सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी डांसर

तस्वीर का शीर्षक ,

चोदा चोदी चोदी चोदा चोदी: सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ, अब मैंने अपने लंड पर भी तेल लगा कर बोला- चल साली आज तेरी सील खोलता हूँ.

गोरखपुर की चुदाई

मैंने पूछा- कुछ काम था क्या, अगर मुझे बता सकती हो तो बता दो, मैं मां के आने के बाद उनको कह दूंगा. मारवाड़ी खुली सेक्सीमेरे अंडरवियर में उठा हुआ मेरा लंड मेम की चूत के आसपास उसकी जांघों पर टच हो रहा था.

मस्तचुदाई की Xxx काहनी में पढ़ें कि मेरे बॉयफ्रेंड के साथ मुझे मजा नहीं आ रहा था. देवर भाभी का रोमांस सेक्सी वीडियोआज जो मैं कहानी आपको बता रहा हूं वो मेरे दोस्त अविकार और उसकी मां के बारे में है.

वो एक दिन तो नार्मल ही रहीं, पर दूसरे दिन बाद अचानक से वो एक बड़े गले की शर्ट पहन कर मेरे पास आईं और मेरे सामने झुक कर कुछ उठाने लगीं.सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ: अब मैंने मामी को ज्यादा दर्द देना ठीक नहीं समझा और उनकी चूचियों को छोड़ दिया.

अपनी जांघों से मेरी टांग हटाते हुए मौसी ने मेरी ओर करवट ली और अपना हाथ मेरे लण्ड पर रख दिया.कहानी पर अपने कमेंट्स के जरिये अपनी राय दें और बतायें कि आपको इंडियन सेक्स रोमांस स्टोरी कैसी लगी.

जापान पोर्न - सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ

मां मुस्कुरा दीं और बोलीं- हां, मुझे कोई दिक्कत नहीं है … पर वो तो नशे में धुत पड़ा है.मैंने मासूमियत से पूछा- मैं कब तुम्हारी खिंचाई की है?वो बोली- और अभी क्या कर रहे हो?मैंने कहा- अरे ये वाली खिंचाई … मैंने सोचा कि वो वाली!वो समझ गई और बोली- अच्छा मतलब वो वाली खिंचाई करने के इरादे से हॉस्टल में घुसने का तरीका पूछ रहे थे?मैंने कहा- हां यार आज सर्दी कुछ ज्यादा ही है … अकेले मन नहीं लग रहा है.

पिपराइच कस्बे में पहुंचने पर पता चला कि अब सिर्फ आखिरी ऑटो है, जो मेरे गांव तक जाने के लिए तैयार खड़ा था. सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ हालांकि उसके लंड से कुछ और ही निकल रहा था लेकिन मैं उसकी बात मान कर उसको पीता रहा.

मैंने आवाज देकर पूछा- ये क्यूं सर?वो बोले- लड़कियों को लंड नहीं होता.

सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ?

उसके बाद दूसरा नंबर आया … जिसमें हथियार की साइज और भी बड़ी थी, लेकिन वो इतना मोटा नहीं था. पर तब तक तरल और गर्म गर्म वीर्य मेरे जीभ में आ चुका था और गले के अन्दर उतरना शुरू हो चुका था. भाभी की चूत पर लंड रगड़ मार रहा था और मैं उनकी आंखों में देख रहा था.

वो उठी और उसने मेरे अंडवियर के ऊपर से हाथ से सहला कर उसकी इलास्टिक को खींच दिया. मेरा लंड तना हुआ था और बार बार वही सीन याद आ रहा था कि कैसे मेरा लंड उस जवान लड़की के हाथ में था. फिर मैंने पूछा- पीयूष नजर नहीं आ रहा है?आंटी ने बताया कि पीयूष और उसकी पत्नी बाहर गए हैं … मैं ही घर में अकेली हूँ.

वो सिसकारने लगी और तड़पते हुए बोली- मेरी जान निकालोगे क्या … अब चोद दो रिशु … मैं और नहीं रुक सकती हूं. तभी मेरे मुँह से ज़ोर से निकला- आंह … फक मी फास्ट अंकल … आहन … मैं जाने वाला हूँ. थोड़ी देर ऐसा करने के बाद उसने मेरा दुपट्टा नीचे बिछा दिया और उसके ऊपर मुझे लिटा दिया.

