एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,ब्लू फिल्म सेक्सी दिखाई जाए

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी चाची सेक्सी: एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ, फिर उसने कहा- जीजू, मेरे मुंह मे पेशाब कर दो प्लीज!मैंने उसके मुंह में पेशाब कर दी.

नया बीएफ भेजो

डाक्टर भी अन्दर आ गयी और मेरे पास खड़ी होकर बोली- अपनी पैंट और चड्डी नीचे करो, शर्माओ मत. एक्सएक्सएक्सविदोवो बोली- पापा और बड़े भाई तो काम पर गए हैं और वो दोनों छोटे वाले कहीं घूम रहे होंगे.

मैं बोला- पर हम यहां रोज क्या करेंगे?वो हंसते हुए बोली- ये अब तुम देखना कि हम क्या क्या करेंगे. देवर भाभी की सेक्सी पिक्चर दिखाओउस रात की चुदाई के बाद माया मुझे जानू बोलने लगी, लेकिन सबके सामने जानू नहीं बोल सकती थी, तो उसने मेरा नाम जॉन रख दिया.

अब मुझसे और कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने उसका हाथ पकड़ कर उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया.एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ: मैंने घबराकर उनका हाथ अपनी छाती से हटाने की कोशिश की पर उन्होंने मेरी चूचियों पर से हाथ नहीं हटाया।क्या हो गया बेटी? इतनी घबरा क्यूँ रही हो? आराम से पेपर करती रहो ना … ये देखो … अंजलि कितने आराम से कर रही है.

उसकी ये सेक्सी हरकत देख कर मैंने बॉक्सर भी उतार दिया और अपने खड़े लौड़े को सहलाने लगा.इस बार मैं एक हाथ से उनकी बुर के दाने को हल्के हल्के मसलना और उनकी बुर भी चाटना एक साथ शुरू किया.

सेक्सी बीएफ नंबर 1 - एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ

कमलेश सर मम्मी से मिलने अक्सर आया करते थे और वहीं मेरे स्कूल में टीचर भी थे.अच्छा तो ये तुम्हारी और डीओ की मिली-जुली खुशबू है, बहुत ही मादक है ”अंकल ने मेरी दोनों कांखों पर किस किया और दोनों जगह पर जीभ भी घुमाई.

लेकिन वो दर्द के कारण अपनी आंखें बंद करके मुझे जोर से पकड़कर चुपचाप पड़ी रही और कहने लगी- और जोर से चोदो मुझे … कर दो आज मुझे पूरा … दो मुझे आज चुदाई का पूरा मजा. एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ तेरी फुद्दी के दर्शन किए बगैर नहीं जाने देता तुझे!तब मैंने एक हाथ उसकी कमर पर रखा और उसे अपनी तरफ खींचा.

मेरे होंठ का स्पर्श अपनी चूत पर पाकर कल्पना मचल उठीं और सिसकारियां भरने लगीं.

एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ?

मेरी चीखें निकलने लगी- अह्ह आह येस अह्ह येस्स आह्ह अह्ह आह मजा आ गया. वो बोली- ये क्या कर रहे हो?मैंने उससे कहा- जान रुको थोड़ा, तुम्हारा सरप्राइज वेट कर रहा है. साथ ही चोदने की ऐसी लालसा कि बस पल भर का इंतजार भी सौ बरस के बराबर.

फिर उठकर उसने से मेरे बाल पकड़ लिये और मेरे होंठ अपने होंठों में लेकर बेताहाशा चूसने लगी. ओह्हो … तो ये बात है!” मेरे ज़हन में अब बच्चे का ख्याल आते ही मेरी सब कुछ समझ में आ गया. निशा की दर्द भरी कराह निकल गई- ओओ आह्ह ऊऊह!उसकी आवाज कुछ तेज निकली थी.

लेकिन मैं उनके शरीर को हर तरह से अपनी सांसों और निगाहों में बसा लेना चाहता था. कल जब मैं तुम्हें प्यार कर रहा था तो तुम्हें मजा नहीं आया क्या?वह बोली- हाँ, आया तो था. फिर उन्होंने मुझे बाथटब की साइड पर बिठाया और कहा कि अपने पैर चौड़े कर लो.

