बीएफ वीडियो एचडी चाहिए

छवि स्रोत,वेलेंटाइन डे डेट

तस्वीर का शीर्षक ,

नहाते नहाते सेक्सी: बीएफ वीडियो एचडी चाहिए, मैंने भी हल्की सी टांगें ढीली करके खोल दीं और उसकी उंगली मेरी गांड में घुस गयी.

यौन वीडियो

दोनों नंगे हो गये और दादी मेरा लण्ड पकड़ कर खाल आगे पीछे करते हुए बोलीं- हम दादी पोती की चूत ठण्डी करते रहना विजय. हाथी हथनी का सेक्स वीडियोथोड़ी देर बाद सांसों के सामान्य होने के बाद मैंने उसकी तरफ चेहरा उठाकर देखा, वो भी मेरी नजरों में नजर मिलाकर मुस्कुराने लगा.

मैं अपनी साली को और अपने साढ़ू की बॉडी को सकुशल इंडिया लेकर आना चाहता था. ब्लू पिक्चर साड़ी मेंतब मेरे पास कीपैड वाला मोबाइल था।उससे मैं प्यार करती थी रोहित मेरा पहला प्यार था, मुझे भी विश्वास हो गया था कि हम दोनों की शादी हो जायेगी क्योंकि दीदी ने कह दिया था।मैं उसको हर बात बताती थी.

उस पहली वाली सेल्सगर्ल ने हंसकर मेरी तरफ देखते हुए कहा, मगर शायरा शर्म से दोहरी हो गयी.बीएफ वीडियो एचडी चाहिए: हॉट भाभी डबल चुदाई कहनी में पढ़ें कि कैसे मैंने और मेरे दोस्त ने एक भाभी की आगे पीछे ऊपर नीचे से चूत गांड चुदाई करके उसकी इच्छा पूरी की.

तो उसने भी मेरा हाथ दबा दिया और हम दोनों कार में बैठ गए और उसने कार अपने घर की तरफ बढ़ा दी।मेरी कहानी पर अपने विचार मुझे अवश्य भेजें.मैंने अपना सामान शिफ्ट किया और उस रात मुझे बड़ी ही मुश्किल से नींद आई.

इस हफ़्ते का मौसम - बीएफ वीडियो एचडी चाहिए

जब वह सामान रखते समय कमर तक झुका था, तो उसके सुडौल चूतड़ों पर मैंने हाथ फेर दिया.वो दोनों 6-6 फीट के मर्द और तेरी गर्म चूत को चोद कर तुझे मस्त कर देंगे.

वो ड्राइवर का लंड जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए मेरे लंड को पकड़ने लगी. बीएफ वीडियो एचडी चाहिए मेरे पूछने पर उसने बताया- हां तुमसे पहले मेरा लोलू पति मेरे साथ दो बार सेक्स कर चुका था.

थोड़ी देर बाद रंगोली और रोहित दोनों ऊपर आए, तो मैंने रोहित को किसी बहाने से कमरे में भेज दिया.

बीएफ वीडियो एचडी चाहिए?

जैसे जैसे लण्ड की ठोकर पड़ती … मालू आह … आह … कहकर मेरा जोश बढ़ा देती. मामी की चूत एकदम गीली हो गयी थी उनके मुँह से कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं- आअह्ह … उन्हह हहहह … चोदो मुझे मेरे राजा … मेरी चूत फाड़ दो … अब बर्दाश्त नहीं हो रहा जान … मेरी चूत में अपना लंड डाल दो … आह मेरा पानी निकलने वाला है … आह फाड़ दो मेरी चूत को. उसने भी बहुत दिनों से चुदाई नहीं कराई थी, तो वो भी बहुत उत्तेजित थी.

शायरा की गर्म गर्म चूत में लंड डालने में और रगड़ने में मज़ा आ रहा था इसलिए मैं धीरे धीरे धक्के मार रहा था और शायरा सिसकारियां लेते हुए मेरा जोश बढ़ा रही‌ थी. फिर मैंने अपने होंठों को उसकी चूत में लगा दिया और उसका रसपान करने लगा. बाद में सास ने पूछा तो मैंने उन्हें दारू की बात कह दी, तो वो धीरे से मेरे नजदीक आकर बोलीं- मेरे लिए भी ले आना.

