कानपुर के बीएफ

छवि स्रोत,कैटरीना कैफ की सेक्सी फोटो hd

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉलीवुड बीएफ फिल्म: कानपुर के बीएफ, वो मुझसे बोली- बस अब … चोद दो मुझे प्रेम … मुझसे अब रहा नहीं जा रहा.

क्सक्सक्स १७

बस दस मिनट के इस चुत लंड की चुसाई के मजे के बाद हम दोनों फिर से चुदाई करने में लग गए. लोकगीत वीडियोऊपर का शामयाना निकालने के बाद पेटीकोट का नाड़ा एक बार में खींच दिया.

उसमें अलग अलग एंगल से मर्द को औरत का गांड मारते और लंड चूसते हुए दिखाया हुआ था।मैं सकपका के वहाँ से भाग गया।मैंने पहली बार ऐसा फ़ोटो देखा था इसलिए मेरे नजर से वो नजारा हट ही नहीं रहा था। रात को भी मैं उसी के बारे में सोच रहा था। फ़ोटो में लड़के का लण्ड बहुत बड़ा था. लैंड कितना बड़ा होता हैतभी मैं जानबूझकर लड़खड़ाते हुए उनके बिस्तर पर गिर गयी और ऐसे खींचा कि वो मेरे ऊपर ही आ गिरे.

कुछ समय बाद उसकी चूत और ज्यादा गीली हो गई, तो मैं समझ गया कि ये जो सुबह सही गलत का भाषण दे रही थी … वो अब खुद भी मजे ले रही है.कानपुर के बीएफ: इसके बाद वो मेरे बाकी कपड़े ले आई जिसे पहनने में भी उसने मेरी मदद की.

उनका लंड मेरी चुत के जड़ में धंसा हुआ था और वीर्य की गर्म पिचकारियां मेरी बच्चेदानी को भिगो रही थीं.तभी पापा जी की आवाज आयी- बहू तैयार हो गयी?मैंने कहा- हां पापा जी, बस अभी आयी!जब मैं बाहर गयी तो पापा जी टीवी देख रहे थे.

कान्हा जी फोटो - कानपुर के बीएफ

इसी बीच हॉस्पिटल वाले भैया भी गांव से आ गए थे। अगले कहानी में बताऊंगा कि भैया का बड़ा लंड मैंने कैसे लिया.मैंने लंड पर थूक लगाया और चुत की फांकों में सुपारा सैट करके ठोकर मारना पक्का कर लिया.

मगर अब एक बात ध्यान से सुन लो कि जब तक तुम यहां हो, तुम सिर्फ मेरे हो. कानपुर के बीएफ उसने मुझे घोड़ी बनने को बोला और मेरे पीछे आकर लन्ड को मेरे चूत पर सेट कर के एक जोरदार झटका लगाया.

मैंने कुछ देर तक मॉम की चुत सहलाई और उनका इशारा समझते ही मैं लंड पेल कर चोदना शुरू कर दिया.

कानपुर के बीएफ?

बीस मिनट बाद हम दोनों फिर से गरम हो गए थे और अब चुदाई का खेल शुरू हो गया. लगभग दस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद वो एकदम से चिल्लाते हुए निढाल पड़ गई. कभी उसको उंगलियों में भींच रही थी तो कभी उसकी मुट्ठी बना कर दबा देती थी.

मैं मन ही मन अपने आपको कोस भी रहा था मगर जानता था कि अगर आज कोई हरकत करता, तो शायद बात बिगड़ भी सकती थी, क्यूंकि मैं पक्का नहीं था कि वो भी मेरे साथ वैसा ही सोच रही है, जैसा मैं उसको लेकर सोच रहा था. अब अभिनव फिर से मां की चूत के पास आ गया उसने मां को लेट आया और खुद मां के साइड में लेट गया. चाची मुस्कुरा दीं और उन्होंने मेरे सर को फिर से अपनी चूत पर दबा दिया.

Indian Bhabhi ki Chutएकदम से उंगलियां घुसा देने से भाभी की आह निकल गयी. अब तो मेरी हिम्मत एकदम से बढ़ गयी और मैंने दीदी के पजामे के साथ ही उसकी पेंटी को भी उतार दिया. मैंने फिर से मम्मों को दबाना शुरू कर दिया और अपने चेहरे को उसके चेहरे के पास ले जाकर उसके होंठों को धीरे से चूम लिया.

