बीएफ साउथ की बीएफ

छवि स्रोत,इंडियन वाइफ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

𝒔𝒆𝒙𝒚 𝒗𝒊𝒅𝒆𝒐: बीएफ साउथ की बीएफ, मेरी पिछली कहानी थीअपने पड़ोसी के मोटे लंड से चुदीअब मैं अपनी कहानी सुनाने जा रही हूँ.

पण सेक्सी

जब मेरी नज़र उन पर पड़ी तो हम दोनों तुरंत एक दूसरे से अलग हुए और अपने-अपने कपड़े पहने. सुहागरात सुहागरातफिर उस दिन के बाद से हम दोनों में भाई बहन का नहीं, मियां बीवी का रिश्ता बन गया.

उसने लिंग अन्दर बाहर कर संभोग शुरू किया तो उसके लिंग की घर्षण मेरी योनि में सुखद लगने लगा. घर बनाना सिखाइएउसने बताया कि वह पास के गांव का ही है, जो यहां से 15 किलोमीटर दूर है.

मैंने अपना एक हाथ उसके ब्लाउज़ में डाला और दूसरा साड़ी के अन्दर डाला और एक साथ चुचे की घुंडी और चुत का दाना मसल दिया.बीएफ साउथ की बीएफ: दीवार की तरफ मुँह करके वह लेटा हुआ था और मैं भी जाकर राहुल के पीछे लेट गयी.

उसके बाद सर ने मेरे चूचों को छोड़कर फिर से अपने लंड को मेरी चूत पर लगा दिया.अंत में हम दोनों किचन में गए तो मैंने एक ग्लास पानी भर के उसे दिया.

नहीं सेक्सी मूवी - बीएफ साउथ की बीएफ

उसकी किलर स्माइल दिल खुश हो जाता था और मन में अजीब सी सनसनाहट पैदा हो जाती.बार में जा के उन्होंने मुझसे पूछा, तो मैंने उनके और अपने लिए वोडका का आर्डर दिया.

अब मेरे सामने केवल कच्छा में लेटा हुआ था और उसका लंड अंदर तना हुआ था. बीएफ साउथ की बीएफ यह सब तो तभी पता लग पाएगा जब उसको फिर से चोदने का मौका मिलेगा और मैं आज तक उसी मौके की तलाश में हूँ.

मैंने नोट किया जब मेरा लंड उसकी चूत से टच करके ऊपर को उठता था तो उसकी चूत के रस से लंड की टोपी के साथ एक तार सी बन जाती.

बीएफ साउथ की बीएफ?

उन्होंने हल्के से चुत को मेरे अपने दोनों हाथों से फैलाये और फिर अपनी जीभ को जैसे ही चुत में टच कराया, मैं उछल पड़ी. तभी वो उल्टा होकर मेरे कूल्हों को फैलाकर मेरी गांड में अपनी उंगली डालने लगा. मैं उससे अपनी हर बात शेयर कर लिया करता था और वह भी मुझ पर पूरा भरोसा करती थी.

मैंने अपने लंड को धीरे से उसकी चूत पे टिकाया और उसे हल्के हल्के ऊपर नीचे करने लगा. फिर दो मिनट तक वे दोनों ऐसे ही ऊपर बैठ के किस करती रहीं, तो कभी आपस में बूब्स चूसने लगीं. उसके मम्मे वाकयी इतने हाहाकारी थे कि पहली ही नजर में किसी को भी पागल कर दें.

साथ ही साथ मुझे इस बात की भी जिज्ञासा है कि निहारिका के शरीर में क्या-क्या बदलाव आए हैं. मैंने बोला- तुम अपनी बात उनसे बिन डरे रखो, तुम्हारा कॉन्फिडेंस तुम्हारा प्यार देख कर वो समझ जाएंगे और तुम्हें भरपूर प्यार देंगे. जिससे मेरी बीवी की भोसड़ी थोड़ी फैल गई और भोसड़ी का छेद साफ़ नजर आने लगा.

पति बाहर काम करने जाता था, कई दिनों में आता था, तो पहली पत्नी की शिकायत पर मंजू की पिटाई करता था. पर कहीं पति उस पर या उसके चरित्र पर शक ना करने लगे, इसलिए वह मना करती रहती है.