मैं बोला- क्यों?रूपा बोली- भैया मुझे डर लगता है … क्योंकि लड़कों पर मुझे जरा सा भरोसा नहीं है. ये सोचते ही मैं एकदम गर्मा जाता था और अपनी मम्मा को याद करके मुठ मार लेता था.

एलेक्स ने अपनी पैंट को अपने पैरों से अलग कर दिया और वह केवल अंडरवियर में खड़ा था.

लेकिन उधर से कोई रेस्पॉन्स नहीं आया तो मैंने मम्मा को उत्तेजित करने की कोशिश जारी रखी.

एक दिन जब कॉलेज खत्म हुआ, मैं उसको छोड़ने उनके रूम की तरफ जाने लगा, मैंने उससे कहा- आपके लिये मैंने कुछ किया है. उसके सेक्सी कपड़ों को देख कर मुझे बड़ी आग लग जाती थी लेकिन मैं कसमसा कर रह जाता था. उसकी चूत के आसपास मैंने जांघों पर अपनी जीभ से चाटा और उसकी चूत के छेद के अन्दर अपनी जुबान को डाल दिया.

बाकी परिवार वाले भी होंगे वहां पर, कुछ लेन-देन या रीति-रिवाज की बातें हो रही होंगी शायद!मैंने वापस फोन पर बात करते हुए इन्दु से कहा- ओहो … तो ये बात है, लेकिन यार, जब तुम मिलती हो तो कुछ करने नहीं देती. फिर बातें करते-करते दोनों नीचे चली गईं और मुझे (बाथरूम में कमोड पर बैठे हुए) वहाँ से मुक्ति मिल गई. उसकी चमड़ी इतनी नर्म, मुलायम, नाजुक और पारदर्शी थी कि उसकी फूली हुई नसें साफ़ नज़र आ रही थीं.

मैं भी शर्म छोड़कर उसी की तरह बोलना चाह रही थी तो मैंने भी बोल दिया- मैं भी बहुत भूखी हूं, तुम्हारे लण्ड को खाना चाहती हूं.

पहले मेरी कजिन से दोनों एक साथ वहीं लेट्रीन करते में ही पटक कर चढ़ गए. एक दिन में उसके रूम में झाड़ू लगा रही थी, तो वह अपने बेड पर बैठे हुए हसरत भरी निगाहों से मेरी गहरे गले की टी-शर्ट में झांक रहा था. फिर उन्होंने मुझसे मेरी पिक मांगी और मेरी नंगी गांड देखने की इच्छा जाहिर की.

यंग गर्ल एंड अंकल Xxx कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी अम्मी सबके लण्ड का मज़ा लेती हैं। उन्होंने मुझे भी अपने एक यार से अपने सामने चुदवा दिया. हाथ में भर गया तो हिलाने में कैसी देरी? लंडराज को हिलाना शुरू कर दिया. उधर मेरी सहेली अपने ब्वॉयफ्रेंड से होटल में चुदवा रही थी और इधर मैं अपनी सहेली के भाई से चुदवा रही थी.

मैंने अपनी जीभ को होंठों पर फेरा और उसकी तरफ देखते हुए कहा- मजा आ गया.

एक दिन मैं और श्वेता मेरे रूम पर चुदाई कर रहे थे तभी जोश में आकर मैंने उससे शुभी को चोदने की बात कह दी. साला चाची के खानदान की क्या लड़कियां, क्या औरतें … सब एक से बढ़कर एक!मुझे लगा कि चाची ने हमें देख लिया था.

एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ निशा बोली- अभी नहीं, शिल्पा को अच्छे से सो जाने दो … अभी ऐसे ही काम चलाओ. मैं अन्दर ही अन्दर बहुत खुश था कि आज मेरे सपनों की रानी मेरे साथ सोएगी.

एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ एक हाथ से मैंने उसकी पैंटी उतारी, उसने एक के बाद एक अपना पैर उठा कर पैंटी को पूरी तरह से निकाल दिया. तो मैंने उसको अपनी बांहों में उठा कर बेड पे लिटा दिया और उसके दोनों हाथों को पकड़ कर उसके होंठों पर किस करने लग गया.

मेरा लंड भी अब अंडरवियर के अन्दर नहीं रहने वाला था … इसलिए मैंने लंड को बिल्कुल आज़ाद कर दिया और सीधा उनके जिस्म पर सटाकर हिलाने लगा.

