बीएफ वीडियो घोड़े वाली

छवि स्रोत,मराठी सेक्सी व्हिडीओ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी फिल्म ओपन: बीएफ वीडियो घोड़े वाली, किन्तु अब स्मृति ने मुझे रोका, बोलने लगी- यार, काफी दर्द हो रहा है.

शुक्राणु बढ़ाने की दवा बताइए

अब जब अदिति को तो पता चल ही चुका है कि मैं उसके पास परसों सुबह पहुंच जाऊंगा; तो क्या वो भी अभी मेरी ही तरह ही सोच रही होगी इस टाइम, क्या उसकी चूत भी मेरे लंड की याद में रसीली हो उठी होगी और उसकी पैंटी गीली हो गई होगी?पर इन सवालों का फिलहाल मेरे पास कोई जवाब नहीं था. इंग्लिश व्हिडिओ सेक्सी व्हिडिओउधर सुबह जब गोपाल आया तो मोना गहरी नींद में थी और नीतू किचन में चाय बना रही थी.

लेकिन चाची की ऐसी बातें सुन कर मुझे अजीब सी फीलिंग होने लगी, मैंने चाची से कहा- मुझे किस करना नहीं आता. सेक्सी वीडियो पिक्चर प्लेसुमन- क्या हुआ दीदी आप मुझे ऐसे क्यों देख रही हो?टीना- देख रही थी ऐसे तो बहुत भोली बनती है तू मगर आज जो संजय के साथ मज़े ले रही थी.

दोस्तो, मैं दिखता तो मासूम टाइप का था, पर अंदर से बहुत ही कमीना था, मैंने नजरों में ही उसके शरीर का माप ले लिया, उसका शरीर कुछ 34-30-32 होगा.बीएफ वीडियो घोड़े वाली: महीने में दो-तीन बार रीना कविता को अपने पास बुला लेती है और साथ डिनर के लिए, पर कविता उसके लाख रोकने पर भी कभी रात को नहीं रुकी.

जैसे-जैसे हमारी बातें बढ़ने लगीं, तो हम थोड़ी गर्म बातें भी करने लगे.मैंने धीरे से अपनी कमर उठाई और उनका लिंग पकड़कर अपनी योनि के मुंह पर सेट किया और धीरे धीरे उस पर बैठने लगी.

मालवीय सेक्सी वीडियो - बीएफ वीडियो घोड़े वाली

अब मैं उसके पेट से होता हुआ नीचे आया और उसकी बुर पर जैसे ही नजर पड़ी.तो इसकी भी सुनो इसने अपने भाई को फास्ट करने के लिए जो पाप किया था, उसकी सज़ा इसको ये मिली कि धीरे धीरे मॉंटी इतना बिगड़ गया कि बाहर दोस्तो के साथ हर किस्म के फालतू काम करने लगा, रंडियों के पास जाने लगा.

ओह्ह्ह ये लो मेरा लंड अपनी चूत में ये लो फिर से लो, ले लो मेरी रानी, मेरी जान उईई आह. बीएफ वीडियो घोड़े वाली मेरी चूत में तो पहले से ही दो लड़के का वीर्य था, उसने वैसा ही किया, लंड निकल कर मेरी चूत में घुसा दिया और चोदने लगा और 5-7 मिनट बाद मेरी चूत में वीर्य की बाढ़ आ गयी, वीर्य निकल रहा था और वो मुझे गालियों के साथ चोदे जा रहा था, उसने अपने लंड की एक एक बूंद वीर्य मेरी चुत में समाहित कर दिया और मेरे ऊपर ही निढाल होकर सो गया.

पर ऐसा नहीं हुआ, मामा जी धीरे धीरे अपनी उंगलियाँ मेरी गांड के छेद की ओर बढ़ाने लगे, मैंने अपनी शॉर्ट्स के ऊपर से ही मामा का हाथ पकड़ लिया और मना करने लगी कुछ भी करने के लिए, मैं बोली- अभी नहीं, ये सब रात में खाना खाने के बाद कीजिएगा.

बीएफ वीडियो घोड़े वाली?

मैंने उनके होंठ चूसने शुरू कर दिये और अपना लण्ड चाची की चुत के ऊपर घिसने लगा, मेरी चाची भी मेरा साथ देने लगी, उन्होंने मुझे कस कर पकड़ लिया और बोली- घुसा दे. मेघा एक शाल ओढ़ कर दूसरे कमरे में गई पर जाते टाइम उसने बोला- नंगी जा रही हूँ तो मनोज बोलेगा कि फ़ोन क्यों लाई हो तो?तो मैंने कहा- ठीक है, तुम जाओ, मैं खिड़की मैं से देख लूँगा. चल जल्दी निकाल कपड़े!टीना की भारी आवाज़ से मॉंटी डर गया उसने 2 मिनट भी नहीं लगाए और नंगा होकर बेड पर अपने पैर सिकोड़ कर बैठ गया.

