नई वाली बीएफ दिखाओ

छवि स्रोत,बूब्स मस्सगे

तस्वीर का शीर्षक ,

ಆಂಟಿ ರೋಮ್ಯಾನ್ಸ್: नई वाली बीएफ दिखाओ, मैं- लेकिन आप क्यों याद कर रहे हैं उसको?अर्चना- मैं भी एक लड़की हूं और मेरी भी तो फीलिंग है.

कैटरीना कैफ की चूत

उनकी दहाड़ सुनकर मैं डरता हुआ उठा और चुपचाप मुँह धोकर दूध लेने के लिए बर्तन लेकर निकल गया. संतोषी माता फोटो hdउसके साथ जब चुदाई का दूसरा राउंड चल रहा था तो मेरी सौतेली मां भी उसी कमरे में आ गयी जिसमें मैं तनु की चुदाई करके उसके साथ नंगा लेटा हुआ था.

हो सकता है कि वो मेरे शरीर से खेलने के बाद ब्रेकअप कर ले और समाज में मेरी रुसवाई कर दे. करने वाला सेक्सी वीडियोमामी ने मुझे देखा और हंस कर बोलीं- मामा को तो शक नहीं हुआ न?मैंने न बोल दिया.

वो भी जोर जोर से सिसकार रहा था- आह्ह … जान … आह्ह … चूसो … आह्ह पूरा चूस जाओ मेरी रानी … आह्ह … बहुत मजा आता है तेरे साथ!मैं भी अपने बॉयफ्रेंड को पूरा मजा देने में लगी हुई थी.नई वाली बीएफ दिखाओ: मैं अपनी स्टोरी आपके लिये लाया हूं जो मेरी जिन्दगी में हुई सच्ची घटना है.

आप सभी को मेरी सास दामाद की चुदाई कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें.दस मिनट की चुदाई के बाद वो झड़ गयी और मेरे लंड को उसने बाहर निकाल दिया.

सेक्सी वीडियो हिंदी गाने - नई वाली बीएफ दिखाओ

भाभी ने मुझसे कहा- आओ मेरे पास बैठो और मुझे सच बताओ कि तुम मुझे क्यों घूरते रहते हो?मैं अब तक कुछ समझने लगा था, तब भी मेरी फट रही थी.तभी माया ने कहा- उनका घर, उनकी मर्जी … और वो नंगे थोड़ी ही ना थे … अंडीज तो पहनी थी.

उस दिन जब मैं किचन में थी तो पापा ने पीछे से मेरी गांड को मसलना शुरू कर दिया. नई वाली बीएफ दिखाओ इसके साथ ही उस आदमी के दोनों हाथ अब मेरी मां के मम्मों पर आ गए थे और वो आदमी मेरी मां के मम्मों को मसलने लगा था.

इसके बाद अमित ने मेरी बीवी के निप्पल चूसते हुए उसी नाईटी को भोसड़े तक उठा दिया और मेरी बीवी की चूत को पैंटी के ऊपर से रगड़ने लगा.

नई वाली बीएफ दिखाओ?

गर्मियों के दिन थे तो मॉम मासी के घर गई थी। दोपहर के टाइम मन नहीं लग रहा था तो मैं टेरेस पे चली गई. मैंने कमरे में आते ही अपने कपड़े बदल कर वही नाइटी पहनी और चुत को ब्लैक कलर की पैंटी से ढक लिया. मेरा मन कर रहा था कि मैं अपनी मां को वहीं पर भरे बाजार में चोद दूं.

मॉम अपनी चूचियों को अपने ही हाथ से मसलते हुए सिसकार रही थी और उसके लंड को चूत में लेते हुए आह्ह आह्ह … की आवाजें कर रही थी. लेकिन कहते है ना कि आदमी को मरने की स्थिति में सब कुछ करना मंजूर हो जाता है. फिर हम तीनों साथ में घर आए और माया ने मेरा मज़ा लेते हुए कहा- अजय जी काफी डार्क और हैंडसम हैं … नहीं!मैंने भी कहा- वो तुम्हारी सेक्सी फिगर से काफी इंप्रेस हुए थे, जिस तरह से तुम्हें घूर रहे थे.

