के अंदर गया था.

अन्यथा तुम मत आना।उसने कहा- ठीक है।रात को 9 बजे पति के जाते ही मैंने अपनी चुत को चिकना किया और शादी के जोड़े को पहन कर अपने बेडरूम में सुहागरात जैसी दुल्हन बन कर बैठ गई और दूधवाले को फोन का इन्तजार करने लगी।उसका फोन आया तो मैंने उसे समय पर आने के लिए कह दिया।वो समय से 15 मिनट पहले ही आ गया. उसको कहने की ज़रूरत नहीं पड़ी, मेरे बैठते ही उसने मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ा और मेरे लंड के टोपे को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. मैंने कहा- तू है ही रंडी… एक रंडी!हम दोनों हंसी मजाक करने लगे, पूरी रात में मैंने उसे तीन बार चोदा और एक बार तो टॉयलेट में भी जहाँ बहुत मजा आया.

उसके बाद उसके दोनों हाथ पकड़ कर मैंने एक जोर का धक्का दे मारा, लेकिन चिकनाई के वजह से लंड फिसल गया. सोनू ने बताया कि कल उसका बहुत दिल किया तो उसने अपनी उंगली से आग शांत करने की कोशिश की परन्तु मजा नहीं आया. उसने मुझे बाद में बताया कि उसने कई बार मुठ मारी हमारी आवाज ही सुनते सुनते.

और उसके चेहरे पर उसकी मुस्कान तो उफ़ माशाल्लाह…जब वो हँसती थी तो चेहेरे में उसके डिंपल पड़ते थे, जो उसकी सुंदरता को और बढ़ा देते थे. फिर मैंने इस दौरान भाभी के मम्मों को भी चूसा और जोर से लंड के दमदार झटके देने लगा.

मैंने मेम को देखा वो भी तृप्त दिख रही थीं। उनकी सहमति के साथ ही अपना माल मेम के अन्दर ही डाल दिया। हम दोनों एक-दूसरे से 10 मिनट तक चिपके रहे। फिर मुझे नींद आ गई और मैं वहीं सो गया।रात को 2 बजे मेरी नींद खुली. जैसा कि आप सभी को पता है कि हमारा दुबई में एक छोटा सा लेडी अंडरगार्मेंट्स इम्पोर्ट एक्सपोर्ट का बिजनेस है, जिसमें हम लोग ब्रा-पैंटी, बेबी डॉल नाइटी, नाइटी और बिकनी की नई और उत्तेजक डिज़ाइनों का इम्पोर्ट एक्सपोर्ट करते हैं. मैंने जैसे ही उसके होंठों से होंठ मिलाए तो उसने एक लंबी ‘म्म्म्ह्ह्ह्ह.

तभी बाहर से कुछ लड़कियों की आवाज़ें आईं और कुछ देर बाद आवाज़ें बंद हो गईं, तो मैंने सोचा क्यों ना बाहर टहल कर आऊं.

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मैंने भी जल्दी से उनके पेटीकोट को उतार दिया और उनकी चुत को पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा. तिवारी के ऐसा पूछते ही अनीता ने तिवारी के हाथों को पकड़ लिया, तिवारी के लिए यह एक बहुत ही सुखद एहसास था, इससे पहले अनीता ने कभी तिवारी को छुआ नहीं था, तिवारी तो मानो अनीता के हाथों का स्पर्श पाकर गदगद हो गया, और अपने ही सपनों में खो गया अनीता के साथ…अनीता ने तिवारी का हाथ जोर से हिलाया और उन्हें दिवास्वप्न से बाहर निकाला- कहाँ खो गये तिवारी जी?’ अनीता ने पूछा. मैंने उसकी मैरून ब्रा पेंटी उतारी और उसकी एक चूची को मुँह में ले कर चूसने लगा.

फिर मेरा हाथ उनके मम्मों पर आ गया और मैं भाभी के मम्मों को मसलने लगा. करीब 5 मिनट ऊपर नीचे-होने के बाद मेरा लंड गीली चुत की वजह से स्लिप करके बाहर निकल गया।मैं- भाभी आप लेट जाओ.