वो बोला- मैं चाहता हूँ कि तुम मेरी वाइफ को हर तरह से खुश करो … चाहे सेक्स से … या मसाज से … मुझे सिर्फ़ उसकी ख़ुशी चाहिए. तुम मुझसे पहले शायद उस बियर की दुकान वाले काले पहलवान को अपने सपने में याद करती रही होगी.

दोस्तो, मैं सविता फिर से हाजिर हूँ आपके लिए एक और इंसान की जिन्दगी की सच्चाई लेकर! मेरी काफी कहानियाँ अन्तर्वासना पर भी हैं.

वो काफी असहज हो गयी थी मगर फिर भी मेरे लंड को अपनी चूत के अंदर बर्दाश्त करने की कोशिश कर रही थी.

उस समय मैं बाथरूम में अपनी आंख बंद किए अपने लंड को अपने हाथ लेकर हिमानी का नाम लेकर बड़बड़ा रहा था- मेरी जान हिमानी जब तुम इतनी नशीली हो … तुम्हारी चूत भी बहुत नशीली होगी … आह एक बार अपनी नशीली चूत का दीदार तो करा दो … मेरी जान!उसी समय हिमानी मेरे सामने खड़ी होकर मुझे देख रही थी. अब उसका कॉल आता रहता है, हम रात भर बातें करते हैं और जब मुलाकात होगी, तो मैं आपको बताऊंगा कि उसकी गांड चुदाई का क्या हुआ, चोद पाया कि नहीं … और चोद पाया तो कैसे. मैंने बाहर से ही कहा- जी चाची, क्या हुआ बताइये?वो बोली- अरे बेड पर मेरा सामान पड़ा हुआ है.

जब मैंने कहा कि मैं मनोज से रिश्तेदार के बारे में पूछूंगा तो वह घबरा गई. बाथरूम में गर्म पानी खत्म हो गया था तो मैंने हिमानी की मम्मी से कहा- आंटी जी, ऊपर तो गर्म पानी खत्म हो गया है. मॉम अपनी चूचियों की क्लीवेज कभी नहीं ढकती थीं, उनकी सिल्की चूचियों की गोरी दरार उनके गहरे गले वाले ब्लाउज में से साफ़ दिखती थी, उस पर मॉम की साड़ी का पल्लू उनकी चूचियों पर कुछ इस तरह से कसा हुआ होता था कि उनकी चूचियों में दो गुब्बारों में हवा भर कर गांठ बाँध दी गई हो.

जीन्स और टॉप पहने वो बैड पर लेटी किसी अप्सरा से कम नहीं लग रही थी और मैं उसके इस यौवन का रस पीने को बिल्कुल तैयार था.

चूंकि मैं जमींदार घर का लड़का हूँ, इसलिए मेरे रहन सहन का स्तर भी बहुत अच्छा है. वो मस्ती में मेरे लंड को दबा रही थी और मैं उसकी चूचियों को दबा रहा था. चुम्बन लेते लेते हम दोनों की जुबानें एक दूसरे के साथ ही रगड़न का मजा ले रही थीं.

फिर मैंने बड़ी की तरफ देखते हुए पूछा- सुबह मैंने आप से शुरूआत की थी. बुआ की चीख निकल गयी और उन्होंने जैसे ही चिल्लाने के लिए मुख खोला, मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख कर उनकी चीख को दबा दिया। फिर थोड़ी देर रुक कर मैंने बुआ को किश करना शुरू किया।5 मिनट बाद बुआ का दर्द कम हुआ और वो अपनी गांड हिला हिला के लंड को अपनी चुत में लेने लगी। अब मैं भी बुआ को जोर जोर से चोदने लगा. मेरे मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … इस्स … करते हुए मैं उसके मुंह में लंड को देने लगा.

मैंने हिम्मत करके हिमानी से कहा- मेरी जान, कितने दिनों से तुम्हारा दीवाना हूं.

मेरे बदन में झटके लगने लगे और लंड से वीर्य निकल कर भाभी की चूत में गिरने लगा. चूंकि हम पहली बार मिले थे और वो मुझसे ऐसे चिपक कर गले मिल रही थी जैसे किसी पेड़ से कोई प्यासी लता चिपट गयी हो.