उसी समय मेरे जन्मदिन का समय शुरू हुआ और ठीक 12 बजे उसने मुझे बर्थडे विश किया. मैं पहनने के लिए अपने कपड़े उठाने लगी, तो अभिषेक बोला- इससे क्या फायदा … वैसे भी अभी कपड़े गीले हैं और ऊपर भीगना ही है. जब मैंने नज़र उठा कर ऊपर देखा तो उन्होंने मुस्कराते हुए अपने हाथों को अपने स्तनों पर रखा और एक एक करके ब्लाउज के हुक खोलने लगी.

मेरी चुत पहले ही रस बहाकर चिकनी और चिपचिपी हो चुकी थी, इसलिए चुत के मुहाने पर लंड का सुपारा रखते ही चुत ने मुँह खोलकर लंड का स्वागत किया. ये दवाएं कुछ ऐसे हैं, जिन्हें मैं खुद किसी फार्मेसी स्टोर में जाकर नहीं माँग नहीं सकती हूँ.

इसको देखते हुए मेरी मां ने मुझसे कई बार कहा कि दूसरी शादी कर ले … मगर अपने बेटे के भविष्य को देखते हुए हर बार मैं अपनी मां की बात को अनसुना कर दिया करता था.

मैं उसी वक़्त अशोक को लेकर वहां पहुंची, तो देखा कि एक भिखारी की तरह वो हॉस्पिटल में तड़फ रहा था.

दूसरे दिन अनिता के पति कमल ने मेरे लंड को एक नई चुत फाड़ने के लिए मुहैया करवाई. मैं नीचे क्लास गई और क्रीम को लेकर छत पर आ गयी और अभिषेक को पकड़ा दी. भोसड़ी के, अब उनकी चूत और गांड का भी ऐसा ही हाल करेगा, मैं होने नहीं दूंगी.

करीब दस मिनट बाद राहुल चरम पर आ गया उसके मुँह से कामुक आवाजें निकलने लगी थीं. [emailprotected]फ्री इंडियन Xxx कहानी का अगला भाग:चलती बस में खूबसूरत भाभी के साथ चुदाई- 2. भाभी न तो मुझे रोकना चाहती थीं और न ही मुझे चोदने के लिए आगे बढ़ने दे रही थीं.

अब आगे:मैं ट्यूशन पढ़ा कर कमरे पर आया, तब से ये सोच सोच कर पागल हुए जा रहा था कि आज रात सील पैक चूत खोलने का मौका मिलेगा.

ओहहह बेटी … तुम अपने पिता के लंड से चुदना चाहती हो? तो कहो कि पिता जी अपना मोटा और लम्बा लंड मेरी चूत में घुसेड़ो और मेरी चूत को जमकर चोदो।”आह … पिता जी, आप क्यों मुझसे गन्दी बातें बुलवा रहे हो?” ज्योति ने फिर से मिन्नत करते हुए कहा. मैंने उसका टॉवल खींच कर साइड में रख दिया और उसे नंगी को ही अपनी गोद में बिठा लिया और उसके चुचों को सहलाते हुए कहा- आशा, तुम्हारी चूत सच में ही बहुत लाजवाब है. हालांकि ज्यादातर ईमेल में मुझे मेरी इस सच्ची घटना के लिए बहुत सराहना मिली जिससे मेरा मनोबल भी बढ़ा.

उधर ड्राइवर भी उस रांड के एक बूब के साथ खेल रहा था और एक के साथ में लगा हुआ था. मैंने मना किया तो बोलीं- क्यों डर लग रहा है क्या मुझसे?मैंने कहा- नहीं मामी, ऐसी कोई बात नहीं है … मैं आपके पास ही सो जाऊंगा. सोनाली के बदन से आ रही भीनी भीनी खुशबू मेरे अंतर उत्तेजना पैदा कर रही थी.

न्यासा अपने घुटनों के बल खड़ी होकर मेरे लंड को पकड़ पर अपने मोटे चूचों के बीच रख कर अपने दोनों चूचों को दबा कर लंड की मुठ मारने लगी.

थोड़ी देर उसको सहलाने के बाद उन्होंने उसको बाहर निकालने के लिए मेरे शॉर्ट्स की इलास्टिक को नीचे खिसकाने लगीं. मैंने उसकी पैंटी में अपनी उंगलियाँ फंसा कर उसकी जाँघों पर से सरका दिया और फिर उसके पैरों से अलग कर दिया.

बीएफ वीडियो एचडी चाहिए वक़्त ठहर सा गया था, उत्तेजना उफान पर थी और उसका लंड अभी भी कपड़ों की कैद में था. फिर एक चूची को उसने मुंह में भर लिया और दूसरी चूची को हाथ में भर कर बच्चों की तरह दूध निकालने की कोशिश करने लगा.

