सी हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,ससुर बहू की नंगी चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी व्हिडिओ ओपन मध्ये: सी हिंदी बीएफ, देसी भाबी Xxx कहानी में पढ़ें कि अस्पताल में मैंने कैसे एक गर्म भाभी की चूत चोदकर मजा लिया.

एक्स एक्स एक्स योगा

इस तरह बातें करते करते पता नहीं क्या हुआ कि मैंने भी उसे किस कर दी. ब्लू वीडियो चोदा चोदी5 मिनट बाद ही मेरा सारा पानी आपा के मुंह में निकल गया जिसे आपा ने पी लिया और मेरा लंड चाट कर साफ़ कर दिया.

उसकी सांसें चढ़ गईं और वो मछली की तरह तड़पती हुई ‘म्ह्ह ह्ह्ह …’ की सिसकारी के साथ अपने दांतों को मेरी छाती में गड़ाने लगी. गिटार hd फोटो143 के जरिये जुड़ सकते हैं।हॉट कॉलगर्ल चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरी बहन को मुझसे चुदकर चुदाई की लत लग गयी- 3.

मामी रोने लगीं और रोती हुई ही कहने लगीं- अब बताओ मैं क्या बताऊं … इसी वजह से मुझे तुम्हारे नाना नानी की बातें सुनना पड़ती हैं.सी हिंदी बीएफ: मैं तब खाना बना लेती थी तो मम्मी पापा हम दोनों को घर में छोड़ कर चले गए.

थोड़ी देर लंड चुसवाने के बाद मैं उसके बदन पर गिर गया और दोनों स्तनों को बारी बारी से चूसने लगा.मैंने लंड का सुपारा अपनी बहन की गांड में पेला तो लंड अन्दर नहीं गया.

singh सेक्सी - सी हिंदी बीएफ

पर एक बात हैरान कर देने वाली भी हुई कि इतनी कम उम्र में इसकी गांड आसानी से उंगली कैसे ले रही है क्योंकि गांड में उंगली लेना कोई साधारण बात नहीं होती है.मैंने मजा लेना शुरू कर दिया, मैं अपने मुँह से मौसी के एक निप्पल को चूसने लगा.

भाभी बोलीं- हां राजा, आज तो मजा ही आ गया … जल्दी से फाड़ डालो मेरी इस कमीनी चूत को … आह्ह आह्ह ओह्ह अहह उम्म्म बहुत मजा आ रहा है. सी हिंदी बीएफ नीरज ने आगे आकर मेरे लंड को राजन के छेद पर पकड़े रखा और उसी समय मैंने झटका लगा दिया.

मैंने सोचा कि ये तो मेरी गोरी गांड फाड़ देगा तो मैंने उसे मना किया.

सी हिंदी बीएफ?

मैंने उससे पूछा- तो डार्लिंग, अब क्या इरादा है?उसने हंस कर कहा- मैंने आज की छुट्टी ली हुई है, तो मैं दस बजे तक इधर ही रहूँगी. उस दिन हरे ब्लाउज़ में उनकी चूचियां जिस तरह उभर कर दिख रही थीं तो कोई कैसे उन पर से नजर हटा सकता था. कमरे में आकर फरजाना मुस्कुरा दी और बोली- अच्छा साला रात भर से चुदाई का खेल चल रहा था.

उसने कहा- मैं तेरी रंडी हूँ … प्लीज़ अपनी रंडी की चुत को अपने लंड से तृप्त कर दे, मैं भीख मांगती हूँ. मैंने उनसे दुबारा पूछा और सॉरी कहते हुए कहा- मुझसे कोई भूल हो गई है, पर मैं आपको उदास नहीं देख सकता हूँ. बीस मिनट की इस धकापेल चुत चुदाई के बाद मेरा पूरा वीर्य झड़ कर जेबा की फटी हुई खून से लथपथ चिकनी चूत में गिरने लगा.

अम्मी की बातों को सुनकर मैं सोचने लगा कि यार अम्मी इतनी कामुक हैं कि गाली सुनकर चुदती हैं और खुद कहती हैं कि गांड मारो. बस उसी पल हम दोनों साथ में झड़ गए और निढाल होकर एक दूसरे से चिपक कर लेट गए. वो कहने लगी- अब देर न कर … जल्दी से चोद दे … जल्दी से अपना मोटा लंड मेरी चूत में डाल दे.

फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसकी गांड से आराम से चिपका कर मुठ मारने लगा. पर जैसे ही मैंने अन्दर देखा तो पापा मेरी मम्मी को हचक कर चोद रहे थे.

कुछ ही पलों में मेरा शरीर अकड़ने लगा और वो अभी भी लंड को तेज तेज चूस रही थी.

कुछ पल बाद उसने मेरा सिर पकड़ कर अपने लौड़े पर दबा दिया और मेरे छोटे से मुँह में अपना मूसल लंड घुसेड़ दिया.

वहां से अपनी चूत साफ करके वापस आईं और मुझे 4-5 किस करके बोलीं- जब तक तुम यहां पर हो, हर रोज मेरे साथ अलग अलग तरीके से सेक्स करोगे. फिर धीरे धीरे दूसरे हाथ से अपना लंड उसके छेद में एडजस्ट किया औरएक झटके में लंड अंदरडाल दिया. उसने तुरन्त रिप्लाई किया।मैंने पूछा- तुम्हारे पापा के रिश्तेदार आ गये?हाँ आ गये, बड़ा ठरकी बुड्ढा है।”क्या हुआ?” मैंने पूछा.

अब वो मेरा निक्कर उतार कर मेरा लौड़ा सहला रही थीं और मैं उनकी चूत में उंगली कर रहा था. अगले कुछ ही पलों में स्थिति ये थी कि मैं भाबी के बाल पकड़ कर उनके बाल संवार रहा था और उनका सर अपने लौड़े पर दबा रहा था, लंड को उनके मुँह में देना चाह रहा था. मुझे चोदने में उतना मज़ा नहीं आता, जितना मीनू को लंड पिलाने में आता था.

दस मिनट तक एक दूसरे का आइटम चूसने के बाद मैंने उसे सीधा किया और उसके दोनों पैर फैला कर अपना लंड उसकी बुर पर सैट कर दिया.

मुझे किस करने के लिए वो अपने होंठ मेरे पास लाने लगा तो मैंने उसे रोक दिया. धीरे धीरे मैंने एक व्हाट्सैप पर ग्रुप जॉइन किया, जहां सब अजनबी थे और बहन बीवी कीगंदी चैटकरते थे. भाबी- तुम्हें रोका किसने है?देसी Xxx भाबी का खुला इशारा पाते ही मैंने उनके बालों में हाथ डाला और सर अपनी तरफ खींच कर मैंने उनके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और उन्हें किस करने लगा.

भाभी बोली- ये क्या है … इतना बड़ा और मोटा?मेरा लंड करीब 3 मोटा और 8 इंच लम्बा है. उसके बाद मेरे भाई ने अंजलि से कहा- बहू, जाकर चाचा जी को कमरा दिखा दो।वो मुझे कमरे में ले आयी. कंपनी की कर्मचारी प्रीत, मुझको बताती थी कि किस ग्राहक को क्या अच्छा लगता है.

अब अब्बू ने अम्मी के दोनों चूतड़ों को मसलते हुए उन पर जोर जोर से तमाचे मारते हुए कहा- मेरी जान … आई लव यू मेरी जान … वास्तव में क्या गर्म चूत हो रही है तेरी … आंह क्या मस्त बड़ी सी गांड है तेरी … असगर की तीनों मौसियों की गांड से ज्यादा मस्त है तेरी मोटी गांड … क्या मस्ती से चुदवाती है तू … आंह खूब रगड़ ले लंड पर अपनी चूत को … आज पूरी रात तेरी गांड मारूंगा.

तू कल्लू के साथ क्या कर रही थी?पूनम हम्म हम्म करती हुई मुझे देखने लगी. दीपाली मुझसे बहुत जल्दी खुल गई थी और हम दोनों अच्छे मित्र बन गए थे.

सी हिंदी बीएफ मैं झुक कर उनके पेट और फिर छाती पर किस करने लगी, जिस पर वो अपने हाथों को मेरे सर पर रख कर दबाने लगे. मैं उसे चुम्मी करने के लिए जैसे ही आगे हुआ, लंड उसकी गांड में पूरा अन्दर चला गया और किसी गुदगुदी चीज से टकरा गया.

