सेक्सी कॉलेज बीएफ

छवि स्रोत,सोते हुए लड़की

तस्वीर का शीर्षक ,

செக்ஸி பிஎஃப் பிக்சர்: सेक्सी कॉलेज बीएफ, इतने में उसने जोर से अपनी गांड पीछे धकेली और मेरा लौड़ा फिर से अपनी गांड में भर लिया.

ब्लू पिक्चर दिखा दो सेक्सी

उस वक्त भी वो दोनों सो ही रहे थे और दोनों नंगे ही एक दूसरे से लिपटे हुए थे. देहाती सेक्सी वीडियो छोडा छोड़ीसच में भाभी की गर्म जीभ से चाटने पे मेरे लंड में लोहे के रॉड जैसे सख्ती आ गई।भाभी पूरा लंड अपने हलक तक उतार लेना चाहती थी.

मैंने कहा- मैं तुझे उसे हाथ भी नहीं लगाने दूंगा, फिर तुझे जो करना है … कर ले. तृषा कर मधु क्सक्सक्स वीडियोउठ गए, जूस पी लो … थकान मिट जाएगी!” धारा ने बड़े ही प्यार से शेखर को कहा.

कहानी के पिछले भागपड़ोसी दोस्त की बहन से सेटिंग कीमें अब तक आपने पढ़ा था कि आज रात मैं अपने दोस्त की बहन की चुदाई करने के लिए उसके घर जाने वाला था.सेक्सी कॉलेज बीएफ: नंदा गले से मिल कर होंठों पर चुंबन देती हुई बोली- तुम जिओ हजारों साल और साल के दिन हों हजार.

जैसे ही 5 बजे, मैं ऑफिस से तुरंत निकला और मेट्रो स्टेशन के लिए बढ़ गया.पहले उन्होंने मेरे लंड की टोपी की खाल को चाट कर पीछे किया, फिर गुलाबी सुपारे को जोर जोर से चाटने लगीं.

सेक्स कार्टून में - सेक्सी कॉलेज बीएफ

उसने एक हाथ में मेरा लंड पकड़कर उस पर अपने मुँह से ढेर सारी थूक छोड़ दिया और अपने हाथ से मलकर पूरे लंड को गीला कर दिया.दोस्तो आज की कहानी ऐसे ही मेरे एक मित्र ने मुझे भेजी है, जिसे मैं आपके समक्ष प्रस्तुत कर रही हूं.

कुछ मिनट किस करने के बाद मैंने भाभी को बेड पर सीधा लेटाया और उनको ऊपर चढ़ कर उन्हें किस करने लगा. सेक्सी कॉलेज बीएफ मेरी हॉट सेक्सी वाइफ की कहानी में पढ़ें कि हम पति-पत्नी एक बार दिल्ली घूमने गए तो वहां मेरी बीवी कि गैर मर्द के लंड की तलब लगी.

दस मिनट ऐसे ही करने के बाद मैं अपनी गति और लंड का दबाव भी बढ़ाने लगा तो और दो इंच लंड टाइट चूत में घुस चुका था.

सेक्सी कॉलेज बीएफ?

वो लंड ऐसे चूस रही थीं कि किसी ने उसके मुँह में लॉलीपॉप दे दिया हो. ललिता भाभी बोलने लगीं- राज चोदो मुझे … आह और जोर से धक्का लगाओ … आहह आहहह लव यू जान तुम कितना अच्छा चोदते हो. पूरे कमरे में भाभी की आह की धीमी आवाज गूंज रही थी, वो चूतड़ को उठा के अपने पैरों में मेरे सिर को फंसा कर मजे लेती हुई चूत चटा रही थी.

भाई ने मेरी साड़ी पेटीकोट उठाकर मेरी चड्डी नीचे की और अपना लंड पीछे से मेरी चूत में पेल दिया. मेरी चीख भी उतनी ही जोर से निकली और मैंने उससे ये नहीं करने के लिए कहा, पर वो कहां मानने वाला था. मैंने भाभी से पूछा- चूमना कैसा लगा?भाभी बोलीं- इस तरह का ये किस मैं दूसरी बार तेरे साथ कर रही हूँ.

