देहाती बीएफ चालू

छवि स्रोत,ब्लूटूथ वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

इंग्लिश वीडियो ब्लू: देहाती बीएफ चालू, राशि मेरे टट्टों को हाथ में लेकर सहला देती तो कभी मेरे चूतड़ों की दरार में अपनी उंगली फिरा देती थी.

सनी लियोन के बीएफ वीडियो दिखाइए

फिर उसने सोनल की तरफ देखा, तो सोनल ने खुद ही अपनी पेंटी निकाल दी थी. इंग्लिश बीएफ सेक्सी वीडियो फुल एचडीअब उन्होंने मुझे दूसरा कमरा बताया और कहा- आप उस कमरे में जाइए, वहां टेबल पर लैपटॉप पड़ा है.

मैंने रानी के चूतड़ भींच के एक ज़ोरदार धक्का लगाया तो बचा हुआ माल भी झड़ गया. बीएफ हेपाहेपीउनकी चुत और पैंटी पूरी ऐसी भीगी हुई थी जैसे उन्होंने पेशाब कर दिया हो.

ऊषा ने आगे बताते हुए कहा- जमाई जी मेरी चूत का बाजा बजा रहे थे और मैं उनकी चुदाई की धुन में नाच रही थी.देहाती बीएफ चालू: इतना तो मुझे समझ में आ गया था मुझे कि सलोनी में भी आम लड़की की तरह इच्छाएं हैं, अरमान हैं, कुछ जज्बात हैं.

दिन भर की भागदौड़ के बाद रात में जब सब लोग अपने कमरों में चले गए, तो सभी सालियां और बहनें मिल कर मुझे मेरे कमरे में ले गयी.मैंने उसको तीसरी मंजिल पर इसलिए आने के लिए कहा क्योंकि तीसरी मंजिल के फ्लैट की चाभी मेरे पास ही रहती थी.

देसी सेक्सी बीएफ देसी सेक्सी बीएफ - देहाती बीएफ चालू

तुम्हें तो कोई काम नहीं है ना?मैं बोला- नहीं यार, मैं तो यहाँ अकेला ही रहता हूँ.फिर मैंने अलमारी से वैसलीन की शीशी निकाली और उसकी चूत में अच्छी तरह से क्रीम मल दी.

थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहने के बाद मैं फिर उनके बदन पर अपने हाथ चलाने लगा. देहाती बीएफ चालू आज मुठ मारने में एक अलग ही मज़ा था, मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरा लौड़ा हाथ में नहीं बल्कि उसकी फ़ुद्दी के अन्दर-बाहर हो रहा हो! दस मिनट के बाद मेरा लंड छूट गया और मेरे लंड से पिचकारी सीधी दीवार पर गिरी.

जैसे ही उसकी चूत की गर्माहट मेरे हाथ को महसूस हुई, तो मेरे अन्दर आग भड़क गई.

देहाती बीएफ चालू?

प्रिया- आअहह … ये मेरी बेस्ट पोज़िशन है … इसी में चोदिए मुझे भैया … आंह. ‘तूने खुद मसली हैं अपनी चूचियां?’वो- साली सहेलियों ने पूरा बिगाड़ कर रख दिया था … तुम वो सब छोड़ों … और अन्दर डालो लंड. गेम फिर से शुरू हो गया, ताश के पत्ते एक बार फिर से बंट गए और इस बार नतीजा ये आया कि टास्क करने की बारी सोनल की थी.

कभी टोपे का साइज नापने लगे तो कभी तोप के नीचे के दो बड़े गोलों को छूकर वापस तोप के ऊपर फिसल जाते. अमर की पिंकी के साथ खुली खुली बातें तो नहीं होती थीं मगर डबल मीनिंग बातों में कुछ ना कुछ बात तो हो ही जाती थी. मैंने गुलाबो के नमकीन आंसू पी लिए और उठ कर अपने कपड़े उतारे, अब मैं सिर्फ अंडरवियर में था! मैं गुलाबो के करीब आया और उसके मुंह के पास अपनी अंडरवियर लाया और उसे नीचे कर दिया।गुलाबो ने अपना चेहरे को ऊपर किया, मेरा लंड 8 इंच लम्बा और तीन इंच मोटा था, देख कर वो डर गयी, गुलाबो बोली- यह तो बहुत तगड़ा है, मुझे तो मार देगा.

