सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की

छवि स्रोत,चोर की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फुल स्टोरी: सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की, कुछ देर के बाद सब कुछ जब सामान्य हो गया तो हम लोग उठे और अपने अपने कपड़े पहनने लगे.

बीएफ सेक्सी देसी गांव वाली

उसने मुझसे कहा कि मैं हवाई जहाज से चली जाऊं, पर मैं तो आज तक केवल बस और ऑटो से ही घूमती आयी थी. बीएफ सेक्सी सनीउसके बाद उसको चोदने का मौका नहीं मिला क्योंकि उसकी जल्द ही शादी हो गयी.

वो बोली- कब निकलता है?उसके मुंह से ये सुन कर अब मेरे अंदर अन्तर्वासना की कहानियां घूमने लगी थीं. हिंदी में बीएफ पिक्चर हिंदीऔर फिर बोली- निखिल, आज मैं भी यही बेड पर सो जाऊंगी क्योंकि तुम्हारी हालत भी ठीक नहीं है.

मैं भी अपने किरदार के मुताबिक गर्व भरे भाव दिखाते हुए मुस्कुराने लगी और नेताजी को लुभावनी अंदाज में मदिरा का गिलास दिया.सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की: वो मेरे लंड की ऐसे प्यासी लग रही थी जैसे दस दिन के भूखे शेर के सामने किसी ने बकरी को रख दिया हो.

और हमारा वो सेक्स सम्बन्ध लगभग 5 साल रहा और काफी अच्छा और काफी वाइल्ड रहा।तो यह थी मेरे कई अनुभवों में से एक अनुभव की कामुकता भरी कहानी। आपको कैसी लगी? आप लोगों की राय जानना चाहूँगा। यह मेरी पहली कहानी है तो शायद लेखनी में कुछ गलतियाँ हो सकती हैं, वो मैं आगे सुधार लूँगा।आपका अपना उदित[emailprotected].जब मुझे मामी के आने की आवाज सुनाई दी तो मैंने आंखें खोली ही थीं लेकिन उस वक्त मेरे हाथ में मेरा लंड था और मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी निकल रही थी.

देसी लड़की की चुदाई वीडियो बीएफ - सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की

मैं फिर से उनके चूचे चूसने लगा और इधर वो मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर हिला रही थींआंटी मेरे लंड को हिलाते हुए कह रही थीं- आज बहुत दिनों बाद मजा आने वाला है.मौसी ने मुझे देख कर स्माइल की और फिर अपने कपड़े लेकर दूसरे रूम में चली गई.

भाभी पहले तो ना ना करने लगीं- क्या कर रहे हो अजय … छोड़ भी दो उफ्फ्फ्फ बदमाश!मैं भाभी की कुछ नहीं सुन रहा था और भाभी के चूचों से पूरा लिपट गया था. सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की मुझे जब भी मौका मिलता है, मैं अंतरा की चूत को शांत जरूर कर देता हूँ.

विवेक ने मेरे होंठों को अपने होंठों से लॉक कर लिया दो मिनट तक उसने मुझे यूं ही जकड़े रखा.

सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की?

दो गिलास पेप्सी मतलब दो पेग व्हिस्की अन्दर हो गई तो मैं नमिता को लेकर बेडरूम में आ गया. सभी के बात व्यवहार और कपड़ों के पहनावे से लग रहा था कि वे सब काफी उच्च घराने से थे और काफी अमीर थे. और गुड नाईट कह कर सो गई।थोड़ी देर बाद मुझे भी नींद आ गई और मैं भी भाबी के मखमली जिस्म के बारे में सोचते हुए और उनकी ओर करवट लेकर सो गया। अब आगे की भाबी सेक्स स्टोरी:रात को करीब 2 घंटे बाद मुझे अपनी नंगी जांघों पर कुछ गर्म गर्म सा महसूस हुआ.

उनकी वक्षरेखा देख कर मेरा लंड एकदम से अंदर ही अंदर तनना शुरू हो गया. वंदना भाभी- हैलो … बल्लू को बुलाएंगे क्या एक बार?उधर से आवाज आई- आप कौन बोल रही हैं?वंदना भाभी- बोल देना कि वंदना का फोन है. संगीता मेम ने मेरा लंड देखा और कहने लगीं- इतना बड़ा तो पंकज का भी नहीं है.

