पंजाब के सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,इंग्लिश बीएफ व्हिडिओ पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

मां बेटे सेक्सी हिंदी: पंजाब के सेक्सी बीएफ, मैंने धीरे धीरे हिलना चालू रखा और इसी तरह पूरा लंड चाची की चूत के अन्दर चला गया.

बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी

उसने अपने हाथ से मुझे पकड़ लिया और मेरे गले पे अपनी उंगलियों से सहलाने लगी. हिंदी बीएफ फिल्म हिंदी मेंजब मैं अंदर गया और पेमेंट इश्यू पर मैंने मना कर दिया और उठ कर चला आया.

हम दोनों एक रेस्तरां में मिले, वहां मैंने उनको दो-तीन शर्तें बोलीं. देवर और भाभी का बीएफदीदी थोड़ा चिल्लाईं और मैंने जल्दी से एक बार फिर जल्दी से लिंग बाहर निकाल कर उतनी तेजी से वापस अन्दर पेल दिया.

ये बात मुझे पता नहीं थी कि मेरे भैया साल में दो बार घर आते थे और आंटी को उस रूम में चोद कर उनकी खुजली मिटाते थे.पंजाब के सेक्सी बीएफ: कोई पूरी तरह से देख भी नहीं सकता था, पर सब चोरी छुपे मुझे और ख़ास कर मेरी टांगों के अन्दर देखने की कोशिश कर रहे थे.

कमरे में चंदर भी नंगा बैठा अपना लंड हिलाता हुआ मेरा इंतज़ार कर रहा था उसका लंड तन्नाया हुआ खड़ा था, जैसे वो मेरी चूत का कई दिनों से इंतज़ार कर रहा हो.पहले तो उसने whatsapp वगैरह के वीडियो देखे और थोड़ी देर बाद उसने ब्लू फिल्म वाला फोल्डर खोल लिया.

बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियो मूवी - पंजाब के सेक्सी बीएफ

पता नहीं तभी अशोक को क्या सूझा, वो बोला- देख अब कैसे मजा लिया जाता है.मेरी चोदन कहानी के पिछले भागविलेज के मुखिया का बेटा और शहरी छोरी-2में आपने पढ़ा कि मैं अपनी सहेली के साथ उसके गाँव गयी थी.

जीजा बोले- वन्द्या, तुम्हारा जिस्म तो आग की भट्टी की तरह बहुत गर्म है, तुम प्यासी हो, बहुत चुदासी हो!मैं यह बात समझ नहीं पा रही थी. पंजाब के सेक्सी बीएफ लेकिन जब उसने मुझे आश्वासन दिया कि वो मेरी गांड को देखेगा, उससे खेलेगा, उंगली से रागादेगा लेकिन मेरिउइ गांड में लंड नहीं घुसायेगा तो मैं मान गया और उसके कहे अनुसार लेट गया.

थोड़ी देर इसी तरह अपनी चुत चोदने के बाद दीदी एकदम पागल सी हो गई थीं और अपनी गांड उठा उठा कर उंगलियां घुसा रही थीं.

पंजाब के सेक्सी बीएफ?

उसकी जांघ और गांड गुब्बारे जैसी लचकदार है, पर उसके उभार बिल्कुल भी निकले हुए नहीं है. मैंने कहा- आंटी, आप बाल भी साफ नहीं करतीं क्या?आंटी ने कहा- कोई प्यार करने वाला नहीं था इसलिए बाल नहीं काटती थी. करीब बीस मिनट चोदने के बाद उसने मां को खड़ा किया और वापस उनकी चूत में आगे से टांग उठा कर लंड पेला और मां को चोदना स्टार्ट कर दिया.

स्पष्ट था कि आज मेरा सामना छुई मुई प्रियतमा से नहीं बल्कि किसी जंगली बिल्ली से होने वाला था. अब मैंने अपने धक्कों की स्पीड तेज कर दी और उसके मम्मों को पकड़ के उसे चोदने लगा. विनय ने मेरे एक निप्पल को मुँह में ले लिया और दूसरी चुची को जोर से दबाने लगा.

अलका ने मेरी नाक को तर्जनी और अंगूठे से नोचते हुए हिलाया और आँखें मटका के बोली- अरे बुद्धूराम न चाहती होती तो तुम होते यहाँ मेरे अंदर डंडा घुसाए… आखिर मिला न स्वाद इतने लम्बी कवायद का… पता है जो चीज़ आसानी से हासिल हो जाए उसकी क़दर नहीं होती. उसने मेरे दूध मुँह में ले लिए और उंगलियों से चूत और चूतड़ सहलाने लगा. उनके गहरे गले वाले ब्लाउज से दूधिया घाटी देख कर मेरे हाल बुरा हो रहा था.

