सेक्सी बीएफ पति पत्नी की

छवि स्रोत,ससुर बहू का सेक्सी बीएफ हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी लडकी की चुदाई: सेक्सी बीएफ पति पत्नी की, मैं भी घर से पूरा रेडी होकर निकल गया और होटल पहुंच कर रूम नंबर 5 का दरवाज़ा खटखटाया.

बीएफ वीडियो गांव की देहाती

बॉस- क्या नेहा?मैं- मेरे फ्लैट पर मेरे मौसी का लड़का आया हुआ है, जो 2 या 3 दिन तक रहेगा. बीएफ दिखाओ बीएफ दिखाओ बीएफ दिखाओमीना- अलग? क्या मैं अच्छी नहीं दिख रही हूँ?मैंने कहा- मेरा मतलब है कि कयामत लग रही हो.

फिर मैं भाग कर अपने रूम में आ गया और भाभी की चुदाई के सपने देखने लगा, जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया और मैंने बाथरूम में जा कर भाभी के नाम की मुठ मार ली. ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी बीएफ”लड़की की? क्यों?”मजा आता होगा?”उसमें क्या मजा?”अब ये मैं कैसे बता सकता हूँ? तू खुद चटवा कर देख ले.

मैं मन ही मन सोच रही थी कि क्या करूँ? ऊपर जाऊं कि नहीं? एक तरफ मेरी मर्यादा मुझे रोक रही थी, पर मेरा दिल और जिस्म संजय की तरफ खिंचा जा रहा था.सेक्सी बीएफ पति पत्नी की: वो जहां रहती थी, वहां कॉलोनी थी पर ठंड होने के कारण सब घरों में दुबके पड़े थे.

पिंकी सी सी की आवाज निकाल रोने लगी और बाथरूम में जाकर ऊपर से चूत और गांड को साफ़ करके आई.वो ये सब कुछ करते रहते थे, मगर कभी भी पुलकित का लंड मंजरी की चूत में नहीं गया था.

एक्स एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो - सेक्सी बीएफ पति पत्नी की

लेकिन अगले दो दिन मैं उसका इंतज़ार करता रहा और अपने लंड को समझाता रहा कि चिंता मत कर, चूत का इंतज़ाम हो गया है और मुठ मारकर सो जाता.उसको अपनी गोद में बैठाते ही नीचे से मेरा लंड खड़ा होकर ममता की गांड के छेद में घुसने की नाकाम कोशिश में लगा हुआ था.

जैसे ही नाभि को चूमते हुए नाभि के अंदर अपनी जीभ डाल दी, मेरे मुंह से सिसकारी निकल गई. सेक्सी बीएफ पति पत्नी की मतलब जो मेरी गांड बजा रहा था, वो अब चुत चोद रहा था और जो चुत मार रहा था, वो अब मेरी गांड ठोक रहा था.

मैं भी उसका साथ देने लगी, क्या करती कई दिनों से मैं लंड की भूखी थी.

सेक्सी बीएफ पति पत्नी की?

इधर डर भी लग रहा था कि कहीं कोई गांव का आदमी न आ जाए, वरना होली से पहले ही मेरी खून की होली कर देगा. भाबी ने मेरी तरफ नशीले अंदाज में देखा और कहा- पूरी रात बाकी है, पहले खाना तो खा लो. उन्होंने बताया कि वो और उनकी पत्नी साथ में ही अन्तर्वासना साइट पर कहानियाँ पढ़ते हैं.

मैंने मन में कहा कि साली लंड तो ऐसे चूस रही थी जैसे पुरानी चुदक्कड़ हो. उन्होंने मुझे हटाया और अपनी टाँगें फैला कर किसी भूखी कुतिया की तरह मुझे देखने लगीं. लगभग 15 मिनट तक चूमने के बाद मैंने अपनी जीभ भाभी के मुँह में डाल दी और उनकी जीभ चूसने लगा.

फिर मैंने आहिस्ता से अपनी मध्यमा उंगली प्रिया की योनि की भगनासा सहलाई और अपनी उंगली जरा सी नीचे ले जा कर दरार के ज़रा सी अंदर घुसायी; तत्काल प्रिया के मुख से आनन्दमयी कराहटों के साथ सी… ई… ई. मैंने उसी दिन सुबह को अपनी चूत के बाल साफ़ कर लिए थे, मुझे पता था कि आज मेरी चुत चुदाई होनी तय है. अपनी प्रियतमा से ऐसे पशुवत व्यवहार की कल्पना भी अपराध है!!! थू… थू… थू!!!’मैं थोड़ा सयंत हुआ और कार के शीशे चढ़ा कर मैंने कार मंथर गति से आगे बढ़ाई।क़स्बे की हद से निकलते ही मैंने हिम्मत कर के अपना बायाँ हाथ गियर रॉड से उठा कर प्रिया के दायें हाथ पर रखा दिया। तत्काल एक लहर सी प्रिया के रोम रोम से गुज़र गयी जिसे मैंने स्पष्ट महसूस किया.

