इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो

छवि स्रोत,काजल अग्रवाल की बीएफ फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

ஆண்ட்ரியா செக்ஸ் வீடியோ: इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो, घर वापस आते वक्त हमें ये एहसास हुआ कि अब बस 2 ही दिन बचे हैं और आज से 2 दिन बाद हम दोनों अलग अलग शहरों में होंगे.

सेक्सी बीएफ सुहागरात सेक्सी बीएफ

वह दवाई लेकर पोर्नोग्राफी शूट करते हैं और हमें लगता है कि उनके स्टैमिना ज्यादा है. नई लड़की बीएफबुआ के मुँह से धीरे धीरे सिसकारी निकलने लगी- उम्म्म्म हाआआ उच्च … आज मेरा सपना पूरा हो गया.

तब भी मेरे मन में कुछ सवालात थे कि उन्होंने लंड लेते समय जो दर्द दिखाया था वो क्या था. मद्रास का बीएफतभी मुझे कुछ ध्यान आया और मैं तुरंत जाकर किचन से एक कटोरी में घी ले आया.

दोस्तो, आपको मेरी रण्डी माँ की सेक्स कहानी कैसी लगी, आप कॉमेंट कर सकते हैं.इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो: मैंने फिर से गाड़ी चलाना स्टार्ट किया और भाभी से पूछा- पहले तो आप मुझ पे गुस्सा हो रही थी.

दूसरी तरफ से एक बहुत प्यारी आवाज आई- हैलो आप एसी सुधारते हैं न!पहली बार में ही मैं उस आवाज का फैन हो गया.होटल से पिकअप एंड ड्राप की सुविधा मौजूद थी तो मैंने होटल के मैनेजर को बता दिया कि 9 बजे तक मैं निकल जाऊंगा.

नाबालिक सेक्सी बीएफ - इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो

मैंने कुछ देर आंटी के चूचे दबाए पर कुछ देर बाद आंटी ने मेरा हाथ झटके से हटा दिया और मेरी नींद खुल गई.मैं ये बहुत ही हल्की आवाज में बोला था लेकिन शायद उन्होंने सुन लिया था.

मैं अक्सर रूबी आंटी को फर्श पर पौंछा मारते हुए उनके हिलते हुए मम्मों को देखता था. इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो खाना आर्डर करने से पहले मैंने उससे पूछा कि तुम कुछ ड्रिंक्स लेना पसंद करोगी!लेकिन लता ड्रिंक वगैरह नहीं लेती थी और मैं भी नहीं लेता, तो हम दोनों ने सिर्फ खाने के लिए ही कुछ मंगा लिया.

मैंने अब भी झटके मारने जारी रखे और उसकी चूत को बुरी तरह से चोदते चोदते अपनी आखिरी बूंद भी उसकी चूत में छोड़ दी.

इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो?

जैसे ही मेरे शरीर में, दीदी के हाथों की जकड़न कमजोर हुई, मैंने दूसरा धक्का लगा दिया. अबकी बार उसको और ज्यादा दर्द हुआ और वो चिल्लाई- आराम से कर कुत्ते … दर्द हो रहा है. मैंने भाभी को उकसाया कि आप जैसी सुंदर लेडी ने अमित जैसे मादरचोद को लिफ्ट कैसे दे दी!भाभी बहक गईं और बताने लगीं.

फिर अंकल ने कहा- आज दिन भर क्या कर रहे हो?मैंने कहा- सोचा नहीं है अंकल … अभी तो उठा हूं. फिर करीब 10 मिनट के बाद मैंने उसको वैसे ही पीछे से पकड़ कर उठा लिया. ऊपर का मेरा पूरा शरीर साफ दिखने लगा और छोटी सी ब्रा भी मेरे मम्मों को छिपाने में नाकाम साबित होने लगी.

