बीएफ मूवी वीडियो ओपन

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन हिंदी वीडियो बीएफ: बीएफ मूवी वीडियो ओपन, चूंकि मेरी चुत तो खेली खायी थी सो थोड़ा चीखने का ड्रामा करना जरूरी भी था.

ब्लू वीडियो भेजें

रजनी जी ने कहा- पर किसी ने देख लिया तो?फूफा जी समझ गए कि इनको चुदना तो है. হানিমুন সেক্সतो इतना ही मजा आया था?मुस्कान थोड़ा चुप हो कर बोली- नहीं यार उसको बस मेरी चूत में लंड डाल कर जल्दी जल्दी किया और कुछ ही पलों में वो शांत हो गया था.

पर क्यों?रशीद बोला- अगर नहीं डूबी थीं, तो मेरा जाम इतना कड़क कैसे हो गया. एक्स एक्स इंग्लिश सेक्सीमैं चोरी छुपे इधर उधर नजरें तो घुमाता रहता था, पर मेरी हिम्मत नहीं होती थी.

मैं जानबूझ कर तौलिया ऐसे बाँधती थी ताकि वो किसी दिन उसके सामने नीचे गिर जाए और वो मेरी चूत और मम्मों के दर्शन कर ले.बीएफ मूवी वीडियो ओपन: तारा ने कुछ देर और मेहनत की और फिर बड़े ही उग्र और मादक शब्दों में पीछे से सम्भोग करने को कहने लगी.

उसके आगे की ओर गांड खिसकाने से लंड भी बाहर आ गया, बस टोपा भर अन्दर घुसा रहा था.उधर ही छत पर एक लकड़ियां वगैरह रखने की एक जगह सी बनी थी, जिसे पड़ोसी बाथरूम की तरह यूज़ करते थे.

बफ सेक्सी सेक्सी बफ - बीएफ मूवी वीडियो ओपन

मेरे चाचा चाची और उनके बेटे, मतलब मेरा भाई और भाभी हमारे पुश्तैनी गांव में रहते हैं.फिर मैंने उसकी गांड में दो उंगलियां जैसे ही डालीं, मुस्कान हल्की सी उछल गई.

बाहर से उसको शीतल (उसकी माँ) की रजत से बातचीत की आवाज़ आ रही थी तो वो समझ गयी कि माँ आ गयी है. बीएफ मूवी वीडियो ओपन समय बीतता गया, मेरी मामी के प्रति काम आसक्ति ज्वालामुखी की भांति धधकती रही.

हालांकि मैंने अपना लंड उसकी चूत में नहीं घुसा रखा था, सिर्फ ऊपर ऊपर से ही मजे लेने की कोशिश कर रहा था.

बीएफ मूवी वीडियो ओपन?

मेरा रास्ता सिर्फ 15 मिनट का ही होता था इसलिए मैंने पहले दो मिनट तो भाभी को देख कर उन पर लाइन मारी, जिसमें भाभी ने भी मुझे दो बार देखा। पर मुझे जैसे ही देखती थीं. तू तो प्यारी प्यारी गुड़िया है न मेरी!” मैंने प्यार से उसके सिर पर हाथ फेरा और वो मेरे कंधे से आ लगी और अपने हाथ से मेरी छाती सहलाने लगी. पर तेरी मम्मी के और भी यार हैं, सब पैसे वालों को तेरी मम्मी फंसा के रखती है.

वे मेरा सर पकड़ जोर जोर से मेरे मुँह में धक्के देने लगे और एक बार मेरे मुँह में ही झड़ गए. उस दिन हम 3-4 घंटे साथ रहे, जिससे सोनिया भी मुझसे खुल कर बात करने लगी. माइक और मुनीर अंग्रेज़ी में ही बातें करते थे, मैं बस अनुवाद कर रही हूँ, हालांकि दोनों टूटी फूटी हिंदी भी बोलते थे.

मयूरी- अच्छा… तो आपको मजा आया पापा… अपनी बेटी की गांड मारकर?अशोक- हाँ बेटा… बहुत ज्यादा मजा आया… इतना मजा तो तुम्हारी माँ की गांड मारकर भी कभी नहीं आया. जैसे ही दो दो पैग पूरे हुए और मजा आने लगा, तभी बीवी का फोन आ गया कि पायल थोड़ी देर बाद घर आ के सामान दे कर जाएगी, तुम सामान उतरवा लेना. मम्मी अचानक हुए हमले से उनसे छूटने की कोशिश कर रही थीं, पर संपत जी ने उनकी पूरी लिपिस्टिक चूस ली और खा गए.

