बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी

छवि स्रोत,अमृता सिंह की सेक्सी फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ सेक्सी में: बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी, मैं उसकी किताबों को साफ कर रही थी तो मुझे उसके कमरे में उसकी पढ़ाई की किताबों के नीचे एक नंगी तस्वीरों वाली मैगजीन मिली.

और लड़की का सेक्सी

उसने कहा- अब उंगली से बस भी करो और अपना लंड डालो मेरे अंदर!तब मैंने लंड को एक हाथ से पकड़ा और उसकी चुत के छेद पर लगा दिया और धक्का दे दिया. सेक्सी चुदाई देसी लड़कीफिर मैंने भाभी की ब्रा भी उतार दी और उनके मम्मों को मसलने और चूमते हुए चूसने लगा.

फिर उसने अपने पूरे हाथ को मेरे लंड पर रख दिया और मुझे जैसे वासना का नशा सा चढ़ने लगा. पंजाबी सेक्सी डांस वीडियोशायद इसी वजह से से सीमा भाबी का नज़रिया अब मेरे लिए बदला बदला नज़र आने लगा था.

मुझे चेंज करके देख कर भाभी मुझसे सोफे पे बैठने को बोली और खुद किचन में कॉफ़ी बनाने चली गयी.बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी: जैसे ही मैंने उनके पैर पर हाथ रखा और दबाया, तो मैं उनके पांव की नरमाई को देखता ही रह गया.

मुस्कान अपने पति के बारे में बताती थी और मैं उसको अपने पति के बारे में बताती थी.मैंने उसके चूचों पर से मुंह हटाया और उसकी पैंटी को पकड़ कर खींच दिया.

सेक्सी वीडियो लुगाई वाली - बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी

मैंने कहा- मैं भी आप का दीवाना हो गया हूं और आपसे बहुत प्यार करने लगा हूं.मुझे अब भी वो नजारा याद आता है, तो दोस्तों मेरा लंड अपने आप गीला हो जाता है.

कुछ ही देर में सनसनी बढ़ गई और अब मैं उसके होंठों को चूसे जा रहा था. बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी रजनी ने हँसते हुए बेशर्मी से उसके डोले दबाये और बोली- मैनऽऽऽ!राहुल को पता नहीं क्या सूझा, उसने रजनी को बगल से चिपटा लिया और उसे चूमना चाहा.

सुमन अभी नर्सिंग की पढ़ाई कर रही है और उसकी बड़ी बहन की शादी हो चुकी है.

बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी?

फिर मैंने भाभी की ब्रा भी उतार दी और उनके मम्मों को मसलने और चूमते हुए चूसने लगा. एक गाउन उठाकर मैंने अपनी नाइटी के ऊपर पहन लिया और फिर दरवाजा खोलने के लिए चल पड़ी. वो मेरे नंगे बदन से लिपटते हुए बोली- चन्दन, बहुत दिनों बाद चुदाई का सुख मिला है.

ओह उसके कोमल हाथों का स्पर्श पाते ही मेरे भुजंग ने फुंफकारना शुरू कर दिया. आह … ओह्ह … आह्ह … करते हुए मैंने सारा का सारा वीर्य मौसी की चूत में खाली कर दिया. मैंने उसके दोनों चुचों को दोनों हाथों की हथेलियों से पकड़ के दबोच लिया और थोड़ी सख्ती से से दबाने लगा.

ये मेरे छोटे भाई की बीवी के साथ मेरे सुहागरात की कहानी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल कीजिएगा. मैं जब भी सामने होती, तो उनकी नजरें स्कर्ट के नीचे से मेरी जांघें देखतीं या फिर मेरे सीने को निहारतीं. भाभी बोली- मेरा एक काम करोगे राज?मैंने कहा- जी भाभी बोलिये?मैं आंखें नीचे करते हुए ही बोल रहा था.

दीदी ने झट से पूरा पानी अपने मुँह के बाहर थूक दिया, लेकिन मैंने दीदी का पूरा पानी पी लिया. अगली बस आई, तो ये तो पहले वाली से भी ज्यादा भरी थी, लेकिन टाइम ज्यादा हो जाने की वजह से हम दोनों बस में चढ़ गए.

सुमन भाभी ने आंखें मूंदे हुए कहा- यार, तुम तो बड़ी अच्छी मालिश करते हो.

