नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,बड़े लंड की सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

किन्नरों की नंगी फोटो: नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ, उसने मेरी सारी साड़ी खोल दी और फिर मेरे पेटीकोट का नाड़ा भी खींच कर खोल दिया.

तमिल एक्स एक्स एक्स

उसका एक हाथ मेरे पेट पर जींस की बेल्ट पर था और दूसरा मेरे सीने पर जमा था. સવિતા ભાભી સેક્સमुस्कान ने तो एक बार अपनी चूत मेरे होंठों के पास भी कर दी थी और मैंने उसपे एक किस करके उसे छोड़ दिया और पूरा ध्यान सीमा को चोदने पे लगा दिया।सीमा की चूत से ऐसे रस निकला जैसे वो पेशाब कर रही हो.

साहब हमेशा कहते रहते थे कि खाली समय में इस कम्प्यूटर पर टपर टपर करो, खराब तो होगा नहीं … हां कुछ सीख ही जाओगी. ट्रिपल सेक्सी वीडियो ब्लूमैं खेत में अपनी साड़ी कमर तक अपने हाथों उठाकर नीचे से नंगी खड़ी थी और एक औरत मेरे नाजुक अंगों से छेड़छाड़ कर रही थी.

और अपने फोन में व्यस्त हो गयी।थोड़ी देर बाद मुझे मेरे बॉयफ्रेंड करन का फोन आया तो मैं बात करने दूसरे कमरे में चली गयी।जब बात कर के मैंने फोन काटा तो तो मुझे बाहर हाल में लड़कों के हंसने की आवाज आई तो मैं समझ गयी कि तन्वी के दोस्त आ गए हैं.नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ: अचानक एक दिन मेरी माँ का फ़ोन आया और उन्होंने एक शादी में शामिल होने के लिए मुझे कुछ दिनों के लिए मायके बुलाया।शाम को जब पति आये तो मैंने उन्हें ये बात बताई.

मुझे तो तैयार होने का बिल्कुल मन नहीं था, पर परमीत के सजने संवरने को देख कर मुझे भी तैयार होना पड़ा.अब वो कुणाल के लंड के ऊपर अपनी चूत टिका कर बैठी और अपने मम्मों से उसकी छाती की मालिश करते हुए कुणाल के मुंह से अपना मुंह चिपका दिया और अपनी जीभ उसके मुंह में डाल दी, दूसरे हाथ से उसने कुणाल का लंड पकड़ कर अपनी चूत में कर दिया.

హిందీ సెక్స్ వీడియో హిందీ - नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ

उसकी खनखनाती हुई आवाज़ आयी- हाँ यह ठीक लगता है … परन्तु मैं आपके कमरे में नहीं आऊंगी बल्कि आप मेरे कमरे में आएंगे.मेरी तलाश भी ऐसे ही किसी आदमी को लेकर रहती थी कि कोई मिल जाए जो मुझसे गांड मरवा ले.

ह … ह!!! सी … ई … ई … ई … ई … ई … !!!” तत्काल वसुंधरा के मुंह से एक तीखी सिसकारी निकल गयी और वसुंधरा के दोनों बाजुओं का हार मेरे गले में आ पड़ा. नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ परंतु उसके ऊपर की तरफ कुछ टांके के निशान थे तथा और कुछ टांके के निशान अगल-बगल थे जो कि नीचे दब गए थे.

उसके बाद मैंने सुहास से कहा- मैं रूम में रेडी होने जा रही हूँ, ज़ब मैं तुम्हे फ़ोन करूं, तब तुम रूम में आ जाना.

नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ?

मेरा खड़ा लंड पेन्ट पर टेन्ट बन गया था, जो दीदी अपनी गांड पर साफ महसूस कर रही थीं. मैंने फिर से कहा- नहीं … मैंने किया क्या है?वो बोलीं- साले, मेरे मम्मे क्यों देख रहा है?मैंने भी बोल दिया- जब ये हैं ही इतने मस्त कि इन्हें देख कर तो हर कोई पीना चाहेगा. साथ ही मैं समझता हूं कि आगे भी अन्तर्वासना पर आप सबका प्यार और साथ बना रहेगा.

मैं कांपते हुए झड़ने लगी और उसे कसकर अपने बांहों में जकड़ने लगी। कुछ देर में वो भी झड़ गया। निढाल होकर विशाल मेरे ऊपर गिर गया। हाँफते हुए वो मेरे होंठों को चूमने लगा। फिर मेरे बगल में लेट गया।कुछ देर तो हम यूं ही पड़े हुए हाँफते रहे. मैंने उसे अब बगल में लिटा कर कैंची स्टाईल में लिटाया और जोरदार चुदाई करने लगा. चूंकि मैंने नीचे से पैंटी नहीं पहनी थी तो उसका लंड मुझे अपनी गांड की दरार में लगता हुआ महसूस हो रहा था.