मेरी चूत को अपने वीर्य से भर दे मेरे लाल।मौसी की बातें इतनी कामुक थीं कि मैं उसके बाद पल भर भी अपने वीर्य के वेग को रोक नहीं पाया और मैंने मौसी की चूचियों को जोर से भींच कर उनके ऊपर लेटते हुए अपने लंड को उसकी चूत में पूरा ठूंस दिया. फिर मैंने पूछा कि अब क्या बोलती हो?उन्होंने धीरे से कहा- चोद दे मुझे … मेरी चुत की आग बुझा दे.

घर से निकलने के बाद मैंने ट्रेन पकड़ी और उसके बाद मैं खुरई पहुंच गया.

मैंने आंख नचा कर उससे पूछा- मैं किस तरह से पेमेन्ट कर सकती हूं?उसने धीरे ने मेरी तरफ देखा.

अब बस मैं मौके की तलाश में था कि सुनीता भाभी को कैसे भी पटाकर चोदा जाए. थोड़ी देर तक दोनों धीमे से बात करते रहे और आखिर मैं ऐश्वर्या अपने ससुर की बातों में आ गईं. मेरे पतिदेव अभी भी मेरा इंतजार कर रहे थे।खुमारी मुझे भी इस समय बहुत चढ़ गयी थी।उन्होंने मेरे देर से आने का कारण पूछा।थोड़ा बहाना बनाकर मैं बात को छिपा गयी.

[emailprotected]हार्डकोर सेक्स स्टोरी इन हिंदी का अगला भाग:होली पर मेरी ससुराल में घमासान सेक्स- 4. उसके मुँह से आह … आह … आह … अम्म … अम्म … अम्म … ऐसे आवाज़ आने लगी. वो रविन्द्रनाथ मेरी नानी को खेत के पास अपने ट्यूबबेल के पास ले जाते थे.

दिया का तो ब्व़ॉयफ्रेंड भी था और वो उसके साथ काफी मजे किया करती थी.

इसलिए मैं चुपचाप अगले दिन 11 बजे उनके ऑफिस पहुंची और उनके कैबिन में बैठ गई. काफी देर तक नम्रता की गांड मारने के बाद मैंने लंड का पानी उसकी गांड में ही डाल दिया. मैं अब अपनी चाची और अपनी चचेरी बहन श्वेता से मिलने के लिए बेकरार हो रहा था.

क्योंकि अंकल झड़ने के बाद एक तरफ लुढ़क गए थे और आंटी अपनी चुत में उंगली करते हुए खुद को शांत करने में लगी थीं. मैं उनके घर चला गया क्योंकि रिश्तेदारी की बात थी और मैं मना नहीं कर सकता था. वो मेरे मुंह में लंड को अंदर बाहर करने लगा और मेरे मुंह की चुदाई होने लगी.

वो अपने लंड को सहलाता मसलता हुआ मेरे पास आया और फिर एक बार झुक कर मुझे किस किया। मैंने भी उसकी फ्रेंची पर हाथ फेरा और ऊपर से ही उसके लंड को सहला दिया।मेरे होंठों पर से उसने अपने होंठ हटाए और झट से अपनी फ्रेंची नीचे कर दी.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार!मैं अपने जीवन की एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूं. दूसरे वाले लौंडे ने अपने लंड को एक मिनट तक रानी की चुत पर रगड़ा, तो रानी बोली- साले क्यों तड़फा रहा है.

सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ एक दिन मैंने देखा कि जब मैं बाइक पर बैठा हुआ था तो वो मुझे देख रही थी. हम लोगों ने ड्रिंक किया और ड्रिंक के दौरान ही उसने मेरी बीवी की तरफ अपना हाथ बढ़ाया, तो मेरी बीवी मुझे देखने लगी.

सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ वो भाभी के सामने हाथ जोड़ते हुए बोली- सॉरी भाभी, किसी से कहना मत, आज बहुत मन कर रहा था इसलिए मैंने साधना को अपने घर बुला लिया था. उस रिकॉर्डिंग में एक लड़की की सेक्स करते हुए कराहने और सिसकारियां भरने की आवाजें थीं.