हमने अपने अपने गिलास में दोबारा शैम्पेन डाली और और मैं दीवान पे लेट गया और अदिति पास ही सोफे बैठ के बात करने लगी.

हल्की ठंडी आरामदायक हवा बह रही थी, जो हमारे सेक्स की आग को और भड़का रही थी. ज्योति के चेहरे से तो लग रहा था कि जैसे वह बहुत उदास हो गई है मगर मैं जानता था कि वह मन ही मन खुश हो रही होगी. मेरे ये कहने पर कि मैं दीदी को आज ही ले जाने आया हूँ, जीजा जी का मूड ऑफ़ हो गया था.

फिर हांफते हुए बोली- कर न, रुक क्यों गया!मैंने उसके बाल पकड़ के खींचे और उसे घुमा दिया. कीर्ति की सिर्फ चूत में लंड नहीं गया … बाकी ऐसी कोई चीज़ नहीं रह गई थी, जो हमने न की हो. उसने गिरते गिरते सोफे के किनारे को पकड़ कर अपने हाथों से खुद को सम्भाला.

हम दोनों एक दूसरे को किस कर रहे थे, वो मेरी चूची को दबा रहा था और हम दोनों लोग उत्तेजित हो गए थे.

उनकी शिफ़्ट रात 1 से प्रात 9 तक होती है, लेकिन अभी वह घर से ही ऑनलाइन काम कर लेती हैं. मैंने अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर ली और कुछ दिन बैंक में ही काम में बिजी हो गया. माथे पे सफ़ेद रंग की छोटी से बिंदी उसकी खूबसूरती में चार चाँद लगा रही थी.

तभी तो वो मेरा साथ देने लगी थी और बोलती जा रही थी- और तेज़ करो … हय … आआह … हह … हहह … मज़ा आ रहा है! डोंट स्टॉप … हार्डर हार्डर!मैं धक्के पे धक्का देता जा रहा था. जब वो अंकल के घर की सीढ़ियों से नीचे गईं, तो अंकल को देखकर अम्मी की आंखें खुली रह गईं. मैंने कहा- भाभी आज बहुत दिनों बाद नींबू देखे हैं, उन्हें चूसने का दिल कर रहा है।भाभी मुस्कुराने लगी। भाभी भी मुझ से मजे लेने लगी।बोली- देवर जी, नींबू का पेड़ भाई साहब का है। उन से पूछ लो और नींबू चूस लो।मैं- ना जी, हम तो पेड़ से ही पूछेंगे। वो अपने नींबू चुसवायेगी या नहीं।जब मैं छोटा था तो उन भाभी के घर पर ही रहता था। बहुत बार मैंने उन्हें किस भी किया था और उनके मम्में भी दबाये थे.

अगले ही पल भाभी ने मेरी लोअर को खींच दिया और मेरी जांघों को नंगी करते हुए मेरे लंड को अंडरवियर में तना हुआ छोड़ दिया.

उसकी मस्त गांड पर मैं मरता था, उसकी जानलेवा 36-28-38 की फिगर देखकर तो मुर्दे के लंड में जान आ जाए. मैंने पहले से सुइट को फूलों से सजाने के लिए बुक किया हुआ था, तो मैनेजर मेरे पास आया.

बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी उसके आते ही मैं उसके ऊपर चढ़ गया और अपने होंठ उसके होंठों पे लगा दिए. उसके रस को चूसने के बाद मैं खड़ा हुआ और अपने बाएं हाथ का एक अंगूठा उसकी चूत के अन्दर डाल कर बाकी चार उंगिलयों से उसकी चूत को सहला रहा था और मेरा दाहिना हाथ मेरे लंड की घिसाई में तल्लीन था.

बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी तो चाची बोलीं- यह कैसे संभव है?मैं बोला- चाची आप मेरा साथ दो, तो सब कुछ संभव है. मैं भी सेक्स बहुत मन से करती हूँ और कभी कभी जिस दिन लंड नहीं मिलता मेरी चूत को अपनी चूत में उंगली करके अपने आपको शांत कर लेती हूँ.

मैं अपने दोस्तों से उसके बारे में पूछता रहता था कि क्या वो किसी और को पसंद करती है लेकिन सबके पास से यही जवाब आता था कि उसकी लाइफ में कोई नहीं है.

