रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो कुत्ता

तस्वीर का शीर्षक ,

अंग्रेज सेक्सी फोटो: रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ, मैं आपको उसका माल का नाम बता देता हूँ ताकि आपके आइटम को भी मजा आना शुरू हो जाए.

सेक्सी विडिओ

मेरी पिछली सेक्स कहानीनजर का धोखा और मौसी की चूतमें आपने पढ़ा था कि मैंने अपनी फ्रेंड की मौसी की चुत को चूस कर झाड़ दिया था. नागालैंड का सेक्सी वीडियोफिर उसने जल्दी से टॉवेल लाकर मुझे दी और वॉशरूम की तरफ इशारा करके पैन्ट खोलने के लिए बोला.

यह कह कर मैंने अपना लंड आंटी की गांड में एक झटके में ही अन्दर डाल दिया. गोल्डन चार्ट सागरअब शेखर की उंगलियां धीरे-धीरे सरकते हुए ठीक धारा की चूत के ऊपर पहुँच चुकी थीं.

[emailprotected]सेक्स विद माय स्टेप मॉम कहानी का अगला भाग:सौतेली मां और बेटे की वासना का खेल- 3.रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ: मैं शाम को आ जाऊँगा।और इसके बाद मेरी माँ और जीजा जी हॉस्पिटल के लिए चले गए।मैंने घर के थोड़े बहुत काम करने के बाद खाना बनाया और फिर टीवी देखने लगी।करीब 7 बजे जीजा जी घर आये।जीजा घर आते ही दरवाजा बंद किये और मेरे गले लग गए।मैं भी उनसे चिपक गई.

प्राची मेरे लन्ड पे बैठ के कूदने लगी।मेरे दोस्त की सबसे छोटी बहन मस्त रण्डी की तरह चुद रही थी।पांच मिनट कूदने के बाद वो फ़िर से झड़ गई.कभी पूरा लंड मुँह में भर लेतीं तो कभी लंड के सुपारे को जीभ से चाटने लगतीं.

पुरानी सेक्स फिल्म - रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ

मैंने फरियाल को बोला- फरियाल तुम्हारी चूत को किसी की नज़र नहीं लगे … इसलिए ऊपर वाले ने तुम्हारी चूत पर काला तिल लगा दिया है.मैंने आंटी की चुत की फांकों में अपना लंड घिसा तो वो बोलीं- साले अन्दर कर दे भैन के लंड … क्यों तरसा रहा है कमीने.

इस बार मैं दर्द से चिल्लाने लगी- आह उम्मह हहहह … उइ मां फट गई मेरी गांड!तभी प्रशांत ने एक और झटका मारा और उसका पूरा का पूरा लंड मेरी गांड में घुस गया. रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ फिर मैं करीब 10 मिनट बाद उठी और बोली- तुम लोगों ने आज अपने दोस्त की बीवी को मसल ही दिया ना!तभी प्रशांत बोला- यार भाभी, मज़ा आ गया.

इस बार थोड़ा असर हुआ वो एक हाथ से मुझे जल्दी झाड़ने के लिए मेरे लंड को सहला रही थीं, लंड में थोड़ी ऐंठन सी हुई.

रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ?

धारा की हालत ऐसी थी कि वो उन्माद में अपनी गर्दन को दाएँ-बायें इधर-उधर करके अपनी बेचैनी का परिचय देने लगी. अब रानी गांड उठा कर कहने लगी- राज आज से मैं तुम्हारी रंडी हो गई हूँ … तुम्हारी जैसे मर्ज़ी हो, उस तरीके से चोद दो. वो ज्योति की चूत पैंटी के ऊपर से मसलते हुए आगे बोली- एक शर्त पर माफ करूंगी.

मगर ये क्या … जिस बात की वजह से शेखर कल रात से परेशान था यानि कि धारा के यूँ अचानक ग़ायब हो जाने वाली बात से, उसी धारा के क़रीब 7-8 मैसेज उसकी आइ. यह कहानी मैं उस सहेली की मर्ज़ी से ही पोस्ट कर रही हूँ।उसकी गोपनीयता बनाए रखने के लिए मुझे कुछ किरदारों के नामों को बदलना पड़ा है।तो चलिये अब आप लोग उसकी वर्जिन Xxx स्टोरी का आनंद लीजिये।यह कहानी सुनकर मजा लें. मेरी एक आदत है कि जब मैं रात को सोता हूं तो सिर्फ लोअर पहन कर … अंडरवियर उतार देता हूं ताकि लंड आजाद रहे और मुझे बार बार उसे एडजस्ट ना करना पड़े.

