बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी साडीवाली व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो फुल मजा: बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर, भाभी ने मेरी गर्दन में अपनी बांहें डाली और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

देसी बिहार बीएफ

एक मन करता कि मौके का फायदा उठा लूं और निष्ठा को यहीं बिस्तर में अपने नीचे खींच लूं. एक्स एक्स एक्स जंगल वालीवो फिर से हंसने लगी और बोली- अब बता भी दो यार कि आपकी गर्लफ्रेंड है या नहीं है.

तो क्या तुम एक बार फिर से ऐसा ही गर्म सेक्स चैट सेशन करने के लिए तैयार हो?वानी- आप उसकी फिक्र न करें डार्लिंग. सेक्स वीडियो बीएफ हिंदी एचडीमेरे मुँह से आई … आई … आई … भाभी जी क्या कर रही हो? यहां तो बहुत मजा आया.

शारीरिक संबध के साथ-साथ अगर मेरी पार्टनर चाहती है … तो मैं उसके साथ लॉन्ग ड्राइव … मॉल … सिनेमा आदि जगहों पर चला जाता हूँ.बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर: तभी एक दिन शांति ने बम फोड़ा- साहब, स्वरा की शादी तय हो गई है, अगले महीने की 6 तारीख को शादी है.

” कहकर सानिया ने उदास होकर अपनी मुंडी झुका ली।मैं सोच रहा था ये साली तोतेजान भी अपने आप को यहाँ की महारानी समझने लगी है.इतना बोल कर मैं उस वैरी सेक्सी गर्ल के पैरों के बीच में आ गया और नीरजा की बुर खोल कर अपना लंड नीरजा की बुर के गुलाबी होंठ पर रगड़ने लगा.

बीएफ ब्लू सेक्सी वीडियो फिल्म - बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर

जब भी वो मेरे सामने आतीं, मैं बड़े गौर से उन्हें और उनके मम्मों को घूरता था.बेसन हल्दी से उसकी त्वचा खिल गयी और आखिरी मग्गे में उसने गुलाबजल डाल लिया तो वो महक भी गयी.

उसने अनिल को एक डीप किस दिया और कहा- उठो डार्लिंग, अब आग लगी है, छिड़काव कर दो. बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर ट्रेन के बाद उस गांव तक जाने का कोई सही इंतजाम है नहीं … इसलिए अकेले जा रहा हूँ.

अगर मैंने कविता के पिता जो पुलिस में बड़े अफसर हैं, को बता दिया तो वो समझ ले, उसका क्या होगा.

बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर?

कोमल- तो जिया क्या ख्याल है?जिया- किस बारे में?कोमल- सेक्स के लिए तैयार हो न?जिया मेरी ओर देखकर सेक्सी स्माइल करके शर्मा दी- क्या भाभी आप भी ना!कोमल- अब इसमें क्या शरमाना. बार बार सर की निगाहें मेरी चुचियों पर जा रही थीं, जिसको मैं अनदेखा कर रही थी. बस तू एक गर्मागर्म कॉफ़ी पिला दे बस; और वो मेज पर दवाई की एक खुराक और है वो भी दे दे साथ में!” मैंने कहा.

और हर चुदाई में लगभग 15- 20 झटके मारता था और दुनिया भर का वीर्य उसके अंदर छोड़ देता था. एक और आदत शाही सर की है, जब भी मेरे घर आते हैं, तो पहला काम ये होता है कि हम दोनों में से कोई भी कपड़े नहीं पहनेगा. तो दोस्तो, कैसी लगी स्टोरी? यह मेरे लिए एक यादगार अनुभव था जिसने मेरे वर्क स्ट्रेस को दूर करने में मेरी पूरी मदद की.

इस होम सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि एक जवान लड़के ने अपनी शादीशुदा हाउसमेड के साथ सेक्स के पूरे मजे लिए. खुशी के होने वाले पति वैभव ने भी अपनी शादी पर जबरदस्त बैचलर पार्टी की व्यवस्था की थी. मैं उसे छेड़ते हुए पूछा- क्यों नीचे आग लग गई है क्या?वो मेरी छाती पर मुक्का मारते हुए बोली- आग लगाने के बाद पूछ रहे हो कि आग लगी है.

रात भर भीगने के कारण और बाइक ड्राइव करने से पैर जैसे मन मन भर के भारी हो रहे थे. एक टेबल पर रखे फोन को दिखा कर कहा, ये फोन आप उपयोग कर सकते हैं।फिर उसने मुझे एक और कार्ड दिया और उस पर लिखे एक नं.

जावेद- तो फिर उतारो अपना अंडरवियर!मैंने अपना अंडरवियर फौरन उतार कर पलंग के सिरहाने रख दिया और सलीम भाई के बगल में नंगा लेट गया.