बाजी बोली- इमरान, गांड में वैसे तो बहुत दर्द होगा पर करना हो तो कर ले. उसी दिन शाम को मैं मंजुला को एक मॉल में ले गया और शिवांश के लिए कुछ खिलौने और कपड़े खरीद दिए. बाजी आज कुछ दवाई वैगरह खाकर अपनी हिलान की रफ्तार दिखा रही थी।कुछ ही देर में बाजी का लावा फूट गया और उनकी चूत से पानी निकाल गया.

मैंने चुदाई को विस्तार से न बता कर चुदाई तक पहुंचने की बात को ही लिखा है. फिर उन सज्जन ने किसी को फोन करके पता किया फिर मुझे बताया- हां रूम तो खाली है.

दो मिनट बाद उसने अपनी टांगों खुद ही खोलकर मेरी गांड पर लपेट लीं और मेरे होंठों को जोर जोर से पीने लगी.

जब कुछ देर तक मैंने कोई भी हरकत नहीं की, तो अब उसने मेरे एक चुचे को हल्के हल्के से सहलाना शुरू कर दिया.

मॉम बोलीं- ये मेरी वीडियो क्यों बनाई?मैंने कहा- मॉम अगर तुम चुत चुदाई नहीं करने दोगी, तो मैं इसे देखकर ही काम चला लूंगा. वो सिसकारियां भरने लगी और उसने मेरे अंडरवियर में हाथ डाल दिया और लंड को सहलाने लगी।अब मैंने उसे बिस्तर पर बैठा दिया और खड़े होकर उसके मुंह को छूते हुए लंड को उसके गालों पर टच किया और फिर लंड मुंह में डाल दिया. मेरी चाची की भतीजी की शादी फिक्स हुई और घर में काम होने के कारण मुझे चाची के मायके बाइक से जाना पड़ा।मैं आपको बता दूं कि मैं पहले भी वहां जा चुका था.

मैंने कहा- बाबूजी तो कहीं जाते नहीं और बाबूजी को अकेले घर छोड़कर जाना ठीक नहीं इसलिये तुम शुभम को ले जाओ. फिर मैंने जिया को सीधा लेटा दिया और जिया की काली और सफाचट चूत के गुलाबी छेद को चाटने लगा. जिस दिन हमें हॉस्पिटल से आने में देर होती उस दिन मैं प्रियंका को उसके घर छोड़ कर अपने घर चली आया करती थी.

मैंने एक एक करके नाईटी के बटन खोल दिये और जैसे ही मेरे स्तन दिखे टी टी ने कहा- क्या तने हुए स्तन है.

फिर दीदी और मॉम दोनों ने एक साथ हां कर दी और हम तीनों सेक्स पार्टनर बन गये. कुछ ही दिनों में मैंने उसकी मम्मी से अपनी शहर की कोचिंग के बारे में बताया. उन्होंने बताया कि रिजर्वेशन एक साथ एक जगह नहीं मिला है, कुछ कम्पार्मेंट के बाद मेरी सीट है.

लंड चूसने के साथ ही भाभी मेरे लंड के गोटों को अपने हाथों से मसल रही थीं; वो पूरे लंड को अपने मुँह में गले तक ले रही थीं और इतने मजे से चूस रही थीं कि मेरी आंखें मुंद गईं और तेज स्वर में आह निकलने लगी. कल वो गर्भनिरोधक गोली ला के खिला देना मुझे!” वो अपनी कमर जोर से उछालते हुए कहने लगी. अभी उसे दो दिन और रूकना था और उसके नागराज के लिए बिल का जुगाड़ हो गया था … और क्या चाहिये था ठाकुर बलदेव को.

तो फिर तुम इतनी दूर क्यों बैठे हो? भला कोई अपनी प्रेमिका से इतना दूर बैठता है क्या?तो उसकी बात सुन कर मैंने उसे अपनी तरफ खींचा तो उसने भी मुझे अपनी बांहों में भर लिया और नशीली आंखों से मुझे देखने लगी.

माँ कसम यारो … उनको चोदने में जितना मजा आया, उतना तो मेरी गर्लफ्रैंड को चोदने में मजा नहीं आया और ना ही मेरी गर्लफ्रैंड की दोनों मामी और उसके एक विधवा बड़ी माँ (मेरे गर्लफ्रैंड की माँ की बड़ी बहन) को!मैं आप लोगों को एक बात बता दूँ कि उसकी फैमिली की सभी लेडिस बहुत चुदक्कड़ हैं। जब मैं थर्ड ईयर में बाहर में रहता था तो वो मेरे साथ हर रात बिताती थी. एक शुक्रवार सुबह किरण ने बताया- आज मेरा भाई आयेगा और दो तीन दिन के लिये शुभम को ले जायेगा.