उसी की ये कहानी है, बहुत बार हम कहानी पढ़ते हैं कि कोई लड़की, भाभी मिली, जो सेक्स के लिए तड़प रही हो और उसके साथ सेक्स किया, मगर हमारे जिंदगी में ऐसा नहीं होता. इतनी जल्दी लंड पे कर चुदाई करने में मुझे आज मजा आता नहीं दिख रहा था.

मेरी पुत्र वधू की भतीजी कम्मो मेरे साथ सेक्स करना चाहती थी लेकिन कोई मौक़ा नहीं मिल रहा था तो वो निराश हो चुकी थी.

बस पांच मिनट में ही एना जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी तथा उसने अकड़ते हुए ढेर सारा पानी छोड़ दिया.

तभी अन्दर से उसकी माँ की आवाज़ आयी कि अब तक टॉयलेट में क्या कर रही है. भगवान ने इतनी छोटी बनाई कि किसी लड़की के सामने नंगा होने में शर्म आती है. ”ओह्ह… मेरी बेटी… मेरी बिल्ली हो तुम… कितने दिन से राह देख रहा था मैं इस पल की… आज जाकर मेरी हसरत पूरी हुई.

इस दिनों मैं अनु से फोन पे बात करता था और उसे समझाता था कि अभी समय ठीक नहीं आया है, हमें थोड़ा और सावधान रहना होगा. कुछ देर धक्के लगाने के बाद मैं झड़ने वाला था, तो मैं बोला- बाबू… मैं आ रहा हूँ. और धीरे-धीरे चूची चूसते चूसते मैं उनके पेट पर आया, जब पेट पर किस करने लगा तो वे कामुक आवाज निकालने लगी, उनका पूरा बदन कांपने लगा और मैं किस करता रहा.

फिर अपनी गांड को उठा उठा कार मेरा लंड अपनी चुत में जड़ तक लेने लगीं.

मम्मी गर्म होने लगीं, फिर संपत ने मम्मी का हाथ अपने लंड पर रखवाया तो मम्मी बोलीं- आपका लंड इतना बड़ा कैसे हो गया है. हम लोग खाना खा चुके थे, लेकिन बारिश बन्द होने का नाम ही नहीं ले रही थी. मैं उसके ऊपर चुत में लंड फंसाए वैसे ही पड़ा रहा और चूचियां सहलाता रहा.

दोनों के बीच कोई वार्तालाप नहीं हुआ पर जैसे दोनों को पता था कि आगे क्या करना है. मैंने लंड को सहलाया तो अंकल आगे बोले- चलो अब जीभ निकाल कर इस सुपारे पर फिराओ. वो खुद भी गर्म सांसें जोर जोर से लेते हुए मुझे चूम रही थी, मैं उसके चुम्बनों का जवाब देते हुए लगातार चूमे जा रहा था.

पिछले साल मेरी जीएफ से मेरा ब्रेकअप हुआ, मैं उससे बहुत प्यार करता था और शादी करना चाहता था, लेकिन कुछ संयोग ऐसे हुए कि वो मुझे छोड़ कर चली गई और मैं गम के अंधेरे में डूबता चला गया.

मैं लगातार उसके गालों को, माथे को, आंखों को, गर्दन को, कानों को चूमता और हल्के होंठों से पकड़ के सहलाता रहा. उनका अनुमान अब अपनी माँ से सेक्स की इच्छा को लेकर और ज्यादा दृढ़ हो रहा था.

बीएफ मूवी वीडियो ओपन भाभी ने मेरे लंड से संतुष्ट होकर अपनी दो सहेलियों को भी मुझसे चुदवाया. पिंकी किसी भी तरह का विरोध नहीं कर रही थी बल्कि उसका पूरा साथ दे रही थी.

बीएफ मूवी वीडियो ओपन मैंने उसकी पैंटी नीचे की तरफ सरकाई और कम्मो ने अपनी कमर उठा कर पैंटी उतर जाने दी. उसके जिस्म की तपन और वो नेह का आलिंगन मुझे आत्मिक सुख प्रदान कर रहा था.

उसने बताया कि उसके पति एक बड़ी कंपनी में बड़े ओहदे पर हैं, जिसके चलते वे उसको ज्यादा टाइम नहीं दे पाते हैं.