अब मैंने उसकी पैंट को गांड के नीचे कर लिया और उसकी गांड को किस करने और चाटने लगा.

मैंने कहा- आप नेहा मैडम की दोस्त बोल रही हैं?तो उन्होंने कहा- हाँ!मैंने उनका हाल-चाल पूछा.

इतने लोगों के बीच में भी तेरे से कंट्रोल नहीं हुआ? कौन है यह लड़की तेरी सैटिंग है क्या?तब तक मेरा लहंगा ऊपर को ही था. जब मैं सोनू की चूची पीता या उसकी चूत पर अपने लंड का दबाव बढ़ाता तो सोनू के मुंह से सिसकारी की आवाज़ निकलती थी. मेरी तड़प को बुझा दो मेरे लाल … तुम जब कहोगे मैं यहाँ तुम्हारे लंड की सेवा करने आ जाऊंगी, कुछ तो रहम करो बेटा, इस ठंड में मैं ठिठुर रही हूँ और तुम गर्म रॉड जैसा लंड लेकर भी सोच रहे हो.

मैंने उस सेठ के लौंडे की तरफ देखा तो उसी ने उनको मेरे बारे में बताना शुरू कर दिया कि यही वह लड़की है, जो उस दिन स्टोर पर मिली थी और मैंने आपको इसी की फोटो दिखाई थी. मैं जब से दुल्हन के साथ सजके आई, सारे मर्द और लड़के बस ऐसे मुझे घूरे जा रहे थे कि जैसे अभी के अभी खा जाएंगे. उसने मेरे हाथ हटाते हुए कहा- इतनी भी जल्दी क्या है? कर लेंगे आराम से!कहकर वह मेरे होंठों को फिर से चूसने लगी.

उनका वो धक्का बहुत ज्यादा तेज था।राहुल ने धीरे से अपने लंड को बाहर निकाला और फिर जोरदार धक्के के साथ अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया.

अभी बना लेते हैंमैंने कहा- अब बनो मत, मैंने सब खाना वगैरह के पैकेट खोल कर गर्म कर खाना लगा दिया है. सुजाता एक दिन अजय से कहने लगी- आप अपने दोस्त रमेश से मिले हैं?अजय ने बोल दिया- हां मिला था. मैंने देखा था बाहर एक ट्यूबवेल है और वहीं एक हौदी भी बनी हुई है, वहाँ चलते हैं, पानी में करेंगे.

वो बोलीं- मुझे ये भी पता है कि तू मेरी ब्रा पेंटी के साथ क्या करता है. खाली समय में या लंच टाइम में मुझसे बात करना, आगे बढ़के काम में मदद करना, तारीफ करना और ना जाने क्या क्या. हालांकि मुझे ऋतु की गांड का उद्धाटन करने का मन था, पर ये सोच कर रह गया कि चलो किसी तरह ऋतु की गांड का छेद चालू तो हो जाए.

वो मेरे लंड को चड्डी के ऊपर से तिरछी निगाह करके वाशरूम की तरफ जाने लगीं.

रात 11 के आस पास बजे होंगे, उसकी कॉल आयी- और जानेमन, क्या कर रहे हो?मैं बोला- कुछ खास नहीं … बस लेटा हूँ. फिर उसी हफ्ते के शनिवार को सुबह-सुबह ही मेरे फोन की रिंग से मेरी नींद खुली तो देखा कि संध्या का ही कॉल था.

बीएफ साउथ की बीएफ वो लंड पेलते हुए बोला- मेरा बस थोड़ी देर में काम हो जाएगा, फिर तू ले जाना अपनी बहन को … साले मुझे चूतिया बनाता है. रात को जब वो आए तो मैंने उन्हें बताया कि भैया का फोन आया था और वो ऐसे पूछ रहे थे.

बीएफ साउथ की बीएफ मैंने उनकी भावनाओं को पढ़ने की कोशिश की और उनकी आँखों में देखता रहा. वर्षा पलभर सोचकर बोली- वो लड़का ही लुच्चा लफंगा है, दीदी बेचारी भोली हैं उसको फांस लिया होगा और आपने ही उसको घर बनवाने का काम दिया था.

