हिंदी बीएफ सी वीडियो

छवि स्रोत,आम्रपाली का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ वीडियो bf: हिंदी बीएफ सी वीडियो, पर मैं अभी नहीं झड़ा था क्योंकि मैंने थोड़ी देर पहले ही नहाते हुए मुठ मारी थी.

देहाती लेडीस सेक्सी

ड्राइवर अंकल मेरी पीठ को कस के पकड़ के धक्का लगाने लगे, तभी वह जो रमीज के साथ पहलवान की तरह अनवर आया था. याद पिया की सेक्सी वीडियोमैंने झट से भाभी को गोद में उठा लिया और उनके गालों और होंठों को चूसने लगा.

मैं- चाचा से भी ज्यादा?चाची- हाँ रे … तुम्हारा चाचा इतना देर तक नहीं चोद पाता है. सनी लियोन का सेक्सी वीडियो 2020 काअब आगे:मैंने भी अब उसे ज्यादा नहीं तड़पाया और अपनी जीभ को नुकीला करके उसकी संकरी गुफा में पेवस्त कर दिया, मगर जैसे ही मैंने अपनी जीभ को उसकी चुत की गहराई में उतारा, मेरा मोटा सुपारा उसके मुँह में होने के बावजूद वो ‘उह … उउऊऊ … अह्हहहं …’ कहकर जोरों से सिसक उठी और अपनी चुत को मेरे मुँह पर जोर से दबा दिया ताकि मेरी जीभ अधिक से अधिक उसकी चुत की गहराई में उतर जाए.

फिर मैंने चाची के मम्मों को दबाया और फिर उनके मम्मों को पीने के लिए ब्लाउज के हुक खोलने लगा.हिंदी बीएफ सी वीडियो: दूसरी बोली- अरे वाह … तुम्हारे तो मज़े हैं फिर सारी रात अन्दर डलवा कर पड़ी रहती हो.

मौका पाकर मैंने उनकी शर्ट को भी निकाल दिया, जिससे मेहनती जिस्म वाला वह ग्वाला बनियान में बिल्कुल नग्न होकर कहर ढा रहा था.कुछ दिन बाद फिर से हम दोनों की नाईट ड्यूटी एक साथ लगी थी। हमने फोन पर बात की और एक साथ ही पहुँचे.

सेक्सी व्हिडीओ थ्रीजी - हिंदी बीएफ सी वीडियो

मैं- अह्ह … अमित अह्ह!फिर उसने अचानक से मेरी चूची को मुंह में ले लिया और झटके मारते हुए उसका माल मेरी चूत में गिरने लगा.अब आगे …मेरे लंड को अपनी चुत से खाने के बाद सुलेखा भाभी ने एक बार फिर अब मेरी तरफ डबडबाई सी नजरों से देखा.

छछो …ड़ो …” वो टूटे फूटे शब्दों में बोल ही रही थी कि मैंने अपने होंठ उसके रसीले होंठों पर रख दिए और उसके नर्म नाजुक अधरों को हल्के हल्के चूसने लगा. हिंदी बीएफ सी वीडियो इधर मेरी वाली में जिसमें मैं बैठी थी, उसमें राज अंकल जगत अंकल, वही बुड्ढा ड्राइवर मन भरण और सिर्फ एक ही नया व्यक्ति चढ़ा, जिसका नाम रवि सिंह बताया.

मैंने अपना हाथ मेरी पैंटी के ऊपर रखा, तो वह पूरी गीली हो गई थी, जैसे कि मैंने पेशाब कर दी हो.

हिंदी बीएफ सी वीडियो?

मैं घबरा कर बोला- मैंने कब?वो बोली- उसी दिन … तू मेरी पूरी बॉडी को देख रहा था … तू आंखों से ही मेरा ब*त्कार कर रहा था. मैंने उसकी चूत को किस करते हुए उसके होंठों को किस किया और उसने मेरा लंड मुँह में लेकर चूसा. यह सुन कर मालती ने कहा- अब मतलब तुझे लौड़े का मज़ा मिलना शुरू हो गया है.

इस लिए तुम मेरे घर मुझसे जब पहली बार मिलने आयी, तो मैंने कहा भी था कि नीलू मेरे विचार तुम्हारे बारे में बदल रहे हैं, तुम मुझसे मिलना बंद कर दो, नहीं तो मेरे अन्दर का जानवर, जो कई दिनों से भूखा है, जाग जाएगा, फिर जो तूफ़ान मेरे और तुम्हारे जिन्दगी में आएगा, वो ना तुमसे संभलेगा … न मुझसे. हम दोनों करीब बीस मिनट सेक्स करने के बाद झड़ गए और हम दोनों का एक साथ पानी निकल गया. अब मैं एक हाथ से लंड को मसलते हुए दूसरे हाथ से उनके मोटे मोटे आन्डों को खुजाने लगा.

