नए साल का बीएफ

छवि स्रोत,ब्लू फिल्म बीएफ एचडी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी बीएफ सेक्सी वीडियो: नए साल का बीएफ, कभी कभी भाभी का मूड ठीक नहीं होता था, तो वो मुझे बुला लिया करती थीं.

सेक्सी हिंदी बीएफ बीएफ

भाभी ने बोला- अभी तो बेटा है, अभी नहीं … बाद में!मैंने उनकी बात मान ली. हिंदी देसी बीएफ सेक्स वीडियोकुछ देर बाद उठकर अपना लंड और उसकी चूत साफ करके मैं बाथरूम में चला गया.

मेरी पिछली कहानी थी:ऑफिस वाली लड़की की हवसजैसा कि आपको पता है कि मैं राजस्थान के सीकर का मूल निवासी हूँ और हाल में जयपुर का निवासी हूँ. सेक्सी व्हिडिओ बीएफ दिखाइएतब तक उसने भी मुझे देख लिया और बोला- अरे बीबी जी, आप यहां कैसे?वो दूध वाला मुझे बीबीजी बुलाता था.

मैंने पूछा- हम लोगों के पास दो तीन घंटे का समय है ना?मैं अपनी किसी सहेली के यहाँ जा रही हूँ, यह कहकर आई हूँ.नए साल का बीएफ: लगभग 20 मिनट के बाद मेरा पानी छूटने वाला था … तो मैंने उससे बोला- मेरा होने वाला है.

प्रियंका की आंखों में आंसू आने लगे और गगन भी बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था.मम्मी- आह आह उई अम्म आह निखिल … आज मजा आया मेरी जान … और जोर से पेल … आह उह!इसी तरह 30 मिनट तक ये चुदाई का खेल चलता रहा.

बुड्ढी औरत के बीएफ - नए साल का बीएफ

पर मम्मी एक सेक्स के लिए ऐसे कैसे अपने आप को किसी और के हवाले कर सकती है, मेरा मतलब आपके हवाले?मैं- देखो बेटा, ये बात तुम्हारी माँ में ही नहीं, दुनिया की हर ऐसी औरत में होती है, जिसकी सेक्स के मामले में संतुष्टि उसका पति नहीं कर पाता.शेखर ने अपना लंड धारा की चूत की जड़ तक बाहर निकाला और एक ही झटके में पूरा अंदर डाल दिया.

उन्होंने मुझसे पूछा- खाना हो गया?मैंने जवाब दिया- नहीं आज टिफ़िन नहीं आया है तो मैं मैगी बना लूंगा. नए साल का बीएफ उनकी परेशानी समझते हुए मैंने पूरा लंड बाहर निकाला, जिससे उन्हें एक गहरी सांस आयी.

मैंने बता रखा है कि आप मेरी सहेली के पति हैं, आपके साथ आने जाने में किसे आपत्ति हो सकती है.

नए साल का बीएफ?

धीरे धीरे मैं रूचि के कान के पास चूसने लगा, इससे उसे सहा न गया और उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और हिलाने लगी. जैसे मेरे सामने झुक झुक कर झाड़ू लगाना, बार बार मुझे अपना क्लीवेज दिखाना. फिर उसने जैसा जया के साथ किया था, वैसा ही वो चमेली के साथ करने लगी.

लगभग 20 मिनट चुदाई करने के बाद उसके झटके तेज हो गए तो मैं समझ गई कि विशाल अब झड़ने वाला है. चाचा- किसे बुला रही मेरी रंडी … अपनी मां को … आह बुला ले आज उसको भी नंगी करके चोद दूंगा. जब तक वो खुद को संभाल पातीं, तब तक दूसरी पिचकारी उनके होंठों को छूती हुई उनके गले और मेरे पेट पर गिर चुकी थी.

मैंने कहा- भाभी अभी तो मैं जब आपकी चूत चाटूँगा, तब आपको असली मज़ा आएगा. अनिकेत भैया आगे बोले- सुनील और चाची की चुदाई मैंने बीच में ही खराब कर दी थी. लंड का सुपारा छेद पर लगा था … जैसे ही छेद ने मुंह खोला … मैंने जोर से झटका लगा दिया.