अभी तक की इस कामवासना से भरपूर बहु की चुदाई कहानी में आपने पढ़ा कि हम ससुर बहू अपने केबिन के बाहर की दुनिया से बेपरवाह अपनी ही दुनिया में खोये हुए सेक्स का मजा कर रहे थे. करीब दस मिनट तक चूसने के बाद मैं उसके मुंह में ही झड़ गया और उसने मेरा पूरा वीर्य पी लिया.

मेरे ऐसे करने से वो काफी गर्म हो चुकी थीं और जोर जोर से आवाजें निकाल रही थीं.

मैं छाया के होंठ पर अपने होंठ रख कर 10 मिनट तक चुम्बन करता रहा, फिर मैंने छाया भाभी के धीरे धीरे सारे कपड़े उतार दिए.

मैंने उसका मुँह चोदने की अपनी स्पीड बढ़ा दी, इधर उसकी चूत में से नमकीन पानी आने लगा. अब उसने लंड का सुपारा चुत की फांकों में फंसा कर धीरे से अन्दर को पेलने लगा. ”भाभी ने भी हां कर दिया और कहा- चलो मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड बन जाती हूँ.

मैंने अपने होंठ भाभी के होंठों से कस कर लगा दिए और साथ में झटके देता रहा. एक दिन मैं अपने दोस्तों के साथ कैंटीन गया, तो मुझे एक लड़के पर नज़र पड़ी. माँ हर रोज़ की तरह अपने बुटीक चली जातीं और उस किरायेदारनी का पति, जिनको मैं सुनील भैया कह कर बुलाता था, वो भी अपने काम पर चले जाते.

शाम को जब हम घर पर डिनर कर रहे थे, तब मेरी बहन मेरे सामने वाली चेयर पर बैठी थी.

मेरे लंड का साइज 6 इंच है, छोटा है पर मैं किसी को भी संतुष्ट कर सकता हूँ. भाभी ने उठते हुए मुझे पकड़ा और मेरे लंड को जोर से अपनी चूत पर दबा दिया और कहा- मुझे भी चुदना है तुझसे. ममता जी के हाथों को ‌हटा कर उसी वक़्त मैंने अपना मुँह उनकी नंगी चूची के निप्पल पर रख दिया और किशमिश के दाने जैसे निप्पल को मुँह में भर लिया, मुँह में डालते ही ममता जी जोर की सिसकारी सी भरते हुए कराह पड़ी- इईईई… श्श्श्शश… अआआ… ह्ह्हह हहहह… महेश्श्श…मैं भी अब पूरे जोश में आ कर उनकी चूचियों को चूसने लगा.

ये सोच कर मैंने अवी से कहा- देखो आस पास कोई बाहर तो नहीं और अपनी कार का दरवाजा खोल दो, जहाँ मुझे बैठना हो और ये लो ताला और मेरे निकलने पर बंद कर देना. मैं कुछ करता, उससे पहले ही उसने जल्दी से अपना हाथ मेरे अंडरवियर में डाला और मेरा लंड बाहर निकाल लिया और तेज तेज हिलाने लगी, मैं चाह कर भी कुछ नहीं बोल पा रहा था और 15 मिनट बाद मैं झड़ गया, मेरा सारा वीर्य कविता के पेट पर फ़ैल गया और तौलिये से मैंने अपना लंड और उसका पेट साफ़ किया. हमने कमरा साफ़ किया, एक दूसरे को किस किया और फिर रुबीना ने मुझे घर छोड़ने के लिए कहा.

अगले दस मिनट में चाची की चूत का रस पीने के बाद मैंने उनको बिस्तर पर चलने को कहा.

मैं उनकी चूत को सहलाने लगा और थोड़ी देर में ही वो ऐंठ सी गईं और झड़ गईं. तभी उसका रूम पार्ट्नर आया और उसने अपने रूम पार्ट्नर को भी बोला कि मैं चीकू को बोल रहा हूँ कि मेरे से शादी कर ले.

सेक्सी बीएफ पति पत्नी की क्योंकि मुझे इतनी तड़प लग रही थी कि मैंने जल्दी में जानबूझ कर ब्रा पेंटी नहीं पहनी थी. संजय ने मेरे एक चूचे के निप्पल को मुँह में लेकर चूसना काटना शुरू किया.

सेक्सी बीएफ पति पत्नी की मैं मन ही बहुत खुश हुआ कि पायल के जॉब पे जाने के बाद छाया की चुदाई करूँगा. खैर दिन इसी तरह से बीते जा रहे थे और मैं था, जो कुछ नहीं कर पा रहा था.

जैसे ही भाभी झुकीं, मेरी नजर उनके मदमस्त कर देने वाले चूचों पर टिक गई.