शीना- तो फिर मम्मी आपके पास ही क्यों आयी, वो पापा का इलाज भी तो करवा सकती थी. फिलहाल अभी जो में कहानी लिखने जा रहा हूँ वो मेरी मित्र नीरू की बेटी शीना की है. अंकल- थोड़ा और सहन कर भोसड़ी के … अभी इतनी जल्दी आह उह मत कर … तेरे इस सफेद मखमली बदन को थोड़ा कष्ट तो सहना पड़ेगा.

मैंने भी जोश में भाभी की ब्रा फाड़ दी- ले रंडी … इसी तरह तेरी गांड भी फाड़ूँगा. रास्ते में मुझे एक सेक्सी भाभी जाती हुई दिखीं तो मैंने उनके पास बाइक रोक ली और ऐसे ही किसी कॉलेज का एड्रेस पूछने लगा.

चाचा- शालू डार्लिंग चुदाई ही करनी हो तो किसी का भी लंड डलवा लिया कर.

अब इन दोनों भाई बहन अभय और ममता में चुदाई की कहानी ने किस तरह से रंग लिया, वो सब मैं आपको अगले भाग में लिखूंगी.

मैंने अगले ही पल उनकी पैंटी की इलास्टिक में अपनी उंगलियां फंसा दीं और पैंटी को उनकी टांगों से निकाल दिया. मैंने उसकी गांड में उंगली की तो वो चिहुंक गई मगर उसने सामने से तेल की शीशी मुझे दे दी. पिछले कई महीनों से मैं अपनी सेक्स कहानी लिखना चाह रहा था मगर समय न मिल पाने के कारण ऐसा न कर सका.

काफी लम्बी चुदाई के बाद मेरा निकलने वाला था तो मैंने बोला- मेरा माल आ रहा है … रस कहां लेगी मेरी रंडी!आंटी बोलीं- मुझको बच्चा चाहिए तेरे से क्योंकि तू दिखने में हैंडसम है. भाभी बोलीं- चलता हूँ … इसका क्या मतलब है?मैंने कहा- चलता हूँ मतलब अब मैं जा रहा हूँ. तब तक ये निशान नहीं खत्म नहीं हुए तो?इस पर सनी बोला- आने से मना कर दो न!मैं बोली- कैसे यार?सनी बोला- बोल दो कि पीरियड आने वाले हैं.

मैं अपनी चूत को समीर के मोटे लन्ड पर रगड़ने लगी और बहुत सारा थूक लगाकर धीरे धीरे समीर के लंड को अपनी चूत के अंदर लेती चली गयी।इतना मोटा लन्ड मैंने पहली बार लिया था इसलिए ऐसा लग रहा था कि मेरी चूत फटी जा रही है.

मगर मैंने देख लिया था कि उसकी मम्मी जाग रही थीं और अपनी टांगों के बीच अपने हाथ से कुछ रगड़ रही थीं. मैं उनके ऊपर कुछ इस तरह से लेट गया था कि मेरा पूरा शरीर उनके शरीर पर था. चाची उठी और दूसरे कमरे में जाकर एक गद्दा लाई और उसे कमरे में जाली के दरवाजे के आगे बिछा दिया.

उसके 42 इंच के चूतड़ों को देख कर ऐसा लगता है, जैसे 2 तरबूज काट कर गांड के छेद के दोनों तरफ चिपका दिए गए हों. मैं अपनी मां को काफी देर से चोद रहा था और लगातार झटके मारे जा रहा था. मैंने रोजाना भाभी से किसी न किसी बहाने से इसी विषय पर बात करनी शुरू कर दी थी और भाभी धीरे धीरे मुझसे खुलती चली गईं.

मानो कोई लॉलीपॉप चूस रही हो।धीरे धीरे स्मृति मेरे लंड को अपने मुँह के अंदर ज्यादा से ज्यादा ले रही थी.

अगले ही पल वो निढाल हो गई और मेरे सीने पर हाथ लगा कर मुझे रोकने लगी- आह राज अब बस … रुक जाओ. भाभी की शर्म निकल चुकी थी, वो बोलीं- मैं मोनू को स्कूल बस तक छोड़कर आती हूँ.

रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ फिर मैंने सोचा कि मैं कंपनी के काम से आया हूं और ये साहिल की अम्मी है, तो मुझे ये सब नहीं करना चाहिए. भाभी ने मुझे अपनी चूत सूंघते हुए देखा तो बोलीं- ये क्या कर रहे हो जानू … चाटो न … जल्दी से.

रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ कुछ देर बाद वो उठी और उसने अभी चुत से निकला हुआ खून देखा, तो मेरी तरफ देखने लगी. धारा- मैं ठीक हूँ, आप सुनाइए कैसे हैं?अब शेखर को यक़ीन हो गया कि उस तरफ़ ललित ही है.

शेखर- ओहो … मतलब अब दो सप्ताह तक हर दोपहर आपसे बात हो सकेगी!धारा- नहीं जी।शेखर- क्यूँ … क्या आप मुझसे बात नहीं करना चाहतीं?धारा- ऐसा मैंने कब कहा? मैं तो बस ये कह रही हूँ कि दोपहर में बात करने की क्या ज़रूरत है, बातें तो रात में भी हो सकती हैं ना!धारा का इशारा समझ कर शेखर की बांछें खिल गयीं, उसे अगली कई रातों तक होने वाली मस्ती के ख़्याल आने लगे.

दीदी की सेक्सी वीडियो

बस के रुकते ही चिराग ने जल्दी से हाथ बाहर निकाल लिया और ज्योति ने भी उठ कर चैन बंद की. उन्होंने कहा- ठीक है … मगर ज़रा आहिस्ता से करो और तुम सिर्फ मेरे कपड़े ही उतारोगे और कुछ नहीं करोगे. मैंने बाथरूम जाकर पैंट नीचे की और उसको अपने गांड की फोटो भी भेज दी.

हम दोनों जल्दी से अलग हुए और मैंने सिगरेट जलाई और सामने सोफे पर बैठ गया. लंड की चमड़ी हटा कर उसने मानस के लौड़े की टोपी ऐसे चूसी कि मानस की भी आह्ह निकल गयी. नेहा- कौन है वो … मुझे भी तो बता ममता?ममता- नहीं यार … मैं तुम्हें उसका नाम नहीं बता सकती.

मैं बोली- सेक्स भी किया है कभी!वो बोला- आज के दिन ही वो मुझे अपनी चूत गिफ्ट में देने वाली थी और आज मैं उसकी चुत की सील तोड़ने वाला था लेकिन अचानक वो चली गयी.

मेरे तैयार होते ही शहज़ाद का फ़ोन आया कि आपके घर के आगे वाली गली में खड़ा हूँ. संगीता हम दोनों के सामने आकर जमीन पर घुटनों के बल बैठ गई और दोनों हाथों में हम दोनों के लौड़े पकड़ लिए. चूंकि मैं सिगरेट पीता था तो इस वक्त मुझे अपनी उत्तेजनावश सिगरेट पीने की तलब लग रही थी.

चूत के मुखद्वार पर लण्ड का सुपारा टिकाकर मैं आगे की ओर झुक गया और कविता की चूचियां चूसने लगा. वो बोला- हां मेरे लंड में भी आग लगी है इसे तेरी चुत के अन्दर पेल कर ही शांत करूंगा. निखिल ने मीरा की चुत के होंठों को फैला कर उसकी चुत चाटनी शुरू कर दी.

लेकिन वो मुझे हाथ से चुप रहने का इशारा कर मेरे लंड को लगातार चूसता रहा. मैं बोली- गौतम अब तो खुश हुआ न अपनी दीदी के मुँह में छोड़कर … अब मैं जाऊं?वो बोला- नहीं यार दीदी अभी नहीं, मुझे तो अपनी वर्जिनिटी आपकी चूत में खोनी है.

”आप कुछ भी कीजिये, मुझे बच्चा चाहिए, मैं अपनी सास के ताने सुन सुन कर तंग आ चुकी हूँ. सेक्स विद माय स्टेप मॉम के पहले भागसौतेली मॉम के साथ सेक्स की शुरुआतमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी मां ने मुझसे चुदवाना स्वीकार कर लिया था और मैंने उनकी चुत में लंड पेल दिया था. मैंने उससे पूछा- क्या तुम्हारे शौहर तुम्हें नहीं चोदते हैं?उसने बताया- मेरा शौहर अब मुझे बिल्कुल नहीं चोद पाता है.

ज्योति तो चिराग का हाथ लगते ही कांप उठी … और उसने एकदम से चिराग को जकड़ लिया.

मैं उसकी चूत के लिए कहीं भी जा सकता था क्योंकि अभी इस समय सिर्फ यही मेरी गर्लफ्रेंड थी. मैंने और समीर ने उसकी पैंटी कई बार देखी है … और पैंटी भी कौन सी, थोंग पैंटी. मुझे और ज्यादा दर्द होने लगा, मैंने उससे मना किया तो वो बोला- यार चोट पर दवाई लगाते हैं.

