इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी

छवि स्रोत,कार्टून सेक्सी कार्टून सेक्सी कार्टून

तस्वीर का शीर्षक ,

मौसी का सेक्स बीएफ: इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी, सुधा भाभी- राज, तुम भी मुझे बहुत अच्छे लगते हो और मैं अपने आप पे काबू नहीं रख पा रही हूँ.

राधा की सेक्सी फिल्म

मैंने उंगली हटा कर अपने लंड को बुर की फांकों में फंसाया तो वो लंड की गर्मी से समझ गई कि लंड बुर में जाने वाला है. धातु सेक्सी वीडियोसूरत से अहमदाबाद के लिए स्टेशन से बाहर कई साधन मिल जाते थे, तो मैं निशा के साथ बाहर आ गया.

क्या इस आधे घंटे में मैं अपनी मनोकामनाएं पूरी करुंगा जिसके सपने में देखे थे। रीना, मैं इस सपने को जीना चाहता हूं और अपने मन की वे सारी इच्छाएं पूरी करना चाहता हूं जो मैंने कमरे में अंदर आते हुए सोची थी. कुत्ता की घोड़ा की सेक्सी पिक्चरऔर देखते भी क्यों नहीं, वो लग ही इतनी कालिलाना रही थी कि ना जाने उसने कितनों के लंड खड़े करवा दिए.

उन्होंने मेरी बात को जैसे सुना ही नहीं और कहने लगीं- कपड़े चेंज कर लो, पूरे गीले हो गए हैं.इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी: मैं सकपका गया, मैं बोला- डॉली! तुम यहाँ?मैं कुछ और बोलता उससे पहले ही वो मुझे स्मूच करने लगी, थोड़ी देर तो मैं हतप्रभ सा ही रह गया था.

मैंने इस तरह से उसे पकड़ लिया कि मेरे मम्मे उसके शरीर से बार बार लगते थे.खाला बोली- आमिर, क्या ये मेरे अंदर जा पायेगा? ये मेरी चूत फाड़ तो नहीं देगा?मैं बोला- नहीं मेरी रानी, ये तो तुम्हारा आशिक़ है और हमारे प्यार और आनंद का औज़ार है, इसी से तो हम दोनों को प्यार के मजे मिलेंगे.

सेक्सी फिल्म गडर - इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी

मैंने फोन उठाया तो बोला- क्या रे, तूने फोन किया था?इतना सुनते ही थोड़ी जान में जान आई मैंने कहा- हां कहां मर गया था बे कमीने.अब मैं झड़ने वाला था, मैंने आंटी को पूछा- मेरा निकलने वाला है, कहाँ निकालूं?त उन्होंने कहा- बहुत दिनों से मेरी चूत में पानी नही छुटा है.

इसी बीच मेरा एक हाथ काजल, जो कि बाजू में सोई हुई थी, उसके चूतड़ों पे चला गया. इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी ये सुन कर वो बहुत खुश हुआ और उसने लंच का ऑर्डर कर दिया, जो थोड़ी देर बाद आ भी गया.

मेरी उससे ऑफिस के काम को लेकर कई बार बाहर से ही उससे बात भी हुई थी, जिस वजह से आस पास रहने वाले भी इस बात को जानने लगे थे और हमारे मिलने को कुछ गलत नहीं समझते थे.

इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी?

आज सुबह मैं जब कपड़े सूखने डालने के लिए गई तो मैंने जानबूझ कर एकदम शॉर्ट और स्लीवलैस टॉप. सर बोले- वन्द्या, जब भी मौका मिले और कोई भी लड़का या मर्द तुमसे तुम्हारी चूत मांगे तो तुम उसे अपनी चूत देकर चुदाई ज़रूर करवा लेना, उससे तुरंत चुदवा लेना, बहुत बहुत मजा आएगा. फिर वो लेट गईं और मैं उनकी बगलें चाटते हुए उनकी ब्रा के साइड में आ गया.

हम दोनों अब नंगे हो चुके थे, लेकिन दीदी आंखें बंद करके ही लेटी रहीं. मनोहर ने अपनी जात दिखाई और लंड सहलाते हुए बोला- आप कहीं ऊंच-नीच का फर्क तो नहीं लगाओगे?चाचा बोले- अबे तू आ… कोई दिक्कत नहीं, आ जा. अभी मैं शीशे के सामने अपने बालों को सैट कर रही थी कि सैमी ने मुझे पीछे से अपनी बांहों में ले लिया.

