राजस्थानी हिंदी में बीएफ

छवि स्रोत,xxx दिपीका

तस्वीर का शीर्षक ,

श्रुति सेक्स फोटो: राजस्थानी हिंदी में बीएफ, सर पढ़ाने के साथ साथ मेरे जांघ भी सहलाने लगे, फिर मेरे पीछे हाथ ले जाकर पीठ सहलाने लगे.

1 साल की लड़की सेक्सी

भाभी- नाश्ता कर लो प्रेम!जैसे ही मेरी नजर भाभी पर गई, तो मैं फिर से गर्मा गया. खून को साफ कैसे करेउसी समय रेखा एक हाथ से मेरी जांघों को सहलाती हुई बोली- हर्षद जब से तुम्हें पहली बार देखा है, मैं तुम्हें चाहने लगी हूँ … और उससे भी आगे और एक बात है.

मैंने उसको कॉल किया तो उसने बताया कि अभी उसका पति घर पर है, इसलिए उसे थोड़ा टाइम लगेगा. सील टूटनारात के 12 बजे हम जाएंगी और न्यूड साइकलिंग करेंगी। और अभी आज की भी रात है तो आज रास्ते का मुआयना भी कर लेंगी।”भैया जी सुनो!” घर वापिस जाते हुए हम उस गैराज वाले के पास रुकी।भैयाजी, आपके यहाँ पर साइकिल भाड़े पर मिलती है क्या?” सीमा ने पूछा।नहीं मैडम!” बिना ही हमारी ओर मुड़े उसने जवाब दिया.

सेक्सी कॉलेज गर्ल Xxx कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं कल्पना में अपनी मम्मी के कॉलेज के दिनों में गया और कमसिन मम्मी को पटा कर उनकी कुंवारी बुर फाड़ी.राजस्थानी हिंदी में बीएफ: रोहित मुझसे बोला- बोल कुतिया, तैयार है मेरा लेने को?मैंने हां बोलने की कोशिश की पर मुँह में रवि का लंड होने की वजह से कुछ नहीं बोल पाया.

मैं उसके दिल के हावभाव अच्छी तरह से समझ रही थी लेकिन मैं सिर्फ मुस्कुराती रही.मैंने बिना देरी किए मॉम की चुत में अपना लंड रखा और जोर से झटका दे दिया.

अक्ष अक्ष अक्ष - राजस्थानी हिंदी में बीएफ

ये रियल फॅमिली सेक्स कहानी सन 2020 में मार्च में होली के बाद की है.इसके बाद से मेरे दिमाग में कुछ कीड़ा घुस गया था तो मैं अपनी दीदी पर नजर रखने लगा.

तो भैया बोले- वो मैंने पहले ही पूछ लिया, उन्होंने कहा कि मैं शाम को प्रेम को बोल दूंगा. राजस्थानी हिंदी में बीएफ ये बात 2014 की है, जब मैं अपनी पढ़ाई को पूरा करके वापस अपने शहर आया था.

अंकल ने मुझे बोला- बेटा, तू आज के लिए सन्नो के कपड़े पहन ले, मुझे पता है कि तू लड़का है, पर मेरी तबियत सही रहे … इसके लिए तू लौंडियों के कपड़े पहन ले.

राजस्थानी हिंदी में बीएफ?

फिर भी जैसे ही मैंने उसकी चुत को चूसना शुरू किया तो वो अपने आपे से बाहर हो गयी और एक बिन पानी मछली की तरह तड़पने लगी. जापान जाने के लिए मैंने लैटर आने के अगले ही दिन मेरा और मम्मी के पासपोर्ट वीसा के लिए अप्लाई कर दिया था. मैंने विलास से कहा- अब मैं झड़ने वाला हूँ, माल कहां डालूं?विलास बोला- यार हर्षद, मैं तेरे लंड का अमृत अपनी गांड में महसूस करना चाहता हूँ.

आगे बढ़ने से पहले मैं उन सभी का धन्यवाद करना चाहूँगा, जिन्होंने मेरी पिछली सेक्स कहानीचचिया सास की चूत की खुजली मिटा दीको हद से ज्यादा पसंद किया और कमेंट्स के ज़रिए भी काफी प्यार दिया. मेरी नापसंदगी भरी नजरों के कारण किसी ने कभी मुझसे बात करने की हिम्मत ही नहीं की. फिर रानी और चाची की चुदाई कैसे हुई, ये मैं आगे की सेक्स कहानी में लिखूंगा.