मैंने उसके सिर को दबाये रखा और तब ढीला नहीं किया जब तक कि मेरा पूरा वीर्य उसके मुंह में झड़ नहीं गया. मैंने कहा- देखती हूँ अगर कोई सवारी मिलती है तो!उसने कहा- चलिए आज मैं आपको छोड़ देता हूँ. मैंने पूछा- जान, तुमको ज्यादा दर्द तो नहीं हुआ?वह बोली- नहीं, शुरू में हुआ था मगर उसके बाद मजा आया.

मैंने धक्का देते हुए कहा कि यह कैसे हुआ … तुम्हें किसने चोदा?उसने मुझसे कहा- मैं पहली बार तुमसे चुद रही हूँ … चूत में मैं कभी कभी डिल्डो डालकर अपनी गर्मी शांत कर लेती थी. मेरी शादी को 2 महीने हो गये थे, अब मेरा लंड फड़फड़ा रहा था किसी नयी लड़की की बुर की सील तोड़ने के लिये!संयोग से मेरी साली जो 19 वर्ष की थी, जिसका नाम ऋतु था, वो एग्जाम देने मेरे घर आयी.

कभी अपना लंड पूरा बाहर निकालकर फिर से एक ही धक्के में अपना पूरा लंड चुत में घुसा देता था.

मैं भी तैयार हो गया और फिर हम मम्मी को लिविंगरूम में छोड़कर बाथरूम में आ गए।हम दोनों बिल्कुल नंगे खड़े होकर शॉवर के नीचे नहा रहे थे और मम्मी की पैंटी को सूंघ और अपने लण्ड पर रगड़ रहे थे।मेरी कहानी आप लोगों को पसंद आई या नहीं … मुझे जरूर बतायें, उसी के बाद आगे की कहानी को जारी करूँगा। मुझे मेल करने के लिए और इंस्टाग्राम पर जोड़ने के लिए बिल्कुल भी संकोच ना करें।[emailprotected]Insta/weekendlust_tales.

मेरा हर ब्लाउज डीप गले का ही होता है, इस वजह से स्तनों के बीच की घाटी साफ साफ दिख रही थी. अब मुझे भी मजा आ रहा था, मैं भी अपनी गांड आगे पीछे करके अपने पति से चुदवाने लगी. मैंने अजय को बोला- शाम को देखते हैं, तुम ड्रिंक्स का और म्यूजिक का इंतजाम करो.

जागृति मेम ने मेरी जींस का बटन खोला और चड्डी के अन्दर हाथ डाल कर लंड हिलाने लगीं. जो भैया थे वो पुलिस में एएसआई थे, उनकी उम्र लगभग 40 साल और भाभी की उम्र 35 साल थी. ओके स्वीटहार्ट … शाम को नहाकर फ्रेश ही रहना!”इस सबको लिखने का आशय ये कि हमारी लाइफ भी अच्छी चल रही थी.

दिशा- बड़े आराम से सम्भल जाएगा जीजू … आज हम तीनों इसके लिए भारी पड़ने वाली हैं.

नहाने धोने के बाद हम दोनों पेपर देने चले गए और पेपर देकर वापस आ गए. फिर आया वो पल … मैंने वसुन्धरा के दोनों होंठों को अपने होंठों में लिया और लगा वसुन्धरा के दोनों होंठ चूसने. मैंने सरिता के होंठों पर होंठ रखकर किस करके कहा- सरिता, तुम बहुत ही होशियार हो.

निशा बोली- अभी नहीं, शिल्पा को अच्छे से सो जाने दो … अभी ऐसे ही काम चलाओ. जब पापा ने बताया कि उनका रस निकलने वाला है तो मैंने पापा से कह दिया कि पापा मेरी चूत में ही अपना रस निकाल दें. फिर मैंने आंटी से कहा- आंटी, कल का सब कुछ सही है न … कल आना है ना?आंटी बोलीं- हां जरूर.

चूचों की मिंजाई से दिशा मोन करने लगी और उसने अपनी आंखें बंद कर लीं.

मैं कब से इस बात के इंतजार में था कि सलोनी मौसी कब अपनी चूत में साबुन लगाएंगी और मुझे उनकी चूत के दर्शन होंगे. ये टॉवल उनकी चुचियों और चूत के थोड़ा नीचे तक ही था, जिस वजह से उनकी चिकनी और गोरी जांघें साफ दिख रही थीं.

देहाती बीएफ चालू तेरी बिटिया की बुर, आज मुझे भी तेरे साथ लण्ड चाटने में बड़ा मज़ा आ रहा है. तीसरी बार में उन्होंने मुझे बेड पर नीचे लटका कर चोदा और इस प्रकार उस रात चार बार पापा ने मेरी चूत को पेला.