मैं जानता था कि लंड का ये तनाव दवा की वजह से है जो कुछ देर में शांत हो जाएगा. चाची ने सुबह ही मुझसे केमिस्ट से कुछ दवाई मँगवा ली जिससे कि वो प्रेग्नेंट न हो.

ये सब बताने के बाद अनिकेत ने लूसी की चूत में लंड पेल दिया और उसको चोदने लगा. मैंने उसकी गांड में थूक लगाया और अपना लंड गांड के छेदे के बाहर रगड़ने लगा. मैंने पानी पिया और दीदी गेट में अन्दर से कुंडी लगा कर अपनी साड़ी उतारने लगीं.

सेक्सी वीडियो भेजो गाना

सुबह हम निकल पड़े चंडीगढ़ के लिए।रात भर जागने से सफर में नींद कब आयी पता ही नहीं चला.

मेरे चूतड़ों का आनन्द लेते हुए दस मिनट बाद देवर जी ने भी अपना वीर्य मेरी चूत में निकाल दिया. वह बिस्तर पर बिना कपड़ों के पसरी थी; अपनी मस्त चूचियों को अपने ही हाथों मसल रही थी. जब आप अपनी पत्नी से एक लँगोटिया यार की तरह मिल जाते हो तो और वो भी तुम्हारे साथ पति से ज्यादा बॉयफ्रेंड वाला व्यवहार कर ले तो सब कुछ हो सकता है.

अब आंटी ने मेरी उंगली पकड़ कर अपनी चुत में डाल दी और कहा- यहां पर कीड़ा काट रहा है. पब्लिक सेक्स सिस्टम की कहानी के पिछले भागगली मोहल्ले में खुल्लम खुल्ला चुदाईअब तक आपने पढ़ा था कि गगन की मां सुम्मी ने सारे नगर के सामने मंच से, अपनी बेटी प्रियंका की सील तोड़ने के लिए उसके भाई गगन का ही नाम लेकर सबको खुश कर दिया था. वीडियो सेक्स नेपालबीच बीच मुँह से लंड निकाल कर मेरे लंड पर अपना थूक लगा कर सहलाते हुए चूसने लगती थीं.

मुझे पड़ोस की भाभी जी ने देखा, तो बोलीं- चंदन जी इनको रूम चाहिए … आपका पोर्शन खाली है क्या?मेरी किस्मत ने यहीं मेरा साथ दे दिया. मैंने उनके और उन्होंने मेरे कपड़े शरीर से अलग कर दिए और हम नंगे साथ नहाने लगे.

तेज़ तेज़ करने से स्त्रियों को उतनी ही तेज़ी से चरम सुख मिलता है … और हुआ भी यही. अंकल- ऐसा तो नहीं कि तुम्हें खुद ही लड़कियां पसन्द नहीं आती हों?मैं- नहीं अंकल, ऐसा कुछ नहीं है. करीब दस मिनट बाद एक कम्पाउंडर आया और वो दोनों हम दोनों को अन्दर ले गया.

कुछ दिनों बाद मम्मी ने मुझे बताया कि निखिल चाचा को हां बोलने के पीछे दो वजहें थीं. देसी लड़कियों की चुदाई कहानी के पहले भागतीन जवान लड़कियां नंगी मेरे साथमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने एक ही बिस्तर पर तीन नंगी हसीनाओं की चुदाई का ताना-बाना बुनना शुरू कर दिया था. फिर मैं सीधी हुई और उसी डॉक्टर की दी हुई ग्लिसरीन लाकर उन्हें दे दी.

अनिकेत बोले- क्यों रे … अपनी ही सगी बहन के साथ?मैंने शिवम का चेहरा देखा तो वो लाल हो गया था.

इस समय नीतू शून्य की तरह स्थिर थी तो रूपाली ने पहल करने की सोची।रूपाली नीतू के बदन को हल्के हाथों से सहला और दबा रही थी।फिर रूपाली ने धीरे से नीतू की गर्दन को चाट लिया; पहले एक बार, फिर दूसरी बार, फिर तीसरी. उसका 34-30-34 का फ़िगर इतना मादक था कि जो भी देखता, बस उसे चोदने की सोचने लगता था.

फिर पास पड़े अपने कपड़े उठाकर उसकी जेब से तीन कंडोम का एक पैकेट निकाला. मैंने किचन में देखा, बाथरूम में देखा, साहिल के रूम में देखा … वो कहीं नहीं थी. गुलाबी रंग का झीना सा गाऊन पहने हुए थी, पता चल रहा था कि उसने ब्रा और पैन्टी नहीं पहनी है.