देवर भाभी का बीएफ चुदाई

चाचा के घर से निकल कर मैंने सोचा कि मैं कौसर को बता देता हूँ कि मैं देर से आऊंगा, नहीं तो वो नाहक मेरा इंतजार करेगी. यह रूम वाकयी बहुत अच्छा था, पर शायद सुमन भाभी ने अब तक अच्छे होटलों के कमरे कम ही देखे थे, इसलिए उनको ऐसा लगा होगा कि ये हनीमून सुइट है. ”मैं हँस पड़ा- तुझे अच्छा लगेगा तो ब्रा क्या ब्रा पैंटी दोनों पहन लूंगा.

मैं- मतलब तुम सो नहीं रही थीं?इसके जवाब मैं वो आंख मार कर हंसी और मैंने जोरदार धक्कों के साथ चुदाई का खेल शुरू कर दिया. वह अपनी बांहों में लपेट कर मुझे जकड़े हुए मेरे चूचों के निप्पलों को मसलने लगा. तभी तो वो मेरा साथ देने लगी थी और बोलती जा रही थी- और तेज़ करो … हय … आआह … हह … हहह … मज़ा आ रहा है! डोंट स्टॉप … हार्डर हार्डर!मैं धक्के पे धक्का देता जा रहा था.

मैंने टी शर्ट के नीचे पैरों में कुछ नहीं पहना था, मैंने उससे कहा- मेरे पास कोई भी ट्राउजर नहीं है.

अब मैं कोई मर्द कहां से लाऊं? मैं तो इन चक्करों में कभी पड़ी ही नहीं. भाई मम्मी और आंटी छह बजे तक घर नहीं आएंगे और पापा तो गांव चले गए हैं. किंतु मैं तुम सब में बड़ी थी इसलिए ऐसा कुछ भी नहीं करना चाहती थी कि जिससे तुम लोगों पर बुरा असर पड़े.

तभी देहाती सी दिखने वाली संगीता भाभी (जी हां उनका नाम संगीता था जिसका ऊपर मैं जिक्र करना भूल गया था) आई और उनके साथ ही बात करने के लिए बैठ गई. मैंने उसकी गांड के नीचे तकिया रखा, जिससे ज़ायरा की चुत और उभर कर दिखने लगी. जैसे जैसे बटन खुल रहे थे, वैसे वैसे मेरी किस्मत के ताले खुल रहे थे.

हम दोनों ने रात में अन्तर्वासना की कुछ कहानियां भी पढ़ीं और बातें करते करते सो गए. औसा प्रतीत हो रहा था कि इस साली छिनाल, हरामजादी की भोसड़ी में यदि आलू डाल दूँ, तो वो भी उबल कर बाहर आ जाएगा.

हम लोग अलग हुए, कपड़े पहने और चलते समय कह गई- एक घंटे में आती हूँ, तब मस्ती करेंगे. मेरे कई बार कहने पर उसने उंगली से प्री कम ले कर अपने होंठों पर लगाया और फिर अपनी उंगली को चाट लिया. मैं वहां अपने मकान में जाकर ठहरता था लेकिन दो-तीन घंटे के बाद मैं अपनी बुआ जी के घर चला जाता था.

आज तुम मेरे सामने हस्तमैथुन करके मुझे अपनी चूत का रस निकाल कर पिलाओ और मैं तुम्हारे सामने हस्त मैथुन करूँगा और तुम्हें अपना रस पिलाऊंगा.

फर थोड़ी देर बाद लंड मुँह से बाहर निकालकर मैंने लंड से आंटी के चेहरे की अच्छे से मालिश की. तभी अचानक किसी वाहन के आने की आवाज हुई तो मैं तुरंत खड़ा हो गया और उसकी साड़ी नीचे कर दी और चूचा साड़ी के द्वारा ढक दिया और हम दोनों वापिस बाइक पर बैठ गए. मैंने मामले की नज़ाकत समझी और वसुंधरा के निकट एक घुटना ज़मीन पर टेक कर बड़े सब्र से, धीरे-धीरे एक-एक रेशा खींच कर नाड़े की गाँठ खोलनी शुरू की.

अजय ऋतु की गर्दन पर किस करने लगा और फिर धीरे-धीरे ऋतु ने विरोध करना बंद कर दिया. उसके दोनों चुचे आजादी के साथ फड़क उठे और साथ ही मेरे दिए हुए हजार रुपए भी नीचे गिर गए.

