देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर वीडियो में दिखाएं सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बिहार का देहाती बीएफ: देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स, मैंने अपने खड़े लंड को हाथ से पकड़ा और उसकी चुत के मुँह पर लगा कर तेजी से रगड़ने लगा.

బాయ్స్ బాయ్స్ సెక్స్

मैं कुछ पल रुक कर वहां से चुपके से निकल गया और सामने वाले रूम में जाकर भाभी के नाम से जोर से मुठ मारी. सेक्सी फिल्म इंग्लिश ओपनचूँकि हीरोइन ने भी मेरी कहानियां पढ़ी थीं, तो उसे भी अच्छा लगा था, मगर उसने कहा कि मैं उसकी पूरी सेक्स की इच्छा को आप सभी को लिख कर बताऊं और सेक्स कहानी पूरी लिखूँ.

मैं एक हाथ से उसके टट्टों को मसल रही थी, जिससे वो बहुत छटपटा रहा था. తెలుగు లేటెస్ట్ సెక్స్ వీడియోउसके कहे अनुसार मैंने अपना सारा वीर्य उसकी चूत में भर दिया और हमारे रस की बाढ़ उसकी चूत से बहने लगी.

जल्दी अन्दर पेल हरामी … अपनी मां को चोदेगा क्या हरामी?मैं बोला- नहीं मेरी जान, मुझे तो रेखा को चोदना है.देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स: शायद उसकी चूत भी बुरी तरह ही चोदी होगी।पर मैंने आराम से अन्दर अपना लंड उसकी गांड के अंडर धकेल दिया.

हम इतने मस्त हो चुके थे कि हम दोनों के बाकी बचे कपड़े कब उतर गए, हमें कुछ पता ही नहीं चला.सुबह उठकर चाची ने अपने कपड़े पहने और मुझे जगा कर कपड़े पहनने के लिए कहा.

ललिता भाभी के सेक्सी - देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स

फिर उनकी चुत में थूक लगा कर घोड़ी की सवारी के लिए मैं मैडम के ऊपर चढ़ गया.जब कासिब ने अपना लंड मेरी चूत से निकाला, तो मेरी चूत से मेरा रज कासिब का मनी और खून निकल रहा था.

राज ने बात को चालू रखते हुए कहा- यार, तुम्हारी मम्मी का बदन कितना सेक्सी है. देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स मैंने कुछ सोचा, तब तक मैडम फिर से बोलीं- आ भी जाइए, मैं कौन सा आपको खा जाऊंगी.

उसके बाद जब हमें नशा होने लगा तो हमने फिर से किस करना शुरू कर दिया.

देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स?

कुछ देर रुकने के बाद हम लोगों ने एक एक बियर के साथ सिगरेट पी और साथ में नमकीन लिया. तभी कासिब ने एक हल्का सा धक्का लगा दिया और कासिब के लंड का सुपारा अस्मा की चूत में फंस गया. हम इतने मस्त हो चुके थे कि हम दोनों के बाकी बचे कपड़े कब उतर गए, हमें कुछ पता ही नहीं चला.

नयी बहू की चुदाई कहानी के पहले भागवासना का भूत सिर पर चढ़ कर नाचामें आपने अब तक पढ़ा था कि प्रमोद एक नाकारा व नशेड़ी पति था और उसकी बीवी शालू उससे परेशान रहने लगी थी. अस्मा कासिब का साथ देते हुए बोली- अअअआह भाईजान … उन्ह ओओहह भाई … आआईई भाई … जोर से … और जोर से चोद दो मुझे … अअह भाई तेरा लंड मेरी चूत में बच्चेदानी पर चोट मार रहा है … आह. भाभी ने मेरी आंख को देखा और हंस कर कहा- इसका मतलब ये हुआ कि मुझे ही सब सिखाना पड़ेगा.

अन्दर उन दो औरतों में से एक तो घास काट रही थी और दूसरी अपनी सलवार खोल कर बैठी थी. ट्रॉली भरने वाली थी तो पहले सुशीला गन्ने के खेत से निकली और थोड़ी देर बाद संजय भी आ गया।मैं समझ गया कि ये दोनों चुदाई करके आए हैं।फिर भाई ने मुझे कहा- तू ट्रैक्टर चला कर घेर में खड़ा कर ले. क्या बताऊं यारों भाभी को जाता देख कर मुझे ऐसा लग रहा था मानो मेरी जान जा रही हो.

