सेक्सी बीएफ लगाओ

छवि स्रोत,सबसे सुंदर लड़की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

आज का रोजा: सेक्सी बीएफ लगाओ, आपको मेरी ये देसी चाची की चुदाई हिंदी कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे बताना न भूलें.

मास्टर का सेक्सी वीडियो

मेरी मम्मी मुझे रोकेंगी भी तब भी मैं उनसे कोई न कोई बहाना करके आपके आ जाया करूंगा. रीमिक्स वीडियो सेक्सीउन्होंने अपनी टांगों को मेरी गांड पर लपेट लिया और चूत को उचका उचका कर चुदने लगीं.

इसके बाद नीरू ने खुद ही अपने मुँह को मेरे लंड पर लगा कर उसे चूमा और कहने लगी कि मेरा कमीना बड़ा प्यारा है. बीपी बीपी सेक्सी सेक्सी बीपीउसने हंसकर और आंख मारकर मुझे देखा और गांड मटकाती हुई अन्दर चली गयी.

इसी दौरान उसने अपने लोअर से लंड निकाल कर और पीछे से दिख रही मेरी चूत में सैट कर दिया.सेक्सी बीएफ लगाओ: मेरे परिवार में मेरे मम्मी पापा और मेरा भाई है, जो मुझसे उम्र में एक साल बड़ा है.

आंटी काफी शौकीन लग रही थीं क्योंकि उनके पास लेटेस्ट ट्रेंड की सारी नाइट वियर्स थे और वैक्सिंग का सारा सामान भी था.अब आगे लेडी डॉक्टर सेक्स कहानी:मैं फ्रेश होकर और लुंगी पहन कर आ गया.

इंडिया की लड़कियों का सेक्सी वीडियो - सेक्सी बीएफ लगाओ

मैं अपनी खाला की देवरानी बन गयी।अम्मी मेरी बहन हो गयी और अब्बू मेरा जीजू!नए नए चुदाई के रिश्ते बन गए.उसने मेरे गाल पर हल्के से चूमते हुए अपना एक हाथ मेरे सर पर रख दिया और मेरे बालों को सहलाने लगी.

चाची मुझे छत पर आया देखकर बोलीं- क्या हुआ … क्या तू भी छत पर सोएगा?मैंने हां बोला. सेक्सी बीएफ लगाओ लेकिन तीसरे दिन हुआ क्या कि जिस कमरे में भईया सोते थे, उसमें सोने के लिए मामी ने मुझसे कहा.

अबकी बार 15 मिनट के बाद मैंने अपना लंड चूत से निकाल कर उसके बूब्स पर सारा माल छोड़ दिया.

सेक्सी बीएफ लगाओ?

मैंने ये देखने के लिए एक नज़र मम्मी के चेहरे पर डाली कि उनकी आंखें बंद हैं या नहीं. उसके लंड का सुपारा मेरी कुंवारी बुर के अन्दर गया ही था कि मेरी चीख निकल गई. जैसे ही अन्दर आया, तो देखा रीता वहां पहले से ही अपनी सीट पर चुपचाप सी बैठी थी.

मैं बेडरूम के पास जाकर रुक गई और पलट कर मुकेश की तरफ देखा; उसे आंखों ही आंखों में बेडरूम में आने का न्यौता सा दे दिया. पहले मैंने धीरे-धीरे अपनी साली की बुर को चोदना शुरू किया तो शुरू में उसे दर्द का अहसास हुआ. मौसी के नंगे बदन को देखकर मैं तो जैसे पागल सा हो गया था और पागलों की तरह मौसी की नंगी चूत को चाटने में लगा था.

तो वह घबरा गई- क्या भाई? नहीं पीछे नहीं!मैंने कहा- मेरी जान, बहुत हीप्यार से मारूंगा तेरी गांडमैं!तो वह थोड़ी ना नुकुर के बाद मान गई. मैंने उसे देख लिया और रुक कर उससे पूछा- निशा, आप इस घर में रहती हो?उसने बोला- हां … क्या आप रोज इसी रास्ते से आते जाते हो?मैंने बोला- हां. लेकिन दीदी की बुर का छेद छोटा और टाइट होने की वजह से चाचा जी का लंड अन्दर नहीं जा रहा था.

