बीएफ मूवी पाकिस्तानी

छवि स्रोत,खूनी बीएफ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी ब्लू की: बीएफ मूवी पाकिस्तानी, उसने बताया- मेरी जरूरत कुछ ज्यादा ही है इसलिए सैलरी 5,000 कम लग रहा है.

हिंदी बीएफ दिखाओ हिंदी बीएफ

नीचे वाले होंठों का यानि कि चूत का मर्दन मैं अपने होंठों से कर रहा था. सेक्सी होममेरा बड़ा साला धीरे से अपनी बीवी से बोला- बोलो मेरी संजना बहन, कैसा लग रहा है मेरा लंड चूसने में.

चूत के नशे के आगे राजा महाराजा छोटा बड़ा अमीरी गरीबी जात पात सब फेल है. एक्स एक्स मूवी दिखाइएइस बार तो मैंने संदीप के लंड की गोलियों को भी बीच बीच में मुँह में भर कर मजा लिया.

… तुम तो ये बताओ कि तुम उनके लैटर का जवाब कब दोगी?दीदी- मुझे सोचने का समय दो.बीएफ मूवी पाकिस्तानी: तो वन्दना नीतू से बोली- वापिस कब तक आओगी?वो बोली- 8-9 बजे तक आ जाऊंगी.

मेरे ऐसा करते ही वो पागल सी हो गई और मेरा सिर पकड़ कर अपनी चुत पर दबाने लगी.जैसे ही मैंने उसकी चूचियों को छुआ तो उसकी आंखें जैसे बंद सी होने लगीं.

बीएफ सेक्सी फुल बीएफ सेक्सी - बीएफ मूवी पाकिस्तानी

वैसी भी संजू काफी गर्म थी, आखिर कहीं ना कहीं वो भी अपने भाई को नग्न देखना चाहती थी.पिंकी मुझे बोलने लगी- प्लीज़ तड़पाओ मत! अब मेरी प्यासी चुत में अपना लंड डाल भी दो.

अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ और मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसे पागलों की तरह एकदम जंगली तरीके से किस करने लगा. बीएफ मूवी पाकिस्तानी आज स्वीटी आंटी गुजराती एक्ट्रेस पूजा जोशी से तेजस्विनी प्रकाश जैसी दिखने लगी थीं.

मैम- ओह … तो कब आएंगी तुम्हारी मम्मी?दीदी- बात हुई थी, शायद दो तीन दिन में आ जाएंगे.

बीएफ मूवी पाकिस्तानी?

एक तो साली तेरा ये खिलौना देख कर पेंटी गीली हो गई, ऊपर से तू पहेलियां बुझाने में लगी है. उन्होंने अपने दांत भींचते हुए अपनी मुट्ठियां बंद कर लीं और ‘सीसीईईई … मर गई … इऊऊ … बहुत मोटा है … आआह्ह्ह … रुक जा. वो बोला- साली तू इतनी सेक्सी है कि कोई भी मर्द तुझे चोदे बिना नहीं रह सकता है.

मेरी हाइट 5 फीट 7 इंच है और जबकि मेरी दीदी आरती की हाइट 5 फीट 6 इंच है. लंच के कुछ देर बाद घंटी बजी और सभी लोग अपने अपने क्लास रूम में चली गईं. हां इतना जरूर कहना चाहता हूं कि अपने घर की इज्जत का ख्याल जरूर रखें.

एक दिन की बात है, मैं और दीदी श्वेता दीदी, हम तीनों कॉलेज से घर आ रहे थे. मैं आज बहुत खूबसूरत लगना चाहती थी, लेकिन साथ ही यह भी चाहती थी कि मैंने आज के लिए स्पेशल तैयारी की है, इस बात की किसी को भनक भी न लगे. मैंने कहा- मुझे घर में इजाजत नहीं है कि मैं किसी लड़के की बर्थडे पार्टी में जाऊं.

अभी उनका बच्चा बाहर कहीं खेल रहा था और भैया काम की वजह से बाहर कहीं गए हुए थे. उसके बाद हम दोनों ऐसे ही काफी देर तक एक दूसरे के साथ नंगे जिस्मों के साथ चिपके रहे.

मैं आहहह उहहहह करती रही और संदीप का लंड समझ कर उसे चूत में पूरा समा लेने को तड़प उठी.