ಸೆಕ್ಸ್ ಇಂಡಿಯಾ ಸೆಕ್ಸ್

वैसे भी मैं अपने कॉलेज का हीरो था, पर मैंने अब तक कभी किसी लड़की को भाव नहीं दिया. मैं अन्य लोगों की तरह ये नहीं कहता कि मेरा लण्ड साढ़े 8 इंच या 9 इंच लंबा व साढ़े 3 इंच मोटा है. आखिरकार तुम मेरी साली जो हो! लेकिन आज बिना चोदे नहीं छोड़ सकता, तुम समझ सकती हो मेरी मजबूरी!मैं- सॉरी जीजू, यह सब मैं नहीं कर सकती, चाहे आपको बुरा लगे तो लगे!मेरी यह बात सुनकर जीजू समझ गए कि शिवांगी चोदने नहीं देगी और जबरदस्ती करने पर प्रॉब्लम हो सकती है.

मैंने कहा- भाई जान, मेरे पुट्ठे भले थोड़े ज्यादा हों, पर हथियार तो आपका मजबूत है. मुझे गुस्सा भी बहुत आ रहा था, पर नितिन के बॉस होने की वजह से ग़ुस्से पर काबू करना पड़ रहा था. मैंने सारा के हर अंग को चूमा और फिट पेट के बल लेटा दिया पीठ को चूमा और चाटा.

अब मुझे आगे बढ़ना था, तो मैंने अपना एक हाथ उनकी कमर के नीचे ले जाकर उनकी ब्रा के स्ट्रिप का हुक खोलने की कोशिश करने लगा.

हमें देखकर शुभी की हालत खराब हो गयी इसलिए वो वहां से उठकर आगे कमरे में चली गयी और टीवी देखने लगी. मैंने थोड़ी सी कोशिश कर उसकी चूत तक जीभ पहुँचा ही दी और फिर जैसे ही जीभ उसकी चूत के अंदर जाने लगी, मीना की सिसकारियाँ बढ़ने लगी. मैं और मस्ती से अपना मुंह खोले हुए तेज तेज मुठ मारने लगी।फिर लण्ड ने सारा वीर्य मेरे मुंह में ही उगल दिया.

वो मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ कर बोली- तुम्हारे लंड से चुदने में बहुत मजा आएगा. अगली सेक्स स्टोरी में मैं आपको बताऊंगा कि मेरी मम्मी और कैसे कैसे चुदीं. मगर साथ ही मेरे मन में इस बात को लेकर भी कौतूहल चलता रहता है कि मैं एक बार पापा को अपनी माँ की चुदाई करते हुए भी देखूं.

घर पर नीचे मैं और ऊपर वाली मंजिल पे भाभी जी ही थी जो कि इस समय अपने ऑफिस गयी हुई थी. मेरे मन में एक ओर आंटी के दूध देखने की खुशी थी तो दूसरी ओर थोड़ा डर भी लग रहा था कि कहीं आंटी मेरा खड़ा लंड देख कर मुझे डांटने ना लगें.

वो बहुत गोरी है, उसके बूब्स ज्यादा बड़े नहीं हैं, बस 30 या 32 के होंगे लेकिन उसकी गांड बहुत बड़ी थी. चाची फिर से बोलीं- सर के नहीं, नीचे जो जंगल उगा रखा है … उसकी बात कर रही हूँ. तभी वह दूसरा जो पटेल का दोस्त अपना लंड रगड़वा रहा था, वह बोला- ले बंध्या, मेरा लंड चूस!वो मेरे होंठों के पास मुँह में अपने लंड को रगड़ने लगा.

फिर भी मैं डॉक्टर के पास गई और डाक्टर से झूठ बोली कि साइकिल चला रही थी, तो सीट का मुहाना थोड़ा यहां घिस गया और ब्लड निकला.

प्लीज आप भी मुझे समाज की तरह गलत मत समझना या गलत नजरों से मत देखना. मैं डर गया कि मम्मी को कुछ हो ना जाए इसलिए कुछ टाइम तक वैसे ही रुक गया. लेकिन मैं उनके शरीर को हर तरह से अपनी सांसों और निगाहों में बसा लेना चाहता था.