देहाती बीएफ चालू मैं तुम्हें कुछ गोलियां देता हूँ, वो उसे हर रात दूध में डालकर आठ दिन खिलाती रहना. मेरे हाथ … मेहँदी … मैं … कैसे नाड़ा … ” कुछ टूटे-फूटे लफ़्ज़ मुझे सुनाई दिए लेकिन मैं उन का मतलब समझ गया.

सलोनी- रियली? ऐसा क्या देखा आप ने मेरे में जो किसी ने नहीं देखा? और आपने देख लिया? आप झूठ बोल रहे हैं.

बीएफ पिक्चर चोदने वाला बीएफ

मैं बोली- आशीष मुझे छोड़ दो, जाने दो यह मत करो, मत करो मुझे बहुत दर्द हो रहा है … मैं मर जाऊंगी, ये तूने बहुत तेजी से क्या डाल दिया आशीष. मैं ये चुदाई कभी नहीं भूलूंगी … मेरी जान निकल गयी थी लेकिन अब बहुत अच्छा लग रहा है. फिर मैंने सुषी के आंसू पोंछ दिये और उसको फिर से किस करना शुरू कर दिया.

मेरे घर से थोड़ी दूर पहले मैं स्कूटी के ब्रेक नहीं लगा पाया और मेरी एक सामने से आ रही कार की टक्कर हो गयी. भाभी को आज देख कर मेरी तो आह ही निकल गई ‘उफ्फ्फ …’ सच में मैं तो उनको देखता ही रह गया. इस गोपनीयता के चलते सोसायटी में मेरा नाम खराब होने का चांस बहुत कम था.

वह मेरे लौड़े के टोपे को अपने होंठों के अन्दर भरकर ऐसे चूसने लगी जैसे वह कोई लॉलीपॉप चूस रही हो.

कहानी सुनाते हुए मैं डॉक्टर के पास जाने की और सूजे हुए लंड की बात गोल कर गया. वो झट से मेरी कमर के दोनों तरफ टांगें डाल कर ऐसे बैठ गई, जिससे मेरा लंड उसकी चूत से रगड़ने लगा. फिर मैंने उनको बोल दिया कि मैं अपनी बीवी अंजलि से ही बात करके बताऊंगा.

वो मस्ती से बोले जा रही थी- आह फक मी माय डार्लिंग … अहह … अहहह और जोर से … ओहहह!मुझे भी जोश आने लगा. मैं सोचने लगी कि कहीं उसने हम दोनों को इस हालत में देख तो नहीं लिया? मैं जरूर डर गई लेकिन विलियम को कोई फर्क नहीं पड़ा उसने डेविड को बोला- चलो भी अब!विलियम के ऐसा बोलते ही डेविड ने अपना बैग अपनी पीठ पर डाला और हम दोनों को देखकर मुस्कुराते हुए बस की गैलरी में से आगे बढ़ने लगा. सीधा होते ही अमर फिर से भाभी के ऊपर आ गया और फिर से एक ही झटके में पूरा लंड चुत के अन्दर कर दिया.

अन्दर एक पेड़ से सटा कर मैंने मेम को देखा तो उन्होंने अपने होंठ गोल करके चुम्बन का इशारा कर दिया. मैंने उसकी तरफ देखा तो मेरे हाथ में नई घड़ी देख कर बोली- बहुत अच्छा गिफ्ट है, तू बहुत लकी है बंध्या.

एक दिन मैंने उसे अकेले में मिलने बुलाया क्योंकि कुछ दिन बाद मुझे काम से बाहर दूसरे शहर जाना था. उसने तुरंत अपने एक हाथ को बढ़ाकर मेरी सलवार के ऊपर से ही मेरे चूत अपने हाथों में भींच दिया. वैसे उसकी लिपस्टिक अब उसके होंठों पर कम … और मेरे होंठों पर ज्यादा थी.

फिर देखना आपकी पार्टनर को कभी कोई और पसंद ही नहीं आएगा … और उन भाभियों आंटियों और लड़कियों से कहना चाहूंगा, जिनका पार्टनर उनकी चूत चाटता है, उसे भी ऐसा ही करने को बोलें.

दीदी अगर आज आप मेरे लिए जमाई जी के लंड का इंतजाम न करती तो सच में मैं छत से कूद कर अपनी जान ही दे दती. फिर उन्होंने मुझे बाथटब की साइड पर बिठाया और कहा कि अपने पैर चौड़े कर लो. लेकिन मैंने उसकी चीखों पर कोई ध्यान नहीं दिया, बस उसके दूध मसलता रहा.