बफ हॉट वीडियो

तुरन्त नहाने की वजह से मयूरी के शरीर पर अभी भी पानी की बूंदें थी और ये सब रजत को और भी मदहोश कर रहा था. बाद में चुदास बढ़ गई तो मैंने उसके कुर्ते के अन्दर हाथ डाला और ब्रा के ऊपर से उसके स्तन दबाने लगा. वो कहता है अगर मैं उससे मिलने नहीं गई तो वो मेरे पत्र स्कूल की दीवारों पर चिपका देगा.

मयूरी- जैसी आपकी मर्ज़ी पापा…और फिर थोड़ी देर तक रंगरलियां मनाने के बाद बाप-बेटी ने अपने कपड़े पहन लिए. यह देखकर मुझसे भी नहीं रहा गया और दीमा के लंड के बाहर निकलने की प्रतीक्षा कर मैंने भी उसी तरह मुंह-चुदाई प्रारंभ कर दी. फिर हम थोड़ी देर ऐसे ही लेटे रहे, बाद में उठ कर देखा तो पूरी चादर भीगी हुई थी, कहीं कहीं खून के निशान थे.

उसके बाद मैंने उस रात उसकी एक बार और चुदाई की क्योंकि मुझे अगले दिन रेशमा रानी की भी चुदाई करनी थी क्योंकि मैं तो वहां रेशमा रानी के लिए ही गया था, मैं उसे नाराज नहीं कर सकता था.

मेरा हाथ एक हाथ ऊपर था उनकी चूची को कभी जोर से तो कभी धीरे से मसल रहा था, उन्हें बहुत मजा आ रहा था वे बोल रही थी- इतना मजा अभी आ रहा है तो आगे और कितना मजा आएगा!मैंने कहा- आगे आगे देखती जाओ मेरी जान!और फिर से मैं उनकी चूत को और जोर-जोर से चाटने लगा, मैं उनकी चूत को खा जाना चाहता था और वे भी मेरे सर को अपनी चूत के ऊपर दबा रही थी. भाभी मुझसे लिपटते हुए बोलीं- भैय्या, जिंदगी में पहली बार किसी ने मेरी चुत चाटी है… मेरे पति तो कुछ करते नहीं इसलिए गाजर, मूली और खीरे का सहारा लेना पड़ता है. इससे पहले कि वो उठकर फिर से मुझपर हमला करे… मैं दरवाज़े की तरफ भागा, मैं अभी दरवाज़े तक ही गया था कि तभी मेरी पीठ पर कोई भारी वस्तु आकर टकराई, मैं टेढ़ा होता चला गया। मैंने पलट कर देखा, मेरे पाँवों के सामने बीयर की टूटी हुई बोतल पड़ी थी.

मेरी भाभी की चुदाई की कहानी आपको अच्छी लगी या नहीं, अपने कमेंट मुझे ज़रूर भेजिएगा. मैंने कहा- नहीं … मैडम मैं नहीं रुकने वाला, मेरे घर वाले मेरा इंतजार कर रहे होंगे. मैंने कहा- मैं इतनी जल्दी तुम पर विश्वास कैसे कर सकता हूँ?ये कहकर मैंने फोन काट दिया.

उनके हाथों के स्पर्श से मेरा लंड और तन गया, हालांकि मेरा लंड ज्यादा बड़ा नहीं है… ये लगभग 4 इंच लंबा एक इंच मोटा ही है. उसके बाद उसने पूछा- बॉडी से मसाज करूँ?मैंने कहा- हां! नहीं तो क्या मैं यहाँ अपनी गांड मरवाने आया हूँ?मेरी बात सुन कर वो हंस पड़ी और उसके बाद वो भी अपने कपड़े उतारकर पूरी नंगी हो गई.

इतने में जो सबसे एजेड अंकल थे, वे आए और सीधे मेरी चूत में अपना मुँह रख दिए और बोले- इसकी तो चूत बहुत बह रही है. कैसा लग रहा है तुम्हारी चूत को? क्या तुम्हारा पति भी तुम्हें ऐसे ही चोदता है रोज रात और दिन को?मेरी बातों को सुनकर पूजा मुस्कुरा दी और बोली- हाय मेरे चोदू राजा, बहुत मज़ा आ रहा है. गोद में बैठते ही अब मेरी छोटी छोटी चुचियां केवल समीज़ में एकदम बाहर की ओर निकली हुई दिख रही थीं.