राहुल के लंड पूरा घुस जाने के बाद भी ऋतु चीख रही थी, बिलबिला रही थी दर्द से, लेकिन हम दोनों पर उसके चीखने चिल्लाने का कोई फर्क नहीं पड़ा. थोड़ी देर बाद मेरी बहन को नींद आने लगी तो उसने पूजा से कहा- चलो चलते हैं, मुझे नींद आ रही है. जब सुमन भाभी थोड़ा नार्मल हुईं तो मैंने सुमन भाभी के होंठों को अपने होंठों से मिला दिया, जिससे उनकी चीख न निकल पाए.

सासू माँ ने जमाई को चूम लिया और बोली- बेटा, ऐसे ही मुझे रोज चोदा करो. फिर उसने मेरे मुंह में लंड दे दिया और मेरा मुंह गले तक भर गया क्योंकि उसका लंड काफी बड़ा था. भाभी ने मेरे सर को अपनी तरफ खींचा और किस देने लगी, हमारे होंठ एक दूसरे से जुड़ चुके थे और भाभी की साँसों की खुशबू से मेरा लंड और भी टाईट हो गया.

रिया बोली – मैंने कहा था ना निकी कि हम दोनों रण्डियाँ ही दिखेंगी? तो उसने पूछ लिया होगा. मैं चाय बना कर रूम में ले आई, चाय पीने के बाद कप लेकर किचन में गयी.

रिया ने टू पीस बिकिनी के ऊपर एक बेहद सेक्सी छोटा टॉप और हॉट पैंट पहनी और मैंने स्पेगेटी टॉप के नीचे मिनी स्कर्ट पहन लिया.

मैंने लंड को बाहर निकाला, मेरा लंड 6″ का और मोटा है, मेरा लंड पूरे जोश में था, बाहर निकाल कर उसको आज़ादी मिल गई और उसने धीरे से मेरे लंड के सुपारे की स्किन को पीछे किया, उसमें थोड़ा सा तरल लगा था, उसने लंड को अपने रुमाल से साफ किया, थोड़ा मुँह आगे किया, लंड के सुपारे को मुँह में लिया और धीरे धीरे चूसना स्टार्ट किया.

मैं- भाभी एक साल से छोड़ ही तो रखा है, अब तो पकड़ने की बारी है न … प्लीज अब कुछ मत कहिए. एक बार सोसल नेटवर्किंग साइट पर दो भाभियों ने मुझे मैसेज किये और अपनी असन्तुष्ट सेक्स लाइफ के बारे में बताया और मुझसे सेक्स करने की इच्छा जाहिर की. मेरी ऐसी हालत देखकर वह मन ही मन मुस्कराती थी, उसके चेहरे पर नई चमक उभर आती थी.

उसने फ़ौरन अपने होंठ चुत पे लगा दिए और जीभ से चुत को चूसना शुरू किया. पंद्रह मिनट तक लंड चूसने के बाद सासू माँ ने लंड को बाहर निकाल दिया और बोली- अब बस करो बेटा… मुंह में दर्द हो रहा है. वो बीच बीच में स्तन को मुंह में लेकर निप्पल को खूब चूसते थे और कभी कभी दांत से स्तन पर हल्के से काट लेते थे.

इसे चूसना चाहता हूँ तेरे निपल्स को निचोड़ कर इनका रस पीना चाहता हूँ.

अब मैंने उनके पैरों को पकड़ा और चुमते हुए ऊपर उनकी जांघों तक पहुंचा. कुछ पल बाद मैं फिर से उसे चूमने-चाटने लगा और उसकी बुर पर फिर से हाथ घुमाने लगा. थोड़ी देर बाद किसी ने मुझे पूछा- कैन आय शेयर द टेबल विद यू प्लीज?मैंने हड़बड़ाकर देखा तो वो कोई फोरेनर बंदा था और रेस्टोरेंट में और कोई टेबल खाली ना होने की वजह से पूछ रहा था.

स्मृति पूरी गरम, उत्तेजित हो रही थी, सिसकारियां भर रही थी, मादक आवाजें निकाल रही थी- ऊह… ऊम्म… आहह… अईई… मर्र गईई… ओह ओ माँ मरर गईईई. अब मैं भाभी की मलाई सी जाँघों को सहलाने लगा और एक हाथ से चूत को छेड़ने लगा. उनकी उठी हुई गांड जींस में देख कर किसी बुड्ढे का लंड भी खड़ा कर देगा.

टीना इशारा देगी तब।इधर टीना ने अपना पासा फेंका कि फ्लॉरा उसमें फँस जाए।टीना- एक बात कहूँ.

तो वो हंसने लगा- साले लड़के लड़के में प्यार होता है कभी?मैंने कहा- हाँ, होता है, सब कुछ होता है और प्यार में मैंने उसे गांड भी दे दी. नमस्कार दोस्तो, सभी चुतवालियों और भाभियों को मेरे खड़े लंड का प्रणाम.