मैं खुशकिस्मत थी कि हरी भैया तुम्हारे बड़े भाई निकले और मुझे उनका लंड लेने के लिए मिल गया.

श्रीलंका सेक्सी एचडी वीडियो

आप यकीन नहीं करोगे, उस वक़्त मेरी बॉडी किसी भी तरह से समीर के जिस्म के लिए कमसिन लड़की जैसी नहीं थी. मेरी नजरें उनसे मिलीं तो हम दोनों एक दूसरे को देखकर स्माइल करने लगे. लेकिन बनावटी गुस्सा करते हुए बोली- तुम लोगों को शर्म नहीं आती?तभी दूसरी बोली- अब शर्म का बहाना छोड़ो और बताओ जीजाजी ने और क्या-क्या किया?मैंने उन सब को सब कुछ बता दिया.

मैं इतनी गर्म हो गयी कि ध्यान ही नहीं रहा कि पास में दिया का भाई विजय भी सो रहा है. कॉलेज के कई लड़कों की नजर उस पर थी मगर वो किसी से इतनी ज्यादा बात नहीं करती थी. मैं उसे हाय बोलते हुए उसके पास गई और उसकी बाइक पर दोनों तरफ पैर डाल कर बैठ गई.

अगले दिन जाने से पहले मैंने प्रीति को कहा- आज अपने पति से जरूर चुद लेना ताकि उसे लगे बच्चा उसका ही है.

मेरे बालों से खेलते हुए कहने लगे कि सोनी अपनी बालों को खुले रखा करो, खुले बालों में तुम बहुत सुंदर लगती हो. इस बार थोड़े ही देर मैंने उसकी चुत को चोदा होगा कि वह अपने बदन को ऐंठते हुए झड़ गई और शिथिल हो गई. मैं लंड को उसके चूत में पेलते हुए बोला- ले साली रांड कुतिया हरामजादी मादरचोद साली … लंड ले.

मैं उसके होंठों को चूसने लगा और एक हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा. लोकेश अब चुपचाप चला गया। फिर कुछ देर बाद मैं भी वहाँ से अपनी सहेली के घर चली गई और रात को भी वहीं रुकी। उस दिन के बाद लोकेश कभी मेरे रास्ते में नहीं आया और ना ही मुझसे नज़र मिलाई।दोस्तो, ये थी मेरी एक और स्टोरी जो मेरे साथ उस वक्त हुई थी जब मुझे लड़कों की ओर बहुत ज्यादा आकर्षण था. फिर भाभी से रहा नहीं गया और वो मेरा हाथ लंड से हटा कर खुद अपने हाथ से लंड चूत में डालने लगीं.

उन्होंने ये भी कह दिया कि अगर ये काम मुझे न मिला तो वो मुझ पर बदचलन होने का आरोप लगा कर मुझे तलाक दे देंगे. मैं अहमदाबाद में किराए पर रह रहा था और मेरे रूम के ठीक सामने एक सेक्सी भाबी रहती थीं.

नाजनीन ने मेरे कंधे पर सर रखा, पांव मेरे पैरों पर रख कर मेरे लंड को सहलाने लगी. मगर रूपा का प्यार पवन काफी अच्छा दिख रहा था और काफी पहलवान टाइप का जिस्म था उसका।रूपा ने उनसे मुझे मिलवाया। थोड़ी बहुत बात चीत करने के बाद रूपा पवन के साथ अंदर खण्डहर में चली गई। मैं और पवन का दोस्त मोहित वहीं खड़े रहे।हम दोनों कुछ दूरी पर खड़े थे और कोई बात नहीं कर रहे थे। मुझे काफी डर लग रहा था. जब सेक्सी भाबी ने मुझे ध्यान से देखा कि मैं उन्हें ही घूर कर देख रहा हूँ.

गुलाब के फूलों से बिस्तर के बीचों बीच दिल के आकार का डिजायन बना हुआ था.

