सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ

छवि स्रोत,भोजपुरी सेक्सी बीएफ चोदा चोदी

तस्वीर का शीर्षक ,

लैंड चुस्ती हुई: सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ, फिर उसने बताया कि वह कई बार अपने मम्मी और पापा को सेक्स करते हुए देखती है और अपनी चूत की गर्मी को उंगली से शांत करने की कोशिश करती है.

एक्स एक्स एक्स का वीडियो दिखाएं

मैंने उससे पूछा- आप अच्छी तरह घर तो पहुंच गई थी न?तो उसने बताया कि वह आराम से घर पहुंच गई थी. সেক্স মেয়েज़रीना जोर से चिल्लायी। खून की धार बह निकली मेरी नई दुल्हन की गांड से!डरो मत मेरी जान! अब मेरा लंड पूरा का पूरा तुम्हारी गाँड में है, सब ठीक हो जायेगा.

उसने मेरा लंड चूसना नहीं छोड़ा, तो मैंने अपना माल उसके मुँह में ही निकाल दिया. बाप बेटी का सेक्सी वीडियो दिखाएंअब चुदाई के अगले शॉट में नीना खुद ही डायरेक्शन देने लगी यानि खुली मस्ती का सौ फीसदी माहौल बन गया था.

फिर जो लड़का कैमरे से शूट कर रहा था, वो बोला- भाई इसको उल्टा कर दे, फिर जींस खोल … वीडियो में गांड पहले दिखानी है.सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ: भाभी दर्द से कलप उठी और अपने नाखूनों से मेरी कमर पर निशान बनाने लग पड़ी.

फिर वह अपने चूतड़ को उठा कर मेरे होंठों पर अपनी चिकनी चूत को रगड़ने लगी.तभी भाभी चुटकी बजाती हुई बोली- क्या बात है, ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने कहा- नहीं … कुछ तो नहीं, बस ऐसे ही।बस ऐसे ही?” मधु भाभी ने कहा।मुझे लगा कि कहीं भाभी नाराज़ हो जाये, मैंने तुंरत बोल दिया- भाभी आप बहुत खूबसूरत हो। आपके लिप्स कमाल के हैं.

घोड़ा और लड़की का सेक्सी - सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ

दोस्तो, वो कहानी भी लिखूंगा कि कैसे मैंने अपनी कोचिंग के उन लड़कों को सबक सिखाया और सरला को चोदा और इसी बीच मैडम ने भी मुझे एक जबरदस्त ऑफर दे दिया.दोस्तो, मेरा नाम अर्चना गुप्ता है, मैं अभी चालीस साल की नहीं हुई हूँ; हो जाऊँगी जल्दी ही।मैं एक शादीशुदा औरत हूँ, तीन बच्चे हैं मेरे, गोरखपुर में रहती हूँ। मैं एक बड़े सरकारी कॉलेज में प्रोफेसर हूँ। मेरे बारे में सब सच मत मान लेना, ये सब परिवर्तित नाम और स्थान हैं। मेरे पति बिज़नस करते हैं। शादी को 18 साल हो गए हैं.

मैं डिनर करने अपने रूम में जाने लगी, तो मैनेजर सर ने मुझे रोक लिया और बोले कि तुम कुछ देर मेरे साथ बात करो न प्लीज. सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ आगे क्या हुआ, क्या नानाजी ने हमें आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया और किस तरह हमने अपने आपको बचाया और क्या इसके बाद हम लोग कभी अपने जिस्मों का मिलन कर पाए या नहीं, जानेंगे कहानी के अगले भाग में.

यह सब कार्य मैडम ने ऐसी फुर्ती से किया जिससे पता चलता था कि मैडम इसमें सिद्धहस्त हैं.

सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ?

मैंने उसे देखते ही अपनी बाँहों में भर लिया और दोनों रोमांटिक पोज़ में थोड़ा डांस करने लगे. आपके मेल लगातार मिल रहे हैं, गुजारिश है कि ये सिलसिला चालू रहना चाहिए. ’उनकी चिल्लपौं सुनकर मैं एक मिनट के लिए रुक गया और उनके ऊपर झुक के उनके होंठों को चूसने लगा.