मौसी- अच्छा!मैं- हां मौसी, आप दिखने में हो ही इतने सुंदर कि मैं अपने आपको रोक नहीं पाया. पहली बार ब्रा में उसकी चुचियां मैंने लाइव देखी तो मस्त हो गया और जल्दी से उसकी ब्रा उतारने लगा.

पूरी आइसक्रीम लगी चूत चाटने के बाद उसने फिर से अपनी उंगली मेरी चूत में डाली.

फिर मैं सोचने लगी कि जब तक वह मेरे साथ कोई गलत हरकत नहीं करता, तब तक मैं किसी से कुछ नहीं बताऊंगी.

ये बात विमला को पता थी, फिर भी उसकी विनती पर मैं पिघल गया और उसके हाथों पर मेहंदी बनाने के लिए तैयार हो गया. कमर के नीचे से लहंगा बांधा हुआ था, तो सपाट पेट पर नाभि बड़ी ही दिलकश लग रही थी. मुझे हैरान देख कर वो बोली- क्यों कैसा लगा सॉफ्टवेयर?मैं उसे देखता रहा, कुछ बोल ही नहीं पाया.

अब उसके घर पहुंचने पर क्या हुआ … वो सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. आज मैं आपको एक बात बताता हूँ कि एक विधवा औरत और एक बच्चे की सोचने की क्षमता एक जैसी होती है. मैं मन ही मन ये सोच कर खुश था कि शायद आज रात रंगीन होने वाली है, पर मैं डर भी रहा था कि अगर कुछ उल्टा हो गया, तो मेरी वाट लग जाएगी.

निशा- आंह अमित अह … अअअहहह … देर न करो … पहले एक बारमुझे चोद दो प्लीज़!लेकिन अभी तो शुरुआत हुई थी.

काफी देर चोदने के बाद मैंने अपना वीर्य भाभी की टाईट चूत में निकाल दिया. साथ ही उसके निप्पल मेरी पीठ में गड़े जा रहे थे जिससे मेरा लंड और भी सख्त हो गया. कुछ ही देर में अंगिका भी आ गई।वो मुझसे द्विअर्थी शब्दों में बातें कर रही थी … खास तौर से अपनी दीदी को लेकर!फिर खाना खाने के बाद मुग्धा ने सभी को दवा दूध में पिला दिया सब सोने चले गए।एक कमरे में मैं और मामा जी थे, दूसरे में अंगिका उसके भाई के साथ थी।मुग्धा हाल में सोयी थी.

अब मैं और मेरे पति दोनों फ्रेश हो गए और उन्होंने हमारे घर में सभी से उनके हालचाल पूछे और बातें करते रहे. उसके दोनों हाथों में एक एक कड़ा था, जो उसके घूमते थिरकते हाथों में उसकी खूबसूरती को और बढ़ा रहे थे. मुझेसेक्स करने की चाहतस्कूल टाइम से थी, शर्मीला होने के कारण मैं कभी किसी से बात नहीं कर पाया और पता नहीं चला कि मैं कब कॉलेज में आ गया.

फिर से मैंने अपने लंड को चूत के छेद पर लगाकर एक धक्का लगाया तो लंड का सुपारा चूत में घुस गया.

मैंने उसकी टांगों को फैलाया और पूछा कि कभी किसी का लंड लिया है?जीजू आप खुद अपना लंड डाल कर देख लीजिए. मुझे किस करने के बाद वो उठीं और उन्होंने अपनी साड़ी पूरी तरह से खोलकर एक तरफ कर दी.

सेक्सी बीएफ लगाओ सरिता बोली- हां हर्षद, अगर तुम मेरे पास होते तो, ना जाने क्या करते … ये सोचकर ही मैं पागल हो रही हूँ हर्षद. मैंने दीदी से पूछा- वो लोग क्या बोल रहे थे?दीदी ने कहा- कुछ नहीं, वो आपस में ही कुछ जोर जोर से बोल रहे थे.