मैं बाइक के छोटे से पैरदान पर बड़ी मुश्किल से अपने दोनों पैर रखकर खड़ा हो पाया था. फायनली मैंने हां बोलते हुए कहा- ठीक है … तुम लोग जाओ, मैं पीछे से सामान आदि लेकर आता हूँ. थोड़ी परेशानी होती है, पर क्या करें … जिंदगी में जीना है, तो काम कर प्यारे …मैंने भी मस्त मिज़ाज में अपनी बात कही.

तुम जोर से चिल्लाईं- उई मरी रे … मेरी माँ … साले … गांडू … मादरचोद धीरे धीरे कर ना. मैंने सफ़ेद रंग की मॉडर्न ब्रा पहनी हुई थी, जिसमें से मेरी चूची एकदम साफ़ तनी हुई दिख रही थीं.

जब हम उठे तो मैंने वियाग्रा की गोली खा ली ताकि अगला राउंड 20 मिनट नहीं बल्कि एक घंटे तक चले.

मैंने हर बार तुम्हारे लंड को देखा है, जब भी तुम यहां आते हो, पर तुम मुझ पर ध्यान ही नहीं देते हो.

दूसरी बोली- अरे वाह … तुम्हारे तो मज़े हैं फिर सारी रात अन्दर डलवा कर पड़ी रहती हो. जेठ जी अपनी उंगली को गोलाकार घुमाते हुए मेरी चुत के अन्दर बाहर करने लगे. वैसे भी आजाद ख्यालों की चुदक्कड़ लैंड लेडी नीना के लिए यह घटना वरदान साबित होगी, यह बात उसे अच्छी तरह पता थी.

उसने बोला- आज आप क्या देख रहे थे?मैंने झिझकते हुए मैसेज किया- कब?तो बोली- ज्यादा भोले मत बनो. वो चुप हो गई और अपने हाथ से मेरे लण्ड को पैंट से बाहर निकाल कर आगे-पीछे करने लगी मैंने भी अपने एक हाथ से उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और हाथ अंदर पैंटी में डाल दिया. आंटी जी के हाथ में एक पोलीथिन थी, उसमें से उन्होंने एक साड़ी निकाली और बोलीं कि ये मालिनी के लिए है.

उन्होंने उस दिन मेरे दर्द को समझते हुए अपने लंड से मेरी चुत का भी मजा नहीं ले पाया था.

उसके बाद मैंने उसकी जींस पहनी और उसे एक किस देते हुए वापस अपने घर आ गया. अब तो सुलेखा भाभी जैसे पागल ही हो गयी थीं, वो जोरों से अपनी कमर को उचकाते हुए मुँह से बड़ी कामुकता से ‘इईईई … श्श्शशश … आआ … अह्ह्ह्हह …’ की किलकारियां सी मारने लगीं. फिर मैंने सपना को पटाने के लिए और आगे बात बढ़ाई, मैंने कहा- तो यार इसमें गलत क्या है, सेक्स करना तो सबकी शारीरिक इच्छा होती है.

तभी मेरी सहेली के पति ने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाल लिया और मैं झड़ न सकी. मैं मेरे पति को भी नहीं बोल सकती थी, कहीं उनको ऐसा ना लगे कि मैं उन दोनों के बीच में गलतफहमी पैदा करने की कोशिश कर रही हूँ. इस क्रम में नीना ने सबसे पहले प्रशांत का लोअर नीचे सरकाया और फिर उसका वी-कट अंडर वियर.

मालती को मिल चुकी थी और वो मुझसे कहा करती थी कि नौकरी का रास्ता लड़की के मम्मों से होता हुआ चूत से ही जाता है.

मैंने फिर से नुपूर को उसकी गर्दन पर अपने होंठों से चूमना शुरू कर दिया और उसकी दोनों मौसम्मियों को कस कर दबाने लगा. नेहा आंटी भी गजब माल लग रही थीं उन्होंने टी-शर्ट और टाइट लैगीज पहनी हुई थी.

हिंदी बीएफ सी वीडियो तभी करण पाल जोर जोर से आवाज देने लगा- अनु … मेरी अनु जी …अनु बाहर आ गई, उसने नाइटी पहन रखी थी. अंदर जाकर मैंने रूम को लॉक कर लिया और चाची के पैरों से फिर शुरूआत कर डाली.

हिंदी बीएफ सी वीडियो ले लंड खा मादरचोदी!सबीना आंटी भी रंडीपने पर उतर चुकी थीं- चोद न दल्ले … चोद अपनी शेख रांड को … भैन के लौड़े तुम साले हमें चोदने को ही बैठे रहते हो. वो उत्तेजित होकर बोली- अहह … मस्त मजा आ रहा हैवो चुदासी सी आवाज निकाल रही थी.