मेरा शुरू से यह मानना है कि आप हमेशा दूसरों की इज्जत करोगे, आपको प्यार ही मिलेगा. मैं काउंटर पर आई तो मैनेजर ने मुझे 3000 रूपये दिये और मैं होटल से बाहर आ गई. जब मैं कुछ नहीं बोला तो उसे लगा कि शायद मेरा लंड नींद में ही खड़ा हो गया.

फिर मैंने उसकी पैंटी को उतार दिया। उसकी चूत एकदम गीली हो चुकी थी। मैंने उसकी गीली चूत को सूंघा जिसमें से बहुत ही मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही थी. मुकेश मेरे दोनों स्तनों से खेलने लगा और निप्पलों को एक एक करके चूसने लगा.

उसको इस बात का भी पता था कि मैं उस पर लाइन मार रहा हूं और उसको पटाने के चक्कर में हूं. मेरा भाई मेरे पास आया और मेरा हाथ पकड़ कर बोला- दीदी आई लव यू!मैं उसको हैरानी से देखने लगी. कुछ देर बाद मैंने देखा कि सलमा और उसकी अम्मी एक टैक्सी से जा रही थीं.

सेक्सी फ्लिम

जब मेरे पति या मेरे जेठ जी का लंड मेरी गांड में होता, तो जेठानी जी मेरी चुत चूस करके मुझे शांत कर रही होती थीं.

फिर मैंने उसकी शर्ट के ऊपर वाले दो बटन खोल दिये और उसकी ब्रा दिखने लगी. अपने पति की बेरुखी का नाटक करके उसने मुझे ये भरोसा भी दिलाया था कि वो जल्द से जल्द उसे छोड़कर मेरे पास आना चाहती है. मगर मुझे हैरानी इस बात को लेकर हुई कि मेरी बहन रानी भी उस लड़के का पूरा सहयोग दे रही थी.

शिप्रा के झड़ने के बाद मैंने उसे उठाकर गोद में बैठाया और हम दोनों किस करने लगे. सर बोले- मानव तुम फ्रेश हो जाओ, उसके बाद हम लोग साथ में खाना खायेंगे. सनी लियोन के गानाबस मैं चुपचाप ये सब देख कर वापस आ गया और सही समय का इंतजार करने लगा.

बस में मैं अक्सर मजे की तलाश में होती हूँ, तो मैं आज लैगी के नीचे पैंटी पहन कर नहीं आई थी. एक दिन मैंने उससे बोल दिया कि अब मैं फोन पर नहीं रियल में इस तरह से प्यार करना चाहता हूं.

वो बोली- आशू के बारे में?मैंने कहा- हां, मगर आपको कैसे पता?वो बोली- सब उसी के लिए ही फोन करते हैं मेरे पास. मैं- मैंने पोर्न वीडियो में देखा है मर्द औरत को घोड़ी बना देता है और फिर पीछे से उसकी गांड मारता है. मैंने और मेरी बेटी ने 9 बजे तक डिनर किया और इतने में ही डोर बेल बजी.

मैंने उसको ब्रा और पैंटी लाकर दी और कहा कि अब तू मेरे और चाचा के सामने ऐसे ही रहा करेगी. मैंने पूछा- मजा आया?जुबैदा हंस कर बोली- तुझ पर मेरी न जाने कबसे निगाह थी … मगर तूने तो मुझे खुद ही फंसा लिया. उसने किसी तरह से अपने कपड़े पहने और लंगड़ाते हुए अपने घर की सीढ़ी की ओर जाने लगी.

मैंने उससे कहा कुछ नहीं, बस मुस्कुरा दी और लंड का मजा लेते हुए हंसते हुए उसे दूध पिलाने लगी.

उसके पहनावे को देख कर लग रहा था कि उसके परिवार का गुजारा बहुत ज्यादा अच्छा नहीं है. मैंने कहा- अगर मैं लाया होता, तो पक्का सेक्स करने देती?वो बोली- हां.

