सेक्सी बीएफ आज की

छवि स्रोत,चूत का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मराठी बीएफ साड़ी वाला: सेक्सी बीएफ आज की, मैं उसे नमकीन देने लगा, तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और मजाक करने लगी.

ब्लू सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी

मैंने मम्मों से हाथ हटा कर उनकी जांघों पर रख दिया और हाथ फिराते हुए उनकी साड़ी को ऊपर करने लगा. सेक्सी वीडियो भाभी और देवरबरखा खाना लेकर आई और हम दोनों ने फिर मिलकर खाना खाया फिर बरखा ने बर्तन उठाए और मुझसे कहने लगे कि तुम आज इधर ही रुकना मुझे तुमसे कुछ काम हैकहानी के इस भाग से संबंधित अपने विचार आप मुझे मेरे मेल आई डी[emailprotected]पर भेज सकते हैं, मुझे आपके मेल का इंतजार रहेगा.

हो सकता है कि मेरी बीवी ने मेरे लंड के बारे में भी उसको बता दिया हो. पंजाबी ब्लू पिक्चर दिखाओमैंने बोला- क्या शेव नहीं करती हो?उसने कहा- शादी से पहले करती थी … पर अब तो दिल ही नहीं करता.

दोपहर के 3 बजे कॉलेज की छुट्टी हो गई और मैं बहुत खुश और एक्साइटेड होकर घर की ओर निकल गया.सेक्सी बीएफ आज की: वो मुझे मजे में आकर गालियां बकने लगा- आह खा ले मेरी जानेमन … अब से तुझे रोज चोद का मजा लूंगा और दूंगा.

वो घबरा कर बोली- भैया ये दरवाजा क्यों बन्द कर रहे हो?मैंने कहा- तुम्हारा भैया अब तुमसे प्यार करेगा … और प्यार तो बन्द दरवाजे में ही होता है न.जब उसके बारे में जांच पड़ताल की गई तो यह पता चला कि इस तरह से अब तक वह डॉक्टर 400 बच्चों का जैविक पिता बन चुका था.

तामिळ सेक्स मुव्ही - सेक्सी बीएफ आज की

इस बार मैंने हर पोज़ में उनको चोदा।अब मुझे भी लण्ड दर्द करने लगा था तो मैं भी बाथरूम गया फ्रेश हुआ। आकर देखा तो 11 बज गए थे।फिर मैं वहाँ से अपने काम पर निकल गया।हमारा रिलेशनशिप तकरीबन 3 साल चला.मैं 10 मिनट मैं ही झड़ गया और मेरी नूर जान मेरा सारा माल बड़े स्वाद से पी गयी।अब मैं कहाँ रुकने वाला था … मैंने उसे चूसना शुरू किया और मैं उसकी चूचियाँ दबाने लगा.

इतनी देर में उसका हाथ मेरे लोअर पर आ गया था और वो मेरे लोअर के ऊपर से ही लंड को पकड़ कर भंभोड़ रही थी. सेक्सी बीएफ आज की एक दिन बुआ और माँ की बातें सुन कर मुझे पता लगा कि बुआ की चूत की प्यास नहीं बुझती.

मैंने पूछा- मॉम, पापा से कैसी बात हुई?मॉम बोली- वैसी जैसी रोज होती है … कुछ खास नहीं! वो तेरी और मेरी फिक्र करते रहते हैं.

सेक्सी बीएफ आज की?

मैं अपने बॉयफ्रेंड के अलावा किसी ऐसे शख्स के साथ सेक्स करना चाहती हूं जिसके बदन को मैंने कभी टच न किया हो. उनका फीगर 34-38-34 का है और जब वो स्कूल में पढ़ाने के लिए तैयार होकर जाती हैं तो एकदम मस्त माल लगती है. उनका लंड चूसने का स्टाइल बड़ा मस्त था, मेरे मुँह से भी कामुक आवाजें आने लगीं.

उसके मर्दाने जोर के आगे आशिमा की एक ना चली, और उसने आशिमा को नीचे की होकर बैठने को मजबूर कर दिया. वो भी अपने हाथ से अपने एक दूध को मेरे मुँह में देने की कोशिश कर रही थी. मॉम की यह बात सुनकर मेरे जान में जान आई और मैं अंदर से बहुत खुश हुआ.