बीएफ वीडियो घोड़े वाली चिकनी गुदाज जंघाओं का वो उष्ण स्पर्श पाकर मेरी उंगलियाँ उसकी चूत की तरफ बढ़ चलीं और मैंने उसकी चूत को पेटीकोट के ऊपर से ही मुट्ठी में भर लिया, लगा कि जैसे नीचे पेटीकोट के अलावा अन्य कोई आवरण चूत के ऊपर नहीं था और चूत मध्य रेखा में अपनी तर्जनी उंगली फिराई जिससे चूत का चीरा दिखने लगा और चूत का गीलापन झलकने लगा. मुझे वो पल बहुत ही सुहाना लगा, अब मेरा भी अकेलापन दूर हो गया था, सो हमने बहुत देर बातें की.

बीएफ वीडियो घोड़े वाली जब कभी बात करते हुए वो थोड़ा आगे पीछे होता तो उसके लंड का थोड़ा सा अनुभव मेरे हाथ पर हो जाता. मैं उसके बगल में खड़ा हुआ उसके लंड को जीन्स के ऊपर से ही सहला रहा था और उसे काफी मजा आ रहा था.

उन्हें मेरा स्वीट बाइट अच्छा लग रहा था। मैं उनके गाल पर, उनकी ठोड़ी पर, उनके होंठों पर स्वीट बाइट दे रहा था। वे उसका पूरा इंजॉय कर रही थी।अब मैं अचानक नीचे आ गया और उनकी चूत को दोनों हाथ से फैलाया.

मराठी सेक्सी मराठी सेक्सी मराठी

भाई के लम्बे-लम्बे झटके देने के बाद फ़ाइनल उसका लंड मेरी गांड में ही झड़ गया. और फिर मेरी किस्मत से एक बार इस बूढ़े को टाइफाईड हुआ और उसे अस्पताल में भरती किया गया. अब सासू माँ ने लैंप की रोशनी में पहली बार अपने जमाई के बड़े लंड को अपने मुँह के सामने तन्नाते हुए देखा.

पण्डित जी ने मुझे कमरे की चाभी सौंप दी, फिर बोले- आप को किसी भी प्रकार की तकलीफ हो तो आप बेझिझक मुझे फ़ोन कर दीजिएगा. अब ठीक से बताओ ना क्या करना है?टीना- अरे मेरी भोली बहन, हाथ कंगन को आरसी क्या और पढ़े लिखे को फ़ारसी क्या. वह हाँफ रही थी, मैं भी इतना थक गया था कि उसी के ऊपर गिर गया और वह वहीं सीट पर लेट गई, अभी भी मेरा नंगा लंड उसकी नंगी गांड के ऊपर था.

फिर धीरे-धीरे मैं एक उंगली में शहद लेकर उनके चूत में डालने लगा था। उनकी चूत नहीं तो ज्यादा टाइट और ना ही ज्यादा ढीली!फिर मैं किस करते करते उनके होंठों पर काट भी रहा था। फिर इसी दरमियान किस करते करते मैं उनके कान को भी किस करता और कान को भी अपने होंठों से छेड़ता और कभी-कभी उन पर स्वीट बाइट देता.

कहानी पर आते हैं:राहुल ने ऋतु के दोनों हाथ पकड़ कर पीछे खींच लिए और जोर जोर से उसकी गांड चुदाई करने लगा. आखिर नीलम ने निखिल से शादी कर ली और निखिल उनके घर में ही रहने लगा था. ”क्या करूँ मेघा, मन नहीं माना और पता नहीं फिर कब मिलना हो… कब तुम्हारे मखमली बदन को छूना नसीब हो!”अच्छा? इतनी पसंद आ गई क्या मैं?”तुम हो ही इतनी मस्त… और इतनी दूर क्यों खड़ी हो? और ठण्ड लग रही है क्या जो ये शाल ओढ़ रखी है? उतार दो इसे यार!”लो आ गई पास… और शाल भी हटा दिया.

मैं तैयारी करके घर से निकला और वहाँ पहुँच कर उसको कॉल किया तो उसने कहा कि वो मेरा ही वेट कर रही है. एक दिन की बात है, अंकल-आंटी को कहीं बाहर जाना था तो आंटी ने मेरी मम्मी से कहा कि हम लोग बाहर जा रहे हैं, हमारे लौटने तक आप बच्चों का ध्यान रखना. मैंने देखा कि जीजाजी की कपड़ा लपेटी उंगली कई बार बाहर को खिंची… लेकिन जीजाजी कपड़ा छोड़ने को तैयार नहीं थे.

मैंने भाभी का एक चूचा मसलते हुए दूसरे हाथ से उनकी ब्रा हटा दी और उनके मम्मों को फ्री कर दिया. ये सोच कर मेरी चूत गीली सी हो रही थी, जैसे ही मैंने चूत पर हाथ रखा, मेरी चूत के बाल चिपचिपा से रहे थे.

मैंने भी अपनी टाँग को ऊपर उठा कर मामा को लॉक कर लिया, जिससे मेरी चूत और कस सी गई. मैंने फिर अपने होंठ चाची के होंठों पर रख दिए और उनके मम्मों को भी दबाने लगा. उसकी चिंता मुझसे देखी नहीं जाती और उसे मैं बता देता हूं कि पिछली रात मैं ही ऊपर कोठरी में उसके साथ था.