मुझे नहीं पता था कि मेरा मौसेरा भाई मुझे दरवाजे की झिरी में से देख रहा है. मैंने थोड़ा उचक कर लण्ड को छेद पर टिकाया तो फ़लक बोली- सर, धीरे धीरे अंदर डालना, मैंने ये कभी नहीं किया है.

कुछ देर बाद प्रियंका को फिर से चुदने की चुल्ल होने लगी तो वो गगन को बुला कर उसे चोदने के लिए कहने लगी.

[emailprotected]देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:जीजाजी ने मेरी जवानी को मसल दिया- 2.

केवल एक दिन के लिए तुम ज़मीन पर क्यों सो रहे हो?निखिल खुद यही चाहता था, वो झट से मान गया. झटके मार मारकर मैं थोड़ा सा रुक कर खुद को सामान्य करने लगा तो नेहा ने खुद ही आगे पीछे होते हुए कमर हिलानी शुरू कर दी. उसने एक झटके से शेखर के हाथों से अपनी चूत और चूचियों को छुड़ाया और शेखर की तरफ़ घूम गयी.

जैसे ही मैंने हाथ को नीचे घुसाना चाहा तो चाची ने अपनी टाँगें थोड़ी चौड़ी करके हाथ को जगह दे दी. वहां पहुंच कर मैंने अपनी शाल जैसे उतारी तो शहज़ाद मेरी चूचियों को देख कर बोला- कसम से … आज आप एकदम कयामत लग रही हो. अब धारा ने अपने दोनों हाथों से शेखर के घुटने को थोड़ा ऊपर से थामा और फिर अपनी नाक से गर्म साँसें छोड़ते हुए उसकी जाँघों को चूमते हुए ऊपर की तरफ़ बढ़ी.

ये कहते हुए भाभी ने अपना हाथ मेरी पैंट पर दोनों टांगों के जोड़ पर रख दिया और मेरा लंड सहलाने लगीं.

मैंने कहा- अभी मैं बाकी हूँ भाभी!भाभी बोलीं- ओके, जल्दी करो और फ्री हो जाओ. वो बोली कि कल मुझे अपने बॉयफ्रेंड के साथ बाहर जाना था … लेकिन वैक्सिंग न होने की वजह से मैं गई ही नहीं. ‘पूरा पैसा खाते में कैसे जाएगा?’मैं समझ गया कि भाभी दोअर्थी बात कर रही थीं.

वहाँ जाते ही मैंने चाची को बांहों में ले लिया और उनकी चुन्नी को खोल कर नीचे गिरा दिया. अब शेखर सिर्फ़ अपनी वी-शेप फ़्रेंची में अपने हाथ अपनी कमर पर रख कर खड़ा था. ये भाभी के नंबर से लिखा था- बात करना था आपसे … कॉल करें!मैं बहुत ज्यादा खुश कि माल पट गई.

उसके जाते ही मैंने उसके फ़ोन से वीडियो अपने फ़ोन में ट्रांसफर की और फिर वैसे ही किसी को कॉल की और फ़ोन रख दिया.

पसीने से भीगी हुई सोनम कुछ देर के लिए वहीं सोफे पर बैठ गयी और उसने जी भर के पानी पीकर अपना सूखा गला तर किया. एक बात और … हमारी गाली हम लड़कियों तक सीमित रहती है, वहीं लड़के अपनी गाली लड़कों तक इस्तेमाल करते हैं.

नए साल का बीएफ घर पर आकर सबसे पहले मैं बाथरूम में गया और भाभी को याद करके मुठ मारी तब जाकर कुछ रिलैक्स हुआ. असल में मैं आपको बताऊं कि मेरे पूरे शरीर पर एक भी बाल नहीं है, क्योंकि मैं जिम जाता हूँ तो मेरी बॉडी भी अच्छी है और इसीलिए मैं अपनी बॉडी को सेक्सी बनाने के लिए अक्सर वैक्सिंग करता रहता हूँ.

नए साल का बीएफ उसी समय गौतम ने अपने लंड से निकली स्पर्म की एक धार मेरे होंठों पर भी निकाल दी. स्नेहा- ये ऐसी ड्रेस पहन कर कहां जा चली … और ये तेरी पैंटी इतनी गीली क्यों है साली!स्नेहा उसकी उतारी हुई पैंटी को चूत वाली जगह को देखती हुई बोली.

अब मैंने अपना लौड़ा उसकी कोमल चूत पर सैट किया और ज़ोर से धक्का दे दिया.

