मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,भाभी और देवर के साथ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी सेक्सी पिक्चर पाठवा: मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो, एक ऐसी लड़की की जो मुझे अचानक मिली जिसको मैंने कभी देखा तक नहीं था न सोचा था कि ऐसी कोई जिंदगी में आई थी बाद उस टाइम की है जब मैं शुरू शुरू में जिम जाया करता था.

सेक्सी मूवी डाउनलोड हिंदी में

उसका लिंग मेरी बच्चेदानी में जोर जोर से चोट करने लगा और मेरे मुँह से कामुक आवाजें निकलने लगीं. मधु सेक्सी पिक्चरमैंने उसकी पेंटी को हल्का सा नीचे किया और चूत बेबी के ऊपर हल्का सा चुम्मा ले लिया.

जिसकी भी चूत में खुजली होती थी वो खुद मेरे पास आकर अपनी चूत को मेरे हवाले कर दिया करती थी. हिंदी सेक्सी चालू वीडियोमैं भी एक औरत हूँ और कुछ भी नया नहीं था, सो उसे शायद कोई असहज नहीं लगा.

मैंने ही उस रात का जिक्र किया, तो वो क्या शरमाई थी … आह … मुझे आज भी याद है.मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो: जब तक मेरे पति घर नहीं आये मैं विकास के लंड से चूत और गांड की चुदाई करवाती रही.

मैं जैसे ही लंड अन्दर डालने लगा, तभी बाहर से किसी के आने की आवाज आने लगी.उसके बाद मैंने धीरे से युक्ता का एक हाथ पकड़ कर अपने लन्ड पर रख दिया और धीरे से उसको दबा दिया.

देहाती सेक्सी हिंदी में चुदाई - मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो

वो बोली- रमेश, मैं तुमको पहले दिन से ही पसंद करने लगी थी लेकिन भाई की वजह से कभी मैंने तुमको यह बात नहीं बताई.डॉक्टर साहब मेरे करीब आये, मेरा मुँह खोलकर देखा और फिर अचानक मेरे होंठों पर अपने होंठ रखकर अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी.

भाभी पूछ बैठी- आपको अभी से नींद आ रही है क्या?मैंने कह दिया कि नींद तो नहीं आ रही लेकिन जाकर लेट जाऊंगा तो आ जायेगी. मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो दूसरे दिन जब मैं ऑफिस से घर आया था, तो मेरी बहन शाम के खाने का इंतजाम कर रही थी.

वो मेरे नीचे लेटी हुई अपने चूतड़ उछाल उछाल कर चूत चोदन में मेरा पूरा सहयोग कर रही थी और मजा ले रही थी.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो?

आंटी एक बहुत ही सुन्दर शरीर की मालकिन है आंटी का फिगर 34-32-36 है आंटी जब चलती है तो उनकी गांड और बोबे हर किसी को अपना दीवाना बना लेती है।मैं शुरू से ही आंटी को बहुत पसंद करता हूँ आंटी हमारे घर आती जाती रहती थी इस कारण मेरी भी उनसे अच्छी बात-चीत होती थी. नीचे अपनी चूत में लंड लिए आंटी मेरे बदन पर हाथ फेरते हुए बड़बड़ा रही थीं- आह … और तेज जान … हां और तेज … फाड़ दे इसे … पूरा घुस जा इसमें … आह बहुत मजा आ रहा है … और तेज चोद राजा … आह आज से तू मेरा पति है … आह मुझे जम कर चोद दे. इसी वजह से मेरे अगल बगल क्या हो रहा, मुझे उसकी न कोई चिंता थी, न कुछ नजर आ रहा था.

एक बार तो मैं घबरा गया … लेकिन मामी जगी नहीं थी शायद … इसलिए मैंने दोबारा से कोशिश करने के लिए सोचा. फिर एक दिन सर की पत्नी ट्यूशन में आयी थीं, शायद उन्हें सर से कुछ काम था. उस समय वैसी सी फीलिंग आ रही थी कि मेरे अन्दर न जाने ताकत एकदम से डबल कैसे हो गई थी.

पिछली सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि किस तरह मैंने अनीता जी को जम कर चोदा औऱ अपनी बरसों की इच्छा पूरी कर ली थी. फिर अंकल ने मेरी गांड पर लंड लगा दिया और मेरी गांड चुदाई की पूछने लगे तो मैंने मना कर दिया. मेरे लंड ने एकदम से उसकी चूत में पिचकारी मार दी और मैं झटके दर झटके झड़ता चला गया.