कानपुर के बीएफ उसके बाद उसने मेरे हाथों को ऊपर करके मेरे टीशर्ट को खींचना शुरू कर दिया. वो भी मादक सिसकारियां लेते हुए इस बात का इशारा कर रही थी उसके अंदर अब वासना की आग को हवा दी जा रही है जो हर पल भड़कती ही जा रही है.

कानपुर के बीएफ लेकिन जैसे ही मैंने मोनिया के खिले हुए चेहरे को देखा तो मैं बहुत ही खुश हो गया. मेरे मोटे और लम्बे लंड को देख कर आंटी ने मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और उसको दबाकर देखते हुए बोली- इतना बड़ा लंड!कृष्णा आंटी वहीं पर बैठ गयी और मुंह खोल कर मेरे लंड को चूसने लगी.

पति ने मुझे खुद के सीनियर को पटाने की शर्त लगायी जिसे मैंने जल्दी ही जीत लिया.

बीएफ बांग्ला

मुझे अंदर से बहुत अच्छा भी लग रहा था और डर भी।वे अपना लण्ड हाथ में ले कर बोले- चूसोगे?मैं फिर शर्मा के वहाँ से भाग गया।रात में मुझे केवल उनका लण्ड ही दिख रहा था और सोच रहा था कि इतना बड़ा लण्ड चूसने में कितना मज़ा आएगा. वॉचमैन- हैलो राजश्री, क्या बात है, आज तो तुम्हारे चेहरे में अलग ही चमक है. Indian Nude Bhabhiमैं चांस मारने के चक्कर में लंड को थोड़ा नीचे ले गया कि मौका मिले तो गांड मारने में क्या हर्ज है.

उसकी चुत का गर्म गर्म चूत रस, मेरे चूतड़ों अच्छी तरह से महसूस कर रहा था. उसके जाने के घंटे भर बाद ही उसका मैसेज आ गया जिसमें उसका पता लिखा हुआ था. मैंने अब तक लड़कियों को सपने में और ब्लू फिल्मों में ही चुदवाते देखा था.

मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोली- बीती रात में ही तो तुमने मेरी चूत को चोदा है.

इसी बीच बड़ी बहन प्रेमा ने अपनी 34 की चुचियां मेरे मुँह पर रख दी और पीने को कहा. हम खुल कर ज्यादा कुछ कर नहीं सकते थे क्योंकि उसका भाई इतना भी छोटा नहीं था कि उसको कुछ पता ही न चले. भाभी ने मेरी गर्लफ्रेंड की फोटो देखी तो उन्होंने मुझे गर्लफ्रेंड की चुदाई के बहाने खुद की चुदाई के लिए उकसाना शुरू कर दिया.

उसकी चूचियों को उसके गाउन के ऊपर से दबाते हुए मैं उसके बदन के ऊपरी हिस्से को जगह जगह से चूमने लगा. इंस्पेक्टर ने मुस्कराकर कहा- बको?मैंने एक ही सांस में सारा वाकया सुना दिया. थोड़़ी देर में कृति भी मेरे होंठ चूसने लगी तो मैं समझ गया कि लोहा गर्म हो गया है.

मेरा फनफनाता हुआ लंड मेरी बहन की कुंवारी चूत को फाड़ता और चीरता हुआ लगभग आधा अन्दर चला गया. मेरी बात सुनते ही वो मेरी नाभि में अपनी जीभ घुसाने लगीं, मुझे गुदगुदी सी होने लगी.

इसलिए कई बार तो मेरे पति माधो अपने किसी दोस्त के यहां शहर में ही रुक जाया करते थे. दरअसल मैं समझ तो गया था कि इसकी चूत में मेरे लंड के नाम की खुजली उठी है. अब पोजीशन कुछ इस तरह की थी कि मेरी गांड खुली थी और भैया ने मेरी गांड पर अपना लंड टिका दिया था.

मेरे बिना पूछे ही भाभी बोली- देखो, आज जो तुमने जो कुछ भी देखा उसका किसी के सामने जिक्र मत करना.