मुझको तो लगता है ये सब तुमने ही किया था, तुमको पता था कि तू चली जाएगी, इसलिए तुम उसको मेरे लिए छोड़ गयी हो… है ना पुष्पा?पुष्पा पद्मिनी की माँ का नाम था. या फिर फोन में उलझा रहता था।मेरी उस टाइम तक कोई गर्लफ्रेंड भी नहीं थी।अब मैं नेहा आंटी के बारे में बता दूँ. जैसे जैसे उसके हाथ मेरी गांड के पास आते गए, मेरी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया.

फिर मैंने उसकी चूत में 2 उंगली भी डाल दी जिससे उसकी तड़प और बढ़ने लगी और अगले एक मिनट में उसकी चूत का पूरा पानी मेरे मुंह में आ गया।एक बार मेरा भी वीर्य निकल चुका था और उसका भी पानी निकल चुका था, दोनों थोड़ा थक गए थे तो मैंने उसे अपने ऊपर लेटा लिया और प्यार से बांहों में ले लिया। वो मेरे ऊपर ऐसे ही लेटी रही. मेरे अजीज़ दोस्तो, अगर आप मुझे मेल करके मेरी कहानी के बारे में अपने ख्यालात मुझे बताएँगे तो आपके ईमेल से मुझे हौंसला मिलेगा.

धर्मशाला के सामने बगीचे में एक बड़ा सा पंडाल लगाया हुआ था जिसमें कुक, शेफ यानि हलवाई द्वारा चाय, काफी, नाश्ता, लंच, डिनर इत्यादि सब बनवाने की व्यवस्था थी.

तब मैंने सर झुका कर कहा- तुम्हें देख कर मेरी चूत उस दिन पानी छोड़ रही थी.

एक बच्चे की माँ होने के बावजूद उसके मुँह से चीख निकल पड़ी और फिर शुरू हुआ धक्कों का खेल. तो सर बोले- वन्द्या, तुम बहुत मस्त माल हो, तुम उम्र में भले 18 की हो पर अभी से बहुत चुदासी और बहुत सेक्सी हो. उसी बीच मेरे हाथ उनके पल्लू में से पीठ, कमर पर होते हुए उनके स्तनों पर पहुँच गया.

फिर वो बोली कि तूने मेरे तो सारे कपड़े उतार दिए और खुद क्यों पहन रखे हैं. मैंने ब्रा के ऊपर से ही उसकी लिटिल लिटिल चूचियों को किस करना शुरू कर दिया. मैं उसकी कमर को अपने दोनों हाथों से पकड़े हुए लंड के झटके दिए जा रहा था.

फिर थोड़ी देर बाद वो कमर हिलाने लगी तो मैं समझ गया कि चुत गरम हो गई है.

हैलो मैं विकी, तो मैंने जैसे ही उसकी टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाला, मैंने एक मखमली स्पर्श का अनुभव किया. ! ओके बोलो क्या शर्त है?मैंने कहा- हम दोनों ही बाथरूम में अन्दर जाएंगे ओके?थोड़ा सोचने के बाद मुस्कान बोली- ओके ठीक है. मैं बोला- दोनों के ही मजे लेने में क्या परेशानी है?बाद में मेरा हाथ वापस अपनी वाली के ऊपर आ गया, धीरे धीरे में कपड़े के ऊपर से ही उसके मम्मों का आनन्द लेने लगा.

वहां पर भीड़ भी बहुत थी और जो लड़कियों की लाइन थी, वो हमारे उल्टे हाथ की तरफ थी. वो बोला कि हाँ साहिब पास में ही बेगम पुल पर होटल विजय बार है वहां ले चलूँ? मैंने कहा कि चल देखूं कैसा होटल है. फिर भी मैंने चौंकते हुए कहा- मैं?तो वो बोलीं- अरे यार, यहां कोई और भी है क्या.

जब भी उसके हाथ मेरी टी-शर्ट के अन्दर जाने की कोशिश करते, मैं उसके हाथों को हटाती जा रही थी.

मुझे उसके लंड से अजीब सी गंध आ रही थी तो मैंने लंड चूसने से मना कर दिया. उसने लाल साड़ी पहनी हुई थी, गले में बड़ा मंगल सूत्र था और मोटी चैन पहने हुई थी.

इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी साथ में ही उनकी गर्दन चूम लेता, तो कभी उनकी चुत में उंगली डाल देता. अहमदाबाद पहुँचने के बाद मैंने एक होटल में डबल बेड का एक रूम बुक किया, फिर उसे मिलने के लिए एक कॉफ़ी शॉप में बुलाया.

इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी मेरी बड़ी बहन प्रीति की शादी हो चुकी है, अब उसके पास एक लड़की भी है जो बहुत सुंदर है. कुछ देर के बाद ट्रेन दादर पहुँची और उधर से दो महिलायें एक छोटी बच्ची के साथ आईं और मेरे सामने वाली सीट पर बैठ गईं.

मैंने प्रीति को कहा- एक बात सच सच बताना… झूठ मत बोलना, तुम्हें मेरे प्यार की कसम है, क्या तुमने पहले कभी किसी के साथ सेक्स किया है?तो मेरी बहन प्रीति ने मुझे कहा- तुम्हें क्या लगता है?मैं कुछ नहीं बोला तो उसने कहा- ना ही मेरा कोई बॉयफ्रेंड है, ना ही मेरा कोई दोस्त है और ना ही मैंने आज तक किसी के साथ सेक्स किया है.

देहाती सेक्सी चुदाई वाली

कुछ दिन पहले ग्रेटर कैलाश मार्केट में मेरा बचपन का दोस्त सतीश मिला, बिल्कुल बदला हुआ, चश्मा लगा कर, मस्त मोटरसाइकल पर सवार, पूरा छह फुट का कद, पहलवानी, कसरती बदन. इसके बाद तो समझो दोनों रंडियां भूखी शेरनी की तरह मेरे लंड पर टूट पड़ीं. मुझे अपनी कसम है और मम्मी की कसम है अगर इसमें से लिखा एक शब्द भी झूठ हो.

उसी वक्त मुझे उसका फूलता हुआ लंड अपनी चूत से टच करता हुआ महसूस हो रहा था, लेकिन मुझे डर भी था कि कहीं मेरा भाई ना आ जाए. मैंने उसको हाय लिख कर सेंड किया और पूछा- क्या आपका कोई बॉयफ्रेंड है?उसका रिप्लाय ‘नहीं. मुझे गाँव के लोग बहुत अच्छे लगते है क्योंकि गाँव के लोग थोड़े व्यावहारिक होते हैं और वो लड़का भी व्यावहारिक था.

उसके बाद मैंने उसे एक दिन फिर उसके मौसेरे भाई के साथ पकड़ा और बातें सुना कर हमेशा के लिए छोड़ दिया.

वो मेरे होंठों को अपने होंठों से चाटने लगा और जोर जोर से धक्का लगाने लगा. इसके बाद उसने उस पकौड़े जैसी चूत के अन्दर अपना लंड पेल दिया और उसको दबा दबा कर चोदने लगा. मैंने थोड़ी देर उसकी चुत को यू हीं सहलाया और बाद में धीरे से अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल दी.

अपनी चूत जैसी कोमल जगह पर अपने बापू का लंड का अहसास पा कर पद्मिनी ने आँख मूँद लीं और अपने बापू को ज़ोर से बाँहों में जकड़ लिया. पिछले लगातार चार साल कसरत करने से अब मेरा जिस्म बिल्कुल एक मंजे हुए पहलवान की तरह गठीला हो गया है. मैंने उसकी बात का कोई उत्तर नहीं दिया, जिसे उसने मेरी मौन स्वीकृति मान ली.

उसके हाथ अब मेरी टी- शर्ट के अन्दर से मेरे निप्पलों को कुरेद रहे थे, बीच बीच में वो मेरे कानों को काटती और अपनी जुबान कान में घुमा रही थी. कभी वो मेरा लंड चूसतीं, तो कभी मैं आंटी की गांड, कभी उनकी बुर की फांकों को अपने मुँह से भर कर चाटता.

अब मैं और वो साथ में बैठ कर बात करने लगे और उसका बच्चा टीवी पे गेम खेलने लगा. अब मंजू के जिस्म की बढ़ती हुई गर्मी उसे बेचैन कर रही थी, वो चुप थी! मैंने उसे राज के लिए मना लिया था लेकिन फिर भी मन में डर था कि वो फिर से मना नहीं कर दे. जब मैंने उनसे खुद को छुड़ा कर पूछा कि आप ये क्या कर रही हैं?अब भाभी ने मुझे गुस्से में कहा- ओये भोसड़ी के.

हम दोनों उस समय फैजाबाद में ही रहते थे, वहीं हम दोनों की दोस्ती भी हुई थी।तो फैजाबाद में मेरी एक मामी भी रहती थी, मैं हर हफ्ते मामी के यहाँ जाकर उनसे मिलता था.

मैंने देखा कि वो एकदम मस्त टाइट लैगीज पहने हुई थीं और कुर्ता डाला हुआ था. मर्यादा कह रही थी कि मैं वासना में अँधा हो कर रिश्तों को कैसे तार तार कर सकता हूँ, ये गलत है. जब बाप चूत चाट रहा था तो पद्मिनी अपने दोनों हाथों से अपने बापू के सर को ज़ोर से पकड़े थी और ‘उफ.

