चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,मेहंदीपुर बालाजी का फोन नंबर

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी आंटी चुदाई: चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ, लंड चूसने के बाद उसने कहा- अबे साले भोसड़ी के … तू तो बड़ी जल्दी झड़ गया?मैंने कहा- हां मेरा पहली बार था ना … इसलिए मुझसे रुका नहीं गया.

औरत बच्चा कैसे पैदा करती है

तो वो नाम बताती हुई बोलीं- इधर से मेरे गांव का रास्ता कोई 5 घंटे का है. फौजियों का सेक्सी वीडियोबता चोदेगा मुझे?ये सुनते ही संभव ने मेरा गला जोर से पकड़ा और मुझे स्मूच करने लगा.

समझ ही नहीं आता कि मैं कहां किससे क्या बोलूं कि मेरा क्या खो गया है, मेरी ज़िंदगी वीरान सी हो गयी है. बिग मेट डाउनलोडमैं भी ससुर जी के पास चली गयी पर मैंने रूम का दरवाजा नहीं लगाया और उसे खुला ही छोड़ दिया.

मैं आगे की इंजीनियरिंग की परीक्षा की तैयारी के लिए पटना अपनी बुआ के यहां आ गया.चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ: मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और कुछ धक्के मारने के बाद ही मेरे प्यारे पति ने अपने लंड पर से मुझे ऊपर उठने नहीं दिया.

अपने दाएं हाथ को उसने वापिस नीचे कर दिया और मेरे सर के पीछे ले गयी.एक हाथ में चाय का कप पकड़े मैं दूसरे हाथ से सीमा का मुंह मेरी चूत में दबाने लगी.

पुलिस ब्लू फिल्म - चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ

मैं दोनों हाथों से उसके अंडरआर्म और कमर पर उसके पेट पर घुमा कर उस नाजुक मुलायम रेशमी मक्खन सी त्वचा को महसूस कर रहा था.पर शायद इसके बाद मुझे कोई दूसरा मौका न मिले इसलिए मैंने आखिरी बार तेज चलती हुई सांसों को रोककर आखिरी खतरा मोल लेने का निश्चय किया।इसके लिए मैं पांव दबाने में तेजी लाया और आखिरकार पांव दबाते मैंने अपना हाथ उनकी चूत पर रख दिया।पांव दबाते दबाते जब मैंने 2-3 बार चूत पर हाथ रखा तो चूत पर उगी उनकी कंटीली झांटें पैंटी के ऊपर से हाथ में आ गयी.

उस रात हम तीनों ने थ्रीसम सेक्स किया। मैं माफी चाहती हूँ कि मैंने तुम्हें नहीं बताया. चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ जिया दीदी के जाने से पहले मुझे एक मिनट का मौका मिल गया और मैंने दीदी के गाल पर किस कर लिया.

उसके लण्ड पर मेरी उंगलियां पड़ते ही उसने अपने हाथ से मेरे हाथ को दबा दिया जिससे मेरा हाथ पूरा उसके लोड़े पर आ गया.

चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ?

वो मामी जो मेरे मामा को रात को जो सुख देती थीं, वो मामी मेरे सामने खड़ी थीं. दीदी भी पूरे जोश में थी और अपनी टांगें फैलाकर आराम से पूरा का पूरा लंड अपनी चूत में अंदर बाहर होने दे रही थी. उसने अपने एक हाथ से रीना के ब्लैक निप्पल को पकड़ा और मसलने लगा, दूसरे निप्पल को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा.

जब मैं कुछ नॉर्मल हुई, तो फूफा जी ने कहा- मजा आया ना बेबी?मैं ना में सर हिला रही थी लेकिन मुझे अन्दर ही अन्दर बहुत मजा आ रहा था. मैं बोला- साले बहनचोद, तू ये सब अब बता रहा है मुझे? मेरा लंड रोज अकड़ कर दर्द करता है. उधर विलास ने दरवाजा खोला तो भाभी ट्रे में चाय का थर्मस और चाय के कप लेकर अन्दर आयी.

मैंने भाभी की चूत चुदाई काफी देर तक की और अपना पूरा पानी चूत में ही छोड़ कर भाभी के ऊपर ही लेट गया. प्रकाश ने अपने और सोनम के कपड़े उतार दिए, सोनम को घुटनों पर बैठकर लंड चूसने को कहा. ये सब होने के बाद भाई बहन पढ़ाई के लिए बैठ गए और मां किचन के काम में व्यस्त हो गई.

मेरी बहुत गांड फट रही थी इसलिए मैं वहां से अपने दोस्त के घर चला गया. वो फिर से जोर से चिल्लाने को हुई लेकिन इस बार मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए थे जिससे उसकी आवाज़ दब गई.

उन्होंने मुझे मोबाइल की लाइट बंद करने को कहा कि पहले अपने मोबाइल की मेरी आंखों में चुभ रही है.

