राजस्थानी बीएफ चोदने वाली

छवि स्रोत,बीएफ सोनाक्षी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी रेखा: राजस्थानी बीएफ चोदने वाली, मैंने भी कस के समाली अंकल को पकड़ लिया और उनके होंठों को चूसने लगी, चूमने लगी.

बीएफ सेक्सी गंदा

चाचा- क्या करूँ रानी, तुम्हारी चूत ही ऐसी है कि चोदे बिना नहीं ठहर सकता. बीएफ दिखाइए वीडियो में बीएफ वीडियो मेंमुस्कान मेरा लंड चूस रही थी, पर दो उंगलियों के गांड में चलने से उसने अपने मुँह से लंड को बाहर निकाल लिया और ‘अअअअअ ओऊआआ.

और किस्मत की बात थी कि वो चूत उसकी खुद की बड़ी बहिन की थी, वो कमाल की सुंदरी थी, बल्कि कहा जाये तो कामदेवी थी. वीडियो सेक्स सेक्स बीएफमैं बदहवाश सा उस डोर के की-होल से जितना हो सकता था, देखने की कोशिश कर रहा था.

उस रात हमने तीन बार चुदाई की और सुबह जब पूजा चाय लेकर आई तो मुझे किस करके उठाया और बोली- मेरे पतिदेव, अब तो खड़े हो जाओ, कोई आ जाएगा.राजस्थानी बीएफ चोदने वाली: अब उसने मेरे बारे में बात करना शुरू कर दी, वो पर्सनल बातें कर रही थी.

मैंने एक बार फिर से अपना लंड चाची की चूत में घुसाया और अपने दोनों हाथों से उनकी भारी भरकम चूतड़ों को पकड़ कर चोदना शुरू किया.उसने दरवाजा बंद किया और अपने बाल बांधे और ड्रॉवर से ड्यूरेक्स का कंडोम निकाला और बोली- लगा लो.

बीएफ अंग्रेजी चुदाई वाली - राजस्थानी बीएफ चोदने वाली

महीने में दो तीन बार बुआ जी की चुत ज़रूर चोदने मिलती है, लेकिन अनु ने शादी के बाद कभी भी चुदाई नहीं करने दी.चुदाई के साथ ही अब मैं उसकी गांड पर थप्पड़ भी मार रहा था, जिससे प्रिया की चुदाई के साथ उसको दर्द भी हो रहा था, इस दर्द के साथ उसकी ‘आह हम्म अअअअ …’ निकल जाती.

” नेहा ने खींच कर मुझे खड़ा कर दिया और पजामे के ऊपर से खड़ा लंड अपने हाथ में ले कर दबा दिया. राजस्थानी बीएफ चोदने वाली मैं जान गया था कि वो भी पूरी तरह से गर्म हैं और मज़ा करना चाहती हैं.

मैंने उससे कहा- तुम वकीलों की तरह से मेरे शब्दों को ना लो वरना मैं तुमसे शादी से पहले मिलना ही बंद कर दूँगी। तुम जानते हो कि जब मैंने तुमसे कहा था ‘कपड़ों को उतारे बिना’ तो इसका मतलब यह नहीं था कि तुम अपना हाथ कपड़ों के अंदर डालकर जो चाहो करो।तब वो बोला- ठीक है, मगर मुझे डराओ नहीं कि तुम मुझे शादी से पहले मिलोगी भी नहीं.

राजस्थानी बीएफ चोदने वाली?

घर में अगले 3 घंटे के लिए मयूरी और उसकी खूबसूरत माँ अकेली थी थे और कोई डिस्टर्ब करने वाला नहीं था. मित्रो, आप सब तो जानते ही हैं कि मैं अपनी इन बहूरानी के साथ कई कई बार संभोग कर चुका हूं; अभी तीन दिन पहले ही हम दोनों बैंगलोर से ऐ सी फर्स्ट क्लास के प्राइवेट कूपे में बैंगलोर से दिल्ली आते आते उन छत्तीस घंटों में मैंने अपनी कुलवधू को हर तरह से, हर एंगल से … न जाने कितने आसनों में अपनी शक्ति शेष रहते चोदा था; परन्तु अदिति बहूरानी मुझे कभी भी बासी या फीकी, उबाऊ नहीं लगीं. मुस्कराते हुए उसने जाकर दरवाज़ा बंद कर दिया और वापिस आकर मेरे सामने टेबल से लग कर खड़ी हो गई.

मैंने आज तक अपनी जीएफ की चूत तो कभी देखी ही नहीं थी, उसे तो बस ऊपर से ही छुआ था. अब मैंने प्रिया की चूत में एक उंगली डाली तो प्रिया ‘ओह्ह … आह आआ आआह …’ करने लगी. वो अपना ब्लाउज और जैकेट उतारने के लिए रुकी और कपड़े उतार कर वापस लौड़ा चूसने लगी.