मैंने अपनी बीवी को बताया कि मेरा ट्रांस्फर तुम्हारे मायके में हो गया है. पांच दिन बाद मुझे जानकारी हुई कि मम्मी को अभी दो तीन दिन और लगेंगे. मॉम फिर से आवाज निकालने लगीं- आआह अई अई आह मर गई मैं तो!कुछ देर तक गांड चाटने के बाद मैंने अपना लौड़ा उनकी गांड में दे दिया और उनकी गांड चोदने लगा.

इतने दिनों से मैं मैडम को चोद रहा था, तो मैंने मैडम की गांड के भी मज़े लिए. डॉली जोर से अपनी चूत उठाकर कामुक आवाजें करने लगी थी ‘उन्ह … सीई … अह … ऊँऊँ.

मैंने बाथरूम में घुस कर मामी को अंदर से ही आवाज लगाई कि कुछ नहीं मामी, बस अभी आ रहा हूं वापस.

नमिता ने अपने मुँह से मेरा लण्ड निकाला और मुझे प्यास लगी है, पानी पीकर आती हूँ.

तो वो हंस कर बोली- लेकर आ यहां पर, एक महीने में उसका सब कुछ बढ़ जाएगा … यहां पर उसकी चुदाई की चुदाई … पैसे की भी कमाई होगी, दोनों फायदे हैं. उनके घर में मेरी काफी खातिरदारी हुई और फिर आखिरकार सोने का समय भी आ ही गया. और फिर बोली- निखिल, आज मैं भी यही बेड पर सो जाऊंगी क्योंकि तुम्हारी हालत भी ठीक नहीं है.

मेरा सोचना था कि उसकी मदमस्त चूचियों और उठी हुई गांड को देखकर कोई भी अपना लंड हिला लेगा. मैंने हंस कर आंख दबाई और कहा- हां फिर मैंने मलाई की चर्चा छेड़ दी थी. अब मैंने उसका हाथ छोड़ दिया और मेरे हाथ छोड़ते ही उसने अपने दोनों हाथ मेरे गले में डाल कर मुझे और ज़ोर से अपने पास खींच लिया.

गांड के चुन्नट फटने से हुआ दर्द नमिता सह नहीं पाई और चिल्ला पड़ी, हालांकि उसने खुद ही अपना मुँह दबोच लिया.

मैंने खाने का कुछ सामान मंगवाया और फिर खाने के बाद उसकी जांघ पर हाथ रख दिया तो वो सिहर गई. ’मैंने भी हाय बोला और पूछा- आप कौन?उधर से जबाव आया- आई एम गुड़िया और आप कौन?चूंकि मैं थोड़ा शरारती लड़का हूं, तो मैंने मजाक में बोल दिया- मैं गुड्डा. वो मेरे से बात करती है, बूब्स के दर्शन करवा देती है, चुसवा भी लेती है.

वो- पागल हो गए हो आप … अभी मुझे दुल्हन के पास जाना है, फिर सारी रात बिज़ी रहूंगी. एक दिन जब मैं सुबह उठा तो मेरे मम्मी और पापा कहीं जाने की तैयारी कर रहे थे. मेरा लंड जैसे ही उसकी चूत में पूरा घुसा तो उसके मुंह से जोरदार दर्द भरी आवाज निकल गयी लेकिन अब की बार उस दर्द के साथ एक मजा भी था.

मेरे फर्श पर लेटते ही वो मेरी टाँगों के बीच आ गए और मेरी बूर के लब खोलकर अपना गर्म लण्ड रख दिया.

मैंने अपूर्वा को वहीं योग मैट पर लिटा दिया और उसके मुँह में अपना मुँह डाल कर उसे स्मूच करने लगा. उसका हर धक्का इतनी गहराई तक जा रहा था, जैसे मानो मेरी नाभि भेद कर निकल जाएगा.

सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की वो बोली- मेरी पेंटी मेरे मुँह में ठूंस दो और जल्दी से लंड चूत के अन्दर डाल दो. साथ ही गांव के सारे बाहर रहने वाले दोस्तों से भी बात की कि भाई मैं आ रहा हूँ, तुम सबको भी आना है.

सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की इस वक्त हम दोनों बस चिपके ही नहीं थे … बाकी हमारे बीच दूरी थी थी नहीं. इधर मेरा भी लन्ड अपने उफान पर आ गया और मैंने भी एक जोर की पिचकारी छोड़ दी.

