बाप बेटी की हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बुर का फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी बीपी सेक्सी चुदाई: बाप बेटी की हिंदी बीएफ, ये तो केवल हमारे दिमाग की सोच है कि वो बेटा है, आखिर में तो वो भी एक मर्द ही है और उसकी बीवी एक औरत ही है.

चुदाई सेक्सी वीडियो भाभी की

मादक अवस्था, अंतर्वस्त्र सूंघना व मूत्र चाटना और वीर्य चाटना सब एक साथ मस्तिष्क में घूमने लगे और वो धुंधली सी स्मृति, जब मैंने शिशु अवस्था में अपनी बुआ के सामने धरातल पर गिरा हुआ वो सफ़ेद द्रव्य चाटा था, मेरे मस्तिष्क पटल पर फिर से उभर आई थी. लाईव्ह बीपी सेक्सीतो दोस्तो, मेरी जान के होंठ इतने सुर्ख़ और नर्म हैं कि एक बार छू लूं तो हटाने का मन नहीं करता है। स्तनों की बात तो क्या करूँ आपसे … उसके स्तनों की गर्मी ऐसी है कि उसको गले लगाते ही सीना गर्म होने लग जाता है.

भाभी ने कहा- क्या तुमने अपने लिए खाना नहीं बोला था?मैंने कहा- हां मैंने निकाल लिया है. सेक्सी का हिंदी मीनिंगपढ़ें इस कहानी में कि मैंने एक ही रात में पहले लड़की की माँ को चोदा, फिर लड़की को!मेरा नाम हिमांशु है और मैं दिल्ली एनसीआर का रहने वाला हूं। मैं अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूं। मेरा जन्म हरियाणा में हुआ था लेकिन मैं शुरू से ही दिल्ली में रहा हूं।मेरी लम्बाई 6 फीट है और मैं रोज जिम जाता हूं.

मेरी देसी सेक्सी कहानी में पढ़ें कि दीदी जीजा की चुदाई देखकर मेरा मन भी ब्वॉयफ्रेंड के लंड लेने को करने लगा.बाप बेटी की हिंदी बीएफ: हम दोनों चलने लगे, तो वो तेल की शीशी उठाकर मुझसे कहने लगी- अपनी रांड बिटिया को ऐसे ही ले जाओगे … गोदी में उठा कर ले चलो.

जब उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली, तो मैंने उनके एक दूध को थोड़ा जोर से दबा दिया.उसने मेरी पैंटी उतार दी और मैं अब पूरी की पूरी उसके सामने नंगी पड़ी हुई थी.

गधा और लड़की की सेक्सी पिक्चर - बाप बेटी की हिंदी बीएफ

तब जाकर उसने मुझे धक्का देकर छुड़ा लिया।बाद में अपने होंठ दिखाया जहाँ से थोड़ा कट गया था और खून निकल रहा था।इसके बाद दोबारा से मैंने उसे किस किया तो मैं अंदर से बहुत गर्म हो गया.मैं आंटी को कुतिया बना कर उनके मम्मों को दबाते हुए उनकी गांड मारने में लगा हुआ था.

रोशन लाल अलीज़ा की चुत पर ऊपर से नीचे तक जीभ फेरता हुआ कहने लगा- आह … क्या मस्त चूत है बहन की लौड़ी की … आह आज तो तेरी चुत को मस्त कर दूंगा. बाप बेटी की हिंदी बीएफ मेरे मुंह से कामुक सीत्कार आने लगा- आह्ह… ओहह … फक मी रवि … यस … आह्ह लव यू … फक मी हार्ड … आह्ह और जोर से.

मैंने भी आंटी का सपोर्ट करते हुए आंटी के होंठों को अपने होंठों से पकड़ लिया और उनके नीचे वाले होंठ को अपने दोनों होंठों के बीच में दबाकर चूसने लगा.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ?

वो बोली- अच्छा जी!मैंने कहा- बस एक बार मिल जाओ, चोद चोद कर भोसड़ा न बना दूं तो नाम बदल देना. भाभी का जिस्म जहां जहां से भरा होना चाहिए मतलब चुचियों और गांड से एकदम भरा पूरा था. मैं भाभी की चुत को ताबड़तोड़ चोद रहा था और अब तक भाभी भी 2 बार झड़ चुकी थीं.