सी हिंदी बीएफ उसने यही किया, वह जल्दी से मेरे लंड के ऊपर बैठ गई और एक ही बार में मेरा पूरा लंड अपनी चूत में भर लिया. तेरी ज़िन्दगी की पहली बार की जोर जोर से चुदाई करके, तेरी कुंवारी चूत को फाड़ फाड़ कर इसमें से खून निकाल दूंगा.

योगेश ने मेरी चुत में ही अपना लंड का पानी छोड़ दिया और बहुत देर तक मेरी चुत में लंड डाले पड़ा रहा.

मां बेटे की ब्लू फिल्म दिखाएं

उन्होंने मुझको हाथ पांव पर कुतिया की तरह चलाकर वापस मेरे पिंजरे में बंद कर दिया. वो जोर जोर से कराह रही थी- आह आह उह उह वाह वाह अब्बू … मेरे चोदू अब्बू … आह उह चोद दे मुझे … मैं आपसे बहुत प्यार करती हूं. केक के साथ मेरा एक बार फिर से माल निकल गया और मौसी के मुँह में निकल गया.

इसके बारे में मुझे पता नहीं था तो मैंने कुसुम से पूछा- ये लड़की ये क्या कर रही है?कुसुम- ये लड़के का लंड मुँह में लेकर चूस रही है. भैया भी भाभी के इस प्रकार लंड को पकड़ कर ऊपर नीचे करने से अचानक घबरा गए. मैंने थोड़ा सा झुककर नसरीन आपा के चूतड़ों पर हल्का सा थप्पड़ मारा लेकिन नसरीन आपा तो बस मेरा सीना ही चाटे जा रही थी.

पर उनका चलना इतना मस्त था कि गांड को तो बस देखते ही रहने का मन होता था.

हॉट कॉल गर्ल की कहानी में पढ़ें कि मुझे चुदाई का शौक पड़ गया तो मैंने सोचा कि मैं अब से पैसे लेकर अपनी चूत चुदवाऊँगी. अब्बू आप आज मेरी बुर फाड़ ही डालो … और मेरी बिल्कुल कुंवारी कोरी प्यासी बुर को फाड़ फाड़ कर इसमें से खून निकाल दो अब्बू … आप मेरे गर्भ में अपना एक बच्चा भी डाल दो. इस रसीली कहानी सुनाने से पहले मैं आप लोगों को अपने बारे में बता दूं.

काफी नर्म मुलायम गांड थी उसकी!दबाते दबाते मैंने बीच की उंगली उसकी गांड के छेद में में घुसा दी. मैंने जल्दी ही उसकी पेंटी को उसके शरीर से अलग कर दिया और मैं उसके ऊपर आ गया. तो उन्होंने कहा- अच्छा, तुम वही राहुल हो बेटा! 5 साल हो गये बेटा गांव से यहां आए हुए! तुम बहुत चेंज हो गए हो, मैं पहचान नहीं पा रही थी। चलो अंदर आओ।फिर मैंने भी उन्हें छेड़ते हुए कहा- आप भी बहुत बदल गयी हो आंटी … शहर में आने के बाद बहुत मॉडर्न हो गयी हो।हंसते हुए उन्होंने कहा- चलो चलो अंदर बैठो.

उसको शांत करने के लिए मैंने उसे बेड से नीचे उतारा और उसके कमर को पकड़ कर बेड के किनारे ले आया. इस पर क्षिति करहाने लगी और अपनी मुंह से अजीब अजीब आवाजें निकालने लगी, मुझे बोलने लगी- राज, और जोर से … हाँ और जोर से … उम्म्ह मजा आ रहा है ….

दीपिका के फिगर की बात करूँ तो उसके बोबों की साइज 32 इंच, कमर 28 की और पिछवाड़ा कोई 34 इंच का रहा होगा. हम्म … मजेदार कैसी होती है?फ़िर मैंने खुलते हुए कह दिया- आप जैसी हो तो कोई काम की बात बने. जैसे ही मम्मी रोटी गर्म करने आईं, तो मैंने अपने लौड़े को अपने कच्छे में एडजस्ट किया.

तभी मुकेश ने मुझसे कहा- राज, मुझे रात के 11:00 बजे स्टेशन छोड़ देना.