नई वाली बीएफ दिखाओ मैंने उसकी पैंटी को अच्छे से पकड़ा और जब तक उसको समझ आता, एक ही झटके में फाड़ दिया. कुछ ही देर में उसका लन्ड छोटा होकर चूत से बाहर निकल आया।वो दोनों ऐसे ही नंगे लेट गए और सो गए।दो दिन बाद धर्मपाल रुखसाना को लेकर लखविंदर के ऑफिस के बाहर पहुंच गया जहां से वो तीनों गाड़ी में जसवंत के घर चले गए।जसवंत के घर में जसवंत की बीवी उनका पहले से ही इंतज़ार कर रही थी।वो तीनों अंदर गए और ड्राइंग रूम में बैठ गए.

नई वाली बीएफ दिखाओ तो ये लो मेरी बुलबुल!” मैंने कहा और अपने दांत भींच कर पूरे दम से लंड को उसकी चूत में पेल दिया. मैंने हंस कर उसको अपने कपड़े का थैला पकड़ा दिया, जो कपड़े उतारे थे, वो थैले में रख दिए थे.

मैंने उससे छूटने की कोशिश की लेकिन उसने मुझे बहुत कस के पकड़ रखा था.

हिंदी बीएफ ब्लू चुदाई

सुमन बिना देरी किए गाड़ी में बैठ गई और मनजीत मुझे आल द बेस्ट विश करके वहां से निकल गई. अपनी जीभ से उनकी चूत की अन्दर तक कुरेदते हुए उनकी चूत की दोनों फांकों को मुँह में भर कर चूसने लगा. वो मुझे बेड पर लेकर आराम से लेटी रही और हम दोनों एक दूसरे को चूमते रहे.

धीरे-धीरे उसका दर्द मजे में बदल गया।अब वह मेरे लंड के ऊपर आ गई थी और मेरे लंड पर उछल-उछल कर अपनी चूत की चुदाई कर रही थी।उछलते हुए संगीता के चूचे भी उसके झटकों के साथ उछल रहे थे। उसकी चूत इनकी कसी हुई थी कि हर झटके में एहसास हो रहा था कि उसके जड़ें खुद रही हैं।फिर मैंने संगीता को अपने उपर से हटाकर लंड उसके मुंह में दे दिया. मैं बोला- मुझे क्या है … तुझे ही बेसन अच्छा नहीं लग रहा था … तो मैं बोल रहा हूँ … और तू मुझे ही गुस्सा बता रही है. वो भी लंड के धक्के चूत में लगाते हुए बोला- हां साली चुदक्कड़… तेरी चूत को मैं पहले दिन से चोदने का मन बना चुका था.

अब वे मेरी नाइटी को मेरे बदन से अलग करके मेरी कमनीय काया को वासना से देखने लगे.

पर मैंने टीवी पर बाप बेटी चुदाई हिंदी साउंड पर पोर्न लगा रखी थी जो फुल साउंड पर चलने लगी. मैंने अपने बदन को ढीला छोड़ दिया और उसका साथ देने की कोशिश करने लगी. मेरा ब्लाउज आगे से और पीछे से दोनों तरफ से काफी खुला सा रहता है जिसमें मेरे अच्छे ख़ासे मम्मे सभी को कामुकता से भर देते हैं.

मैं उन्हें नीचे लेटा कर उनके सारे बदन को पागलों की तरह चूमने लगा और उनकी पेंटी निकाल दी. फिर उसने मेरे कान में कहा- भाभी, आप मुझ पर पूरा भरोसा कर सकती हैं।क्योंकि मुझे उस पर भरोसा तो था ही; मैं उससे अपने आप को प्यार करवाने के लिए तैयार थी।फिर उसने धीरे धीरे मेरी साड़ी को मेरे कंधे पर से हटा दिया. विमला सेठानी बोली- वहां से क्या देख रहा था? तुझे ये चाहिए क्या?सेठानी ने उसके सामने अपनी चूत को दो उंगलियों से फैलाते हुए कहा.

जब संजय नहाकर तौलिया बांध कर बाहर निकला, तो मैं अन्दर नहाने चली गयी. लंड आसानी से अन्दर नहीं जा रहा था … तो मैंने हेमा चाची की चूत पर हाथ तेल मला और चूत पर लगे चिपचिपे तेल को अपने लंड पर रगड़ लिया.