इसका आज यह सब करना … उसकी चुदाई के लिए मुझे निमंत्रण दे रहा थालेकिन वह अभी पूर्ण रूप से तैयार नहीं थी. उसने अपना मुँह बंद किया और करीब 3 मिनट में ही मैं एक बार फिर से झड़ गया. उन्होंने मां के हाथों को अपने दोनों हाथों में जकड़ा और नीचे चूत में लंड को सैट करके एक जोर से धक्का दे मारा.

मैं धीरे धीरे उसके पैरों की सहलाने लगा और वो भी कोशिश करके धीरे धीरे मेरे पास को खिसक रही थी. अंकल ने कुछ देर बाद धीरे से मां की पैंटी को निकाल कर एक तरफ रख दिया और मां की चूत, जो सुबह ही क्लीन की गई थी, उसे अंकल सूंघने लगे थे.

मैंने अर्शिया के एक बोबे पर मेरा हाथ फैला कर रख दिया और धीरे धीरे सहलाने लगा.

वह तो चाहती थी कि अभी ही विजय का लंड हाथ में लेकर अपनी चूत में घुसवा ले … पर वह ऐसा नहीं कर सकती थी.

अचानक ही उसको ध्यान आया कि उसने बाथरूम का दरवाजा बंद नहीं किया है वो अगले ही पल पलटी तो उसकी नजर सीधी मेरे ऊपर गयी. अभी मुश्किल से 30 सेकंड ही उसकी रसभरी चूत को चूसा था कि एक गर्म धार उसकी चूत से निकल कर मेरे मुँह में गिरने लगी और मैं जितना हो सकता था, उसके मूत को पीने लगा. तुम्हारे सारे बदन को छूना चाहता हूँ … तुम्हें रगड़ कर चोदना चाहता हूँ.

मैंने देर न करते हुए उसकी कुर्ती को ऊपर किया और उसकी गर्दन से निकालते हुए अलग को फेंक दिया. फिर अचानक से भाभी पलट कर मेरे ऊपर आ गईं और मुझे जोर से थप्पड़ लगाकर मेरे मुँह मैं मुँह डालकर पागलों की तरह स्मूच करने लगीं. मैडम ने मेरी नजरों न जाने कभी ताड़ा या नहीं, मगर मैं छुपी नजरों से उनकी फूली चूचियों को देख कर खूब उत्तेजित हो जाता था और मेरा लंड मेरे लोअर में फूलने लगता था.

बुर पर जीभ फेरने से मुमताज गमक कर चुदासी हो गई और बुर चटवाते समय चूतड़ उछालने लगी थी.

यह सुनकर मैंने राजधानी की गति की तरह अपने लौड़े को उसकी चूत में डालना निकालना चालू कर दिया. उस समय मेरा हाथ गलती से उसके लंड पर पड़ गया जो कि एकदम टाइट हो चुका था. कैसे? और उसके बाद आंटी की बहन उनके घर आयी तो उसे भी मैंने लंड का मजा दिया.

लेकिन मैंने फिर से उसके लंड पर हाथ रखा और सीधे उसकी पैंट की चैन खोल कर हाथ अन्दर डाल कर उसका लंड सहलाने लगी. जब पापा शाम को घर आए, तो झोले में दारू की बोतल और मुर्गा लेकर आए थे. इसके बाद मेरी गांड का छेद बहुत ही ज्यादा फ़ैल चुका था जो उनके बड़े लंड के लिए काफी था.

कपड़े पहनकर जब मैं हॉल में आया तो जो मैंने देखा उसको देखकर मेरे दिमाग ने काम करना बंद कर दिया.

क्या आप इसमें मेरी मदद करोगे?मैंने कहा- बोल क्या चाहिए तुझे!उसने कहा- बस इतना ही कि आप मुझे अपने साथ इंदौर लेकर चलो. ये मेरी पहली यंग सिस्टर सेक्स कहानी है, इसलिए कोई गलती हो तो माफ कीजिएगा.

इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो अब आगे सीलपैक गर्ल की चुदाई कहानी:इसके बाद हम दोनों एक बार फिर नहा कर वापस नंगे ही बाहर आ गए. दीदी कुछ टाइम बाद झड़ने वाली थीं कि उन्होंने मुझे जोर से गले लगाते हुए मुझे अपने ऊपर ले लिया.

इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो लगभग 30 मिनट बाद उसका मैसेज आया- सो गई?मैंने जवाब दिया- नहीं, नींद ही नहीं आ रही है. मैं कामवासना से भर उठी थी- आह जान अब चोद दो अपनी जया रंडी को … आह बना लो अपनी रखैल.

ऐसा 2-3 बार हुआ और हर रगड़ के बाद वो मेरी आंखों में सवाल भरी नजरों से देखता.

सुवागरात xxx

घर आने जाने में तो काफी समय लग सकता था न इस लिए कम्पनी ने सारे स्टाफ को होटल में ही रुकने को कहा है. कमरे में ठप ठप की आवाज के साथ मां की पायलों की और चूड़ी की भी आवाज गूंज रही थी. और उन्होंने एक फ्लैट की व्यवस्था कर दी है … तू अगर चाहे तो कल इंदौर के लिए जा सकता है.

दोस्तो, मैं सरिता भाभी की चुदास भरी जिन्दगी की कुछ रंगीन यादों को एक सेक्स कहानी के रूप में लिख कर आपको गर्म कर रहा था. इसी दौरान मैंने शरद के कहने पर असीम को सर्वेंट क्वार्टर से निकाल कर घर में ही रहने कह दिया था. उसकी बातों से मुझे ये पता चला कि उसका पति उससे दस साल बड़ा है और इसकी वजह से वो अभी भी डिप्रेशन में रहती है.

मैंने उसकी आंखों में झांकते हुए पूछा- क्या खाओगी?वो मेरी बात को शायद समझ गई थी इसलिए नजरें नीचे करके बोली- जो तुम खिलाना चाहो.

मैं मैम को खींच कर सोफे पर बैठ गया और उनको बांहों में भर कर उनके निप्पल पर मुंह लगा दिया. मैंने उसके बोबे दबाना शुरू कर दिए और चुत में जोर जोर से झटके मारना शुरू कर दिए. फिर मैंने उनकी ब्रा निकाल दी और नंगी चूचियों को अपने हाथों से मसलने लगा.

निशा ने अपने दोनों हाथों को मेरी पीठ पर जोर से कस लिया था मानो वह अब जल्दी से जल्दी अपनी चूत में लौड़ा घुसवाना चाहती हो. स्नेहा आगरा की रहने वाली थी और उसके माता पिता ग्वालियर में शिफ्ट हो गए थे. तभी मैंने अपनी दो उंगलियां सीधी उसकी चूत में डाल दीं और वो उसने मेरा हाथ पकड़ कर मेरे हाथ को चूत में धक्का देने लगी.

उन्होंने भी आव देखा ना ताव … फटाक से मुझे नंगा करके अपने बिस्तर में लेटा दिया. अब अंकल ने मां की चूत से लंड को बाहर निकाला तो मां की चूत से रस निकल रहा था.

वो बेचारा समझ रहा था कि वो मुझे चुपके से देख रहा था।उसको तड़पाते हुए मैंने बहुत ही इत्मीनान से अपने कपड़े पहनने शुरू किया।उसके बाद मैंने सबके लिये नाश्ता लगा दिया।उसके बाद मामा-मामी घूमने जाने के लिये तैयार होने लगे।मैं भी अपने कमरे में आ गयी. उसके मुँह से बहुत ही कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं- हहाईई … मउम्मीईईई. अब उन्होंने मेरे सारे गहने वहीं उतारना चालू कर दिए और एक एक गहने को उतार कर उस जगह को किस करते.