कुछ देर तक भाभी के चूचों को चूसने के बाद उन्होंने भाभी को लिटा दिया और भाभी की सलवार का नाड़ा खोल दिया.

सेक्सी क्रिया

निर्मला ने पहना और चिड़चिड़ाने लगी और बोली- इसे पहनने से तो अच्छा है कि मैं नंगी ही रह जाऊं और वैसे भी वो लोग हमें नंगी कर ही देंगे तो पहनने का क्या फायदा. वो शायद मेरी पहली ऐसी क्लाइंट थी जिसने बिना देर किये अपना ऑर्डर बुक किया जिसके तहत हमने मसाज की डेट फिक्स कर ली. आह्ह … चोद साले … इस चूत को तेरे जैसे शर्मीले लंड को लेने में बहुत मजा आता है.

वो ये सब देखते हुए बोलीं- छोटू को बोलो कि थोड़ा इंतजार करे … उसकी छोटी थोड़ी नखरेबाज है … अभी तैयार होकर आती है. ऐसा लग रहा था कि जितना मजा मैं उसकी चूत को चोद कर ले रहा हूं उसका दोगुना मजा तो वो मेरे लंड से निचोड़ रही है. मगर जैसा कि असल जीवन में होता है, कांतिलाल भी उसे अपनी बांहों की पकड़ से मुक्त नहीं होने दे रहा था.

आज मैं अपनी अम्मा, मेरी सासु माँ और मेरी उनकी बेटी, जो मेरी पत्नी है, उसे खूब चोदता हूँ.

दो साल तक वो मेरी हर तरह से चुदाई करते रहे। दो साल के बाद उनका ट्रांसफर हो गया और हम दोनों का रिश्ता भी वहीं समाप्त हो गया। मगर मेरी चुदाई का सिलसिला अभी थमा नहीं था. वो भी मेरे कूल्हों को अपने दोनों हाथों से दबा दबा कर मजा ले रही थीं, तो कभी हाथ नीचे करके लौड़े को मसल देती थीं. मौलीश्री मेरे घर से कुछ दूरी पर रहती थी और वो अपनी स्कूटी से आती थी तो हम दोनों सहेलियां जिस दिन हम लोग की छुट्टी रहती थी, घूमने जाती थी.

ताकि मेरी मम्मी उससे पूछतीं, तो वो मेरे माँ को वही सब कहती, जो मैंने तय किया था. फिर मैंने उसकी ब्रा भी उतार दी और उसकी दोनों चुचियों को चूसना शुरू कर दिया. किचन में, बैठक में, स्टोर रूम में जहां भी मन किया उसकी चूत का कुआं खोद डाला.

तब मैंने अपने दोनों हाथों से उसके कंधों को दबाया और पूरी ताकत से अपना लंड उसकी बुर में डाल दिया।लंड बुर की सारी दीवारों को फाड़ता हुआ सीधा बच्चेदानी से टकराया।सोनम की चीख निकल गयी, उसकी आंखें फटी की फटी रह गईं, शरीर अकड़ गया और वो दर्द के कारण लगभग बेहोश हो गई. उसके बाद वो मेरी चूत को सहलाने लगा और मैं उसके लंड को पकड़ कर सहलाने लगी.

मेरा पूरा बदन झनझनाने लगा और मेरी योनि की मांसपेशियां आपस में जैसे सिकुड़ने सी लगीं. आज से मैं तुम्हारी जान नहीं, तुम्हारी गर्लफ्रेंड हूँ … उफफ्फ़ …दोस्तो, उसकी चुचियों को चोदते हुए मुझे दो तीन मिनट ही हुए थे लेकिन चूंकि ये मेरा पहली बार था … इसलिए मुझे लगा कि मेरा अब निकल जाएगा, इसलिए मैंने जल्दी से अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और उसके बाल पकड़ कर उसके मुँह को चोदने लगा. हालांकि मुझे नाचना नहीं आता था, पर मर्दों के आगे उस दिन क्या चलता और बाकी की औरतें भी वैसी ही थीं.

अब तक की इस हिंदी चुदाई कहानी के पिछले भागखेल वही भूमिका नयी-7में आपने पढ़ा था कि पूरे कमरे में चार मर्द पांच औरतों की चुदाई में लगे हुए थे.