तारा बिस्तर पर गिरते गिरते पूरी तरह से झड़ गयी, पर माइक हार मानने वाला नहीं था. मैंने फिर मना किया तो बोली- मैं तुमसे जिस लाइफ के गिफ्ट की बात कर रही थी, वो ये ही है. फिर सबने रुचिका से पूछा- क्या तुमने कभी सेक्स किया है?तो उसने बताया- हाँ, मगर किसी आदमी के साथ नहीं किया है.

इतने दिनों से बाहर रहकर थोड़ा बहुत फ़्लर्ट करना तो मैं सीख ही चुका था और इससे पहले मैं दिल्ली में 3 चूतों को भोग भी लगा चुका था. अब मैंने उसकी टी-शर्ट को हल्के हल्के ऊपर किया और उसकी पीठ को चूमने लगा.

सही कल्पना की आपने, ठीक नाम की ही तरह वह बहुत मादक और कामुक भी हैं.

फिर मैंने भाभी को उल्टा लेटा दिया और उनकी गांड को सहलाने लगा, बिल्कुल गोल मांसल कूल्हे जैसे इन्हें संगमरमर के पत्थर की तरह तराशा गया हो.

फिर मैंने उसके साथ इधर उधर की बातें करना शुरू किया और उसने भी मेरे साथ सवाल जवाब किया. ” नौकरानी ने कहा और वो पलट कर जाने लगी।उसके लौटते ही मैंने दरवाज़ा बंद कर दिया, वापस सोफ़े पर बैठ गया और सिगरेट सुलगाकर कश लेने लगा।कहानी जारी रहेगी. ऐसे ही भाभी को चोदते हुए मैंने अपना सारा माल भाभी की चूत में ही उतार दिया और ऐसे ही उनके ऊपर पड़ा रहा.

मगर उसने गालियों को अनसुनी करके एक और धक्का मारा, जिससे उसका पूरा लंड मेरी गांड में अन्दर तक घुस गया. जब मैंने पानी पी लिया तो मैडम ने कहा- आफिस में कब से हो? मुझे कभी दिखे नहीं?मैंने कहा- जी मैं दो साल से कंपनी में हूँ … टेक्नीकल पर्सन हूँ. उसके आनंद की कोई सीमा नहीं थी और वो इसकी व्याख्या शब्दों में नहीं कर सकता था.

मुझे नहीं पता कि मुन्ना को चूत मारने का पहले से कुछ ज्ञान था या नहीं.

उसने मुझे हाथ पकड़ कर खड़ा कर होंठों पर चूमते हुए लंड पकड़ कर बोली- सच राजू, आज तुझे इस तरह प्यार करके मुझे सपने जैसा लग रहा है. इन्हीं बातों से उत्तेजित होकर वो मुझे ऐसे किस करने लगा, जैसे एक हीरो अपनी हीरोइन को किस करता है. पर वो कहते हैं न कि लंड एक चूत को अगर रोज रोज ले, तो उसका जी भर जाता है.

वही हुआ, तौलिया खुल गया, मामी अपलक मुझे घूरती रहीं लेकिन मैं उनसे शरमाने का नाटक करने लगा- मामी प्लीज़ अपनी आँखें बंद कर लीजिए. मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और टॉयलेट में जाकर हस्तमैथुन करके लंड का पानी निकाल दिया. मैंने देखा कि अब मेरे लंड में जलन हो रही थी क्यूंकि मेरे लंड की सील टूट गई थी.

वो सब नहीं था, जिससे मुझे हिम्मत आ गई और मैं भाभी के पास जाकर बैठ गया.

अब मैंने अपने भाई से कहा कि मुझे नौकरी मिल रही है तो अभी यहीं रहूंगी और कुछ समय बाद आपके पास आ जाऊंगी. यह सुनने के बाद वो अपने शरीर पे टावेल लपेटते हुए बोली- तुम कभी नहीं सुधरोगे.

राजस्थानी बीएफ चोदने वाली बस हमें पायल पसंद नहीं आयी, तो अदिति ने अपने चाचाजी को फोन करके बता दिया- चाची जी, मैं भाभी का सामान देख रही हूँ, इसमें जो पायल है, वो बहुत हल्की है, पतली है, थोड़ी भारी वाली अच्छी लगेगी. मैंने तुरंत ही सर के लंड को अपने मुँह में ले लिया और एक अबोध की तरह कुल्फी सा लंड चूसना शुरू कर दिया.

राजस्थानी बीएफ चोदने वाली कुछ देर बाद जब भाभी की चुत का पानी निकल गया तो वे एकदम से निढाल सी होकर लेट गईं. फिर उसने भी मुझे कसके पकड़ लिया और अपने होंठों को मेरे होंठों से मिला दिया.