उफ … क्या बताऊं दोस्तो … रिश्ते में वो मेरी बुआ हैं … लेकिन उनके शोला उगलते हुस्न के आगे में सारे रिश्ते भूल गया था. उस पोर्न वीडियो का मजा लेते हुए मैं इतना खो गया कि मुझे पता नहीं चला कि कब मेरी मौसी मेरे पीछे आकर खड़ी हो गई. शर्ट को खोल कर उसके दोनों सामने फैला कर आकृति ने मेरी बनियान को भी खींच कर फाड़ डाला.

मैं उसकी कुंवारी बुर में उंगली किये जा रही थी और उसके मक्खन जैसे रसीले ओंठ चूस रही थी. मैं जो बियर लाया था, उसको फ्रिज में चिल्ड करने के बाद हम दोनों साथ में बैठ गए.

मैंने देखा कि रेत से मेरी जांघ थोड़ी से छिल चुकी है और थोड़ा दर्द होने लगा था.

फिर कुछ देर बाद मस्ती में वे भी मुझे जोर जोर से बोले जा रही थीं- आहहहहह आदि … यस फक मी हार्ड.

मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगा … इतनी ज़ोर से कि हर शॉट में लंड उसके चूत के अंत तक चला जाता. कैसे?ये बात तब की है, जब मैंने 12वीं पास करके आगे की पढ़ाई करना शुरू की थी. वही हुआ … थोड़ी देर बाद वो तीनों नशे में टुन्न होकर वापिस कमरे में आ गए.

और दिन में तू तो बाहर होता था तो हम लोग ड्राइंगरूम में भी करते थे, किचन में भी और बाथरूम में तो करते ही थे, नहाते भी साथ में ही थे. मैंने काफी देर तक उसकी चूत को चाटा और वो मुझसे दूर हटने के लिए मिन्नतें करने लगी. दीदी की गोरी गोरी जाँघों के बीच फंसी उनकी ब्लैक कलर की पैंटी क्या मस्त भीगी हुई अपनी महक छोड़ रही थी.

और कोई तरीका नहीं है क्या?मॉम हंस के बोली- हां बच्चे होने के बाद ही औरत के स्तन में दूध बनना शुरू होता है.

… मुझे नहीं चुदना … प्लीज़…मैंने उसे चूमते हुए कहा- तरक्की नहीं करनी है क्या?वो बोली- हां करनी है … लेकिन मुझे बहुत दर्द हो रहा है. इस बात पर उसने मेरे खड़े हो चुके लंड को देखा तो मैंने आगे बोला कि मुझे चूत चाटना भी बेहद पसंद है. एक झटका मैंने उसकी चूत की तरफ दिया तो उसके मुंह से हल्की सी चीख निकल गयी.

शीनू मदहोश हुई जा रही थी और उसका खुद पर से कंट्रोल भी खत्म होता जा रहा था. तभी अर्णव ने एक और जोर का झटका दे दिया और उसके लंड का टोपा मेरे अन्दर घुस गया था. मैं उनकी चूचियों को जोर से दबाने लगा और वो आहिस्ता से सिसकारने लगी.

वो कहने लगी- जानू तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा है … इतनी सी चूत में कैसे चला गया?मैं मुस्कुराया दिया और धक्के मारने लगा.

मैंने उसको उसके शैक्षिक सर्टिफिकेट भी साथ लाने को कह कर फोन काट दिया. मेरा तो जो रोना आ रहा था, वो भी गायब हो गया। मैं तो सिर्फ रोने का नाटक कर रही थी.

सेक्सी बीएफ आज की मुझे नहीं पता मेरे अन्दर उनको ऐसा क्या दिखाई देता है लेकिन जो भी लड़की मेरे संपर्क में आती है वो मेरी दीवानी हो जाती है. गर्मी के मौसम का नजारा कुछ ऐसा था कि सभी बाराती … चाहे वो लड़का हो या लड़की हो … नहाने जाने की तैयारी कर रहे थे.

सेक्सी बीएफ आज की सबने हल्का-फुल्का खाना लिया और फिर मेघा कोल्ड ड्रिंक लाने के लिए कहा. उसके बाद मैंने उसका लोवर निकाला और चुत पर हाथ लगाया, जो भट्टी की तरह गर्म थी.

मैंने उसे अपनी बांहों में खींचते हुए चूमा और कहा- जान बस थोड़ी देर रुको.

