जी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर इंग्लिश सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी फिल्म सेक्सी चालू: जी सेक्सी बीएफ, जब मैं उसकी चूत को किस करता था तो उसके मुंह से कामुक सिसकारी निकल जाती थी। उसको तड़पती हुई देखकर मेरे अंदर का सेक्स और बढ़ता जा रहा था.

देवर और भाभी का सेक्सी हिंदी

प्रमिला ने किस करते हुए मेरे लंड को देखा, तो बड़ी बड़ी आंखें करके बोली- ओ माय गॉड … इतना बड़ा और मोटा भी … मेरा तो सारा नशा ही उतर गया. हिंदी सेक्सी वीडियो बिल्कुल नंगीमैंने भी धक्का मारते हुए बोला- आह नैना मेरा भी निकलने वाला है … क्या मैं अपना लंड बाहर निकाल लूँ?तो वो गिड़गिड़ाते हुए सी बोली- नो प्लीज अन्दर ही रहने दो … अन्दर ही डिस्चार्ज कर दो.

जब मेरा लंड फिर से टाइट हो गया तो भाभी कहने लगी कि अब मुझे तुम्हारे लंड को चूत में महसूस करना है. सेक्सी वीडियो पिक्चर डाउनलोडिंगएक दिन मेरी सहेली के पति मुझसे बात करते करते मुझे अपने साथ घूमने जाने के लिए बोलने लगे और मैं भी मान गयी.

खैर नीना ने अपनी हमराज सहेली मनीषा से इसका प्राथमिक इलाज पूछा, तो मनीषा ने हंसते हुए चुटकी ली- भाई साहब तो हैं नहीं … किसके साथ टांका भिड़ गया मेरी मैडम का? ऊपर से बेरहम ने इतनी तगड़ी धुनाई कर दी.जी सेक्सी बीएफ: आप सबने मेरी पिछली कहानीमॉम को चोदने की चाहतको बहुत पसंद किया, इसके लिए मैं सभी को धन्यवाद कहता हूं.

मैंने उसका पता ले लिया और फिर व्हाट्सएप पर मैंने उसकी फोटो भी मांग ली.अब फिर से मैंने उसकी चूत के मुहाने पर अपने लंड का सुपारा लगाया हल्का सा अंदर दबाया इस बार चिकना होने की वजह से मेरा सुपारा पायल की चूत के अंदर समा गया.

सेक्सी वीडियो आलिया भट्ट का - जी सेक्सी बीएफ

अगर आप लोगों का प्यार मिलेगा तो आगे और सच्चाई बताऊंगी अपने जीवन की। मैं आपको आगे कहानी में बताऊंगी कि मैं गांव की लड़की इतनी होशियार कैसे बनी और अन्तर्वासना के बारे में मुझे कैसे पता चला.उन्होंने कहा- मुझे रंग नहीं लगाओगे?मैंने लता भाभी के लिफाफे से ही गुलाल लिया और थोड़ा सा चुटकी भर कर उनके माथे पर लगा दिया.

मैं उठी तो अंकल ने अपना लंड हाथ से पकड़ लिया और मुझे बोले- अब बैठ जा डार्लिंग. जी सेक्सी बीएफ वहां मैं एक महिला से मिला और रात उसके साथ बिताने के बाद जब सुबह मैं निकलने लगा तो वो बोली कि अब तुम यही मेरे साथ मेरे घर पर ही रहोगे.

फिर प्रशांत के लंड की सफाई भी बड़े प्यार से करने लगी, जिस क्रम में उसने टेलकम पॉवडर और परफ्यूम भी स्प्रे किया.

जी सेक्सी बीएफ?

मन तो मेरा भी बहुत करता था कि किसी दिन उसको पकड़ कर चोद दूँ लेकिन अभी जल्दबाज़ी ठीक नहीं थी. पापा की अलमारी की चाबी तथा सब हिसाब आदि उसके हाथ में ही रहता था, तो उसे कोई भी टोकता भी नहीं था. फिर मैंने धीरे से अपना एक हाथ उसके पेट पर रखा और उसने ज़रा सी भी हरकत नहीं की.