तभी मैंने उसके कपड़े उतरने शुरू कर दिए तो वो शरमाते हुए मना करने लगी और बोली- मुझे बहुत शर्म आ रही है. तभी मैं अचानक से चीख पड़ी- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … माँ मर गई!मैं झटके मारते हुए झड़ने लगी.

एक दिन की बात है, मैं जब उसके घर पर उसे एक्सरसाइज करवाने के लिए गया … तो वो बहुत बिजी लग रही थी.

अब मैं उसको बताने लगा, तभी सलमा बोली- आज मेरा मन नहीं है … मैं कल से आऊंगी.

फिर एक दिन मैंने उनसे कहा कि आपने बच्चों के बारे में डॉक्टर से सलाह ली है क्या?मेरी बात को वो टाल गई. मेरी पहली सेक्स स्टोरी गाँव की सेक्सी लड़की, स्कूल की गर्लफ्रेंड सोनाली के साथ है, उस टाइम मैं 19 साल का था, मैंने 11 वीं पास करके बारहवीं में एडमिशन लिया था. दो किराएदार अपने परिवार के साथ बाहर गए हुए थे और एक महाशय अपनी ड्यूटी पर गए थे.

अम्मा को मानो चैन आ गया था, वो बोल रही थीं- ओह आह … घुसा अपने पाइप को और अन्दर घुसा, मेरी बावड़ी के अंत तक घुसा दे. मैंने माँ पापा को धीरे से देखा तो वो दोनों नींद में सो रहे थे।उसके बाद मैं उसके बिल्कुल पास आ कर बैठ गया और धीरे धीरे एक हाथ से उसकी कमर पर फिराने लगा। उसने कुछ नहीं कहा तो मेरी मेरी हिम्मत बढ़ी. मैंने सोचा कि यह अभी कुंवारी है, किसी से चुदी नहीं है … यहां पर पूरा खेल नहीं हो पाएगा.

जब उसने फोन रखा तो मैंने पूछा- क्या हुआ? सब ठीक है तो आपके घर में?वो बोली- मेरे घर में तो सब ठीक है.

जब वो शांत हुई तो मैंने धीरे से उसकी चूत में धक्के देने शुरू कर दिये. चाची की गोरी मांसल जांघों को तो मैं पहले ही देख चुका था और अब उनके नंगे कूल्हों ने मुझे मानो वहशी बना दिया था. अब मैंने नमिता से कहा- मुझे तुम्हारे दोनों छेदों में लण्ड डालना है, पहले किसमें डालूँ?लोअर के ऊपर से ही मेरा लण्ड पकड़ कर नमिता ने अपनी बूर पर रख दिया.

मैं अपनी जांघें भी चिपकाना चाहती थी, मगर उसका सिर बीच में था और अब मैं बहुत अधिक व्याकुल होने लगी थी. फिर वह सो गए, लेकिन मुझे तो राहुल से चुदने को को लेकर नींद ही नहीं आ रही थी. आंटी मचलने लगी, वे बोली- क्या कर रहा है, इतनी गंदी जगह को इतनी मस्ती से क्यूं चाट रहा है.

मैंने उसे पीछे से झुका दिया और लंड को चूत के छेद पर सैट करके सीधा अन्दर पूरा का पूरा घुसा दिया.

मेरे भीतर भी तो अब वासना की चिंगारी भड़क चुकी थी और जब चमड़ी की भूख हो, तो कोई भी इंसान निर्लज्ज हो ही जाता है. मैं- कब तक आ जाएगा?चाची- शाम तक ही आएगा, बोल रहा था कि काफी काम है.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो भाभी की गर्म चूत में जाते ही मैंने उसकी कमर को अपने हाथों में थाम लिया और बिल्कुल धीरे-धीरे अपनी गांड को हिलाते हुए मैं भाभी की चूत में धक्के लगाने लगा. उसके बाद मुझे याद आया कि मैं उनके लिए खाने का कुछ सामान लाना तो भूल ही गयी.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो जब मैं आया था तो घर का मेन गेट खुला हुआ था और घर पर भी कोई नहीं था. चुदाई के बाद टेबल के मेजपोश से लंड पौंछ कर बोला- तुम निबटोगे?मैंने मना कर दिया।वह बड़ा थैंकफुल था- अरे यार मजा आ गया! तुमने बड़ी मदद की.