बीएफ वीडियो एचडी चाहिए रिचा की कमर से ऊपर का हिस्सा बिस्तर पर था और कमर से नीचे का हिस्सा बिस्तर के नीचे था. उसने बाहर आकर सिर्फ एक नाईट गाउन पहना, फिर किचन में जाकर सबके लिए चाय बनाने लगी.

अनीता खूब जोर से जीभ को जीभ लड़ा कर चूसने लगी … साथ ही अपनी तरह से वहशियाना तरीके से मेरे एक हाथ सर के पीछे दूसरा हाथ मेरे सीने पर रस कर सख्ती से मेरी एक घुंडी को मसलने लगी.

ओपन सेक्सी एचडी बीपी

मैंने कहा- क्या मुझसे कोई काम था भाबी?भाबी मुस्कुराने लगी- हां काम तो था मगर तुम किसी काम के लगते नहीं हो. लेकिन मुझे अपने अनुभव के आधार पर ये ज्यादा लग रहा था कि भाभी मेरी गोद में आ ही जाएंगी. मेरे चूसने से उन पर लगे थूक के कारण वो काले अंगूर की तरह चमक रहे थे.

सेक्सी चूत की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी सहेली के बॉयफ्रेंड को अपनी सेक्सी अदाओं से पता कर उससे अपनी कुंवारी बुर की सील तुड़वा ली. वैसे मुझे उस पर गुस्सा तो बहुत था … मगर इस तरह तकलीफ में कुछ कहना ठीक नहीं होता, इसलिए मैं चुपचाप दवाई लेने के लिए आ गया. अब मैं रोज रात को सोने या सेक्स के पहले उसको मसाज देता और तरह तरह की मसाज से उसको मस्त कर देता.

दोस्तो, यह थी मेरी मलीहा जी के संग पेड सेक्स की कहानी, आपको कैसी लगी … मुझे मेल कीजिएगा.

मैंने उसके दूध दबाए और बोला- ये तो बस शुरूआत है, जब तुम्हारी प्यारी चूत में मेरा लंड जाएगा न … तो तुम्हें इससे भी ज्यादा मजा आएगा. हॉट भाभी डबल चुदाई कहनी में पढ़ें कि कैसे मैंने और मेरे दोस्त ने एक भाभी की आगे पीछे ऊपर नीचे से चूत गांड चुदाई करके उसकी इच्छा पूरी की. भाभी की हॉट सेक्सी फिगर और उनकी मखमल जैसी चुत में लंड मस्ती से आगे पीछे हो रहा था.

मैं विजय से अपनी गांड भी मरवाना चाहती हूं और उसका लौड़ा भी चूसना चाहती हूं और हर सेक्स पोज करना चाहती हूं जो मैंने आज तक नहीं किये. अपनी चूत को देखते ही ज्योति के मुंह से हंसी निकल गयी क्योंकि उसकी चूत उस वक्त सूजकर बिल्कुल लाल हो चुकी थी और उसकी चूत का छेद बिल्कुल खुला का खुला रह गया था। महेश का मोटा और तगड़ा लंड लेने के बाद ज्योति की चूत को अलग ही आनंद का अनुभव हो रहा था क्योंकि अभी तक तो उसने अपने भाई के लंड को ही अपनी चूत में लिया था. विक्रम फिर से झटके देने लगा और वो संजू की चूत में बेतहाशा वीर्य रस छोड़ने लगा.

मैं हाथ-मुंह धोकर आया तो तुरंत उसने एक कौर तोड़ कर हाथ में ले लिया. फिर बोले- फिर भी मुझे लगता है कि मैं भाई साहब की तरह नहीं करवा पाया.

वो क्लास की छात्राओं के मोबाइल नंबरों की लिस्ट थी, उस पर कॉल करके उन्हें बोलना था कि कल नहीं आना है. अब अनिल ने अपनी एक उंगली गांड की दरार में सरकानी शुरू की और इधर अपनी जीभ को और अन्दर किया. अमेरिकी दूतावास में पहुंच कर एक भारतीय कर्मचारी ने बताया कि मुझे वहां पर किसी जानकार जरूरत पड़ेगी.