मैंने उसको इतना ज्यादा चोदा है कि शायद ही पॉर्न मूवीज में ऐसा कुछ बचा होगा … जो हमने ना किया हो. फिर इससे आगे कुछ संजू बोलती, उससे पहले ही रोहित बोला- भाभी आप कितनी सुंदर लग रही हो. अलीना- तुम क्या करते हो?मैं- मेरे डैड का बिजनेस है, इसलिए उनको बिजनेस में मदद करता हूं.

उसने हम दोनों को एक बेहतरीन होटल में छोड़ दिया।वहां होटल में उन्होंने अपना नाम बताया और मुझे अपनी पत्नी बताया और हम दोनों को एक रूम मिल गया।दोस्तो, इसके आगे की कहानी आप अगले भाग में जरूर पढ़ें. संजय का लंड मेरे मुँह में पूरा नहीं समा रहा था, फिर भी मैं ज्यादा से ज्यादा लंड मुँह में लेने का प्रयास कर रही थी.

मुझे पूरा भरोसा है कि मैंने रूपाली की चूत में अपना बीज डाल दिया है.

फिर मेरी छुट्टियां भी खत्म हो गई थीं, तो मैं वापस पुणे अपने कॉलेज में आ गई.

सब अपना अपना दरवाजा बंद कर के अंदर थे और राज सोने के लिए जाने लगा तो मैंने भी बोला- शीला को बुला लो!वो बोला- कोशिश करूंगा अगर मान गयी आने के लिए!और राज रूम में चला गया. उसने अपने पैरों को इधर उधर करके अपना लंड अपनी बहन की चूत में पेल दिया. मेरा मन कर रहा था कि अभी उसे पकड़कर चोद डालूं, लेकिन वो किसी और की वाइफ थी.

अचानक वसुंधरा ने अपनी आखें खोली, मैं तो पहले से ही वसुंधरा की बंद आँखें देख रहा था. फिर आठ बज कर पांच मिनट पर उनका मेल पर मैसेज आया कि मैं उसी जगह पर हूँ … तुम कहां पर हो?मैंने आजू बाजू देखा, तो वो नहीं थीं. दोस्तो, मैं अपने इस रंगीन अनुभव को शब्दों में पिरो कर आपको रोमांचित करने का प्रयास करूंगा.

आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद, जो आपने मेरी पिछली सेक्स स्टोरीसहेली के ससुर से चुद गई मैंको पढ़ कर मुझे मेल किए … जिससे मालूम हुआ कि आप सभी को मेरी सेक्स कहानी बहुत पसंद आई.

देखा तो सिल्क फ्रेश होकर आ चुकी थी; वैसे ही नग्न अवस्था में उसने मुझे किस किया तो उसके भरे गोल सुदृढ़ मांसल 34 साइज की चूचियाँ लटक रही थी मेरे सामने!मैं उनको अपने हाथों में भर के मसलने लगा. अत्यधिक योनि-स्राव और रज़प्रवाह के कारण वसुंधरा को अपना योनि-प्रदेश गीला-गीला सा महसूस हो रहा होगा और वो उसी को साफ करने गयी थी. वास्तव में इन्हीं कारणों से ही औरत के सभी अंगों में लोगों के मुख्य ध्यान या आकर्षण का केन्द्र वक्ष स्थल होता है.

और वो शरारती अंदाज़ में हंस दी।मैंने हल्का सा ज़ोर लगाया और मेरे लंड का टॉप उसकी भीगी फुद्दी में घुस गया।उसे दर्द तो हुआ … पर हल्का … एक हल्की सी ‘ऊई … माँ …’ और दर्द का भाव ही उसके चेहरे पर दिखा. जैसा कि मैंने पहले ही बताया कि ज्यादा टाइम साथ में होने से और ये सब बातें जानने के बाद मेरा भी नज़रिया जेठजी को लेकर थोड़ा तो बदल ही गया था. हम दोनों ने चुदाई से पहले खाना खत्म किया और बिस्तर पर आकर पहली बार चुदाई जल्दी से करने का तय किया.

मगर दिव्या ने कुछ इन्जॉय नहीं किया और वो ऐसे ही बिना मजे लिए ही लौट आई थी.

तो प्रीति भी बोल पड़ी- राज भैया, शीला को लेकर आइए!मैंने प्रीति को पहले ही शीला के बारे में बता दिया था. मैं तो बस नीरज से उनका रिव्यू ले रहा था कि तुम्हारे साथ सेक्स करके कैसा लगा.

नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ वो जाने के लिए पलटा, फिर रुक गया और संजू की तरफ देख कर बोला- भाभी एक बात बोलूं … आप प्लीज बुरा मत मानना … प्लीज आज एक बार फिर!इतना सुनना था कि संजू गुस्सा हो गई और बोली कि तुमको हम लोगों ने उसी दिन समझाया था ना … अपनी औकात में रहो समझे … मैं कोई ऐसी वैसी औरत नहीं हूँ … भागो यहां से. उनके बीच में काले झाँट, झाँटों के बीच में लटकता उसका मस्त लंड और उस पर लिपटा लाल लंगोट देख कर मैं तो अपने होश जैसे खो बैठा था.

नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ ”मैने फटाफट पेग खत्म किया।सुलेमान ने अपना लौड़ा मेरे मुंह में दे दिया।मस्त खड़ा लन्ड … मैं मस्त हो गयी। तबियत से चूचियाँ दबवा के लौड़ा चूस के मैं बिस्तर पे पहुंच गयी।अरबाज़, यार पहले कौन ठोकेगा इसे?”क्या चूतियों की तरह बात कर रहा है, करारा माल है, एक साथ मज़े लेंगे. मैं अपने घुटनों के बल, बिस्तर पर वसुंधरा की दोनों टांगों के बीच में आ बैठा.

उसे सहलाते सहलाते मैं उसकी टी-शर्ट को ऊपर की तरफ खींच रहा था, जिसका वो कोई विरोध नहीं कर रही थी.

मनुष्य और जानवर का सेक्सी वीडियो

श्वेता भाभी से बातचीत में पता चलता कि जेठजी का भी वही हाल है, वो भी एक बार शुरू हो जाते, तो रुकने का नाम नहीं लेते. मैंने घंटी बजायी तो एक लेडी ने दरवाजा खोला और बोली- जी कहिये आपको क्या काम है?मैंने उसे बोला- मुझे आपकी मैडम से मिलना है. इतने में ही दिव्या ने भी अपने बैग से बोतल निकालते हुए हम दोनों को दिखाई.

तभी नीरज ने उसी स्थिति में बैठे अपने एक हाथ से संजू की नाईटी को ऊपर कर दिया और अपने हाथ से संजू की चूत को सहलाने लगा. जिस वक्त वो लंड लगा रही थी, उस वक्त उसके मुँह से एक भद्दी सी गाली निकली- मान भी जा माँ के लौड़े … पेल दे न भोसड़ी के. फिर उदास होते हुए बोले- मैं दारू कहां पीता, बस एक घूंट कभी कभी ही ज्यादा पी ली होगी, बाकी सब नाटक है.

लेकिन मेरी चुत में आग लगी थी, तो मैं उंगली करके ठंडी हो गई और सोचने लगी कि यदि आज इधर आदी होता, तो उंगली नहीं करनी पड़ती.

मोनू बोला- ओये लगता है प्रियंका साली रोज़ गांड मरवाती होगी फिर तो!ऐसे ही हम सभी बातें कर रहे थे कि मोनू और मुस्कान आपस में किस करने लगे. मीना ने एक हाथ से कुणाल का लंड और एक हाथ से रवि का लंड सहला रही थी. जल्दी करो!”हम लोगों को काफी देर हो गई थी चुदाई करते हुए … उसकी चूत से रस टपकने लगा था, नीचे बेड गीला हो गया था, कभी झुक के उसकी पीठ चूमता चाटता तो कभी उसके गोरे चूतड़ों पर चांटे मार देता.

इसी बीच मैंने मैनेजर को हमारा रूम भारतीय दुल्हन की सुहागरात के हिसाब से रेडी करने को बोला. मैंने जैसे ही उसकी चुत पर जीभ फेरी, उसने एक जोर से आह भरी- आह सक मी. अब उसका नाज़ुक सा बदन मेरे नीचे दबा हुआ था और मैंने घुटनों के बल खुद को टिका लिया और बहुत हौले हौले धक्के मारते हुए उसको चोदना शुरू किया.

मैम सर से बात करके आईं और बोलीं- परेशान न हो, तुम्हारा प्रैक्टिकल दोबारा कराया जायेगा. किसी के घर में जाता हूं तो मौका पाकर बाथरूम में टंगी ब्रा और पैंटी को सूंघने का मौका नहीं छोड़ता.

चाची आहें भर रही थी- आ … आ … ई!इस तरह से मैं किस करते हुए चाची की नंगी जांघों तक पहुँच गया. की आवाज़ आ रही थी और वो गर्दन हिला रही थी जैसे उसे कुछ करना ही नहीं।मैंने उसके होंठों को छोड़ कर उसके मासूम चेहरे को देखा. मीना को दिन में ऑफिस में मालूम पड़ा कि एक एक्सपोर्ट हाउस को अपने सभी एम्प्लाइज का मेडिकल इन्श्योरेंस और अपने बिज़नेस का मरीन इन्श्योरेंस कराना है, प्रीमियम लाखों में बैठेगा.

