बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ

छवि स्रोत,योगा वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मालिश करते हुए चुदाई: बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ, वो बार बार मादक सिसकारियां ले रही थीं, लेकिन कुछ बोल नहीं पा रही थीं.

साड़ी वाला बीएफ

बस फिर क्या था, जैसे-जैसे चूतड़ उसके पैन्डुलम की तरह हिलते-डुलते थे, वैसे-वैसे मेरे लंड भी टनटनाने लगता था. हिंदी में सेक्सी बीएफ साड़ी वाली” ऐसा बोलकर अंकल मेरी टांगों के बीच बैठ गए और मेरी चुत की पंखुड़ियों पर एक किस किया.

हम जब अपने दिल्ली वाले घर में थे तो एक दिन जब मैं नहाने के लिए तौलिया लपेट कर बाथरूम में घुसने ही वाला था कि उसी वक्त जूली घर आ पहुंची. तिरपल सेक्स बीएफलकी मैन! ऐसा बेलौस, बिना शर्त का प्यार कहाँ नसीब होता है हर किसी को? वैसे था कौन … वो खुशनसीब?”आपको सच में नहीं पता?”कसम ले लो.

कसैला सा स्वाद लिए हुए उसकी गांड को मेरा मन छोड़ने को कर नहीं रहा था.बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ: मैंने कहा- आप ड्यूटी पर नहीं जा रहे हो क्या?वो बोले- नहीं, आज तबियत कुछ ठीक नहीं लग रही.

जहां जहां मेरी नजर उसके उस कामयुक्त जिस्म पर ठहरती, उस जगह पर नम्रता के हाथ चलते जाते.फिर उसके दोनों दूधों को मुंह में लेकर चूसने के बाद मैंने उसकी सलवार को खोल दिया.

देसी लड़कीxxx - बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ

मैं बीच-बीच में उसकी गदराई हुई मांसल जांघों पर थप्पड़ मारता जा रहा था.पर मैंने अभी भी अपने कपड़े नहीं पहने थे, मेरी चुदाई की भूख अभी शांत नहीं हुई थी.

अब तो वैसे भी मैं तुम्हारा राज जानने वाला दोस्त बन गया हूं, सो अगर मुझसे फ्री हो कर बात नहीं करोगी, तो फिर सेक्स कैसे करोगी. बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ कुछ देर बाद लड़की ने अपनी पैंटी भी एक झटके में निकाल दी और बैड पर चौड़ी टांगें करके लेट गई.

बाद में उन्हें उसी कम्पनी के मार्केटिंग विभाग में भेज दिया गया तो वे दूसरे शहरों में जाने लगे.

बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ?

इस बात से ये तो मुझे समझ में आ रहा था कि उसको एक अदद लंड की कितनी जरूरत है. सुमीना मजे से आआ आउऊ उउहउ उम्म मममउ आआअ आहहा हहाह उफ आआअ हह कर रही थी और पिताजी चोदते समय कह रहे थे- ले लण्ड … पूरा लण्ड ले चूत में … और ले ले … उम्म्ह… अहह… हय… याह… तेरे भोसड़े में उतार दिया. अब मैं अदिति को पूरे वेग से चोद रहा था और अदिति भी अस्स आह उह कर रही थी.

मैं सोचती थी कि यदि ये किसी को पता चल जाएगा, तो मेरी और मेरे परिवार की बदनामी भी हो सकती थी. मेरी चूत पर थोड़े थोड़े बाल थे, जिससे उसके चूत चूसते समय उसको मेरी रेशमी झांटें और भी मजा दे रही थीं. मेरे अकड़ते हुए जिस्म पर उसका पूरा ध्यान था, मेरे मुँह से ओह-ओह की आवाज सुनकर वो मेरे लंड से उतरी और 69 की पोजिशन पर आ गयी.

मेरा गिलास में अभी तक पेग देख कर बोली- मादरचोद, मुझे चोदना है तो पहले पी. एक लंबा बैंगन मैंने छुपा कर रखा था, उसे भी अपनी फुद्दी में लेकर बहुत चुदाई करी. पर जब वो थक गयी और हांफने लगी, तो फिर उसने हटना ही मुनासिब समझा और मेरे बगल में आकर लेट गयी.

उन्होंने कहा- थोड़ी देर सो जाओ!तो मैं ऐसे ही नंगा लेट गया और वो कपड़े पहनने लगी. अब टास्क देने की बारी मेरी थी और साथ में हिसाब भी चुकाने का मौका था- चल मेरी हॉट बहना … बन जा घोड़ी.

