ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सनी लियोन का भजन

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो सेक्सी चुदाई बीएफ: ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ, पेशाब की धार बंद होते ही मैंने आंटी को नीचे गिरा दिया और अपना लंड आंटी चूत पर लगाकर उनको जोर से चूसने लगा.

क्लासिक मिशनरी

वो मुझसे बोली- आशना अब क्या होगा … हमने स्कूल बंक करके बहुत मज़े किए, पर अभी लग रहा है कि बहुत ग़लत किया यार. hindi सेक्स व्हिडिओनीचे उसने पिंक कलर की पैंटी पहन रखी थी, जो कि उसकी चूत के रस से बिल्कुल गीली हो गई थी.

मैंने तीन-चार धक्के जोर से लगाये और आंटी की चूत को भी अपने माल से मालामाल कर दिया. सेक्सी वीडियो गुजराती सेक्सीवो भी सिर्फ़ देखने मात्र से।उसकी गोल गोल चूचियाँ किसी भी ब्रा की कैद में नहीं आना चाहती.

उधर ऑफिस में टीना ने मेरे डेस्क पर बैठते हुए कहा- क्या बात है जान … आज तो तू बड़ी खिली हुयी है?मैंने पिंक कलर का सूट पहन रखा था.ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ: मैं भी पूरी गर्म हो चुकी थी इसलिए मैंने उसके लंड को अपने हाथ में ही पकड़े रखा.

फिर मैंने कुछ देर बाद कपड़े पहने और बाहर आ गया।दूसरा दोस्त दोस्त, जो कि बहुत ज्यादा उत्तेजित हो रहा था, उसने जल्दी-जल्दी किया और पाँच मिनट में वह बाहर आ गया।तीसरा दोस्त ने बहुत ज्यादा टाइम लगाया.फ्रेंची भी जांघों पर फंसी हुई थी और मेरा तना हुआ लंड मेरे हाथ में था.

गावरान मराठी सेक्सी व्हिडिओ - ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ

ससुर के कहने पर नीलम समीर के साथ बेमन से चुदाई करवा लेती थी लेकिन वो अपने ससुर के मूसल लंड को लेकर ही संतुष्ट होती थी.इसलिए वो दूसरों की छत पर देख सकती थी लेकिन कोई उसकी छत पर नहीं देख सकता था.

वो बोली- इस वक्त मैं दूध कहां से लाऊं?मैं बोला- अरे तेरे पास है न और बोल रही हो कि कहां ले लाऊं. ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ मैंने अपना हाथ उनकी कमर से उनकी साड़ी में और उनके ब्लाउज के हुक पे घुमाना चालू रखा.

खीरे पर खूब सारा थूक लगा कर उसने वो खीरा सीमा की चूत में घुसा दिया और जोर जोर से अंदर बाहर करने लगी.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ?

तूने इससे पहले भी इतने मर्दों के साथ इतने लंड एक साथ लिये हैं क्या? क्या तूने कभी इतना मजा लिया है?मैंने कहा:हां, मैं दो बार इस तरह से मजा ले चुकी हूं. बोली- चलो अब … कोई आ जायेगा नहीं तो…मैं उसके ऊपर से उठा और मैंने अपनी लोअर और फ्रेंची को ऊपर खींचते हुए पहन लिया. इसी बीच मुख्यालय से उन लोगों को तीन दिन की ट्रेनिंग के लिए चेन्नई बुलाया गया.

लेकिन मैं जबसे उन चार अफ्रीकन लौड़ों से चुद चुकी थी उसके बाद से ही मैंने अपनी चुदास मिटाने के लिए एक अफ्रीकन साइज़ का डिल्डो ऑनलाइन मंगा लिया था, जिससे मैं अधिकतर अपनी गांड मारती रहती थी. उसमें एक व्हिस्की की बोतल, बिकनी सैट, नाइटी और मेकअप का सामान था, जिसे देख कर चाची ख़ुश हो गयी. सर ने कहा- अर्पित, आशना पीती तो नहीं है, पर हमारे लिए बोतल तो ला सकती है ना!अर्पित बोला- हां … क्यों नहीं … आशना … हमारे लिए बोतल तो ला दो.

एक दिन में औऱ मेरी साथी ख़िलाड़नें ड्रैग फ्लिक की प्रैक्टिस कर रही थीं. मैंने भाभी से पूछा- कहां निकालूं?तो उन्होंने कहा कि तुम्हारा पहली बार है, तो अन्दर ही निकाल दो. आंटी भी इसी पल के इंतजार में थी कि कब मैं उनकी चूत की तरफ अपना हाथ बढ़ाऊंगा.

लेकिन मेरे अंदर की चुदास फिर से जाग चुकी थी इसलिए मैंने उनके लंड की तरफ अपना मुंह कर लिया और अपनी चूत को उनके मुंह की तरफ कर दिया. एक जोर का झटका देकर मैंने पूरा का पूरा लंड चाची की गांड में उतार दिया तो चाची चीख पड़ी.