हमने ये तय किया कि चार दिन बाद अजय दिल्ली आ जायेंगे और फिर हम दोनों मिलेंगे. कभी इंग्लिश में, कभी हिंदी में- याआआह गुड हार्ड कॉक … सो बिग कॉक उह्ह्ह गूऊउ … गूऊउ! मस्त लंड है साले का आह क्या मस्त लंड है साले का!नीचे मेरे लंड के करीब, एकता और प्रमिला एक दूसरे को किस भी कर रही थीं. कौशल्या मेरी रानी अ हह अहा!”आह … पी लो मेरे राजा … अब तो बस ये तुम्हारी दीवानी हो गयी है, इससे पहले इस दूध को इसके मालिक ने कभी ऐसे नहीं दुहा था … अह … सच में बहुत मजा आ रहा है मेरे मास्टर राजा.

मैंने चाची की ब्रा को उतार कर उसके एक चूचे को तो मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. मैंने जल्दी से अपना ऑफिस का काम खत्म करके दो घंटे बाद अपने ऑफिस से भाभी को कॉल किया कि आप तैयार हो जाओ, मैं घर के लिए निकल रहा हूँ. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। मैंने भी अपना हाथ उसके बोबों पर रख दिया और मसलने लगा.

उसने हाथ नीचे किया और बोली- अरे बाप रे … इत्ता बड़ा!उसने दूसरे हाथ से मेरी गर्दन पकड़ कर होंठों से होंठ चिपका दिए. भाभी- नहीं गुस्सा क्यों होऊंगी … आप तो मेरे देवर हो ना!मैं- हां वो तो है … मैं आपका देवर हूँ और वो भी बड़ा केयर करने वाला आपका देवर.

अपने आप ही मेरा सिर अब उसकी दोनों जांघों के बीच झुकता चला गया और मेरे नाक में उसकी चूत की एक मादक सी सुगंध समां गई.

उसके अंडकोष किसी सांड की तरह लटक रहे थे और लिंग, कोई हलचल मचाने को फनफना रहा था.

उस जगह पर चारों तरफ से बाउंड्री बनी थी और अगर कोई ऊपर आ भी जाता, तो वो हमें पहले ही दिख जाता. घर में साड़ी, कभी सलवार कमीज कभी स्कर्ट और कभी जीन्स टॉप में रहती थी. मैंने लंड को चूत में पेलने की कोशिश करने लगा, तो पूजा उठने की कोशिश करने लगी.

जब तक उसको मेरी चूत में पूरी तरह से फँसा ना दिया, वो नकली लंड को मेरी चूत में पेलती रही. वे मेरे होंठों को छोड़कर फिर से ऊपर अपने हाथों के बल हो गईं और जोरों से धक्के लगाने लगीं. जगत अंकल एक हाथ मेरे पीछे तरफ से कमर में डालकर मेरे कान में बोले- आई लव यू मेरी प्यारी बीवी … मेरी वन्द्या.

मैंने देखा कि अन्दर ले जाते ही उसने जोर से बेड पर पटका और अनु के होंठ खाने लगा.

उसने अपने होंठों को मेरी गर्दन पर रखा और मेरी एक चूची को दबा दिया जिससे मैं और ज्यादा मदहोश होने लगी. अब मैंने उसकी गांड में फिर उंगली डाली और उससे कहा कि मुझे तुम्हारी इस बड़ी गांड में भी लंड डालना है. साथ ही मेरे पति बहुत ही हैंडसम भी हैं और उनका लंड का साईज भी आम औसत लंड से बड़ा, पूरे सात इंच का है.

और दूसरी बार महाबलेश्वर की आखिरी रात को हमने फिर से ड्रिंक पार्टी की और रमेश ज़्यादा पीकर लुढ़क गया था, तब हमने फिर से चुदाई का खेल खेला. मैं भी बीच बीच में थोड़ा ब्रेक मार देता और वो मुझसे बार बार चिपक जाती थी. तभी उसने बहुत तेजी के साथ अपनी कमर उछालते हुए मेरे मुँह में अपनी चूत का गर्म-गर्म पानी छोड़ दिया.

साथ ही वो अपनी कमर को भी अब हिला हिलाकर अपनी चुत को भी मेरे मुँह पर घिस रही थी.

इस कहानी में मैं आपको बताऊँगा कि कैसे मैं चूतों के एक ऐसे भंडार में पहुंच गया, जहां मैं जब चाहूं, जैसे चाहूं चुदाई कर सकता था. मेरे हाथ से भी ज्यादा मोटा और करीब 10 से 12 इंच से भी लंबा लंड फनफना रहा था.