हिंदी बीएफ खोलिए

दोस्तो, अगर मेरा ये सेक्स अनुभव आपको पढ़ने योग्य लगा हो, तो मेल ज़रूर करें. हमने ध्यान नहीं दिया कि छत के ऊपर हमारे बड़े पिताजी के बेटे अनिकेत भैया ऊपर से हम लोगों को देख रहे थे. तभी चंचल ने मुझे दुबारा कॉल किया- क्या आप अभी मेरे पास आ सकते हो?मैंने पूछा- कहां और क्यों?चंचल ने कहा- आपको चोदना था न?मैंने ‘हां.

आध्या- आप शर्मीले टाइप के नहीं हैं?मैं- शायद नहीं। मुझे उम्मीद है कि हम एक साथ एक काफी मजा करेंगे।आध्या- हाँ! यह सही कहा तुमने!वह हँस पड़ी. मैंने देखा चाची बाहर बरामदे में एक बड़ा सा बैग ले कर मम्मी के पास बैठी थी. मैंने उसे फोन पर ही किस किया, समझाया तथा वादा किया कि मैं उसे फिर मिलने आऊंगा.

मेरा हाथ उसकी पीठ पर चल रहा था और मेरे हाथों के गुदगुदे अहसास से वो कसमसा रही थी.

उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं, जिससे मेरा जोश और बढ़ गया और मैंने अपने दांत रीतू की जांघों में गड़ा दिए. जिसके भी पति बाहर रहते हों, चाहे वो किसी भी जॉब में क्यों न हो, वही औरत सब चुदने को तैयार रहेगी. मैंने उसकी दोनों जांघों पर बैल्ट बांध दिया और उसकी गांड को थप्पड़ से लाल करने लगा.

वो हमारा दूर का रिश्तेदार था, तो मैंने उसके लिए कभी कुछ गलत नहीं सोचा था. चाची बोली- तुम तो किसी नए नए जवान हुए साँड की तरह बे-सब्रे होकर मेरे पीछे पीछे चल रहे हो. इस तरह की चुदाई से उन दोनों की उत्तेजना बढ़ती चली गई और इस बार दोनों एक साथ झड़ गए.

मैंने उनकी गांड के नीचे तकिया रखा और उनकी चूत के छेद पर लंड टिका दिया. तुमको बिना आवाज दिए अन्दर आने में शर्म नहीं आती?मैंने कहा- मुझे तो आती है आंटी, पर आपको नहीं आती.

वो मुझे एक किनारे ले गया और जब मैंने उसके सामने अपना बुरका उतारा, तो वो तो मुझे देखता ही रह गया. उसने कांपते होंठ मेरी ओर बढ़ाए … और मैंने उन्हें अपने होंठों से थाम लिया. दीदी का ये फिगर ठीक वैसा ही था, जो हमेशा की तरह मैंने उन्हें देख कर सोचा था.

वो मेरी छाती पर उभरे यौवन को स्पंज की तरह धीरे धीरे दबाने लगे।मैं सिसकारियां लेने लगी- आह आह … ओह छोड़ दो … न न ना … जेठ जी … आह्ह प्लीज … दर्द हो रहा है जेठ जी।उन्होंने मुझे बिस्तर पर गिरा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गए और मेरे होंठों को चूमने-चाटने लगे।वो मेरे पेट को सहलाते हुए बोले- शबनम, क्या चिकना बदन है मादरचोद!वो मेरी पैंटी में हाथ डालकर मेरी चूत सहलाने लगे।मेरी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया.

इस तरह से तीन दिन तक गगन और प्रियना दोनों को नंगे ही स्टेज पर रखा गया. कुछ देर बाद विक्रम ने अपने लंड का पानी प्रियंका की चुत में डाल दिया. तो मैं आप लोगों को बता दूं कि वो मस्त है और अपने नाना नानी के साथ रहता है.

समीर ने मेरी पीठ पर हाथ रख कर बोला कि मालकिन आप चिंता मत करो, मैं आपका नाम वहां खराब नहीं होने दूंगा. लिहाजा मैंने उसकी कमर को सहलाना शुरू कर दिया ताकि वो आराम से अपनी थकान दूर कर ले.