अगली बार कुछ समय के बाद मेरा लिंग दोबारा से बड़ा हो गया जिसको उन्होंने तेल लगाकर अपनी योनि में धीरे-धीरे डालने को कहा और पैर हाथों से पकड़ कर अपने कूल्हों को उठा कर बेड पर सीधी बैठ गईं और मैं उनके कहे अनुसार तेल लगा कर अपने लिंग को उनकी योनि में डालने की कोशिश करने लगा जिसमें भी चाची ने काफी मदद की और लिंग के आगे का उभरा हुआ भाग चाची की चूत में घुस गया. मैंने उसको किस किया और उसके हाथ पकड़ कर अपना लंड उसकी चूत पर सैट किया.

वो मेरी टांगों पर बैठ गया और मेरे नंगे कूल्हों को अपने दोनों हाथों से सहलाने लगा, मसलने लगा.

मैंने एक नज़र उनको देखा और फ़िर दीवार के पास पड़ी कैंची उठा कर रस्सी के चार टुकड़े करके बेड के नीचे रखे और भाभी को उठा के सीधा लेटा दिया.

अगला रविवार भी आ गया और हम लोग पटना में बोरिंग रोड के एक साइबर कैफ़े में आ गए. एक दिन मैंने सोचा कि आज पूछ ही लेता हूँ और ऑफिस के लिए निकल गया शाम को, मैं सीधे कामिनी के ऑफिस पहुँचा तो देखा वो ऑफिस से निकल रही है. क्यूंकि हम उस रेस्टोरेंट में वापस जा नहीं सकते थे क्यूंकि जिस मैनेजर को वो जानता था, उसकी शिफ्ट आठ बजे तक ही थी.

काफी देर हो चुकी थी, चाची भी आ सकती थी तो फिर हम दोनों ने अपने कपड़े पहन लिए और एक दूसरे को किस किया. दीदी ज़ोर ज़ोर से कराह रही थीं- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह आह फ़क मी… ओह…दीदी से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था. मैंने धीरे धीरे उसकी चुत को स्ट्रोक देते हुए अपने लंड को पूरा का पूरा चुत में धकेल दिया.

आंटी बोलीं- विकी तू ये सब भी कर लेता है?मैंने कहा- हां आप नहीं करतीं क्या?वो बोलीं- मैंने कभी नहीं किया.

वैसे ही अपनी दोनों टांगों को आपस में रगड़े जा रही थीं… साथ ही अपने होंठों को अपने दांतों से काटे जा रही थीं. आपको मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स कहानी कैसी लगी, आप अपने सुझाव मुझे इस ईमेल आईडी पर भेज सकते हैं. ब्लाउज में से चूचियों के बीचोंबीच की लकीर एकदम साफ नजर आ रही थी, दिल में तो आ रहा था कि उनमें मुंह डाल कर उनकी गहराई में डूब जाऊं!धीरे धीरे मेरे बदन में उत्तेजना की धार दौड़ने लगी और मैं अपने हाथ को उसके कमर से होते हुए नीचे की तरफ ले जाने लगा। उसके बदन में नशा अभी पूरी तरह से नहीं छाया था, इस वजह से वह मेरे हाथ को हटाने की कोशिश कर रही थी लेकिन वह पूरी तरह से होश में नहीं थी.

तो मैं 69 की पोजीशन में हो गया, मतलब मिंकी के मुँह में अपना लंड डाल दिया और मैं मिंकी की चूत चाटने लगा तो कुछ समय बाद ही मिंकी कहने लगी- साहब, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है इसलिये अपना लंड मेरी चूत में डाल दो!तो मैंने भी देर करना मुनासिब नहीं समझा और झट से मिंकी के मुँह से अपना लंड निकल लिया और उसकी चूत पर अपना लंड घिसने लगा. मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम नीरज है, मैं मध्य प्रदेश में एक छोटे से गांव का रहने वाला हूँ. पहले मुझे उसमें कुछ ख़ास नहीं मिला, पर जब मैंने छुपे हुए एक फोल्डर को खोला तब मुझे उसमें सेक्सी वीडियो दिखाई दिए.

मुझे उसने कहा- अगर तू राज़ी हो तो मैं तेरा भी इंतज़ाम करवा देती हूँ और क्योंकि तुमने अभी तक चुत में लंड नहीं लिया तो तुम्हें 25 से 30 हज़ार रूपए भी दिलवा दूँगी.

मैंने सेजल भाभी के हाथ को कसके बाँधा तो वो चिल्लाने लगीं- दुखता है… ज़रा धीरे बांधो…फ़िर मैंने ऐसे ही कसके उनका दूसरा हाथ बाँधा, तो वो रोने लगीं. कुसुम अपनी दोनों टांगों को इधर उधर करके उसके खड़े हुए लंड पर अपनी चुत टिका कर एक ही धक्के में पूरे का पूरा लंड अपनी चुत में अन्दर तक ले गई.