अब मैंने मोर्चा संभाल लिया, पण्डित जी चित लेट गए और मैं धीरे धीरे ऊपर नीचे करते हुए सम्भोग का मजा लेने लगी. सो गए।फिर सुबह उठ कर अपने रुटीन के कामों में लग गए। शाम को सुकांत और मैं फिर दस बजे रात तक मिले, वह मेरे बेड पर आकर लेट गया।सुकांत बोला- सर आपने कल मजा बांध दिया. सविता को लगा कि उनकी सहेलियां उन्हें फिर से तंग करने आ गईं तो उन्होंने झुंझलाते हुए कमरे का दरवाजा खोला तो सामने अपने पति के दोस्त प्रेम को खड़ा पाया.

सेक्सी वीडियो दिखाइए हमको

गुलशन- फ्लॉरा डियर, मैं जान गया कि सेक्स की तलब हम दोनों को बराबर लगी है अगर तुम्हें ऐतराज न हो तो मैं अपना अजगर तुम्हारे बिल में घुसा सकता हूँ, इससे हम दोनों की प्यास मिट जाएगी.

ऐसे जैसे मुझे बार बार बुला रही है- आओ साड़ी उठा कर चोद दो मुझे यहीं पटक कर!उसकी साड़ी नाभि से बहुत नीचे बंधी थी तो उसके ब्लाउज से लेकर उसकी नाभि का हिस्सा बिल्कुल नंगा था, एकदम दूध से गोरा मन कर रहा था अभी उसे पकड़ कर चूमने लगूँ. उसने तकम कर कहा- एक मारूंगी, मैं तुम्हारी सिस्टर हूँ, भाई-बहन में ऐसा थोड़ी ना होता है. वहाँ पहुँचते ही भैया भाभी बहुत खुश हुए और दोनों ने मेरी बहुत अच्छी खातिर की.

थोड़ी देर बाद मैं चुपचाप टायलेट से निकला और अपने कमरे में दौड़ गया. रुचिका और नेहा ने सभी को काफी सर्व की और खुद भी काफी का कप लेकर हमारे बीच आकर बैठ गईं, सुलेखा को मैंने पहले ही अपने पास बिठा लिया था जब हम अरमान को छेड़ रहे थे, तो हमें देख कर नेहा बोली- ओह इधर ये जनाब जी, फिर सुलेखा को पास लिए बैठे हैं. सेक्सी संबंध वीडियोसुधीर- चुप कर साली छिनाल, कब से सेक्सी बातें करके मेरे लंड को उकसा रही है और चुदने का टाइम आया तो तूने फिर से नाटक शुरू कर दिया।मोना- आह यही सुनना चाहती थी मैं.

मेरे दिल की धड़कन बहुत तेज़ी से चल रही थी पर मुझे पता था कि अगर मलाई खानी है तो मुझे थोड़ा संयम बनाये रखना होगा. संजय ने उसके पैरों को मोड़ दिया और अपना लंड उसकी चुत पर सैट कर दिया और धीरे-धीरे वो उसको चुत पर घिसने लगा.

उनके निप्पल को हल्के हल्के दांतों में भरकर खींचा जिस से उनकी चीख निकल गई. उस दिन मैंने ख़ुशी के कारण खाना ना खाया, और ना सही से सो पाया मैं मन ही मन मुस्कुराता रहा, रात भर उसी के बारे में सोचता रहा और उसके बारे में सोचते हुए रात में 3 बार मुट्ठ मारी. इसके 2 मिनट बाद ही मैं भी तेज झटकों के साथ उसकी बुर में ही झड़ गया.

सविता के विवाह के समय उनकी कुछ अन्तरंग सहेलियां मजाक कर रही थीं कि सविता जैसी लड़की को एक लंड से कैसे संतुष्टि मिलेगी. कोमल- हाँ यार ऐसा ही कण्ट्रोल है साले का अपने मस्ताना पे बहन चोद का, यार सोचा आज स्काइप पर तुम लोगों की चुदाई देख कर हम भी चुदाई का आनन्द लेंगे. बिना मिले सीधा उसकी माँ को चोद पाना बहुत मुश्किल था इसके लिए मैंने रोहन के साथ मिलकर एक प्लान बनाया.

!मैंने जल्द से उसके एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया और उसे चुसकने लगा.