जी सेक्सी बीएफ तो मैं उसके पीछे गया और उससे चिपक कर अपना शरीर उसके लहंगे से पौंछने लगा. निश्चित तौर पर यह उस दिन हुई ग्रैंड चुदाई की याद थी, जो तन्हाई में सामना होते ही वे खुलकर हंसे बिना नहीं सके.

जी सेक्सी बीएफ मैं सोनू चूत में दोगुनी ताकत से धक्के मार रहा था और मेरा लंड उसके पेट में जाकर घुस जाता था. भाभी- मतलब कुछ किया विया भी नहीं उसके साथ?मैं हंस कर बोला- हां बस किस वगैरह किया था.

क्या हुआ मेरी जानू … घबरा गयी क्या … जरा इसे मुँह में तो लेकर देखो.

बाईसेक्शुअल

मुझे सन्नी से इतना ज़्यादा प्यार हो गया था कि मैं उसके लिए अपनी जान भी दे सकता था. मेरी सांसें बहुत तेज हो गयी थीं, शायद बहुत दिनों बाद बदन को रगड़वाने वाली जो थी इसलिये. फिर अगले 15 मिनट तक मैंने उसके दोनों स्तनों को चूस चूस के खाली कर दिया.

मेरी मम्मी मुझे मना करने लगी थी कि मैं अपनी इस सहेली के साथ नहीं रहूँ. प्रिया की तरह नेहा की मुनिया भी अन्दर से किसी भट्ठी की तरह सुलग रही थी. मैं भी उसकी चूत मारने के लिए मरा जा रहा था लेकिन अभी कुछ देर और उसकी चूत को चाटने का मज़ा लेने लगा था।अब वो बोलने लगी- अब नहीं रहा जा रहा … मुझे चोदो!और उसने मेरी पैंट खोल कर मेरे लण्ड को अपने हाथ में ले लिया और उससे खेलने लगी.

अब रवि नीचे लेट गए और मुझे बोले- मेरे ऊपर लेट कर अपनी चूत फिट करके मेरे लंड पर बैठ जा.

प्रशांत यहां अपने वादे पर सौ फीसदी खरा उतरा और वही किया, जो उसने कहा था. उसके लिंग में अजीब सा आकर्षण था, जो मुझे और अधिक उत्तेजित कर रहा था. हम दोनों लोग कभी कभी शाम को घूमने जाते थे, तो कॉलोनी के लड़के हम दोनों लोग पर गन्दे कमेंट करते थे.

”मैंने एक तकिया उसके कमर के नीचे लगाया ताकि मुझे थोड़ी अच्छी पकड़ मिले. मैं अपनी सहेलियों की खुशहाल सेक्स लाइफ को देख कर जलने लग जाती थी क्योंकि उनकी चुदाई बहुत अच्छी चल रही थी और वो अपनी लाइफ में बहुत खुश थी. तभी मामी ने मेरे लिए एक पीली साड़ी निकाली और मुझसे बोली- आज ये पहन लो.

तभी उसने एक और करारे धक्के में पूरा लंड अन्दर घुसा दिया और लंड सीधे बच्चेदानी में टच हो गया. अब उसे भी मजा आने लगा था और वो नीचे से कमर उठा उठा के मेरे धक्कों का जवाब दे रही थी.

मैंने एक हाथ से चूची पकड़ी और दूसरे हाथ से उसकी चूत में भी उंगली डाल दी. कुछ दिन के बाद एक दिन शनिवार को सुबह मेरी कुछ आवाज के कारण नींद खुली. दस मिनट के लंबे चुम्बन और अधर रसपान के बाद मैंने अपनी टी-शर्ट उतारी और लोवर भी निकाल दिया.

मैं- चाचा से भी ज्यादा?चाची- हाँ रे … तुम्हारा चाचा इतना देर तक नहीं चोद पाता है.

नैना भी अपने चूतड़ ऊपर उठा कर अपना लोअर निकालने में मेरी मदद करने लगी. उसने बताया कि उसकी फ्रेंड्स भी अपने बॉयफ्रेंड के साथ यह सब करती हैं. मुझसे भी अब रहा नहीं गया और मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी तरफ खींच लिया, जिससे वो खींचती हुई मेरे पास आ गयी.

फिर मैं नहाया और कॉलेज जाना कैंसिल कर दिया … क्योंकि ऐसा मौका पता नहीं फिर कब आता. मैंने कहा- हां होती है … मगर में किसी से कोई ऐसे संबंध नहीं बनाया करती.