मैंने गेट खोलकर बाहर से बंद किया और अपने नये बन रहे घर की तरफ गांड मटकाती हुई चल पड़ी.

ಶೇಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ

लंड सलहज की बच्चेदानी पर बार बार टकराता और वो सिसकारी लेती, इससे मेरा जोश और बढ़ जाता. पहले एक एक उंगली फिर धीरे से दो और फिर कुछ देर बाद मेरे दोनों हाथों से उंगलियों को अन्दर बाहर करने लगा. बोल साली छिनाल कितने लंड गए है तेरी चुत में?इस पर पूनम ने कहा- साले भैन्चोद … मेरी चुत तो चुदने के लिए ही बनी है.

फिर उसने मेरी चूत के रस को अपनी नाक के पास ले जाकर सूंघा और मुस्काने लगा. उसका 36-28-34 का सेक्सी फिगर स्किन फिट सिल्क गाउन में साफ़ दिख रहा था. उनके बॉब कट घुंघराले बाल थे, स्लीवलेस ब्लाउज में उनकी बड़ी-बड़ी खड़ी चूचियां और साड़ी में कसी हुई उनकी भरी हुई गांड किसी भी आदमी को अपनी तरफ आकर्षित कर लेती थी.

मुझे देखते ही उन्होंने अपना थोबड़ा चढ़ा लिया और कहा- हां … क्या है?जी … मेरा साल बर्बाद हो जाएगा.

ये लोग बता रहे थे कि तेरी मां भी बहुत बड़ी वाली रंडी रह चुकी है, पर अभी उसमें मुझे कुछ दम नहीं दिखा. आह्ह … आह्ह … ओह्ह … चोदो … आह्ह … उम्म … करो … कहती हुई वह चुदाई करवा रही थी. पहले मेरे पति मुझे बहुत खुश रखते हैं, इतना अधिक खुश रखते हैं कि वो पिछले डेढ़ साल से अमरिका में हैं … और मैं इधर मुम्बई में हूँ.

गाड़ी मेरे पास आकर रुकी और किसी ने इशारे से मुझे अन्दर बैठने को बोला. अजय की फुद्दी चटाई की वजह से मेरी फुद्दी की आग बढ़ गई और मैंने लंड मुँह से निकाल लिया. तो उन्होंने कहा- आते समय मेरे लिए आइस क्रीम ले आना!मैंने हामी भर दी और मैं लिफ्ट की तरफ चल पड़ा.

मेरा मुँह अब आजाद हो गया, पर फिर भी मैं जानें क्यूं चिल्लाई नहीं, न ही कोई रिएक्ट किया. उसने मुझे टॉवेल दिया और चली गयी फिर मैं भी उसके नाम की मुठ मार के बाहर आ गया और ऐसे बर्ताव किया मानो कुछ हुआ ही नहीं.

उन दोनों ने मुझे वहीं ज़मीन पर लेटा कर एक ने नयी बियर की बोतल खोली और मेरे शरीर पर डालने लगीं. साथ ही वह नीना की बार्इं चूची पीने लगा और अपनी चुटकी से दार्इं चूची का निप्पल मसलने लगा. तभी दूर एक दीवार के पास हल्की रोशनी में एक मर्द पेशाब करता हुआ दिखा.

उन लड़कों के पीछे सिर्फ दीवार थी, तो मैंने हिम्मत की और थोड़ा सा अपनी मुंडी घुमा दी.

लाइट गोल होने के आधे मिनट बाद ही निहाल वहीं पर सीधे बैठ गया और मेरे लहंगे के नीचे घुस गया. थोड़ी देर बाद शिल्पा उस शोरूम से निकली और सीधे मेरी गाड़ी में आकर बैठ गई. जैसे ही खाना तैयार हुआ, मैंने खाना लगा दिया और उन दोनों को भी बुला लिया.

दोस्तो, क्या बताऊं उसको बात करते देख मेरे लिट्ल उस्ताद (लंड) ने हरकत चालू कर दी. जाते हुए वह मुस्कराई और बोली- तुम बेवकूफ हो बिल्कुल!वह हँसते हुए चली गई.

