बीएफ वीडियो सेक्सी वाली

छवि स्रोत,चोपड़ा की सेक्सी फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

गोरी लड़की की चुदाई: बीएफ वीडियो सेक्सी वाली, सौरभ- इतने आराम से कैसे?बहन- तुम लोग के आने से पहले कोई और भी मेहनत कर के हल चला गया है इस खेत में!अभय- तो मैंने गलत क्या बोला था कॉल पर तुम्हें? रंडी।उसके बाद अंजलि ने सौरभ को कहा- रुको, अभय को नीचे आने दो!अभय नीचे लेट गया और अंजलि उसका लन्ड गांड में लेने का कोशिश करने लगी.

कैथी भाषा कैसे सीखें

इतना कह कर उन्होंने मेरी गांड पर एक ज़ोरदार चांटा मारा और स्माइल करने लगे. मौसी की चुदाई हिंदी वीडियोपर मैं जल्दबाजी नहीं करना चाहता था।मुझे जब लगा कि माँ सो गई है, मैं ब्लाउज के ऊपर से ही उनके दूध दबाने लगा। उनकी इतनी उम्र होने के बाद भी ऐसा लग रहा था मानो जैसे 20 साल की लड़की के गदराए ताज़े ताज़े बोबे हों। मैंने एक एक करके ब्लाउज के सारे बटन खोल दिए.

मगर उसकी चूत से खून निकल आया था जो मैंने धीरे से पानी लेकर साफ कर दिया. आरती की नंगी फोटोवह फिर से जोर से चीखी- हट जा मरदूद आह हायल्ला मर गई अम्मी रे … बचा लो … मर गई … बाहर निकालो भाईजान.

तभी हमने सोचा कि क्यों न हम राजा रानी के कपड़ों को पहनकर उनके जैसा रह कर जिया जाए और सेक्स किया जाए.बीएफ वीडियो सेक्सी वाली: इस घटना के बाद भी मुझे अक्सर आभास होता रहता था कि मम्मी उन अंकल या किसी और मर्द से चुद रही हैं.

मैंने मौके का फायदा उठाने की सोची और चाची के ब्लाउज का बटन खोल दिया.फिर जब शिल्पी अपने रूम में चली गयी तो जल्दी से नीता मेरे पास आई और कान में फुसफुसा कर बोली- मैं थोड़ी देर बाद नहाने जाऊंगी.

मारवाड़ी भाभी का सेक्सी वीडियो - बीएफ वीडियो सेक्सी वाली

तो मैंने उसकी कुंवारी चूत कैसे फाड़ी?मेरे अन्तर्वासना के पाठक दोस्तो, आप सभी को नमस्कार, मेरा नाम जयेश है.जैसे भी मैंने गुडबाइ बोला और नीचे तक आया, तभी भाभी का मैसेज आया- मैं एक बात कहूँ?मैंने बोला- हां जी बोलिए ना.

जिससे भाभी की चीख निकल गई और बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आराम से … तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है और मोटा भी!मगर मैं बिना रुके धकापेल चुदाई करने लगा. बीएफ वीडियो सेक्सी वाली मैं उधर ही रुक गया और उसकी तरफ हाथ से हाय किया, तो उसने भी मुझे रिप्लाई दिया.

उस दौरान मैं अपनी छिपी नजरों से दोनों बुआओं के मस्त मम्मों का जायजा लेता रहा.

बीएफ वीडियो सेक्सी वाली?

उसके बाद मैंने उसकी कमीज को ऊपर किया और अंदर हाथ डालकर उसकी चूचियों को बाहर निकाला और पीने लगा. यह अफवाह मैंने आसपड़ोस से सुनी थी लेकिन जब उसने अम्मी को बताया तो मुझे यकीन हो गया. हम दोनों एक दूसरे से मानो चिपक गए थे जाने कब की प्यास बुझाने की कोशिश करने में लगे थे.

मैं अब यह पक्के तौर पर जान लेना चाहता था कि रात में मैंने शनाज़ की चूत मारी थी या किसी और की … मैंने शनाज़ का हाथ अपने सिर पर रखा और कहा- तू मेरे सिर की कसम खाकर बता कि तू सच बोल रही है?शनाज़ मेरे सिर पर हाथ रखे रखे बोली- आपकी कसम मेरे सरताज … हम दोनों के बीच कल रात एक बार भी सेक्स नहीं हुआ. यह एक ऐसा मीठा अहसास होता है कि जितना भी करो … साला दिल ही नहीं मानता और ज्यादा से ज्यादा पाने की लालसा में इधर उधर दौड़ लगाता रहता है।ये भी सच है कि पुरूष आखिर पुरूष ही होते हैं. पर मुझे रात में ही टाइम मिलेगा, दुकान पर से नहीं आ सकता, पापा नहीं आने देंगे.