सारा सेक्सी वीडियो

इस बार तिगुनी उत्तेजना के साथ सुकुमारी भौजी ने मेरे विश्वास को जगाया. नीचे उसकी योनि बाहर से थोड़ी काली थी… मैंने सीधे उंगली करनी चालू कर दी तो उसने मेरा हाथ पकड़ कर बाहर निकाल दिया तो मैंने कुछ सोचा और फिर से उसके ऊपर किसिंग के लिए आ गया. मेरी भाभी का रंग गोरा है और वो बहुत ही सेक्सी भी हैं, लेकिन उस दिन के पहले मैंने अपनी भाभी के बारे मैंने कभी गलत नहीं सोचा था.

मैं एक महीने उनके साथ रहा दोस्तो, और उसका रिज़ल्ट ये हुआ कि वो प्रेग्नेंट हो गईं. खाना पैक कराने के बाद मैंने कुछ कंडोम के पैकेट और वियाग्रा का एक पैक खरीद लिया. दीपक भैया ने रीना के नीचे कटि प्रदेश पर आक्रमण कर दिया और मैं पहले से ही उसके चुचों, होंठों की चुसाई करता रहा.

तो एक दिन जब मुझे ठीक लगा मैंने सानिया से पूछ ही लिया- मैंने उस दिन ट्रेन में जो भी किया तुम्हारे साथ… तो तुम्हें वो बुरा लगा था क्या?मेरे इस मेसेज से फिर 2 दिन तक सानिया का कोई जवाब नहीं आया।फिर तीसरे उसका मेसेज आया- गुड मॉर्निंग!तो मैंने फिर वही बात पूछ ली.

संजय ने मेरे होंठों को चूसते और काटते हुए चार छह धक्कों के बाद अपने गरम लावा से मेरी चुत को भर दिया. चले गए तुम्हारे दोस्त? और क्या कह रहे थे कितने दोस्त थे, जो बहुत समय लगा दिया. उन दिनों हमारे घर का मरम्मत का काम चल रहा था, इसलिए हम सभी एक फ्लैट में रहने आ गए थे.

यह हिंदी पोर्न स्टोरी तब की है जब मैं अपने इंजीनियरिंग के तीसरे साल में था. बाद में दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैं लंड अन्दर बाहर करने लगा और उनको भी मजा आने लगा. मैं अपनो दांतों से अपने नीचे वाले होंठ को दबाने लगी और सिसकारियां भरने लगी.

साथ ही अभी हमारे बच्चे नहीं होने से वो मेरी अनुमति से एक सरकारी दफ्तर के सामाजिक सेवा के कार्यों में भी जाती रहती है और इसके एवज में कुछ वेतन, नाम और सहूलियत भी उसको मिल जाती है. अह्ह्ह… ह्ह्ह्ह… उह्ह्ह्ह… ओह…’ उसके मुँह से मादक आवाजें निकलने लगीं.

संजय मुझे लगातार किस कर रहा था और मैं अपने आपको उससे छुड़ाने की नाकाम कोशिश कर रही थी. फिर मेरी छोटी सी कमर को पकड़ कर वह वैसे ही कमोड पर मुझे झुकाए मेरी चूत चोद रहा था. फिर मैंने भाभी के गाउन को ऊपर कर दिया और उनकी ब्रा के ऊपर से ही उनके मम्मों को भरपूर दबाने लगा.

ढेरों मेल आये जिन में मेरी रचना की, मेरी कल्पनाशक्ति की ढेरों तारीफ़ की गयी.

मैं उन्हें बेड पर लिटा कर अपना लंड उनकी चूत पर रगड़ता रहा, वो मचल गईं और मुझे पकड़ कर भींच लिया. उन्होंने लाल कलर की नाईटी पहनी थी और शायद उन्होंने नाईटी के नीचे ब्रा नहीं पहनी थी. आप लोगों तक मैंने अपनी सच्ची घटना को पहुंचाने की कोशिश की है, धारा प्रवाह में गलतियां हों, तो उसे मिला कर पढ़ने का कष्ट करें.

बहूरानी के जिस्म की सिहरन मुझे स्पष्ट महसूस हुई और उसकी बांहें मेरी गर्दन में कस के लिपट गयीं और उसने मुझे कस के अपने से लिपटा लिया. बाथरूम में एक किनारे पे उनकी नाईटी रखी थी, जैसे ही मैंने उसको उठाया, उसमें से उनकी ब्रा और पैन्टी नीचे गिर गई.

टाइट भी हो गए थे। मेरी गोरी टांगों पर छोटे-छोटे बाल आने शुरू ही हुए थे. फिर मैंने उसकी कमर को पकड़ा और नीचे से धक्का लगाया, तब कहीं जाकर उसकी संकरी गांड में मेरा आधा लंड घुसा. नहाने के बाद मैं सिंपल ड्रेस पहन कर बैठी थी कि मुझे वो किस और डांस के समय कमर दबाना और होंठों को काटना और तारीफें सब ध्यान आने लगी और यही सोचते सोचते मैं फिर सो गई.