सेक्सी बीएफ लगाओ उसे पीने के बाद मैंने भाई को किचन में बुलाकर पूछा- मेरी लोअर फट गयी है, तो मैंने ये स्कर्ट पहन ली है. वो बिलखने लगी और तड़पती आवाज़ में बोली- बहनचोद डाल दे … क्यों सता रहा है?मैंने पूछा- क्या डालना है?वो बोली- तुम्हारा वो!मैंने पूछा- वो क्या?वो बोली- पेनिस!मैंने कहा- हिंदी में बोलो.

उसने पिंकी के हाथ को पकड़ कर चूम लिया और उसका घूंघट हटा दिया।दुल्हन बनी पिंकी बहुत खूबसूरत लग रही थी।फिर रोमिल ने उसके गहने उतार दिए.

हिंदी मे सेक्सी व्हिडिओ बीपी

मैं- अहहा … आशिमाआ … आंह मेरी जान … बहुत मज़ा आ रहा है … जान ऐसे ही करो. वो मेरी गोदी में बैठी थी और मैं उसके मम्मों को जोर जोर से दबा रहा था. मैंने उससे पूछा- तू किसकी चूत दिलवाने वाली है!उसने बर्थडे पार्टी के दिन मिलवाने का बोला और गांड हिलाती हुई चली गई.

अगले ही दिन मैं अपने पिताजी के एक दोस्त के पास गया और उन्हें ज़मीन और सारी चीजें बेचने की बात बताई. मैंने अपने लंड के सुपारे को उसकी चूत की छेद पर सैट किया और एक धक्का मारा तो वो चूत से फिसल गया. अब वो भी मस्ताने लगी थी- आह जोर से … और जोर से जीजू … आज से मैं आपकी हुई … आपका जब मन करे, मुझे प्यार करो, जब चोदने का दिल करे तो अपने ऊपर लेटा लो … आप जैसा बोलोगे, मैं वैसा करूंगी … बस मुझे जिंदगी भर चोदते रहना.

जिन पाठिकाओं को यह सुख प्राप्त हुआ होगा, उन्हें इस आनन्द की अनुभूति पता होगी.

उसने मेरे सिर के पीछे हाथ रख कर उसने मुझे झुका दिया और अपने खड़े लंड की तरफ मेरे मुँह को ले गया. मैंने कहा- किसके साथ?उन्होंने बताया कि मैं अपने मालिक के साथ सेक्स करती हूँ. और मुझे नहीं पता था कि इस बार तुम जैसे हसीन गांड मुझे मिल जाएगी इतनी जल्दी ही!उसने झट से मुझे पलट कर मेरी गांड को अपने हाथों से चौड़ी कर दी, मेरी गांड पर जीभ दे दी.

जिन फीमेल पाठकों को लंड चूसने में मज़ा आता है, वो प्लीज मुझे मेल करके जरूर बताएं कि लंड चूसते हुए उन्हें कैसा महसूस होता है. वो कहकर चिल्लाने लगी लेकिन मेरे ऊपर उस वक्त उसकी किसी भी बात का असर नहीं हो रहा था. फिर लेट कर उसकी चूत पर अपना लंड टिकाया और जोरदार धक्के से पूरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक घुसा दिया.

मौसी की चूत की चुदाई की इस कहानी में पढ़ें कि मैं छुट्टियों में मौसी के घर गया तो मौसा जी बाहर गए हुए थे. मेरा लंड उनके घर में घुसते ही खड़ा होने लगा और दो ही मिनट में ही पूरा खड़ा हो गया.

झूमते झूमते वो अपने मम्मों पर हाथ फेरने लगी, अपने हाथों से दूध दबाने लगी. मैंने उसे लेटा दिया और उसके मुँह में मुँह लगा कर उसके होंठों को चूसने लगा. मैं रीता की नाभि को अपनी जीभ से चाटता हुआ, अपनी जीभ उसकी गर्म चूत पर ले आया और उसकी चूत को धीरे धीरे चाटने लगा.

पहले तो मौसी ने मना किया लेकिन फिर मौसी धीरे धीरे मेरे लंड को चूसने लगीं.

