लाल साड़ी वाली बीएफ

छवि स्रोत,स्टूडेंट के साथ

तस्वीर का शीर्षक ,

गले का टैटू: लाल साड़ी वाली बीएफ, मैंने गेट हल्का सा उड़काया और अपने सारे गीले कपड़े उतार कर बिल्कुल नंगी हो गयी.

भाई बहन का बीएफ एचडी

फ़िलहाल इसी आनन्द के साथ हम लोग होटल पहुंचे और हम दोनों ने डोसा, चाट और आइसक्रीम खायी. इंडियन बीएफ साड़ी वालीवो अन्दर जाकर हमारा सामान और अपने कपड़े ले आई और साथ ही उसने पीजी वाली आंटी को कह दिया कि वो कुछ दिन अपनी सहेली के हॉस्टल में रुकेगी.

करीब 15-16 तेज धक्के मारने के बाद मैं रूमी की चूत में ही झड़ गया और उसी के ऊपर लेट गया. हिंदी सेक्सी हिंदी सेक्सी ब्लूफिर मैंने अपने पास की एक कैडबरी चॉकलेट ली और उससे कहा कि मेरे साथ किचन में चलो.

मुझे भी अपनी बीवी समझ मेरी जान!पापा आंटी के चिल्लाने की बिना परवाह किए हुए मज़े ले लेकर उन्हें चोद रहे थे.लाल साड़ी वाली बीएफ: उसने धीरे से गेट खोला और देखा कि मैं उसकी सगी छोटी बहन शालिनी की चुदाई कर रहा हूँ.

कल हम दोनों, राशिद और परी को सच्चाई बताने वाले थे कि मैं उनका मामा नहीं बल्कि पापा हूँ.तो दोस्तो, मैंने जैसे बताया कि मैं सेक्स स्टोरी और पोर्न मूवी देखने का आदी हो गया था.

जैकलीन की सेक्सी फिल्म - लाल साड़ी वाली बीएफ

ये याद आते ही मेरी मम्मी को चोदने की इच्छा होने लगती थी और मम्मी को देख कर लंड खड़ा हो जाता था.रीना का गदराया बदन सहलाते हुए मैं भी उसकी गांड हल्के हल्के दबाने लगा और पॉल बिस्तर पर लेटे हुए हमको स्माइल देने लगा.

तब से आज तक जब भी हमको मौका मिलता है, तो हम दोनों चुदाई कर लेते हैं. लाल साड़ी वाली बीएफ मैंने सबकी बातें सुनी, पर ना तो मैंने उन्हें कुछ बोला और ना ही सोनी को कुछ बताया.

और पॉल ने भी अपनी जीभ बाहर निकालते हुए ख़ुद के लंड का वीर्य चाटना चालू कर दिया.

लाल साड़ी वाली बीएफ?

जांघों तक सलवार और पैंटी के फंसे होने की वजह से सोनी अपने दोनों पैर और चौड़ी नहीं कर पा रही थी, फिर भी वो जितना संभव हो रहा था, उतना अपने पैर चौड़े करने की कोशिश कर रही थी ताकि मैं उसकी बुर को गहराई तक चाट सकूं. वो भी पहली बार ऐसी थ्रीसम चुदाई देखकर पागल हो रही थी क्योंकि मेरी और हफ्ज़ा की नजर जब रेखा की मां पर पड़ी तब वो अपने चूत में उंगली कर रही थी. वहां से आते समय मामा जी ने पहले कुछ शॉपिंग की और घर में खाने पीने के लिए मिठाई आदि भी ले लिए.

वो एकदम कामुक हो गयी थी, उसे भी वासना के सुख की प्राप्ति हो रही थी. फिल्म के बीच बीच में मेरे और उसके पैर आपस में छुए जा रहे थे पर मैं इस बात से अंजान थी क्योंकि मेरा ज्यादा ध्यान फिल्म में था. दीदी के मुँह से मस्त सी आह की आवाज आई और मेरी जीभ दीदी की चूत में मछली की तरह तैरने लगी.

अब वो बोली- बाबू अब नहीं रहा जाता तुम जल्दी से मेरी चूत में लंड पेल दो … मेरी सील फाड़ दो. वो साड़ी पहनने के साथ एक नकली मंगलसूत्र भी अपने गले में डाल कर आई थी. ऐसा करते वक़्त सुहानी के चेहरे से साफ लग रहा था कि उसको जिस सुख की इच्छा थी, वो पूरी हो रही है.