चूंकि मुझे सेक्स कहानियां पढ़ना बहुत पसंद हैं तो मैंने भी सोचा कि मैं अपनी भी सेक्स कहानी आप लोगों को सुनाऊं. पर मैंने शिराज की तरफ आंखें बड़ी करके गुस्से से देखा और साबिरा को पता चला कि मैं ये सब उसको सबक़ सिखाने के लिए कर रहा हूँ. उसने मस्ती से गांड हिलाई तो मैंने एक ही झटके में पूरा लंड ठांस दिया.

ना किस न कुछ और बस … लगे और फिर जैसे ही उनका खत्म हुआ, वो अलग हो जाते हैं. उम्म्म … आह्ह!”शेखर को समझ में आ गया कि उसका लंड धारा की खूबसूरत गांड के छेद पे ठुनक रहा है.

मैंने अपने मुँह से ढेर सारा थूक मेरे लंड और गीता की चूत पर टपका दिया, हाथ से मलकर लंड को पूरा लबालब कर दिया.

आज पूरी रात मेरी बीवी को खुश करो!तब मैंने उनसे कहा- मैंने अभी तक खाना नहीं खाया.

जब रुचिका को मालूम पड़ा कि उसकी मम्मी भी बिस्तर पर नंगी होकर आ गयी हैं, तो कुछ नहीं बोली. मैंने उसके दूध हल्के हल्के से रगड़ते हुए नीचे से अपनी गांड उठा कर जोर का धक्का मार दिया तो मेरा लंड नीता की चूत में गहराई में जड़ तक घुस चुका था. मैंने पीछे से उसके बाल पकड़े और एक बार में ही अपना पूरा लंड उसकी चूत में घुसेड़ दिया, इससे उसकी फिर से आह निकल गई.

क्या बताऊं दोस्तो … कमाल का माल लग रही थी वो!उसके आम जैसे चूचों पर छोटे छोटे निप्पल ऐसे लग रहे थे जैसे आइसक्रीम के ऊपर दो चैरी रख दी गई हों. मैंने उससे पूछा, तो बोली- कुछ नहीं, मेरे ससुराल वाले बहुत ही सख्त मिजाज के हैं. फिर कुछ दिन बाद ही मुझे कंपनी के द्वारा कंपनी के काम से कुछ दिनों के लिए दूसरे शहर जाने के लिए बोला गया.

मैंने और आरती ने सबसे पहले एक दूसरे को जोर से हग किया और उसके चेहरे को देख कर मैंने अपने होंठ उसके रसीले होंठों पर रख दिए.

मैं गया और पीछे से उनसे चिपक कर उस दिन के लिए सॉरी बोलने लगा क्योंकि उस दिन के बाद मॉम मुझसे बता नहीं कर रही थीं. उसके 3-4 दिन बाद मेरा कंप्यूटर ख़राब हो गया तो मैनेजर ने मुझे उसके पास ही बैठा दिया. इसके बाद हम एक दूसरे से पूरी तरह खुल गए थे, अब हमारे बीच सेक्स की भी बातें होने लगी थी.

मैंने कहा- दोनों एक साथ चोदते थे क्या?वो बोलीं- नहीं, दोनों अलग अलग दिन चोदते थे. मुझे इस बात का बिल्कुल भी पछतावा नहीं था क्योंकि अगर मैं बाहर किसी से चुदाई करवाती तो भी बदनामी होनी ही थी. उस समय मेरे घर में मम्मी-पापा नहीं थे, दोनों किसी काम से बाहर गए हुए थे और मैं नहाने जा रही थी.

अभी मर्द अपने लंड को हिलाने और लौंडियां अपनी चूत में उंगली डालने के लिए तैयार हो जाएंयह एकदम सच्ची सेक्स कहानी है.

हॉट बेब सेक्स स्टोरी मेरे पड़ोस में रहने वाली एक सेक्सी लड़की से दोस्ती और यौनाकर्षण की है. जिससे श्वेता बिल्कुल बेकाबू होती जा रही थी।श्वेता गिड़गिड़ाने लगी- डाल दें लंड मेरी चूत में, बुझा दे मेरी चूत की प्यास, अब बर्दाश्त नहीं हो रहा। प्लीज़ जल्दी करो!मैंने अपना लन्ड चूत में रखा, पहले धीरे धीरे 1 इंच डाला, जैसे 1 इंच गया, मैंने जोरदार झटका लगा दिया, पूरा लंड चूत को फाड़ता हुआ अन्दर चला गया।श्वेता इतनी जोर से चिल्लाई ‘आई उआ आई ईउआ आह्ह ह्ह’ कि उसकी आवाज सोनम के रूम में जा कर सुनाई दी.