वैसे भी यहां चुदने ही आयी थी। अब बस इतना फर्क होगा कि भाई के लंड की जगह मेरी चूत में मेरे दीवाने का लंड होगा।मैं कुछ बोलती इतने में ही राजीव बोला- प्लीज़ मधुजी मान जाओ ना? बहुत दिन बाद मौका मिला है।मैं बोली- ठीक है, देखती हूं. और जब मेरी आंख सुबह चार बजे खुली तो शहज़ाद मेरे दूध को पकड़ कर सो रहा था. उसने मुझे अपना लंड चूसने को कहा, जिसको मैंने लगभग पांच मिनट में चूस कर खड़ा कर दिया.

हिंदी सेक्सी बीएफ पुरानी

मेरी पिछली कहानी थी:ट्रेन में देसी चूत चुदाई अनजान लड़के के लंड सेये कजिन ब्रो सिस सेक्स कहानी आज से 5 साल पहले की है, उस समय मैं ताज़ी ताज़ी जवान हुई थी और 19 साल की कमसिन, कमचुदी चुत वाली लौंडिया थी.

अब जो आगे होने वाला था, वह बहुत ही धमाकेदार और मजेदार होने वाला था. ऐसा नाटक कर रही थी कि मानो उसे पता ही न हो कि उसके नाइटी उतारने से मेरे लन्ड की हालत क्या हुई है लेकिन उसकी आँखों में शराब का नशा छाने लगा था. धीरे धीरे करके मैंने आधा लंड उसकी चूत में डाल दिया और रुक कर उसके मम्मों को चूसने लगा.

कुछ वीर्य की बूंदें संगीता के मुँह से टपकती हुई नीचे चूचियों पर आ गिरीं. शर्म उसका गहना थी और अब मैं उससे उसका गहना उतार कर उसे बेशर्म कर देना चाहता था।मैं रोहन के पास सोफे पर ही बैठ गया और मैंने नेहा को रोहन की गोद से अपनी गोद में खींचने की कोशिश की तो रोहन ने नेहा पर पकड़ ढीली कर दी. बीएफ पंजाबी हिंदीआह्ह … धारा !!” शेखर के मुँह से बस इतना ही निकल सका।धारा ने धीरे-धीरे करके शेखर के लंड के उन सभी हिस्सों को जो कि उसके फ़्रेंची के होते हुए छुए या चूमे जा सकते थे, चूमा और अचानक से लंड को अपने दाँतों से पकड़ लिया.

उनकी पैंटी के नीचे से मैंने अपना लौड़ा डाल दिया लेकिन लण्ड चूत के अंदर नहीं गया और नीचे की ओर चला गया. मैं मां को देखते हुए बोला कि करूं!मां ने जोरों से सांस लेते हुए हां का इशारा कर दिया.

जब बुढ़िया सेक्स का भूत खत्म हुआ तो मैंने देखा खिड़की पर लकी खड़ा है. जैसा मैंने बताया कि शीना मेरी पड़ोसन व मित्र नीरू की 20 साल की लड़की है. मुझे इसमें भला क्या एतराज़ होता, बल्कि मुझे तो अंकल के साथ अकेले की सोचकर अन्दर से अच्छा लग रहा था.

और बताओ कैसे याद किया?मैं- कुछ नहीं बस बोर हो रहा था तो सोचा चलो आपके साथ दो दो पेग ही लगा लूं. मैं- ये क्या किया तुमने?तमन्ना- वही जो आपने किया था!मैं- अच्छा? तैयार हो जाओ!कहकर मैंने उसे पेट के बल लिटाया और उसके कूल्हे सहलाते हुये गर्दन को चूमने लगा. एक दिन जब मामा मेरे होंठ चूसते हुए मेरी चूचियां मसल रहे थे, तब मां ने देख लिया था.

इतने में भाभी के हाथ से नाखून कटनी नीचे गिर गई … और भाभी जैसे ही उसे उठाने को हुईं … तो उनका पल्लू नीचे गिर गया.

मैं एक बार आपको चखना चाहता हूँ क्योंकि अब मेरी बीवी तो गांव में रहती है और इधर काफी साल से मैं उसके पास गया भी नहीं हूँ. उसका 34-30-34 का फ़िगर इतना मादक था कि जो भी देखता, बस उसे चोदने की सोचने लगता था.