मैं तब तक योनि उठाने का प्रयास करती रही, जब तक मैं पूरी तरह से झड़ न गई और मेरी योनि तथा शरीर की नसें ढीली न पड़ने लगीं.

कर लो कदर हमारी करते हैं प्यार तुमसे

मैं उनके बिल्कुल बगल में लेटा था पर चूंकि वे दोनों गांड मराई में व्यस्त थे इसलिए मेरी हरकत पर उनका ध्यान नहीं था।अरे … मैं तो भूल ही गया!मैं आपको अपना परिचय तो दे दूं। मैं तब पच्चीस छब्बीस साल का रहा होऊंगा, मेरी लम्बाई यही कोई पांच फीट आठ इंच है. मैं उसे पहले की तरह देखने लगा, पर वो रोज की तरह अब मुझे नहीं दिखती. मैं एक ऐसी चुत की तलाश में था जो मेरे लंड का पानी अपनी चुत में लेकर निकलवा सके.

उसने मेरी चूत दो उंगलियां में डालीं और हल्के हल्के उन्हें मोड़कर अन्दर घुमाने लगा. मैं काजल की पूरी बॉडी को चूम रहा था ताकि उसे वो सेक्स के आनन्द से ऐसे भर सकूं, जो उसकी पूरी लाइफ में यादगार रहे … और वो चाहकर भी ना भूल सके. दोस्त के कमरे पर ले जाकर मैंने जाते ही दरवाजा बंद किया और स्वीटी को अपनी बांहों में भर कर जोर से चूसने लगा.

मैं एक तरफ बैठ कर ये सब देख रहा था और अपनी बारी आने का इंतजार कर रहा था.

घोड़ी की पोजीशन में आने के बाद मैंने पीछे से उसकी बुर में लंड को पेल दिया और उसकी जमकर चुदाई करने लगा. कमलनाथ- हां यार बहुत मजा आता है, तुम्हारी दीदी तो मेरे भइया का लंड मजे से लेती हैं. तभी डॉक्टर साहब ने क्लीनिक का दरवाजा अन्दर से लॉक कर दिया और मेरे करीब आकर मेरा कुर्ता व ब्रा ऊपर उठाकर मेरी चूची चूसने लगे.

नमिता की बूर के लब खोलकर मैंने अपने लण्ड का सुपारा रखा और नमिता की कमर पकड़ कर धक्का मारा पहले धक्के में सुपारा और दूसरे में पूरा लण्ड नमिता की बूर में चला गया. मुझे किस करने के बाद जगेश मेरे बूब्स को मसलने लगा और उसका मोटा लंड मैं हिलाने लगी. फिर उसने अपने लंड को हाथ में लेकर हिलाया और फिर मेरे हाथ में दे दिया.

दूसरी चुदाई में तो फरजाना ने खुद मुझे बहुत चूसा, मेरे होंठ चबा जाने तक चली गई. मैं राज के घर की तरफ चल दिया और उसके घर से कुछ दूर मोटर साइकिल खड़ी दी.

फिर हम चारों ने मिल कर एक प्लान बनाया कि हम सब कहीं बाहर घूमने चलते हैं. हम सब उसके दिशा निर्देश अनुसार पेशाब करने लगी और 2-3 मिनट में सब उठकर फिर अपनी अपनी पैंटी पहन सोफे पे आ गई. मैंने उससे हंसने का कारण पूछा, तो उसने कहा- तुम्हारा सिग्नल खड़ा हो गया है.

मैंने ऐसा ही किया, जिससे मैं अपने पैंटी को थोड़ा नीचे करके घोड़ी बन गई और सनी पीछे से लंड पेल कर मेरी चुदाई करने लगा.

मेरे भीतर भी तो अब वासना की चिंगारी भड़क चुकी थी और जब चमड़ी की भूख हो, तो कोई भी इंसान निर्लज्ज हो ही जाता है. उम्म्ह … अहह … हय … ओह … क्या बताऊं यारों, अपनी ममेरी बहन की चूत में लंड देने का वो पहला अहसास … आज भी उस पल को याद करते ही मुट्ठ मारने का मन कर जाता है. फिर मैंने हल्की सी हलचल की और उसके निचले होंठ को हल्का सा अपने होंठों में दबा लिया.

उस चुदाई के बाद करीब एक महीने तक तो मुझे उस बड़ी उम्र की औरत को चोदने का मौका नहीं मिला. उन्होंने कहा- यह क्या कर रहे हो तुम?मैंने कहा- आंटी सॉरी … मुझे प्लीज आज ना रोको.