ऊपर से उसके नैन नक्श इतने कटीले थे कि अगर वो मुस्कुराकर किसी को देख ले तो वो वैसे ही मर जाये।मुझे पता चला कि वो कुछ बिज़नेस करती है इसलिए दिन के टाइम में नहीं आ सकती है।उसने रात को 8 बजे का टाइम माँगा. कोमल कह रही थी- आह नीरज अमित … चोद दो मुझे प्लीज!अमित ने अपना लंड कोमल के मुँह में दे दिया. थोड़ी देर में ताई कुछ शांत हुईं तो मैंने फिर से गांड चोदना शुरू कर दिया.

रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ मैंने उसके साथ किस करना मम्मे दबाना आदि कई बार कर लिया था, यहां तक कि उसे अपना लंड भी बहुत बार चुसा दिया था, पर चुत नहीं चोद पाया था. इस ब्लाउज में आगे से भी बहुत घर गला था, जिससे मेरे उभार बहुत ज़्यादा दिखने वाले थे.

रोमांटिक सेक्सी लव स्टोरी

वो देसी कुतिया सी बिलबिलाती हुई आवाजें कर रही थी और मैं डॉबरमैन कुत्ता सा उसकी चूत को भोसड़ा बनाने पर तुला हुआ था. उन्होंने अपने पैर मेरी कमर पर इतने टाइट दबा लिए, जैसे उनकी चूत बोलना चाहती थी कि एक भी बूंद बाहर मत निकालना. टॉयलेट सेक्स कहानी में पढ़ें कि ट्रेन के स्लीपर बोगी में मुझे एक जवान देसी लड़की मिली.

उसकी आँखें खुलीं थीं लेकिन आँखों के सामने धारा का कामुक बदन ही घूम रहा था।जितनी भी झलक उसने वेब-कैम के ज़रिए देखी थी वो काफ़ी था धारा के कँटीले बदन का अनुमान लगाने के लिए।शेखर भी अपने ख़्यालों में बस उसी झलक को अपने तरीक़े से सोच-सोच कर उत्तेजित हुआ जा रहा था. आगे कुछ और ज़्यादा भीड़ थी, जिससे बगल बगल में चलना मुश्किल था, तो उसने मुझे अपने आगे कर दिया और पीछे से मेरी कमर पकड़ ली. jio सेक्सी पिक्चरफिर हम लोग घर आ गये।मैंने गांडी अंदर खड़ी की और कमरे में जाकर कपड़े बदलने लगा.

कुछ देर बाद मैंने एक और धक्का लगा दिया जिससे मेरा पूरा लंड उस रंडी मां की चूत में घुस गया.

मैं भी जोश में आ गया और पैंटी के अन्दर हाथ डालकर भाभी की चूत सहलाने लगा।अब धीरे धीरे दोनों ने एक दूसरे को नंगा कर दिया और 69 की पोजीशन में आ गए और दोनों चूत और लंड चूसने लगे थे।थोड़ी देर बाद मैंने पिंकी भाभी को बोला- भाभी, कैसे चोदूं?वो बोली- राज, तुम मुझे पिंकी बोलो, भाभी नहीं!मैंने पिंकी को बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया. वहाँ पहुँच कर शेखर ने फ़्लैट की घंटी बजाने के बजाए धारा को फ़ोन पर मैसेज किया कि वो आ गया है.

वो बोली- सर, ये सब आप मम्मी को तो नहीं बताओगे न?मैं- नहीं, ये हम दोनों के बीच रहेगा. दूसरे दिन मौसी का कॉल आया कि उनकी बेटी की अगले हफ्ते शादी है, सभी को आना है. मगर कामुक आवाजों के चलते उसकी वासना बढ़ गई थी और रोमांटिक भाभी की वासना जाग उठी, उसकी चुत में लंड के लिए कुछ चिंगारियाँ भी भड़क गई थीं.

उसने मुझसे कहा- मुझको मेरी मां की चुदाई होते देखना बहुत अच्छा लगता है और बहुत मजा भी आता है.

दो तीन सिप लेने के बाद घर की बैल बजी, मैंने दरवाजा खोला तो सामने शीना खड़ी थी, उसकी टांगें अभी भी कांप रही थी. अब मेरा हाथ उसकी निक्कर के ऊपर से ही चूत पर जाने लगा तो उसने अपने पैरों को थोड़ा फैला दिया. काफी दिनों तक मेरी निगाहों ने भाभी को वासना की दृष्टि से देखा तो भाभी समझ चुकी थीं कि मैं उनके शरीर को घूरता हूं.