फिर मैंने अपने लंड को उसकी गांड से बाहर निकाला और अपनी मुट्ठ मारने के लिए कहा. उससे कैसे बचूं, मैं दिनभर कभी ये सोचती रही, कभी ये सोचती कि अपने शरीर की प्यास मिटाने का साधन मिल गया. और फिर कुछ करते नहीं!मैं समझ गयी कि शायद दामाद जी को कोई कमजोरी है और मेरी बेटी को ठीक से चोद नहीं रहे हैं.

क्या उसमें तुम मेरी मदद करोगी?मैं- मुझसे क्या मदद चाहिए आपको?मैं बहुत ही कंफ्यूज हो गयी थी. तुम्हें जॉब के बारे में अच्छे से समझा देंगी और तुम्हारा इंटरव्यू भी यहीं पर क्लियर हो जाएगा. दोस्तो, कभी बीवी को घोड़ी बना के चोदना हो, तो शीशे के सामने चोदना और देखना तुम्हारी नंगी बीवी या गर्ल फ्रेंड कितनी हॉट लगेगी.

उसको तुम्हारी चुत में पेल दूंगा और लंड को तुम्हारी गांड में डाल दूंगा. एक ही बार में आधे से ज्यादा गटक कर मैंने बोतल को अंकल के हाथ में दी.

वो अपनी गांड उठा कर अपनी पूरी चूत मेरे मुँह में घुसेड़ देना चाहती थी.

मैं तो अभी अच्छी तरह से गर्म भी नहीं हो पाई थी और उनका खेल खत्म हो चुका था.

धीरज पूरा खेला हुआ और बुर चोदने का खिलाड़ी था, उसे पता था कि मेरी बुर में जैसे ही लंड घुसेगा, वो फटेगी और खून भी निकलेगा और मेरी चीखें भी निकल सकती हैं. पहले वाला एक लड़का बोला- अरे तुम दोनों इसे एक साथ चोदो … बड़ा मजा देती है … तुम दोनों को बड़ा मज़ा आएगा. यह कहते हुए उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और वह पहले से ज्यादा गीली हो गई.

अब हम लोग एक दूसरे के साथ ज्यादा समय बिताते थे, वो इंस्टिट्यूट का बहाने मेरे से पार्क में मिलने आती थी, हम लोग खूब बातें करते थे. आआआ … आया … आया”सुन्दर के मुक़ाबले रस ज़्यादा नहीं निकला था, पर जितना भी था मैंने उसकी एक-एक बूँद को अपने गले से नीचे उतार लिया. मैंने उस जगह पर पहुंचकर दरवाज़ा खटखटाया तो पता लगा कि दरवाज़ा पहले से ही खुला हुआ था.

अभी मेरे लंड का टोपा ही उसकी चुत में ही जा पाया था कि वो दर्द से चीखने लगी.

रात को करीब 11 बजे जब मैं अकेला कमरे में लेटा अपनी सोनी को याद कर रहा था. मैं लगातार पर धीमे धीमे हल्के हाथ से अपनी बिटिया की चूत की दरार सहला रहा था. मैंने उसकी मुलायम जुबान को मेरी जुबान से चाटना शुरू किया और उसकी जुबान मेरे मुँह में लेके मजे से चूसना शुरू किया.

लगभग आठ बजे तक हम गप्पें लड़ाती रही, बाद में मैं अपने घर आकर खाना बनाने लगी, तब तक दादाजी भी घूमकर घर आ गए. वह कहने लगी- ठीक है, मुझे आपका स्वभाव बड़ा पसंद आया और मैं भी यही चाहती थी कि कोई ऐसा लड़का यहां आए जो थोड़ी बहुत मेरी भी हेल्प कर दे. थकहार कर मैंने जाने के लिए ऑटो को आवाज दी, तो मुझे एक अनजान नंबर से कॉल आयी.

खेलते समय वह बीच बीच में मेरा हाथ दबा देता और फिर मुझे चुपके से छू लेता.

उसके बाद मैंने उनको सोफे पर पीछे की तरफ आराम से लेटा दिया और भाभी की नाइटी को ऊपर कर दिया. साथ ही साथ वह मुझे भी देख रही थी कि मैं उसकी हरकतें कितनी ध्यान से देख रहा हूँ.

सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ वह मुझे देखकर थोड़ी सी मुस्कुराई फिर उसने मेरे लिंग को अपने मुँह में ले लिया और मुझे मुख मैथुन का सुख देने लगी. यह थी साजिदा की चूत में मेरे लंड का सिजदा करने वाली चुदाई की कहानी, आपको मेरी कहानी अच्छी लगी या नहीं … प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें.

सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ अंडर आर्म्स से लेकर नीना के बालों को सूंघते वक्त वह भैंसे की तरह फों-फों की आवाज निकालने लगा, जिससे मेरी बीवी मदहोश होने लगी. रात को जब खाने का टाइम हो गया और हम तीनों ही साथ में बैठ कर खाना खा रहे थे.

अभी तक कहानी के पिछले भाग में कल्पना ने बताया कि मेरी सास मुझे एक कॉल ब्वॉय से मिलने को समझा रही थीं और मैंने उन्हें ‘सोच कर बताती हूँ.

सेक्सी मूवी ब्लू फिल्म मूवी

उसने अपनी चिकनी चुपड़ी बातों से मीना की युवा बेटी को फुसला लिया और एक दिन चिन्टू ने उसे भी अपने बिस्तर की रानी बना लिया. इससे चिन्टू का हौसला बढ़ गया और इसके बाद मीना भी अपने को नहीं रोक पायी तो मौसी भांजा रिश्ते की मर्यादा तार तार हो गई. इस वक्त मैं अपनी टांगें पूरी तरह से खोले हुए अपनी चूत उठा कर चुसवा रही थी और सर भी मेरी चूत को खोल कर अन्दर तक जीभ डाल कर मेरी चूत को चाट रहे थे.

मैं रवि, कद 5 फुट 10 इंच का कद, सीना चौड़ा, रंग ऐसा सुहावना, जो लड़कियों को देखते ही पसन्द आ जाता है. मैं उसके चूचों को घूर रहा था तो उसने मुझे एक शरारत भरी स्माइल दी और मेरे सामने ही बैठ गई. मैं जल्दी में उससे बात खत्म करके घर चली आयी, क्योंकि ज्यादा देर बात करने पर पता नहीं लोग क्या सोचने लगते.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम पंकज है (ये बदला हुआ नाम है) मैं अपने बारे में बता दूं, मैं सोनीपत हरियाणा का रहने वाला हूं.

मेरी एक आदत है कि मैं किसी से बात नहीं करता हूँ जब तक सामने वाला आदमी मेरे से बात ना करे. पहले तो वो अपने होंठ खोल ही नहीं रही थीं, पर थोड़ी कोशिश करने के बाद उन्होंने अपने होंठ खोल दिये और मेरा साथ देने लगीं. मैं पसीने-पसीने हो गई। मैं लेटे हुए अनन्त जीजू और विनय जीजू के नंगे जिस्मों के बारे में सोच रही थी.

कुछ दिनों बाद किसी कारण से कॉलेज को कुछ दिनों के लिए बंद कर दिया गया और मेरे मामा का लड़का अपने घर चला गया. मैं उसके गोल सुडौल मम्मे चूसने दबाने लगा, तो वो खुद ब खुद मेरे लंड पर ऊपर नीचे होने लगी. दोनों काफी दिनों के बाद मिली थीं इसलिए दोनों ने पहले तो आपस में खूब बातें की और उसके बाद दोनों ने ही साथ में खाना भी खाया.

क्या आपको मुझ पर शक है?मैं- अरे नहीं नहीं काका, कैसी बात कर रहे हैं. उसके बाद दरवाजे की बेल बजी तो भाभी ने उठ कर तुरंत नाइटी पहन ली और अपने बालों को ठीक करती हुई बेडरूम से बाहर निकल गई.

मैं आंटी को चोदते हुए कभी उनके होंठ चूस रहा था, तो कभी उनके मम्मों को दबा रहा था. मैंने एकदम से उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और उसकी ज़ोर से उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल गई. मैंने गिलास उठाया और होंठों से लगा कर उनकी चुचियों को निहारते हुए शराब की चुस्की लेने लगा.

पायल एकदम से लंड घुसने से दर्द से चिल्ला पड़ी- ओ हरामी … साले जीजू दुखता है ना … क्या कर रहे हो यार.

अब मैंने उनके मुँह में फिर चादर डाला और उन्हें एक और झटका दिया और लंड एकदम से अन्दर घुस गया, पर भाभी दर्द से रोने लगीं. उसने निरोध पहना और मेरे योनि पे अपना लिंग रगड़ने लगा, मैंने भी अपनी टांगों को उसकी कमर पे लपेट दिया. इसी बीच एक दिन मैं नीचे दूध लाने गयी, तो देखा कि जिस दुकान से दूध लाती थी, वो बन्द थी.