पंजाब के सेक्सी बीएफ मैंने रूम को अन्दर से लॉक किया, फिर सबके सामने जाकर अपनी पेंट की ज़िप खोलकर लंड को आजाद कर दिया. वो बोला- जानू बहुत दिन हो गए हैं तुम्हारी चुत को देखे, आज पूरी सफाई करके रखना.

पंजाब के सेक्सी बीएफ मैं उसी के साथ चला गया, वहाँ गया तो देखा कि उसकी दो बुआ व उनके बच्चे आए हुए थे. मेरी पड़ोसन महक एक 19 वर्ष की बहुत ही खूबसूरत लड़की है, उसका फ़िगर 30-28-32 का है.

अब मैंने उसकी कुर्ती उतार कर उसे ऊपर से पूरी नंगी कर दिया और मैंने उसे अपनी बांहों में भींच लिया.

पाकिस्तान का बीएफ वीडियो

फिर मैंने फिर से चाय पी और उससे कहा- हाँ, अब ज़्यादा मीठी हो गयी है. और फिर हम दोनों ने एक दूसरे को साफ किया।फिर मैंने डिम्पल को बोला- पहले तुम चली जाओ कमरे में!डिम्पल के जाने के बाद में भी उसके पीछे पीछे कमरे में जाकर कर डिम्पल के साथ लेट गया और मैंने पूछा- मजा आया?उसने कहा- हां… पर दर्द हो रहा है!मैंने कहा- लाओ मालिश कर दूँ।फिर मैं डिम्पल की चुत की मालिश करने लगा. फ़िर मैंने मेरा लंड दीदी की चुत पर सैट किया और धक्का मारने की कोशिश करने लगा.

मेरी किसी फ्रेंड ने जो किसी ऑफिस में काम करती है, उसी ने उससे मिलवाया था. पर जैसे ही ये सोचा कि मुझे बाहर जाना है, ये सोच कर मेरी हालत खराब हो गई. वहां सब नये दोस्त थे तो उनके बीच अपनी इज्जत बनाना थी, न कि उनके हाथों अपनी इज्जत लुटवानी थी.

दो-एक महीने बाद मैंने गौर किया कि प्रिया भी सुधा के साथ हर शनिवार शाम को ब्यूटी-पॉर्लर-कम-स्पा जाने लगी थी.

थोड़ी देर बाद उसको मज़ा आने लगा और वो अपनी गांड को हिला हिला के मेरे लंड को अन्दर बाहर लेने लगी. आज मैंने मॉम के मम्मे सहलाए और जांघें भी टच की और मुठ मार कर सो गया. वो मादक से स्वर में बोली- कहां खो गए??मैंने खुद को संभालते हुए कहा- कहीं नहीं.

अगर मंजूर हो तो मेरे रूम में दो घंटे के बाद आ जाना वरना मैं अंकल से सब कुछ बोल दूँगा. मैंने हंसते हुए अपने लंड को चूत पर लगाया और धीरे धीरे पूरा अन्दर और बाहर करने लगा. उसकी मादक आवाजें सुनकर मैं अपनी स्पीड बढ़ाने लगा और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा.

मैं उसकी चूत पर ऊपर दाने पर लंड का टोपा लगा कर चूत की दरार में ऊपर से नीचे तक ले जाने लगा. दीदी अचानक मेरे दोनों ओर अपने पैर फैला कर बैठ गईं और मेरा लंड निकाल कर पूरा थूक से चिकना कर दिया.

ये सब मैंने इतनी जल्दी किया ताकि वो लड़का अपना लंड थोड़ा सा भी मेरी साली के चूत में ना घुसा पाए. मैं आआह सिसस्स उम्म आआआ… कर रही थी।वे धीरे धीरे मेरी गर्दन को किस करते हुए पीछे से मेरे एक एक ब्लाऊज के हुक को खोल रहे थे। मेरे जमाई जी ने मेरा ब्लाउज उतार दिया, फिर उन्होंने मेरी ब्रा को भी खोल दिया. मैंने उनको पीछे से पकड़ लिया और उनको उठाने लगा, पीछे से मेरा लंड टाइट हो गया था, पैन्ट से बाहर निकलने को कर रहा था और बुआ को गांड में रगड़ रहा था.

मैंने नैना के मम्मों को खूब चूसा और दबाया और साथ में ही अपना एक हाथ उसके दोनों पैरों के बीच में ले जाकर उसकी चूत को जींस के ऊपर से ही दबाने लगा.

अबकी बार उसने मुझे खड़ा किया और मेरी एक टांग बेड पर रखी और दूसरी ज़मीन पर रखवा कर कुतिया जैसी पोजीशन में मुझे खड़ा कर दिया. फिर थोड़ी देर बाद उसने आँख खोलीं और बोली- भैया आपको नींद नहीं आ रही है क्या?अब उसको कैसे बोलूँ कि तुम पास में ऐसी हरकत करोगी तो कैसे नींद आएगी. मेरे तो होश ही उड़ गए… पर उसने कुछ कहा नहीं और मुस्कुराती हुई अपने घर में अन्दर चली गई.