वैसे तो उसकी मां ने भी मुझे देख लिया था कि मैं उसी पर नज़र रखे हुए हूं लेकिन वो कुछ नहीं बोल रही थी. मैं- कोई बात नहीं यार … एन्जॉय करने ही तो आए हैं और वैसे भी वे गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड हैं … तो ये सब तो चलता ही है. मैंने कई बार देखा था कि घर पर चाहे कोई रिश्तेदार आये या फिर कोई और मर्द आये वो मेरी मां को देखता ही रह जाता था.

कभी योनि में नमी न होने की वजह से … या कभी मन न होने की वजह से … तो कभी गलत तरीके या अत्यधिक ताकत के धक्के से. फिर मैंने अपनी पैंट निकाल दी और उसने मेरे कच्छे के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ लिया और सहलाने लगी.

वो अपने हाथ से लौड़े की टोपी को सहलाने लगीं और बूंदों को अपनी उंगली से लेकर बहुत ही उत्तेजक तरीके से मुँह में लेकर चाटने लगीं. एक दिन जब मैं सुबह उठा तो मेरे मम्मी और पापा कहीं जाने की तैयारी कर रहे थे. मैं व्याकुलता से भर गई और उसकी उंगली को हल्के दांतों से काट काट कर चूसते हुए अपने हाथ पीछे करके उसकी जांघों को सहलाने लगी.

सेक्सी पिक्चर विदेशी वीडियो

फिर एक दो बार मौसी की गांड के करीब पहुंच कर मैंने उंगली वहां पर टच की तो मौसी ने और आगे मालिश करने के लिए मना कर दिया.

उसकी चूत में भी मैं साथ ही साथ दबाव बनाता गया और धीरे-धीरे करके मैंने पूरा का पूरा लंड प्रिया की चूत में उतार दिया. शायद उसने चुत के बाल साफ़ नहीं किये थे, इसलिए पैंटी पर ऊपर से ही कुछ काला काला सा दिखाई दे रहा था. इस कारण मुझे मेरी उम्र की लड़कियां या मुझसे कम उम्र की लड़कियां पसंद ही नहीं आती थी.

दूसरी चुदाई में तो फरजाना ने खुद मुझे बहुत चूसा, मेरे होंठ चबा जाने तक चली गई. [emailprotected]अन्तर्वासना डॉट कॉम स्टोरी का अगला भाग:कमसिन लड़की की अनचुदी बुर ठोकी. एचडी में हिंदी सेक्सी बीएफमुझे एक बगल बिठा कर नेता जी फिर से उनके साथ व्यापार की बातों में लग गए और मदिरा भी अब अधिक हो चली थी.

मुझे ध्यान आया कि कहीं उसके झांट तो बीच में नहीं आ रहे? ऐसा ख्याल मुझे इसलिए आया क्योंकि जब मैं उसकी चूत में उंगली करता था तो चूत में उंगली आराम से चली जाती थी. संभोग करते हुए लगभग एक घंटा होने को था और कांतिलाल उन मर्दों में से था, जो अपने अनुसार अपना वीर्य रोक सकते थे.

हाय दोस्तो, मैं कपिल रोहिणी (दिल्ली) से आपको अपनी एक और सच्ची कहानी बताने जा रहा हूं. काफी देर तक लिंग चूसने के बाद रवि ने रमा को बाजू पकड़ कर उठाया और बिस्तर पर एक किनारे पीठ के बल लिटा दिया. मेरे मोबाइल में पोर्न पहले से ही था क्योंकि मेरे ऑफिस में जो लड़की मेरी सहेली बनी थी, वो मुझे हमेशा पोर्न भेजती रहती थी.

पहले तो मां ने मना कर दिया लेकिन फिर बाद में मां ने गाउन निकाल दिया. न्होंने जवाब में लिखा था कि वो मेरे साथ दो दिन का वक्त बिताना चाहते हैं और इसके लिए मैंने दो दिन की छुट्टी भी ले ली. इस पर रमा ने मुझे वेश्या के जैसे ही बने रहने को कहा और अभी राज को गुप्त रखने को कहा.

पिछली सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि किस तरह मैंने अनीता जी को जम कर चोदा औऱ अपनी बरसों की इच्छा पूरी कर ली थी.

वो मुझे खींच कर अपने रूम में बिस्तर पर ले गया और मुझे बिस्तर पर धक्का देकर लिटा दिया. वो भी मेरे कूल्हों को अपने दोनों हाथों से दबा दबा कर मजा ले रही थीं, तो कभी हाथ नीचे करके लौड़े को मसल देती थीं.