वो जाग कर लंड के लिए गर्माने लगी तो फ़ज़लू भी बिना टाइम खराब किए चुदाई को रेडी हो गया. मैं जैसे ही उसकी बांहों में आई, उसने मेरे मम्मों को बहुत ही जोर से दबा दिया.

पॉल को बिस्तर पर धकेलती हुई रीना बोली- बस कर मादरचोद, कितने लौड़े चूसेगा रंडी की औलाद, चल झुक जा हिजड़े … आज देख कैसे तेरी गांड की मां चोद देती हूँ बहनचोद.

इसलिए रेखा तुम एक काम करो, तुम लेट जाओ मैं पहले तुम्हारी चूत में लंड डालूंगा और तुम हफ्ज़ा की चूत चाटना.

चूचे 32 साइज के, कमर 28 से भी कम और 34 से थोड़ा ऊपर उसकी खतरनाक उठी हुई गांड. तभी ड्राइवर ने एक कट मारा, जिस वजह से मामी मेरी तरफ झुक गईं और उनके संतरे जैसा एक चूचा मेरी कोहनी से लग गया. ऐसा नहीं था कि मुझे लौड़ा नहीं चाहिए था … मेरी फुद्दी पूरी तरह से गीली हो चुकी थी.

कहानी के पिछले भागबेचारी कुंवारी गर्लफ्रेंड की बुर फट गयीमें आपने अब तक पढ़ा था कि सोनी को चुदाई में मजा आ गया था और उस दिन हम दोनों ने दो बार चुदाई का मजा लिया था. वह मुझे ऐसे चूस रहा था कि उसने आज तक किसी के होंठों से मजा ही ना लिया हो … और आज यह दुनिया का आखिरी दिन है, इसके बाद मैं उसको कभी नहीं मिलने वाली हूं. उस रात और उससे अगली रात हम पति पत्नी के बीच क्या क्या कैसे कैसे हुआ?दोस्तो, यह मेरी सच्ची सेक्स कहानी है, जिसे मैं बड़ी सकुचाहट के बाद आज आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ.

कुछ धक्कों के बाद में उसका दर्द भी शायद काफूर हो गया था क्योंकि उसने भी अपनी गांड उठाकर धक्का देना शुरू कर दिया था.

थोड़ी देर में हम दोनों ही झड़ गए, रागिनी निढाल होकर मेरे ऊपर गिर पड़ी और मैंने कसकर उसे अपनी बांहों में जकड़ लिया. मैंने कहा- ब्रा में लोशन लग जाएगा तो ख़राब हो जाएगी, पैंटी आलरेडी ख़राब हो गयी है. आपने सारे मजे ले लिए हैं, तो क्या मुझे मौका नहीं दोगे?मैं- हां जान क्यों नहीं दूँगा.

मैंने उसके दोनों पैरों के बीच से अन्दर झांकते हुए उसकी चूत देखनी चाही लेकिन उसने चड्डी पहनी हुई थी. इस चुप्पी के बीच कभी वो पैग का घूंट पीती, कभी मेरी पैंट के ऊपर हाथ फिरा कर मेरे सोये हुए लंड को वापिस तैयार करने लगती. तब मुझे अहसास हुआ कि वो यहीं पास में रहता है और दीदी को भी जानता है.

मैंने उन्हें गाल पर काट लिया और कहा- अब तुम्हें रोज मेरे लंड से चुदना पड़ेगा.

मैंने प्यार से उसे उठाया और अपने आगोश में ले लिया और उसके होंठों को चूसने लगा. जब तुमको बेंगलोर फ्लाइट का टिकट भेजा, उसी समय मन में पक्का सोच रखा था कि तुम कैसे भी होओगे, तब भी मैं तुमसे चुद लूंगी.

लाल साड़ी वाली बीएफ इसके बाद वो अपने नीचे के कमरे में सोने चली गईं और मैंने उनके घर का मेन गेट अन्दर से बंद कर दिया. यह देखकर मेरा हाथ अपने आप ही मेरे लंड पर चला गया और आगे पीछे होने लगा.

लाल साड़ी वाली बीएफ मैंने अभी अपने एक हाथ को अपने भाई के जिस्म पर लपेटा था और मैं उसके रिएक्शन का इन्तजार कर रही थी. उसने अपने दुपट्टे से मेरे लंड को पौंछा और उसे पैंट के अन्दर करके मेरे पैंट की चैन लगा दी.