उसने इशारा किया तो मैंने दूसरे धक्के में पूरा लंड उसकी चुत में पेल दिया और उसे फिर से दर्द होने लगा. सुमन भाभी ने मुझे किस किया और कहा- आज तक तुम्हारे रमेश भैया भी मुझे इतना आनन्द नहीं दे पाए जो तुमने दिया.

फिर एक दिन एक लड़की मिली पूजा (बदला हुआ नाम) जो अजमेर की थी पर पढ़ाई के सिलसिले से जयपुर रहती थी. बरखा ने भी कुछ नहीं कहा और टीना के साथ सामने के कमरे में चली गई और दरवाजा बंद कर लिया. मैंने फ़ोन पर पूछा- कैसा लगा?उसने कहा- तुम्हारा लंड पसंद आया है यार, आग लग गई, कब मिटाओगे.

ऐसे कैसे पता लगेगा?सुमन- अब आपको क्या बताऊं दीदी मेरा मूड तो रात से खराब है. थोड़ी देर बाद उसने मुझे एक नीले रंग की बिकनी दी और उसे पहन कर दिखाने को बोला. सुमन- दीदी आपको ये सब कैसे पता और अगर वो इतने गंदे थे तो आपकी माँ ने उन्हें आपके करीब कैसे आने दिया?टीना- यार यही तो बात है, वो माँ के सामने बहुत शरीफ बनते थे और वैसे भी शादीशुदा औरतों को वो देखना पसंद नहीं करते थे, इसी कारण किसी को उन पर शक नहीं होता था.

डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म अब बात थी टाइम और प्लेस की, तो वो भी मैंने सैट कर लिया और हम दोनों चल पड़े प्यार के उस दरिया की ओर, जिसका ना तो कोई किनारा है और न ही गहराई की कोई सीमा है. कोई ऐसी सजावट इत्यादि नहीं दिखी जो वहाँ रहने वालों की रसिकता का परिचय देती.

गांव की फुल सेक्सी फिल्म

तभी यश ने कहा- चलो, इसे अंदर बेड पर लेकर चलते हैं, अब की बार जरा तबियत से चोदना है भाइयो!राहुल ने अपना लंड मेरे मुंह से निकाल कर मुझे अपनी गोद में उठाया और सब अंदर चल पड़े. ऊपर होते हुए अब मैंने उसकी समीज निकाल दी, वो पिंक एयरटाइट ब्रा में थी. सविता भाभी को इस बात पर अपने पति अशोक पर गुस्सा आने लगा कि हमेशा ही अशोक ऐसा करते हैं, उन्हें अकेला छोड़ कर चले जाते हैं.

मैं सोनू की बेचैनी समझ गया और उसके घुटनों को थोड़ा मोड़कर उसकी चूत पर लण्ड लगाकर पोजीशन ली. टीना- मेरी जान तेरा ये एटीट्यूड देख कर सबकी हवा निकल गई, इनको पता है कि ये जो बोलेंगे वो तू कर देगी. इंडियन सेक्सी मूव्ही हिंदीजब जॉन ने अपनीबहन की चुतको चाट कर एकदम साफ कर दिया, तब फ्लॉरा को होश आया कि अभी जो हुआ वो क्या था.

दोस्तो, कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि शिवानी भाभी की बहन आरती को मैंने कैसे चोदा.

मैं जल्दी से उठा और उसका मुँह दबा दिया, उसका पूरा सेक्स उतर चुका था पर मेरा नहीं; मैं एक हाथ से उसका मुँह दबाए रख कर उसके ऊपर लेट गया और फिर चोदने लगा. इस बात पर सविता को गुस्सा आ गया और उन्होंने अपनी सहेलियों को कमरे से बाहर जाने के लिए कह दिया.

पहली मीटिंग में फोर्मल बातें हुई जैसे क्या करते हो और ऐसा कुछ!वो एक अच्छी हाइट और एवरेज बॉडी की थी, मैंने उसको मूवी के लिए पूछा पर उसने मना कर दिया. कुँवारी चुत की खुशबू ही अलग होती है। वो पागल हो गया उसने पेंटी पर लगे पूजा के रस को जीभ से चाट कर साफ किया। उसका लंड फिर से खड़ा हो गया।संजय अपने लंड से बोलने लगा- अबे साले मरवाएगा क्या, अभी तो कांड किया है. यह सुनकर वो लड़का कामुक सिसकारियाँ लेता हुआ मेरे निप्पल को मसलने लगा, कभी मेरे होठों को अपनी पैंट में खड़े लंड पर फिरा देता और कभी लंड मेरे हाथ से रगड़वाने लगता.