ये सुन कर वो मुझे मस्ती में मारने के लिए हुई, तो में ऐसे ही सोफे पर लेट गया, जिससे वो मेरे ऊपर गिर गई. कुछ देर बाद उसकी कराहें निकलना बंद हो गईं, तो मैंने उससे पूछा- क्या अब मैं जोर जोर से चोदूं?उसने हल्के से मुस्कुरा कर कहा कि हां अब करो … तुम बहुत बेदर्द इंसान निकले … मगर मुझे अब अच्छा लग रहा है.

वो मदहोश हो गयी और मैंने अपने भारी भरकम बदन को उसके बदन पर रख दिया और एक हाथ से उसकी बुर के बिल पर अपने लंड को रख दिया.

उसके बाद वो उठा और मेरे बालों को पकड़ कर जोर जोर से मेरे मुंह को चोदने लगा.

मैंने उस पर अपनी पकड़ ढीली करके गिलास हटा लिया और गिलास नीचे रख दिया. मयंक सर ड्रिंक में इतने ज्यादा लोड थे कि मेरी बात और मेरा दर्द समझ नहीं पा रहे थे. मैंने तकिए को उठाकर बाजू में रखा, तो मुझे याद आया गद्दी की नीचे कंडोम रखे हैं.

इधर मैं काफी देर झड़ा नहीं था, तो मुझे अन्दर से लग रहा था कि मैं झड़ जाऊंगा. वो बहुत गर्म गर्म सांसें लेने लगी थी। फिर मैंने उसके कानों पर अपनी उँगलियाँ फिराईं तो वो गर्म गर्म सिसकारियां लेने लगी। फिर मैं ऐसे ही करता रहा और कानों से उसकी गर्दन पर आया। फिर उसके बूब्स पर आया।ऐसे ही करते करते मैं उसके पेट पर, उसकी नाभि पर उंगली फिराता आ रहा था. शादी के बाद भी हम दोनों ने अपनी सारी कल्पनाएं साकार की, जिसमें हमने घर के रूम में, किचन में, ड्रॉइंग हॉल में, छत पर और कार में भी खुल कर सेक्स किया है.

अब स्वीटी मुझसे कह रही थी- उई मम्मी रे मर गई … प्लीज़ रुक जाओ अंशुल … मुझे ये सब नहीं करना.

चूंकि यह एक अचानक हुई घटना थी तो उनका हाथ आगे आ जाना एक स्वाभाविक घटना था. हम लड़कियों में उठने तक की भी जान नहीं बची थी क्योंकि साहिल ने एकदम किसी राह चलती रंडियों की तरह सब को चोदा था. मैंने बिना रुके उसके हाथ पकड़ कर उसे इंजिन के पिस्टन की तरह चोदना चालू कर दिया.

चूंकि हीरोइन की बॉडी स्टिचिंग अच्छी थी, इसलिए उसे ऐसा करने में कोई दिक्कत नहीं होने वाली थी. मैंने बोला- इसमें पूछने वाली क्या बात है? आ जाओ!फिर वो थैंक्स बोलकर 5 बजे के करीब घर आ गया. उसकी चूत से अब भी पानी निकल रहा था, जिसे मैंने फिर से चाटना शुरू कर दिया.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:चुदाई के साथ मानसिक सुख की कामना- 2.

गीता- आह अई दारोगा जी … आह … मैं गई … आह ज़ोर से आह और ज़ोर से करो … आह मेरा निकल रहा है … आह तेज तेज कर दो … उई … गई. थोड़ी देर बाद मुझे याद आया कि मेरा फोन बंद है और पापा घर पर मेरा इन्तज़ार कर रहे होंगे.

देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स पर वो बोली- शनिवार को मेरी तो ड्यूटी है।मैंने कहा- मेरे दोस्त से मेरी बात हो गई है. उसकीचूत की गर्मीको अब मेरा लंड भी नहीं बर्दाश्त कर पाया और मैं भी उसकी चूत में झड़ गया.

देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स फिर वो बोला- भैया आप बैठ जाओ ना लंड पर!तो मैंने उसे लेटा दिया और उसके लंड पर बहुत सा थूक लगा कर बैठ गया. मामी के अचानक ऐसे करवट लेने से मेरा एक हाथ मामी के पीठ के नीचे दब गया.