आपको ये सेक्सी फैमिली हिंदी स्टोरी कैसी लगी इसके बारे में जरूर लिखें. वह अभी भी साड़ी में थीं और उन्हें इस तरह अकेला देख कर मेरे मन में लड्डू फूट रहे थे. उमेश सर मुझे लिटाया और मेरे होंठों से शुरू करके मेरे पूरे बदन पर चुम्बन किए.

और वो अपने हाथ को हिला कर उसे महसूस करने लगी।मेरे खड़े लंड को महसूस करके रानी ने मुझसे पूछा कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड भी है क्या?तो मैंने नहीं में जवाब दिया. लेकिन उस निर्मोही को मेरे ऊपर जरा सा भी तरस नहीं आया बल्कि अपना पूरा लंड मेरी चूत से नहीं निकाला और शनाया से मेरे मुँह पर पानी मरवाक़े मुझे होश में लाया कुछ देर रुकने के बाद धीरे धीरे अपने लंड को आगे पीछे करके हिलाने लगा.

जोश में आकर शकील ने कहा- जब तेरी जैसी रंडी यार हो तो फिर चूतों की कमी थोड़ी होती है.

लेकिन एक घंटे के बाद मेरी किस्मत की मां चुद गई क्योंकि गरज और तेज़ हवाएं चलने लगीं.

मैंने फिर से एक हाथ से रजाई पकड़ी और खींचने लगा तो मेरा हाथ उनकी नंगी कमर को छू गया. उसके बाद हम दोनों ने आइसक्रीम खाई और मैंने उसे उसके घर के पास उतार दिया. अब आगे:नमस्कार दोस्तो मैं फिर से हाजिर हूँ अपनी कहानी को लेकर!तो पीहू को खेत में चोदने के बाद मैं उसे उसके घर छोड़ने गया। वहाँ मैंने पीहू को उसका गिफ्ट नीले रंग की जीन्स और सफेद रंग का टॉप उसे दिया।उसे पीहू लेकर काफी खुश हो गयी.

मैंने कहा- दबाने में दर्द तो नहीं हो रहा है?उसने कहा- नहीं अच्छा लग रहा है. अब मैं यहां नीता की चुदाई करता रहूंगा। दोस्तो, आपको बता दूं कि नीता और मैं पहले से ही एक दूसरे को पसंद करते थे. मैं मज़ाक में बोला- साली कुतिया … तू कितनी प्यासी है … कल रात तूने इसका सारा रस अपनी चूत में खींच लिया.

मगर नीता ये नहीं जानती थी कि शिल्पी को भी उसकी चुदाई के बारे में पता चल गया है.

भाभी के पति कहीं बाहर काम करते थे और वो अकसर कई कई हफ्तों या महीने भर से ज्यादा दिन के लिए शहर से बाहर रहते थे. दस मिनट तक किस करने के बाद मैंने उसकी नाइटी को उतार दिया और उसके मम्मों को चूसने लगा. मैं- भाभी सच में कितना मज़ा आएगा … जब आप दोनों मेरे साथ नंगी लेटोगी उफ्फ …भाभी- हां देवर जी, जी भर के मज़े ले लो … तुम यहां से अच्छे से चुत चुदाई की पढ़ाई करके जाना.

मेरे साथ मेरा छोटा साला सोया और मेरी बीवी सुषमा अलग कमरे में पढ़ने लगी. कोई 5 मिनट की धकापेल के बाद शकील के लंड का पानी अम्मी की चुत में निकल गया. आप कहानी के नीचे दिये गये कमेंट् बॉक्स में भी अपनी बात लिख सकते हैं.

उसने मेरे हाथ से उस पैकेट को लेकर एक तरफ रख दिया और बड़े ही नशीले अंदाज़ में मुझे देखा.

मेरे लंड पर गर्म गर्म तरल लगा तो मेरी उत्तेजना का चरम भी एकदम से आ गया. मेरी ननद गर्म ही चुकी थी। ननदोई ने अपने लंड उनकी चूत के ऊपर सेट कर दिया और धक्का देने लगे तो उनकी चीख निकल गई ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’लेकिन साथ ही ननदोई उनके मुंह पर हाथ रख दिया और चुदाई की गति को तेज करने लगे.

बीएफ वीडियो सेक्सी वाली उसके 6 महीने के बाद श्रुति का रिश्ता तय हो गया और जल्दी ही उसकी शादी भी कर दी गयी. अब मुझे याद आया कि कल ही मेरे मोबाइल में मैंने सिम चेंज कर ली थी और रिंकी को नम्बर नहीं दिया था.

