मोती लड़की का बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म बीएफ बढ़िया

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडिया की सबसे सेक्सी: मोती लड़की का बीएफ, सेक्स कहानी शुरू करने से पहले बताना चाहता हूँ कि यह एक समलैंगिक कहानी है.

हिंदी भाषा में बीएफ हिंदी भाषा में बीएफ

अंडरवियर खिसका कर नीचे देखा, तो उसका 8 इंच मोटा लंड सांप सा लहरा रहा था. सेक्स वीडियो नेपाली बीएफलेकिन बुआ और ताऊ जी की वो चुदाई मुझे जब भी याद आती है मेरा लंड तन कर जैसे फटने को हो जाता है.

रात के दस बज चुके थे, गुप्ताइन ने कहा- चलो बेबी हम लोग चलें, अब अंकल को सोने दो. बीएफ चूत लंड की वीडियोरूम सर्विस वाला आया, तो उसने एक रेड वाइन की बोतल कॉमप्लीमेंट्री दी, मिनरल वाटर दिया.

उन्होंने कहा- कहीं बाहर चलो!लेकिन क्लोज़िंग होने के कारण मुझे छुट्टी नहीं मिल पा रही थी.मोती लड़की का बीएफ: भाबी से गले लगते ही मुझे सेक्सी भाबी के बड़े नुकीले चुचे मेरी छाती में लगने लगे.

मेरा मानना है कि हर लड़की, जो जवान हो गई है या हो रही है, वह अपनी बॉडी के बारे में ज्यादा जानने की कोशिश करती होगी.जैसे ही मैंने आतिशा की चुत के ऊपर हाथ रखा, तो वो बोली- भैया, प्लीज़ ये मत कीजिए.

हिंदी बीएफ सेक्स मूवी बीएफ - मोती लड़की का बीएफ

रात के 10 बजते बजते सभी मर्चेंट अपने घर चल गए, बस कामिनी और मैं ही ऑफिस में अकेले रह गए.रानी ने हुक्म दिया कि रबड़ी वाली कटोरा पलट के उसके चूचों पर रबड़ी डाल दूँ.

उसने मुझे बेड पर फेंक दिया और खुद मेरे ऊपर चढ़ गया और फिर से अपना लोड़ा मेरे मुंह में घुसेड़ दिया, कुछ धक्के मारने के बाद उसका छूट गया और पूरा मैंने रस पी लिया. मोती लड़की का बीएफ मेरा लंड उसके गले के अन्दर तक जा रहा था, जिससे उसके मुँह से गूं गुं की आवाज़ निकलने लगी.

लेकिन मैं उसे पूरे लंड से भरपूर चोदना चाहता था, तो मैं अपने कड़ियल लंड को पूरा अन्दर डालने लगा.

मोती लड़की का बीएफ?

हां, एक बात और वो यह कि मैंने शादी के बाद अपने पति के अलावा कभी किसी पुरुष को अपने जीवन में आने नहीं दिया था. वैसे तो मैं नींद में था मगर फिर भी मैंने अब अपनी आँखे खोलकर देखा तो घबराकर मैंने तुरन्त ही अपना हाथ वहाँ से हटा लिया, क्योंकि मेरा हाथ मोनी के उरोजों पर था और मैं उससे बिल्कुल चिपका हुआ था।मोनी तो अपनी जगह पर ही सो रही थी. चूंकि मामी झड़ चुकी थीं, तो बस शिथिल होकर पड़ी थीं और मेरे लंड को बस लिए जा रही थीं.

उफ्फ्फ … क्या मस्त 32-29-36 का फिगर था भाभी का … मेरे से तो रहा ही नहीं जा रहा था. मैंने आखिरी हमला किया, काजल के होंठ को छोड़ कर मैंने उसकी ब्रा निकाल दी. मेरा मन तो कर रहा था कि अभी उसके बूब्स चूस लूं, पर में मजबूर था … क्योंकि में सिर्फ मसाज के लिए आया था.

उसने अपने पैरों को मेरी कमर में फंसा दिया और मैंने उसके मम्मे को अपने मुँह में लेकर बारी-बारी से चूसने लगा. पन्द्रह साल बाद मैं 56 की हो जाऊंगी, तब तेरा भी मन भर जाएगा या उससे पहले भी भर गया, तो मैं तेरी शादी करा दूंगी. उसकी गांड पर लंड को रगड़ते हुए जल्दी ही मेरा वीर्य निकल गया क्योंकि मैं बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गया था.

