बीएफ सेक्सी राजस्थान की

छवि स्रोत,बेटे बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

पांडे जी का बेटा: बीएफ सेक्सी राजस्थान की, मैंने उससे नजदीक जाकर कहा- अदिति ये तुम क्या कर रही थीं और ये सब कबसे कर रही हो?वो मुझे देखकर डर गई और शर्म से अपने एक हाथों से चूचियों को और दूसरे हाथ से अपनी चूत को छिपाने लगी.

बीएफ सेक्सी पिक्चर वाली

भैया बोले- कितने दिनों के लिए आई है?मैं बोली- एक महीने के लिए आई हूँ. मेहरारू के बीएफमेरे पास यही एक सप्ताह था जिसमें मैं भाई को अपनी ओर आकर्षित कर सकती थी.

उस मोहल्ले में पहुंचने के बाद रास्ते में सामने से पुलिस को आते हुए देखा तो टैक्सी वाला गाड़ी छोड़ कर भाग गया. तुम्हारे बीएफमैंने नोटिस किया कि सौम्या डार्लिंग को सुबह 10 बजे कॉलेज जाना होता था.

मैंने जींस की चैन खोली और लंड पर थूक लगा कर और हाथ से पकड़ कर आगे पीछे करने लगा.बीएफ सेक्सी राजस्थान की: वो बोली- चूऊऊहाआ …इतने में चूहा भी भाग चुका था … लेकिन फिर भी वो मेरे पास चिपकी रही.

ये कहते हुए उसने अपना बाथरोब उतार दिया और उसे नंगी देखते ही मेरा लंड और ज्यादा कड़क होने लगा.मैंने उसको उल्टा लेटा दिया और उसके बालों को साइड में करके उसकी गर्दन पर पीछे से चूमा, तो उसकी तो आवाज़ निकल पड़ी- उम्म्म्म!वो अपने होंठों को खुद काट रही थी.

बीएफ ओपन एचडी वीडियो - बीएफ सेक्सी राजस्थान की

मैंने कम्बल के अन्दर से ही शिल्पा को सीधा किया और उसकी टांगों के बीच में आ गया.मैं समझ तो गई थी कि साला मुझे चोदने की परफोर्मेंस की बात कह रहा है.

जब लड़की को ये पता चलता है उसका ब्वॉयफ्रेंड भी कुंवारा है तो उसकी ख़ुशी लाजिमी होती है. बीएफ सेक्सी राजस्थान की उसके होंठ उसकी उसकी मस्त आंखें, उसकी गर्दन, वो थिरकते चुचे, वो उसकी चुत की शेप याद करते ही मेरे लंड में जैसे करंट आ गया हो.

एक बार मैंने उसे रियल सेक्स के लिए कहा तो उसने मुझे अपने शहर में बुला लिया.

बीएफ सेक्सी राजस्थान की?

‘उम्मम्मम्म स्स्स सर क्या नशा है … उम्मम्म स्स्स्स आह सर … अब मेरी चूत को चूसिये न. अब वो बात तो मुझसे कर रही थी पर उसकी आंखें मेरे लंड को देख रही थीं जो मेरी चड्डी के अन्दर था. मैं- बहुत आग है ना तेरी चुत में बहनचोद रंडी साली … अब चुद अपने यार के मोटे लंबे लौड़े से.

भैया बोले- क्या बोला था मेरी जान?मैं- भूल गए, मुझे बच्चा चाहिए आप बोले थे न कि मैं दूंगा. डॉक्टर ने मम्मी की टांगों को ऊपर उठाकर अपने कन्धों पर रख कर जी भर के चोदा और शांत हो गया।कुछ देर बाद डॉक्टर का लंड दोबारा खड़ा हो गया. मेरे घर में मेरे मम्मी-पापा, एक भाई, चाची और उनकी दो बेटियां रहती हैं.