उसने दर्द का डॉ दिखाया लेकिन …दोस्तो, मैं राकेश एक बार फिर से अपनी फ्रेंड नीरू की गांड मारी की सेक्स कहानी के अगले भाग को लिख रहा हूँ, मजा लीजिएगा.

शायद शायरा को भी अब अपनी बैंक की उन सहेलियों के सामने मुझे अपना पति समझने में कोई आपत्ति नहीं थी. वो आह करते हुए मुझे अपने सीने में दबा कर बोली- आह जोर से चूसो बड़ा मजा आ रहा है. मैं तो ना जाने कब से इस प्रेमरस को पीने के लिए तड़प रहा था, इसलिए जैसे जैसे शायरा की पिंकी प्रेमरस छोड़ती गयी … मैं भी उसे चूस चूसकर और चाट चाटकर पीता चला गया.

अब दिव्या ने भाई को पेड़ से सटा दिया और खुद ही अपनी चूत को भाई के लंड पर फेंकने लगी. स्कूल की 11वीं कक्षा तक मेरे साथ ऐसी कोई बात नहीं हुई थी, जिससे मुझे ऐसे ख्याल आए.

मैंने बोल दिया है गुलाबो को।”फिर गौरी बाथरूम चली गई और मधुर चाय नास्ता बनाने रसोई में चली गई।मैं थोड़ी देर मार्किट में जाकर आता हूँ. ज़ारा- जान!मैं- हउम्म?ज़ारा- मेरे हाथ से नहीं खाओगे?मैं- ओह सॉरी! लाओ!उसने मुझे खिलाया, मैंने उसे और हम चुपचाप खाना खाने लगे. हम लोग बातें तो खूब करते ही थे पर एक दूसरे से अधिक खुल जाने के कारण अपनी प्राइवेट लाइफ के बारे में भी बताने लगे थे.

खुशबू कुमारी

जब मैं उसके घर पर आई, तो देखा कि एक बेड था, एक अलमारी और एक दो सूटकेस रखे थे.

मेरे सास-ससुर और पति सब गांव में थे और सरकार ने अचानक संपूर्ण लॉकडाउन लगा दिया. मैंने उसे हाथ मुंह धोने के लिए बाथरूम में भेजा, मैं टेबल पर इंतजार करने लगी।वह आया. फिर भी मैंने कोशिश की, लेकिन जब मुझसे नहीं हुआ, तो सर मुझे समझाने लगे- पहले इसे सहलाओ.

उससे मिल कर मुझे घर का पता लगा कि मेरे मां-बाप कितनी मुश्किलें झेल रहे हैं. अपने पति की मृत्यु के बाद उसकी सारी खुशियां ही शायद उससे दूर हो गई थीं. ब्लू पिक्चर सेक्स डॉट कॉमशायरा ने अभी‌ तक‌ मेरे लंड पर इतना ध्यान नहीं दिया था … पर उसके अब ऐसे देखने से लग रहा था कि उसे मेरा लंड काफी पसन्द आया था.

उसने अपनी आखें बन्द की ही थी कि तभी मैंने मौके का फायदा उठाते हुए उसके जिस्म को ढक लिया. अभिषेक ने लंड बाहर खींचा और फिर से ज़ोर का झटका दे मारा, जिससे मेरी जान हलक तक आ गयी.

ये सीन देख कर मैं सोचने पर मजबूर ही गया कि मेरी बीवी मानना पड़ेगा, साली की चुत में क्या आग थी. मैंने उससे कहा- वैसे अगर तुम्हारे पास थोड़ा सा टाइम और हो … तो मैं एक बार और चुदाई करना चाहूंगा. थोड़ी देर बाद जब उन्होंने सर ऊपर उठा कर मेरे हाथ को आजाद किया तो उनकी निगाहें मेरे चेहरे पर थी और होंठों पर एक हल्की सी मुस्कान तैर रही थी.

पर लिखने का कभी समय ही नहीं मिला, आज मन बना कर अपनी कहानी लिख रहा हूँ. शायद उसे बहुत दिन बादलंड का स्वादमिला था, मुझे भी समझ आ गया था कि उसके पति ने उसकी चुत की शायद पांच चार बार ही चुदाई की थी. उसने हंस कर कहा- मुझे तो नहीं, परंतु तुमको बहुत ज़रूरत है, अभी कुछ दिनों के लिए तुम इस सामान को अपने पास ही रखो.

मेरा भतीजा रोज़ रात मेरे कमरे में आता और मेरे हाथ पैर दबाता और मालिश करता.