मैं- तो क्या किसी दूसरे को तंग करोगे? अपने घर में ही करो, आपके लिए अच्छा रहेगा. जैसे ही मेरा वीर्य उसकी चुत में गिरा, मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

खिड़कियों पर खूबसूरत गहरे नीले परदे और एक पूरी दीवार पर कपड़ों वाली अलमारियां.

मैं- तो यार … खाना खाने के बाद तुरन्त चुदाई तो हो नहीं सकती न, अब तुम जो कहो, वो कर दिया जाए.

चूत में लंड को धकेलने के बाद जीजा ने मेरी चूत को चोदना शुरू कर दिया. काजल मेरी छाती पर चूम रही थी और फिर अचानक एक भूखी शेरनी की तरह वो सीधे मेरे लंड पर टूट पड़ी. जीजा जी की नाइट ड्यूटी थी तो वो लुंगी बाँध कर कूलर के सामने पैर करके सो गए.

वो भी मेरी निगाहों को अपने मम्मों पर पाकर खुद झुक झुक कर अपनी फिल्म दिखा रही थी. इसके बाद मैंने भाभी को अपने नीचे लिया और उसके एक मम्मे को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा. कुछ ही पलों आग भड़क उठी और हम दोनों की जीभें एक दूसरे के मुँह में एक दूसरे के रस को चूस रहे थे.

मैंने अपनी दो उंगलियां उनकी बुर में डालीं और उनको अपनी गोद में लिटा लिया.

मैंने कहा- ठीक है कमीनो, लेकिन मां के बारे में तो सोचो, अगर मां साथ में रही तो हम आंटी की चुदाई नहीं कर पायेंगे. मैं उसके सामने बहुत भोला बनने की कोशिश कर रहा था लेकिन वो समझ तो गई थी. पांच मिनट के बाद जीजा का लंड अपने आप ही सिकुड़ कर मेरी चूत से बाहर निकल आया था.

नाइटी में हाथ डालकर मैंने माँ के बूब्स को बाहर निकाल लिया और उसको देखने लगा. थोड़ी देर में नग्न दृश्य और फिर जब सनी लियोन के सम्भोग दृश्य शुरू हुए तो कसमसाने लगी. फिर हमने रात को एक बार चुदाई की और सो गए।सुबह नाश्ते की टेबल पर मैं मम्मी-पापा से मिला.

मैंने मना किया तो आंटी ने कहा- मैं तुमको कोई गिफ्ट देना चाहती थी, लेकिन इस वक्त सम्भव नहीं है, प्लीज़ तुम बुरा मत मानना, अपने लिए कुछ भी मेरी तरफ से ले लेना.

मैंने उससे मजाक में पूछा- मुझे चोदने का मन है?नहीं नहीं मेमसाब, ऐसा मैं सोच भी नहीं सकता!” वो डर के बोला. मेरे बॉस ने पूरा लंड फिर अंदर किये और अब धीरे धीरे मुझे चोदना शुरु कर दिए.

मोती लड़की का बीएफ उसके बाद मैंने उनके चूचों को छेड़ते हुए कहा- अगर इन दूधों पर भैया ध्यान नहीं दे रहे तो क्या हुआ, मैं उनका ही भाई तो हूं. उसने कहा- रात को मुझे मालूम ही नहीं था कि तुम भी मेरी तरह लेस्बियन सेक्स में मेरा साथ दोगी.

मोती लड़की का बीएफ काफी देर तक उसकी गांड को चोदने के बाद मैंने उसकी गांड में अपना माल गिरा दिया और फिर हम दोनों भाई-बहन सो गये. इधर मैंने अपनी पढ़ाई जारी रखी और इंजीनियरिंग करने के बाद बहुत बड़ा सरकारी ऑफिसर बन गया.

प्रिय पाठको, मैं श्रीमती सोनम सिंह, इस समय मेरी उम्र बयालीस वर्ष की है.