कुछ देर ऐसे ही लेटने के बाद भाभी उठ कर कमरे में जाने लगीं और मुझसे बोलीं- अक्की मुझे अकेले सोने में डर लगता है, तो तुम आज रात मेरे कमरे में ही सो जाना.

ब्लू पिक्चर दिखाओ ओपन

बड़े ख़ुशी से रीना ने मेरे मलूल लंड को अपने मुँह में भर लिया और पूरी शिद्दत से चूसने लगी. पिछले साल उन दोनों का निकाह हो गया और अब वो दोनों अपने शौहरों के लंड की सेवा में लगी हुई हैं. अब आगे विलेज सेक्स की कहानी:मैं बाथरूम में नंगा नहा रहा था और वो पुताई करती हुई मुझे ऊपर से देख रही थी.

सेक्सी टीन गर्ल हॉट स्टोरी में पढ़ें कि पापा ने अपनी कमसिन बेटी को उसके बॉयफ्रेंड के साथ नंगी कार में चुदाई करते देख लिया. अब तो मम्मी बुरी तरह से बौखला गईं और बोलीं- क्या है … इतना मन हो रहा है तो उठाकर अपने बिस्तर पर क्यों नहीं लेटा लेते. हालांकि मैं जानता हूं कि मम्मी की चूत में बहुत आग है और उन्हें हफ्ते में 3-4 बार चुदने के लिए लंड तो चाहिए ही होता था.

मैंने बाथरूम में जाकर दरवाजा लॉक कर लिया और अपने आप को आईने में देखते हुए सोचने लगी कि साली तू कितनी बड़ी छिनाल हो गयी है, जो किसी से भी … और कहीं भी चुद लेती है.

करिश्मा ने कहा- क्योंकि कल शनिवार है और बैंक और कोर्ट दोनों बंद हैं, तो हम दोनों शिमला चल रहे हैं. शायद हम दोनों ही उस वक़्त कुछ नहीं सोच रहे थे, बस जवानी के आग में एक दूसरे के होंठों को चूम रहे थे और हमारी आंखें बंद थीं. फिर मुझे कुछ फोटो खींचने की आवाज आई।मैंने उसे फोटो खींचने से मना किया, उसने शसश्ह … कहके मुझे चुप करा दिया और मुझे किस करने लगा.

मैं फौरन अपने रूम की तरफ निकल पड़ी कि कहीं ऐसा ना हो जाए कि मेरी गीली लोवर की वजह से जहां पर मैं बैठी थी, वहां पूरा एक दाग बन जाए और इन तीनों हरामियों को मेरी गीली फुद्दी का अंदाजा हो जाए. खुदा कसम … क्या फीलिंग थी वो!जब उसकी गर्म गर्म लार मेरे सुपारे पर लगती और उसकी गर्म जीभ मेरे सुपारे पर फिसलती तो लगता कि मैं जन्नत में पहुंच गया हूँ. अब मैं लंड अन्दर बाहर करने लगा; उसकी चूत में लंड के धक्के मारने लगा.

लेकिन उनको मैं कहना चाहता हूँ कि मैं कोई दल्ला नहीं हूँ, जो आप लोगों के लिए सैटिंग करता फिरूँ. [emailprotected]होटल रूम चुदाई स्टोरी का अगला भाग:बहन की चुदक्कड़ जेठानी को खूब पेला- 3.

यहां मैं आप सबको बता दूं कि आकाश की पिछले साल ही रसिका से शादी हुई थी. जैसे ही पापा ने मम्मी के चूतड़ को अपनी ओर खींचा और मम्मी ने अपनी टांग उठा कर पापा की कमर पर रख दी. वो मुझे देखने लगा और बोला- तुम तो बहुत ही बड़ी रंडी लगती हो, कितने लंड डलवा चुकी हो इस चूत में?मैं बोली- पता नहीं भाई कितने लोगों से चुदवा चुकी हूँ.

तो मैंने उसको रिप्लाई किया- आपका बहुत बहुत शुक्रिया कि आपको मेरी कहानी पसंद आई.

सर का लंड जल्दी खड़ा नहीं हो पाता था तो मैं समय ज्यादा लगने का बहाना करके अपनी क्लास में आ गयी. रेशमा कई बार मेरे शरीर से इतनी अधिक सट कर खड़ी होती कि उसकी चूची मेरे एक बाजू पर पूरी दब जाती. इसके बाद हमारा यह खेल कुछ हफ्ते और चला फिर मैं अपने गांव चला गया।गे स्टूडेंट सेक्स कहानी पर अपने विचार मुझे कमेंट्स में भेजिए.