और फिर अशोक ने मयूरी को अपनी बाँहों में उठाया और उसको उठाकर अपने कमरे में लाकर अपने बिस्तर पर पटक दिया.

हाथ पैर बांध के सेक्सी वीडियो

लेकिन नौकरानी तो बहुत समझदार थी, उसे मालूम था कि उसकी मालकिन आज चुदने वाली है मुझसे … उसने मुझे दूर से आंख मारी और वह बाहर चली गई. मगर उस का बाप भी पूरा घाघ था, उसने अपने बेटे को कुछ भी नहीं बताया और मेरे साथ अपनी शादी की तैयारी शुरू कर दी. मैंने कहा- अच्छा सुन, शहद है क्या?बोली- अब शहद का क्या करेगा तू हैरी?मैं- अरे दूध में शहद मिला के पीने से वो वियाग्रा का काम करता है.

इसी लिए जिस दिन से भैया की नौकरी लगी थी, उसी दिन से किसी और का तो पता नहीं, लेकिन मैं बड़ा खुश था कि भैया के साथ यूएसए जाने का मौका मिलेगा और चुदाई भी मिल सकती है. ऐसे ही करते करते मैंने अपने लंड को सुपारे तक बाहर निकाला और एक जोरदार धक्का मारा, तो मेरा पूरा का पूरा लंड गांड के अन्दर घुस गया और उनकी मुँह से चीख निकल गयी- ऊऊईईई. मैं उससे बात करने के बाद रसोई में थोड़ा काम करने चली गयी और बर्तन धोने लगी.

क्योंकि मेरे पति मेरे तने हुए मम्मे ऐसे पीते हैं कि मैं हवा में उड़ने लगती हूँ.

आगंतुक अन्दर आये, तो सर ने बोला- आओ सुशील बैठो?उन्होंने पूछा- ये कौन है?तो सर ने बोला- ये मेरा स्टूडेंट है. पर वो दो दिन तक दिखे नहीं, शायद जवाब न पाकर या फिर अपनी गलती पर शर्मिन्दा होकर हमारे घर नहीं आ रहे हो!पर मैंने उन्हें खोना नहीं चाहती थी इसलिए मैं उनके घर गयी, वो अपने रूम में पढ़ाई कर रहे थे, मैं चुपचाप अंदर चली गयी और कुर्सी पर बैठ गयी।बोली- घर क्यों नहीं आये?वो बोले- तुमने आने को नहीं कहा था।मैंने कहा- अब से मत आना. उसने मेरे होंठों को छोड़ दिया और जोरों से अपने कूल्हों को उचका उचका कर अपनी चुत से मेरे लंड का स्वागत करने लगी.

वो मेरे होंठ चूसने लगा और मेरे मुँह के अन्दर अपनी जीभ डाल कर अपनी जीभ से मेरे जीभ को चूसने और चाटने लगा. मैंने उसके पीछे से आकर आराम से एक शॉट मारा क्योंकि मैं उसे दर्द में नहीं देख पा रहा थाहम दोनों ऐसा 15 मिनट तक लगे रहे. कुछ ही देर में मैं उनके मुँह में और वो मेरे मुँह में अकड़ कर झड़ गईं.

मत डालो…पर वो बोले- शुरू में दर्द होगा, पर बाद में मज़ा आएगा तो थोड़ा सहन करो. और उसके पके तोतापरी आम जैसे विशाल गुलाबी मम्में मेरे सामने उजागर हो गये.

मैं करीब शाम को आठ बजे चाची के घर पहुंचा, चाची खाना बना रही थीं और चाचा हॉल में पड़े बिस्तर पर लेटे कोई किताब पढ़ रहे थे. मैंने धीरे से दीदी की पैंटी सरकाने की कोशिश की, तो आसानी से सरक गई और उनकी पेंटी घुटनों तक आ गई. तभी समाली अंकल, जिनका घर था, बोले- इतनी देर में वन्द्या खुली है तू, लाल जी ने सब बताया है कि तेरे सामने सभी रंडियां भी फेल हैं.

मेरे कान खड़े हो गए और ये सोच कर मेरा लंड खड़ा हो गया कि शायद चाचा चाची चुदाई कर रहे हैं.

मैंने उसे पकड़ लिया और उसकी तरफ होंठ बढ़ा कर चुम्मी का इशारा किया, तो उसने अपनी बांहें फैला दीं और मैं उसके करीब होकर उसे लिप किस करने लगा. कुछ पल बाद प्रिया का दर्द कुछ कम हुआ और वो अपनी गांड को हिलाकर मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगी और उसकी मादक सिसकारियां निकलने लगीं ‘ओह्ह हह … आहह … उहह हहहह …’कुछ ही देर में अब प्रिया अपनी गांड को जोर जोर से हिलाना शुरू कर दिया और मैंने भी अपनी चुदाई की स्पीड ओर तेज कर दी. लेकिन आज की कहानी मेरी पिछली कहानी से भी पहले की है जब मैं किसी चूत के लिए तरस रहा था, तड़प रहा था.