तब भी जितने दिन मेरे माता पिता नहीं आए, वो मेरे पास ही सोती और मैं रोज उसकी गांड में लंड डाल कर सोता. एक घंटा बाद मां ने मुझसे कहा कि कविता भाभी के घर चला जा और भाभी से कटोरी लेकर आ जा. फिर मैंने सोचा कि साली जब ये नहीं घबरा रही है, तो मुझे किस बात का डर होगा.

मैं- नहीं ऐसी बात नहीं है, आप यकीन नहीं करेंगी, मैं तो आपकी खूबसूरती का पिछले 12 साल से फैन रहा हूँ. मीनू की साड़ी के पीछे से उसकी गांड में लंड ऊपर से ही फंसा दिया और उसकी गर्दन को व कान के पास चूमते हुए उसकी नाभि पर थूक मलने लगा.

फ्री भाभी पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि मुझे एक भाभी ने अपनी अन्तर्वासना शांत करने के लिए अपने घर बुलाया. मेरी आंख खुली और मैंने उसे बाहर जाते देखा, तो मेरी तो समझो गांड फट गई थी. मैंने रिंकी से पूछा- कोई दिख नहीं रहा है … सब लोग कहां हैं?मेरा मतलब उसकी फैमिली से था.

सेक्सी ब्लू पिक्चर इंग्लिश में

बुआ अपनी गांड आगे पीछे करके मज़े से चुदवा रही थीं और मैं तेज़ तेज़ अन्दर बाहर करने लगा था.

बंगले के अन्दर आते ही तिवारी ने मुझे आलिंगन किया, होंठ चूमकर बोला- महुआ, तुम्हारा स्वागत है. मैं उनके पास जाकर बैठ गया और उन्हें चुप करने की बेकार कोशिश करने लगा. मैं कंडोम लेकर नहीं गया था क्योंकि मुझे बिना कंडोम के चुत चोदने में बहुत मजा आता है.

मैं उसके दूध चूसने के बाद उसके पेट पर किस करते हुए उसकी चूत की तरफ जाने लगा. कल हम किसी काम से दिन में निकलेंगे और 2 घंटे में चुदाई का खेल खेल कर आ जाएंगे।उस समय मेरी पत्नी शिवानी बाहर गई हुई थी। बाजार से उसे आने में थोड़ा वक्त था तो प्रिया मुझे कस के किस करने लगी।वो बोली- झटपट में एक बार मेरा काम निपटा दो!मैंने कहा- क्या कर रही हो? शिवानी आ जाएगी. हिजड़ों की सेक्सी पिक्चरमेरी निगाहें जब किसी लौंडे की नजरों से मिलतीं, तो मेरे अन्दर इतनी खुशी भर जाती कि क्या बताऊं.

मैंने उससे फिर से पूछा- आपका कोई बॉयफ्रेंड है क्या?वो बोली कि हां है. उसी तरह मैंने पूरे ग्राउंड के दो चक्कर काट दिए मगर कोई बात बनती नजर नहीं आ रही थी.

मीनू मेरा लंड चूस कर उसका रस निकाल कर पी लेती थी इससे मेरी उत्तेजना तो शांत हो जाती. मैंने पैरों को इस तरह चलाया कि मेरे पैरों ने सुनीता की पैंटी को साइड में कर दिया और उसकी चूत की पंखुड़ियों को रगड़ते हुए चूत के दाने को हिला दिया. फिर मौसा जी ने मौसी को अपने पास खींचा और उन्हें पलट कर मौसी का मुँह उनकी बेटी की तरफ़ कर दिया और पीछे से लंड पेल दिया.

वो खाट पर निढाल पड़ी हुई थीं और मैं उनको पेलने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा था. वो जो बेटा बेटा बोलती थी, अब राहुल कहने लगी।नहाने के समय अपने पेटिकोट को पूरा ऊपर चढ़ाकर अपने जांघों में साबुन लगाने लगी। मुझसे एकदम सट कर बैठती … अपनी नंगी जांघों में मेरे सामने तेल लगाती।उनको इस तरह से मेरे सामने अपने जिस्म की नुमाइश करते देखकर आज मेरा मूड बदल गया था. हॉट सेक्स चैट कहानी में पढ़ें कि एक शादीशुदा लड़की से मेरा सम्पर्क अन्तर्वासना कहानी साईट के माध्यम से हुआ.

मालिक ने जिमी से कहा- मुझे जाना है, रजनी मसौदा टाइप करकर आपके हस्ताक्षर ले लेगी.