मयूरी फिर भी चुप नहीं हुई और वैसे ही नंगे बदन वो अपनी भारी चूचियों के साथ रजत के सीने से लिपट गयी.

बस 5 मिनट लगातार किस के बाद हम अलग हुए और मैं सीधा उसके चुत पर टूट पड़ा. फिर हम दोनों साथ ही झड़ गए। हम ऐसे ही एक दूसरे से चिपके हुए कुछ देर तक लेटे रहे, फिर मैं उठा और सिगरेट पीने बालकॉनी में चला गया. इस लिए लॉजिक को एक तरफ डाल कर कहानी पढ़ें!एक दिन घर पर कुछ लोग दीदी के रिश्ते की बात करने आए और उन्होंने दीदी की सुन्दरता देख कर दीदी को पसंद कर लिया.

वहां खेत में काम करने चाचा चाची और भैया जाते थे और भाभी घर पर रहती थीं. पर अब मेरी हालत बहुत खराब थी, मुझे अंकित प्यासा छोड़ गया था, मेरा पूरा जिस्म अकड़ रहा था, पूरा बदन टूट रहा था, कभी भी लड़की को ऐसे नहीं छोड़ना चाहिए।मैं बता नहीं सकती कि मुझे क्या फील हो रहा था.

इसके 6 महीने के बाद रश्मि ने मुझसे बोला कि ललित को दूसरा बच्चा चाहिये, तो मैंने कॉपर टी निकाल दी है. उसने कहा- यह भी कोई कहने की बात है? मैं जिंदगी में कोई भी फैसला तुमसे बिना सलाह लिए नहीं करूँगा. सुबह जब वो उठती थीं तो उनकी नाईटी के अन्दर से उनके हिलते हुए चुचे एकदम साफ़ दिखते थे क्योंकि उस वक्त वे अन्दर ब्रा नहीं पहने होती थीं.

सेक्सी वीडियो चाहिए ब्लू

ले ऐश कर!” मैंने उसे कहा तो उसने गिलास माथे से लगाया और हाथ जोड़ दिये.

वाकई चिकने की लुल्ली बहुत ही छोटी थी लेकिन बाकी सभी के लंड जबर्दस्त थे. धीरे धीरे उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी और हम दोनों का बदन चुदाई से पसीने से भीग गया था और हमारी साँसें बहुत तेज चल रही थी. स्लैब पर चढ़ जाने के बाद अपने गाउन को और ऊपर ले लिया और गांठ बांध ली.

मैं उन्हें चोद-चोद कर शान्त माहौल में उनकी सिसकारियों और करुण क्रंदन का निर्दयता पूर्वक आनन्द ले रहा था. वरना सब मुझ पर भी उगलियां उठाएंगे कि मैंने तुम्हारे घर पर क्यों नहीं बताया. सेक्सी चुदाई मारवाड़ीमुझे लगा कि इतना होने पर लंड आसानी से अन्दर तक चला जाएगा, पर उसकी चूत अभी भी टाइट थी.

मेरे नीचे कुछ भी नहीं बचा, मैं पूरी नंगी हो गई क्योंकि स्कर्ट के अलावा और कुछ भी नहीं पहनी थी नीचे … ऊपर टॉप और समीज पहनी हुई थी. वही रजत एक हाथ से शीतल की गांड को और दूसरे हाथ से उसकी एक चूची को दबाने में व्यस्त था.

सुबह उठा तो मम्मी ने बोला- बेटा, रात का दूध फट गया है … तुम मदर डेयरी जाकर दूध ले आओ … तो मैं चाय बनाऊं. तो वो पूछने लगे- किसके साथ?तो मैंने उनको अपनी 12 वीं क्लास वाली कहानी के बारे में बताया. फिर उसने गले तक जो माल बह गया था, उसको उंगलियों से पौंछा और बड़ी ही कातिलाना मुस्कराहट के साथ मेरी तरफ देखते हुए अदाओं के साथ एक एक करके उंगलियों को चाटने लगी.

अब मैंने भी बिना देर किए भाभी को सीधा लेटाया और अपना लंड उनकी चूत की फांकों में लगा कर अन्दर डालने लगा. जब मैं उसकी गांड में धक्का मारता तो उसकी चूतड़ टकरा जाते और ठप ठप ठप की आवाज आती. भाभी गहरी सांस लेती हुई धीरे से बोली- मार ही डाला यार तूने तो … फाड़ दी मेरी चूत तूने … बहुत दर्द हो रहा है.

