सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,ट्रिपल एक्स सेक्सी वीडियो मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी सेक्सी नंगे फोटो: सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी, फिर वो जब भी मुंबई आती तो मुझे फोन करके होटल बुलाती और अपनी चुत की आग पूरी शांत कर लेती.

आंटी की सेक्सी आंटी की सेक्सी

उसने अपना हाथ पीछे किया तो मेरा खड़ा लंड उसके हाथ में आ गया। उसने तुरंत छोड़ दिया और मेरी ओर देखा और कुछ नहीं बोली।मेरा लंड पूरा खड़ा था तो उसे भी अहसास होने लगा था।ऐसे ही करते करते उसका स्टॉप आया और वो उतर गई. हिंदी एचडी सेक्सी ब्लूमैंने करीब जा कर देखा तो भाभी छत के किनारे जा कर किसी से बात कर रही थीं.

थोड़ी देर बाद हम लोगों ने डिनर लिया और डिनर के बाद थोड़ी देर के लिए आराम करने को बैठे. भारत की सबसे बड़ी सेक्सी वीडियोतब कहीं जाकर बाबा जी ने अपना वीर्य नीतू की चुत में भरा और कुछ देर उसके ऊपर पड़े रहे.

फिर मैं बोली- प्लीज मुझे छोड़ दो!तभी चाचा ने कहा- ज्यादा नाटक मत करो अब! इसकी यारो मत सुनो, साली को जम कर चोदो! ना जाने दूसरों के कितने लंड घुसवाये होंगे इसने!यार बोतल देना पीछे से!” उन्होंने दारू निकाली और पीने लगे दस मिनट के अंदर चारों ने दो दो पेग पी डाले.सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी: मॉल पहुँचते पहुँचते टाइम छः से ऊपर ही हो गया, अंधेरा होने लगा था और मॉल में अच्छी चहल पहल हो गई थी.

शिशिर अपने लंड को मेरे मुँह में अन्दर बाहर करते हुए मेरे मुँह को ही चोदने लगा.मुझे भी बोले- पी लो, बहुत मज़ा आयेगा!मैंने मना किया तो एक कोकाकोला की बोतल दी और बोले- इसे पीना पड़ेगा, लो ये कोल्ड ड्रिंक है पी लो!मैंने फिर भी मना किया तो बोतल मेरे मुंह में लगा दी.

साड़ी वाली लड़कियों का सेक्सी वीडियो - सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी

हमने एक-दूसरे को जानने के बाद हम ऐसे हो गए, जैसे हम लैला-मजनूं हों.मेरी सास ने अपनी जीभ से मेरी चूत को साफ किया।हम नंगी ही चिपक कर एक दूसरे की टाँगों में टाँगें डाल कर लेट गयी।फिर मैंने अपनी सास से पूछा- वो रात वाली लड़की कौन थी?तब उन्होंने बताया कि उसे किराये पर बुलाया था और वो आज रात को भी आयेगी। क्या तुम भी करोगी उसके साथ सेक्स?मैंने भी हाँ कर दी.

मॉम ने दरवाजा उड़का रहने दियाथोड़ी देर बाद मॉम ने आवाज दी- बेटा गर्म पानी नहीं है, तो गर्म पानी ले आ, मेरी कमर में दर्द है. सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी जब तक चुत और लंड नंगे ना मिलें, हम दोनों के लिए वो चुदाई कोई चुदाई नहीं होती है.

अब बारी आती है उस चीज की, जिसके लिए ये कहानी लिखी गई है मतलब सेक्स की.

सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी?

वो सीत्कार तो कर रही थी लेकिन अपनी गांड हिला कर मेरा साथ भी दे रही थी. फिर यह प्रोग्राम कई दिनों तक चला, जब भी हमें मौका मिलता हम चुत चुदाई का खेल खेल लेते. क्यों गाली नहीं दूँ तेरे चूतिया पति को? साला घर में इतना गर्म गुजराती माल छुपा के रखता है, गाँडू कभी मिला मुझे तो उसकी गांड मारूँगा.

मगर तुम शदी के बाद बरखा से इस रात के बारे में लड़ाई तो नहीं करोगे ना कि वो कैसे मज़ा लेकर चुद रही थी. ना जाने कब तक मैं उसकी जवानी का रस पीता रहा और वह चुत से रस पिलाती रही. कोई गर्लफ्रेंड बनाई है या नहीं?”मैंने कहा- नहीं आंटी! ऐसा कुछ नहीं है!वो किचन में चली गईं और खाना बनाने लगीं.