मुझे दर्द हुआ और इसका बदला लेने के लिए मैंने उनकी नंगी गांड पर एक चांटा मार दिया. मैंने उसकी बातों को नजरअंदाज कर दिया … और एक तेज झटके में लंड को मीना की गांड में अन्दर तक पेल दिया. आह्ह दोस्तो, क्या सेक्सी चूत थी मौसी की! एकदम टाइट रखी हुई थी संभाल कर। सांवला रंग और हल्के झांट जो 3-4 दिन पहले ही काटे गये थे.

शैली के होंठ चूसते चूसते मैंने उसकी टाँगें फैलाकर चौड़ी कर दीं और उसकी कमर पकड़कर झटके से अपनी ओर खींचा तो मेरे लण्ड के सुपारे ने शैली की चूत में जगह बना ली. मम्मी भी अकड़कर चिल्लाने लगीं- आंह मादरचोद … आज ही मार डालोगे क्या … मैं झड़ने वाली हूँ. उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखा और आगे से अपने लंड के सुपारे को उसकी चूत पर रखकर कसके एक झटका दे मारा.

सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ प्रिया बोली- चलो अब अंदर, यहां क्या बैठे हुए हो? बारिश रुकने के बाद ही जाना अब।मैं होश में आया और फिर हम दोनों अंदर चले गये. अपनी जवानी का नजारा दिखाने के लिए मैंने गहरे गले की टी-शर्ट पहन रखी थी और आंखों से चोदने वालों के लिए सोने पर सुहागा ये था कि मैंने अन्दर ब्रा भी नहीं पहनी थी.

वीडियो दे सेक्सी वीडियो

मैंने जैसे ही झटका मारा, उसने बीच से अपनी कमर गोल कर ली और दुहरी हो गयी. फिर उसने मेरी चीख पुकार कम होते देखी, तो अब उसने मेरी टांगें पकड़ लीं और झटके पर झटके मारने लगा. आप मुझे कहानी के बारे में अपने सुझाव भेज कर बताना कि आपको ये स्टोरी कैसी लगी.

मैंने कहा- सुभाष भाई!मेरे गाल पर एक झापड़ पड़ा और सुभाष ने अपना मोबाईल निकाला. उस रिकॉर्डिंग में एक लड़की की सेक्स करते हुए कराहने और सिसकारियां भरने की आवाजें थीं. बाल मोटा करने का घरेलू उपायपूजा आंटी को लग रहा था कि मैं अपना लौड़ा पीछे कर लूंगा, लेकिन उनकी ये चाल उन पर ही भारी पड़ी थी.

अब स्नेहा गाली देने लगी- मादरचोद हरामी कुत्ते बहनचोद छोड़ दे मुझे … तू साले अपनी बहन दिव्या का यार है क्या हरामी?उसने ये सब दीपक जी के लिए कहा.

समीर और रवि तुम दोनों अब इस लम्पट को अपने लंड चुसवाओ मादरचोद को … भैन के लौड़े को बहुत ठरक चढ़ी थी. मेरे माता पिता को लड़की पसंद आ गई और मैंने भी शादी के लिए हां कर दी.

ये कहकर भाभी ने अपने फोन से एक नम्बर डायल किया और मेरा फोन वाइब्रेट होने लगा. हम दोनों में बातें होने लगीं पता लगा कि उस लड़की का नाम पारुल (बदला हुआ) है. तब मुझे पता चला कि पैंटी नहीं उतारी अभी उसने।मैंने पैर का अंगूठा उसमें फंसाया और नीचे खिसका दी। उसने जल्दी से पैंटी निकाल दी.

मुझे सुनने में आया कि आस-पास के लोग मेरी बेटी को लेकर कुछ उल्टी सीधी बातें भी बनाने लगे थे.

कोई दस मिनट बाद मेरे लंड ने पिचकारी छोड़ दी और उसकी चुत भी फिर से झड़ गई. हालांकि मैं कोई लेखक नहीं हूं, इसलिए मुझसे सेक्स कहानी लिखने में भूल हो सकती है. मैंने फिर से लौड़ा पेल दिया।ये तो अच्छा हुआ था कि हम दोनों जंगल में कुछ अंदर थे.