दोस्तो, सोना की कहानी सुनकर मुझमें बदलाव आए और अब मैं उन महिलाओं की मदद करना चाहता हूँ, जो एड्स की शिकार हैं. एक बहुत ही खूबसूरत जिस्म वाली औरत उसे न केवल फ्री में मिल गई थी, बल्कि उसे उल्टे कुछ पैसे भी कमाने को मिलने वाले थे. ऊफ्फ़ कितना टेस्टी रस था … सच में दोस्तो, कभी ऐसी गुलाबी चूत को टेस्ट करना, फिर बोलना.

फोटो ब्यूटी प्लस कैमरा

उसने मेरी चूत में अपना लंड पेल दिया और मेरी चूत की खुजली को बड़े मस्त तरीके से शांत किया.

काम वासना की जितनी आग निहारिका के अंदर मैंने देखी है उसके लिए तो उसको एक रति-क्रिया में माहिर मर्द चाहिए जो उसकी योनि की अग्नि में अपने वीर्य की बरसात कर सके. मुझे भी सर के विरोध का झूठा ढोंग करना पड़ा लेकिन सर नहीं माने और उन्होंने मेरे मुंह में अपना वीर्य निकाल दिया. साथ ही वह नीना की बार्इं चूची पीने लगा और अपनी चुटकी से दार्इं चूची का निप्पल मसलने लगा.

सासू माँ- ठीक है बेटा, सोच ले अच्छे से और जो भी तेरा फैसला हो बता देना. मेरी वाली तो आज सुबह ही कह रही थी कि आपकी दो दिन की छुट्टियाँ हैं, मैं सारा घर का काम जल्दी निपटा कर रखूंगी, जल्दी आ जाना. सेक्सी लड़का काआज मेरी उम्र बेशक 29 साल है, परन्तु कभी खुद को जवान महसूस नहीं किया.

दोस्तो, यह मेरी कहानी का पहला भाग है आगे मैं मेरी भाभी को विभिन्न आसनों में चोदने की पूरी कहानी बताऊंगा. वो फिर से पूरी तेज़ चिल्लाई उम्म्ह… अहह… हय… याह… और दर्द से कराह उठी.

तब मैंने नीरू से कहा- बहन, मैं तेरी गांड मारना चाहता हूँ लेकिन उसमें तुझे थोड़ा सा दर्द होगा. वो मेरी फुद्दी को अपनी लम्बी और खुरदुरी जीभ से ऐसे चाटने लगा … जैसे वो किसी आम की कली का गूदा चाट रहा हो. मैं लॅपटॉप बंद ही करने वाला था कि रिंकी मेरे पास आई और साथ में फिल्म देखने को बोलने लगी.

मैं फ़ालतू तो था ही, सो टाइम पास करने के लिए मुझे अखबार पढ़ना ठीक लग रहा था. मैंने अपनी पहचान उसे नहीं बताई, बस उसे उसी भ्रम में रहने दिया कि मैं वही लड़का हूँ. दोनों को ही एक दूसरे की चाहत बड़े लंबे समय से थी जो अब जाकर पूरी हुई.

भाभी की तबीयत ठीक ना होने के कारण मैंने ही दूध गर्म किया और भाभी और मैं साथ में दूध पीकर सो गए.

मैंने कहा- आप चाहो तो थोड़ी मालिश कर दूँ?भाभी बोली- अगर आपको बुरा न लगे तो कर दो, वही ठीक रहेगा. राहुल ने कहा- रुको भाभी!मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोला- भाभी मेरे लिए संतरा और थोड़े अंगूर ले आओ.

मैं इस वक्त नशे में उसे देविका समझ बैठा … और उसकी दोनों चुचियों को अपनी छाती से रगड़ने लगा. तीन चार दिन यूं ही निकल गए लेकिन कुछ नहीं हुआ, सिर्फ चड्डी सुंघ कर मुठ मार लेता था. मैं सोचने लगा कि यह सरप्राइज़ की क्या कहानी है, अब तो और भी जल्द पता लग जाएगी.