शेखर- अरे कुछ नहीं रघु, रात को नींद पूरी नहीं हुई थी तो तबियत ठीक नहीं है. मेरी चूचियों को ब्रा से बाहर निकाल कर उसने चूचों को अच्छे से मसला और पी पीकर मेरी चूचियों लाल कर दिया था. आपकी ही अरुणिमा[emailprotected]कॉलेज गर्ल Xxx कहानी का अगला भाग:मुझे अपनी चुत गांड चुदवाने को लंड चाहिए- 3.

इसके बाद शहज़ाद ने उसे बहुत समझाने वाली बात लिखी थी लेकिन मेरी बेटी ने उसके किसी मैसेज का कोई जवाब नहीं दिया था. मुझे इतना टाइम इसलिए लग रहा था कि घर के पास की बात थी और मैं कोई गलती नहीं करना चाहता था. भगवान ने अगर धरती पर किसी को भी सबसे ज़्यादा वक़्त लेकर बनाया होगा, तो वो सिर्फ वैशाली दीदी ही होंगी.

नए साल का बीएफ ”‘आपके मुंह में घी शक्कर …’ कहते हुए कविता ने अपनी आँख से टपके आँसू पोंछ लिये. मैंने भैया को अपना नंबर दे दिया और कुछ देर इधर उधर की बात करके वहां से आ गया.

मां बेटे की बीएफ वीडियो सेक्सी

मयंक अब संगीता के ऊपर जोर लगाकर लेट गया और उसकी दोनों चूचियों को दबाने लगा. तभी मैंने जल्दी ही दो, फिर तीन उंगलियां चुत के अन्दर डालनी चाहीं, तो वो जा ही नहीं पाईं. अब मैंने उसे गोद में उठाया, तो निशा भी किसी बच्चे के जैसे मेरी गोद में आ गई.

यदि भाभी का मूड ठीक लगता तो मुझे आगे की बात पता चल जाएगी कि भाभी से सैटिंग हो पाएगी या नहीं. मैं- फ़लक, कुछ दिखाओ न?फ़लक- कितना तो दिख रहा है, मुझे शर्म आ रही है. हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी मेंमैंने सोचा कि क्या यह लौंडा मेरी जैसी चुदक्कड़ के आगे ज्यादा देर तक टिक पाएगा.

तभी एक कार मेरे पास आकर रुकी और उसमें से बैठे आदमी ने आवाज दी- राज?मैंने भी पलट कर पूछा- रोहन?रोहन- आओ बैठो.

मामा ने मेरे पैरों को कंधे पर रख कर जोर से बुर में लंड को पेल दिया. मैं बोली- कितनी को चोदेगा साले?सनी बोला- आप भी तो कितनों से चुदती हो … और सबको मेरा जीजू बना देती हो.

सविता भाभी कड़ी 23: चचेरे भाई का प्यार : अविस्मरणीय पहला सम्भोगको टून फॉर्मेट में अभी डाउनलोड करें. मेरा ये टॉप बहुत फिटिंग का और थोड़ा लम्बा था, तो उसको मैंने जींस के अन्दर खौंस लिया. देसी भाभी पोर्न कहानी के पहले भागपरचून की दूकान वाली से सेटिंगमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं भाभी की मचलती जवानी में आग लगा दी थी.

मेरे जवाब पर भाभी शर्मा गईं और प्यार भरे गुस्से से बोलीं- बड़े बदमाश हो आप!मैं हंसने लगा और अपने घर आ गया.

मैंने इशारे से उसे अपनी सीट पर आने के लिए कहा लेकिन उसने मना कर दिया. सोनम भी तिरछी आंखों से उसके लौड़े की झलकियां कई बार ले चुकी थी और उसकी गीली चुत अन्दर ही अन्दर उसको बोल रही थी कि रंडी अब ये नाटक बंद कर और ले ले ये लौड़ा मेरे अन्दर. अगली कड़ी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे आने वाले भविष्य में संगीता ने हमसे चुदाई करवाई.

बीएफ वीडियो में चलने वालीउनकी मोटी गांड को लेकर तो क्या कहूं यार … बहुत ही मस्त गांड थी, बिल्कुल उभरी हुई. इसी तरह हम घर आ गये।फिर रात को मैंने इसी सब को याद करके अपनी चूत में उंगली की और सो गई।इसी तरह दिन बीत गए लेकिन मैं उसको सेक्स के लिए नहीं बोल पाई थी।वो भी मेरे बदन को अकेले में याद करके मुठ मारता था और अक्सर मुझे मेरी ब्रा और पैंटी पर वीर्य के धब्बे दिखाई देते थे.