हिंदी सेक्सी फिल्म हिंदी सेक्सीऔर मैं सोच रहा था कि साली की गांड अब भी टाइट थी … क्या इसके शौहर ने कभी इसकी गांड नहीं मारी है. वो तुरंत बोली- पम्प पर देख लो डिजिटल मोड से पेमेंट हो सकता हो, तो मैं ऑनलाइन कर दूंगी.

पंजाबी सेक्सी चैनल

समीर ने मेरी भी गांड चाट चाटकर ढीली की; फिर मुझे सीधे लिटाकर मेरे दोनों पैरों को उठा कर अपने कंधे पर रखा. एक दिन की बात है कि मैं और विवेक घर के पीछे बने बाथरूम में एक साथ मस्ती कर रहे थे. काफ़ी देर तक धारा का कोई जवाब नहीं आने से शेखर एक मिश्रित से मनोभाव लेकर बिस्तर से उठा और अपनी बालकनी में टहलने लगा.

मैंने मौके का फायदा उठाया और उसको बेड पर लिटा कर उसके होंठ चूसने लगा. फिर भाभी उठ कर अपनी चूत व मेरे लंड को अपनी पैंटी से साफ करके मेरे पास ही सो गईं. हैलो मेरी जान से प्यारे मेरे दोस्तो, मैं आपकी प्यारी सबीना, एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में स्वागत करती हूँ.

लौटने के 5 मिनट बाद ही आशारा का मैसेज आया- परसों रात को तुम फ्री हो क्या? अगर फ्री हो तो हम फिर मिलेंगे. इसमें कुछ स्त्रियां बहुत ज्यादा कामोत्तेजित हो जाती हैं … और कुछ को असीम आनन्द की अनुभूति होती है. अपने एक हाथ में बहुत सारा थूक लिया और फिर से भाभी की चूत पर थप्पड़ दे मारा.

उसका पूरा मुँह उस पानी से भीग कर चमक रहा था और ये यही बयां कर रहा था कि आज सोनम बरसों बाद ऐसे खाली हुई है. चारों अपने साथ कंडोम लाये थे तो चारों ने अपने अपने लंड पर कंडोम लगा लिया.

मैंने इठलाते हुए कहा- क्यों तुमने कभी अपनी बीवी को चड्डी पहने नहीं देखा क्या?इस पर वो हंसने लगा और बोला- मालकिन शहर की औरतें ही ये पहनती हैं … गांव में कोई नहीं पहनती.

फिर ऊपर मैंने एक पीले रंग की ब्रा और उस पर एक हल्के क्रीम कलर का टॉप पहना. न्यू गोल्डन सट्टाउस औरत ने अपना नाम फरियाल (इधर मैंने ये नाम बदल दिया है) बताते हुए लिखा था कि उसको एक बच्चा है. हिंदी में सेक्स मूवीदोस्तो, वैसे तो मेरा लौड़ा छह इंच का ही है लेकिन चुदाइयों के काफी अनुभव के बाद ये बड़ा दमदार हो गया है. उसने सुसु की और मैं पास ही खड़ा होकर उसकी सुसु की सुर्र सुर्र की आवाज सुनता रहा.

तन्वी ने मुस्कुराते हुए कहा- हां जरूर, क्यों नहीं मेरी जानेमन, जानेतमन्ना, जानेजिगर, जानेबहार.

[emailprotected]कॉलगर्ल चुदाई कहानी का अगला भाग:दोस्त की सेक्सी दीदी की चुदाई की कहानी- 3. मैंने बाइक पार्क की और अन्दर काउंटर पर जाकर पानी की बोतल और कुछ खाने का ऑर्डर देकर सीधा रूम में चला गया. मैंने सुनीता से पूछा- तुम मेरे लंड के रस को कहां लेना चाहती हो?सुनीता ने कहा- लंड का रस बहुत कीमती होता है, इसे मेरी चूत में डाल दो.

हम दोनों का बिस्तर एक कमरे में ज़मीन में लगा था और एक अकेला बिस्तर मसहरी के परली तरफ भी लगा हुआ था. ऊपर से मेरी बीवी को दूसरे मर्द से चुदवाने की मेरी प्रबल इच्छा थी जो आज कल्पना में तो मैंने पूरी कर ही ली थी. ममता- ये बात तू कैसे कह सकती है?मैं- चल छोड़ … जल्दी से फ्रेश हो जा, मुझे नहाना है.