माया को इस खेल में मज़ा आ रहा था कि तभी उसे अपनी चुत में कुछ महसूस हुआ. फिर मेम मेरे नीचे आ गईं और मैंने उनके ऊपर आकर अपना लंड मेम की चुत के अन्दर डाल कर उनके ऊपर लेट गया. फिर वाशरूम में जाकर सभी ने अपने आप को साफ़ किया और कपड़े पहन कर बातें करने लगे.

उसकी गांड का सुराख पूरी तरह से खुला हुआ था और उसके नीचे मेरा मोटा सख़्त लंड मेरी बेटी की चूत में जड़ तक फँसा हुआ था. परन्तु बिना समय गवाएं मैं अर्चना की जींस को उसकी टांगों से उतारने में कामयाब भी हो गया और वह जल बिन मछली की तरह तड़पती रही.

मैं लगातार विरोध कर रही थी, किसी तरह छूटने की कोशिश कर रही थी, पर कुछ न कर पाई.

करीब आधे घंटे तक बाथरूम में सुनामी के बाद मैं मामी की चिकनी गोरी गांड में ही झड़ गया.

अब बाथरूम के दरवाजे से लॉक निकल जाने से उस छेद से बाथरूम के अन्दर का सीन दिखने लगा था. 30 बजे मम्मी मेरे रूम आई और कहा- आरती बेटा, मुझे नींद नहीं आ रही है, तू मेरे साथ सोने के लिए मेरे कमरे में आ जा. हम दोनों ने एक वेटर को पास बुलाया और गटागट दो ड्रिंक्स अपने अंदर डाल लिए.

उसकी मां ने कहा- ठीक है, तावला आ ज्या(जल्दी आजा)रवि ने गेट की तरफ देखा और जब उसकी मां चली गई तो मुझे उठने का इशारा किया. उसने पूजा के होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिए और एक लंबा किस शुरू हो गया. मेरा दोस्त उसे रोज रात कुतिया की तरह चोदता था, पर फिर भी वो शायद संतुष्ट नहीं हो पाती थी.

मैंने कहा- क्या अलग करोगे?तो उन्होंने कहा- वो तुम्हारे लिए सरप्राइज है.

उनके बाद हम बहुत बार होटल में मिलने लगे लेकिन किसी दिक्कत की वजह से हम काफी दिन से मिले नहीं तो मैंने उसको उसके घर मिलने को कहा. एक खाली हरा स्थान देख कर उसने अपनी शर्ट और स्कर्ट उतार दी और बड़े से पत्थर पर सहारा ले कर खड़ी हो गई. मुझे लग रहा था कि जैसे कोई गरम लोहा मेरी चुत को चीरते हुए अन्दर घुस गया हो.

मैंने पहला लंड मुँह से निकालना चाहा मगर तभी दूसरे ने अपना लंड भी मेरे मुँह में घुसाने की कोशिश की. मैंने भी जोश में आकर उनकी एक चूची को हाथ से बेदर्दी से मसलने लगा और बोला- बहन की लौड़ी मेरी रंडी… चूत की रानी… चुदक्कड़ चुदवाएगी न मुझसे… बोल कुतिया…वो बोलीं- अरे मेरे मस्त चोदू… तेरी रंडी तैयार है… घुसा लंड भोसड़ी के… मेरे लंड के राजा…मैं मेम की चूची को दांत से काटने लगा और बोला- बोल कैसे चुदेगी रंडी?वो बोलीं- कुतिया की तरह चोद मादरचोद…मैं बोला- पहले मैं तेरी चूत का रसपान करूँगा. हम देवर भाभी 69 की पोजीशन में थे, हम दोनों को बहुत मजा आ रहा था एक दूसरे के गुप्तांगों को चूसने चाटने में! पूरा कमरा हम दोनों की सिसकारियों से गूंज उठा था.

काजल अपने कमरे से बाहर आई और अपने भाइयों के लिए ग्लास में पानी ले आई.

मैंने मोनिका के होंठों पर किस किये, उसने मेरा साथ दिया और हम किस करने लगे. मैं रागिनी की चुचियों को चूमते हुए, पेट और नाभि पर जीभ घुमाते हुए रागिनी की चूत को अपने होंठों में भर-भरकर चूसने लगा.

सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी जय ने निशा से कपड़े उतारने को कहा तो उसने अपने कपड़े उतार दिए और एकदम नंगी हो गई. उसने मेरी पैन्ट के साथ अंडरवियर भी खींचते हुए निकाल दिया और मेरे लंड को हाथ में ले लिया.

सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी तभी शमशेर ने जोर जोर से ठाप लगाई और 25-30 कस के ठापें मारीं और शांत हो गया. कुछ देर में मेम के चीखने की आवाज आई, मैं भागा… और छत पर जाकर देखा कि मेम पूरी भीग चुकी थीं और रो रही थीं.

मैंने उन्हें अन्दर किया और उनकी आवभगत के लिए बीयर की बोतलें पेश की.

गुजराती ब्लू पिक्चर

वैसे तो मैं रिच फैमिली से थी लेकिन मेरी मम्मी मुझे कभी आई फोन नहीं दिलाने वाली थीं. वो बोले- मैं जानता हूँ कि मैं तुम्हें पूरा मजा नहीं दे सकता क्योंकि मेरा लंड तो किसी छोटे लड़के की तरह है. किरण भाभी के 2 बच्चे हैं लेकिन उनको देखने से बिल्कुल नहीं लगता कि वो 2 बच्चों की माँ हैं.

ऐसे ही हमारा ये सेक्स भरी छेड़छाड़ वाला सफर पूरा हुआ और हम शिमला पहुँच गए जहाँ हमें 3 दिन रुकना था. इसी बहाने आप दोनों से बात भी हो जाएगी और आपके ब्वॉयफ्रेंड के बारे में भी मुझे पता लग जाएगा. फिर अब काफ़ी समय के बाद मिलने की वजह से सारे रिश्तेदार भी दिमाग़ खाने लगे थे और मैं बेसब्री से अनुराधा को ढूँढ रहा था.

वो किचन में डिनर तैयार करने लगी और मैं भी किचन में ही बैठ कर उससे बातें करने लगा और उसकी मस्त गांड देख कर अपने लंड पर हाथ फेरता रहा.

मैं हंस कर बोला- बहुत फड़क रही है चूत तेरी, क्यों ठरकी हो रही है साली. राजीव ने मेरे मुँह में अपना लंड डाल दिया, मैं एक साथ दो लंड से चुद रही थी. एक अपना अनुभव का लाभ लेते हुए पूछ बैठी कि मामी लगता है मामा ने आपकी गांड ही मार ली.

उस ने मुझ से पूछा- क्यों? मुझ में ऐसी क्या खास बात है?मैंने कहा- तुम बहुत सेक्सी और सुंदर लड़की हो. मैं इन्हीं ख्यालों में था कि उसने कहा- और खाएगा क्या?मैंने कहा- नहीं, मेरा पेट भर गया. मेरी साली ममता गोरी चिट्टी 5 फीट 6 इंच लंबी, स्पोर्ट में अव्वल रहने वाली, पर अति क्रोधी है.

नयना अपने भाई के कमरे के अंदर गई और बोली- भाई, ये सब करना हो तो दरवाजा तो बंद कर लिया कर!भाई के मुख से कोई शब्द ना निकला. लगभग 15 मिनट की चुदाई के बाद जय ने अपना लंड निशा भाभी की गांड से निकाल कर भाभी की चूत में घुसा दिया और कुछ देर में झड़ गया.

मम्मी शरमा गईं और बोलीं- मुझमें ऐसा क्या ख़ास है?अब ससुर बोले- आप तो अभी भी जवान दिखती हो. और एक तेज चीख ममता के मुँह से निकल पड़ी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई…’वो केवल इतना बोली- नहीं जीजा जी… नहीं…उसकी आँखों के किनारे से आँसू निकल रहे थे. तभी उस आदमी ने उठ कर भाभी के पैरों को फैलाकर अपना फंफनाता लंड भाभी की चूत में पेल दिया.

अंजलि के मुँह का थूक मेरे आंड तक आ गया था और मेरा मुँह अंजलि की चूचियों के निप्पलों को दाँतों से काट रहा था.

थोड़ी देर उसके होंठों को चूसने के बाद मैंने उसका गाउन निकाल दिया और अंजलि ने मेरी शर्ट और लोअर निकाल दिया. हमारे बीच भी हुई और इसका फायदा ये हुआ कि अब हमारे बीच प्रोफेशनल रिलेशन के साथ ही पर्सनल रिलेशन की भी शुरुआत हो गई. मैंने कहा- भाभी जी की क्या लालसा है?उसने लिखा कि उसे किसी कुंवारे लड़के के साथ चुदाई करना है.

