माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स

छवि स्रोत,बीएफ मां की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

विदेशी नंगी फोटो: माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स, पेट पर बैठा होने के कारण नताशा को हिल पाना जरा मुश्किल होने के कारण एंड्रयू ने उसके चूतड़ों के नीचे अपनी हथेलियाँ रख दी और इसके बाद हमारी हीरोइन आसानी के साथ आगे-पीछे होते हुए एंड्रयू के लंड को अपने मलद्वार के अन्दर-बाहर करवाने लग गई!नताशा की तेज गति को देखते हुए एंड्रयू ने अपनी हथेलियां थोड़ा ऊपर उठा लीं, और नताशा के धक्कों के मार्ग को कुछ कम कर दिया.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो साड़ी वाली

चल साली रांड तू मेरा हाथ से हिला के मुझे मज़ा दे दे।दोस्तो, 15 मिनट तक ये खेल चलता रहा फ्लॉरा तो असीम आनन्द की दुनिया में खो गई। वो कुछ बोल भी नहीं पा रही थी। अजय उसके मुँह को चोदने में लगा हुआ था और इधर मम्मों और चुत की चुसाई से वो बेहाल हो गई थी। उसका झरना बहना शुरू हो गया था, जिसे साहिल ने चाटना शुरू कर दिया।साहिल- वाह साली. बीएफ सेक्सी सेक्सी हिंदी मेंपर ऋतु की वासना की आग इतनी भड़की हुई थी कि उसने उसका मुंह पकड़ कर सीधे अपनी बुर पर लगा दिया.

काका इतना बड़ा ये कैसे जाएगा अन्दर?काका- अरे रानी, ये तो कमसिन कली की चुत में पूरा समा जाता है. बीएफ मूव्ही सेक्सीमैंने पहले सीडी चैक की, वो सब ब्लू फ़िल्म थी, देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया.

मैंने अपने मोबाइल की रोशनी जला ली, रोशनी में मैंने उसकी चूत को देखा.माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स: पड़ोस वाली जवान भाभी को नंगी देख कर मेरा मन भाभी की चुत की चुदाई का हो गया.

मैंने रुचिका की ब्रा को तुरंत उतार दिया और उसके नंगे मम्मों को दबाते हुए बोला- अब तुझे ही नंगी करता हूँ सबसे पहले!रुचिका ने मेरे अंडरवियर को एक बार फिर उतारने की असफ़ल कोशिश की.उत्तर में मैंने कहा- ठीक है अम्मा, इसे मेरी पसंद एवम् सभी आवश्यकताओं के बारे में अच्छे से समझा देना और क्या कैसे करना है यह भी सिखा देना!उसके बाद मैं अख़बार पढ़ने लगा और वे दोनों रसोई में जा कर चौका एवम् बर्तन और सफाई आदि में व्यस्त हो गई.

बीएफ चोदा चोदी वाला दिखाइए - माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स

यह देख कर मैंने भी थोड़ा सा केक उठाया और रुचिका की चूचियों पे लगा दिया और उन्हें फिर से चूसने लगा.फिर वो धीरे धीरे अपनी चूत मेरे लंड पर आगे पीछे स्लिप करने लगी घिसने लगी.

इस वक्त तक मैं चंडीगढ़ में जॉब करने लगा था और मेरी तब नाइट ड्यूटी थी. माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स रफीक टी-शर्ट और जीन्स में था और जमीला सफेद शर्ट और हरे शार्ट में थी उसने सफेद ही जालीदार ब्रा पहन रखी थी जिसमें जमीला के 38 इंच की चूची बाहर आने को बेताब थी.

उसने कहा कि मैंने पहले कभी लंड चूत में नहीं लिया है, अतः धीरे करना.

माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स?

जब मैं बाथरूम से वापिस आया तब देखा कि चाची मेरे बिस्तर पर बैठी कुछ सोच रही थी, मैंने पूछा- मेरी प्यारी चाची जान, बड़ी गुमसुम सी हो कर बैठी क्या सोच रही हो?मेरी और देखते हुए वह बोलीं- मैं सोच रही थी कि क्यों न हम नीचे मेरे वाले कमरे में चलें. वही मॉंटी को भी हो रही थी। वो जोर-जोर से वहां खुजा रहा था।टीना- अरे रुक पागल. जैसे ही उसने मुंह मेरी तरफ किया, वो मेरे इतनी करीब आ गई कि हमारी सांसें आपस में टकरा रही थी.

उसने मुझे अपने बॉयफ्रेंड के बारे में बताया जो बेंगलूरु में एक कंपनी में जॉब पर था और उसको कम टाइम देता था. मैं स्पीड में चोदता रहा, मेरा भी बुरा हाल हो रहा था, मैं भी झड़ने वाला था, मैंने मैडम को कहा- आह आह्ह्ह मैं भी झड़ने वाला हूँ. दोस्तो, आज मैं सिज़लिंग सोना अपनी कहानी ‘पारिवारिक चुदाई की कहानी’ का चौथा भाग ‘सगी मौसी की चुदाई’ लेकर उपस्थित हूँ… और आशा करती हूँ कि पिछले भागों की तरह यह भी आपको पसंद आएगी।अभी तक आपने पढ़ा कि मैं अपने बेटे रोहन, बेटी अन्नू, मेरे जेठ का बेटा आलोक, आलोक की नवविवाहिता बहन स्वाति और स्वाति के पति अनिल, मेरी बहन का बेटा रोहित… के साथ नैनीताल घूमने आई हुई हूँ.