तो मैंने देखा कि टेबल पर वैसलीन रखी थी तो मैंने भाभी की चुत पर वैसलीन लगा दी.

ममता का सेक्सी वीडियो

7 बजे के करीब राहुल मेरे पास आये और मुझसे बोलने लगे- भाभी कोल्ड ड्रिंक पिओगी क्या?यह बात उनकी बहन ने सुन ली और वो बोली- अपनी भाभी को ही पिलायेगा? अपनी बहन को नहीं पिलायेगा?वो बोले- ठीक है, मैं लेने जा रहा हूँ सभी के लिए. मैंने भी लता के पॉलिथीन से मुट्ठी भरकर गुलाल उनके गालों पर रगड़ा और उन्हीं की तरह हाथों को उनके गले से रगड़ता रहा. दोनों अपना एक एक हाथ मेरे बालों में डाल के अपने चूचे में मेरा मुँह में घुसाने लगीं और लम्बी लम्बी सिसकारी लेने लगीं.

अब जब भी वह घर पर अकेली होती है तो मैं उसकी चूत चुदाई करके उसको संतुष्ट करने पहुंच जाता हूँ. फिर उसने अपना लहंगा निकाल कर मेरे सामने ही एक पतली सी चुन्नी बाँध ली और मुझसे थोड़ा गुस्से में बोली- पीठ ऊपर कर के लेट जाओ. मेरा रूम, मकान की चौथी मंजिल पर था और मेरे घर के सामने वाले घर में एक आंटी रहती थीं, जो इस कहानी की नायिका हैं.

उसको देखते ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया और मेरे दिमाग में शैतानी आने लगी.

मैंने देखा कि गुड़िया तो चुदने की तैयारी के साथ अपनी बुर को क्लीन शेव करके आई थी. सब काम करते करते मुझे लगभग 11 बजे गये थे और मैं भी अपने कमरे में चली गई, लाईट बन्द कर ली जिससे सबको लगे कि मैं सो गई हूँ. उसकी दर्द भरी आवाज सुनकर मुझे मेरे लंड पे बहुत गौरव हुआ, सच में बड़ा मर्दाना एहसास हुआ था.

मैंने कहा- भाई यह क्या कर रहा है तू? यह क्या तरीका है तुम्हारा? यह मैं बर्दाश्त नहीं करूंगा. तभी वो बोली- पता है मुझे … मैंने ही पापा को बोला था तुम्हें मेरे साथ भेजने के लिए!मैं तो जवाब सुनकर हैरान रह गया. मैंने उसके लंड को हाथ से छूकर देखा तो मेरे बदन में बिजली सी दौड़ गई और राहुल ने मुझे फिर से अपनी बांहों में भर लिया.

वह बोली- मुझसे ज्यादा तो आपको ही पता होगा इन सब चीज़ों के बारे में. उसने कहा- सर, क्या किसी का फोन इस तरह से चेक करना सही बात है?मैंने दबी सी आवाज़ में कहा- नहीं, मैं तो बस ऐसे ही देख रहा था.

लगा ली क्योंकि मेरे पति तो सोशल मीडिया साइट यूज़ नहीं करते थे और मैं शिखा के हस्बेंड के साथ ली गई उसकी पिक को लाइक करती और कमेंट भी करती। और मेरे किये कमेंट को उसका पति लाईक करता और आखिर एक दिन मेरा अंदाज़ा और तीर सही जगह लगा. सुनीता का पति एक प्राइवेट नौकरी करता था, जो एक दिन रात को घर में रहता था और अगले दिन की रात में नौकरी पर रहता था. मेरा लंड पहले से ही मूवी और दोस्त की गर्लफ्रेंड की हरकत की वजह से एकदम खड़ा था.

अनु मेरी बीवी है … चुपचाप छोड़ दो इसे … नहीं तो अंजाम बहुत बुरा होगा.

बाद में हमें नींद आने लगी, तो हम दोनों भी एक दूसरे की बांहों में सो गईं. पता नहीं कब मेरी जान का चुदाई का मूड बन जाए और वे मुझ पर चढ़ने को आतुर हो जाएं. उसने जब ये बात मुझसे कही, तो मैं समझ गई कि इसको अपनी बहन की चुदाई की आदत के बारे में सब पता है.

जबकि हो सकता था कि उन्होंने बिजली आ जाने के कारण मुझे जाने का कह दिया हो. मैंने जैसे ही सुनीता के बेडरूम के दरवाजे को हाथ लगाया, तो वो खुला था और सुनीता सो रही थी.