बस फिर क्या था… वो समय आ चुका था, जिसका मुझे बहुत दिनों से इंतजार था.

पर मैंने स्पीड बढ़ा दी, सबीना बोली- साले कमीने, जलन हो रही है चूत में! रुक जा, थोड़ी देर फिर चोद लेना!लेकिन मेरी स्पीड बढ़ती गई, आखिर सबीना पलट गई और मस्ताना चूत से बाहर आ गया पर तुरंत ही जमीला ने मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसना शुरू किया और शॉवर बन्द कर दिया. करीब 15 मिनट के बाद मैं भाभी की चुत के अन्दर ही झड़ गया और उनके ऊपर ही लेट गया. मेरी तो जैसे दर्द से साँस अटक गयी, ऐसा लग रहा था जैसे कोई गर्मा गर्म रॉड गांड में डाल दिया हो.

मैंने वैसे ही किया, जब मैं मामा जी के लंड पर बैठ गयी तो मेरी सीधी वजन के वजह से मेरे चूतड़ मामा जी के गोलों में सट गये जिससे मामा जी का लंड और ज्यादा मेरी गांड के अंदर समा गयी, शायद पहले से भी ज्यादा. अच्छा तुम्हें मैं फुल आज़ादी देता हूँ, जिसके साथ तुम्हारा मन करे, तुम कभी भी कर सकती हो ओके.

’‘पेंटी नहीं उतारोगी क्या?‘पेंटी तो तब उतारूंगी, जब तुमको शरबत पीना होगा. मैंने कहा- अरे यार, एक तो मुझे अपनी सारी सेक्सी बातें बताती है, ऊपर से भाई बहन की बेकार की बातें चोद रही है. जब मेरा झड़ने को हुआ तो मैंने उन्हें बोला- पानी कहां खाली करूँ अंदर या बाहर?तो बोली- करते रहो … करते रहो … मेरा भी आने वाला है। साथ में करते हैं.

गर्लफ्रेंड कैसे बनेगी

कह कर वो बस स्टैंड में हिसार के प्लेटफॉर्म की तरफ बढ़ गया और हम अपने रास्ते की तरफ…हमारा घर बस स्टैंड से ज्यादा दूरी पर नहीं था तो 10 मिनट के अंदर हम घर पहुंच गए और नहा धोकर डिनर किया और सोने की तैयारी करने लगे.

मेरी चूत में तो पहले से ही दो लड़के का वीर्य था, उसने वैसा ही किया, लंड निकल कर मेरी चूत में घुसा दिया और चोदने लगा और 5-7 मिनट बाद मेरी चूत में वीर्य की बाढ़ आ गयी, वीर्य निकल रहा था और वो मुझे गालियों के साथ चोदे जा रहा था, उसने अपने लंड की एक एक बूंद वीर्य मेरी चुत में समाहित कर दिया और मेरे ऊपर ही निढाल होकर सो गया. मैंने अपने सीधे हाथ को स्वतन्त्र करते हुए अपनी प्यारी बीवी की स्कर्ट के नीचे पहनी चड्डी को टहोक कर उसके बीच के हिस्से को एक तरफ कर उसकी मक्खन जैसी मुलायम, गुलाबी चूत को नंगी कर दिया और उसको हाथ से सहलाने लगा. मेरे मन में आया कि पूछ लूं कि वे मुझसे क्या बात करना चाहती थी सामने बैठकर। फिर सोचा कि यह लम्हा बीत जाने के बाद ही पूछ लूंगा, अभी तो 2 दिन हमारे पास हैं.

आज मुझे एक गैर मर्द के सामने ब्रा-पैंटी में जाने में बहुत शर्म आ रही थी. सुन, तू मौका देखना कि पापा तेरे कमरे में आ रहे हों, बस उसी वक़्त कपड़े बदलने की एक्टिंग करना. सेक्सी पिक्चर 2020 कीजब कुछ देर बाद उसका लंड एकदम गर्म हो गया और उसकी साँसें तेज हो गईं.

कर देते हैं और तुम सिर्फ़ बातें किए जा रहे हो। अब बातों में टाइम क्या खराब करना, जो दिल में है. मैं रोहित, मेरी उम्र 20 साल है, मैं आज एक ऐसी कहानी आप सभी को बताने जा रहा हूं, जिसे आप पढ़ कर बेहद उत्तेजित हो जाएंगे.

5 से 7 मिनट तक मेरी गांड मारने के बाद मामा जी रुक गये और लंड मेरी गांड से निकाल लिया. मैं उठा और पहले अपने लंड पर ढेर सारा थूक लगा कर उसके पैरों को मजबूती से अपने हाथों में पकड़ लिया. ‘ओह… तो कॉलेज की सहेलियों से मिलन हो रहा है, है न भाबी जी?’ तिवारी ने भी हंसते हुए पूछा.