उसकी चौड़ी गांड जैसे मुझे आमंत्रित कर रही थी कि आओ भाई डालो मेरी गांड में अपना औजार और चोद दो मुझे.

मैं फ़ोन काट कर उनके पास गया और उन्हें उठाने लगा पर वो उठ नहीं पा रही थीं. लेकिन उस दिन सुबह से ही मैंने अपनी तबीयत खराब होने का नाटक कर लिया और मम्मी मान गईं. जैसा कि आप जानते हैं कि मैं अपनी मकान मालकिन की बेटी सुमन और सरोज को अपने लंड का स्वाद चखा चुका हूं.

मेरा मन तो कर रहा था कि शीना भाभी के मुलायम चूतड़ों को पकड़ कर उसकी चुत में अपने लंड को यूं पेले पड़ा रहूँ. जहां जहां उनके होंठ मुझे छू रहे थे, वहां मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे वहां के मेरे रोंगटें खड़े हो रहे हों.

क्योंकि वो मेरे सम्मानित रिश्ते में से थी तो मैंने उसे चुदाई की नजर से नहीं देखा था. मैंने बोला- लड़के वाले ही क्यों, लड़की वालों के यहां भी लड़कों की कमी थोड़ी है. उन दोनों के किस के साथ ही मेरे लंड ने माल छोड़ दिया और मैंने आंखें बंद करके खुद को तृप्त होता पाया.

सेक्सी सनी लियोन एक्स एक्स एक्स

यह इंडियन ओरल Xxx कहानी उन दिनों की है जब मैं सुशी जी से चुपके चुपके उनके घर में मिला करता था.

मेरी क्लास में एक लेडी भी आती थी, जिसकी उम्र लगभग 40 के आस-पास रही होगी. बत्तीस साल की उम्र तक शादी नहीं हुई, जब हुई तो महीने भर बाद ही शौहर को छोड़कर लौट आई. फिर मैंने शीशे से बाहर का नजारा देखा, तो वो तीनों मेरी तरफ ही अपनी नज़र गड़ाए हुए थे.

फिर अंकल ने टी-शर्ट मोड़ कर मेरी चूची पर हाथ रख लिया, जिसके लिए मैंने भी उनको कुछ नहीं बोला. लंड अन्दर लेते ही वह बहुत तेज से चिल्ला पड़ी- आई मम्मी, मर गई आह निकालो रंजीत … मुझे बहुत तेज दर्द हो रहा है … आई आह बाहर निकालो प्लीज. नागपुर की बीएफ सेक्सीतो उन्होंने मुझे समझाया कि ये सामान्य सी बात है कुंवारी लड़कियों की चुत की सील टूटने के कारण ऐसा होता है.

एक बार फिर मैं निशा की चूत पर आया और खून से सने लौड़े को जोर का धक्का दिया. मैं समझ गया था कि दिशा की तरफ से हरी झंडी है, इसके साथ चुदाई की कोशिश की जा सकती है.

जैसे ही वो तीसरे फ्लोर पर आई, मैं उसे एक रूम में ले गया जहाँ बैंक्वेट हॉल का डेकोरेशन का सामान रखा था. अब अंकल मां के पास लंड को ले गए और मां ने इना समय गंवाए लंड को चूसना चालू कर दिया. मैंने महसूस किया कि वो अंडरवियर नहीं पहने हुए थे चूंकि अभी नहा कर आए थे.

मैंने मैम को अपनी तरफ खींच कर फिर से उनके मुंह में अपनी जीभ घुसा दी और उनकी गांड को मसलते मसलते उनकी पैंटी उतार दी. ये सुनकर मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से लंड अन्दर-बाहर करने लगा. मेरा लंड पैन्ट से बाहर आने के लिए फनफना रहा था और शीना को मेरा लंड उसकी गीली चूत में लेने की चुदास सवार थी.