इस बार सिर्फ अंडरवियर में मेरे पास आ कर लेट गया। उसने धीरे से मेरी पीठ पर हाथ रखा मैंने डर से आंखें बंद कर ली.

राहुल ने उनको कहा कि वो लोग अगर अच्छी स्वीमिंग करना चाहते हैं तो स्विम सूट में आयें न कि सलवार सूट में.

चूंकि मैं कुछ देर पहले ही करण के लंड से चुद कर आई थी तो राहुल का लंड आराम से मेरी चूत में चला गया. न चाहते हुए भी हाथ अंदर अंडरवियर में घुस गया और लंड के टोपे को पूरा पीछे खींच कर फिर से आगे ढकने की क्रिया को बार-बार दोहराने लगा. वो मेरी तरफ देखने लगे तो मुझे शर्म आने लगी क्योंकि वो मेरे पापा जैसे थे.

मैं खुश हो गया कि भाभी पक्की चुदक्कड़ निकलीं … ये तो लगातार चोदने को मिलेंगी. वहां अधिकतर गे लोग आते थे, मुझे यह सब नहीं पता था और मैंने कभी पहले गे सेक्स या गांड की चुदाई किया भी नहीं था. ”मैं तो डर रहा था कहीं तुम यह बात मधुर को ना बता दो?”हट!!! ऐसी बातें तीसी तो बताई थोड़े ही जाती हैं, मुझे शलम नहीं आती त्या?”उसने मेरी ओर ऐसे देखा जैसे मैं कोई चिड़िमार हूँ। हाए मेरी तोते जान परी मैं मर जावां …वैसे गौरी एक बात तो है?”त्या?”तुम ब्यूटी विद ब्रेन हो.

अभी-अभी तो नेहा की चूत में निकाला है।आंटी बोली- तू उठ जा, तेरे लंड को उठाना मेरा काम है.

मुझे बड़ा दर्द हो रहा था, पर इस दर्द के बाद मुझे मालूम था कि मेरी चूत को जो ख़ुशी मिलने वाली है, वो इस दर्द से दस गुना अधिक थी. मेरे नीचे वाले फ्लोर पर ही मेरी पत्नी की बड़ी बहन यानि मेरी साली अपने पति और दो साल की बेटी के साथ रहती थी. वो बोलीं- चलो देखते हैं … अब आप सीधे गाड़ी चलाओ और मुझे घर ले चलो, मुझसे अब बैठे नहीं जा रहा है.

तभी वहां एक बाइक आयी, मैं डर के मारे छिप गया कि कहीं ये मेरे घर वाले तो नहीं जो मेरी खोज के लिए आये हों. मुझे उसकी ये हरकत थोड़ी अजीब तो लगी लेकिन फिर सोचा कि शायद अभी इसको हुक्के का सुरूर है इसलिए वो ऐसी बात कर रही है. आह्ह …आशीष बोला- तुम अपनी चूत में उंगली डाल कर ऐसी कल्पना करो कि वह मेरा लंड है जो तुम्हारी चूत में जा रहा है.

मैं मजबूरी दर्शाते हुए उसका आधा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी।उधर नीचे युवराज ने अपनी उंगलियाँ मेरी चूत से निकाल दी और चूत पर अपना मुँह रख दिया.

राहुल ने देखा कि रीमा तो सलवार सूट पहने है, उसने हंस कर कहा- या तो आप फ्लोट कर सकती हैं या आपका सूट. उन्होंने एक बार मेरे होंठों को जोर से चूसा और फिर मेरे चूचों को दबाते हुए मेरे पूरे बदन को चाटने लगे.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ उधर सागर के घरवालों ने तो यह कह दिया- जो चाहो करो, हम यही समझेंगे कि हमारा कोई बेटा नहीं था, जिसका नाम सागर था. वो शर्मा कर भागने लगी तो रेखा ने उसे लपेट लिया … आखिर उसे अपना टॉप उतारना पड़ा.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ मैंने सोचा कि शायद नींद में ही प्रिया ने अपना हाथ मेरे पेट पर रख दिया है इसलिए मैं चुपचाप लेटा रहा. फिर उसने कराहते हुए बोला- देव आज मैं आपकी हो गई हूं … आज आप मुझे अपनी पत्नी बना कर प्यार करो.

तभी मैंने उनका अंडरवियर भी उतार दिया और उनके लंड को देखा, जो कि अब तक का मैंने सबसे बड़ा लंड देखा था.