फिर मेरे घर आने के 10 मिनट बाद पम्मी आंटी ने मुझे कॉल किया और पूछा- हां बताओ क्या स्कीम थी?मैंने कहा- आंटी अगर आप मुझ पर भरोसा करो, तो एक जुगाड़ है … जिससे आज रात ही हम एक दूसरे की तड़प मिटा सकते हैं. जय मेरी चूचियों को पीते हुए मेरी बुर में अंगुली डाल कर सहला रहा था. दस मिनट बाद हार्दिक झड़ने वाला हो गया था तो हार्दिक ने शनाया से कहा.

लैगी तो आप जानते ही हैं कि एक ऐसी टाइट सलवार होती है, जो टांगों से एकदम चिपकी हुई रहती है. ऐसा बोलकर सौम्या ने मेरा लंड अपने कोमल हाथों में पकड़ा और उससे भी ज्यादा कोमल गुलाब की पंखुड़ियों जैसे अपने होंठों के बीच समेटने की कोशिश करने लगी.

किस करते करते मैंने उनका ब्लाउज और पेटीकोट भी निकाल कर अलग कर दिया.

पिंकी चिल्लाने लगी- ऊई ईईई ऊईईई ऊईईई ऊई … मर गई … निकाल निकाल … मर गई!रोमिल ने लंड रोक दिया और उसकी चूचियों को सहलाने लगा।थोड़ी देर बाद पिंकी का दर्द कम हुआ तो रोमिल ने धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करना शुरु कर दिया।अब पिंकी आहह आहहह आहह करके धीरे धीरे अपनी गांड आगे पीछे करने लगी.

पत्नी ने अपनी मैक्सी के अन्दर से अपने दोनों मम्मों को बाहर निकाल दिया और मेरा सर पीछे से पकड़ कर निप्पल पर लगा दिया. हार्दिक ने इस बार शनाया को घोड़ी बनाया और अपना लंड उसकी गांड पर रख दिया. फिर वो उठकर बेड पर बैठ गयी और गांड किनारे रखकर पीछे की तरफ लेट गयी.

हम दोनों बस में ही बहुत ज्यादा गर्म हो चुके थे और एक दूसरे में जल्दी से जल्दी समा जाना चाहते थे. जब मैं जाता हूं तो उंगलियों से अपनी नाजुक कोमल गुलाबी चुत मसलती है, मुझे चोदने के लिये उकसाती है. मस्ती से वो मेरे सर को पकड़ कर अपने मम्मों पर दबा रही थी और मुझसे अपने थन चुसवा रही थी.

फिर मैं वापस पीछे से उसकी चुत और गांड चाटने लगा और मैंने जबरन अपनी दो उंगलियां चुत में और एक गांड में डाल दीं.

तभी रिंकू ने भी अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसे तेज तेज हिलाने लगा. मैंने खुद को रिया के ऊपर से उठाया और कुछ ज़ोर लगाकर बाक़ी का बचा हुआ लंड भी चुत के अन्दर पहुंचा दिया. मैं बस इतना कह सकता हूं कि मेरा लंड एक औरत को पूरी तरह से संतुष्ट कर सकता है.

फिर जैसे ही मैंने मुश्किल से उसकी चूत के दाने को उंगली से पल भर के लिए छुआ होगा … तो उसकी चुत का पानी मेरी हथेली पर आना शुरू हो गया. करीब बीस मिनट तक मैं सरिता की चूत चोदता रहा और सरिता मादक आवाजों के साथ सीत्कारती रही थी. ऐसा लग रहा था कि उसने कुछ ही दिन पहले ही अपनी चूत के बाल साफ किए होंगे.

मैं बहुत ही ज्यादा दिमाग लगाता रहा था लेकिन कुछ भी रास्ता नहीं मिला.

दोस्तो, मैं हर्षद मोटे आपको अपनी गरम सेक्स कहानी के अगले भाग में मजा देने के लिए फिर से हाजिर हूँ. तो फिर उसने भी मुझे जोर-जोर से गोद में उछालना शुरू कर दिया अपने लण्ड पर और जबरदस्त तरीके से मेरी चूत में लण्ड देने लगा.

बीएफ सेक्सी राजस्थान की मैंने उसको पूरा मुंह में ले कर चाटना शुरू कर दिया और अच्छी तरह उसको अपने थूक से भिगो दिया. भाभी के दूध इतने बड़े थे कि उनके एक बोबे को दबाने के लिए मुझे अपने दोनों हाथों की जरूरत पड़ी.