मैं उसकी चूत को चूसता रहा और वो मेरे लंड को अपने पैरों के बीच में दबा कर उसकी मुठ मारती रही. मगर मेरी मां को मैं बहुत अच्छी मानता था इसलिए मैं चुपचाप उसकी हरकतों को होते देखता रहा. मैं भी खुश थी कि मौसी के पास रहूंगी और पढ़ भी लूंगी क्योंकि मौसी के यहां केवल उनकी बूढ़ी सास और वो रहती थीं.

उसने मुझे बांहों में जकड़ लिया और हम दोनों जैसे जन्नत का मजा लेने लगे. मैंने कहा- बोलो अब, क्या बात करनी थी?सीमा- नाराज नहीं होगा ना?मैं बोला- अरे बाबा नहीं, बता तो क्या बात है?कुछ देर तक वो कुछ नहीं बोली. फिर उसको गाल पर किस किया और उसकी गर्दन पर किस करते हुए मैं धीरे धीरे अपने लंड को अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा.

दो दिन बाद मुझे कुछ शक हुआ तो मैंने बुआ के बेटे रघु को खेत में ले जाकर पूरी बात पूछी. ये सुनकर भाभी मुस्कुरा दीं और मेरे लंड को हाथों में भर के हिलाने लगीं और अपनें होंठों से लंड पकड़कर उस पर जीभ फिराने लगीं.

मैंने कहा- अरे होटल में क्यों रहना … आप बुरा ना मानो, तो आप मेरे घर में रह सकती हो.

मेरे मॉम-डैड को यह लग रहा था कि मैं दिल्ली कुछ दिन दीदी के पास बिताने जा रहा हूं, लेकिन उनको नहीं पता था कि मैं इस बार एक अलग इरादे से जा रहा हूं.

मेरी बंद आंखों के सामने ताई जी की बालों वाली चूत के अलावा कुछ और दिखाई ही नहीं दे रहा था. फिर खड़े खड़े मैंने उन्हें घुमाया और पीछे से ही उनकी गांड में लंड डालने लगा. पर उन्होंने कहा- नहीं … ऐसा कुछ नहीं है … बस ऐसे ही घर में कभी कभी तो कुछ अनबन हो ही जाती है.

इसके बाद मैंने होटल के काउन्टर पर फोन करके एक ब्लैक लेबल की बोतल मंगाई और सिगरेट की डिब्बी मंगा ली. मैं कुछ कहता उससे पहले वह घुटने पर होकर घोड़ी बन गई।तो मैंने पूछा – तुम्हें कैसे पता मुझे यही पोज चाहिये?पूजा- ज्यादातर मर्दों को डॉगी स्टाइल पसंद होती है। चलो रुको मत, बजाओ मेरी चूत का बाजा।मैंने बिना वक्त गंवाए पीछे से उसकी चूत में लंड डाल दिया। अब मैंने झटके शुरु कर दिए। मैंने उसकी कमर को कस कर पकड़ा और चोदने लगा. मैं उनकी मदद के लिए थोड़ा ऊंचा हो गया जिससे दीदी ने लोवर और मेरी चड्डी को नीचे कर दिया.

मुझे मजा आने लगा क्योंकि पहली बार मेरा लंड किसी औरत के हाथ में गया था.

तभी मुझे लगा कि बस अब मेरा लंड पानी छोड़ने वाला है, तो मैंने मंजू के सर को ज़ोर से पकड़ा और जोरदार पुश करते हुए मंजू के सर को पकड़ कर अपनी तरफ खींच लिया. मगर रिक्शा वाले को जो ये मौका मिला था वो किसी कीमत उसको हाथ से जाने नहीं दे सकता था. जब मम्मी घर में होंगी तो पहले तो आशीष और मैं चुदाई करेंगे ताकि मम्मी हम दोनों की चुदाई को देख सके.

जब वो भी मुझे अपनी बांहों में जकड़ने लगीं तो मैंने उनकी गर्दन को पीछे करके उन्हें देखा. वो गान्ड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी और मैं उसको जोर जोर के धक्कों के साथ चोदे जा रहा था. कुछ देर के बाद दीदी की दायीं चूची को मुंह में लेकर मैं बाईं को मसलने लगा.