मैं कांपते हुए झड़ने लगी और उसे कसकर अपने बांहों में जकड़ने लगी। कुछ देर में वो भी झड़ गया। निढाल होकर विशाल मेरे ऊपर गिर गया। हाँफते हुए वो मेरे होंठों को चूमने लगा। फिर मेरे बगल में लेट गया।कुछ देर तो हम यूं ही पड़े हुए हाँफते रहे.

वहां पर काउन्टर पर खड़ी एक लड़की ने हमें रूम की चाबी दे दी और हम सभी अपने कमरे में चले गए. नीरज उसकी बात समझते हुए लेट गया, संजू उठी और नीरज का गोरा लंड, जो कि पूरा टाईट था. संजू चुदते चुदते बोली- थोड़ी देर और रुक जाइए … मेरा भी होने वाला है.

फिर आठ बज कर पांच मिनट पर उनका मेल पर मैसेज आया कि मैं उसी जगह पर हूँ … तुम कहां पर हो?मैंने आजू बाजू देखा, तो वो नहीं थीं. कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि दोस्त के ज़ोर देने पर मैं उसके साथ जिम में जाने के लिए तैयार हो गया.

थोड़ी देर बाद मैं, सुमन और जालान आंटी डॉक्टर के यहां जाने के लिए निकल पड़े. डैड- तो अब आगे का क्या प्लान है?मैं- मैं आलिया से शादी करना चाहता हूं. पर मैंने उसे कुछ देर रुकने का आदेश दिया और अपने स्तनों पर केक लगा कर संजय के सामने कर दिए.

देर हो जाएगी सेक्सी

मैंने जब उसकी चूत देखी, तो वो बहुत ही काली थी और उस पर काफी बाल थे.

वो गांड उठाते हुए बोले जा रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और तेज चाटो!अंशी भी ज्यादा देर नहीं टिक पाई और उसने मेरे मुँह में अपना पानी छोड़ दिया. हम दोनों किस करने में इतने डूब गए कि पता ही नहीं चला, कब 10 बज गए और पार्क बन्द होने की सीटी बज गई. जैसे मैंने दरवाजा बंद किया तो वो पीछे से मुझ पर पागलों की तरह टूट पड़ा.

जब उसने मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा तो मैंने उससे झूठ बोल दिया कि मेरी भी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. नीरज हंसने लगा और टिश्यू पेपर से अपना लंड और आलिया की गांड साफ करने लगा. ब्लू फिल्म लड़कीकॉल रख कर मैंने ये बात आदी को बताई कि मम्मी डैडी अभी कुछ दिन बाद आएंगे.

उन्होंने मेरी चड्डी से चुत को साफ़ किया और फिर अपनी चड्डी भी उतार फेंकी. दोस्तो, मेरा नाम राहुल (बदला हुआ नाम) है, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं.

खूब चूमता चाटता है तू पैर … तुझे झांटों का जंगल अच्छा लगता है … बगलों के बाल भी तुझे पूरे बढ़े हुए अच्छे लगते हैं … और पूछ कमीने?मैं भी हंसा और बोला- बस बस … मैं समझ गया हराम की ज़नी कुतिया. जिया के चूचे हवा में झूल रहे थे और मैं बिना रुके उसकी गांड चुदाई कर रहा था. आंटी ने भी टाँगें थोड़ी चौड़ी कर दी जो मुझे चूत का रस पीने का आमंत्रित कर रही थी।फिर मैं भी पूरी जुबान चूत में डाल कर ज़ोर ज़ोर से चाट रहा था.

मैं भैया को मना करने लगी लेकिन तब तक भैया का लंड खड़ा हो चुका था और मेरी गांड की दरार में चुभना शुरू हो गया था. अचानक एक दिन मेरी माँ का फ़ोन आया और उन्होंने एक शादी में शामिल होने के लिए मुझे कुछ दिनों के लिए मायके बुलाया।शाम को जब पति आये तो मैंने उन्हें ये बात बताई. मुझे उसकी चूत देखने की बहुत जल्दी थी क्योंकि उसका ऑपरेशन हुए 7-8 महीने हो चुके थे और उसने बताया था कि वहां बाल भी आने लगे थे और वहां उन बालों को क्रीम से साफ करती थी.

शक तब हुआ जब मेरा लंड तेरी चूत में आराम से नहीं घुसा, तब लगा कि कुछ तो गड़बड़ है.

मैं आशा करता हूं कि मेरी यह पहली कहानी आप सभी को पसंद आएगी और संयोगवश अगर भाषा त्रुटि रह गयी हो तो क्षमा करें. अलका- मेरा ख्याल रखना मतलब?राहुल- मतलब मेरे ऑफिस का … तुम क्या समझी?अलका भीनी भीनी मुस्कुराती हुई बोली- कुछ नहीं.