बीएफ सेक्सी राजस्थान की ससुराल में आते ही मेरे पति ने मुझसे पूछा- तुम मुझे कुछ सरप्राइज देने वाली थी … क्या है बताओ?मैं बोली- मैं प्रेग्नेंट हूँ. मैं भैया से बोली- भैया मम्मी की चूत कैसी लगी?भैया बोले- एकदम कचौड़ी है … इससे पहले भी मैं मम्मी की चूत के मजे चार बार ले चुका हूँ.

उस दिन मुझे उसके होंठों का अहसास पाते ही लगा, जैसे मुझे एकदम से करेंट लग गया हो.

বাংলাদেশ বফঁ

दूसरी बात मैं तुम्हें प्यार करता हूँ और तुम्हारे लिए कुछ भी कर सकता हूँ. मैं चूचों को ब्रा के ऊपर से ही दबा रहा था और ब्रा को नीचे सरकाकर उन्हें एकटक देखने लगा. उसके बाद फोन पर बातें तो होती ही रहती थीं पर मिलना नहीं हो पाता था.

मैंने कहा- रूकिए आप तो ऐसे मेरी सारी मेहनत बर्बाद कर देंगी, मेहंदी मिट जाएगी. मैं अपने आपको समझाती रही कि मेरे पति का काम का बोझ, अस्पताल की बढ़ती हुई जिम्मेदारियां और बारह से चौदह घंटा काम करना … शायद इसी वजह से वो मुझे अपना समय नहीं दे पाते हैं और ना ही मुझे सेक्स का पूरा आनन्द दे पाते हैं. नई भाभी की चुदाई कहानी के पिछले भागदोस्त की बीवी ने मुझसे बच्चा माँगामें अब तक आपने पढ़ा था कि सरिता मेरे लंड से चुदने के लिए एकदम गर्म हो गई थी.

मैं उसकी चूत के दाने को चाटने में लग गया और उंगली उसकी चूत में डालने लगा.

जब दो दिन तक मैं चाची के साथ बिस्तर पर सोया तो मैंने अपनी हरकत शुरू कर दी. लेकिन एक हॉल में जगह मिल गई जहां तख्त डाले हुए थे और लोगों ने जगह कब्ज़ा रखी थी. मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दी, मेरा पूरा लंड पत्नी के चुत में अन्दर बाहर हो रहा था.

मैंने एक हाथ उठा कर उसके स्तन पर रख दिया और पूरी मस्ती से दूध दबाने लगा. उसने अपने दोनों हाथ नीचे लेकर अपने हाथों से चूत को दोनों तरफ फैला लिया. फिर मेरे मन में मजाक सूझा तो मैंने कहा- ठीक है क्लास के अलावा मैं आपको श्रेया दीदी कहूंगा.

मैंने तुम्हें काफी छोटे से बड़े होते देखा है, तो मुझे थोड़ा डर सा लगता है. यूं ही अपनी मॉम के होंठों को चूसते चूसते मैं उनके मम्मों के निप्पलों को अपने जीभ से चाटने लगा.

एक हाथ से मैंने पेटीकोट का नाड़ा खोलना चाहा लेकिन नहीं खुला तो मैंने झटके से तोड़ दिया. उसमें लिखा था कि आप बहुत ही हॉट हो, कसम से आपके जैसी माल मिल जाए … तो क्या कहना. वैसे तो मैं खुद ही चाची की चूत मारना चाह रहा था लेकिन उनके ब्लाउज खोलने की बात कहने पर न जाने क्यों मेरे हाथ कांपने लगे.

मैं असल में तो उसे नहीं चोद पाया पर मैं उसे चोदना चाहता था तो कल्पना से यह कहानी लिख दी.

इतनी देर से मैं इन चूचों को देख रहा था पर हाथ में लेने में मुझे और भी मजा आ रहा था. समीर मुझे देख कर मेरे भाई से बोला- अरे वाह, तेरी बहन तो इस ड्रेस में मस्त माल लग रही है. ये दर्द होता है और खून भी निकलता है। अब आराम आराम से करोगी तो दर्द भी ठीक हो जाएगा.

