देसी बीएफ देसी चुदाई

छवि स्रोत,सेक्सी ब्लू रोमांटिक

तस्वीर का शीर्षक ,

www.xx वीडियो हिंदी: देसी बीएफ देसी चुदाई, मेरे लिए वो बिल्कुल शॉर्ट मिडी ले कर आया और बोला- जल्दी से आप इसको पहन कर तैयार हो जाओ.

अमेरिकन सेक्सी सीन

उनकी चुत में चुदाई की आग लगी थी, तो उन्होंने रास्ते में जंगल के सुनसान इलाके में ही मुझसे अपनी चुत चुदवा ली. सेक्सी व्हिडीओ क्लिप सेक्सी व्हिडीओवहां पर मुझे एक से बढ़कर एक सुंदर और दिलकश वेबकैम मॉडल्स की फोटो दिखाई दीं.

मामी मस्ती में धकापेल करते हुए बोलीं- हां तेरा मामा साला गांडू … उस मादरचोद का तो खड़ा ही नहीं होता … मुझे उसने दो सालों से नहीं चोदा है … तो खून तो निकलेगा ही ना. घोड़ा घोड़ा सेक्सी पिक्चरका मतलब ब्लो जॉब मतलब मेरे इसको अपने मुंह में लेकर चूसना और हिलाने से मतलब मूठ मारना या मेरे इस को अपनी मुट्ठी में पकड़ कर इसे तेजी से आगे पीछे करना ताकि इसका पानी निकल जाय और मुझे दर्द से आराम मिल जाये, अब बोलो तुम कर सकोगी ये?” मैंने अपने खड़े लंड की तरफ इशारा करते हुए पूछाधत्त, मैं न करती ये काम!” उसके मुंह से एकदम से निकला.

देखो, तुम्हें मेरी चूत सूजी हुई तो नहीं लग रही है?कहते हुए रुचि भाभी ने अपनी चूत को दिखा दिया और उसकी चूत की सांवली होंठनुमा फांकों को फैला दिया.देसी बीएफ देसी चुदाई: ये सब मैंने कैसे किया?अब आगे की कुंवारी लड़की चुदाई कहानी:मैं सोच रहा था अब निरोध लगाने का समय आ गया है।सानू … तुम कितनी खूबसूरत हो.

आप सबको मेरी किस्मत में लिखी चुदाई कैसी लग रही है, आप अपनी राय मुझे इस पते पर दे सकते हैं.ये आवाज मेरे लंड को उसकी चुत की गहराई में उतरने के लिए जोश भर रही थी.

रंडी रंडी सेक्सी वीडियो - देसी बीएफ देसी चुदाई

मैंने भाभी से पूछा- भाभी, दर्द तो नहीं होगा?भाभी कहने लगी- शुरु शुरु में थोड़ा बहुत हो तो सह लेना, लेकिन उसके बाद आनंद ही आनंद होगा.थोड़ी देर बाद नैना उठ कर बाथरूम में गई और थोड़ी देर बाद फ्रेश होकर वापस आ गयी.

मैंने उसके दोनों दूध थाम लिये थे और ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा।वो सिसक उठी- आह प्लीज, धीरे-धीरे करो ना।रितु, मेरी जान … कब से तड़प रहा हूँ इस गर्म गर्म रेशमी जिस्म के लिये। कितनी प्यारी हो तुम आह …”तो वो भी सिसक उठी- सच्ची बहुत तड़पाया है तुमने।क्या हुआ जान?” मैं मुस्कुराते हुए बोला।उसकी शर्म से बुरी हालत हो गई।कुछ नहीं …” वो धीरे से बोली।मेरा गर्म गर्म सख्त लण्ड उसकी चिकनी टांगों में मचल रहा था. देसी बीएफ देसी चुदाई संजय गीत को छेड़ते हुए बोला- साली, तू कनाडा जाकर और सुन्दर हो गयी है, कहीं गोरों के लौड़े तो नहीं लेने लग गयी?गीत भी तुरंत हाज़िर जवाबी में बोली- हाँ, मैं तो रोज़ लेती हूँ, आप भी आ जाओ, आप भी ले लिया करो गोरों के लौड़े.

वो अपने घुटनों पर मेरे सामने था और मेरे अगले आदेश का इंतजार कर रहा था.

देसी बीएफ देसी चुदाई?

मैंने उसकी टांगों को फैलाया और अपना गीला सुपारा उसकी चूत के मुंह पर रख दिया. उसी टेबल पर मेरी ब्रा और पैंटी भी पड़ी थी, तो उसको उसने अपने हाथों से उठा कर देखा और मुस्कुराते हुए साइड में रख दिया. मनजीत के चूतड़ों को अपनी ओर खींचते हुए मैंने अपना लण्ड आगे धकेला तो मेरे लण्ड का सुपाड़ा मनजीत की चूत के अन्दर हो गया.