वो ऊपर-ऊपर करके नीतू से लंड दबवाना चाहता था मगर नीतू की समझ में नहीं आ रहा था. तू चुदवा अपने वाले से, अब तेरे एरिया में मैंने पूरी ही दखलंदाजी कर दी.

उसके बाद मैंने भाभी की चुत पर अपना लंड का सुपारा रख कर जोर से धक्का दिया. सुबह उठकर नहाने चली गई, नहा कर पापा का सेव करने का रेजर निकाला और अपनी चूत को साफ किया. अब तक तीनों की चुदाई से मम्मी कई बार झड़ चुकी थीं, इसलिए अब मम्मी को मजा नहीं आ रहा था.

बाप और बेटी की चुदाई दिखाओ

मैं पागल हो रहा था, उसने भी नीचे झुककर लंड को देखा और मुझे ताड़ कर मुस्कान दी.

तो खाना बनाने के लिए हमने एक मेड भाभी रख ली थी, जो हमारे पड़ोस में ही रहती थी. फिर वैसे ही लेटे लेटे उसकी चूत के पास आकर उसकी चूत पे जीभ फेरने के बाद पप्पू बोला- अब अंजान मर्द से चुदवाने वाली है तो लौड़ा बोलने में कैसी शरम जान? एक हाथ से लंड सहला और दूसरे से मेरी गोटियाँ. नीता का हाथ पकड़ कर अपने रूम में ले जा कर पप्पू ने उसे एकदम छोटा बनियान और छोटी सी शॉर्ट्स दी.

फिर चाची मेरी तरफ घूम गईं और उन्होंने अपनी मैक्सी ऊपर उठाई और अपनी चूत पर हाथ रख कर बोलीं- देख ये है मेरी नुन्नू. अजय- साली रंडी पहले तो कहती थी तू गांड बहुत अच्छी मारता है, अब तुझे मज़ा नहीं आएगा. बिहार बिहार सेक्सीअब मैंने आंटी की गांड पर हाथ फेरते हुए कहा- मैं तो आपकी गांड मारना चाहता हूँ.

मैंने अपने स्कूल के एक झगड़े के बारे में बताया और यह भी बताया कि मैंने एक लड़के को कैसे पीटा, ये भी बताया. वो सिसकारियाँ भरने लगी, उसने मेरे मुँह को पकड़ कर अपनी चुत में दबा दिया.

मुझे लग रहा था कि कोई गर्म लोहा मेरी चुत को चीर कर अन्दर घुस गया हो. इसलिए उसने ब्यूटी पार्लर से एक लड़की को भी बुला लिया था, जो उसको रेडी कर रही थी. कुछ मिनट तक बिना हिले गुलशन जी पड़े रहे, फिर उनको अहसास हुआ कि सुमन अब नॉर्मल हो चली है तो उन्होंने उसके होंठ आज़ाद कर दिए.

मैंने उसे गोद में उठाया और उसे लेकर ही जा रहा था, तभी रास्ते में ही उसने मेरे शरीर पर पेशाब कर दी. पर मैं कुछ नहीं बोल सकता था क्योंकि उधर मेरी फ्रेंड भी उसके साथ थी. हमेशा की तरह फिर से बेबी ने रोना शुरू किया और मैंने आंटी के चूचे निकाल के बेबी को दूध पिलाना शुरू कर दिया.

तभी दो अंकल ने नंगे हो कर मेरे सामने अपना अपना लंड कर दिया, मैंने बिना झिझके उनके लंड पकड़ लिए और बोली- कमीनो, इसी से मुझे चोदोगे? तुम्हारे लौड़े बहुत मस्त हैं, आज तुम्हारी रंडी बन जाती हूं.

मैंने उसे अपनी बाँहों में भर लिया और उसके होठों के पास अपना होंठ ले जाकर बोला- बोलो मेरी जान अच्छा लगा न?उसने सिर्फ ‘हूँ. लंड मुँह में जाते ही माँ घबरा गई और उठने की कोशिश करने लगी तो रहमत बोला- ये करीम चाचा हैं, इनको भी तुम्हारी चुदाई का मजा लेना है।मैं रोमांचित हो उठा कि आज मेरी मां दो लंडों से चुदेगी.