हिंदी रंडी सेक्स

अब आंटी गर्म होने लगी थीं और मादक सिसकारियां भरते हुए कह रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… ये…क्या क. अचानक एक दिन लंच के समय क्लास में हम दोनों ही बैठे थे कि मैं उसे दोबारा पूछ लिया- तुमने बताया नहीं? तुमने कोई बॉयफ्रेंड बनाया है या नहीं?उसने शर्म से अपनी आंखें नीची कर ली, धीरे से जवाब दिया- नहीं।मैंने कहा- मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी?वो कुछ भी नहीं बोली. दूसरी तरफ से आशीष बोला- क्या हुआ?मैंने कहा- अब मैं फोन रख रही हूं, मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

उसने मेरे लंड को किस कर दिया तो एकदम से मेरा माल निकल गया और मैंने सारा माल उसके मुंह पर छोड़ दिया. हमारे बदन इतने गर्म हो चुके थे कि मानो दोनों के बदन से जैसे अंगारे निकल रहे हों. हम दोनों को देख कर सर ने अपना काम जल्दी से पूरा कर लिया और हमसे बोले- आशना … ईशिता … मैंने तुम दोनों के इंटरनल मार्क्स सबके सामने नहीं दिए … पता है क्यों?? क्योंकि तुम दोनों के इंटरनल मार्क्स बहुत कम हैं.

हे … आपने कैब बुक कराई है?” मैंने उसे पूछा।हाँ … हाँ …” वह थोड़ा शॉक होकर बोला।तो बैठिये ना!” मैंने उसे कार में बैठने को बोला।वह कुछ हिचकिचाते हुए कार की पिछली सीट पर बैठ गया।सॉरी आज हमारे ड्राइवर की तबियत खराब है इसलिए मैं ड्राइव कर रही हूं … आप शायद इसी वजह से कंफ्यूज़ हुए होंगे.

मैंने आंखें बंद कर लीं और लेट कर लंड के टोपे को हाथ में दबोचे हुए आगे-पीछे करते हुए लंड की उस उत्तेजना का आनंद लेते हुए धीरे-धीरे मुट्ठ का आनंद लेने लगा. ममता कंडोम लेकर आयी और मैंने अंकल का लंड चूस कर उस पर कंडोम चढ़ा दिया. हम दोनों खुले विचारों के थे इसलिए हम दोनों की आपस में बहुत अच्छी बनती भी थी और हम दोनों हमेशा एक दूसरे को किस करते रहते थे.

मैंने उसके गर्म होंठों पर अपने होंठ रख दिए और हमारी मोहब्बत का आगाज़ हो गया. वो बोला- ये सब क्या है?मैंने कहा- सॉरी भैया … मैं फिर कभी ऐसा नहीं करूंगी. वाशरूम कि डोर लॉक होते ही सारिका ने राहुल को अपनी ओर खींच लिया और उसके होंठों से होंठ मिला दिए.

हां आप ठीक समझे … भाभी की प्यारी सी चुत की मालिश करने बारी आ गई थी. अभी तक तो मैं ही उनका सारथी बना हुआ था पर अब वो भी रथ चलाने लगी थी।तभी बाथरूम में फ्लश की आवाज़ आयी तो मामी सीधी खड़ी होकर भागने को हुई तो मैंने उनकी कलाई पकड़ ली.

मेरा लंड मुझे बेकाबू कर रहा था, मगर मुझे डर लग रहा था कि कहीं भाभी कुछ करने से नाराज न हो जाएं, इसलिए मैं अपने आप को बार बार रोक रहा था. फिर मैं वहां 3 दिन रुका और बुआ के ऑफिस जाते ही हम दोनों की रासलीला चालू हो जाती. मैं तो उसका इंतजार ही करती रहती हूं लेकिन उसे काम से फुर्सत ही नहीं है.

शायद भाभी को मेरे मोटे लंड के कारण दर्द हो रहा था … पर मैंने उन पर ध्यान न देते हुए धक्के मारने चालू कर दिए.

फिर मैंने उनकी पैंट की चैन को खोल कर उनके मोटे लंड को बाहर निकाल लिया. चाची- कैसी कैसी अजीब अजीब बातें करने लगा है तू?मैं- प्लीज चाची … आपको और भी मज़ा आएगा. इतना कह कर भाई ने मेरे चूचों की तरफ घूरा तो मैं समझ गई कि भाई के अंदर हवस की आग लगी हुई है.

दीदी को पता नहीं क्या लगा कि वो बात खत्म करके उठते हुए मुझसे बोलीं- चल तू अब नहा ले. वही एक ऐसा शख्स था जिसके दोनों हाथों में मेरी दोनों चुचियाँ समा गई थी.

मेरा एक हाथ अभी भी उसकी पीठ और गांड पर धीरे धीरे घूम रहा था, लेकिन मेरी चारू तो अभी भी दुनिया से बेखबर होकर चैन की चुदाई वाली नींद में सो रही थी. चयन बोला- लड़की की चूत से ज्यादा लड़के की गांड में मज़ा आता है मोंटू … कभी लड़के को चोद कर देखना. जब तूफान ठहरा तब उसने कहा- तुम तो ऐसे मुझे चोद रहे थे जैसे मेरी जान ही निकाल दोगे।मैंने कहा- क्या करूँ … अपनी पत्नी को चोद रहा हूँ किसी और को नहीं!हम दोनों ही हंसने लगे और फिर उसके हम बाथरूम चल दिये फ्रेश होने!वहाँ भी फिर एक बार तूफान आया और फिर हम फ्रेश हो कर निकले.