बीएफ सेक्सी देसी लड़की की चुदाई

दोस्तो, मैं विशाल आप सभी का अपनी सगी मां की चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ. मेरे कुछ ना कहने पर उसने बड़े प्यार से मेरी टी-शर्ट उतारी और मेरे दोनों निप्पलों को बारी बारी से चूसने लगा. पर मेरे घर वालों की सख्ती के कारण मैं सेक्स का मजा नहीं ले पा रही थी.

कभी वो एक निप्पल को अपने मुँह में लेता … तो दूसरे को अपनी उंगलियों में दबा कर मींज देता. देखो उस रात को जब हम दोनों छत पर चुदाई कर रहे थे, तब नीतू हम लोगों को छिप कर देख रही थी। नीतू को हमारे बारे में पता चल गया। वो कह तो रही है कि वो किसी को कुछ नहीं बताएगी. मैं तो उसकी मदमस्त उछलती चूचियों में ऐसा खोया हुआ था कि मुझे बिल्कुल भी होश में नहीं था.

मैं मां के दोनों पैरों के बीच में जाकर बैठ गया और मां की मैक्सी और पेटीकोट ऊपर कर दिया. जब लंड उसकी बुर में सैट हो गया, तो वो ख़ुद ही गांड उठा उठा कर चुदने लगी. इसलिये मैंने रूपाली को अपनी गोद में बिठा लिया और अपने आप को एक चादर से ढक लिया।अब स्थिति इस प्रकार थी नीतू हमारे सामने एक कुर्सी पर बैठी थी, रूपाली मेरी गोद में नंगी बैठी थी और मैंने हम दोनों को एक चादर से ढक रखा था।नीतू चुपचाप सर नीचे करके खाना खा रही थी.

राजेश बोला- क्यों यार?मैं बोली- जब दोस्त के प्लाट पर घर बना ही लिया है … तो उस घर में खेलने के लिए बच्चे भी तो चाहिए. मैंने अपनी दोनों उंगलियां भाभी की चूत से निकाल कर उनके ही मुँह में डाल दीं और भाभी सपड़ सपड़ करके चूसने लगीं.

भाभी भैया के साथ फोन सेक्स कर रही थीं और अपनी चूचियों को सहला रही थीं.

इतने में भाभी अपने पल्लू को जैसे ही सम्भालने लगीं, तो उनकी तिरछी नजर मुझ पर पड़ी और वो जल्दी से उठ गईं. सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म फुल एचडीउसने कहा- आपकी गांड का क्या साइज है?मैंने कहा- पता नहीं, मैंने कभी नाप नहीं लिया है. बीएफ वीडियो फुल वीडियोमेले में भीड़ अधिक होने के कारण वो मेरे पीछे मेरी गांड से अपना लंड सटा कर चल रहा. रोहन दिखने में स्मार्ट, गोरा-चिट्टा पंजाबी मुंडा था लेकिन उसने आजकल के फैशन की तरह दाढ़ी नहीं रखी थी, बल्कि एकदम चिकना था।रोहन ने मुझे ऊपर से नीचे तक देखा और पूछा- कैसा रहा सफर?मैंने भी हंस कर जवाब दिया- सफर अभी पूरा कहाँ हुआ है?मेरे जवाब को सुन रोहन मुस्करा दिया.

मैंने एक गहरे लाल रंग की एकदम हल्के और पारदर्शी कपड़े की साड़ी निकाली और उसके साथ उसी रंग का ब्लाउज भी निकाला.

)दोस्तो, हमारी बातें ज्यादातर इंग्लिश में होती थीं क्योंकि वो बहुत पढ़ी लिखी थीं और मैं भी. शेखर ने रघु को मुस्करा कर धन्यवाद कहा और फिर अपने कपड़े बदल कर बिस्तर पर ही सारा कुछ एक ट्रे में लेकर बैठ गया. उन दोनों ने मेरी चूचियों को इतना चूसा कि चूचियां बिल्कुल लाल हो गई थीं.