जिन पाठिकाओं को यह सुख प्राप्त हुआ होगा, उन्हें इस आनन्द की अनुभूति पता होगी. मुझे थोड़ा दर्द भी रहा था पर वो मानने को तैयार नहीं थे और थोड़ी कोशिश के बाद उसका पूरा लण्ड मेरी गांड में समा गया. मगर मैं बनती हुई बोली- ये कौन सी परफोर्मेंस हुई?मेरा भाई भी समझ गया था, वो बात खत्म करने की नजर से बोला- चलो यार घर चलते हैं … ये सब बातें बाद में कर लेना.

ऐसे ही बातें करते करते अब सरिता नीचे से अपनी गांड हिलाने लगी तो मैं भी अपना लंड आहिस्ता आहिस्ता अन्दर बाहर करने लगा और सरिता से बातें करने लगा. चाचा जी ने दीदी को नीचे उतारा और दीदी को बाइक से टिका कर घोड़ी बनाया और धकापेल चोदना शुरू कर दिया.

अब आगे पोर्न भाभी की चुदाई होटल में:इसके बाद हमारी बातों का सिलसिला चल पड़ा.

मैंने सोचा कि और भी लोग होंगे इसलिए एक नेकलेस लेता गया गिफ्ट के लिए!जब मैं उसके बताए एड्रेस पर पहुंचा तो वो नहा रही थी इसलिए मुझे काफी देर तक दरवाजे में इंतजार करना पड़ा.

मैं भी वो देखने लगी, जिसमें लड़की दर्द सह कर भी भाई का लंड जोर जोर से चुत में ले रही थी. मैंने उसे किस करते हुए एक जोर से धक्का मारा, जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. पर एक दो बार बात करने के बाद उन पर मेरा प्रभाव बहुत अच्छा असर डालता है.

मेरा उसे फिर से चोदने का मन करने लगा तो मैंने अदिति को होंठों पर किस किया. अगर किसी को पता चल गया तो और भी ज्यादा दिक्कत होगी … और इज्ज़त का क्या होगा!मैं- अगर ऐसा नहीं किया तो वैसे भी उनकी इज्जत जानी है. लंड चूत में चलते ही उसने जोर जोर से सिसकारियां लेना शुरू कर दी थीं.

उसने जिस्म की नुमाइश की, तो अंदाजन 36-30-38 का फिगर लगा, जो बाद में सही निकला.

कुछ देर बाद उन्होंने बोला- युग, मेरे ब्लाउज के हुक खोलकर थोड़ी पीठ की मालिश भी कर दे. मेरी पीठ कमर और गांड को सहलाती हुई सरिता बोली- हर्षद, आज मैं बहुत ही ज्यादा खुश हूँ. Xxx जवानी की चुदाई कहानी मेरी मौसी की जवान बेटी की सीलतोड़ चुदाई की है.

तुम्हारे लंड का अमृत मुझे चूत में अनुभव करना है और अपनी चूत की प्यास भी बुझानी है. मैं मिनी के पास गया तो उसने खुद से अपनी गांड को उठा दिया, मैंने तुरंत उसकी पैंटी को नीचे कर दिया. मैं अन्तर्वासना सेक्स कहानी की साइट का रेग्युलर पाठक हूँ और यह मेरी बहुत मनपसंद साइट है.

आप सब लंड चुत के दीवानों को मेरी ये आप-बीती Xxx चाची भतीजे की चुदाई कैसी लगी, जवाब जरूर दें.

नमस्कार दोस्तो, मैं युवराज आप लोगों के साथ अपने वासना की कहानी का पहला अनुभव लेकर हाज़िर हुआ हूँ. रीता लंड लेने के लिए अपनी चूत को मेरी तरफ दबाने लगी और ‘आह … आंह पेलो …’ की आवाजें निकालने लगी.