इसके बाद उन्होंने गांव की 3-4 लड़कियों और भाभियों को भी मेरे लंड से चुदवाया था. उसकी सीत्कारने की आवाजें काफ़ी तेज़ हो गयी थीं … लेकिन वो सोने का नाटक करती रही. मगर मुझे घर में ही ऐसा लंड मिल जायेगा इसके बारे में मैंने कभी सोचा भी नहीं था.

वैसे ये मेरा पहली बार था, जब किसी ने मेरे हाथ और आंखें दोनों बांध कर मेरी चुदाई की हो. उसका 8 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा लंड जब चूत में जाता है तो स्वर्ग की सैर करवा देता है.

मॉम उनके चूतड़ भी बहुत ही बड़े बड़े और गोल गोल हैं, जिन्हें देखने के बाद किसी का भी लंड खड़ा हो सकता है. मैंने तुरन्त उनके एक चूचुक को मुँह में भर लिया और दूसरे चूचुक को उंगली से मसलने लगा. कृति ने भगवान को हाथ जोड़कर प्रार्थना की और उसके बाद मेरे पैरों में बैठ गई.

चोदा चोदी सेक्स मूवी

उसके मुँह से आह उह्ह … की आवाजें सुनकर मैं भी बहुत गर्म हुआ जा रहा था.

’यश ने मेरे गाल पकड़े और वो गाल पर किस करने के बहाने मेरे होंठों पर ही किस करने लगा. कुछ देर तक चाची मेरे लंड पर ऐसे ही आगे पीछे होती रही और मुझसे कंट्रोल करना मुश्किल हो गया. मगर मैंने कहा- आप चुदाई देखोगे कैसे? दिन में तो आप जॉब पर होते हो!पति बोले- मैं पूरे घर में छोटे कैमरे लगा दूंगा और तुम्हारी चुदाई कहीं से भी देख लूंगा.

उसकी गोरी गोरी जांघों के बीच में उसकी चूत को छिपाये हुए उसकी पैंटी गजब लग रही थी. उस समय कोई भी मर्द मेरी चूत को चोदने की ख्वाहिश करता तो मैं उसके लंड से चुदवाने के लिए तैयार हो जाती. काजल राघवानी का सेक्सी वीडियोमैं चुत चाट रहा था और भाभी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… येस यश … और चाट … आह मजा आ रहा है.

कुछ देर में मेरे लंड का लावा निकलने वाला था तो मैंने बोला- आह छूटने वाला है. भाभी भी मेरे इशारों को समझ चुकी थी लेकिन शायद कुछ बोलना नहीं चाह रही थी.

लेकिन वक्त के साथ फिर जिम्मेदारियां बढ़ीं और लिखने का काम पीछे छूट गया. अंकल से थोड़ी बातचीत हुई और बात बात में उन्होंने यह बताया कि वे अपने बेटे के बर्थडे में शामिल नहीं हो सकते क्योंकि उन्हें दूसरे गांव जाना है. माँ अंकल से बोली- हां, गाँव में मेरे जेठ का लड़का था, उससे चुदाई करवाई थी, उसका लंड आपसे भी बड़ा था।और वे दोनों हंसने लगे.

दूसरा लड़का दारू पीने का शौकीन था … तो एक बार उन दोनों लड़कियों के माँ बाप बाहर गांव गए थे. भाभी को भी शायद बहुत समय से भैया ने चोदा नहीं था, इसलिए उनकी चुत ने भी पानी छोड़ना शुरू कर दिया था. बुजुर्ग व्यक्ति ने थोड़ी देर तक दोनों को साथ रहने दिया, पर बकरा चोदने को राजी नहीं हो रहा था.

मैं कुछ नाराज, कुछ मायूस होकर वापस जाने लगी, तभी घर का दरवाजा खुल गया.

क्या मेरी प्यारी बहना अपनी चुदाई मुझसे करवाएगी?पीहू ने कहा- भैया, आप मेरे साथ कुछ भी कर सकते हैं. मैंने अपना मुँह खोल दिया, तो उसने अपना मुँह मेरे मुँह में डाल कर चॉकलेट ले ली और फिर मैंने उसके मुँह में से निकाल कर उससे बोला कि अब तुम ले लो.