गाना चाहिए हिंदीदूसरा लड़का जो कार से बाहर था, वो भी कार के अन्दर आ गया और रानी को बोला- साली रंडी … मरवाएगी क्या …पहली बार चुदवा रही हैक्या, जो इतनी जोर से चिल्ला दी. नेहा सिसकारियां ले रही थी- आह … आह … आह … आह … करते हुए मेरे बालों को सहला रही थी.

मनीष का सेक्सी वीडियो

मेरी मदर इन ला Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मेरी अपनी शादी में मेरी मौसी सास की जवानी देखकर मैं फिदा हो गया. अब मैं सोच में पड़ गया कि ये इस बात पर इतना शरमा क्यों जाती है और फिर भाग जाती है!एक दिन मेरी मम्मी ने मुझे अनु के घर कुछ काम से भेज दिया. उसमें भी एक छोटी सी लड़की थी, जिसको बिस्तर पर कुतिया बना कर एक आदमी उसकी गांड पर कस कस कर झापड़ मार रहा था.

मैं उनके पास से गुजरती तो वो मेरे चूतड़ों पर चिकोटी काट लेते थे, कभी मेरे स्तनों पर हाथ मार देते थे. दीदी की एकदम चिकनी कमर मुझे दिखी, तो मेरा लंड खड़ा होना शुरू हो गया. सास दामाद की चुत चुदाई की मस्तराम कहानी सेक्स की आपको कैसी लगी? मुझे मेल कीजिएगा, फिर आगे बढ़ते हैं.

और मेरी सहलियों के फ़िगर भी मर्द को पागल कर देने वाले कसावट लिए हुए थे. मैंने खुद ब्रा हटानी चाही तो वो बोले कि आज तुम खुद नंगी नहीं हो सकती. उस पर आज की सुहागरात के लिए बहुत सारी गुलाब की पंखुड़ियां बिखेरी गई थी। पूरी तरह तैयार होकर मैं अपने दोनों प्रेमियों का इंतजार करने लगी.

मैंने भी उसकी प्यास बुझाने के लिए लंड को चूत पर सेट किया और गच्च से लंड उसकी चूत में घुसा दिया. मैं जैसे ही आंटी के पैर छूने नीचे झुका, तो उनके पैरों से बहुत अच्छी खुशबू आ रही थी.

मैं मन ही मन सोच रहा था कि काश सुनीता भाभी को उसके घर पर उसे चोदने का कोई मौका मिल जाए.

मैं जैसे ही उतर कर पीछे मुड़ी, तो मैंने देखा हमारे कॉलेज का गार्ड भी बस से उतरा था. सेक्सी मार्केटफिर जितेन्द्र ने मां की टांगें फैला दीं और उनकी चिकनी चूत में लंड डालकर उनको मस्ती से पेलने लगा. देसी चूत की फोटोआशा है आप सभी को पसन्द आयेगी। यह कहानी पिछले साल की है जब हमारे एरिया में एक नई लड़की रहने के लिए आई थी. मैंने भाभी को कार की सीट पर एक साइड लेटा दिया और उनके पैरों को पूरा खोल दिया.

जब मैं होटल से बाहर जाने लगी तो होटल के मैनेजर की नज़र मुझ पर पड़ गयी और उसने मुझे आवाज देकर बुला लिया.

मैंने आंख नचा कर उससे पूछा- मैं किस तरह से पेमेन्ट कर सकती हूं?उसने धीरे ने मेरी तरफ देखा. एक दिन दीदी अपने कमरे में सो रही थीं और मेरी अम्मी उन्हें आवाज़ दे रही थीं. और आपको चोदकर किनारे हो जाते हैं।हाँ तो? इससे ज्यादा और क्या चाहिये?” मैंने बनते हुए कहा.

मैं घर में अन्दर गया तो उसने मुझे बताया कि अम्मी ऊपर हैं और अब्बू काम से बाहर गए हुए हैं. उसने मुझे जोर से जकड़ लिया और फिर आँखें बंद करके सिसकारियां लेते हुए झड़ गयी. दोस्तों के साथ काफी वक्त बिताने के बाद मैं रात को वापस घर आकर खाना खाया और थोड़ी देर टीवी देखकर रूम में आ गया.