मैं उनकी टांगें सीधी करके उनके होंठों को चूसने लगा और उनके मम्मों को दबाने लगा; जिससे वो जल्दी ही वापस गर्म हो गईं. मैं मध्यप्रदेश के एक छोटे से शहर का निवासी हूँ और एक बहुत ही साधारण मध्यम वर्गीय परिवार से हूँ.

” कहकर मैंने गौरी के गालों को थपथपाया। लगता है गौरी आज गौरी का मूड बहुत खराब है।नाश्ता करते समय मैंने गौरी द्वारा बनाए पराठों की तारीफ़ करते हुए पूछा- गौरी तुम्हें थोड़ा अच्छा तो नहीं लगेगा पर एक बात पूछूं?क्या?”वो… दरअसल उस दिन उस लड़के ने तुम्हारे साथ किया क्या था?” मुझे लगा गौरी आनाकानी करेगी।मुझे इसी बात का तो दुःख है. तब से ही मैंने उसके लिए एक वासना अपने मन में दबा रखी थी मगर इतने सालों में कभी मौका नहीं मिला कि उसके बदन को भोग सकूं. तो बिना देरी किए हुए मैं अपनी सेक्स कहानी की नायिका अपनी सास के बारे में आप बता देता हूं.

मैंने पूछा- मेम, आपका होम टाउन कहां हैं?उन्होंने जगह का नाम बताया, जो कॉलेज से करीब 45 किलोमीटर की दूरी पर थी. तो मैं थोड़ा कड़क आवाज़ में बोला- तो क्या तुम्हरी पिशाब की नाली में कुछ फंस गया था जो तुम उंगली डाल रही थी?वो डर के मारे कांपने लगी. मैंने झांटों को साफ़ किया और उसी दौरान मुझे पायल के मुँह से चुसवाने से लंड की आधी खुमारी को अपने हाथ से पूरी करनी पड़ी.

बीएफ वीडियो एचडी चाहिए उसे ज्यादा इंतजार ना करवाते हुए मैंने भी तुरंत अपनी जीभ उसकी चिकनी चूत में घुसा दी. ये सुनते ही भाबी ने मेरी चड्डी में हाथ डाल दिया और मेरा लंड मसलने लगीं.

घोड़ा कुत्ता वाली सेक्सी

उसने कहा कि मुझे इस बारे में कुछ पता नहीं है, मैं कल ऑफिस जाकर तुमको बताता हूँ. विवेक ने घर में घुसते ही मुझे बांहों में भर लिया और मुझे उठाकर मेरे रूम में ले गया. दिन में मैं और छाया बात कर रहे थे कि अचानक छोटे भैया आ गये। सच तो यह है कि आज मैं भी देवर जी का इंतज़ार कर रही थी क्योंकि मैं जानना चाहती थी सूसू मतलब स्खलित क्या होता है?क्योंकि छाया को सब कुछ पता ही था तो छाया बाहर चली गयी और किसी से फ़ोन पर बात करने लगी।कहानी जारी रहेगी.

मैंने भी बिना समय गंवाए उस सेक्सी डॉक्टरनी बीवी को बांहों में भर लिया. मेरे पास बहुत से ईमेल आते हैं, उनमें सब यही कहते हैं कि यार हमें भी चुत दिला दो. काला मेहता का उल्टा चश्मायह बोल कर मैंने उसकी चूत पर एक चुम्मी ली और एक उंगली से उसकी चूत की मसाज करने लगा.

अपने पति को काबू में करें, उसे चुत चटा चटा कर अपना पालतू शेरू बना लें.

फिर क्या था … मैंने उसी डिल्डो को चुत में अन्दर तक घुसाने की कोशिश की. उसने मरे होंठ पर अपने होंठ रखे और करीब दस मिनट तक एक दूसरे के अधरों का रस पीते रहे.

पर पिंकी ने अपने मन में सोचा कि इस सबमें नुकसान तो केवल रवि का ही हुआ. अब उसकी स्पीड सच में तेज हो गयी थी और मुझे मेरी गांड में दर्द सा होने लगा था. औसतन लिंग की लंबाई 7 इंच की होती है … कुछ की 9 इंच तक भी हो सकती है.

डॉक्टर साहब ने पूछा- भाई साहब आजकल कहां हैं? इधर कब आए?डॉक्टर साहब ने मुझसे शिकायत की कि मिलते ही नहीं हो.