उसकी सांसें तेज तेज चल रही थीं और उसकी चूचियां ऊपर नीचे हो रही थीं. उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल थे, मैंने उसकी चुत को बड़े मजे से चूसा और फिर उसको अलग कर दिया.

ऊपर वाले की दुआ से अच्छा खासा लंबा-चौड़ा दिखता हूँ और मेरा लंड भी 6. ये कहानी मेरी नहीं है, बल्कि मेरे एक पाठक की कहानी है, जिसे मैं अपने शब्दों के के साथ आप सब तब पहुँचा रहा हूँ. अब उन्होंने मुझे दूसरा कमरा बताया और कहा- आप उस कमरे में जाइए, वहां टेबल पर लैपटॉप पड़ा है.

ब्लू सेक्सी वीडियो चुदाई वाली

माँ म्म्म … मर गई ईईई … मेरी फट जाएगी कुत्ते, जरा धीरे नहीं पेल सकता था हरामी!कपिल- अभी तो शुरुआत है शारदा.

मैंने अपना सारा रस उसकी चूत में ही निकाल दिया था और उसके ऊपर ही गिर गया. कुछ मिनट तक मैंने जागृति मेम की चुत को रगड़ा और साथ में उन्हें किस भी करता रहा. मैं- रूपा यह ग़लत है, मम्मी पापा को पता चलेगा तो क्या होगा?रूपा बोली- मगर भैया, ये बात तो सिर्फ हम दोनों के बीच में रहेगी.

मैंने जैसे ही अपनी मम्मी की चूत को चाटने के लिए जीभ को चूत पर रखा, तो मम्मी एकदम से सिहर गईं. फिर आपके मतलब का एक वीडियो भी है जिससे वो नामर्द आपकी मुट्ठी में आ जाएगा. बीएफ सेक्सी मूवी पिक्चरअरे यार, पर ये तो बता कि अगर मैं प्रेग्नेंट हो गयी तो?”तू उसका टेंशन मत ले.

वैसे भी डेढ़ साल ही वो यहाँ इन्डिया में रहने वाला था और किसी को कुछ बता भी नहीं सकता था. मैंने अपनी एक टांग से उसकी नीचे वाली टांग को दबा दिया और दूसरी टांग से उसकी दूसरी टांग को दबा दिया.

दोस्तो, यह थी मेरी चाची की सच्ची चुदाई की कहानी, आपको मजा आया या नहीं, प्लीज़ मेल कीजिएगा. उसकी टाइट सी चूत को अपनी आंखों से निहारने की ख्वाहिश मेरे दिल में ही रह गयी. सच में किसी लड़की को कभी अधूरा पूरा संतुष्ट किये बिना नहीं छोड़ना चाहिए.

फिर मैंने झटके से भाभी को पीठ के सहारे दीवार से चिपका दिया और उनके दोनों हाथों को अपने हाथों से पकड़ कर दीवार से लगा दिए. मन करता है कि पूरी रात अपने लंड को अपनी प्यारी साली की चूत में घुसा के रखूँ. मैंने कहा- मुझे बाल बनाने में डर लगता है … कहीं अगर चोट लग गई और कहीं कुछ कट गया तो?फिर उन्होंने बोला- तुम चाहो, तो मैं काट सकती हूँ.

फिर मैंने उसकी पैंटी को उतार दिया और मुझे पहली बार एक नंगी चूत के दर्शन हुए.

रोहित को नाश्ता करने के लिए कहा मगर उसने मेरे हाथ के बने नाश्ते में से कुछ भी नहीं खाया. वो अब भी मेरे साथ चैट करती है और हम दोनों के बीच का जो रिश्ता है कि हम किसी को पता नहीं चलने दिया.

उसके बाद मैं भी उसे सेट करने के लिए कोशिश करने लगा।जब भावना मेरे घर रहने के लिए आई थी तब गर्मी कुछ ज्यादा ही पड़ रही थी तो मैंने ऊपर अपने रूम में कूलर सेट कर दिया था। भावना को भी नाइट में कूलर के आगे सोने की आदत थी तो तय हुआ कि भावना भी अब से मेरे रूम में सोएगी।रात में खाना खाकर वो मेरे रूम में सोने आई तो मैं अभी तक सोया नहीं था. सयुंक्त परिवार में पति पत्नी के बीच सेक्स होना भी कोई सामान्य घटना नहीं होती थी. ये बात तब की है जब पिंकी अपनी ननद के घर उसकी पहली सन्तान के होने पर आई थी.