चूँकि मैं अपनी हैसियत जानता हूँ, इसलिए सिर्फ़ अनु की शादी का वेट था. वहां रहने को ज्यादा साधन नहीं थे, अतः मेरे साथ ही रहने लगा। हम पास के ढाबे में खाना खाते, नौकरी करते और बाहर सड़क पर थोड़ा घूम लेते.

मैंने उन्हें कॉल किया तो उन्होंने कहा कि बस बेटे को सुला कर आती हूँ. मैं अभी एकदम गर्म हूँ। अहाना को फिर से गर्म कर के तब डालना।” मैंने खुद आगे बढ़ कर मौका ले लिया।ठीक है. उसने जैसे ही उसको गोद में उठाया, उसने उस पर चुम्बनों की झड़ी लगा दी।और मेरे मुंह से एकदम से निकल गया कि काश मेरी भी ऐसी किस्मत होती और तुम मुझे भी ऐसे ही किस करती।उसने कुछ नहीं कहा, बस हंस दी।फिर मैं वहाँ से चला गया।फिर बहुत दिनों तक बस मैं सोचता रहा कि क्या किया जाए।और एक दिन मैंने मौका देखकर उसको प्रोपोज़ मार दिया कि वो मुझे पसंद है और मैं उससे प्यार करता हूँ।उसने कुछ नहीं कहा.

सेक्सी हिंदी में चुदाई

कई बार हरीश को कॉलेज से आने में देर हो जाती है, तो मैं तुम्हें ही फोन कर लिया करूँगी.

उसने लंड को निकाला नहीं बल्कि मुझे समझाने लगा कि पहली बार में दर्द होता इसके बाद में सिर्फ मजा आएगा. थोड़ी देर बाद आंटी फिर से गर्म हो गयी, चूत चुदाई के लिए तैयार हो गयी और मुझे कहने लगी- विकी, अब जल्दी अपने लंड को मेरी चूत में डाल दो!पर मैं भी कमीना हूँ, मैंने उनको और तड़पाया. खाला नेअपनी चूत से बाल साफ़ किये हुए थे, चूत थोड़े गुलाबी रंग की थी और गीलेपन की कुछ बूंदे साफ़ दिख रही थी.

कमलेश सर दूसरे दिन दो पतली पतली बुक लाए और एक मैग्जीन मुझे देकर बोले- इसे अकेले में पढ़ना और समझना, फिर फोटो देखना, जो समझ ना आये मुझसे पूछ लेना. जी करता है तेरा लहंगा ऊपर उठा कर तुझे गोद में बैठा लूं अभी और …”और क्या पापा?”और तेरी पैंटी साइड में खिसका कर अपना ये पहना दूं तेरी पिंकी में … पैंटी पहन रखी है या नहीं?” मैंने पैंट के ऊपर से अपना लंड सहलाते हुए कहा. स्कूल लड़कियों का सेक्सीउसने मेरे करीब से निकलते वक्त मुझको देखा और देखकर ऐसे अंजान बनते हुए, जैसे देखा ही न हो.

मैंने थोड़ी क्रीम जूली की चूत पर लगाई और कुछ क्रीम अपने लौड़े पर चुपड़ ली. परंतु मुझे नींद नहीं आ रही थी और मेरे मन में अपनी बड़ी बहन को चोदने के ख्याल आ रहे थे.

मेरा पूरा जिस्म अब मचल के अकड़ने लगा, मुझे कुछ समझ भी नहीं आया और मेरी चूत के अन्दर से चूत रस की गरम गरम पिचकारी निकल पड़ी. मैंने पूछा- कहां जाना है?तो उन्होंने बोला- बस मुझे अपनी एक फ्रेंड से कुछ खास काम से मिलने जाना गोवा है. मैंने उसकी संगमरमर जैसी जंघाएं उठाकर उसकी चिकनी चुत पे लंड रख दिया और एक करार धक्का लगा दिया.

फिर भी उसने बहुत ही प्यार से कहा- बापू, मैं तो उस दिन से आप से इस तरह का प्यार करती हूँ, जिस दिन से आपके बिस्तर पर आप के पास सोने को आयी थी. मैंने उसके हिप्स को पकड़ा और अपने चेहरे को पैंटी से सटा डाला और उसे चूमने लगा. मैंने भाभी से कहा कि भाभी आपको डोर बेल बजाना चाहिए न!उन्होंने कहा कि तुम दरवाजा बंद क्यों नहीं रखते?उनकी इस बात पे मैं चुप हो गया.