राजस्थानी हिंदी में बीएफ पहली बार रेखा पराए मर्द के होंठों का स्पर्श अपनी गुलाबी होंठों पर महसूस कर रही थी तो वो कामुकता से सिहर उठी. वो मेरे लंड के ऊपर आकर बैठ गयी और मेरा लंड हाथ से पकड़ कर अपनी चूत पर लगा लिया.

राजस्थानी हिंदी में बीएफ कुछ समय बाद जब मैं नॉर्मल हुआ तब उसको समझाने का बहाना बनाकर मैं सामने से उठकर बिल्कुल उसके पास उसी की बेंच पर जाकर बैठ गया. मैं वादा करता हूं तुम्हें शादी के बाद भी दबा कर चोदूंगा और तुमसे ही सबसे ज्यादा प्यार करूंगा.

दो तीन दिन रहने के वास्ते मैंने अपने दो तीन जोड़ी कपड़े, टॉवेल, लुंगी, ब्रश सब सामान बैग में पैक कर दिया और खाना खाकर सो गया.

माधुरी दीक्षित के नंगे फोटो

काफी देर तक लंड को चूसने के बाद जब मुझे अहसास हुआ कि बस कुछ ही देर में मेरा काम तमाम होने वाला है तो मैंने उसको पीछे कर दिया क्योंकि मुझे उसकी चुदाई भी करनी थी. कुछ देर बाद फिर से मूड बन गया और पुलकित ने मेरी एक बार फिर से गांड मारी. मेरी गाड़ी में मुझे पुलकित और टॉम को ले जाना था पर आखिरी समय में टॉम का प्लान कैंसिल हो गया.

मैंने सोच लिया था कि अब मैं इसको चोद कर रहूंगा … क्योंकि वीना जैसी जवान और खूबसूरत लड़की लड़की बहुत ही नसीब से मिलती है. मैं अब जोश में आने लगा और मैंने अपनी मॉम से पूछा- मॉम आपने होंठ इतने लाल कैसे हैं, लिपिस्टिक के चलते हो गए हैं या शुरू से ऐसे हैं. मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि जिस चूत के मैं सपने देख रहा था … वो कल मुझे मिलने वाली है.

फिर चाची बोलीं- और वो मादरचोद राहुल कहां है?तभी राहुल पर्दे के पीछे से सामने आ गया और वो प्यार से चाची को समझाने लगा.

प्राची ने रूम में आते ही मेरे चड्डी में हाथ डाल दिया और मिनी के ऊपर से चादर हटा दिया. अब वह चुदाई करते करते मेरे ऊपर आ गया और अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा. मेरा लंड बिल्कुल एक लोहे की रॉड की तरह कड़क हो गया था और वो अब अपनी गुफा तलाशने लगा था.

लगातार जिम जाने को वजह से मेरी बॉडी शेप में है और मेरे लंड का साइज 6. फिर शायद बाथरूम के खुले दरवाजे से दीदी की नजर मेरे नंगे जिस्म पर पड़ गई. स्टेशन पहुंचकर पति ने मुझे जाने को कहा क्योंकि उनकी ट्रेन का टाइम हो रहा था.

मैंने शहर से बाहर के एक होटल में एक कमरे की बात की, वो ओयो होटल था. भाभी कहती थीं- तुम इतना ही क्यों करते हो … आगे भी बढ़ो न!मगर मैं उन्हें सिर्फ गर्म करके वापस आ जाता था.

दीदी बोलीं- हम्म … तब तो मुझे भी पहली बार कुंवारे लंड का मजा मिलने वाला है. सरिता ने अपना एक हाथ मेरी गर्दन के नीचे से डालकर बाहर निकाला और दूसरे हाथ से मेरा सीना और पेट को सहलाने लगी. इतनी देर से मैं इन चूचों को देख रहा था पर हाथ में लेने में मुझे और भी मजा आ रहा था.

फिर जैसे ही नव्या भाभी की गांड ऊपर उठी, मैंने मूड बना लिया कि गांड में तो लंड जाकर रहेगा.

दोस्तो, मैं हर्षद एक बार पुन: अपने दोस्त और उसकी बीवी के साथ हुई चुदाई से भरपूर इस सेक्स कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. असली कहानी कुछ ऐसे शुरू हुई कि चाची की चाचा के साथ कम बनती थी, उनकी आपस में लड़ाई होती रहती थी. शादी के बाद मैं अपने घर आकर जब वापिस जॉब पर गया तो एक अज्ञात नंबर से मुझे मैसेज आया.