वैसे तो सभी की सीटें अलग थीं लेकिन लड़कियों ने अपनी सीटें एक साथ ले लीं और हम लड़कों ने एक साथ ले लीं.

पुलिस गर्ल सेक्स वीडियो

अब उसके हाथ मेरी गांड पर आकर टिक गये और वो खुद ही मेरे लंड के धक्के अपने मुंह में लगवाने लगी. उसकी चूत से निकल रहा पानी मुझे उसकी चूत को काटने पर मजबूर कर रहा था. भाभी- तुम्हारे इरादे अच्छी तरह से जानती हूँ … और यह भी कि तुम क्या सोच रहे हो.

लेकिन कुछ देर बाद उसने फिर से मेरे स्तन से अपने हाथ हटा कर मेरे पेट पर रख दिया. असल में मुझे अब पुर्जा से कोई समस्या नहीं थी, अब जो समस्या थी, वह ये कि मेरी जेब फट गई थी और ऊपर से मैंने अंडरवियर भी नहीं पहना था. मैंने उनके दोनों पैर अलग किए और उनकी चूत को ऐसे चाटने लगा, जैसे कुत्ते कटोरे में पानी पीते हैं.

अब पेल दो न!मगर अब्बू ने निप्पल को एक बार चूस कर दुबारा अम्मी की तरफ देखा और फिर से जीभ आगे की, तो अम्मी समझीं कि शायद दुबारा ऐसे फिर करेंगे, मगर इस बार अब्बू ने पूरा दूध मुँह में भर लिया और निप्पल को जीभ से जैसे ही रगड़ा कि अम्मी ने जोर से सिसकारी मार दी.

मैं और हस्बैंड उन्हें बहुत समझाते, मगर आंखों की रोशनी जाने का दर्द इतना गहरा था कि उनको सम्भलने में काफी वक्त लग गया. चाची ने चुत पसारी और उस पर हाथ फेरते हुए बोलीं- तो आ जा ना भोसड़ी के … मैं तो कब से लंड के लिए तड़फ रही हूँ. करीब दस मिनट और चोदने के बाद मैंने मामी से कहा- मेरा होने वाला है!मामी ने कहा- अन्दर ही कर दे … कोई बात नहीं.

रेखा पूजा के चूचों को सहलाने लगी और और उसके होंठों को किस करने लगी. मैं- क्यों चाची?चाची- नहीं, तेरा हाथ बहुत भटक रहा है … मुझे लगा दूध तलाश रहा हो. मैंने गेट की तरफ देखा तो वह मेरी पहचान वाला था। वह मेरे पति का बचपन से ही दुश्मन था। मेरे पति की और उसकी एक नहीं बनती थी।वह फ्लैट उसी का था.

पहले भागपड़ोसन को गलती से नंगी देखामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने भाभी को गर्लफ्रेंड बनाने के लिए कुछ ऐसा कह दिया था, जिससे भाभी की नजरें बदल गई थीं. मुझे अब पूरा विश्वास हो गया था कि मेरे जाते ही अम्मी पक्के में चुदवाएंगी क्योंकि जब उनको लगा था कि मैं दोस्त के घर जा रहा हूँ, तो वो साड़ी उतार कर सिर्फ पेटीकोट ब्लाउज में ही खाना बनाने लगी थीं.

भाभी के इस सेक्सी अंदाज को देखकर किसी बुड्ढे के लंड में भी आग लग जाए. वो लोग चुदाई से काफी थके मालूम पड़ रहे थे, तो वैसे ही नंगे चिपक कर सो गए. मम्मी बोलीं- ओऊ पापा … आपका लंड तो मुझे बहुत पसंद है … लाओ दिखाओ थोड़ा देख लूं.

वो हम दोनों के लिए काजू बादाम वाला केसर का दूध दो बड़े मग में लेकर आई.

मेरे पास बैठकर बोलीं- तो क्या इरादा है फिर?अब मैंने भी दिल की बात कह दी- आंटी, मुझे आप बहुत अच्छी लगती हो. फिर बोला- मेरा हो चुका!चौधरी ने सुरेश की पीठ थपथपायी और चौधरी चला गया. तो दोस्तो, मैं आगे बढ़ने से पहले आपको अपने परिवार और अपनी अम्मी के बारे में बता देता हूं.