तो मैं बाथरूम में गया, गीजर चालू करके गर्म पानी को एक जग में ले आया. पहली बार ब्रा में उसकी चुचियां मैंने लाइव देखी तो मस्त हो गया और जल्दी से उसकी ब्रा उतारने लगा. मैंने फिर से लंड पेला और एक तेज झटके में आधा लंड चाची की कसी हुई चुत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया.

जांघों पर हाथ सहलाते सहलाते मैं अपने हाथ उसकी चूत के आस पास सहला रहा था. उस समय मई मम्मी के पास ही बैठा था, तो मम्मी ने मुझसे पूछा कि तू मौसी के पास चला जाएगा?मैंने भी हामी भर दी.

खड़े लंड की बात सुन कर अगले ही पल नव्या भाभी नीचे बैठ गईं और मेरा लोअर और चड्डी उतारकर लंड देखने लगी. इस तरह से वो मुझको गाली देता और थप्पड़ मारता हुआ मेरी गांड को नौच रहा था. अगर किसी को कोई भरोसेमंद मिल जाए, तो कभी उस पर भरोसा करके भी देखना चाहिए.

मां की सेक्सी स्टोरी

मॉम और मैंने अपनी बहन खुशबू को समझाया, वो बोली- पापा को पता चल गया तो क्या होगा?फिर हम सभी ने मिलकर घर छोड़ने का फैसला कर लिया.

मुझे लगा कि भाई मेरी तरफ देखने वाला है तो मैंने अपनी आंख बंद कर ली. मैं उसके बालों को सहला रहा था और बोल रहा था- आह … ओ…ह … हाँ मेरी जान … पीओ इसे … आह और चूसो!मैं कह रहा था- सक इट बेबी … आह आ जाओ … और तेज पीओ जान!तब मैं बिल्कुल अलग ही दुनिया में था. हॉस्टल से आने के बाद मैं अपनी मम्मी को देख कर उत्तेजित तो ज़रूर हुआ था पर उनकी चुदाई करने का मन अब ज्यादा करने लगा था.

मैंने अपना एक हाथ उसके मम्मों पर रख दिया और धीरे धीरे से दबाने लगा. अब आंटी भी अपना काबू पूरी तरह से खो चुकी थीं और मेरे सर को पकड़ कर अपनी चूत पर दबाने लगी थीं. पढ़ने की सेक्सीअब हमारी सेक्स की तड़प इतनी ज्यादा हो गई थी कि हमसे रहा नहीं जा रहा था.

इस वक्त यदि मैं सौम्या डार्लिंग को मैं पकड़ कर किस भी कर देता तो भी सौम्या विरोध नहीं करती. वो बोली- फ्लैट किसका है … क्या वो भी उधर होगा?मैंने कहा- नहीं, वो हर शनिवार को अपने घर चला जाता है.

हअअ ओह …’इसी बीच मैंने शिल्पा की चूत में एक उंगली करना चालू कर दी तो उसका मुँह सिसकारी लेते हुए खुल गया. हार्दिक ने अब अपना हाथ शनाया की चूत पर रख दिया और वो चूत रगड़ने लगा. मेरी मम्मी आज घर पर नहीं थीं वो अपने स्कूल के काम से शहर से बाहर गई हुई थीं और मेरा भाई मेरे लिए कोई समस्या नहीं था.

रेखा के मुलायम होंठों ने मेरे लंड के सुपारे को कसकर पकड़ रखा था और उसकी गीली मुलायम जीभ मेरे सुपारे पर गोल गोल घूम रही थी. मेरी मौसी ने मुझसे कहा- अदिति भी पटना में ही रहकर मेडिकल की तैयारी करना चाहती है तो हमने उसके लिए एक हॉस्टल देखा है. मैंने अपने घर में फोन करके बता दिया कि आज मैं विलास के रूम पर ही सो जाऊंगा.

उनकी इस बात पर मैं कुछ बोलता तो पकड़ा जाता, इसलिए मैं चुप ही बना रहा.

मैंने अपनी जीभ मम्मों पर लगाते हुए उसकी एक चैरी को चूसना शुरू कर दिया. उसे भी चुत चटवाने में मजा आने लगा और वो धीरे धीरे मेरा साथ देने लगी.