मुझे अपनी प्रतिक्रियाएं जरूर भेजें और मुझे इसी तरह आगे भी कहानियां लिखने के लिए प्रेरित करें. मैंने लंड को हाथ से पकड़कर जोर से चाची की गांड के छेद के अन्दर घुसेड़ दिया. उसका पति काले रंग का आदमी था और उसके चेहरे पर काफी सारे निशान व छाइयां भी थीं.

इसी तरह से उसमें सास वाले चरित्र ने लिखा था कि उसकी बेटी का घर भी बस गया और उसको चुदने के लिए एक लंड भी मिल गया.

एक बार तो मैंने सोचा कि पैसे न लूं फिर सोचा कि वो शायद इसे अच्छा नहीं लगेगा सो मैंने उसके हाथ से पैसे ले लिए और पास की डेयरी शॉप से दूध खरीदकर उसे दे दिया. उसके बाद सोनी ने चाची के बूब्स को पकड़ लिया और उसके बूब्स को पीने लगी. इसके पश्चात हमने वहीं के एक रेस्टोरेंट में डिनर किया और वापिस घर लौट आये.

मैं तो पहले से ही नंगा था, मैंने दीदी की कैप्री को एक झटके में उतार कर अलग कर दिया और फिर उनकी नारंगी रंग की पैंटी को देखने लगा. अगले दिन तकरीबन 10 बजे वो उठकर चाय पी रहा था। तब मैं उसके सामने झुक झुककर झाड़ू पौंछा लगा रही थी.

फिर मॉम बोली- देख बेटी, तेरी अब शादी हो गयी है, तेरा तो पति भी है, मगर तू फिर भी अपनेसगे भाई से चुदाईक्यों करवा रही है? जा … अपने रूम में जाकर सो जा. गर्मियों के दिन थे तो मॉम मासी के घर गई थी। दोपहर के टाइम मन नहीं लग रहा था तो मैं टेरेस पे चली गई. उन्होंने कॉल किया- आ रहा है या नहीं?मुझे कुछ पता नहीं था कि मेरे साथ क्या होना था.

बीएफ वीडियो डाउनलोड सेक्सी

अब मैं हल्के हल्के धक्के से लंड अंदर बाहर करने लगा और अब शिफ़ा को दर्द कम हो रहा था.

हम दोनों के मुंह से कुछ ऐसी आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … स्स्स … आह्ह … होह्ह … हम्म … आह्ह … यस … ऊहह् … हाह्ह … याह …ऐसे करते हुए हम एक दूसरे के जिस्मों के सहला और रगड़ रही थीं. एक दिन मैं वियाग्रा की टेबलेट्स खरीद लाई और रात को खीर की कटोरी में आधी टेबलेट पीसकर मिलाने लगी. मैंने उसकी कमर पकड़ कर अपनी तरफ खींचा, फिर खींच कर पीछे से एक झटका लगा दिया।झटका लगते ही लन्ड रुबैया की चूत में घुस गया।उसके मुंह से हल्की चीख निकल गई।मैंने लन्ड को उसकी चूत से बाहर की तरफ खींचा और फिर अंदर धकेल दिया।अब मैंने लंड को डालकर धीरे धीरे धक्के देने शुरू किये.

हालांकि मेरी मां ने डायरी में बताया था कि उस वक्त उनको उस आदमी से अपने दूध मसलवाने में अन्दर से मजा आ रहा था, लेकिन ऐसे अचानक से किसी राह चलते आदमी के साथ सेक्स नहीं किया जा सकता था. अब उसको भी समझ आ गया कि मैं अब सेक्स करने के लिए तैयार हो रही हूं तो उसने मेरे पेट को सहलाना शुरू कर दिया. jiopay खोलोवो मेरी मां को अपनी बांहों में भर कर बोला- भाभी जी, आज मेरा मन भर दो; आपका क्या घिस जाएगा … वैसे भी आप भी प्यासी हो.

पहले तू एक बच्चे की अम्मी बन जा … फिर मैं शनाज़ को …ज़ोहरा- हमारी अम्मी भी ना … अजीब बात करती हैं … अगर बेटा होगा तो तेरी शक्ल पर और बेटी हुई तो मेरी जैसी!मैं और जोहरा दोनों ही मजार की भीड़ में काफी गर्म हो चुके थे. चिकनाई इतनी अधिक थी कि मेरा लंड अधिक लम्बा होने की बावजूद सट से अन्दर तक उतर गया.