मेरे लंड को आंटी ने मेरी चड्डी से बाहर निकाल कर देखा, तो उनकी आंखें फटी की फटी रह गईं. मैंने उसकी दोनों टांगों को हाथ से पकड़ कर और ज्यादा फैला दिया और उसकी बुर में अपने लंड को घुसेड़ दिया. हवस ने मेरे लंड का बुरा हाल कर दिया था और मेरा लंड को फाड़ने के लिए बार-बार पैंट में ही दीदी की जांघों पर धक्के पर धक्के दिये जा रहा था.

सेक्स वीडियो देहाती हिंदी

वो लगातार ऐसे चूसे जा रहा था … जैसे कि उसमें से दूध निकलने वाला हो.

उसके बाद मैंने एक गिलास उठाया और उसको दारू से भर के काव्या को दिया. वो बोली- इतना बड़ा कैसे मेरे अन्दर जाएगा?मैंने कहा- तू चिंता मत कर … सब चला जाएगा. मेरी बात सुनते ही राजशेखर ने तुरंत मुझे बिना लिंग बाहर निकाले नीचे जमीन पर लिटा दिया और तेज़ धक्कों की बारिश सी शुरू कर दी.

मुझे अब तक बहुत मजा आ रहा था लेकिन अब मेरी गांड भी फटने लगी थी कि कहीं भाई देख न ले और प्रिया को छेड़ने का सारा इल्जाम मेरे सिर पर आ जाये. मैंने इससे पहले भी बहुत सी चूत देखी थी लेकिन उसकी चूत सच में कमाल की थी. इंडियन गर्ल्स सेक्सी वीडियोसवो सोफे पर बैठ गया … अपनी टांगें जमीन पर रख कर और मुझे अपनी गोद में बैठने को बोला.

मैंने कहा- क्या मैं अभी आपको नाम से बोल सकता हूँ?अम्मा ने कहा- हां … क्यों नहीं … लेकिन मैं अम्मा ही सुनना पसंद करूंगी, तू ऐसा समझ मेरा नाम अम्मा ही है, तुम मुझे अम्मा ही बोला करो. मुझे वहां उस जगह रहने में कुछ दिनों तक कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा क्योंकि उस जगह के बारे में मुझे कुछ भी मालूम नहीं था.

लेकिन मैंने कई बार आपको सिग्नल देने की कोशिश की लेकिन आप मेरे इशारों को समझ ही नहीं पाये. उन्होंने अपने मुँह में भरे मेरे लौड़े के पानी को मेरे होंठों से लगा दिया और मैंने भी उनकी चूत का पानी जो मेरे मुँह में था, दोनों का पानी मिल गया और सारा पानी लौड़े का और चूत का, मेरे मुँह में था. पड़ोसन की चुदाई की गंदी कहानियां में पढ़ें कि जब मैं जवान हुआ तो मेरी नजर पास रहें वाली एक दीदी की जवानी पर पड़ी.

करीब 5 मिनट के इस फोरप्ले के बाद मेम ने कहा- अब नहीं रहा जाता … चोद दो. हम दोनों साथ में बैठे हुए थे तो वह अपने स्तनों पर बार बार हाथ लगाकर मेरी तरफ मुस्कुराते हुए देखती। उसकी नजरों से मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे यह मेरे लंड को अपनी चूत में लेना चाहती हो। मुझे लगा कि उस लड़की में कामुकता कूट कूट कर भरी हुई है. अगर आपको बुरा न लगे और आपको कोई परेशानी न हो, तो क्या आप एक्सरसाइज करवाने के लिए मेरे घर पर आ सकते हैं?मैंने कुछ सोचने के बाद उससे बोला कि ठीक है … मेम पर मेरी फीस पांच हज़ार है.

लेकिन बाद में बहुत मज़ा आएगा।अब मैंने फिर से उसकी चूत को चूसना शुरू किया और उसको अपना लंड चूसने को बोला.

वो वैसे ही मेरे जांघों के बीच अपने घुटनों पर खड़े होकर लिंग हाथ से हिलाता हुआ इंतजार करने लगा. https://thumb-v0.xhcdn.com/a/LlD3zJwtqWsUYK2Wt1-yxg/013/004/540/526x298.t.webm.