सेक्सी कॉलेज बीएफ केक काटने और खाने खिलाने के बाद एक बार फिर से चूमाचाटी का दौर शुरू हो गया. मैंने उसके एक निप्पल को अपने मुँह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी.

सेक्सी कॉलेज बीएफ नहा धोकर बाहर आने के बाद मैंने रेशमा को मेरे बैग में से निकाल कर एक थैला पकड़ा दिया. मेरे गले में अपनी बांहों का हार डालते हुए उसने मेरी आंखों में देखा और अगले ही पल उसके होंठ मेरे होंठों पर आपके मुझे चूमने लगे.

मेरा लंड चुदाई के टाइम बहुत सख्त हो जाता है और उसकी नसें उभर कर साफ़ नजर आती हैं.

सेक्सी फिल्म खुला बीएफ

मैंने तय कर लिया था कि आज फॉर्म भरने जाने के साथ साथ अपने हर छेद को भी भरवा कर रहूँगी. उसने बड़ी खुशी खुशी मुझे नंबर दे दिया और मुझसे मेरा नम्बर मांगा तो मैंने भी उसको मैसेज कर दिया. उनकी बॉडी जो एकदम रुई की तरह मुलायम थी, मुझे काफी अच्छी लग रही थी।उसके बाद मैंने उनकी ब्रा का हुक खोल दिया और हल्के हल्के हाथों से उनकी पीठ की मालिश करने लगा.

वो हंस कर बोलीं- हॉट तक तो ठीक है लेकिन मैं तुम्हें माल भी लग रही थी?मैंने कहा- हां मैम आप मुझे मस्त माल लग रही थीं. इस वक्त भी बॉस मेरे घर पर ही था और चड्डी बनियान में बिस्तर पर लेटा हुआ मोबाइल चला रहा था. धीरे धीरे दोस्त की मॉम और बहन के साथ मेरा काफी अच्छा रिश्ता बन गया.

मैंने पहले कभी किरण से फोन पर बात नहीं की थी, इसलिए मैं उसकी आवाज को एकदम से नहीं पहचान पाया था.

जैसे ही मेरे लंड का सुपारा देविका की चूत के अन्दर गर्भाशय के मुखपर दस्तक देने लगा, तो देविका कामवासना में डूब गई. ललिता भाभी की सिसकारियां तेज़ होने लगीं और वो खुद से कमर दबाती हुई मेरे लंड पर चूत का दबाव डालने लगीं. वो तो अभी जवानी की शुरुआत कर रही थी और उसकी चूत में भी वासना के कीड़े रेंग रहे थे.

मेरे मुँह से बस ‘आह … आईईइ उई … नहीं … आह्ह बहुत दर्द हो रहा है … उईई उइ … रूको … आह्ह … निकाल लो. उसने आंह आह करते हुए सीत्कार भरी और खुद ही अपने सारे कपड़े निकालने लगा. मैंने आवाज दी तो वो बोलीं- रूम में पहुंचो, मैं बस काम निपटा कर अभी आ रही हूं.

कुछ देर बाद धीरे धीरे मुझे भी गांड में बहुत मजा आने लगा तो मैं भी जोर जोर से ‘आहह … आह …’ चिल्लाते हुए मजे लेने लगी. हफ्ते में दो तीन दिन तो बाहर ही रहते हैं और पन्द्रह दिन में कभी कभार एक बार चोदते हैं.

देविका ने शर्माकर पूछा- तुम कब आयी सरिता?सरिता ने मुस्कुराकर कहा- बहुत देर से आयी हूँ और मैंने सब कुछ देख भी लिया है. कमरे की हल्की सी रोशनी में भी उसके लंड के सुपारे पे बैठी हुई उस मोटी सी बूँद चमक उठी थी. मैं उत्तर प्रदेश गोरखपुर का रहते वाला हूं और अन्तवार्सना का सन 2010 से नियमित पाठक हूं.