इससे पहले मैं कुछ बोलता, बेबी रानी बोली- चुप रह गुड़िया … बस दो तीन मिनट में सब ठीक हो जायगा … दो चार लम्बी लम्बी सांसें ले … राजे तू थोड़ा रुका रह … झटके अभी न मारियो.

मैं भी भाभी की चुदाई के मजे लेने के बाद उनको पूरी नंगी करके चोदने के सपने देखने लगा. मैंने उसकी भाषा को समझते हुए मन में सोचा कि अभी लंड और दारू का नशा ज्यादा चढ़कर बोल रहा है. कोई और बात है क्या?वो बोला- कोई बात नहीं है यार … बस तुम जल्दी से कर लो.

मैंने उससे कहा कि घर जाकर बोलना कि बाबाजी ने आशीर्वाद दे दिया है और कहा है कि दो तीन महीने में ही निशा गोद हरी होना शुरू हो जाएगी. हल्की हल्की सीईईई … करते हुए चूत में ले गयी और उस पे झुक के बैठ गयी।सुनील ने हल्की सी आहह … भरी।अब मैं खुद ही धीरे धीरे उसके लंड पे ऊपर नीचे सरक सरक के चुदवाने लगी।धीरे धीरे मैं अपनी स्पीड बढ़ाने लगी और उसकी छाती पे हाथ रख के चुदवाने लगी। मेरे मुंह से आहह … आहह … अहह … सी … स्सी … स्सीईईए … की आवाज निकल रही थी. अगले कुछ लम्हे, मैंने गति नहीं बढ़ाई और उसकी पीठ कंधे सहलाते हुए और कूल्हों को दबाकर नेहा उत्तेजना बढ़ाता रहा.

वो चुदाई के नाम पर थोड़ा सहमा और कहने लगा- यार तुझे तो मालूम ही है कि मेरा लंड किसी काम का नहीं है.

मगर मेरा ये दोस्त अपनी किस्मत को लेकर बहुत परेशान था क्योंकि उसने चूत का केवल नाम भर ही सुना था. मैंने उसकी एक चूची के निप्पल को मुँह में दबाया और दूसरे दूध को अपनी हथेली में भर कर मसलने लगा. मैंने नेहा के दोनों चूतड़ों को कस कर पकड़ रखा था और अपने एक अंगूठे को उसकी गांड के छेद पर दबा रखा था.

आप जानते ही हैं कि कुंवारे लड़कों का इन सबका अंत मुठ मारने से होता है. मैं- शशि, कहीं ये सपना तो नहीं है ना कि तुम मेरे पास, मेरी बांहों में हो और मैं तुम्हें प्यार कर रहा हूँ!भाभी- सपना नहीं है संजय … बस मुझे ऐसे ही प्यार करना. उस मकान में मेरे मकान मालिक और उनकी पत्नी और दो बेटियां भी थीं, जिनमें से एक की शादी हो गयी थी और वो चंडीगढ़ में जॉब करती थी.

उसकी लगभग 4 फुट की कच्ची दीवार थी जिसमें एक लकड़ी का छोटा सा गेट लगा था.

शांति की उम्र करीब 40 साल थी, उसका भरा बदन, गोरा रंग, बड़ी बड़ी चूचियां और भारी भरकम चूतड़ देखकर मन डोल जाता था. हम लौंडे यदि कोई चिढ़ाने को कह देते थे कि मेला ग्राउंड चलोगे … तो सामने वाला या तो गालियां देने लगता या चुप होकर मुस्कराने लगता.

बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर मैंने नेहा के दोनों पैरों को थोड़ा फैलाया, नेहा ने शरमा कर अपनी हथेलियों से चेहरा ढक लिया. मैं ऊपर मुंह उठाये पिंकी रानी की आँखों में आंखें डाल कर उसको निहार रहा था.

बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर मैंने जरा रुक कर पूछा- अदिति क्या हुआ?वो बोलीं- हर्षद मेरी पैंटी पूरी गीली होकर रस जांघों पर बह रहा है. उसने चूत की हर तरफ से खून को उँगलियों पर ले लिया और फिर एक उंगली मेरे मुंह में दे दी.

मेरी सास ने भी मुझसे कहा- आपकी तबियत ठीक नहीं लगती, आप निष्ठा को लेकर घर चले जाओ.

पति पत्नी के सेक्सी व्हिडीओ

मेरी आंखों में वासना की खुमारी छायी हुई थी मुझे इस बात का कोई अहसास ही नहीं था. जैसा तय हुआ था, उसी दिन मैं दोपहर करीब सवा तीन बजे नॉएडा पहुँच गया. मैंने खुद को फिर से ठीक किया और खुशी की भेजी हुई चेन पहन कर नीचे शादी की रस्मों में शामिल होने पहुंच गया.