रात एक बजे हम नीचे आके सो गए।तो दोस्तो, यह थी मेरी सेक्स कहानी जो एकदम सच्ची है।पहली कहानी में काफी आपके मेल्स आये. कुछ टाइम बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और मेरे लंड को अपनी चूत के गर्म पानी से बिल्कुल गीला कर दिया. मेरे मुंह में तत्काल एक तीखा सा, नमकीन सा, चरपरा और नशीला सा स्वाद घुल गया साथ ही मेरे नथुनों से वसुंधरा के कामोद्दीपक जिस्म की वही जानी-पहचानी मादक गंध टकराई.

मेरी दोनों हथेलियों के तले दो सफ़ेद रेशम के नरम लेकिन सुदृढ़ अमृतघट धड़क रहे थे कंगूरों के प्रहरी अब तक पूर्णतय चैतन्य और चाक-चौबन्द हो कर अपने पूर्ण आकार में आ चुके थे. मैंने उसी अवस्था में नीरज को गांड में उंगली अन्दर बाहर करने को बोला. मेरे लगातार चूसने से कुछ देर बाद सुहास का लंड फिर से खड़ा होने लगा था.

नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ वे शायद एक ही गांव के रहे होंगे क्योंकि उन्होंने एक ही रंग के कपड़े पहन रखे थे और सब के हाथ में डंडे थे।अब बस में भीड़ बहुत ज्यादा हो गयी थी, खड़े होने वालों की तो हालत खराब थी। मुझे तो सीट मिल गयी थी तो मैं आराम से सो गई।लगभग 1 घंटे बाद खराब सड़क की वजह से लग रहे झटकों से मेरी नींद टूट गयी, मैं उठ कर बैठ गयी। तभी मैंने देखा कि उम्रदराज महिला उस भीड़ में खड़ी थी, इनसे ठीक से खड़ा भी नहीं हुआ जा रहा था. फिर मैं वहां से हटा और उसको थोड़ा सा उठा के अपनी बांहों में ले लिया.

अमरपाली सेक्स

फिर सुहास ने मेरी पैंटी की डोरी भी पकड़ कर खींच दी और पैंटी भी मेरी बात न सुनते हुए नीचे गिर गयी. ऐसी ही जंग, जिसमें परमीत ने चुनौती देते हुए प्रतिद्वंदियों से अपना लोहा मनवाया. मुझे आदी के साथ अब कोई प्रॉब्लम नहीं थी … क्योंकि आदी तो सब जानता ही था.

आदी- हां मम्मी, मुझे अकेले सोने में डर लगता है … मैं दीदी के रूम में ही सोऊंगा. कुछ देर लंड चुसवा कर मैंने नताशा को खड़ा करके बेड पर पटक दिया और उसके ऊपर चढ़कर उनके होंठों पर किस करने लगा. बियफ हिनदी मेफिर वो लड़का भी बेकाबू सा हो गया और मुझे खड़ी कर दिया और एकदम से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया.

पैकिंग के बाद मैंने बाथरूम में जाकर शॉवर लिया और एक रेड कलर की ब्रा पैंटी पहन ली, जो कि बहुत ही छोटी थी.

सर ने मुझे अपने करीब बुलाया और मेरी स्कर्ट उठाकर मेरी पैन्टी देखी और पैन्टी के ऊपर से ही मेरी चूत पर हाथ फेरने लगे. हम चारों टीवी देखते हुए शराब का आनन्द ले रहे थे, क्योंकि हम चारों को पता था कि आगे क्या होने वाला है.

उसने पूछा- तुम लोग किस टाइम आते हो?मैंने कहा- हम तो शाम को आते हैं. जब हम दोनों की नजर पड़ी, तब आलिया घुटने के बल बैठकर जीजा जी का लंड चूस रही थी और जीजा जी आलिया के बाल पकड़कर अपनी आंखें बंद करके सीत्कार कर रहे थे. बल्कि चुदाई इस ढंग से होनी चाहिए ताकि वो आपके साथ बिताये हर पल को इंजॉय करे.

वह जैसे मुझे अपने आगोश में लेना चाहता था या मुझमें समा जाना चाहता था.

संजू के उठते ही नीरज भी उठने लगा, पर ये क्या … संजू ने नीरज को उठने नहीं दिया. मैं- यह भाई-बहन की स्वैपिंग का आईडिया किसका था?दीदी- वो एक्चुली मेरा आईडिया था, मैंने सोचा, थोड़ा प्यार अपने भाई को भी दे दूं. परमीत खुद मदहोश हुए जा रही थी और इसलिए उसने स्पीड को किसी रेल की भांति तेज कर दी.