मैंने सुशीला की ओर देख कर मानसी से पूछा- कैसा लग रहा है मेरी रंडी?मानसी- बहुत अच्छा … आहह स स आ … चोदते रहो!यह सुनकर सुशीला हैरानी में पड़ गयी और मैं उसे देख कर थोड़ा मुस्कुरा दिया.

उसकी स्थिति को देखते हुए मैं थोड़ी देर रूक गया और उसके सामान्य होने तक उसके चूचुकों और होंठों को चूसता रहा. मगर जरूरी था कंट्रोल करना तो मैंने पूछा- क्या बात है पूजा?ये बोलते ही पूजा बोली- क्या बात है … बड़ा प्यार आ रहा है? पूजा भाभी से सीधा पूजा?और बोली- तेरे मुँह से अच्छा लगता है.

कॉलेज के लगभग दो महीने पूरे हो गए थे, सब लोग दूसरे को समझने लगे थे. मैंने उसके चूतड़ों पर दो तीन थप्पड़ मारे और पीछे से लिंग को चूत पर सेट किया और धक्के मरना चालू किया. डिम्पल भाभी पूरा दिन घर में अकेली रहती थीं और इस कारण मेरी उनसे अच्छी खासी दोस्ती हो गयी थी.

बहूरानी ने सामान वाले कमरे का ताला खोला और हम दोनों झट से कमरे में घुस गये और दरवाजा भीतर से लॉक कर लिया. दो मिनट हम दोनों तक वैसे ही रुके रहे, फ़िर कुछ आखिरी झटके धीरे धीरे लगाए. जैसे कोई पॉर्न फिल्म मेकर लाँग शॉट, क्लोजअप लेने के लिये अलग अलग पोजीशन्स लेता है.

बीएफ मूवी वीडियो ओपन चाची झट से चाचा का मोटा काला लंड पकड़ कर मसलते हुए चूमते बोले जा रही थीं- हे भगवान क्या लंड दिया है मेरे पति को आह… कितना मस्त लंड है. उन्होंने मुझे देखा, मैं एक आंख बंद करके देखने लगा और उन्होंने घाघरा ठीक किया और फिर से सोने लगीं.

किन्नर की सेक्सी पिक्चर

उसके ऐसा करने से अब तौलिया जो मयूरी ने पहन रखा था, नीचे से थोड़ा चौड़ा हो गया और जांघों के साथ-साथ उसके चुत भी थोड़ी थोड़ी दिखने लगी. मैंने यहीं उदयपुर में रह कर अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की है और यहीं एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम कर रहा हूँ. सुना है बहुत मज़ा मिलता है उससे?मैंने कहा- ठीक है दिखा दूँगी मगर किसी से ना बोलना.

फिर वो बोले- जब याद आती है तो क्या करते हो??तो मैंने कहा- बस कुछ नहीं. इधर मुझसे भी रहा नहीं जा रहा था … क्योंकि मेरा लंड भी बहुत गर्म हो गया था. സെക്സ് വീഡിയോ എച്ച് ഡിमैं कभी उनके निचले होंठों को अपने दोनों होंठों के बीच रखता, तो कभी ऊपर के होंठों को चूसता.

अब मयूरी का रोना बंद हो चुका था और उसके चेहरे पर शरारती मुस्कान ने अपनी जगह ले ली थी.

तीनों को इस बात की पुष्टि हो चुकी थी कि अब जल्दी ही माँ-बेटों की चुदाई होने वाली है और आपस में पूरी सहमति है. उसने मुझे बताया कि उसका चाचा, जब भी वो नहाने जाती थी, तो गुसलखाने का दरवाजा खोल देता और दरवाजे में आ कर खड़ा हो कर मुझे नंगी देखता रहता था.

मेरे साथ अभी तक बहुत घटनाएँ हो चुकी हैं, मुझे सेक्स बहुत पसंद है, मैं हमेशा सेक्स के बारे में सोचता रहता हूँ और चाहता हूँ कि हर बार सेक्स में कुछ अलग करूँ. चुदाई के साथ ही अब मैं उसकी गांड पर थप्पड़ भी मार रहा था, जिससे प्रिया की चुदाई के साथ उसको दर्द भी हो रहा था, इस दर्द के साथ उसकी ‘आह हम्म अअअअ …’ निकल जाती. अब तारा ने मुझे समझाया कि ये एक तरह का गुदा मैथुन है … जिसमें अप्राकृतिक लिंग के सहारे समलैंगिक महिलाएं एक दूसरे के साथ संभोग करती हैं.