फिर समीर ने ब्रा के ऊपर से ही मेरे मम्मों को चूसना शुरू कर दिया, कुछ देर बाद ब्रा हटा कर वो एक चूचे का दाना चूसता और दूसरे दाने को खींचता और मसलता. उसके लंड के टोपे से निकले प्रीकम को मैंने अपने हाथ में लिया और अपनी नाक से लगाया, जिसमें से वीर्य और लंड की भीनी भीनी खुशबू ने मुझे पागल कर दिया और मैं लंड को चखने के लिए तड़प उठा. फिर मेरे साथ उस खंडहर की तरफ़ जाते हुए बोला- कहाँ रहते हो?मैंने अपने बारे में बताया और मैंने भी उससे पूछा, तो उसने पास ही के छोटे शहर का नाम बताया.

साली ने अपनी झांटें बिल्कुल साफ रखी थीं, जैसे उसे पता हो कि आज उसे चुदवाना है. मेरी पत्नी इस स्थिति में थी कि उसके बूब्स वो लड़का बहुत साफ़ देख पा रहा होगा. रूपा की कमर में दोनों हाथ डाल कर उसकी चूत बेताबी से चाटते हुए पूरी जीभ चूत में घुसा के पप्पू चाटने लगा.

सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी गुलशन जी सीधे दुकान गए, वहां अपना काम निपटा कर वो अनिता के पास चले गए. मैं जल्दी-जल्दी चल रहा था, झाड़ी आते ही मैं बैठ गया, मौसी भी बैठ गईं.

जंगली एक्स एक्स एक्स

मैंने आइसक्रीम को उसके शरीर पर लगाना शुरू कर दिया और फिर उसके पूरे शरीर को चूसने लगा. मेरे प्यारे साथियो, आप मुझे मेरी इस हिन्दी सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं. दोस्तो, ये थी मेरी पहली गैंग बैंग चुदाई की कहानी, जिसमें प्यार के नाम पर मेरे साथ धोखा हुआ था.

पप्पू अपनी जीभ रूपा के क्लीवेज पे घुमा कर पेटीकोट के नीचे हाथ डाल के एक हाथ से उसकी नंगी टाँगें सहलाते हुए और दूसरे हाथ से मम्मे ज़रा ज़ोर से मसलते हुए बोला- जल्दी तो नहीं रानी, बस तेरा गर्म और गोरा जिस्म नंगा देखने की ख्वाहिश है और कुछ नहीं. मैंने उसे रोकते हुए कहा- इस अजगर लंड पर हमारा अधिकार है और इसे आज़ाद भी हम ही करेंगे. गर्ल्स कॉलेज की सेक्सी फिल्मबातों ही बातों में मामी ने मुझसे पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने बोला- नहीं है मामी.

इन रूम के चारों तरफ गलियारे में छोटे छोटे दीवार के पार्टीशन देकर रूम बनाए गए थे.

साली ने अपनी झांटें बिल्कुल साफ रखी थीं, जैसे उसे पता हो कि आज उसे चुदवाना है. इसी तरह मैंने और चाचाजी ने 7 दिन की टूर में 2 रात चुदाई करते हुए साथ बिताए और घर आकर भी हम दो महीने से जब भी मौका मिलता है.

मैंने कहा- भैया मुझे भी आप दवा लगा देंगे?भैया बोले- हाँ दो, लगा दूँ. राज ने मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और मेरे दोनों पैरों को फैला कर मेरी चूत को चाटने लगा. मुझे चुदाई में सबसे अच्छा चुत चटवाना लगता है और मैं अपने जीजू से खूब चुत चटवाती हूँ.

आअहह और तेज करो उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैं भी पूरे जोश में उसकी चुत को चाटे जा रहा था और उसके मुँह को अपने लंड से चोद रहा था.

कुछ कपल तो लाइव वीडियो के समय मुझ से पूछते हैं कि अरुण बताइये आज मैं क्या क्या दिखाऊँ और कैसे कैसे दिखाऊँ. मैंने एक ही झटके में आधा लंड उसकी चुत में उतार दिया, वो दर्द से तड़प उठी. वो मुझे देख कर बहुत खुश हुई थीं क्योंकि मैं उनके घर बहुत दिन बाद गया था.

सेक्सी वाला फंक्शनपिंकी- चुदाई को तेजी से किया जाए? अपनी टाँगें थोड़ा-थोड़ा पापा की कमर से लपेट लो. मैंने अपना लंड आंटी की गांड पर सैट करके करारा धक्का मारा और मेरा आधा लंड आंटी की गांड में घुसता चला गया.