एक दिन में उसके रूम में झाड़ू लगा रही थी, तो वह अपने बेड पर बैठे हुए हसरत भरी निगाहों से मेरी गहरे गले की टी-शर्ट में झांक रहा था. मैंने उन्हें बताया कि अब तक मैं चार लंड अपनी गांड में लिए हैं और आज आप पांचवें मर्द होंगे, जो मेरी गांड मारेंगे.

एक नारी लगभग अपनी आधी जिंदगी गुजरने के बाद आज पहली बार अपने नारीत्व को प्राप्त हुई थी. देसी मॉम की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी मम्मी की जवानी की ओर आकर्षित हुआ. मुझे थोड़ा अजीब लगता था, लेकिन उसके परिवार में सब लोग खुले विचार के थे.

बीएफ फिल्म जबरदस्ती

अब मीना की कामेच्छा शांत हो गयी थी और नशे में ये सब होने के कारण वो नंगी ही बिस्तर में सो गई.

इस स्टाइल में मैंने जब लंड को उनकी योनि पर रखा, तो लंड मोटा होने की वजह से उनकी योनि में ‘परर्रर्रर्रर …’ की आवाज के साथ घुस गया. एक दिन वो मेरे घर आयी और मुझसे कहने लगी कि तुम कॉलेज क्यों नहीं आते हो?मैंने कहा- किस लिए आऊं?वो बोली- मेरे लिये. वो बहुत गर्म हो चुकी थी और कह रही थी- प्लीज प्रवीण अब चोद दो, घुसा दो अपना लंड मेरी चूत में.

जो वीर्य अंदर उसके मुंह में रह गया था उसको शिखा ने एक तरफ नीचे थूक दिया. कहानी के तीसरे भागस्विमिंग पूल में दो जोड़ों की अश्लील मस्तीमें आपने पढ़ा कि कैसे दो इंडियन कपल ने स्विमिंग पूल में और रेस्तरां में एक दूसरे के साथी के साथ मजा लेने की कोशिश की. बीएफ एडल्ट हिंदी मेंआप जैसी लड़की न जाने कितनों की रोल मॉडल हो सकती है जो खुद अपने दम पर दुनिया में आगे बढ़ना चाहती है, आज मैं आपको अपने साथ न लाता तो मुझे आपको जानने का अवसर ही नहीं मिलता.

मैं फिर अपने घुटनों के बल आ गया और सरिता की टांगें अपने कंधे पर रख लीं. लेकिन उधर से कोई रेस्पॉन्स नहीं आया तो मैंने मम्मा को उत्तेजित करने की कोशिश जारी रखी.

अब मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने उससे पूछा- कहां निकालूं मेरी जान?तो उसने कहा- अन्दर मत निकालना, मुझे तुम्हारा रस चखना है. मैं उन दोनों को पहले से जानती थी लेकिन यह नहीं जानती थी कि वो आज घर पर आने वाले हैं. हम दोनों के पानी के मिलने से दिलिया के चेहरे पर एक अजीब सा सकून था.

अपनी मम्मा सौम्या की ये बात सुनकर मेरा मन और लंड दोनों हिलोरें मारने लगे, लेकिन मैंने मना कर दिया. ये कहानी मेरी और मेरे पड़ोस में रहने वाली लड़की परी (बदला हुआ नाम) की है. अचानक से रानी ने ज़ोर की किलकारी मारी- ईईईई ईईईई ईईई … अईईई ईईईईई ….

अपने हाथ में मेरे लिंग का साइज़ अनुभव करते हुए उसका मुंह और आँखें यूं खुली हुई थी जैसे कोई न-काबिल-ए-यक़ीन चीज़ से दो-चार हो रही हो.

थोड़ी देर ऐसे ही करते हुए मेरा सारा पानी निकल गया और कुछ पल के लिए मैं शांत हो गया. वो बहुत ज्यादा कामुक हो गए थे, मेरे होंठों पर अपने होंठों को लगा कर चूम रहे थे और साथ में काट भी रहे थे.

फिर मैं उसकी गर्दन पर किस करते हुए थोड़ा नीचे आया और उसके मम्मों से थोड़ा ऊपर छाती पर किस किया. !उसकी इस तरह की बातों के बाद क्या हुआ, वो मैं अगले भाग में लिखूंगी. कुछ धक्कों के बाद मैंने पूछा- कहाँ निकालूं?भाभी बोली- अंदर ही निकाल दो.