और उसमें सबसे पहले उसकी गेलरी खोल कर देखी।बहुत सी पिक्स थी उसमें! उसकी शादी की, घर की, उसके बेटे की।फिर एक प्राइवेट फोल्डर देखा. मुझे देख कर पायल ने कहा- आप रो रहे थे?मैंने हड़बड़ा कर कहा- नहीं तो … मैं क्यों रोऊंगा?उसने कहा- झूठ मत बोलो. मैंने उसके कंधे पर सर रख दिया और रोना शुरू कर दिया और रोते हुए उसे सारी झूठी कहानी बता दी.

मैंने उसके उन्नत उभार टॉवेल के ऊपर से ही छूने शुरू कर दिए और उसकी गर्दन पर किस करने लगा.

इतना कहने पर ही उसने मुझे पहला किस किया और अपनी बांहों में जकड़ लिया. चूचा कभी होंठों से चूसता और कभी निप्पल के दायरे के इर्द गिर्द अपनी गर्म गर्म जीभ घुमाता. रति- नहीं मतलब नहीं। मेरी चूत ही चोदो।निराश होकर रमेश ने अपना लंड रति की चूत में घुसा दिया और चोदते हुए सिसकारियां लेने लगा- ऊंहह … आह्ह … ले साली रंडी … तेरी चूत को फाड़ देता हूं.

फिर हम दोनों ने अन्तर्वासना पर ‘गांड कैसे मारें’ लेख पढ़ा और फिर समझ आया कि लंड क्यों गांड में नहीं जा रहा था. मैंने उसकी टांगों को चौड़ी किया और उसकी चूत पर अपना लंड रगडऩे लगा. ये बात मैंने मुस्कुरा कर कही थी और नेहा मेरी मंशा समझ चुकी थी, उसने भी मस्ती से कहा- पीठ ही रगड़नी है ना … या कुछ और भी!मैंने भी आंख मारते हुए कहा- तुम और क्या-क्या रगड़ सकती हो?उसने मुस्कुरा कर आंखें झुका लीं और कहा- तुम चलो, मैं आती हूँ.

डार्लिंग नाराज़ क्यों होते हो इतना?मैंने कहा- नाराज़ कौन हो रहा है साली! चलो आज फिर खुद ही उतार कर आ जाओ हमारे सामने, हम भी देखें खुद कपड़े उतार कर कैसे सामने आती हैं हमारी जानेमन!तभी डोर बेल बजी और चाय आ गयी. रजनी की चूत में अब लंड का पूरा मजा मिलने लगा और वह बड़ी तेजी से ऊपर नीचे होने लगी.

मैं अभी भी उसके साथ रिलेशनशिप में हूँ और हमने मेरे घर का कोई हिस्सा नहीं छोड़ा है जहाँ हमने चुदाई न की हो।हमने उसकी कार में भी चुदाई की थी. राजेश ने नीचे बहते थूक का सहारा लेकर अपनी एक उंगली शीला की गांड की दरार में घुसा दी. प्रीति जोर से सिसकार उठी- आआहह … ऊऊऊ … यस … अजय … उम्म्ह … अहह … हय … याह … सक माय पुसी … और ज़ोर से चाटो … आह्ह अजय … आई लव यू जान।मैंने अपनी जीभ को और जोर जोर से चूत के अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया.

हाँ, एक बात जो सभी मेल में लिखी थी कि मेरी सभीपुरानी कहानियांसभी ने दो-दो, तीन-तीन बार पढ़ी और मूड रिफ्रेश किया.

आप अपने सुझाव ईमेल व कमेंट्स में मुझसे साझा कर सकते हैं।आपका प्यार दोस्त- किंग![emailprotected]. तभी भाभी ने मेरे चूत वाले हाथ पर अपना हाथ मारा और मेरी तरफ मुस्करा दी. पहले लण्ड का सुपारा और अगले धक्के में आधा लण्ड स्वरा की बुर में घुस गया.

तो रास्ते में लवी और उसकी माँ भी सो रही थी।मैंने एक मिनट रुक कर लवी को देखा।अपने बेटे के साथ वो बेसुध सो रही थी।पहले तो मैंने उसे खड़ा देखता रहा. पहले वाले पिक में भी टैग लगे थे पर मैंने ध्यान ही नहीं दिया था।मैंने टैग पढ़ा उसमें सबसे कम रेट का सूट सतरह हजार का था जो मेरून कलर का था और एक सूट इक्कीस हजार का था जो जर्मन ब्लू कलर का था।बाकी सभी चालीस या पचास हजार के ऊपर वाले थे.