बस गर्दन झुका ली तो मैंने पैंट का बटन खोल कर निक्कर नीचे कर दिया और बाजी की चूत में लंड लगाने लगा. मैंने मनजीत को बोला- मैं तुम्हें अपनी गर्लफ्रैंड की तरह रखूंगा … पर तुम मुझे कभी भी चुदाई के लिए मना नहीं करोगी. मेरी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था और वो पच पच की आवाज के साथ समर के लंड से चुद रही थी.

मेरी पिछली कहानी थी:ममेरी सास और उसकी नवविवाहिता पड़ोसनयह मस्तराम हिंदी सेक्स स्टोरी एक दिलचस्प स्टोरी है. मेरे लंड ने चुत की फांकों में अपनी मुंडी फंसाई और मैंने जोर का झटका दे मारा. जब वो मुझसे चिपकी, तो उसके 32 के आकार के बूब्स मेरे सीने से चिपक गए और मेरा लंड फन उठाने लगा.

अब मेरी बारी थी तो मैंने भी वही किया। प्रियंका को गले पर किस करते हुए उसके उभरे उरोज़ों को मैं चूमने लगी.

चूंकि थकान काफी हो गई थी तो मैं बड़ी मम्मी वाले रूम में जा कर बिस्तर पर लेट गया. फिर उसके पति और मैंने हम दोनों उसकी चूत में एक साथ लंड देने की योजना बनाई.

इस पर ज्योति बोली- अब से सिर्फ आप और जिसे आप मेरे लिए ढूँढेंगे, वो ही मेरी जिंदगी में होगा।मैंने ज्योति को गोद में उठा लिया औऱ बिस्तर पर लिटा दिया. मुझे अपनी छाती पर बाजी की चूची महसूस हो रही थी जिससे मुझे और ज्यादा मज़ा आ रहा था। अब मैंने बाजी की चूत में काफी देर तक छेद किया. वो मेरे पति हैं, मैं उनकी दूसरी पत्नी हूँ, दस साल पहले इनकी पत्नी की मृत्यु हुई तो इनकी चार छोटी छोटी औलादें तीन लड़कियां और एक बेटा थे, हमारे रिश्तेदारों ने इनसे मेरी शादी करवा दी.

हम दोनों ने एक दूसरे को प्यार से देखा, भाभी ने मेरे सर पर किसी बच्चे को दुलारने जैसा हाथ फेरा और किस करते करते कब सो गए, कुछ पता ही नहीं चला. मैं दारू चढ़ जाने की एक्टिंग करते हुए वहीं लेट गया और उन दोनों को देखने लगा. मामी की उछलती हुई चूचियां मुझे बड़ी मस्त लग रही थीं; मैंने दोनों को पकड़ कर मसलना शुरू कर दिया.

नई वाली बीएफ दिखाओ चुत से खून भी निकल आया था, पर अब सास पर वासना फिर से हावी हो गई थी. मैंने उससे दूसरे दिन मिलने के लिए एक जगह बुलाया … और वो राजी हो गई.

बीएफ हिंदी वीडियो सेक्सी हिंदी

मेरी आंख खुली मगर मैंने सोचा कि नींद में रखा होगा और मैं भी फिर सो गयी. तभी कहीं से उसके साथी आ गए और उन सज्जन से झगड़ने लगे कि उसने उस बच्ची को खाने में कुछ मिला कर दिया है. मंजू के आंखों से आंसू निकल रहे थे और चुत में दर्द हो रहा था … पर ठाकुर नहीं रूका.

जो रोमांस चल रहा था उस पर से मेरा ध्यान हट गया लेकिन तब तक उसकी लैगी गीली हो चुकी थी. मैं उसे चोदना चाहता था पर चुदाई से पहले ही उसने मुझे अपनी बड़ी बहन से मिलवाया. हम सेक्सीमैं दो दो जवान लड़कियों के बीच में फंसा था और दोनों ही मुझे चूसने चाटने में लगी हुई थीं.

इस बात पर उसने मुझे मेरे गालों पर हल्का सा किस किया और अपने हॉस्टल चली गई.

जैसा कि मैंने बताया कि न तो अफजल उसे जानता था और न ही वो अफजल को जानती थी. पहले तो मुझे ये सब बहुत खराब लग रहा था, फिर मेरे दिमाग़ में मेरे बेटे का ख्याल आया, तो मैं फिर मज़ा लेकर चूसने लगी.