मौसी की उम्र 38 साल है और वो साढ़े पांच फिट की हाइट वाली एक मदमस्त महिला हैं.

मैं उनकी चूचियों को भींचते हुए उनकी चूत में पूरा लंड अन्दर बाहर करते हुए दोस्त की सास की चुदाई का मजा लेने लगा. मुझे लगने लगा था कि कोई मेरी गांड में कोई मोटा डंडे जैसी चीज घुसा दे … मगर ये मैंने कहा नहीं.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ उत्तेजना इस कदर बढ़ गयी कि लंड की मुठ का नजारा सामने उस आदमी की सीट पर बैठी दूसरी लड़की को दिखाऊं. मेरी कहानी के पहले भागसेक्सी बहन को बीवी बनाया-1में आपको मैंने बताया था कि मेरी बहन मेरे पास ही रहने के लिए आ गयी थी.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ लंड पर सफेद सफेद सा कुछ लगा था, शायद कुछ देर पहले जब वो बाथरूम में मुठ मार कर आया था, वो रस जमा था. उसकी आंखें खुली की खुली रह गयी थी क्योंकि वो और बड़ा होकर बाहर आना चाह रहा था।मैंने उसका ध्यान न हटाकर दूसरा सवाल पूछा- आज तक आपने कितने मर्दों को नंगा देखा है?वो चुप रही और अपनी पीठ मेरी तरफ कर दी.

कुछ देर बीतने के बाद मैंने अपना थका और मुरझाया हुआ लण्ड चूत से बाहर निकाला तो मुझे कड़ कड़ जैसी हवा निकलने की आवाज आयी.

हिंदी सेक्सी वीडियो देहाती औरत

ललिता का कद पांच फीट, नैन नक्श साधारण, रंग सांवला, दुबला पतला शरीर, आँखों पर मोटे फ्रेम का चश्मा लगा था. तो क्यों न आज सासू मां की चूत चोदी जाये! ऐसा मौका फिर हाथ नहीं लगेगा. जिसमें उन्होंने मेरे तलवों से शुरू कर ऊपर जांघों तक मेहंदी की डिजाइन बनाई.

वो गान्ड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी और मैं उसको जोर जोर के धक्कों के साथ चोदे जा रहा था. सुभाष ने पूछा- सबको निपटा लेगी?उसने कहा- गांव की देसी लौंडिया जानदार लगती है. बेटा खुले घर में अपनी बीवी को चोद रहा है और आप मुझे भी देखने के लिए कह रहे हो!पापा बोले- इसमें शर्म की क्या बात है.

इसमें मैंने प्रीति से भी दो पद अधिक सीनियर प्रिया को चोदने को लेकर लिखी है.

दो दिन बाद मैंने चाची को कॉल किया तो उन्होंने कहा- पांच दिन बाद इमरान और उसके पापा दो दिन के लिए बाहर जा रहे हैं, तब तुम आ जाना. उस दिन से मैंने तुम्हें बेइंतहा प्यार किया है बल्कि यूं कहो कि तुम्हारी पूजा की है. इतने दिनों के बुरे वक्त के बाद आज मुझे लंड मिला था और वो भी एक नहीं पूरे तीन तीन लौड़े.

ट्रेन चलने से दस मिनट पहले एक अच्छी खासी मस्त भाभी मेरे सामने वाली खिड़की के पास बैठ गईं. एक बार आंटी लंड को चूसतीं और एक बार उनकी सहेली मेरे लंड को चूसने लगतीं. मैं 2 इंच तक ही अपने लंड को उसकी चूत में धीरे धीरे अंदर बाहर करता रहा.

वो आदमी सुभाष की तरफ देख कर बोला- कुछ करने की मनाही तो नहीं है न?सुभाष पट से बोला- कैसी बात करते है सिंह साहब, जैसे चाहे इस्तेमाल कीजिए, जहां डालना हो, डाल दीजिएगा. मैंने दांतों से पकड़कर उनकी पैंटी नीचे सरका दी और अब उनकी खूबसूरत चूत मेरे सामने थी.