तब मामा ने अपने दोनों हाथ से मेरे दोनों चूतड़ कस कर पकड़ कर फैला दिए और मेरी गांड के छेद को जीभ से सहलाने लगे. मेरा लंड उसकी चूत से बिल्कुल बाहर आ रहा था और फिर वो हर बार अन्दर भी जा रहा था. कहीं वो मुझे मार न दे!तो उसने समझते हुए आँख मारी और मुझसे कहा- नहीं मारेगी.

’ वह औरत बोले जा रही थी, मैं दबाते हुए मजा लेने लगा, उनकी चूची ढीली हो गयी था, वो आ… आ आ करते जा रही थी, फिर भी मैं बिना सोचे ही उसे दबा दबा कर दूध निकालने की कोशिश करने लगा. वह बोली- पिछले दो माह से उसके लिए जगह ढूँढ रही हूँ लेकिन मुझे अभी तक कोई भी सुरक्षित जगह नहीं मिली.

लड़की सीधी होकर बैठ गई और लड़के ने अपना आधा सोया हुआ लंड जिप के अंदर वापस डाल लिया और दोनों पहले वाली पॉजिशन में आराम से बैठ गये.

मैंने रुचिका की ब्रा को तुरंत उतार दिया और उसके नंगे मम्मों को दबाते हुए बोला- अब तुझे ही नंगी करता हूँ सबसे पहले!रुचिका ने मेरे अंडरवियर को एक बार फिर उतारने की असफ़ल कोशिश की.

फिर मैंने उसकी पेंटी को निकाल दिया और उसकी चूत की फाँक पर अपना मुंह लगा दिया और उसको चूसना शुरू कर दिया. पहले फ्रेश हो लो, चाहो तो नहा लो, सफ़र की थकान उतर जायेगी!’ वो बोली. वो भी पूरी स्पीड में अपनी चूत चुदवाती हुई अपने मुंह से सिसकारियाँ निकाल रही थी, बोल रही थी- उई आः सी सी चोदो हाँ ऐसे ही.

थोड़ी देर बाद मेरा भी लंड माल निकालने वाला हुआ तो मैंने आंटी को हटाने के कोशिश की. तू अभी तैयार नहीं है, मगर एक ना एक दिन तो चुदाई करनी ही पड़ेगी ना तुझे. हमारी पहली मुलाकात एक झप्पी के साथ शुरू हुई जिसके दौरान मुझे उसके भरे चुचों का अनुमान हुआ.

चूंकि मामा खड़े खड़े चुदाई कर रहे थे इसलिए मामा अपने दोनों हाथ से मेरी कमर लॉक करके ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगे.

जब मॉंटी का दम घुटने लगा तो उसने जोर से सुमन के हाथ को हटाया और अलग हुआ. मैंने शर्माते हुए ऋतु से पूछा- क्या मैं भी टेस्ट कर सकता हूँ?ऋतु बोली- तुम्हारा मतलब है… जैसे मैंने किया… क्यों नहीं… ये लो!और इतना कहकर वो मेरे बेड पर अपनी कोहनी के बल लेट गई और अपनी टाँगें चौड़ी कर के मोड़ ली. लड़की बार-बार उसके लंड को सहला रही थी और साथ में ध्यान भी रख रही थी कि कोई देख तो नहीं रहा है.

तो मैंने उनके लिप्स पर मेरे लिप्स लगा दिए, तब भी वो सो रही थी और मैं किस करने लगा. भोपाल में उसके पापा ने उनकी जान पहचान के एक जैन परिवार में उसे किराए का कमरा दिला दिया और वो वहीं रह कर अपने ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने लगी. तभी तो संजय ने अपने इस घर में पार्टी की थी और फ्लॉरा की जमकर चुदाई की थी.

थोड़ी देर ऐसे ही रहने के बाद चाची मेरे ऊपर आ गईं और उन्होंने मेरा लंड चूस कर साफ कर दिया और मेरी छाती पे सर रख लिया.

जो करना है कर लो मगर प्यार से करना।साहिल- विक्की साली को एक साथ चोदेंगे. मैंने अपने लैपटॉप में लिखी उस रिपोर्ट की एक प्रतिलिपि अपने पापा के कमरे में रखे प्रिंटर पर छाप कर उसे दे दी.

माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स रयान ने फटाफट टीशर्ट डाली… दोनों ने चाय पी और शाम पिक्चर देखने का प्रोग्राम बनाया. स्वान तो काफी पहले से मुठ मारने में लगा हुआ था और सबसे पहले वही झड़ गया.

माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स दस मिनट बात मेरा पानी गिर गया और वो मुझे किस करने लगी।फिर वो किचन में गई और एक खीरा ले आई. थोड़ी देर बाद गुलशन जी ने अनिता को कहा- अब तू खड़ी होकर ये गाउन निकाल दे.

?? और अब अचानक मुझे धोखेबाज कह रही है।मैं सकपका गई… मुझे अचानक ही चोरी पकड़े जाने का अहसास हुआ। फिर भी मैंने स्वर और कड़े करते हुए कहा- ज्यादा बातें मत बना.

सविता भाभी सेक्सी हिंदी

अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि सुमन के पिता गुलशन जी ने उसे अपने साथ चलने को कहा तो वो कुछ कन्फ्यूज सी हो गई।अब आगे. अब मैंने मेरे एक फ्रेंड को कॉल किया, वो उधर करीब ही था और दो मिनट में ही आ गया. लगभग 1 मिनट के बाद अंदर से सर की बीवी आई और मुझसे बोली- आज तुम थोड़ा जल्दी आ गए?और मुझे रूम की चाबी दे दी.