हालांकि मुझे अब भी ये नहीं मालूम था कि औरतों को क्या चाहिए होता है … या लड़कियां कैसे खुश होती हैं. इसके बाद कमलनाथ ने कहा कि संभोग़ से पूर्व मर्द और औरत को गर्म रहना चाहिए और इसके लिए उसे राजेश्वरी की योनि चाटनी पड़ेगी. मैंने खेलना चालू किया, जिससे में खेलते खेलते दो हजार से बीस हजार तक पहुंच गई.

चूँकि पहली बार लिख रहा हूँ … अगर कोई समझ ना आए … या कुछ गलती हो तो माफ कर देना. हम दोनों को रोमांटिक गाने बहुत पसंद हैं तो हम रोमांटिक गाने देख रहे थे. मेरा ये मैसेज पढ़ कर वो हंसने लगा उसने कहा- तुम कहां रहते हो?मैंने बता दिया कि मैं पटना में रहता हूँ.

सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की इसी तरह आप सब मुझे सराहते रहें और मैं आप सबका अपनी कहानियों से मनोरंजन करती रहूंगी. अब मैं काव्या की चूत और जांघों को चाट रहा था और काव्या मेरे लंड और अंडों से खेल रही थी.

भोजपुरी लड़की के सेक्सी

वो सोफे पर बैठ गया … अपनी टांगें जमीन पर रख कर और मुझे अपनी गोद में बैठने को बोला. फिर उसे ऊपर उठाने में मदद करने के लिए वो जब ऊपर को आती, तो मेरे लंड पर अपने चूतड़ थोड़ा कुछ ज्यादा दबा देती. रवि ने धीरे धीरे लिंग को आगे पीछे करना शुरू किया और 20-30 धक्कों के बाद उसकी रफ्तार में तेज़ी दिखने लगी.

मैं उसकी जांघों पर बैठ उसके गोद में आ गई और योनि में फिर से थूक मलकर लिंग को अपनी योनि में प्रवेश कराते हुए राजशेखर को पकड़ लिया. जब मैंने उससे कहा कि अगर वो लोग मेरे साथ संभोग करने चाहेंगे, तब क्या होगा?उसने बोला- कोई बात नहीं वैसे भी हम सब यहां मजे करने आए हैं और संभोग हम सबके बीच सामान्य बात है. डॉट कॉम बीएफ मूवीडॉली की चूत पर लौड़ा रगड़ते रगड़ते मेरे लौड़े का सुपारा और डॉली की चूत दोनों ही लाल लाल हो गए थे.

अब आगे:मैंने थोड़ी और बदतमीजी की और उसके दोनों मम्मे भी पकड़ लिए और दबा कर बोला- साली आधी घर वाली होती है।जब उसके मम्मे दबाये तो उसने हल्की सी चीख मारी, मगर ये चीख आनंद से ओत प्रोत थी।दो प्यासे जिस्म, घर में कोई नहीं।मैंने उसे अपनी और घुमाया और उसे फिर से कसके अपनी बांहों में जकड़ा और उसके होंठों को चूम लिया.

अंतरा और जोर से चिल्लाने लगी, मैंने उसकी आवाज को अनसुना करके अपनी स्पीड बढ़ा दी और अंतरा के होंठों को किस करने लगा. मैंने उसे पूरा मुँह में भर उसे चूसते हुए जीभ से सुपारे को भी सहलाने लगी.

दीदी की योनि में लंड को डालकर मैंने धीरे-धीरे अपने बदन को दीदी के बदन पर घिसना शुरू किया. वो बोली- ये आवाज कैसी आ रही है?भाभी बोली- कुछ नहीं, योगू को शायद मच्छर परेशान कर रहे हैं. मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो वो जोर जोर से सांस लेने लगी और थूकने लगी.

इससे पहले कि मैं कहानी को आगे लेकर जाऊं मैं आपको अपने बारे में कुछ हल्की-फुल्की जानकारी देना चाहता हूं.

वो बोली- आह्ह सर … कर दो ना … प्लीज … अब मुझे बहुत बेचैनी हो रही है।मैंने कहा- हां मेरी जान, आज मैं तुम्हें सेक्स का पूरा ज्ञान दे दूंगा. फिर अचानक से राज मजे लेता हुआ बोला- अल्पना और सोना तो अभी से इतनी थक गई हैं कि सुबह स्वीमिंग पर नहीं आई हैं. इसलिए मैं आप लोगों से यही प्रार्थना करती हूं कि आप फालतू के सेक्स आमंत्रण वाले ईमेल भेज कर अपना समय व्यर्थ न करें.