अब आगे कॉलेज लवर सेक्स कहानी:इस कहानी को लड़की की मधुर आवाज में सुनकर मजा लें. पहली बार मैं कोई कहानी लिख रहा हूँ उम्मीद करता हूँ आप गलतियों पर ध्यान नहीं देंगे. अब चुदाई के यह सिलसिला कुछ ऐसा चला कि रुकने का नाम ही नहीं लेता था.

विदेशी लड़की का सेक्सी वीडियोदरअसल वो दुकान केवल बस अंडरगार्मेन्टस की ही थी, जिसमें जेन्टस के साथ साथ लेडीस अंडरगार्मेन्टस भी मिलते थे. अब डेढ़ बजे हम दोनों ने खुद को सुखा लिया और अपने सूखे कपड़े पहन कर बारिश के रुकने का इंतजार करने लगे.

खेसारी लाल यादव सेक्सी

इस कालोनी में ज्यादातर पहाड़ी लोगों के ही घर थे, जो बेहतर भविष्य और बच्चों की पढ़ाई के लिए पहाड़ से यहां आकर बस गए थे. उनके घर से अगला घर करीब ढाई सौ मीटर पहले था और घर के बाद दूर तक सिर्फ खेत ही खेत थे. मैं- तुम्हें मेरी गांड मारनी ही थी तो बोल कर गांड मारते … मैं कहां मना करने वाली थी.

फिर जब मेरा रस निकलने वाला था, तो मैंने लंड उसके मुँह से निकाल लिया और अपना वीर्य उसके मम्मों पर गिरा दिया. मैं तो नहीं पहचान पाया किंतु वो मुझे देखते ही पहचान गयी।उसने खुद सामने से बोला- अरे … तुम सनी हो न? कैसे हो? इतने दिनों बाद दिखे हो. लंड चुत की फांकों पर सैट करके बिना देर किए राहुल ने लंड चुत पर रगड़ दिया.

उसने अपने मुँह से मेरी चुत के होंठों को खींच खींच कर बुरा हाल कर दिया था. अब मैं तुझे दिखाऊंगी कि किसी को सताने और उसका फायदा उठाने में सामने वाले को कितना दर्द होता है. तभी दीदी बोली- आज क्या हो गया है तुम्हें … ऐसा क्यों कर रहे हो? तबीयत तो ठीक है तुम्हारी.

तो मैंने कुछ ना बोलने का निर्णय किया और बस दोनों लड़कियों के मजे लेने लगा. मैंने एक लाल रंग का टीशर्ट पहन लिया था और उसके नीचे काले रंग की लैगिंग पहन ली थी जो मेरी जांघों और गांड में एकदम से कस गयी थी.

जाते समय मौसा जी ने 3000 रुपये हमें दे दिये ताकि हमें किसी चीज की जरूरत हो तो लाई जा सके.

अब मैंने अपनी पैंट और पैंटी को हल्की सी नीचे किया और उसके मुंह पर चूत को रगड़ने लगी. डॉग सिक्सभैया का पूरा बदन पसीने से भीग गया था और उसके लंड पर दिव्या और सुनील के लंड से निकला हुआ वीर्य धूप में अलग से ही चमक रहा था. पति-पत्नी में बेडरुम की बातेंलेकिन गोपाल की स्थिति थोड़ी अलग है क्योंकि उसकी बेटी सीमा करीब 28 साल की हो गई है. अनिल का एक हाथ धीरे धीरे सरकता हुआ पिंकी की जांघों तक पहुंच गया था.

अब वो पागलों की तरह चुत को ऐसे चाटने, चूसने और खाने लगा, जैसे किसी कुता को हड्डी मिल गई हो.

लाल ब्रा में उनकी भरी हुयी चूची देखकर मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था. तो मैंने उसकी टांगों के बीच आकर हाथ से लन्ड पकड़ा और उसकी चूत पर सेट किया. अब आगे का काम मेरा था!मैंने उसके होंठ अपने होंठों में दबाये और लंड को उसकी चूत की गहराई में उतार दिया.

मेरी सहेलियो, आप अच्छे से जान लो कि अगर पति कब्ज़े में है, तो जिंदगी आपकी मुट्ठी में हैं. वो मेरी इन हरकतों से पागल होती जा रही थी और मेरे बालों को पकड़ कर कभी कभी खींच दे रही थी. मैंने वासना वशीभूत होकर उसको अपनी तरफ हिम्मत करके खींच ही लिया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये.