बीएफ वीडियो सेक्सी वाली शकील ने हंसते हुए कहा- तुम मेरा लंड कई बार खा चुकी हो, मैं हर बार तुम्हें रंडी की तरह चोदता हूं. अभी मैं ये सब सोच ही रहा था कि मैडम के चीखने की आवाज़ आयी- उईईई ईईईई उम्म्ह… अहह… हय… याह… मां मर गयी …सर- आहहहह अब लगा है निशाना … कितनी गर्म चूत है मैडम तुम्हारी आहह … लंड जल सा गया.

तो दोस्तो, कैसा लगा तुम लोगों को मेरा यह पुराना अनुभव!और जैसा मैंने इस घटना के शुरू में लिखा है ऐसा लगभग 80% लोगों के साथ होता है.

मंगल बीएफ

मैंने उसे पटाने के लिए एक डेयरी मिल्क का टॉफ़ी और एक गुलाब का फूल दिया. मैं अपनी जिन्दगी के इस दर्द को आप लोगों के साथ बड़ी ही हिम्मत के साथ बांट रहा हूं. लेकिन मैंने उनके जिस्म की जरूरत को समझ कर इसे अनदेखा करने में ही भलाई समझी.

अवनीत झुक गई तो मैंने उसका लहंगा पीछे से उठा दिया और अपने लण्ड पर क्रीम मलकर उसकी बुर में डाल दिया और धीरे धीरे पेलने लगा. जैसे ही दो लेक्चर्स के बाद मैं लाइब्रेरी के पास गया तो वहाँ पर मुझे कोई दिख नहीं रहा था. आप मम्मी-पापा को आप ये बोल देना कि मेरे दोस्तों ने उनके घर पर पार्टी प्लान की है, हमें वहाँ जाना पड़ेगा।तो दीदी मान गयी।शाम को हम पापा के पास गए और जैसा प्लान किया था, वैसा बोल दिया।पर पापा ने मना कर दिया। क्यूंकि वे अपने घर की लड़की को रात को कहीं बाहर जाने नहीं दे सकते थे।पर बाद में मैंने भी कहा- पापा, कुछ गलत नहीं होगा.

वैशाली भाभी वहीं एक झीना सा नाईट सूट पहन कर बेड पर बैठी हुई थीं और पास में टेबल पर खाना रखा हुआ था.

अब भाभी ने मुझे फिर से बेड के ऊपर धक्का दे दिया और लंड को चुत में लेकर भाभी घूम गईं और मेरी तरफ होकर बोलीं- इतनी जल्दी थक गए क्या?मैंने उनसे कहा- नहीं … साली रंडी … अभी और बहुत जोर है मुझमें. वो मादक सिसकारियां भरने लगीं- आंह आऊं ऊहम … चूसो … जी भरके चूसो … अब ये तुम्हारे ही हैं. मैंने कहा- इतनी देर में तो किस हो जाती मेरी प्यारी भाभी!!ये कहकर मैंने उसके चेहरे को पकड़ा और अपने होंठ उसके होंठों से सटा दिये.

जब भी मैं नानी के घर जाता था, तो उसे देखकर मुझे एक अलग ही खुशी होती थी. मुझे देख कर उसकी आँखें फटी रह गई और उसने एक झटके से मेरे दोनों स्तनों को थाम कर सहलाना और मसलना शुरू किया. मगर अचानक कुछ दिन के बाद उसका फोन आया और उसने मेरे ऊपर वही आरोप लगाने शुरू कर दिये.

वो साइड में होती हुई मुझे देखने लगीं और उन्होंने एक गिलास में पानी दे दिया. फिर शाम को तेज़ बारिश हुई जिससे सब अपने घरों में अंदर दुबक गए थे।उसका मैसेज आया कि राज क्या कर रहे हो?मैंने मजाक में कहा- तुम्हारे घर आ रहा हूं।वो बोली- आ जाओ, घर में कोई नहीं है और मुझे तुमसे प्यार करना है।मैं मन में खुश हो गया और बोला- तुम्हारा पति आ गया तो?वो बोली- वो तो बाहर गया है और दो दिन बाद आएगा.

एक बार फिर से मामी ने मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया और लंड को चूस चूस कर खड़ा कर दिया. फिर वो अंकल चले गये और मॉम दरवाजे को बंद करके अपने रूम में चली गयी. अगले ही पल एक जोर के झटके के साथ दोबारा उसकी बच्चेदानी से जा टकराया.