आज की ताजा सेक्सी वीडियो

तभी मेरे दिमाग में एक तरीका आया, मैं बोला- मॉम, टीवी से बोर हो रहा हूं, कोई अच्छा प्रोग्राम भी नहीं आ रहा है. इस सब से वह ठरक से बेहाल हो गयी, और उस लड़के से बुरी तरह से चिपकने लगी. मैं किसी भूखे शेर की तरह उस पर टूट पड़ा था … लेकिन स्वयं पर काबू रखा हुआ था.

उसकी चूत में माल को गिराते हुए मुझे इतना मजा आया कि मैं बता नहीं सकता. मामी कराह रही थी- आह … हहह!बोली- मसल दो मेरे मम्मे मेरी जान … निचोड़ डालो इन्हें … हहहह आह!मैंने एक ही बार में मामी की ब्रा और पेंटी निकाल दी और उनके दूधों को पीने लगा और एक हाथ से चूत में उंगली डाल दी. मैंने उसकी चूत को उंगलियों से चोदना जारी रखा और फिर एकदम से उसकी चूत में फिर से जीभ डाल दी.

इतना बड़ा लंड देखकर उसके होश उड़ गए; वो बोली- आशु तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा है … ये मेरी छोटी सी चूत में कैसे जाएगा.

अब हम एक नए अनुभव, आनन्द और शरीर के अंदरूनी हिस्सों पर प्यार के कई निशानों के साथ घर लौट आए. फिर मैंने दो-तीन धक्के पूरी ताकत के साथ लगाये और मैं अपनी बहन की चूत में ही झड़ने लगा. मेरी बात सुन कर रवि बोला- इतनी बात तो मंजूर है, आपको होटल में भी चाहिए तो निशा को बुला लीजिएगा.

जब उससे सहवास की बात करता तो वो कहती कि वो शादी से पहले अपनी योनि का कौमार्य भंग नहीं करवाना चाहती. जितनी जल्दी तुम उनसे अपनी चुदाई करवा लोगी तुम्हारे लिये उतना ही अच्छा होगा. मेरा लंड सिकुड़ कर उसकी चूत से बाहर आया मेरी बहन की चूत से वीर्य निकल कर बाहर आ रहा था.

मैंने दोबारा से मुठ मारी और फिर मैंने भी अपने कच्छे में ही वीर्य छोड़ दिया. उसकी गर्लफ्रेंड का नाम प्रीति है और प्रीति की नौकरानी का नाम है आरिफ़ा.

मैंने बरखा से कहा- तुम अपने पति का लंड नहीं चूसती थी क्या?तो बरखा कहने लगी- उस साले का तो लंड ही खड़ा नहीं होता था. माँ ने मेरी सासु से पूछा- क्या आपको मेरा लड़का पसंद है?सासु कोई जबाव देतीं, तब तक मैंने कह दिया कि माँ मैंने अब तक अपनी बीवियों को छोड़ कर, अपनी सासु और दोनों सालियों की चुदाई का मजा ले लिया है. लेकिन आज यहां मैं आई हूं आप लोगों को अपनी जिन्दगी की एक ख़ास घटना सुनाने को। यह मेरी प्रेम कहानी है शादी से पहले की.

फिर मैंने भैया से भाभी का पूछा, तो उन्होंने नशे में लड़खड़ाती आवाज में आंख मारते हुए बोला- तेरी भाभी किचन में हैं, जा जरा ढंग से पोत देना.

उसने प्रिया की चूचियों को दबाना शुरू कर दिया और प्रिया को मस्ती चढ़ने लगी. मैंने उसके सूट का कुर्ता जैसे ही उतारना शुरू किया, तो उसने हाथ ऊपर उठाकर मेरी हेल्प की. मॉम बोली- आज जो करना है तू कर अपने हिसाब से, जैसी पोजिशन में करना है कर, तेज धीरे जैसे भी करना है कर … मैं कुछ नहीं बोलूंगी और मैंने अपने स्तनों के दर्द के लिए पैन किलर गोली ली हुई है अब पूरी रात बूब्स में कोई दर्द नहीं होगा.

मैंने उससे वो लेने से मना कर दिया, पर वो मुझे जबरदस्ती दे कर चली गई. वो पूरे मनोयोग से मेरी फुद्दी को चाट रहा था और कोशिश कर रहा था कि जहां तक हो सके वो अपनी जीभ मेरी फुद्दी के अंदर डाल दे।मैंने उसको कहा- मेरी जान, इधर को घूम जा, मैं भी कुछ चूस कर देखूँ।उसने उठ कर अपनी पेंटी उतारी.