वो बोली- तुम्हें दूध लाकर दूँ हल्दी वाला?मैंने कहा- नहीं मुझे नहीं पीना. मैं भी पड़ी पड़ी अपने दोनों हाथों से कभी बूब्स कभी चूत को सहला कर चुदाई के मजे में मस्त थी. फिर घर चले जाते थे।मैं शाम को घंटों फ़ोन पर दोनों से फ़ोन पर बात करता था.

एकदम इस तरह से उसके हाथ खींचने से वो सम्भल नहीं पाई और मेरे ऊपर ही गिर गई.

मुझे फिर से दर्द हुआ मगर मैंने थोड़ा सा सहन कर लिया। अब भाई ने जोर का झटका मारा और अपना आधा लंड मेरी बुर में उतार दिया।मैं जोर से फिर से चीखी- अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह मर गई. लिप्स को लिप्स से लगाने में हमारी जीभ एक दूसरे से मिल गई और साँसों के साथ साँसें टकरा गई. इससे पहले हम वहीं चलते हैं।अजय- यार संजय किसी की चुत देखे हुए बहुत दिन हो गए.

कुछ लोग तो मुझे मकान का चौकीदार या मालिक समझने लगे थे।जो भी नए लोग आते, मैं उन्हें कमरे दिखाता और उनसे किराया लेकर मकान मालकिन को दे आता. हमारे पास काफी पैसे जमा हो चुके थे इसलिए अब हम एन्जॉय करना चाहते थे. उनकी बात सुन कर पापा ने कहा- ठीक है, अगर ऐसी बात है तो तुम लोग चले जाओ लेकिन पिता जी और माता जी को कुछ दिनों के लिए यहीं छोड़ जाओ.

जग्गी ने मेरे मुंह में लंड दिया और पीछे से राजू और संदीप ने एक साथ अपने लौड़े मेरी गांड में धकेल दिये, मैं दर्द के मारे बेहोश हो गया. तुम्हें भी पूरा मजा आएगा।संजना ने ये सुना तो थोड़ी देर चुप रही, मुझे लगा कहीं वो मजे से बाहर आकर मना ना कर दे, पर मुझे आश्चर्य हुआ, उसने मना नहीं किया और उसने काफी धीरे से आंख मुंदी हुई अवस्था में कहा- ठीक है उस बेचारे को बुला लीजिए ना.

फ्लॉरा एकदम घबरा गई और जॉन को ढूँढने लगी, उस वक़्त जॉन किचन में नाश्ता बना रहा था. मैंने उसकी हिम्मत बढाई और बाहों को थोड़ा ऊपर उठा कर उसके हाथ को बूब तक पहुंचने दिया. रफीक- आज तो मेरे मस्ताना की चमड़ी उतार दूँगा अपनी गांड से पूरा रस भी निचोड़ लूँगा.

तो हम सारे भाई-बहन नीचे बिस्तर डालकर सोने लगे। भैया सबसे बड़े थे और उस वक्त चूंकि ठंड का टाइम था तो उन्होंने मुझे अपने पास सुला लिया।मैं सोते वक़्त सलवार कुर्ती.

नहीं दोबारा मैं मॉंटी से इलाज नहीं करवाऊंगी अपना हाँ!टीना- अरे ऐसे ही मजाक कर रही हूँ यार. बस चल पड़ी, थोड़ा अंधेरा भी हो गया था तो हम ऐसे ही बात करने लगे तो पता चला कि वो भी देहरादून जा रही है और वहीं रहती है. मामा जी को भी लगा कि मेरी चूत पूरी गीली हो गई है, उन्होंने मुझे किचन की स्लैब पर बैठा कर मेरी दोनों जाँघों को फैला कर अपनेहोंठ मेरी चूत के होंठों से लगा दिए।मेरी चूत से एक भीनी भीनी सी खुशबू आ रही थी जो मामा को पागल बना रही थी.

!मित्रो, आपसे एक इल्तिजा है कि आप मेरी सेक्स स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. परन्तु चार पांच दिन बाद जब वह बाजार में मिली तो उन्होंने मुझे कहा कि मेरे क्लिनिक पर आकर दिखाओ नहीं तो दोबारा दर्द हो जाएगा और पेशाब बंद हो जाएगा.

जो कहानी मैं सुनाने जा रही हूँ वह अन्य कहानियों की तरह बनावटी नहीं हैं. थोड़े लटके हुए… शायद ज्यादा भार की वजह से… और उसके लाल निप्पल इतने बड़े थे कि शायद मेरे पैर की उंगली के बराबर… पेट बिल्कुल गोल मटोल और सुडौल था. मेरी बहू तो कुछ दिन बाद चली जाएगी मगर तूने तो मुझे मस्त खजाना बता दिया है। अब तो हर रात मेरे मज़े हो गए।राजू- तो आज मेरी चुदाई पक्की ना काका?काका ने उसको समझा दिया कि कब और कैसे उसको क्या करना है। इतना कह कर काका वापस घर चला गया।तो दोस्तो ये थी वो राज की बात.

बीपी सेक्सी पोर्न

वो चूमना छोड़ कर नीचे झुक गयी फिर मेरे लंड को सहला रही थी, जिससे मेरा आनन्द उभर आया ‘अहह आह्ह सहला मेरी जान… ओह ओन्ह्ह क्या आनन्द है!’लालटेन की रोशनी में मैं उस औरत को देख रहा था.