ओह्ह्ह ये लो मेरा लंड अपनी चूत में ये लो फिर से लो, ले लो मेरी रानी, मेरी जान उईई आह. फिर मुझे ऊपर से किस करते हुए नीचे लंड राजा तक आ गई और मेरे लंड को चूसने लगी. जब मैंने उनकी चूत पर हाथ रखा तो उस वक़्त उनकी चूत भट्टी के माफिक तपी हुई थी.

अब उसकी जांघों के बीच में उसके लंड वाला भाग मेरी आंखों के सामने था। एक तो पुलिस वालों की वर्दी ही इतनी मोटी होती है और दूसरी ओर उसकी जांघें मोटी होने की वजह से जिप वाले भाग पर तंबू सा बना हुआ था जिससे ना तो उसके लंड की पॉजिशन का पता लग पा रहा था और ना ही उसके साइज़ का… क्योंकि मर्दों के दीवाने उनकी चैन के पैकेज को देखकर ही अंदाज़ा लगा लेते हैं कि सामने वाले का औजार कितना बड़ा है.

अब तक जय मेरे बूब्स को मसल कर पीता हुआ अब मेरी गांड की ओर बढ़ चुका था. मेरे मन में आया कि पूछ लूं कि वे मुझसे क्या बात करना चाहती थी सामने बैठकर। फिर सोचा कि यह लम्हा बीत जाने के बाद ही पूछ लूंगा, अभी तो 2 दिन हमारे पास हैं.

मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाला, तो वो मेरी तरफ घूमी, उसकी आँखों में हल्का पानी सा नज़र आया मुझे. इधर सविता और मैं भी गर्म हो गये थे पर उस वक्त हमने सेक्स करना ठीक नहीं समझा और बस किस कर के ही वापिस आ कर सो गये. पण्डित जी बिस्तर पर निढाल हो गए और मैं उनके ऊपर वैसे ही पांच मिनट पड़ी रही.

अबकी बार सुपारा अन्दर जाकर फंस गया और वो जोर से उछल कर चिल्लाने लगी- अह जीजू ,मर गई. सुबह जब 6 बजे मेरी नींद खुली तब देखा कि दीदी मेरे साइड में ही सोई हैं और बड़ी ही सेक्सी लग रही थीं. वो अभी अभी नहा कर आई थी अतः उसके बदन की ताजगी, नमी और भीनी भीनी सुगंध मुझे उतावला करने लगी.

बीएफ वीडियो घोड़े वाली उसे चोदने का ख्याल मेरे दिमाग़ से निकल गया था और जैसे ही तौलिया निकला, मैं डर के मारे उससे फिर से लिपट गया ताकि उससे पता ना चले. फिर मैंने उठ कर 69 की पोजीशन में आकर नीलम की चूत को चूसना शुरू किया, उसकी गांड में हाथ की उंगली डालकर उसकी गांड चुदाई करने लगा.

हिंदी सेक्सी नया वीडियो

’मैंने सविता के मम्मों को मसलना शुरू किया साथ ही मैं उसकी नाईटी के ऊपर से ही उसकी जांघें सहला रहा था- जानू, मुझे बच्चे की तरह दूध पिलाओ न!’‘अच्छा तुम क्या मेरे बच्चे हो?’‘तो क्या हुआ ऐसे ही समझ कर दूध पिला दो ना. ‘पर मेरा अभी नहीं हुआ है चाची, मुझे चोदने दो अभी!’चाची बोली- ठीक है चोदना शुरू कर और पिला दे अपना पानी मेरे चुत को!मैंने चाची की चुत में लंड हिलाना शुरू किया. जब भाभी घर में आई तो मैंने भाभी और अपने बेटे के ऊपर से 5100 रूपये वार कर दिये.

कई चित्रों में चूत में लंड घुसा था और चूत की शान में कई शायरी भी लिखीं थीं. मोहन- हेलो जमीला डार्लिंग, कैसी हो और खूब चुदवा रही हो दो दिनों से राजेश से?जमीला- क्या बताऊँ यार, ये राजेश का लौड़ा बड़ा मस्त है और चोदता भी मस्त है. लड़की का दूध का फोटोलेकिन आदमी तो आखिर आदमी है, मैं ज्यादा देर तक संयम न रख सका और मैंने धक्के मारने शुरू कर दिए.

तो मैंने भी कह दिया- तो ठीक है मैं भी तुम्हारे और सुमित के बारे में सब बता दूंगा.

गुलशन जी ने हाथ हटा लिया मगर वो वैसे ही खड़े रहे और लंड को गांड पर दबाते रहे और जैसे सुमन का मन था कि पापा डायरेक्ट मम्मों को छुएँ. डिल्डो को तो बहुत मज़े से पकड़े हुए थी अब असली कैसा होता है वो भी देख ले ना.