मेरी चूत में शाहिद का लंड था और गांड में आदिल का लंड अंदर बाहर हो रहा था. इस पर अम्मी कोई भी प्रतिक्रिया नहीं देती थी क्योंकि उन्हें सिर्फ जनाजे के लिए जल्दी पहुंचना था. मार्केट आने के बाद उन्होंने शॉपिंग की और मैं भी उनके साथ ही बाजार घूमता रहा.

ये सब मैं अपनी इंडियन रंडी की चुदाई कहानी के अगले भाग में बताऊंगी।आप मुझे मेल करके जरूर बताएँ कि आपको मेरी चुदाई कहानी कैसी लग रही है, आप[emailprotected]पर मेल कर सकते हैं।इंडियन रंडी की चुदाई कहानी का अगला भाग:दुनिया ने रंडी बना दिया- 5.

उस दिन और रात और उसके अगले आधे दिन हमने खूब चुदाई की। खास कर मैंने उसकी गांड खूब मारी क्योंकि मुझे लड़की को गांड चुदाई के बाद लंगड़ाते हुए चलते देखने में आनंद आता है. वो बोला- नहीं रुक सकता मेरी जान … दर्द से ज्यादा अब तुम्हें मजा देने की बारी है. मैंने पोजीशन बनाई और आंटी की चुत में लंड घुसा कर चोदना शुरू कर दिया.

मुझे अपने बाल मित्रों वाले खेल स्मरण हो गए और मैंने भी अपने लिंग से मूत्र धार को उसकी धार से काटना प्रारंभ कर दिया. मैंने अपनी गांड को आगे पीछे करते हुए उसकी चूत में लंड चलाना शुरू किया.

अन्तर्वासना मामी की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि नाना के घर में मैंने कैसे अपनी सेक्सी मामी के साथ सेक्स किया. मैंने पूछा- और सुनाओ, तुम शादी कब कर रही हो?सीमा- तुम्हें मेरी शादी से क्या लेना भला?मैं- अरे, बस ऐसे ही पूछ रहा हूं, चलती बात पर!सीमा- नहीं, कुछ और बात है. दीदी ने मुस्कुराते हुए मेरे कानों में धीरे से कहा- कोई बात नहीं मेरे प्यारे भाई.

सेक्सी हिंदी फिल्म चोदा चोदी

तभी मॉम की आवाज़ आई- मंजू तूने नाश्ता कर लिया? नहीं किया … तो पहले कर ले.

घर वाले सब गांव में ही रूक गए थे कि हम दोनों को अकेले समय गुजारने का टाईम मिल सकेगा. मैंने उनके मुँह पर हाथ रखा और दोनों टांगें चौड़ी करके लंड को उनकी चूत पर रगड़ना चालू किया. पापा ने लवली की कमर को पकड़ लिया था और वो भी नीचे से धक्कों का जवाब धक्कों से ही दे रहे थे.

मेरे बड़े बड़े मम्मे और बड़ी गांड मेरी मचलती जवानी को साफ जाहिर कर रहे थे. ये बताते हुए उनकी नजर मेरे लोवर पर थी, जिसमें मेरा लंड बिल्कुल सीधा खड़ा था और उस जगह पर गीला भी था. कुत्तेवाली सेक्सी वीडियोउस रात मैंने रूम का दरवाजा खुला ही छोड़ दिया और पूजा को रात में दो बार चोदा.

जब मैं झड़ने वाला हुआ तो मैंने निगार आंटी को फर्श पर चित लिटा दिया और उनकी चुत में लंड पेल कर घपाघप चुदाई करने लगा. उनका निवास हमारे गांव से लगभग 15 किलोमीटर दूर एक छोटे से नगर में था.

उसने कहा कि नहीं … उंगली नहीं, इसमें मुझे सिर्फ और सिर्फ आपका लंड चाहिए. आज ये सब छोड़ … कमरे में जा, तुम्हारी दीदी तुम्हारा इन्तजार कर रही है. कुछ देर के बाद एक आदमी की आवाज सुनाई दी जो एक लड़के के साथ में बात कर रहा था.