हिंदी एक्स पिक्चर

उसने मेरे करीब आकर मेरी ब्रा के अन्दर हाथ डाला और मैंने उसकी पैंट खोल दी.

उसने अपना लंड कपड़े से साफ़ करके मेरे मुँह में दे दिया और मेरी चूत को अपने मुँह में ले लिया. उन्होंने बड़े प्यार से मेरे होंठों को अपने होंठों में भर के चूसा और बोले- तुझे छोड़ने का मन नहीं कर रहा. उसके बाद चयन ने मुझसे फिर पूछा- मोंटू तू इंदौर में रहता है और तुझे अपनी जीएफ की याद भी आ रही है, उससे मिलने तो जाता ही नहीं है.

मैंने कहा- कोई बात नहीं, अगर दोस्त नहीं तो मैं हूं न? दोस्त का दोस्त!वो बोली- हां, यह दोस्ताना तो मुझे बहुत पसंद आया. अपना लंड फिर से मेरी चूत में डाल दिया और फिर से मेरी चुदाई शुरू हो गयी. वीडियो मारवाड़ी सेक्सी पिक्चरमेरी नॉनवेज स्टोरी पर अपने विचार आप नीचे दी गई मेल आईडी पर मैसेज करें.

मैंने पूछा- तुम इतने बड़े घर में अकेले रहती हो, तुम्हें डर नहीं लगता?उसने कहा- नहीं, डर कैसा? बल्कि मुझे तो यहाँ अकेले रहने में मज़ा आता है. एक बार उसको गर्म कर देना चाहता था ताकि वो खुद ही अपनी चूत मेरे उतावले लंड के सामने परोस दे.

मूछों के साथ जंच रहा था लौंडा।उसने हम भाई-बहनों को साथ बैठे देख कर पूछा- काजल आपके घर आई है क्या?मैंने सुमिना की तरफ देखा तो वो जैसे उत्साहित सी लगी और उठते हुए बोली- नहीं, मेरे पास तो नहीं आई है।उसका सवाल सुमिना से ही था. जब आखिर में सबके कपड़े उतर जाते हैं तो सभी चिपट कर एक दूसरे को किस करते हैं और फिर ग्रुप सेक्स …सभी लड़कियों को बड़ा मजा आ रहा था कहानी सुनने में … इतनी देर में तो रेखा फ्रिज से एक पानी कि बोतल निकाल लायी. दारू का नशा और उसके बाद हाथ में सिगरेट हो तो सामने लौंडिया देख कर मूड बनने लगता है.

इसकी उन्मुक्त कहानियों को पढ़ कर मेरा भी मन हुआ कि मैं अपनी कहानी आप सबको बताऊं. ”इस फिकरे का अर्थ मेरी समझ में नहीं आ रहा था। पता नहीं गौरी मेरे बारे में क्या सोचती होगी? क्या पता उसे मेरी मेरी इन भावनाओं का पता है भी या नहीं? पर मुझे नहीं लगता वो इतनी नासमझ होगी कि मेरे इरादों का उसे थोड़ा इल्म (ज्ञान) ना हो। खैर इतना तो पक्का है अब वो मेरी छोटी-मोटी चुहल से ना तो इतना शर्माती है और ना ही बुरा मानती है।यह कहानी साप्ताहिक प्रकाशित होगी. कई मिनट तक मैंने चाची की गांड की जोरदार तरीके से चुदाई की तो मेरा माल भी झड़ने को आ गया.

मैंने अपने बेकाबू से लंड को दीदी के हाथ में पकड़ा कर दीदी को चूसने का इशारा किया तो दीदी ने खड़ी होकर मुझे जोरदार तमाचा मारा और कहा- बहनचोद, मैं रंडी हूं क्या जो तू मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोल रहा है?दीदी की इस बात पर मुझे गुस्सा आया लेकिन मैंने कुछ कहा नहीं क्योंकि बना बनाया काम बिगड़ सकता था.

इसकी चूत को तो भर दिया तूने हरामी लेकिन मेरी प्यासी चूत को भी तेरा लौड़ा चाहिए. फिर अंकल ने मुझे डॉगी पोज़ में आने को कहा और मेरी गांड में चिकनाई को लगा दिया.