Xxx ऑफिस सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपने बारे मैं बता देता हूँ. ये देख कर मैंने भी देर न करते उसकी चुत में धक्के लगाने शुरू कर दिए. उन्होंने मुझसे पूछा- बेटा नींद नहीं आ रही क्या?मैं बोला- अंकल, मैं थोड़ा लेट ही सोता हूँ.

काफ़ी सारा पेशाब विलियम के मुंह में चला गया था और उसने मुझे देखते हुए वह पी भी लिया. जैसे ही मैंने उसकी पैंटी की इलास्टिक में हाथ डाला तो उसके हाथ ने मेरे हाथ को एक पल के लिए रोक लिया. लेकिन उसका वो पल जब उसने मुझे बोला था ‘रुकिए!’आह … वो सुरीली आवाज़ और मिठास का अद्भुत संगम था.

सेक्सी बीएफ लगाओ आहह क्या मज़ा था … उसकी नर्म नर्म जांघों का!उसकी जांघ का स्पर्श पाकर ही जन्नत का मज़ा आ गया था. तुम हो कि मेरे तरफ देखते भी नहीं हो। आज मुश्किल से मौका मिला है मेरी जवानी का मज़ा लो प्लीज! मैं आपकी दीवानी हूँ। मैं अपनी जवानी आप पर लुटाना चाहती हूँ.

सेक्सी वीडियो मछली

और मैं हर धक्के में जोर से सिसकार उठती- ओह मां … उह … आह … ओह … आह, ओए!मुझे कुछ बोलने की जरूरत ही नहीं पड़ती, मेरी तो ऐसे ही हालात खराब थी।मैंने सिर्फ बोला- थोड़ा तेज चोदो ना प्लीज़!जेठ जी ने लन्ड को बाहर निकाल लिया. मेरा लंड एकदम से फुदकने लगता है और ऐसा लगता है कि सब कुछ भूल कर बस चाची के ऊपर चढ़ जाऊं. तो डॉक्टर ने उन्हें कहा- पीछे आइये!और पर्दा गिराकर बोला- अपने बूब्ज़ दिखाइए!मम्मी ने सोचा कि डॉक्टर है तो इससे क्या छिपाना!मम्मी ने अपना ब्लाउज ऊपर कर दिया,मैं आपको बता दूं कि मेरी मम्मी ब्रा-पैंटी नहीं पहनती।डॉक्टर ने कहा- इनको दबाइए जरा!तो मम्मी अपनी एक चूची को हल्के से दबाया.

मैंने झट से उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए इससे सरिता की आवाज अन्दर ही दब गयी थी. कुछ धक्के मारने के बाद मैंने सारा पानी उसकी गांड के ऊपर गिरा दिया और शांत हो गया. हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियोतभी धीरे से मैंने उसका हाथ उठाकर अपने लंड पर रख दिया तो वो एकदम से चौंक कर मेरी तरफ देखने लगी.

वो अपनी गांड को जोर जोर से पीछे करती, जिससे जब दोनों के जिस्म एक साथ टकरा जाते.

मेरी भाभी बनी सौम्या ऐक्सिडेंट के बारे में बताने लगी और बताते हुए ही रो पड़ी. मैंने देर ना करते हुए उनकी पैंटी को जो जांघों तक थी, उसको वापस चढ़ा दिया और उसकी पट्टी को एक साइड करके उसमें से मैं चूत में अपने लंड को घुसाने लगा.

उधर से एक कटोरी में सरसों का तेल लिया और उसे थोड़ा भी गर्म कर लिया. सही लग रही है न?उसने जैसे ही मुझे देखा, मैं आगे की तरफ झुककर खड़ी हो गई. मम्मा के साथ रात को लिपट कर सोना, मम्मा को बार बार बिना बात भी किस करते रहना, ये सभी उस प्यार की निशानी थीं.

अंकल ने मुझे बांहों में भर के सीधा किया और बोले- सन्नो मुझे तुम धीरू ही बुलाओ … और चिंता मत करो.