उस दिन उसने जीन्स टी-शर्ट पहनी हुई थी और मैंने पीला सूट डाला हुआ था.

उधर गुड्डी रानी और मैं दोनों किसी रेस लगाए हुए घोड़े की तरह हांफ रहे थे.

[emailprotected]कृपया मुझसे लड़कियों का नंबर, ईमेल या चूत मारने के लिए मैसेज ना करें. इस बार मैंने ब्रा पहनी और जोर से अपने मम्मों को कुछ इस तरह से फुलाते हुए अंगड़ाई ली कि ब्रा पर जरूरत से ज्यादा जोर पड़ गया. नेहा की अपने हस्बैंड से नहीं बनती थी, प्रेग्नेंसी के बाद से झगड़ा होने के बाद अपनी माँ के पास आ गई थी और बच्चे की डिलीवरी भी यहीं हुई थी.

पति- सॉरी यार, पास पड़ी चीज पर मेरी नजर ही नहीं गयी, पर अब मेरी नजर ही नहीं हटेगी. ”मत जाओ … कहने को तो दो … महज़ दो लफ्ज़ ही थे लेकिन इन के मायने बहुत वसीह थे. अब मैंने अपना छह इंच बड़ा लंड दीपाली की चुत के मुँह पर रखा और अन्दर डालने की कोशिश की, पर सिर्फ मेरे लंड का सुपारा ही उसकी चुत में घुस पाया.

क्या मजा आ रहा था, इतना आनन्द था कि मैं शब्दों में तो बता ही नहीं सकता.

मेरी आंखों से आंसू की धार बह रही थी और आंखें लाल हो गई थीं, पर भी मेरा बेटा वंश मेरे मुँह को चोदे जा रहा था. वो मेरी छाती पर अपने नाख़ून गड़ा रही थी, जिसका मुझे दर्द भी हो रहा था साथ में मज़ा भी आ रहा था. वह बोली- मैंने आपके लिए बादाम का दूध बनाया था, मैं तो भूल गई थी! एक बार छोड़ो!वह उठ कर नंगी किचन में गई और एक बड़ा गिलास बादाम का दूध लाकर मुझे दिया.

वही हुआ भी … खाना जल्दी खा के मम्मी ये बोल कर सो गईं कि बेटा जल्दी सोना, सुबह जाना है. थोड़ी ही देर में वो बहुत गर्म हो चुकी थी, जिसका अंदाज़ा भाभी की गीली चुत से मुझे हो गया. उन्होंने मेरी नाभि को चूसा और फिर मेरे चूचों को दबाते हुए मेरे टॉप को ऊपर करने लगे.

वह बोली- क्यों, तुम यहाँ भी मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोलोगे क्या?मैंने गैस को बंद कर दिया और उसके बाद शिखा को नीचे बैठा दिया.

एक दिन वो मेरे साथ जा रही थी, तो वो मेरे हाथ में हाथ डाल कर बोली कि कल मम्मी दिन में घर पर नहीं रहेंगी और भाई भी स्कूल जाएगा. एक दिन की बात है, मेरी मम्मी अपने मायके गयीं थीं और मैं सुबह सवेरे अपने घर के बाहर झाड़ू लगा रही थी कि अंकल जी सुबह की सैर के लिए निकले.

बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ वो जानबूझकर अपने बूब्स एक के बाद एक ऊपर कर रही थी अब उसके दोनों बूब्स आधे बाहर थे और उसका एक हाथ पूरी तरह मेरे लंड पे था. वो बारी बारी से जीभ चलाती या फिर दांत से काट लेती। ऐसा करते-करते वो मेरे सीने, पेट और नाभि को चाटते-चाटते मेरे खड़े लंड पर अपनी जीभ फेरने लगी.

बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ उनका वो लंबा काला लंड फन निकालकर खड़ा था, उनके लंड के इर्द गिर्द भी घने घुंघराले बाल थे. कुछ देर में वो फिर से मेरे ऊपर चढ़ गया और मुझे उल्टा करके मेरी गांड मारने लगा.

उसके बाद मनोज मुझे ढूंढने के लिए बाथरूम की ओर आ रहा था लेकिन उससे बचने के लिए मैं भी बेडरूम में मनीषा के पास भाग गया.