पद्मिनी अब उसके लिए एक पत्नी से कम नहीं थी और वह सच में उसकी पत्नी की तरह दिख रही थी.

मैंने उस दिन नीले रंग की सलवार और सफ़ेद रंग का कमीज सैट पहना हुआ था. क्या हम यह सब ग़लत तो नहीं कर रहे हैं?मैं- मैडम, मुझे भी पता नहीं यह सही है या ग़लत, पर यह सच है कि मैंने आप अब तक जैसी महिला नहीं देखी और आपके साथ के लिए मैं तड़प रहा हूँ.

मुझे बड़ा गुस्सा आया इसकी इतनी हिम्मत? मैंने थोड़ी देर उसे नज़रअंदाज किया, पर वो नहीं माना. तभी भैया ने मेरा हाथ लेकर धीरे से बड़े बूब वाली लड़की के बोबे पे रखवा दिया. मैंने अपनी दोनों उंगलियाँ उसके मुँह में डाली और उसे उसकी चूत का पानी चखाया.

मैंने तुम्हारा नाम दिया और कहा कि हमारी चुदाई देख लेना और अच्छी लगे तो तुम भी अजय के साथ सेक्स कर लेना. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:पेयिंग गेस्ट से कामवासना की तृप्ति-2. डॉक्टर को मैंने कह दिया था कि उससे 1000 रूपए फीस के माँगना, वो नहीं दे पाएगी.

इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी इसके बाद भी बहुत चूतों का स्वाद लिया, वो सब अगली कहानियों में आप सबके साथ शेयर करूँगा. मैंने अपनी बाइक उसके पास रोकी और कहा कि पहचाना मुझे सलमा?तो उसने जवाब दिया- हां पहचान लिया, आप मकबूल हो.

क्सक्सक्स वीडियो क्सक्सक्स वीडियो

मैंने उससे पूछा तो उसने कराहते हुए कहा कि प्यार में दर्द नहीं देखा जाता. उस कागज को उसने पूरा खोला तो उसपर नियम लिखे थे, जो कुछ इस प्रकार थे. यह कह कर मैंने अपना मुँह दूसरी तरफ कर लिया ताकि वो यह ना समझे कि मैं उसके लंड को देख रही हूँ.

थोड़ी देर में ड्रिंक खत्म हो गई तो मैंने कमलेश भाई को बोला- ये 1000 रूपए लो और खाना और ड्रिंक ले आओ. मैं उसे अपने घर भी लेकर जाता था, हालांकि मैं कभी उसके घर नहीं गया था. संगीत एचडी सेक्सीअब तो हमारा सेक्स चैट करने का रोज का नियम हो गया और फ़ोन सेक्स करने का खेल शुरू हो गया.

मैं आराम करने लगी, मुझसे 3 दिन तक ठीक से चलते नहीं बना था और हल्का हल्का दर्द भी हो रहा था.

जब उसने मेरा लंड देखा तो वो थोड़ा डर गयी और कहने लगी- एक उंगली से इतना दर्द हुआ तो इससे तो बहुत ज्यादा होगा. जब भी वो बाल्कनी में आतीं तो हम सभी फ्रेंड्स आकर खड़े हो जाते और उनको प्यासी निगाहों से घूरते रहते कि बस एक बार भाभी की मिल जाए.

कुछ देर लंड चूसने के बाद मुझे ऊपर आने को कहा, मैंने उसे नीचे लिटाया और उसकी टाँगें फैला दीं, वो भी मेरे लंड का इंतजार करने लगी. कुछ ही दिनों बाद बरसात के मौसम में हम फिर नदी के किनारे घूम रहे थे, तभी मैं उससे कहा- हर्षा, मौसम कितना रोमांटिक है ना?उसने हां कहा. इस बार मैंने अपना लंड निकाला और सीधा मामी की चूत में डाल दिया जो कि चूत के रस से एकदम गीली हो चुकी थी.

अगले कुछ ही पलों में वो मेरी पेंटी के ऊपर से ही मेरी चूत पर अपना हाथ फेर रहा था.

मैंने धीरे से उसका अंडरवियर नीचे किया तो मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं. वो मेरे निप्पलों को चूस रही थी, दांतों से काट रही थी और उसके हाथ मेरी ट्रैक पैन्ट को नीचे कर रहे थे. वो मेरी बड़ी बेदर्दी से चूची को चाट और काट रहा था… कभी कभी तो मेरी चूची के के मेरे खड़े निप्पल को काट रहा था.