नेपालन कीवो चुदास भरे स्वर में अपने मम्मे मसलते हुए बोली- तो देर किस बात की है … मैं तो कब से तुमसे चुदना चाह रही थी … पर तुम ही नहीं समझे. दोस्तो, चूंकि मेरा पेशा उस प्रकार का है कि मेरे फोन में रिकॉर्डिंग हमेशा ऑन रहती है.

सेक्सी बुर चुदाई दिखाओ

मैंने कहा- तू कहे तो मैं हाथ से शांत कर दूं तेरे लंड को?वो तो मेरी गांड मारने की फिराक में था लेकिन मैंने साफ मना कर दिया। कुछ देर की बहस के बाद में वो मान गया।फिर मैं उसके पैरों के पास आई। उसका मूसल लन्ड फुंफकार रहा था। मैंने उसे हाथों से पकड़ लिया. मैं आंटी से फोन लेकर देखने लगा और उसी बीच एक ऐसी बात हो गई, जिसका मुझे ध्यान ही नहीं रहा था. चित्रा- हां भाई और जोर से साली को … चोद मां की लौड़ी को … साली कुतिया बहुत उछल रही थी … छोड़ना मत आज इसकी गांड फाड़ देना.

रानी थोड़ा उठ न … तेरे लिए एक छोटी सा भेंट लाया था जो तुझे नंगी देखने से पहले देना चाहता हूँ … मेरा दिल करता है किसी भी लड़की को रानी बनाने से पहले उसको एक अपनी ख़ुशी वाला तोहफा दूँ … हालाँकि तेरी सुंदरता के सामने ये गिफ्ट बहुत मामूली सी है फिर भी हिम्मत करके देना चाहता हूँ … बड़े दिल से लेकर आया था. प्रीति मदहोशी में उछल उछल कर मेरा 7 इंच लंबा 3 इंच मोटा लंड को अपनी प्यारी सी चूत में लिए जा रही थी और बड़बड़ा रही थी- अंअंअ आह आह अअअ चोदो अह आह!मैं अब अपनी चरम पे था और मेरे वीर्य कभी भी प्रीति की चूत में गिर सकता था. अब मैं उसके ऊपर आकर बैठ गयी और उसके सीने को इधर उधर चूमने चाटने लगी.

अंशी ने मुझे बोला- कि एक बार फिर से मजा लेना है … दुबारा चोदा ना मुझे!मैं कहा- ओके … एक बार करके फिर घर चलते हैं. पर मैंने सोचा कि आज अगर शुरुआत हो जाए, तो इसकी चुत तो कभी भी ले लूंगा. उसने मुझसे पैसे मांगे, तो मैंने भी देर नहीं करते हुए उसको आने के लिए बोल दिया.

हम दोनों ने पहले के जैसे बीस मिनट तक चूमाचाटी की और कपड़े उतारने की बेला आ गई. एक दिन मैं अपनी बालकनी में बिना शर्ट और बिना बनियान के खड़ा हुआ था.

तभी ऑटो वाले ने ऑटो रोक के कहा- इस गली के अंदर ऑटो घूम नहीं पाएगा, आपको यहीं उतरना पडे़गा.

मैं ऊपर रूम की तरफ आ गयी और ज़ब में रूम में आयी तो मैं बहुत शॉक रह गयी. ब्लू सेक्सी दिखाएं वीडियो मेंमैं उसकी क्लिट को मुँह में लेकर चुभलाने लगा, वो सह नहीं पाई और बेतहाशा मेरे मुँह में ही झड़ने लगी. बीपी सेक्सी वीडियो इंडियनमैं आपको बता देना चाहता हूँ कि मैं हरियाणा का रहने वाला हूं और यह सेक्स कहानी मेरे जीवन की मस्त कहानी है. अब मुझसे रहा नहीं गया, तो मैंने कहा- जल्दी बता ना कुतिया … और कितना तड़पाएगी.

सिल्क- आह्ह उफ्फ धीरे!सिल्क जितना पैर चौड़ा कर सकती थी, कर के अपने चूतड़ को उछाल उछाल कर मेरा लण्ड अपनी चूत में लेने लगी.

दोस्तो, मैं अपने इस रंगीन अनुभव को शब्दों में पिरो कर आपको रोमांचित करने का प्रयास करूंगा. मैं बोली- हां कहिए न … क्या बात है?देखो मैं जो भी बात करने जा रहा हूं … तुम वादा करो कि केवल अपने तक ही रखोगी. मगर जैसे ही हम पीछे मुड़े तो देखा कि अक्षय और सरीना दोनों नंगे हमें देख रहे थे।फिर नीलू उनके पास गयी और सरीना को अक्षय से दूर करके मेरे पास धक्का दे दिया जिससे सरीना नंगी मेरी बांहों में आ गयी और उधर नीलू ने अक्षय के खड़े हो चुके लन्ड को पकड़ कर उसे लिप किस करना शुरू कर दिया.