अब तक आपने पिछले भाग में पढ़ा कि मेरे बर्थ डे के अगले दिन जैसा हमने तय किया था, मैं अमीषी के पास पहुंच गया था. कभी उसके ऊपर वाले होंठ को तो कभी नीचे के होंठ को, कभी उसके कानों के पीछे चूम लेता तो कभी उसकी लड़ी को चूमता। अब उसकी सांसें तेज होने लग गई।एक हाथ से मैं चूची को दबा रहा था और एक हाथ से उसके टॉप को मैंने ऊपर कर दिया और ब्रा के ऊपर से चूचों को दबाने लगा।रात के अँधेरे में देख तो नहीं पा रहा था, बस महसूस कर रहा था।फिर एक हाथ को पीछे ले जाकर उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया और ब्रा को ऊपर करके दबाने लगा. हां और किसी की बात नहीं जानता, लेकिन आपको तो पक्का प्रेग्नेंट कर दूँगा.

देहाती बीएफ चालू मैं उनकी तरफ हैरानी से देखने लगा तो जागृति मेम ने अपनी पलकें झपका कर मुझे आश्वस्त किया कि मैं सब समझती हूँ … मगर तुम दूसरी लड़कियों को गर्लफ्रेंड को बनाने की कोशिश करो … ये लड़की तुम्हारे लिए ठीक नहीं है. मैंने अपनी जीभ को होंठों पर फेरा और उसकी तरफ देखते हुए कहा- मजा आ गया.

पंजाबी सेक्स बीएफ फिल्म

जल्दी ही मेरी झिझक गायब हो गई और लण्ड चूसना मुझे अच्छा लगने लगा और मैं इसे हिला हिला कर चाटने और मुंह से म्मम्म. दोनों एक दूसरे से करीब 5 मिनट चिपके हुए अपनी अपनी साँसों में काबू पाते और सुस्ता कर दोनों के बदन ढीले पड़ने लगे थे. वो बोला- मैं तुम्हारे बिना नहीं जी पाऊंगा और मैं तुम्हीं से शादी करूंगा.

मेरे मुंह की गर्म हवा उसके कानों पर लग रही थी और वह भी थोड़ी सी बहकने लगी थी. मैंने पीछे से उसके चूचे पकड़ लिए और दबाना शुरू कर दिया जिससे वो कसमसाने लगी। मैंने उसकी गांड पर हाथ फिराते हुए उसे गर्म कर दिया और धीरे-धीरे साड़ी उतार कर उसे सिर्फ पैंटी में लाकर छोड़ दिया।फिर उसके बूब्स को पकड़ कर मैं सहलाने लगा और चूमने लगा. बीएफ और सेक्सी वीडियोफिर मैं उसके आगे आ गया और अपने होंठ उसके गुलाबी होंठों पर रखकर किस करने लगा.

फिर धीरे से अपनी जीभ उसकी चुत के छेद में घुसाई, उसको इसे दर्द होने लगा और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… आई माँ ओह्ह…’ बोलने लगी.

हॉट भाभी सेक्सी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं घर के पास की एक सेक्सी भाभी को देखता था. इसके बाद हम दोनों कुछ देर उधर रुक कर एक दूसरे से आंखों ही आंखों में अपने प्यार का इजहार करने लगे.

पर वे रूके ही नहीं, उन्होंने मेरी कमर पकड़ कर अपना पूरा पेल ही दिया. मेरे दिमाग में सबसे पहले चाचा का ही ख्याल आया कि वह रोहित को ढूंढने में मदद कर सकते हैं. फिर मैंने भी खुद को ढीला छोड़ पैर ऊपर उठा दिए मैं भी उल्टा घूमने लगा.

उसने मेरे कंधों को पीछे से पकड़ा और अपनी कमर नीचे कर लिंग से मेरी योनि टटोलने लगा.

वसुन्धरा के मुंह से सिसकारियाँ मुतवातिर जारी थी लेकिन अब वक़्त था कर्म करने का. इसके बाद मैंने अपनी गांड को हिलाया, तो मेरे पति ने अपना लंड मेरे चुत से बाहर निकाल दिया. गुलाबो की चूत बहुत टाइट थी, मुझे लगा मेरा लंड उसमें जैसे फंस गया और छिल गया है.

पानी में सेक्सी बीएफमुझे इस वक्त शीतल भाभी एक पोर्न एक्ट्रेस सी लग रही थीं, जो अनायास ही मेरे लंड के नसीब में आ गई थीं. पापा के लंड से चुदाई का आनंद लेते हुए मैं भी कामुक स्वरों से पापा का जोश बढ़ाने लगी थी.