फिर आंटी ने मुझसे कॉफ़ी के लिए पूछा, तो मैंने मन में बोला कि मुझे तो तेरी चूत का पानी पीना है मेरी जान. मगर वो अभी भी नहीं रुके मेरे गांड के छेद तक को वो अपने जीभ से चाट रहे थे।मैं बहुत जल्द ही फिर से गर्म हो गई।कुछ समय बाद वो पीछे हटे. पर एक बात आप भी सोच रहे होंगे कि मेरे शौहर तो अक्सर बिज़नेस के सिलसिले में घर से बाहर रहते हैं, फिर उन्हें शक कैसे हुआ कि मैं कोई गलत काम कर रही हूँ.

सर ने मुझे चोट लगने की दवा दी, जिसे मैंने उनसे ही अपनी गांड में लगवा ली. असल में राजेश की उंगली ने उसकी चूत को घायल कर दिया था और राजेश के दांत भी उसके मम्मों में कई जगह गड़ गए थे. मैंने नेहा और बिन्दू की तरफ देखा तो वे दोनों भी बोली- मम्मी ठीक कह रही हैं, आप सामान कल ले आना.

शायद मेरे तने हुए निप्पल्स को देख कर तुम्हारे लंड में भी और ज्यादा जोश आ गया होगा. तो वो बोला- जानू क्या हुआ?मैंने उसको बोला- पहले कंडोम पहनो, फिर करना!तो उसने बोला- एक बार बिना कंडोम के करते हैं ना … मैं पक्का पानी बाहर निकालूंगा.

तभी बरसात की तेज फुहारें गरज के साथ बेडरूम की खिड़कियों से टकराई और बिजली तड़तड़ा कर कड़क उठी.

जब वो इस तरह की घटना के बारे में सुनते हैं तो मेरी निप्पलों को जोर से मसल देते हैं.

मैंने अपनी जीभ को उसकी चुत के चारों तरफ फेरा, तो मुझे एक मस्त चॉकलेटी स्वाद आया. मैंने इस सेक्सी इंडियन लड़के के लंड को हाथ में ले लिया और उसको खींचने लगी. पहले तो वह फिर कुछ दर्द से कराही लेकिन फिर चूत में आते हुए मज़े ने उसको सब दर्द भुला दिया.

आज चांद भी प्रीति के हुस्न को देख कर जल रहा था।चाँदी जैसी चूत है उसकी, उस पर सोने जैसे बाल,एक प्रीति ही धनवान है यारो, बाकी सब कंगाल,जिस रस्ते से वो गुजरे, सबके लण्ड खड़े हो जाएँ,उसकी चूत की कोमल आहट, सोते लण्ड उठाये. अचानक रवि ने अपना लंड बाहर निकाल लिया और बोला- आह्ह रंडी, नीचे आ … मैं झड़ने वाला हूं. इस पर मुकेश बोला- क्या बात कह रहा है यार … कैसी लगती है उनकी पुसी?मैंने कहा- थोड़ा इंतजार कर … तुझे दर्शन भी करा दूंगा.

लड़कियों के बैठने के बाद भाभी बोली- राज, बात यह है कि आज मैंने रोहित को यहाँ से जाते हुए देखा है, मुझे उसके इरादे ठीक नहीं लग रहे हैं.

रमेश ने रिया की कमर को पकड़ लिया और एक जोरदार झटके के साथ अपना पूरा लंड रिया की चूत में घुसा दिया. मैंने हंसते हुए उससे कहा- भाई अंकिता भाभी के साथ एक राउंड भी हो गया है. एक से बढ़कर एक न्यूड इंडियन गर्ल्स की फोटो वहां लगी हुई थी जिनको देखने मात्र से ही मेरा लंड फड़फड़ाने लगा.

लड़की- और ये दूसरा सेठ दिखाई नहीं दे रहा?रवि- बाथरूम में गया हुआ है, बस आने ही वाला होगा बाहर। तुम बताओ क्या पिओगी? रम या वोदका?लडकी- नहीं सेठ, अपने को तो बीयर ही चलती है।रवि ने दो गिलास लगा दिये. कुल मिलाकर एक मस्त लौंडिया थी जिसमें कामुकता कूट कूट के भरी हुई थी. फिर पैंटी वाले हिस्से को छोड़ कर उसकी नाभि से लेकर चूचों तक भर दिया.

वैभव बैचलर पार्टी की बात कर रहा था, जो आजकल अमीर घरानों में यार दोस्तों के लिए कवाब शराब और शवाब की व्यवस्था के साथ रखी जाती हैं.