टीना- यसस … मैं भी … ओह्ह्ह… डीप याहहह … फ़क … फ़क … हार्ड … उम्म्म … अन्दर ही छोड़ना.

यह काल्पनिक सेक्स कहानी मेरे दोस्त से मेरी माँ की शादी के बाद सुहागरात की है. मैंने अवनीत की टांगें फैला दीं और जमीन पर बैठकर अवनीत की चूत और जांघें चाटने लगा. फिर मैं भी पूरा नंगा हो गया था और एक बार फिर से मैंने उन दोनों की चूत चोद दी.

मैं- आह्ह … इतने मोटे बूब्स चाची?वो बोली- हां, इनको पीना चाहेगा?मैंने कहा- इनको तो निचोड़ लूंगा मैं!वो बोली- तो फिर आ ना … निचोड़ ले. मैंने दरवाजा खटखटाया तो दोस्त की बीबी ने ही दरवाजा खोला और मुस्मेंकुरा कर मेरा स्वागत किया, अंदर आने को कहा.

करीब दस मिनट बाद लंड फिर से तन गया और मैं टाइम ना गंवाते हुए भाभी के ऊपर चढ़ गया. जैसा मैंने बताया कि श्रुति भाभी ने मुझसे उनकी सहेलियों से मिलवाया था, उनमें से ही ये एक है. यार तुम्हारी नशीली आंखें, तुम्हारे लंबे काले बाल, तुम्हारा ये सेक्सी फिगर मुझे आजकल बहुत परेशान कर रहे हैं। जो कशिश, अदा, दीवानापन तुम में है, वो हमारी वाली में कहां है … मैं तो तुम्हारा उसी दिन से ही दीवाना हो गया हूं जब से तुम्हें पहली बार देखा था.

ब्लू सेक्सी बीएफ इंग्लिश

मैं तो सोच रहा था कि मैंने उन लड़कियों को पटा कर चोदा है लेकिन असल में उन दोनों ने मुझे अपने जिस्म की प्यास बुझाने के लिए इस्तेमाल किया था.

उसकी मादक आवाजें तेज सांसों में बदल गईं और मेरे ऊपर ही गिर गई।मैं उसके कान के पास चूमते हुए बोला- मज़ा आया आपको?वो बोली- हां, बहुत मज़ा आया. मैं अपनी सास के बेड पर बैठ गया और उन्हें छूने की कोशिश करने लगा।उनकी तरफ से कोई हलचल ना होने पर मेरी हिम्मत और बढ़ गयी।फिर मैं अपना हाथ धीरे से उनके चूचियों पर ले गया तो … ये क्या … उनके ब्लाउज के एक के अलावा सारे बटन खुले थे और मैंने पहले ही बताया था कि वो अंदर ब्रा नहीं पहनती तो मेरा हाथ सीधा उनकी बायीं चूची को छू गया. कभी अपनी पत्नी के सामने भी इस बारे में बात करने की मेरी हिम्मत नहीं हुई क्योंकि मैंने काम ही ऐसा किया था.

उसने भी मेरे लंड के रस की एक बूंद खराब नहीं होने दी और वो मेरे सारे रस को पी गई. मेरा मुंह रानी की चूत पर लगा हुआ था और पिंकी अपनी दोस्त की चूचियों के साथ खेल रही थी. मिर्जा का सेक्सी वीडियोफिर पीछे से ब्रा का हुक भी खोल कर उनके स्तनों को पिंजरे से आज़ाद कर दिया और उन्हें ब्रा से बहार निकाल कर ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा।तब मैं अपना खड़ा लण्ड पीछे से ही पेटीकोट के ऊपर से ही उनकी गांड के दरार में फंसाकर घिसने लगा।कुछ देर में मेरा हाथ माँ ने पकड़ लिया.

कुछ देर बाद प्रशांत ने मां को पकड़ा और उनको होंठों पर बहुत जोरदार किस की और मम्मी की साड़ी को ऊपर उठा कर उनकी चूत पर हाथ लगाने लगा. मैं भाभी की चुत चूस कर एक बार में ही अन्दर का सारा माल निकाल लेना चाहता था.

उसका लण्ड थूक से अभी भी गीला था, उसने एक झटके से मेरी गांड के छेद पर अपना लण्ड रखा और अंदर घुसा दिया. कभी बचपन की यादों में निकल जाते थे तो कभी स्कूल की शरारतों के दिनों में।दो दिन के अंदर ही दोनों जैसे फिर से वही पुराने जया और रोहन बन गये थे. वो कहने लगे कि अगर किसी चीज की ज़रूरत हो बता देना, शर्माना मत। इसे अपना ही घर समझना.