मैं बोली- मुझे नींद नहीं आ रही, मुझे यहीं सोना है तुम दोनों के साथ. उसको ड्रॉप करते समय गाजियाबाद जाने वाली मेट्रो स्टेशन के पास लिफ्ट में इस बार हमने किस किया.

फिर मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लेटा दिया और उसकी पैंटी उतार कर उसकी खूबसूरत गुलाबी चुत पर अपनी जुबान रख दी. सारे दिन की थकान के कारण अंजली भाभी थक गई थीं तो वो भैया के साथ जल्दी ही सोने चली गईं. मैंने कहा- अरे भाभी, मेरी जान कोई नहीं देखेगा … और देख भी लेगा तो देखने दो, इसी में तो मज़ा है.

अनुष्का शर्मा xxx video

उसकी मुस्कुराहट से मुझे पता चल गया कि ये भीएक नंबर की चुदक्कड़ औरतहै.

मैंने तो अपनी जींस शर्ट पहनी पर फ़लक ने तो शायद कसम खा रखी थी कि जब तक वो मेरे साथ है, मुझे मारे बगैर नहीं रहेगी. अब मैंने सौम्या को घोड़ी बनाया, इससे उसके लटकते हुए मम्मे मुझे लगाम जैसे लगे. ऑफिस गर्ल सेक्सी कहानी मेरे साथ काम करने वाली एक लड़की की चूत चुदाई की है.

मैंने पूछा- विलास कितने बजे गया?सरिता बोली- वो तो आठ बजे ही चले गए. अब मैं जानबूझ कर ‘ऊह आह …’ की आवाज़ निकाल रहा था जो मैं उन्हें उत्तेजित करने के लिए कर रहा था. सरदारों की चुदाईजो रास्ता खुला रहता था, उसके बगल में बैठ जाओ तो पूरा घर साफ़ दिख जाता था.

मेरा हाथ उनकी चूत पर पड़ते ही वो सिसक पड़ीं … उनकी चूत एकदम गुलाबी और शेव की हुई थी. सरिता जब मेरे लंड का सुपारा अपनी चूत के छेद पर रखकर अपनी गांड हिलाने लगी तो मैं समझ गया कि अब सरिता लंड अन्दर लेना चाहती है.

अब हार्दिक से कंट्रोल नहीं हो सका और वो उसके पास जाकर उसे चूमने लगा. हम दोनों उन लोगों के पास को जैसे जैसे बढ़ रहे थे, वो लोग भी इधर ही देख रहे थे. अब दीदी को बुर और गांड से इतना ज्यादा दर्द हो रहा था कि वो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी.

तभी मैंने अचानक से एक जोरदार धक्का से मारा और मेरा पूरा लंड चुत को चीरता हुआ अन्दर समा गया. जैसे जैसे बाइक किसी गड्डे में उछलती, वैसे वैसे दीदी भी चाचा जी के लंड पर उछल रही थी. मैंने पूछा- तीन महीने से सेक्स क्यों नहीं किया?भाभी बोलीं- वो बाहर कहीं मुँह मारने लगा है, तो मुझे नहीं चोदता है.

अब आगे पोर्न भाभी की चुदाई होटल में:इसके बाद हमारी बातों का सिलसिला चल पड़ा.

उसकी गांड खुल गई है तो हॉट गर्लफ्रेंड की Xxx इच्छा पर कभी कभी हम दोनों दोस्त एक साथ भी उसे चोद लेते हैं. धीरे धीरे हार्दिक का पूरा लंड चूत में चला गया और हार्दिक धक्के मारने लगा.

और मैं अभी भी जोर-जोर से अपने गर्म औजार से उसकी चूत में धक्के मार रहा था. वीना के जब मैंने कपड़े उतार दिए, तब मैं पहली बार उसके पूरे शरीर को नंगा देख पाया था. प्रीति ने मुझे जोर दिया कि मैं उन लोगों से मिल लूं।मैं आधे मन से उनके घर गया.