लड़की के साथ सेक्सी बीएफ

हम दोनों ने इस पूरी चुदाई के दौरान पोजीशन बदल-बदल कर सेक्स का मजा लिया था. कहते हुए वह अपनी चूत के अंदर उंगली डाल कर मेरे माल को अपनी चूत से बाहर करने लगी. उसकी कामुक सिसकारियां बढ़ने लगी थीं और वो कहने लगी थी- अह … और करो रोहन … और जोर से अह हआआ … मजा आ रहा है … अआह्हा जोर जोर से करो.

तो अजय ने मुझे बताया- उसने हामी भरी थी लेकिन मैंने उसे ये नहीं बताया है कि हम अपना पहला सेक्स तुम्हारे साथ करने वाले हैं. मगर मेरे हाथ कब उठकर उसकी चूचियों पर जा पहुंचे मुझे तो इसका अंदाजा भी नहीं लगा. उसकी चूत काफ़ी खुल चुकी थी तो लंड आराम से अन्दर बाहर हो रहा था … और प्रिया की चूत से काफ़ी आवाज भी आ रही थी.

नहाते हुए घर की डोर बेल बजी तो मैं ब्रा और पैंटी में दरवाजा खोलने के लिए बाहर आई. मैंने एक हाथ उसकी कमर में डालकर उसे सहारा दिया और दूसरे हाथ से अपना लंड पकड़ कर सुपारे को चूत के छेद पर रगड़ने लगा. अब चूंकि उस समय घर में सिर्फ हम दोनों ही थे, तो कुलीन मुझे हवस भरी नजरों से देखने लगा था.

काम-रस से मेरा लिंग और वसुन्धरा की योनि, दोनों बुरी तरह सने हुए थे. जीजू ने भी तुरंत मौका देख कर चौका लगा दिया और एक तेज धक्के के साथ अपने लंड को अपनी साली की चूत में करीब आधा घुसा दिया, लंड के अंदर घुसते ही मेरी तो चीख निकल गई क्योंकि जीजू का लंड बहुत मोटा है और करीब 8 इंच लंबा है.

रिया- तुम अभी क्या कर रहे हो?मैं- मैं अभी पढ़ाई के लिए यहां रहता हूं.

मैं मस्ती के सागर में पूरी तरह डूब चुकी थी और अब किनारे तक जाना चाहती थी. सेक्सी बीएफ पहली बारतो दोस्तो, ये मेरी यंग सिस्टर सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी, प्लीज़ कमेंट में लिखकर जरूर बताएं. सेक्स सेक्स बीएफ पिक्चरमैंने जैसे ही अपनी मम्मी की चूत को चाटने के लिए जीभ को चूत पर रखा, तो मम्मी एकदम से सिहर गईं. आपने ऐसा क्या देखा जो किसी और लड़के ने नहीं देखा?मैं- नहीं, आप बुरा मान जायेंगी और गुस्सा भी होंगी या फिर मेरी पिटाई या शिकायत भी कर देंगी.

वो दिल्ली एयरपोर्ट पर मिलने वाली थी तो उसने दिल्ली में एक अच्छे होटल में रूम बुक किया हुआ था.

एक पल सुखबीर ने लिंग वहीं चिपकाए रखा और फिर से लिंग थोड़ा बाहर खींच कर धक्के मारने लगा. उसकी आवाज तेज होने की स्थिति में आ सकती थी इसलिए मैंने पहले ही निशा का मुँह अपने एक हाथ से दबा दिया कि आवाज न निकले. कुछ दिन और लण्ड लेती रहोगी तो और भी ज्यादा निखार आ जाएगा क्योंकि जैसे ही कोई कुंवारी लड़की चुदवाने लग जाती है और चूत में लंड का रस पीने लग जाती है तो उसमें एक खास प्रकार के हार्मोन डेवलप होते हैं जिससे लड़की के रूप रंग पर अलग ही निखार आ जाता है.

मैंने उसके होंठों से अपने होंठ सटा कर एक जोरदार धक्का मारा और मेरा लंबा और मोटा लंड पूरा अन्दर चला गया था। इस बार के झटके से उसकी चीख उसके गले में ही रह गई और उसकी आँखों से तेजी से आँसू बहने लगे। उसने चेहरे से ही लग रहा था कि उसे बहुत दर्द हो रहा है।मैंने गुलाबो को धीरे धीरे चूमना सहलाना और पुचकारना शुरू कर दिया, मैं बोला- मेरी रानी, डर मत, कुछ नहीं होगा, थोड़ा देर में सब ठीक हो जाएगा. इसके बाद उन्होंने मुझे घुटनों के बल बिठा कर मेरा सिर पकड़ कर जबरदस्ती अपना काला लंड मेरे मुँह में डाल दिया. मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगा ताकि मामू भी चुदाई की आवाज़ सुन लें और समझ जाएं कि हम जाग रहे हैं.