एक्स एक्स एक्स राजस्थानी बीएफ

मगर जवानी की दहलीज पार होने के बाद मस्तराम की कहानियां मेरी दिनचर्या का हिस्सा हो गयी थीं. यही तुम्हारा काम है!” गोविन्द ने थोड़े रोब के साथ कहा।मुझे उनकी बात बड़ी अजीब लगी. पांच-सात मिनट तक वो मेरे लंड को बिना रुके चूसती रही और मेरे लंड ने फिर से उसके मुंह में ही गर्दन उठानी शुरू कर दी.

मुझे लंड चूसने के कारण ही पेशाब पीने में भी कोई शर्म या हिचक नहीं आई थी. मंत्र-मुग्ध होकर नम्रता उठी और गोल-गोल होकर नाचने लगी, उसकी पायल की झनकार मेरे कानों में रस घोल रही थी. सारा ने भी एक नया काम किया, उसने भी एक झूला बनाया और दिलिया के झूले से बाँध लिया, दिलिया को किश करने लगी और उसके मोमे सहलाने लगी.

राधिका घोड़ी बन गई और सोनल ने अपनी भाभी के पीछे जाकर उसके दोनों चूतड़ों पर जोर से एक एक चपत मार दी, जिससे राधिका सिहर उठी.

फिर मैंने उंगली उसकी चुत में घुसेड़ दी और उसने मेरे लंड को मुँह से निकाल कर एक बड़ी गहरी सांस लेते हुए मुझे अपनी कामाग्नि का अहसास कराया. उस दिन मौसम को देख कर मेरा मन मानसी की चुदाई करने के लिए मचल रहा था. वो चिल्लाने को हुई तो मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ जमा दिए, जिससे उसकी आवाज दब गई.

उस दिन उस खिड़की पर पर्दा नहीं लगा था और अंदर लाइट जलने की वजह से सब कुछ साफ दिखाई दे रहा था. उसने कहा- रूकिए जनाब … इतनी जल्दी मेरे प्रति राय मत बनाइए, मुझे तुमको कुछ और भी बताना है. मैंने एक चूची को अपनी बेटी के मुँह में दे दिया, जिससे वो दूध पीने लगी.

मैं भी थक चुका था, तब भी मैंने दारू की बोटल मुँह से लगा कर नीट खींची और भाभी की चूत पर पिल पड़ा. दोस्तो, बिहारन चन्द्रा भाभी को मैंने किस तरह से चोदा और उन्हें चुदाई से पहले अपने सपनों में चोदने की कहानी सुना कर मजा दिया … ये सब मैं आपको इस सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.

ज्यादा उल्टियां आने पर सीमा ने नितिन से कहा- इसे लेकर डॉक्टर के यहाँ जाना पड़ेगा. मैंने भाभी के बूब्स को दबाते हुए कहा- भाभी जान … आपकी कसम किसी को नहीं बताऊंगा. मीता- आप ऐसा क्यों कह रहे हो?मैं- तुम वो सब छोड़ो, तुम ये बताओ कि तुमको मदद चाहिए या नहीं.

मैं उसके कानों की तरफ गया और कानों पर किस करके बोला- मास्टर वांट्स योर ब्रा! (मालिक को तुम्हारी ब्रा चाहिए)उसने नजरें झुकाये रखी.

बिना समय गंवाए मैंने लंच के समय रेस्ट रूम को अन्दर से लॉक करके अर्चना को जोर से कस कर बांहों में भर लिया. मैं बोला- तो तुम हमें चुदाई करते देखती हो, तो तुम्ह़ारा मन नहीं होता?इस पर वो शर्मा गई. डॉक्टर- क्या सेक्स करने के बाद तुम बैठकर पढ़ती हो, तो क्या तुम्हारा ध्यान भटकता है? दोबारा सेक्स की तरफ जाता है?मैं- जी डॉक्टर, मैं सेक्स करने के बाद तो खूब दिल लगा कर पढ़ती हूँ और मेरा ध्यान इधर उधर नहीं भटकता है.

फिर एडल्ट जोक्स और गरम फोटोज के बाद चुदाई वाली क्लिप्स भी आने लगी थीं. मैंने उसे सारी बात बताई तो वह खुश हो गई और अपने कपड़े हटाने में मेरी मदद करने लगी। मैं उसे चूस रहा था, अपने दांतों से काट रहा था.