बॉयज एंड बॉयज सेक्सी वीडियो

उसके निप्पल हिमालय की चोटी के जैसे नुकीले थे जिनको महेश ने अपने मुंह में भर लिया था. उसने मुस्कुराते हुए टॉवल उठा कर झट से लपेट लिया और दरवाजा खोलने चली गयी. फिर हम चारों का खाना खत्म हुआ और हम सभी मुँह हाथ धोकर चुदाई के लिए रेडी हो गए.

मैं भी क्या कर सकती थी; बस साइकिल जितना स्लो करके स्पीड ब्रेकर के ऊपर से निकाल सकती निकाल लेती थी. लेकिन उस दिन मुझे समझ में आ गया था कि इस खजाने को क्यों पसंद किया जाता है. ”मैं बोली- ठीक है!मैंने उस वक्त नाईटी और अन्दर ब्रा पैन्टी पहनी थी.

मुझे रिदम के बारे में तो नहीं पता था कि उसने पहले कभी किसी की चुदाई की थी या नहीं मगर मेरी तो यह पहली चुदाई थी.

जीजा जी मेडीकल लाइन में जॉब करते हैं और दीदी भी साथ में ही रहती है. वो बोली- तो खाने में क्या पसंद करेंगे आप?मैंने मजाक के लहजे में कहा- दिल तो आपको ही खाने का है. उस दिन हम दोनों फिटनेस सेंटर नहीं गए और जूस पी कर बाइक पे कुछ देर घूमते रहे … फिर मैंने उनको घर छोड़ दिया, जिधर से वे कार से अपनी सास को लेने चली गईं.

बेबी ने अपनी एक टांग उठाकर मेरी टांग पर रख दी ताकि उसको लण्ड रगड़ाई का पूरा मजा मिल सके. जो कहानी मैं आपको बताने जा रहा हूं यह बात तब की है जब मैं अपने गांव में गया था. सुमन एकदम से उठ कर कहने लगी- क्या कर रही है?मगर मैंने फिर से सुमन के भीगे हुए चूचों को अपने हाथों में पकड़ लिया और उनको दबाने लगी.

मैंने हटने की कोशिश की पर उसने थोड़ी देर के लिए मेरे सिर को ज़ोर से पकड़ लिया. शायद उसको भी उसकी चोदाई करते हुए लड़के का चेहरा देखना बहुत सुखद लग रहा था.

उनका असली नाम सो अक्षर से ही शुरू होता है जिसे मैंने सो से सोनम बना लिया. हम दोनों वीडियो कॉल से या फिर फोन से फोन सेक्स से ही काम चला लेते हैं. हम दोनों फ़ोन पे बात करने लगे कि न्यू ईयर का क्या प्लान है, पार्टी करते हैं.

मैंने उसे चेताया- नो क्लोथ्स … (कोई कपड़े नहीं)मेरा आवाज सुन कर वो रुकी.

आपने घर का लॉक लगाया हुआ है क्या?मां बोली- हां, घर पर तो ताला लगा हुआ है. निक मुझसे कहता है कि वो जब भी मैं कहूँ, तब मुझे लेने इंडिया आ जाएगा और अपने साथ ले जाएगा. फिर मैंने प्रिया से कहा- अगर तुम परीक्षा में अच्छे नम्बर लाना चाहती हो तो मेरे पास तुम्हारे लिए एक अच्छा उपाय है.

हालांकि उसकी चूत चिकनी थी, लेकिन कड़े रोंए के वजह से मेरे सुपारे पर एक अजीब से जलन हो रही थी, जिसका मैं विरोध भी नहीं कर पा रहा था. उम्म्ह… अहह… हय… याह…स्स्स … सर … दर्द हो रहा है!” वह कसमसाते हुए कहने लगी.

तो भाभी दर्द के मारे तड़पने लगीं और बोलीं- अब कितना बचा है?मैंने कहा- बस एक इंच. वो अब तक किसी से चुदी नहीं थी इसलिए पहली बार चूत की सील टूटने का खून था. माँ भी पूजा से खुश रहती थीं, इसलिए उन्होंने मुझे जाने की अनुमति दे दी.

दत्ता सेक्सी वीडियो

मैं उसके साथ ही रसोई में था, हालांकि हम दोनों के बीच कोई बात नहीं हो रही थी.