उसका पति नीचे आ गया, जैसे ही मेरा लौड़ा उसकी चुत से बाहर आता वो आशना की चुत चाट लेता, फिर मेरा लौड़ा पकड़ के उसकी चुत में डाल देता।मुझे उसके ऐसे करने में अच्छा लगा बहुत।‌‌हमने उस रात खूब चुदाई की. वसुंधरा प्लीज़! जिंदगी पहले से ही बहुत उलझी हुई है, इस में और ज्यादा उलझनें मत डालो. मैं- तो कैसी लगती हूँ मैं तुम्हें? और जब तुम्हें ब्वॉय पसन्द हैं, तो मुझे क्यों देखते थे?आदी- हां मुझे आपके बूब्स बहुत पसन्द हैं … इसलिए देखता था.

ಕನ್ನಡ ಚೆಕ್ಸ್ ಕನ್ನಡ ಚೆಕ್ಸ್

इसमें से ये एस्कार्ट है, इसे पेड सेक्स वर्कर भी कह सकती हो, दूसरा भी एस्कार्ट ही है, पर मेरा दोस्त है. सब अपना अपना दरवाजा बंद कर के अंदर थे और राज सोने के लिए जाने लगा तो मैंने भी बोला- शीला को बुला लो!वो बोला- कोशिश करूंगा अगर मान गयी आने के लिए!और राज रूम में चला गया. मैं बोली- अच्छा …मैं उसका नाम राहुल सुनकर सोचने लगी कि ये भी राहुल है लेकिन पता नहीं इसका लंड मेरे पहले वाले राहुल जैसा दमदार होगा या नहीं.

मैंने खुद को दोनों रानियों के बीच में सेट किया और बेबी रानी की गांड के छेद पर जीभ घुमाने लगा.

लम्बे रेड पेंटेड नेल्स … मीना के बदन से आती महकती खुशबू …रवि को लगा कि कहीं वो बेकाबू न हो जाए.

जब मीना पूरी चुदासी हो गयी तो वो खड़ी हुई और कुणाल का हाथ पकड़ कर बेड की ओर जाने लगी. हम दोनों को बहुत तेज दर्द हो रहा था तो इस वजह से होंठ छूट गए, हम दोनों की चीख निकल गई।मैंने नीचे देखा तो उसकी चूत से गर्म गर्म कुछ निकल रहा था. बफ सेक्सी चुड़ै”नहीं … मुझे छोड़ दो प्लीज!”उसने एक झटके से कमीज़ फाड़ दी और ब्रा खींच के अलग कर दी।अब मम्मी सिर्फ सलवार में … छातियाँ नँगी!अजीत तो दीवाना हो गया … उभार मसलने लगा पूरे चेहरे पे चुम्मियां लेने लगा।मत करो, भगवान के लिए मुझे छोड़ दो.

… जीजा जी … आप कीजिए … मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा है … आह ऐसा मजा आज तक नहीं आया था. मैंने सोचा कि आज यही अच्छा मौका है … चाची मस्ती कर ही रही हैं, मैं उनकी चुत में आग लगा देता हूँ. इस दूसरे धक्के से मेरे लंड में भी ऐसा सा दर्द हुआ, जैसे वो इस टाइट चुत में जाने से कुछ छिल सा गया हो.

अब मेरा पूरा लंड सुहानी की चूत के अन्दर था और मैं जोर जोर से उसके चूत को चोदे जा रहा था. चूंकि पार्टी तो संजय की थी, इसलिए उसकी बात को टाला भी नहीं जा सकता था.

वो बोली- घर पर तो दीदी है, वहां कैसे होगा?मैं बोला- तुम बहाना मार कर मेरे रूम में आ जाना.

उसने सोनम के होंठों को लॉक करते हुए एक जोर का धक्का दिया और लंड बुर में पेल दिया. मैं उस समय बड़ी कक्षा में पहुंच चुकी थी, मेरी खास सहेलियों की गिनती उंगलियों में की जा सकती थी. अब आगे:मैं भी उठ कर अपने कमरे में चला गया और फ्रेश होकर बाहर हॉल में आ गया.

भाई बहन की सेक्सी मूवी हिंदी में ”मैने फटाफट पेग खत्म किया।सुलेमान ने अपना लौड़ा मेरे मुंह में दे दिया।मस्त खड़ा लन्ड … मैं मस्त हो गयी। तबियत से चूचियाँ दबवा के लौड़ा चूस के मैं बिस्तर पे पहुंच गयी।अरबाज़, यार पहले कौन ठोकेगा इसे?”क्या चूतियों की तरह बात कर रहा है, करारा माल है, एक साथ मज़े लेंगे. वो बोली- क्या संजना … तुम औरत हो कि कोई सेक्स मशीन हो … बाप रे बाप इतनी सेक्स स्टेमिना.