अगर आप चाहते हैं कि मैं और भी कहानियां में आपके साथ शेयर करूँ, तो आप बताएं कि ये चुदाई की कहानी कैसी लगी. अब मेरी हिम्मत भी जवाब दे चुकी थी, इससे ज्यादा दर्द अब मैं किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं कर सकता था इसलिए मैंने उससे कहा- अब तो चाहे कुछ भी हो जाये लंड इससे ज्यादा अंदर नहीं ले पाऊँगा. फ्लॉरा- अच्छा मेरी पुसी और आपकी लुली में सेम रस आता है क्या?जॉन- बेबी ये लंड है और तुम्हारी पुसी बुर है.

कुछ देर बाद उसने अपनी पकड़ ढीली की और मैंने उसका लंड चूसना शुरू किया.

उसकी मादक सिसकारियाँ और तेज़ हो रही थीं और वो लगातार बोले जा रही थी- और जोर से. अपनी बीवी को दो-2 मोटे लंड को इकट्ठे चूसता देख मैं तो पागलपन की हद तक उत्तेजित हो उठा था! मैंने न सिर्फ अपने धक्कों कि गति बढ़ा दी थी, इसके साथ-2 मैं नताशा के क्लिट पर भी समय-2 पर अपने उत्तेजित लंड के टोपे से चपत लगाने लगा था. बस तुझे ये सब ऐसे करना है जैसे तुझे कुछ पता ही नहीं कि क्या हो रहा है.

सेकसी बिहारमगर आपका लंड बहुत बड़ा है और मुझे पता है एक बार तो ये मेरी जान निकाल ही देगा और कल कॉलेज में मेरा जाना बहुत जरूरी है तो आज आप बस ऐसे ही मज़ा ले लो, कल आप मेरी चुत मार लेना. राहुल को मेरी कमजोरी पता लग गयी थी तो उसने थोड़ा नीचे होकर फिर से मेरे निप्पल्स पर अटैक कर दिया.

ब्लैक वीडियो सेक्स

हम सेक्स का पूरा आनन्द लेते हैं, बात करते हैं और पर-पुरुष, पर-स्त्री की कल्पना भी करते हैं. सविता जब भी ऊपर होती तो उसके निप्पल खिंच जाते और मीठा सा दर्द होता उसे!थोड़ी देर बाद सविता ने पानी छोड़ दिया, मेरा भी निकलने वाला था, मैंने उसे नीचे लिटा कर उसकी चूत में जोर जोर से धक्के मारते हुए अपना माल छोड़ दिया. फिर मैंने उससे कहा- आज से तुम रोज जल्दी उठोगे और मेरे साथ योगा करोगे.

शादी से पहले तो वो बहुत ही दुबली-पतली थी, पर कुछ ही दिनों में उसका बदन पूरा भर चुका था. उसको इंडिया से बहुत लगाव था इसलिए वो अपने पापा से ज़िद करके इंडिया पढ़ने आ गया था. मैं उसके होंठों को चूसने में इतना खो गया कि कब हम दोनों वहीं फर्श में लेट गये, पता नहीं चला.

थोड़ी देर बाद नार्मल होने के बाद मैंने पूछा- आंखों से पानी क्यों आ रहा था. वो कुछ देर बाद जब भाभी वापिस ठीक हुईं तो मैंने अपना पूरा लंड भाभी की चुत में पेल दिया. कोमल- हाँ यार ऐसा ही कण्ट्रोल है साले का अपने मस्ताना पे बहन चोद का, यार सोचा आज स्काइप पर तुम लोगों की चुदाई देख कर हम भी चुदाई का आनन्द लेंगे.

मगर उसे मेरे ऊपर तरस नहीं आया, वो बस अपने हैवानी लौड़े से तूफान मचा रहा था. मैंने अनुराधा के मम्मे दबाते हुए कहा- तेरे भी तो ये बड़े हो गए है ना.

मोहन- हेलो जमीला डार्लिंग, कैसी हो और खूब चुदवा रही हो दो दिनों से राजेश से?जमीला- क्या बताऊँ यार, ये राजेश का लौड़ा बड़ा मस्त है और चोदता भी मस्त है.

इस पर सविता भाभी ने इठला कर कहा- लेकिन अभी तक मैंने इन्हें किसी गैर मर्द को नहीं दिखाया है. हॉट सेक्स इंडियनसरिता का भी मन अब बेचैन हो रहा था और सोच भी रही थी कि आज उसे रमेश चोद कर मजा दे. बालवीर सेक्सी वीडियोअपनी नाकाम कोशिश के बाद मम्मी तुरंत दरवाजे की तरफ भागी पर जीजाजी लपककर दरवाजे पर खड़े हो गये. मेरी चूत में तो पहले से ही दो लड़के का वीर्य था, उसने वैसा ही किया, लंड निकल कर मेरी चूत में घुसा दिया और चोदने लगा और 5-7 मिनट बाद मेरी चूत में वीर्य की बाढ़ आ गयी, वीर्य निकल रहा था और वो मुझे गालियों के साथ चोदे जा रहा था, उसने अपने लंड की एक एक बूंद वीर्य मेरी चुत में समाहित कर दिया और मेरे ऊपर ही निढाल होकर सो गया.