दीदी के देवर के साथ सेक्स करने में दूसरा ही मजा था क्योंकि एक तो वो मेरे घर का ही था और कोई गलती होती भी तो घर वाले समझ लेते. हम दोनों एकदम चुप थे, बस एक दूसरे की आंखों में देख रहे थे, दिल की धड़कनें भड़क रही थीं.

पर वो दो दिन तक दिखे नहीं, शायद जवाब न पाकर या फिर अपनी गलती पर शर्मिन्दा होकर हमारे घर नहीं आ रहे हो!पर मैंने उन्हें खोना नहीं चाहती थी इसलिए मैं उनके घर गयी, वो अपने रूम में पढ़ाई कर रहे थे, मैं चुपचाप अंदर चली गयी और कुर्सी पर बैठ गयी।बोली- घर क्यों नहीं आये?वो बोले- तुमने आने को नहीं कहा था।मैंने कहा- अब से मत आना. अगले आने वाले भाग में इन मैडम की सहेली रिया उम्र (29 वर्ष), उसकी मादक फिगर. एक दूसरे को इस तरह से किस करने में वाकयी बहुत मजा आता है, ये मेरा अनुभव भी रहा था.

सेक्सी व्हिडिओ लाईव्ह मराठी

पर मुझे लगा कि अगर मुझे अपना हुस्न लुटाना ही है तो अपने घर के बाहर क्यूँ, अपने घर ले लोगों में ही बाँट देती हूँ… मैंने तो बस सारे घर वालों के बारे में सोचा पापा…अशोक- अ… अरे… मैं… तो वो बस जोश-जोश में बोल गया मेरी जान… मेरा वैसा कोई मतलब नहीं था.

इस बार उसने मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर टिकाया और मैंने लंड अन्दर डाल दिया तो मुझे सच में ऐसा लगा कि जन्नत मिल गई हो. डांस वांस करके फोटो खिंचवा के हम लोग धीरे से बारात के पीछे होते जायेंगे और फिर चुपके से निकलकर यहीं धर्मशाला में आ जायेंगे. वो भी मेरी पास वाली चेयर पर आकर बैठ गए और मेरा हाथ अपने हाथों में पकड़ कर मुझसे बोला कि वो मुझे बहुत पसंद करते हैं.

मेरी सेक्स कहानी के पहले भागचिकने बदन-1में अभी तक आपने पढ़ा कि कैसे मैं अपनी बहन के साथ खुली हुई थी, कैसे हम दोनों बहनों ने अपनी शादी से पहले और बाद में भी नए नए लंड खाए और मजा किया. फिर उनकी इस ख़ामोशी को मयूरी ने तोड़ते हुए बात को साफ़ किया- हाँ… तुम दोनों ज्यादा आश्चर्यचकित मत होओ… मैंने तुम दोनों को अपनी इस प्यारे से शरीर के दर्शन भी कराये हैं और बहुत हद तक मजा भी दिया है. बीएफ वीडियो स्कूल गर्ल्सवो मेरा पूरा माल निगल गयी और चाट चाट कर मेरा लौड़ा पूरा साफ़ कर दिया.

मम्मी मस्ताई हुई आवाज में बोलीं- मेरे राजा अब जल्दी से अपने इस समधी लंड को मेरी चुत में पेल डालो. मेरी शादी के शुरू के दिनों में मेरे पति मुझे बहुत चोदते थे तो मेरी चूत शांत रहती थी लेकिन वो धीरे धीरे मेरी तरफ कम ध्यान देने लगे और हमारी चुदाई अच्छे से नहीं होती थी तो मेरी चूत प्यासी रह जाती थी.

चाची चाचा का लंड को जोर जोर से हिलाते हुए बोले जा रही थीं- जल्दी घुसा दो अपना मूसल लंड मेरी चूत में. उसको भी यह बात जंच गई और हम ने अगले सप्ताह ही कोर्ट मैरिज के पेपर जमा करा दिए. मैं भाभी के दोनों मम्मों को बारी बारी से चूस रहा था और निप्पलों को कभी रगड़ता, कभी काटता.

फिर मैं नीचे झुक गई और उनका दस इंच का मूसल लंड बाहर निकाल कर उसे सहला कर अपने मुँह में भर लिया. शौर्य- चल, कोई नहीं, देर आए दुरुस्त आए, अब तो मेरी 10 दिन की आग बुझा दे. वो उठ कर गए और अपनी किचन से एक कटोरी में ऑलिव आयिल और वैसलीन लेकर आ गए.

उन्होंने भी मेरा लंड चूस कर कड़ा कर दिया और फिर से चुदाई शुरू हो गयी.