सेक्स सेक्सी बीएफ फिल्मइधर बाकी हम सब भी इतने उत्तेजित हो गए थे कि सबके चेहरे पर पसीना आने लगा था. मुझे क्या? हो सकता है, इसी बिना पर मैं माँ बेटी दोनों को एक साथ चोदने का भी मज़ा ले सकूँ.

हिंदी मूवी वीडियो सेक्सी वीडियो

पीछे से उसकी बड़ी सी काली चूत में अपने लंड को पेल दिया और उसकी चुदाई शुरू कर दी. मुझे पीछे से उसकी ब्रा का स्ट्रेप दिख रहा था, तो मुझसे नहीं रहा गया. उस महीने में अम्मा ने दुल्हन जैसी साड़ी भी पहनी और मैं शादी के हार भी लाया.

फिर मैंने अपने लंड को उसकी पानी छोड़ रही चूत के मुंह पर फेरा तो वो कामुक हो उठी. उसको भी लंड डलवाते हुए दर्द हो रहा था, पर वो भी अपने दर्द को सहते हुए पूरे दम से लंड डलवा रही थी. इसी तरह आप सब मुझे सराहते रहें और मैं आप सबका अपनी कहानियों से मनोरंजन करती रहूंगी.

मैं उस समय झड़ना शुरु हो गया था इसलिए रोक भी न सका और मेरे वीर्य की धार निकल कर दूर जाकर पड़ी. मुझे आप लोग मैसेज करके बताना ताकि मैं आप लोगों के मैसेज से प्रेरित होकर आगे भी आपके लिए अपनी कहानी लेकर आऊं. जैसे ही मैंने उसके मम्मों को छूने की कोशिश की, तो उसने मेरे हाथों को रोक लिया.

उसके बाद भाबी ने अपनी गांड उठा उठा कर जोर जोर से धक्के मारना चालू कर दिया. फिर उन्होंने खुद ही मेरा सर पकड़ लिया और मेरे सर को अपनी चूत के मुँह में घुसेड़ने लगीं.

हम दोनों एक दूसरे की बांहों में समाये हुए एक दूसरे की धड़कनों को सुन रहे थे.

उसके बाद आंटी ने मुझे प्यार से उठाया और हम दोनों बाथरूम में चले गये. बीएफ सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्सचूंकि यह मेरी पहली कहानी है इसलिए हो सकता है कि कहानी लिखने में कुछ गलती भी हो जाये तो आप उस गलती की तरफ ध्यान न दें और मेरी पहली चुदाई कॉलेज की लड़की की कहानी का मजा लें. बीएफ पिक्चर मोटी औरतउसने अपने घुटने को जांघों तक मोड़ लिया था और मैंने भी अपनी टांग उसकी जांघों पर चढ़ा दिया था. मैंने उनको एक नजर भरके देखा, उनको देखा क्या, बस ये समझ लो कि ब्लाउज के ऊपर से उनके बोबे खा जाने वाली नजरों से देखा.

मुझे अपने मम्मों को मसले जाने से दर्द हो रहा था, पर मज़ा भी आ रहा था.

मैंने पूछा कि नम्बर कैसे मिला आपको?वो बोली- तेरी भाभी से ही लिया है. कोई एक घंटे तक दीदी की चूत को दो बार चोदने के बाद रोहण अपने कपड़े पहन कर चला गया. मेरे चूतड़ देख कर वह मस्त हो गया- यार, तेरे तो चूतड़ क्या हैं … लौंडियों को मात करते हैं.

एक दिन मैं कॉलेज में दोस्तों के साथ मस्ती कर रहा था, तो मेरा दोस्त रोहण भारद्वाज, मुझसे बात करने लगा. चूंकि ये चाची की चूत की चुदाई मेरी पहली कहानी है इसलिए कहानी लिखते समय कोई गलती हो जाये तो आप उसे नजरअंदाज कर दें. मैंने भी उसे देखते हुए हाथ में थूक लगा कर अपनी योनि के मुख पर मल लिया और चुदाई के लिए तैयार हो गई.