छत्तू ने मेरी कमर पकड़ कर अपने लंड को मेरी चूत के छेद में सैट कर दिया और फिर बोला कि ले फंस गया … अब बैठ जा. अंकल बोले- अपने पास ज्यादा समय नहीं है … बस 15 से 20 मिनट में ये लोग चाय नाश्ता करके आ जाएंगे. मैं उसकी टी-शर्ट को ऊपर करते हुए उसकी चिकनी और गोरी गोरी गर्दन पर अपने होंठों से हल्की हल्की पप्पी दिए जा रहा था.

এক্স বিএফ

वैसे तो मुझे उसकी इस हरकत के बारे में मालूम ही नहीं चलता, लेकिन मैंने एक बार अपनी सहेली को उसके बॉयफ्रेंड्स से फ़ोन पर बात करते हुए देख लिया था.

मैं उसे अपनी हरकतों से बहुत हँसाता और बहुत मज़ाक करता था। अब हमें कई बार बात करते-करते रात से दिन हो जाता था और हम पूरी रात सोते नहीं थे।मैं पहले तो उसे बस अपनी एक अच्छी दोस्त समझता था, मगर शायद किस्मत कुछ और ही चाहती थी। फिर एक दिन हम नॉर्मल चैट कर रहे थे और इससे पहले हमारे बीच कोई सेक्सी बात नहीं हुई थी. दोस्तो, मैं अर्पिता एक बार फिर हाजिर हुई हूँ मेरी जवानी की प्यास की कहानी लेकर. रास्ते में उन्होंने मुझे गन्ने का जूस पिलाया और शाम को करीब 4 बजे के लगभग हम लोग घर मतलब मेरी ससुराल पहुंच गए।वहां मेरा स्वागत हुआ, नाच गाना हुआ, गर्मियों के दिन थे.

उसने मेरे ऊपर आकर मेरे हाथ इतनी सख्ती से पकड़े कि मैं छुड़ा भी नहीं पाई. अभी सुपारा डालकर ही मैं पायल की बुर के अगले हिस्से पर ही धीरे धीरे पायल को मजे दे रहा था, नीरू और मेरी पत्नी मेरे लंड को उसकी बुर में देख कर मजे ले रही थी. एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर वीडियो मेंमैंने भी पूछ लिया- अच्छा … ऐसी क्या बात है भला?शिवा थोड़ा हकलाते कर बोला- अरे सर व्वो ….

उसके बाल कंधे तक खुले हुए थे, बालों में शेड भी किया हुआ था, तो वो गजब की खूबसूरत लग रही थी. मैं तो थोड़ा अपने घर वालों से डरती थी इसलिए मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड से ज्यादा चुद भी नहीं पाती थी.

मैंने भी सोचा चलो दूसरा काम भी हो गया और सब कुछ प्लान के मुताबिक़ चल रहा है और अच्छा ही हुआ कि आंटी ने मेरे सिगरेट और शराब की बात बोल दी. चूंकि अब मैं चूत के बिना रह नहीं सकता था और चाची की चूत के अलावा मेरे पास लंड को शांत करने का और कोई उपाय नहीं था. उन्हें शायद यकीन नहीं आ रहा था कि मैं उनके दरवाजे पर उनके सामने खड़ा हूँ.

ये सोच लूंगा कि हम और वो एक उम्र के हैं और इस उम्र में ये सब हो जाता है. मगर सुशीला को पता था कि वो किसलिये सिसकारी मार रही है।मानसी- मैं झड़ने वाली हूँ!मैं- अब हाथ मेरे लंड पे रख के सहलाओ, दोनों साथ में झड़ेंगे. उम्म्ह… अहह… हय… याह… जब वह तुम्हारे इतने बड़े लंड से चुदेगी तो उनको जो मजा आने वाला है मैं उसकी अपनी चूत में अभी से फील करने लगी हूँ।सोनू के मुंह से ऐसी सेक्सी बातें सुन-सुनकर मेरा जोश हर पल और ज्यादा बढ़ता जा रहा था.

सच में इतना मजा आया, पर माल तेरी गांड में ही आया और मेरा काम हो गया.

उधर मॉम तो चिल्ला भी रही थी- अआहह हहह … और तेज चाटो हहह … ससस हहह हहह …और तेज!लेकिन मैं तो चिल्ला भी नहीं पा रही थी. मैंने सिर्फ ब्लू फिल्मों में कुछ अंग्रेजों और नीग्रो के लंड देखे थे.