तभी मुझे पकड़ कर चोद देता।मैंने कहा- अगर ऐसा था तो मेरे लंड को मेरे अंडरवियर से बाहर निकाल कर चूसने बैठ जाती. फिर रमेश धीरे-धीरे रति के बूब्स से होता हुआ उसके पेट को चूमते हुए उसकी नाभि को चूमने लगा.

देसी बीएफ देसी चुदाई मैं जाते ही उन पर टूट पड़ा और भाभी की गुलाब जैसी पंखुड़ियों का रस पीने लगा. मैंने उससे कुछ नहीं कहा, तो उसने मेरे पीछे आकर मेरी ब्रा का हुक खोल दिया.

देसी बीएफ देसी चुदाई उसकी चुत के झड़ते ही मेरे लंड को चिकनाई मिल गई और मैंने उसको अब स्पीड में अन्दर बाहर करते हुए चोदना शुरू कर दिया. गर्मियों के दिन थे तो मैंने अपने कपड़े उतारे और पंखा चला कर कमरे में फ्रेंची और बनियान में लेट गया.

भाभी ने धीरे धीरे खीरे को पहले मेरी चूत के छेद और क्लिटोरियस पर चलाया.

फुल एचडी में सेक्सी हिंदी में

मैंने तुमसे ज्यादा मराई होगी, कई लौंडों से मराई, पर जितनी तरकीबें आप जानते हो. मगर जो लड़के किसी लड़की को सैट नहीं कर पाते हैं, उनके लिए रंडियों का इंतजाम किया जाता है. साली जी कभी बायें हाथ से, कभी दायें हाथ से मेरे लंड की मुठ मार रही थी.

वे दोनों एक साथ बोले- क्या शर्त है?मैं बोली- मैं घर में थ्री-सम नहीं करवाऊँगी. इस दौरान मैं किसी भी महिला कर्मचारी को अपने केबिन में नहीं आने देता हूं. अब जो लोग कनाट प्लेस गए ही वो लोग जानते ही होंगे कि हमेशा कनाट प्लेस में कितनी हरियाली रहती है.

उस पर कजरारी आँख किसी कहानी की परी की तरह लगती थी। आएशा रंजु की चूत गोद में लेकर चूसने लगी.

वो एकदम चिहुँक कर बोली- उईई दैया … चाट ले मेरी चूत … आह्ह … चाटे ले इसको … ऊईई अम्मा … आह्ह मेरी चूत।उसके इस पागलपन को देख कर मैं भी उसकी चूत में मजा देते हुए उसकी चूत को अच्छे से चाटने लगा. मैं- आखिरी कुछ दृश्यों में तुम्हें देख कर मैं खुद को रोक नहीं पाया. भाभी कहतीं हैं- देवर जी, आप भी शादी कर लीजिये तो आपकी मालिश भी वो कर दिया करेगी।हमारे यहाँ घी भाभी के गाँव से आता है जो बिल्कुल असली होता है।दोस्तो, आप आधा या एक चम्मच देसी घी ले लीजिये.

उनके पेरेंट्स को मनोचा दंपत्ति ने ये विश्वास दिलाया कि इन बच्चों को खाने-पीने की कोई दिक्कत वे नहीं होने देंगे. मैं भाभी को रसोई में ले जाता और उनके गर्म कामुक बदन के ऊपर ऊपर के मजे ले लेता. बहुत दिनों से नहीं चुदी थी मैं।ड्राइवर- अब रोज़ तुम्हारी चूत ऐसे ही लूँगा.

मेरी पिछली कहानी 7 नवंबर 2019 को अन्तर्वासना में छपी थी जिसका शीर्षक थान्यूज़ चैनल की एंकर की चुदाईइस कहानी में मैंने बताया था कि कैसे एक टीवी स्टार लड़की बेबी रानी को मैंने दिल्ली के मौर्य शेराटन होटल में चोदा था. उसने पूछा- क्या हुआ?मैं- मेरे घर पर ईशिता ने ये कहा था कि हम उसके घर पढ़ाई करने जा रहे हैं … अब मैं आधी रात को घर जाऊँगी, तो पापा मुझे मार ही डालेंगे.

फिर मैंने अनीता से मुखातिब होकर कहा- क्यों सही कहा ना!अनीता की आंखें डबडबा गई थीं, शायद मैंने जड़ पर चोट की थी. एक बार मेरा मन नहीं था तो मैंने मना कर दिया तो भाभी बोली- खा लीजिए देवर जी, इससे वीर्य गाढ़ा होगा।ये चीज़ें आप लोग भी खा सकते है आपको एक सप्ताह में ही फर्क दिखना शुरू हो जायेगा।एक बार भाभी जी छत पर थी. मैं इस सुहाने पल में उस जलपरी के चिकने बदन के हर हिस्से को छूकर उसके मखमली अहसास को अपनी अंतरात्मा में बसा लेना चाहता था.