वो पहले जैसे ही मेरे पास खड़ी रही, लेकिन इस बार वो अपनी टांगें फैलाकर ऐसी खड़ी थी कि मेरा हाथ सीधा चुत पर रगड़ जाए. वो मुझे अपना सिर हिला के बोल रही थी- रॉकी इसे बाहर निकालो, बहुत दर्द हो रहा है. पर अब इन सब का क्या फ़ायदा था! अब तो जो होना था वो हो चुका था और हम दोनों भी यही तो चाहते थे.

एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ मैंने अपना लंड साफ किया और जाकर सो गया, इसके बाद और कुछ नहीं हो पाया. फिर मैंने पाण्डे जी से बोला कि उससे किसी तरह से सेटिंग कराओ क्योंकि वो मुझे बहुत अच्छी लगती है.

अभी की सेक्सी मूवी

अब मेरे दोनों हाथ सरनी के स्तनों पर थे और मैं बैठे बैठे उसको घस्से मार रहा था. पता नहीं क्यों पर मुझे उस डॉक्टर का ये व्यवहार जरा भी पसंद नहीं आया. मैंने पहले दीदी को किस किया, फिर एक एक करके उसके सारे कपड़े उतार दिए.

मन करता है कि पूरी रात अपने लंड को अपनी प्यारी साली की चूत में घुसा के रखूँ. वहां हम एक लेडी गारमेंट्स की शॉप में गये और फिर वहां से मैंने मेरे लिये कुछ ड्रेसेस लीं। फिर रोहन मुझे एक लेडी अंडरगार्मेंट्स की शॉप में ले गए. सेक्सी सेक्स ब्लू फिल्म वीडियोमम्मा मुझे देख कर बोलीं- क्या हुआ अंकित, इतना बेचैन क्यों है?मैं अपनी मम्मा सौम्या को क्या बताता कि मेरा उनको बुरी तरह से चोदने को मन हो रहा है.

भाभी की नजरें मेरे लंड के उभार पर थोड़ी सी रुक गईं क्योंकि मैंने अंडरवियर नहीं पहना था तो लंड का पूरा आकार साफ़ दिख रहा था.

बिस्तर में जाते ही उसने खुद को समेट सा लिया मानो अभी भी उसके अंदर की पतिव्रता नारी ने हार न मानी हो!मैंने फिर से उसके चेहरे को चूमना चालू कर दिया. मैं- अगर मैं मेरी बात करूँ, तो मैं तो इसे बुर या चूत कहता हूं … आप क्या कहती हो पता नहीं.

यही बात जानने के लिए मैंने एक दिन उनका पीछा किया और वो वह दूध लेकर वहीं गईं, जहां ताऊ सोया करते थे. उसके पापा ने जब सब कुछ सुन लिया तो बोले- बेटी, जाओ आराम से घर जाओ और कल परसो तुम्हें ऑफिस जाय्न करने का लेटर मिल जाएगा क्योंकि यह जॉब मेरे ही नीचे है. उस दिन उसने पीले कलर का पजामी सूट पहना हुआ था और वह उसमें बहुत ही प्यारी लग रही थी.

पहले थोड़ी देर तक मैंने उनका सपाट पेट सहलाया, फिर अपना हाथ नीचे की ओर लेकर जाने लगा.

वह एकदम से पीछे की तरफ पलट गई और पैंट में तने हुए मेरे लंड को देख कर बोली- तुम्हारा तो बहुत ही लंबा है. ’मैंने अंकल का लंड मुँह में लिया और उनके चूतड़ों को अपनी बांहों के घेरे में ले लिया. मैंने कहा- तो आज तुम दोनों का मन अपने भैया का प्यार पाने का है?स्नेहा मुझसे लिपट कर बोली- मैं तो कल ही आपका प्यार पाने कि बेचैन थी मगर आपने लिफ्ट ही नहीं दी.