मैंने कहा- ड्राइवर की कोई जरूरत नहीं है, मैं खुद अपने काम से जोधपुर जा रहा हूँ. परीशा तो अब सातवें आसमान पे थी; बहुत ही मज़ा आ रहा था उसे।इतने में मुकुल राय ने अपनी जीभ परीशा के गांड के छेद में घुसेड़ दी। परीशा ये ना सह सकी और एकदम से झड़ गयी। काफ़ी देर तक इसी मुद्रा में परीशा की चूत और गांड चाटने के बाद उन्होंने दोनों हाथों से परीशा के चूतड़ों को पकड़ा और अपने मोटे लंड का गर्म गर्म सुपारा परीशा की लार टपकाती चूत पे टिका दिया. फिर मैंने उसके पूरे शरीर को चाटा और नीचे को आते हुए उसकी चूत को पैंटी के ऊपर से ही किस करने लगा और काटने लगा.

मैंने उससे उसकी सुहागरात के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि उस रात भी मेरे पति आए और अपने और मेरे कपड़े उतार कर सीधा लंड खड़ा करके घुसा दिया. क्या पकड़ थी उसके मुँह की मेरे लंड पर … वो ऐसे मेरा लंड चूस रही है जैसे उसे खा जाएगी. उसके बाद मैंने अपनी उंगलियां अपने मुँह में डाल लीं और उसकी चूत के रस का स्वाद लेने लगा.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ शिवानी का डिल्डो अभी भी मेरे पास था, जो मैंने उसे अभी तक वापिस नहीं किया था. उस कमरे का एक दरवाजा इसी कमरे में लगा हुआ था और एक दरवाजा दूसरी तरफ भी था.

सेक्सी गाने बीएफ

काफी देर तक अपने ससुर से अपनी चूत चुदवाने के बाद उसने एक लंबी आह भरी और उसी के साथ उसका बदन अकड़ा और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया।महेश ने उसे अपनी पकड़ से आज़ाद कर दिया लेकिन नीलम निढाल होकर शेल्फ पर ही पड़ी रही … उसे परमानन्द का अनुभव हो रहा था. फिर जब हम ढूंढते हुए लॉज में पहुंचे तो वहां पर चार-पांच आदमी रिसेप्शन पर बैठे हुए थे. उसने मुझे बताया कि वो अपनी गर्लफ्रेंड के साथ आज रात को बाहर कहीं रूम पे रुकेगा.

एक दिन मौका पाकर मैंने उससे कहा- क्या सेक्स करना चाहोगी मेरे साथ?तो उसने जवाब दिया- कैसे और कहां?मैंने कहा- अगर तुम तैयार हो तो स्कूल के बाथरूम में!लेकिन कैसे?”मैंने उससे सारी बात बताई तो वो उसके लिए तैयार हो गई।मैं उसे लड़कों के बाथरूम में ले गया, दरवाजा अंदर से बंद कर लिया. मैंने झट से मेरा मुँह बाजू किया, तो बोली- साले हरामी इतनी जोर कोई चुत में लंड डालता है क्या … निकाल लंड मेरी चुत से … आह मुझे नहीं चुदवाना तेरे मूसल लंड से. और लेडीस का सेक्समेरे पैन्ट में बना हुआ तंबू देखकर वो मुस्कुराईं और बिना कुछ बोले मेरी पैन्ट उतार दी.

अब मैं उसके सामने सिर्फ चड्डी मैं था और चड्डी के अन्दर मेरा लंड फुंफकार मार रहा था.

चूंकि वह बीच-बीच में समीर से भी चुदाई करवा रही थी तो किसी को पता नहीं चला कि वह बच्चा किसका है, सिवाय नीलम के। वक्त के साथ-साथ नीलम अपने ससुर की इतनी दीवानी हो गई कि उसका ससुर कहे तो वह बीच चौराहे पर अपनी चूत और गांड की चुदाई करवा ले. मैं बोला- एक उपाय है, लेकिन तुझे भी मेरा बराबर का साथ देना पड़ेगा … बोल मंजूर है … तो बोल!वो मोनाली बोली- मुझे तो कब से वही चाहिये.

मैं उसके बाल सहलाते हुए उसके कान पे किस करने लगा, जिससे वो सिहर उठी और अपनी चुत को लंड पर दबाने लगी. उस रात मैंने रीतिका के साथ शराब पी थी, जो मैं विदेशी ब्राण्ड की लेकर आया था. अब ये आप पर है कि दोस्तो कि आपको मेरी पहली सेक्स कहानी कैसी लगती है.

मगर तुम ऐसे शरमाओ मत। जिस तरह मैं तुम्हारे जिस्म को अपनी आँखों में समाना चाहता हूँ वैसे ही तुम भी आज अपने इस दीवाने की तस्वीर अपनी आँखों में क़ैद कर लो.