चूंकि वही तो सारी योजना के कर्णधार थे और उन्हें सब पता था इसलिए उन्होंने इसरार किया कि रात मैं होटल में न रुक कर उनके घर में ही रुकूँ. इधर लाके मैंने उसको चूमना शुरू कर दिया, जिसका उसने भी पूरे ज़ोर से मेरे होंठ को काट कर जवाब दिया. मैं वहीं पर खड़ा होकर उस लड़के का चेहरा देखने की कोशिश करने लगा लेकिन उसकी पीठ दरवाजे की तरफ थी.

जब वो नीचे झुकी तो उसके सूट के अंदर से मुझे उसकी सफेद ब्रा में पैक चूचे दिख गये. मोनी के पैरों को सहलाने में मुझे मजा सा आ रहा था इसलिये उसके पैरों को सहलाते-सहलाते मैंने अब अपने पैर से धीरे-धीरे उसकी साड़ी व पेटीकोट को ऊपर की तरफ खिसकाना भी शुरू कर दिया. बीएफ चुदाई वाली ब्लूउनके पूरे सीने में घने बाल थे और उनके पूरे शरीर पर भी बाल ही बाल थे.

अपने इसी स्वभाव के चलते वो मेरे साथ और मेरे पति के साथ भी मजाक करने लगे. कैसे मैंने कैसे अपने लंड से भाबी की प्यास बुझाई, कैसे उनके प्यारे से भोसड़े को जम कर चोदा.

वो बुरी तरह से चिल्ला उठी- आआह … अम्मी रे … मर गई … आआह आआअ ऊऊऊह … भाईजान … आप निकाल लो, बहुत दर्द हो रहा है. मैं उसकी मस्त चूचियों को देख कर इतना ही बोल पाया- वाओऊऊ क्या मस्त चूचियां हैं … लगता है ऊपर वाले ने बहुत प्यार से इनको बनाया है. एक पल के लिए न जाने क्या हुआ कि हम दोनों एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा दिए.

मैंने अपने अंगूठे को उसके चूत में डाल दिया और उसके दाने को उंगलियों से मसलने लगा. उसने मेरी कुर्ती को निकाल दिया और उसके बाद मेरी ब्रा को भी निकाल दिया. मैंने अपने दोनों हाथों से वसुन्धरा का चेहरा कनपटियों पर से थामा और पहले तो वसुन्धरा चेहरे पर, माथे पर, गालों पर, कानों पर कानों की लौ पर, चिबुक पर और यहां-वहां ढेर सारे चुम्बन लिए और फिर उसके दोनों होंठ अपने मुंह में लेकर मज़े-मज़े से चूसने लगा.

रानी ने मुझे पकड़ के अपने ऊपर लिटा लिया और मेरा मुंह चूचुक से लगाने लगी.

हम दोनों ने किसी तरह रात काटी और सुबह पांच बजे जब हम दोनों वेटिंग रूम में थे, तो दोस्त को किसी का कॉल आया और उसके थोड़ी देर बाद ही दो बहुत ही खूबसूरत सी लड़कियां वेटिंग रूम में आईं. मैंने बिना देर किये गीतू को नीचे बैठा कर अपना लण्ड उसके मुंह में दे दिया.

सामने से कोई विरोध नहीं था, उनका बदन बहुत गठीला था, हाईट में थोड़ी कम थी. मेरी उम्र 28 साल है और अच्छी सेहत के साथ-साथ 6 इंच लम्बे और 2 इंच मोटे लंड का मालिक हूँ। यह मेरी सच्ची कहानी है जो 2 साल पहले एक भाभी के साथ घटित हुई थी। उस भाभी का नाम सायमा था. आंखें बंद करके हम दोनों ही दोस्त इन आनंद के पलों का मजा ले रही थीं.

उसके चिल्लाने की आवाज सुनकर भाभी ने बाहर से पूछा- अब क्या हुआ?वो रोते हुए कहने लगी- दीदी, मुझे बचा लो … नहीं तो मैं मर जाऊंगी. उनकी टाँगों को मैंने अपने कन्धे पर रखा जिससे उनकी चूत की गहराई में मेरा लंड गोता लगा सके और वह यहा वहाँ न हिले जिससे मेरी लय ख़राब न हो. मैं उसकी दोनों चूचियों के ऊपर काले रंग की घुंडी को प्यार से देखने लगा.