उस दिन के बाद हम रोज़ ही फ़ोन पर बातें करने लगे और अगली बार कहाँ मिला जाए, ये प्लान बनाने लगे.

कई मिनट के बाद जब मैं झड़ने वाला था तो मैंने उन्हें माल निकलने का इशारा किया. फिर उनकी जांघें फैलाई और थोड़ा झुक कर खड़े खड़े अपना दनदनाता मूसल मम्मी की चूत में पेल दिया. अब वो अपने आपको थोड़ा आगे पीछे करके अपने लंड को मेरे हाथ से बार बार टच कर रहा था.

अब उन्होंने मुझे नीचे लिटाया और एक एक करके मेरे सारे कपड़े निकाल दिए. उनको लग रहा था अगर कुछ देर ऐसे ही चलता रहा तो वो अपना आपा खो देंगे और सुमन के मम्मों को मसल देंगे. वो बेड की ओर बढ़ी तो रीना ने चिल्ला कर उसे बेड पर चढ़ने रोक दिया, वो बोली- कमीनी तुझे नहीं मालूम कि हमारे बेड पर कपड़े पहन कर आने की मनाही है.

ससुराल सेक्स

’‘और अंकल जी, मेरी तमन्ना है कि मेरा पुरुष मुझे तरह तरह से चोदे, जैसे मैं चाहूँ वैसे मुझे रगड़ रगड़ कर रगड़े, मेरी प्यासी चूत को फाड़ के रख दे. वो घर आते तो किसी ना किसी बहाने से मुझे टच करते, मुझे गोद में बिठाकर हिलते, मगर उस वक़्त मुझे नहीं पता था कि उनके इरादे क्या हैं. उसके दो बड़े बड़े सुंदर बूब मेरे सामने थे… वो तो मानो काम की देवी लग रही थी और मैं उसके बूब्स को मसलने लगा.

जॉन- कुछ ग़लत नहीं हुआ है और इसमें छी: वाली कौन सी बात है?फ्लॉरा- भाई अपने मेरी पुसी को चाटा, उसमें से सूसू निकला.

हालाँकि रीना के साथ रह कर कविता भी बहुत बोलने लग गयी थी, वो मजाक में रीना को धक्का देकर विनय से चिपट कर ही बैठती.

‘अब आपसे क्या छुपाना तिवारीजी, अब जब आधा सच बोल ही चुकी हूँ तो पूरा बता देती हूँ, लेकिन आपको मुझसे एक वादा करना पड़ेगा. मैं तैयारी करके घर से निकला और वहाँ पहुँच कर उसको कॉल किया तो उसने कहा कि वो मेरा ही वेट कर रही है. राणी सेक्सजिस दिन इंसान को ये समझ आएगा कि सेक्स एक जिस्मानी जरूरत है, तो सारी दुनिया कितनी सुन्दर हो जाएगी!आप दोनों ने जिस तरह यहाँ तीन दिन बिताए, उससे तो यहाँ का स्टाफ भी आप से प्यार करने लगा है.

मैंने उसे उठाया और उसने मेरी कमर के चारों तरफ अपने पैरों को क्रॉस करके लपेट लिए. जैसे तैसे सामान रखवा कर रात करीब नौ बजे मैंने अपनी कार निकाली कि कहीं से थोड़ी बियर या व्हिस्की लाई जाये तो थकान मिट जाएगी।काफी देर तक ढूंढने के बाद भी दारु की दुकान नहीं मिली तो मैं अपने घर के पास के होटल में घुस गई. वो तो विनय का बांकपन रीना को भा गया वर्ना वो और कविता तो मियां बीबी की तरह रह ही रहे थे.

नीचे गिरे हुए वीर्य को भी भाभी ने अपनी उंगली पर लगाया और अपनी उंगली को चाटने लगी. मैंने सिर्फ उसकी चूत ही नहीं, उसकी गोरी चिकनी जांघें, घुटने, पिंडलियाँ, पाँव, सब को चूमा चाटा.

आपको मेरी नोन वेज स्टोरी अच्छी लगी? मेरी e-mail id-[emailprotected]पे ज़रूर कमेंट कीजिएगा.

कितनी टाइट है तेरी चूत जानेमन… देख मेरा लंड कैसे मचल रहा है तेरीकमसिन चूत में… आहहह मेरा लंड पूरा छिल गया है तुझे चोदते समय… ओहहहह… आआ. वो मुझसे छूटने के लिए मचलती रही और कहने लगी- प्लीज़ जीजू नहीं मत करो. 16 दिन बाद अंकल का कॉल आया कि मैं पूजा को ट्रेन में बैठा रहा हूँ, तुम जाकर स्टेशन से ले लेना.

चल हट, बुद्धू बालम जी उनकी टांगों के बीच बैठ कर अपना लंड उनकी चूत पे रखा और एक ही झटके में पूरा लंड चूत में उतार दिया और चुदाई करने लगा. मैं गाँव में 12वीं की पढ़ाई कर रहा था। उन दिनों मैंने नया नया इंटरनेट सीखा था, मैं इन्टरनेट पर हिंदी सेक्स.