सेक्स पोज़

रात को मेरे पति को मैंने यह किस्सा बताया, तब वो बोले तू एक नम्बर की नौटंकीबाज़ है. उसके पीछे से मैं भी उस कमरे में चला गया और तभी अर्चना ने मुझे कस कर जकड़ लिया और चूमते हुए धीरे से बोली- रात को काफी मज़े आए; अब कब चोदोगे?मैं उसे मौका मिलते ही चोदने की कहते हुए एक लम्बी लिप किस कर कमरे से बाहर निकल गया. तो आप मुझे कितनी बार चोदोगे?पापा- जब तक मेरे लंड में जान है तब तक चोदूँगा.

शाम को वो दोनों अकेली अपने रूम में लेटी थीं और लैपटॉप पर कुछ देख रही थीं, तभी मैं अन्दर घुसा तो मेरी नजर लैपटॉप पर पड़ी. मेरी पत्नी सेक्स के मज़े लेना बहुत जानती है और काफी बिंदास और बेबाक भी है. हल्के से दूसरा मम्मा भी मसलते हुए पप्पू बोला- ओह अच्छा… 4-4 लड़के पीछे पड़े हैं तेरे? वैसे भी तू है इतनी मस्त कि कोई भी तेरे पीछे पड़ेगा.

चादर लाकर उसके अन्दर हाथ डाल कर मालिश कर दे, अगर ऐसे ही मेरी सलवार उतार देगा तो मैं बिल्कुल ओपन हो जाऊंगी और कुछ भी हो सकता है. रेनू आंटी ने मेरा सर अपने चूचे पे दबाया, तब मुझे पता चला कि मेरी ये सोच कि रेनू आंटी गहरी नींद में हैं, एकदम गलत थी. वो मुझे देख कर बोलते हैं कि मैं कितनी गोरी हूँ, मेरी मक्खन जैसी टाँगें हैं, टाँगें ऐसी हैं तो जाँघें कैसी होंगी और अगर जाँघों का यह हाल है तो अन्दर की जन्नत तो कैसी होगी.

बिना कुछ कहे ही मम्मी ने मेरे ओंठ चूसने शुरू कर दिए और मेरी चूत सहलाने लगी. जैसे ही हम दोनों बाथरूम के पास पहुँचे, मैंने अनुराधा को पीछे से कमर के सहारे उठा लिया.

पूछो बेटा?”अभी आप मुझसे दूर ड्राइंग रूम में क्यों सोये थे?”अदिति बेटा, मैं सुबह से ही देख रहा था कि तुम मेरी नज़रों से बच रही थी, आंख झुका के बात कर रहीं थीं तो मुझे लगा कि हमारे बीच बन गए सेक्स के रिश्ते का तुम्हें पछतावा है और तुम अब वो सम्बन्ध फिर से नहीं बनाना चाहतीं, इसीलिए मैं अलग सो गया था.

मैं उनके मम्मों को दबाने लगा और अपने मुँह में भर कर उनके रसीले चूचों को पीने लगा. हिंदी में चुड़ै सेक्सी वीडियोतेज़ चलने से उसकी साँसें तेज़ हो गई थीं, जिससे उसका सीना ऊपर नीचे हो रहा था और पल्लू तकरीबन पूरा-पूरा ढलक गया था. वारी दुल्हन सेक्सीमेरी चुत ने भी अब जय के लंड से हार मान ली थी और अपना मुँह खोल कर उसके लंड को पूरा रास्ता दे दिया. मेरी हाईट 5 फिट 2 इंच है, रंग मीडियम गोरा है, मेरा सीना 32 इंच का है, कमर 26 इंच की है और मेरी गांड 38 इंच की है जो बहुत ही बाहर को निकली हुई है.

मैंने काम ही ऐसे किए हैं ऊउउ ऊउउ मेरी वजह से सुमन की लाइफ बर्बाद हो गई ऊउउ.

अबकी बार मेरी आँखें चढ़ गईं, मगर उन कमीनों को कोई परवाह नहीं थी, वो तो बस मेरे जिस्म को रौंदे जा रहे थे. कहानी का पिछला भाग:गया था बिज़नेस करने, भाभी को चोद दिया-1मेरी सेक्स स्टोरी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि मैंने भाभी की चूत देखने ही लगा था कि भैया के आने की आहट हुई और मामला गड़बड़ हो गया. मेरे मुँह से केवल गूं गूं की आवाज ही निकल पाई और उसका पूरा का पूरा लंड मेरी चुत में समा गया.