मैं घर की सारी पोजिशन समझ कर अपने रूम में चला आया और सोचने लगा कि अनुजा को कैसे चोदा जाए. थोड़ी देर बाद उन्हें दर्द कम हुआ, तो भाभीजान खुद नीचे से अपनी कमर हिलाने लगींभाभीजान बोलीं- चोदो दिलशाद … आह अब चोदो मुझे … आज तक इस मुझे किसी ने ऐसा नहीं चोदा … कसम से आज मैं तुमसे चुदवाकर धन्य हो गयी. हम एक दूसरे से बहुत प्यार करने लगे; हम मिलने भी लगे।एक दूसरे का हाथ थामे वह सड़क पर घूमना … प्यार भरी नजरों से एक दूसरे को देखना।एक दिन मुझे बुखार हो गया। मैं उससे कॉल पर बात नहीं कर पाई। मैं जानती थी कि उसने मेरे फोन का बहुत इन्तजार किया होगा.

हद सेक्सी वीडियो देहाती

मैंने पुरानी कंपनी भी छोड़ दी, तो वहां से भी कोई डिटेल नहीं मिल सकी.

मैंने शीनू को सोफे पर बैठाया और उसके लिए जूस में थोड़ी वोडका डाल कर ले आया. वे ताला बाहर से नहीं लगाते थे हमारे घर की तरफ से लगाते थे ताकि किसी को पता ना चले कि वे लोग कहीं बाहर गये हैं।प्रमिला आंटी की उम्र लगभग 42-43 साल होगी. जब मैं भाभी की कमर को किस कर रहा था, तब उनकी गांड के छेद पर मेरा लंड लग रहा था.

वो पूरी गर्म हो चुकी थी।वो आदमी दीदी को चोदने लगा। हर झटके के साथ दीदी का पूरा शरीर हिल जाता।कुछ देर बाद वो दीदी को उल्टा कर दीदी के कूल्हे दबाने लगा और पीछे से चूत मारने के बाद वहीं दीदी के बगल में नंगा लेट गया।इस तरह मैं 5 दिनों तक उन लोगों के साथ दीदी सेक्स को देखता रहा। कभी दोनों चोदते तो कभी कोई एक ही चोदता. रवि- साली मादरचोदी … अब मजा दे रही है … ले भैन की लौड़ी गांड में लंड ले. स्कूल गर्ल पोर्नउनकी चुदाई के बाद मैंने उधर से हटना ठीक समझा और मेरे मॉम पापा को पता चलता, उसके पहले ही मैं कमरे में जा कर सो गई.

वो 69 की स्थिति बनाते हुए मेरे ऊपर आकर अपनी चूत मेरे मुँह पर रख दी … और लंड खुद के मुँह में भर लिया. तब उसने मुझसे कहा- विक्की सॉरी, आज मैं तुम्हें खाना नहीं दे पाऊंगी.

फिर उसकी चूत को अपने लंड से एकदम चिपका के जोर से उसकी गांड को अपनी ओर दबाने लगा जिससे मेरे लंड का दम निकल रहा था. मैंने हां कर दी, लेकिन मुझे मालूम था कि मिष्टी इस बात से मानेगी नहीं, वो पूरे समय पर इस ग्रुप सेक्स का हिस्सा बनेगी. अब मैंने उनकी मन की इच्छा को समझ लिया और इस बार अपनी पकड़ मजबूत बना ली थी … जिससे भाभी खुद को छुड़ा नहीं पाईं.

उसे एक बार और चुदाई के लिए बोला मैंने मगर उसने मुझे 1000 रुपए देकर कहा कि अब हम कभी चुदाई नहीं करेंगे. मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया और उसकी चूचियों को अपने हाथों में भरकर दबाने लगा. राजेश ने जब मुझे देखा तो वो बोले- सरदारनी को ऐसा देख कर किसी भी मर्द का मन बेईमान हो जाये.

जब हम उसकी बेटी को पढ़ा दिये तो हम भाभी जी के आने का इंतजार करने लगे.