क्या करूँ?उसने अपना मुँह खोला और कहा- अपना पूरा माल मेरे मुँह में डाल दे. अब वो दीवार के सहारे घोड़ी बन गई थी और मैं पीछे से लंड पेल कर उसकी चुदाई कर रहा था.

पर चाचा ने मेरी एक नहीं सुनी और अपने लंड का दूसरा झटका बहुत तेजी से मेरी गांड में मारा. तो मैंने उसके होंठों पर किस करना शुरू कर दिया और हाथों से कमर को पकड़कर सहलाना शुरू कर दिया. फिर हम बाथरूम में जाकर नहाये, अंगों की सफाई की और फिर बिस्तर पर चादर बदल कर एक बार और शुरू हो गए, मस्त चुदाई का दौर चल पड़ा.

मैंने उसकी चूचियों को मसलना शुरू कर दिया तो उसने भी मेरा सर अपनी चूचियों पर लगा दिया. फिर मैं थोड़ा रुक गया और उसका एक दूध मसलने लगा और दूसरा दूध पीने लगा. जब मेरा कड़क लंड उसकी गांड की दरार को छूने लगा, तो शायद उसको भी पता लगा गया.

राजस्थानी बीएफ चोदने वाली प्रिया जोर से चीख पड़ी- आआहह … मर गई …प्रिया की चूत में मेरा आधा लंड चला गया था. एक दिन मैं उसके घर में उसे कमरे तक चला गया, जहाँ मैंने उसके होंठों को बेतहाशा चूमना शुरू कर दिया.

सरकार की सेक्सी

फिर उसकी गांड के छेद पर मैंने बहुत सारा थूक लगाया और लंड को रगड़ते हुए कहा- हां शौर्य, मेरी जान, इस गांड को चोदने में मेरे लंड को बहुत मजा वाला है. भाभी ने अपनी बात खत्म करके मेरे लंड को झट से अपने मुँह में ले लिया और मैं भी भाभी की गीली चूत को मज़े लेकर चूसता रहा. उस समय उसके पापा मम्मी नहीं मिले, एक घंटे के बाद लगभग जब अंकित के पापा मम्मी मुझे दिखे, मैंने सोचा कि बता दूं अंकित की बदतमीजी!लेकिन उनके सामने जैसे ही गई, मेरी हिम्मत टूट गई, सोचने लगी कि क्या बताऊं कि मुझे अंकित चोदने को बोलता है?मैं टाल गयी.

तभी मैं उठकर बाहर के कमरे में जाकर लेट गया और वहां चाय पीने लग गया. मैं मौसी को घूरता हुआ सोने चला गया, उन्होंने भी मेरी प्यास समझ ली थी. हॉस्टल की लड़की का बीएफऐसा कह कर अंकित ने पूरी जीभ मेरी चूत में घुसा दी और इतना ज़ोर ज़ोर से मेरी चूत को चाटने लगा कि मैं अंकित का सर पकड़ के अपनी चूत में दबाने लगी और अब मैं जाने किस नशे में हो गई थी, मैं बोली- अगर हिम्मत है अंकित तो अभी बुलवा दे अपने दोनों अंकल को … अभी जो करना है कर ले! मेरी हालत बहुत खराब हो चुकी है, जल्दी बुला अपने अंकलों को!मैं ऊंहहह आहहहह करने लगी.

मेरे पापा ने धीरज से कहा- मेरी खुशनसीबी होगी अगर तुम जैसा लड़का मेरा दामाद बने तो.

उसकी नज़र शायद मुझ पर रही होगी, जिस वजह से उसने चाचा को बुला कर कहा- तुम पैसे नहीं दे सकते तो अपनी भतीजी की शादी मुझसे कर दो. मैं सबसे मिला तो पता चला कि उस लड़की का नाम सीमा है और उसने भी इस साल 12वीं के एग्जाम दिए हैं.

अंदर एक आंटी और बैठी थी, उनकी उम्र लगभग 38 साल होगी ये आंटी (स्मिता) पहले वाली से बहुत मस्त लग रही थी, मस्त गोरी फिगर लगभग 38-36-40 का होगा. उसकी चूत पानी छोड़ चुकी थी और मेरी उंगली उसकी चूत में अन्दर बाहर हो रही थी. मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रखे और धीरे धीरे लंड अन्दर बाहर करने लगा.

थोड़ी देर किस करने के बाद मैं हल्के हल्के धक्के देने लगा और बीच बीच में एक जोर का धक्का दे देता था जिससे उनकी हाय निकल जाती थी.