उस दिन देर रात को मैंने हिम्मत करके उसके घर में जाने का तय कर लिया. अब मैं अपनी पेशाब की धार की गति और तेज करके सरिता की चूत के गुलाबी दाने पर छोड़ने लगा.

ये सुनते ही दो चार धक्कों के साथ ही मेरे लंड से वीर्य जोर से पिचकारियां छूटने लगीं. इस बीच मेरी एक दो बार नजर शालू की आंखों से मिलीं तो उसकी आंखों में मुझे खुस के लिए एक कशिश सी दिखाई दी. फिर जैसे ही उसकी जीभ ने मेरी चुत और भग पर हरकत की, मैं सातवें आसामान में उड़ने लगी थी.

लड़की की चूत की सेक्सी

अब चाचा जी ने लंड पेले हुए ही दीदी की चूचियां दबानी शुरू की और बाइक चलाने को बोल दिया.

वो हल्की सी मुस्कुरा दी और बोली- फ्लर्ट कर रहे हो!मैंने कहा- सच कह रहा हूँ यार … मैं कोई गप नहीं सुना रहा हूँ. वो दिखने में काफी खूबसूरत थीं, उनका रंग एकदम दूध की तरह सफेद था और फिगर 34-24-36 का था. राहुल बोला- अरे तो अब क्या टेंशन है चाची … मैं आ गया हूँ ना आपकी सारी बोरियत उतारने.

यदि वो हां कहता है तो ही हम यह टास्क करेंगे वरना और कोई नई युक्ति लगाएंगी।रात को जब सब सो गए, तब हमने जगह का मुआयना करना था. मैंने दूध गर्म किया और मौसी के दूध में वो सेक्स की इच्छा बढ़ाने वाली दवा अच्छी तरह से मिक्स कर दी और दूध का गिलास लेकर सीधा मौसी के कमरे में चला गया. मराठी बीएफ सेक्सी ओपनउनकी चूत और मेरे लंड के मिलन की गवाही कमरे में आ रही मादक आवाजें दे रही थीं.

मगर वो बड़ी साहसी लौंडिया थी, उसने अपने दांतों को भींच कर मेरे लंड के हमले को सहन कर लिया था. उस दिन मुझे उसके होंठों का अहसास पाते ही लगा, जैसे मुझे एकदम से करेंट लग गया हो.

आज तो मुझे मौका भी मिल गया था, जब आपने चाइनीज स्टॉल पर आकर मेरे पास ही बैठने के लिए पूछा. [emailprotected]हॉट सिस्टर Xxx कहानी का अगला भाग:भाई से चूत की सील तुड़वा ली- 2. वह पागलों की तरह सिसकारियां ले रही थी।तभी उसने मुझे बोला- जानू अब लंड अंदर डाल दो! मेरा बहुत मन कर रहा है.

मैंने सहलाते सहलाते उसकी पैंटी नीचे कर दी और अपने एक पैर से नीचे खींचकर निकाल दी. तो उन्होंने मम्मी से कहा- दीदी आप अरुण को कुछ दिन के लिए मेरे पास भेज दो. उन्होंने कहा- साले दो चुतों से तेरा मन नहीं भरा क्या?मैंने कहा- मैं जहां से निकला हूँ, उसमें लंड घुसेड़ना चाहता हूं.

उसने अपने दोनों हाथ मेरे बालों में डाल दिए और मुझे अपनी नाभि में और दबा दिया.

सभी औरतों को मेरी ये आदत बहुत पसंद है कि मैं बिना नागा हमेशा मेरी बेटी को छोड़ने आता हूँ. तुम अपने जीजा जी के जैसे मत बनो, इन्होंने शराब पी पीकर अपना शरीर खराब कर लिया है.