पर आज वो बैक सीट पर न बैठ के फ्रंट सीट पर बैठी महेश के साथ। दोनों सुखना लेक पहुंचे तो हल्का हल्का अँधेरा छाने लगा था, प्रेमी जोड़े लेक के किनारे हाथों में हाथ डाले बैठे थे, कुछ तो एक दूसरे की गोद में थे और कुछ एक चुम्बन करने में खोए हुए थे. हम दोनों के लंड पूरी स्पीड में फिर से नेहा की चूत और गांड चोद रहे थे, नेहा को अपने ऊपर उठा लिया था और उसके चूतड़ बिस्तर पे नहीं लग रहे थे. इन सबकी बातें सुनकर टीना के पैरों तले ज़मीन निकल गई, भले ही वो खुले ख्यालों वाली लड़की थी मगर ऐसे किसी की लाइफ बर्बाद करना उसके बस की बात नहीं थी.

सेक्स विडोस

मैं पेशाब उसके मुँह में छोड़ने लगा और समीर उस पेशाब को मुंह में लेता गया मगर उसने पिया नहीं. नीतू चाय बनाने चली गई और मोना मन ही मन खुश होने लगी कि उसको अब ज़्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी. मम्मी बोलीं- बेटे तुझे धरासना तेल की मालिश कर रही हूं ताकि तेरा दर्द दूर हो जाये.

विवश होकर आप मेरे ऊपर चढ़ गए और मुझमें बलपूर्वक मेरी इस में समा गए जैसे ही आपका विशाल लिंग मेरी प्यासी योनि में घुसा था, मैं समझ गयी थी कि मैं छली जा चुकी हूँ, कि मेरे साथ मेरा पति नहीं कोई और ही है क्योंकि आपके बेटे का लिंग आपसे बहुत छोटा और पतला सा है.

कुछ दिन बाद मैंने बेहद डरते हुए उस नम्बर पर व्ट्सऐप पर हैलो का मैसेज किया.

अब इधर से भाई मेरे ऊपर आकर मेरी चूत में अपना लंड पेलने लगा मगर गया नहीं क्यूंकि यश का लंड पहले से ही मेरी चूत में था. उसने ‘जबान’ पर काफी जोर देकर बोला, तो मैं भी उसका मतलब समझ गया कि ये तो काफी बिंदास माल निकली. हिंदी में सेक्सी बुर चुदाईकिस लड़की या भाभी को किस पोजीशन में लण्ड खाने सबसे ज्यादा मज़ा आएगा।[emailprotected].

’मैं बोली- मेरे पास मोबाइल नहीं है, मेरे पापा का नंबर दे देती हूँ… लिखो. उस वक्त मुझे सेक्स के बारे में ज़्यादा कुछ नहीं पता था, पर मेरे दोस्त ने एक दिन बताया कि लड़के ने मुझे मुठ मारने के बारे में बताया. यह सब कर के मैं बाहर आया तो वो अपना लंड हाथ में लिए मिला, उस की आँखों में चमक थी.

लेकिन किस्मत मेहरबान तो गधा पहलवान, उसी वक़्त मामी का भी काम तमाम हो गया. गुलशन जी ने साफ़ साफ़ कह दिया- ये क्या बात हुई सुमन, तुम मेरा लौड़ा कई बार चूस चुकी हो और मुझसे अपनी चुत चटवा चुकी हो.

मैं जुबान की नोक से उस के दाने को सहलाता रहा, फिर जुबान उसकी चूत में घुसेड़ने लगा.

उसने साफ़ साफ़ लिखा कि मैं एक विवाहित पुरुष हूँ और मेरी भी एक इच्छा है. मैंने अपनी एक उंगली चूत के अंदर घुसा दी तो वो कांप उठी और सिसकारियां भरने लगी. अर्पिता ने पहले से ही होटल बुक कर रखा था वो भी गुवाहटी का एक बड़ा होटल था.

ब्लाउज सेक्सी वीडियो मैं सोचने लगा कि मामा का लंड क्या इतना बड़ा है जो मामी की चीख़ निकल आई. मैंने उठ कर दरवाज़ा बंद कर दिया और उसके पास आकर बैठ गया और उससे कहा- यहाँ देखो.