बेबी सेक्सी पिक्चर

मगर ऐसे आपका नाम लेना क्या सबको अजीब सा नहीं लगेगा!वो बोली- ठीक है, पर अकेले में तुम मुझे मेरे नाम से ही बुलाया करो. यह विचार आते ही शेखर का दूसरा हाथ धीरे से धारा के चेहरे से सरकता हुआ पहले तो उसके कंधे तक आया फिर धीरे-धीरे नीचे की ओर सरकते हुए धारा के उन्नत विशाल उभारों पर आ गया. मगर ऐसे आपका नाम लेना क्या सबको अजीब सा नहीं लगेगा!वो बोली- ठीक है, पर अकेले में तुम मुझे मेरे नाम से ही बुलाया करो.

अब विवेक मेरी मम्मी की चुदाई करने का प्लान कर रहा था और वो इस प्लान को अनिकेत के साथ बना रहा था।शिवम और लूसी को इस बारे में नहीं पता था.

सोफे पर बैठते ही वो बोली- लाओ अंकल, वो वीडियो दिखाओ?मैं बोला- थोड़ा सब्र करो यार!फिर मैंने उसे जूस पीने को दिया और साथ में वीडियो खोल कर उसे अपना फ़ोन दिया.

स्नेहा- तो!नेहा- तो एक बार मैं नीचे गई तो मॉम के कमरे से आवाजें आ रही थीं … पर मैं रुकी नहीं … मैं समझ गई थी कि वहां क्या चल रहा है. क्योंकि मुझे भी ये सब पसंद था तो मैंने कहा- क्या भैया आप भी!उसने कहा- देख ले तेरा मन हो तो चुम्मी ले लेने दे. देसी हुक्का प्राइसआज पता नहीं मैं कितनी बार गर्म हुई … और न जाने कितनी बार मेरी चूत से गर्मी निकली.

जब तक लड़की 19 साल की नहीं होती है, उसे लंड चुत और माल से दूर रखा जाता है. अपने मन में उसने लंड देख कर सोचा- ये क्या मजाक है, इतना बड़ा लंड भी किसी भारतीय का होता है क्या? ये तो किसी भी औरत की चुत और गांड ऐसे फाड़ेगा कि दुबारा सिलने लायक नहीं बचेगी. शीना मुझसे बोली- अंकल, आपने शायद आज ज्यादा ही पी ली है जो अपने होश में नहीं हो.

हालांकि आप सभी दोस्त जानते हैं कि आपका सरस दिल से बहुत ही अच्छा इंसान है तथा जिस इंसान के साथ में दोस्ती करता है या प्यार करता है, उसे अपनी पूरी शिद्दत के साथ उस वक्त तक निभाता है, जब तक कि सामने वाला मुझे छोड़कर ना चला जाए. भाबी ने तेज स्वर में चिल्लाते हुए मेरा सिर पकड़ कर अपनी चुत पर ही दबा दिया.

मैं जल्दी से अपना बुरका, जो हमारे यहां काले रंग का ऊपर से पहना जाता है, उसको पहन लिया.

मेरी जवानी वैसे के वैसे रह गयी, जिसका मैं मज़ा न ले सकी, कहीं वैसा ही इसके साथ भी न हो. पिंकी बोलने लगी- आहह आहहह ऊहह मेरे राजा … चोद अपनी भाभी को … बना दे आज मुझे रंडी!मैंने उसकी दोनों टांगों को चौड़ा कर दिया. फिर मैंने उससे पूछा- क्या तुम मेरा लंड लेने को तैयार हो?उसने तुरंत बोल दिया- हां मैं तो कब से चुदने को मरी जा रही थी.

हिंदी सेक्सी मूवीस वीडियो मैंने भाभी से पूछा- भाभी आप रो क्यों रही हैं?वो बोलीं- ऐसे ही बस रोना आ गया. भाभी- अरे ये क्या कर रहे हो देवर जी! दूध से मेरी लैगी खराब हो रही है.

लेकिन मेरे कुछ करने से पहले ही मां के व्यव्हार में परिवर्तन आने लगा. इससे पहले कई चूतें मेरे लौड़े को मिली थीं मगर भाभी को चोदने के लिए मेरा एक जुनून और सपना था, जिस वजह से मैं कुछ ख़ास सावधानी बरत रहा था. बस दो तीन झटकों के बाद शेखर ने पूरी ताक़त से अपना लंड धारा की चूत में जड़ तक गाड़ दिया और एक-एक करके पता नहीं कितनी फुहारें अपने कामरस की धारा की चूत में छोड़ दीं।दोनों लम्बी-लम्बी साँसें ले रहे थे मानो कोई मैराथन दौड़ कर आए हों।शेखर वैसे ही थोड़ी देर तक धारा के ऊपर पड़ा रहा और धारा उसे अपनी बांहों में समेटे उसकी पीठ सहलाती रही.