थोड़ी देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर घोड़ी बनाया और उसकी गांड में हाथ फेरने लगा. उर्वशी का रंग हल्का सा सांवला है … पर उसके नैन-नक्श बहुत तीखे हैं … जिससे उसके चेहरे पर एक रौनक सी रहती है. मगर जेठ जी पूरे हरामी थे; जानबूझकर मेरी चूत को लंड के लिये प्यासी रख रहे थे.

बीएफ बड़ी-बड़ी

शेखर ने धारा के मैसेज का टाइम देखा और पाया कि धारा ने उसे आख़िरी मैसेज सुबह के क़रीब 3 बजे भेजा था. जिससे भाभी के 36 साइज का एक बोबा फटे हुए गुलाबी ब्लाउज और काली ब्रा में दिखने लगा था. उसका चेकअप करते हुए मैंने पूछा- आपके पति के कब लौटने का प्रोग्राम है?सर, वो जब जाते हैं तो करीब चार महीने बाद लौटते हैं और अमूमन दो महीने यहाँ रुकते हैं.

पापा ने मां से पूछा कि तुम चलोगी?मां ने कहा कि मुझे ट्रेवलिंग से प्रॉब्लम होती है.

उसके लन्ड से इतना माल निकला कि हम दोनों की हलक की प्यास बुझ गयी।हम दोनों समीर के बगल में लेट गई और कुछ देर बाद फिर अनामिका समीर का लन्ड चूसने लगी.

शायद शेखर को इसका आभास हुआ, उसने खुद को धारा से थोड़ा अलग करते हुए थोड़ा पीछे होकर साये को धारा की कमर से नीचे उतारने की कोशिश की. मैं जगह बनाने लगी तो ऑटो वाला बोला कि मैडम जल्दी बैठिये और उसने ऑटो आगे बढ़ा दिया. रश्मिका मंदनना बीएफतभी सुमित ने आवाज देते हुए उठाया- राज, हम चंडीगढ़ बस अड्डे पहुँच जाएंगे पांच मिनट में।मेरी आखँ खुली चंडीगढ़ में ही।अब मैंने फिर रोहन को कॉल कर बताया कि मैं पहुँच गया हूँ, आ जाओ।गाड़ी से उतर कर मैंने सुमित को धन्यवाद किया.

सुनीता ने आगे होकर मेरे लंड के अचानक हुए हमले से बचना चाहती थी लेकिन मेरी पकड़ के मजबूत होने की वजह से वैसा नहीं कर सकी और मेरा पूरा लंड उसकी चूत की दीवारों को चीरता हुआ उसकी गहराई में समा गया. मैं और जोर से नीतू की चूत मारने लगा जिससे नीतू सिसकारियाँ और तेज़ हो गई थी. उनके पति जॉब करते हैं और हम लोग यहीं एक मकान में किराये पर रहते हैं.

मुझे ऊपर लेकर लंड को चूत पर रख लिया मैं ऊपर-ऊपर ही लंड फिराने लगा तो उसने ऊपर की तरफ कमर उछाली लेकिन मैं उचक गया. मैं उसके खेड़े लंड को अपनी गांड की दरार में महसूस करते हुए गर्म हुई जा रही थी.

फ़च्छ की आवाज के साथ लंड चूत में पेवस्त हो गया और मैं उसके दूध पकड़ कर जोर जोर से उसे चोदने लगा.

प्रभा का स्वर एकदम से बदल गया और वो बोली- ठीक है चलो, लेकिन मेरी एक शर्त है. उसने मेरी गांड देख कर कहा- वाह … गोरी-चिट्टी अनचुदी सेक्सी गांड देखकर मजा आ गया. मैं कॉलेज के टाइम अन्तर्वासना पर चुदाई की कहानियां पढ़ता था, उसमें मां बेटे की चुदाई की कहानियां मुझे ज्यादा पसंद आती थीं.

भोजपुरिया सेक्सी वीडियो बीएफ मैं इस वक्त पूरा नंगा था तो मां ने अपने दोनों हाथ मेरी गांड पर रखे और मुझे जकड़ने लगीं. शेखर मानो एकदम से मंत्रमुग्ध होकर स्क्रीन में ही खो गया; उसका हलक सूखने लगा.

मगर लगभग आधे मिनट तक शेखर को ना तो धारा ने छुआ था और ना ही उसके लंड की तरफ़ हाथ बढ़ाए थे. शायद उस समय इतनी अधिक उत्तेजना थी कि दरवाजा बंद करना मुझे याद ही नहीं रहा. मेरी पिछली कहानी थी:गे सेक्स की मेरी पहली दास्तांइस इंडियन गांड सेक्स कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आप सभी को अपने बारे में बता देता हूं.