शोभा मेरा लण्ड उसी खुशी के साथ चूसने लगी जैसे वह थोड़े देर पहले आइसक्रीम चूस रही थी।शोभा की सेक्सी बॉडी मेरी हवस और बढ़ा रही थी. उसे देखते ही मेरी चेहरे पर एक अलग ही चमक आ गयी, पर मैं कभी भी उसे बुरी नज़र से नहीं देखता था. रानी ने अपनी ड्रेस की तरफ देखा, तो उसकी नंगी चुत सामने से साफ़ दिखने की स्थिति में थी.

थोड़ी देर बाद वो एक बाथरोब पहन कर बाहर आई और मैंने उसको गले से लगा लिया. मैंने पूछा- मेरी सर्विस कैसी लगी मैडम?वह बोली- बहुत अच्छी!मैं उसे एक किस करके चला आया. इस घटना को मैंने बहुत सामन्य तरीके से लिया क्योंकि मैं भी समझता था कि मेरी मॉम अब भी जवान हैं और उनको अपनीजिस्मानी भूखको शांत करने का अधिकार है.

कानपुर के बीएफ फिर अज़रा ने अपनी साड़ी उतार कर वहां अंदर ही सूखने के लिये डाल दी। हम दोनों हीटर के पास बैठे हुए थे। वो ब्लाउज और पेटीकोट में थी. मेरे पति से भी मुलाकात कॉलेज में ही हुई थी और दूसरी मुलाकात में ही मैं अपने पति से चुद गयी थी.

हिंदी बीएफ सुहागरात वाला

वो बीच बीच में मेरे आंड को चाटता और और उनको मुँह में लेकर चूसता जिससे मैं दूसरी दुनिया में सैर करने लगता।तब उसने दो उंगलियाँ मेरे गांड में घुसा दी और उसे अंदर बाहर करने लगा. सोनल ने उसके मुँह से हाथ हटाया तो काजल मुझे गुजराती में गाली देने लगी- चोदना भोसड़ीना पिकी ना ताने नथी खबर पड़ती. मैंने उससे माफी माँगी और कहा कि तबीयत खराब होने के कारण मैं जा नहीं पाया.

मैं मना करती रह गयी पर उसने मेरी एक न सुनी और मेरी गांड के छेद में अपना लंड टिका कर जैसे ही धक्का दिया, मुझे बहुत तेज दर्द हुआ, मुझे लगा जैसे मेरी गांड फट गयी. गप्प की आवाज करते हुए पूरा मूसल मेरी प्यारी मामी के चूत में चला गया. एक्सक्सेकअब पोजीशन ये थी कि वो मेरी गोद में बैठे बैठे मेरा लंड अपनी चुत में मथ रही थी.

खाने पर पापा जी को बुला के मैं जैसे ही मुड़ी, मैंने अपना मोबाइल नीचे गिरा दिया और मोबाइल उठाने के लिए नीचे पूरी झुक गयी और हल्की सी अपनी टांगें भी फैला दी.

भाभी ने मुझे उनके चूचों को घूरते हुए पकड़ लिया और मुस्कुराते हुए पूछा- कहां खो गए देवर जी??मैं झेंप गया और बोला- क. पीछे एक हाथ लाकर उसने मेरे सिर को अपनी चूत की तरफ दबाना शुरू कर दिया.

जब खेतों में पानी देना होता था तो पिताजी यहीं पर सोते हैं।मैंने ट्यूबेल का दरवाजा खोला और पीहू को अंदर कर बाइक को भी दरवाजा बंद कर लिया।मैं कुछ देर पहले ही ट्यूबवैल पर दीये जला कर गया था. मोनिया घर का काम कर रही थी, तो मैं भी उसके काम में हाथ बंटाने में मदद करने लगा. उसकी चूत एकदम से ऐसी लग रही थी जैसे अधकटी सेब के बीच में चीरा लगा दिया गया हो.

मामी बोली- तुम हमारे घर पहली बार आये हो किसी भी काम के लिए शरमाना नहीं.

फिर पति बोले- मज़ा आया या नहीं?मैंने कहा- आपने सच कहा था; पापाजी का लंड वाकई बहुत मोटा है और मज़ा देता है. इसके लिए आपको पहले मुझे मेल करनी होगी, मुझे बताना होगा कि आपको मेरी हिंदी सेक्सी स्टोरी कैसी लगी? … फिर देखूँगी. मैं चुत चुसाई से एकदम सातवें आसमान पर थी और मादक सिसकारियां ले रही थी.