औरत की चुदाई सेक्सी

वैसे माँ की हाइट 5 फ़ीट 10 इंच है लेकिन उनकी चूचियाँ 38 इंच की थी जो उनके लम्बे बदन पे चार चाँद लगा रही थी.

जैसे ही पुलकित ने मंजरी का ऊपर वाला होंठ अपने होंठों में लिए, मंजरी ने भी पुलकित का नीचे वाला होंठ अपने होंठों में ले लिया दोनों बारी बारी से कभी ऊपर वाला तो कभी नीचे वाला होंठ चूस रहे थे, दोनों की साँसें तेज़, धड़कन भी तेज़… दोनों ज़ोर ज़ोर से एक दूसरे को अपनी बाहों में समेटने की ऐसी कोशिश कर रहे थे, जैसे एक दूसरे को खुद में समा लेना चाहते हों. वैसे मैं उसकी चुचियां पहले भी दबा चुका हूँ पर आज जो मजा उसकी चुचियां दे रही थीं, वो मजा इससे पहले कभी नहीं मिला था. हालांकि मैं ऐसा कुछ नहीं करूँगी, पर तेरी सज़ा ये है कि आज के बाद मुझसे कभी बात करने की कोशिश भी मत करना आई हेट यू.

बात तब की है, जब मुझे कोलकाता में आए हुए एक साल हो गया था और मैं अपनी बीवी को मिस कर रहा था. एक दिन उसका फ़ोन आया कि घर वाले सभी मार्केट गए हुए हैं, पता नहीं कब तक आएंगे. मुखमैथुन बीएफबहुत मन कर रहा है।यह कहते ही उसने मेरी टांगों को ऊपर तक उठा दिया।फिर मैंने उससे कहा- रूको यार.

मेरी वासना से भरपूर पिछली चोदन कहानीकिस्मत खुली चुत फटीआपने पढ़ी, आप सबके मेल मिले. मैं उससे गले मिला और बोला- जो मेरे साथ किया, वो किसी और के साथ ना करना.

मैं एक गुलाब लेकर कॉलेज के लिए निकल रहा था कि रास्ते में वो मिल गई. महेश ने थोड़ी ज़ोर ज़बरदस्ती की तो मुझे गुस्सा आ गया और मैंने उसको एक थप्पड़ मार दिया. शुरू में उन्हें रात में सुबह, मैं बिस्तर छोड़ने से पहले बोनस चाहिए होता था, अगर दोपहर में ऑफिस से आ जाते तो उस समय की भी बोनस चुदाई.

मेरी चाची का नाम सीमा है और उनकी उम्र 22 साल है क्योंकि मेरे चाचा की शादी जल्दी कम उम्र में ही हो गई थी. मेरी बीवी मोना की उम्र 27 साल है और वो एक मदमस्त 36-28-38 की फिगर वाले जिस्म की मालकिन है. वो चूत में उंगली भी करने लगा, तो पदमा भी मजे में कराहने लगी और उसका सर पकड़ कर अपनी चूत पर दबाते हुए उसको भी सिड्यूस करने लगी.

मैं दीदी की बुर सहलाने लगा, दीदी की बुर एकदम गीली हो चुकी थी, दीदी बोलीं- देखो अमित हम जो कर रहे हैं, ये सही नहीं है.

इस बार मेरे लंड का सिर्फ टोपा अन्दर गया था, फ़िर भी वो काफी जोर से चिल्ला उठीं. मेन लाइन से लूप लाइन पर जाती ट्रेन फिर वापिस मेन लाइन पर आती हुई… पटरियों की खटर पटर सच में एक मीठा उन्माद भरा संगीत सुनाने लगी.

दो बार के बाद और कैसे कल तीसरी बार मुझसे लिपट लिपट कर वो देर तक चुदती रही. मैंने हाथ बढ़ा कर ब्रा को पकड़ा, तभी दीदी ने मेरे हाथ को पकड़ा लेकिन मैं नहीं रुका और ब्रा को निकालने लगा. ताई ने एक पतली सी साड़ी पहनी थी, उनका पल्लू नीचे गिरा हुआ था और गुरप्रीत उनकी चुचियों को मसल रहा था, चाची आआह कर रही थीं.

विक्की ने अपना लंबा ककड़ी जैसा लंड पिंकी की चूत पे रगड़ा तो वह फिसलता हुआ चूत में घुस गया. अब ओमार अत्यधिक उत्तेजित हो तेज आवाज में सिसकियाँ भरते हुए धीरे धीरे अपने टोपे को मेरी पत्नी के मुंह में धकेल रहा था और उसी समय किड ने मेरी गुड़िया के सैंडल उतारने चालू कर दिए. कुछ पलों तक हम दोनों यूं ही लिपटे हुए एक दूजे के दिलों की धकधक सुनते रहे.