पैंटी पतली डोरी वाली थी, जिससे केवल योनि की दरार ही छिपती थी, मगर योनि के उभार उस पर छप जाती थी. मैं बोली- नहीं रामू प्लीज़ कोई बात नहीं है … मैं तो रोज ही अपने बदन में ऐसे तेल लगाती हूँ. मन करता था कि भाभी को अभी पकड़कर चोद दूँ मगर अभी इतनी हिम्मत मेरे अंदर भी नहीं आ पाई थी.

बीएफ साउथ की बीएफ मैंने दरवाजा बंद कर दिया और एक तरफ ले जाकर आंटी के चूचों को ऊपर से ही दबा दिया. अब डेविड ने मुझे पीछे से कसकर मेरे मम्मों को पकड़ लिया और अपने लंड को मेरी गांड के छेद में फिट करते हुए सीधे मुझे उठा लिया.

संथाली वीडियो 2021

कुछ देर तक उंगलियों को गांड में चलाने के बाद मैंने लंड को फिर से चूत में डाल दिया और ताबड़तोड़ स्पीड के साथ आंटी की चूत को फिर से चोदना शुरू कर दिया. मैंने भाभी की खुल्लम खुल्ला बात सुन उनके गाल पर चुंबन धर दिया और कहा- मेरी प्यारी भाभी अगर तुम्हें चुदना ही था … तो इतने दिनों तक इंतज़ार करने की ज़रूरत क्या थी. मैंने प्रिया से पूछा- कैसा लगा?वो बोली- बहुत अच्छा … पहली बार आपने इतना मज़ा दिया.

उसने गांड उठाते हुए मुझसे कहा- राजा, अब मेरी चुदाई करो … मुझे रहा नहीं जाता. उसने मुझे किस करते हुए मेरे होठों को काट ही लिया और मेरी पीठ पर नाख़ून से नोचने लगी. इंडियन सेक्सी व्हिडिओ फुलमिसेज रॉय के ऐसा करते ही कुछ फ्रेंड्स को बड़ा अजीब सा लगा और वे मेरी तरफ आश्चर्य से देखने लगीं.

मैंने सोचा, कोई बात नहीं, थोड़ी ही देर में खुद पता चल जाएगा कि क्या सरप्राइज है.

आंखों ही आंखों में हम दोनों ने एक दूसरे को काफी गहरे से पढ़ लिया था. उसकी बातें, ज़िन्दगी के लिए उसकी अपनी सोच, अपनी कशमकश, उसके बोलने का तरीका, मुझे सब बहुत याद आता था.

वह कामुक सिसकारियाँ भरने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने संध्या की चूत को सहलाना शुरू कर दिया. जब चूत में लंड डाला जाता है तो चूत और लंड दोनों को बहुत मजा आता है. भाभी जी के बात करने के तरीके से लग रहा था कि वह पूरी तरह से चुदासी हो गई थीं.

आंटी बोली- विकास आज तूने मुझे खुश कर दिया।बहुत दिनों के बाद उनकी चूत की खुजली शांत हुई थी तो आंटी भी काफी खुश लग रही थी.

बस जब भी चाहत होती है, टॉयलेट में जाकर फिंगर्स से काम चला लेता हूँ. लंड घुसेड़ने के बाद में रमेश जी अपनी तरफ से ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगे. तभी जितने भी मर्दों ने अब तक मेरे साथ सम्भोग का मजा लिया, उनमें से अधिकांश मेरे ऐसे ही रूप के दीवाने थे.

सेक्सी फिल्म चलतीतभी महेश बोला- यार, इसको अपन चारों एक साथ फिल्मी स्टाइल में करते हैं. लेकिन रिशु ने ना में गर्दन हिला दी और फिर से मिशिका के होंठों को चूसने लगा.

सूट न्यू डिजाइन

उसकी गोल गोल चुचियां और गोल गांड की शेप देख कर गली वालों की हार्टबीट तेज हो जाती थी और टाइट जिम ड्रेस में ऊपर से ही उसकी चुत की शेप साफ़ नज़र आती थी. वो भी कुतिया की तरह अपनी गांड उठा उठा कर मेरे लंड का मज़ा ले रही थीं. अब मैं उससे शादी नहीं करना चाहती, पर अम्मी के दबाव में हलाला के लिए राजी हो गयी हूँ.