मैंने सोचा अगर ये पट जाए, तो चूत का जुगाड़ यहीं हो जाए … और ये कितना अच्छा रहेगा. लेकिन जिस वक्त उसने मुझसे अपने दिल की बात कही थी, उस वक्त मैंने उससे कुछ नहीं कहा था. मेरे घर का गैस सिलिंडर खत्म हो गया तो माँ ने सबीना आंटी से बात की कि अगर आपके पास गैस का एक्स्ट्रा सिलिंडर हो, तो आप दे दो, हमारा आते ही हम आपको भिजवा देंगे.

कुत्ते लड़की का सेक्सी वीडियो

वो नंगी मेरे सामने अपने घुटनों पर बैठ गई और मेरा लंड हाथ में पकड़ कर चूमते हुए टोपा मुँह में ले लिया.

पर तभी ट्रेन ने एक हिचकोला सा लिया, तो उनका पूरा लंड मेरी चूत में घुस गया. फिर दिन भर अपनी उसी व्यस्क साइट पर लगी रही और शाम 7 बजे माइक और मुनीर का कैमरा मेरे सामने था. दीदी ने इस बार भी सब्जी वाले के पास आके सब्जी लेते वक्त अपनी चूचियों की झलक दिखाई.

ऐसे करते हुए उनकी पता नहीं कब सैटिंग हो गई, मुझे मालूम ही नहीं चला. मालिनी मेरे पास आकर खड़ी हो गयी, मालिनी को देखकर आंटी बोलीं- लगता है पूरी रात बहुत मजा दिया है, बहू को अपने वश में कर लिया है. அமலா பால் செக்ஸ் வீடியோஸ்मुझे अंग्रेजी नहीं आती है, मैं गांव की स्कूल में पढ़ रही थी, वहां ज्यादा अंग्रेजी नहीं पढ़ाई जाती है और ना मुझे आती है.

सरिता खुद मुझे एअरपोर्ट लेने आई थी, लाल ड्रेस ऊपर दुपट्टा डाले, वो गजब की माल लग रही थी. बाद में हमें नींद आने लगी, तो हम दोनों भी एक दूसरे की बांहों में सो गईं.

जेठ जी बोले- नीतू तुम्हारी बातें सुनकर मैं खुशी से पागल ना हो जाऊं. उस रात करण पाल ने अनु को दो बार और रगड़ रगड़ कर चोदा, उसकी गांड भी मारी थी. पति देव अपना पूरा लंड मेरी गांड में डालकर फिर से पूरा लंड बाहर निकाल लेते थे, सिर्फ सुपारा ही मेरी गांड में रहता था.

एक कस्टमर, जिसका नाम बिरजू (बदला हुआ नाम) है, उसने मेरी कंपनी से एक 1109 ट्रक फाइनेंस करवाया था. वह दर्द से कराहने लगी लेकिन मैंने सोचा कि अब अगर रुक गया तो फिर दोबारा डालने में इसको और ज्यादा परेशानी होगी इसलिए मैंने एक झटका और मारा तथा 7. कुछ देर की चुदाई के बाद मैंने लंड को लगभग सुपारे तक बाहर निकाल कर अपना थूक मैंने उसकी चूत में गिरा दिया ताकि थोड़ी चिकनाई मिल जाए.

मामी और मैं साथ में गए और बच्चों को रेशमा मामी के मॉम और डैड के पास छोड़ कर हमने खाना भी वहीं खाया.

वह मेरे लिए पानी का गिलास लेकर आई, मैंने पानी पिया और कुछ पानी बच गया, तो गिलास मैंने उसे दे दिया. अब तक मैंने आप को अपनी उम्र नहीं बतायी, मेरी उम्र अभी 22 साल है और काफी लड़कियों के साथ में मैंने सेक्स किया हुआ है.

मैं जैसे ही राजा जी बोली, वो ठाकुर अंकल बोले- वाह तेरी आवाज भी बहुत सेक्सी है वन्द्या. उसके बाद उसने अपना हाथ नीचे ले जाते हुए अपने अंडरवियर को निकाल दिया और फिर उसने मेरा एक हाथ अपने लंड पर रखवा लिया और मैं भी उसका लंड आगे-पीछे करने लगी और वो मेरी चूत में उंगली करने लगा. उनकी सास ने पूछा- कहां थीं तुम?मैंने कहा कि भाभी मुझे चाय नाश्ता खिलाने ले गई थीं.

चूत अब अपना रास्ता पूरा खोल चुकी थी, इसलिए अब मुझको इस डिल्डो को अन्दर करवाने में कोई तकलीफ़ नहीं हुई क्योंकि यह पहले वाले से कुछ कम मोटा था. फिर मैंने उससे पलंग पर उल्टा लिटा कर उसके हाथ मोड़ कर उससे चोदने लगा, इस आसन में वो एकदम से मजे में आ गई और सीत्कार भर कर बोल रही थी- आह. मैंने कहा- भाभी! आपकी कसम है, मैंने कुछ नहीं किया है।वह बोली- हेमा मुझसे ज्यादा सुन्दर है क्या?मैंने थोड़ा मक्खन लगाते हुए कहा- कहाँ हेमा और कहाँ आप, आप तो अप्सरा जैसी हैं।भाभी खुश हो गईं.