पति ने हल्का सा दबाव दिया तो मैं उचक गई लेकिन उन्होंने मेरे चूतड़ों को अपने हाथों से पकड़ कर वापस ही नीचे दबा दिया. मम्मी बोलीं- तुम्हारी साँस फूली हुई क्यों है?मैंने कहा- अभी मेरी आंख खुली है, मैं कोई सपना देख रही थी … और शायद इसलिए ही ऐसा हो गया होगा. फिर मेरी गांड पर लंड को रगड़ते हुए झुक कर मेरे कान में बोले- रात को जमकर चोदूंगा मेरी जान!मैं मुस्कराती हुई उठी और जल्दी से अपनी मैक्सी पहन ली.

कुत्ते का दांत लगने पर क्या किया जाएतो मैंने उसी से पूछ लिया कि ऐसे में क्या करना चाहिए?उसने कहा कि अगर तुमको कोई एतराज़ नहीं हो, तो क्या मैं आज तुम्हारे साथ तुम्हारे फ्लैट पर चल सकती हूँ. मैंने उससे हर समय साथ निभाने का वादा किया, मैंने कहा- तुमको कभी भी … कहीं भी मेरी जरूरत हो, बस याद कर लेना.

क्सक्सक्स सेक्सी वीडियो देसी

पंकज ने पूछा- ये क्या कर रही हो?तो सारिका हंस कर बोली- तुम्हारे पास तो मैं हूँ आग बुझाने को … पर राहुल की आग कौन बुझाएगा? इसीलिए आग पर पानी छिड़क कर उसे बढ़ने से रोक रही हूँ. पर कुछ यही हाल निक्कू का देख कर मैंने राहत की सांस ली।पति के दोस्त के लम्बे मोटे लंड से मेरी चुदाई और मेरी इच्छापूर्ति व वासना तृप्ति की कहानी कैसी लगी?[emailprotected]आगे की कहानी:बीवी की बड़े लंड की चाहत-2. दस मिनट बाद सुमिना थाली में गर्म-गर्म राजमा चावल लेकर मेरे साथ वाले सोफे पर आ बैठी.

मुझे एक ख्याल आया कि ये लड़की खेली खाई है क्यों न इसकी गांड मार ली जाए. काफी देर तक ऐसे ही पड़े रह कर एक दूसरे को चूमने के बाद हमने कपड़े पहन लिए. अपने पूरे दिल से वह चाहती थी कि वह उसे रोके लेकिन वह अपनी भावनाओं को छुपा रही थी.

अब मेरे अंदर काजल के लिए प्यार और वासना दोनों का मिला-जुला भाव उमड़ रहा था. मेरे मुँह से निकल गया- आपकी जैसी मेरी वाइफ होती, तो मैं अपना पूरा ध्यान ही आप पर ही रखता, कभी आपको अपने से दूर ही नहीं रखता. अब मैंने जैसे ही लंड को चूत की फांकों में रखा, वो घबरा कर पीछे को चली गई.

दिन में हम दोनों आराम से मजे लेते हुए गांड चुदाई का आनंद लेना चाहते थे. मैं पेट के बल लेट गयी और उसने मेरा पेटीकोट मेरी गांड तक कर दिया था.

भाभी ने भी ज़रा सी देर नहीं लगाई और ज्यादा जोश से मेरे मुख में जीभ डाल के चुम्बन का मजा लेने लगी। बहुत देर तक हम ऐसे ही एक दूसरे को चूमते चाटते रहे और लंड ने मेरी पैंट में तंबू बना दिया.

काफी देर तक हमने एक दूसरे के होंठों को चूसा और इस बीच मैं बराबर उसके चूतड़ों को मसलता रहा. घर बनाने वाला कार्टूनउसके बाद जब भी मैं ससुराल जाता, तब मेरी सास मुझसे किसी न किसी तरह उकसाए रहती थीं. सेक्सी वीडियो फिल्में वीडियोबस, फिर भाई को भी गुस्सा आ गया और उसने अपने पूरे कपड़े उतार फेंके और मेरे सामने ही नंगा हो गया. उसकी पैंटी पहले से ही योनिरस लथपथ थी और वह और ज्यादा सहन नहीं कर सकती थी। वह उसके लिए सब कुछ उतार देना चाहती थी.

मेरा लंड तो जैसे तनाव के कारण उत्पन्न होने वाले प्रेशर से फटने वाला था.

मैंने प्रीति के मम्मों को दबाते हुए पीछे से उसकी गांड पे अपना लंड चिपका दिया और उसकी गर्दन पर किस करने लगा. उसने मुझे नंगा करके मेरी पूरी बॉडी पर ऊपर से नीचे तक हाथ से सहलाया और फिर हमने एक-दूसरे को किस करना चालू किया. कहीं मेरे अब्बू मुझसे पहले घर पहुंच गए तो मेरी शामत आ जाएगी।मैंने उसको ढांढस बंधाया और इसी बीच आधे घुसे लंड से ही आगे पीछे करता रहा। मैंने उसको कहा कि वो अपनी दोनों टांगों से मेरी कमर को बाँध ले.