उसकी ये नाइटी काफी पारदर्शी थी जिसमें से उसकी ब्रा पेंटी भी साफ़ झलक रही थी. इतने में मुझे लगा कि जैसे परदा हिला हो!मैं बोली- कोई आया क्या?बालू ने मुड़ कर देखा, बोले- कोई नहीं… तू खुद डरती है और मुझे भी डरा रही है, इससे मूड बदल जाता है, कोई आता है तो आने दे अब, बस आजतेरी चूत को खा जाऊंगा.

मेरी तरफ उनकी कमर और मोटी गांड थी, जो मैक्सी में बड़ी सुंदर लग रही थी. जब तक अन्दर नहीं करूँगा, अगर नहीं देखा तो आ कर तुम्हारे हाथ में दे दूँगा. अब मैंने उसकी कुर्ती उतार कर उसे ऊपर से पूरी नंगी कर दिया और मैंने उसे अपनी बांहों में भींच लिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो बढ़िया

तो क्या तुम मुझे माँ बनने का सुख दोगे?मैंने कहा कि इससे आपके घर वालों को शक नहीं हो जाएगा?उन्होंने कहा- नहीं होगा.

तभी मुझे अपने लंड में कुछ गीला सा लगा तो मैंने अपने लंड को बाहर निकाल कर देखा, उसमें खून लगा था. मेरी हालत तो तब और अधिक खराब हुई, जब एकदम से एक फैमिली वहाँ पर आ गई. ’ और मजे से पता नहीं क्या-क्या कहते हुए मेरे उत्साह को बढ़ाने में लगी हुयी थी।अब मैं थक गया था और गांड चटाई के कारण मेरे लंड में तनाव पैदा हो गया था इसलिये मैं सिंधु से अलग होकर चित होकर सिंधु के बगल में लेट गया.

मैं एकाएक उठा और उसकी साड़ी को उसके बदन से अलग कर दिया और उसका ब्लाउज खोलने लगा. आप सभी ने मेरी स्टोरी को बहुत पसंद किया, उसके लिए मैं आप सभी का बेहद आभारी हूँ. बीएफ सेक्सी वीडियो नंगाअब भाभी हिल भी नहीं पा रही थीं और रो रही थीं, गाली दे रही थीं- आह… निकाल कुत्ते… मेरी गांड फाड़ दी!पूजा भाभी के पास आकर बोलीं- अमित, इनको बता दे कि दूसरे के लंड पर नजर नहीं रखते, चोद भाभी को… और इतना तेज़ी से चोद कि भाभी की गांड फट जाए!भाभी मना कर रही थीं और पूजा बोल रही थी.

मेरी स्टोरी आपको कैसी लगी? आप मुझे मेरी मेल आईडी पर मेल करके बता सकते हैं।[emailprotected]. अब मेरा भी रस गिरने वाला था तो मैंने उसकी चूत में ही पानी छोड़ दिया.

मुझे बहुत अच्छा लग रहा था, मन कर रहा था कि और अन्दर तक जीभ को डाल कर मेरी चूत चुसाई हो. जिस दिन चाचा जी को जाना था, तो उन्होंने मेरे घर फोन किया कि आज घर पर चाची और बेटा अकेले हैं तो आज हार्दिक को बोल दो कि वो इधर ही सो जाएगा. मैं नहीं चाहता था कि वो इतनी जल्दी झड़ जाएं, इसलिए मैंने चूत चूसना छोड़ दिया और ज़मीन पर लेट गया.

उन दिनों गाँव के सभी मर्द औरत छोटे बड़े लड़के, लड़कियां दिन में दो बार नदी में स्नान करने जाते थे. मैंने भाभी की गांड के छेद पर उंगली रखी… तो उन्होंने लंड को मुँह से बाहर निकाल कर बड़ी सी आह भरी- आहह…मैं अब उनकी गांड के छेद पे उंगली घुमा रहा था और उनकी चूत चाट रहा था. मैं दोबारा मुठ्ठ नहीं मार सकता।मैंने उसे दीवार से लगा कर खड़ा कर दिया। शायद उसे भी मजा आ रहा था इसलिए ज्यादा विरोध नहीं कर रही थी। मैंने उसके दोनों हाथों को दीवार से लगा कर ऊपर करके पकड़ लिए.

मैं बोला- यार, कोई नहीं अगर रात में वो लोग आ भी गए तो मेरे रूम आ जायेंगे, मैं मैनेज कर लूंगा.

मैंने हां कह दिया तो अगले दिन उसने मुझे मिलने के लिए एक जगह मल्लेश्वरम में किसी बेकरी के पास बुला लिया. मैं उसकी चुत पे अपनी जीभ फिराने लगा और उसको अपने दोनों होंठ के बीच ले कर चूसने लगा ‘मुऊउऊहह…’उसने मेरा सर पकड़ लिया और अपनी चुत पे दबाते हुए तेज सांसें लेने लगी.