आगे जाने लगी तो मैंने भी हाथ नीचे करके अपनी धोती को साईड में करके उसके पैरों को अन्दर प्रवेश का रास्ता खुला कर दिया. मैंने अपना तना हुआ लंड उसकी चूत पर रखा और फांकों को फैला कर जोर लगा दिया.

मैंने आगे पूछा- अभी तक कितने राउंड खेल चुकी हो? तुम्हारी चूत में सिर्फ भोला का लंड ही गया है या और किसी ने भी तुम्हारी पिच पर बल्ला घुमाया है?क्षमा बोली- नहीं फूफा जी, अभी तक चाचा ने ही शॉट मारा है और वो भी एक ही बार. तो बहू ने ससुर को क्या जवाब दिया?कहानी के पहले भागकुंवारी दुल्हन की सुहागरात मनाने की लालसामें आपने पढ़ा कि बेहद खूबसूरत पढ़ी लिखी लड़की की शादी उसकी सुन्दरता के बल पर एक बहुत अमीर परिवार में हो गयी. मेरा पूरा लौड़ा उसकी गोरी सेक्सी हॉट चिकनी कुंवारी चूत में पूरा जड़ तक घुस गया.

वो विरोध करने के लिए अपने हाथ से मेरी जांघ को पीछे कर रही थीं पर उनसे कुछ नहीं हो सका. राहुल ने मुझसे कहा- अगर मुझे तुझे दोबारा बुलाना पड़े तो कैसे कांटेक्ट करूँगा?मैंने सलीम का नंबर राहुल को दे दिया और कहा- अब अगर कभी भी मुझे बुलाना हो तो सलीम को कॉल करके बता देना, मैं आ जाऊंगी. कृपया अपना प्यार ऐसे ही बनाये रखें।चलिए अब आप लोगों को ज्यादा बोर न करते हुए मैं असल कहानी पर आती हूँ.

सी हिंदी बीएफ वो फिर से चार्ज हो गई थी और गांड हिलाती हुई चूत चुदाई का मजा ले रही थी. कुछ क्षणों बाद मैं वापस उनके लंड के ऊपर नीचे होने लगी और उनके लंड को अन्दर बाहर करने लगी.

ब्लू पिक्चर ब्लू पिक्चर सेक्सी

हमने किसी को इस बात का अहसास नहीं होने दिया कि हम दोनों ने रात को जवानी का खेल खेल लिया है. देसी हॉट सेक्सी गर्ल को चोदा मैंने! वो पड़ोस में रहने वाली कुंवारी लड़की थी. अमित के केबिन में गया तो अमित बोला- यार अनुज आज तेरी बीवी मेरी रांड बनेगी तो तुझे कैसा लगेगा?मैंने बोला- यार जैसा भी लगे, तुम उसे चोद दो बस … मेरी फैंटेसी भी पूरी हो जाएगी और तुम्हें चूत मिल जाएगी,अमित ने मुझे एक चूर्ण की पुड़िया दी और बोला- लो इसे अपनी बीवी के एक पैग में मिला कर पिला दो.

तो मैंने भी अपनी रफ्तार बढ़ा दी और उसकी चूत में ही सारा माल निकाल दिया. मगर फिर भी उसे थोड़ा सा एक्सपीरियंस था तो वह थोड़ा सा सहन भी कर रही थी. तिरंगा फिल्म दिखाएंवो बोले कि लिपस्टिक और सिंदूर जो तुमने लगाया है, वो तो बता ही रहा है.

भैया की सुहागरात में मैंने यह तो नोटिस कर ही लिया था कि मोहिनी भाभी ने जरूर लंड की सवारी पहले ही कर चुकी थीं.

एक बार मैं कॉलेज से अपने घर आ रहा था, तब मैंने देखा कि मेरे घर पर तो ताला लगा हुआ है. एक दिन आकाश ने मुझे चोदते समय बोला- क्या तुम बड़े लंड से चुदाई करना चाहती हो.

मीनू की साड़ी के पीछे से उसकी गांड में लंड ऊपर से ही फंसा दिया और उसकी गर्दन को व कान के पास चूमते हुए उसकी नाभि पर थूक मलने लगा. वो लेटी, तो मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसके दूध दबाते हुए किस करने लगा. चुत के कामरस में लिथड़ी हुई उंगलियां भैया ने भाभी की चुत के दरार पर टिका दीं.