करीब पन्द्रह मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया और थोड़ी देर उसके ऊपर ही लेटा रहा. मेरा भीगा हुआ लंड कोमल की भीगी चूत का रस पीने के ख्याल से ही मचला जा रहा था.

कुछ देर तक लंड चुसवाने के बाद मैंने भाभी को लंड बाहर निकालने का इशारा कर दिया. उसने एक जोरदार झटका मारा और अपना पूरा मूसल मेरी चूत की जड़ तक गाड़ दिया. नीचे जाकर मैंने दीदी को आवाज दी तो शिखा ने बताया कि वह घर पर नहीं हैं.

सेक्सी चुदाई शायरी

उनका फिगर भी हेमा भाभी की ही तरह था, परन्तु उनका रंग थोड़ा ज्यादा गोरा था.

वो कामवासना में कह रही थी- आह … मेरी योनि को मसलो … उसे प्यार करो …लेकिन मैं उसे और तड़पाना चाहता था. जब आधा लंड चूत में घुस गया तो मैंने हल्का सा धक्का दिया और पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. मामी की जवानी को किस तरह से लूटा, इस घटना को पूरे विस्तार से लिखने के कारण कहानी का अगला भाग जल्द ही आपकी खुजली को दूर कर देगा.

मैं अपनी बाइक बाहर खड़ी कर गेट के अंदर चला गया। मैंने घर के पीछे की तरफ जाकर कमरे में झांकने का प्लान बनाया।मैंने देखा कि घर में ताला लगा हुआ था तो घर के पीछे की तरफ गया, जहाँ मुझे अपने भाई की कार मिली और अंदर कमरे की बन्द खिड़की से किसी लड़की की कराहने की आवाजें आ रही थीं। मुझे लगा कि मेरा भाई किसी लड़की के साथ सेक्स कर रहा है. जब भी मैं भाभी के घर जाता, तो वो चिल्लाने लगता- चाचू, बता दूँ मम्मी को?मैं उसको किसी तरह चुप कराता. एक्स देसी सेक्सउसके बाद मैं उस दिन वहीं रुका और बाद में भाभी की इच्छा पर 3 दिन तक रोज रात को आकर भाभी को जमके पेलता था.

कुछ देर बाद मैंने चुदाई की गति बढ़ा दी और वो भी एक छिपकली की तरह मुझसे चिपक गयी. मैंने सोनू को समझाया कि तुम अब पूरी जवान हो चुकी हो, औरत की चूत में भगवान ने इतनी जगह बनाई है कि वह बड़े से बड़ा लंड भी ले सकती है.

वह कहती रही कि एक बार निकालो, मेरी जान निकल रही है, बहुत जलन हो रही है, ऐसा लगता है जैसे चूत के अंदर सबकुछ फट गया है. मैंने उनके सर के बालों को जोर से पकड़ लिया और अपने आप ही उनका सर और दबाने लगी. अब मैं उसके ऊपर लेट कर उसे किस भी कर रहा था और एक हाथ से उसके मम्मों को सहला भी रहा था.

आंटी भाभी को भी बोलीं कि अब तू अपने रूम में अकेली सो जा, मैं तो अपने ही रूम ही सोऊंगी. वो बोली- तो आ जाओ तुम्हारा ये लंड देखने के बाद मुझे भी इसे अपनी चूत में लेने को मन कर रहा है. फिर सोनल ने अपना मुँह मेरी चुत पर से हटा लिया और मेरे मुँह पर बैठते हुए अपनी कमर हिलाने लगी.

इससे पहले कि वह आपे से बाहर होता और अपना उजला माल मेरी चुदासी बीवी नीना की चूत में गिरा देता.

मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत की दरार में फिरायी तो मेरी बेटी के बदन में जैसे सिरहन सी हुयी. रुको, मैं अभी लेकर आती हूँ।कहकर विमला कमरे से बाहर चली गई और कुछ ही देर बाद कमरे में वापस आकर विमला ने मेरे हाथों में वह नाइटी थमा दी.