सेक्स का कैप्सूलतो मैंने क्या किया? मैं उससे कैसे चुदी?हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम सविता है. और मेरे मन में लड्डू फूटने लगे कि काश शोभा 1 बार मिल जाये इसका पूरा रस पी लूं.

बिहार का बीएफ भेजिए

इसलिए मैंने सोचा कि मैं अपनी कहानी भी आप लोगों के साथ शेयर करता हूं. अब मुझे पक्का पता चल चुका था कि मां चुदाई के लिए इसके ही कमरे में ही आएंगी. एग्जाम के बाद एक महीने की छुट्टियां मनाने के बाद मैंने पार्ट टाइम जॉब करने का सोचा.

दोस्तो, आज तो वो और भी ज़्यादा खूबसूरत लग रही थी क्यूंकि वो अपना मेकअप एक पार्लर से करवा के आयी थी. मैंने जैसे ही बुक का पेज पलटा मेरे होश उड़ गए। उसमें एक मर्द एक औरत का गांड में अपना लंड घुसाए हुए था।मैं शर्मा गया. इसी बीच मैंने मेरे बॉक्सर को थोड़ा नीचे कर दिया, जिससे मेरे लंड के बाल दिखने लगे.

मैंने कहा- भाभी वो कहावत सुनी है … चूके तो चौहान … अभी मौक़ा है, थोड़ा सा मजा ले ही लो. मैंने भी सोच लिया कि मोहिनी भाभी को तो बाद में देखूँगा, पहले इस हिमानी की चूत का स्वाद जरूर चखूंगा इसलिए अब मैं उससे मिलने का कोई भी मौका नहीं छोड़ता था. जब हम दोनों खाना खा रहे थे, तो बीच में मेरी प्लेट में सब्ज़ी खत्म हो गयी थी, तो मैं सब्ज़ी लेने के लिए गयी.

उसने मेरी तरफ देखते हुए जीभ से चटखारा लिया और कहा- मेरे मामा की लड़की ने बताया था कि इस पानी को पीने से ज्यादा मजा आता है और उसके बाद लंड पर लगा पानी चाटने से मजा मिलता है. पांच मिनट तक लंड चुसवाने का मजा लेकर अब मैं उसकी चूत को फाड़ देने वाला था.

कुछ आगे चलने के बाद मैं उसे बोली- मुझे बाथरूम जाना है। जरा कहीं सुनसान में गाड़ी रोक लो!रजत ने थोड़ा जंगल के पास सुनसान में गाड़ी साइड में खड़ी कर दी और मैं पेशाब करके वापस आयी तो रजत कहीं दिखा नहीं।ध्यान से देखा तो पता चला रजत कार के पीछे बैठा है।मैं रजत के पास जाकर बोली- क्या हुआ? अब चलो भी।रजत मेरी आंखों में देखते हुए बोला- मैं तुम्हें पाना चाहता हूँ.

मैं रात को नॉयडा की उस जगह परांठे खाकर स्टेंड पर खड़ा हो गया और कैब को बिना बुक किए उसका इंतजार करने का दिखावा करने लगा. काल भैरव फोटो hdइसी बीच 25 मिनट बाद फिर से लण्ड चूत के अंदर ही फुफकार मारने लगा। मैं इसी पोजीशन में फिर से चालू हो गया।हालाँकि जब से चूत में थूक लगाकर लण्ड पेला था तब से अब तक दूसरी चुदाई शुरु कर चुके थे हम लेकिन लण्ड को चूत के बाहर नहीं निकाला था। अबकी बार सुमन को असहनीय पीड़ा हो रही थी. हीरो हौंडामैं सेक्स बहुत पसंद करता हूँ और नईचुत की चाहतने मुझे, अब तक कुछ खूबसूरत औरतों और लड़कियों से मिलाया है. मैंने उसको समझाया कि तुम्हारे सामने दो ही रास्ते हैं या तो सच की राह पर चलकर ससुराल में बवाल करके मायके वापस आ जाओ या किसी तरह से अगर एक बच्चा पैदा कर लो और मालकिन बनकर उस घर में राज करो.

मगर वो बीच बीच में मुझे अपने से दूर धकेल कर उकसाने की कोशिश भी कर रही थी.