एक दो बार असफल रहने के बाद लंड ने अपना रास्ता खोज लिया और टोपा गांड की रिंग के अन्दर चला गया. मुझे हफ्ते भर में वापस आना था लेकिन काम लटक जाने से पूरे महीने भर वापस नहीं आ सका. आज भी उस सर्द शाम को याद करके लंड खड़ा हो जाता है और सोचता हूँ कि जीवन में कैसे कैसे पड़ाव आते हैं.

मैंने उसे लाइन मारी, पर वह इग्नोर कर देता था या फिर उसे समझ नहीं लगी कि मैं क्या चाहता हूं. मैं भी उससे एक-एक सीढ़ी पीछे उतरने लगा। अंतिम सीढ़ी पर जाकर वो रुकी और मेरी ओर मुड़ गयी। मेरा दिल जोर से धड़कने लगा।निचली सीढ़ियों पर खड़े हुए मेरा दिल धक-धक कर रहा था. मैंने ज़रीना के घुटनों को मोड़ कर उसकी छाती पर कर दिया, जिससे उसकी चूत का मुँह ऊपर को उठ गया और अच्छी तरह दिखायी देने लगा.

मैंने कहा- आंटी, आप इस वक्त यहां पर?आंटी ने कहा- तेरे अंकल तो सो गए हैं इसलिए मैं यहाँ टाइम पास करने के लिए आ गई. जब उसने देखा कि लंड उसकी चूत में घुस चुका है तो वह थोड़ी नॉर्मल होने लगी और बोली- तुमने तो मुझे डरा ही दिया था!इससे पहले वह कुछ कहती या करती मैंने उसकी चूत में धक्के देने शुरू कर दिये और उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

दस मिनट तक आंटी की चूत को इसी आसन में चोदने के बाद मैने आंटी को चूमा, तो आंटी ने ऊपर आने का कहा.

फिर उसने मेरी गर्दन पर किस किया और मैंने चूमते हुए उसको बेड पर लेटा लिया. চেন্নাই সেক্সआप सबके मेल से पता चलता है कि आप लोगों को मेरी कहानी कितनी पसंद आई. रानी मुखर्जी के सेक्सी फोटोलेकिन एक बार लंड निशाने पर लगा, तो वो दांत भींच लंड पर बैठती चली गई. ”क्या बात कर रही हो? तुम इससे पहले कभी नहीं झड़ी थी, तब तो और मजे की बात है … आज मैं तेरी सारी भूख मिटा दूँगा मेरी जान.

वह बोला- जैसे कि?मैंने कहा- आपकी चौड़ी और मजबूत छाती है जो आपकी शर्ट और कोट के अंदर से ही पता चल रही है.

उसके बाद वो मेरी चूची के निप्पल को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा. मैं कोई लेखक नहीं हूँ इसलिए अगर कोई ग़लती हो जाए, तो माफ़ कर दीजिएगा. मुझे कुछ समझ नहीं आया कि क्या करूं क्या नहीं, मैंने सोची अगर इनकी बात नहीं मानी, तो यह कहीं सबको बता ना दें.

उसका रिप्लाई था कि तुम तो एक छोटे से चूहे हो, तुमको कौन अपनी गांड देखने देगी. उसने अपनी अधूरी चुदाई भुल कर मज़ा लेने की सोची और वो वाणी के नीचे बैठ गयी. फिर उसने मेरी चूत के रस को अपनी नाक के पास ले जाकर सूंघा और मुस्काने लगा.

बी ओ एल ओ का मतलब

मैंने कहा- हां हाँ मीशा … पूछो न जो पूछना चाहती हो!वो बोली- जब से मैं जवान हो रही हूँ, मेरे शरीर में बहुत परिवर्तन हो रहे हैं और मेरे मन में बहुत बैचैनी हो रही है. खुद को बचाना, कहीं कोई कंट्रोल ना कर पाया तो तुझे लेने के देने पड़ जाएंगे. मेरे लंड से जोरदार चुदाई के बाद कुछ ही देर में सुषी झड़ गई और मैं भी उसके झड़ने के बाद चार-पांच धक्कों के बाद झड़ गया.