रीता ने मेरी पैंट का बटन खोलकर जिप नीचे की और मेरे कूल्हों से पकड़ कर मेरी पैंट चड्डी समेत नीचे कर दी. सबसे पहले मैं अन्तर्वासना साइट को शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जिसकी वजह से लाखों लोगों को अपने चरम सुख की प्राप्ति होती है और लोगों की कहानियां पढ़कर पाठक मजे लेते हैं. सरिता मुस्कुराकर बोली- पहचानेगा क्यों नहीं?मैंने आइसक्रीम की थैली उसको देते हुए कहा- ये फ्रिज में रख दो, खाने के बाद सबको आइसक्रीम खिलाना.

राजस्थानी हिंदी में बीएफ फिर मैं झड़ने लगा तो मैंने लंड चूत से बाहर खींचा और लंड का पानी भाभी के बदन पर फेंक दिया. जैसे ही मोबाइल ठीक हुआ, मैंने घर आकर दीदी को मोबाइल दे दिया और अपने कमरे में चला गया.

ससुराल बहू का सेक्सी वीडियो दिखाइए

उत्तेजना में अपना आधा लंड सरिता के मुँह में डाल दिया तो सरिता कसमसाने लगी. इससे पहले मैंनेसौतेली मॉम की चूत में कुंवारे बेटे का मूसल लंडमें आपको बताया था कि मैं जब अपनी स्टेप मॉम को होटल में चोद रहा था, मेरी पहचान जानने के बाद एकदम शांत हो गई थीं. उसका गोरा बदन चमक रहा था, पर वो नेहा भाभी या प्रीत भाभी से कम ही गोरी थी.

मेरे दिल की तमन्ना है कि मैं किसी अनजान लड़की या भाभी के साथ सेक्स करूं. मौसी ने मुझसे हाथ मुँह धोने के लिए कमरे में जाने को कहा तो मैं कमरे में जाकर मुँह हाथ धोकर कपड़े बदल कर आ गया. नंगा फोटो नंगाकुछ देर बाद उसने मेरे ब्रा की स्ट्रिप पीछे हाथ डालकर खोल दी और नीचे से मेरे पेटीकोट के नाड़े को भी खोल दिया.

[emailprotected]ए रियल लव स्टोरी का अगला भाग:कॉलेज में पहला पहला प्यार- 3.

मोहन ने रवि से कहा- अब तू खुद को मोनिका समझना, विशाल को अपना पति, तुझे गांड मराने में ज्यादा मज़ा आएगा. [emailprotected]ट्रिपल X हिंदी कहानी का अगला भाग:मेरी सेक्स कहानी से मिली मुझे एक मस्त आइटम- 6.

तभी मैंने दीदी के सामने तौलिए को पीछे से खींच कर एकदम से नीचे गिरा दिया. मैं सीढ़ियों से नीचे उतर रहा था, तभी रीटा ने पीछे से मुझे घुमा कर मेरे गाल पर चुम्बन ना देकर होंठों से होंठ मिला दिए और गहरे गहरे 5 चुम्बन धर दिए. मगर मैंने तब भी उनसे कहा- आप मेरी दीदी हैं, इस बात का मुझे ख्याल नहीं चाहिए क्या?वो बोलीं- हां ये तो है … मगर इसका एक रास्ता है मेरे पास!मैंने कहा- क्या रास्ता है दीदी.

अब मैंने अपना हाथ उनकी दोनों जांघों के बीच में ठीक उनकी चूत के ऊपर लगा दिया.

मैंने पहले से बगल में पड़ी वैसलीन को उठा कर अपने लंड पर मल दिया और और उसकी चुत में भी लगा दिया. उसने अपने कमरे का दरवाजा खुला रखा था ताकि मुझे आने में कोई परेशानी ना हो. वहां मेरे मामा की सभी लड़कियां आई थीं, जिनमें से एक दीदी का नाम आशिमा था.

सेक्सी वीडियो देखने वाला भेजिएजब विशाल को लगता, वो झड़ने वाले हैं तो वह अपना लंड बाहर निकाल लेते. कहानी के पहले भागगबरू जवान पर दिल आ गयामें आपने पढ़ा कि एक गोरा चिट्टा, लंबा कद, कसा हुआ कसरती बदन वाला लड़का एक भाभी को भा गया.