कोई जुर्म तो नहीं कर रहे जिसका पता पुलिस को कैमरा फुटेज देखकर लगेगा जब तेरी शक्ल दिख जायगी. उसके बाद उन्होंने मुझे वापस भेज दिया और वो अपने अपने रास्ते चले गये. वो अपनी कॉलेज लाइफ से लेकर विदेश में मसाज के दौरान सेक्स कर चुकी थी.

डांस वाला सेक्सी वीडियो

जब लण्ड अन्दर जाता और मनजीत की बच्चेदानी से छूता तो आंखें बंद किये हुए मनजीत कहती- विजय, मेरे राजा, मेरी जान.

चश्मे के कारण उसकी आंखों से कुछ पढ़ पाना, तो मुश्किल था, पर प्रतिभा ने हाथ मिलाते वक्त अलग अंदाज से हाथ दबाकर ये बता दिया था कि आज सेब खुद चाकू पर गिरने वाला है. मैंने नेहा की फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली और उसे अपने फ्रेंड लिस्ट में जोड़ लिया. पम्मी मुझसे पूछने लगी- आपको मुझमें क्या अच्छा लगता है?मैंने कहा- जिंदगी में मैंने पहली बार किसी लड़की को बिना कपड़ों के देखा है … और जब से मैंने आपको देखा है, आपका हर एक अंग मेरी आंखों के सामने घूम रहा है.

अनिल ने उसके मम्मे ऊपर से ही चूम लिए और चूस कर निप्पल की जगह को भिगो दिया. मैं- तुमने क्या सोच कर हमारी बैंक के उन आदमियों के साथ सेक्स किया? साली रंडी! उस कार में बैठने से पहले तुम बहुत उत्साहित दिख रही थी. एक्स एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफदोपहर एक बजे के करीब हम अस्पताल के लिए निकलने लगे तो निष्ठा भावुक होकर मेरे सीने से लग गयी.

फिर एक एक करके उसने अपने दोनों हाथों को ऊपर उठाते हुए अपनी क्लीन शेव कांख पर भी साबुन रगड़ा. फिर भी मैंने उसे खरीद ही लिया और उम्मीद करने लगा कि खुशी को यह मूर्ति बहुत पसंद आयेगी।अब वो वक्त भी आ गया जब मुझे खुशी तक ले जाने वाली ट्रेन में सवार होना था.

मैंने सरोज की एक टांग को अपनी बाजू में लिया और चूत में लण्ड पेलने लगा. तो दोस्तो, कैसी लगी स्टोरी? यह मेरे लिए एक यादगार अनुभव था जिसने मेरे वर्क स्ट्रेस को दूर करने में मेरी पूरी मदद की. शांति के बदन का अच्छे से मुआयना करते हुए मैंने अपनी टीशर्ट व लोअर उतार दिया.

कमरे में ले जाकर एक कार्ड जैसी पुस्तिका देते हुए बहुत सी बातें बताई।सबसे पहले कहा- इसमें सभी सुविधाओं के लिए अलग-अलग नं. ”ओह … अरे मेरी जान प्लीज … मेरे सामने ही कर लो ना … अब शर्म की क्या बात है?”हट!”जान … तुम कितनी खूबसूरत हो!?”तो?”मेरा बहुत बड़ी इच्छा है तुम्हें सु-सु करते हुए देखने की!”नहीं मुझे शर्म आती है … आईईइ!”क्या हुआ?”मुझे बहुत जोर का सु सु आ रहा है. नेहा मेरा पूरा का पूरा लंड अपने मुंह में लेती और लंड को मुंह के अंदर ही रख कर अपनी जीभ को लंड के चारों और घुमाती और फिर लंड की नोक के ऊपर जीभ रख कर अपने होंठों में लौड़े को भींच कर धीरे धीरे लंड मुंह से बाहर निकालती.

मैंने उसे जोर देकर कहा- जाते हुए तुम जो बोल कर गये थे उसका क्या मतलब था?वो बोला- मैं अपनी मैडम की इज्जत करता हूं और मुझे यह जताना था कि मैं उसके हर हुक्म का पालन करने के लिए तैयार हूं.

वैसे वो मुझसे बहुत बात करती थीं लेकिन कभी भी ऐसी वैसी कोई बात नहीं की थी. मैं उसे सामने से मुस्कराता देख तुरन्त उसके कमरे में दाखिल हुआ और फिर उसे अपनी बांहों में भरकर चूम लिया.