मैंने एकदम से उनको पकड़ कर चारपाई पर डाल लिया और उनको चूमने लगा।वो भी मेरा साथ दे रही थी. इस कारण मुझे मेरी उम्र की लड़कियां या मुझसे कम उम्र की लड़कियां पसंद ही नहीं आती थी. उसके पूरे बदन को ऊपर से नीचे तक किस करने लगा और वो भी सिसकारियां लेते हुए मजा लेने लगी.

मुझे बहुत मजा आने लगा था … क्योंकि जिंदगी में पहली बार मेरा लंड किसी चूत में घुसा था. जैसे ही अम्मा ने अपना पल्लू हटाया, उनके बड़े बड़े मम्मे मुझे दिखाई दिए, जो ब्लाउज के आधे बाहर थे. उसने मेरा ध्यान अपने शब्दों पर लिया और बोली- पहले कभी नहीं देखी क्या ऐसी औरत?मैं हंस कर बोला- मेरा तो काम ही ऐसा है.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो तभी मैंने अन्तर्वासना पर सेक्सी स्टोरी पढ़ी और तब से ही मैं इसका नियमित पाठक बन गया हूं. तब तक आप अन्तर्वासना पर गर्म कहानियों का मज़ा लेते रहें और दूसरों को भी मज़ा दिलवाते रहें.

माल को पटाने वाली शायरी

मैंने झट से अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसके नंगे बदन को चूमने लगा. फिर भाभी ने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और अपनी चूत के मुंह पर लगा कर अपनी गांड को पीछे धकेल दिया. सम्भोग के बीच में अंतराल होने का मतलब था, अब कांतिलाल ने इससे पहले जित्तनी देर सम्भोग किया था, उतनी ही देर संभोग वो बिना झड़े फिर से कर सकता है.

फ़िर अचानक मुझे ऐसा लगा कि उसके लिंग से एक चिंगारी छूटी और अगले ही पल मुझे मेरी नाभि से फ़ुलझड़ी सी जलने सा महसूस हुआ. मैं बोला- अरे यार … ये भी कोई कहने की बात हुई? तुम निश्चिन्त रहो, यह बात सिर्फ हमारे बीच रहेगी, किसी को कानों कान खबर भी नहीं होगी।उसके बाद हमने चुदाई के मजेदार खेल का समापन किया, मैंने उसे काफी देर तक प्रगाढ़ चुम्बन करके अपना प्रेम प्रदर्शित किया. सेक्सी पोर्न पोर्नफिर मैंने जींस उतारकर लॉन्ग टी-शर्ट और पजामा पहन लिया … तब उसे अन्दर बुला लिया.

दोनों काफी उत्तेजक तरीके से एक दूसरे के बदन को टटोलते हुए होंठों से होंठ मिला कर एक दूसरे का रस पी रहे थे.

एक लेखक के रूप में अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है लेकिन मैं काफी समय से इसकी कहानियों को पढ़ कर ही मजा ले रहा था. यह सुन कर मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा और मैंने साराह के साथ फोन सेक्स चैट शुरू कर दिया.

कोई 20 मिनट तक धक्के रमा को लगते रहे और मेरी गिनती 400 तक पहुंच गई. तथा दिन में भी साराह मैम मुझे 2-3 बार फोन करके जानकारी लेती रहती थी. मैंने कंपाउंड गेट खटखटाया, तो चाची ने मुझे देखा और पूछा- आप कौन हैं?मैं- जी मैं राज का दोस्त हूँ.

मुझे धक्के देने में साथ ही ऐसा लग रहा था मानो वो स्वयं को जल्द पतन होने से रोक रहा था.

मुझे झड़ती देख कमलनाथ भी अपने पर काबू न रख सका और वो भी गुर्राते हुए मेरे चूतड़ पकड़ कर नीचे से झटके मारने लगा. जिस तरह के कपड़े उसने मुझे दिलाए थे, वैसे कपड़े मैं पहनती नहीं थी और न कभी पहले पहना था. ऑफिस में एक लड़की जिसका नाम मौलीश्री है, मेरी सहेली बन गयी और हम दोनों एक दूसरे से घुलमिल गयी.

सेक्सी चाहिए कुत्ता वालामुझे अब जब भी टाइम मिलता है, मैं भाबी की चुदाई करने पहुंच जाता हूं. सुरेश अपना पूरा लंड अन्दर डाल कर मेरी चूत को चोद रहा था, जिससे मुझे और भी मजा आ रहा था और साथ में मुझे शांति भी मिल रही थी.