हिन्दी चुत चुदाई कहानी शुरू करने से पहले मैं बता देना चाहता हूँ कि मैं अन्तर्वासना का बहुत बड़ा फैन हूँ. शुरू शुरू में हमारी नॉर्मल बातें हुई जैसे कि आप क्या करते हैं कहां रहते हैं।यह सब एक महीने तक चलता रहा. मैंने पूछा- ये क्या है?उन्होंने कहा- जो तू अपना माल चूत में छोड़ देता है, उससे हम प्रेग्नेंट हो सकते हैं.

बिहारी सेक्सी भाभी काउसको मिल कर ऐसा लगा कि बांहों में भर कर मसल दूँ, उसके बूब्स चूस लूं. तो मैं यूं ही रुक गया और फिर धक्का मारा तो मेरा सुपारा उसकी चूत में घुस गया.

देसी वीडियो सेक्सी सेक्स

मैंने नीचे जानबूझकर अंडरवियर नहीं पहना था ताकि उसे मेरा फूला लंड कुछ ज्यादा समझ आ जाए. मैं उसके दिल के हावभाव अच्छी तरह से समझ रही थी लेकिन मैं सिर्फ मुस्कुराती रही. मैंने लंड को थूक से गीला करके उनके होंठों को अपने होंठों में दबाया और लंड को जोर से चूत में घुसाने लगा.

निशा ने जल्दी से मेरे होंठों को चूमा और बोलने लगी- जल्दी से उठो यार!मैं उसे अपनी बांहों में भींचे हुए था. मैंने 15 मिनट बाद ही गर्मी के बहाने से अपना टॉप उतार दिया जिसे देख कर भाई का मुँह खुला रह गया. मैंने भाभी के मुँह से लंड जैसे शब्द सुने तो मैं समझ गया कि मामला कुछ सही जगह पर जा रहा है.

हम दोनों ने हाथ मिलाए और मुस्कुराती हुई आंखों से एक दूसरे को देखा, कुछ हल्की फुल्की बात हुई. उसने मुझे हाथ से पकड़ कर अन्दर खींचा और ये कहकर अन्दर ले गयी- दरवाजे पर ही चोद देगा क्या?मैंने भी दरवाजा बंद किया और हम दोनों एक दूसरे पर टूट पड़े. तब तक इस Xxx इंडियन भाभी सेक्स स्टोरी पर अपने विचार मेल और कमेंट्स में लिखकर मुझतक पहुंचाएं.

वो बोली- लेकिन क्यों?तो मैंने कहा- क्योंकि यार अभी मेरे लंड धागा जुड़ा हुआ है … और मैं इसे जल्दी से तोड़ना चाहता हूं. भाभी नहाने गई थीं और मैंने उनके लैपटॉप में ब्लू फिल्मों का खासा कलेक्शन देखा, तो मैं ब्लू-फिल्म देखने लगा.

डाक्टर रेखा का मेरे लंड पर हुआ पहला स्पर्श और उसका मेरे लंड और अंडकोष को सहलाना, मुझे बड़ी गुदगुदी दे रहे थे.

मैं अपने भाई के साथ सेक्स करके क्या सही कर रही हूँ?क्या मुझे शादी कर लेना चाहिए?शादी के बाद क्या मेरे घर का खर्चा चल सकेगा?क्या शादी के बाद मेरा पति मेरी शारीरिक जरूरतें मेरे भाई के समान पूरी कर सकेगा?मुझे सलाह दीजिए और मेरा मार्गदर्शन कीजिए. डिप्टी सेक्सीअब उसने मुझे अपनी घोड़ी बना लिया और मेरे बालों को पकड़कर मुझे घोड़ी बनाकर चोदने लगा. सेक्सी चाची भाभीमैं पैंटी के ऊपर से उसकी चूत सहला रहा और होंठ चूमने में भी लगा रहा ताकि वो मुझे अपने से अलग ना कर सके. फिर हुआ भी यही … शिल्पा अपने बदन को ऐंठती हुई और जोर से आंह आह की आवाज करती हुई शांत हो गई.

वो मुझे जब भी आता जाता देखता, तो उसके साथ वाले लोग हमेशा गंदे कमेंट्स पास करते थे.