एक वी-नेक की टीशर्ट और शार्ट पैंट पहने हुए अस्मि अपनी दोनों टांगों क्रॉस करके सोफे पर बैठी हुई थी.

इतना कह कर वे दोनों उनके बैडरूम में चली गयीं और पिंकी मुझे दूसरे बैडरूम में ले गयी. वो बोली- छि: ऐसे कहते हैं लड़के?मैंने कहा- हां, और भी बहुत कुछ कहते हैं मगर मुझे तो इतना ही पता है. भाभी जी बोलीं- क्यों?मैंने कहा- उस समय तो मुझे आपकी सेवा से ही फुर्सत नहीं मिलेगी.

मैं मन ही मन सोचने लगा कि तुम्हारी मम्मी को तो आज सारी रात चोदा है. वो रोने जैसी सूरत बना कर बोली- तो तुम अपनी पसंद बताओ न … मैं वही बना दूंगी.

कुछ देर तक बहुत बढ़िया से मेरी गांड का रस पीने के बाद वो सीधे हुए और मुझे अपनी तरफ घुमा दिया. वैभव बैचलर पार्टी की बात कर रहा था, जो आजकल अमीर घरानों में यार दोस्तों के लिए कवाब शराब और शवाब की व्यवस्था के साथ रखी जाती हैं. बदल नहीं जाना, तुम्हारी शादी हो जाएगी, तो क्या तुम बदल जाओगे?मैं- ना शशि … मैं कभी नहीं बदलूंगा … हमेशा साथ रहूँगा और प्यार करूंगा.

हिंदी सेक्सी देहात की

जैसे जैसे मैं उसके मोबाइल से उसकी पिक्स चोरी करके देख रहा था, मेरा जुनून लवी के लिए बढ़ता ही जा रहा था।हालांकि रोज़ तो मुझे ये मौका नहीं मिलता था.

मेरी ओर से कोई प्रतिक्रिया न पाकर उसने मेरी पीठ में जोर से चिकोटी काट ली. मनजीत के चूतड़ों को अपनी ओर खींचते हुए मैंने अपना लण्ड आगे धकेला तो मेरे लण्ड का सुपाड़ा मनजीत की चूत के अन्दर हो गया. मैं बस में लग गया उस चुतामृत का पान करने में … मेरी जुबान अपना काम कर रही थी.

तो दोस्तो, मैं सैम आपसे विदा लेता हूं और राहुल श्रीवास्तव जी का एक बार फिर से शुक्रिया. अब मामी खुद पूरी ताकत से नीचे से अपने चूतड़ उछाल उछाल कर मेरे लंड को अपनी चूत में ले रही थीं और लंड मामी की चुत में जड़ तक प्रहार कर रहा था. लड़की का सेक्सी चाहिएजब वो सीने पर तेल लगाती हुई मेरे ऊपर झुकती तो उसकी गर्म सांसें मुझे महसूस होने लगतीं.

मैं- आअहह शशि … कितनी मस्त हो तुम … तुम्हें आज खा जाऊं क्या?भाभी- खा जाओ यार, अच्छे से खा जाओ. फिर मैंने लंड टिकाकर चूत में धक्का मारा तो भाभी की दर्द भरी आह्ह … निकल गयी लेकिन वो दर्द को बर्दाश्त कर गयी.

तभी मुझे पकड़ कर चोद देता।मैंने कहा- अगर ऐसा था तो मेरे लंड को मेरे अंडरवियर से बाहर निकाल कर चूसने बैठ जाती. मुझे यह देख कर अजीब सा हर्ष होता था कि इन चारों की चुदाई मैंने की है. रति को भी अपनी गाँड चटवाने में मजा आने लगा था और वो गर्म गर्म आवाजें करने लगी थी.

एक तो वो अनुभवी होती हैं, दूसरी बात ये कि वो किसी तरह की कोई नखरा नहीं करती हैं … और भरपूर प्यार भी देती हैं. भाभी मुझसे तरह तरह के सवाल करती रहीं और मैं खुल कर उनको अपनी चुदाई की कहानी के बारे में बताता रहा. मैं- तो क्या हुआ, क्या शादीशुदा गर्लफ्रेंड नहीं हो सकती!भाभी- किसी बिना शादीशुदा को पटाओ … हा हा हा हा … वैसे भी रजत को पता चलेगा तो जान ले लेंगे … हा हा हा हा.

पायल ने गाड़ी को पास लाने कह दिया था और तब तक मुझे छोड़ कर वो तीनों औपचारिक वार्तालाप में लग गयी.