मैंने भाभी की चूची के निप्पल को अपनी दो उंगलियों के बीच में दबा कर मींजते हुए कहा- मेरा लंड कैसा लगा?भाभी- तुम्हारा लंड मेरी चुत के लिए एकदम पर्फ़ेक्ट है. मैं कुछ समझता तब तक बुआ ने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया … मानो अभी खा जाएंगी.

तेरे लंड को लेकर इतना मजा आ रहा है कि मैं अंदर तक तृप्त होती जा रही हूं. इसके साथ ही मैं निशा की गांड में थप्पड़ भी मारते जा रहा था, जिससे उसके गांड में लाल लाल निशान बन जाते और बहुत मज़ा आता था. मैंने कहा- तो फिर आपका भी मन करता था क्या?वो बोली- नहीं, मैंने तो तेरे चाचा के साथ ही किया है.

मैं कशिश के घर पर भी बर्थडे पार्टी अटेंड करने गया और भी इसी तरह किसी प्रोग्राम पर गया, तो इस तरह उसके घरवाले भी मुझे जानने पहचानने लगे थे. मैंने उसकी सेक्सी फिगर की तारीफ करना शुरू कर दी कि तुम इतनी सेक्सी दिखती हो, फिर उसने तुमको कैसे छोड़ दिया?वो नखरे करते हुए बोली- मुझे झाड़ पर मत चढ़ाओ … मैं इतनी भी सुन्दर नहीं हूँ. अब मैं झड़ने वाला था, तो ज़िया से मैंने पूछा- कहां निकालूं?उसने कहा- चूत में ही निकाल दो.

सेक्सी बीएफ आज की वो भी तृप्त दिख रही थी, हम दोनों लम्बी लम्बी सांसें ले रहे थे और पूरा पसीने पसीने हो रहे गए थे. मैंने समझ लिया कि वो भी वही बात कहना चाहती है, जो मैं कहने वाला था.

भोजपुरी बियप

उसका सिर दीवार के साथ लगाया और पीछे से उसकी चूत में लंड को पेल दिया. प्रिया उठ कर नमक लाने के लिए गई तो मेघा ने दूसरे गिलास को भी बीयर से भर दिया और उसमें थोड़ी सी कोक ऊपर से मिला दी. एक बार मैंने उसकी तारीफ की और बोला- तुम बहुत खूबसूरत हो और मुझे लंबी लड़कियां पसंद हैं.

ऐसा नहीं है कि मुझे उनके साथ मजा नहीं आता, मगर जब एक जवान लड़के का लंड इतना मचल रहा हो तो फिर उसको ज्यादा तड़पाना भी ठीक नहीं होता. मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से जकड़ा हुआ था, इसलिए उसकी वो मादक ध्वनि एक मस्त मद्धिम सी आवाज मुझे उत्तेजित कर रही थी. सनी लियोन नंगी वीडियोउत्तेजना के कारण उसके दोनों दूध ब्रा को फाड़कर बाहर आने को बेताब हो रहे थे.

मैंने उसकी कुर्ती के अन्दर हाथ डालकर उसके मम्मों को खूब मसला, दबाया.

मैंने पूछा- बोलो कैसे?बुआ- तू शहर से कुछ सामान लाने का बहाना बना दे और बोल दे कि मैं तेरे साथ चल रही हूँ. मैं कॉलेज की लड़की हूँ, अभी पढ़ाई कर रही हूं और उसके साथ ही पार्ट टाइम जॉब भी कर रही हूं.

वरना कुछ तो बड़ी बदनसीब होती हैं … उनको तो जरा जरा से चूहे मिलते हैं. पहले ही धक्के में मेरा आधे से ज्यादा लंड उनकी चूत में जा पहुंचा और उनकी आंखें पलट गईं. फिर वो बोली- आपकी शादी हो गयी है क्या?मैंने कहा- नहीं, अभी तो कुंवारा हूं.

एक पल के लिए उनकी ब्रा में कैद दूध निहारे और अगले ही पल ब्रा भी निकाल दी.

मगर मेरा बेरहम लौड़ा उसकी गांड के छेद को खोलता हुआ उसके अंदर अपना रास्ता बनाता ही चला जा रहा था. जब भी क्लास में कोई टीचर नहीं रहते थे, तो मैं दरवाजे के पास खड़ा हो जाता था और वो भी ऐसा ही करती थी. मैं लगातार भाभी को किस करता रहा और उनको दरवाजे से ही अपनी बांहों में उठा कर बेड पर ले गया.