ये सब करते हुए मेरा लंड खड़ा हो चुका था और प्रिया की पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर रगड़ मार रहा था. मयूरी- ठीक है मेरे राजा… अपनी दीदी की चूत को एक बार प्यार से अलविदा कहो और जाकर दरवाजा खोलो… मुझे कपड़े पहनने में थोड़ा वक्त लगेगा. जैसे ही वो मेरे पास से गुजरा, मैं ड्रामा करते हुए उसके सामने गिर गई.

बीएफ सेक्सी वीडियो डीजेमैंने उनको आवाज दी तो मामी आ कर मुझसे लिपट गईं और हम दोनों का खेल शुरू हो गया. उन्होंने मुझे अपने घर बुला लिया था, इस बार मेरी छुट्टी लंबी ना होने के कारण मैंने भी सोचा और मम्मी से बात की.

सेक्सी हीरो हिंदी

मैंने भी अपने पूरे कपड़े निकाल दिया और अपना लम्बा लंड उनकी नजरों के सामने हिलाने लगा. थोड़ी देर तक उसकी यह हरकत चलती रही और फिर अचानक मेरी चूत में अपनी उंगली डाल दी. मैंने पहले तो अपनी उंगली को प्रेमद्वार पर गोल‌ गोल घुमाया और फिर उंगली को प्रेमद्वार पर रख कर हल्का सा दबा दिया, जिससे मेरी उंगली का लगभग आधा पौरा उसमें धंस गया और प्रिया के मुँह से एक जोर की सिसकारी निकल गयी- उइइईईई … इश्श्श्श्श … अह … ओह … उय्य्य्य …उसने मेरे हाथ को जोर से अपनी चुत पर दबा लिया और फिर से अपनी कमर को ऊपर हवा में उठा लिया.

बीच बीच में मैं अपने टीचर और आस पास बैठे छात्रों के पैन्ट की चेन की तरफ भी देख लेती थी. हम दोनों की दोस्ती धीरे धीरे बढ़ने लगी और उस लड़के ने मेरा नंबर मांग लिया और मैंने भी खुशी खुशी उसको अपना नंबर दे दिया. वे घर से खाना ले कर आईं और किचन में जाकर एक थाली में परोस कर ले आईं.

इसलिये मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ फिक्स किए और एक जोरदार झटका दे दिया. फिर मैंने उसे कपड़े पहनाये और खुद भी पहन लिए, फिर ज्योति ने मुझे गले लगा लिया और बोली- आय लव यू राज … तुम मुझे कितना प्यार करते हो, मेरा ख्याल रखते हो. वो दे दूँगा लेकिन मेरे से बात कर लिया कर क्योंकि दिल्ली से आने के बाद मेरा टाइम पास नहीं होता.

इतनी देर में मयूरी हांफ सी गयी, फिर भी वो अपने इस पिता-पुत्री की चुदाई के खेल में रुकना नहीं चाहती. मैं- अब और कितना जोर से चोदूँ … अपनी पूरी ताकत लगा कर ही तो चोद रहा हूँ.

उनके गोल और बड़े आकार के मम्मों को छूकर मैं मन ही मन बहुत खुश हो रहा था.

लेकिन शायद उनका मूड ऑफ हो गया था और वो टॉप पजामा पहनकर सोने चली गयी।तभी मेरे दिमाग़ में एक आईडिया आया और मैंने अपना लेपटॉप उठाया और प्रीति के पास जाकर बैठ गयी। प्रीति से मैंने सॉरी कहा तो उन्होंने कहा- कोई बात नहीं!अब मैंने उनसे पूछा- आप कौन सी साईट देख रही थी?लेकिन वो कुछ नहीं बोली।तो मैंने कहा- प्लीज बताइए ना. बीएफ करेंजब मैं झाड़ू लेकर अपने घर के थोड़ा सा बाहर आ गयी तो वो लड़का मुझसे बोला- भाभी, कैसी हो आप?मैं भी उसको बोली- ठीक हूँ, क्या बात है?तो वो लड़का अपने बारे में बताने लगा, वो मेरी कॉलोनी में ही रहता था. धोखा सेक्सी बीएफकाफी जबरदस्त किसिंग के बाद रीता बोली- राज अब देर न कर!मैं तुरन्त उठा, उसकी दोनों टांगें चौड़ी की … लंड चुत पर रखा और धीरे से धक्का लगा दिया. मैंने तो आज तक सिर्फ औरतों को चोदा है, वो भी पैंतीस चालीस साल की चुदी चुदाई भोसड़े वाली.

उनकी कमर को पकड़ कर एक जोरदार झटका मारा, मेरा आधा लंड उनकी गांड को चीरता हुआ अन्दर घुस गया, जिसकी वजह से उनकी सिसकारियां निकल गईं ‘आईईईई स्सीईईई…’अब मैं धीरे धीरे धक्के लगाने लगा.