हम दोनों के होंठ आपस में एक दूसरे के होंठों को चूसने में लगे हुए थे.

फिर अंडरवियर को नीचे करते ही उसका 7 इंच का फनफनाता हुआ लंड मेरे सामने आ गया.

हम काफी देर तक बातें करते रहते थे, उस दौरान मेरा बॉयफ्रेंड मुझे किस भी करता था. दोस्तो, मेरी बीवी ऋतु ने इनकम टैक्स ऑफीसर के साथ चुदाई करने के बाद मेरी सारी टेंशन खत्म कर दी थी. काजल राघवानी की सेक्सी वीडियो मेंकुछ देर बाद नीरू बहन आनंद में अपना होश खोने लगी और वो भी अपनी गांड उठा-उठा कर मेरे लंड से अपनी चूत मरवाने लगी.

लेकिन ये फर्स्ट टाइम था जब मैं किसी लड़के के साथ लिप किस कर रहा था. मैंने भी कुत्ते की तरह उनकी चूत में लंड डाल कर जोर जोर से झटके मारना शुरू किए और उनकी गांड पर दोनों हाथों से बारी बारी तमाचे मारने शुरू कर दिए ताकि वो अपनी चूत टाइट करती रहें और अपनी गांड ऊपर उठाती रहें. सोनू अपनी मम्मी और पापा की चुदाई बताती रही- अगली रात जब पापा आए तो खाना खाकर मम्मी पापा लेट गए.

वो भी कुतिया की तरह अपनी गांड उठा उठा कर मेरे लंड का मज़ा ले रही थीं. भाभी की तबीयत ठीक ना होने के कारण मैंने ही दूध गर्म किया और भाभी और मैं साथ में दूध पीकर सो गए.

दोस्तो, कैसी रही मेरी ये स्टोरी? कृपया बताइयेगा जरूर! आप नीचे दिए गए मेल आई-डी पर ईमेल कर सकते हैं.

अगले दिन हम कोई अच्छा सा इंस्टिट्यूट देखने गए, हमने बहुत सारे इंस्टिट्यूट्स देखे, पर कोई खास पसंद नहीं आया. वो मेरी कमर को कस के पकड़ के मुझे लपेट कर बोला- आह … अब मेरा भी काम तमाम हो रहा है, तू बहुत मस्त है रे वन्द्या! तुझे चोद के आज मेरे जीवन का बहुत बड़ा काम हो गया. दोस्तो, आज जो मैं आप लोगों के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ, ये मेरी पहली कहानी है.

बंगले की फोटो धीरे-धीरे मैंने उसकी टांगों को खोला और देखा कि उसकी चूत का छेद इतना छोटा था कि उसमें मेरी एक उंगली ही जा सकती थी. मैंने नीरू से बोला कि अपनी लोअर का नाड़ा खोल कर अपनी पीठ के बल लेट जाए.

मेरा हंसता खेलता जीवन उजड़ गया, एक बेटा भी था, जिससे मुझे संभालना था. वो लड़का अब पहले से ज्यादा मेरे करीब आने की कोशिश करता था और मुझसे बात करते करते मेरी चूची को तरफ देखता था. वो खुद दूध पिलाने को मरी जा रही थी, उसने खुद अपने हाथ से अपनी दो उंगलियों के बीच निप्पल को पकड़ा और मेरे होंठों में फंसा दिया, ये सीन ठीक वैसा ही लग रहा था, जैसे कोई माँ अपने बच्चे को दूध पिलाते वक्त करती है.

सेक्सी देहाती औरत

मेरा अब सिर्फ हर वक्त यही मन करने लगा कि मुझे कोई भी मर्द मिले और मेरे जिस्म को अपने बाजुओं से मसल दे. मेरा उत्तर सुनकर लता भाभी एकदम रोमांचित हो गई और मुझसे लिपट गई; कहने लगी- देवर जी, यह मेरी खुशकिस्मती है कि आपका लंड फर्स्ट टाइम मेरी चूत में जाएगा और आप पहली बार मुझे चोदोगे. सोचा कि अब कम से कम रात में बाहर तो धक्के नहीं खाने पड़ेंगे … क्योंकि घर पर तो मैं बोलकर आया था कि दोस्त के यहां बर्थडे पार्टी में जा रहा हूँ और रात में उसी के वहां पर रुकूंगा.