एक दिन संडे का दिन था, सुबह के 7 बजे होंगे, मैं उठा और सीधे बाथरूम में सूसू करने चला गया लेकिन जल्दबाजी में दरवाजा लॉक करना भूल गया.

मैं सोने जाने लगा तो वो बोलीं- चलो अन्दर वाले बेड पर वहीं सो जाना, कुछ देर बातें करते हुए सो जाएंगे. इतनी बात बताने के बाद उस आदमी ने हम सभी को एक किनारे खड़ा होने के लिये बोला, जब हम सभी एक किनारे खड़े हो गये तो वही पहलवान टाईप के दिखने वाले आदमियों और उन लड़कियों ने कुर्सियों को बीच से हटाकर साईड पर लगा दिया और फिर हमसे बैठने के लिये बोला गया. अभी एक महीने पहले जब मैं घर गया था तो भाईसाहब ने मेरी मारी थी। पहले तो कुछ कह नहीं पाता था अब मैं भी सिकोड़ लेता हूँ.

देसी गर्ल सेक्सी वीडियो ओपनमैंने नीचे होकर मैंने उसकी जीन्स का बटन खोला, ज़िप नीचे की और उसकी चुत की महक को फील किया. फिर मैं गांड को झटके के साथ ऊपर नीचे करने लगी, मामा भी अपने हाथ का सहारा देने लगे, मैं सर को ऊपर की करके आनन्द लेने लगी, कहीं खो सी गयी, गांड के अंदर हलचल होने के वजह से बीच बीच मेरी चूत से गर्म सू सू निकल जाती थी जो मामा जी जाँघ को गीली कर रही थी.

सेक्सी बॉक्सर

मैंने महसूस किया कि बीच-बीच में मेरे लंड का सुपारा चाची की चूत के छेद में फस जा रहा था. मैंने इसी बीच कमर को जोर से दबा कर उनके ऊपर चढ़ गया, मेरा लंड जड़ तक फिसलते हुए घुस गया. तो लीजिये पेश है आज की कहानी आपके समक्ष:प्यारे दोस्तो, मैं आशिक राहुल पिछले 6 वर्ष से अन्तर्वासना पर कहानियाँ पढ़ रहा हूँ और सन 2015 से अब तक मेरी 13 कहानियाँ प्रकाशित हो चुकी है जिनके जवाब में मुझे बहुत सारे मेल प्राप्त हुए हैं, कई नए दोस्तों से मुलाकात हुई और कुछ से मिलने का मौका भी मिला.

हेमा- हाँ जानती हूँ और ये भी जानती हूँ कि आप मुझसे बहुत प्यार करते हो, आप कोई ग़लत कम नहीं करोगे. मूवी में जब किस्सिंग सीन आया तो उसने मेरी तरफ देखा और हम दोनों की नज़र एक हो गयी. जितनी देर मैंने उनके अन्डकोशों को हाथ में लेकर चूसा और पुचकारा, उतनी देर वो मेरी चूचियों को जोर जोर भींचते रहे.

तो सविता उठ के बोली- आग लगा कर मत जाओ!मैं बोला- मेघा मनोज के पास गई है, मुझे देखना है. वो बार बार बात करते करते मेरे मम्मों को देखता था, मुझे थोड़ी शर्म आई. मैंने अपने बैग में से सभी ब्रा, पैंटी, नाइटी, बेबी डॉल नाइटी और बिकनी निकाल कर टेबल पर रख दी.

मैंने उनके कपड़ों की तारीफ़ की और उन्होंने भी मुस्कुरा कर मेरे कपड़ों की भी तारीफ़ की. नमस्कार दोस्तो,मेरी होम सेक्स कहानी की पिछली कड़ी में आपने पढ़ा कि मेरे काफी कहने के बाद चाची अपनी चूत दिखाने को राजी हो गईं.