खाला की आवाज़ें निकलने लगीं- उफ्फ आआह उम्मन आआह मार दिया साले हरामी कुत्ता!थोड़ी देर बाद खाला को मज़ा आने लगा और 15 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला हो गया था. धकापेल चुदाई करते हुए मैंने अपना रस चाची की चुत में टपका दिया और उनके ऊपर ही ढह गया. चाय पीते पीते मैं एक हाथ से सोनाली की जांघें और चूत को पेटीकोट के ऊपर से सहलाता रहा.

अब तक हम दोनों ने आपस में अपनी सारी चीजें बांटी थीं लेकिन मेरी एक चीज़ मैंने अभी तक उसे नहीं दी थी; वो मैंने उसके जन्मदिन पर उसे देने की ठान ली. वो मेरी ओर थाली करती हुई बोली- मुआफ़ कीजिए मुझसे गलती हो गई, मैं बहक गयी थी. मैं- क्या हुआ जान … क्या घूर रही हो, पहले कभी लंड नहीं देखा क्या?मौसी- देखा तो है … पर इतना बड़ा पहली बार देखा है.

बीएफ सेक्सी राजस्थान की रास्ते में मैंने उससे पूछा- फ़लक एक बात बताओ, आज तुमको इतना दर्द क्यों हुआ … और तुम्हारा खून भी निकला. मुझे सुबह देखी हुई रानी की चूचियां और बालों से भरी चूत दिखाई देने लगी, जिससे मेरा लंड खड़ा होने लगा.

मां की सेक्सी वीडियो हिंदी

वे अपनी सहेली की शादी में गाँव में गयी तो उन्होंने क्या किया?यह कहानी सुनें. जब वो झड़ा तो उसने अपने लंड से वीर्य की पिचकारियां मेरे स्तनों और चेहरे पर मार दीं. लोगों की तकलीफ़ को महसूस करता हूं … और उनको यथासंभव सहारा भी देता हूं.

बेडरूम के अंदर सच में क्या सीन था वो!उन्होंने मुझे बेड पर पटका और जल्दी जल्दी अपने सारे कपड़े उतार लिए. उस समय गर्मी का मौसम था तो खाना खाने के बाद मैंने अपना बिस्तर नीचे जमीन पर बिछा लिया और वो बेड पर लेट गई. लोकल बीएफ दिखाइए चोदते हुएकुछ धक्के मारने के बाद मैंने सारा पानी उसकी गांड के ऊपर गिरा दिया और शांत हो गया.

वो जोर से चीखी … पर मैं रुका नहीं।सिसकारियाँ भरते हुए उसने कहा- हाँ ऐसे ही … आह … मजा आ रहा है!मैंने कहा- बहुत!और उसे चूमने लगा।तभी उसने मुझे कस के पकड़ लिया और खाली हो गई।मैं अभी भी चोद रहा था.

रात के करीब एक बजे मुझे महसूस हुआ कि मेरे पेट पर अमित का हाथ रखा है. उन्होंने मुझसे बात करनी शुरू कर दी- और सुना क्या कर रहा है?मैंने कहा- आपकी लिंक खोल कर देख रहा हूँ.

जब वो मटक मटक कर चलती है तो ये तय मानिए कि किसी की भी नीयत उस पर खराब हो सकती है. हमें कोई डर भी नहीं था, तो हमने रोड पर ही एक दूसरे को किस कर दिया और हम स्माइल करके ऐसे ही मस्ती मस्ती में चलने लगे. हम दोनों ही काफ़ी थक गए थे तो मैंने रूम पर इधर उधर देखा कि कुछ खाने को है.

मैंने शिखा की टांगें खोलकर उसकीकुंवारी अनछुई बुरपर अपनी गर्म जीभ से स्पर्श किया.

नीरजा ने ‘ओके मम्मी …’ कहा और मेरी तरफ देख कर मुस्कुरा दी- चलिए मामा जी!मैं नीरजा के साथ गेस्टरूम में आ गया. चाची की Xxx कहानी के पहले भागमेरे दोस्त ने अपनी चाची को चोदामें अब तक आपने पढ़ा था कि अनीता चाची की लाइव चुदाई देखने के बाद मेरे लंड में तनाव सा बना हुआ था, जिस वजह से मेरा लंड खड़ा था. वे मेरे बूब्स को चूसने लगे और दोनों बारी बारी से चूत को अंगुली से चोद भी रहे थे.