इस समय भाभी ने ब्लैक नाइटी पहनी थी, जिसमें वो एक इक्कीस साल की लड़की के जैसी लग रही थीं. हॉट चाची को चोदा:एक दिन मैं ऐसे ही चाची के रूम में गया तो चाचा ऑफिस चले गए थे और चाची नहा कर आयी थी.

आज पहली बार मैं अपनी सेक्स कहानी लिख रहा हूँ और आशा करता हूँ कि आपको पसंद आएगी. मैं झड़ी तो मैंने राहुल के सर को दोनों पैरों से जकड़ लिया जब तक कि वो मेरा वीर्य पी ना जाए. वो मेरे ऊपर चढ़ गयी और पागलों की तरह मुझे चूमने लगी।उसने मुझे पूरा नंगा कर दिया और अपने हाथों में मेरे लंड को पकड़ कर अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

लेडीस और जानवर का सेक्स

फिर मैंने लन्ड को चूत में सेट करके जैसे ही झटका मारा उसकी चीख निकल गयी.

मामी ने झट से अपने हाथ हवा में उठाए और मेरे किस को लपकने जैसा करने लगीं. बीस मिनट की घमासान चुदाई के बाद मैं चाची की चुत में झड़ गया और चाची के ऊपर ही ढेर हो गया. सरपंच ने बोला- बढ़िया है, ये स्कूटी कितने दिनों में सीख जाएगी?मेरे पहले चाची ही बोल पड़ी- इसकी निपुणता से तो लगता है कि ये मुझे 7-8 दिन में सिखा देगा.

जेनिल ने कहा- इतना बड़ा मुँह में कैसे लूं?मैंने- जेनिल, फिर तुम्हें क्या चाहिए … तुम सेक्सी दिखना चाहती हो न!जेनिल बोली- हां. कुछ देर बाद अब्बू ने अम्मी का दूध छोड़कर अपना हाथ अम्मी की रिसती हुई गर्म चूत पर रख दिया और चुत सहलाने लगे. भाई भाभी सेक्सी वीडियोये सब देखता हुआ डॉक्टर सुरेश पास पड़ी कुर्सी पर बैठ कर अपना लंड सहला रहा था.

मैंने बिना देरी करे उसकी ब्रा को खोल कर दूर फेंक दिया और उसकी एक चुची को अपने मुँह में दबा कर उसका निप्पल चूसने लगा. मैं उनकी तरफ देखने लगा, तो भाभी मुस्कुरा दीं और बोलीं- मुझे तुम्हारी हर बात की जानकारी है.

मैं सोफे पर डॉगी पोज़ में आ गयी और भाई साहब का हाथ मैंने अपनी गांड पर रख दिया. लकी सिंह[emailprotected]आगे की कहानी:बहन की सहेली और उसकी बहन संग मजा- 6. लंड चुत के अन्दर लेकर मम्मी ने धीरे धीरे ऊपर नीचे हिलना चालू कर दिया.

अब आगे हिंदी चुत सेक्स कहानी:मैं नहाकर ऊपर चला गया, देखा तो भाभी गांड उठाए सोयी पड़ी थीं. उनका बदन मेरे बदन को पीस रहा था … रगड़ रहा था और उनके होंठ मेरे होंठों को लगातार चूस रहे थे. मेरा दूध भी तो दूध ही है ना?मैं- आपकी बात तो सही है चाची … लेकिन जो हो नहीं सकता … वो बात ही क्यों करना.

अपने हाथ से उसने मेरा लंड पकड़ कर खुद ही अपनी चूत पर रख दिया और बोली- पेल.

उसने अपने हाथ से मेरे लंड की मसाज शुरू कर दी और मैंने उसकी जांघों पर हाथ फेरते फेरते उसकी चूत में उंगली घुसा दी. तो साहिल ने राजसी से अपनी दोनों टांगों को खुद से पकड़ कर फैलाने को बोला और फिर उसके छेद को देख कर अपना लन्ड सेट किया.