मैंने दोबारा से उनकी जांघों को खोल कर उनकी पैंटी को खींच दिया और मामी की चूत नंगी हो गयी. तो उसके बाद …हैलो मेरे प्यारे दोस्तो! मैं दीपू अपनी कहानी आप लोगों को बताना चाहता हूं. क्या बला की खूबसूरती थी उसमें!वो कहते हैं न कि बुड्ढा भी देख ले तो पानी छोड़ जाए.

जीजा जी दीदी के होंठों को चूमने लगे और मैं दीदी की मस्त गांड को सहलाने लगा.

उसका लंड एकदम लॉलीपॉप की तरह रसीला था और उसेक लंड से निकलते प्रीकम कोई चाटने में मुझे भी बहुत मजा रहा था. मौसी की चूत शेव करते वक़्त चूत से पानी भी बाहर आ रहा था, जिससे उनकी चूत गीली हो रही थी.

कुल मिला कर ललिता में कोई आकर्षण नहीं था, शायद इसी कारण से कई बार लड़के वाले शादी से इन्कार कर चुके थे. जब मैंने सर उठा कर बिस्तर पर देखा, तो उस बेड की बेडशीट पर बहुत सारा खून पड़ा था. एक दिन मैंने अपने दोस्त से कहा- कोमल की मां की चूत दिला दे।कोमल की मां की चूत में खुद मेरा दोस्त अपना देसी लंड डाल चुका था.

अमिता एक एक करके सबके सामने ट्रे ले जाने लगी और सब एक एक करके गिलास उठाने लगे. फिर उसने मुझे बेड पर पटक लिया और मेरी टाइट पाजमी के ऊपर से ही मेरी जांघों के बीच में चूत पर किस करने लगा. दो मिनट बाद वो अमिता से अलग हुआ और बाकी सबकी तरफ देख कर इशारा किया.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ मैं दीदी को कभी किस करता, कभी उनकी टी-शर्ट में हाथ डाल कर ब्रा खींचता. मैंने पूरे जोश में मौसी की चूत को चोदना शुरू कर दिया और मौसी भी लंड को पूरी प्यास के साथ अंदर ले लेकर आनंदित हो रही थी.

इंडिया की सेक्सी कहानी

सर बोले- नहीं, इसमें थैंक्स की क्या बात है? तुम भी तो हमारी कम्पनी के अच्छे इम्पलोय हो और अब तो तुम हम दोनों के राजदार भी हो गये हो. मगर मुझे अभी भी हल्का हल्का दर्द हो रहा था … लेकिन मुझे पता चल चुका था कि आज पूरी रात मेरी गांड चुदाई होगी, तो अब ये ही सोच रहा था कि न जाने क्या होगा. मैंने कुछ ही धक्के मारे कि मुझे अपने लंड पर गर्म लावा की धार महसूस हुई.

ये कहानी आपको कैसी मुझे इसके बारे में अपने कमेंट्स में जरूर बताना और मैसेज भी करना. मैंने उनको अपने नीचे लिटा कर दोस्त की सास की चूत में एकदम से अपना लंड डाल दिया. सेक्सी चुदाई भेज दोमन तो कर रहा है कि अभी बिस्तर पर ले जाकर निचोड़ दूं और आपकी खिली हुई जवानी का पूरा रस पी जाऊं।दीदी ने हँसते हुए दरवाजा बंद करते हुए कहा- अब मैं किसी और की अमानत हूँ.

मैंने उन्हें पानी की बोतल दे दी और उन्होंने पानी पी कर बोतल वापस दे दी.

वहीं पुरुषों को छेद के अलावा और कुछ नहीं दिखता।तो अगली बार जब वो मेरे बगल में बैठी तो मैंने मौका देखकर उसका हाथ पकड़ और फिर देर तक पकड़े रहा।एक सेकण्ड के लिए वह थोड़ा कसमसाई फिर मुस्कराने लगी। इससे मेरी हिम्मत और बढ़ गयी।अब मैं अपनी कोहनी से उसकी चूची हल्के से दबा देता। वह भी इतने पास सरक आयी कि मुझे उसकी चूची छूने के लिए ज़रा भी कोशिश न करनी पड़े. मेरा पति विदेश में रहता है, जिस वजह से मुझे सेक्स करने की बहुत खुजली होती है, मेरा भी मन करता है कि मैं हर रोज चुदाई करूं.