मेरी इस सेक्स कहानी में आपने शायद ये समझ लिया होगा कि मुझे कितने मर्द मिलने वाले हैं, जो मेरी चूत का भुर्ता बना देंगे.

भाभी अपनी चूत पर मेरा मुँह पाते ही सिहर उठीं और एकदम से उठ कर बैठ गईं. मेरे कमरे में थप थप की आवाज़ गूंज रही थी और दोनों एक-दूसरे को आहह आहह करके जोश दिला कर चुदाई का भरपूर आनन्द ले रहे थे. मैंने उसको बताया- अब ये पुराना हो गया है और अभी आपको नया सिस्टम ले लेना चाहिए.

मैं ऐसे ही ऊपर लेटा हुआ था, तभी रवीना मौसी आ गईं और दोनों को देखकर गाली देने लगीं. साबिरा- ये सब करने जाते हो कॉलेज? तुमको तो भाई कहने में भी शर्म आ रही है मुझे … एक लड़का होकर ऐसी गन्दी हरकत करने से पहले ख़ुदा का ख़ौफ नहीं हुआ तुझे नामुराद?इससे शिराज को पता चल गया कि मैंने उसकी गांड चुदाई वाली बात उसकी बहन को बता दी है.

मैं किसी भी तरह की जल्दी में नहीं था और उसे पूरा मजा देना चाहता था. हाँ धारा … मेरी जान … ये लो … और लो … आज फाड़ ही डालूँगा तुम्हारी चूत … ये लो!” शेखर भी कहाँ पीछे रहने वाला था. वह ऐसा दिखावा कर रही थी जैसे कि उसको पता ही न हो कि मैं उसे देख रहा हूँ.

सेक्सी बीएफ मारवाडी

मॉम ने मेरी नजरों का पीछा किया और अपने एक हाथ से मेरे एक हाथ को पकड़ कर अपने मम्मों पर रखवा दिया.

जब कमरे में एसी चालू देखा, तो नंदा रुचिका से मेरे साथ लेटने का कहने लगी. अब आगे हॉट लड़कियों की चुदाई स्टोरी:मैं पीठ के बल ऐसे ही नंगा लेटा था, लाईट भी चालू ही रखी थी. मैंने उसे जब पहली बार देखा तो मन में लगा कि ये तो चोदने लायक माल है.

जैसे ही उसको आभास हुआ कि मेरी आंख खुल गयी हैं तो उसने झट से मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए. मैंने उसे चूमते हुए कहा- क्या करूं देविका … तुम्हारी चूत ही ऐसी मस्त है कि मैं अपने लंड को रोक ही नहीं सका. सेक्सी सेक्सी दे दोफिर मैंने भाभी को वापस घोड़ी बनाया और उनकी गांड में थूक लगाकर लंड घुसा दिया.

सुमन स्कूल की पढ़ाई के बाद पुनः अपने गांव चली गई और अन्नू अब भी यहीं रहती है. पन्द्रह मिनट वेट करने के बाद पूनम ने ऐप पर ही माइक में बात की और मेट्रो के पास बुलाया.

वो न्यू रण्डी नंगी ही मेरे ऊपर लेट गई और मैंने उसे अपनी बांहों में कस लिया. जल्द ही उसके चूचों के ऊपर उभरे काले निप्पल्स खड़े होने लगे और किरण खुली हवा में मादक सीत्कार निकालने लगी. मैंने अपने पुराने वाले कपड़े पहने और ध्यान से देखा कि कहीं कोई सबूत न बचा हो कि मैंने कल यहां पर क्या किया.

मैं अपनी बहन के दूध चूसते हुए उसकी धमाधम चुदाई करने लगा, लंड को आगे पीछे करते हुए बहन की चुदाई करने लगा. थोड़ी दूर तक यूं ही सामान्य बातचीत करने के बाद मैंने कहा- कोमल, आप बहुत खूबसूरत लग रही हो. कभी गांड तो कभी चूत में लंड डालकर मॉम को किसी बाजारू रंडी की तरह चोद रहा था.