हालांकि मैं चुदासी थी और उन तीनों से चुदना भी चाहती थी, मगर अपने जीवन में ये सब पहली बार होने की वजह से मुझे थोड़ा भय लग रहा था. अब मैं अपने बॉयफ्रेंड से भी बात नहीं करती, बस अपना सारा टाइम अपने बड़े भाई के बारे में सोचती रहती और उसके साथ सेक्स करने के सपने देखती रहती.

सलीम ने कहा- देखा मेरा सुबह का कमाल, चादर भी शर्मा गई तुम्हारी जबरदस्त चुदाई देख के!ये कह कर उसने मेरी गांड पकड़ के मुझे अपनी ओर खींचा और पीटर ने जो स्कर्ट और टी शर्ट दी थी, वो फाड़ डाली।सलीम बोला- तुम्हें कपड़े पहनने की इजाजत नहीं है. फिर मैंने घुटनों के बल आकर अपने लंड का सुपारा नीता की गांड के छेद पर रखा और दोनों हाथों से उसकी पतली कमर को जकड़ कर एक जोर का धक्का मार दिया. बहुत कस के झपटा था हम दोनों ने एक दूसरे को, कस के गले लगाया और बेड पर गोल गोल घूमने लगे.

एप्पल सेक्स

[emailprotected]Xxx गर्ल ओरल सेक्स कहानी का अगला भाग:बड़े भाई ने मेरी बुर की सीलतोड़ चुदाई की- 3.

भाभी अपनी छत पर बने जीने की ममटी वाले कमरे के दरवाजे से छिप कर देख रही थी. बुआ चिल्लाने लगी- उईईई ऊई ईईई ऊईईई मर गई राज … निकाल मुझे दर्द हो रहा है. पॉल की गांड पर जोर से थप्पड़ मारते हुए मैंने कहा- ले बहनचोद, चुद अपने बाप के लौड़े से … साले रंडी की औलाद, आज तेरी वो रांड मां भी ऐसे ही चुदने वाली है मेरे लौड़े से … आह भोसड़ी के लंड ले.

अब रीना और पॉल का मुँह टॉयलेट के पॉट पर था और मैं उन दोनों मियां-बीवी के मुँह पर मूत रहा था. कुछ समय बाद उसने लंड मेरे मुँह से निकाल कर मेरे सामने हिलाना शुरू कर दिया और करीब दस झटकों में उसके लंड का सारा माल मेरे मम्मों और मुँह के ऊपर फिंक गया. सेक्सी नई ब्लू फिल्ममेरा लौड़ा चूसने के बाद पॉल ने रीना को फिर से उल्टा घुमाकर उसकी गांड अपने मुँह में भर ली.

मेरा मन तो कर रहा था कि साली को अभी जाकर इतना चोदूं कि इसकी चूत का भोसड़ा बना दूं. मेरी पिछली कहानी थी:दो बहनों ने पति अदल बदल कर चुदाई कीऎसी ही एक कहानी एक औरत की है जिसे मैंने कई बार चोदा है.

मुझसे अमित ने बोला- क्यों साली रंडी, मजा आया?राकेश- हम तीनों को तूने बहुत ज्यादा सताया था न. किरण की गांड का छेद भी अब थोड़ा खुलने लगा और मेरा लंड जोर जोर से उसकी गांड में सैर कर रहा था. मैंने जबरदस्ती उसकी सलवार को नीचे सरका दिया और पैंटी के अन्दर उसके चूत में उंगली डाल दी.

फिर अपनी गांड को ऊपर करने से पहले उसने अपनी चूत को संकुचित कर लिया. इस बात को यहीं खत्म कर हम दोनों अपनी चुम्मा चाटी और चुदाई में लग गए. अब मुझसे भी कंट्रोल नहीं हो पा रहा था इसलिए मैंने बाथरूम में जाकर पिंकू की मदमस्त जवानी और चूत की वीडियो देखकर जोर जोर से लंड हिलाने लगा.

साड़ी में से झांकता उसका सपाट पेट और नाभि से नीचे बंधी साड़ी में मोहिनी आज सच में काम देवी लग रही थी.

मैंने उसकी टेबल अपने ही कमरे में लगवाई ताकि मैं उसको काम सिखा सकूं और उसके बदन को आंखों से चोद सकूं. मैंने विपिन को आवाज देकर पूछा- पैंट कहां है?उसने बोला- वहीं दरवाजे के पीछे तो टंगी है.