मैंने कहा- तो क्या आप कॉल गर्ल का काम करती हो?वो बोली- नहीं, मैं किसी के बुलाने पर नहीं जाती.

क्या आप मुझसे मिलना चाहेंगे?”मुंबई में हूँ से क्या मतलब?” आप तो शायद मुंबई में ही रहती थी. थोडी देर लंड को मस्ती में चुसवाने के बाद मैं उसकी चूत को जमकर चाटने लगा. वो मुझे काफी पसंद थी लेकिन उससे अपने दिल की बात कहने की कभी मेरी हिम्मत नहीं हुई.

जीजू ने मेरी पैंटी को उतार दिया और मेरी चूत को अपनी हथेली से सहलाने लगा. अब तक मैंने सिर्फ अपनी सहेली के स्तनों के निप्पलों को मुंह में लिया था. मैंने उससे उसका चेहरा पकड़कर पूछा- क्या हुआ?उसने धीरे धीरे बोलना शुरू किया कि उसकी रूममेट के मम्मे उसके मम्मों से बहुत बड़े हैं.

लेकिन उसी पल दीदी ने मुझे रोक दिया- भाई पहले कंडोम तो लगा लो, अपनी दीदी को ही प्रेग्नेंट करोगे क्या?मैं- ओके.

कुछ पल बाद मैंने स्नेहा भाभी को पीठ के बल लेटा दिया और उनकी दोनों टांगों के बीच में आ गया. हर झटके पर उसकी गांड हिल जाती थी, जो मुझको और भी मजा दे रही थी … मेरा जोश चढ़ता जा रहा था. मेरे 38″ के चूतड़ों में गुदगुदी हो रही थी और साथ में लंड चूत में!बहुत मजा आ रहा था उसे भी और मुझे भी!वो पीछे से मेरी कमर चाट रहा था चिकनी एकदम … जिसे उसने वीडियो कॉल में देखा था.

काफी देर तक हम दोनों एक दूसरे के सेक्स अंगों को चाटते और चूसते रहे. दीदी ने एक घूँट लेते हुए मुँह बनाया और नहीं कहते हुए एक सिगरेट जलाने का कहा. मन कर रहा था कि किसी नंगे मर्द की बांहों में नंगी होकर आराम से सुबह तक सोती रहूं!खैर!आपको हॉट भाभी की चुदाई का किस्सा कैसा लगा? मुझे ज़रूर बताना.

मेरे मन में सौ तरह के सवाल उठ खड़े हुए कि ऐसी भला कौन सी चीज है जो सिर्फ मॉम ही देख सकती है!जब मैं अपनी कोचिंग क्लास पहुंचा तो देखा कि हमारे टीचर की तबियत खराब थी और उस दिन वो कोचिंग क्लास देने के लिए नहीं आये थे.

मुझे उसका ये व्यवहार समझ नहीं आया, लेकिन परमीत जान गई कि मनु ऐसा क्यों कर रही है. वो परमीत के दूध मसलते हुए बड़बड़ा रही थी- साली बड़ी गर्मी है तेरे अन्दर … रूक अभी तेरी गर्मी निकालती हूँ.

बीएफ मूवी पाकिस्तानी उसके सिर पर हाथ फेरते हुए मैंने कहा- बेटा, इसको पकड़कर आगे पीछे करती रहो, मेरा काम हो जायेगा. प्रीति:उस दिन के बाद से मेरे कॉलेज की हर लड़की मेरे भाई के बारे में ही पूछती रहती थी.

बीएफ मूवी पाकिस्तानी इस बार साकेत भैया ने दीदी के चिल्लाहट को नजर अंदाज करते हुए जोर से धक्का मारा और लंड पेल दिया. एक बार फिर सायरा ने मेरी मलाई चाटकर अपनी चूत साफ की और फिर गीले कपड़े से मेरे लंड को।उसके बाद वो मुझसे चिपक कर सो गयी.

दीदी- लेकिन अगर मम्मी पापा को पता चल गया तो?श्वेता दीदी- वो तुम हम पर छोड़ दो.

गोरे गोरे हाथों में एप्पल का फोन

सुबह उठकर मैं घर पर सामान्य थी और कल की पार्टी के कारण आज हम लोगों ने कॉलेज जाना भी कैंसल कर दिया था. मैंने कहा- सच्ची?वो बोली- और क्या… मैंने तो अपनी मां को भी कई बार अपने मामा के साथ देखा है. एक ही झटके में पहले सुपारा और फिर पूरा लण्ड ज्योति की चूत में चला गया.