लगभग 25-30 धक्कों के बाद वो झड़ने वाली थी, तो वो बोली- आंह बाबू और तेज ऊऊ ऊहह उमम्म औरर तेज मेरे राजा और जोर से चोद दो मुझे ईए आंह!मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और अगले 10-12 धक्कों के बाद वो झड़ने लगी और निढाल होकर उसने मुझे कसके पकड़ लिया.

भाबी- तुम्हें रोका किसने है?देसी Xxx भाबी का खुला इशारा पाते ही मैंने उनके बालों में हाथ डाला और सर अपनी तरफ खींच कर मैंने उनके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और उन्हें किस करने लगा. प्रकाश के मर्दाने हाथ मेरी मोटी मोटी चिकनी गुलाबी जांघों पर फिर रहे थे. आँटी की साड़ी घुटनों तक उठी हुई थी।मैं अपने मोबाइल का फ़्लैश लाइट ऑन करके उनकी टांगों करीब से देखने लगा.

नरम अश्लीलतावो बोली- साले अभी चुत को रगड़ … गांड फिर कभी मार लेना … आज अभी तो तू बसमेरी चुत चोददे. वैसे मैं आपको बता दूँ कि हमारी इस सोसाइटी में हम लोगों का दबदबा था, जिससे यहां के अब लोग हमें अच्छे से जानते थे.

सेक्सी वीडियो लॉक

वो मुझे खेतों में लेकर आ गए और पैसे का लालच देकर मुझे नंगी कर दिया. अब आगे सेक्स सैटिस्फैक्शन स्टोरी:मीनू की झांटों भरी चूत की क्लिट ऐसी, जैसे उभरा हुआ मोती. उसी समय मुझे किसी काम से भाभी के घर जाना पड़ा, तो मैंने काम के लिए फट से हां कर दी और भाभी के घर चला गया.

अंतरा अन्दर चड्डी पहने हुई थी, उसकी चड्डी की किनारियां मुझे महसूस होने लगी थीं. उनके होंठों में कोई भी बदलाव नहीं था बिल्कुल वैसे के वैसे ही नर्म मुलायम होंठ थे. इंडियन इन्सेस्ट ससुर बहू कहानी में पढ़ें कि एक सेक्स की प्यासी बहू अपने चचिया ससुर के लंड से कैसे चुदी.

आंह क्या बताऊं दोस्तो … मैं तो समझो सातवें आसमान में उड़ने लगा था … ऐसा लग रहा था, जैसे मैं जन्नत की सैर कर रहा हूं. मैंने उससे पूछा- कुछ खाओगी?उसने कहा- हां खा लूंगी … क्या है?मैंने फ्रिज में से उसके लिए और मेरे लिए केक निकाल लिया. मौसी की चुत से जो पानी निकल रहा था उसमें मौसी की पेशाब भी मिल रही थी.

बात तब की है, जब मैं हर बार की तरह बुआ के बुलाने पर उनके घर आया था. मैंने कहा- उससे बात करके देखो!तो वो बोली- चलो, कल ही उससे बात करती हूँ।आगे की कहानी नसरीन आपा के शब्दों में:अगले दिन मैं तैयार होकर ऑफिस के लिए निकल गयी.

पहला वाला अपने लंड को सहलाते हुए बोला- तब तो मेरा मूसल आराम से गटक जाएगी.

मैंने भी सोचा शायद वो आज काम में थक गए होंगे इसलिए मुझ पर ध्यान नहीं दे रहे हैं. इंडियन चुदाई दिखाओतू उसी को चूत देती होगी।आँटी ने कहा- तुमको नहीं देना रहता तो गांव नहीं आती. वीडियो ओपन ब्लू पिक्चरघर के पास ही सेठ जी की धर्मशाला थी, वहीं पर महिला संगीत का कार्यक्रम था. भाभी ‘आह राहुल … ओह राहुल … और तेज और तेज …’ कहने लगींफिर मैं नीचे लेटा और भाभी का मुँह मेरे पैरों की तरफ करवा दिया और उनसे लंड के ऊपर बैठकर चुदाई करने को कहा.

ये सुनकर मेरी अम्मी और उतावली हो गईं कि मैं 10 बजे सो जाऊंगा, तो वो आज रात में अब्बू से अपनी गांड मस्ती से मरवा सकेंगी.