प्रियंका चोपड़ा डॉटर

लगभग दस मिनट बाद मेरा रस निकलने वाला था, तो मैंने आंटी से पूछा- कहां निकालूं?उन्होंने कहा- अन्दर ही निकाल दो … बहुत से दिनों अन्दर सूखा पड़ा है. उस घटना के बाद जब भी उसको मुंबई जाना होता था वो मुझे बता देती थी और मैं उसके साथ में ही चला जाता था. मैं देखती थी कि वो अपना रूम भी अच्छे से रखता था और मेरे पति भी उससे खुश रहते थे.

उसकी गांड मेरे सामने थी मैंने उसके गांड पर एक कसके झापड़ मारा … तो उसकी गोरी गांड पर मेरे हाथ का निशान बन गया. आंटी एक पल के लिए तो सकपका गईं, फिर उन्होंने अपनी ननद को कमरे में आने को कहा, वो गर्म लौंडिया कमरे में आ गई. कुछ ही देर में मैंने दीदी के पेटीकोट को ढीला करके नीचे से खींच कर उतार दिया.

रवि ने अपने लिंग को सही दिशा दिखाते हुए लिंग का सुपारा मेरी योनि द्वार में प्रवेश करा दिया. मेरा लंड काफी देर से खड़ा हुआ था तो इस वजह से मेरे लंड को जब उसके हाथ का कोमल सा स्पर्श मिला तो मुझे बहुत मजा आने लगा. मैंने मां को ये इच्छा बताई तो वो कहने लगी- मैंने कभी गांड नहीं मरवाई है.

इतने में राहुल मेरे ऊपर आ गया और मुझे लेटा कर मेरे पूरे बदन पर अपनी जीभ फेरने में लग गया. हालांकि वो इस वक्त चरम पर आने को था, लेकिन तब भी वो मुझे पूरा जोर लगा कर चोद रहा था.

कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको अपने घर के बारे में बता देता हूं ताकि आपको कहानी को समझने में ज्यादा आसानी हो सके.

अब मेरे अंदर कामुकता जागने लगी, मैंने इस देसी कमसिन जवान लड़की के बुर चोदन का मौक़ा देखा तो मैं धीरे-धीरे बहाने से उसके बूब्स को जानबूझ कर छूने और दबाने की कोशिश करने लगा. मुस्कान बेबी का सेक्सी वीडियोइसलिए आज मैंने जब सफाई करके चूत को चिकनी करके लंड डाला तो लंड सट से अंदर सरक गया. बड़ी सेक्सी फोटोरवि भी पिछले बीस मिनट से एक ही आसान में संभोग करते हुए थकने लगा था. तभी सोनाली ने मेरे सिर के पीछे से मुझे अपनी पूरी ताकत से अपनी ओर खींच लिया.

जहां इतनी देर जांघें फैलाये हुए अब मुझे मेरी जांघों में अकड़न होने लगी थी … वहीं कमलनाथ भी धक्के मारते हुए थकान महसूस करने लगा था.

मैं भी बहुत गर्म थी, सो मुझे किसी तरह की परेशानी नहीं हुई और मैं बिना रुके धक्के लगाने लगी. हालांकि हम लोग शुरू से साथ रहने के कारण आपस में पूरे खुले हुए थे, सेक्स के मामले में भी काफी कुछ कर चुके थे. उसकी बातों से ये तो ज्ञात हुआ कि रमा पहले भी किसी वेश्या की मदद ले चुकी होगी.

मुझे लगा उन्हें दर्द हो रहा है … क्योंकि मैंने पहले कभी सेक्स नहीं किया था. दोस्तो, इसके बाद की अगली कहानियों में मैं आप लोगों को बताऊंगा कि कैसे मैंने एक साथ युक्ता और शोभा की चुदाई की. अम्मा ने कहा- हां बेटा सब दिखाऊंगी … लेकिन कल … अब तू रुकना मत और मेरी जम के गांड मार … मैं काफी टाईम से सेक्स की प्यासी हूँ.

हिंदी सेक्सी व्हिडीओ सेक्सी

वो बोली- हां ठीक है कर लेना लेकिन अभी तुम्हें जो करना है वो जल्दी कर लो नहीं तो फिर मकान मालिक मुझे बुलाने लगेगा. मैंने गुस्से में बोला- यार, जैसे ही तेरे ब्लाउज को खोलने लगता हूँ, वैसे ही कोई ना कोई आ जाता है. उन्होंने मुझसे पूछा- तुमको कैसे मालूम है?मैंने उस खिड़की की तरफ आंटी का चेहरा कर दिया, जिधर खड़ी होकर अपने मम्मे मसल रही थी.