तो बस अकेली बैठी हूँ, बाकी सब लोगों की छुट्टी हो गई, पर मेरा कुछ काम था.

फिर हम दोनों बिस्तर पर आ गए और मौसी को नीचे लिटा कर मैं उनके ऊपर आ गया. मानसी- मुनीम जी, क्या कर रहे हो … मेरी तो गांड फट गई … इतना बड़ा लंड … मुझ पर दया करो मुनीम जी। इसे निकालो मेरी नाजुक गाण्ड से!मैं- चुप कर यार … थोड़ी देर की बात है, तेरी गांड ढीली हो जायेगी तो मजा आयेगा. मेरी और मेरी चाची की आपस में बहुत बनती है, तो मैंने उनसे बात करते हुए बताया कि मेरी एक गर्लफ्रेंड है.

हिंदी देसी बीपीइसलिए उसको अपनी चुत का रंग और मम्मों को दिखा दिखा कर उसे अपने कब्ज़े में कर लेना और हर रात उससे बोलना कि तुम मेरे पूरा ख्याल रखने का वादा करो. मैं उसके कंधे को सहलाते हुए उसके कान के पीछे से अपनी गर्म गर्म सांसें छोड़ते हुए पास जाने लगा.

তামিল xxx

बीच की सीट में एक उम्रदराज आदमी बैठे थे, समझो करीब 60 साल के ऊपर के रहे होंगे. दोस्तो, मेरी कहानी आपको कैसी लग रही है? मुझे मेल करके बताएं, मेरी ईमेल आईडी है. मैंने उससे बोला- आज तुम्हारा ध्यान किधर है?उसने कहा- यश, तुम्हारा पजामा फटा हुआ है.

फिर रात मैं हम तीनों ने एक साथ बैठकर के खाना खाया और अब उसके बाद सोने की बारी आई. अब थोड़ी देर में मेरा बस होने वाला ही होगा क्योंकि इस टेबलेट का असर 20 मिनट तक ही रहता है. माइक थोड़ा लंबा था, सो उसे अपनी कमर झुका के धक्के लगाने पड़ रहे थे, पर मुझे नहीं लगता उनके उमंग में कोई बाधा पड़ रही थी.

दस मिनट बाद मैं झड़ने वाला था, तो मैंने बस इतना पूछा- कहां???दीदी- अन्दर. मेरी चुत के छेद को उनके लंड का सुपारा जाने कैसा गर्मागर्म सा लगा, उस फीलिंग को शब्द में बता नहीं सकती. मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था, फिर भी समझा गया कि दीदी सेक्स चाहती है.

अंकल जी ने मेरी दोनों चूचियों को गौर से देखते हुए उन पर हल्के से हाथ फेरा, मानो चूचियों की साइज़ और कसाव नाप रहे हों. मेरे एक स्तन का सारा रस पीने के बाद उन्होंने दूसरे स्तन को अपने मुँह में ले लिया और उसे भी चूसने लगे.

मैंने उससे कहा- सुनो मेरी एक दोस्त है, जो पूरी एक नंबर की चुदक्कड़ है, उसका नाम मालती है.

उसने कहा- बहुत अच्छी चुदाई करते हो… और काफी देर तक तुमने किया!फिर कंडोम निकालकर वह मसाज करने लगी. ಸೆಕ್ಸ್ ಪಿಚ್ಚರ್ ಬಿಎಫ್अब मामी ने हाथ में चादर ले कर उसे फैला कर हम दोनों को ओढ़ा दिया और बोली- थैंक्यू रौनक, अपनी मामी को जो खुशी आज तुमने दी है, इसके लिए मैं लम्बे समय से छटपटा रही थी. फ्री सेक्स बीपीफिर मैंने जूही को नीचे उतारकर लिटा दिया और उसके पैर ऊपर करके उसकी चुत चाटने लगा. मामी की चुत में 4 साल बाद कोई लंड जा रहा था, इसीलिए उन्हें बहुत दर्द हो रहा था.

पहले ही दिन मैंने ऑफिस में एक लड़की से पूछा कि क्या कोई खाना बनाने वाली मिल सकती है, जो घर का सारा काम भी कर सके.