आंटी ने अपना पल्लू हटाते हुए मुझे दूध दर्शन कराए और वासना भरी आवाज में बोलीं- हम्म … तुम तो काफी रोमांटिक हो. मेरे मुंह से भी आह्ह … आह्ह … की आवाज निकलने लगी लेकिन किसी तरह मैंने खुद को रोका और उसको लंड चुसवाता रहा. मैंने उसके शहर से नई दिल्ली वाली टिकट की फ़ोटो खींचकर व्हाट्सएप्प कर दिया और दोनों टिकट को कोरियर कर दिया।और फिर हम दोनों अपने हॉस्टल चली आईं.

इसके बारे में पढ़कर हो सकता है कि आप लोगों के विचार मेरे प्रति सहानुभूति भरे न होकर आलोचनात्मक हो जायें.

मुझे लंड के बारे में ज्यादा तो नहीं पता था पर मुझे अंदाजा था कि मेरे पति का लंड सामान्य से छोटा है. करीब 20 मिनट तक हम लोग किस करते रहे और साथ साथ मैं उसकी दोनों चुचियों को भी दबा रहा था.

शिक्षा संस्थानों में आजकल टीचर भी सेक्स का मौक़ा मिलते ही चुदाई शुरू कर देते हैं. मेरी भाभी के रूम का दरवाजा लगा हुआ था तो मैंने दरवाजे के छोटे छेद से देखा. तब तक माँ ने अपनी ब्रा और पैंटी भी निकाल दिया।माँ इतनी जल्दी कहाँ झड़ने वाली थी। थोड़ी देर चूत चूसने के बाद अब बारी उनकी थी.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।फिर मैं झड़ गया और बाजी रुक गई।वो मेरे ऊपर लेट गई।मैंने बाजी को चूमा और हम कपड़े पहनने लगे. बस थोड़ा सा सामान ही सेट करना बचा है।शिल्पी– तुम थोड़ा सामान ही तो लाए हो। अगर सामान नहीं रखा है तो बाद में रख लेना। पहले आकर खाना खा लो।तब तक नीता जल्दी से मेरा सारा माल पी चुकी थी और अपना मुंह भी मेरे वहीं पड़े एक कपड़े से साफ कर चुकी थी. मुझे बता दिया होता … शायद मैं आपकी मदद कर पाता?वो बोली- ये क्या बकवास कर रहे हो तुम? जाओ यहां से … मैंने कपड़े भी नहीं पहने हैं.

बीएफ वीडियो सेक्सी वाली फिर वापस आ कर बोला- ठीक है, मैं पुलिस स्टेशन जाकर कार का नम्बर दे देता हूं कि ये कार मुझे ठोक कर भागी हुई है. मैं घर से कॉलेज का कहकर निकला और जया को उसके घर से मैंने पिक कर लिया.

बीएफ फिल्म वीडियो देखने वाला

मगर नीता ये नहीं जानती थी कि शिल्पी को भी उसकी चुदाई के बारे में पता चल गया है. मॉम ने कहा- हां आज से एक हफ्ते के लिए मैं तुम्हारी रंडी दासी सब हूँ. लंड चुत की दबादब चुदाई की वजह से भाभी के दोनों मोटे गोलाकार मम्मे उछल कर तमाशा दिखा रहे थे.

मुझे चुदाई का तजुरबा तो था ही नहीं, साथ ही उसकी चूत भी बहुत टाइट थी. वह मुझको पानी देने के लिए आई, तो मैं उसको बांहों में लेकर बेड पर लेट गया और उसको चूमने लगा. बुर चोदते हुए दिखाइएउसने अपने कपडे़ कार की अगले सीट पर डाले और बाइक को साइड में खडा़ करके कार की पिछली सीट पर आ गया.

इस देसी कहानी के अगले भाग में पढ़ें कि मैंने सोनी की कुंवारी बुर को कैसे चोदा.

मेरी स्टोरी शुरू करने से पहले मैं आप लोगों को अपने परिवार से परिचित करवा देती हूं. फिर संजय अंकल ने मुझे घोड़ी बनाया और मेरी गांड के छेद में खूब सारा थूक लगा कर अपना लंड लगा दिया.

अवनीत के बताने और मेरे सवाल जवाब के बाद कहानी का निचोड़ यह निकला कि इन दोनों का चार साल से अफेयर चल रहा था और पिछले तीन साल से इनमें शारीरिक सम्बन्ध भी थे. फिर हम दोनों किस करने लगे और ऐसे ही थोड़ी देर के बाद फिर से गर्म हो गये. गोरे और लबावदार पेट पर मैंने हौले से किस किया, तो दी एकदम से सिहर गई.