उन तीनों ने मेरी बहन की पूरे शरीर पर केक लगा कर चाटना शुरू कर दिया. देवा, तुमने इस तरह से चूत को चाटना कहां से सीखा है?मैं बोली- बस भाभी ऐसे ही पोर्न सेक्स वीडियो देख कर सीखा है. कृति ने भगवान को हाथ जोड़कर प्रार्थना की और उसके बाद मेरे पैरों में बैठ गई.

ऐसा नहीं है कि हमारे पतियों में कोई खामी है … उन दोनों का वीर्य पुष्ट है, एक्टिव है … अंडे का निषेचन भी कर सकते हैं. फिर वो मेरी छाती पर झुकी और मेरे सीने पर अपने मम्मों को रगड़ते हुए मेरे लंड को चोदने में लगी रही. तभी उसके फोन पर किसी ने एक फनी वीडियो भेजा होगा, जिसे उसने मुझे दिखाने के लिए अपना एक इयरफोन मुझे दे दिया और हम साथ में वो वीडियो एंजाय करने लगे.

فيديو سكس هندي

वो बहुत जल्दी ही बेचारी झड़ गई थी, वो मेरी चुसाई से ज्यादा देर टिक ही नहीं पाईफिर मैं खड़ा हुआ और काजल और सोनल से कहा- अब चुदाई शुरू की जाए?दोनों ने स्माइल दी. उसने मुझे अपने हाथों से केक खिलाया और थोड़ा सा मेरे गालों पर भी लगा दिया. Indian Bhabhi ki Chutएकदम से उंगलियां घुसा देने से भाभी की आह निकल गयी.

मैंने अपने फनफनाते हुए लंड को 5-6 बार चूत पर घिसा और एकदम से अन्दर डाल दिया.

उसने कोमल के पूछने पर उसको बता दिया था कि अगले सप्ताह सागर उससे मिलने आ रहा है.

भाभी को भी शायद बहुत समय से भैया ने चोदा नहीं था, इसलिए उनकी चुत ने भी पानी छोड़ना शुरू कर दिया था. जब मैंने तुझे सुबह देखा तो मैं तब ही समझ गया था कि तू जरूर आज किसी के अपनी चूत को चुदवा कर आ रही है. शेरावाली माता फोटोवरना कोई भी शादीशुदा लड़की किसी गैर मर्द को इस तरह से एक दो बार मिलने के बाद ही अपने घर में बैठने के लिए नहीं कहेगी.

झड़ने के बाद राजा ने अपना लंड बाहर खींचा और एक बार फिर से अंजलि की गांड को चूमने लगा. मैंने आवाज देते हुए कहा- नीतू, कहां जा रही हो?उसने हंस कर जवाब दिया- कहीं नहीं, बस फुर्सत थी, तो यूं ही टहलने चली आई. उसके बाद राजा ने अपने पर्स में से 5000 रूपए निकाल कर मेरी बहन को दिए.

एक दिन वो मुझसे बोली- आज घर पर कोई नहीं है, तुम आना चाहोगे?अंधे को क्या चाहिए, दो आंखें … मैंने झट से हां कह दी. मेरी चुत अब तक दो बार झड़ चुकी थी और मुझे लग रहा था कि कब शुभम मुझे चोदना छोड़े.

जिस समय बड़ी स्खलित होने वाली थी, छोटी मेरे ऊपर गिर गई और उसने अपनी कमर से मेरी कमर को दाबे रखा.

अपने ऑफिस की टेबल पर पोर्न मूवी की तरह सेक्स करना भी अलग अनुभव होता है. इसके बाद मैं जल्दी ही आपको बताऊंगा कि सुमन की शादी के बाद हमने पहली चुदाई कैसे की. इसी शौक के चलते हम दोनों जुगाड़ करते रहते हैं कि हमें कुछ और नया करने के लिए मिले.

बिना प्रेगनेंसी के दूध कैसे निकाले ऑफिस से छुट्टी 6 बजे हो जाती है लेकिन 7 बजे तक सारे लोग रुके हुए थे. उसने एकदम से लंड पेला था, मुझे बड़ा दर्द हुआ और मैं जोर से चिल्ला दिया- आह अहा उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैं मर गया अरे … फट गई मेरीई उफ उफ … ओह ओह.