मैं उनकी बात सुनकर हैरानी से उनकी ओर देखने लगी और सोचने लगी कि कहां मैं दूसरे स्कूल में धक्के खाने की सोच रही थी, यहां तो मुझे चूत के बदले में प्रमोशन भी फ्री मिल रहा है. 15-20 बार उछलने के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और वह मेरे ऊपर पसर कर सोने लगी और मेरी छाती पर लेट सी गई. बेटा, मैं तेरे स्वाभिमान की कद्र करता हूं पर तू भावनाओं में बह कर नहीं यथार्थ के धरातल पर सोच.

बीएफ सेक्सी देसी भाभी

मैंने फोन उठाकर देखा और बात की तो आशीष बोला- कहां चली गई थी तुम? चार-पांच मिनट से तुम्हारी आवाज नहीं आ रही थी.

उसे अच्छा लगने लगा। उसके बाल पकड़ कर मैंने उसे दीवार से चिपका रखा था।हाई हील्स की वजह से उसकी गांड उभर कर सामने आ गयी थी। मैंने इस पोज़ में उसके चूतड़ों पर चार पांच चपत लगाये। वो काम वासना से सिहर उठी। उसके चूतड़ लाल हो चुके थे। मैंने उसके चूतड़ों पर चुम्बन किया. ”क्या? मैं सिर्फ ब्लाउज पेटीकोट में?”अंशु ने आगे बढ़ के मम्मी की साड़ी और ब्लाउज उतार दिया- नहीं जी, ब्रा और पेटीकोट में … बल्कि पेटीकोट भी बड़ा है. अभी प्रतिभा के आने का समय हो चुका था, तो मैंने जानबूझ कर आंखें मूंद लीं.

बॉस तिरछी नज़र से मेरे गोरी चिकनी जांघों को देख रहे थे, मुझे बहुत शर्म आ रही थी. मैंने लुंगी में हाथ डालकर जांघिया को नीचे कर दिया … और लंड को आजाद कर दिया. हिंदी मारवाड़ी बीएफलंड अंदर जाने के बाद मोनी अपना मुंह कस कर भींचा हुआ था मगर फिर भी उसके मुंह से एक ऊह्ह् की सी हल्की कराह निकल गई.

अब आगे:वो मादक आवाज इतने दिनों के बाद भी आज भी मेरे कानों में गूंज रही हैं और वह सेक्सी सीन तो हमेशा मेरी आंखों के सामने चलता ही रहता है. उसने भी अपने दूसरे हाथ का पाना नीचे गिरा दिया और मेरे हिप्स पर अपने दोनों हाथ ले आया और जोर जोर से घुमाने लगा, उसकी उंगलियां मेरी गांड की दरार में, कभी-कभी मेरी गांड के छेद को छेड़ रही थी.

फिर घर जाने के बाद भी उसके साथ किसी न किसी बहाने से बातें होने लगीं. इसके लिए आजकल वे मेरी चूत में लंड पेलने के समय अपनी उंगली को थूक से गीला करके मेरी गांड में चलाते रहते हैं. अब जब उसका मन होता है, तो मेरे साथ चुदाई कर लेता है और जिस दिन मेरी बहुत इच्छा होती है कि वो मुझे रगड़े, मसले, इतनी ताकत से चोदे कि मेरा रोम रोम मस्त हो जाए, तो उस दिन वो मेरी तरफ देखता भी नहीं है.

वह बहुत हैरान हो गई थी, उसे उम्मीद नहीं थी कि मैं उसके चेहरे पर अपना वीर्य छोड़ दूंगा. उसकी चूत में से पानी निकलते हुए मेरे लंड को तरावट देते हुए बेड पर टपक रहा था. और उसके साथ ही नताशा ने अपनी मुट्ठियाँ भींच की। उसका शरीर हिचकोले से खाने लगा और उसके मुंह से एक घुटी घुटी सी चीख पूरे कमर में गूँज उठी।आआआईई ईईईईई …”गांड सेक्स की कहानी में आपको मजा आ रहा है या नहीं?[emailprotected]गांड सेक्स की कहानी जारी रहेगी.

तो वो बोले- क्या हुआ?मैं शांत थी, वो मेरे और करीब आ गए, मुझे अलग सा महसूस हो रहा था.

मेरी कार सेक्स पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी सहेली के दो दोस्तों से चलती कार में अपनी चूत की चुदाई करवाई. फिर चूत से गांड की तरफ, फिर कूल्हों को मसलते हुए कूल्हों को फैला दिया.