इसी के साथ राज ने भी मम्मी के मम्मे थाम लिए और भी अपनी सास का एक दूध चूसने लगा. तो दोस्तो … मुनिया की चुत में जब उसके भाई का लंड जाएगा, तब आपको उस सेक्स कहानी का मजा लिखूंगी. मैंने अपने बिस्तर से उठा और उन्हें देखते हुए ही भाभी के करीब आ गया.

और वो मुँह से बहुत ही कामुक आवाज निकाल रही थी- चोद दे माँ के लौड़े … आह भैन के लंड साले अपनी भोली हाली बहन को अपनी रखैल बना लिया मादरचोद … आह अब चोद हरामी आह. अब भाभी की चुत में भी मजा आने लगा था तो वो नीचे से अपनी गांड हिलाने लगी थीं. वो एकदम से सकपका गयी और पीछे हटकर बोली- क्या कर रहे हो सुमित?मैं फिर से आगे बढ़ा और चाची को बांहों में लेकर बोला- आज मत रोको चाची, मैं आपका दीवाना हो चुका हूं.

देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स फिर मैंने ज़मीन पर चटाई बिछाई।इतने में वो शॉर्ट्स और शर्ट पहन कर आ गई।मैंने कहा- पूरी बॉडी पर ऑइलिंग करनी है. और मेरे चीखने पर साहिल रुक गया क्योंकि साहिल का आधा लंड मेरी चूत के पार हो गया था.

एक्स एक्स एक्स डिलीवरी

फिर कुछ देर बाद सुस्ताते हुए बोले- आपका लंड कड़क है मेहता जी!मैं अपने काले खीरे की प्रशंसा सुन खुश हुआ और बोला- आपका लंड भी कम मोटा नहीं है अरुण बाबू।वो मुस्कराए और अपने मोटे-मोटे चूतड़ों को ऊपर-नीचे करने लगे।कुछ मिनट के बाद वो जोर-जोर से हांफने लगे. मुझे उसकी गांड में लंड डालने में कोई बाधा नहीं थी, तो मैं पूरा जोर लगा कर उसकी गांड में लंड पेल दिया और धकापेल चोदने लगा. उसने मेरे पास आकर कहा कि मैं जब भी आपको पुणे बुलाऊं … आप आ जाना!मैंने हामी भर दी और वहां से घर आ गया.

एक बार उन्होंने मेरी बुर पर जीभ फेरी और फिर मेरी बुर के लब खोलकर अपना लण्ड रख दिया. मैं फोन को चार्ज में लगा ही रहा था कि संगीता ने मुझसे पूछा- अब तुम घर कैसे जाओगे? रात के 11 बज चुके है. बिश्नोई सेक्सी वीडियोमैं भी बहुत जोश में था, तो मैं फिर से उसका लंड चूसने लगा … लेकिन इस बार मैंने चूसते समय उसके लंड को थूक से पूरा गीला और चिकना कर दिया.

आंटी की रेलम-पेल चुदाई मैंने शुरू कर दी और आंटी के मुंह से मस्त मादक सिसकारियां निकलने लगीं.

बहुत हैंडसम हैं आप!मैं चुपचाप खड़ा होकर सुन रहा था।वह बोलती रही- रोहित से क्लास का नोट्स लेना था इसलिए सोची घर आकर ले लेती हूं. पांच मिनट बाद मैंने लंड उसकी चूत में से बाहर निकाल लिया और बेड पर लेट गया.

फिर उसने कुछ ऐसा किया कि जिससे मेरी रूह तक उत्तेजना का झोंका जा लगा. वो बोला- चल साली रंडी, तेरी बेटी की टाइट गांड चोदने का मजा ही अलग आयेगा. मेरे आने के बाद अंकिता ने हॉल की सभी खिड़कियां बंद कर दीं और सारी लाइट्स बंद कर करके बिस्तर के पास गई.

मैंने उसे सहलाते हुए कहा- प्रिया इसलिए मैंने तुमसे वादा करवाया था, वो मत भूलो … और तुम पहले से ही जानती थी न कि दर्द होता है.

बॉस ने मेरी चुत का सारा रस चाट लिया और उठ कर एक कपड़े से मेरी चूत साफ कर दी. उसने उसी समय मेरे एकाउंट में चोदने की फीस 20 हजार डाल दी और कहने लगी- साले ये पूरी रात की फीस है. उसने बताया कि आप किसी भी लड़की को कहीं भी छू सकते हैं किंतु क्लब में सेक्स नहीं होता है.