कुछ मिनट तक चूत का रस पीने के बाद उसने अपना लंड मेरी चूत की फांकों में फंसाया और एकदम से घुसा दिया.

अंग से अंग टकराने से ‘थप थप थप थप …’ की तेज होती आवाज मंजिल की तरफ इशारा कर रही थी. मान जा यार, फिर मैं खुद फातिमा का हाथ तेरे हाथ में दूंगा, वादा करता हूँ.

उधर पाटिल जी ने भी रेशमा को अपने ऊपर से नीचे धकेला और वो भी किरण के मुँह के सामने आकर खड़े हो गए. सरिता मेरी पीठ और गांड को सहलाकर बोली- हां हर्ष,द मैं तुम्हारी मजबूरी समझती हूँ … लेकिन तुम्हारा मूसल इतना बड़ा है तो तकलीफ तो मेरी चूत को ही होगी ना जान. दस मिनट की धकापेल चुदाई के बाद गीता ने पूरी तरह से काम वासना में डूबकर मुझे अपने ऊपर खींच लिया और अपनी दोनों टांगों से मेरी कमर को जकड़ लिया.

गर्दन नीचे की तरफ झुकने के कारण उसकी गांड और ऊपर की तरफ उठ गयी और गांड का भूरा छेद मुझे आसानी से दिखने लगा. ट्रिपल सेक्स के बाद अब हम तीनों बहुत थक चुके थे, सो हमने थोड़ा आराम किया, ड्रिंक के साथ कुछ खाया और बातें करने लगे. साथ ही उसने मुझे कस कर अपनी बांहों में जकड़ लिया और गांड उठाने लगी.

सेक्सी कॉलेज बीएफ साबिरा ने भी मेरे होंठों पर चुम्मी देकर अपने हाथ मेरे गले में डाल दिए. फिर उसके बाद मैंने उनके पैरों को छुआ और उनके पैर और जान को हल्के हल्के दबाने लगा.

एचडी में सेक्सी बीएफ एचडी

बहन ने कहा- भैया मेरी उम्र तुमको मालूम है?मैंने बोला- हां 19 साल है. मॉम खुद से मेरे मुँह में झटके मारने लगीं और एकदम से बोलीं- अब हटो … सुसु आ रही है. उसके बाद क्या हुआ?हाय फ्रेंड्स, आप लोगों को मेरा प्यार भरा नमस्कार.

लेकिन शेखर इतनी मुद्दत के बाद सच हुए अपने सपने को टूटने भी नहीं देना चाहता था. एसी की एलईडी की रोशनी कमरे में काफी उजियाला कर रही थी जिसमें से में मुझे उसका पेट साफ़ दिखाई देने लगा था. दिल्ली सेक्सी सेक्सीबचपन से खेतों में काम करने की वजह से मेरी देहयष्टि भी काफी आकर्षक है.

ये नंगी भाभी सेक्स कहानी मेरे मकानमालिक की पुत्रवधू के साथ मेरी पहली चुदाई की है.

उसने बोला- निक्कू तू घुसा … कितना भी दर्द हो, मैं बाहर नहीं निकालूंगी. मैं अभी कुछ बोलता, इसके पहले ही उन्होंने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और जोर जोर से चूसने लगीं.

उसने कहा- लेकिन उसका रेट ज्यादा लगेगा क्योंकि सीलपैक का दाम अलग रहता है. तब तक हर्षद मैं तुम्हें मजा दूंगी और तुमसे चुदे बिना तुमको सोने नहीं दूंगीये कहती हुई नीता अपनी चूत जोर से मेरे लंड पर रगड़ने लगी थी. कहानी के पिछले भागदोस्त के सामने उसकी बहन को नंगी कियामें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे कहने पर साबिरा ने अपने भाई के सामने मुझे नंगा करके मेरे लंड को निकाल दिया था.

पर यही तो खेल था जो धारा बड़े सावधानी से खेल रही थी और शेखर को बिना छुए ही चरम पर ले जा रही थी.

मेरा लंड हॉट लड़कियों की चुदाई के अभी भी लोहे जैसा था और गीता की चूत में अड़ा बैठा था. मैं धीरे धीरे धक्का लगाने लगा और कुछ मिनट के बाद वो भी मेरा साथ देने लगीं. किरण मुझसे बात करती हुई मुझे अपनी बड़ी बड़ी चूचियां दिखाती, तो मेरे लंड में आग लगने लगती.