आज उसने लाइट पिंक कलर की टी-शर्ट पहनी थी और उसके मम्मे सच में तम्बू जैसे खड़े हुए लग रहे थे. जैसे ही लंड मेरे होठों को रगड़ा, उसके टच करने से गरम गरम उसकी छुअन से मुझे बहुत मस्त अजीब सा लगा और मैंने अपने हाथ से उसका लन्ड पकड़ कर मुंह में भर लिया और चूसने लगी लन्ड!बालू का लन्ड बहुत बड़ा नहीं है इसलिए आराम से मुंह में पूरा घुसा दिया और मैं चूसने लगी, चाटने लगी. अब उसके शरीर पर सिर्फ पैंटी थी, उसने मेरे पास आकर मेरे लंड को पकड़ लिया, मेरा लंड खड़ा होने लगा.

टीवी की आवाज़ तेज थी जिससे कोई आवाज ही नहीं आयी, मेरी आंखों से आंसू बहने लगे और बालू को देखा तो वो अपनी आंखें बंद किये फुल जोश में पसीना पसीना हुआ जा रहा था. मेरी नज़र एकदम उनके चुचों पर पड़ी, मैं तो देखता ही रह गया और मेरा लंड भी खड़ा होने लगा. उसकी चूत सूज कर लाल हो चुकी थी मगर मैं था कि रुकने का नाम नहीं ले रहा था। दूसरी बात ये भी थी कि जब लड़कियां मुझे ‘बस.

पंजाब के सेक्सी बीएफ अब उसकी कमर को पकड़ कर लंड को गांड पर सैट किया ही था, वो बोली- प्लीज़ आराम से. वो तो बाद में पता लगा कि उसमें हेयर डाइ वाली इंक थी जो स्किन पर लगने के बाद कई दिनों तक बनी रहती है.

बीएफ सेक्सी व्हिडिओ मोठी

दोस्तो, मेरी इस हिंदी सेक्स स्टोरी में मजा आ रहा हो तो मुझे ईमेल जरूर कीजिएगा. मेरा 7 इंच का लंड एक मोटे बम्बू की तरह बस अपनी जगह तलाशने के लिए बेताब था. बोली- कहीं लोंग ड्राइव पर चलें?मैंने कहा- आपको घर तो जल्दी नहीं जाना??वो बोली- नहीं, अभी कोई जल्दी नहीं है.

उसकी शर्ट एकदम टाईट थी, जिससे उसकी चुचियां शर्ट फाड़ कर बाहर आने को मचल रही थीं. चाची मेरे लंड को बड़ी लालसा वासना से निहार कर बोलीं- सच में अब तुम बच्चे नहीं रहे… जवान हो गए हो. बीएफ हिंदी में चोदा चोदीमैं अपनी हथेली पर प्रिया के जवान और मदमस्त जिस्म की झुलसा देने वाली गर्मी साफ़ महसूस कर रहा था.

नीला अपने मम्मों को पानी के अन्दर मेरे हाथों से दबवाते हुए कहने लगी- इनको दबाने से दूध निकलता है, जिसको पीने से आदमी धन्य हो जाता है.

अब दीदी अपनी चुत को तेज़ तेज़ रगड़ने लगी थीं… मानो दीदी चुत को मसल कर रख देना चाहती हों. (मैंने आज तक अपनी ज़िन्दगी में इतनी सेक्सी और प्यारी, ऎसी सुंदर क्रॉस ड्रेसर नहीं देखी.

आपको मेरी मॉम की चुदाई की तमन्ना की यह सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है? मुझे अवश्य लिखें. वो कभी मेरा एक चुचा दबाता तो दूसरा चूसता और अगर दूसरा दबाता तो पहला चूसता. मैंने उससे पूछा- मेरी बहन, भाई से चुदाई करवा के तुझे मजा आया?और उसने अब सर हाँ में हिला कर जवाब दिया.

उन्होंने मस्त कराह निकाली और दूध दबाने के लिए अपना दूध आगे को कर दिया.

एक कमलेश सर हैं जो ट्यूशन पढ़ाते हैं, वही बस मुझे टच किए हैं, उनका लन्ड मुंह में लेकर चूसा है मैंने और उन्होंने नीचे मेरी चूत चाटी है। पर अपना लन्ड मेरी चूत में नहीं घुसाया, मतलब डाला नहीं। मैं झूठ नहीं बोल रही… फर्स्ट टाइम आज आप दोनों चोदने वाले हो।मेरे मुंह से सब कुछ अपने आप साफ साफ निकलने लगा. मैंने सोचा कि यदि भाभी को मेरी बधाई अच्छी लगेगी तो ये खुद मुझसे गले लगेगी तभी इसकी चूचियों को दबा कर मजा ले लूँगा. दो मिनट के बाद मैंने लंड उसकी चुत पर सैट किया ही था कि वो बोली- प्लीज़ डॉगी स्टाइल में करो.