उन्हीं दिनों एक दिन वो सफेद रंग का सूट पहनकर आयी और अन्दर उसने पिंक कलर की ब्रा और पेंटी पहन रखी थी. कुछ देर चुदाई करने के बाद उसने लंड डाले डाले ही मुझे सीधा करके पीठ के बल लेटा दिया और मेरे ऊपर लेट कर चुदाई करने लगा. तभी उसने खुद ही बता दिया कि वो संभोग पूर्व प्रायः मुख मैथुन करना चाहते थे, पर मैं ही अपनी भागीदारी नहीं दे पाती थी.

उसके बाद हम दोनों घूमने जाने लगे कभी पार्क तो कभी मूवी देखने जाते! मैं मौका देखकर उसको किस कर देता, वो भी उसका पूरा जवाब देती. मैं- जानेमन, अगर तू कुंवारी है तो दो दो उंगलियां तेरी चूत में कैसे जा रही हैं. वह कुछ पल मेरे नंगे बदन पर ऐसे ही पड़ा रहा और फिर उसने जब लंड को बाहर निकाला तो मुझे फिर से जलन सी हुई.

सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ मैंने भी देर ना करते हुए जैसे ही चाची को चोदना चाहा, उतने में ही चाचा के उठने की आवाज़ आ गयी. बच्चे बड़े हो रहे हैं और तुझे रोमांस सूझ रहा है?तो क्या अब हम बूढ़ीया गये हैं?” मीना ने कहा.

सुहागरात वाली सेक्सी वीडियो इंडियन

इंदु मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी जैसे कोई छोटा बच्चा लोलिपोप चूसता है. मैं- जानेमन, अगर तू कुंवारी है तो दो दो उंगलियां तेरी चूत में कैसे जा रही हैं. अभी मेरा आधा ही लंड अन्दर घुसा था कि सीमा भाभी दर्द से कराहने लगीं.

लेकिन मैं ये तो भूल ही गई थी कि पुराने घर में कुछ रिनोवेशन (मरम्मत) का काम चल रहा है और मेरे पति अपने दोस्तों के साथ बाहर गए हुए हैं. मैंने अपने दोस्त को रोकने के लिए बहुत बहाने किये लेकिन वह नहीं माना. सेक्सी कार्टून बीएफऐसे ही मामी की मालिश भी होने लगी और मैं उनकी चूत में लंड पेल कर उनके दूध के ऊपर हाथ लगाता हुआ उनको चोदने लगा.

उसे खुद भी वो ब्रा और पैंटी बहुत पसंद आए, पर वो इस तरह के कपड़ों को अपने पति के सामने पहनने में शर्मा रही थी.

उसका घर बहुत बड़ा था, जाते ही उसने मुझे सोफे पे बैठा दिया और मेरे बगल आकर में बैठ गयी. भाई ने पूछा- ये क्या होता है?तो मैंने और अम्मी ने कहा- हम सब एक साथ नंगे हो जाएंगे और आपस में एक दूसरे की चुदाई करेंगे, जिसको जैसे चोदना है चोद सकता है.

अब मीना पर शराब का असर उसकी डगमगाती हुई आँखों से देखने को मिल रहा था. अपने लंड को हाथ में लेकर हिलाते हुए मैंने कहा- खेलो इससे!वो उठी और फिर उसने मुझे होठों पर स्मूच करना शुरू कर दिया. मैं एक हाथ से आंटी के मम्मों को भी दबाए जा रहा था और हल्का हल्का किस भी कर रहा था.

मैंने उससे पूछा- क्या बात है … आज अचानक मुझे मिलने क्यों बुलाया है?वह बोली- मुझे तुमसे बहुत जरूरी बात करनी है.

वह मेरे लिंग को अपने हाथों से मसलने लगी और साथ ही मेरे होंठों को भी चूम रही थी. यह घटना आज से 2 साल पुरानी है जब मैं अपने गांव से दूर जॉब कर रहा था. उसके बाद विनय जीजू ने अचानक ही अपने लंड को दीदी के मुंह से निकाल लिया और विनय के हटते ही अनन्त ने भी अपनी जीभ दीदी की चूत से निकाल दी.

कन्नड ट्रिपल एक्समैं डर और उत्तेजना के कारण कांपने लगा और अनायास ही मेरे हाथ उरोजों तक पहुंच गए. हालाँकि मैं उन्हें बुरी निगाह से नहीं देखता था, न ही उनकी नज़र में मुझे कुछ वैसा दिखाई देता था.