ब्लू फिल्म सेक्सी वाली हिंदी मेंमेरा पहली बार था और मैंने सैक्स शक्तिवर्धक गोली ली थी इस कारण ज्यादा थकान आ गई थी मॉम शायद ज्यादा थकी नहीं थी क्योंकि उनका मेरे पापा के साथ लंबे समय तक सेक्स करने की आदत थी. मैंने भी जोश में आकर एक हाथ से उनकी साड़ी ऊपर उठा दी और उनकी चूत मसलने लगा.

आदिवासी इंग्लिश सेक्सी

कमरे में मानो सब खत्म सा हो गया था और उसकी मादक आवाजों के सिवा कुछ भी नहीं रह गया था. हमने एक्सरसाइज शुरू की, उसने मुझसे अपनी सहेलियों के बारे में पूछा, जिनकी वजह से उसने जिम ज्वाइन किया था वरना उसकी कोई दिलचस्पी नहीं थी. अधिकतर लड़के और लड़कियां जवानी के जोश में यह भूल जाते हैं कि वो सेक्स में अंधे होकर जिन्दगी के लिए कितना बड़ा खतरा पैदा करने जा रहे हैं.

क्या मैं उसकी कुंवारी बुर को चोदा?अब तक की चुदाई की कहानी के पिछले भागदो कुंवारी बहनों को मस्त चोदा-3में आपने पढ़ा कि मैंने कैसे मैंने शीनू की गांड और बुर को चोदा. ऊपर जहां मैं उसकी दोनों चूचियों को बारी बारी से चूम चाट रहा था … तो एक हाथ से पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया. मुझे भी लगता है कि किसी एक चुत में बार बार लंड डुबोना, जिन्दगी का सही मजा नहीं है.

फिर मॉम धड़ाम से मेरे साथ बेड पर लेट गई क्योंकि उनका काम हो गया था, मस्त संतुष्टि मिल गई थी पर मैं अभी झड़ नहीं पा रहा था. इसके अतिरिक्त आपके लिए बेहतर विकल्प यही होगा कि यदि आपका बच्चा आपके परिवार के साथ घुल-मिल गया है और आपका अपने परिवार सहित उस बच्चे के साथ लगाव है तो आपका उस बच्चे को अपना लेना ही सबसे उपयुक्त विकल्प होगा. हम दोनों एक दूसरे की जीभों को चूसते हुए पागलों की तरह एक दूसरे के लंड और चूत को रगड़ रहे थे.

मैंने कहा- चाची, आपको पता है, रात को मैंने आपके बारे में सोच दो बार लंड की मुठ मार डाली. इस पर भाभी ने पूछा- जनाब ये कौन थी?भाभी ने मुस्कराते हुए पूछा था, तो मैंने कहा- भाभी ये मेरे साथ पढ़ने वाली फ्रेंड थी.

अब मैंने अपनी साली के मुँह से लंड निकाला और उसकी छोटी छोटी चूची को चूसना शुरू किया.

मैं अपने किसी काम से अपने चाचा के घर गया था, जो जयपुर में ही दूसरी कॉलोनी में रहते थे. गांव की कुंवारी लड़की की चुदाईपहले तो मैंने मना किया लेकिन उसने जबरदस्ती अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया. desi पोर्न वीडियोअक्सर जब छुट्टी होती तो मैं मामा के घर चला जाया करता था जिससे मामी मुझसे काफी घुलमिल गई थी और हम लोगों में मजाक भी हुआ करती थी. फिर हमने अपनी-अपनी ब्रा उसके हाथ से ली और उसको हवा में घुमाते हुए नाचने लगीं.

मैंने भी भाभी से ओके कह कर उनको सीधा चित लिटाते हुए उनकी दोनों टांगें चौड़ी करते हुए फैला दीं.

विचारों में रूपाली का निप्पल मेरी कामवासना को भड़का रहा था बस उसी को सोचते सोचते मेरे हाथ में माल (वीर्य) निकल गया. मैं नाश्ता खत्म करके निकला ही था कि मुझे रोड में एक मस्त सी बाइक दिखी. उसके बाद चाची ने मेरी टीशर्ट को भी उतरवा दिया और मुझे पूरा नंगा कर दिया.