मैंने अपने सीधे हाथ को स्वतन्त्र करते हुए अपनी प्यारी बीवी की स्कर्ट के नीचे पहनी चड्डी को टहोक कर उसके बीच के हिस्से को एक तरफ कर उसकी मक्खन जैसी मुलायम, गुलाबी चूत को नंगी कर दिया और उसको हाथ से सहलाने लगा.

मौसी बोली- अभी रुक जा, तेरी माँ वहाँ पहुँच कर जब फोन कर देगी, तब देखेंगे. हॉट सेक्सी शॉर्ट फिल्मउसका बायाँ बाजू मेरे कंधे के ऊपर से मेरी पीठ पर था तथा उसने उससे मुझे जकड़ा हुआ था और उसका दायाँ बाजू हम दोनों के बीच में था तथा उसका वह हाथ मेरे लिंग पर रखा हुआ था. सेक्सी सेक्स अमेरिकाअनुराधा- मुझसे नाराज मत होना… नहीं तो मैं मर जाऊंगी भैया… तुम जो कहोगे मैं करूँगी. मैंने उनकी चूत पर भी बाइट देना चालू किया।वे तो जैसे उत्तेजना में पागल हो गई थी। वे मेरी सर को पकड़कर अपने चूत के ऊपर दबाने लगी.

!खैर दोस्तो, इस बार अपने वायदे के मुताबिक मैं अपनी दूसरी कहानी लेकर आई हूँ.

रानी कसमसाई और उसने पेटीकोट का नाड़ा खोल कर ढीला किया और अपनी कमर उठा कर पेटीकोट अपने नीचे से निकाल दिया. ऋतु बोल उठी- उह्ह राज… तुम्हरा लंड तो बहुत बढ़िया है, इसेमेरी चूत में डालोन!और उसे चूसने लगी!उसके मुँह में लेते ही मेरा लंड ऐसे कड़क हो गया जैसे वियाग्रा की 100 एम जी गोली खा ली हो. जब हम योगा कर रहे थे तो मैं मेरे बेटे के आगे आ गई और योगा करने लगी.

अपने लंड मेरी चुत के अन्दर पेल दो।मैंने कहा- ठीक है।फिर भाभी मेरी जाँघ के ऊपर बैठ गईं और मेरे लंड पर कन्डोम लगा कर अपनी चुत के अन्दर लेने लगीं। पहले धीरे-धीरे नीचे को हुईं और मेरा लंड उनकी चुत में अन्दर घुसता चला गया। लंड जैसे ही घुसा. मैंने उनके मुँह में अपनी जीभ को डाल दिया और उनके चूचे टॉप के ऊपर से दबाने लगा. तिवारी और विभूति ने अपनी जगह ली और उनसे पूछा- क्या चल रहा है बे लौंडो?‘कुछ नहीं भैया जी, बस काम की बातें होऊ रही.

सेक्सी भाभी के सेक्स वीडियो

हम दोनों के पास आकर नेहा ने अपनी चूत को मनोज के मुंह पर रख दिया, मनोज नेहा की चूत चाट रहा था और नेहा ने अपने होंठ ऊपर से नीचे को मुंह करके सुलेखा के होंठों से मिला लिए. ओह माँ, इसी तरह से चूसो अपने बेटे का लंड!मेरा लंड को अपने मुँह से बाहर निकाल कर माँ ने फिर मेरे अंडकोषों को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी. ऋतु ने अपनी आँखें खोली और मेरी तरफ नशीली आँखों से देखा और मुझसे कहा- आई लव यू… रोहण!मैं कुछ समझ पाता इससे पहले उसने अपनी गांड का दबाव मेरे ऊपर डाल दिया और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समाता चला गया.

जैसे तैसे पेशाब करके और लगभग उसके सामने ही लौड़े को पैंट के अंदर डाल कर मैं फिर उसके पीछे बैठ गया.

पैंट उतरने के बाद जैसे ही उसने मेरे अंडरवियर के इलास्टिक को नीचे किया, मेरा फड़फड़ाता हुआ 8 इंची लंबा और 3 इंची मोटा लौड़ा बाहर झटका देकर निकला.