मैं नम्रता की पीठ से चिपक गया और उसके मम्मों को लेकर हौले-हौले मसलने लगा और फिर धीरे-धीरे उन मम्मों को भींचने की स्पीड तेज हो गयी. जीजा ने मेरी टांगों को चौड़ी किया और अपना लंड मेरी चूत पर लगाते हुए कहने लगे- बता कैसे लेगी मेरा लंड?मैंने कहा- आशीष, जैसे तुम्हारा मन करे तुम वैसे चोद दो. आगे बढ़ने से पहले मैं आपको बता देता हूं कि मेरे मामा की बहुत साल पहले ही डेथ हो गई थी.

मेरे मुख से हल्की मदभरी सिसिकारियां निकल रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह…उसने मेरी नाभि पे तेल गिराया … तो मेरे बदन में झुरझुरी पैदा हो गयी. मैंने पूछा- क्यों भला? क्या आपने ब्रा में साइज़ टैग नहीं देखा था?उन्होंने जिद सी करते हुए कहा- मैंने ध्यान नहीं दिया था … तुम बताओ न प्लीज. अब तुम मेरे जैसे अपने से दस साल बड़े इंसान के साथ तो वो सब करोगी नहीं … तुमको अपनी ही उम्र के साथ वाले के साथ करना है, सो मुझे कुछ बुरा नहीं लगेगा.

बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ पर जैसे ही भाई आता है, सीढ़ियों का गेट लगाता है और मुझको मेरे रूम से अपनी गोद में उठा कर अपने रूम में ले आता है. रमेश उसके बालों को संवारते हुए उसकी ओर प्यार से देख रहा था। रिया ने उसकी ओर देखा और कहा- मेरी गांड तो बहुत मीठी है डैड.

गंगानगर बीएफ

नितिन सीमा के गोरे गोरे मम्मों के गुलाबी गुलाबी निप्पलों को मुँह में ले कर चुहलने लगा. उसके बाद वो भी गर्म हो गया और मुझे लिटा कर मेरी कमर के नीचे तकिया लगा दिया. अन्दर का दृश्य कुछ इस तरह था कि सुमीना ने सारे कपड़े उतार रखे थे और ससुर जी भी पूरे नंगे थे और अपनी बेटी की चूत को चाट रहे थे.

क्या बात पतिदेव … सास बहुत पसंद आ रही है?”रानी अब मेरी सास नहीं है, अब वो मेरी और मेरे यार की रखैल है. अगर मेरे दिल में कोई भी ख्वाहिश हो, तो यह दोनों उसे हमेशा हमेशा के लिए पूरा करने की फिराक में रहती हैं. क्सक्सक्स सेक्स वेदिओमैं सोच रहा था कि जिस औरत से मेरी ठीक ढंग से बात भी नहीं होती उससे ऐसे गंभीर मामले के बारे में कैसे बात करूंगा.

मेरे कड़क हो चुके निप्पल मेरे सिल्की गाउन से साफ़ अपने होने का अहसास करा रहे थे.

हालांकि वो मेरी चिल्लपौं सुनकर ठहर गया और फिर अपने आधे घुसे हुए लंड से मेरी चूत को धीरे धीरे चोदने लगा. मैंने उससे कहा- कोई दिक्कत की बात नहीं है, यदि तुम चाहोगी, तो मैं पूरी कोशिश करूंगा कि तुम्हारी चुत के लिए मेरा लंड मिलता रहे.

बेचारी मेरी माँ गांव की अनपढ़ हैं, उनको क्या पता कि उनके बेटा बेटी पिछले 3 साल से बेटा और बहू बन चुके हैं. एक दिन जब कुछ लड़कियां, मुझसे एक विषय में कुछ दिक्कत थी, उसको पूछने आयी थीं, तब अर्चना भी वहीं थी. मेरी बीच वाली उंगली जल्दी-जल्दी मेरी चिकनी चूत में सरपट-सरपट दौड़ रही थी.

मैं अपनी कुर्सी पर बैठा ही था कि शुभ्रा मुझ पर चिल्लाते हुए बोली- अपने लिये पानी ला सकता था तो मेरे लिये क्यों नहीं?मामी बीच में ही बोल उठी- क्यों चिल्ला रही हो? मैं जाकर तेरे लिये पानी ला देती हूं.