मेरे हां करते ही पिंकू बहुत खुश हो गई और उछल कर मेरे गले लग गई।उसके बदन की मदमस्त खुशबू ने मुझे अपना दीवाना बना लिया, मैंने अपने दोनों हाथ उसके पिछवाड़े पर रखकर हल्का सा दबा दिया।मैंने मन में बोला- चल पिंकू, चुदाई से पहले तुझे मार्केट घुमा के लाता हूं।फिर मैं और पिंकू तैयार होकर मार्केट की तरफ निकल गए. फिर जैसे ही मैंने शॉवर चालू किया, अंकित ने गेट पर हाथ मारा और मुझे आवाज़ दी- अनुष्का, जरा गेट खोलो. उन्हें यूं कमरे में आया देख कर मं थोड़ा घबरा गयी पर मन ही मन मैं उनके लंड का मजा लेना चाह रही थी.

हम दोनों ने बाथरूम जाकर खून की सफाई की और फिर से चुदाई के लिए हॉल में आ गए. कभी कभी तो उसकी ब्रा की पट्टी के ऊपर से भी मेरा हाथ घूमता पर फिर भी वो कुछ नहीं कहती. मैंने उसके स्तन मसलते हुए कहा- नीता तुम जब भी मेरा मूड बनाओगी तब!नीता बोली- मतलब!मैंने कहा- मतलब मेरे इस शैतान को अभी जगाओगी, तो अभी खेल शुरू कर देते हैं.

लाल साड़ी वाली बीएफ मेरे पापा एक कॉलेज में प्रोफेसर हैं और पापा कस्टम में जॉब करते हैं. मैं अगली कहानी में बताऊंगा कि क्या मेरे भांजी और भांजे ने मुझे अपना पापा माना या नहीं.

नंगी पिक्चर बताइए वीडियो में

सुरेश ने उसकी बात को आगे कहना शुरू किया- रंडी कहीं की, आज तू चुपचाप हम तीनों से चुदवाएगी. उस वक्त मेरा मन तो कर रहा था कि दीदी को पटक कर चोद दूँ!पर ये सिर्फ मेरे सपनों में ही हो पाया था. मैं जब भी उनकी ब्रा या पैंटी छत पर पड़ी पाता तो उनकी ब्रा या पैंटी से अपने लंड को लपेट कर मुठ मार लेता था और लंड की गर्मी को शांत कर लेता था.

उसका मेल देखकर तो मेरा लंड पूरी तरह से फनफना गया और उसकी चुदाई की कल्पना करते हुए मैंने अपने हाथ से हिला कर अपने आपको शांत कर लिया. वो इठला कर बोली- फिर क्या किया था?मैंने कहा- तुम खुद ही सोच सकती हो कि मैंने क्या किया होगा?वो आंख नचाती हुई बोली- मैं कैसे कुछ सोच सकती हूँ?मैंने कहा- अच्छा चल मैं प्रेक्टिकल करके दिखा सकता हूँ. ब्ल्यू फिल्म हिंदी बीएफलेकिन मनीषा के मन में पता नहीं क्या चल रहा था, वो मुझे जवाब देने के लिए उकसा रही थी.

मामा ने एक जगह उस अनजान लड़की को उसकी सेक्सी पिक भेजने को कहा लेकिन उस लड़की ने मना कर दिया और पिक नहीं भेजी.

इसके बाद भैया मेरे गाल, गले को चूमते हुए मेरे सीने तक आ गए और अचानक से मेरी टॉवल खींच कर फेंक दी. मैं मानेसर पहुंच गया और कुछ फल और खाने का सामान लेकर सीधा बुआ के रूम में पहुंच गया.

देसी इंडियन गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं बुआ के घर गया तो उनकी भतीजी ने मुझे पटा लिया. आज भी वो किसी बाजारू रखैल की तरफ हर रोज मेरे लौड़े से अपनी गांड चुत चुदवाने आ जाती है. मेरे हाथ राकेश की पीठ पर घूमने लगे और मैंने दोनों पैरों से राकेश को बांध लिया था.

कुछ देर में ही सर ने मेरा पल्लू हटा दिया और एक ही झटके में मेरी पूरी साड़ी खोल कर अलग कर दी, फिर मेरे दोनों मम्मों को मींजने लगे.