अभी वो दोनों बहुत सेक्सी लग रही थीं और मेरा मन फिर से चुदाई के लिए डोलने लगा था. मैंने उसकी टांगों की तरफ आते हुए उसकी चिकनी जाँघों को चूमा तो वो सिहर उठी.

स्वागत नृत्य के बाद हम बारातियों के आगे आगे नाचते हुए होटल में लौट आए. मेरी इस सेक्स कहानी के पहले भागजवान लड़की को चुदाई का नशा-1में आपने पढ़ा कि पम्मी मेरे साथ सिर्फ ब्रा पैंटी में थी और मैं चड्डी में उसके साथ मजा ले रहा था. उसके कुछ देर बाद फिर से दोनों चूमा चाटी में लग गये और फिर से गर्म हो गये.

मैंने उनसे कहा- अब मजाक मत करो … आप मुझे नेट पर गांड मारने की विधि देखने दो, फिर गांड मारूंगा. भाभी के लम्बे लम्बे काले बाल हैं जो उसके गोरे चेहरे को और अधिक आकर्षक बनाते हैं. अब तक आपने मेरी जवानी की चुदाई कहानी का रस कुछ इस तरह से लिया था कि उदय सर के गांव जाने के बाद मैं चुत की चुनचुनी से परेशान हो गई थी.

देसी बीएफ देसी चुदाई वो लौटा तो मैंने उसको पकड़ कर खींच लिया और उसको बेड पर लिटा दिया और उसकी टांगों को फैला दिया. कुछ देर रुको, नहा धो के तैयार होती हूं फिर जैसे आप चाहो वैसे कर लेना!” निष्ठा बोली और बिस्तर छोड़ के निकल ली.

समूह सेक्सी वीडियो

एक बार फिर मैंने उससे दिन वाली बात के लिए माफी मांगी और उसने मुझे माफ़ भी कर दिया. तभी चाचा ने हमारा कुर्ता निकाल दिया और हमारी चूचियां चूसते हुए हमारी नंगी पीठ पर हाथ फेरने लगे. यहां तक की चूत के ऊपर भी वह एक लेप लगाकर इसको भी साफ- सुथरी और सुंदर बना देती है.

विक्की एक भूखे कुत्ते की तरह बैठ कर मेरे ऊपर नीचे हिलते बूब्स को देख रहा था. उन्होंने दूसरी बार में सर ने अपने लंड को हाथ से पकड़ कर मेरी चूत में फिट कर दिया. कुंवारी लड़की का हिंदी सेक्सीमैंने उन्हें उसी पोजिशन में उठा कर जमीन पर लेटा दिया और एक झटके के साथ मेरा पूरा लंड उनकी चूत चीरता हुआ अन्दर चला गया.

इतना सुनते ही मैंने एक और धक्का मार कर पूरा लंड नीरजा की बुर में जड़ तक घुसेड़ दिया.

वो अपने हाथों से मेरे सर को अपनी चूत पर दबाने लगीं … और एकदम जानवरों जैसे करने लगीं. बाकी आप सब समझदार हैं ही!धन्यवाद।कैसी लगी आपको मेरी यह कहानी?अपने कमेंट[emailprotected]पर मेल करके जरूर बताइएगा.

एक सच्चाई और भी है कि मैं इसी बहाने अपने मंगेतर की जानकारी में भी तुम्हारे पास रह सकती हूँ, तुम्हें देख सकती हूँ तुम्हें महसूस कर सकती हूँ।अब मेरे पास खुश होने के बहुत से कारण थे. मैं उसे छेड़ते हुए पूछा- क्यों नीचे आग लग गई है क्या?वो मेरी छाती पर मुक्का मारते हुए बोली- आग लगाने के बाद पूछ रहे हो कि आग लगी है. मैंने शर्म से नजरें झुका लीं, क्योंकि नेहा को मैं वफा देना चाहता था.

घर के उस एकांत में सिर्फ हम दो, मेरी जवान कुंवारी साली और मैं, कुछ भी संभव हो सकता है अगर चाहो तो …मैंने निष्ठा की ओर देखा.

उनकी पत्नी शशि भाभी भी काफ़ी पढ़ी लिखी थीं, लेकिन आजकल घर पर ही रहती थीं. मैं पहले ही बस स्टैंड में उसका इंतजार कर रहा था। वह हरे रंग का सलवार सूट पहन कर आई थी। वैसे मैं पहली कहानी में भी उसके जिस्म का वर्णन कर चुका हूं लेकिन नये पाठकों के लिए एक बार फिर से बता देता हूं. फिर कोमल ने जिया की चुत को टिश्यू पेपर से साफ किया और उसको खड़ा करके बाथरूम में ले गई.