बस उसके बाद मैंने भाभी के टी-शर्ट उतार दी और उनकी ब्रा के ऊपर से उनके मम्मों के चूचुक बारी बारी से पीने लगा. अगर आपको मेरी सेक्स कहानी अच्छी लगी हो, तो कमेंट बॉक्स में मुझे कमेंट जरूर करें. बबीता बोली- जितना मजा करना है आज ही कर लो मंजू, उसके बाद ऐसा मजा नहीं मिलेगा.

चूत की चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ

मैंने कहा- चिंता मत करो मेरी भाभी जान … पूरा लंड बिल्कुल आराम से अन्दर जाएगा.

अब मैं और अदिति जिम के अलावा हर संडे मिलते, कभी बाहर घूमने जाते तो कभी फिल्म देखने. मैं हमेशा सोचता था कि कोई मस्त लंड मिल जाए … तो उससे बहुत देर तक खेल लूं. और जब मैं लंड बाहर खींचता, तो दीदी भी अपनी गांड को दबा कर झटके के लिए तैयार कर लेती.

मैंने शैम्पेन की बोतल और खाने का सामान लाके पहले ही रेडी कर लिया था. वो पूछने लगी कि मैं आज दिन में फ्री हूँ क्या?तो मैंने हां बोला, तो वो बोली- यार दो महीने हो गए जयपुर आये हुए … मैंने अभी जयपुर ही नहीं देखा है. बड़ी चूची वाली सेक्सी फिल्मउसने कहा- इतना क्या देख रहे हो? वही हूँ पुरानी पूजा!मैंने कहा- मैं पूजा नाम की लड़की को जानता था, आज पूजा भाभी से मिल रहा हूँ।वो थोड़ा शरमा सी गई और बोली- चलो भी अब अंदर … या यहीं करोगे सब?और उसने आंख मार दी।उसने कहा- बैठो, मैं कॉफी बना लूं।कॉफी पीते हुए बातें हो रही थी तो उसने बताया- यार तेरी चुदाई के लिए तरस रही हूँ।मैंने कहा- इतनी तड़फ थी तो गुजरात बुला लेती.

शावर लेने के बाद मैंने अलमारी से एक गुलाबी रंग की ब्रा और पैंटी निकाली. उसके मुंह से निकल गया- तुम्हारा तो काफी बड़ा है!मैंने कहा- जितना बड़ा होगा, तुम्हें मजा भी उतना ही देगा.

पर मैं रुका नहीं, अपने शॉट्स लगाता रहा और नेहा ने चिल्लाते और अकड़ते हुए अपने चरमसुख को प्राप्त किया और 5-6 धक्कों के बाद मैं भी बेजान सा उसके ऊपर गिर गया. अब्बू ने छिपकली को शुक्रिया करते हए कहा- तो उस छिपकली की वजह से मुझे तुम्हारा ये हसीं जिस्म मिला. उसने तेल लगाने के बाद मेरी टांगों को अपने हाथों से पकड़ा और लंड का मोटा सुपारा मेरी चूत में घुस गया.

मैंने मेरी साली को जम कर रंग लगाया और इसी दौरान उसके मस्ताने जिस्म का टटोल कर जायजा भी ले लिया. उसने बोला कि कहां ठीक रहेगा?मैंने बोला- रुको मैं अपने एक दोस्त से पूछता हूं. नीना के जाने के बाद वह मेरे सामने बैठकर मेरी चूचियों को घूरते हुए बोला- निकालो क्या पढ़ोगी?उसकी बात पर मैंने बुक उसके सामने करके अपनी रानों को फैलाकर कहा- अंकल इसका ट्रांसलेशन करवा दीजिए.

अब मैं उसको अपने बिस्तर में खुद से चिपका कर लेट गया और उसके बदन पर हाथ फिराने लगा.

अंकल ने ये कहते हुए अम्मी की कमर में हाथ डाल कर उनको अपने से चिपटा लिया. जब मौसी को तीन-चार मिनट तक खुद ही चूत में लंड लेते हुए थकान होने लगी तो फिर मैंने नीचे से धक्के लगाने शुरू किये.