उसके जाने के बाद मैंने ठंडी आह भरी और पहली सफलता के लिए खुद को बधाई दी.

दो साल पहले जब रमजान चचा का इन्तकाल हुआ तो बकरी का काम शबाना ने सम्भाल लिया. मैंने लंड का सुपारा चूत की फांकों में सैट किया और एक धक्का उसकी चूत में दे मारा.

मैंने उससे लंड चूसने का इशारा किया तो वो तो जैसे लंड चूसने के लिए मरी जा रही थी. सुबह 6 बजे करीब मेरी आंख खुली, तो मैंने देखा कि शीना भाभी ने अपनी चुन्नी को शॉल की तरह घुमाकर ओढ़ रखा था. मैंने उनकी ब्रा का एक कप हटाया और उनके एक निप्पल को अपने होंठों में भर कर चूसने लगा.

मैंने अपनी उंगली सुमन की बहन सरोज की गांड के सुराख पर रखी और उसकी गांड को सहलाने लगा. यही सोचते हुए मैंने अपने एक हाथ से निशा का हाथ अपने हाथ में ले लिया. वो घर से बाहर गया और उसने देखा कि ऊपर वाले कमरे की एक विंडो बाहर खुलती है.

इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो अगले ही पल मैंने उसको डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और अपने लम्बे मोटे लंड को शीना भाभी की चूत पर रगड़ दिया. आखिर उसने मेरी बात नहीं मानी और मुझसे कहने लगी कि मैं अपने मायके पूना जा रही हूँ.

सेक्सी तीन

मुझे लगा कि मॉम मुझसे गुस्सा होंगी लेकिन मुझे कुछ और ही देखने को मिला मॉम पूरी नंगी मेरे सामने आ गई. दोस्तो, मैं ऋषि मेहता आपको अपनी मौसी की अतृप्त चुत चुदाई की कहानी में एक बार फिर से स्वागत करता हूँ. ऐसी ही नजरों से मन की बात करते हुए बुआ की लड़की की शादी कब हो गई, पता ही नहीं चला.

वो मेरे पहलू में लेटने को हुई तो मैंने उसे खींच कर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी चूचियों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया. बीच बीच में हम दोनों होंठों को चूस रहे थे और मैं उसकी रस से भरी चूत को भी सहलाया करता था. लखनऊ सेक्स बीएफअब मुझे पक्का हो गया कि आज दीदी आशीष के लंड से अपनी चुत की चुदाई करवाने के मूड में हैं.

विक्की ने मुझे देखा तो तुरन्त उठकर मुझे गले से लगा लिया और मेरी नाइटी निकाल दी.

उनका लंड मेरे मुँह के अन्दर पूरा समा गया था, मेरी सांस ही नहीं आ रही थी. उसने कहा- दोपहर में चलेंगे, तब भीड़ नहीं होती है, उस समय हॉस्पिटल भी खाली रहेगा.

दीदी दोनों घुटनों को मेरे कमर के अगल बगल रखकर चूत को लंड के ऊपर रखने जा रही थीं. नवीन ने मेरे दूध काटने लगा और मेरे आमों को दबाने लगा और बोला- वाह बड़े गजब के आम हैं तेरे!वो जोर जोर से दूध दबाने लगा और मुँह में निप्पल लेकर चूसने काटने लगा. हालांकि मुझे अजीब सा लग रहा था क्योंकि कभी मैंने जींस या टॉप नहीं पहना था.

पर नींद मेरी आँखों से गायब थी।इस बीच मैंने करवट बदल ली और मेरी गांड शरद की तरफ थी.

मगर चूत मारते समय जो मजा मिल रहा होता है उसके सामने घरवालों का डर भी छोटा पड़ जाता है. इस डर्टी सेक्स विद वर्जिन गर्ल स्टोरी के अगले भाग में आपको निशा की फुल चुदाई की कहानी का मजा लिखूंगा. वो लंड देख कर कहने लगी कि य…ये क्या है … इतना बड़ा और सख्त!मैंने कहा- ये मेरा औजार है और इसे लंड भी कहते हैं.