सेक्सी ब्लू फिल्म महाराष्ट्रमैं उससे कस कर चिपक गया और उसकी चूत में ही झड़ गया। हम लोग काफी देर तक इसी अवस्था में पड़े रहे. कुछ दिन मौसी पर नज़र रखने के बाद मुझे मौसी का डेली रूटीन समझ में आ गया.

பிரீ செஸ்

मैं पूरे लंड को अन्दर डाल के बाहर निकालता था और फिर जोर से वापस अन्दर पेल देता था. मैंने कहा- आप जब वहां आई थी तो आप मुझे अच्छी लगीं और जब पता लगा हम दोनों को एक ही जगह जाना है तो दिल से लगा कि काश आप और हम एक साथ सफर करते और देखिए न अब हम सच में साथ सफर कर रहे हैं. वास्तव में पहले की दो अदला-बदली वाली चुदाई में ऐसा नजारा मैंने नहीं देखा था।अब जैसा कि प्लान का हिस्सा था.

पापा के गुजर जाने के बाद मम्मा को उनकी जगह बैंक में नौकरी मिल गई थी. पहले मैंने एक ही हाथ लगाया, लेकिन जब मुझसे रहा नहीं गया तो दूसरा हाथ भी लगा दिया. मेरा शरीर बिल्कुल सामान्य लड़की की तरह ही है, न पतली ही थी और न ही मोटी थी ज्यादा!उसने मेरे दूध को चूसना शुरु कर दिया और एक हाथ से दूसरे दूध को मसलने लगा.

मैं पंजाब पहुँचा जहाँ अजय मेरा पहले से ही इंतजार कर रहा था!अजय अपनी कार से मुझे अपने घर ले गया. मुझे अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ कर इतना ज्ञान तो हो गया था कि अब नहीं तो कभी नहीं. मैंने कहा- तो आज तुम दोनों का मन अपने भैया का प्यार पाने का है?स्नेहा मुझसे लिपट कर बोली- मैं तो कल ही आपका प्यार पाने कि बेचैन थी मगर आपने लिफ्ट ही नहीं दी.

प्रिय दोस्तो, मैं यश अग्रवाल हूँ, अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली चुदाई की कहानी है. प्रिया- आपकी ही है … खा लीजिए इसे!ये कह कर प्रिया ने मुझे अपनी टांगों से लपेट लिया.

अचानक से पिंकी को कुछ हुआ; उसने अपने आप को अमर से छुड़ाया और उससे दूर हो गई.

वो पूछने लगी- आंटी कब आएंगी वापस?मेरा जवाब सुनकर उसने एक-दो बात इधर-उधर की ही की और फिर वो अपने घर चली गई. वीडियो bf चाहिएसुषी ने कहा- कोई आ गया तो?मैंने कहा- कोई नहीं आएगा, अभी माँ को वापस आने में लगभग दो घंटे का वक्त और लगने वाला है, इसलिए तुम चिंता मत करो. সেক্সুয়াল মুভিसुखबीर के धक्कों से मैं यह तो समझ गयी थी कि उसे बहुत मजा आ रहा और उसका जोश साफ झलक रहा था. मेरे पति न जाने आज किस मूड में थे कि वे मेरी चुत लगातार हचक कर चोदे जा रहे थे.

मैंने कहा- देखो जानू, मैंने तुम्हारी चूत चाट कर कितना मजा दिया, क्या तुम मेरा एक बार भी मुंह में नहीं ले सकती?वह बोली- ठीक है, मगर मैं ज्यादा देर नहीं लूंगी.

मैं- बहुत ख़ूबसूरत आँखे हैं आपकी, आपके मुस्कराने से गाल पर डिंपल पड़ते हैं, वो आपकी तरफ आकर्षित करते हैं. वो ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां ले रही थी ‘इसस्स … उम्म्ह… अहह… हय… याह… स्स्स्शहह … आआहह …’मेरी ममेरी बहन चुदाई में मेरा भरपूर साथ भी दे रही थी. जिन लोगों ने इस आसन में चुदाई की है उनको पता है कि इस आसन में चुदाई करने का अपना अलग ही मजा होता है.