सेक्सी बीएफ पति पत्नी की मेरी गरीब पत्नी अब चारों तरफ की पिटाई से दर्द सहते हुए चिल्लाने लगी थी लेकिन दोनों आतंकियों से दूर भी हटना नहीं चाह रही थी!कुछ देर बाद जमैका उठ गया पर ओमार ने मेरी रूसी पत्नी की मीठी गांड को चोदना जारी रखा. सुबह हो गयी, सब जाग गये और हम होनों एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा रहे थे और चुदाई के मौके का इन्तजार कर रहे थे.

हिंदी ब्लू मूवी सेक्सी

मैंने एक हाथ से धीरे धीरे ड्रिंक लेना चालू किया और दूसरे हाथ की मुठ्ठी बनाकर हल्के से उनकी पीठ पर मारने लगा. उनके ऐसे देखने से मेरा लिंग आकार लेने लगा और तौलिया आगे से उठ गया, मुझे शरम आई तो मैंने कहा- आंटी वो मेरे पैर में चोट है तो मैं बाथरूम में कपड़े नहीं उतार पाता. फिर दो तीन दिन बाद अमित ने कॉल किया- कहाँ हो मिनी तुम्हें अपना काम याद है ना?मैं- हाँ याद है बताओ कब और कहां उनके पापा से मिलना है?अमित- हाँ वही बताने के लिए कॉल किया है.

मैंने अपने ऑफिस के मेनेजर से छुट्टी ले ली और चाचा से मिलने होटल में चली गयी. फिर उन्होंने बोला- बेटा तू भी चूत को चूस! वैसे तेरा लंड तो तेरे बाप से भी बड़ा है. पंजाबी सेक्सी पिक्चर बीएफ वीडियोमम्मी ने पूछा- क्या हुआ? तबियत नहीं सही है क्या?तो मैंने बोला- नहीं, वो सपना देख रहा था तो डर गया!माँ बोली- कोई बात नहीं, खाना खाकर मेरे पास ही सो जाना यदि डर लग रहा हो तो!मैं बोला- नहीं माँ, अब ठीक है!और खाना खाने लगा.

ऐसा कह के मामी ने मेरा लंड पकड़ के अपनी चूत पर रखा और शॉट लगाने को बोलीं.

मैंने अपना सारा पानी दीदी की चूत में ही छोड़ दिया और ऐसे ही दीदी के ऊपर लेटा रहा. तभी भाभी पीठ के बल लेट गई और गर्दन पर भी विक्स लगाने को बोल कर अपना पल्लू हटा दिया.

इधर मेरी चूत में उसकी उंगली ने भी कमाल दिखाया था, मेरी चूत भी झड़ गई थी. मैं आ रही हूँ मेरे राजा…इतने में ही भाभी झड़ चुकी थी और उसका सारा पानी चादर पर निकल गया. भैया का लंड उसकी चूत पे टकराते ही, उसकी बंद कली एक सूरजमुखी का फूल बन गई और भैया के लंड को अपने अन्दर एक चुम्बक की भाँति खींचने लगी.

उसको काफी दर्द हुआ उसकी चीख निकल गई- उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैं वहीं रुक गया, वो मेरे सीने पर झुक गई.

एक दिन मैं उसी के साथ अपने कमरे में बैठी थी कि मैंने उससे कहा- यार कहीं घुमाओगी नहीं. मैं उसे जाते हुए देख रहा था, उसके पुठ्ठे मस्त गोल गोल होकर लचक खा रहे थे. एक हाथ से उसके दूध जैसे धवल उरोजों को सहलाता हुआ, दूसरे हाथ से उसकी क्लिट को मसलने लगा, जबकि किड इस समय आराम से मीठी गोरी लड़की की गांड को पेलने में लगा हुआ था.

बीएफ चोदा चोदी चुदाईअंकल बोले- आरती, मैं अपनी बीवी बोलूं तुम्हें?मैं बोली – 5 मिनट हैं आपके पास जो मन हो कहिए करिए पर जल्दी! कोई आ गया तो मैं बर्बाद हो जाऊंगी!अंकल बोले- ओके मेरी सेक्सी आरती, तुम मेरी बीवी हो!और तुरंत मेरी टांगों को फैलाया, मुंह को मेरी चूत में रख कर पहले चूमा और फिर चाटने लगे. जोया कढ़ाई वाले एक सलवार सूट में थी लेकिन वह मेकअप में किसी एक्ट्रेस से कम नहीं लग रही थी.

di सेक्सी वीडियो

भाभी ने झूठ मूठ का नाटक करते हुए कहा- यह क्या कर रहा है?भाभी ने मुझे धक्का दिया और खुद बेड से खड़ी होकर कोने में चली गई- हरामी बताती हूँ तेरी माँ को रुक. ज्यादातर पानी मैंने पी लिया, अजीब सा स्वाद था, पर उत्तेजना में मुझे इसका स्वाद पसंद आ गया. वो के निचले हिस्से से अपनी जीभ को रगड़ता हुआ मेरी चूत के दाने तक जीभ को फेर रहा था.