इसके तुरंत बाद मैंने अपने हाथ को सलवार के अन्दर डाल कर चड्डी के ऊपर से ही उसकी चुत को छुआ, वो एकदम से हिल गई. फिर कुछ देर बाद मैंने पाया कि वह मुझे जकड़ रही है तो मैं उसे और तेज़ चोदने लगा और हम दोनों एक साथ झड़ गए. वो बोले कि क्या?मैं बोली कि आप मुझको ऐसे ही चोदेंगे और रोज़ चोदेंगे.

गांव की लड़कियों का डांस

मैंने धीरे से अपने एक हाथ को उनके चूचे के ऊपर रख दिया और सोने का बहाना करने लगा. मेरा पूरा माल उसके पेट पर गिरा उसे अच्छा फील हुआ, फिर किस करके हम दोनों उठे और फ्रेश होकर वापस निकल गए. ये मेरी बीवी ने देख लिया, उसने भाभी का हाथ पकड़कर मेरे लंड पर रख दिया और बोली- भाभी, मेरे चोदू का लंड कैसा लगा.

भाभी को मैंने वहीं छत पर चोदा और वादे के मुताबिक़ माल चूत में नहीं निकाला. उसकी माँ को उसके हवाले कर दिया और फ्लैट बंद करके चाभी गुलशन जी ने ले ली.

अब नजारा बदल गया, बेड के एक तरफ से मैं खड़ा होकर सबीना की गांड मार रहा था तो दूसरी तरफ खड़ा होकर रफीक जमीला की चूत चोद रहा था और सबीना और जमीला एक दूसरे की चुचियों को दबाते हुए चूस रही थी.

प्रिय अन्तर्वासना पाठकोअगस्त 2017 में प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…एक बार मैं अपने दोस्त के घर सोया. ‘कुछ नहीं तिवारी जी, मेरी कॉलेज की सहेली का फोन था, बता रही थी कि वो आज कानपुर आ रही है. हम सभी के बीच सब कुछ ओपन है और सब एक साथ एक ही बिस्तर में चुदाई कर लेते हैं.

मेरी चूत में सू सू भरी होने के वजह से मुझे चूत में जोरों से खुजली होने लगी, मुझे सू सू कंट्रोल से बाहर हो रही थी, लग रहा था कभी भी सू सू निकल जाएगी. उसने करवट ली और मेरे सीने पे अपना सर रख दिया, जैसे वो मेरी पत्नी हो, या दिलरुबा हो. उसको थोड़ा अलग टेस्ट लगा तो बोली- ये अलग टेस्ट कैसे आया?तो मैंने उससे माफी मांगी और बोला- सारी यार मेरे से कंट्रोल नहीं हुआ.

जब माला के मुंह से सिसकारियाँ निकलती, तब मेरी उत्तेजना बढ़ जाती और उसके मुंह में मेरा लिंग-मुंड फूल जाता जिस से उसकी आवाज़ निकलना बंद हो जाती.

बीएफ वीडियो घोड़े वाली: उधर घूमते-घूमते मैं ब्रा-पैंटी के स्टॉल के पास पहुँच गया और वहां वो सब कुछ देखने लगा जिससे लंड को तसल्ली सी हो जाती है। वहां से बहुत सारी औरतें गुजर रही थीं. मैंने देखा कि रिया के साथियों ने भी अपने लंड उसके छेदों से बाहर निकाल कर अपने पानी की बौछार उसके मुँह और सीने पे कर दी थी.

मोना ने नीतू को शाबाशी दी और उसको कहा कि आज दोपहर को वो दोबारा गोपाल का लंड चूसना ताकि वो उसका आशिक बना रहे मगर उसको और कुछ मत करने देना. मैंने हल्के से आँखें खोल कर देखा तो वो अपनी पैंट उतार के अपनामोटा सा लंडहाथ में लिए खड़ा मेरे बदन को देख रहा था. उसने एक ही झटके में मैक्सी निकाल दी और एकदम नंगी गुलशन जी के सामने अपने मम्मे तान कर खड़ी हो गई.

आज उन्हीं के आग्रह पर मैं मेरे और उनके बीच हुए एक अत्यन्त कामुक रोमांचित और आनन्दमयी सेक्स समागम का यहाँ वर्णन करने जा रहा हूँ.

मगर जॉन को इसकी क्या परवाह थी, उसको तो बस कच्ची बुर चोदने से मतलब था. सुमन ऐसे ही सोच रही थी अचानक उसे ख्याल आया कि जैसे उसकी अंतरात्मा उसके शरीर से बाहर आ गई और उससे बात कर रही हो. नमस्कार दोस्तो, मैं आप आप सभी को धन्यवाद करता हूं कि आपने मेरी पिछली कहानीभाभी ने कुंवारी लड़की की चूत चुदवा दीको पसंद किया.