जब मैं बिल्कुल रुक गया तो दो मिनट तक नेहा के ऊपर लेटे रहने के बाद उठने लगा तो आंटी बोली- बस कर, अब मेरी तरफ भी देख ले. थोड़ी देर में सारिका भी रूम में आ गई और वो अपने साथ आइसक्रीम भी लाई. मैं फिर उनके कन्धों पर दोनों हाथ रख कर बोला- क्या पिछले सात सालों में कभी आपका मन नहीं किया था?इस पर वो बोलीं- लेकिन अगर किसी को ये सब पता चल गया, तो सब क्या सोचेंगे? और मेरी बेटी को पता चला, तो फिर वो …मैं उनकी बात बीच में काटते हुए बोला- कौन बताएगा? आप … या मैं? हमारे अलावा किसी तीसरे को जब ये बात मालूम ही नहीं है, तो फिर कौन किसे बताएगा?वो बोलीं- लेकिन फिर भी.

इंग्लिश बीएफ इंग्लिश

फिर उसने मेरी टांगें खोलीं और बीच में चुत पर थूक लगाकर लंड घुसा दिया. मैं भी मोहिनी को कंधे से पकड़ कर ढांढस बंधाने लगा- कोई बात नहीं मम्मी जी, हम समझते हैं, मैं भी जवान हूँ … आप भी काफी समय से प्यासी हो … अंजाने में ऐसी ग़लतियां हो जाया करती हैं. हालांकि उसकी गांड एकदम कसी हुई थी, लेकिन फिर भी मेरे लंड से निकली चिकनाई की वजह से लंड धीरे धीरे आसानी से अन्दर बाहर होना शुरू हो गया.

मैं पानी उन्हें देने जा रहा था, लेकिन मैंने उन्हें पानी नहीं पिलाया बल्कि पानी उनके ऊपर गिरा दिया.

जब रात को मैंने पति के लंड से चुदते हुए उनको ये खबर सुनाई तो वो खुश हो गये.

आप थोड़ी देर रुक चाय पीकर चले जाना।मैं मान गया और उनके साथ ऊपर चला गया उनके फ्लैट पर।मैं भाभी को हंसाने की पूरी कोशिश कर रहा था पर भाभी कुछ उदास थी जो स्वाभाविक भी था।इस दौरान मैंने भाभी की खूबसूरती को जी भर के निहारा जो उन्हें समझ में आ रहा था। चाय का राउंड हुआ तो मैं आने लगा हालांकि मेरा मन नहीं था आने के और उनका भी मन नहीं था मुझे वापस भेजने का।फिर वो ही बोली- अब डिनर कर के चले जाना. मैंने भी नाटक शुरू किया और कहा कि ये कैसे मुमकिन है … और मुझे आपका आधा घरवाला बनने के लिए क्या करना होगा?भाभी बोलीं- कुछ नहीं पगले, तुझे तो मुझे खुश करना है. छोटी बच्ची से सेक्सउसके बाद मैं बेड पर ऊपर चढ़ गई और अपने दोनों पंजों को बेड से बाहर करते हुए अपना चेहरा और अपने चूचे मैंने बेड पर टिका लिये.

मैं- तो फिर आप ही सोच लो कि क्या हुआ होगा … इस रंडी ने भी तो मुझे चाबुक से मारा था, मेरा बदन पूरा काट दिया था. फिर मैं उनके लंड को मुँह में लेके चूसने लगा और वो निढाल होकर लेट गए. उन्होंने मुझसे पूछा- तुम्हारा पहली बार है क्या?तो मैंने उनको बताया कि मैंने तो आज तक किसी लड़की को नंगी तक नहीं देखा.

मेरी दीदी बोली- मेरे भाई, जिस हाथ से तुझे राखी बांधी उसी से मैंने तुझे तमाचा मार दिया. पांच मिनट बाद आंटी की चूत ने भी गर्म-गर्म पानी मेरे लंड पर छोड़ दिया लेकिन मैंने आंटी को उठने नहीं दिया.

मैं मम्मी के डर से नहीं जाना चाहता था, पर आंटी के साथ बात करने की लालच में मैं अन्दर जाकर बैठ गया.

हम दोनों कुछ देर ऐसे ही एक दूसरे की बांहों में पड़े रहे। थोड़ी देर बाद युवराज मेरे ऊपर से हटा और नीचे लेट गया पर मैं उसी अवस्था में लेटी रही. उन्होंने बोला- मन नहीं करता कि कोई तुम्हारी गर्लफ्रेंड बने?मैं बोला- चाहता तो मैं भी हूँ … लेकिन कौन बनेगी मेरी गर्लफ्रेंड. शिवानी की बात से मुझे तसल्ली हो गई कि यह नालायक उसको फुसला नहीं सकी.