मैंने उनका हाथ पकड़ कर उन्हें रोकना चाहा कि कहीं किसी ने देख लिया, तो मेरा क्या होगा. आप कमेंट्स के द्वारा ज़रूर बताना कि आपको मेरी यह डर्टी सेक्स वाली गंदी चुदाई की कहानी कैसी लगी. मुझे रूपा को ज्यादा तड़पाना ठीक नहीं लगा, उसकी चूत पर से अपना मुँह हटा लिया और सीधा होकर घुटनों के बल बैठ गया.

तो मैं थोड़ा पानी झाड़ कर बाहर निकला और तौलिया खोजने लगा, लेकिन किस्मत मेरी कि उस कमरे में कोई तौलिया ही नहीं था. उसने एक लम्बी सांस लेते हुए मेरे हाथों को पकड़ लिया और उसी अवस्था में बैठी रही. ”मैंने कौशल्या के मुँह में अपना लंड दे दिया, शायद उसने अपने पति का लंड भी कभी नहीं चूसा था.

जी सेक्सी बीएफ मेरा सूट थोड़ा मॉडर्न था, जिसमें से मेरी चूची का आकर बिल्कुल साफ़ दिख रहा था. दीदी की इस तरह की बातें सुनकर मुझे कुछ ऐसा लगा कि इसकी बातों में भाई बहन वाली फीलिंग नहीं लग रही है.

एम पी 3गो

आह … कितना गर्म मुँह है तेरा। इसको बोल … जितना आज तूने किया है … ये भी करे … वरना मैं तुझे चोद दूँगा आआह्ह्ह!”कुछ देर बाद उन्होंने मेरे मुँह से लंड निकाल लिया- बोल … क्या कहती है? इसको मनाएगी या अपनी चुदवायेगी?उन्होंने गुस्सा दिखाते हुए कहा. बहुत सारे लोग अन्दर आ गए और जहां जिसे जगह मिल गई, वे वहीं बैठने लगे. मैं कुछ समझा नहीं, पर मैंने अपनी गति बढ़ा दी और उसकी दोनों चुचियों को पकड़ कर पीछे से जोरदार धक्के मारने लगा.

कुछ देर किस करने के बाद उसने मेरी टी-शर्ट के ऊपर से ही मेरे बूब्स को दबाना शुरू कर दिया लेकिन अबकी बार मैंने उसे नहीं रोका क्योंकि मुझे भी मज़ा आने लगा था. फिर एकदम से उसने मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चूत पर ज़ोर से दबाया और उसकी चूत से रस की धार बह निकली. व्हिडिओ सेक्सी दिखाइएउनके लंड का मजा अपनी चूत में ले ही रही थी कि बगल में जो ठाकुर साब कहे जाने वाले अंकल बैठे थे.

उसने मुझे उनसे मिलवाया और कहा- ये मेरे पति अभय है और ये कविता भाभी हैं.

बातों के बढ़ते ही उसने फिर से मुझे अपने प्रति रिझाने के प्रयास शुरू कर दिया और खुद ही उसने कह दिया कि यह बात सिर्फ हम दोनों के बीच ही रहेगी. गाड़ी चूंकि पूरी भर गई थी, अब मैं अपने आप को कोसने लगा कि प्रायवेट गाड़ी से जाता तो अच्छा होता.

मैं भी न जाने क्या सोच कर उनके पीछे पीछे चल दिया और डायरेक्ट किचन में जा पहुंचा. मैंने उसको रोका पर उसने पकड़ कर मेरे स्तन दबा दिए।उसने अपने कपड़े उतारे और मुझे पकड़ कर बिस्तर पर ले गई. मेरी आंखों के सामने उसके बड़े बड़े 38 साइज के बूब्स ब्लैक ब्रा में कैद थे.

मुँह से मुँह लगा कर चुम्मी लेने से मेरा 7 इंच का लंड अब पूरा मोटा तंबू बना हुआ था.

मैंने नेहा को जोरों से भींच लिया और चार पांच किस्तों में अपना सारा लावा नेहा के मुँह में ही उगल दिया. ”क्या कहाँ डालूँ मेरी कौशल्या रानी … जरा खुल के नाम तो लो अपने चमन का और मेरे माली का. लेकिन इस बार झड़ने के बाद वो और गर्म हो गयी और नीचे से अपने चूतड़ उठाने लगी.