लेकिन काफी मनाने के बाद मैंने उससे वीडियो कॉल पर बात करने की कही, तो वो कुछ दिन बाद वीडियो पर बात करने के लिए मान गई. पहले तो मेरा मन किया कि मैं सीधे ही दीदी से पूछ लूं, लेकिन डर रहा था कि कहीं दीदी मेरी डांट न लगा दें, इसलिए मैं चुप रहा. जब पति देव ननदोई जी से अलग हुये तो मैं भी अपने ननदोई को ढांडस बंधाने के लिए और उनका दुख सांझा करने के लिए आगे हुयी। वो एक शाल से ओढ़े बैठे थे.

नॉनवेज सेक्सी स्टोरी

तब मॉम बोली- अजू बेटा थैंक्स, आज अपनी बिल्डिंग सोसायटी की औरतों की किट्टी पार्टी थी. मैंने उसकी खूबसूरती के लिए एक बार उसकी तारीफ़ की, तो उसने मुझे थैंक्स बोला. फिर चाची मेरे साथ राशन की दुकान पर सामान लेने के लिए गयी थी तो मैंने उनसे शिकायत की.

अब जुड़वां बहनें फिर से मेरे पास वापस आ गईं, लेकिन इस बार वो मेरे सामने खड़ी थीं.

मैंने बताया कि बुआ मैं आपको बचपन से पसंद करता हूँ, लेकिन बता न सका.

अब मैं उसकी चुत में लगातार दबाव बनाते हुए अपने पूरे लंड को उसकी चुत में अन्दर बाहर करने लगा था. उनका हाथ मेरी पैन्ट में जा चुका था और मेरा हाथ उनकी पैंटी के अन्दर खेल रहा था. गांव की देसी लड़की की चुदाईइतना सुनते ही उसने कहा- यार अभी तो खेलने खाने की उम्र है … इतनी जल्दी शादी क्यों कर ली?तब मौसा जी बोले कि साहिल की माता जी बीमार रहती हैं … इसलिए इसकी शादी जल्दी हो गयी.

जब चोदने की बारी आती है, तो साली नखरे दिखाने लगती हो … एकमद चुप रह साली रंडी … आज तेरी चुत का मैं भोसड़ा बना दूँगा. वो शहरी लड़की थी, चश्मा लगाए हुए, क्यूट सा फ़ेस, प्यारी प्यारी आंखें, सफेद रंग, उसका फिगर 34-30-36 का था और वो मेरी सीनियर थी. सुबह पांच बज़े मेरी नींद खुली, तो मैंने देखा निशा की चूत मेरे मुँह के पास है.

मेरा एक बॉयफ्रेंड है थोड़ी बड़ी उम्र का … एक बार उसे किसी नयी बुर की तलब लगी. हम दोनों भाई बहन उस पहाड़ी की तरफ चले गये … वहीं जाकर एक झाड़ी के सहारे बैठ गये.

उसके टच की वजह से और कुछ देर पहले हुई किस के कारणमेरी कामुकतापूरे उफान पर थी जिसका वो पूरा मजा ले रही थी.

वहां पर मेरा टाइम पास नहीं हो रहा था इसलिए मैं भैया के साथ ही खेत में चली गई थी. रोमांटिक अन्दाज़ में मैंने उसकी कमर में हाथ डाल के उसको अपनी तरफ़ खींचा, तो मेरा खड़ा लंड उसकी चुत में टच करने लगा. मैं अब भी आस-पास किसी ऐसी भाभी की तलाश कर रहा हूँ, जो पैसे बेशक ना दे … मगर सारी रात के लिए मज़ा दे दे.

सेक्सी बीपी ओपन शॉट मैंने उठ कर चादर लपेटा और बाहर अपनी ऑफिस वाली दोस्त, जो कि अब मेरी साली बन चुकी थी, के कमरे में चला गया. वाशिंग मशीन के पास लांड्री बास्केट पड़ी थी, हमारी मेड दो-तीन दिन बाद जब कुछ कपड़े हो जाते थे, मशीन में धो देती थी.

आधा लंड घुसाने के बाद मैंने एक झटका मारा और नूर की तेज चीख़ निकल गई, लंड पूरा घुसते ही अब मैंने धीरे धीरे झटके मारने शुरू किए. मैंने कहा- कोई बात नहीं … मेरा भी हो रहा है … बताओ कहां निकालूं?भाभी बोली- अन्दर ही डाल दो … कोई डर नहीं है … मेरा ऑपरेशन हो चुका है. जब उसकी चूत में सारा वीर्य झटके दर झटके के साथ मेरे लंड से खाली हो गया मैं उसके ऊपर ही लेट गया.