इंडियन हिंदी सेक्सी इंडियन हिंदी सेक्सी

फिर मैंने मैडम को किस किया और कहा- मेरा मकान मालिक चिल्लाएगा, मुझे चलना चाहिए. अबकी बार उसने खुद ही अपनी चूत में लंड ले लिया और मेरे ऊपर लेट कर चूत को मेरे लंड पर धकेलने लगी. फिर मेरी बीवी वापस आ गयी, तो मैंने अपना ध्यान उसके संतरों से वापस टीवी पर लगा लिया.

मैं भी जोर जोर से इंदु की चुत को चूसता चाटता, उसमें उंगली डाल के अंदर बाहर करता. मैंने सोची कि बहुत घूर रहा है मुझे, अब मैं भी देखती हूं इसकी तरफ … और नजरें नहीं हटाऊंगी, कैसे नहीं मानेगा. मैं जैसे ही नीचे जांघों के पास पहुंचा, मामी जी ने दीवार के सहारे खड़े खड़े ही अपने पैर खोल दिए.

मैंने एक जांघ पर अपनी बेटी को बिठाया औऱ दूसरी जांघ पर उसे बैठा लिया. बहुत मज़ा आ रहा है!” मैंने भी सिसकारी सी लेकर कहा।मेरे लाइन देते ही उन्होंने झट से अपना हाथ ऊपर चढ़ा कर मेरे छोटे से उरोज को पकड़ लिया. उसने मुझे खड़ा किया और बोला- नाउ योर टर्न!उसने मेरे गले को चूमना शुरू किया और मेरे कंधे तक जाके साड़ी की पिन को हटाया, पल्लू को हाथ में लेके साड़ी खोलने की कोशिश करने में उलझ गया.

मैंने अन्दर अपनी चूचियों को मिरर में देखा कि मेरे दूध पर उसकी उंगलियों के निशान बन गए थे और मेरी चुचियां लाल हो गई थीं. दोस्तो, इस कहानी में यहीं तक!अब आपको लोगों से सवाल पूछना चाहता हूँ कि क्या मुझे अपनी बिटिया को चोदना चाहिए.

तो तुमने कहा था कि मैंने कब मना किया तुम्हें, इसका मतलब क्या निकालूं, क्या मेरा चान्स है?मैं मुस्कुराने लगी तो वो और बैचन हो गया और बोला- प्लीज बोलो न कुछ तो?मैं बोली- हो भी सकता है और नहीं भी हो सकता।उसने बोला- चलो मैं ट्राई कर लेता हूँ.

और तेज़!बस इतना कहकर वो निढाल सी हो गईं मैं अब भी लंड पेले जा रहा था. एक्स एक्स एक्स बीएफ भोजपुरी वीडियोमैंने उसके पजामे को उसकी टांगों से अलग कर दिया और उसको उतार कर एक तरफ फेंक दिया. ब्लू फिल्म की तस्वीरदोनों को ही बच्चों से बहुत प्यार था पर शादी के 7 साल बाद भी उनकी गोद खाली थी. थोड़ी देर ऐसे ही खड़े रहने के बाद मैंने धीरे धीरे अपनी गर्दन को नीचे करते हुए उनकी गर्दन तक लेकर आया और गले पर किस करने लगा.

इस तरह से उसने मुझे उस रात तीन बार चोद कर पूरी चुदक्कड़ और लंड की दीवानी बना दिया.

लगभग 6-7 मिनट तक चूत को चूसने चाटने के बाद मैंने अपना सर निकाला और उसके होंठ चूमने लगा. धीरे धीरे वो मेरी तरफ बढ़ने लगा और बड़ी ही उत्सुकता से मुझे आगे से पीछे से घूर घूर निहारने लगा. मैनेजर सर अपने लंड पर हाथ फेरते हुए मुझसे मजाक करते हुए बोले- तुम्हारा फिगर तो बहुत अच्छा है.

कुछ देर बाद वो फिर नीचे बैठ गईं और बिना हाथ लगाये मेरे लंड को मुँह में ले कर चूसने लगीं. उसका नाम है उसका बैड मैन … जी हाँ सही सुना आपने बैड मैन!खैर उसका सही नाम जान कर क्या करना है. उसने मुझसे फ्लैट की चाबी मांगी लेकिन मैंने उसको चाबी देने से मना कर दिया.