सेक्सी सेक्स मुव्हीमैने एक बुके भी ले लिया।मैं सब कुछ लेकर तय समय पर होटल पहुँच गया।मेरी धड़कनें तेज़ हो रही थी और सब्र भी नहीं हो रहा था।मैंने उसके रूम के पास पहुँच कर उसे मैसेज किया. लड़की- क्या हुआ सेठ? कभी लड़की नहीं देखी क्या?रवि- अरे देखी तो बहुत हैं.

फुलवारी शरीफ

मैं कार में बैठा और इंजन स्टार्ट करने ही वाला था कि मैंने अपने ऑफिस की एक अकाउंटेंट फीमेल स्टाफ को ऑफिस के ही दो मर्दों के साथ देखा. तभी उन्होंने मेरी टी-शर्ट के और अन्दर हाथ डाल दिया और पहले एक हाथ से मेरे मम्मे को पकड़ा और फिर दूसरे हाथ में भी थाम लिया. मैंने तुम्हारे पिता को केवल छूने वाली घटना के बारे में बताया हुआ है.

अब आगे की हॉट बेडरूम सेक्स स्टोरी:अगले रोज सुबह मैं यूनिवर्सिटी चला गया और सायं 5 बजे वापिस आया. कुछ ही पल के बाद जब वो अपनी गांड में डिल्डो को पूरी गहराई से ले रही थी तो एकदम से उसकी चूत से पानी की बौछार सी निकल पड़ी. आपको मेरी ये अंतर बासना सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें.

वो झुंझला कर बोलीं- तुम दोनों भाइयों में दम नहीं था … तो शादी क्या दोस्तों को खुश करने के लिए की थी. उसकी हरकत में अनुभव से ज्यादा बेचैनी झलक रही थी, जो उसके लंबे समय से प्यासी होने का सुबूत थी. इसी के चलते उनका हाथ कभी मेरी गांड को दबा रहा था, तो कभी मेरे पेट पर आ रहा था.

मैंने हमेशा उससे नज़र झुका कर ही बात की थी।मगर कभी कभी नियति को कुछ और ही मंजूर होता है।एक दिन लवी नहाने गई हुई थी. मगर मेरे पास मेरी वासना की भड़ास को निकालने के लिए एक भी लड़की या औरत नहीं थी.

जिया- ऐसा नहीं होगा!कोमल- वैसे आज रात को गांड का भी उद्घाटन करवाना है न!जिया- नो वे … भाभी सच बोलना आपको सबसे ज्यादा किसके साथ सेक्स करने में मजा आया … भाई से या राज से!कोमल- अगर सच कहूँ तो राज के साथ … क्योंकि तुम्हारे भाई इतना देर तक टिक नहीं पाते हैं और राज की बात करूं, तो वो चुदाई के वक्त पूरे जोश में ऐसे चोदता है … मानो हम इसके लिए एक खिलौना हों.

मैंने बोला- अब मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर सही से सेट कर लो. सेक्सी फिल्म नाटकवो बात करने वाले को एकदम से रियल वाली फीलिंग देने की काबिलियत रखती है. कैटरीना कैफ कैटरीना की सेक्सी वीडियोचाचा ने अपनी हथेली में तेल लेकर लण्ड पर चुपड़ा और हमारी चूत के होंठ फैला कर हमारी कमर पकड़ ली. रुमित ने कहा- चिंता मत करो, चलो अब हम भी चलते हैं … बहुत देर हो गयी है.

लंड का पानी इस बार चुत के रस के साथ उसकी जांघों पर मोटी बूंदों का आकार लेकर बहने लगा.

अब भाभी शरमाती हुई बोली- धत्त … तो आपने क्या-क्या सुन लिया देवर जी?मैंने कहा- ज्यादा कुछ नहीं भाभी … लेकिन सिसकारियों की आवाज़ बहुत आ रही थी. और फिर मैं नहाने के लिए चला गया।जब मैं नहा कर वापस आया तो भाभी ने मुझे नाश्ता दिया और मेरे पास में आकर बैठ गयीं. मेरे कान में आंटी बोलीं- जान मैं बहुत प्यासी हूँ … आज मुझे जम कर चोद दो.

”सच्ची?” सानिया हैरत भरी निगाहों से मेरी ओर देखने लगी।उसे तो मेरी बातों पर जैसे यकीन ही नहीं हों रहा था।हाँ भई सोलह आने सच्ची. मैंने उससे कहा कि आपको किसने कहा कि आप सुंदर नहीं हो … मुझे तो आप बड़ी सुंदर लगती हो. वरना सुहानी चौधरी नंगी हो जाए तो मुरदों के भी लंड खड़े हो जायें।फिर मैंने कहा- क्या हुआ? आज खड़ा नहीं हो रहा क्या?उसने कहा- तुम्हारे नर्म गुलाबी होंठ की छुअन से ही खड़ा होगा अब तो!मैंने कहा- सीधे सीधे बोलो ना मेरा लंड चूसो.