हिंदी बीएफ सी वीडियो करीब 5 मिनट लंड चूसने के बाद मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ, तो मैंने सन्नी को रोक दिया. मैंने भी सोचा मौका है, मैंने मालिनी को बांहों में लिया और कहा- मालिनी तो मेरी जान है.

ब्लू पिक्चर नंगी सीन में

मैंने फिर से जोर लगाया और चुत को फाड़ते हुए पूरा लौड़ा चुत में घुसेड़ दिया. मनीषा- इसी कारण एक साल पहले मेरी हिम्मत नहीं हुई तुम्हें ये बोलने की … उस शादी के बाद मुझे लगा कि हम फिर कभी नहीं मिलेंगे. जब मैंने अपने फ्लैट के दरवाजे पर पहुँच कर बेल बजाई, तो भाभी ने दरवाजा खोला और मैंने उनको देखा तो भाभी जीन्स और टी-शर्ट में खड़ी थी और बाल खुले रखे हुए थे.

मुझे समझ नहीं आया कि कोई भी इंसान इस स्टेज पे आकर किसी को चोदने या चुदवाने से कैसे रोक सकता है. फिर उसने मेरे लंड पर हल्के से जीभ फिराना शुरू कर दिया तो मेरे लंड में दोगुना तनाव आ गया. न्यू सेक्सी वीडियो हिंदी एचडीमैं उसका कुरता ऊपर उठाने लगा, उसने अपनी बांहें ऊपर उठा के मुझे कुरता निकालने में मदद की.

उसका लंड काफी बड़ा था जोकि मुझे उसकी लुंगी के उभार से ही साफ़ दिख रहा था.

जानू … आज तुम मेरे साथ नहीं हो, किन्तु तुम्हारी हर याद मैंने, मेरे दिल में एवं मेरे मोबाईल फोन के कैमरे में संजोकर रखी है. मैं जानती हूँ कि तुम समझ चुके हो कि मैं तुमसे क्या कहना चाहती हूँ क्योंकि तुम समझदार हो इसलिए प्लीज यह काम हम दोनों के बीच बहुत ग़लत काम है.

फिर कुछ देर बाद भाभी ने आ कर चाय दी, तो मैंने उनसे कहा कि मैं ऊपर छत पर जा रहा हूँ. नमस्कार दोस्तो,सबसे पहले मैं अन्तर्वासना के सभी लेखकों को धन्यवाद देना चाहूँगा; आप सबकी कहानी पढ़ कर ही मुझे अपने पहले सेक्स अनुभव को आपके साथ साझा करने का मौका मिला. वो बोली- आपके वहां से यहां तक आने के लिए कितने पैसे लगेंगे?मैं बोला- बहुत ज्यादा तो नहीं, बस हजार पांच सौ रुपये लगेंगे.

मैं उसके रस भरे मम्मों को मसलता और ऊपर से उसके जिस्म का मजा लेने लगा था.

लण्ड मेरा अकड़ सा गया था, दर्द सा भी हो रहा था पर मैं चाहता था कि सलोनी खुद पहल करके मेरा लण्ड पकड़े, मेरे कपड़े खुद उतारे … इसलिए थोड़ा उसकी कामुकता को और जगाना था कि वो खुद काम वासना में वशीभूत हो कर खुद ही पहल कर दे. मैं बात खत्म करना चाह रहा था, लेकिन शायद छाया उस बात को लम्बा खींचना चाहती थी. मैंने अब कसके अनवर को बांहों में पकड़ लिया और अपनी कमर आगे पीछे करने लगी.

रशियन सेक्सी फिल्ममुझे लगा कि ये फूंक मार कर ठीक करने की कह रही हैं, तो मैंने कहा- फूंकने से क्या होगा. मैं उसको व्हाट्सअप में गुडमॉर्निंग भी भेजता, वो भी रिप्लाय में गुडमॉर्निंग भेजती थी.

गूगल क्रोम वीडियो

उनको काम से फुरसत ही नहीं है, कभी फ़ोन कर लो तो बस झिड़क कर फ़ोन काट देते हैं. मैंने अंकल की तरफ जोर से घूरा कि बगल से दो अनजान व्यक्ति हैं … और आगे मम्मी हैं … तो वो इस तरह की हरकत न करें. जब रात को मेरे सास, ससुर सो जाते थे, तब मैं रसोई में जाकर कोई भी लंड के आकार की चीज, जैसे केला या ककड़ी को अपनी चुत में डाल लेती थी, उसी से मेरी चुत की आग थोड़ी देर के लिए शांत हो जाती थी, पर मेरी चुत को तो बड़े लंड की आदत पड़ी थी.