सेक्सी वीडियो सनी लियोन फोटोचाचा बोले- अब तुम लोगों ने तो सब देख ही लिया है, तो तुमसे क्या छुपाना. फिर मैं बेड से खड़ी हुई, तो उसने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे बाँहों में भर लिया और किस करने लगा.

हिंदी सकस

वो थोड़ा बहुत चिल्ला भी रही थी और साथ में हंस भी रही थी, पद्मिनी कह रही थी- बापू बस करो. मैं आज सबको हाज़िर नाजिर जान कर यह कसम ख़ाता हूँ कि ए चूत मैं तेरा सेवक बन कर रहूँगा पूरी जिंदगी भर. अरुण- क्या आप जॉब करती हो?आशिना- जी हां मैं सिटी प्लेस के पीछे एक ब्यूटी पार्लर है, उसमें काम करती हूँ, और आप?अरुण- मैं भी एक प्राइवेट बैंक में काम करता हूँ.

मेरा मन तो कर रहा था कि बस चूमता, चाटता रहूँ और अपनी बांहों में जकड़ कर मसल डालूँ और जिंदगी भर ऐसे ही पड़ा रहूँ!फिर अपनी जीभ उनकी चूत पर लगाकर उनकी चूत को चाटने लगा तो वो उछल पड़ी और मेरे बालों को अपने हाथ में लेकर सिसकारी भरने लगी और बड़बडाने लगी- आमिर मैं 10 साल से तेरे बड़े होने का इंतज़ार कर रही थी, मेरी 30 साल की कुँवारी चूत की प्यास तूने आज और भड़का दी है. और मैं हल्के हल्के से अपनी बुआ की बेटी के स्तनों के साथ खेलने लगा।मैं और वो थोड़ा दूर थे इसलिए थोड़ी परेशानी हो रही थी, मैंने हाथ हटा लिया तो वो तड़प उठी और उठकर बैठ गई क्योंकि कमरे में सब थे इसलिए कुछ बोली नहीं, बस उठकर बाहर चली गई. उसके बाद मैं नीचे पीठ के बल लेट गया और उसने मेरे लंड पर आकर अपने छेद को फिट करके धीरे से मेरा लौड़ा पूरा अन्दर खा लिया.

फिर उसने मेरी गांड के नीचे अपना हाथ डाल दिया और मेरी चूत पर अपना लंड सैट करके एक झटके में अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. ये बात उन दिनों की है, जब मेरा नया नया मतलब ताज़ा ताज़ा ब्रेकअप हुआ था. कमरे पर पहुँचा तो देखा मसाज बॉय… उसका भी नाम भूल गया हूं… चलिये काम चलाने को देवेश रखे देते हैं, फर्श पर नंगा लेटा हुआ है और उसके ऊपर सुमेर चढ़ा हुआ उसकी गांड में लंड पेले था, गांड मार रहा था.

भले छोटी थी, पर तेरी मौसी की बेटी वन्द्या की सुंदरता की सभी बातें करते थे. मैं मुँह से उसका लौड़ा चूसते चूसते उसकी गांड के छेद पर उंगली घुमा रही थी.

मेरा मेलजोल भी कई लोगों से हो चुका था और उन सबसे मैं अब पिंकी को अपनी कजिन बताती थी.

अब हम रोजाना बातें करते थे, जब बातें नहीं होती थी तो कुछ भी अच्छा नहीं लगता था. इंडियन सेक्सी व्हिडिओ फोटोदोस्तो, आपको मेरी मम्मी की चूत चुदाई की सेक्सी स्टोरी कैसी लगी? मुझे ईमेल करके जरूर बतायें! आपको अगर अच्छी लगी तो आगे की कहानी भी जरूर लिखूंगा!मेरी ईमेल है –[emailprotected]. ब्लू फिल्म सेक्सी पिक्चर बढ़िया वालीफिर हम उसके बेडरूम में गए और मैं उसको पकड़ कर कर किस करने लगा और फिर उसकी गरदन पर किस करने लगा. मैं भी ये ठीक समझी क्योंकि बुआ और मम्मी तो शाम को आने वाली थीं, तो मैं भी अपने घर में अकेले अकेले बोर हो जाती.

मैं और मेरा दोस्त दोनों यही सब मेरे दोस्त के मोबाइल में देखते रहते हैं.

इसके बाद मैंने काफ़ी देर तक आंटी के चूचे भी चूसे और उनको चित लिटा दिया. वो खड़ी हो कर काम कर रही थीं और मैं उनकी मैक्सी में नीचे से अन्दर घुस कर उनकी पैंटी चूमने लगा. आप सुंदर हो, पैसा है आपके पास, आपके पापा आपकी शादी बड़ी धूमधाम से करेंगे.