सेक्सी फिल्म सनी लियोन एचडीनुपूर अचानक से उछल गयी लेकिन मैंने उसको छोड़ा नहीं और चुत में जोर जोर से दोनों उंगलियों को अन्दर बाहर करने लगा. अब तो सुलेखा भाभी जैसे पागल ही हो गयी थीं, वो जोरों से अपनी कमर को उचकाते हुए मुँह से बड़ी कामुकता से ‘इईईई … श्श्शशश … आआ … अह्ह्ह्हह …’ की किलकारियां सी मारने लगीं.

ब्लू पिक्चर देखने की

मुझे तो कोई जल्दी थी नहीं … मैं भी उसे इसी तरह प्यार से चोद रहा था. मैं रूपा की जांघों के बीच में बैठ गया और रूपा की जांघों को चूमता हुआ उसकी चूत की तरफ बढ़ने लगा. फिर उन्होंने मेरे भी सारे कपड़े उतार दिए और एक हाथ से मेरे बूब्स तो दूसरे से मेरी गांड दबाने लग गये.

अभी टोपा ही अन्दर गया था कि मैम चिल्लाने लगीं और उनकी आंख से आंसू आने लगे. एक दिन चाची के पति को किसी काम से एक दिन के लिए कहीं बाहर जाना था इसलिए वो मुझसे कह कर गये- तुम यहीं मेरे घर पर अनीता के साथ ही सो जाना क्योंकि वो घर में अकेली रहेगी और मैं कल तक वापस आ जाऊंगा!चाचा के मुख से यह बात सुनकर मेरा मन अब चाची के साथ सेक्स करने के लिए एकदम मचल रहा था और मैं मन ही मन में सोचने लगा था कि मेरे पास चाची की चुदाई करने का इससे अच्छा मौका कोई हो ही नहीं सकता. दोस्तो, मैं आपको बतला दूं कि पायल की चूत पर तो बाल आने शुरू हो गए थे लेकिन नीरू की चूत पर आज तक भी कोई बाल नहीं है.

इसी के साथ मैंने धीरे से एक हाथ को नुपूर की लोवर में डाल कर उसकी चुत को सहलाना शुरू कर दिया. मैंने वंदना से पूछा- यह सब तुमने किया?उसने कहा- हां मैंने ही किया है क्योंकि आज हमारी सुहागरात है. मैंने घर पर फोन मिलाया- मम्मी, मैं कुछ देर बाद घर पर आऊंगी क्योंकि मैं अपनी एक सहेली के साथ मॉल जा रही हूँ … उसको अपनी बहन के लिए कोई गिफ्ट खरीदना है.

मैंने उसकी लेगिंग को उतारने के लिए कहा क्योंकि वहां पूरे कपड़े उतारना संभव नहीं था. उसकी नई-नई चूचियों को भींचते हुए उसकी चूत में लंड डालने का चस्का मुझे ऐसा लग चुका था कि मैं जल्दी ही अपने चरम पर पहुंच जाता था.

उसके बाद अचानक उसने पैंटी फाड़ कर अपना मजबूत हाथ नेहा की चूत में डाल दिया.

अंधा क्या चाहे, दो आँखें … मुझे बिना अधिक प्रयास के इंदौर की उस रात को रंगीन बनाने का साधन मिल गया था. सेक्सी वीडियो फिल्म आने वालीरिक्शा वाला अपने कपड़े पहन कर 200 रूपये नेहा के मम्मों पर फेंक कर बोला- जानू रंडी से ज्यादा मज़ा तेरी चुत में है. लक्ष्मी के सेक्सी वीडियोकहानी का पिछला भाग:भाभी चुदाई के लिए बेताब थी-1मुझे उसकी मस्ती भरी चुदासी सिसकारियां बहुत अच्छी लग रही थीं. तुम्हारा वो चूमना, मेरे हथियार को चूसना, मुझे आंदोलित कर मेरी वासना को और बढ़ाना, क्या चीज थी यार तुम!तुम मेरा सपना थीं, मेरी वास्तविकता थीं.

पर आप सबसे रिक्वेस्ट है कि कहानी की गलतियों को नजरअंदाज करके भाभी की चुदाई का मजा लीजिएगा.

मुझे तो मालूम ही नहीं था कि लंड चूसना, चुत चाटना, या गांड मारना भी सेक्स होता है. खैर मैंने चाची की पेंटी उतार दी और चाची से कहा- प्लीज़ चाची, आज पहले मुझे तबीयत से जी भर के आपकी चुत को देखने दो. कुछ देर बाद अंकल ने अपना लंड निकाला और अरुणा के मुँह को पकड़कर उस पर सारा माल झड़ा दिया.