मैंने सूई बनाई और चाची का पेटीकोट नीचे सरकाया, चाची के नंगे चूतड़ दिखे तो मुझे किताब की तस्वीर याद आ गई, मैंने सोचा कि वो तो एक फोटो है क्यों न लाइव चूतड़ देखूँ!मैंने चूतड़ पर रुई रगड़ते हुए साड़ी थोड़ा और नीचे कर दी, चाची के चूतड़ पूरे दिख रहे थे, चाची की गांड की दरार पूरी दिख रही थी. जब नंगा हो गया, तो उसने मुझे बेड पे लेटा कर मेरे पेट पर चढ़कर बैठ गई. उसके पास जाकर मैं झुका और उसकी टांगों पर हाथ रखकर उन्हें ऊपर उठाया और उसे पीछे की तरफ धक्का दिया.

मोना समझ गई कि अब खेल खत्म हो गया… तो वो बाहर मेन गेट के पास गई और नीतू को आवाज़ लगाने लगी. मैंने बाथरूम जाकर खुद को साफ किया मैंने वापिस आकर दारु की बोतल सीधे मुँह को लगाई और जब तक पेट में जलन नहीं हुई तब तक पीती गई. बीएफ सेक्सी एचडी देहातीमैं आपको मना नहीं करूँगी।मैंने उसकी आंखों पर अच्छी तरह से कवर को बांध दिया.

और लंड पर हाथ फेरने लगी।मेरा लंड चोदने को तैयार था।फिर मैंने बिना देर किए उसका सूट उतारा और मम्मों को दबाने लगा। वो मोनिंग करने लगी- आआहह आआअहह उउउफ्फ़. पूरे कमरे में भूकम्प आ गया था। उसके धक्के बहुत जोरदार और गांड फाड़ू हो गए थे। मेरी गांड बुरी तरह रगड़ी जा रही थी.

आप जल्दी आ गए? क्या बात है आजकल काम नहीं है या आप ऐसे ही छुट्टी मार लेते हो?जॉय- अरे सारा दिन फाइलों के बीच बोरियत होती है, तो चला आया. बाहर मेरा दोस्त आया था जिसे मेरी मुंबई की प्रोजेक्ट रिपोर्ट की एक प्रतिलिपि चाहिए थी जिसके अनुसार वह भी अपने प्रोजेक्ट रिपोर्ट लिख सके. फिर मैंने उसके लोवर को निकाल करके अपने कपड़े भी उतार दिए और उसकी पेंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहला दिया तो वो पागल हो गई.

इसी तरह मेरी नेहा भी किसी से कम नहीं है, नेहा भी अपने जिस्म को फिट रखती है, और नेहा की एक ख़ास बात ये है कि वो लंड को चूसते हुए अपने मुंह में झड़वाना पसंद करती है, दूसरा सेक्स में हर तरह से मेन्टेन हो जाती है, मतलब उसे किसी भी तरह से सेक्स करना या सेक्सी बातें करने में दिक्कत नहीं आती और सोसाइटी में आम लोगों की तरह से सभ्य तौर पे विचरना भी खूब जानती है, उसकी यही अदाएं मुझे अच्छी लगती हैं. सुमन- नहीं पापा, मुझे कुछ नहीं चाहिए बस मेरे लिए आपका प्यार ही बहुत है. आयेशा ने मेरी तरफ देखा तो मैंने उसे इशारे से साइड में बुला लिया, वो आते ही बोली- यार रोहन अकेले में मुझसे मिलना चाहता है.

सुमन को यकीन हो गया कि मॉंटी अब पीछे नहीं देखेगा तो उसने अपने कपड़े निकाल दिए, अब वो सिर्फ़ ब्रा पेंटी में थी, उसके निपल्स एकदम हार्ड हो गए थे और चूत भी पानी-पानी हो गई थी.

भाभी और मैं एक-दूसरे को गाँव से ही पहचानते थे और मजाक किया करते थे, लेकिन गाँव में बातें सिर्फ हल्के-फुल्के मजाक तक होती थीं. जमीला ने सबीना से आइसक्रीम लाकर जमीला की चुचियों पर डालने को कहा तो सबीना आइसक्रीम निकल लाई और काफी सारी आइसक्रीम जमीला की चुचियों और मस्ताना के टोपे पर गिरा दी.

थोड़ी देर बाद अँधेरे में अपनी आँखें जमाने के बाद मैंने देखा कि ऋतु अपनी चादर से बाहर निकल कर सो रही थी. कभी लंड को बाहर निकाल कर मेरे मुँह में दे देता। क्या बताऊं दोस्तो मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था।अपना लंड जब मेरी चूत से निकाल कर वो मेरे मुँह डालता. अब तो मेरे लंड में दर्द होने लगा था और मैं बस किसी तरह मानसी में समां जाना चाहता था.

आप सभी का धन्यवाद करता हूँ कि आपने मेरी कहानियों को पढ़ कर मुझे बहुत प्यार दिया. यहाँ तक की इंडियन सेक्स स्टोरीज आपको कैसी लगी[emailprotected]पे ज़रूर ईमेल करें. और बाद में उसने लंड को घुमा दिया, बचा वीर्य उसके मम्मों पे गिर गया.

माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स मैंने उनके मम्मों को जोर-जोर से दबाते हुए जोर-जोर से झटके मारे। बस 10 मिनट की जोरदार चुदाई के बाद मैं मामी की चूत के अन्दर ही झड़ गया। मामी अब तक दो बार झड़ चुकी थीं। मैंने अपना लंड ऐसे हीमामी की चूतके अन्दर रख के लेट गया. और तेज-तेज धक्के मारो!अब मैं झड़ने वाला था तो मैंने पूछा- कहाँ निकालूँ आंटी?आंटी ने सिग्नल दे दिया- मेरी गांड में ही निकाल दो प्लीज़.

सेक्सी वीडियो रात

मैं शालू के रूम में जा ही रहा था कि शालू की सिसकारी की आवाजें आने लगीं. लंड को अन्दर और अन्दर करने के लिए वो मेरी बहन की कमर को पकड़ के जोर-जोर से झटके मार कर अन्दर करता जा रहा था. मैं उदास हो गया, फिर मैं सोचा कि ये औरत है न, मैं बोला- आप हैं न?वो औरत जोर से हंसने लगी, फिर हंसती हुई बोली- अरे बाबू, मेरी उम्र बहुत हो गयी है, अब इस उम्र में मुझे कौन पूछेगा.

जब मुझसे नहीं रहा गया तो मैंने उसकी साँसों की आवाज़ सुनते सुनते मुट्ठ मारी और ये भी सोचता रहा कि मानसी की चुत की चढ़ाई कैसे की जाए. कामुकता से वो पूरी बेकाबू होती जा रही थी।एकाएक मैंने उसे चूसना छोड़ दिया. मां की चुदाई बीएफउसकी लाइफ बर्बाद हो रही है। किसी अच्छे डॉक्टर को उसे दिखाना चाहिए।राजू- भाभी मैं पहले अच्छा ख़ासा मर्द था मगर ये गंदी आदत की वजह से मैं ऐसा हो गया। अब कोई डॉक्टर इसे ठीक नहीं कर सकता है।मोना- पागल है तू.

यही कहानी लड़की की मधुर आवाज में सुनें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है.

इसी के साथ मेरे देवर ने अपना 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा लंड मेरी चूत में पेल दिया और मैं ज़ोर से कराह उठी ‘आआह्ह्हब ऊऊईईई आआह्ह्ह मार डाला रे. ’ कहा।विक्की की नज़रें बस उसके मम्मों पर थीं, जो टी-शर्ट फाड़ कर बाहर आने को बेताब थे।अजय- कॉलेज के नियम पता है ना.

जब मैं मूत्र विसर्जन कर रहा था तब मैंने देखा कि माला मुड़ कर मेरे आठ इंच लम्बे लिंग को बहुत ध्यान से घूर रही थी. ’ करने लगी।एकाएक मैंने बोला- इमेजिन करो ना कि वो बूढ़ा हमें छुपकर देख रहा है।वो बोली- नहीं. हम लोग आज तक उस पुस्तक जैसा सेक्स नहीं कर पाये।मैंने उसे रोकते हुए तुरंत कहा- रोहन ने तो कहा था कि तुम लोगों ने हर तरीके से सेक्स कर लिया है।तब प्रेरणा ने कहा- अरे नहीं यार.

बातों बातों में उसने बताया- मेरी क्लीनिक में कई ऐसी औरतें आती हैं जिनके पति नामर्द हैं और कइयों के बच्चे नहीं होते.

पूजा ने नोट किया कि ऋतु तो उसके ऊपर से उतर चुकी है फिर भी उसकी चूत पर किसी का मुंह लगा हुआ है तो वो झटके से उठी और मुझे देखकर उछल पड़ी और बोली- अरे तुम… तुम्म कब आये? और ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- नाश्ता!तभी ऋतु ने पूजा की तरफ देखकर कहा- चलो भैया का लंड चूसती हैं. मुझे डर लग रहा है!’‘अरे डर कैसा? अभी तुम मेरे ऊपर आके चूत रगड़ रहीं थी मेरे लंड पर, अब मैं तुम्हारे ऊपर आके चूत पर लंड रगडूंगा, सेम बात हुई ना!’‘ठीक है अंकल जी. यह मेरी पहली कहानी है तो आप सबसे गुजारिश है कि अपने सुझाव जरूर दें.

सेक्सी बीएफ फिल्म पंजाबी मेंअब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि सुमन टीना से संजय के संग चुदाई की बात जानना चाह रही थी. जल्दी कर ना!मैंने फिर भी उनकी चूत को चाट-चाट कर गीली कर दी, फिर उनकी चूत में ज़ुबान डाल कर चाटने लगा.

सेक्सी सेक्सी फिल्म दिखाओ सेक्सी

मैं और सासू माँ अपने अपने कमरे में सोने चली गई मगर फूफा जी इतने टाइट हो गये कि उनसे चल पाना भी मुश्किल था. तब मैंने कहा- हाँ गई थी और तुम्हारे लिये एक सरप्राइज भी है वो मैं तुम्हें रात को दूँगी!जब रात हुई तो मैंने अपने पति को अपनी चुदाई की पूरी वीडियो दिखाई वो तो बड़े खुश हुए और फिर मेरे पति ने मेरी रात भर चुदाई करी!मेरी चुदाई की कहानी आप सबको कैसी लगी, जरूर बताना!मैं जल्द वापस आऊंगी अपनी एक नई xxx हिंदी स्टोरी लेकर!आपकी प्यारी जाह्नवी[emailprotected]. मेरे बदन से ठंडी लहर दौड़ गयी, सिहर गयी मैं… पूरी लगन से रिया मेरे निप्पल चूस रही थी, अपने दांतों से काट खा रही थी.