लेकिन मैंने अपनी उंगली नहीं डाली।मैंने उससे कहा- एक बात बताओ कि उस दिन मैं जब स्कूल आया था, तुम्हें कुछ याद है?उस हॉस्टल गर्ल ने कहा- याद नहीं बल्कि मैं सब देख रही थी कि कैसे तुम मेरे चुचे देख रहे थे और मेरी चूतड़ों को देख कर तुम्हारा नाग कैसे उफान मार रहा था.

आज मैंने भी अंडरवियर नहीं पहना था और ऐसे ही हाफ पैंट और शर्ट पहन कर उसके घर गया था.

भाभी के हाथ में लंड आते ही बल्लू की हवस और ज्यादा भड़क गई और वो भाभी को बुरी तरह से काटने लगा. दीदी की चूत को चोद कर मैंने बुआ की बेटी की चुत चुदाई की प्यास को बुझा दिया. सेक्सी गाना और वीडियोवो दबे हुए स्वर में बोलीं- क्या कर रहे हो?मैं बोला- आज तेरी गांड मारने का मन है.

उसके मुँह से लंड चूत चुदाई जैसे खुले शब्द सुनकर मेरे लंड को ताकत मिल गई थी. मेरा सोचना था कि उसकी मदमस्त चूचियों और उठी हुई गांड को देखकर कोई भी अपना लंड हिला लेगा. थोड़ी देर में मैंने धीरे धीरे करके अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया.

मैं उसके आगे खड़ा था तो उसने पीछे से कहा- आपको उतरना है क्या?मुझे वहीं आवाज़ दोबारा सुनने को मिली तो मैं भी तुरंत पीछे पलट गया और देखा तो वहीं लड़की मेरे पीछे खड़ी थी।मैंने उससे कहा- नहीं मुझे नहीं उतरना. उसके लंड को हाथ लगा कर मेरे बदन में एकदम से करंट सा दौड़ गया और मैंने हाथ पीछे खींच लिया.

फिर उसने पूछा कि क्या मेरी कोई गर्लफ्रेंड है और उसके सवाल का जवाब मैंने हाँ में दिया।इस तरह से हमारी बात उस दिन यहीं पर समाप्त हो गई थी क्योंकि तभी उसकी मम्मी वहाँ पर आकर हम दोनों के साथ में बैठ गई थी।अगले दिन फिर से मैं अपने फोन में व्यस्त हो गया था और उसी समय वो भी मेरे पास आ चुकी थी.

इसी तरह हमारी आपस में गुत्थम गुत्थी हो गई … जिससे बहुत बार उसका हाथ मेरे मम्मों को टच कर गया. आपको मेरी प्यासी जवानी की सेक्स कहानी पढ़ने में मजा आया या नहीं? मुझे बताएं … और कोई सुझाव हो, तो प्लीज़ मुझे मेल जरूर करना. तो दोस्तो, यह घटना मेरे साथ मेरी जिंदगी में वास्तविक रूप से हुई थी.

वीडियो सेक्सी चाहिए वीडियो सेक्सी एक दूसरे में ऐसे खोये रहे 7 दिन तक जैसे हमारी जिन्दगी का मकसद सिर्फ यही है. मेरा तो सारा मूड ही खराब हो गया, एक सुनहरी मौका आते आते हाथ से निकल गया।उसी बीच मैं 2 दिन की छुट्टी लेकर अपने घर आ गया क्योंकि अपने बेटे को देखे हुए काफ़ी दिन हो गये थे और पत्नी को भी बहुत दिनों से नहीं छुआ था.

मैंने उसकी तरफ देखा, तो उसने कहा- हमारी शादी नहीं हुई, तो क्या हुआ. अब मैं आस पड़ोस के बारे में भी निश्चिंत हो जाना चाहता था कि ऐन वक्त पर कोई आ ना जाए. यदि मेरी कोई भी किसी भी तरह की बात या शब्दों का इस्तेमाल बुरा लगे तो उसके लिए मैं आप सबसे दिल से माफी चाहता हूं और कोशिश करूंगा कि अपनी कहानी को और बेहतर ढंग से लिख सकूं.