हार्ड हिंदी सेक्सी वीडियोउधर पूजा भी चुदने को तैयार थी, तो मैंने रेखा की चूत पर एक प्लास्टिक का लंड बांध दिया. मैंने आंखें नचाते हुए बोला- हां, उस दिन मैंने तेरा काम करवाया था, उसके बदले मुझे भी तो कुछ मिलना चाहिए.

हिंदी पिक्चर नंगी फिल्म

मैं शौचालय गया और दरवाज़े को थोड़ा सा खुला रख कर मूतने के लिए लोअर की चैन खोलने लगा. दीदी बोली- क्या हुआ, तूने कभी देखी नहीं है क्या?मैं हैरानी से दीदी को देखने लगा. मैंने कहा- तुमको कुछ बियर शियर चलती है?वो चहक कर बोली- अरे खूब शौक से … आपके साथ तो मुझे और भी अच्छा लगेगा.

तेरी रंडी अम्मी की चूत से हम तीनों भाई बहन निकले हैं … फिर तो अब तक अम्मी की चूत का सुराख ऐसे खुल जाता कि इस साली रंडी की चूत में दस लंड एक साथ घुस जाते, तब भी साली रंडी की चूत की खुजली शांत नहीं होती. मैं इतना तो जानता था कि अगर उसको मेरी हरकतें पसंद नहीं होतीं तो वह इसका विरोध जरूर दिखाती. फिर मैडम जैसे ही पूरा हाथ अन्दर डाला, उनका हाथ सीधे मेरे टाईट लंड से लड़ गया.

पिछले भागभतीजे की बीवी की चुदाई का मौक़ा- 1में आपने अब तक पढ़ा था कि मेरा भतीजा रवि दारू के नशे में टुन्न होकर घर आया तो उसे उसके दो दोस्त सहारा देकर घर लाए थे. हालांकि मेरी पारखी नजरों ने ये पढ़ लिया था कि इस बात को बोलते हुए उनके चेहरे पर मायूसी और उदासी साफ झलक रही थी. अब मैं उसके घर रात में छत के रास्ते चला जाता हूं और वो भी मेरे घर आ जाती है, अब आशी और मेरी हफ्ते में 3 दिन चुदाई होती है.

दोस्तो, लंड के इस कामुक सफर में हम मिलते रहेंगे, आपको यह Xxxx हॉट सेक्स स्टोरी कैसी लगी. अम्मी की मांसल गांड का छेद फूलने खुलने लगा और अम्मी अपने दोनों चूतड़ों को आपस में मिलाने और खोलने लगीं.

अब वो मेरे लंड को पूरी तरह से एन्जॉय कर रही थी और लगातार उसके मुँह से ‘आह आह अम्म्म.

उसको वापस छुपने के लिए बोल कर मैंने पहले उसकी छोटी बहन अंजलि को ढूंढा. 3 साल की सेक्सी फिल्मगीता- आह उई ज़ोर से करो! आह मज़ा आ गया … उई मां दारोगा जी कितना अन्दर तक पेल रहे हो आह … मर गई रे आह. हिंदू सेक्सी फिल्मउसके बाद हम दोनों अलग हुए, तो मैंने कहा- मामी, बड़ी प्यास लग रही है. मैंने उसके एक चूतड़ को मसलते हुए कहा- अब मुझे तुम्हारी गांड मारनी है.

आंटी ने हंस कर कहा- और न आए तो चाय खराब न हो जाएगी?मैंने कहा- अरे आप चाय बनाने से पहले मुझे फोन करके बुला लेना.

फिर अपने पैर से सहलाते हुए नीचे को आई और धीरे धीरे मेरे लंड को पैरों से जकड़ने लगी. मैंने भी उसके इरादे को समझते हुए अपने होंठों को फिर से संगीता के होंठों पर रख दिए. फिर उसने मेरी पैंट खोल कर मुझे भी नंगा कर दिया और मेरा लंड देख कर बोली- ओ माय गॉड इतना बड़ा … ये तो मेरी चुत की धज्जियां उड़ा देगा.