कुछ दिनों बाद वो चली गई और मैं अकेली ही अपनी चुत में उंगली करने लगी. फिर मेरे आधे खड़े लंड का सुपारा निकाल कर उस पर एक चुम्मी ली और मेरी बांहों में लिपट गयी. वो मैम की चूत को चूसने लगे।मैम की सिसकारी निकल रही थी, बोली- लण्ड बहुत तगड़ा है।मैंने उनके मुँह से लण्ड निकाला और उनको गोद में लेकर बेड पे लिटाया। मैं सर को बोला कि वो अपना लण्ड मैम के मुँह में डालें।अपना लंड मैंने मैम की चूत के मुँह पर लगाया और जोर से धक्का लगाया.

मैंने अपनी बीवी को बेडरूम में ले आकर बेड पर लिटा दिया और उसकी आंख पर एक पट्टी बांध दी.

वन्दना ने दरवाजा अंदर से लॉक कर दिया और आकर मेरी गोद में बैठ गयी और फिर से मुझे चूमने लगी. मेरी पिछली कहानी थीमॉडलिंग की लालच में मेरी बहन चुद गईमुझे मेरे किसी दोस्त ने ई-मेल से एक कहानी भेजी है. उनकी जल्दी मैं भी समझ रही थी, पर इस बार मैं उन्हें तड़पाना चाहती थी, इसलिए मैं अपना खाना आराम आराम से खा रही थी.

अगर तुम्हें जिम ज्वाइन करना है तो बस इतना कर सकता हूं कि वो तुमसे 100-200 रुपये कम ले लेगा. लोहा पूरी तरह से तप रहा था, मैंने ज्योति को बेड पर लिटा कर अपने लण्ड का सुपारा उसकी बुर पर रगड़ना शुरू किया तो वो चूतड़ उचका उचकाकर लण्ड को बुर में लेने की कोशिश करने लगी. वो अधूरा सच कह रही थी, हमने डिल्डो के बारे में थोड़ा बहुत तो सुन रखा था, पर आंखों के सामने लंड जैसी आकृति का खिलौना पहली बार आया था.

दीदी ने इस समय लोवर और टी-शर्ट पहना हुआ था और आलिया ने पेन्ट और शर्ट पहना था. वो जब बुलाता, तो मैं बोल देती कि हॉस्टल में हूँ, नहीं आ सकती … वॉर्डन नहीं आने देती.

कभी मैं उनके होंठों को अपने दांतों से पकड़ कर खींचती, तो कभी चूसती और यही सब जेठजी भी मेरे होंठों के साथ कर रहे थे. जब लण्ड टनटनाकर खड़ा हो गया तो उसने मुझे लिटा दिया और अपनी ब्रा खोलकर बड़ी बड़ी चूचियां आजाद कर दीं. मैंने मन में सोचा कि जवानी में ही अगर किसी लड़की का पति उसको छोड़ दे तो वो शारीरिक रूप से बहुत प्यासी रही होगी.

मैं अपने रूम में गई और विक्की को कॉल किया- कहां हो?विक्की- बस अभी तुम्हारे घर के सामने ही हूँ.

मेरी आंखें किसी भूखे कुत्ते से चमक उठीं और मैं कपड़े उतार कर उनकी चूत पर झपट पड़ा. जब सुबह उठ कर देखा, तो मेरी सेक्सी चाची के चेहरे पर एक विजयी मुस्कान थी. दोस्तों क्या गांड थी, पीछे से चुदाई करने में इतना मज़ा आ रहा था कि बस मन कर रहा था कि इसको जीवन भर ऐसे ही चोदूं … कभी अलग ना होऊं.

तब उसने कहा- क्या हुआ बोलो?मैं- प्लीज़, ये बात किसी को मत बताना प्लीज़ डार्लिंग. तभी डोली ने तेज झटके देने शुरू कर दिए और मेरी कमर को जोर से जकड़ कर शांत हो गयी.

मुझे आज असीम आनन्द की प्राप्ति हो रही थी और मैंने खुद से कहा कि गीत तुमने इसी असीम आनन्द की अनुभूति के लिए थोड़ा सा दर्द सहा है. वहां उसका अपना दोस्तों का ग्रुप, पत्नी शोभा, जो एक स्कूल में टीचर है, और एक 5 वर्षीय बेटा था. इस तरह मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ तो मैंने उससे आराम से करने के लिए कहा.