मेरी बारी आई तो मैंने लता जी का गाना ‘आपकी नज़रों ने समझा प्यार के काबिल मुझे’ सुनाया फिर तो जैसे महफ़िल रुक ही गई और हर और से किसी न किसी गाने की फरमाइश आने लगी और मैंने पांच और गाने सुनाये. अब हम दोनों जंगली हो चले थे सब्र किसी में भी नहीं था… मैं उसकी साड़ी उतारने लगा तो उसने मना कर दिया, उसने कहा- कोई आ भी सकता है, साड़ी नहीं खोलूंगी. एक्स एक्स सेक्स सेक्स सेक्सीदोनों लंड काफी फंसे हुए मुंह के अन्दर घुसे हुए थे, और सच पूछिये तो नताशा को मुंह चलाने के लिए जगह ही नहीं मिल पा रही थी, उसकी जीभ भी हमारे लंडों के बीच फंस सी गई थी और किसी भी प्रकार की क्रिया नहीं हो पा रही थी.

ऐसा होना मुश्किल है, अच्छा ये बताओ ग्रुप के साथ तुम्हारा ये पहली बार है ना?टीना- हाँ, पहली बार है क्यों?फ्लॉरा- यार इसी लिए तो मुझे नामुमकिन लग रहा है कि तुमने ‘हाँ’ कैसे कह दी, पहली बार में तो एक ही भारी पड़ता है. क्यूंकि पहले ही लंड का रस वो निकाल चुकी थी इसलिए अभी मेरा लंड झड़ा नहीं था तो उनको अपने ऊपर बैठाया. मगर आज मैं अपने ब्राजील की नहीं, अपनी मामी के घर में हुई की चुदाई बताने जा रही हूँ.

मैंने उसे लिटाया और उसकी चिकनी टांगों को पकड़ कर उसकी कामुक चूत में अपनी जुबान घुसेड़ दी. उसकी आवाज से मैं पहचानता हूं कि वो मेरी इकलौती बहूरानी अदिति थी जो मुझे अपना पति समझ के सम्भोग करने के लिए उकसाती है, मुझसे लिपटती है, मेरा लंड चूसने लगती है.

पूरा प्रोग्राम बना कर चारों यार शुक्रवार को दोपहर को ही अपने अपने ऑफिस में आधे दिन की छुट्टी टिका कर निकाल पड़े.

हो सकता है कि ये सच होती हों।बात तब की है, जब मैं 12वीं के एग्जाम के रिज़ल्ट का वेट कर रहा था और मुझे इसके लिए अपना 10 वीं का डिप्लोमा लेने के लिए अपने पुराने स्कूल जाना पड़ा। मैं डिप्लोमा लेने के लिए वहाँ गया। मैंने प्रिंसीपल से डिप्लोमा लेने के लिए बात की और प्रिंसीपल ने बोला कि कल आना।फिर मैं स्कूल के साथ प्रिंसीपल के कमरे से बाहर चला गया. मैंने कहा- मैंने तुम्हारे साथ सपने में और क्या किया?तो उसने कहा कि तुम बहुत सेक्सी हो. मेरी प्राणप्यारी नताशा ने कुछ वीर्य पी लिया और कुछ वीर्य उसके स्तनों पर टपक गया, जिसे उसने अपनी हथेलियों से अपने शरीर पर मल लिया.

सेक्सी भोजपुरी सेक्सी बीपी गुलशन जी ऊपर से नीचे तक फ्लॉरा को चाट रहे थे, उसकी चुत को चूस रहे थे और वो जल बिन मछली की तरह तड़प रही थी. अब सीधा चुदाई की कहानी पर आते हुए बताना चाहता हूँ कि संजना मेरी फ्रेंड थी.

आज मुझे एक गैर मर्द के सामने ब्रा-पैंटी में जाने में बहुत शर्म आ रही थी. भाभी की इस नाराजगी भरे कमेंट्स से मुझे ग्रीन सिग्नल सा मिला, मैंने धीरे से कहा- तो हम क्या मर गए हैं भाभी?यह सुन कर भाभी एकदम से सर घुमा कर मेरी आँखों में देखने लगीं. पापा बोले- तू तो जानती है कि अभी तू दूसरी बार ही चुद रही है, तो लंड घुसाते वक्त तो दर्द होगा ही.