सेक्सी बीएफ एचडी में फुल एचडीथोड़ी देर पेट को सहलाने के बाद मैंने शिखा को पलटा और मेरे हाथ उसके भरे हुए उरोजों को मसलने लगे थे. नई भाभी की चुदाई कहानी के पिछले भागदोस्त की बीवी ने मुझसे बच्चा माँगामें अब तक आपने पढ़ा था कि सरिता मेरे लंड से चुदने के लिए एकदम गर्म हो गई थी.

बहन के साथ

थोड़ी देर बाद, विशाल ने कहा- मोहन, रवि तुम दोनों बाथरूम में चलो, मैं तुम दोनों को नहलाऊंगा. मैंने कहा- दादी के रहते हमारा मिलना कैसे सम्भव हो पाएगा?उसने कहा- दादी की तबियत खराब रहती है और वो रात में दवा लेकर सो जाती हैं. ऐसा लग रहा था कि उसे इस सबकी कुछ उम्मीद ही नहीं थी, न ही खबर थी कि ऐसा भी कुछ होगा.

लंड के अन्दर जाते ही मुझे बहुत दर्द हुआ, मेरी बुर की सील टूट गई थी. [emailprotected]Xxx इंडियन भाभी की कहानी का अगला भाग:अनजान भाभी से मुलाकात और सेक्स- 2. कोई इस खूबसूरत मुस्कुराती लड़की पर अपना दिल खो बैठे, तो मैंने भी कह दिया कि डेट पर आया हूँ … हा हाहा हा.

मैंने पहली बार कोई सेक्स कहानी लिखी है, इसमें हुई गलतियों के लिए माफ़ी सहित मैं आपके सुझावों की प्रतीक्षा करूंगा जिससे अगली बार उन्हें सुधार कर आपको उत्तम मनोरंजन पेश कर सकूं. जैसे ही अलग किया प्यारी सी छोटी सी गुलाबी गुलाबी चूत के दर्शन हो गए. मैंने एक हाथ उसकी कमर पर रखा और दूसरे हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा.

सिंपल सी भौंएं, गोरा रंग, कानों में छोटी छोटी सी बालियां, होंठों पर लाल रंग की लिपस्टिक. रात के करीब एक बजे मुझे महसूस हुआ कि मेरे पेट पर अमित का हाथ रखा है.

उसने आधा लण्ड मेरी चूत में पिरो दिया था और वापस थोड़ा खींचकर एक जोरदार झटका दिया और एक ही झटके में पूरा का पूरा का पूरा कड़क लण्ड चूत में समा दिया.

इसी तरह की बातचीत के बाद आज हम दोनों ने अपने नंबर्स भी एक दूसरे को दे दिए. बांग्ला बांग्ला बीएफमैं उसके पास गया और पीछे से मेरा साढ़े छह इंच लंबा और तीन इंच मोटा लंड उसकी गांड से रगड़कर उसे मनाने लगा. हिंदी बीएफ ओपन सेक्सउस मस्त माल की अन्तर्वासना मैंने कैसे जगाई, फिर उसे कैसे चोदा?मेरा नाम विजय है. तो मैं शहर आया और जैसे ही मैंने चाचा जी के घर का दरवाजा खटखटाया, तो सामने से चाचा की लड़की दरवाजा खोलने आई.

मैं हमेशा सेक्स करने के बारे में सोचता रहता था पर मौका नहीं मिल पाया था क्योंकि मैं बहुत ज्यादा शर्मीला था.

मैंने उनकी तरफ देखा तो भाभी बोलीं- अभी टाइम नहीं है, जल्दी से अन्दर बाहर कर लो. मेरी गांड पूरी तरह जल रही थी, पर रवि के लंड की वजह से मैं चीख नहीं पा रहा था. फिर उसने मुझको पीछे को धक्का दिया मेरी टांग उठा कर मेरी गांड चाटने लगा.