इस दौरान उसकी चुत बिल्कुल दहक रही थी, जिसने लंड को बुरी तरह जकड़ा हुआ था. इतने में प्रिया ‘ओह … आह … मर गई … मैं गई …’ करते हुए झड़ गई और वहीं 20 से 25 झटके मारते हुए मुझे भी लगा कि अब मेरा निकलने वाला है. वो लड़का मुझे चोद रहा था और मैं अपनी गांड हिला हिला कर उसका साथ दे रही थी.

फिर उन्होंने मुझे उतारा और उल्टा करके कुतिया जैसा बना कर दीवार के सहारे मेरी गांड में लंड पेल कर मेरी गांड मारने लगे. वहीं पर मैंने उनके कुर्ते को उतार दिया, फिर एक दूसरे को चूमते हुए बेडरूम में जा पहुंचे. जैसे ही लंड डालने लगा तो पता नहीं क्या हुआ मैं ठीक से अन्दर नहीं डाल पा रहा था.

xxxहिंदी में

कुछ देर इसी तरह से धक्के मारने के बाद जब लंड का पानी गांड में गिर गया, तो वो ढीला हो गया. फिर मैं चूमते हुए नीचे की तरफ आने लगा तो मैंने उसकी पैंटी उतारकर उसकी कोमल सी गुलाबी रंग की चूत पर चूमना चालू कर दिया. प्रिया जोर से चीख पड़ी- आआहह … मर गई …प्रिया की चूत में मेरा आधा लंड चला गया था.

मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने खड़े 8 इंची लण्ड पर पैंट के ऊपर से ही हाथ रख दिया.

मैं पूरा न्यूड होकर मनीषा के ख्यालों में खोकर रज़ाई में सोते सोते मुठ मार रहा था.

चाची- आई लव यू मेरे राजा … आई लव यू!हम दोनों निढाल हो कर कुछ देर यूं ही पड़े रहे. चुदाई में क्या कैसे और क्यों होता है … ये सब मैंने अन्तर्वासना से ही जाना. ભાભી ડોટ કોમमैं उनके सामने सिर्फ मेरी प्रिंटेड ब्रा में थी और अपनी दोनों हाथों से अपना चेहरा छिपा रही थी.

इस दौरान मैंने नेहा के बारे में काफी कुछ जान लिया था कि वो किस कॉलेज में पढ़ रही है और उसके कॉलेज आने जाने की क्या टाइमिंग रहती है. नियति के संयोग से मिली इस रात के साथ को, मैंने मामी के साथ जी भर कर जिया. एक तो कामरस के निकलने से प्रवेशद्वार भीगकर चिकना हो रहां था और दूसरा प्रिया खुद भी शारीरिक और मानसिक रुप से इसके लिये तैयार थी.

फिर उन्होंने पूछा कि अब हम दोनों बाकी का प्यार कब करेंगे?मैंने कहा- जब भी आप बोलो?फिर मैं वहां से चला गया. मैं चोरी छुपे इधर उधर नजरें तो घुमाता रहता था, पर मेरी हिम्मत नहीं होती थी.

कुछ ही देर में उसका पानी निकल गया और फिर हम एक दूसरे को चूमते हुए एक दूसरे को बांहों में भरकर सो गए.

मैं अपनी पीठ से उसके मम्मों को रगड़ रहा था, फिर भी वो मजे से उसी स्थिति में बैठी रही. करीब 15 मिनट और बिल्कुल किसी बिना हरकत के अंकित लेटा रहा मुझे भी नींद आने लगी थी, मैं सोची शायद अंकित सो गया, अचानक पीछे तरफ से अंकित ने अपना हाथ मेरे सीने में रख दिया और वैसे ही हालत में तीन चार मिनट रखे रहा तो मुझे लगा कि नींद में आ गया होगा. इस पर उसने मुझे टोन्ट मारते हुए कहा- सच्चा प्यार घुस गया ना तुम्हारे पिछवाड़े में? आजकल कोई भोसड़ी का सच्चा प्यार नहीं करता.

मराठी सेक्स xxx दोस्तो यह थी मेरी वाईफ से सेक्स की सच्ची चुदाई कहानी आपको कैसी लगी, कमेंट्स करके मुझे ज़रूर बताइएगा. वैसे भी उसका लंड पहले से ही बाहर था जो उसकी कमसिन नंगी बहन ने अपने हाथ से पकड़ा हुआ था.