ब्लूटूथ ओपन सेक्स वीडियो

मैंने उसकी चूचियों पर हाथ रखा हुआ था और उससे बातें भी किये जा रहा था.

उसने कहा- हम तो फ्रेंड पहले से ही हैं, गर्लफ्रेंड बनोगी … तो कहो!मैंने सोचा नहीं था कि वो इतनी बेबाकी से ये बात कह देगा. मेरे पापा मम्मी जब रंग लगाने के लिए गए, तो आंटी ने उन्हें यह कह कर रोक दिया कि उन्हें रंग लगाना पसंद नहीं, अबीर लगाइए. हाय दोस्तो, मैं राजू गोरखपुर का रहने वाला हूँ, ये मेरा सच्ची सेक्स कहानी आज से एक साल पहले की है.

संगीता की कमर पकड़कर चोदना शुरू ही किया था कि सीढ़ियां चढ़ती मीना की आवाज सुनाई दी. कई बार तो बहाने से मैं उसकी चूचियों को छू भी लेता था और वो कुछ नहीं कहती थी. बेटी की चुदाईमैंने पूछा- कैसा लगा?वो बोली- धत्त!मैंने फिर से उसके बालों में उंगली फिराते हुए पूछा- सही बोलो ना?वो शर्माकर बोली- बहुत अच्छा.

मैंने आलिया को पता चले बिना ही, एक गुलाब खरीद लिया और कार में छुपा दिया. उनकी उंगलियों को मुँह में लेने लगा और उनके मम्मों को बेतहाशा दबाना चालू कर दिया.

फिर वो उठी और शीशे के सामने खड़े होकर अपनी चूत देखती और अपनी उंगलियों को देखती।फिर उसने अपनी पैन्टी उठायी. आपको मेरी यह कहानी पसंद आई या नहीं … मुझे नीचे दी गई मेल आइडी पर मैसेज करें. भाभी मेरे लंड को मरोड़ते हुए बोलीं- तेरे भाई के बाद तू दूसरा मर्द है, जिसने मुझे चोदा है.

आलिया की बात सुनकर मैं थोड़ा मायूस हो गया और गुस्से में गुलाब फेंककर अपने कमरे में चला गया और मैंने अन्दर से कमरे को बंद कर लिया. क्या मस्त फिगर है उसका 34-32-34 का! उषा के जाने के बाद मैं प्रीति से कोई भी भी मौका मिलने का नहीं छोड़ता था. कुछ देर बाद नार्मल बात करते करते वो भाभी मेरे बदन पर हाथ फेरने लगी.

मैं- नहीं … आप खुद उतारें … पैसेंजर बस ये देखेगा कि जो पायलट जन्नत ले चलेगा … और उसने बुकिंग के टाइम जिसने कहा भी था कि उसकी फिगर अपडेट हुई है … ये सच है या नहीं.

क्या बताऊँ दोस्तो … चाची की गांड इतनी बड़ी थी कि मैं देख कर मस्त हो गया. आप मुझे लेने आएंगे न?मैंने हाँ कहा।15 दिन बाद वो दिल्ली आ गयी, उसने मुझे कॉल किया.

करीब 5 मिनट के बाद उसने मेरा मुँह हटाया और बोली- क्यों रे मादरचोद … कभी कोई चुत नहीं मारी, जो ऐसे पेल दिया … अब रुका क्यों है चोद भैनचोद … फाड़ मेरी प्यासी चुत. मैंने ज्योति को गोद में उठा लिया और बेडरूम में ले आया, पलक झपकते ही उसको नंगी कर दिया. मैंने प्रीत को कॉल की और उसे परमिशन की बात बताते हुए पूछा कि गोवा कब जाना है?उसने कहा कि फ्राइडे को दिन में चलते हैं.