सौतेली मां की सेक्सी बीएफकामिनी जोर से बोली- विवेक डाल दो!विवेक की जीभ अंदर बाहर हो रही थी, कामिनी कामुकता के सातवें समुन्दर में गोते लगा रही थी, उसने अपनी टांगें बिल्कुल फैला दी थी पंखें के परों की तरह से… विवेक उसकी गांड नीचे दबा दबा कर उसकी चूत चूसने में मग्न था. बुआ और जोर से हंस पड़ीं और बोलीं- तेरा पहली बार है इसलिए आधी बातें जानता है.

बीएफ ब्लू फिल्म दिखा दो

पापा जी अब बस भी करो ना, चलो पहले खाना खा लो फिर ये सब बाद में कर लेना अब तो टाइम ही टाइम है अपने पास!”अरे बेटा, इतनी जल्दी नहीं अभी आठ बीस ही तो हुए हैं. मैंने किस करते हुए उसकी पेंटी निकाल दी और अपनी उंगलियों से उसकी चुत को सहलाने लगा. इसी लिए तो उस दिन कहा था कि मैं तुम्हारे लिए एक दूसरा चोदने वाला ढूँढता हूँ.

बीच बीच में मैं उसकी चुत में जीभ डाल देता, जिससे वो मचल जाती और अपनी चुत ऊपर कर देती. उहहह…’उसके बाद उसने मेरी दोनों टांगें ऊपर की और जोर जोर से धक्का लगाने लगा. मैं खामोशी तोड़ते हुए बोला- भाभी आपको ये दर्द भरी चुदाई क्यों चाहिये?सेजल भाभी मुस्कुराईं.

पर जब से मैं उसकी जिन्दगी में आया हूँ, उसने अपने सारे गलत धंधे बंद कर दिए और अब वो किसी दूसरे घर में रोज काम करके पैसे कमाती है. मेरी उम्र 25 साल है, नवम्बर में ही मेरी शादी हुई है, मेरे पति अमेरिकन हैं. आपको मेरी मॉम की चुदाई की तमन्ना की यह सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है? मुझे अवश्य लिखें.

वो साफ़ बोला कि वो मुझे बहुत पसंद करता है और मेरे साथ रहना चाहता है. मेरी कहानी है भाई बहन की चुदाई की… मेरे कई मामा हैं, सगे और दूर के रिश्ते के… अलग अलग मामाओं की 3 जवान लड़कियां मैंने चोदी हैं.

लगभग सुबह के 5 बजे थे तो उसका फ्रेंड बोला- यार मुझे 8 बजे की फ्लाइट लेनी है, मैं तो अब जाऊंगा.

अब मुझे सर का सानिध्य मजा देने लगा था, मैंने भी सर को चूमना शुरू कर दिया. देहाती लड़की बीएफ सेक्सकुछ देर सुपारे को बुर की गर्मी का मजा मिला और मुझे थोड़ा ज्यादा मज़ा आने लगा. देहाती लड़कियों की बीएफ दिखाइए बुरचोदीउससे भी यही कहा कि वो सबको यही बताए कि मैं उन दोनों की सहेली का भाई हूँ. वो लड़का साला अब भी थोड़ा ना नुकर कर रहा था, तो मेरी साली खड़ी हो गई और अपने सलवार को ऊपर उठाने लगी और बोली- ऐसे नहीं करना हो तो रहने दो.

मैंने विनय का हाथ पकड़ लिया और बोला- विनय प्लीज, तुम किसी को मत बताना.

आप सब भाई लोग अपना लंड अपने हाथ में ले लें और अगर लड़की, भाभी या आंटी हैं तो चूत में उंगली घुसा लें और कहानी को ध्यान से पढ़ें. घर के पीछे भी एक जाली लगी हुई थी, तो मैं बरामदे से घर के पीछे चला गया और जाली में से देखने लगा. वो बस मुस्करा देती हैं और बस इतना ही बोलती हैं कि गिराएगा ही या किसी में बच्चा बनाएगा भी?मैं शर्मा जाता तो वो हंसते हुए कहती हैं- मेरा भी किसी दिन इलाज कर देना अनूप.

क्या आपको मेरी यह इरोटिक सेक्स स्टोरी अच्छी लग रही है? इस सपनीली सेक्स स्टोरी के ऊपर आपके मेल पाना चाहूँगा. फिर बैठे बैठे ही उसे सीधा घुमाया और धीरे धीरे किस करता करता ऊपर की तरफ बढ़ने लगा. तुमने बहुत अच्छी एक्टिंग की है और कपड़े मेरी तरफ से तुम्हें गिफ्ट हैं.