रोमांटिक सेक्सी मूवी हिंदी

दोस्तो, यह जवानी है दीवानी कहानी के आगे भाग में मैं प्रभा की बुर चुदाई की कहानी लिखूंगा. तो मैं बोला- ठीक है शीना, अगर तुम सब कुछ खुल कर सुनना चाहती हो तो सुनो. इससे हुआ ये कि जब मीरा ने निखिल की गर्म सांसों का अहसास अपनी चुचियों पर पाया तो पहले से ही उत्तेजित उसकी चुत पानी छोड़ने लगी.

आख़िरकार धारा ने अपने तपते होंठों को उस वी-शेप फ़्रेंची में क़ैद लोहे के सामान कठोर हो चुके लंड पर रख ही दिया. मुझे पड़ोस की भाभी जी ने देखा, तो बोलीं- चंदन जी इनको रूम चाहिए … आपका पोर्शन खाली है क्या?मेरी किस्मत ने यहीं मेरा साथ दे दिया.

एक दिन वो जब रूम पर आयी तो कहने लगी कि जब वो मेरे पास आ रही थी, तो कुछ लड़के उसका पीछा कर रहे थे और अश्लील भाषा बोल रहे थे.

दोस्तो, इस नगर में पब्लिक सेक्स सिस्टम से चुदाई होती रही … और होती रहेगी. इससे अच्छा है कि आज रात आप मेरे घर रुक जाओ, वैसे भी मेरा घर खाली है. फिर भी बड़ी हिम्मत करके मैंने कहा- मुझे माफ़ कर दो भाभी, गलती हो गयी.

थोड़ी ही देर में भाबी झड़ गईं, लेकिन मेरा लंड तो अभी भी टाईट था और झटके दिए जा रहा था. मेरा दिल कह रहा था ‘मुझे चोदो’पिछले भागबेटी के बॉयफ्रेंड को अपने जिस्म नुमाया कियामें आपने पढ़ा कि उस दिन मेरी बेटी रुबिका के अब्बू घर पर थे और मेरी बेटियां घर में नहीं थीं. मुझे भी डबल कंडोम से वैसा ही अहसास हो रहा था और मैं किसी अहसास को पाने के लालच में स्पीड और तेज कर रहा था.

सोनम ने उसके बाल खींचे और उसको जमीन पर बैठने का हुकुम देते हुए कहा- ठीक है कुत्ते, चल आज दिखा दे कितनी गर्मी है तेरे इस लौड़े में, बैठ नीचे और चाट चाट कर साफ़ कर मेरी ये गीली चुत … बहनचोद तेरा ये लौड़ा देख कर मेरी ये रंडी चुत कैसे टपक रही है.

रोमांटिक सेक्सी वीडियो बीएफ: आंटी बोलीं- कौन?मैंने कहा- मेरा मतलब है आंटी कि आप मेरी भी भूख मिटा दो, जैसे आपने उस बुड्डे की बुझा दी है. मेरे प्यारे दोस्तो,मेरी पिछली कहानी थी:मेरी कुंवारी बुर की पहली चुदाई कैसे हुईमैं सुहानी चौधरी आज फिर से आप सबके लिए अपनी एक सहेली की कहानी लेकर आई हूँ.

हर धक्के में दीदी के मुँह से एक सीत्कार निकल रही थी और उनकी पकड़ मेरी बाजू और पीठ पर और टाइट होती जा रही थी. तभी विजय का बाप नामदेव उन दोनों के नजदीक आ गया और दोनों को एक साथ किस करने लगा. मैंने जब अपनी नज़र हल्की सी ऊपर उठाई तो देखा कि उसकी पैंट में हल्का सा उभार आ चुका था.

अदिति लड़के की ओर मुँह करके अपनी चूत पर उंगली आगे पीछे करने लगी और बोली- इसका पोपट करें क्या?तन्वी हंसते हुए- रहने दे … साले को मुठ मारने की जगह भी नहीं मिलने वाली.

प्रिय पाठको, क्या आपने कभी इस बात की कल्पना की कि इन्डिया की सबसे खूबसूरत और सेक्सी भाभी की आवाज़ कैसी होगी?जी हाँ … आप सही सोच रहे हैं – मैं और किसी की नहीं, केवल और केवल सविता भाभी की बात कर रहे हूँ. उसने मुस्कुरा कर कहा- पंकज सिर्फ देखने ही आए हो … या मेरा कुछ काम भी याद है?मैंने कहा- सॉरी यार तुम्हें देख कर तो मैं काम भूल ही गया था. अब तो मेरी भाभी और भी ज्यादा सेक्सी हो गयी हैं … औरमेरे लंड की दीवानीभी.