तभी वो कुछ गर्म ज्यादा हो गई और बोली- आह … और तेज़ तेज़ करो … फाड़ दो मेरी चुत को … यस यस औह यस. जिसके कारण मैं किसी भी कॉलेज में दाखिला‌ नहीं ले सका।अब मैंने जब कहीं दाखिला तो लिया नहीं था इसलिये मैं अपने दोस्तों के साथ ही टाइम पास करता रहता था. उसके पति के लम्बे और मोटे लंड से चुद कर मैं अपनी प्यास बुझाती रहती हूँ.

मैंने भी उससे आंखें मिलाई और मुस्कुराती रही और कुछ देर वहीं खड़ी रही. ये कहानी मेरी और मेरी चाची और उनकी दो बहनों के बीच गुज़री हुई एक सच्ची घटना है. मैंने ये देखा तो पहले तो उसे टोकने का मन हुआ, लेकिन तभी सोचा कि रहने दो, ये कुछ भी भरे, इससे क्या दिक्कत है.

बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी वैसे भी मैं पार्टी के लोगों के साथ टाइम पास कर लेती हूं, अब ज्यादा कमी महसूस नहीं होती. मैंने जैसे ही उनका अंडरवियर नीचे किया, वैसे ही उनका लंड हुंकार मारते हुए मेरे सामने खड़ा फनफना रहा था.

इंडियन देसी बीएफ मूवी

वो अपनी कहानी बताते हुए मेरा हाथ पकड़ कर रोने लगी और कहने लगी कि क्या मैं उसका दोस्त बन सकता हूँ?उसने जो पूछा, मैं तो पहले से ही उसके इंतजार में था. कुछ देर ऐसे ही चुदने के बाद वो मेरी कमर में अपने पैर को लपेटने लगी. मैं उनके साथ नहीं जा पाई क्योंकि मेरे एग्जाम्स चल रहे थे और अभी 2 एग्जाम्स बचे हुए थे.

मैंने शर्ट को निकाल दिया था, अब वो ब्रा और पैंटी में हुस्न की मल्लिका लग रही थी. उसके पति के लम्बे और मोटे लंड से चुद कर मैं अपनी प्यास बुझाती रहती हूँ. बीपी सेक्सी नंगी ब्लूपहली बार मेरी चूत में किसी पुरूष का लंड गया था जिसका स्वाद मुझे बहुत मजा दे रहा था.

बाहर मौसम और अधिक रौद्र रूप इख्तियार कर चुका था, आसमान पर काले बादलों की सेना ने आसमान में धीरे-धीरे स्थायी किलेबंदी कर ली थी, लगता था कि आज शाम ही बारिश आएगी.

काजल ने मेरे लंड पर हाथ रख कर सेक्स का जो तूफान मेरे अंदर पैदा किया था वो अब शांत हो गया था. तभी शायद अंकल ने धक्का थोड़ा तेज मार दिया, जिससे अम्मी की चीख निकल गयी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… थोड़ा आराम से परवेज.

मैंने भी सोचा कि चलो देखते हैं, अगर राधिका और सोनल को कोई एतराज नहीं है. मैंने उसे अपना नंबर दे दिया।जब मैं सौरव को नम्बर बता रही थी तो बाकी छात्र हम दोनों की तरफ ही देख रहे थे। मैं आराम से आकर सीट पर बैठ गई।मेरी दो-चार सहेलियाँ भी आ गईं, मुझसे पूछने लगीं- क्या चक्कर चल रहा है तेरे और सौरव के बीच में?मैंने मजाक में कह दिया कि वो मेरा नंबर मांग रहा था तो मैंने दे दिया।मेरी सहेलियाँ भी खुश हुईं और मैं भी हँसने लगी।जब घर पहुँची तो मोबाइल देखा. ’उसने इशारे से पूछा- क्या है मेरी सजा?मैंने कहा- मैं तुम्हें बेड पे नहीं चोदूंगा.

मैंने जैसे ही उसके बाल उसके चेहरे से हटाये तो उसने अपना चेहरा उठा के मेरे तरफ किया.

उसने अपना मुँह मेरे कान के पास लाया और मेरी चुत की तारीफ में कुछ कहने लगा और कुछ ऐसी बातें कहीं, जो मैं यहां नहीं लिख सकती. मैं देख रही थी कि कैसे बबीता उसके मोटे लंड से चुद कर मजे ले रही है. उसके कुछ पल बाद ही मेरे लंड ने भी चाची की चूत में वीर्य निकाल दिया.