शारीरिक संबध के साथ-साथ अगर मेरी पार्टनर चाहती है … तो मैं उसके साथ लॉन्ग ड्राइव … मॉल … सिनेमा आदि जगहों पर चला जाता हूँ. ए (प्रथम वर्ष) में ब्रा पहनना शुरू किया था।मेरे पड़ोस में एक लड़की रहती है, वो कक्षा नौ में पढ़ती है और उसकी ब्रा का साइज 32 सी है जबकि उसकी ये उम्र समीज पहनने की है बहुत मोटे स्तन हैं उसके।दोस्तो, हमारे यहां बन्दर आ जाते हैं और खाने पीने की चीजें या कपड़े इत्यादि ले जाते हैं. क्योंकि मैं जहाँ जा रहा था, वो बहुत ही ज्यादा अमीर घराना था और उनके कायदे कुछ अलग ही होते हैं।तभी मन में एक बात आई कि यार मैं तो मेहमान हूँ.

उसने मेरा पूछा, तो मैंने कहा कि मेरी मीटिंग है … वो खत्म करके किसी होटल में रूम बुक कर लूंगा. खैर मैंने अपने एक और दोस्त से एक्टिवा लेकर मुकेश के चलाने को दी, पहले मुकेश की मां मेरे साथ बाइक में बैठने की कोशिश कर रही थीं, जब उन्हें बैठते नहीं बना, तो अंकिता भाभी मेरे साथ बाइक में बैठ गईं और मुकेश अपनी मां के साथ धीरे धीरे एक्टिवा से पीछे आने लगा. मैं सोच रहा था कि क्या खुशी आगे भी मुझे इतनी ही वैल्यू देगी?मेरी आंखें भर आईं … और बहुत सी बातें मन में आने लगीं.

बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर भाभी जी हंस कर बोलीं कि अभी ठंडी कहां हुई … ये चुत तो आपकी दीवानी हो गई मेरे राज बाबू. इस दौरान मैं बोला- रीना, तुम कितना मस्त चुदवाती हो यार … मैं तो तुमको जिन्दगी भर यूं ही चोदता रहूँ.

सेक्सी नंगी ब्लू फिल्म दिखाओ

मैंने एक गहरी सांस ली और रानी की कमर नीचे को धकेलते हुए से तेज़ी से लंड को गुड्डी रानी की कुंवारी बुर में सूत दिया. जीजू, मैं बार बार आपको छू कर देख रही थी आपका टेम्परेचर डाउन ही नहीं हो रहा था, तो मैं क्या करती फिर?” निष्ठा ने अपना पक्ष रखा. मैंने बैठे हुए शशि भाभी को अपने गले लगा लिया और वो भी बड़े आराम से मेरी गोद में लेट सी गईं.

जब लंड ने पिचकारी मारना बंद कर दिया, तो उसने फिर से लंड को मुँह में भर लिया और बचे हुए रस को पी गयी. कलात्मक चीजों में मेरी सर्वाधिक रूचि रहती है।उस दिन भी मैं जब ट्रेन से उतरा तो सादगीपूर्ण लाइट पिंक कलर की प्लेन शर्ट और डार्क ब्लू कलर की एंकर फिट पैंट पहन रखी थी. सेकसीविडोयोउसने अपनी गांड के गोल और सांवले छेद को सामने लाकर खोल दिया, जिसमें वो उंगली कर रही थी.

इस गर्म सेक्स कहानी में आपको मजा आ रहा होगा? कहानी को अपना प्यार देना कतई न भूलें.

मतलब तो समझ गए न … मेरी भोसड़ी पसंद करने वालों … मैं अपना खुद का रंडीखाना खोल लूंगी. वैसे तो यह परिवार किसी से ज्यादा घुलमिल कर नहीं रहता था और जबसे मैं उस घर में रहने लगा था तो उन्होंने बिल्कुल ही पड़ोसियों से मिलना बंद कर दिया था.

मैंने अपनी पैंट की जिप को खोल लिया और अपनी कल्पना में सेक्स फेंटेसी को पूरा करने के लिए तैयार हो गया. अब लंड रीना के हाथों में था, वो उसे सहला रही थी, हल्के से खींच रही थी. जीजा साली का प्यार कहानी आपको अच्छी लग रही है ना?[emailprotected]जीजा साली का प्यार कहानी जारी रहेगी.

उसने अपनी गीली चूत को पूरी तरह से खोल लिया जिससे उसकी गुलाबी दीवारें अंदर से दिखने लगीं.