मोती लड़की का बीएफ अंदर रितेश जीजू मानसी की चूत को चोद रहे थे और मैं बाहर उनकी बीवी की गांड मार रहा था. अब इतनी देर में मैं भी उन दोनों से काफी फ्रेंडली हो चुकी थी, इसलिए वो भी बातों बातों में मुझे टच करने लगे थे.

साड़ी खोलने वाली सेक्सी वीडियो

मैंने उसको मनाने की कोशिश करते हुए कहा- देख, पहले मेरी बात तो सुन ले. उसके पूरे बदन में ही कयामत भरी थी, उसकी हल्की नीली और भूरी आंखें गजब की कातिलाना नशा बिखेरती हैं. फिर जब वो हल्की मोन कर रही थी, तभी मैंने अपना लंड सैट करके, एक जोरदार धक्का लगा दिया.

जब मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने आंटी के होंठों को पकड़ जोर से चूस डाला और आंटी की चूत को अपनी हथेली से रगड़ने लगा. मैंने शालू से अपनी साड़ी उतारने को कहा, तो उसने इस बार खुद ही अपनी साड़ी उतार दी. पाकिस्तानी बीएफ चुदाईमैंने थोड़ी देर में ही दूसरा झटका मार दिया और पूरा लंड शीतल की चूत में जड़ तक पेल दिया.

जब उनको लगा कि मैं उनको देख रही हूँ तो वो और ज्यादा दीदी को काटने-चाटने लगे.

मैंने कुछ पल तक उसकी इस चुसाई का आनंद लिया और अगले झटके में अपना लण्ड उसके गले तक पहुंचा दिया. लेकिन बाद में ये सब मामला खुला, तो भाभी खूब हंसीं और उन्होंने भी मुझसे इसी तरह से अपनी कुंवारी गांड का बाजा बजवा लिया.

फिर मैंने भी उनके साथ दो तीन सुट्टे लगा लिए, जिससे मुझे नशा हो गया था. उसके शरीर से हल्के हल्के पसीने की महक आ रही थी, जो मुझे बहुत सेक्सी फील करवा रही थी. उसके बाद मैंने उसकी गांड में पहले अपनी अनामिका उंगली को डाला और अन्दर बाहर करने लगा.

सुमन की अनछुई चूत थी क्योंकि शायद पहली बार मैं ही उसको सहला रही थी.

किसी ने देख लिया तो?मैंने कहा- अब मैं नहीं जानता, कोई भी उपाय लगाओ. मैंने उसके हाथ पकड़ कर कहा- क्यों, तुम्हें ये सब अच्छा नहीं लग रहा है क्या?आतिशा बोली- नहीं. सीकर में मेरे पास वाली सीट खाली हो गई तो मैंने उसको बैठने के लिए कह दिया.

साड़ी वाली भाभी के बीएफ सेक्सी वीडियोअंकल जी का बदन देख मैं उनके चौड़े चकले सीने पर मैं रीझ उठी और मन हुआ कि उनकी छाती से जा लगूं; हम लड़कियों को पुरुष की शक्ल से ज्यादा उनका चौड़ा सीना ज्यादा आकर्षित करता है, पता नहीं क्यों … अंकल जी के सीने से लगने की इच्छा उन्होंने खुद पूरी कर दी और सोफे से उठा कर मुझे अपनी मजबूत बांहों में भर लिया. एक दिन उसने मुझे बुला कर कहा- मेरा मोबाइल खराब हो गया है, उसे बनवाने के लिए मार्केट में दिया हुआ है … क्या आप लेते आएंगे?मैं बोला- हां ठीक है, मैं बाजार जाऊंगा तो ले आऊंगा.

उर्मिला की सेक्सी मूवी

मैंने टीवी बंद किया और उठा कर किचन की तरफ जाने लगा, तो किचन की ओर से आती हुई मामी अचानक मुझसे टकरा गईं. मैं सारा दिन की पढ़ाई और कोचिंग के बाद कुछ टाइम फिटनेस सेंटर के लिए निकाल लेता हूँ. फिर उसने मेरे पूरे जिस्म को चूमना चाटना शुरू कर दिया, मैं भी उसका पूरा साथ देने लगी.

फिर वाइन खत्म होने के बाद उसने डाइनिंग टेबल पर आ कर पहले से आर्डर से मंगाया हुआ खाना सर्व किया. उसके झड़ते ही मैंने अपना लंड पूरी ताक़त से उसकी झड़ती हुई बुर में डाल दिया और उसकी कमर को पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. थोड़ी देर हम दोनों एक दूसरे को किस करते रहे और फिर एक बार हम लोगों ने जबरदस्त चुदाई का भरपूर मजा लिया.