उसमें से रस की एक धार बह कर उसकी जींस को गीला कर चुकी थी और वो काफी उत्तेजित थी. अब मैंने उसकी चूत पर एक किस कर दिया, जिससे उसके मुँह से प्यार भरी आह निकल गई. मेरी टाँगें राजे की कमर से अभी भी लिपटी हुई थीं, मगर मेरा बाकी का बदन बिस्तर पे था.

फिर चंगेज़ ने अपने लंड को बाहर निकाला तो गर्ल फ्रेंड को थोड़ा सा विश्राम देते हुए रुस्लान ने भी अपना बाहर निकाल लिया और चंगेज़ नीचे की ओर झुक कर मेरी प्राणप्यारी पत्नि की चूत को चाटने लगा. इतने में संदीप नशे में बोला- अरे राजू… उंगलियों से ही चोदेगा क्या इसको?सुन कर राजू बोला- थोड़े मजे तो लेने दे इसकी गांड के!संदीप बोला- अंदर डाल कर देख और फिर बता मज़ा आया या नहीं!इतना सुनते ही राजू ने अपना लंड मेरी गांड के छेद पर लगाया और टोपा अंदर फंसाते हुए लंड धीरे-धीरे अंदर डालने लगा. फिर उसने एक मादक अंगड़ाई ली, हाथों के साथ साथ उसके मम्में उठ गये और कांख के बाल दिखने लगे.

आंटी ने अपनी साड़ी उतार दी, अब वो मेरे सामने ब्लाउज और पेटीकोट में थी. गुजराती कोमल भाभी से मस्ती के बाद मैं सोमवार को पहले अहमदाबाद आया जहाँ हिम्मत मुझे कार से लेने आया। हिम्मत ने मुझे एक होटल में रोका, बोला- अभी आप यहाँ रेस्ट करो रात को 9.

अब मैंने रफीक से उसकी बहन सबीना को साथ में चोदने के बारे में बात करना शुरू किया.

मेरी माँ हमेशा पूजा पाठ में लगी रहती हैं, उनका एक पूजा रूम है, ज्यदा वक्त वो पूजा रूम में ही लगाती हैं. सेक्सी बीएफ चोदा चोदी बीएफअबकी बार उनका अज़गर चुत को फाड़ता हुआ पूरा अन्दर घुस गया और इस बार दर्द की इंतेहा हो गई, बेचारी अनिता इस दर्द से बेहोश हो गई मगर गुलशन अब लंड को स्पीड से आगे-पीछे करने लगे. बीएफ हिंदी में दिखाएं वीडियो मेंथोड़ी देर बाद जब हम घर पहुँचे तो वो तीनों जाने लगे, अचानक आयेशा ने उन्हें कॉफ़ी के लिए पूछ लिया वो तीनों तो जैसे रूकने के लिए इन्तजार कर रहे थे, वो तुरंत रुक गए, तीनों अंदर आ गए. अन्दर आते ही पूजा ने ऋतु से बड़ी अधीरता से पूछा- तुमने उससे क्या कहा? कैसे पूछा?ऋतु- वही जो हमने तय किया था.

अनिता- उउउ उउउ आह… प्लीज़ आह… बहुत दर्द हो रहा है आह… आ नहीं आह… आह.

पूजा थोड़ी हिचकिचाई पर मेरे लम्बे लंड को देखकर उसके मुंह में भी पानी आ गया और वो भी नंगी उठ कर ऋतु के साथ ज़मीन पर घुटनों के बल बैठ गई और दोनों ने एक साथ मेरे लंड को सताना शुरू कर दिया. कितना टाइम हो गया, मैं ऐसे करती रहूंगी तो सुबह हो जाएगी और ये पानी क्या निकला. मेरे दिमाग में रात की तस्वीर चल रही थी, पापा जा चुके थे, माँ ने मुझे नाश्ता दिया.

तो यहाँ से भी अंकल आंटी और काम वाली बाई सब साथ गए हैं। मैंने कहा मुझे मामू के साथ खेलना है तो मैं यहीं रुक गई।संजय- और आर्यन नहीं रुका ऐसे तो वो मुझसे बहुत चिपकता है?पूजा- उसने तो बहुत ज़िद की मगर उसको बुखार है ना. हाथ धोते हुए उसने पूछा- कितनी बार चुदा है अभी तक?मैंने कहा- दो बार!तो वो बोला- मुझसे चुदना चाहेगा?मैंने कहा- आपकी तो नई-नई शादी हुई है, और बीवी भी है… आपको गांड की क्या जरूरत?उसने कहा- वो मेरी बीवी नहीं है, मेरे दोस्त की वाइफ है जिसको मैं सोनीपत से उसके ससुराल छोड़ने जा रहा हूँ. उन लोगों ने मुझे जूनागढ़ से लौटते समय बड़ौदा 2 दिन उनके साथ रुकने का निमंत्रण दिया था और वादा भी लिया कि मैं जरूर आऊं.

सेक्सी पहला फिल्म

मैंने कुछ सेकेन्ड्स बाद देखा तो लड़की ने उसके लंड पर हाथ रखा हुआ है और लड़के की टांगें पहले की अपेक्षा थोड़ी फैल गईं थी और हवस के कारण उसके होंठ खुले हुए थे. जब उसको लगने लगा कि मैं वाकयी उससे दोबारा नहीं मिलूंगा तो वो मुझसे मिलने के लिए गिड़गिड़ाने लगी, बोली- यार तू एक बार मिल तो सही मेरे से. और इतनी छोटी सी बात का कोई बुरा नहीं मानता है।मैंने रोहन से कहा- चल ठीक है.