’ निकल गया और दीदी ने मुझे कमर से पकड़ कर अपनी टाँगें मेरी टाँगों में फंसा दीं. और मैंने अपने दांत भींच कर कमर को धीमे से पीछे ले जा के लंड का भरपूर वार अदिति बहूरानी की चूत पर कर दिया. उसके मोटे लंड से मुझे बहुत ही दर्द हो रहा था लेकिन मजा भी आ रहा था.

अभी मेरा अवलोकन पूरा भी नहीं हुआ था कि प्रिया ने जल्दी से मेरा बाज़ू पकड़ कर मुझे अपने ऊपर गिरा लिया और तत्काल अपने दाएं हाथ से मेरे पजामे के ऊपर से ही मेरे गर्म और फौलाद की तरह सख़्त लिंग को अपनी ओर खींचने लगी. मुझे अपनी बहू की कैमल टो बहुत सेक्सी लगी तो मैंने अपना स्मार्ट फोन निकाल कर उसकी पैंटी की एक फोटो खींच ली. वो बहुत तेज तेज आवाजें निकालने लगी क्योंकि घर पर कोई नहीं था तो हमें कोई डर नहीं था.

चाची तुरंत आईं और मुझको सिर्फ़ तौलिया में देख कर कुछ पल के लिए मुझको प्यासी नज़रों से ऊपर से नीचे तक देखने लगीं. मैं पहले आपको अपने बारे में बता दूँ, मैं दिखने में बहुत सेक्सी हूँ और मैं दिल्ली की रहने वाली हूँ और कॉल सेण्टर में जॉब करती हूँ.

शाम को जब 8 बजे वो वापस आए तो उनके साथ एक लड़का आया, जो करीब 24 साल का था.

” कहते हुए तुरन्त उठ कर बैठ गयी और दोनों हाथों से अपनी चुत को ढक लिया। ममता जी के दोनों हाथ अब अपनी चुत को ढकने में व्यस्त हो गये थे इसलिये मैंने उनके घुटनों में फँसी बाकी सलवार को भी निकाल कर अलग कर दिया. बीएफ सी ब्लूचूँकि ऐसी घटना मेरे जीवन एक बार ही घटी, इसी कारण एक प्रस्तुति के बाद मेरी लेखनी बाँझ हो गयी और अगर मेरी लेखनी में दम है तो मैं दोबारा ऐसी ही कोई और कालजयी रचना रच कर दिखाऊं. सेक्सी वीडियो बीएफ देहाती वीडियोदीदी ने मेरे चूतड़ों पर एक हंटर मारा तो मुझे उसकी चोट से दर्द की जगह मजा आया. इसे आप यहाँ से download करें!कोलकता बंगाल की सेक्सी लड़की श्वेता से हिंदी अंग्रेजी और बंगाली भाषा में सेक्स चैट और वीडियो सेक्स करने के लियेसेक्स चैट गर्ल श्वेतापर आयें और सेक्स की मजेदार बातें करके श्वेता का नंगा बदन अपने मनचाहे तरीके से देख कर मजा लें!.

मैंने उनसे फ्रेश होने के लिए कहा तो दोनों फ्रेश होने के लिए कमरे के ही वाशरूम में फ्रेश होने लगीं, इसके बाद हम तीनों ने नाश्ता किया.

इस कहानी की शुरूआत भी दिल्ली से ही हुई है, जहां से मैं बिलॉन्ग करता हूँ. मैंने उसका मुँह चोदने की अपनी स्पीड बढ़ा दी, इधर उसकी चूत में से नमकीन पानी आने लगा. आज तो हम तेरी गांड मार कर ही रहेंगे।यह सुनते ही कुंती के चेहरे पर तनाव के भाव आ गये पर लंड मुंह में होने की वजह से वो कुछ बोल नहीं पाई और बस ना में सर हिलाने की कोशिश करती रही।पर अब तीनों मर्द उस अप्सरा जैसी सुंदर बाला पर बेरहमी से टूट पड़े थे।कहानी जारी रहेगी.

मैंने अंजलि के होंठों को अपने होंठों में दबाया और अपनी उनकी उसकी चूत में फिराने लगा, उंगली से उसकी चूत कुरेदने लगा. आज एक पतिव्रता बीवी, जिसने कभी किसी गैर मर्द की तरफ आंख उठा कर भी नहीं देखा, वो आज गैर मर्द को अपना सब कुछ सौंपने जा रही थी. उनके 5 मिनट बाद ही दूसरा दोस्त भी झड़ गया, उसने अपना माल मेरी बीवी के स्तन पर निकाल कर हाथ से चारों ओर फैला दिया.