वंदना बोली- मुझे नहीं चाहिए ऐसा मजा … बहुत दर्द हो रहा है, तुम इसे निकालो. यह खेल‌ खेलते खेलते मुझे‌ बहुत देर हो गयी थी, इसलिए मैं अब चरमोत्कर्ष के करीब ही था‌ मगर सुलेखा भाभी का एक बार रसखलित हो चुका था इसलिए मुझे पता था कि अबकी बार वो स्खलन में थोड़ा समय लेंगी. मेरा उत्तेजित लंड अब उसकी कामरस से भीगी हुई मुनिया को छू रहा था, जिससे उसकी मुनिया की तपिश मुझे अब अपने‌ लंड पर महसूस हो‌ने लगी थी.

मेरे दोनों हाथ उसकी चुचियों को मसल रहे थे और मैं उसकी चूत चाटने का आनन्द ले रहा था. मेरे गांड में लंड न लेने की बात को वह मान तो गए लेकिन बिल्कुल गांड ही ही तरह मुख की चुदाई का आग्रह करने लगे, जिसे मैंने सहर्ष स्वीकार किया. मैं मैम की चूत की महक ले रहा था और मेरी गर्म सांसें उनकी चूत पर लग रही थीं.

मैंने साथ ये भी कहा कि मैं जल्दी ही कंपनी को बोल कर किसी दूसरी सोसाइटी में फ्लैट ले लूँगा ताकि बात यहीं दब जाए. तुमने तो अपना परिचय भी नहीं दिया … अच्छा चलो यहीं बैठो मेरे पास … थोड़ी बातें करते हैं.

आप कमेंट्स के द्वारा ज़रूर बताना कि आपको मेरी यह डर्टी सेक्स वाली गंदी चुदाई की कहानी कैसी लगी.

अब काम खत्म हुआ, तेज़ गर्मी के चलते मामा ने पंखे का बटन दबा दिया और पास ही रखी खटिया के अस्त व्यस्त से बिस्तर पर जाकर धड़ाम से लेट गए और अपने बम्बू से तने लंड को पकड़कर हिलाते हुए बोले- सुकून नहीं था ना लंड लिए बिना तुझे, ले. सेक्सी व्हिडिओ ओपन दिखावमैंने उसके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया तो वह और ज्यादा आनंदित होने लगी. मुंबई सेक्सी विडिओतो वंदना बोली- अब यहीं खड़े-खड़े सुहागरात मनाओगे क्या?? बेड पर भी चलोगे या नहीं?मैंने उसे गोद में उठा कर बेड पर लेटाया और जो अपने साथ बाजार से गोल्ड रिंग लेकर आया था, वह उसको दी. बात करीब छह महीने पहले की है, मेरा और नेहा का एग्ज़ाम था और हमारा एग्ज़ाम सेंटर एक ही शहर में था.

अब मैं रूपा की एक चूची दबा रहा था और एक मुँह में लेकर चूस रहा था, रूपा मस्ती में ‘सी … आऽऽहहह.

फिर चुपचाप मैं उसको वहीं रख के चला आया, जहां से मैंने उसे उठाया था. मैं एक विवाहित युवती हूँ। अन्तर्वासना के बारे में मुझे पता चला मेरे पार्लर पर काम करने वाली लड़की सोनम से. ”उसकी ना में मुझे हां साफ झलक रही थी, उसके निप्पल चने की तरह सख्त हो गए थे.

कंचन मैम ने लंड को मुँह से चचोरते हुए ही इशारे से कहा कि मेरे मुँह में ही झड़ जाओ. उसने छटपटा कर मुँह से लंड निकालने की कोशिश की, पर मैंने उसका सर कस कर पकड़ रखा था. इईई … श्श्श्शशश … ओय्य्य … अह्ह्हह …” नेहा ने सिसकते हुए कहा और दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़कर अपनी चुत पर से हटा दिया.

यौन सक्रिय

लेकिन उस दिन मज़ाक-मज़ाक में बात थोड़ी आगे बढ़ गयी। उस दिन ये हुआ कि मैं कभी-कभी बहुत ज्यादा मज़ाक करता था और लोगों का इतना मज़ाक बनाता था कि उन्हें रोना आ जाए और इस बात पर हम बात कर रहे थे, जो कुछ ऐसी थी. हम दोनों कुर्सी पर बैठकर चाय तो पीने लगे, लेकिन मेरी निगाहें बार बार उसकी नाइटी में से अन्दर झाँकने की कोशिश कर रही थीं, जिसकी सूचना पूजा को मेरे खड़े लंड ने दे दी थी … जो तौलिया में उठा हुआ साफ देखा जा सकता था. अपनी दोनों उंगलियों से चाची की चूत को दबाया और फिर मैंने अपनी दोनों ही उंगलियों को चाची की चूत में डाल दिया.