प्रतिउत्तर में उसने एक बार फिर मेरे नाक को दबाया और बाथरूम में घुस गयी. मुझे याद है कि 21/09/2015 को मेरी दीदी को लड़का हुआ, बदले में उसने मुझसे कहा कि मुझे मिठाई खानी है. फिर उसने एक दो बार मेरे लंड की मुट्ठ मारी और उसको मुंह में लेकर चूसने लगी.

मैंने फिर खिड़की से देखते हुए फोन किया, तो उसने फिर फोन काट दिया और फिर फोन स्वीच ऑफ कर दिया. मैंने भी एक सेक्सी स्माइल देते हुए कहा- ये सब तेरे लिए ही तो है भाई.

अब मेरा मन भी कर रहा था कि मैं उसके तने हुए लंड को अपने हाथ में ले लूं.

मैंने उससे पूछा- डू यू वांट मोर? (और चाहिए?)उसने नशीली आंखों से हां में सर हिलाया. बीएफ बीएफ 2022दूसरे! मेरे बहुत सारे पाठकों को मुझ से शिकायत है कि मैं बहुत धीरे या कम लिखता हूँ … बोले तो! मेरी कहानियों के बीच में एक-एक साल से ज्यादा का अंतराल होता है. साउथ अफ्रीका का बीएफकुछ ही पलों में वो एकदम मदहोश हो गई और उसके दोनों हाथ मेरे सर के ऊपर आ गए थे. पहले तो मैंने और रानी ने आमने सामने बैठ कर लंड को चूत में घुसेड़ दिया.

सोनल ने धुंआ उड़ाते हुए कहा- मैं तो न जाने कब से आपके लौड़े के लिए प्यासी हूँ राजा भैया.

जब हम अपने अपार्टमेंट पहुंचे तो उसका गाउन निकल गया और मैंने उसको पूरी की पूरी नंगी कर दिया. फिर अपने बाप के सामने मस्त होकर पूरी नंगी खड़ी छोटी वाली नीना की चूत और चूचियां मुझको साफ़ दिख रही थीं. मैं मामी से पूछ रहा था कि क्या मेरी उंगली से और अन्दर भी लंड जाता है?वो अपना जबाब देने के स्थान पर सिर्फ मादकता से सिसक रही थीं.

उसकी चूत से पानी निकलने के बाद लंड और भी सटासट अन्दर बाहर होने लगा. भाबी के चूतड़ इतने भारी थे कि उनके दोनों चूतड़ आपस में सटे हुए थे, जिस वजह से भाबी की गांड का छोटा सा छेद वैसे ही दिखाई नहीं दे रहा था. ”एक करारे धक्के के साथ मेरी माँ की चुदाई का समापन हो गया।अच्छा राजेश अब डॉक्टर के बुलवा लो!”नहीं आज नहीं!”क्यों तुमने मेरी ले तो ली, अब क्या?”अरे आज तो हमारे सम्बन्ध की शुरुआत हुई है, घर चलते हैं, और करेंगे। वैसे आपको मज़ा आया?”बिल्कुल भी नहीं!”क्यों?”ऐसे क्या मज़ा आएगा, तुमने तो अपने कपड़े भी नहीं उतारे, बस घुसा दिया.

ससुर बहू की सेक्सी वीडियो डाउनलोड

उससे मेरी बातें फोन पर होती रहती हैं, मैंने उसको कमोड पर बैठते समय अपनी गांड में उंगली करने की सलाह दी है. चाची वासना से जोर जोर से सिसकारियां भरने लगी और बोलने लगीं- आह खा जा अपनी संगीता की चूत को … दोनों हाथों से खोल के चाट. मैं- भाबी प्लीज़ आज मत रोको … आज अपनी गांड मरवा ही लो … मैं फिर कभी ये ज़िद नहीं करूँगा.

आप सभी ने मेरी पिछली कहानीहोली में चुदाई का दंगलपढ़ी होगी कि कैसे होली के इस दिन पर हम ताश खेलते हुए मैं अपनी हॉट, मॉडर्न ख्यालात वाली बहन की घमासान चुदाई करता हूं.