भाभी कुछ सोचने लगी, फिर बोली- राज, मुझे डर है कि कहीं रोहित कुछ पंगा न कर दे? मैं सोच रही थी कि क्यों न तुम आज से ही सोना शुरू कर दो, सामान कल शिफ्ट कर लेना. अगली सुबह मिलने की जगह तय हुई उधर में अपनी होंडा कार लेकर पहुंच गया. मेरे कानों से लेकर गांड के छेद तक और मेरी चूत से लेकर मेरे पंजों तक मेरे शरीर का कोई अंग उन्होंने चाटे बिना नहीं छोड़ा.

बीएफ सेक्सी चूत लंड की चुदाईथोड़ी ना नुकुर के बाद वो मान गई और बोली- पार्टी यहां नहीं … मैं चेंज करके आती हूँ … फिर कहीं दूसरी जगह चलते हैं. भाभी जी मेरे साथ लेट गईं, तो मैंने उनकी टांग के ऊपर अपनी टांग रख दी.

बर्तन वाली की सेक्सी

अंदर आकर शीला ने बताया कि उसका शराबी आदमी कल सुबह उससे लड़कर अपने मां के शहर चला गया था और अब लॉक डाउन की वजह से दो चार दिन बाद ही आ पायेगा. फिर राजीव बोला- मधुजी अब आप रेडी हो जाओ … आज की चुदाई आप जिन्दगी भर याद रखोगी. और फिर मुझसे कहा- आप कमरा देख लीजिए और फ्रेश होकर ब्रेकफास्ट कर लीजिए.

लेकिन अब मैंने किसी भी विषय पर ज्यादा सोचने के बजाए शादी पर फोकस किया. तब किसी ने मेरे सर पर शराब का एक गिलास धीरे धीरे से उड़ेला और जैसे ही शराब मेरे सर से होकर नीचे को बही, किसी ने मेरी गर्दन पर किसी ने मम्मों पर, किसी ने कमर पर किसी ने चूत पर और किसी ने मेरी जांघों पर मुँह लगा लिया … और जिसको जहां से पीने को मिली, वहां से मेरे बदन को चूस चूस कर शराब पी. मैं मानता हूँ कि किसी भी लड़की के साथ शुरूआत एक-दूसरे को जान-समझ कर, थोड़ा घूम-फिर कर करनी चाहिए.

मेरी पैन्ट जो अधूरी निकली थी, उसे मैंने पूरा निकाल दिया और अनीता को पास खींच लिया. शायद मैं भी लोगों को आकर्षित कर रहा था, जिसका अहसास मुझे खुद को नहीं था।वैसे तो मुझे अपनी प्रशंसा बिल्कुल पसंद नहीं है पर आपने भी लंबे समय से मेरे बारे में कुछ जाना सुना नहीं है, तो अपने बारे में जानकारी देना आवश्यक हो जाता है।मेरी उम्र पैंतीस वर्ष है, गोरा हूँ पर सफेद नहीं, इंडियन गोरे और विदेशी गोरों में जो भेद होता है उसी से आप मुझे भी समझ सकते हो. उन दोनों ने मेरे जिस्म को अपने हाथों और अपने पैरों में दबा रखा था।कमल की स्पीड बढ़ती ही जा रही थी और मैं जैसे चुद चुद कर सातवें आसमान की सैर करने लगी थी.

फिर मैं उन्हें बाहर लाकर दुबारा अपने बिस्तर पर ले आया और उनको घोड़ी बना कर भाभी की दमदार चुदाई की. उसकी चूत के रस की एक एक बूंद मैं चाट रहा था। ऐसा लग रहा था कि वो मेरे मुंह पर झड़ने वाली है.

स्वरा की उम्र करीब बीस साल, कद पांच फीट चार इंच, रंग गोरा, 32 इंच की चूचियां और 36 इंच के चूतड़.

आपने तो सारा शो रूम ही निकलवा दिया।मैंने उसकी बात सुन ली मैंने कहा- यार, कुछ भी ले लो ना! सब चलता है. नंगी बीएफ भेजोरात को खाना खाकर अंकिता भाभी मां के साथ और मैं मुकेश के साथ सो गया. सेक्सीमहिलाआजकल इंटरनेट के युग में चीज़ें वायरल होने में देर नहीं लगती।और एक लड़की के लिए उसका इज़्ज़त ही सबकुछ होता है. फिर मैं एक हाथ से उसके मखमली स्तनों को दबा रहा था और दूसरे हाथ से उसकी कमर को सहलाते हुए हाथ को उसकी चूत पर फिराने लगा.

गीत सिसकारते हुए झड़ती ही जा रही थी और बोल रही थी- उफ्फ्फ्फ़… आआह्ह्ह्ह… सीसी … सी … सीई … चो.