सेक्सी अच्छी से अच्छी

उस लड़के ने मुझे मेरे ही बेडरूम में कैसे चोदा?फ्रेंड्स, मैं जीनी भोपाल से एक बार फिर से आपके सामने अपनी चुत चुदाई की कहानी को आगे बढ़ा रही हूँ. आज मैं आपको एक बात बताता हूँ कि एक विधवा औरत और एक बच्चे की सोचने की क्षमता एक जैसी होती है. फ़लक की चूत चुदाई की इस मस्त Xxx पेनफुल सेक्स कहानी पर आपके मेल का स्वागत है.

मैंने एक मिनट भी वेस्ट किए बिना अपने दोनों पैर सामने की सीट पर रख दिए. तो मैंने पूछा- तुम दोनों ने दारू कब पी?वो बोले- जब तू हमारे लंड को छूकर गया था, तब से ही लंड खड़े हैं. मम्मी और पिताजी को बोलकर मैं क्लीनिक जाने को अपनी बाईक पर निकल पड़ा.

उसने अपने बारे में और अपनी बहनों के बारे में काफी कुछ बातें बताई थीं. अब दीदी को बुर और गांड से इतना ज्यादा दर्द हो रहा था कि वो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी. मैंने उसके लंड पर अंडरवियर के ऊपर से हाथ रखा, तो उसने मुस्करा कर हाथ हटा दिया.

और दोनों को होठों पर किस देकर आ गई और जाते जाते मेरे दोनों बूब्स के निप्पल बिकिनी में से भी दिखा गई।वापस घर आकर रात में डिनर कर बेडरूम मैं सोच रही थी कि उन दोनों को ऐसा क्या काम हो सकता है जिसके लिए मुझे पैसे भी देंगे. मीनल ने मुझे और सीमा दोनों को शादी में बुलाया था।हम दोनों को एक दूसरे को देखे एक ज़माना सा हो गया था.

चाची वैसे तो थोड़ी मोटी थीं मगर उनके बड़े बड़े मम्मों और तोप सी तनी हुई गांड देख कर लंड खड़ा हो जाता था.

उसने मेरा सर अपने दोनों हाथों में पकड़ लिया और मेरे होंठ चूसने लगी थी. करीना की चुदाईफिर मैंने मॉम से पूछा- मॉम मैंने अपना लंड आपको जानबूझ कर दिखाया था, क्या वो आपको अच्छा नहीं लगा था?मॉम बोली- अच्छा तो था, इसी लिए तो तुम मुझे आज चोद पाए. बड़ा लंड दिखाइएमेरी तो फट गयी … मैंने जल्दी से लंड अन्दर डालकर पैंट की चैन लगा दी. रेखा सीत्कारने लगी- आह स्स स्स हुं हुं हाय हर्षद आहिस्ता करो ना!मैं रुककर उसके स्तन बारी बारी से चूसने लगा.

लेकिन मैं अपने परिवार के साथ रहता था और हरियाणा के घरों के माहौल से आप सभी परिचित ना हों, तो बताना चाहूंगा कि अधिकांश परिजन बहुत सख्त होते हैं.

उसने क्रीम कलर की ब्रा और ब्लैक जाली वाली पैंटी पहनी थी, जिसे मैंने झट से निकाल दी. मैं भी उसकी इन मादक आवाजों से जोश में आ गया और जोर जोर से रेखा की चूत का भोसड़ा बनाने लगा. फिर पत्नी ने मेरे मुँह से निप्पल छुड़ाकर अपने होंठ मेरे होंठों में दे दिए.

इंडियन हॉट भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि वासना की आग में जब जवानी का तड़का लगता है तो दो जिस्म बस एक जान हो जाना चाहते हैं. मैं वॉशरूम से फ्रेश होकर आया तो कमरे की लाइट बंद होने पर भी मुझे मम्मी का टॉप दिखाई दिया जो कि शायद उन्होंने उतार दिया था. मैंने कहा- किसके साथ?उन्होंने बताया कि मैं अपने मालिक के साथ सेक्स करती हूँ.