हिंदी एक्स एक्स व्हिडीओ

मुझे पता था कि दर्द नहीं होगा, क्योंकि मेरी बहन आज तक ना जाने कितने लंडों से खेल चुकी थीं. अभी कुछ 4 पैग ही लगाए थे कि मुझे मेरी गर्ल फ्रेंड का फोन आया कि उसके घर वाले शादी में जाने वाले हैं और वो नहीं जा रही है. मेरी एडल्ट स्टोरी पर आप अपनी राय नीचे दिए ईमेल पते पर भेजें![emailprotected][emailprotected].

उन्होंने मेरा सिर ऊपर खींचते हुए बोला- बदमाश थोड़ा आराम तो करने दे.

मानवी भाभी शरमा रही थी, उसने जल्दी से तौलिया उठाया और बाथरूम में वापिस चली गई.

कुछ देर रिंग बजने के बाद किसी ने फोन उठाया दोस्तो, वहां से एक मीठी सी आवाज़ आई- हैलो कौन…उसकी मीठी आवाज़ सुनकर मेरा मन मचल गया, मन ही मन मैं बहुत खुश हुआ. मेरा विश्वास है कि इस हिंदी सेक्स कहानी को पढ़ कर लड़के अपना लंड हिलाएंगे और लड़कियां अपनी चूत में उंगली किए बिना नहीं रह पाएंगी. बीएफ सेक्सी भेजिए एचडी मेंदीदी उदास हो के वापिस नीचे झुकी और चुपचाप लंड को चूसने लगी, मैं खुश हो गया, दीदी ने लंड को फिर से मुँह में ले के चूसना शुरू कर दिया और मैंने हाथ दीदी की पीठ पर रख दिया और आराम से पीठ पर हाथ घुमाने लगा.

तो पापा बोले- आरती, मुझे डार्लिंग या राजा बोलो!मैं बोली- आई लव यू मेरे राजा!और पापा से चिपक गई. भाभी बोलीं- आह… क्या कर रहे हो… आह…मैं बोला- मैं नहीं चाहता कि हमारे प्यार की एक बूँद भी वेस्ट हो. दो पल बाद मैं नीचे को आया, दूसरा टुकड़ा मैंने भाभी के पेट पर फिराते हुए अपनी जीभ उनकी नाभि में घुसड़ते हुए कोल्ड ड्रिंक चाटने लगा.

कुछ दिन ऐसा ही चलता रहा और कुछ लोगों को मेरी सोसाइटी में पता चल गया था कि मैंने और रोहण ने शादी कर ली है. ये सुनते ही चाची खुद को रोक नहीं पाईं और बोलीं- चल पहले तुझे नहला दूँ.

आधा वीर्य उनकी चुत में और आधा उनके पेट पर निकाल कर मैं उनके बाजू में लेट गया.

कुछ देर बाद मैंने सोचा कि अब मेरी बहन चुदाई के लिए पूरी तरह तैयार है तो मैं अपना लोअर निकालने लगा. अंकल बोले- आरती, मैं अपनी बीवी बोलूं तुम्हें?मैं बोली – 5 मिनट हैं आपके पास जो मन हो कहिए करिए पर जल्दी! कोई आ गया तो मैं बर्बाद हो जाऊंगी!अंकल बोले- ओके मेरी सेक्सी आरती, तुम मेरी बीवी हो!और तुरंत मेरी टांगों को फैलाया, मुंह को मेरी चूत में रख कर पहले चूमा और फिर चाटने लगे. फिर कमल अपनी जीभ से मेरी छूट साफ करने लगा, जिससे मैं थोड़ी शांत हो गई.

स्कूल वाला सेक्सी बीएफ मैंने भी सोचा कि चलो, सीमा चूत बाद में चोद लेंगे, अभी जो कुछ मिल रहा है उसे तो ले लूँ।उसने अपने हाथ से मेरा लंड हिलाना शुरू किया, जब मेरा पानी निकलने वाला था तब मैंने उसकी कच्छी का इलास्टिक खींच कर उसकी कच्छी के अंदर ही अपना पानी निकाल दिया।फिर हम दोनों ने अपने अपने कपड़े पहन लिये और फिर से चूमा चाटी करने लगे. किशोर उसके चूतड़ चाटने लगा और जीभ उसके छोटी सी गांड की रिंग में ऐसे फेर कर जीभ दबाता कि वर्षा उसके मुँह को आह्ह्ह.

खैर दिन इसी तरह से बीते जा रहे थे और मैं था, जो कुछ नहीं कर पा रहा था. मैंने महसूस किया कि दीदी की पीठ हल्के झटके खा रही थी, उनको मेरा हाथ पीठ पर घूमता हुआ अच्छा लग रहा था और शायद उनको मस्ती चढ़ रही थी. रास्ते में गियर बदलने के बहाने कभी कभी उसके पैरों को छूना, कभी ब्रेक मारना, कभी उसके सीट बेल्ट लगाने के बहाने उसके मम्मों को दबाना, यह सब हरकतें करता रहा.