चोदा चोदी नंगा सेक्सी वीडियो

सासू माँ- तू अपने तरह से तैयारी कर, मैं अपने तरह से तैयारी करती हूं. वो लोग हमारे शहर में नए थे। उसके परिवार में उसका एक छोटा भाई और उसके मम्मी पापा। वो हमारे घर के पास रहते थे और उसका भाई काफी छोटा था तो उसकी मम्मी को कोई काम होता था तो वो मुझे बोल देती थी. उसके जाने के बाद मैं पायल को और उसके बदन को बहुत ही ज्यादा मिस कर रहा था.

फिर बाद में मामा सीधे मुद्दे पे आ गए कि यार तेरी मामी का प्रॉब्लम खत्म कर दे, वो मेरा दिमाग खा गयी है.

उसने जगह न देख कर मुझसे कहा कि मैं दरवाजे से सिर से कमर तक बाहर रखूं और मेरे चूतड़ योनि का हिस्सा स्नानागार में उसे मेरी योनि के पास तक झुकने की जगह मिल सके.

मैंने भी अपने लंड का टोपा उनकी गांड के छेद पर रखा और धीरे धीरे अन्दर ज़ोर लगाने लगा. उसने मना कर दिया और बोली- नहीं मैं खाना बना रही हूँ … खाना खा कर जाना. मधु के सेक्सी बीएफजीजा जी ने अब अपनी स्पीड थोड़ी सी बढ़ाई और मेरे चेहरे को देखने लगे.

मैंने उसकी चूची मसलते हुए कहा- अगली बार तुम्हारी यह ख्वाइश भी पूरी हो जाएगी मेरी जान. करीब पन्द्रह मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया और थोड़ी देर उसके ऊपर ही लेटा रहा. मैंने धीरे-धीरे भाभी के मुंह की तरफ गांड को धकेलते हुए उसके मुंह की चुदाई करनी शुरू कर दी.

मैं बोली- सच बोल रही हूं आशीष मुझे तुम्हारे अलावा किसी ने नहीं छुआ. पहले एक दो दिन तो केवल सुबह संदेश भेजता था, पर देखा, तो अब रात सोने से पहले भी आने लगे.

भाभी बेड के ऊपर लेट गई और मैं अपनी मनपसंद पोजीशन में भाभी के घुटने मोड़कर उनकी चूत के ऊपर चढ़ गया और अपने लंड से वार करने लगा.

उसने मुझसे अगले दिन पहुंचने के लिए बोल दिया।अगले दिन मैं शाम 5 बजे उनके यहाँ पहुंच गया, घर दिखने में बहुत अच्छा था। दरवाज़े पर पहुंच कर मैंने डोर बेल बजाई और कुछ देर में दरवाजा खुला. भाभी के शरीर पर कोई भी कपड़ा नहीं था और भाभी एक अप्सरा की तरह दिख रही थी. मेरी इस चुदाई की कहानी पढ़ कर किसी ने अपना लंड हिलाया हो या चूत में उंगली की हो, तो मेरा कहानी लिखना सफल होगा.

बीएफ एक्स एक्स एक्स हिंदी फिल्म हालाँकि कुछ ही देर में रस के कारण चूत ने दर्द को भुला दिया और सलोनी भी अपनी गांड उठाकर चुदवाने में साथ देने लगी।कुछ देर बाद पूरा लंड चूत की जड़ तक अन्दर-बाहर होने लगा और धमाकेदार धक्कों से सलोनी की चूत का बाजा बज उठा. मैंने पहली बार किसी लड़की को अपनी आंखों के सामने ऐसी हालत में देखा था.

”हालाँकि मैं जिन लौंडों की गांड मारा करता था उनको कई बार किस कर चुका था परन्तु किसी लड़की का किस कभी नहीं लिया था. मैंने अपनी हल्की सी पकड़ ढीली कर सीधे सीधे भाभी के मम्मों को पकड़ के मसला ही था कि भाभी एक बार फिर मुझे धक्का दे कर भाग गईं. मैंने उससे पूछा- क्या पहले भी ऐसे ही संभोग करते थे?मैंने प्रीति की दुखती रग तो समझ ली थी, पर वो मुझसे इसका समाधान पाना चाहती थी.