सेक्सी बीएफ चोदी चुदाई

1 मिनट तक ऐसे ही वो पड़ी रही, फिर मुझे गाली देते हुए बोली- मादरचोद भोसड़ी के … रुक क्यों गया? चोद न कुत्ते मुझे … कमर चला!उसके मुख से गाली सुन के मैं पागल से हो गया। मैंने भी उसके मुँह में अपनी उंगलियों को घुसेड़ दिया. मैंने शिखा के सिर को पकड़ लिया और अपने लंड को उसके मुंह में धकेलने लगा. उसके सेक्सी कपड़ों को देख कर मुझे बड़ी आग लग जाती थी लेकिन मैं कसमसा कर रह जाता था.

हालांकि मुझे आज मिनी को चोदने का मौका मिल गया था, तो मैंने प्राची के बारे में सोचना छोड़ दिया.

मैं अपने घुटने उसकी जांघों से लगा कर, अपना हाथ उसकी जांघों पर फेरने लगा.

मेरी इस घमासान धक्कम-पेल को चलते अभी कुछ ही देर हुई थी कि अचानक से मोनी का पूरा बदन थरथरा सा गया और उसके हाथ-पैर कंपकंपाते हुए मेरे शरीर पर जोरों से आकर लिपट गये। मेरे लंड को अपनी चूत में पूरा निगलकर उसने अब किसी बेल की तरह मेरे शरीर से खुद को लिपटा लिया था. काफी देर तक उसकी गांड को दबाने के बाद मैंने उसकी गांड की दरार को अपने दोनों हाथों अलग करके देखा तो उसकी गांड का छेद सिकुड़ा हुआ था. सिंगापुर बीएफमर्दों के जिस्म में बहुत सारी ऐसी जगह होती हैं जिनको चूसने और चाटने के लिए औरतें ललायित रहती हैं.

अब जब मैंने तुम्हे आधी नंगी देख ही लिया है तो अब तुम शर्म छोड़ कर मुझे प्यार करने दो. मम्मा ये सुनकर हंस दीं और मेरे बालों में हाथ फिरा कर बोली- पागल … अपनी मम्मा से भी कोई शादी करता है भला!मेरी बातों को मम्मा ने हल्के में लिया था या नहीं … ये तो मैं नहीं कह सकता, लेकिन उस टाइम मुझे थोड़ा सुकून मिल गया था. मैं बोला- इसकी क्या जरूरत थी?वो बोली- पी लो, आज बहुत मेहनत करनी है तुमको.

मनोज सर धीरे से बोले- साली रंडी पहले मुझे गर्म करती है, फिर चोदने भी नहीं देती. खैर, आज मैं आपके सामने अपनी और अपनी बीवी की चुत की चुदाई की नई घटना लेकर आया हूँ.

भाभी आह आह की आवाज करती हुई बोली- मेरे राजा, ज्यादा मत तड़पाओ … मुझे चोद दो.

फिर मैं वहां से उसको एक हग और किस करके दोस्त की छत से होते हुए अपने घर चला आया. नींद में भी उसकी गांड जवाब दे रही थी और मेरी उंगलियों की मसाज से अपना सिकुड़ा हुआ मुंह फैला देती थी. फिर उसके मुंह में दो चार झटके मारने के बाद उसकी सील तोड़ने के लिए लंड को उसकी चूत से लगा दिया और एक धीरे झटके से लंड को आधा उसकी चूत में घुसा दिया.

लिपस्टिक वाली बीएफ उसकी चमड़ी इतनी नर्म, मुलायम, नाजुक और पारदर्शी थी कि उसकी फूली हुई नसें साफ़ नज़र आ रही थीं. उसकी बातों में अब ये बातें भी स्थान लेने लगी थीं कि मुझे किस तरह का ब्वॉयफ्रेंड पसंद है वगैरह वगैरह.

मैंने बिना देर किए पीछे से लंड फच की आवाज के साथ उसकी चुत में डाल दिया ‘आउच अअअअअ यस यस. वसुंधरा की हवा में झूलती ओढ़नी, जो उसके जूड़े के साथ पिन की गयी थी, वसुंधरा के तेज़ी से गोल घूमने के कारण बार-बार दाएं-बाएं हो रही थी और इसी प्रक्रिया में वसुंधरा के आकर्षक, भरे-भरे और करीब-करीब अनावृत, गोरे-चिट्टे नितम्बों की मुझे रह-रह झलक मिल रही थी. देखते ही देखते मेरा लंड बॉक्सर में ही खड़ा हो गया और साफ साफ दिखने लगा.