कैटरीना सेक्सउठ गए, जूस पी लो … थकान मिट जाएगी!” धारा ने बड़े ही प्यार से शेखर को कहा. मैंने उससे पूछा- ये बता तूने अब तक कितने लंड लिए हैं?वो बोली- मैं चार लंड ले चुकी हूँ भाई.

बीएफ सेक्सी एचडी में भेजो

मिहिरा- क्यों, मुझे भगा रहे हो क्या?मैंने मिहिरा को टालने की बहुत कोशिश की पर उसको मेरे साथ ही देखनी थी. माय वाइफ एंड बॉस सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे छोटे लंड के कारण मैं अपनी बीवी को मजा नहीं दे पाया. मैंने कानपुर में किराएदार के रूप में एक पूरा फ्लैट बुक किया और नौकरी की शुरुआत कर दी थी.

एक दिन मैं कंपनी से अपने रूम आ रहा था तो मेरे पड़ोस में रहने वाली एक आंटी मुझे देखकर मुस्कुराने लगीं. अब मैंने उसके पीछे आकर उसकी चूत में फिर से अपना लंड डाल दिया और उसकी पतली कमर को पकड़ कर जोर जोर से धक्के लगाना शुरू कर दिया. आह … आह्ह … उफ़्फ़ … आह्ह्ह … शेखर … ओह्ह … शेखर … और लो!” अपनी रफ़्तार बढ़ाते हुए धारा ने उन्माद से भारी आवाज़ के साथ ज़ोर ज़ोर से अपनी गांड पटक-पटक कर शेखर को चोदना शुरू किया.

जल्दी घर जाने से ये था कि उस समय सभी रहते हैं तो सोचा थोड़ा घूम लिया जाए, थोड़ा लेट चलेंगे. अब तो भाभी जैसे पागल सी हो गई, उन्होंने मुझे 69 पोजीशन में आने को कहा. फ्रेंड्स, मैं विराज आपको अपनी पर्सनल सेकेट्री बन चुकी रेशमा को मुंबई लाकर उसकी गांड चुदाई की कहानी सुना रहा था.

मुझे बहुत खीज हुई क्योंकि मुझे उसके बूब्स टच करने थे और अब वो उस साइड मुँह करके सो गई थी. पर अब हमारे तन की आग बुझ चुकी थी और पेट की आग हम दोनों पर हावी हो गई थी.

बहन- मगर ऐसा ही चलता रहा और तू हिलाता रहा, तो तेरी सेहत पर इसका बुरा असर पड़ेगा.

उस वक्त घड़ी में शाम के सात बज गए थे, जब मैं ऑफिस से घर के निकला था. मोटा लंड सेक्सी वीडियोससुर जी को मुझे चोदते हुए अभी तक आधा घंटा हो गया था और मैं दो बार झड़ गई थी लेकिन उनका पानी नहीं निकल रहा था. मिथुन क्रिया करते दिखाइएउधर मोहन बाबू केवल मुझे देखने, बात करने और मुस्कुराने तक ही सीमित थे, आगे बढ़ने की उनकी हिम्मत ही नहीं हो रही थी. जैसे ही 5 बजे, मैं ऑफिस से तुरंत निकला और मेट्रो स्टेशन के लिए बढ़ गया.

मैं- नीचे देखो रेशमा, लहू निकल गया तेरा, पहले निकाल कर साफ करने दो.

धारा उसी तरह दबाव बनाते हुए अपने भारी-भरकम चूतड़ ऊपर नीचे करती रही और देखते ही देखते शेखर का सुपारा गांड में घुस गया. थोड़ी देर बाद हमने अपनी पोजीशन बदली और भाभी की बड़ी बहन ने अपनी चूत को मेरे मुँह पर रख दिया. अपनी बोली पर मैं हैरान रह गई थी क्योंकि मेरी आवाज बिल्कुल लड़कियों जैसी निकल रही थी और शायद शर्बत के असर से मैं खुद को लड़की समझ कर ही बोलने लगी थी.