नेपाळी बीपी

आज की Xxx पंजाबी भाभी सेक्स कहानी हमारे पड़ोस में रहने वाली भाभी की है, जो कोरोना पॉजिटिव हो गई थीं. उसका लुल्ल पति साथ था तब भी मैंने उसके साथ ट्रेन में हल्की फुल्की मस्ती करके उसे चोद दिया. उसके बाद उसने एक बीयर और खत्म कर दी जिससे उसे नशा हो गया।और फिर उसने मुझे अपनी बांहों में ले लिया, मेरे होंठों पर अपने होंठ रख कर चूसने लगी।10 से 15 मिनट तक हम दोनों एक दूसरे के होंठ चूसते रहे और मैं उसकी गांड से खेलता रहा.

राहुल ने अगले ही पल चाची की साड़ी उतार का साइड में रख दी और ब्लाउज के हुक खोलने लगा.

एक बार मेरी पड़ोसन सेक्सी पंजाबी गर्ल रात को अचानक मेरे फ्लैट पर आई। जब तक मैं उसकी बातों को समझ पाता, उसने मेरे सामने अपनी नाईटी उतार दी.

उसने अब तक कभी कोई ऐसी हरकत नहीं की थी जिससे मुझे पर्सनली कोई परेशानी होती. ओरल Xxx स्टोरी हिंदी में पढ़ें कि मिडल ईस्ट में रहने वाली एक NRI भाभी ने कैसे मेरे साथ होटल के कमरे में आकर लंड चूसने और चूत चटवाने का मजा लिया. अनुष्का का सेक्स वीडियोमैंने अपनी रेड कलर की ब्रा पैंटी पहने ली और भाई से चुदवाने के लिए रेडी हो गई.

मेरे भाई के लंड में भी रगड़ लग गई थी तो भी उसने अपने लंड का फंसा हुआ टोपा बाहर नहीं निकाला बल्कि उसकी अवस्था में रुक कर मुझे प्यार से किस करने लगा. जब वो अपनी जीभ से मेरे लंड को चाटती तो मुझे और भी ज्यादा मजा आ रहा था. विलास ने मेरे लंड पर हाथ रखकर कहा- अरे यार, तेरा तो अभी भी इतना बाहर है हर्षद … बता न कितना अन्दर गया है?मैंने बोला- बेटा अभी आधा ही अन्दर गया है.

उसके बाद मुझे वहां से जाना पड़ा लेकिन हम दोनों बहुत दिनों तक कॉलेज के नाम पर मिलकर चुदाई कर रहे थे. जापान जाने के लिए मैंने लैटर आने के अगले ही दिन मेरा और मम्मी के पासपोर्ट वीसा के लिए अप्लाई कर दिया था.

वो बुरी तरह कसमसा गई और छुटने की कोशिश करते हुए फुसफुसाती हुई बोली- क्या कर रहे हो कोई देख लेगा।मैं समझ गया कि इसकी तरफ से भी हां है।मैंने कहा- सब छुट्टियों में चले गए हैं, सिर्फ हम दोनों हैं, कोई कहीं देखेगा।अब उसने कसमसाना बंद कर दिया और हल्की हल्की सांसें लेने लगी.

थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि दीदी ने अपना पैर हिलाया और गहरी नींद में सोने का नाटक करने लगीं. वो मेरे गले, मेरी छाती पर बिल्कुल बेकाबू शेरनी की तरह चुम्बन करने लगीं. पूरा लंड अन्दर पेल देने के कुछ पल बाद मैंने अपना हाथ उसके मुँह से हटा दिया तो सरिता कामुक सिसकारियां लेने लगी.

एचडी का फुल फॉर्म जब मैंने महसूस किया कि वो होंठों पर किस करना चाहती है तो मैंने उसके बूब्स को दबाया और होंठों से होंठ मिला दिए. मैंने अब सरिता को ऐसे ही नीचे ले लिया और मैं अपने घुटने के बल बैठ गया.

उस जगह का नाम इसलिए नहीं बता रहा हूँ कि लोग उस जगह से धर्म जाति और नारी की प्रवृत्ति का अनुमान लगा लेते हैं, जो कि गलत है. मैंने भी विलियम की बरमुडा में हाथ फंसाया और एक ही झटके में बरमुडा और उसकी अंडरवियर को साथ में ही नीचे कर दिया. मैं खुश हो गया पर मैंने उससे कहा- ये क्या है?वो बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- इसकी क्या जरूरत थी?वो बोली कि तुम्हारा फ़ोन टूट गया था.