आकाश नीचे से भी पूरा नंगा हो गया और उसका लंड एकदम से उछल कर बाहर आकर लटकने लगा. तुमने मुझे एक लड़के के साथ बात करते हुए देख क्या लिया कि तुमने समझ लिया कि मैं उस लड़के से चुदवा रही हूं! मगर मेरे भाई ने उस वक्त मेरा साथ दिया. पर ऊँची बिल्डिंग होने की वजह से किसी के देखने का डर नहीं था।विवेक मेरे ऊपर सोया हुआ था और अभी भी उसका लंड काफ़ी सख्त था.

मैं उनका इशारा समझ गई और टेबल पर रखे पर्स से बीस हजार रूपए निकाल कर मुकेश जी को दिखाते हुए कमरे से जाने का पूछा.

फिर मम्मी के रूम में घुसने के साथ ही वो जोर जोर से सिसकारते हुए कहने लगी- आह्ह फक मी जान, चोद दो मुझे. मैंने धीरे धीरे अपने लंड को साधना की चूत में अंदर बाहर करना शुरू किया और करीब 5-7 मिनट तक ऐसे ही करता रहा. फिर जब वो घर तक आया तो मन किया कि उसको अपनी पैंट खोल कर दिखा दूं अपना लंड.

सेक्सी सेक्सी रोमांटिक वीडियोशिबू मेरे मम्मों को दबा रहा था और मेरे मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगी थीं. जिया ने सर के लंड को हाथ में ले लिया और उसको एक दो बार आगे पीछे करने के बाद उसको अपने मुंह में भर लिया.

नीरू बाजवा सेक्सी वीडियो

और वो भी जब लंगड़ा कर चल रही थी तो पता नहीं मुझे एक अलग मजा आ रहा था. मैंने अपनी ब्रा को खोल दिया और चूचियों को हाथ में लेकर दबा कर देखा. मैं उसके साफ दिल प्यार से बहुत प्रभावित हुई और मैंने उसको अपने सीने से लगा लिया.

उसके कातिलाना नैन नक्श और मस्त उभारों से लग रहा था कि उसकी चूची की साइज 36 इंच की तो होगी ही. उसके साथ दो-तीन बारगर्लफ्रेंड से सेक्सभी हुआ लेकिन मुझे कुछ खास मजा नहीं आया. कुछ देर के बाद दीदी की दायीं चूची को मुंह में लेकर मैं बाईं को मसलने लगा.

जब सीनियर्स लोग दारू पीकर इंजॉय करना चाहते थे तो उनके साथ ही मजे लेते थे. जब अंडरवियर उतार रहा था तो आंटी मेरे लंड को हवस भरी नजर से देख रही थी. भाभी इस पर रोने लगीं और बोलीं- अगर ऐसा है, तो वो कभी नहीं मानेंगे कि उनमें कोई कमी है.

अमिता एक एक करके सबके सामने ट्रे ले जाने लगी और सब एक एक करके गिलास उठाने लगे. उन चारों ने मेरी सलवार निकाल दी और सभी मुझ पर भूखे शेर की तरह टूट पड़े.

दीदी सिसियाते बोलीं- यह सिर्फ राज के लिए है … मेरी गांड पर तुम नजर भी मत डालना … ओहहह उह आह यह ओह यस.

हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूस चाट रहे थे। मैं कपड़ों के ऊपर से ही एक हाथ उसके उभारों पर ले गया और उन्हें हल्के हल्के दबाने लगा. चुदाई सेक्सी भेजिएमेरे कानों में पायल की छुन छुन … छुन छुन … छुन छुन … की आवाजें आने लगी. काजल काजल सेक्सी व्हिडीओफिर 2 मिनट में उनका पानी निकल जाता था जिससे मैं उनसे बिल्कुल भी संतुष्ट नहीं हो पा रही थी. मैंने दोस्त की अम्मी को गले लगाया और किस किया और रात को फिर से घर आने का बोल कर मैं अपने घर आ गया.

दीदी ने मेरे अंडरवियर को उतार दिया और मेरा मोटा लंड बाहर निकल कर झूलते हुए दीदी के सामने फनफनाने लगा.