उसने बताया कि उसकी जेठानी के दो लड़कियां हैं और दोनों सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं. या अम्मी के बूब्स देखते हुए बोल देता- आज तुम्हारे बहुत मोटे लग रहे हैं. वो मेरे पास बैठ कर बोले- दिखाओ कहां लगी है?मैं पीछे होकर झुक गई और अपने कूल्हे दिखाने लगी ‘यहां लगी है देखो ना पापा.

सेक्सी बीएफ वीडियो फिल्ममेरी सेक्स कहानी के पिछले भागपहली बार चुदाई का डरमें आपने पढ़ा था कि मैं और सोनी चुदाई का आनन्द लेने के लिए लॉज में आ गए थे और मैं सोनी की बुर में अपना लंड घुसाने की कोशिश कर रहा था. मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी, वो नीचे से अपनी गांड उठाकर पूरे लंड को अपनी चूत में ले रही थी.

नेपाली चुत

वो दरवाजा बंद करके जोर जोर से उंगली किए जा रही थी और मैं खिड़की से सब कुछ देख रहा था. अब उन दोनों ने मुझे नंगा किया और मेरा लंड देखते ही उन दोनों का मुँह खुला का खुला रह गया. उसका मेकअप देख कर लग रहा था कि उसने इससे पहले आज तक इतना ज्यादा मेकअप नहीं किया होगा.

उसने भी मेरी अंडरवियर में हाथ डालकर मेरा लंड सहलाना शुरू कर दिया।फिर दोनों पूरे नंगे हो गए और मैं उसके ऊपर आकर चूत में लंड रगड़ने लगा।मैंने उसके होंठों पर होंठ रखकर जोर का धक्का लगाया. एक लड़की से मैंने उसकी क्लास का पता किया, वो मेरे से एक क्लास आगे था. मेरे हां करते ही पिंकू बहुत खुश हो गई और उछल कर मेरे गले लग गई।उसके बदन की मदमस्त खुशबू ने मुझे अपना दीवाना बना लिया, मैंने अपने दोनों हाथ उसके पिछवाड़े पर रखकर हल्का सा दबा दिया।मैंने मन में बोला- चल पिंकू, चुदाई से पहले तुझे मार्केट घुमा के लाता हूं।फिर मैं और पिंकू तैयार होकर मार्केट की तरफ निकल गए.

मैंने कुछ देर तक उसकी चूत पर लंड रगड़ा और एकदम से उसकी चूत में लंड ठूंस दिया. मेरा कमरा मेरे जेठ और जेठानी की कमरे के पास ही था इसीलिए जेठानी की चुदाई के वक्त मैं भी अपनी चूत में उंगली डाल लेती और पानी आने तक अन्दर बाहर करती रहती थी. मैंने अपनी मां को बहुत मना किया लेकिन वो नहीं मानीं और उन्होंने उसे अगले हफ्ते भेजने के लिए कह दिया.

मेरा लंड फिसलता हुआ और अंदर बच्चादानी तक जाने लगा।अब मैंने भी अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और जल्दी जल्दी अंदर बाहर करने लगा. चीटिंग वाइफ पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि मेरी शादी एक बहुत खूबसूरत लड़की से हो गयी.

उसे मैंने बाथरूम में पूरी नंगी देख लिया तो मेरा मन उसे चोदने का हो गया.

करिश्मा ने चौंकते हुए पूछा- अरे तुम्हें खाना बनाना भी आता है?मैंने कहा- वकील साहिबा, हम ब्वॉयज हॉस्टल में रह कर जवान हुए हैं. देहाती हिंदी बीपीमेरी इस मॉम डैड सेक्स कहानी में मैंने अपनी मम्मी पापा की मस्त चुदाई अच्छे से देखी थी. हार्ड सेक्सी वीडियो हिंदीइसलिए इस बार मैंने सोनी के साथ थोड़ा निर्दयी बनने का फैसला कर लिया था. बाद में मैं 3 दिन जयपुर में रुका और कैसे उसकी गांड मारी और बाद में उसकी कजिन को भी चोदा, वो सब अगली चुदाई की कहानी में लिखूंगा.

कार चालक ने भी अपना परिचय दिया कि उसका नाम अर्णव है और वो भी कॉर्पोरेट सेक्टर में मार्केटिंग में काम करता है.

मैं उनके पैरों की तरफ आकर उनके पैरों से उन्हें चूमते हुए ऊपर को बढ़ने लगा. आज वो पहली बार किसी औरत से काम सहवास कर रही थी, पर दारू का घूँट पेट में जाते ही उसने भी अपनी जीभ बाहर निकाली और किरण की चूत पर हमला बोल दिया. पर मैं कर भी क्या सकती थी … मेरी शर्म और हया का जो पर्दा था, वह मुझे रंडी बनने से रोक रहा था.