हॉट इंडियन देसी सेक्सी वीडियो

मैंने भाभी को अपनी तरफ घुमाया और उनकी एक चूची को अपने मुँह में ले लिया. अब मैं रोज रात को सोने या सेक्स के पहले उसको मसाज देता और तरह तरह की मसाज से उसको मस्त कर देता. मैंने अपना पर्स निकालकर झूठमूठ में एक‌ बार तो पर्स की तरफ देखा, फिर जल्दी से शायरा के पर्स को खोलकर देखने लगा.

” कहते हुए महेश ने अपने मुंह को अपनी बेटी की चूत की तरफ ले जाना शुरू कर दिया था।आहहह कितनी अच्छी गंध आ रही है.

मगर बाप का लंड भाई के लंड से कहीं ज्यादा दमदार और शक्तिशाली साबित हुआ.

वो अपनी आंख बन्द करके बोलने लगीं- आह आह … खा जाओ इन चूचों को मेरी जान … आह पी लो इनको अपने होंठों से. आंटी अपनी गांड मरवाने में मस्त थीं, वो तो जोर जोर की आवाजें निकाल रही थीं- आआआ … हुहुहूँ …मैं बाहर आकर सीधा कार में बैठ गया. bf मूवी डाउनलोडउनके लंबे बाल मोटी गदीली गांड और उनके सुडौल व बड़े बड़े चुचे एक अलग किस्म की मादकता बिखेरते हैं.

ऑफिस गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं office के काम से बंगलूरु गया तो मेरी मुलाक़ात एक पुरानी सहयोगी से हुई. मैंने उसकी तरफ देखा, तो वो हंस दीफिर हम दोनों वहीं पर नहाये और कमरे के अन्दर आ गए. इसके बाद उसने मनोज से पूछा, तो मनोज ने कहा- सर, मैं आपके इस अहसान को कभी नहीं भूल सकता.

शायरा कुंवारी नहीं थी … मगर फिर भी उसकी चुत चाटने में इतना अधिक मजा आ रहा था कि बस पूछो मत. फिर मैंने उसकी गोद से उठ कर मोबाइल में टाइम देखा, तो अभी दस ही बजे थे.

अनु मुझे एकान्त में जाकर पहले होंठों का चुम्बन लेकर बोली- फूफाजी, देखा मैंने अपना वादा पूरा कर दिया.

इसलिए तो मैंने कमल से ले लिया … ताकि तुम दोनों भी इसका मजा लेकर देखो. बड़ी वाली लाइट जलने के बाद कमरे में ज्यादा रोशनी हो गई थी और जीजा मुझे हवस भरी नजरों से घूर रहे थे. हम ऊपर रहते थे, जिससे हमें किसी का डर भी नहीं था और वैसे भी मकान मालिक और मालकिन नीचे अपने घर में ही रहते थे, जिससे शायरा और मैं ऊपर आराम से मिलते थे.

गांड मारी एक बार तो मन हुआ कि इनके खेल की पोल खोल दूं, लेकिन इनको मजे लेते देख कर मेरे मेरे लंड में भी हलचल होने लगी थी. तो दीदी ने पहले तो मना कर दिया लेकिन जब मैंने दो-तीन बार कहा तो दीदी ने हाँ कर दिया और कहा- ठीक है, चली जाओ लेकिन जल्दी आ जाना।अगले दिन मैं जाने के लिए तैयार हो गयी.

हम दोनों की शादी को तीन साल होने वाले थे … लेकिन आज तक कभी भी इस तरह से मैंने शिल्पा को नहीं चोदा था. वो बोला कि तू होटल रेडिसन में क्या कर रहा है?पहले तो अनिल घबरा गया. माँ बेटी चुदाई कहानी में पढ़ें कि दोस्त की दादी के बाद मैंने उसकी बहन को कैसे चोदा दादी की मदद से.

सेक्सी भोजपुरी 2020

मैंने आँखों ही आँखों में मालू से पूछा- कैसा लग रहा है?तो उसने शर्माकर अपनी आँखें बंद कर लीं. अगली बार आएंगे … और आप चाहेंगे, तो कोई और कोई नया माल नमकीन लौंडा दिलवा देंगे. 5 मिनट बाद दोनों खुद को साफ कर के आए।सोनाली ने अब मुझसे सौरभ की गांड मारने को बोला तो मैंने मना कर दिया पर सौरभ को लण्ड चूसने की इजाजत दे दी।मुझे नींद आ रही थी, लण्ड चुसवाते हुए मैं सो गया।अगली सुबह उठकर हम लोगों ने नाश्ता किया, सौरभ ने नहाते हुए सोनाली की चूत चुदाई की। मैंने भी किचन में मालविका को चोदा औऱ थोड़ी देर बाद मैं औऱ सोनाली वापस अपने अपने घर के लिए निकल गए।[emailprotected].