सेक्सी साधु सेक्स

अब डिनर करके जाओगे क्या?चलो थोड़ा सुमन के होम सेक्स को भी देख लो, आज उसकी सील टूटने वाली है तो उसने क्या किया है. उसका चेहरा सुबह की रोशनी में चमक रहा था तथा उस पर एक अबोध बच्चे के जैसी मासूमियत थी जिसे मैं बिना हिले डुले चुपचाप निहारते हुए बीती रात के प्रसंग के बारे सोचने लगा. लगभग 10-12 पिचकारियों के बाद मैंने जैसे ही लंड बाहर निकाला वैसे ही नीचे किसी के आने की आवाज सुनाई दी.

थोड़ी देर बाद मामा ने मुझसे पूछा- रिशू, मज़ा आया?मैंने भी मुस्कुराते हुए बोला- बहुत ज्यादा. मैं भाभी के नितंब और स्तन ऐसे मसल रहा था, जैसे मेरी उन्हें उखाड़ लेने की मंशा हो.

मेरी कमर स्लैब के कोने पर थी और सबीना मेरे मस्ताना पर सवार हो गई, जमीला नीचे जमीन पर घुटनों के बल बैठ कर मेरा मस्ताना और सबीना की चूत चाटने लगी, कभी जमीला मेरी गोलियों को चूसती कभी मेरे मस्ताना को चाटने लगती, जब मस्ताना सबीना की चूत के अंदर बाहर होता.

बस यूं हीबहन के साथ चूत चुदाई का खेलचलता रहता था और अब तक न जाने कितनी बार इस खेल को खेला होगा. काफी देर तक मैं सुमन भाभी को चोदता रहा और फिर मेरा पानी भी निकल गया. फिर क्या हुआ?टीना- होना क्या था मॉम काम में इतनी उलझ गईं कि बहुत कम उम्र में ही मुझे खुद को और अपने भाई को संभालना पड़ा और धीरे धीरे दिन गुजरने लगे.

शहज़ाद ज्यादा इंतज़ार न कर सका और उसने अपने लंड को मेरी चूत पर लगा दिया. मैं पीछे से थपाथप अपना लंड सुमन भाभी की चूत में मारे जा रहा था और सुमन भाभी मेरा साथ दे रही थीं. ओके?मैंने उसकी पीठ पे करारा धौल जमाया और हम दोनों जोरों से हंस पड़ी.

आपको तो पता ही होगा कि अस्पताल में हर फ्लोर पर एक हेल्प डेस्क होती है जहाँ से सारे वार्ड की देखभाल की जाती है और वार्ड बॉय और नर्स सब वहीं बैठे हुए रहते हैं रात भर!मेरी नजरें उन्हीं वार्ड बॉय में से किसी एक मस्त जवान मर्द को ढूंढ रही थी.

डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ सेक्सी फिल्म: फिर उसने मेरा लंड चूसना छोड़ दिया और कमरे के बीच में पड़े हुए एक ऊँची सी टेबल पर लेट गई और अपनी चूत की फांकों को फैलाते हुए मुझसे उसकी चूत चाटने को बोली. मुझे भी इसमें कुछ खास बुराई नहीं लगी और वैसे भी मैं उनसे अपने आप को आकर्षित महसूस कर रही थी तो मैंने हाँ बोल दिया.

मेरी चूत में सू सू भरी होने के वजह से मुझे चूत में जोरों से खुजली होने लगी, मुझे सू सू कंट्रोल से बाहर हो रही थी, लग रहा था कभी भी सू सू निकल जाएगी. मैं कराहने लगी और रोते हुए बोली- मैं आपको कल रात गांड मारने दे दूँगी पर अभी छोड़ दीजिए. मैंने अपने हाथ उसकी चौड़ी गांड पर रखे और उन्हें दबाते हुए नीचे से धक्के मारने लगा.

तुम सच में बहुत हैंडसम हो और तुम्हारे लंड की गर्मी सीधे मैं अपनी चुत पर महसूस कर रही हूँ.

मैंने बहुत देर तक आप दोनों की हल्की आवाजें सुनी मगर कुछ समझ नहीं आया. रोज की तरह सुमन तैयार होकर कॉलेज के लिए अपने कमरे से निकली मगर आज उसका रूप कुछ अलग ही नज़र आ रहा था. दोस्तो, आज एक लम्बे अंतराल के बाद आपसे मुखातिब हूँ अपनी नयी कहानी के साथ.