आज काफ़ी दिन बाद मैं अपनी अगली सच्ची ट्रिपल सेक्स की कहानी लिखने जा रहा हूँ. तब अंत में मैंने कहा- आपको कैसे विश्वास होगा कि मैं सच बोल रही हूँ?इस पर उन्होंने कहा- विश्वास तब होगा, जब तुम मुझे दिखाओगी. अब मैंने भाभी की बहन गांड से अपने लंड को बाहर निकाला और उनकी बहन की गांड में डाल दिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो जानवरों के साथ

मैंने कार पार्क की तो देखा सोनम मेरे लंड की तरफ देख कर मुस्कुरा रही थी. मैं कई बार अपनी भाभी को याद करके मुठ मार चुका हूं।मेरे घर में हम चार भाई हैं साथ में मां और बाबू जी भी रहते हैं. मैं नानी के यहां रहने गया था तो मैं रात में बैठ कर मौसी के एक साल के बच्चे के साथ खेल रहा था.

अब मैंने रूपा को रुकने के लिए कहा और वो दूध मसलना बंद करके सीधी खड़ी हो गई.

मेरा लंड 7 इंच लंबा और ढाई इंच मोटा है और मेरा सुपारा काफी फूला हुआ है.

उसने बताया कि उससे काफी मजा आया और उसने मेरे साथ बिताए हर पल को एंजॉय किया. जैसे ही मैं सीधी हुई, ताड़ की आवाज़ मेरी गांड से आई और मेरी गांड पर एक पैडल आकर चिपक गया. किचन बर्तनक्या मस्त स्वाद है तुम्हारे अमृत का … मैं जिंदगी भर नहीं भूल पाऊंगी हर्षद … जी भर गया मेरा.

नमस्कार दोस्तो, मैं कोमल मिश्रा अपनी सेक्स कहानी में आप सभी का स्वागत करती हूं. उसने बोला- निक्कू तू घुसा … कितना भी दर्द हो, मैं बाहर नहीं निकालूंगी. मैंने उसकी कमर कसके पकड़ी हुई थी इसलिए वो लंड बाहर नहीं निकाल सकती थी.

बहन- क्या?चूंकि यह बात मैंने अपनी बहन को नहीं बताई थी इसलिए वो ये बात सुनकर दंग सी रह गई. मैंने भी उसका गुस्सा बढ़ाने के लिए जानबूझ कर वो वीडियो बार बार उसको दिखाई और शिराज को भला-बुरा कहता रहा.

एक ओर धारा उसके कड़क लंड को चाट रही थी और दूसरी तरफ़ अपनी चिकनी चूत और मांसल नितम्बों को दिखा-दिखा कर उसकी हालत और भी ख़राब कर रही थी.

तब मैंने आश्चर्य से कहा- अरे आप … व्हाट अ कोइंसिडेंट!वो मुस्कुरा दी. मुझे देख कर आंटी बोलीं- राज क्या बात है, आजकल तुम बहुत बिजी रहते हो?मैंने कहा- हां आंटी, वो कंपनी में काम ज्यादा रहने लगा है. इधर आसिफ का हाथ मेरी छाती पर आ गया और वो मेरे नकली के रबर के स्तनों को दबाते हुए कहने लगा- आह फातिमा आह … क्या जिस्म है तुम्हारा!मैं भी ‘उन्हह … न्न्हह …’ करके मादक सिसकारियां लेने लगी और मचलने लगी.

हॉस्टल की लड़कियों के मोबाइल नंबर फिर हम दोनों ने मिल कर फैसला लिया कि हम लॉज में जाएंगे और अगर हमारे साथ कुछ गलत हुआ तो हम साथ में झेल भी लेंगे. मैंने शायद शब्द इसलिए लिखा था क्योंकि मुझे अभी ये नहीं मालूम था कि साबिरा की चूत चुदी हुई है या सील पैक है.

चाय पीने के बाद बॉस ने फिर से मेघना का टावेल निकाल दिया जिससे वो एक बार फिर से नंगी हो गई. मैं गीता के कड़क और उभरे हुए स्तनों को दोनों हाथों से पकड़कर, अपना लंड उसकी चूत में अन्दर बाहर कर रहा था. मैंने मॉम को लिटाकर दोनों टांगें फैला दीं और ऊपर आकर एक झटके में अपना लौड़ा घुसा दिया.