मैंने गोद में ही सौम्या डार्लिंग की चूत के छेद पर लंड रगड़ना शुरू कर दिया. फिर भी जैसे ही मैंने उसकी चुत को चूसना शुरू किया तो वो अपने आपे से बाहर हो गयी और एक बिन पानी मछली की तरह तड़पने लगी. वो बोली- फिर कैसे?‘तुम अपना घूंघट डालो और मेरा इंतज़ार करो कि कब मैं तुम्हारा घूंघट उठाऊंगा और कब सुहागरात मनाऊंगा.

वीडियो हिंदी बीपी सेक्सी

अब ऐसे ही हम दोनों की बातें होना शुरू हो गईं ‘खाना खाया कि नहीं, आज क्या बनाया, क्या पहना, कहां गए, क्या किया. हॉट न्यूड गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि जब मैंने भाभी की बहन को नंगी चूत में उंगली करते देखा तो मैंने उसे पकड़ लिया और चुदाई के लिए राजी कर लिया. फिर दीदी शांत होकर बोलीं- कोई बात नहीं राजू, इस उम्र में ऐसा हो जाता है.

धीरे-धीरे पिछवाड़े पर भी हाथ रगड़ने लगा और फिर जानबूझकर हाथ उसकी चुत पर टच किया तो उसने एकदम से लंबी सांस भरके आह कर दी.

हमारे बीच केवल फोन में मिलने का वक्त तय करने के लिए ही बात होती थी.

मॉम एकदम जोश में थीं, वो बोलीं- कल कर लेना शादी … अभी पहले मेरी चुत की गर्मी शांत कर. कुछ ही दिनों में हम दोनों के अन्दर एक दूसरे के लिए इतनी बेचैनी बढ़ गई कि जल्दी मिलने को जी करने लगा. सनी लियोन का बीएफ वीडियो एचडीचाची के मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं और कुछ ही पलों में चाची मेरे मुँह पर ही अपनी चुत रगड़ती हुई अपना पानी छोड़ बैठीं.

साथियो, मैं हर्षद मोटे आपका एक बार पुन: अपनी गरम सेक्स कहानी में स्वागत करता हूँ. कुर्ता हटाने के बाद मैं जैसे ही उसके होंठों के पास आया, वो खुद ही मेरे होंठों को खाने लगी और उसके दोनों पैर मेरे कमर में कैंची की तरह जकड़ गए थे. ऐसे ही लंड को बाहर निकाल निकाल कर धक्के मारता रहा जिससे शिल्पा की हालत और भी खराब हो गई थी.

जब वो अपनी गांड मटका कर चलती थी तो ऐसी लगती थी मानो कोई हंसनी चल रही हो. मैं पानी पीने नीचे किचन में गया, तो भैया के रूम से लड़ने की आवाज सुनाई दी.

लेकिन जैसे ही मेरा हाथ उसकी चुत की तरफ़ जाने लगा, तो उसने मेरे हाथ को रास्ते में ही रोक दिया.

मैंने पूछा- क्या हुआ मेरे दोस्त को …उसने बिना कुछ कहे मुझे गले से लगा लिया, मेरे सीने पर सर रख कर रोने लगी. मैं चाहती हूं कि जब मैं फेरे ले रही होऊं, तब मेरी चूत तुम्हारे स्पर्म से भरी हुई हो. कार से उतरते समय उसने जब बाय किया तो मैंने कहा- अगर मेरी कोई बात अनजाने मैं बुरी लगी हो तो सॉरी.

मुसलमानों बीएफ मैं मौसी की चूत का सारा पानी पी गया और चाट कर उनकी चूत एकदम साफ कर दी. तभी मैं अच्छे से चैक करके दवाई से साफ कर पाऊंगी और मलहम भी अच्छे से लगा सकूँगी हर्षद.

वो बोली- फोन क्यों नहीं उठा रहे थे?मैंने कहा- मैं तुमसे तुम्हारा जवाब जानना चाहता हूँ. मैं जाकर एलिस्टेयर की गोद में बैठ गई।पर तीनों पता नहीं क्यों मुंह लटकाए हुए बैठे थे. मेरी हाइट को देख कर कोई नहीं कह सकता कि मेरा लंड 6 इंच का हो सकता है.