बीएफ लव स्टोरीएक ओर तो ये सरासर गलत था, पर दूसरी ओर मुझे भी उनके अकेलेपन का अहसास था. इसके बाद मैंने उसकी ब्रा उतार दी और उसके दोनों बूब्स पर आकर उन्हें बारी बारी से चूसने लगा.

बिहार की चुदाई वाली बीएफ

इतना मोटा लंड गांड में घुसने से उस रांड को तो जैसे जन्नत का सुख मिल गया हो, उसके चेहरे से ऐसा लगने लगा था. मैंने खोला तो बहुत सारे वीडियो थे और सब भाई बहन चुदाई के वीडियो थे. मैंने सरोज से बोला कि अपना वादा याद है ना!वो बोली- जाटनी की जुबाण है … आज की रात तू मेरी अम्मा की तीसरी बेटी को भी चोदेगा.

भाभी ने घुटनों के बल बैठ कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. अर्शिया मेरे सामने फिर से चड्डी में थी और उसकी बड़ी सी गांड मेरे सामने थी. फिर उसने तेल की शीशी को बगल में रखा और मेरी गांड को मसलते हुए उस पर खूब सारे चांटे मारे.

अर्शिया की गांड और बोबे देख कर ही अच्छे अच्छे लड़कों का पानी छूटने पर आमादा हो सकता है. हम लोगों ने थोड़ा बहुत खाया और थोड़ा और ड्रिंक किया, तब तक कोमल बहुत ज्यादा ड्रिंक कर चुकी थी और अब धीरे धीरे बहक रही थी. तुम उनके बारे में पता कर लेतीं तो शायद मुझे ये सब कहने की जरूरत ही पड़ती.

उनके चूतड़ों को दबाने लगा, उनकी जांघ को मसलने लगा … गले में चूमने लगा. ”फिर वह मेरे मुँह को सहलाने लगे और मुझे उनके लंड महक की और ज्यादा आकर्षित करने लगी.

इसके बाद अगली बार जब वो आए थे, तो हम एक सप्ताह के मनाली भी घूमने गए थे.

घर आकर मैंने अभी तक अपनी बीवी को रानी के साथ हुए हादसे के बारे में कुछ भी नहीं बताया था. बीएफ फिल्म सेक्सी नईरास्ते से मैंने एक कलाई पर बांधने वाली घड़ी ले ली जो उन्हें गिफ्ट में देनी थी. मिया खलीफा बीएफ मूवीजब मैं उससे मिलने के लिए दिल्ली गया, तो होटल में रुका और मिलने के लिए उसे होटल में बुलाया. जब आशीष मेरे घर के अन्दर आ गया तो मैं भी छत के रास्ते चुपके से नीचे उधर आ गयी जहां मेरी दीदी अंजली एक नीले रंग की बहुत सेक्सी सी साड़ी में थीं.

उसने अपने नीचे पड़े घाघरे की जेब से एक शैम्पू जैसा निकाल कर लंड में धीरे धीरे लगा दिया.

इस साल उसने मेरे ही कॉलेज में एडमिशन ले लिया और अब वो मेरे साथ आने जाने लगी. थोड़ी देर बाद आंटी का फोन आया- मुझे एक गोली ला द़ो, कहीं मैं प्रेगनेंट न हो जाऊं. अब हम दोनों ही मादरजात नंगे थे और एक दूसरे के मुंह से मुंह लगा कर एक दूसरे का रस पी रहे थे.