फुल एचडी बीएफ इंग्लिश

उसके चेहरे पर वही सवाल था कि अब क्या हुआ?अब मैं बैठे बैठे ही उसकी सलवार को नीचे सरकाने लगा. शिराज ने किसी गुलाम की तरह मेरी बात मान ली और अपनी बड़ी बहन की फ़ैली हुई चूत को अपनी उंगलियों से मसलने लगा. वापस आते समय उसने मुझे कुछ उपहार देना चाहा लेकिन मैंने मना कर दिया.

वो- इतने हैंडसम हो फिर भी नहीं किया है?मैंने कहा- कोई मिली ही नहीं. यह देख कर मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा हो गया और अब लोवर में मेरा तना हुआ लंड बिल्कुल साफ दिखने लगा था.

वो बोला- कैसी लगी ब्रेड?मैंने कहा- मजा तो आया पर तुम्हारी गाढ़ी मलाई ब्रेड में लगी होती तो और मजा आता.

आज बारिश की वजह से यहां काफी सन्नाटा भी था जिससे हमको किसी ने भी नहीं देखा. इस बार रेशमा के चेहरे पर सिर्फ दर्द की हल्की सी झलक दिखाई दी, पर उसकी चीख नहीं निकली. नीता की चूत मेरे लंड से वीर्य की एक एक बंद निचोड़कर अपनी प्यास बुझा रही थी.

फिर मैंने मौके का फायदा उठाया और सीधा उसे जोर से पकड़ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसके होंठों को जोर जोर से चूसने लगा. अब आगे डबल सेक्स का मजा:रात में घर वालों के होने की वजह से भाई मुझे ट्रेन में चोद तो नहीं पाया, पर वो कभी मेरे मम्मे सहलाता रहा तो कभी चूत में और गांड में उंगली करता रहा. थोड़ी देर उसकी गांड को चोदने के बाद बॉस ने उसे बिस्तर से नीचे उतार लिया और दोनों खड़े हो गए.

हमारे सबके पापा नौकरीपेशा थे तो वो सब दिल्ली में अपनी नौकरी करने निकल जाते थे.

सेक्सी कॉलेज बीएफ: कामुक सिसकी से पूरा कमरा गूंज उठा और मैंने झट से मेरी दो उंगलियां उस गीले गलियारे में घुसा दीं. मौसी बचपन से ही मुझसे बहुत प्यार करती थीं और जब भी मैं उनके घर जाता था, वो मुझे कसके गले से लगा लेती थीं.

मैंने भाभी से कहा- थोड़ा धीरे धीरे करो!भाभी बोली- भोसड़ी के, चुपचाप पड़ा रह, अब तेरे लंड को तोड़ डालूंगी तभी रुकूंगी. ’फिर मैंने उसको सीधा बेड पर लिटाया, उसकी टांगों को फैला दिया और उसकी चूत के मुहाने पर अपना लौड़ा रगड़ने लगा. उसकी यह बात सुनकर मेरी खुशी का ठिकाना न रहा क्योंकि अब यह कन्फर्म हो चुका था कि वह भी मुझसे चुदना चाहती है।मैं मुस्कुराते हुए बोला- अच्छा जी, मजाक कर रही थी?वो बोली- हां … और तुम्हारे चेहरे को तो देखो … कितना डर गए थे।मैं एकदम उसके ऊपर झपट पड़ा, एक हाथ से उसका स्तन जोर से दबाते हुए मैंने उसके होठों को कसकर अपने होठों में जकड़ लिया.

इसका लंड था तो मेरे पति की ही तरह, पर थोड़ा टेड़ा था, एकदम केले के तरह.

थोड़ी देर मेरी चूत चोदने का बाद उसने अपना लंड मेरी गांड के मुहाने पर रख दिया. मैं उदास होकर वहां से आ गया और सोचने लगा कि ये ही तो एक तरीका था भाभी को चोदने का, ये मौका भी गया. शुरू शुरू में मुझे स्कूल में परेशानी हुई … यहां मेरा कोई दोस्त या कोई जान पहचान वाला नहीं था.