मैंने कहा- आपको मेरी गर्लफ्रेंड की बड़ी जानकारी है भाभी … वैसे मैं बता दूँ कि अभी तक कोई लड़की मेरी गर्लफ्रेंड बनी ही नहीं है. ?” अंकल को तो सब पता था, फिर भी अनजान बनने का नाटक कर रहे थे, शायद उनको मेरे ही मुँह से सब बुलवाने में मजा आ रहा था. इसके बाद मैं रात में अपने और निक के बारे में सोचती रहती कि उसका लौड़ा कितना बड़ा होगा.

anna सेक्सी वीडियो

वह मुझको बिल्कुल चिपक के पकड़ने लगा और मुझे बहुत गंदी गालियां देने लगा. मैंने कहा- मेरा घर यहाँ से बस केवल 10 मिनट की दूरी पर है, मैं आपको वापस कार से छोड़ दूँगा. तुम भी अपने फोन को कुछ इस तरह से अड्जस्ट कर लेना ताकि पूरी चुदाई रेकॉर्ड हो जाए तो फिर मैं उसको देखूँगी.

मम्मा ने अपनी टांगें फिर से खोल दींमैंने धीरे धीरे लंड अन्दर डालना शुरू कर दिया, साथ ही मम्मा के रस भरे स्तनों से खेलना शुरू कर दिया.

मैंने एलेक्स के अंडरवियर को भी खींच लिया और उसे बिल्कुल नंगा कर दिया.

जैसे ही मेरा हाथ उसके कोमल चुचे पर गया, उसकी हल्की सी सिसकारी निकल गई. सर ने मेरी तरफ देखा, तो मैंने पूछा- क्या हुआ सर?सर मुझसे बोले- तुम अपने काम में ध्यान लगाओ. राजस्थानी सेक्सी वीडियो भाई बहन कीमैंने उसकी तरफ देखा और पूछा- स्माइल क्यों कर रही हो?दीदी बोली- जब तू हाथ फेरता है तो गुदगुदी लगती है.

मैं पहले तो चित लेटा था, फिर मैंने भी करवट बदल कर चेहरा उनकी तरफ कर लिया. मैं बाहर के कमरे तक पहुंचा ही था कि उन्होंने मुझे पीछे से आवाज़ लगा कर पूछा- गौरव, क्या तुम्हें घर में कोई काम है?मैंने कहा- नहीं, ऐसा कोई जरूरी काम तो नहीं है, क्यों आपको कुछ और भी काम था क्या?उन्होंने बोला- हां, कल मैं पौंछा लगा रही थी, तो मेरा पैर पानी में थोड़ा फिसल गया था. साथ ही साथ मैं उसकी चूत की फलकों को भी अपने होंठों से चूम लेता तो कभी दांतों से काट लेता था.

उसी समय मैंने मम्मी को तेजी से चोदना शुरू कर दिया था तो मेरा मोटा लंड मेरी मम्मी की चूत को भोसड़ा बनाने में लगा हुआ था. कुछ देर बाद वो मीठी और चुदासी सीत्कारें भरने लगी- आह हम्मम्म आई अअअअअ … मजा आ गया … आह चोद और तेज चोद … फाड़ दे अअअह … अअअह …मैं धकापेल चुदाई करने लगा.

मैं- जीजू, मेरी हालत खराब हो रही है, अब मुझे छोड़ दो प्लीज!लेकिन जीजू कहां मानने वाले थे, उनको तो आज एक सुनहरा मौका मिल गया था, जीजू ने अपनी जीभ मेरी चूत के छेद में डाल दी और अपनी जीभ से ही मेरी चूत को चोदने लगे.

अब मैंने उसकी चूत में उंगली करते हुए उसे कमर के बल सीधा लेटा दिया अब उसके तने हुए स्तन मेरे सामने थे. अंकल ने अपनी गांड पीछे की तरफ दबाई, तो मेरा आधा लंड उनकी गांड में घुस गया. मैंने दरवाजे के पास जाकर उस जगह में से देखा तो दोनों की पीठ दरवाजे की तरफ थी.

क्सक्सक्स सेक्स वीडियोस जिस प्रकार मैं झुकी हुई थी और वो मुझ पर दोनों टांगें फैला कर चढ़ा हुआ था, उससे धक्के बहुत मजेदार लग रहे थे. पहले गले पर, फिर और भी नीचे और फिर उसकी उभरी हुई छाती पर चूमने लगा.