इंसानियत के नाते मुझे जाना चाहिए था आखिर वो एक महिला है और उसने मुझे किसी उम्मीद के साथ कॉल किया था. उन दिनों नयी नयी जवानी आना शुरू हुई थी और शरीर के यौनांग उस समय कुछ ज्यादा ही ध्यान खींचते थे. उसकी गर्दन पर काटते हुए मैंने उसकी चूत में हल्के धक्के मार कर लंड अन्दर घुसा दिया.

मैं उसे सम्हालते हुए पूछा- क्या हुआ रीता?वो बोली- पैर में मोच आ गई है यार … बहुत दर्द हो रहा है. अब मैंने उसकी नाइटी उतार दी और साथ में मैंने उसके शरीर से पैंटी और ब्रा को भी अलग कर दिया. जीजा जी मुझसे बोले- राजू मैं शराब की बोतल लेकर आया हूँ … अगर तुमको परेशानी ना हो तो मैं इस कमरे में पी सकता हूँ?मैं- हां जीजा जी, क्यों नहीं, आइए ना.

भेड़ बकरी की सेक्सी

वह हंसने लगा- जब देखो, तब बताना, पर यह बात मेरी बीवी से मत कहना, कई लोग कह चुके हैं. छुट्टी के दिन जब जरूरत होती है तो विशाल सर मुझको घर का छोटा मोटा काम करने के लिए अपने घर बुला लेते थे. [emailprotected]हॉट न्यूड गर्ल सेक्स स्टोरी का अगला भाग:भाभी की चचेरी बहन की मस्त चूत चुदाई -3.

उस काले रंग में उसका गोरा जिस्म बिलकुल संगमरमर के पत्थर सा कसा हुआ एकदम चमक रहा था.

हॉट गर्लफ्रेंड Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड की चूत बहुत चोद चुका था.

वो बोलीं- ओ हो मैंने डिस्टर्ब कर दिया है क्या?मैंने कहा- अरे यार दीदी आपने डिस्टर्ब नहीं किया बल्कि आपने तो और ज्यादा मजा दे दिया. मैं मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा और एक को मुँह में भर कर अपने दांतों से हल्के हल्के से काटने लगा. भारतीय मूवी सेक्सीकाफी देर इसी पोज में चोदने के बाद विलियम मुझे नीचे उतार कर दूसरे पोज में चोदना चाहता था.

चुप होकर मजे लेते हुए सोचता रहा कि जो भी हो, ये बड़ा मस्त लंड चूस रही है. मैं सरिता के ऊपर झुककर उसकी एक चुची अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और एक हाथ से दूसरी चुची मसलने लगा. चाय नाश्ते के बाद, विशाल ने कहा- मोहन और रवि, तुम दोनों एनीमा लेकर आ जाओ.

भाभी- हां क्यों नहीं, पर उसके लिए तुम्हें मुझे अपनी तलवार दिखानी पड़ेगी. समीर मेरे पीछे पीछे कमरे में आ गया और मुझसे बोला- बाहर क्यों नहीं चल रही हो?मैंने मना कर दिया तो वो मेरा हाथ पकड़ कर खींचने लगा और कहने लगा- चलो यार बाहर टीवी देखने चलो.

मेरी हाइट को देख कर कोई नहीं कह सकता कि मेरा लंड 6 इंच का हो सकता है.

फिर एक घंटे बाद उसका फिर से फ़ोन आया अब मैं समझ गया था कि आग उधर भी लगी है. धीरे से उसकी ब्रा भी निकाल दी, पर हाथों में मेहंदी होने के कारण कपड़े पूरी तरह नहीं निकल पाए और उसके कंधों पर टंगे रह गए. एक बार दारू पीते समय विशाल ने मुझसे कहा- तू भी बैठ और अपने लिए एक पैग बना.

बिहारी सेक्सी वॉलपेपर उसका कहना था कि यार मेरी ससुराल में किसी को भनक लग गई तो मैं कहीं की नहीं रहूँगी. अब मुझे मौक़ा मिल गया और मैंने आगे बढ़ कर राहुल के सामने ही उनको बांहों में जकड़ लिया.