वह हिजड़ा है क्या जो तुम्हें चोद नहीं पाता … क्या तुम उससे खुश नहीं हो?वह गुस्से में बोली- मेरे पति के बारे में बकवास मत करो … तुम अपना काम करो. मेरी गलती थी कि यदि मैं नेहा की शरीर की जरूरतों का प्रबंध कर देती तो आज ये रोहित हमारे लिए मुसीबत नहीं बनता. फिर मैं दिलिया की चूचियाँ दबाने लगा और सारा की चूत में उंगली करने लगा.

लड़कियां सेक्समैंने कभी चुदाई नहीं की थी मगर इतना तो सब पता ही था मुझे!उसी समय बॉस ने अपनी टांग मेरे टांग से सटा दी, मैं बिल्कुल सन्न् रह गई मगर कुछ नहीं बोली. कुछ पल बाद हीना मेरे ऊपर से उतर गई और उसने अपने रूमाल से मेरे लंड को साफ कर दिया.

बांग्ला बीएफ सेक्सी बांग्ला बीएफ सेक्सी

मेरी बात सुनकर राधिका मेरी ओर देखने लगी तो मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा ताकि सोनल उसके चूतड़ों पर चपत लगा सके. बेबी रानी ने पहले ही झपट के एक तौलिया बिस्तर पर बिछा दिया था जिससे बिस्तर गीला न हो पाए. मनोज और जागृति पूरा दिन घर पर खेलते रहते थे जबकि मनीषा घर का छोटा-मोटा काम कर लेती थी.

मेरी नाक को पकड़ते हुए नम्रता बोली- आस मत छोड़ो, पता नहीं कब पूरी हो जाए. मैंने अपना सुपारा मीना की यौवन की घाटी के मुहाने पर रखा और आदतन पूरी ताक़त से ज़ोरदार धक्का लगा दिया. सुमीना मजे से आआ आउऊ उउहउ उम्म मममउ आआअ आहहा हहाह उफ आआअ हह कर रही थी और पिताजी चोदते समय कह रहे थे- ले लण्ड … पूरा लण्ड ले चूत में … और ले ले … उम्म्ह… अहह… हय… याह… तेरे भोसड़े में उतार दिया.

फिर खाना खाते वक्त दिखने वाले सेक्सी मम्मों को देख कर मैं गर्म हुए जा रहा था. होटल के रूम में पहुँच कर मैं अंकल जी से लिपट गयी और उन्हें चूमने लगी. गुड कुत्ते … तुझे शरीर सुरा का स्वाद चखाऊँगी राजे … धीरे धीरे देखता जा तू.

कभी-कभी छिप कर अपने जिओ वाले फोन में चुदाई वाली ब्लू फिल्म देख लेती पर शांति नहीं मिलती. इधर मैं भी उसकी दोनों चूचियों से खेल रहा था।जब उसने काफी देर मेरा लंड चूस लिया तो मैंने उसे अपनी गोदी में उठाया और बेड पर लेटा दिया और उसकी दोनों जांघों के बीच बैठकर उसकी चूत पर लंड सेट किया.

एक दिन मैं घर पे अकेला ही था तब भाभी आईं और मेरी मम्मी को आवाज देने लगीं.

मैंने जीजा का लंड अपने मुंह से बाहर निकाल लिया तो जीजा बोले- 2 मिनट रुक जाओ नहीं तो मैं तुम्हारे मुंह में ही पानी निकाल दूंगा अभी. xxx hd हिदीकिस करते करते मैंने अपने हाथ को उसकी चूची से हटाकर उसकी पजामी के अन्दर डाल दिया. सेक्सी बीएफ फिल्में दिखाएंउसने उसको मुंह में लेकर एक बार जोर से चूसा और अपनी आंखें बंद कर लीं. मैंने धीरे से उसकी चूत में अपने लंड का टोपा अन्दर धकेला, तो उसकी आह निकल गई और वो चिल्ला दी.

मैंने कहा- किस समय फ्री रहते हो?उसने कहा- कल ऑफ है, लेकिन आपके लिए दुकान खोलूंगा.

अब आगे:हीना ने मुझे आश्चर्य से देखा पर शर्माते हुए उसने रूमाल एक तरफ फेंक दिया. मैं बोला- नाटक मत करो यार, कल रात को तो तुमने मेरा लंड आगे आकर चूसा था. जब मानसी आयी, तो बस स्टैंड पर हम दोनों ने एक दूसरे को पहली बार देखा.