जब मुझे थोड़ा आराम मिला तो मैं ताकत लगा कर डिल्डो को अपनी गांड में लेने लगी और मैं उसे करीब आठ इंच तक ही अंदर ले पाई।अब फिर मुझे दर्द ज्यादा होने लगा तो मैंने दर्द को बर्दाश्त करके उस पर ऊपर नीचे होने लगी।थोड़ी देर बाद मैंने लंड को वापस निकाल लिया और बहुत सारा तेल गांड में डाल लिया।उसके बाद मैं दोबारा डिल्डो पर बैठ गयी. तय जगह से मैम के पति ने रिसीव किया और मैं उनके डेरे पे पँहुच गया।जब मैं अंदर गया तो मैम शायद बाथरूम में थी।तब तक उनके हस्बैंड, जिनका नाम रमेश है, उन्होंने मुझे सोफे पर बैठने को कहा. कुछ देर बाद उसने बोला- मैं जरा घर होक़र आती हूँ … तब हम लोग फिर से काम करना शुरू करेंगे.

बीएफ मूवी पाकिस्तानी कुछ दस मिनट तक दीदी को चोदने के बाद साकेत भैया अचानक जोर जोर से धक्का मारने लगे. तभी तो मैंने उसे पैंट को पैरों से बाहर निकालने का भी समय नहीं दिया और अपने दोनों हाथों को उसकी जांघों पर रख कर लंड को मुँह से ही संभाला और बिना समय गंवाए सुपारा मुँह में भर लिया.

सेकसी कहानी हिनदी

इस तरह से मेरे कहने पर मेरी बीवी अपनी नाभि, बुर और गांड को मटका कर ऐसे नाचती थी मानो स्वर्ग लोक की अप्सरा नाच रही हो. मैं सोच रहा था कि जब वो खुद ही मेरे साथ सेक्स करने के लिए मरी जा रही है तो मेरे बाप का क्या जाता है. उनकी उंगलियों को मुँह में लेने लगा और उनके मम्मों को बेतहाशा दबाना चालू कर दिया.

इस वजह लगभग 1-2 घंटे के लिए सड़क बंद हो गई पानी भरने के कारण। इस शहर की एक कनेक्टिंग रोड है जहाँ पानी भर जाता है फिर पंप से उस को खाली करते हैं. मैंने गौर किया कि दीदी जब पढ़ रही थी, उस वक्त उनका चेहरा पूरा लाल हो गया था और वो पसीने से पूरा तरबतर हो गई. बफ वीडियोस हिंदीवो दोनों ही मेरे दूधों को देख कर कहने लगे- तेरे दूध तो बहुत कड़क लग रहे हैं बंध्या रानी.

इतना कहकर साड़ी पेटीकोट ऊपर उठाकर मेरे लण्ड पर चढ़ गई और अपनी चूत की कुलबुलाहट मिटाने में जुट गई.

जैसे ही मैं पानी पी कर पलटा, मैं देखता हूँ कि निधि के हाथ में रस्सी थी. मैंने उसके पेट को चूमते हुए उसकी नाभि पर जीभ से वार किया तो वो सिहर गई.

मुझे दर्द हो रहा था, मैं छः रही थी कि अंकल अपना लंड मेरी चूत में से निकाल लें. मैंने जल्दी आकर चाची की चूत के बाल मैंने अपने हाथों से साफ़ किये क्योंकि मुझे शेव की हुई चूत बहुत पसंद है।फिर उस दिन रात भी मैंने बहुत जम के चाची की चुदाई की. अविनाश- तो तैयार हो न … दूसरे राउंड के लिए?आलिया- भाई इस समय में बहुत थक चुकी हूँ.

बहनचोद था ही इतना हैंडसम, कई चूतों को पटा कर रखा होगा इसने गारंटी के साथ.

इस वक्त वासना से लबरेज होकर मेरी चुत और भी ज्यादा फूलकर कुछ बड़ी सी हो गई थी. उसका मायका बहुत पैसे वाला था और इंश्योरेंस कंपनी की कमाई वो अपने पास ही रखती थी. जैसे ही वो मेरी गोद में बैठी तो मुझे उसकी गांड और चूत की फीलिंग अपनी जांघों और लौड़े पर आने लगी.

वीडियो में सेक्सी बीएफश्वेता अब धीरे से मेरे बदन के और करीब आ गयी और मेरे बदन के साथ चिपकने लगी. कुछ देर बाद अंकल ने आंटी को जल्दी से नीचे पटक दिया और जोर जोर से अपनी गांड को हिला हिला कर अपने लंड को स्वीटी आंटी की चुत में धकेलने में लग गए.