क्योंकि हमारे गांव में हमारी बहुत इज़्ज़त है … और अगर मैं ऐसा वैसा कुछ करती, तो बहुत बदनामी होती. भले ही मेरे पास सिर्फ दो तीन दिन का ही समय था और मंजुला को चोद पाना असंम्भव ही था, पर प्रयत्न करने में क्या हर्ज था?मंजुला की चूत में उतरने के लिए पहले उसके दिल में उतरना जरूरी था और शिवांश इसके लिए उपयुक्त कड़ी था यही सोच कर मैंने उसके लिए चाकलेट और खिलौने खरीदे थे. अलीमा के मन में यह बात घर कर गई थी कि उसके मम्मी पापा उसकी बात नहीं सुनते हैं, तो वो बलविंदर की धमकी से डर गई और बोली- अरे अंकल … मुझे लगा कोई और है.

मैंने मनजीत को लम्बी सी किस की और अपने कपड़े पहन कर वापिस अपने घर आ गया.

मेरी मम्मी का नाम ज्याना है, प्यार से सभी उन्हें ज्यानु पुकारते हैं. मैंने फोन उठाया तो वो मेरी गर्लफ्रेंड का नाम लेते हुए बोला- मैं इसकी माँ बोल रही हूं. राबिया बोली- बाजी हल्का सा दर्द है।बाजी- दर्द की तो दवा मैं दे दूंगी.

स्वीट ड्रीम्सआप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद।तब तक आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पर सेक्स कहानियों का मजा लेते रहिए और जुड़े रहिये. सेठानी को उसका बोझ ज्यादा देर सहन नहीं हुआ और उसने अपने पति को अपने ऊपर से एक तरफ धकेल दिया.

एशियन बीएफ

लण्ड के धकाधक अन्दर बाहर होने से प्रीति की चूत ने पानी छोड़ दिया तो फचफच की आवाज आने लगी. ऐसे ही मुझे किस करते हुए वो कहने लगी- आई लव यू भैया … आह्ह … मैं आपसे प्यार करती हूं. वीर्य स्खलन के बाद मैं बेदम होकर भाभी के माथे को चूमते हुए उनके ऊपर लेट गया.

यहां दुनिया भर से यात्री आते हैं तो स्टैण्डर्ड मेंटेन करना ही होता है. क्या मैं उसकी गांड मार सका?प्यारी सेक्स कहानी के पिछले भागआखिर सहयात्री को चोद ही दियामें आपने पढ़ा कि मैं हवाई यात्रा में बनी दोस्त को एक बार चोद चुका था. आखिर देर रात मैंने शनाज़ को एक बार और चोद कर सुला दिया और मैं भी सो गया.

मुझे लंड का स्वाद अटपटा सा लगा … मगर फिर जोश में थी तो मजा आने लगा. फिर उसकी गांड के नीचे एक तकिया रखा और अपना लंड डालने का प्रयास करने लगा. मैं- यार मैं ज्यादा नहीं पियूंगा … क्योंकि मैं दो पैग पहले ही ऑफ़िस से पीकर आया हूँ.

मेरा मन तो कर रहा था कि उसको वहीं किसी कोने में दबोच लूं और पकड़ कर चोद दूं. उसने मुझे घर वापिस आने के बारे में पूछा, मैं बोला- मामी जी आने नहीं दे रही हैं, कह रही हैं कि खाना खाकर जाना.

अभी थोड़ा रिलैक्स हो लूं तभी भूख लगेगी और खाने का मज़ा भी आएगा; और हां, मैंने आपके लिए एक मकान देखा है आज.

इस बात के बारे में मुझे तब पता चला जब मैं जॉब से शाम को घर आया और घर की चाबी किरायेदार के पास थी. तमिल में ब्लू फिल्मफिर शादी के दिन मेरी सभी सहेलियों ने मुझे अपने साथ घर से शादी में जाने के बहाने निकाल लिया. गर्लफ्रेंड की गांड मारीवैसे तो एक दो दिन में ही लौटना हो जाता था, मगर कोई बड़ा काम आ गया होता, तो 10 दिन 15 दिन के लिए भी बाहर रहना पड़ जाता था. मैंने सामने बैठे लड़कों को इशारा किया और उनमें से दो लड़के मेरे कम्पार्टमेन्ट के गेट के सामने आ गये.