मगर जब मुझे कोई और नहीं मिलता तो मैं उनकी गांड को चोद कर ही काम चला लेता हूं या फिर जब बहुत मन होता है तो मैं उनको सेक्स की दवा खिला कर गर्म कर देता हूं और फिर वो भी मस्ती में मेरे साथ सेक्स के पूरे मजे लेती है. यह कह कर बलविंदर ने अलमारी से एक श्वेत रंग की मुलायम सी जांघिया दी जो कि मुझे किसी कन्या की प्रतीत हो रही थी. वो अपनी चूत फैला कर मेरे लंड पर बैठ गयी और मेरे लंड को अपनी चूत में घुसा लिया.

उसने अपनी टांगें फैला कर मेरे लंड को अपनी चूत के अन्दर धीरे-धीरे लेना शुरू कर दिया. विक्रांत ने देखा तो उसने मेरी चूचियों को कस कर भींच दिया और मेरी चूत ने उसके लंड को भींच लिया. इसके लिए मैंने दो दिन के लिए हनीमून स्वीट और चार दिन के लिए एक बीच हाउस बुक करवा दिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्स सेक्स सेक्स सेक्सी

दीदी ने मेरे होंठों से गिलास लगा दिया मैंने एक लम्बा घूँट लेकर दीदी से गिलास लेकर नीचे रख दिया और किस करते हुए मैंने दीदी के मुँह में शराब उगल दी. मंजू बोली थी- बाबा, गांड आदमी की हो या लड़की की, जब वो चुदती है, तो मज़ा देती ही है. नीचे दी गई ईमेल अपने मैसेज करें अथवा कमेंट बॉक्स में भी अपनी राय बता सकते हैं.

जैसे ही मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने अपने दोनों हाथ सामने पड़ी चारपाई पर रखे और झुक गई.

अपने चूतड़ चलाकर लण्ड को अपनी चूत में सेट करके बड़ी ही मादक आवाज में रेखा बोली- तुम अब तक कहाँ थे, विजय? मेरी शादी को 20 साल हो गये हैं लेकिन ऐसा लग रहा है, जैसे पहली बार चुद रही हूँ.

मैं तेजी से उसके लंड पर कूदते हुए उसके लंड को पूरा जड़ तक घुसवाने लगी. अब मैं कहानी पर आता हूँ। आपको अपने जीवन में घटी एक सच्ची घटना के बारे में बताता हूं. छोरी की चुदाई सेक्सीकुछ पलों बाद लंड ने चुत में जगह बना ली थी, तो भाभी को भी मजा आने लगा था.

अपने जिस्म की इस सेक्सी फिगर को मेंटेन करना मुझे बहुत अच्छा लगता है. दीदी ने मेरी गोद से नीचे उतरते हुए मुस्कराया और घुटने के बल बैठकर मेरी पेन्ट की जिप खोलने लगीं. मैं कुछ ज्यादा ही झुक कर बैठी थी तो उसे मेरे मम्मे साफ़ दिखने लगे थे.

मैंने उससे कहा कि शौर्या तुम एक बार तो मुँह में ले कर देखो … तुम्हें मजा आएगा. अगर आप में से भी कोई भाई बहन का सेक्स का सोच रहा है तो मुझे जरूर बतायें.

लड़की बड़ी है और लड़का छोटा। जबकि मेरे परिवार में मां पापा के अलावा हम दो भाई हैं.

मैं उनके चूतड़ों पर और जोर से चपत मारते हुए उनको चोदने लगा- साली रांड बोल … तुम मेरी रांड हो. सुनीता हंसी और बोली- जाकिरा कैसी रहेगी?इस पर मनोज हड़बड़ा गया और कहा- मैं समझा नहीं?अम्मी ने इस बात पर गुस्से वाले भाव दिखाए. मुझे तो अंदाजा भी नहीं कि तुम कितने लोगों से चुदवाती हो! अब मेरे सामने शरमाने का नाटक मत करो.

सेक्सी वीडियो भारतीय एचडी मां की नंगी चूची और मोटी गांड के बारे में सोच सोच कर मेरा लंड फटा जा रहा था और मैं मां की चूत के बारे में सोच कर मुठ मारने लगा. सुभाष बोला- वो यहां नहीं है, चल अब निकल यहां से … मेरे घर पार्टी चल रही है.

आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपनी राय जरूर बतायें. मेरा एक हाथ उसकी चूचियों पर था और दूसरे हाथ से मैं उसकी देसीचुत को कपड़ों के ऊपर से ही छेड़ रहा था. परेशान होकर उन्होंने नजमा आंटी से कहा, तो आंटी ने अपनी सहेली की चुदाई के लिए को अपने घर में बुला लिया.

हिंदी बोलते हुए सेक्सी

फिर किस्मत ने इशारा दिया और मुझे पता चला कि कोमल की मां एक चालू औरत है. वो मेरी लोअर के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ कर अपने हाथ में भरने की कोशिश कर रही थी. फिर मैं धीरे धीरे उसके पीछे की ओर आ गया और धीरे से उसके मोटे मोटे चूतड़ों पर अपना लंड टच करने लगा.

मैंने उनको जवाब देते हुए कहा- आंटी, मुझे अपने सोलर के काम के कारण टाइम नहीं ही मिलता. फिर आंटी अन्दर चली गई थीं, तो मैंने आंटी को आवाज़ देकर पूछा- आंटी, क्या मैं ये पार्सल खोल कर टोस्टर देख लूं, कैसे हैं?आंटी ने कहा- हां देख लो.

बलविंदर ने तेल हथेली पर निकाल कर मेरे लिंग पर मालिश करना शुरू कर दिया.

दिन भर मैं सहेली के रूम में बैठी रहती थी क्योंकि वो पड़ोस वाली औरत दिन में अपने घर चली जाती थी. ब्रा निकालते ही वो ऊपर से नीचे तक पूरी नंगी हो गयी और मैंने जोर से लंड को रगड़ डाला और मेरा पानी निकल गया. मगर मैं नहीं गया क्योंकि प्रदीप ने मुझे दो दिन तक वहीं रहने के लिए बोला था.

परिवार चिंतित था मेरी लम्बाई पिछले 3 वर्षो में केवल 2 इंच ही बढ़ी थी जो कि उचित दर से नहीं बढ़ रही थी. अपनी चूत को उसके मुंह पर फेंकते हुए उसके मुंह को चूत में पूरा घुसाने की कोशिश करने लगी. मगर मम्मी आपके साथ नॉर्मल बात कर रही थी और आज तो पक्का ही हो गया है.

वो पीछे हटी और उसने कहा- खाने में कुछ था क्या?मैंने कहा- आज मेरी तुम्हारी इस घर में फर्स्ट नाईट हो … बस मैं यही चाहता हूँ.

बाप बेटी की हिंदी बीएफ: मैंने कहा- तो मैं क्या करूं अब? मुझे मेट्रो में सिग्नल क्यों दिया आपने?वो बोली- गलती हो गयी. फिर उसको वैसे ही ले जाकर उसी जगह पर टांग देता था जहां से उतारी होती थी.

प्रिया की आवाज सुनकर प्रीति अचानक से हड़बड़ा गयी और वो मेरे ऊपर से हट गई. आंटी मेरे लंड को देख कर बोली- तुम्हारे यहां खतना करवाते हैं!मैं बोला- हां।वो बोली- तो फिर खाल तो पीछे करने का कोई झंझट ही नहीं. शायद उन्हें बात बिगड़ने का डर था। वो सब मुझे घूर-घूर के देखे जा रहे थे और मुस्कुरा रहे थे।सब मेरे हुस्न का दीदार कर रहे थे.

मैंने कहा- अरे नहीं सर, बस मैं रोज थोड़ी एक्सरसाइज कर लेता हूं इसलिए मेहनत करने की आदत सी हो गयी है.

मैं अपनी ब्रदर सिस्टर सेक्स स्टोरी आप लोगों के साथ शेयर करना चाहता हूं. ललिता के होंठों के रसपान से मेरा लण्ड काले नाग की तरह फुफकारने लगा. अलीज़ा एकदम से लंड घुसने से जोर से चीख पड़ी- आह मर गई … आआहह … मेरी फट गई … आह फाड़ दी चूतिए ने.