जैसे ही मालती मेरी चूत में डिल्डो डाल कर अन्दर बाहर करने लगी, तो मैं भी नीचे से गांड को उछाल उछाल कर उसे अपने अन्दर करवाने में लग गई. कुछ ही देर में उनका लंड सिकुड़ने की वजह से बनी हुई जगह से हम दोनों का कामरस बहकर नीचे चादर गीली कर रहा था. मैंने उससे साफ कह दिया कि दुकान पर मुझे न टोकना, पता नहीं लोग क्या क्या सोचेंगे.

दिल्ली सेक्सी वीडियो हिंदी में

उसके बाद वो मेरी दोनों टांगों के बीच में आ गया और टांगों को पूरा खोलकर अपना लंड मेरी चूत की फांकों में घिसने लगा. उसके बाद मेरे मम्मी पापा मुझे आगे की पढ़ाई के लिए किसी बड़े शहर के अच्छे कालेज में भेजना चाहते थे. उन्हें बहुत मजा आया, उन्होंने मुझे बकी गालियों के लिए माफी मांगी और चुदाई के लिए शुक्रिया अदा किया.

मैंने देवी को बेड पे लिटा दिया और उससे लिपट कर उसके रसीले होंठों का रसपान करने लगा.

मैंने उसके हाथ को अपने हाथ में ले लिया और वह मेरे गले लगकर नीचे से मेरे लंड को सहलाने लगी.

अब अनवर ने मुझे अपनी टांगों में फंसा लिया और बोला कि वन्द्या तुम मेरा लंड पूरा झेल लेना. अब उसने मॉम को एक ही झटके में उनकी टी-शर्ट खींचते हुए पूरी नंगी कर दिया. सेक्सी वीडियो देहाती पोर्नवे उंगली में वैसलीन लेकर लंड के बाहर रहने वाले में हिस्से में लगाते जा रहे थे.

मुझे अभी वह बुड्ढा ड्राइवर चोद ही रहा था कि अनवर आकर सामने से मुझसे लिपट गया और सीधे मेरी चूत में अपनी हथेली रखकर उल्टा लेट गया. पीछे से मेरे देवर का लंड मेरी गांड में लग रहा था और मेरा देवर मेरे पेटीकोट के ऊपर से अपना लंड मेरी गांड में रगड़ रहा था. मांसल जांघों के बीच में तूफानी हथियार, शान से खड़ा हुआ उसका मस्ताना लंड.

हाँ हो सकता है कि वो आपको पसंद न आए, लेकिन याद रखें कि वो है तो एक कहानी ही. उनको भीगा देख कर नेहा आंटी ने कहा- अब तुम भीग तो गई ही हो, तो चलो तुम पहले अच्छे से नहा ही लो.

मैंने अपने मकान मालिक को मालिनी के बारे में कुछ नहीं बताया, मैंने सोचा जब मालिनी आ जाएगी तब बता दूंगा, वर्ना वो मकान किराए को लेकर ड्रामा करेंगे.

इस तरह की बातों के खुलासा होने के बाद मैं और मेरी सहेली का भाई, हम दोनों एक दूसरे के बहुत करीब आ गए थे. मैं अब उसको नोचने लगी गाली देने लगी कि हट मादरचोद कुत्ते कमीने तू साले भड़वे. कहानी का पिछला भाग:भाभी चुदाई के लिए बेताब थी-1मुझे उसकी मस्ती भरी चुदासी सिसकारियां बहुत अच्छी लग रही थीं.

सेक्सी वीडियो बीपी बीपी सेक्सी वीडियो उनके घर मैं दोपहर को पहुंचा, डोरबेल बजाई तो चाची दरवाजा खोलते ही मुझे देखती रह गईं. मैंने उसके बोबों के बीच में तने हुए उसके निप्पल्स को अपनी चुटकी में भरकर मसल दिया तो वो उछल पड़ी.

मैं धीरे-धीरे किस करता हुआ उसकी फुद्दी के पास आया और उसको चूम लिया. शुरू में तो वो थोड़ा सेक्स के मुद्दे पर झिझकती थी, लेकिन बाद में खुल कर बात करने लगी. उसे देखकर अक्सर मैं मुट्ठ मारकर खुद को शांत कर लेता था, मगर उसे जमकर बजाने का सपना मन में लिए बैठा था.