फेक अकाउंट की वजह ये है कि मैं अपनी असली पहचान किसी को देना नहीं चाहता और किसी की जानना भी नहीं चाहता.

इस कहानी पर अपनी राय देने के लिए मुझे नीचे दी गयी मेल आईडी पर मेल करें. मेरा छोटा भाई तो थक कर सो गया था, मुझे मालूम था कि वो सुबह तक नहीं उठने वाला था. अब आगे:मैंने अपने लंड को तैयार किया और चाची को हटा कर सोनी की बुर पर लंड को सेट कर दिया.

मैंने बाजी की पैंटी नीचे खींच दी और घुटनों तक सरका दी।राबिया बोली- अरे उतार दे. बाबूजी (मेरे ससुर) सारा दिन घर पर ही रहते थे इसलिये अड़ोस पड़ोस में भी कुछ नहीं हो सकता था. अब मैं उनके सामने सिर्फ अपना लंड सहलाता रहा, मगर मेरी फिर से हिम्मत नहीं हुई कि मैं मामी की चूची को टच करूं.

कॉलेज की बीएफ फिल्म

कुछ ही देर बाद मैंने चुत से मुँह हटाया और भाभी के पूरे बदन को किस करने लगा. कुछ देर मैंने उसको खूब अच्छे से समझाया … तो उसको बात मेरी समझ आ गयी. मैंने कहा- बहन-भाई के बीच में ऐसा कैसे हो सकता है यार?वो बोली- अरे सब होता है.

मैंने अन्दर जाने के बाद दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया और लाइट जला कर अनूप के पास आ गई.

अलीमा के होंठों को चूसने के बाद बलविंदर धीरे-धीरे उसकी गर्दन पर किस करने लगा.

ठकुराईन ने खांसने का नाटक किया, तो बलदेव को होश आया और उसने अपनी सास का हाथ छोड़ दिया. पर वो कहते हैं ना कि अगर आप किसी चीज़ को शिद्दत से चाहते हो, तो पूरी कायनात उसे पूरा करने में लग जाती है. सेक्सी वीडियो लड़की के साथकुछ देर तक भाभी को अपना लंड चुसाने के बाद मैंने अपना लंड उनके मुँह से निकाल लिया.

ईहचिइआ … एएह … आअंकल ने मेरी टांग उठा कर अपना लंड मेरी चुत के मुँह पर टिका दिया, जिससे मैं अपने होशो हवास खो बैठी और अपने चूतड़ों को ऊपर को उछालने लगी. रोहन कुछ बोल पाता, उसके पहले अशोक ने रोहन को अपनी बांहों में भर लिया और उसको चूमने लगा. मैंने पूछा- कैसा हाल है मां?वो बोली- कल रात वाली चुदाई के दर्द का अहसास अभी भी हो रहा है.

उनकी दूधिया चूचियों के ऊपर कड़क हो चुके पिंक निप्पलों को देख कर मुझे तरन्नुम आ गई. मैं- तुम्हारी गोल गुंदाज गांड … जिसे देख कर गांड मारने का मन करने लगा.

इसके बाद 5 दिन तक हमारी कोई बात नहीं हुई, हम सिर्फ एक दूसरे को देख लेते थे.

और वहीं पास की शॉप से दो बर्गर, कुछ नमकीन के पैकेट्स, चिप्स, चोकलेट वगैरह और पानी की बोतल ले आया. दरअसल लंड लेते समय आरजू कमर हिला देती थी और हर बार मेरे लंड का निशाना चूक जाता था. मैंने भी अपनी दीदी को कभी गलत नज़र से नहीं देखा था … बस पोर्न देख कर मुठ मारता रहता था.

शेरावाली मां की फोटो मेरा मन कर रहा था कि बस इसे अभी गाड़ी में ही चोद दूँ, पर मैं थोड़ा हद में रहा और मैंने गाड़ी का दरवाजा खोल कर उसे गाड़ी में बैठाया. मैंने बुआ से उनकी उदासी का कारण पूछा तो उन्होंने कहा- कुलजीत, तेरे बिना मेरा मन नहीं लगेगा.

मैं 28 साल का हूं और राजस्थान के जोधपुर में रह रहा हूं और वहां जॉब करता हूं. करीब बीस मिनट बाद मैंने उससे पलटने को कहा और उसकी बांहों और टांगों पर मसाज करने लगा. तब मैंने मौसी से पूछा- आपकी फैमिली में कौन-कौन है?मौसी बोली- मेरा एक बेटा है अजय.