हिंदी में ट्रिपल सेक्स

मैं उठने लगा तो उसने मुझे बिस्तर पर गिरा दिया और पूरे बदन को चूमने लगी।मैंने उससे पूछा- मन नहीं भरा क्या?वो बोली- नहीं … जीजू।वो फिर से मेरे लंड को सहलाने लगी. मैं- तुम ठीक कहते हो … इस मोटे कपड़े की चनिया चोली में वैसे भी बहुत पसीना आ रहा है … पर मैं चेंज कैसे करूं?उसने कहा- अरे तुमने और ईशिता ने जैसे पहले चेंज किया था, वैसे ही चेंज कर लो. तू तो मेरी बहादुर साली है न … बस एक दो मिनट थोड़ा दर्द सह ले मेरी खातिर!” मैंने उसे ढांढस बंधाया और आहिस्ता आहिस्ता लंड को और अन्दर धकेलने लगा.

मैंने बाथरूम में जाकर ड्रेस चेंज की और खुद को आईने में देखकर मेरे मुँह से आह निकल गयी कि कोई इतनी हॉट कैसे हो सकती है.

पर उसके ज़ोर से मेरे लण्ड को ही दिशा मिली जिससे वो जरा अंदर को जगह बनाता दिखा।किट्टू समझ गयी कि उसकी सब मेहनत व्यर्थ है और मैं ऐसे नहीं मानने वाला.

थोड़ी ही देर में मेरा लंड फिर खड़ा हो गया। उसने मुझे नीचे पटक लिया और मेरे लंड को बुर पर सेट करते हुए गांड को नीचे दबा दिया. ऐसे ही स्क्रॉल करते हुए मुझे एक सेक्सी वेबकैम मॉडल अस्मि की प्रोफाइल दिखी. वाली सेक्सी फिल्म दिखाओइससे मुझे बहुत आराम मिलने लगा साथ ही उसके नर्म हाथों का स्पर्श मेरे जिस्म में जादू भी जगाने लगा और मेरे भीतर का पुरुष जागने लगा.

अब और आगे नहीं!मैंने भी कहा- अब एक साहित्यकार को छेड़ा है, तो सुनना तो पड़ेगा ही!उसने कहा- साहित्यकार हो … ये जान कर ही तो आपको प्रशंसा के लिए कहा. मैंने उसके उन्नत उभार टॉवेल के ऊपर से ही छूने शुरू कर दिए और उसकी गर्दन पर किस करने लगा. उसके जाने के बाद मेरी आंखों के सामने उसकी बड़ी सी गांड, बड़ी बड़ी चूचियां और उसकी लचकती कमर … बस यही नजर आ रहा था.

हम दोनों किस करने में इतने मशगूल हो गए थे कि हम भूल ही गए कि हम कार में हैं. मैं- सर ऐसे मत कीजिये वरना वो सोचेंगे कि मैंने आपसे उनकी शिकायत की है.

मैंने हंस दिया और कहा- तो मेरी गुलाम चूत को कहो कि अभी मेरे लंड महाराज की सेवा बाकी है.

ऊपर प्रिंसीपल सर उन लोगों से बात कर रहे थे और नीचे मैं बैठ कर उनका लंड चूस रही थी. तभी मैंने देखा भैंसा के पेट के नीचे उसके लण्ड वाली जगह हरकत हुई और उसमें से गुलाबी गाजर जैसा थोड़ा सा लण्ड दिखाई दिया. दो मिनट तक लंड चुसवा कर मैंने उसे नीचे पटक लिया उसकी टांगों को चौड़ी करके उसकी जांघों के बीच में उसकी चूत पर लंड रख कर एक जोर का धक्का दिया.

सेक्सी साधु की सेक्सी अगले दिन मैं स्कूल गयी और मुझे स्कूल के एक अलग कमरे में ले जाकर फिर से टीचर ने चोदा. चूत चोदने के लिए लौड़ों का खड़ा होना जरूरी था इसलिए मैंने संजय को बोला- लगता है अब सालियों की एक बार फिर से चूत चुसाई करनी पड़ेगी.

वो अपनी कॉलेज लाइफ से लेकर विदेश में मसाज के दौरान सेक्स कर चुकी थी. मैंने भी बेशर्मी से अपने तम्बू बने पेंट को दिखा दिया- ये शांत नहीं हो रहा है. मैं कार में बैठा और इंजन स्टार्ट करने ही वाला था कि मैंने अपने ऑफिस की एक अकाउंटेंट फीमेल स्टाफ को ऑफिस के ही दो मर्दों के साथ देखा.