उन्होंने अपने मकान की पूरी देखरेख की जिम्मेदारी मुझे देखने को दी और चले गए. यह पोर्न कज़िन्स सेक्स कहानी तब की है, जब मैं गर्मियों की छुट्टी में गांव गया था. वो मुस्करा कर कहने लगी कि उस वक्त मैं अपनी छोटी बहन को अपनी मदद को बुला लूंगी.

सेक्सी पिक्चर जान

थोड़ी देर के बाद नफीसा भाभी ने अपना पानी निकाल दिया और मैं अपने खड़े लंड को पेंट में सैट कर के वहाँ से नीचे आ गया. वो मेरे चेहरे पर, मेरे होठों पर, मेरी गर्दन पर और मेरे कानों के लौ को बार बार चूमने लगा. और हम जो खेल खेलने जा रहे हैं, उसमें इस तरह के रिश्ते की कोई जरूरत नहीं है। इसलिए मैं तो रूपाली को मौसी न कह कर भाभी कहूंगा।अरुण तुरंत बोला- हां यार रोहित, तुमने बिल्कुल ठीक कहा.

हम दोनों कॉलेज पहुंचे, तो मेरे दोस्तों ने पूछा- यह कौन है?मैंने कहा- यह मेरी गर्लफ्रेंड है. एक तो मिसेज शर्मा नहीं थीं … और शर्मा सर लगातार मुझे देखे जा रहे थे.

चाचा भी कुछ कम नहीं थे, परिवार में शायद ही कोई बचा हो जिसे उन्होंने नहीं चोदा हो.

आशीष ने तेजी से अपने लौड़े की स्पीड बढ़ाते हुए एकदम पूरा झटका मेरी चुत पर मारा और फुल स्पीड से चोदने लगा. ऐसे ही रोज भाभी आतीं, ऐसे ही देखतीं … वो कोई इशारा भी नहीं करतीं और ना ही मुस्करातीं. पापा बोले- वाह मेरी रानी, क्या चूत है तुम्हारी! मेरे लंड ने तेरे भोसड़े को खोल दिया.

उसने भी अन्दर कुछ नहीं पहना था यानि आज वो भी पूरे मन से चुदने के लिए मूड बना कर आई थी. मैं रूपा को गोद में उठा कर मम्मी पापा के कमरे में ले गया और उसे बेड पर लिटा दिया. जब वो कपड़े चेंज करने जातीं, तो अक्सर दरवाजा बंद नहीं करतीं, शायद उन्हें लगता कि उनके कमरे में कौन आ जाएगा.

बस फिर मैंने अपने हाथ उसके मम्मों पे रखकर थोड़ा सा धक्का मारा, तो मेरे लंड का टोपा उसकी चुत में घुस गया था.

एचडी सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ: मैंने उंगली में थोड़ा सा थूक लगा कर अपनी एक उंगली दीदी की चूत के अन्दर डाल दी. थोड़ा इंतज़ार करने के बाद मैंने अपना हाथ सीधा उसके मम्मों पर रख दिया और दबाने लगा.

एक काम करो पहले मुझे चोद लो ताकि वह चुदाई देख कर अच्छे से गर्म हो जाए और फ़िर वह अपने आप करने को कहेगी. यह सब डॉक्टर जूली की निगरानी में हो रहा था इसलिए वह भी नर्स की हरकतें देख कर मुस्कुरा रही थी. उनकी आंखों से दर्द साफ झलक रहा था परंतु साथ ही संतुष्टि की भाव भी टपक रहा था.

लेडी डॉक्टर, जो मेरी स्कूल की क्लासमेट थी, से बात की तो वो बोली- चूंकि लंड की नसें खड़े रहते समय दबी लगती हैं इसलिए ये बैठ नहीं रहा है बाकी तो पूरी गहन जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है.

वो मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ कर बोली- तुम्हारे लंड से चुदने में बहुत मजा आएगा. मुझे बेहद मजा आ रहा था तो मैं बस मादक आवाजें भरते हुए उनके लंड से अपनी गांड को चुदवा रहा था. गांड के छेद पर उंगली का स्पर्श पाते ही नीरजा इस डर से घोड़ी बनी हुई ही आगे को भाग गई कि मैं उसकी गांड में लंड डालूँगा.