अगले दिन सुबह मेरी आंख खुली तो मैं नहा धोकर जैसे ही नीचे पहुंचामैंने देखा कि आपा पूरी इज्जत के साथ बैठी हुई नाश्ता कर रही थी. उसमें मां बेटे की चुदाई की कहानी याद करके मुझे लगने लगा था कि मैं अपनी मॉम को चोद सकता हूँ. लंड चूत की फांकों में लगते ही मैंने एक तेज धक्का दे मारा तो मेरा आधा लंड अन्दर चला गया.

मैंने भैया को कमरे में अन्दर किया और कमरा बंद करके, उन दोनों गुडलक बोला और नीचे आ गया था. तब भी उसके मुँह से निकल रही इन मादक आवाजें मेरा जोश दुगना कर रही थीं. मुझे सांस लेने में परेशानी हो रही थी तो बल्लू बीच बीच में लंड बाहर निकाल लेता और फिर से मुंह में डाल देता.

कच्चा बादाम पक्का बादाम

आज मेरी समझ में आया कि अगर औरत किसी मर्द से चुदने के लिए बेताब हो, तो बड़ी मस्त होकर चुदती है. फिर जॉनसन और मंडेला ने देखा, निशा पिंजरे में बैठकर अपनी चूत सहला रही थी. अभी इतना ही … शेष फिर कभी!आपको मेरी सच्ची इंडियन देसी चूत की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करें.

वह मुझे पिकनिक के दौरान हंसी मजाक में खेल खेल में मिली और अपना कम्प्यूटर चैक करवाने के बहाने अपनी चूत चैक करवा बैठी।भूमि भी एकदम मस्त बदन की मालकिन है, गदरायी गांड और बड़े बड़े बूब्स की मालकिन है।साथ ही सबसे बड़ी बात यह है कि उसकी सील तब तक नहीं टूटी थी मतलब बिल्कुल सील पैक माल थी।अभी हम दोनों (मैं और सायली) इंजीनियरिंग के अंतिम साल में थे.

मैंने आपा के मुंह को अपनी तरफ करके उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और आपा के होंठ चूसता हुआ उन्हें चोदने लगा.

आपा मुझे बिल्कुल भी मना नहीं कर रही थी जैसे वह आज खुद ही चुदना चाहती थी. मैंने पूछा- वो क्या पसंद करता है?प्रीत- वो अफ़सर बूढ़ा है, बहुत मुश्किल से उसका लंड खड़ा होता है. देशी भाभी ची पेटीकोटभाभी की आंखें लाल देख कर मैंने पूछा- क्या हुआ आपकी आंखें इतनी लाल कैसे हैं … क्या आप परेशान हैं?पहले तो वो कुछ नहीं बोलीं.

मगर योगेश ने मेरे दोनों हाथ कस कर पकड़ रखे थे और मेरे होंठों को अपने होंठों में भर लिया था. मैं एक हाथ से खाना खा रहा था और एक हाथ से उसकी चूत को कुरेद रहा था. अब कमरे से चपक चपक की आवाजें गूंजने लगीं, भाभी की मोटी गोरी जांघों के बीच उस कमल के फूल पर दिल आ गया था.

भाभीजी- कल मेरे जाने के बाद आपने घर में वॉशरूम यूज किया था क्या?मैंने अनजान बनकर कहा- हां क्यों?भाभीजी- हम्म … मैं समझ गई क्या बात है. उसने भी शायद मेरे पैंट के ऊपर से मेरे लंड के उभार को नोटिस कर लिया था.

उसे मैंने आपको अपनी सेक्स कहानीभाई की शादी में कुंवारी लड़की की बुर का मजामें विस्तार से बताया था.

मेरा हाथ उसकी चूचियों पर, गर्दन पर, कमर पर, पेट पर, जांघ पर, चुत पर … हर जगह घूमने लगा. आज इसकी भूख तुम्हें चोदकर ही बुझेगी … अब लो इसे अपने हाथों में और जी भरके प्यार करो. उसने अलमारी से ब्लैक ब्रा और पेंटी निकालकर पहनी और उसके ऊपर सलवार सूट पहना.