उसके बाद भी मैंने चुदाई जारी रखी क्योंकि अभी मेरा पानी नहीं निकला था.

राजे राजे … सो गया क्या कुत्ते ” रानी की कोयल जैसी मीठी आवाज़ मेरे कानों में पड़ी. चाची ने ये कहते हुए रबड़ी को अपनी चूत पर रगड़ा और अपनी दोनों टांगें चौड़ी करके बोलीं- चाट मेरी चूत को. सेक्सी वीडियो देसी वाला बीएफउसे फ्लैट के सामने वाली दिवार पर चिपका कर खड़ा कर दिया। मैंने पैंटी उसके मुंह से निकाली.

जोकि किसी भी लड़की को होना सामान्य था ‘बदनामी का डर’ फिर भी वो मुझ पर विश्वास करके मेरा साथ दे रही थी।मैंने उसके हाथों को आगे करके फिर से उसकी लाल ब्रा से बांधा और ऊपर कर दिया। मैंने उसके होंठ चूसना चालू किया. बात शुरू करने के लिए मैंने पूछ लिया- ये केक किसके लिए है?सायमा मुस्कुराते हुए बोली- आज मेरा जन्मदिन है. कुछ देर ऐसा करने के बाद मैंने उसके गाल पकड़ के दबाये और पूरा मुँह खोल के ऊपर कर दिया.

जब एक औरत एक जवान लौंडे के लंड पर अपना हाथ चलाएगी तो लौंडे को तो मजा आना पक्का ही समझिए, सो बस मैं भी गर्म हो गया, मेरा लंड तन गया, जो 7 इंच लम्बा 3 इंच मोटा था. जवाब: सुहानी आप बहुत छोटी आयु की तो नहीं हैं परंतु बहुत बड़ी भी नहीं। सेक्स के बारे में इतना क्यों सोचती हैं आप अभी से इस उम्र में? समय अनुसार सेक्स करना सही होता है.

उसके निरंतर संकोच और शर्म के बावजूद भी मैंने उसकी चूत में अपना लंड घुसा दिया.

वो वनिता को किस करने लगे और वे दोनों बेड पर एक दूसरे के कपड़े उतारने लगे. दूसरे दिन अंकल तो चले गये लेकिन मैंने कुलजीत से उसके घर में ही पढ़ने को कह दिया. आंटी ने भी सिगरेट को अपने होंठों के बीच दबाया और मजे सिगरेट खींचने लगीं.

कॉलेज वाली लड़कियों की बीएफ वीडियो हम लोग चुदाई करते करते हुए तीन पैग खत्म कर चुके थे, पर चुदाई खत्म नहीं हो रही थी. दीवारों पर प्रसिद्ध चित्रकारों की आयल पेंटिंग्स लगी हुयीं थीं और फर्श पर महंगा कालीन बिछा था.

मुझे लगा कि कहीं पानी लाकर मेरे ऊपर ना डाल दे, सो मैं बचने के लिए उठकर उसके पीछे जाने लगा. मैंने बोला- अच्छा जी … सही है और बताइये क्या प्लान है?वो बोली- मेरा कोई प्लान नहीं है, मैं तो फ्री हूँ. फिर जैसे ही लंड महाराज की अकड़न ढीली क्या हुई, चूत ने भी उसे बाहर निकलने का रास्ता दे दिया.

कैलेंडर सेक्सी पिक

मैंने जैसे ही लंड डाला, मौसी की अनचुदी गांड की कसावट से मुझे भी दर्द होने लगा. उसका नर्म गाल चूमते ही मेरे तनबदन की आग और भड़क गयी और मेरा लंड सनसनाता हुआ पूरा 8 इंची बड़ा हो गया और सलामी देने लगा. जब मैं वापस आया तो उस समय रात के नौ बज चुके थे और गांव में लगभग सभी लोग इस समय तक सो जाते हैं.

दिलिया ने तो मेरे पास आकर मेरे कान में कहा- आपने पूरी हवेली को रातभर सोने नहीं दिया, ऐसा क्या कर डाला सारा और ज़रीना आपा के साथ?तो मैंने कहा- मेरी जान, जल्द ही तेरी भी यही हालत करूँगा. थोड़ी देर बाद काजल उठी और बाहर से सूखे कपड़े लेकर आई और मेरी तरफ मुस्कुराकर देखते हुए ऊपर चली गई.