इसी कारण मैं इतना पीछे आया था और निश्चिन्त था कि यहां पर अनु की चुदाई हो सकती है. तभी उसकी एक सहेली उसको ढूँढती हुई आयी और हम लोगों को इस हालत में देखकर बोली- हम लोगों को उधर बिठा कर तू यहां मज़े करने लगी?राजसी साहिल से बोली- अब मैं अपनी और सहेलियों को तुमसे चुदवाने लायी हूँ. अब आगे की इंडियन सेक्सी आंटी कहानी:एक हफ्ते के बाद कुलजीत के मम्मी पापा अमृतसर से वापस लौटे तो हनी को चोदने के मेरे कार्यक्रम में थोड़ा व्यवधान आया.

सेक्स आर्ट

मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर उसके मचलते जिस्म को अपने पैरों से जकड़ लिया. संगीता ने और ताकत से मेरे बालो को खींचा और कहने लगी- आदि, मुझे अपने प्यार से भर दो … मुझसे अब नहीं रहा जाता यहह्य … आम्ममम यस आदि फक मी विद योर टंग. तो वो उठी और उसने अपने हाथों से खुद की एक फेवरेट डिश बना कर मुझे खिलाई.

लेकिन इस मैडम ने एक अलग तरीके का अहसास दिलाया कि लोग कितने अधूरे हैं.

यदि तुम्हें अच्छी सैलरी ओर अच्छी जगह चाहिए, तो तुम मेरी पत्नी की कमी पूरी कर दो.

बीस मिनट की घमासान चुदाई के बाद मैं चाची की चुत में झड़ गया और चाची के ऊपर ही ढेर हो गया. कुछ बूंदें शहद की उसने मेरे लंड पर भी डालीं और अपने हाथ से शहद को मेरे लंड पर मल दिया. सिस्टर सेक्सी फिल्ममेरे घर वालों को लगता था कि लौंडा इसलिए कसरत कर रहा है कि पुलिस, आर्मी के लिए जाएगा.

मैं भी कपड़े पहन कर अपने बेड पर लेट गया और रेखा की जवानी के बारे में सोचने लगा. मेरा एक मन कह रहा था कि भाई साहब को पता चल गया है कि मैं उन्हें नंगा देखती हूँ. हम दोनों एक दूसरे के ऊपर ऐसे टूट पड़े जैसे कि भूखा रोटी के ऊपर भूखा कुत्ता झपटता है.

मगर जो भी हो सारिका की कुंवारी टाइट चूत के बारे में सोचकर मेरा लंड पूरे दिन खड़ा रहा. सेक्स तो रंडियां भी करने देती हैं मगर संतुष्टि नहीं मिलती बल्कि भूख मिट जाती है.

मैंने गेट की तरफ देखा तो वह मेरी पहचान वाला था। वह मेरे पति का बचपन से ही दुश्मन था। मेरे पति की और उसकी एक नहीं बनती थी।वह फ्लैट उसी का था.

कुछ देर बाद मामी अपने कमरे में सोने चली गईं और मैं बच्चों वाले कमरे में सोने चला गया. सुमन- उ … मामांआ मर गई … आह आराम से कर भोसड़ी के कालू … मादरचोद तेरा लौड़ा बहुत मोटा है … मेरी फट गई कमीने … आह मेरी चुत फैला दी बहन के लंड … आह. आपको मेरी देसी चाची की चुदाई कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

xxx सेक्सी वीडियो एचडी जब वो मेरे लिए पानी और चाय लेकर आयी, तो मैंने उससे उसके घर की तारीफ की. मगर मुझे उनकी संतुष्टि की चिंता था, इसलिए मैं उनको अपनी बांहों में कसे यूं ही महसूस करता रहा.

अब आगे हिंदी चुत सेक्स कहानी:मैं नहाकर ऊपर चला गया, देखा तो भाभी गांड उठाए सोयी पड़ी थीं. मगर झड़ने के बाद भी लंड खड़ा था, तो वो फिर से लंड चूसने लगी और लंड को छोड़ा ही नहीं. मैंने कहा- मैंने तुम्हारा पानी पी लिया है जेनिल … अब तुम्हारी बारी है.

सेक्सी पिक्चर खुला

हमने एक दूसरे को किस किया और एक एक सिगरेट और पीकर अपने अपने घर चले गए. मेरे तने हुए लंड पर आंटी की नजर गयी तो वो बोली- इसको नीचे बैठा ले और घर जा. थोड़ी ही देर में मैंने उसकी चूत चाटने की अपनी स्पीड बढ़ा दी और उसकी चूत का रसपान करने के लिए तैयार हो गया.