मित्रो, मेरी पिछली कहानीपापा ने नंगी बेटी देख कर मुठ मारीबहुत हिट रही है, आप लोगों का अच्छा रिस्पोंस मिला. फिर वे मुझसे बोले- नम्रता एक बात बताओ, जैसे मैं तुम्हारी गांड और चूत चाटकर तुम्हें मजा दे रहा हूं, क्या तुम वैसे ही मेरे लंड को चूसते हुए मेरी गांड भी चाटोगी. इस कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपसे थोड़ी सी कुछ और बात भी साझा करती हूँ.

हेलो बीएफ

मगर जवानी की दहलीज पार होने के बाद मस्तराम की कहानियां मेरी दिनचर्या का हिस्सा हो गयी थीं. कुछ देर तक तो मैं और अनिता ऐसे ही लेटे रहे उसके बाद अनिता बोली- आज जिस तरह से आपने मुझे चोदा है, वो मैं कभी नहीं भुला सकती. पर शीना पूरी तरह से झड़ने के बाद बुरी तरह थक चुकी थी और उसमें थोड़ी भी हिम्मत नहीं थी कि वह खुद चार्ज ले सके और अपने आप मेरा लौड़ा अपनी गांड में घुसा कर उछल कूद कर सके.

मैं जल्दी से तैयार हो गई और अपने दोस्त के घर जाने का बहाना बनाकर घर से निकल गई.

अब अंकल मेरे एक निप्पल को अपने मुँह में लेकर चूसने लगे, उनके हाथ मेरी नंगी पीठ पर घूम रहे थे.

फिर चाची ने मेरे लोअर के ऊपर से ही लंड की नोक वाली जगह के पास के गीलेपन को अपने हाथों से छूकर देखा. मेरी हाइट 5 फुट 8 इंच है, मैं शरीर से स्वस्थ हूँ और मेरी बॉडी एथेलीट टाइप है. ब्ल्यू फिल्म सेक्सी व्हिडीओ हिंदीलेकिन जब जमीन पर बैठे-बैठे उसके पैर दर्द करने लगे, तो वो खड़ी हुई और पंलग पर बैठ गयी.

इसके बाद किसी तरह से बगल की टेबल से ब्लैक डॉग की बोतल को उठा कर हम दोनों ने नीट दारू से गला तर किया और नंगे ही लिपट कर सो गए. प्रियंका मेरे से एक साल बड़ी है … जबकि वनिता मेरे से एक साल छोटी है. बिल्कुल क्लीन शेव्ड और फूली हुई थी, अब मैं उसकी यौवन की घाटी में प्रवेश करना चाहता था.

उसने तुरंत ही जूली के मुंह के साथ ही अपना मुंह भी सटा कर मेरे लंड के सुपाड़े की तरफ वीर्य की आस में लगा लिया. लेकिन हम ज्यादा टाइम यह सब नहीं कर सकते थे क्योंकि जगह इतनी भी ज्यादा सेफ नहीं थी.

तभी मैंने उनकी कमर को अपने हाथों से पकड़ा और उनको अपनी ओर खींच लिया.

अन्यथा न लें मेरी बात को!और महिलायें खुद को देख लीजिए कि आप कितनी खुली हैं सेक्स में पति के सामने!आपके मन में कुछ होता भी होगा, कुछ इच्छा आपकी भी होती होगी. फिर पूनम की नजर मुझ पर पड़ी पर उसने शर्ट सही नहीं किया बल्कि मझे देखकर एक कुटिल सी हंसी हंस दी. दोस्तो, जैसा अपने पिछले भाग में पढ़ा कि अमीषी की मेरे साथ एक बार चुदाई हो चुकी थी.

बीएफ वीडियो सनी लियोन वीडियो एक तो पीछे से मैं ज़ोर से उसकी चुत चुदाई कर रहा था और आगे से उसकी चुत के चने को मसल रहा था. साथ ही सीमा नितिन के मुँह पर अपनी चूत को रगड़ने लगीं, उसका सिर पकड़ कर अपनी चूत पर पूरी ताकत से दबाने लगीं.

डॉक्टर- मुझे सही सही बताना?मम्मी- डॉक्टर साहब मुझे सेक्स काफी पसंद है. कुछ देर बाद रात हो गई, तो मैं बोली- खाना बाहर से ले आ, आज मैं बहुत थक गई हूं. यह एक अनोखे किस्म का सेक्स था जो मैंने पहले दो तीन रानियों के साथ किया तो था मगर बॉडी वाश के कारण फिसल फिसला के नहीं.