फिर जब सुमिना ने अपने ही मन में कुछ सोचकर ये कहा- कोई बात नहीं, हम दोनों फिर कभी चली जायेंगी, तुम आराम करो.

वसुन्धरा का मुंह खुला और उसके मुंह से जोर से ‘आह’ की सिसकारी निकली और इसके साथ ही मेरी जीभ वसुन्धरा की पकड़ से छूट गयी. क्या तुम मेरे साथ ड्रिंक करोगे?मैंने आंटी की तरफ पीछे को सरकाते हुए उनके चूचों पर एक रगड़ मारी और कहा- वाह आंटी … नेकी और पूछ पूछ … आप पिलाओगी, तो क्या नहीं लूँगा?मैंने महसूस किया कि जब मैंने आंटी की चूचियों को रगड़ मारी, तो उसके बाद से आंटी ने मेरी पीठ से अपनी मम्मों को खुद ही रगड़ना चालू कर दिया था. मेरे सामने बैठ कर मेरी फुद्दी को घूरने लगा। मुझे सच में बड़ी शर्म आ रही थी। मगर इस लुच्चपने का भी अपना ही मज़ा होता है। थोड़ी शर्म, मगर बहुत सारा रोमांच।उसने मेरी फुद्दी को अपने हाथ से छूकर देखा, उसके छूने से मुझे करंट सा लगा। उसने मेरी फुद्दी के दोनों होंठ खोल कर देखे- अरे वाह, क्या खूबसूरत गुलाबी फुद्दी है.

नसीब की बात कहें या मजबूरी कहूँ कि एक बार मुझे एक ही जगह पर दो साल हो गए थे. उसके निप्पल हिमालय की चोटी के जैसे नुकीले थे जिनको महेश ने अपने मुंह में भर लिया था. उसकी चूत चुदाई करते हुए मैं तो पूरे जोश में आ गया और तेज-तेज धक्कों के साथ उसकी चूत को फाड़ने लगा.

उन्होंने मेरे लंड को छुआ तो मेरे शरीर में सनसनी सी मच गई।उन्होंने मेरी तरफ़ देखा और मैंने उनकी तरफ़ देखा और इशारे में बात समझ गई.

मोती लड़की का बीएफ: फिर बुआ ने अपनी चूत को अपने हाथ से फैलाया और इसी बीच ताऊ जी ने लंड को उनकी चूत में अंदर धकेलना शुरू कर दिया. खाना खाकर मैं अब फिर से टीवी देखने लग गया और मोनी कुछ देर तो घर के काम में लगी रही.

इस तरह के वीडियो को आप बस आनन्द लेकर देखिये मगर उसमें दिखाए गये सभी दृश्य कल्पित होते हैं जिनका असल जिंदगी से सरोकार बहुत कम होता है. फिर मैं उठा और उसकी टांगों को फैला कर अपने लंड पूरे झटके से उसके चूत में उतार दिया और उसी पल उसके बड़े बड़े चुचों को ज़ोर से दबा दिया. जब तक मैंने हाथ-मुंह धोया तो अचानक अंदर से उसकी माँ की चीखने की आवाज आने लगी.

जब मेरे दोस्त से बर्दाश्त नहीं हुआ, तो मुझसे बोला- अबे तू हट … मुझे इसकी चुदाई शुरू करने दे.

मेरे बॉस बुर फैला के जीभ से छेद को चाटने लगे, कुछ ही देर में मैं फिर से गर्म हो गई. जिस मकान में मैं रहता था उस मकान के निचले हिस्से में एक मल्लाह परिवार भी था जिसमें मोनिका अपने दो भाई और माँ बाप के साथ रहती थी. मैं- क्या मौसी और कहां?मौसी भी समझ चुकी थीं कि मैं क्या चाहता हूँ उनसे और टाइम कम होने की वजह से जल्दी भी करना था … इसलिए मौसी ने भी बिना टाइम गंवाये बोल ही दिया- डाल ना जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में … और चोद मुझे … चोद चोद कर फाड़ दे मेरी चूत को … पिछले 12 सालों से लंड के लिए बहुत तड़पी है मेरी चूत … अब तू और मत तड़पा इसे … जल्दी चोद मुझे.