सेक्सी बीपी वीडियो आपो

दूसरे हाथ में मैंने उसका हाथ ले लिया और उसको अपनी जांघ पर रखवा कर अपने हाथ से सहलाने लगा. दूसरा … सुभाष ने जो मुझे परिस्थिति का विवरण दिया था, उससे मैं सहमत था. भारी होने के बाद भी मैंने उसे अपनी गोद में उठाकर, उसकी टांगों को अपने कंधों पर रखकर, खड़े होकर.

ऑटो से पिपराईच पहुंच कर मैंने मेडिकल स्टोर से दो पैकेट कंडोम लिए … और गांव जाने वाली ऑटो में बैठ गया.

वो बोला- तो फिर अब पीने में क्या दिक्कत है तुझे?मैंने कहा- अच्छा ठीक है.

मामी जी चूत देने के लिए तैयार नहीं हो रही थी और मुझे अब कुछ पैंतरा खेलना था ताकि मामी चुदने के लिए तैयार हो जाये. इसलिए मेरे लंड ने एक बार फिर से मामी जी की चूत को अच्छी तरह से रगड़ दिया और पूरा का पूरा रस मामी जी की मखमली चूत में भर दिया।दूसरे राउंड के बाद भी हम कुछ देर पड़े रहे. वाइफ एक्सचेंजमैंने उसकी एक चूची को मुंह में ले लिया और दूसरी को हाथ से दबाते हुए पहली को जोर जोर से पीने लगा.

मेरी सिसकारियों में आनंद के साथ दर्द भी बहुत था- आह्ह … उईई मा … आह्ह आऊऊ … च … आह्ह … आराम से … प्लीज … दुख रहा है. उससे बातें करते करते मैंने उसे प्यार भरी नजरों से देखा और आंख दबा दी. मैंने उनको बांहों में लिपटा लिया और वो मेरे होंठों पर अपने होंठ सटाकर मुझे चूसने लगे.

पास ही में रखी कोल्ड क्रीम, मैंने उसके शरीर पर लगाई और उसकी ब्रा का हुक खोल दिया. अभी मैं कुछ समझ पाता कि तभी भाबी का कॉल आया- हैलो … क्या सोच रहे हो?मैंने कहा- भाबी मैं तो डर ही गया था, जब आपने चल हट कह कर फोन काट दिया था.

अभी आप मुझे मेल करके बताओ कि आपको मेरी चुदाई की कहानी कितना मजा दे रही है.

फिर मुझे बहुत बुरा लगा कि यार मैं अपनी बहन के साथ ऐसा कैसे कर सकता हूँ. उसकी कामुक निगाहें भी मेरा मनोबल बढ़ा रही थीं और उसकी चुत चोदने के लिए मेरा लंड बेकरार हो गया था. मैंने मदहोशी भरी आवाज में हरी से पूछा- जेठजी, क्या मैं आपको पसंद हूं?वो बोले- तुम तो मुझे उसी दिन से पसंद हो जब तुम शादी करके आई थी।मैं जान कर हैरान रह गयी कि जेठजी तो शुरू से ही मेरे जिस्म को चोदने के लिए बेताब थे.

ववव क्सक्सक्सक्स कॉम अब मैंने उसके सूट को थोड़ा सा ऊपर उठाया और उसकी चूची को खींच कर बाहर निकाल लिया. मैंने प्रीति की मम्मी को फ़ोन कर बोला- आंटी, मैंने सामान प्रीति को मिल कर दे दिया है.

शैली के बार बार जीजा जी की फोटोज मांगने पर एक दिन मनीषा ने बता दिया कि विजय कपूर ही तुम्हारे जीजा जी हैं. लण्ड की भी बड़ी अजीब फितरत है, जैसे ही सुपारा चूत के अन्दर जाता है, लण्ड पूरा अन्दर जाने को बेकरार होने लगता है. पिपराइच कस्बे से ऑटो तभी जाते हैं, जब उसमें पूरी सवारी हो जाती हैं.

https://thumb-v1.xhcdn.com/a/Pu7oosaT1GN0E01sVX3zxg/012/066/971/526x298.t.webm

थोड़़ी ही देर में वो भी मस्त हो गयी और अपनी गांड हिला हिला कर मेरा लंड लेने लगी. वो सिर्फ बोल रही थी- भाईजान, मुझे नींद नहीं आ रही है … क्या करूं?मैंने कहा- एक मिनट रुको, मैं तुम्हें कॉल करता हूँ. देखो कैसे पागल हुआ जा रहा है आपकी चूत में जाने के लिये!कहकर मैंने मामी का हाथ पकड़ा और अपने रॉड की तरह तने हुए लंड पर रखवा दिया.