𝑡𝑒𝑙𝑢𝑔𝑢 𝑠𝑒𝑥 𝑣𝑖𝑑𝑒𝑜𝑠

मैंने लंड को हाथों से दबाया, पर वो मेरा लंड था … ऐसे मानने वाला नहीं था. यह सोच कर मैं भी खुश हो गई कि हां मुझे विलियम से चुदने का आज पूरा दिन और शायद अगली रात भी मिल गई है. मैं बोली- बस अंकल और न तड़पाओ … आपकी सन्नो की प्यास बढ़ती जा रही है.

वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा पैंटी में रह गई थी और मैं एक अंडरवियर में उसके सामने था. तभी मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने उससे पूछा- रबड़ी कहां निकालूं?तो उसने चूत में ही पानी निकालने के लिए कहा.

मेरा लंड खड़ा होने लगा दीदी के दूध देख कर!मैंने हिम्मत करके दीदी के एक दूध पर हाथ रख दिया और धीरे धीरे घुमाने लगा.

यहां भी बस पर आने वाली 15-16 औरतों के बीच, मैं एक अकेला मर्द अपनी बेटी को छोड़ने आता हूँ. मेरी गारंटी है कि मुम्बई पहुँचने तक तुम खुद लपक लपक कर अपने कमीने को प्यार करोगी. एक तो दरवाजे में ऐसी जगह छेद कर दिया, जहां अन्दर से छेद दिखाई न दे, लेकिन उस छेद में से सब देखा जा सके.

कुछ देर बाद राहुल ने व्हिस्की का हाफ निकाला और चाची को दारू पिलाने लगा. तभी कुछ दिनों में खबर आई कि हमारे फूफा जी की मृत्यु हो गयी है और सभी घर वालों को जाना पड़ेगा. उसकी गांड जबरदस्त उछल रही थी और उसके मम्मे तो ऐसे उछल रहे थे जैसे निकल कर कहीं भाग ही जाएंगे.

उसकी चूत को न तो मेरे मुँह से चूसा गया था और न ही उंगलियों से रस निकला था.

राजस्थानी हिंदी में बीएफ: ये सब करने से शिल्पा के जिस्म की आग और बढ़ गई और उसकी आवाजें और भी तेज होने लगीं ‘अहह ओहओ … ओहओ … यश तुमने तो आग लगा दी यार … कितना मजा दे रहे हो … आह …’कुछ पल बाद मैं उठा और मैंने अपना एक हाथ दुबारा से उसकी पैंटी में डाल दिया, उसकी चूत को सहलाने लगा. मेरी मम्मी ने यह पुरानी घटना अपनी एक सहेली को मेरे सामने ही बतायी थी जिसे मैंने सुन लिया था.

अब मैंने उसको घोड़ी बनने के लिए बोला तो वो हंसकर बोली- घोड़ी बनाकर गांड तो नहीं मार लोगे. मेरे दूध पीते हुए मस्त चोदते हो, आह थोड़ा जोर लगा दो आ…ह स्स…स मैं म…र ग…यी रे … मुझे कुछ हो रहा है … आँहह मेरी चुत में चींटियां चल रही हैं … ऊई मां … मेरे होंठ कांप रहे हैं … मेरे होंठ अपने होंठ में ले लो. फिर मैं तुरंत उसके पास जाकर बैठ गया और कहने लगा- आप रो क्यों रही हो मैडम … यहां आपके और मेरे अलावा और कोई नहीं है.

पांच मिनट बाद मेरा लावा छूटने वाला था और चाची से पूछा कि माल किधर टपकाऊं?चाची ने कहा- अन्दर ही छोड़ दे, मैं गोली खा लूंगी.

फिर अपनी जीभ उसकी गुलाबी चूत में डाल दी और अपनी जीभ से चूत की मुलायम दीवारों को सहलाने लगा. कभी कभी मुझे उसका डांस देखने का मूड होता है, तो मैं बीवी से कहता हूं. मैं अब उसके लंड को किसी कुल्फी की तरह चूस रहा था और वो मस्त आहें भर रहा था.