तब पद्मिनी ने अपने बाँहों से बापू के गले को ज़ोर से जकड़ते हुए आँखें बंद कर लीं और बापू को वह सब करने दिया, जो वह कर रहा था. तीनों ने अपना कॉलेज और कोचिंग छोड़कर तब तक घर में रहने का निर्णय लेते हैं जब तक उनके माता-पिता वापिस नहीं आ गए और इस दौरान घर में बस चुदाई ही चुदाई चलती रही. डॉक्टर को मैंने कह दिया था कि उससे 1000 रूपए फीस के माँगना, वो नहीं दे पाएगी.

एक्स एक्स एक्स सेक्स मूवी वीडियो

उनके मस्त हिलते दूध दबा दबा कर चूसते हुए मैंने नीचे से अपनी गांड उठा कर उनकी चूत चुदाई करने लगा. एक बात मैं आप को बताना भूल गया कि भाभी कोई ज्यादा स्मार्ट नहीं हैं. यह कह कर चाचा ने मुझे अपने गले से लगा लिया और बोले- सच बोलूं तुम्हें देखकर लगता है कि जैसे तू आसमान की परी है वन्द्या.

बुर चूसने के बाद धीरे से मैं उसके सामने से चुदाई की पोजीशन में उसके ऊपर आ गया.

इसके बाद हम एक दो बार और मिले, पर कभी समय नहीं मिल पाया कि उसके संग और चुदाई की जा सके.

थोड़ी देर बाद अब मम्मी ने मामा का लौड़ा निकाल दिया और खड़ी हो गयी!अब मामा भी खड़े हो गए और फिर मामा ने मम्मी को गोदी में उठाया और कहा- दीदी चूत में लो!मम्मी ने गोदी में बैठे ही अपने हाथ से मामा का लन्ड सेट कर के अपनी चुत में ले लिया और पीछे से उस आदमी ने अपना लौड़ा मम्मी की चुत में ही पेल दिया. पद्मिनी बोली- पहले मुझे सुन लीजिए जो मुझे टीचर के बारे में कहना है, फिर देखना वहां… और जो मन में आए कर लेना. देहाती सेक्स सेक्सीहर कोई तुझे चोदने के लिए पागल रहता होगा, वन्द्या भैन की लौड़ी तेरे से मस्त माल, तेरे से बड़ी छिनाल.

इसको चाचा तुमने कितनी बार चोदा है?चाचा बोले- आज यह पहली बार मुझसे चुदेगी और अब तो अपन तीनों ही इसको चोदेंगे. उनके मस्त हिलते दूध दबा दबा कर चूसते हुए मैंने नीचे से अपनी गांड उठा कर उनकी चूत चुदाई करने लगा. मैंने देखा कि हमारी लाइन खत्म भी मुस्कान के पास ही हो रही थी तो मैं भी जाकर सबसे पीछे खड़ा हो गया.

देर रात को मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि रचना मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर सहला रही थी. तभी अचानक से ही मैंने एक जोर का धक्का लगा दिया और इस बार मेरा पूरा लंड अन्दर उसकी चूत की जड़ तक पेल दिया.

तो वो झट से तैयार हो गई और इस बार हमने डॉगी स्टाइल में खड़े होकर भी चुदाई की.

उनके साथ मेरी जो बात हुई उससे सब कुछ खुलासा हो गया था कि मैम मुझसे अपनी चूत की आग बुझ्वाना चाहती हैं यानि चुदवाना चाहती हैं और उसी के लिए वे मुझे अपने साथ गोवा ले जाना चाहती थीं. की आवाज और हम दोनों की सिसकारने की आवाजों से पूरा कमरा गूँज रहा था. दीदी के गर्भाशय से जब भी मेरा लंड टकराता, तो दीदी मुझे कस के अपनी बांहों में जकड़ लेतीं.

एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीपी वीडियो मैं भी सोचता था कि मेरी भी कोई कहानी बने, जिसको मैं आप लोगों के सामने शेयर कर सकूं. उसने कहा कि मैं अपने हाथ से निकाल कर नहीं डाल सकती, तुम खुद ही निकाल लो न.

मैं चुपचाप खड़ा हुआ और उसे अपने दोनों हाथों से पकड़कर अपने सामने किया. मेरी पत्नी के लंबे समय से बीमार होने के कारण मैं काफी समय से यौन सुख से वंचित था, अतः कभी कभार हस्तमैथुन के द्वारा अपनी यौनक्षुधा को शांत कर लेता था. मैंने कहा- क्यों आपके पति तारीफ़ नहीं करते?उन्होंने थोड़ा दुखी हो कर कहा- नहीं वो मुझ पर इतना ध्यान नहीं देते.