सेक्सी वीडियो इंग्लिश फिल्म सेक्सीहीना- हां, मैं उससे बात करती थी लेकिन मुझे ये नहीं पता था कि उसको मेरा नम्बर अरमान मामा ने दिया है. थोड़ी देर उसका तड़पना भूलकर मैं उसकी चूचियों को चूसने लगा और उसे सहलाने लगा.

एचडी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

लेकिन अभी मुझे तो मजे लेने दे इस मस्त माल के। लेकिन तू नहीं होता तो ये आइटम मुझे भी नहीं मिल पाती. ऊपर बढ़ते हुए मैंने उसकी चूत पर देखा, तो उसकी बिना चुदी चूत हल्की झीनी सी कैप्री में फूली हुई नजर आ रही थी. उसे देख कर मेरे मन में विचार आया कि आज से सुमन को अपने वश में रखूँगा.

कारण आप अच्छी तरह समझ सकते हैं।कल सुबह-सुबह मैंने उसे सुहाना के साथ हाथ में टेनिस रॅकेट पकड़े स्टेडियम ग्राउंड जाते देखा था। आप को बता दूँ कि मैं भी टेनिस का बहुत अच्छा खिलाड़ी रहा हूँ. हम लोग भी वहीं खड़े थे और दूल्हा-दूल्हन एक दूसरे के गले में माला पहना रहे थे. इस कहानी को शुरू करने से पहले मैं आप लोगों एक बार फिर से अपने बारे में संक्षिप्त परिचय देना चाहूंगी.

उस वक़्त कमरे में लाल रोशनी जल रही थी और उस लाल रोशनी में उसका दूधिया बदन बिल्कुल सोने के जैसा चमक रहा था. मैं कॉलेज में पढ़ रही थी और मेरी सभी सहेलियां रोजचुदाई की बातेंकिया करती थीं. मेरी पिछली कहानी थीहोटल के कमरे में ब्वॉयफ्रेंड का मोटा लंडमैं अन्तर्वासना पर कहानियाँ पढ़ कर मजा लेती रहती हूँ और इसलिए मैंने सोचा कि आज मैं आपको अपनी मस्ती भरी एक रात की कहानी बताऊं.

मैंने डरते डरते भाभी से पूछा- आप यहां? कोई काम था क्या? मॉम तो नहीं हैं घर में. अब मैं उनकी चुत चाटने लगा था और मैं एक बार पैन्ट में झड़ भी चुका था.

उसके बाद मुझसे और भाभी से बिल्कुल कंट्रोल नहीं हो रहा था, तो मैं भाभी के ऊपर लेटकर मिशनरी पोजीशन में आ गया.

मैं झट से उनके पैर के पास घुटनों के बल बैठ गया और वो कुर्सी पर बैठी रही. 2020 का सेक्सी वीडियो दिखाइएतब अंकल को पता चला कि मेरी मां की चूत ठीक से चुदी हुई नहीं है। अंकल यह देख कर खुश हुए. बेबी सेक्सी पिक्चरमेरी दोनों हथेलियों के नीचे वसुन्धरा के दोनों उरोजों और उनके निप्पल्स रगड़ खा रहे थे. इसके लगभग आठ दिन बाद परवीन की मम्मी ने मुझसे नींद की दवा लाने के लिए कहा.

अंकल बोले- फिर?मैंने कहा- आप कैमरे में रिकॉर्ड कर लेना, मैं बाद में आकर देख लूँगा.

कमरे में जाने के बाद जैसे ही उन्होंने दरवाजा बन्द किया, मैं दरवाजे की आवाज को सुन कर समझ गया कि आज कुछ गड़बड़ होने वाली है. बिल्कुल रंडी की तरह मेरे मस्त लौड़े को चूस रही थी।वह बोली- बहुत प्यासी हूं मैं. उसके मम्मे भी दबाता था, उसके गांड के गोलों पे थपेड़े भी लगाता और उसकी प्यारी तोंद तो इतनी सेक्सी थी कि क्या कहना.

लेकिन उस दिन जरा देर हो गयी थी, मैं बस स्टैंड पंहुचा, तो बस निकल चुकी थी. बहुत भीड़ होने के कारण धक्के से अमित मेरे ऊपर आया और उसका पूरी बॉडी मेरी पूरी पीठ से रगड़ खा गयी. मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे किसी सुलगती, जलती भट्ठी में मैंने अपना लौड़ा दे दिया हो.