एक्स व्हिडिओ पिक्चर

इईईई… श्श्श्शश… महेश्श… अआआ… ह्हह…” कहते हुए बल से खाने लगी…ममता जी मदहोश सी होकर मुँह से हल्की हल्की सिसकारियाँ सी भर रही थी. तभी दीदी ने मेरे हाथ को छोड़ दिया और मेरे लंड को हाथ में पकड़ लिया फिर लंड पर हाथ को ऊपर नीचे करने लगी, मैंने भी मौका देखा और दीदी के ऊपर चढ़ गया। दीदी ने मुझे हैरानी से देखा मैंने भी सर हिला कर इशारा किया कि मैं कुछ नहीं करूँगा जब तक आप नहीं बोलोगी. चूँकि भैया अच्छा ख़ासा कमा लेते थे तो रुबीना के परिवार में भी किसी को कोई ऐतराज नहीं था.

तो मैं खड़ी होकर उनकी कमर से लिपट गई। यश ने मुझे अलग किया और कमीज उतार दी। परन्तु आज मैं पीछे हटने वाली नहीं थी। मैंने यश को अपनी तरफ घुमाया और उनका सिर पकड़ कर होंठों पर चुम्बन करने लगी और उनका एक हाथ अपनी चूची पर रखकर दबाने लगी। ये सब मैंने एक बीएफ में देखा था. मेरा मन तो किया कि बाथरूम में घुस कर अभी चोद दूं, पर मैं कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था.

अब मैं बेड पर लेट गया और भाभी मेरे ऊपर आ कर लंड पर चूत फंसा कर बैठ गई.

छाया बोली- आप आज मेरे यहां सोने के लिए 11 तक आ जाना, मैं सुबह काम पर जाते समय पायल को बोल दूँगी कि आज मैं इनको छोड़ने के मुंबई सेंट्रल जा रही हूँ, उसके बाद बोरीवली अपनी माँ के चली जाऊंगी. थोड़ी देर में मैंने अपना सारा वीर्य सुकुमारी भौजी के मुख में उड़ेल दिया और दूसरी ओर हो गया. मेरे पास होने की वजह से वो लोग धीरे धीरे अपनी पर्सनल बातें करते थे.

वो पूरी तन्मयता से अपनी जीभ को कामिनी की चुत में अन्दर बाहर करने लगा. ऐसे ही कॉलेज के चार महीने पूरे हो गए और हम दोनों में कॉलेज में कुछ बात नहीं हुई. यदि कोई भी ग़लती लगी हो तो उसे माफ़ करना और मुझे ईमेल में बताना कि मेरी प्यार की हिंदी चोदन स्टोरी कैसी लगी.

लेकिन वास्तव में तो आज का दिन सफ़ेद पत्नी के मुंह में दो मोटे लंडों का दिन था!थोड़ा विश्राम कर चुकने के बाद दोनों मर्द अपने स्थान बदल चुके थे और जमैका ने मेरी पत्नी को अपने लंड पर गांड रखते हुए बैठा दिया.

सेक्सी बीएफ पति पत्नी की: उस दिन मैंने ब्रा पहनी तो बहुत टाइट हो गई थी, तो जो अमित ने ही दूसरी ड्रेस दी थी, मैंने उसी को पहन लिया. मैं उन्हें बेड पर लिटा कर अपना लंड उनकी चूत पर रगड़ता रहा, वो मचल गईं और मुझे पकड़ कर भींच लिया.

चूँकि भैया अच्छा ख़ासा कमा लेते थे तो रुबीना के परिवार में भी किसी को कोई ऐतराज नहीं था. मैं समझ गया कि मैं पूरी तरह अपनी बीवी के चक्रव्यूह में फंस गया हूँ. वो एक गर्ल कॉलेज में पढ़ती थी और दोस्त के साथ रहते रहते मेरी भी सुमन के साथ दोस्ती हो गई.

ऐसे ही राजेंद्र अंकल ने पीछे मेरे कूल्हों को फैलाकर मेरी गांड में अपनी जीभ घुसा दी, मैं जोर से उंहहह बोली.

यह थी मेरी पहली हिंदी सेक्स स्टोरी… पसंद आई या नहीं, आप मुझे मेल कर सकते हो!धन्यवाद।[emailprotected]. नताशा ने जरा भी नाराज हुए बिना हँसते हुए उसकी इस प्रक्रिया को अपने चूतड़ ऊपर की ओर उभारते हुए अपना पूरा समर्थन दिया और अपने गांड के छेद को काफी खोल दिया. फिर मैंने तौलिया को थोड़ा और ऊपर सरकाया और जैसे ही वहां पर हाथ रखा चाची ने आँख बंद कर लीं और मुझसे बोलीं कि तुम मालिश बहुत अच्छी तरह करते हो.