अब अनिता का दर्द कम हो गया और फिर से वो उत्तेजित हो गई… उसकी चुत में खुजली होने लगी.

ऋतु बोली- अब मुझे भी तुम्हारा थोड़ा रस और चखना है… तुम अपना लंड अपने हाथ में पकड़ो.

मनोज ने टेबल पर पड़ी डाइनिंग शीट उठाई और गद्दों पे बिछा दी, उस पर सभी ने बर्तन रख दिए, वो चाय की केतली, नाश्ता लेकर आईं थी. और उसने जल्दी से मेरे कपड़े खोले और अंडरवियर के ऊपर से मस्ताना को सहलाते हुए बोली- आज इसको और तुमको अच्छे से रगड़ रगड़ के नहलाऊंगी. भाई बहन का हिंदी बीएफऔर जोर से चूत मसलिए, चूत फाड़ दीजिए।मामा रुक गए थे और मेरे लंड देखने से पहले ही उन्होंने लंड को अंडरवियर में छुपा लिया ताकि मैं मोटा लंड देखकर डर ना जाऊं या फिर मामा जल्दीबाजी में झड़ ना जाएं।मामा ने फिर मेरा टॉप उतार दिया। अब मैं केवल पेंटी और स्पोर्ट ब्रा में थी। मेरी चूचियां छोटी-छोटी थीं.

लिप्स को लिप्स से लगाने में हमारी जीभ एक दूसरे से मिल गई और साँसों के साथ साँसें टकरा गई. उत्तेजना का नशा उतर गया था इसलिये मुझे अब अपने हाथ में भी दर्द महसूस होने लगा था पिंकी ने गुस्से गुस्से में मेरे हाथ को दाँतों से काट लिया था जिसमें से खून बह कर उस पर जम गया था और मेरे होंठ भी भारी भारी से लग रहे थे, उनको भी पिंकी ने उत्तेजना वश काट लिया था, उनमें से भी खून आ रहा था और दर्द हो रहा था. ये भोसड़ी का मुझे घोड़ी बनाएगा, साला मेरी चुत में तेरा लंड जल जाएगा.

जमीला- आप तो कल आने वाले थे और जूनागढ़ से भी कल सुबह निकल गए थे मोहन कह रहा था. लेकिन गौरव को रोक कर विकास मेरी गांड फाड़ने आगे बढ़ गया, मैं डर के मारे गिड़गिड़ा उठी- नहीं विकास, प्लीज तुम नहीं.

’ वह औरत बोले जा रही थी, मैं दबाते हुए मजा लेने लगा, उनकी चूची ढीली हो गयी था, वो आ… आ आ करते जा रही थी, फिर भी मैं बिना सोचे ही उसे दबा दबा कर दूध निकालने की कोशिश करने लगा.

कोई और भाई-बहन क्यों नहीं है?हेमा- ये कैसा सवाल है? भगवान की मर्ज़ी नहीं हुई बस!सुमन- प्लीज़ माँ आप नाराज़ मत हो. मेरे लंड के हाथ में पकड़ते ही वो झुकी और मेरे लंड के चारों तरफ अपने होंठों का फंदा बना कर उसमें बची हुई आखिरी बूँद को झट से चूस गई. उधर गोपाल रोज की तरह घर से चला गया था और उसके जाने के कुछ देर बाद मीना वहाँ आ गई थी.

देहाती बीएफ सेक्सी वीडियो में फूफा जी के लंड से गर्म माल अब भी मेरी चूत में टपक रहा था इसलिए फूफा जी भी अपना लंड बाहर निकालना नहीं चाहते थे और मैं उनके नीचे दबी पड़ी थी. उसको नंगा देखकर मेरी गांड और खुल गई क्योंकि मैं पहली बार उसको पूरा नंगा देख रहा था.

बहुत छोटा सा निकर और सफ़ेद टॉप… वो जानती थी मैं उसकी मस्त, गोरी, चिकनी टांगों से बहुत प्रेम करता हूँ. पता नहीं ये कैसे अन्दर चला गया वैसे इसे अन्दर डालने से क्या होता है. वो आंखें बंद करके लड़की का हाथ अपने लंड पर रखवा कर आनन्द ले रहा था.

सेक्सी वीडियो डॉग सेक्सी वीडियो

मैंने अपनी पति से कहा- ज्योति को बोलती हूँ राजे से बात करवाये!सुमित उछल पड़ा और बोला- यह बिल्कुल सही है. सब मेरी वजह से, समझी! नहीं तो पता नहीं इस वक़्त कहाँ होती।अनीता- बस बस मेरा मुँह मत खुलवाओ. नौकरी पे बनती आई तो उसको मेरी कुछ बात समझ आई- देख जस्सी, तेरी सब बातें ठीक हैं पर मैं सेक्स नहीं करना चाहती और कमरे में पता नहीं तू क्या करेगा और क्या नहीं? फ़ोन पे सेक्स करना अलग बात है और असल में ऐसा करने का मतलब है कि मैं अपने घर वालों को धोखा दूंगी और मैं कुछ भी गलत नहीं करना चाहती.