बीएफ सेक्सी फिल्म गुजराती

जो भी लड़की मेरे लंड को देखती थी, वो देखती ही रह जाती थी। धीरे-धीरे फिर मैं शादीशुदा औरतों को भी लंड दिखाने लगा क्योंकि शादीशुदा औरतों को लम्बे और मोटे का लंड का महत्व ज्यादा पता होता था. साहिल उठ कर दरवाजा खोलने के लिए गया तो दरवाजे पर समीरा बानू खड़ी थी. मैंने कहा- आपको नंगी देख कर किसकी नीयत खराब नहीं होगी भाभी?वो बोली- हे भगवान, आज तेरे भैया से तेरी शादी की बात करनी ही पड़ेगी। इससे पहले मैं कुछ और कहता वो अपने कमरे में भाग गई।भाभी से इस तरह की सेक्सी बातें करने और उनकी कच्छी को उनके सामने ही सूंघने के बाद मेरे अंदर की प्यास बहुत ज्यादा बढ़ गई और मेरा लंड तन गया.

फिर प्रिया ने मेरे लण्ड को पैंट खोल कर बाहर निकाल लिया और मुँह में लेकर चूसने लगी।मैंने प्रिया से कहा- हम दोनों उल्टा लेट जाते हैं.

वो मेरे लंड के सुपारे को जीभ से चाट रही थी और जितना लंड उसके मुँह में जा सकता था, उतना अन्दर लेकर चूसे जा रही थी.

एक दिन मैंने भी रूपाली की तरह ही अपने रूम में फोन को छिपाकर रख दिया. लेकिन उसके चेहरे पर न तो कोई भाव था और न ही ऐसा कोई चिह्न जिससे मैं ये पता लगा सकूं कि उसने ये सब जान-बूझकर किया है. एक्स एक्स एक्स वीडियो सेक्सी चूतइन कहानियों को कई दिनों तक पढ़ने के बाद मैंने सोचा कि क्यों न मैं भी अपनी कहानी आप सबको बता दूँ.

संगीता हंस पड़ी और उसने अगले ही पल अपनी ब्रा उतार फेंकी और राहुल के हाथ अपने उरोजों पर रख दिए. राहुल ने संगीता की सुराही जैसी गर्दन की मालिश के साथ उसको इधर उधर घुमाना शुरू किया. दस मिनट में उसने मेरा काम खत्म कर दिया और मैं जाने लगा तब उसने कहा- अगर तुम्हारे पास बाइक है तो तुम मुझे बस स्टैंड तक छोड़ डोज?तो इस पर मैंने हाँ कर दिया और साथ में हम नीचे आ गए.

मैंने कहा- वाओ मामी … कभी उसके साथ एंजाय किया या नहीं?मामी बोलीं- हां किया है. आप अगर दिल्ली के आसपास रहते हैं, तो आपको पता ही होगा कि वहां पे सिर्फ जोड़े ही मिलते हैं.

सुबह मैं लगभग 11 बजे उठा, तो देखा सब जग गए थे और भाभी भी खाना बना रही थीं.

हवस की एक विशेषता यह होती है कि उसको जितना शांत करने की कोशिश करो, वो और बढ़ती जाती है. श्वेता मैडम की चूत कांपते हुए पानी छोड़ने लगी, चूत की गर्माहट की वजह से मैंने भी पानी उनकी चूत में छोड़ना चालू कर दिया. मैं तो न जाने कब से इसी पल का इंतजार कर रहा था कि कब भाभी को अपने नीचे लेकर मन भर के जोर जोर से चोदूं.

नंगी नहाती हुई सेक्सी पर एक बात जो राहुल को नयी लगी कि पंकज-सारिका अब कुछ ज्यादा ही बेशर्म होते जा रहे थे. अब वो राहुल को शायद दिखाने के लिए भी ज्यादा ही खुराफात करने लगे थे.

इसलिए देवर रुक रहे थे, पर मैंने कह दिया कि आज शाम को ही उनके भैया यानि मेरे शौहर आने वाले हैं, इसलिए मैं अकेली नहीं रहूँगी, वो रहेंगे साथ में. रात्रि नौ बजे हमे विश्राम के लिए एक धर्मशाला में पहुंचे जहां पर मैं पहले भी कई बार रुक चुका था. सबकी खुशी और मजे के लिए था। लेकिन मुझे डर था कि विक्रम मेरे और रीना के बारे में क्या सोचेगा? अगर विक्रम ने इसे सामान्य सामाजिक जीवन के नज़रिये से देखा तो उसका भाई और भाभी दोनों ही उसकी नजरों से गिर जाएंगे। किंतु मैं अब उसे क्या जवाब दूं.