ये बात पिछले साल अक्टूबर 2016 की है तब मैं अपनी ग्रेजुएशन के दूसरे साल में था. सर बोले- ऐसा बस एक दो बार ही होता है, फिर जब तुम पूरा मुँह में लेने लगोगे, तब कोई तकलीफ नहीं होगी. लगभर दस मिनट की इस नायाब क्रिया के बाद जब रजत के लंड ने अपना पानी छोड़ा तो मयूरी ने उसके लंड से निकले हुए एक-एक कतरे को चाट-चाट कर साफ कर दिया.

जब वो नहा कर आतीं, तो मैं बाथरूम में जा कर उनकी पेंटी में ही मुठ मार दिया करता था और उन्हें शक भी नहीं होता था. उसका नाम गौरी था, अब आपको तो पता ही होगा कि बंगाली आइटम कितने हॉट और रसीले होती हैं. हमारी निकटता कुछ कुछ कहने लगी थी, जो कि हम दोनों को ही बेहद पसंद आने लगी थी.

सेक्सी चुदाई जोरदार

इसके बाद जब उसकी सलवार को खोलने की बारी आई तो देखा कि उसने अपनी सलवार के नाड़े की गांठ बड़ी जोर से लगा रखी थी. कुछ ही देर में हम दोनों गुत्थमगुत्था हो गए और कब हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए, मालूम ही नहीं चला. मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और टॉयलेट में जाकर हस्तमैथुन करके लंड का पानी निकाल दिया.

इस बार उसने मेरी गोद में बैठ कर मुझे अपने मम्मों पर नीट दारू डाल कर चटाई और उसी शराब को मेरे मुँह से चूस कर खुद पी.

वो एकदम शिथिल पड़ी, मेरी चोटों को सह रही थी, थोड़ी देर बाद मैंने भी अपने पानी से अपनी दीदी की चुत को भर दिया.

फिर उसने मुझसे बेड पर लिटा दिया और मेरी पजामे का नाड़ा खोलने लगा खोलते खोलते उसने नाड़ा उलटे टाइट कर दिया. तो मैं बोला- अरे आप अंकिता दी और प्रिया दी हो?तो बोली- हाँ…अब मुझे थोड़ा रिलॅक्स फील हुआ. 12 साल लड़कियों का बीएफमेरा एक हाथ उसके कंधे को सहलाने लगा और दूसरे हाथ से मैंने उसके हाथ को थाम लिया.

इसके बाद मैंने अपनी उंगलियों में लगा मौसी के चूतरस को चाटना शुरू कर दिया. नींद में उसकी नाइटी ऊपर की ओर खिसक गई थी और नीचे उसने पैंटी पहनी हुई थी. तुरन्त नहाने की वजह से मयूरी के शरीर पर अभी भी पानी की बूंदें थी और ये सब रजत को और भी मदहोश कर रहा था.

मैंने कहा- अगर काम बनता हुआ तो भी नहीं बनेगा, वो यह सोचेगा कि तुम मेरे बहुत नज़दीक हो और वो बिदक जाएगा. चाची- आह … निकाल ले आह … आह!मैं- आह … आह!हम दोनों जोर जोर से आह भरते हुए एक दूसरे को चोदने लगे.

ये लो चाबियां और हां किसी को भी कमरे में मत आने देना, तू तो जानती है सब तरह के लोग आते हैं शादी में किसी का कोई भरोसा नहीं.

वो सब को सरप्राइज कर देना चाहती थी और इसीलिए उसने सबको एक दूसरों से चुदवा भी दिया था पर फिर भी किसी को अपने सिवा किसी और की चुदाई के बारे में कुछ जानकारी नहीं थी, जैसे कि विक्रम और रजत को मयूरी और शीतल की बीच हुई चुदाई और मयूरी और अशोक के बीच हुई चुदाई के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. फिर मैंने उनकी गर्ल फ्रेंड को कैसे चोदा, ये मैं अगली कहानी में बताऊंगा. माइक जैसे ही पीछे हट के उठा और तकिये के सहारे लेटा, मुनीर उठते हुए ही तारा को होंठों को चूमते हुए बोली- मजा गया, माइक कमाल का मर्द है.

गोवा की सेक्सी बीएफ वीडियो इस समय स्थिति कुछ इस तरह है: पापा उसी अवस्था में आधे बैठे और आधे लेटे हुए हैं, मयूरी अपनी दोनों गोरी और लम्बी टाँगों को, जो बिल्कुल नंगी और आकर्षक हैं, अपना पापा के दोनों तरफ किये हुए है, इससे अशोक अब मयूरी की दोनों टांगों के बीच में बैठा हुआ है और मयूरी उसके ठीक सामने खड़ी है. मेरे दिल की धड़कन अचानक बढ़ गई और में दबे पांव मनीषा के रूम की तरफ जाने लगा.