वो जाने अनजाने मेरी चूत के दाने को मसल रहा था और मैं पागल हुई जा रही थी. तभी चाची ने कहा- क्यों बे साले … मेरी मां चोदने की बात कर रहे थे?मैं तुरन्त बोला- नहीं मेरी रंडी … तेरी चुत का मजा छोड़ कर उस बूढ़ी की चुत थोड़ी न चोदूंगा.

इसी बीच संगीता ने मेरे पैंट का बक्कल खोल दिया था और मेरे पैंट को वो नीचे उतारने की कोशिश में लगी हुयी थी.

दारू के नशे में मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कोई कामवासना की देवी मेरे सामने खड़ी हो. भाई साहब अपना लंड बाहर निकालते और जैसे ही अन्दर डालना चाहते … तो उनका लंड मेरी नाक पर लगता. तो मैंने कहा- पिताजी, मुझे तो अभी रणबीर चाचा के यहां जाना … उन्हें कुछ काम था।पिताजी बोले- संजय, तू चल … अकेले पे तो ना हो काम!तो संजय ने कहा- पिताजी, आपके साथ कालू चला जा गा.

मैंने जैसे ही अपना लौड़ा निकालना चाहा, वो और मैं दर्द से फिर कसमसा उठे और वैसे ही लेट गए. उसने उसी समय मेरे एकाउंट में चोदने की फीस 20 हजार डाल दी और कहने लगी- साले ये पूरी रात की फीस है. कुछ ही मिनटों में मेरा लन्ड इतना टाइट हो गया कि उसके ऊपर का चमड़ा खिसक कर अपने आप ही पीछे हो चुका था.

जब गीता का बुखार ज़्यादा हो गया और मीता दवा लेकर घर नहीं पहुंची, तो उसकी मां उसको जबरदस्ती क्लिनिक ले गई.

देसी सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स: तभी जेनिल ने हीरोइन से पूछ लिया कि मैम ये बताइये कि ये सेक्स सीन सच होते है या झूठ!हीरोइन ने बताया- ये डायरेक्टर पर डिपेंड करता है … और कभी कभी हीरो हीरोइन पर भी … ये सच भी होते हैं और झूठ भी. प्यार इंसान से होता है जो मुझे तुमसे है बस!मैं यही बात उसके मुँह से सुनना चाहती थी जो कि मैंने सुन लिया।अब हम लोग सो गए।इसी तरह एक और पूरा दिन साहिल ने मुझे चोद चोद कर मेरी कमर तोड़ दी.

तब राहुल ने मॉम के बूब्स पर अपनी गांड टिकाकर उसके मुंह में अपना लंड डाल दिया. दोनों इस खेल में नए थे, पर किसी को भी दूसरे को कुछ भी समझाने की जरूरत नहीं पड़ रही थी. अब वो कामुक आवाजें निकालने लगी थी- आह बना ले रांड … अब तो मैं किसी से भी चुद जाऊंगी … मेरी चूत को फर्क नहीं पड़ना चाहिए … आह साले रंडी बना कर चोद दे.

इससे कुछ ही देर में मेरे पैर और शरीर कांपने लगा और मेरा पानी निकल गया.

कुछ ही मिनटों में मेरा लन्ड इतना टाइट हो गया कि उसके ऊपर का चमड़ा खिसक कर अपने आप ही पीछे हो चुका था. फिर उसके दो पल बाद जीजू ने अपना पूरा लंड बाहर निकालकर फिर से एक जोर का धक्का दे दिया।मैं इसके लिए बिल्कुल तैयार नहीं थी, उनके धक्के से मैं दर्द से चिल्लाई।उस धक्के से उनके लंड के अंदर बचा सारा पानी मेरी चूत में निकल आया. उसकी चूत में मैंने एकदम से लन्ड घुसा दिया और जोर जोर से उसकी चूत में झटके मारने लगा।‘उईई ईईई ईईई सीईईई ईईई ईईईई आहहह हह उईई ईईई’ की आवाज अब तेज़ हो गई और अब मेरे लौड़े की रफ्तार भी तेज हो गई।वो भी उछल उछल कर चुदवाने लगी.