हिंदी सेक्सी मूवी वीडियो सेक्स

उसने मुझे सिखा दिया कि कैसे किसी मर्द के साथ अधिकांश उच्च वेश्याएं मोल भाव करती हैं. लेकिन उसने मुझे देख कर एक स्माइल दी और फिर मुझसे कहा- मेरे बैग को ऊपर रख दो. दीदी के कहने पर मैंने नीचे आकर उसकी चिकनी चूत को चाटना शुरू कर दिया.

वो आयोडेक्स लगाने लगीं … लेकिन दर्द बेहद ज्यादा हो रहा था, तो दीदी लगा नहीं पा रही थीं.

वो बोली- हां ठीक है कर लेना लेकिन अभी तुम्हें जो करना है वो जल्दी कर लो नहीं तो फिर मकान मालिक मुझे बुलाने लगेगा.

ठंड का टाइम चल रहा था और मेरी तबियत भी थोड़ी खराब थी इसलिए मैं अपने कमरे में जल्दी चला गया. उसकी चूत में वीर्य को छोड़ कर जो आन्नद मुझे उस रात मिला वो मैं यहां पर बता नहीं सकता. तमिलनाडु सेक्सी वीडियो बीएफमेरी सहली मौली मुझे बताती थी कि वो अपने बॉयफ्रेंड से कैसे चुदाई का मजा लेती है तो मुझे भी चुदवाने का मन करता था और मेरी चूत भी गीली हो जाती थी.

भाभी की चूड़ियों की खन-खन सुन कर उसको शक हो गया ये आवाज कहां से आ रही है. हल्के हाथ से मैं बालों को रेजर से हटाता गया और चूत से बाल साफ होते गये. धक्के कैसे लगाये जाते हैं ये भी मैं बाद में ही सीख पाया लेकिन उस दिन तो बस जैसे तैसे करके मुझे दीदी की योनि का रस पीना था.

मेरी सगी मम्मी लापता हो गयी थी तो मेरे पापा ने अपने से 12 साल छोटी लड़की जो गरीब घर की थी, से शादी कर ली थी. इस पर उछलो ना …भाभी बोली- आह्ह बल्लू … तुम मेरे मन की बात कैसे जान लेते हो.

मैंने मेम से कह दिया कि मेम आपने सर को तो वो वाली बात नहीं बताई ना?मेम ने कहा- नहीं बताई है … लेकिन बताने वाली हूँ.

बुर के होंठ एक दूसरे से चिपके हुए थे। बुर की दरार ऐसी थी जैसे किसी ने पेंसिल से बना दी हो।उसकी बुर को देखकर समझ गया था कि सोनम के बाद उसकी प्यारी बुर को देखने वाला पहला खुशनसीब इंसान मैं ही था।मैंने सोनम की बुर को चूम कर के उसकी मुंहदिखाई उसे दी. उसकी बातें मेरे कानों में पड़ते ही मेरी रफ्तार और मस्ती दोनों पर रोक लग गई. तभी मेरे लंड ने पिचकारी छोड़ दी और मेरे माल से उसका मुँह भर गया जिसको वो पी गई।थोड़ी देर तक हम दोनों वैसे ही शांत पड़े रहे.

सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर वीडियो हिंदी मेरी गांड का उद्घाटन कैसे हुआ, उसकी कहानी मैं आपको अपनी अगली कहानी में लिखूंगी. मैं लगातार उसके मम्मों को चूसता मसलता जा रहा था और दबाता जा रहा था.

उसके बाद खाना आया, हम तीनों बात करते हुए खा रहे थे और बीच बीच में मैं काव्या के साथ मस्ती भी कर रहा था. शुरू-शुरू में एक दो दिन मैंने उसे काम करते देखा तो मैंने उसके स्तनों की तरफ ध्यान दिया जो कि बहुत ही रसभरे मालूम होते थे. कई बार मैं इसकी गर्म और देसी बुर चोदन कहानी पढ़ कर लंड को भी हिला लेता हूं.

सेक्सी वीडियो 2021 की नई सेक्सी

उसकी इस छोटी फ्रॉक से उसके घुटने से नीचे तक हिस्सा पूरा दिख रहा था. इसलिए उनकी सास ने मेरी माँ से कहा कि राकेश को कुछ दिनों के लिए रात को सोने को भेज देना क्योंकि घर में बहू अकेली रहेगी।रात को खाना खाने के बाद मैं उनके घर चला गया. ऐसा इसलिए था ताकि घर की बात घर में रहे और देवरानी को भी रोज रोज की संभोग क्रिया से थोड़ा आराम मिल सके.