मैंने भी उससे मजाक में कहा- लगता है आजकल शायद देख कर ही संतुष्टि कर रहे हो. उसके बाद सासू माँ ने बोलना शुरू किया:बेटा, तू तो जानती है, हितेश हमारा एकलौता बेटा है … शुरू से ही हमने उसकी परवरिश में कोई कमी नहीं रखी, बहुत ही लाड़ प्यार से पाला है हमने उसे, शुरू से ही मुझे उसकी हरकतें थोड़ी अजीब लगती थीं, तब सोचा कि बचपना है … धीरे धीरे सब सही हो जाएगा, पर जैसे जैसे वो बड़ा होता गया, वैसे वैसे उसकी हरकतें भी बढ़ती गईं.

मुझमें क्या कांटे लगे हैं?मैंने कहा- तुम चलो तो सही, मैं तुम दोनों के लिये कपड़े निकाल कर आता हूँ.

अब मैं धीरे धीरे उसे मैसेज करने लगा, धार्मिक सद्विचार और गुड मॉर्निंग के संदेश भेजता, तो वो भी मुझे रिप्लाई देती. अब तक आपने पढ़ा था कि शादी के माहौल में मेरे मौसेरे भाई निहाल ने मेरे साथ हरकत करनी शुरू कर दी थी. वन्द्या इज वेरी हंगरी!तब मैक ने पूरी मेरी टांगों को फैला दिया और मेरी चूत में स्पीड से जड़ तक लौड़ा दबा दबा कर डालने लगा.

5 सेमी मोटा लंड था। फिर उसने मुझसे कहा कि आप अपनी आँखें बंद कर लो। आंखें बंद करके मुझे बताना कि आपको कहां पर क्या महसूस होता है।मेरी जांघों पर हाथ फेरते हुए उसने मुझसे पूछा- आपको कहाँ पर ठंडा लगता है।मैंने ऐसा ही किया, मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं. आआआ … आआहह … मार डालो मुझे राहुल … आपका लण्ड … ओह माई गॉड … मेरे राहुल. वो बोली- एक बात बताओ, आपके पास एक मस्त लेडी बैठी है … और आप बाहर जाने का सोच रहे हो.

मैंने उसके घर का पता पूछा, तो वो पता मेरे घर से ज्यादा दूर नहीं था.

बीएफ साउथ की बीएफ: अब मुझे बहुत मज़े आ रहे थे, इतने मजे तो पहले के राउंड और पहले की चुदाइयों में भी नहीं आए थे. उसने मेरी चूत पर जीभ को लगाया, तो मैं एकदम से चीखने लगी उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्योंकि मुझे बहुत मजा आ रहा था.

फिर पहली बार प्रिया ने साथ दिया और अपनी नरम मुलायम बांहें मेरे गले में डाल कर मुझे सर पर किस किया. जो मेरे पाठक हैं, वो अपने लंड को पकड़ लें और जो पाठिकाएं हैं वो अपनी चूत की झांटें आदि साफ़ करके मजा लेने को तैयार कर लें. मैंने कहा- मोहिनी जी, कल रात हमारे बीच जो भी हुआ, उसके लिए मुझे माफ़ कर दीजिये, मैं कल बहुत नशे में था, पता नहीं क्या हो गया था, अपने आप पर काबू नहीं कर पाया.

उसके इस तरह से लंड घिसने से मुझे बड़ी कामुकता और व्याकुलता का अहसास हुआ जा रहा था.

एक दिन मम्मी पापा को किसी शादी में जाना था, तो मैंने पहले से ही तैयारी कर ली कि आज तो अपनी चूत में गाजर या बैगन डाल कर मज़े लूँगी. मैं बैठा बैठा अपने फोन में एक सेक्स वीडियो देख रहा था और वो अन्दर खाना पका रही थी. ‘सॉरी डार्लिंग, तुम चुदाई में नयी नयी हो, तो मैं समझा तुम मजाक कर रही हो, क्या ज्यादा दर्द हो रहा है?’ यह कहकर मैं अपने लंड को अन्दर बाहर करने लगा.