चित्रा- तो डैड क्या बोलें?मैं- डैड हमारे रिलेशनशिप से खुश हैं और वो जल्द ही आपको कॉल करेंगे. दीदी की गर्दन तरफ का हिस्सा ही बिस्तर पर था बाकी उसकी गांड और टांगें पूरी हवा में उठी हुई थीं … शायद दीदी काफ़ी गर्म हो गयी थी. बल्लू तो उसको टाइम देता नहीं था इसलिए धीरे धीरे अब उसका ध्यान मेरी तरफ आने लगा.

मुंबई में कमरे का किराया कितना है

उसने ऐसे ही मेरे नंगे स्तन थाम लिए और अपना लिंग वापस सेट करके मेरे अंदर सरका दिया. इस बार धक्के से पहले मैंने उसके मुँह पर अपना हाथ रख दिया था, तो उसकी चीख बाहर नहीं निकल पायी. अब वो दोनों एक दूसरी के मम्में चाट चाट कर हमारे लौड़ों का रस साफ़ कर रही थीं।ऐसे उन्होंने कुछ ही देर में सारा रस चाट लिया और पस्त हो कर साइड पर गिर गयी.

वो- क्या हुआ?मैं- कुछ नहीं … पर मेरा फ़ोन घर पर ही है … उनका फ़ोन आ सकता है. हालांकि जब माता जी आयी तो मैंने रेनू के ऊपर ज्यादा ध्यान नहीं दिया.

मेरा लंड उसके चूतड़ों की दरार से होता हुआ उसकी चूत तक मसाज कर रहा था.

मैंने थोड़ी सी हिम्मत जुटाकर बगल में बैठी गुलाबी सलवार सूट में वाली स्वीटी आंटी की एक जांघ पर हल्के से हाथ रखा. तो इस दौरान क्यों न हम सारी पैकिंग का काम निपटा लें।वो बोली- ठीक है।मैं ज़ायरा के पीछे पीछे उसके बेडरूम में गया जहां मैंने उसके रूम की सभी चीजों को पैक करने में उसकी मदद की।इस दौरान कई बार जब वो झुकी तो मुझे मस्त मोटे मम्मों के और क्लीवेज के दर्शन भी हुये. फिर चलती बात पर एक बात मैंने भी पूछ ली- आपका नाम क्या है भैया?वो बोला- नवीन.

मैंने उसे बाथरूम दिखाकर कहा- शाम का समय है … ठंडे पानी से मत नहाना. ब्रा में कैद मेरी बड़ी बड़ी चूचियों को देख कर तरुण हक्का बक्का रह गया. ममता मुस्कुरा के बोली- अब इसे छिड़काव की नहीं … पूरी धुलाई की जरूरत है.

उसके कुछ देर बाद मेरे चूतड़ों को पीटते हुए हसन ने मेरी गांड पर ही अपना वीर्य त्याग दिया.

नेपाल सेक्स वीडियो बीएफ: चाची ने सुबह मुझे कहा था कि आज रात को भी आना, फिर मजा करेंगे।तो फिर हमने क्या मजा लिया? ये अब आप आगे पढ़ें।मैंने दिन में चाची के लिये कुछ खास शॉपिंग की. आप को ऐसा नहीं करना चाहिए।मैंने कहा- मुझे पता है कि मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए.

इससे मैं चूत को पूरा पूरा फील करता हूँ।थोड़ी देर तक मैं बिना हिले ऐसे ही रोजी के ऊपर पड़ा रहा और उसके दूध पीने लगा. तुर्रा यह कि बाबू ने अपनी एक टाँग को मेरे दोनों पैरों के बीच में रखते हुए अपने घुटने को मेरी चूत पर फंसा दिया था. राजन का वाशरूम हालांकि छोटा था पर दो जिस्म जब चिपट कर नहायें तो बात रूम छोटा हो या बड़ा … चारों ओर आग लग जाती है.

मुझे आदी के साथ अब कोई प्रॉब्लम नहीं थी … क्योंकि आदी तो सब जानता ही था.

वो भी अपनी चूचियों को मेरी पीठ से रगड़ने का कोई मौका नहीं छोड़ रही थी. तो प्रतीक्षा बोली- विशु जी, आप मेरे अंदर मत झड़ना।तभी संयोगिता ने मेरा लंड प्रतीक्षा की चूत से निकाल लिया और मेरा गंदा लंड अपने मुँह में लेकर लॉलीपाप की तरह चूसने लगी. आदी- क्यों?मैं- बहुत दिन हो गए यार तुझे देखा नहीं … ऐसे में तुझे बहुत मिस करती रही.