राजेश्वरी की बातें सुन हम थोड़े अलग हुए, पर राजशेखर का लिंग अब भी मेरी योनि के भीतर था. मुझे नहीं पता था कि मौसी सच में सो रही थी या फिर वो यह सब नाटक रही थी.

फिर दो मिनट के बाद ही उसने मेरी टांग पर अपनी टांग को रख दिया और उसे हिलाने लगी.

उनके बोबे को दबाते-दबाते मैंने आंटी की ब्रा के हुक खोल दिए और अब मैंने कुर्ते के ऊपर से ही आंटी के बोबे को मेरे होंठों से काटने लग गया।फिर धीरे-धीरे मैं नाभि पर हाथ फेरते हुए नाभि को चाटने लग गया और आंटी भी अब धीरे-धीरे गर्म होने लग गई थी और वो भी मेरी टी-शर्ट में हाथ डालने लग गई थी. मौसी कहने लगी कि जब से मैंने तुमको छुआ है तब से ही मैं तुमसे चुदने के लिए बेचैन हो गई थी. मेरी मां की जवानी देख कर मेरा लंड उछलने लगा लेकिन मां को अपनी गार्मेंट के ध्यान में मेरे लंड का तनाव दिखाई नहीं दिया.

एक ऐसी लड़की की जो मुझे अचानक मिली जिसको मैंने कभी देखा तक नहीं था न सोचा था कि ऐसी कोई जिंदगी में आई थी बाद उस टाइम की है जब मैं शुरू शुरू में जिम जाया करता था. वहां पहुंचने के बाद देखा कि भाभी नीचे सो गई थीं और नलिनी ऊपर अकेली पैर मोड़ कर बैठी थी, क्योंकि लास्ट वाली सीट थी और ऊपर के दोनों लोग सो गए थे. अगले दिन सारे गांव को जीमने का न्यौता था, तो चाचा जी बोले कि आज सब काम सम्भालना है.

अंदर मैंने देखा कि अरशी का मुंह दूसरी तरफ था और वो अपनी ब्रा के हुक लगा रही थी.

सेक्सी वीडियो बीएफ भाभी देवर की: तभी मॉम ने मेरा हाथ पकड़ा और खींच कर मुझे तरह तरह की गाली देने लगीं और कहने लगीं- मेरी गांड क्या तेरा बाप मारेगा … साले गांड मार … फिर सोने जाना. उनके दोनों चूतड़ जब थिरक रहे थे, तो ऐसा लग रहा था … मानो एक दूसरे से बातें कर रहे हों.

मेरे दिमाग ने काम करना बंद कर दिया था।मैं जैसे ही दीदी की चारपाई पर पहुंचा, उन्होंने भी अपनी आगोश में मुझे भर लिया। मेरा सिर उनके उभारों के मखमली और सबसे मुलायम जगह पर था।अपने मुंह को दीदी के उभारों में घुसा कर उस पहले अहसास के आनंद में ऐसा डूबने लगा कि मुझे पता ही नहीं चल रहा था कि अब और गहराई में उतरना है. मैं बस हाय हाय करते हुए उससे विनती करती हुई बोलने लगी- प्लीज कांतिलाल जी छोड़ दो … नहीं तो मैं झड़ जाऊंगी, ओह्ह मां मर जाऊंगी मैं. डॉक्टर साहब ने अपने जूते, पैन्ट और चड्डी उतारी और फिर से मेरे ऊपर आ गये.

फिर मैंने दोनों गिलास आधे आधे भरे और उससे कहा- तुम मेरी रखैल हो न!वो बोली- हां.

मेरे बोझ की वजह से वो पास के बिस्तर पर दोनों हाथ टिका कर झुक गईं, तो मैंने अपनी जींस निकाल दी. मेरे लन्ड का टोपा आंटी की चूत में चला गया और वो जोर जोर से चिल्लाने लग गई उम्म्ह … अहह … हय … ओह … और वो लन्ड बाहर निकालने के लिए बोलने लग गई. रोशनी के मुँह से जोर जोर से आवाजें आ रही थीं- ऊहह आहाहाह … ऊऊहह ऊहह … मजा आ रहा है … और तेज चोदो … आह चोदो बहुत मजा आ रहा है … अहह … मैं गई!पति बोले- आह मेरी जान … ले बस मेरा भी होने ही वाला है … रोशनी मेरी जान ले लंड ले.