हम कुछ नहीं कर पाए थे लेकिन अभी बहुत कुछ होना बाकी था।उस दिन के बाद काफी समय बीता.

उसने अपनी चूत में मेरा मुंह लगा दिया और मैं चूसने लगा।अब उसने मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. मैंने भी पुराने राजाओं की तरह एक्टिंग करते हुए उपहार में उन्हें सोने की चैन दे दी और उन्हें पहना भी दी. माँ अब नहाने लगी थीं, वो अपनी पीठ मल रही थीं और मैं अपना लंड मलने में लगा था.

सोनम कपूर का सेक्समैं लंड पकड़ कर चुत पर टिकाया और उनकी टांगों को फैला कर अपने लंड को उनकी चुत पर सैट कर दिया. भाभी की निकलती आहों से मैंने उनके होंठों पर अपने होंठों का ढक्कन कस दिया, जिस वजह से उनकी मादक आवाजें मेरे मुँह में ही दब गईं.

बिहार के बीएफ चाहिए

मैंने भाभी से कहा- क्या वह मुझे चोदने देगी?भाभी ने कहा- मैं उसे तैयार करूंगी. दो तीन मिनट में मुझे कुछ आराम मिला तो वो उठे और बोले- अब कैसा लग रहा है?मैं बोला- अब दर्द कम है. मैं नीचे से धक्का लगाता रहा और उसकी चूचियों को अपने होंठों से चूसने लगा.

थोड़ी देर बाद शनाज़ बावर्चीखाने से बाहर आई और मुझे आंखों के इशारे से छत पर जाने को कहा. वो बार–बार अपनी पीठ उठा–उठा कर अपनी बुर को उसके मुंह में दबाने की कोशिश कर रही थी।उस लड़के का लंड अब पूरा खड़ा हो गया था। उसका लन्ड बहुत बड़ा था।फिर वो लड़की उसके लन्ड को पकड़ कर जोर जोर से चूसने लगी. मैं अपने फोन को निकाला और चुपचाप उस झिरी में से झांक कर वीडियो रिकार्डिंग करने लगा.

तभी मैंने देखा कि राजीव खिड़की के पास खड़ा था और हम लोगों की चुदाई देख रहा था. वो बोली- गांव आइयेगा तब पहचानियेगा न … शहर में रह कर आप लोगों को गाँव पसंद ही नहीं आती है. मैंने पूरी ताकत से धक्का मारा और एक ही झटके में मेरा पूरा लंड भाभी की चूत के अन्दर चला गया.

तनिष्क- क्यों माधुरी जी … चुदाई में मज़ा आया?मैं- हाँ यार … बहुत मज़ा आया … बहुत मस्त एक्सपीरियेन्स है तुमको. वो भी लंड को अपने हाथों से पकड़ कर आगे पीछे करने लगी।अब उसने मेरे कपड़े उतार दिए और मैं भी पूरा नंगा हो गया।मैं खड़ा था और वो घुटनों पर बैठकर मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसने लगी.

कुछ पलों में मैं नीचे सरकता हुआ उसके पेट पर किस करते हुए उसकी पेंटी तक आ पहुंचा.

वो अपनी चूचियों को मेरे मुँह में देते हुए नीचे से अपनी गांड उठा उठा कर लंड ले रही थीं. सैक्सवीडियोउनका कोई नहीं था तो मेरे मम्मी पापा ने उन्हें हमारे घर में ही रख लिया था. कैटरीना कैफ की नंगी वीडियोमैं- हां भाभी, आपके लिए तो मैं पागल ही हो गया हूँ … न जाने ये टाइम फिर आए ना आए … अभी तो जवानी का मज़ा लूट लूं. न जाने कब से चुत चुसवाने का सपना पाले हुए थी आज इच्छा पूरी हुई है … आह मेरी जान चूस लो.

उन्होंने मेरे पिता से किराए के बारे में बात की और एक कमरा 2000 रूपए प्रति माह के लिए तय कर लिया.

फिर जब मुझसे रुका नहीं गया तो मैंने रानी की चूत पर लंड को लगा दिया और एक धक्का दे मारा. स्कूल की छुट्टी भी हो गयी, लेकिन मैडम और सर की आवाज़ें अभी भी दिमाग में घूम रही थीं. आह्ह … चोदे मेरे बच्चे … आह्ह … और चोद।मैं चाची की सिसकारियों से और ज्यादा उत्तेजित हो गया और तेजी से उसकी चूत में लंड पेलने लगा.