गंगूबाई पिक्चर

एक दिन जब मैं कॉलेज से घर आई तो मैंने चाची को एक स्लीवलेस नाइटी पहने हुए देखा. संगीता चली गई तो मैंने मीना को बाहों में भर लिया, उसकी साड़ी और पेटीकोट ऊपर उठा दिया. मेरी इस कातिलाना चूत पर संदीप की मेहरबानी ने गजब ढा दिया, शायद संदीप ने चूत को बहुत जोरों से सूंघा भी था.

मेरी कमीज खुली होने के कारण मेरी एक चूची लगभग नंगी ही मालूम पड़ रही थी क्योंकि मैंने नीचे से ब्रा नहीं पहनी थी. फिर मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और चूसने लगा, साथ ही अब अपनी उंगली को उसकी कसी चूत के अंदर बाहर करने लगा।अब उसकी सिसकारियाँ दर्द वाली न होकर आनन्द वाली निकलने लगी।कुछ देर बाद मैंने अपनी दो उंगली उसकी चूत के अन्दर डाल दी और अंदर बाहर करने लगा. जब उसने जीन्स को निकाला तो मेरे लंड ने मेरे अंडरवियर में चिपचिपा पदार्थ छोड़ना शुरू कर दिया था.

वो पूछने लगे तो चाची ने बहाना बना दिया कि चूत के झांट साफ करते हुए उनको लग गयी थी. बस की स्पीड तेज थी, रास्ते के स्पीड ब्रेकर की वजह से हमें ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ रही थी. मेरे होंठों के पास अपने होंठ लाकर बोला- दीदी, आपको मेरी बात सुननी ही होगी.

अब मुझे बहुत मजा आ रहा था। मैं अपनी सिसकारियों को दबाये हुए मजे ले रही थी।दस मिनट बाद मेरे छोटे से लंड ने पानी छोड़ दिया।मैंने फिर उस वीडियो को रवि जी के व्हाट्सएप पर भेज दिया. मेरे गर्म वीर्य की धार के कारण पिंकी भी अब अपनी मंजिल पर पहुंच गयी थी जैसे मेरे ही झड़ने का इन्तजार कर रही थी। जैसे ही मेरे लण्ड से उसकी चूत में वीर्य की पिचकारियाँ निकलना शुरु हुई, उसने भी अपने हाथ पैरों को समेटकर मुझे कसकर अपनी बांहों में भींच लिया और अपनी चूत में ही मेरे लण्ड को दबोचकर उसे रह रह कर अपने प्रेमरस से नहलाना शुरु कर दिया।उसकी चुत लपलपा कर मेरे लंड को चूस रही थी.

अगले दिन दोपहर का समय था … मम्मी अपने कमरे में सोई थीं, मैं दीदी के साथ उनके कमरे में पढ़ाई कर रहा था.

आज जेठजी के खाने का तरीका देख कर लगा, जैसे वो जल्दी से खाना खत्म करना चाहते हों. ब्लू पिक्चर देखना वीडियोपर मेरे को जल्दी थी, तो मैंने उसकी शर्ट को फाड़ दिया और निधि के मम्मे सामने आ गए. एचडी में बीएफ पिक्चरउसने कभी रात में मिलने का कहा, तो मैंने उससे पूछा- मुझे तो कोई दिक्कत नहीं होगी … पर क्या तुम अपनी बीवी से अलग होकर मेरे पास आ सकते हो. मैं समझ तो गयी कि साले ने जानबूझ कर मेरे चूतड़ों पर हाथ मारा है पर मैं कुछ नहीं बोली.

यह बात तब की है जब मैं फर्स्ट ईयर में था। छुट्टियों में घर आया हुआ था.

वो मुझे घोड़ी बनाकर चोदने लगा, मेरी कमर पर किस करने लगा, मेरी नंगी कमर पर अपने हाथ फिराने लगा।ऐसे में मुझे भी बहुत मजा आ रहा था. थोड़ी देर बाद मालकिन पेट के बल लेट गई और जांघें फैला कर बोली- सुरेश, थक तो नहीं गए ना?मैं- नहीं. इस कारण मैं खुद को रोक नहीं पाया और मैंने उसके मुंह में लंड को पूरा घुसा दिया.