इंग्लिश सेक्सी फिल्म डाउनलोड

जब मॉम ने मुझसे ये कहा, तो मैं समझ गई कि मेरी मॉम के पास जरूर कोई ऐसी तरकीब है जिससे वो मुझे जिन्दगी में सेक्स के मजे से महरूम नहीं होने देंगी. कैसे?जवान कुंवारी लड़की की चुदाई कहानी के पहले भागदो कुंवारी बहनों को मस्त चोदा-1में आपने पढ़ा कि इक्कीस साल की कुंवारी लड़की शीनू को मैं अपने शीशे में उतार रहा था. झड़ने के बाद भी बहुत देर तक हम ऐसे ही लेटे रहे।बहुत समय बीत गया था तो अब मुझे घर जाना था.

पर उससे पहले उसने शरारत से दोनों को उठा कर मेरे गोद में बैठा कर कहा- बेटा जब तक पापा नहीं हैं … तब तक इन्हीं की गोद में बैठ कर नाश्ता कर लो … ये भी पापा समान हैं. मेरा ब्लाउज ढीला होने के कारण मेरी बड़ी बड़ी चूचियां ऊपर से साफ़ दिखने लग गयी यहाँ तक कि मेरे चुचियों के भूरे रंग के निप्पल भी दिख रहे थे.

हफ्ते में एक बार सेक्स कर लेना शारीरिक संतुष्टि के लिए काफी होता है.

वो कहते- क्या तुम अपनी चूत मुझ से चुसवाओगी?मैं कह देती- हाँ चूस लेना मेरी चूत को भी. आप लोग तो जानते ही हो कि ज़रीन जैसे नाम वाली लड़कियां काफी सुन्दर होती हैं. कुछ देर तक चूत में उंगली करने के बाद मैंने चूत को शांत कर दिया और फिर सो गयी.

मैंने जोश में आकर भाभी के बाल पकड़ कर लंड का एक जोर से धक्का मार दिया और अपना पूरा लंड उनके मुँह में उतार दिया. मैं उनकी बात सुनकर समझ गया था कि मामा जी ने मेरी मम्मी से बात करके मालूम कर लिया है कि मैं उनके शहर में आ गया हूँ. लेकिन चुत की सारी आग भी ठंडी करवाने की ललक मुझे उसके लंड से चुदवाने के लिए उकसा रही थी.

मेरी ख्वाहिश को जान कर एक दिन दीदी ने अपनी एक सहेली को मेरे पास भेजा.

सेक्सी बीएफ आज की: वो कुंवारी थी, ये तो मैं उसकी बुर की चिपकी हुई फांकों को देखते ही समझ गया था. क्योंकि जब मैं चाची की चुची को दांत से काटता था, तो उनकी हल्की सी सिसकारी वाली चीख़ निकल जाती थी.

परंतु अंकल का लंड मेरी चुत में नहीं ही गया क्योंकि भाई की चुदाई से मेरी चुत अभी ढीली नहीं हुई थी और अंकल का लंड तो समझो गधे के लंड जितना बड़ा लंड था. मैं उनकी जाँघों के बीच बैठ गया और उनकी जाँघों को किस करने लगा अपनी जीभ से चाटने लगा. मैंने चाची से पूछा- मम्मी कब तक आएंगी?चाची ने हंसकर कहा- मेरा बाबू सुबह से अभी तक भूखा है.

उस दिन उसने गुलाबी स्कर्ट और सफ़ेद टॉप पहन रखी थी और मैंने लाल रंग की साड़ी पहनी हुई थी.

बुआ अंदर आयी, बैठी मम्मी ने उनको पानी पिलाया।हमारा घर बहुत बड़ा था तो मम्मी ने मुझे कहा कि जा बुआ का बैग तेरे रूम के बगल वाले रूम में ले जा. मैं आगे वाली कमरे में जाकर, दोनों बेटियां या बहनें … पता नहीं क्या कहूं … उनको देखा. मां भी कभी कभी अपने स्तर का कोई काम कर लेती हैं … लेकिन फिर भी घर चलाना मुश्किल ही होता है.