बीएफ सेक्सी देसी लड़की की चुदाई

उसे शायद यह सब करना ठीक नहीं लगा लेकिन मेरे समझाने पर वह समझ गई और फिर मान गई. वह मेरे लंड को बाहर निकाल देना चाहती थी लेकिन मैंने ऐसा नहीं होने दिया. मैं उसकी तरफ घूम गया तो उसने प्यार से मेरे दोनों निप्पल्स पर किस किया और कहा- जानेमन, कॉफी की क्या ज़रुरत थी, अपना लंड मुंह में डाल देते … मैं खुद ही उठ जाती!मैंने उसके चूचों के निप्पलों को अपने अंगूठे और उंगली से पकड़ कर भींच दिया और उसके होंठों पर एक लम्बा सा, गहरा सा चुम्बन दे दिया.

वह मेरे लौड़े के टोपे को अपने होंठों के अन्दर भरकर ऐसे चूसने लगी जैसे वह कोई लॉलीपॉप चूस रही हो. आज भी वो दोनों एक साथ होने या मौका मिलने पर खुल कर चुदाई या कई बार तो साड़ी ऊपर उठा कर फटाफट वाली चुदाई कर लेते हैं.

मगर यार तुम सच में शादी के बाद ही अपने बदन को छूने दोगी क्या?इन्दु – जी, बिल्कुल सही समझा आपने.

वो मुस्करा कर कहने लगी कि उस वक्त मैं अपनी छोटी बहन को अपनी मदद को बुला लूंगी. मौसी के बारे में ये कहना गलत नहीं होगा कि उनको देखकर हर मर्द एक बार उन्हें अपने नीचे जरूर लिटाना चाहेगा. एकाएक संजना ने लंड पर बैठे बैठे रोहित के मुख में अपनी जीभ घुसा दी और उसके होंठों को जैसे खाने लगी और बेतहाशा उसकी गर्दन, छाती, यहाँ तक कि उसकी बगल (कांख) को भी चूसने लगी।दृश्य ऐसा लग रहा था जैसे किसी मेमने के ऊपर कोई शेरनी बैठी हो।आखिर बेचारा रोहित कब तक बरदाश्त करता, वो इस पोज में लगभग 5 मिनट के बाद झड़ने लगा.

पता नहीं कितनी देर राशि गांड हिला-हिला कर मज़े लेती रही और मैं उसको चोदता रहा, पर जब हम दोनों झड़े तब हम दोनों पसीने से तर-ब-तर थे और राशि की आँखों में मदहोशी थी. मैं उसकी एक चूची को दबाने लगा और उसकी दूसरी चूची को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा था. लेकिन इतनी हिम्मत न तो मुझमें थी और ना ही सरनी में!फिर सरनी जाने को तैयार हुई.

वो ‘राज नहीं … राज नहीं …’ करती रही लेकिन इस ‘ना ना’ को मैंने अनसुना कर उंगली उसकी चूत में डाल कर उसे और उत्तेजित करना चालू कर दिया.

देहाती बीएफ चालू: और बंध्या तुम तो पसीने में भीगी हो?मैं घबरा कर झट से बोली- हां चाची अभी दौड़ के आई हूं, साइकिल भी चला रही थी, इसलिए. मैं भी अपना मोटा लंड पूजा की गांड में जड़ तक अन्दर बाहर करके जोर से चोद रहा था.

दोस्तो, मेरा नाम पवन कुमार है, मेरा लंड 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है. अंजलि ने मुझसे कहा- अब क्यों देर कर रहे हो … जल्दी से मेरे अन्दर डाल दो प्लीज़. वो अंडकोष पर मलहम लगाते लगाते मेरी गांड के छेद पर अपनी उंगलियां ले जा रही थी.

मैंने भाभी से पूछा- ये क्या है?भाभी बोलीं- मेरा तो पानी चूचियों पीने से ही छूट गया है.

प्राची ने मुझे किस करते हुए मिनी के साथ अच्छे से सेक्स करने की बात कही. सन्जू बोली- थोड़ा देर रुको, मैं भी झड़ने वाली हूँ।पर अब वो रुकने वाला कहाँ था, सन्जू की पूरी चूत वीर्य से भर गयी।परंतु सन्जू को कुछ एहसास हुआ, वो बोली- अरे वाह … तुम्हारा लंड तो वीर्य निकलने के बाद भी नहीं सिकुड़ा है. मुझे लगा कि सुषी कुछ नहीं बोलेगी लेकिन बदले में सुषी ने भी अपनी माँ पर चिल्लाना शुरू कर दिया.