जैसे ही हम बेडरूम में आए, गीता ने मुझे अपनी बांहों में कसकर चूमते हुए कहा- हर्षद कैसे बताऊं तुम्हें कि मैं कितनी खुश हूँ. सुहानी बस अपनी आंखें बंद करके होंठ चूसने के मज़े ले रही थी और अपनी चूत मेरे लंड पर रगड़ रही थी. पर मुझे नहीं पता था कि आगे जाकर मुझे अनंग से और ज्यादा ख़ुशी मिलेगी.

सांसों की गांड मारी

जब मैं उन्हें पेल रहा था तो वो मेरी गांड को जोर जोर से दबा कर ‘हूँ आंह …’ कर रही थी. मैं जैसे ही यह सब तेज तेज करने लगी थी, तभी एक फव्वारा सा मेरी चूत से छूटा और मैं इतनी ज्यादा झड़ी, जितनी आज तक अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ चूत चुदाते वक्त भी नहीं झड़ी थी. मैंने उससे पूछा कि क्यों क्या हुआ?उसने मुझे पहले एक टॅबलेट दी और बोला- इसे खा लो.

तभी पिंकू ने मुझे देखते हुए पकड़ लिया और मुस्कुराती हुई बोली- क्या हुआ भैया?मैं बोला- कुछ नहीं ऐसे ही!पिंकू समझ चुकी थी कि भैया क्या देख रहे हैं।अगले दिन सुबह जैसे ही मैं सोकर उठा.

अन्दर से उसके रोने की आवाज आ रही थी और शैली के बार बार कहने पर भी वह दरवाजा खोलने को तैयार नहीं थी.

जबकि वो हज़ारों बार पापा का लंड डलवा कर अपनी चूत का भोसड़ा बनवा चुकी थीं. दोस्तो, आगे क्या हुआ जब जीजा साले दोनों मिलकर मेरी नंगी जवानी को निहार रहे थे, वो सब मैं आपको सेक्स कहानी के अगले भाग में बताऊंगी. गवती सेक्समैंने समझा कि भाभी मुझसे खुलना नहीं चाहती होगी शायद इसी लिए छिप कर देख रही है.

बाहर लिविंग रूम में आज मुझे चाय वसुंधरा भाभी ने लाकर दी और मेरी ओर देखकर दिलकश मुस्कुराट दे दी. हर बार नए गिफ्ट, चॉकलेट, परफ़्यूम देकर वो किसी भी लड़की को पटा लेता और बहनचोद लौंडिया को चोद-चाद कर छोड़ देता. मुझे खुश देख कर मेरे भाई अंकित ने पूछा- क्या बात है … आज तुम बहुत खुश लग रही हो.

मैंने उसको जोर से थप्पड़ मारते हुए कहा- अब कहां सो रही है बहनचोद, चल आ जा बैठ, मेरे लौड़े पर बहन की लौड़ी. भाभी अपनी साड़ी के पल्लू से खुद पर हवा कर रही थीं और उनके शरीर का पसीना उनके माथे से होकर उनके चूचों की घाटी में जा रहा था.

मैंने चाची की नजर बचा कर सरोज भाभी के कड़क निप्पल देखे और आंख दबा दी.

दोस्तो, मैं हर्षद अपनी सौतेली मम्मी अदिति की चुदाई की कहानी आपको सुना रहा था. तभी वो इठला कर बोली- वीरू जी, बड़ा बैचैन हो रहा है आपका, देखो कहीं बाहर ना आ जाए?उसकी तरफ से इतना खुला इशारा मिलते ही मैंने भी उसकी गांड पर हाथ घुमाते हुए कहा- अगर आ जाए तो आप हो ना, आप संभाल लेना. यह तब की बात है, जब मैं अपने दोस्तों के साथ क्लब में अपनी एक फ्रेंड की बर्थडे पार्टी सेलिब्रेट कर रही थी और हमने जमकर शराब पी थी.

एक्स एक्स एक्स एचडी वीडियो दिखाइए वो तड़फने लगी और अपनी जांघों से ही मुझे पकड़ने लगी, बार बार अपनी कमर उठाने लग गई, मेरे लंड को पकड़ने का प्रयत्न करने लगी. अच्छी बात ये थी कि सारे बड़े लोगों को रहने के लिए अलग घर में कमरे दिए गए थे.