सेक्सी मूवी 2021

कुछ देर उसके होंठों को चूसने के बाद मैंने उसके बूब्स को फिर से दबाया और अचानक से उसके पजामे को खींच कर नीचे कर दिया. संजय ने दूसरा सवाल किया- तुम पहली बार कब चुदी थींकोमल- मैं भी 12 वीं में खुल चुकी थी. दूसरे दिन सब आये तब एक आंटी डायरेक्टर सर के पास गयी और उनसे बोली- हम लोग कैसे पढ़ेंगे जब सर ही नहीं हैं तो?कुछ देर बाद डायरेक्टर सर ने मुझे बुलाया और कहा- जब तक दूसरे सर नहीं आ जाते, तब तक तुम उन लोगों को हेल्प कर देना.

मेरी चूत ने जल्दी ही पानी छोड़ना शुरू कर दिया पर बैडमैन मानने को तैयार ही नहीं था कि वो मेरी चूत छोड़े. कल्पना ने कुछ सोचते हुए कहा- ह्म्म्म …थोड़ी देर सोचने के बाद, एक लंबी सांस लेते हुए बोलना शुरू किया- मैं अभी तक कुंवारी हूँ.

करीब 15 मिनट तक ऐसे ही चुदाई चलती रही और फिर मैं चाची की चूत में ही झड़ गया.

आह्ह्ह …फिर मैंने जांघों के बीच में चाटा और वंश को बोला- बेटा गुड मॉर्निंग!यह कहते ही मैंने उसके लंड को गप से पूरा अन्दर ले लिया और पूरे मन से उसके लंड को ऐसे चूसने लगी, जैसे लॉलीपॉप चूसते हैं. जब तुम उल्टी लेटी हो, मैं तुम्हारे ऊपर सवार होकर जब लंड तुम्हारे बम्प्स से होकर तुम्हारी गांड के होल को टच कर के तुम्हारी चुत में पेलता हूँ. तो प्रोफेसर साहब अपने घुटनों के बल बैठ गए, अब उनका पेट मेरे पेट के ऊपर टिक गया, और नीचे से प्रोग्राम फिट हो गया.

मेरी गे सेक्स कहानी के दूसरे भागएक लड़के को देखा तो ऐसा लगा-2में आपने पढ़ा कि मैं एक जाट लड़के के कमरे में था और उसका लंड चूस कर अपनी इच्छा पूर्ति कर चुका था. जब मेरी आहें निकलने लगी तो प्रेम और आदिल ने एक साथ मेरे मुंह में लंड डाल दिए. उसने अपने कोमल हाथों से मेरे लंड को पकड़ लिया और उस पर कॉन्डम पहना दिया.

लेकिन अपना माल मेरी चूत में ही निकालना! वादा करो?मैंने भी वादा कर दिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ बिहारी बीएफ: मैंने दो चम्मच वाला गिलास का दूध दीदी को पिलाया और चार चम्मच से भी ज्यादा पावडर वाला गिलास दीदी ने मुझे पिलाया. अब आगे …गांव में पहुंचकर नवीन ने गाड़ी रोकी और संजीव से गाड़ी को पार्क करने के लिए कह दिया.

रिश्तों में चुदाई की मेरी कहानी के पहले भागमामी की जवानी को लूटा-1में अब तक आपने पढ़ा कि मैं मामी के साथ शादी में जाने वाला था और इसी वजह से मामी मेरे साथ बाजार शॉपिंग करने गई थीं. मंसूर भाई का स्पर्म काउंट बहुत काम था, इसलिए वह बाप नहीं बन सकते थे. मेरा लण्ड सही जगह रख कर मैंने धीरे-धीरे दबाव बनाना शुरू किया तो मेरा सुपारा थोड़ा अंदर गया … मेरी आंखें सलोनी के चेहरे पर ही थीं.

टांगों को अपने कंधों पर रखा और मोड़ने से उनकी चूत और भारी चूतड़ मेरे बिल्कुल नीचे आ गए.

उसने बंद आँखों से ही आआह्ह्ह … उम्महहह … करते हुए लंड बाहर निकाला और उसे हिलाने लगी. हम दोनों पूरे पसीने में भीगे हुए थे लेकिन हमारी वासना अभी पूरी नहीं हुई थी. यह सुनकर मैंने मामी जी को शावर की दीवार के साथ सटा कर खड़ा किया और उनके होंठों को अपने होंठों में भर लिया.