दोस्तो, मैं उस देसी चूत चुदाई का मजा को शब्दों में बयान ही नहीं कर सकता. उसने फोटो लेने की बात कही तो डायरेक्टर ने मेरी बीवी की कमर में हाथ डाला और उसके साथ कुछ सेल्फ़ी फ़ोटो निकालने लगा. वो आनन्द से किलकारी मारने लगीं- आह्ह आह्ह मम्म सी ई सीई … ऋषि इतना मजा तो तेरे मौसाजी ने भी नहीं दिया मुझे कभी … आह कितना तगड़ा लंड है तेरा … आह चोद अपनी मौसी को ऋषि … आह्ह आह्ह.

फरवरी सेक्सी वीडियो

आधे घंटे में भाभी की चूत में चिनमिनी मचने लगी और हम दोनों ने मिलने का प्लान बना लिया. अपने काम के सिलसिले में हम दोनों ही काफी व्यस्त रहते, पर हर वीकेंड पर एक दूसरे के साथ अच्छा समय बीतता था. सुमोना अब धीरे धीरे गर्म होने लगी थी तो मैंने अपने लंड को और अन्दर तक घुसाया और मेरा लंड सुमोना की चूत में आधा घुस चुका था.

मैं पहली बार हैदराबाद आया था तो मेरे लिए सब कुछ नया था और कोई जान पहचान का भी नहीं था.

हम दोनों को चुदाई का पूरा मज़ा आ रहा था और मैं तो दो बार झड़ भी चुकी थी.

मैंने बोला- मेरा बिना देखे कैसे समझ लिया?भाभी ने लंड टटोला और बोलीं- मैंने पारखी नजरों से देखा है. वो मेरी पीठ को धीरे धीरे दबाने लगा और एक हाथ से वो मेरी गांड सहलाने लगा. हिंदी में बीएफ एचडी में हिंदीअंकल ने हमें 2 फ्लैट दिखाए जो कि अंकल के घर से 5 किमी की दूरी पर ही थे.

फिर मैंने उसको बेड पर लिटा लिया और तेजी से उसकी टांगों से पैंटी खींचकर उसकी चूत नंगी कर दी. उनके तने हुए चुचे और उठी हुई गांड देख कर मेरा लंड तो पैंट के अन्दर भारी हलचल करने लगा था. राजीव भी अपने दोनों हाथों से मेरी नंगी पीठ सहला रहे थे और कुछ ही पल में उन्होंने मेरे ब्लाउज का हुक खोल दिया.

एक दिन मुझे किसी काम से सुबह सुबह उनकी दुकान में जाना पड़ा जहां उनके साथ मेरी मुलाकात हुई. मैं ब्रा के ऊपर से ही उसके स्तन दबाता और चूमता रहा और उसकी गर्म गर्म सांसें तेज होने लगीं.

शरद को खुश करने के लिए मैं हर मुमकिन कोशिश करने में लगी थी और काफी हद तक उसमें सफल भी हुई थी.

फिर अचानक से मेरा तौलिया नीचे गिर गया और मैं लता के सामने नंगा हो गया. सरोज बोली- राज, तूने गलती तो की है और तू कमरा छोड़ेगा, तो अम्मा का घाटा भी हो जाएगा. कुछ ही दिनों मैं अच्छे से गाड़ी चलाने लगी थी और अक्सर कभी मन किया तो अकेले ही लंबी ड्राइव पर अकेली ही निकल जाया करती.

बांग्लादेश बीएफ व्हिडिओ उसने- पति के अलावा बाहर किसी से सेक्स किया है?मैं यह सुन कर एकदम से चौंक गई और धीमे से जवाब दे दिया- जी नहीं, सिर्फ पति से ही. वो लंड निकाल कर मेरी आंखों में चुदासी नजरों से देखने लगी तो मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर घोड़ी बना दिया.

पार्टी शुरू होने में अभी टाइम था तो मैंने कुछ देर आराम करने का सोचा. आपको मेरी यह होटल हॉट सेक्स स्टोरी कैसी लगी, कृपया करके मुझे ईमेल पर बताएं. रात को पार्टी शुरू हुई तो शबाना ने कहा- हम तीनों में कोई भी शराब नहीं पीती है.