हिंदी में चुदाई वाली फिल्म बीएफ

वो बोली- मैंने कभी नहीं सोचा था कि मेरी पहली चुदाई कोई बिहारी करेगा. मेरी बीवी भी अमित के लंड पर अपना गांड और तेज चलाने लगी, जिससे दोनों का लावा एक साथ छूट गया और फिर दोनों शांत हो गए. तो मैं बोला- राखी दीदी, आप सच बताओ जब हम दोनों ने सेक्स किया था, तो आपको मेरे लंड से चुदवा कर ज्यादा मज़ा आया था या मकान मलिक के लंड से मज़ा आता था.

ये सुनकर मॉम शर्मा गईंदरअसल मेरी मॉम थोड़ा कम बोलतीं हैं … इसलिए वो चुप ही रहीं. फिर वो निचली मंजिल की बालकनी में चला गया और वहां खड़े होकर सिगरेट पीने लगा.

रानी …मेरा निकलने ही वाला है मंजुला … कहां निकालूं?”मेरे अन्दर ही बरस जाओ राजा …अब तो मुझे पूरा मज़ा चाहिए!” वो कहने लगी.

टी टी ने मुझे गोद से उतारा और बगल में बिठा दिया और बोला- तेरे को साथ लेकर गलती की, साले मादरचोद पूरा मजा खराब करेगा उंगली कर करके. मैं तेजी से उंगली को चलाने लगा और एकदम से उसकी चूत ने गर्म रस छोड़ दिया. अब मैं उसके पेट को चूमते चूमते उसकी नाभि तक आ गया। उसकी नाभि में मैंने अपनी जीभ को घुमाया। नाभि में मैं गोल गोल करके जीभ को घुमाता रहा।निशा अपनी आँखें बंद करे हुए मज़ा लेती रही। नाभि के बाद मैं उसकी चूत के ऊपरी हिस्से तक पहुँचा।उसकी गेहुंए रंग की चूत मेरी आंखों के सामने थी जिसमें मैंने धीरे से एक उंगली अंदर सरका दी.

उस लड़की से मेरी दोस्ती कैसे हुई और कैसे उसने मुझे सेक्स का मजा दिया. मामी को अपनी गोद में उठा कर मैंने किचन के स्लैब पर बैठा दिया और किस करने लगा. मैंने कहा- क्या वो वो लगा रखा है, साफ साफ बोल, मुझे समझ नहीं आ रहा.

आप मेरी सारी कहानियां क्रम से पढ़ सकते हैं ऊपर दिए गए मेरे नाम पर क्लिक करके.

नई वाली बीएफ दिखाओ: फिर मैंने जल्दी से अपने कपड़े भी उतारे और मैं उसके सामने नंगा हो गया. मैंने उसकी चूचियों की तरफ देख कर कहा- यार तुम तो सच में बहुत सुंदर हो, तुम्हारे पीछे तो लड़के मंडराते होंगे.

उसने अपनी चुत की तरफ देखना चाहा … मगर मैंने अपने होंठ बढ़ा कर उसके होंठों को दबा लिया और उसे चुत की तरफ नहीं देखने दिया. अब मैंने फिर से उसे अपने नीचे लिया और उसकी जोरदार चुदाई चालू कर दी. दोस्तो, मेरी यह गर्म जवानी की कहानी आपको अच्छी लग रही है? आप अपनी राय मुझे जरूर लिखें.

दस मिनट तक मैंने उसकी बुर को पेला और फिर मेरा पानी भी निकलने को हो गया.

आज चोद चोद के फाड़ दो इसको!मंजू के बोलने पर मेरी भी चुदाई की करने की स्पीड बढ़ गई, मैं जोर से लोडे को उसकी चूत में अंदर बाहर करने लगा।वो बोली- चोद जानू इस हरामजादी को … बहुत लंड मांगती है ये … बहुत खुजली चलती है इसमें … आज इसकी पूरी खुजली मिटा दो. अंत में चूत एकदम से सिकुड़ कर बंद सी हो गयी और उसने मेरा मुर्झाया लंड बाहर धकेल दिया. मुझे लगता है कि आप दोनों का रिश्ता काफी गहरा रहा होगा इसीलिये आप उनको इतना याद करते हो.