सेक्सी बीएफ एक्सएक्सएक्सी

अब आगे जोरदार चुदाई का मजा:उसने मुझे संभाल लिया था लेकिन उसकी इस हरकत से मेरी चूत गीली हो गयी थी।उसके बाद मैंने कुछ और सामान लेकर ऑटो पकड़ी. गजब की चुसाई की उसने!मेरी तो आंखें बंद होने लगीं!मैं बोला- तन्नू! छोड़ो मेरा निकल जायेगा!उसने मुंह से लंड निकाला और बोली- आपने भी तो यही किया था!और फिर से चूसने लगी,मैं- तन्नू…जा…न!कहते-कहते मैं उसके मुंह में झड़ गया!वो लंड को होंठों में दबाकर सारा जूस पी गयी; एक कतरा भी नहीं छोड़ा. मैं- असल में देखना है?फ़लक मेरे लोअर में खड़े लण्ड की ओर देखते हुए धीरे से बोली- मुझे नहीं पता.

हालांकि हॉस्पिटल पहुंचने से 15 या 20 मिनट पहले नीना ने डॉक्टर साहब को अपने आने की सूचना दे दी थी. कॉलगर्ल चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे दोस्त की दीदी अपनी चुदाई के पैसे बताकर मेरे सामने नंगी हो गयी.

अब वो ज़्यादा हिलते हुए साथ तो नहीं दे रही थीं, पर हर झटके के साथ उनके होंठों की पकड़ मेरे होंठों पर और भी मजबूत होती जा रही थी.

पर उन्होंने बराबर में लेटना ही बराबर समझ कर मेरा एक हाथ सीधा किया और मेरे होंठों से अपने होंठ बिल्कुल सटा कर मेरे कंधे पर सिर रख कर लेट गईं. कुछ देर बाद बाजू में संगीत बजने लगा और डीजे पर नाच गाना शुरू हो गया. भाभी का अपने पति से अलगाव हो चुका था और वो अकेली ही अपनी बेटी के साथ रहती थीं.

दरवाज़ा बंद करने के बाद धारा शेखर के पीछे खड़ी हो गयी और अपने दाहिने हाथ की उंगलियों को शेखर के कान के ठीक पीछे से शुरू करते हुए पूरी गर्दन और धीरे-धीरे उसकी पीठ पर इधर-उधर घुमाने लगी. उस दिन शाम को शहज़ाद मेरी बेटी से साथ कमरे में था और मैं खाना बना रही थी. मैंने दर्द से कराहते हुए कहा- साले भोसड़ी के … मारेगा क्या … मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ.

फिर उसने पूछा- मेरा ईनाम कहां है?मैंने पूछा- बोलो कितने पैसे हुए!उसने कहा- पागल हो क्या यार … तुझसे पैसे लूंगा.

नए साल का बीएफ: क्योंकि उस समय कोरोना कर्फ्यू चल रहा था तो दुकानें चोरी छिपे खुल रही थीं. सेक्स विद माय स्टेप मॉम … मैंने एक रात अपनी सौतेली मम्मी को चोद दिया.

नेहा- ओके … मैं गार्डन में कुछ देर घूमती रही, उसके बाद में सोने जाने लगी. भाभी बोलीं- मगर मैं तो शादीशुदा हूँ … और एक 3 साल के बच्चे की माँ हूँ. दोस्तो, आपको मेरी सच्ची गर्म लड़की सेक्स कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मेल जरूर करें.

अंकल- ऐसा तो नहीं कि तुम्हें खुद ही लड़कियां पसन्द नहीं आती हों?मैं- नहीं अंकल, ऐसा कुछ नहीं है.

तभी अमित बोला- नीरज भाभी के साथ मज़े कर रहे थे क्या!मैंने कहा- हां यार, कोमल को रगड़ रहा था. आशा करता हूं आप सबको जरूर पसंद आएगी।सबसे पहले मैं आप सबसे अपना परिचय करा दूँ।मेरी उम्र 25 साल, कद 5’10 और मेरा लंड लगभग 7″ इंच का है. मैंने अपनी नई वाली इनोवा को चैक किया और उसके इंजन का तेल पानी सब ओके देख लिया.