अनुप्रिया नीचे थी और मैं अनुप्रिया के ऊपर थी कि तभी जोर कमर उछालते हुये अनुप्रिया मेरे मुँह में फच्च से झड़ गई.

उसने चुदास भरे स्वर में कहा- डार्लिंग अब बस भी करो … और जल्दी से अपना मूसल मेरी चुत में डाल दो.

अब आगे:प्रोफेसर साहब और उनके दोनों बच्चे सुबह 8 बजे स्कूल और कॉलेज चले जाते थे. उसी दिन से मेरा दिमाग हर मिनट ऐसी ही बातें सोचने लगे गया और बाथरूम में जाकर मैंने मुठ मारकर खुद को शांत किया. सेक्सी नंगी फिल्म हिंदी वीडियोफिर दोनों लगभग साथ ही झड़ गए और अनिल ने अपना सारा पानी मीनाक्षी के गांड और उसकी पीठ पर छोड़ दिया.

फिर चाची ने कहा- अभी तुझे बहुत कुछ सिखाना है!और एक दूसरे के नंगे जिस्म से लिपटे हुए हम चाची भतीजा एक साथ सो गए!जब मैं सुबह वापस आने लगा तो उन्होंने मुझे बहुत प्यार किया. उसके कपड़े कभी कभार नीचे गिर जाया करते थे, तो मैं उन्हें उठा के ऊपर दे जाया करता था. भाभी में दोबारा जोश भर गया और दरवाज़े को हाथ मार कर बंद कर दिया और मुझे फिर रंग लगाने लगी.

लगातार 15 मिनट चोदने के बाद मुझे लगा कि मेरा निकलने वाला है तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और पूरी रफ्तार से उनकी चूत में ही झड़ गया; मैंने अपनी अपनी आखिरी बूंद भी चाची की चूत में छोड़ी!जब मैं उनके ऊपर से हटा तो देखा मेरे लंड का पानी उनकी चूत से टपक रहा है. क्या तुम दोनों आज शाम फ्री हो?मैं- हां बिल्कुल, क्यों क्या बात है?अमित- अगर तुम दोनों आज मूवी देखने चल सकती हो तो प्लान फाइनल करें?मैं- ओके हम रेडी हैं, लेकिन कितने बजे?अमित- शाम 5:30 बजे ताकि तुम लोग हॉस्टल 10 बजे तक पहुँच जाओ।मैं- ओके, हम तैयार रहेंगे.

उसकी सुर्ख गुलाबी सुपारे से अंदाज लग गया कि वो पहले से ही अत्यधिक उत्तेजित था.

आपने मेरी पिछली कहानियां पढ़ीं और सराहा उसके लिए आपका दिल से धन्यवाद. मैंने सोनू से कहा- यदि फ्रेंडशिप करनी हो तो कल शाम को अपनी मम्मी से पूछ कर पढ़ाई के बहाने ऊपर मेरे कमरे में आ जाना. अब आगे …मेरे लंड को अपनी चुत से खाने के बाद सुलेखा भाभी ने एक बार फिर अब मेरी तरफ डबडबाई सी नजरों से देखा.

भाभी की सेक्सी वीडियो चुदाई वाली मैंने दिन में हिम्मत करके अपनी बहन मीनाक्षी से पूछा कि रात को 2 घंटे तक अनिल तुम्हारे कमरे में दरवाजे बंद करके क्या कर रहा था?इस पर मीनाक्षी थोड़ी चकित हुई और बोली- नहीं तो … अनिल मेरे कमरे में क्यों आएगा … उसके आने का मतलब ही नहीं है … तुम पागल हो क्या?मैंने कहा- नाटक मत कर मीनाक्षी, मुझे सब पता चल गया है कि तेरी और अनिल की सैटिंग है. इससे अच्छा तो अभी पहनूँ ही न।वो मुस्कुराया और मेरे पास आ कर बैठ गया।फिर उसने कहा- एक बात कहूँ?मैंने बोला- बोलो न?उसने कहा- मैं तेरी गांड में चोदना चाहता हूँ इस बार।मैंने कहा- बिल्कुल नहीं, गांड में कौन चोदता है?हर्षिल बोला- कोई मूर्ख ही होगा जो नहीं चोदता होगा.

जगत अंकल मेरी जांघ पर हाथ फेरते हुए मेरे कान में फुसफुसा रहे थे कि मैंने उनको पंद्रह दिन तक खुली छूट देने का वायदा किया था. यह सब बात सुनकर उस लड़के ने तपाक से मुझसे कहा- सर, आप बुरा ना माने, तो क्या मैं आपको छोड़ दूँ. वो बोली- क्यों?मैंने कहा- चाय में दूध कम है … ताज़ा दूध डाल कर पीने में मज़ा आएगा.