वीडियो देखना है बीएफ

बारह बजते ही मैं अपने कमरे से बाहर निकल कर पीछे की दीवार से कूद कर ऋतु के घर के पीछे जाने लगा, तो उसी समय अनुषी ने भी मुझे देख लिया. ज्यादा होशियारी न दिखाओ।अब भाभी दूसरी तरफ घूम कर पेटीकोट के अंदर हाथ डालकर साबुन लगाने लगी। अब मेरी तरफ उनकी गांड आ गयी। गीले कपड़े में भीगी हुई भाभी की मोटी गांड साफ-साफ दिख रही थी। क्या मस्त गांड थी उनकी. वो बाइक से उतर गई और घुटनों के सहारे बैठ गई, मैं खड़ा हो गया और लंड उसके मुँह के पास ले गया.

अब मैंने अपना मोबाइल निकाला और इमरान हाशमी की आशिक़ बनाया वाली वीडियो देखने लगा. सही तरीके से पूरे इमोशन से चुदने की वजह से चुत बार बार गीली हो रही थी.

भावना भाभी के बारे में मैं क्या बताऊं, वो इतनी हॉट माल थी कि बस दिन रात मेरे सपनों में उसकी 36-28-38 फिगर ही घूमती रहती थी.

चूंकि मेरी झांटें कुछ बड़ी हो गई थीं, इसलिए मैं बाथरूम गयी और बालसफा क्रीम लगा कर मेरी चुत पर उग आए छोटे छोटे बाल साफ़ कर दिए. मैंने उसको बताया- मुझे जब भी मेरी चॉइस की लड़की मिलेगी, तो मैं अगले दिन ही शादी कर लूंगा. फिर जब मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने उसको दोबारा से नीचे लिटा दिया और उसकी टांगों को चौड़ी करके उसकी चूत के छेद पर अपने लंड का टोपा रख कर उसको रगड़ने लगा.

दूध पीने के बाद हमने कुछ देर तक टीवी देखा और फिर आधे घंटे के बाद सब लोग सोने के लिए तैयार हो गये. मैंने देखा कि भाभी की चूत मेरे लंड को ऐसे लेने लगी थी जैसे बस वो झड़ने ही वाली है. भाभी- बुरा तो नहीं लगा, लेकिन तुम अभी छोटे हो, यही सोच कर मैं कल चली गयी थी.

तभी उसने अपना बांया हाथ मेरी बुक देखने के बहाने मेरी रान पर रख मुझे पागल ही कर दिया.

बीएफ दिखाइए वीडियो सेक्सी: उसकी चूत खुल गई थी, सो इस बार मैंने पूरी ताकत से उसकी चुत में लंड पेल दिया और अन्दर बाहर करने लगा. फिर वो सीधा हो गया और उसने खुद का शॉर्ट नीचे किया और लंड बाहर निकाला.

वो बोली- क्या करते हो?मैंने कहा- अभी किया कहां है?उसने मेरी तरफ देख कर कहा- कुछ करना भी नहीं. मैं सुमित सिंह, जोधपुर राजस्थान का रहने वाला हूँ तथा एक प्रतिष्ठित सरकारी विभाग में कार्यरत हूँ. ज़ायरा की बगल से बहुत ही मादक खुशबू आ रही थी, जो उसके पसीने ने ओर भी मादक बना दी थी.

कमर के ख़म के और नीचे हाथ ले जाने की बजाए मैंने पैंटी के इलास्टिक के साथ-साथ पेट के सेंटर की ओर हाथ बढ़ाया.

सुमन भाभी की सफाचट चूत ऐसी लग रही थी, जैसे उन्होंने आज ही मेरे लिए अपनी चूत की झांटें साफ़ को हों. अगले दिन जब पापा जी और चोपड़ा अंकल सैर से लौटे तो पापा जी बाथरूम चले गए. 10 मिनट बाद मेरे बॉस ने अपने लंड का पूरा पानी मेरी चूत में छोड़ दिया.