इतने में ही पीछे से गीत भी आ गयी और हम तीनों को इस तरह देख कर बोली- सालों, पांच मिनट का इंतज़ार नहीं हो सकता था क्या?मैंने उसको भी बेड पर खींचते हुए कहा- नहीं जानेमन, तुमने जैसी चुसाई हमारी की है, अब हमने भी तो बदला लेना है. चाचा का जांघिया तम्बू की तरह तन गया तो चाचा हमारे चूतड़ों को मलने लगे. उनको देख कर मेरा मुँह खुला का खुला था और मैं उनकी खूबसूरत जवानी को बस आंखों से निहार कर भाभी जी की चुदाई में लगा था.

तभी अचानक संजय भी मुझे झड़ता देख कर उत्तेजित हो गया और उसने भी अपना वीर्य गीत के मुंह में छोड़ दिया. रवीना ने बॉडी आयल अपने हाथ में लिया और अपने मम्मों पर डाला और बोतल कविता को दे दी. शालिनी मेरे तने हुए लंड की तरफ देख कर बोली- हां बताओ … क्या दिक्कत है … जल्दी से दिखाओ.

करिश्मा का सेक्सी पिक्चर

उन दोनों की बात सुनकर मैं बोली- ये भी सोचो कि तुम लोग खुशनसीब हो, जो बिना शादी किए शादी के सारे फायदे ले रहे हो. वो फिर से हंसने लगी और बोली- अब बता भी दो यार कि आपकी गर्लफ्रेंड है या नहीं है. जैसे ही मैंने उसकी पैंटी की डोरी को खोलकर निकालने की कोशिश की उसने अपने नितम्ब उठा दिए.

भैया कपड़े बदल कर नीचे चले गए क्योंकि उनके दोस्त उन्हें बुला कर ले गये थे.

भाभी के लम्बे लम्बे काले बाल हैं जो उसके गोरे चेहरे को और अधिक आकर्षक बनाते हैं.

रानी की आँखों में आँखें डाल के पूछा- अब कैसा लग रहा है जानू … अब तो डर पूरा निकल गया न?गुड्डी ने धीमी सी आवाज़ में कहा- उस टाइम तो निकल ही गया था मगर अब फिर से मन में शंकाएं उठने लगी हैं … कहीं तू मुझे दग़ा तो नहीं दे देगा … कभी तूने मुझे चोद चाद के त्याग दिया तो? बस यही चिंता सताए जाती है … अब तेरे ऊपर है कि कैसे मेरी चिंता दूर करता है. पता नहीं मुझे तो बस ऐसा लग रहा था कि आज मैं अपने जीवन की इस बहुप्रतीक्षित कल्पना के न जाने कितने करीब आ गई हूँ … मैं तो बस इस सबका लुफ्त उठाए जा रही थी. ब्लू फिल्म दिखाएं सेक्सी वालीसलीम मुझे ऐसे लेटे देख कर बोला- ज्यादा थक गए … चढ़ाई बहुत थी और ऊपर से सड़क भी खराब.

उसने लंड को मुट्ठी बांध कर पकड़ा और मेरी आंखों में देखकर कहा- सच में संदीप … तुम और तुम्हारे लंड पर मैं अपना पूरा जीवन वार दूँ … तब भी कम है. मैं एक नितम्ब दबा भी रहा था, सहला भी रहा था और दूसरा वाला चूतड़ चूस रहा था. भाभी जी ने मेरा लंड साफ किया और मेरे लंड को किस करके मुँह में डाल कर चूसने लगीं.

उन सभी पाठकों का भी आभार है जो ईमेल पर मेरी कहानी के अच्छे या बुरे पक्ष को सामने लाते हैं और मैं उस हिसाब से कहानी को और सुधार कर लिखने की कोशिश करता हूँ. मैं आशा रखता हूँ कि मेरी कहानी पढ़कर लड़कियों या भाभियों की चूत गीली हो जाएगी.

रात को राजेश ने खाना जल्दी ही खा लिया और शीला से बोला- तुम खाना खाकर सो जाना.

वो मेरे कहने पर बिस्तर पर बैठ गई और मैं तौलिया लपेटकर बाथरूम में जाकर जल्दी से फ्रेश हो गया. मैंने भी उसको बताया कि कैसे मैंने अपने एक सीनियर लड़के को फंसाया था. इतने में उसने मुझसे पूछा- राकेश क्या सच में मैं तुम्हें अच्छी लगती हूं?मेरे मुँह से कुछ ना निकला.

वीडियो सेक्सी बीपी एचडी कबसे आपका इंतजार कर रही थी, लेकिन पता नहीं आप अपने प्रशंसकों को छोड़कर किसके आगोश में खोये थे. उसी रात को हम दोनों ने फोन पर बात की और एक दूसरे को हॉट बातों और सेक्सी चैट से गर्म कर दिया.