कैटरीना कैफ xx फोटो

हम दोनों लड़कियाँ रात में सिर्फ मैक्सी में ही रहती थी, न ब्रा पहनती थी और न ही पैन्टी!फिर पापा मॉम की जाँघों के बीच में आ गये और मम्मी की चूत को चाटने लगे. दोस्तो, सही कहूं तो उस वक्त उसकी बुर बहुत छोटी थी और मेरी कन्नी उंगली जाने लायक भी छेद उसमें नजर नहीं आ रहा था. मैं रोज़ जिम जाता हूँ। दोस्तो, यह कहानी एक साल पहले की है जब मैं बाहरवीं कक्षा में पढ़ता था.

पियू को आने के लिए टाइम लगा तो मैंने पूछ लिया- क्या कर रही थी इतना देर तक? कहीं पति जाग तो नहीं गया था?तो वो बोली- वो एक बार पीकर लुढ़क गये तो अब सवेरे ही उठेंगे. वो अजीब अजीब सी आवाजें निकालने लगी- ऊई आआआईई … उम्म्ह … हह …मैं उसकी टांग उठा कर घमासान चुदाई करने लगा.

वो बोली- राजू तुझे मालूम है कि आज टूर पर जाने से पहले विजय ने मुझे चैक दिया.

कहीं आपने इसे और कुछ तो नहीं समझ लिया?वो- अरे बेबकूफ ऐसे पौंछेगा तो कोई भी गलत समझेगा ही. जेठानी ने कहा- ये यहाँ क्या करेगा?एकता ने कहा- अरे यार सब करेगा … अब थोड़ा बैठने भी दो … या सब यहीं खड़े खड़े ही पूछ लोगी. कुछ दिन और समय मिलता तो शायद रुबीना के रजामंद होते ही हम दोनों शादी भी कर लेते.

फिर करीब 15 मिनट बाद ट्रेन रेलवे स्टेशन पर पहुंच गई और मैं स्टेशन पर उतर गया. लेकिन पूजा उस दिन कॉलेज नहीं गई क्योंकि वो कमरे पर मेरा इंतजार कर रही थी. के ग्वालियर का रहने वाला हूँ।इस कहानी को मैं अपनी मदमस्त चाची को समर्पित करना चाहता हूँ।वह एक गर्दाए हुए जिस्म की मालकिन है.

अब उन्होंने अपनी पोजिशन को और भी मज़बूत बनाने के लिए अपना एक पैर खटिया पर रख दिया और अपनी स्पीड बढ़ा दी.

हिंदी बीएफ सी वीडियो: जब मैं उसकी चूत को किस करता था तो उसके मुंह से कामुक सिसकारी निकल जाती थी। उसको तड़पती हुई देखकर मेरे अंदर का सेक्स और बढ़ता जा रहा था. उसे क्या पता था कि मैं जिन व्यक्तियों के बीच रह कर आई हूं, वो उससे भी कहीं ज्यादा खुले विचारों के हैं.

मुझे ये समझते देर नहीं लगी कि यह प्रिया है क्योंकि उसने ही लाल रंग की टी-शर्ट पहनी हुई थी. मखमल सा सिल्की बदन, कोका कोला की बोतल जैसा उसका जिस्म, पतली कमर, चौड़े कूल्हे, उसके सीने पर विकसित दो कमलपुष्प जैसे दो अमृत से भरे हुए अमृतकलश … उफ़्फ … दीवाना बना दिया उसने!झील सी गहरी आंखें, सुराहीदार गर्दन. मैं नाके पे शनिवार रविवार जाता था, वो अपने घर की शॉपिंग के लिए आती थी.

मैंने जो भी देखा था, मुझे उस पर विश्वास नहीं हो रहा था … पर सब सच था.

मैं भी कम नहीं थी, मैंने भी उनको गालियां देना शुरू कर दीं- चोद भैन के लंड साले हरामी मार ले मेरी…तभी मेरी बहन टॉयलेट के बाहर आ गयी और उसने दरवाजे में धक्का दिया, तो भूल से गेट खुला रह जाने दरवाजा खुल गया. मैंने उसे यह बात बड़ी मुश्किल से समझाई कि ये सब इत्तेफ़ाक़ से हो गये. फिर फोन बंद करके अमीषा ने मां से बात की और उसको भी मना लिया। इसी से घर की बात घर में रहेगी और किसी को कोई प्राब्लम नहीं होगी।अगले दिन वो आया तो अमीषा ने देखा कि वो माँ से कुछ बात करने लगा.