सेक्स करके जिन्हें देख कर किसी के भी लंड में पानी आ जाए … भाभी ऐसा ग़दर माल हैं. थोड़ी देर की चूत चुदाई के बाद उसे कुछ ज्यादा ही मजा आने लगा और वो मजा लेकर और आवाजें निकलती हुई चूत चुदाई करवाने लगी.

मैं सोच रहा था कि कहीं मेम का मूड फ्रेंड्स के रूम जाने का ना हो जाए. फिर मैंने किस करते करते उसकी टी- शर्ट के ऊपर से मम्मों को जोर जोर दबाने लगा. मैं भी पीछे से उनको देखने के लिए चला गया पर मॉम ने दरवाजा बंद कर दिया था.

रंडी की कहानी

तब मैंने रात को ही सोच लिया था कि अब सुबह ससुर जी जब ड्यूटी से आएंगे, तब वो ही मुझे शांत कर पाएंगे. अब अय्यर ने जेठालाल को फोन लगाया और उससे बोला- जेठालाल सॉरी यार … मैंने तुम पर बिना वजह गुस्सा किया. लेकिन मुझे लगता है कि अगर मुझे उससे दोबारा चुदाई करवानी पड़ी तो तब वो मेरी गांड मारे बिना मुझे जाने नहीं देगा.

मैंने उसकी वासना को जगाना शुरू कर दिया था और उसे अपने पोर्न देखते समय पोर्न ऐक्ट्रेस की जगह उसका होना बताना शुरू कर दिया था. अब आगे भाभी चुदाई हिंदी कहानी:उन्होंने मुझे आंखों से इशारा कर बाहर बुला लिया.

वो काफी देर तक अपने चेहरे को ठीक करने की कोशिश करती रही पर तब भी दो तीन निशान काफी गहरे बन चुके थे.

उसने इठला कर कहा- कभी इशारा तक तो नहीं दिया?मैंने कहा- मेरी फटती थी. मैंने अपनी मॉम को मामा से चुदते देखा तो पता चला कि मॉम बहुत गर्म हैं. हॉट गर्ल देसी हिंदी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि बड़ी उम्र का ससुर अपनी बहू की जवानी को ज्यादा देर तक नहीं सम्भाल पाया तो बहू ने जवान लंड की तलाश शुरू की.

वो परिवार की एक शादी में शामिल होने आई थी और यहीं से हमारे बीच वो सब शुरू हुआ जिसके लिए मैंने ये लेख लिखा है. मैंने घुटनों के ऊपर मीनू का सर रखवाया और अपना लंड उसके सर पर रख कर साइड से अपने हाथ निकाल कर उसकी गांड को सपोर्ट दे दिया. फिर मुझे बहुत मज़ा आ रहा था क्यूंकि जसवंत चुदाई करने में एक्सपर्ट लग रहा था.

मेरे ससुर का पानी बहुत ज्यादा निकला था क्योंकि दोनों काफी गर्म होकर चुदाई कर रहे थे.

सी हिंदी बीएफ: मैंने उससे पूछा- कुछ खाओगी?उसने कहा- हां खा लूंगी … क्या है?मैंने फ्रिज में से उसके लिए और मेरे लिए केक निकाल लिया. मेरे पति ने मुझे बताया कि वो सिटी से बाहर जा रहे हैं और दूसरे दिन शाम तक आएंगे.

अब मैं फिर से झड़ने वाला था, तो मैंने उसके मुँह में सारा माल डाल दिया और वो भी रस पी गई. इसलिए अगर मौका मिला तो मैं उसके साथ भी सेक्स कर लूंगी क्योंकि वह चूत बहुत अच्छी तरीके से चूसना जानता है. अब मैं खुद को रोक नहीं पाया और सोचा कि अब अपना लंड चूत में पेल ही देता हूँ.

उस समय भी बहुत हो चुका था तो मैं भी अन्दर का सीन देख कर हैरान था और डर भी गया था कि पापा ने मुझे देख तो नहीं लिया.

अगले दिन मैंने अपना वर्क हॉलिडे रखा था ताकि मुझे थोड़ा आराम मिल सके. मालिक ने मुझे कंपनी के ग्राहकों के साथ व्यापारिक कांट्रॅक्ट के कागज पत्रों के बारे में समझाया. तो आपा बोली- साले कभी गांड मरवाकर देखना, पता चल जायेगा कि कितना दर्द होता है.