खुल्लम खुल्ला ब्लू फिल्मों में काम करके मैं अपनी शादीशुदा जिन्दगी बर्बाद नहीं कर सकती. नजमी ने उसे ‘बाजी … बाजी …’ कहते हुए हिलाया, पर वो कहां उठने वाली थी.

फिर वह अपना चेहरा मेरे चेहरे के करीब लाकर कहने लगा- सुरभि जी, आप बला की खूबसूरत हो.

इसका कारण यह था कि मैंने कई बार मां बेटे की चुदाई की कहानियां अन्तर्वासना पर पढ़ी थीं. जिस आदमी एक महीने पहले शादी हुई हो, उसकी वाईफ बगल के कमरे में तीन लोगों के साथ हो. लेकिन जो मजा किसी अपने के साथ आता है वो मजा कही और नहीं आ सकता।इस साइट पर मैं 1 साल से कहानियाँ पढ़ रहा हूँ। कुछ सच्ची मालूम होती हैं और कुछ काल्पनिक। लेकिन जो भी हो पढ़ कर मजा तो आ ही जाता है।दोस्तो, आप यकीन करें या न करें लेकिन ये मेरी टीनएज गर्ल सेक्स कहानी 100% सत्य है.

आपके लंड को भी उसकी 32 इंच की तनी हुई चूचियों को देख कर मजा आ जाएगा. मेरी आंख 10 बजे खुली और मैंने पाया कि मेरे बदन पर मेरी अंडरपैंट और बनियान थी. जहाँ मैं गई थी वो कोई बड़ा शहर नहीं था। कहने को बस उसे एक छोटा सा कस्बा ही समझ लीजिए।वहाँ मेरे मामा के परिवार में मामा-मामी और उनकी बेटी रूपा ही थे। रूपा मुझसे 2 साल बड़ी थी.

लता आंटी बोलीं- अब जल्दी से मीना को खुश कर दे, जैसे तू मुझे खुश करता है.

सेक्सी फिल्म फिल्म बीएफ: माया दीदी ने राज के दोनों चूतड़ पकड़ लिए और चूतड़ों को अपनी चूत पर दबा लिया. बहाने से अपने लंड को बाहर निकाल कर ऐसे लटका लेते थे जैसे वो खुद ही बाहर निकल आया हो.

अगर मां जाग जाती और उनको ये पता लग जाता कि मैं उसकी बहन की बेटी के साथ ये सब कर रहा हूं तो मेरा बुरा हाल हो जाना था जबकि दिव्या तो किसी तरह से बच भी जाती. ऐसे अचानक अपनी गांड पर प्रहार से शिप्रा बिल्कुल कंट्रोल से बाहर हो गई. फिर अपनी जीभ को मेरी रसीली प्यार चूत पर लगा दिया जैसे उसे स्वर्ग जाने का द्वार मिल गया हो.

दिया को भी इस बारे में नहीं पता था कि उसके दादाजी और उसका भाई रात में मेरे साथ चुदाई का खेल खेलते हैं.

उसकी ननद बोली- ये क्या बोल रही हो आप? मैं अपने दूध कैसे दिखा सकती हूँ?भाभी बोली- यहाँ कौन सा कोई मर्द बैठा है जो तू इतना शरमा रही है? जो तेरे पास है वो ही यहाँ सबके पास है. मैं अपने लंड को खड़ा करके मम्मी की पीछे से उनकी गांड पर रख कर रगड़ने लगा और ब्रा के ऊपर से ही चूचियों को मसलने लगा. मेरी बीवी के ब्लाउज में पीछे सिर्फ एक डोरी थी … जिससे मेरा हाथ उसकी नंगी कमर को और नंगी पीठ को सहला रहा था.