दिनेश के द्वारा मेरी चूत में उंगली करने और चूत चूसने से मैं जोर जोर से हांफने लगी, मेरी सांसें तेज होने लगीं. आपकी एक मुस्कुराहट देखने के लिए हम कॉलेज आते हैं और इतने दिनों बाद आपको देख के बहुत ख़ुशी हुई. समझो किसी रबर की गेंद की तरह उछल कर उसके मम्मे खुली हवा में फुदकने लगे.

देसी ब्लोजॉब

एक आगे की तरफ जो नियमित प्रयोग में आता था, वो अलग गली में खुलता था और दूसरा जो सिर्फ भैंसों के लिए था और घर के पिछले हिस्से में था. उस पर ऊपर से उसकी गांड का घिसाव भी मेरा लंड चरम की अवस्था में आ गया था और लावा उगलने को तैयार हो गया था. उसने उसे उसी अवस्था में खुद को उसके ऊपर चढ़ा लिया और धक्के लगाता ही रहा.

हां यस गई ऊंउउउ हाहहह… यस्सस…ये कहते हुए जोर से भींचते हुए चूतड़ उछाल उछाल कर झड़ने लगीं. मैंने भी अपने पूरे कपड़े निकाल दिया और अपना लम्बा लंड उनकी नजरों के सामने हिलाने लगा.

मैं तेरी छोटी बहन लगती हूं रिश्ते में, तू मेरे बारे में ऐसा सोचता है.

फिर उसने मुझसे पूछा- क्या आपकी कहानी वास्तव में सच्ची है, जो आपने अन्तर्वासना पे लिखी है?मैंने उनको बोला- आपको क्या लगता है?उसने बताया कि सच्ची लगी, तब ही तो सबकी कहानी छोड़ कर आपको मेल किया. उनके घर वाले मुझे मारने के लिए घर की बाहर खड़े हो गए, पर मेरे भाइयों ने मेरा साथ दिया. मैंने लंड भी बाहर निकाल कर चूत के छेद पर लगा कर जोर का झटका दे मारा.

मैंने लगभग पांच मिनट चुत चाटी होगी कि और बर्दाश्त करना उसके बस से बाहर हो गया और वो झड़ गयी. फिर मेरे मन में शरारत सूझी तो मैंने उसकी चुत में उंगली कर दी और उसके चुत के दाने को मसलने लगा. मुच्छड़- क्यों छमिया, कहाँ से आ रही है?मैं रोते हुए- छमिया क्यों कह रहे हो भैया?मुच्छड़- अरी रंडी.

अब उन्होंने लंबी सांस ली और मुझे ऊपर आने का इशारा किया, मेरी आंखों में बहुत ही गौर से देखा और कहा- राजे तुमने मुझे धन्य कर दिया!और वे मेरे लंड को लंड को हिलाने लगी.

बीएफ मूवी वीडियो ओपन: मैंने कांच लेकर गांड के पीछे किया तो कूल्हों पर दांत के निशान ही निशान. मैं शहर की रहने वाली हूँ तो आप लोगों को तो पता होगा कि मैं कितना फैशन में रहती हूँ.

कामुकता से परिपूर्ण यह हिंदी सेक्स कहानी जारी रहेगी, मजा लेते रहिये![emailprotected]. भाभी बोलीं- क्या देख रहे हो?मैंने कहा- भाभी ये इतनी खूबसूरत होती है… तभी तो सारी दुनिया के मर्द इसके पीछे पड़े रहते हैं. जैसे ही उसका लोवर और अंडरवियर उतरा, उसने अपना नंगा सख्त लन्ड मेरी गांड में टच करा दिया और उसे धीरे-धीरे मेरे कूल्हों में घुमाने लगा.

मेरी क्लासमेट की सेक्स की कहानी के पहले भागक्लासमेट गर्लफ्रेंड बन कर चुद गई-1में अब तक आपने पढ़ा कि मुस्कान एकदम नंगी मेरे सामने थी.

तभी लंड ने उल्टी कर दी और मैंने अपना लंड उसकी ही पेंटी से साफ़ किया. मेरी सहेली मानसी के कई बॉयफ्रेंड रह चुके हैं और वो एकदम खुलकर रहती है. वासना से मेरी आवाजें थोड़ी तेज होने लगी और मैं बहुत ज्यादा गर्म हो गयी थी चुदवाने के लिए और मैं उसको बोलने लगी- अब मुझसे नहीं रहा जाता है बस, मेरी चूत नहीं चाटो … मेरी चूत में लंड भी डालो!और उसने मुझे बिस्तर पर चित लिटा दिया और मेरी चूत में अपना लंड डालने लगा.