काजल हीरोइन सेक्सी व्हिडीओ

‘मुआआ … आह …’अब मैंने भी थाली को रख दिया और उसके पीछे अपने हाथ ले गया. तभी वो बोली- मेरी चूत को साफ़ कर दो, मुझसे इसकी सफाई नहीं हो रही है. अभी बिजी हो क्या?मैंने कहा- कुछ खास नहीं, आप बोलिए न!उसने कहा- अभी आ सकते हो क्या मेरे घर?मैंने कहा- क्या हुआ है? सब कुछ ठीक है ना?तो उसने कहा- कुछ ठीक नहीं है हर्षद.

तब मैंने अपने लौड़े को साली की जवान बेटी की चूत में से बाहर निकाला और मैं नेहा को अपनी बांहों में पकड़ कर लेट गया. यह सेक्स कहानी मेरी गर्लफ्रेंड और घर के सामने रहने वाली भाभी की है.

उसने अपनी मम्मी से कह दिया- मुझे सिर और पेट में दर्द हो रहा है, मैं आपके साथ नहीं जा पाऊंगी.

अब दोस्तो, अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने सौम्या की शादी में जाकर सौम्या को उसकी सुहागरात में भी मेरे बाप से पहले चोदा और कैसे सौम्या को नसबंदी करने से बचाया. मैं सोच रहा था कि अभी इसके साथ कुछ नहीं करूंगा क्योंकि आज इसको काफी दर्द हुआ है. मेरा लंड जैसे जैसे उसकी चूत में आ-जा रहा था, उसकी चुद बहुत टाईट और कसी होती जा रही थी.

वो शादी रात की थी, मैं भी सौम्या की शादी में गया था, जाता कैसे नहीं … सौम्या को दिया हुआ वादा भी तो पूरा करना था. दीदी- क्या हुआ … चुप क्यों हो गया?मैं- पर दीदी आपने ऐसा क्यों किया और फेक नाम से एकाउंट क्यों बनाया?माया- मैंने तो टाइम पास के लिए बनाया था, पर तुम मिल गए तो सोचा तुम्हारे साथ मस्ती कर लूं. अगले दिन फिर मेरे हस्बैंड का फोन भी आया और उन्होंने मुझसे कहा- अभी मुझे यहां टाइम लग रहा है.

उसके मुँह से जोर जोर से बड़बड़ाने की आवाज आने लगी- हर्षद अब कुछ करो, नहीं सहा जाता उफ्फ स्स … स्स हूँ हुह उफ.

बीएफ सेक्सी राजस्थान की: उसकी गांड की दरार देखकर मुझसे रहा नहीं गया, तो मैं एक हाथ से सरिता की गांड सहलाने लगा. अभी आपसे बस इतनी सी इल्तजा है कि यदि आपको मेरी लंड सकिंग सेक्स स्टोरी पसंद आई हो, तो प्लीज मेल करके मेरा हौसला जरूर बढ़ाएं.

फिर शिल्पा ने मुझे वो सब बातें भी बताई जिससे मुझे मालूम हुआ कि वो मुझे शुरू से ही पसंद करने लगी थी. रेखा की कमर के नीचे एक तकिया रखा ताकि चूत का मुँह ऊपर रहे और आसानी से खुल जाए. उसे भी मज़ा आने लगा तो वो मुँह से मीठी मीठी सिसकारियां निकालने लगी.

आज मैंने भी सोचा कि मैं भी अपने जीवन के सेक्स अनुभव में से एक मस्त सेक्स कहानी आप सभी के साथ साझा करूं.

वो भी इस सबका बुरा नहीं मानती और रिप्लाई भी नार्मल दे देती, चुम्बन की इमोजी पर स्माइल कर देती. दोस्तो, मैं आपका पुराना साथी आजाद गांडू एक बार पुन: अपनी गे सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ. ना जाने क्या हुआ … मैं उसके ऊपर हो गई और उसके ऊपर ऐसे हावी होने लगी, जैसे वो मेरा हो.