नंगी वाली बीएफ वीडियो

मैंने नैना के मम्मों को खूब चूसा और दबाया और साथ में ही अपना एक हाथ उसके दोनों पैरों के बीच में ले जाकर उसकी चूत को जींस के ऊपर से ही दबाने लगा. दोनों ही चूत का रस आसानी से पी जाते हैं, ये उनके लिए कोई नई बात नहीं है. अब इस ऑफर में भैया के बॉस का मूड था वो आपको अगले और अंतिम भाग में जानने को मिलेगा.

वह मेरे लिए चाय बना कर ले आई और वह मुझको चाय का कप देने लगी तो मैंने कप के साथ उसका हाथ भी पकड़ लिया था.

मैंने अपनी चुत में लंड की हरकत से कसमसाते हुए कहा- कितने पैसे देने होंगे?वो बोला- पैसे तो मैं तुमको दे दूँगा.

तुम्हारे सामने ही चुदाई शुरू हुई थी, उस साले ने पूरी रात पाँच बार मेरी चुत का हलवा बनाया है. C टूरिस्ट बसें पूरे उत्तर भारत में चलती हैं, इन साहब ने अपनी कोई मनौती पूरी होने के उपलक्ष्य में अपने गोत्र की सारी लड़कियों समेत वैष्णो देवी दर्शन के लिए पूरी AC स्लीपर वाली वॉल्वो बस बुला रखी थी. आरसीबी बीएफ”अर्पिता- चल झूठा, तेरे जैसा दब्बू इन्सान किसी लड़की को चोदे वो भी शायना जैसी लड़की(मेरी पिछली कहानी की नायिका) को पटा ले? नॉट पोसिबल! अच्छा चल यह बता कि तूने शुरुआत कैसे की?कुछ नहीं… मैं और वो कहीं जा रहे थे कार में… जैसे आज!”अर्पिता- फिर?बातों बातों में मैंने गियर बदलने के बहाने उसकी जांघों को टच किया” इतना बोल कर मैंने मैंने गियर बदला और बदलते वक़्त अर्पिता की जांघों को छुआ.

करेले की पूंछ पीछे लटक रही थी… ऐसा लग रहा था जैसे कोई मोटा चूहा दीदी की चुत में घुस रहा हो, जिसकी पूंछ बाहर लटक रही हो और दीदी अपने बालों को नोंच कर चिल्ला चिल्ला कर चूहे को अन्दर घुसने दे रही हैं. नमस्कार दोस्तो… मैं आपका दोस्त सोनू दोबारा आपके लिए अपनी कहानी लेकर हाज़िर हुआ हूँ. करीब दस मिनट उसकी गांड मारने के बाद मैंने उसकी गांड में ही अपना सारा माल निकाल दिया और निशा के ऊपर लेट गया.

मेरी पिछली सेक्सी कहानीऑफिस में बॉस से गांड चुदाई करवाती पकड़ी गईमें आपने पढ़ा कि कैसे मैं अपने बॉस से उनके केबिन में गांड मरवा रही थी कि ऑफिस स्टाफ का एक लड़का अंदर आ गया और उसने हमें गांड चुदाई करते देख लिया. यार मेरे लिए भी उधर ही जुगाड़ करवा दो?तो मैं बोला- अरे आप अपने देवर से बोल दो कि मैं सो नहीं पाऊँगी, मेरा भी होटल में ही जुगाड़ करवा देना तो वो कर देगा.

तुम फिकर मत करना बस आधा घंटे के बाद तुम्हें ड्राइवर घर तक छोड़ आएगा.

मैंने उसको अगले 5 मिनट तक अपना लंड चुसवाया और फिर मैंने उसको डॉगी स्टाइल में करके पीछे से उसकी चुत पे अपना लंड रख कर एक जोर का धक्का दे मारा. तभी आशीष बोला- क्या बालू भाई? अपने लंड को हाथ से मत रगड़ो, आ जाओ… ये सच में साली छिनाल है। बहुत मस्त माल है वन्द्या! देखो इसे इस हालत में देख कर तुम्हारा लंड एक बार झड़ने के बाद बीस मिनट के अंदर खड़ा हो गया है. मैंने भाभी की गांड के छेद पर उंगली रखी… तो उन्होंने लंड को मुँह से बाहर निकाल कर बड़ी सी आह भरी- आहह…मैं अब उनकी गांड के छेद पे उंगली घुमा रहा था और उनकी चूत चाट रहा था.

चित्र बीएफ फिर वो तुमसे ही तो कह रही थी कि मुझे लंड दिलवाओ और तुमने उसको प्रॉमिस भी किया था, तो मैं नहीं चाहता कि मेरी होने वाली बीवी अपना प्रॉमिस तोड़े. मुझे उसके किस अच्छे लग रहे थे या कहूँ तो मेरा भी मन किस करने करवाने का था.