मैंने एक बार फिर चुदाई रोकी और अपने दोनों हाथ आगे बढ़ा कर भाभी के मम्मों को मसलने लगा. … एकदम गाढ़ा, रसीला, नमकीन, गजब की खुशबू के साथ सीधा मेरे मुँह में आ गिरा. मुझे पता था कि आज ब्यूटी और स्मार्टनैस की अघोषित प्रतिस्पर्धा होने वाली है.

गर्ल गर्ल का सेक्सी वीडियो

खैर … बैचलर पार्टी के लिए बुलाई गई हसीनाओं को चखने का आफर देकर वैभव अपने कमरे में चला गया. भाभी ने मेरी टांगें चौड़ी की, मेरे मोटे पटों को थोड़ी देर सहलाया और जिस प्रकार से आदमी औरत को चोदता है उस पोजीशन में आकर अपनी चूत को मेरी चूत पर लभैंसा और रगड़ना शुरू कर दिया. मैंने लंड को उनके मुँह से लगाया, तो भाभी जी भी मेरा लंड चूसने लगीं.

वो एकदम मदहोशी में बदहवास हो चुकी थी।मैंने उसे अपने नीचे दबा लिया और अपने शरीर को उसके नंगे बदन से रगड़ने लगा. मैं- मुझे लगता है कि तुम्हें नंगी देख कर लंड खड़ा न होने का मेरा अनुमान गलत था.

ये कहते हुए उसने मेरे लंड के सुपारे को लॉलीपॉप की तरह चूसना शुरू किया.

फिर मैंने उसका टॉप उतारा और देखा कि रेशमी जालीवाली ब्रा में उसके दोनों दूध उठ बैठ रहे थे. एक दूसरे के साथ हम आपस में अच्छा मजा ले सकते हैं!अगर ऊपर वाला लिंक काम नहीं कर रहा तोयहाँ क्लिक करें. जिसकी वजह से मैं दर्द को भूल कर कामुक सिसकारियां निकालते हुए अपनी चूत की ताबड़तोड़ चुदाई करवाने लगी.

उसने अपने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ा और एक स्तन मेरे मुँह में डाल कर बोली- रणदीप तड़पाओ मत … पूरा चूसो इन्हें!बस फिर क्या था … मेरी कामदेवी मुझे अपने स्तन का अमृत पिलाने लगी थी. फिर से मम्मी तिलमिलाकर चिल्लाने लगीं- हाय रे हर्षद फट गयी मेरी चुत … ऊई मम्मी ओह हाय अंह अंह हुँम हुँम. उसका मासूम सा चेहरा, रुई के माफिक चूचियां … आधी मेरे सीने में दबी थीं.

पूरे रूम में सेक्स की कामुक सिसकारियां गूंजने लगीं- आह्ह … उम्म … होहह … आहा … आए … याह … आह्ह ओहह् … चूत … आह्ह क्या गांड है… आह्ह सेक्सी रंडी … आह्ह चूस ले साली रंडी … उम्म आह्ह।रवि- यार बहुत टेस्टी रंडी है ये तो। एक बार इसकी चूत और गांड का रस चख कर तो देख, मजा आ जायेगा.

बिहारी बीएफ सेक्सी पिक्चर: मेरे मन में शरारत सूझी, तो मैंने उसका दुपट्टा उठाकर उसकी चुत को पौंछ दिया, जिससे चुत की चिकनाहट खत्म हो गयी. इसी तरह बिन्दू ने भी टॉप और नीचे बहुत ही टाइट बिल्कुल छोटी सी नाइलोन की निक्कर पहन रखी थी.

बीच में कोई उतरने वाला भी नहीं था, तो ड्राईवर ने बस के अन्दर की लाइट नहीं जलाई थी. अब तक की सेक्स स्टोरी में आपने जाना कि कैसे पहली बार टीचर ने चोदा मुझे. उन्होंने आई आई टी दिल्ली से इंजीनियरिंग की थी और मैंने दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी से अपनी इंजीनियरिंग की थी.

मगर एक विचार जो सबसे हावी था, वो था लवी की टीशर्ट उठा कर उसके मम्मे देखना.

राजेश ने कमरा बंद किया और अपने मोबाइल से टीवी पर पोर्न मूवी लगा दी. फिर उन्होंने उससे बोला कि वो मुझे गाड़ी सीखा दे ताकि मुझे कोई समान लाने जाने हो तब मैं खुद जा कर ला सकूं. उसके बाद मैंने उससे पूछा- कैसा लगा?इस पर वो मुझे चूमते हुए बड़ी खुशी से बोली- बहुत अच्छा, सचमुच मुझे आज पहली बार अहसास हुआ कि ये इतना मजेदार होता है.