मुझे बेड से नीचे उतार कर उसने जमीन पर घुटनों के बल बैठा दिया और खड़े-खड़े ही अपना लण्ड मेरे मुंह में दे दिया. मैं उसके गले और कान के पीछे किस करने लगा और एक हाथ से उसकी चुत को सहलाने लगा. जिसके बाद वो पराँठे बनाने में लग गई और मैं भी किचन में खड़ा होकर उससे बाते करने लगा.

चुदाई सेक्सी वीडियो हॉट

मैंने गियर बदलने के बहाने अपना हाथ उसकी जांघों पर रखा और सहलाने लगा. मैंने ख़ास तुम्हारे लिए टेबलेट ली थी, जिससे टाइमिंग बहुत ज्यादा बूस्ट हो जाती है. उसने मुझे रोकने की कोशिश की जिसमें मेरा फ़ोन नीचे गिर गया और टूट गया.

या फिर यूं कहूं कि वह हमारी क्लास की सबसे खूबसूरत लड़की थी और मेरा उसकी तरफ आकर्षित होना स्वभाविक ही था।अब आकांक्षा, राहुल, संजना और मेरा एक ग्रुप बन चुका था. उसके चूतड़ लंड से टकरा रहे थे जिससे ठप ठप ठप ठप की मस्त आवाजें निकल रही थीं.

चौथे से भी रहा नहीं गया तो उसने दीदी टाइट लैगी को पैंटी को दीदी के चूतड़ों से नीचे कर दिया.

एक बार वो मेरे बाइक पर बैठी तो मुझे कास के पकड़ लिया और चूचियां पीठ में गड़ा दी. बाकी जब मैं मार्केट जाती हूं या कहीं और बाहर जाती हूँ, तो कुछ छिछोरे किस्म के आदमी मुझ पर गंदी निगाहें और भद्दे कमेंट्स करते हैं. एक बार हमारे घर टेंट लग रहा था तो मैंने उन मजदूरों को मेरी गांड मारने के लिए पटाया.

कहानी के पहले भागकॉलेज में पहले प्यार का खुमारमें आपने पढ़ा कि मैं अपनी क्लासमेट और दोस्त को चाहने लगा था. चाची मुझे छत पर आया देखकर बोलीं- क्या हुआ … क्या तू भी छत पर सोएगा?मैंने हां बोला. अब वो बस मेरे सामने ब्रा पैंटी में थी और उसका फिगर कयामत ही लग रहा था.

उसको बहुत अच्छा लगता और मुझे भी!फिर जब उसके पैरेंट्स ने उसकी शादी किसी और से तय कर दी तो मेरा दिल टूट गया.

सेक्सी बीएफ लगाओ: अब सरिता जोर जोर से मेरे लंड को अन्दर बाहर करती हुई पूरा लंड अन्दर लेने लगी थी. एक दिन मैंने उसे नंगी चूत में उंगली करती देखा तो …दोस्तो, यह कहानी मेरे और मेरी मौसेरी बहन की है.

खाला ने कहा- तुम हो तो काफी सेक्सी, तुम्हारे दूध भी कड़क हैं और पिछवाड़ा भी निकला हुआ है. आधा घंटा तक वैसे ही लेटे रहने के बाद मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने धीरे से अपना हाथ मम्मी की जांघों पर ऐसे रखा जैसे मैं नींद में हूँ. उसके चिकने पैरों को चूमने के साथ साथ एक एक पल का अहसास उसे और मुझे हो रहा था.

इसके बाद जब तुम्हारे खेत में मैं बीज बोऊंगा न … तो नौ महीने बाद फसल भी इसी छेद से निकलेगी.

इतने में मेरे पति आते दिखे, तो मैंने झट से अपने बैग में बिल और फूल दोनों छुपा लिए. उसकी बात सही थी कि लड़कियों का सजना संवरना तभी सार्थक होता है, जब कोई उनकी तारीफ करे या उनकी खूबसूरती को लेकर कुछ कहे. मेरी गर्लफ्रेंड की चूत खुल गई और हार्दिक की जीभ चूत के अन्दर चली गई.