मैंने फिर थोड़ी देर बाद उसके कान में बोला- सच बताऊं, मारियो मत!वो चुप रही तो मैंने बोल ही दिया- अभी अगर बस में कोई ना होता तो शायद हम दोनों कुछ और कर रहे होते और मेरे हाथ में तेरे …इतना कहने पर ही उसने मुझको कोहनी मार दी. मैंने कहा- रुको विपिन, हमें यहीं रुक जाना चाहिए, मत भूलो मैं तुम्हारी बहन हूँ. मैं आइसक्रीम की तरह उनकी चूत चाट रहा था और उनकी कामुक आवाज मुझमें अलग ही जोश भर रही थी.

ओपन सेक्सी वीडियो फिल्म

एक बार मेरे लंड की तरफ और एक बार गीता की चूत और जांघों की तरफ देखकर वो मुस्कुराती हुई बोली- मुझे मालूम था, तुम दोनों आराम नहीं करोगे. हैलो फ्रेंड्स, मैं अविनाश आपको अपनी कहानी के पहले भागपहले चुम्बन का वो अद्भुत अहसासमें सुना रहा था कि हमारे बीच पहले प्यार कैसे हुआ और इकरार हो गया. पर सोनी को ये सब समझ नहीं आता, वो बस ये चाहती थी कि मैं दुकान छोड़कर कोई नौकरी करूं.

पॉल को बिस्तर पर धकेलती हुई रीना बोली- बस कर मादरचोद, कितने लौड़े चूसेगा रंडी की औलाद, चल झुक जा हिजड़े … आज देख कैसे तेरी गांड की मां चोद देती हूँ बहनचोद. ऐसे ही हम दोनों किस करते रहे और एक दूसरे की गांड में उंगली करते रहे.

जैसा कि मैंने बताया कि वह बूढ़े अंकल उस दुकान में किताबें वगैरह बेचा करते थे.

उसकी 30 इंच की मादक कमर और 38 इंच की गांड किसी के भी लंड को खड़ा कर सकती थी. फिर मैं दारू लेने चला गया और शालिनी खाना बनाने के लिए किचन में चली गयी. मैंने उसे मना कर दिया कि नहीं है और उससे उसके ब्वॉयफ्रेंड के बारे में पूछा, तो उसने भी मना कर दिया कि कोई नहीं है.

वो बोली- देखो हर्षद तुम्हारा मूसल मेरी चूत में कितना फिट बैठा है … टस से मस नहीं हो रहा है. अपने फोन पर मैंने एक जबरदस्त हिन्दी डब मां बेटे की चुदाई की सेक्सी मूवी लगा दी. जिसमें एक मौसी का कमरा है, एक भैया-भाभी का कमरा है और एक कमरे में मैं रहता था.

चाची चीख उठीं और बोलीं- मादरचोद जरा धीरे पेल … मैं चूत नहीं गांड मरवा रही हूँ.

लाल साड़ी वाली बीएफ: ’मन मन में मुस्कुराते हुए मैंने उससे वो पैकेट ले लिया और पैसे देकर होटल के लिए निकल लिया. लाल रंग की डिजाइनर ब्रा में उसके दोनों कबूतर बाहर आने को फड़फड़ा रहे थे.

अब मैंने उन दोनों से कहा- पहले मैं रेखा की ब्रा पैंटी एक एक करके निकालूंगा और उसकी चूत चाटूंगा. उस दिन के बाद से लगभग हम तीनों को उन तीन लड़कों की तरफ से कोई भी परेशानी नहीं हुई. तभी उस झगड़े वाले घर से एक आवाज तेज होने लगी और उस आवाज ने मेरा ध्यान खींच लिया.

और तभी एक जोरदार धक्का लगाया जिससे पूरा लंड पिंकू की चूत की गहराई में समा गया।हॉट डिफ्लोरेशन सेक्स में दर्द के कारण पिंकू फिर से उछल पड़ी.

अभी मैं अपने मुँह में जीभ का अहसास कर ही रहा था था कि भाभी का हाथ मेरे लौड़े पर आ गया था. तब मैं रूमी के होंठों पर किस करने लगा तो रूमी भी मेरा साथ देने लगी. उसके बाद मुझे वापिस सेक्स की इच्छा होने लगी, पर बॉस के जाने के बाद महिला बॉस आने से सब कुछ गड़बड़ हो गया.