वो बोली- और?मैं बोला- और दोनों हाथों से तुम्हारे गाल पकड़ कर तुम्हारे होंठों को चूम लेता. चाची- आह अब आया मजा … मैं कितना भी चुद लूँ … मगर अभी जो तू चोद रहा है … उसके बराबर कोई मजा नहीं है.

मैंने भी अपने सारे कपड़े उतारे, दादी के चूतड़ों के नीचे तकिया रखा और अपने लण्ड पर कोल्ड क्रीम लगाकर दादी की चूत में डाल दिया.

फिर दोनों हथेलियों पर एवं घुटनों पर संतुलन साधकर अपनी कमर के ठीक नीचे से अपनी गाँड उचका कर हवा में ठीक लंड की सीध में स्थिर हो गयी, जिससे कि पंकज को अपना लंड स्पीड से पेलने में ज़्यादा मेहनत न लगे।मैं पीछे से मंत्रमुग्ध होकर अपनी बीवी की अब तक छिपी अंतर्वासना को आँखें फाड़ कर देख रहा था और सुमन की गाँड ऐसे फैली हुई थी जैसे कमल की पंखुडियाँ खिलकर अलग हो जाती हैं. दोस्तो, मैं आपको बता नहीं सकती, लेकिन मुझे इस वक्त जन्नत जैसा लग रहा था. मैंने उसकी चुत से मुँह हटा लिया और अपनी चड्डी उतार कर उसके पीछे आ गया.

काफी जॉब साइट्स पर मैंने अपना रिज्यूमे डाला हुआ था इस उम्मीद से कि कहीं तो जॉब लग जाएगी। अभी दिल्ली में मुझे तीन से चार दिन ही हुए थे तो एक जगह से मेरे पास इंटरव्यू का ईमेल आया। मैं सुबह से ही तैयार होकर चला गया।वहां पंहुचा तो देखा कि वहां पर पहले से ही काफी लड़के मौजूद थे और अपने इंटरव्यू का वेट कर रहे थे। मैं भी खुश था. एक बात का एहसास तो मुझे पहले ही हो गया था कि वह अपनी इस बेबी डॉल टाइप की नाइटी के नीचे कुछ नहीं पहनी होंगी. दोस्तो, मैं रूपा एक बार से अपनी सेक्सी चूत की चुदाई स्टोरी लेकर आपके सामने हाजिर हूँ.

तभी मीरा आ गई और मेरे पीछे बैठकर मेरी गोटियां चाटने लगी जिससे मैं अति उत्तेजित होने लगा.

बीएफ वीडियो एचडी चाहिए: अचानक ही ज़ारा सिसकारियां लेने लगी तो मैंने उसे ऊपर से उतारा और सीधे लिटाकर उसके ऊपर आ गया. जब मैंने वहां पता किया तो मुझे पता चला कि इंटरव्यू एक्सपर्ट कुछ देर से आएंगे, इसलिए इंटरव्यू 1 बजे से शुरू होगा.

आखिर परिवार के अंदर ये सब करना है तो सामने वाले को परखना भी जरूरी है और फिर अगर बात किसी को पता चला जाती है तो पूरे परिवार की बदनामी होगी. नाभि के बाद मैंने कुछ देर बर्फ के टुकड़े को उसकी ब्रा के चारों तरफ घुमाया, फिर पैंटी लाइन के ऊपर कमर तक बर्फ रगड़ता रहा. छाती चाटते चाटते वो नीचे आने लगीं और अपने दांतों से अंकल के अंडरवियर को खींच कर उतारने लगीं.

मैंने अपने लंड को शायरा की चुत से बाहर निकाल लिया और उसे अब उल्टा लेटने को कहा.

फिर मैंने उसके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया जो उसकी चिकनी टांगों से फिसलता हुआ नीचे जमीन पर गिर गया. उसमें हल्की हल्की हरकत होने लगी थी, जिसे महसूस करके मैं समझ गया था कि अब गांड में मजा आना शुरू हो गया है. उसके लिंग में अभी भी तनाव था।फिर रोहित उठा और मेरे दोनों पैरों को खोलते हुए पैरों के बीच में आ गया.