पापाजी मेरे बगल में बैठ गए, बोले- बहू सच बताओ कि क्या बात है?मैंने कहा- पापाजी, अभिजीत का किसी के साथ अफेयर चल रहा है. कई बार जब सब लोग साथ में बैठे होते थे तो मैं खाने की मेज पर सबके साथ होते हुए भी अपने पैर के अंगूठे से उसकी सलवार को छेड़ने लगता था. वो नीले रंग का कमीज और सफेद सलवार पहने थी।दोस्तो, पहले मैं पीहू के फिगर के बारे में बता दूँ.

बीएफ चुदाई वाला पिक्चर

मैंने इशारे से पूछा- कैसा स्वाद था?तो उसने हंस कर जबाव दे दिया कि मस्त था. मेरा दिमाग अब पापा जी के बारे में ही सोच रहा था और मेरी चूत गीली होती जा रही थी. काफी मनाने के बाद वो लन्ड मुंह में लेने को तैयार हुई।पीहू नीचे झुककर घुटनों के बल बैठ गयी और हाथों में मेरा लन्ड लेकर उस पर एक किस किया।मैंने उसके हाथों के ऊपर अपना हाथ रखकर लन्ड के चमड़े को पीछे किया तो सुपारा बाहर आ गया।अब मैंने पीहू से कहा- मुंह में लेकर चूसो.

मैंने उसका लंड अपनी चूत में ले लिया और वो मेरी चूत को नीचे से धक्के देते हुए चौड़ी करने लगा. उसके रस भरे होंठ देखते ही मेरा मन करता था कि पकड़ कर इतना चूसूं कि इसका सारा रस निकल आए.

उस दोस्त को कोसने लगा जिसके कहने पर मैंने पॉकेटमनी के लिए यह कदम उठा लिया.

मुझे बहुत शर्म आ रही थी कि मैं चाची की पैंटी ढूंढने में उनकी मदद कर रहा था. नीतू ने मेरे पूरे चेहरे पर किस करते हुए, मेरी शर्ट उतार दी और मेरे सीने में किस करने लगी. वो सोफ़े पर बैठी थी और उसने अपनी ड्रेस उतार कर मेरी एक शर्ट पहन ली थी, जिसके कुछ बटन खुले थे.

मेरी समझ में आ गया था कि रानी का मन ब्रून के लंड से चुदने का मन बन गया था. वहां जाते ही नीलोफर ने बहुत ही शानदार तरीके से मेरा स्वागत किया और कॉफ़ी बनाकर दी. मैंने अपने हाथों से उसके पैरों को ऊपर की तरफ खींचा, उसके हाथों को अपनी पीठ पर रखवा दिए.

फिर हम लोग एक दिन पहले यानि कि शनिवार को ही कृष्णा मौसी के यहां पहुंच गये.

कानपुर के बीएफ: अगले दिन जब वो मेरे घर आई, तो मैंने उसकी गांड भी मारी और उसके बाद तो मैंने उसके अलावा उसकी कई सारी सहेलियों को भी चोदा. पांच सात मिनट तक बाबा ने मेरी चूचियों को पीया और उनको चूस चूस कर लाल कर दिया.

उनमें से एक का नाम नीलोफर था, उसकी उम्र 29 साल थी तथा दूसरी का नाम सुल्ताना था. मेरी बहन राजश्री किसी रंडी की तरह आकाश का लंड चूसने में मशगूल हो गयी थी. मेरी इस हरकत को देखते हुए उसने बात बनाते हुए कि आज कल सड़कों पर गड्डे कुछ ज्यादा ही हो गए हैं.

मेरी ओर देखकर बाबा ने कहा- कन्या, मैंने मन्त्रों के माध्यम से अपने अंदर शरीर के अन्दर आवश्यक ऊर्जा भर ली है.

मामी ने गांड हिलाई, तो मैंने एक ही झटके में पूरा लंड मामी की चूत में पेल दिया. राजश्री के मुंह से निकल रहा था- आह्ह भैया … बस करो … उम्म … मुझे वापस भी जाना है… आह्ह जल्दी करो. अगर मुझे तेरे बारे में पता होता कि तू ऐसी निकलेगी तो मैं अपने माधो की शादी तेरे साथ कभी न होने देती.