नीचे से नताशा की गांड लेते हुए चंगेज़ ने उसकी जांघें पकड़, ऊपर को उठाते हुए नताशा की चुदाई फैक्ट्री को किसी हुक्के की तरह ऊपर को उठा दिया, जिससे गांड में अन्दर-बाहर होते हुए दो भयानक, मोटे लंड और सरलता के साथ घपा-घप गोरी-गुलाबी गांड को चोदने लग गए. यह सुनकर मैंने उसकी गांड के नीचे तकिया लगाया और अपने लंड को उसकी चूत में सेट किया.

ये क्या चल रहा है। एक बाप अपनी बेटी से कैसे खुल कर नंगी सोने को बोल रहा है। ना ना ज़्यादा सोचो मत.

क्योंकि अब चाची को आनन्द आने लगा था इसलिए उत्तेजना वश वह भी तेज़ी से उचकने लगी थी और उनकी योनि में रुक रुक कर संकुचन होने लगा था. मैं पहले भी हंसी थी पर अकेली हंसी थी पर उस दिन मैं रोहन के साथ हंस रही थी, मैं रोहन को ऐसे हंसता देख कर बहुत खुश थी।वही मेरे जीवन का सबसे खुशनुमा पल था, जिसका जिक्र मैंने कहानी की शुरुआत में ही किया था।जब बड़ी मुश्किल से हंसी थमी तो रोहन ने कहा- कविता हम ऐसा कब करेंगे?उसने ये बड़ी मासूमियत से कहा था. मैं अब तेजी से अपना लंड उसके मुंह में आगे पीछे करने लगा और अब मैं उसका मुंह चोद रहा था.

दरवाज़ खुला था और मैं सीधा माँ के पास इस तरह से गया जैसे कुछ हुआ ही नहीं है. मेरी सांसें रुक रही थीं। उसका लम्बा मोटा सख्त लंड मेरी गांड में घुसा हुआ था। मेरी गांड कुलबुलाने लगी. मैंने ऐसे ही इसको डाल दिया मगर इसकी वजह से आपको एक्सट्रा मज़ा मिल जाएगा बस और कुछ नहीं।शाम तक मोना इसी सोच में रही कि अब वो क्या करे। फिर उसे याद आया कि साधु बाबा ने उसकी पुरानी जिंदगी के बारे में कुछ बताया था, शायद वहीं से कुछ मिल जाए। मगर उसकी लाइफ के बारे में किसको पूछूँ.

उस रात दस बजे जब हम सब घर पहुंचे, तब दोनों चाचा ने मम्मी पापा से कहा- भईया भाभी, सब काम तो ठीक से निपट गया है, अब हम चलते हैं, एक घंटे में वापिस गाँव पहुँच जायेंगे.

माधुरी दिक्षित का बीएफ सेक्स: ऊपर चढ़े हुए रुस्लान का लंड तेज धक्कों के साथ मेरी बीवी की गांड को चोद रहा था लेकिन नीचे लेते हुए चंगेज़ का लंड सिर्फ टुकर-२ चुदाई ही कर सकने में समर्थ था. सुमन- अरे मैं सच बोल रही हूँ, तुझे ऐसा क्यों लगता है मैं झूठ बोल रही हूँ और मैं तुम्हारे साथ क्या कर सकती हूँ?मॉंटी- दीदी, ये तो मुझे पता नहीं कि आप झूठ क्यों बोल रही हो मगर क्या कर सकता हूँ.

गुलशन- अरे फिर पापा… तुझे कैसे समझाऊं, मैं तुम्हारा पापा नहीं हूँ और इसको देख कर तेरी माँ तो बहुत खुश हुई थी, तूने भी देखा होगा वो मुझसे शादी के बाद कितनी खुश रहती थी. !गुलशन- ठीक है, जैसा तुम कहो मगर अपने आपको थोड़ा ‘साफ-सुथरा’ कर लेना. इससे पहले कि वह रस बाहर फैलता मैंने तुरंत अपना हाथ उनकी योनि के मुंह पर रख कर उसे बाहर निकलने से रोक दिया.

मैंने कहा- उई आह आह सी सी… ले संभाल अपने यार को साली आह आह उफ़… आ गया मैं आह्ह… सी सी सी सी…जब तक मेरे लंड भी अपना फव्वारा रुचिका के मुंह के अंदर छोड़ दिया और रुचिका ने लंड को कस कर होंठों में दबा लिया और फिर तुरंत ही होंठ खोल दिए और मेरा झड़ रहा लंड उसके खुले मुंह के होंठों के पास नेहा ने पकड़ा हुआ था, लंड की बरसात कुछ उसके मुंह के अंदर और कुछ बाहर उसके गले पे, नाक पे हो रही थी.

मुझे बड़ी अजीब सा अहसास हुआ।भैया समझ गए, उन्होंने कहा- प्रमिला किसी भी लड़की की सबसे नाजुक जगह उसकी नाभि और गर्दन की जगह होती है. मेरे पूरे बदन में सिहरन सी दौड़ गई अपनी माँ की नंगी कमर को पकड़ने मात्र से!उस रात मैंने और ऋतु ने कुछ नहीं किया और सो गए. सहलाते हुए उनकी उंगली बुर को ऊपर से कुरेदने लगी। साथ ही अंकल के हाथ मेरे मम्मों को दबा गर्म कर करने लगे। अब मैंने अपना पूरा बदन उनके हवाले कर दिया और वहीं खाट पर लेट गई।अंकल ने मेरी स्कर्ट ऊपर कर चड्डी को नीचे खिसका दिया और टांगों से अलग कर दिया। अब अंकल मेरी टांगों के बीच में आ गए और मेरी बुर में अपना मुँह रख कर बुर को पीने लगे। मैं मस्त हो चली.