सेक्सी में ब्लू पिक्चर वीडियो

इस वजा से उसको कुछ छोटे बजट की फिल्मों में छोटे रोल भी मिलने लगे थे. उनके बड़े बड़े मम्मों को उछलते देखकर मैं और उत्तेजित होकर पूरी ताकत से अपनी गांड को उठा उठा कर लंड को चूत में जितना अन्दर हो सकता था, उतनी अन्दर तक पेलकर चोदने लगा था. जब अब्बू अपनी बालों से भरी छाती मेरी चूचियों पर रगड़ते तो मेरे जिस्म में करंट दौड़ जाता.

उसने पीछे से मेरा टॉप पूरा ऊपर कर दिया और अपना 7 इंच का लंड मेरी गांड पर रगड़ने लगा. सामने से- पहले कभी सेक्रेटरी का काम किया है?मैं- जी नहीं, लेकिन मैं कर लूंगी.

जब मैं खाना खाने के लिए मेस में गई, तो रोहन की नजर मेरे मम्मों पर थी.

लेकिन उसी दिन शाम के समय वो फिर से मेरे मूतने के समय पास आकर खड़ी हो गई. होटल में टीवी देख कर थोड़ा टाइम पास किया मगर मेरे दिमाग से उस लड़की का ख्याल जा ही नहीं रहा था. हम दोनों को चुदाई का पूरा मज़ा आ रहा था और मैं तो दो बार झड़ भी चुकी थी.

मैंने भी भाभी के लाल ब्लाउज के हुक खोल दिए और ब्लाउज अलग फैंक दिया. सरपट दौड़ते घोड़े के जवाब में घोड़ी भी रिवर्स गेयर लगाकर धक्के मार रही थी. अब मुझे कुछ और भी चाहिए था, जिससे दिल में जल रही आग को शांत किया जा सके.

उन्होंने बताया कि वो जब मेरे उम्र के थे तो वो भी नंगी फोटो वाली किताबें देखते थे.

इंडियन बीएफ पिक्चर वीडियो: वो सिसकारियां भरने लगी- ऊईई ईईई हाह ईईई ऊईईई ईश्श!मैंने कहा- तुम तो शादीशुदा हो, फिर भी दर्द?वो बोली- मेरे इनका लौड़ा छोटा है और ये बहुत कम चुदाई करते हैं।मैंने पास में रखी तेल की शीशी उठाई और उसकी चूत में लन्ड पर लगाकर जोर से धक्का लगाया. फिर मैं अपना मन मार के छुटटी से वापस आ गया और 3 महीने बाद मुझे पता चला कि चाची ने एक लड़क को जन्म दिया है.

मैंने मॉम को गोद में उठाकर बेड पर लिटा दिया और खुद मैं उनके ऊपर चढ़ गया. कक्षा बारह तक हम दोनों एक ही स्कूल में थे लेकिन ग्रेजुएशन के समय हमारे कॉलेज अलग अलग हो गए. मैं अपनी बहन को वो वीडियो दिखायी तो …हैलो फ्रेंड्स, मैं मानस एक बार फिर से आपको अपनी बहन की चुदाई की कहानी में भिगोने ले आया हूँ.

अब आगे देसी लड़की Xxx कहानी:करीब दो महीने अपनी ननिहाल में रहने के बाद शबाना की छोटी बेटी मुमताज गांव वापस आ गई और अगले ही दिन चोकर लेने मेरी दुकान पर आई.

वहां पहले हम दोनों ने सिगरेट पी और साली साहिबा मेरे लंड के आगे अपनी गांड लगा कर खड़ी हो गई. शरद का लंड सामने देखते ही मैं उसे अपने होंठों से चूमने लगी और उसे अपने प्यार का अहसास दिला रही थी. वो बहुत प्यार से मुझे देख रही थी और बहुत ही प्यार से बच्चे की तरह खा रही थी.