हाय रीडर्स, मेरा नाम सागर सिंह है, मैं मध्य प्रदेश का रहने वाला हूँ. उसी वक्त आरती का एक हाथ पकड़ कर उस से मैंने कहा- मुझ से फ्रेंडशिप करोगी?तो उसने तुरंत हाँ कर दी. मामी को असीम आनन्द की अनुभूति हो रही थी जिससे उनकी आँखें बंद होने लगीं.

हिन्दीसेक्स

अनिता- नहीं संजय प्लीज़ तुम ऐसा कुछ नहीं करोगे, जो हुआ सो हुआ उस वक़्त हालत ऐसे थे. घर के सब लोग बाहर बाजार जाने वाले थे, मुझे जैसे ही पता चला कि नेहा दी नहीं जा रही हैं, सो मैंने भी जाने से मना कर दिया. झड़ते वक्त वो मेरा मुँह जोर से अपने चुची पे दबा रही थी और जोर जोर हांफ रही थी.

मेरी मौसी की एक लड़की भी थी, जिसकी उम्र अभी सिर्फ 18 साल थी और वो एक खिलती हुई कली थी. मैं समझ गया कि साली अब गरम होना शुरू हो गई है, बस मौके की तलाश में था.

ये कहकर उसने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और बोला- देख कितना प्यारा बच्चा है.

हुम्म… चिकनी चुपड़ी बातें करवा लो आप से तो!” बहूरानी बोलीं और मेरे चुम्बन का जवाब देने लगी और उसकी दोनों बांहें अब मेरी गर्दन से लिपट गईं थीं. मैं उनके पास बैठी उनसे मन ही मन कह रही थी कि सॉरी इरफान न चाहते हुए भी मैं तुम्हारे चाचा से प्यार करने लगी हूँ. संजय- बहाना नहीं बनाता हूँ… आजकल माँ दोपहर में सो नहीं रही ना, अब उनके आने का ख़तरा रहता है और वैसे भी इतने भी दिन नहीं हुए, जितने तू बता रही है.

पप्पू की बांहों में बिना हिले मस्त होती हुई वो बोली- हाँ एक पूरा ग्रुप है लड़कों का, उसका लीडर है सबीर, सब के सब मुस्टंडे हैं, सबीर, केतन, कैलाश और नईम. लगभग 10-12 पिचकारियां लगी और मैं उस की चूत में लंड डाल कर उस से चिपक कर खड़ा हो गया, लंड अब भी धीरे धीरे वीर्य छोड़ रहा था. दो मिनट में ही मेरा लंड छूट गया, जिसको देख कर एक बार फिर से मेरे ऊपर लातों और थप्पड़ों की बरसात शुरू हो गई.

मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया। उसकी चूत से खून बाहर आने लगा। उसकी आँखों में आसू आ गए।मैं चाहता तो नहीं था.

सेक्सी भेजिए बीएफ सेक्सी: बताओ?गुलशन जी बोलते बोलते सुमन के निप्पल दबा रहे थे और उसकी जांघ भी सहला रहे थे. मैंने अजय को पैसे दिए और कहा- अजय, ये 500 रुपए ले और दो घन्टे से पहले घर मत आना.

रिया की भी हालत कुछ और नहीं थी, उसके मुँह में एक लंड था, एक-एक चुत में और गांड में घुसा था. जब वो कुछ देर बाद शांत हो गई, तब मैंने उसे चोदना स्टार्ट किया और थोड़ी देर बाद वो भी मजे लेकर चुदवाने लगी. पर तभी उसकी नज़र काजल की चूचियों पर गई, जो बड़ी थीं, गोल-गोल थीं और ब्रा के अन्दर अभी भी कैद थीं, पर बाहर आने को मचल रही थीं.

मैंने तुरंत पानी पी लिया… क्योंकि आप समझ सकते हो, उस वक़्त मेरी हालत क्या हो रही होगी.

ऐसा लग रहा था मेरा लंड मेरा नहीं हैं उनका हो, क्योंकि वो मेरे काबू में तो नहीं था. किसी माहिर चुदक्कड़ की तरह रीना दोनों तरफ टांग करके चुत के मुँह पर लंड टिका कर दबाव देने लगी. लंड की मिट्टी चूचों की रगड़ से साफ़ हो चुकी थी तो मैंने तुरंत अपना लंड निकाल कर उसके मुँह में पेल दिया और वो अपने हाथ से उसे तेज हिलाने लगी.