देहाती न्यू सेक्सी वीडियो

मेरी दर्द से आह निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’यार का लंड मेरी चूत के अंदर जाते ही मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स की तमन्ना पूरी होती नजर आई. फिर हम लोगों ने वाइन से लेकर सिगरेट और खाने पीने के अलावा हमने डांस बार में भी डांस किया, जिसमें मेरे ग्रुप में मैंने और सनी ने … और अल्पना और वरुण ने साथ में डांस किया. मुझे खुद पर बहुत शर्म आयी और जब वो मेरी तरफ आईं, तो मैं उनसे नज़र नहीं मिला पा रहा था.

मैं लगातार उसकी बुर को चाटता जा रहा था और बीच बीच में अपनी जीभ उसकी बुर के काफी अन्दर तक डाल कर उसे अन्दर ही घुमाता और चूत की दीवारों को अपनी खुरदुरी जीभ से चाट देता. वो बोली- अगर कुछ हुआ तो तुम मेरे से शादी करोगे ना!मैं बोला- ठीक है, मैं तुमसे शादी करूंगा.

मुझे अब जब भी टाइम मिलता है, मैं भाबी की चुदाई करने पहुंच जाता हूं.

उसके प्रश्न का उत्तर देना तो चाहता था लेकिन पता नहीं मेरी जुबान जैसे अटक रही थी. इतना कह कर वो नेता भीतर चला गया और इधर रमा ने मुझे पैग भीतर ले जाने को कहा और इशारों इशारों में मुझसे हाथ जोड़ विनती करते हुए सब संभाल लेने को कहा. फिर मैंने जानबूझकर एक दो रंडियों से पूछा- तुम्हारा ये साइज कैसे बढ़ता है?उन्होंने बताया कि हमारी दिन रात चुदाई होती है … तो किसी भी लड़की का साइज चुदाई से बढ़ ही जाता है.

हम सभी लड़कियां चुदाई के प्रति काफी उत्सुक रहती थीं। हम सभी चुदाई की कहानियां पढ़ने की बहुत ही शौकीन थीं। इसलिए हमारे पास बहुत सी सेक्स कहानियों की किताबें थीं. उस दिन तो उनके दूध इतने बड़े लग रहे थे, जैसे मानो वो बाथरूम में खुद अपने दूध चूस कर बाहर आई हों. मैंने कहा- ओह तो ये तुझे मालूम था अम्मा?अम्मा ने कहा- हां नहीं तो क्या? मैं पहले ही समझ गयी थी, जब पहली बार देखा था.

इसी बीच मैंने उस कमरे से दूसरे कमरे में खुलने वाली खिड़की को हल्का सा खोल दिया ताकि मेरी पत्नी भी हमारी चुदाई का आनन्द ले सके.

मुंबई सेक्सी बीएफ वीडियो: मैंने कहा- वहां लोग अपनी बीवी के साथ या माशूका के साथ जाते हैं … बहन के साथ नहीं. उन्होंने मुझे अपने बेड पर धक्का दे दिया और मैं उनके बेड पर गिर गया.

ये कहते हुए मैंने अपनी सलवार के ऊपर से ही उसे अपना लंड पकड़ कर दिखाया. दीवार के इस तरफ यानि हमारी तरफ ऊपर की मंजिल पर जाने के लिए सीढ़ियाँ बनी हुई हैं।मेरा कमरा घर की पहली मंजिल पर है यानि मैं और मेरी बीवी दिन में कई बार उन सीढ़ियों का प्रयोग करके ऊपर नीचे आते जाते रहते हैं।अब असली मुद्दे की बात बताता हूँ. फिर उन्होंने खीरा जोर से बाहर निकाला, इसके साथ ही उनकी चुत से पानी निकलना शुरू हो गया.

मेरा पेट से लेकर सिर तक का हिस्सा बिस्तर पर था और टांगें जमीन पर टिकी थीं.

मेरे पति रोशनी के ऊपर पीठ के ऊपर अपनी जीभ फिरा फिरा कर ऊपर से नीचे की तरफ किस करते हुए उसे चाट रहे थे. उसकी चूत ने पानी छोड़ा कि ठीक उसके बाद ही मेरा पानी छूटने वाला हो गया. आंटी बहुत खुले विचारों की थी तो मैं कभी-कभी आंटी के गर्दन और गांड पर हाथ फेर देता था जो मुझे बहुत अच्छा लगता था।एक दिन आंटी का फोन खराब हो गया था तो वो हमारे घर आ गई और हमारे घर के लैंडलाइन वाले फोन से फोन लगाने लगी.