कम उम्र मे बाल सफेद होना

और फिर मैं नहाने के लिए चला गया।जब मैं नहा कर वापस आया तो भाभी ने मुझे नाश्ता दिया और मेरे पास में आकर बैठ गयीं. थैंक यू मनोज भाई मुझे भाभी की चुदाई का पहला मजा दिलवाने के लिए!”दोस्तो, ये थी दीपक की कहानी उसकी खुद की जुबानी। आशा करता हूँ कि प्यासी भाभी चोदन स्टोरी आपको पसंद आई होगी. मेरी कहानी के पिछले भागकनाडा से आई देसी चूतमें आपको मैंने बताया था कि मेरी एक पुरानी दोस्त गीत कुछ दिन पहले कनाडा से लौटी थी.

एक हाथ से प्रीति की पीठ को सहलाते हुए उसकी टीशर्ट को निकाल कर मैंने अलग कर दिया। फिर मैंने उसकी शॉर्ट्स का बटन खोल दिया और नीचे करने लगा तो प्रीति ने रेत के टीले पर मुझे धकेलते हुए पीठ के बल लेटा दिया और खुद मेरे ऊपर आ गई और मेरे होंठों को जोर जोर से चूसने लगी. हाउस मेड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी कमसिन कामवाली को अपने बातों और तोहफों के जाल में फंसा लिया था.

और जब लंड इसकी चूत में अन्दर बाहर होने लगेगा तो ये खुद उछल उछल कर मजे से चुदेगी.

बढ़ती उम्र के साथ मेरे शरीर का वज़न भी बढ़ गया है और अब मैं मोटे लोगों की श्रेणी में आता हूं. सोच सोच कर खुश हो रहा था कि हफ्ते भर पहले मिला ये माल आज मेरे लंड के नीचे है. मैंने नेहा और बिन्दू की तरफ देखा तो वे दोनों भी बोली- मम्मी ठीक कह रही हैं, आप सामान कल ले आना.

आप इन पर कॉल करके सुविधा ले सकते हैं।उसने कहा- यहाँ से कहीं भी आना-जाना हो तो आप होटल की गाड़ी का इस्तेमाल कर सकते हैं. मैंने मुकेश के साथ घर आते आते रॉयल चैलेंजर्स व्हिस्की की बोतल, चखना और सोडा खरीद लिया. अनीता धीरे से बोली- फूफाजी अगर आप को बुरा नहीं लगे, तो मैं आपके फोन में व्हाट्सप्प को खोल देख लूं!मैंने उसे फोन दे दिया और उसके हाथ से केतली लेकर बाथरूम की ओर आ गया.

मैं उसके चुत के दाने को चूसता हुआ जीभ उसकी चुत में घुसा कर उसको अपनी जीभ से चोदने लगा.

देसी बीएफ देसी चुदाई: गोद में आते ही वो एक दम से मेरी पीठ नोंचते हुए चीखी- आह … आह … हाय दैया … स्स्स … चोद दो मुझे … फाड़ दो मेरी … आह्ह फाड़ दो।ये कहते हुए उसने मेरे होंठों में अपने होंठ फंसा लिये. अब मुझे शर्म लग रही थी।मैंने कहा- भाभी, आपने मेरा अंडरवियर क्यों धोया?तो भाभी बोली- मैंने इतने सारे कपड़े धोये थे, वो भी धो दिया.

उसने पूछा- क्यों?मैंने कहा- मेरे मम्मी पापा मुझे रात के नौ बजे के बाद घर से बाहर भी नहीं निकलने देते हैं … तो गरबा के लिए कहां जाने देंगे. फिर सर ने टेबल पर रखे सामान से तेल उठाया और मेरी चूत में तेल लगा कर उसे चिकनी कर दिया. एक पल बाद मैंने ड्रावर से कंडोम का पैकेट निकाला और पैकेट फाड़ कर कंडोम अपने लंड पर पहन लिया.

अब मैं एक हाथ से कार चला रही थी और मेरा दूसरा हाथ उसकी छाती पर उसके निप्पलों को मसल कर भींच रहा था, उनको मरोड़ रहा था.

लेखक की पिछली कहानी:मालिक की बेटी की कामवासनाप्यारे दोस्तो, मैं बहुत दिनों से सोच रहा था कि आपके साथ अपने जीवन का भाभी सेक्स एक सच्चा किस्सा साझा करूं. मैं यह सब कुछ बताना नहीं चाहता था और आज तक किसी रानी को बताया भी नहीं, लेकिन गुड्डी रानी की ज़िद ने मजबूर कर दिया. कुछ ही देर में भाभी अपना सिर इधर उधर मारने लगी और उन्होंने जोर से नाखूनों को मेरी कमर में गड़ाते हुए मुझे अपने ऊपर इतना भींच लिया कि मुझे हिलने भी नहीं दिया.