नींद का बहाना बनाकर मैं उनकी तरफ देखती रही।मेरी ननद के होंठों को ननदोई जी चूस रहे थे. अब मैं और मेरा बेटा हम दोनों खुशी से अपना जीवन बिता रहे थे … लेकिन मुझे इस खुशी की कीमत अभी तक अलग अलग लोगों से चुदवा कर चुकानी पड़ रही है. चुदाई से फ्री हुई तो उसने एक सिगरेट पीते हुए मुझे देखा और कहा- बड़ी मस्त माल हो.

मधु का बीएफ सेक्सी वीडियो

कुछ देर बाद भाभी ने अगले रविवार को जिस होटल में मैं और चाची रुके थे, उसी होटल में रूम बुक कर दिया. थोड़ी देर बाद मैंने अपना हाथ उनके ब्लाउज पर रखा और ब्लाउज का बटन खोल दिया. उसकी चुदाई की स्पीड इतनी तेज थी कि मेरी कामुक सिसकारियां पूरे कमरे में गूँजने लगीं.

पहले प्रिन्सिपल ने मेरे मुँह में लंड झाड़ा, फिर टीचर ने भी मुझे रस पिला दिया.

मैंने चाय का प्याला पीकर खत्म किया और कुर्सी पर आराम से बैठ गया।संदीप आया और बोला- अनुराग चाय पी तुमने?मैंने कहा- हां यार … मैंने तो दो दो बार चाय पी ली.

हम दोनों पति पत्नी की ये सब हरकतें मेरी सास देख रही थी और मुस्कुरा रही थी।करीब 11 बजे सब सोने की तैयारी करने लगे तो मैं बहुत खुश हो गया. प्रियंका अब पूरी तरह से गर्म हो चुकी थीं और उन्हें भी बहुत मजा आ रहा था. कंडोम का वीडियोमैंने पहले उसकी चूत को पैंटी के ऊपर से चूमा और फिर उसकी पैंटी को हटाकर उसकी चूत को देखा.

मेरा सुपारा अन्दर चला गया और वह जोर से चिल्ला उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैं उसके होंठों को चूसने लगा और उसके निप्पलों को सहलाने लगा. मैंने कहा- तुम्हारा हो गया है न, तो अब ये सब क्या नाटक है?वो बोला- साली तेरी चूत कहां चोदी है अभी मैंने, तू क्या सोच रही है कि मैं तेरी चूत को चोदे बिना ही जाने दूंगा तुझे!बहुत बड़ी मुसीबत मोल ले ली थी मैंने. मैंने अपना लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया और मेरा साथ मॉम ने अपने गांड उठा कर देना शुरू कर दिया.

मैंने उनसे बात करके संदीप और चारू के लिए उस घर को किराये के लिए उपलब्ध करा दिया।मेरे इस कार्य के लिए संदीप और चारू ने बहुत धन्यवाद दिया. उस दिन हुई इस घटना को लेकर मेरे दोस्त के साथ अब रोज मेरा झगड़ा होना शुरू हो गया.

उसका बाप बहुत दारू पीता था और माँ भी एक दो घरों में बर्तन झाडू का काम करती थी.

मैं जोर जोर से धक्के मारने लगा … वो जोर जोर से सिसकारियां भर रही थी. बीच बीच में मैं उसकी पीठ और गर्दन पर हल्के से अपने दांत गड़ा देता था. फिर उसने हमारा नाम पूछा और जैसे ही हमने नाम बताया उसकी त्यौरियाँ चढ़ गई.

लंबा मोटा बस मुझे अभी जाने दीजिए, किसी ने देख लिया तो अच्छा नहीं होगा।”मतलब तुम नाराज नहीं हो न मुझसे?”नहीं! मगर आपको ऐसा नहीं करना चाहिए था।”क्यों?”आप मेरी दीदी के पति हैं. मैंने कहा- क्या तुमको लड़कों की तरफ देखना पसंद नहीं है या तुम लड़कियों को भी नहीं देखती हो?वो हंस दी और बोली- मैं इस शहर में अकेली रहती हूँ और शायद मेरे मन में लड़कों को लेकर कुछ डर सा रहता है.

उसने तुरंत अपना लंड दीदी के मुँह में पेल दिया और दीदी के मुख चोदन में लग गया. उसके चिकने पैरों को किस करते हुए मैं ऊपर बढ़ता चला गया और उसकी जाँघों को किस करने लगा. मैंने पूछा- तुमने जो पैसे लिये थे, उनसे क्या किया तुमने?तो उसने कहा- मैं ब्रा पैंटी और चूत को शेव करने का सामान लेकर आई थी.