एचडी बीएफ सेक्सी चुदाई वीडियो

थोड़ी देर बाद रेखा मेरे ऊपर से उतर गयी और फिर दोनों लोग हाफ करवट लेकर एक दूसरे से चिपककर सो गए. मुझसे भी रुक पाना बर्दाश्त नहीं हो रहा था, लेकिन हीना की पकड़ में मुझे छटपटाने का ज्यादा अवसर नहीं मिल रहा था. थोड़ी देर में मीना अपनी पिछवाड़ा ऊपर की तरफ उछालने लगी और एक ज़ोरदार प्यार की जंग उस कमरे में छिड़ गयी.

देखते ही देखते उसने मेरी चूत में हाथ डाल दिया और मेरी चूत को मसलने लगा. उसने भी अपनी चूत को मेरे लंड के साथ कदम से से कदम मिलाकर उठाना गिराना शुरू कर दिया.

अपनी कुंवारी बेटी को अपना लंड चुसवा कर मुझे कितना मजा आ रहा था, मैं बयां नहीं कर सकता.

मैं तेरे प्यार को तस्लीम करके उसे सिर्फ इज़्ज़त दे सकता हूँ, तेरे आगे नतमस्तक हो सकता हूँ … बस!!!मेरा सूटकेस मेरे हाथ से छूट गया. मेरी नौकरानी को इस बात का पता भी नहीं चलता था कि मैं अपने बॉयफ्रेंड को अपने घर बुलाकर चुदवाती हूँ. मैं उसकी गर्दन पर किस कर रहा था और साथ में उसके मम्मों को भी दबा रहा था.

मैं सब कुछ भुला कर हवस की भूखी औरत की भांति उसके लिंग का भोग कर रही थी. रात में जब मैं भाभी की तरफ मुड़ा, तो उनकी सुडौल गांड मेरी ही तरफ थी. मुस्कान बोली- इनकी फुदियों में लंड डाल दो, नहीं तो ये ऐसे ही बक बक करती रहेंगी दोनों!मोनू बोला- फुदियों में नहीं, फिर तो इनके मुंह में लौड़े देने पड़ेंगे.

वहां आवश्यक फोर्मलिटीस के बाद मैंने ज्वाइन कर लिया और मेरी नौकरी शुरू हो गयी.

बिहार का बीएफ बिहार का बीएफ: भाभी ने कुछ ही मिनटों में मेरे लंड का वीर्य अपने मुंह में निकलवा दिया. वो उठी और दिशा बदलकर 69 की पोजीशन में आ गई और मेरा लोअर नीचे खिसका दिया और लण्ड को चूमने लगी.

”अंकल फ्रिज की तरफ गए और दो टॉफी ले कर मेरे पास आए, उसमें से एक मुझे देखर बोले- ये लो, ये तुम खाओ … जब मैं तुम्हारी चुम्मी लूंगा, तो मुझे मीठा स्वाद आना चाहिए …मैंने उस टॉफी को खोल कर मेरी मुँह में डाला, चॉकलेट मेरी सबसे फेवरेट चीज है. शादी के पहले कि मेरी बीवी सेक्सी कपड़े में कैसे दिखेगी, बस उस इच्छा को पूरी करने के लिए मैं ले आया करता था. दीदी बोली- मैं एक बात कहूं, तुम बुरा तो नहीं मानोगी ना!मैं बोली- अरे बोलो न … मैं भला बुरा क्यों मानूंगी.

राज के आंख पर एक पट्टी बांधी जाएगी, फिर सबसे पहले राज हमको किस करेगा और राज को हम तीनों को पहचानना होगा, अगर राज ने सही पहचान लिया, तो एक पॉइंट उसके खाते में जमा होगा.

कई बार तो चुदाई में जब लौंडिया झड़ती है तभी सुस्सू भी थोड़ी सी निकल जाती है, विशेषकर यदि चुदाई में चूत ज़ोर से स्खलित हुई हो. मेरे सामने जो मकान था उसके ग्राउंड फ्लोर के आँगन में कई बार मैं दो तीन अलग अलग उम्र की लेडीज देखता था. बेडरूम मैं जाकर उन्होंने मुझे बेड के नजदीक खड़ा किया और अपने होंठ मेरे होंठों पर रखकर चूमने लगे, उनका लुंगी में खड़ा हो रहा लंड मेरे पेट पर चुभने लगा था.