चाची झट से चाचा का मोटा काला लंड पकड़ कर मसलते हुए चूमते बोले जा रही थीं- हे भगवान क्या लंड दिया है मेरे पति को आह… कितना मस्त लंड है. फिर 5 मिनट बाद मैं झड़ गया और अपना लंड खींच कर सारा वीर्य उसकी नाभि में डाल दिया. तभी उसकी गांड ने मेरे लंड को एक झटका सा मारा, मैं समझ गया कि इसको लंड की चोट चाहिए.

जापानी सेक्सी वीडियो बस

वो क्या … ठीक से तो बताओ?” मैंने प्रिया छेड़ने के लिये जानबूझकर ऐसा पूछा. जिसका मैंने विरोध किया तो उसने कहा- सफ़र की गन्दगी को साफ कर नहा धोकर तैयार होकर कुछ खा लेते हैं. मैं हर झटके के साथ ज़ोर से अपना लंड आंटी की चुत में डालता और झटके के साथ उनके बड़े बड़े मम्मों को हिलते हुए देखता.

मैं किसी मौके की तलाश में थी, मगर मुझे कोई मौका मिल ही नहीं रहा था. मगर उसने गालियों को अनसुनी करके एक और धक्का मारा, जिससे उसका पूरा लंड मेरी गांड में अन्दर तक घुस गया.

वो बोला- तू किसी से कुछ नहीं बतायेगी क्योंकि तू अंदर से चुदासी है, मैं तुझे चोदूंगा जरूर वन्द्या … चाहे कुछ भी हो जाये!इतना बोल कर चला गया।मैं एकदम उसी की बात सोच रही थी बिस्तर पर लेट कर कि क्या क्या बोल रहा था और उसकी बात सोचकर सच में जाने कैसे गर्म हो गई और मेरा मन करने लगा कि काश अभी आकर अंकित मुझे मसल दे; मुझे अपनी बांहों में भर कर रगड़ डाले!ऐसा सोचते सोचते मेरी पैंटी गीली हो गई.

हालांकि मैंने अपना लंड उसकी चूत में नहीं घुसा रखा था, सिर्फ ऊपर ऊपर से ही मजे लेने की कोशिश कर रहा था. मैंने रीना से पूछा तो उसने बताया कि मैंने तुम्हें बोला था ना, मेरा लवर है. मेरी चूत एकदम साफ़ थी क्योंकि मैंने आज ही अपने चूत को बाथरूम में जाकर साफ़ किया था.

अब मेरी आँखों के सामने उसके खरबूजे के समान चूचे एक छोटी से सफेद रंग की ब्रा में बंधे हुए थे. मग़र मैंने अपनी भावनाओं पर कंट्रोल किया और पूजा के पास चला गया।जैसे ही मैंने पूजा को देखा तो मन किया कि अभी चोद दूँ. उसने रजत को शांत करते हुए कहा- रजत भाई, घबराओ नहीं… पर मेरी बात सुनो… तुमने मुझे पूरी नंगी देख लिया है… और मेरी गांड में उंगली भी की है… तो अब तुम्हें इसके बदले में मेरे लिए कुछ करना होगा.

कुछ देर बाद वो कपड़े धोकर बाहर आईं तो मुझे देख कर मुस्कुरा रही थीं.

राजस्थानी बीएफ चोदने वाली: अब थोड़ी देर में मेरा बस होने वाला ही होगा क्योंकि इस टेबलेट का असर 20 मिनट तक ही रहता है. अब गाड़ी थोड़ा आगे लेकर गए और आगे सुनसान जगह देख कर फिर से गाड़ी रोक दी गई.

मैंने नीचे झुक कर उसे किस किया और हौले हौले करके उसकी चूत के अन्दर लंड डालता रहा और पूरा लंड उसकी चुत में डाल दिया. उसने अपने भाव छुपाते हुए बात को बदलने के मन से मयूरी को तुरंत ही पलट जाने को कहा. प्रिया अब धीरे से मेरे कानों के पास आकर फुसफुसा कर बोल पड़ी- तुम्हारा लंड …यह कह कर उसने अपना मुँह मेरे सीने में छुपा लिया.

ऊपर से मेरे सामने उसके दो तने हुए मम्मे मुझे ललचा रहे थे, जिनके ऊपर जालीदार ब्रा उसके आमों की खूबसूरती में चार चांद लगा रही थी.

वे मुझे पेलते हुए बोले- सीमा तुम मेरी लाइफ में 22 वीं औरत हो, जिसे मैं चोद रहा हूँ. मैंने कहा- कौन, देवेन्द्र …?मुकेश बोला- इसका मतलब आप जानते हो, मैंने उसका नाम कब बताया था, बस लड़के के बारे में पूछा था. मुनीर ने दोबारा संदेश दिया कि उसके घर कोई मेहमान आया है और उसने अपना कैमरा चालू करके मुझसे आग्रह किया कि मैं देखूं.