दिल्ली यूनिवर्सिटी एक्स एक्स एक्स बीएफ

मॉम की सुसु चाटने के बाद अंकल मॉम के पास बैठ गए और उन्हें किस करने लगे. मेरी निगाहों का पीछा करने पर आंटी ये जान गई थीं कि मैं क्या देख रहा हूँ. मुझे खुद भी पता नहीं चला कि कब मैं उस उससे पट गई और उसकी बातों में आ गई क्योंकि वह बातें इतनी अच्छी-अच्छी करता था मेरी उससे फोन पर घंटों बात होती थी.

तो अब मैंने उनको पटाने की शुरुआत की अपनी चूचियां उनकी पीठ पर रगड़ने लगीं. वो तो बस एक झीना बेबीडॉल नाईटी पहने हुए थी जो उसकी चूत को भी मुश्किल से ढक पा रही थी.

इस तरह हम दोनों ने चुदाई का पूरा मजा लिया और अपने-अपने कपड़े पहन लिये।इतनी हार्ड और बड़े हथियार से चुदाई की वजह से ज्योति भाभी की चूत में सूजन आ गयी थी।भाभी को दो दिन तक बुखार भी रहा लेकिन फिर मैंने उसको पेन-कीलर खिलायी.

वो बोली- मैं गर्ल हूँ न … तो मैं हुई न तेरी गर्लफ्रेंड?ये कह कर वो हंसने लगी, पर मैं नहीं हंसा. मैंने उनके मुँह की गर्मी को अपने लंड पर महसूस किया तो मेरी आह निकल गई. वह भी मेरी कोली भरकर मुझे जमकर चोद रहा था और इसी पोज में मेरी चूत ने अपना पानी छोड़ दिया.

उसकी चूत मेरी आंखों के सामने नंगी थी और मैं उस पर भूखे कुत्ते की तरह टूट पड़ा. उसने कुछ ध्यान न देते हुए मुझे अन्दर आने को कहा मगर साथ ही हिदायत भी दी कि सोसाइटी के किसी भी इंसान के सामने कुछ हरकत न करूं. वो एकदम मस्त माल थी कि कोई भी देखे तो उसके नाम की मुठ मारे बिना नहीं रह पाए।मोबाइल नंबर लेने के बाद हमारी सामान्य बातें व्हाट्सएप्प पर होती रही.

करीब तीन चार मिनट मेरे होंठों को चूसने के बाद उन्होंने मेरे टीशर्ट और बनियान को निकाल दिया।अब वो मेरे पूरे सीने को चूमने लगी.

बीएफ वीडियो सेक्सी वाली: उस पर वो बोली- दामाद जी, धीरे धीरे करो, अब तो मैं तुहारी ही हूं।फिर मैंने सासु माँ को बेड पे लेटा दिया और नीचे हाथ ले गया तो मेरा हाथ उनकी चूत से निकले पानी से गीला हो गया. मैंने कहा- यह डील मामा और भांजी के बीच नहीं बल्कि एक मर्द और और एक औरत के बीच हो रही है.

कुछ ही पलों में मैंने उसको हल्का सा ऊपर उठाया, ताकि उसकी ब्रा भी खोल सकूं. वो रंडी के जैसे चिल्ला रही थी- और तेज़ तेज़ चोदो आहह ऊईई!मैं तेज तेज झटके मारने लगा, उसकी चूचियां और मसलने लगा. मुझे ऐसा लग रहा था मानो मैं जिसे सपनों में चोदता था, आज उसे हकीकत में चोदूंगा.

इस बीच मैं कभी उनकी गांड पर चपेट लगा देता, तो कभी उनके मम्मों पर चपेट लगा देता और कभी उनके बूब्स को जोर से दबा देता.

उसके मुंह से जो जोरदार चीख निकलने वाली थी जिसे मेरे होंठों ने अंदर ही दबा दिया और बाहर निकली केवल- ऊं … ऊं… ग्गूं … हूंऊऊ … गूं … करती हुई वो कसमसा कर रह गयी. हम दोनों बिस्तर पर 69 की पोजीशन में आ गए। अब वो मेरे लौड़े को और मैं उसकी चूत को चूसने लगा।5 मिनट बाद उसकी चूत ने नमकीन पानी छोड़ दिया।अब मैं तेजी से उसके मुंह में झटके मारने लगा और एकदम से मेरे लौड़े से वीर्य निकल पड़ा और मेरे गाढ़े माल को वो गटागट करके पी गई।थोड़ी देर तक हम दोनों बिस्तर पर ऐसे ही पड़े रहे. फिर वापिस मैं उनको पकड़ कर उनके बेडरूम में लेकर गया। वहाँ पर मैं बुरी तरह से भाभी को चूमने लगा.