श्रद्धा कपूर सेक्सी

उसने दबा कर मेरे यौवन का रस चूसा औऱ पहली बार किसी लड़के का लंड देखा. तो मैं वहां पर काम कर रहा था तभी वहां लैब का काम संभालने वाली मैम आईं और मेरे से इधर उधर की बात करने लगीं. स्टेशन पर आकर मम्मी ने मुझसे कहा कि संभल कर रहना और वंदना का खूब अच्छे से ध्यान रखना.

हमेशा की तरह हम दोनों गप्पें मारने में व्यस्त थी कि तभी उसने बोला- अरे तुझे मैंने कल एक वीडियो भेजी थी … देखी तूने?मैं- नहीं यार वक्त ही कहां मिला मुझे … और वैसे भी तू पोर्न ही भेज सकती है. मैंने भी अब फिर से धक्के लगा‌कर अपने‌ लंड को‌ सुलेखा‌ भाभी‌ की चुत के अन्दर बाहर करना‌ शुरू कर दिया, जिससे अब फिर से भाभी के मुँह से‌ सिसकारियां फूटनी शुरू हो गईं.

जब तक कि प्रिया की चुत ने अपना सारा रस मेरे मुँह पर नहीं उगल दिया, तब तक वो मेरे सिर को ऐसे ही दोनों हाथों और जांघों से अपनी चुत पर दबाये रही.

सच बताऊं तो मेरा बहुत मन कर रहा था कि अब्दुल अब बिना देरी किए अपना लम्बा मोटा लंड मेरी चूत में पूरा घुसा दे और फिर मेरे को जमकर चोदते हुए मसल दे. जिस स्पीड में वो मुझे चोदती, उसी स्पीड में वो मेरे निप्पल को नोचती. मेरी बहन उसको देख कर बहुत खुश होती और उसके सामने वो अपने बूब्स और गांड मटका मटका के चलती.

करीब 5 फुट 5 इंच की लम्बाई और 34सी के चूचों के साथ मालिनी 23-24 साल की लड़की लग रही थी. पहले शायद वो डरती‌ थी, मगर अब प्रिया के बारे में पता लगने‌ के बाद इसमें हिम्मत आ गयी थी. क्योंकि मुझे अकेले ड्रिंक करने की आदत नहीं है।मैंने उसे ‘हाँ’ कर दी।वो दो ड्रिंक ले के आई.

मैंने सामान्य होकर कहना शुरू किया- सॉरी यार … मुझे तो अभी भी यकीन नहीं हो रहा कि मेरे दादाजी ऐसी हरकत करेंगे.

जी सेक्सी बीएफ: मेरे हाथ अपने पैरों के नीचे दबा लिए और अपनी चुचियों को मेरे लंड पर रगड़ने लगी. नहाने के लगभग दो घंटे बाद मैंने मेरी आगे की बालकॉनी से नीचे देखा, लता बाहर खड़ी थी.

फिर लड़कियां वहां से चली गयीं।राहुल मुझसे बातें करने लगा, राहुल ने पूछा- भाभी आपको कुछ चाहिए तो नहीं? कोल्ड ड्रिंक वगैरह?मैंने मना कर दिया।फिर थोड़ी देर बाद हम लोग ऊपर छत पर चले गए. तो मैंने उसे चुप कराया, उसकी आँखों पर चुंबन किया और उसके बदन के साथ खेलने लगा. मैं और मेरे जीजाजी दोनों नीचे वाली सीट पर बैठे थे और मेरी बड़ी बहन ऊपर वाली सीट पर बैठी थी.

वे बोले- मेरा नाम पूरा विक्रम प्रताप सिंह है, सब लोग मुझे दादा साहब कहते हैं, पर तुम्हारे लिए सिर्फ तुम्हारा राजा, तुम्हारा डार्लिंग, तुम्हारा ब्वॉयफ्रेंड हूं.

दूसरे हाथ से चाची की फूली हुई बड़ी सी चूत को मुठ्ठी में भर पकड़ कर जोर जोर से मसलने लगा. क्योंकि थोड़े पल पहले ही मुझे जगत अंकल और उसके बाद छत्तू ने चोदा आधा अधूरा चोद कर छोड़ दिया था. भाभी मेरे लंड को अपने हाथ से हिलाने लगीं और अपने मुँह में लेकर लंड चूसने लगीं.