मैं कॉलेज के प्रथम वर्ष के अंतिम दिनों में थी, सुडौल बदन और ललचाती जवानी थी. जब जीजा का लंड खड़ा हो गया तो उन्होंने मेरी चूत को पर लंड को धकेलना शुरू कर दिया. उसके बाद मैंने पूछा- आप हंस क्यों रही हो?वो बोलीं- तुमने मेरी सारी ख्वाहिशों को पूरा किया … मैं तुम्हारे साथ नाइंसाफी कैसे कर सकती हूं.

वेजिना में सूजन

इसके बाद मैंने उनकी पैंटी उतारी, तो देखा कि उनकी चूत तो पानी छोड़ रही थी. 16-17 घंटे के सफर में मेरी अच्छी दोस्ती हो गई संदीप से! और ऐसी दोस्ती हुई कि उसने पूरा जीवन अपना खोल के रख दिया. आई लव यू डियर!फिर हम दोनों साथ में नहाए और फ्रेश होकर हमने खाना मंगवाया.

‘पद्मिनी’ वर्ग की स्त्री अपने पति/प्रेमी को फर्श से अर्श पर ले जाने में सक्षम होती है और उसे बहुत ही श्रेष्ठ और योग्य संतानों से नवाज़ती है.

वो आदमी भी बोला- साली इस रंडी को चोद कर मज़ा आ गया!मैं फिर से मजा ले ले कर बोलने लगी- उफ्फ़ मेरे राजा … चोदो अपनी रानी को रंडी बना कर … और चोदो मुझे … अहह उफ्फ़ … उमाहह … मेरी चूत और गांड की सारी प्यास बुझा दो.

मेरे बहुत ज़ोर देने पर भी जब वो नहीं मानी, तो मैंने सोचा जाने दो … आज पहली बार ही तो है … दूसरी बार कैसे भी करके चाची की गांड भी मार लूँगा. उस रात मैं ज़ेबा को 2-3 बार और चोदना चाहता था, लेकिन उसने हाथ जोड़ कर माफ़ी मांग ली. हिंदी बीएफ मोटी औरतवो बड़बड़ाने लगा- आई लव यू तान्या!मैंने उसके कान में धीरे से कहा- चुप रहो … दरवाजे पर आदी खड़ा है … और उसने ये सब कुछ देख लिया.

मोनिका- क्यों?मैं- तुमको पता है … मैं क्यों अपने आपको रोक नहीं पाऊंगा. वो बोली- ऐसी कोई बात नहीं है सर!तो मैंने कहा- मैंने तुमसे पहले ही कहा था तुम मेरा ध्यान रखोगी, मुझे खुश करोगी. उन्होंने कहा- ठीक है, तुम बस अपने कमरे में 5 मिनट इंतजार करो, मैं अभी आती हूं.

तय योजना के अनुसार रात करीब बारह बजे कमरे में जल रहे नाइट लैम्प की रोशनी में मैंने अपनी पत्नी पूजा का गाउन ऊपर खिसकाया और पैन्टी उतारकर उसकी चूत को थोड़ा सहलाया. जब मैंने उससे मालिश की बात कही, तो मेरी बात सुनकर वो मुझे देखने लगी कि मैं क्या कहे जा रहा हूँ.

मैं कंडोम निकाल कर उसका लंड साफ़ कर ही रही थी, तभी वो अपना लंड मेरे चेहरे पर और होंठों पर रगड़ने लगा.

ऐसी फूली हुई चूत है कि इसको खाने के लिए मेरे मुंह में पानी आने लगा है. भाभी घर पर अकेली रहती थी इसलिए मुझे वहां पर शादी के कई दिन बाद तक रुकने के लिए कहा गया था. चुदाई पूरी होने के बाद हम दोनों एक अलग ही ऐसा आनन्द का अनुभव कर रहे थे … जैसे कि न जाने कब से अधूरे थे और अब चुदाई के बाद परिपूर्ण हो गए हों.

देसी मॉम सेक्स वीडियो अंकल ने अपना काला सा लंड अपने हाथ में लिया और मेरी मॉम की प्यारी सी चूत में डाल दिया. इतना सुनते ही मुझको तो जैसे आग सी लग गई और मैं उसकी चुत का बाजा बजाने लगा.

जब मैं बाथरूम से बाहर आया, तो देखा श्वेता दीदी भी कॉलेज के लिए तैयार हो कर आ गई थी. मुझे पता था कि मर्द का लिंग जब औरत की योनि में जाता है तो उसको मजा आता है. अब दोनों बांहें फैलाए हुए परमीत हमारे सामने सिर्फ ब्रा पेंटी में रह गई थी.