उसके पहाड़ जैसे स्तन जैसे मुझे चुनौती देने वाले अंदाज में मेरे सामने तन के खड़े हो गये. मैं उसे उठा कर बाथरूम ले गया और उसे अच्छे से साफ किया, खुद को भी साफ किया. एक दिन वो फोन किसी से चुदाई करवाते हुए गलती से उसी ग्राहक के पास ही रह गया.

अब मैंने अंजलि को पिछली सीट के बीच वाले गैप में झुकाया और लन्ड उसकी चूत में डाल दिया, चूत बिल्कुल गीली थी, लन्ड बिना रुके अंदर चला गया और मैं धक्के लगाने लगा

मैंने अब रोशनी को धीरे से उठाया और कहा कि अपनी चूत को बाथरूम में पानी से साफ़ करके आओ. रात में तकरीबन 11 बजे मेम ने कॉल किया और पूछा- ले आए?मैंने कहा- हां मेम. मेरा वेट अराउंड 58 किलो है और मेरी कमर 27 के आस पास है… इसलिए वो ड्रेस जो कि मेरी स्किन से चिपक गई थी, उसकी वजह से मेरी कमर का ऊपर का हिस्सा भी बहुत मस्त लग रहा था.

वे अंकल के दोस्तों से कहने लगीं- आज तो आप लोगों ने इतना ज्यादा चोदा कि मेरी जान ही निकाल दी. तभी मुझे एक कोने में पतली सी रस्सी दिखी और मैं वो उठा के सीधा बेडरूम में वापस आया.

मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और अपनी पैन्ट और जांघिया उतार कर मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसका एक पैर ऊपर किया, दूसरा पैर सीधा करके लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा.

यदि कोई दूसरा पुरुष मेरी पत्नी को वो सुख दे रहा है जिसकी वह अधिकारिणी है, तो एक प्यार करने वाले पति को इससे क्यों गुरेज होने लगा! और होना ही नहीं चाहिए, क्योंकि उसका तो कर्तव्य है कि उसकी पत्नी दुनिया का सारा सुख भोगे, नाना प्रकार के विभिन्न आकार प्रकार वाले लंडों का स्वाद चखे!!अचानक आर्थर ने अपना लंड बाहर निकाल लिया, और उसे अपनी मुट्ठी में भींच लिया. जिस समय नीला ने मेरे लंड को अपनी चुत में लिया था, उस वक्त उसकी एक तेज कराह भी निकली थी. मैंने थोड़े झाके जोर जोर से उसकी चूत में लगाए और हम दोनों एक साथ स्खलित हो गए.

मैंने कहा- नमस्ते अंकल, आंटी नहीं है घर पर?वो कड़क आवाज में बोला- हाँ हैं. क्योंकि दो साल पहले मैं भी सीधा सादा दब्बू सा लड़का था और आज चूत चैंपियन बॉडी शोडी के साथ हूँ।खैर हमारे बीच यहाँ वहाँ की बातें हुई और फिर हम मेरी कार में बाहर चले गए. चूँकि वो अभी अभी निढाल हुई थी, जिससे उन्हें कुछ दिक्कत हुई शायद वो कराह रहीं थीं लेकिन मुझे रोकने की बजाय और ज्यादा उत्तेजित कर रहीं थीं तो मैं भी पूरे जोश और होश के साथ धक्के लगाने लगा.

रात को ही मेरे फोन पर एक फ़ोन आया जिससे पता लगा कि मेरा फोन किसी के पास रह गया है.

पंजाब के सेक्सी बीएफ: जिम जाता है?मनन- लंड तो तुम अपनी चुत में लोगी, तब पता चलेगा कितना बड़ा है. मैंने अपना बायाँ हाथ प्रिया की गर्दन के नीचे से ले जा कर प्रिया को अपनी ओर खींचा तो प्रिया के रस भरे होंठ मेरे प्यासे होंठों से आ मिले.

ख़ैर वह दिन आ ही गया मैंने घर में बोल दिया कि मैं घूमने के लिए कानपुर जा रहा हूँ. दस मिनट बाद वो आ गई, मैं बहुत खुश हुआ, वो भी मुझे देख के स्माइल करने देने लगी. फिर मैंने अन्दर जाके टकीला की दो 50 एम एल वाले कांच के छोटे वाले गिलास निकाले और विक्की, गोलू को दिए.

ये बात तब की है, जब मैं लखनऊ में अपनी चाची के घर में था, उनके घर में तीन लोग हैं.

मैंने उनको उल्टा किया और टांगों को बिस्तर से नीचे करके खुद नीचे आ गया. एक बार मेरा लिंग प्रिया की योनि की अंतिम सीमा छू ले तो मैं प्रिया की टांगें सीधी करवा देता लेकिन अगर कहीं अभी से प्रिया ने टांगें सीधी कर ली तो प्रिया को फिर से अक्षत-योनि भेदन वाला दर्द याद आ जाना था. उसके भरे हुए मम्मे इतना मस्त मजा दे रहे थे कि हाथों को अब तक उनकी मुलायमियत का अहसास हो रहा है.