तिरपल सेक्सी वीडियो हिंदी इतना सुनते ही मेरे शरीर से भी करंट सा निकलने लगा और मैंने धक्कों की गति बढ़ा दी, 10-12 गहरे और तेज झटके मारते ही लंड उफान पर आ गया. मैंने लंड को चूत में चला कर देखा तो पूरा लंड उसकी चूत के रस से गीला हो चुका था.

सर ने कहा- अर्पित, आशना पीती तो नहीं है, पर हमारे लिए बोतल तो ला सकती है ना!अर्पित बोला- हां … क्यों नहीं … आशना … हमारे लिए बोतल तो ला दो. जब तीन दिन गुजर गये तो मेरी बेटी ने कहा कि अब उसको कॉलेज जाना है नहीं तो फिर पढ़ाई का नुकसान हो जायेगा. उन्हें देख कर जी करता था कि इनको अपने हाथों से ऐसे मसलूँ, जैसे महिलाएं आटा गूंथती हैं.

बीएफ वीडियो गाने डीजे सॉन्ग

ये लंड डालने पर पता चल रहा था कि सच में उसकी चूत में बहुत दिनों से लंड नहीं गया था. फिर मैंने अपना दूसरा हाथ भी उसकी छाती पर रखा, तो उसने हल्की सी सिसकारी ली. जैसे वो मेरे करीब आना चाहती हो।मेरा लंड तुरंत मेरी लोअर में खड़ा होकर पूरे तनाव में आ गया.

अब तो वो भी मजे लेकर चुदने लगी- आह राहुल, मरर गयी मैं!मैंने कहा- सब ऐसे ही मरते हैं. फिर मैंने उनके पेट को सहलाते हुए उनसे पूछा- कल रात को मेरे साथ कैसा लगा?वैसे ही वो छूटते ही बोलीं- सचमुच बहुत मज़ा आया.

भाभी के मुँह से जोर जोर से आह उह की सिसकारियां निकलने लगीं और वो मेरा सिर अपनी चूत पर दबाने लगीं.

उनकी साड़ी और पेटीकोट ब्लाउज वहीं दरवाज़े के पास बिखरे पड़े थे और वो एक अप्सरा की भाँति मेरे सामने चमक रही थीं. सच में तेरा पति बहुत किस्मत वाला होगा।परीशा- और आप नहीं हो क्या?परीशा धीरे से मुस्कुरा देती है।मुकुल राय- सच में तेरी जैसे बेटी पाकर तो मेरा भी नसीब खुल गया. उन्होंने मेरे अन्दर घुसते दरवाज़ा बंद किया और प्यार से पूछा- सामान किधर है? किसी ने देखा तो नहीं?मैंने मना किया, अपना बैग साइड पे रखके उन्हें अपने आग़ोश में ले लिया.

शबनम कसमसा गयी, बोली- नहीं जीजू, ये नहीं … वर्ना फिर काबू नहीं होगा. परवीन- क्या देख रहा है?मैं- आपका जिस्म … आप बहुत ही सेक्सी हो आंटी. सेक्स का ऐसा जोश चढ़ा हुआ था कि पांच मिनट से कम समय में ही मेरा वीर्य छूटने को हो गया.

वो मेरी आंखों में आंखें डाल कर अपने मुलायम होंठों से गोटी को चूसने लगा.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी बीएफ: मैं कॉलेज के आने के बाद ज्योति के घर गया, क्योंकि मेरे खाने का इंतजाम उसके घर पर ही था. यह सुनकर मेरा जोश बढ़ गया और मैं उनके लंड को और भी जोर के साथ चूसने लगा.

उसी पल मैंने उसको अपनी तरफ दोबारा से खींच लिया और उसको फिर से अपने पास में ही बेड पर बिठा लिया. मैंने फिर से पूछा- कितनी देर तक देखा आपने ये सब?वो बोली- एक घंटे तक।हैरान होते हुए मैंने कहा- एक घंटा! आपको इस दौरान कुछ हुआ नहीं क्या?वो पूछने लगी- क्या नहीं हुआ?मैंने कहा- बहुत मन किया होगा ना (सेक्स) करने का?मेरी बात सुन कर उसकी सांसें और तेजी से चलने लगीं और मेरा दिल दिल भी जोर से धड़कने लगा था. उसकी आँखों में आँसू भरे हुए थे जैसे कि उसके बचपन का सपना टुकड़ों में बिखर गया हो.

फिर शुरू हुआ हमारी बातों का सिलसिला और हम कभी मैसेज में तो कभी फोन पे घंटों बातें करने लगे.

थोड़ी देर में वो लड़की नीचे उतर गई और उस लड़के से चिपक कर दोनों लेट गए. उसको बाथरूम में चुदने में इतना अधिक मजा आ रहा था कि कुछ बताना भी हो तो पूरा किस्सा लिखना पड़ेगा. दस मिनट बाद सुमिना थाली में गर्म-गर्म राजमा चावल लेकर मेरे साथ वाले सोफे पर आ बैठी.