हिन्दी सेकसी

मेरी बात पर वो कहने लगे कि तुम्हारी दीदी की चूत भी सील पैक नहीं थी. मैंने भी मजाक में बोल दिया- कौन सा पानी पियोगी?वो बोली- मतलब?मैंने कहा- मटके का पानी पीना है या सीधा नल से मुँह लगा पानी पियोगी?वो समझ गई और हंस दी. हमारा ड्रिंक और खाना दोनों साथ में चल रहा था, हम आपस में बातें कर रहे थे.

मैंने उस पार्सल को रिसीव किया और अपने कमरे में ले गयी।वहां मैंने उसे खोला तो देखा उसमें दस इंच लंबा और करीब डेढ़ से दो इंच मोटा डिल्डो (प्लास्टिक या काँच का नकली लंड) था।ये तो अच्छा हुआ कि दोपहर का समय था और बाकी सब आराम कर रहे थे। अगर किसी और के हाथ ये पार्सल लग जाता तो मेरी शामत आ जाती।मैंने इनको कॉल लगाया और कहा- ये डिल्डो बहुत मोटा है. अगली सेक्स कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने भाभी की बहन को चोदा.

मैं सीधा खड़ा होकर उसकी खुली टांगों के बीच में आया और अपना लंड सैट कर दिया.

सासू माँ ऑटो का दरवाजा खोलने के लिए दूसरी तरफ घूमी तो ड्राइवर ने झट से मेरे मम्मों पर अपना एक हाथ रख दिया और दूसरे हाथ से मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया. आम दिनों में भी मैंने अपनी चूत को देखा था, पर आज मेरी चूत कामुकता के कारण ज्यादा ही फूली हुई लग रही थी. फिर उसने मुझे बेड पर सीधा लेटा मेरे पैरों को थोड़ा ऊपर उठाया और मेरी चूत में अपना लंड सटा दिया.

रोहित- वाह, आप लोग तो छुपे रुस्तम निकले पर हर किसी का प्यार अंजाम तक पहुंचे जरूरी नहीं!फिर मैंने और रोहित ने 5 मिनट बैठ कर चाय पी, घर-बार इधर-उधर की बात की. उसकी तरफ से कोई हरकत नहीं हुई, तो मैं उसके चूतड़ चूमने लगा, मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा. वो भी अब मदहोश होकर मेरे लन्ड पर ऊपर से ही हाथ फिराने लगी थी।लंड को जैसे ही उसने छुआ तो मेरी एकदम से आंखें बंद हो गयी और मैं फिर से उसकी चूचियों को पीने में लग गया.

जैसा कि मैंने बताया था कि मोनिका की शादी के बाद हम दोनों फिर से दोबारा होटल में मिले थे और वहां हमने दबा के सेक्स किया था.

बीएफ मूवी पाकिस्तानी: आलिया मुझे उठाने के लिए आवाज लगाई- ओ मेरे प्यारे राजा … अब उठ जा … सुबह के आठ बज गए हैं, हमें शॉपिंग करने जाना है. मैंने उसे आगे वाली सीट पर बैठने के लिए कहा, तो वो बोली कि यहां नहीं … यहाँ सब जानते हैं … थोड़ा आगे चलिए, फिर बैठ जाऊंगी.

वैसे तो वो पूरी चुदी हुई लड़की थी, पर 3 महीने से न चुदने के कारण उसकी चूत टाइट हो गयी थी. इतना बोल कर जेठजी ने अपने होंठ मेरे होंठों से जोड़ दिया और मेरे होंठों का रसपान करने लगे. इतने में ही मेरे पति ने मेरी साड़ी का पल्लू मेरे कंधे से खींच दिया.

इसके बाद मैंने आंटी का दुपट्टा हटा दिया और पीछे से आंटी की चोली की चैन नीचे को सरका दी.

मुझे शुरुआत करने में हिचक हो रही थी। तभी रमेश सर उठे और अपना शर्ट और पैंट उतार दिया. पर जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने चाची को अपनी तरफ खींचा और उनके लबों को अपने मुंह में ले लिया. यदि प्यार किसी और की अमानत है तो सेक्स की प्यास आप कहीं भी बुझा सकते हैं.