चुदाई वाली फिल्म वीडियो में

उसने नीचे हाथ लगाया तो देखा हल्का सा ब्लड लगा था, जो उसकी चूत की साइड की स्किन कटने से निकला था. उसने बड़े प्यार से उसको देखा फिर अपने दोनों हाथों से उसको छू कर एहसास करने लगी. एक बार रात में मुझे एक तरकीब सूझी, जब वो टॉयलेट के लिए कमरे से निकलीं, तो मैं सोने की एक्टिंग करते हुए आँखें बन्द किए लेटा था.

थोड़ी देर बाद जब उसने आंखें खोलीं तो देखा कि वल्लिका अपने सारे कपड़े पहन चुकी है और उदास बैठी है. अबकी बार लंड को चूत में जाने के लिए कोई खास तकलीफ़ नहीं हुई और मुझे अब कुछ मज़ा आने लग गया था.

जैसे ही मैंने उनके केबिन पे नॉक किया, उसने मुझे अन्दर आने को कहा- भोसड़ी के इतना वक़्त कहां लगा दिया? तुमने रिपोर्ट पूरी की या नहीं?मै बोला- सर, अभी थोड़ा टाइम और चाहिए.

मैं उससे और खुलते हुए बोला- मेरी रितु से ज्यादा सेक्सी कोई नहीं!और जेम्स को भी इसमें बोलने का मौका मिला कि वह बहुत सेक्सी है, रितु के हिप्स, उसकी चाल और उस के बूब्स!खाना बहुत स्वादिष्ट था और हमने मजे से खाया. तो दीदी मुझे दूर करके बोली- इतनी हड़बड़ाहट किस बात की है? मैं भागी नहीं जा रही! और ऐसे ही करेगा सब ऊपर से? कपड़े तो निकाल ले।लेकिन तभी हमें ख्याल आया कि हमारा बड़ा भाई हमारे साथ सोया हुआ है तो मैंने अर्चना को उसके कमरे में चलने को कहा. क्या मजा आया? जो कितनी बार मैं सोचता रहा था वह आज सच में हो रहा था.

यह कहते हुए सर ने अपना हाथ मेरी जांघों में डाल कर दोनों टांगों के बीच पैंटी के ऊपर फूली जगह पर रख दिया. अब इन खिलती कलियों और बबुओं के फोन में पोर्न वीडियो होना तो एक साधारण सी बात रह गयी है. एक ही धक्के में मेरा लंड पूरा घुस गया चाची की चूत में… और चाची ने एक करारी सी आह भरी और मेरा मूसल पूरा का पूरा निगल लिया.

हमारे यहाँ की रीतियों के अनुसार जब किसी की मृत्यु हो जाती है, तो 12 दिनों तक बेड पर सो नहीं सकते.

इंग्लिश बीएफ इंग्लिश सेक्सी: मैंने उसका स्कर्ट सही किया और अपना लंड पैन्ट में अन्दर कर लिया और अपनी बहन निशा को फिर सही से गोद में बिठा लिया. कुछ देर बाद वो नार्मल हुई और अपने मुँह से कपड़ा निकल कर मादक सिस्कारियां निकालने लगी.

मैंने उसके हिप्स को पकड़ा और अपने चेहरे को पैंटी से सटा डाला और उसे चूमने लगा. यह घटना मेरे साथ दस दिन पहले ही उस वक्त हुई थी, जब मैं अपने ऑफिस से अपने घर के लिए एमजी रोड से मेट्रो में चढ़ा था. इस वक्त मेरी सास की चूत में से पानी सा रिस रहा था, जो उनकी चूत की लाइन से होता हुआ, उनकी गांड के छेद में घुसते हुए बिस्तर पर भी टपक रहा था.

मैंने देखा कि वो चुपचाप दूर खड़ी मुझे और मेरे फुंफकारते हुए लंड को देख रही थीं.

उस वक़्त हमारे कॉलेज में एक नया लड़का आया, उसका नाम हरीश था हरीश और मेरी पहले से बिल्कुल भी नहीं बनती थी क्योंकि वह कुछ ज्यादा ही एटीट्यूड में रहता था. फिर उसे पता नहीं क्या सूझी, वो बोला- सुधा, तुम अपनी चूत मेरे मुँह पर रख आकर बैठ जाओ, इससे मैं अपनी प्यारी चूत को पास से देख भी सकूँगा और चाट भी सकूँगा. की आवाजें निकाल रही थी।करीब 15-20 मिनट की जबरदस्त चुदाई के बाद हम दोनों झड़ गए। वह बेड पर पेट के बल पसर गई.