आप लोगों ने मेरी कहानी को इतना सराहा और इतना मुझे प्यार दिया उसके लिए मैं आप सभी का शुक्रिया अदा करती हूं.

मैंने उसकी आंखों में प्यास से झांका तो उसने अपने होंठ गोल करके एक चुम्बन सा हवा में उछाल दिया. उसकी टांगों को फैला कर मैंने उसकी जांघ पर किस किया तो वह जैसे पागल ही हो गई. प्रकाश ने सोनम को घोड़ी की तरह पलंग के किनारे खड़ा किया, खुद ज़मीन पर खड़ा हो गया.

मैं उसको किसी काम में बुला लूँगा और तुम चुपचाप अन्दर आकर सीधे मेरे ऑफिस में आ जाना. मैं सबसे पहले अपनी मम्मी को अपनाऊंगा, फिर किसी और के बारे में सोचूंगा. क्या मैं आपके हाथ को चूम सकता हूँ?मैं जानती थी कि इस बस में मुझे पहचानने वाला कोई नहीं है, मुझे किसी का डर भी नहीं था.

मैं उसके जिस्म पर जीभ फिराने लगा, जिससे वो गर्म आहें भरने लगी, उसकी हल्की हल्की मादक आवाजें निकलने लगीं.

जिया दीदी- मतलब?मैं- मैं आपकी उम्र का होता तो जीजाजी को आपको पटाने ही नहीं देता क्योंकि मैं आपको अपनी गर्लफ्रेंड बनाता और आज आप मेरी बीवी होतीं. घर में मैं कभी भी मौका पाते ही दीदी के मम्मे दबा देता हूँ और कभी भी गांड पर हाथ भी घुमा देता हूँ. मेरा सुपारा गीला और चिकना होते ही मैंने एक धक्के में ही चूत में लंड डाल दिया.

Xxx गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी पर आपकी प्रतिक्रियाओं का मुझे बेसब्री से इन्तजार रहेगा. उनका शरीर काफ़ी गदराया था इसलिए मुझे वो ब्रा पैंटी एकदम फिट हो गयी. धीरे धीरे खुलते हुए उस गांड के छेद में वीरू ने पहले तो अपनी एक उंगली घुसाई, फिर दूसरी और फिर आखिर में तीनों उंगलियां डालकर वो शबाना की गांड की उसके लौड़े से मालिश करने के लिए तैयार करने लगा.

गुलाब ने आवाज देकर कहा- मुझे अब रोशनी की जरूरत नहीं है और मैं सोना चाहती हूँ.

मैं उसके होंठों पर किस करने लगा, वो भी बड़ी मदहोशी से मेरा साथ दे रही थी. मैं अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर उसकीचूत की गहराईमें वापस डाल रहा था.

चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ मैं अपनी मम्मी से बोल दूंगी कि अगम मुझे मेरी फ्रेंड के यहां छोड़ आएगा और ले आया करेगा. मैं उसके चेहरे पर हाथ घुमा रहा था और वो कभी कभी आह की हल्की सी आवाज भी निकाल रही थी.

चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ जिया दीदी के होंठों को चूमते हुए मैं अपना होश खो बैठा था और एक तरह से मैं अपनी जिया दीदी के होंठों से चूसा जा रहा था, न कि मैं दीदी को चूम चूस रहा था. सीमा भी अपना एक हाथ पीछे ले जाकर मेरी पैंट के ऊपर से लंड मसलती रही.

इससे वो एकदम से उत्तेजित हो रही थी; मुझे अपने दूध पीने के लिए उकसा रही थी.

सेक्सी पिक्चर एचडी एचडी

सरिता कामुक भरी आवाज में बोली- मैं क्या झूठ बोल रही हूँ हर्षद?अरे नहीं सरिता, मुझे भी तुम्हारी याद आते ही मेरा लंड फड़फड़ाने लगता है. मैं हफ्ते में या महीने में एक या दो बार जब कॉलेज ऑफ होता है, तो घर चली जाती हूँ. क्योंकि मैंने आज तक सेक्स नहीं किया था और ये मेरा पहला मौका था जब मैं किसी महिला से मिलने जा रहा था.

मैं- गर्लफ्रेंड तो कब बनेगी पता नहीं लेकिन मैं एक बार आपके साथ सेक्स करना चाहता हूं … यह मेरी दिली तमन्ना है. उसके कुछ देर बाद मैंने अपना लंड निकाल कर अपनी बीवी के मुँह से लगा दिया और मेरी Xxx वाइफ ने मेरे लंड का माल खा लिया. भाभी ने हंस कर कहा- ओके मेरी जान … लेकिन अपनी भाभी की चुदाई करने आते रहना.

मैं अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर उसकीचूत की गहराईमें वापस डाल रहा था.

मेरी चीटिंग वाइफ Xxx कहानी में पढ़ें कि जब मैं अपनी बीवी के साथ अपने पुराने घर में गया तो वहां हम दोनों को मेरी बीवी की मेरे दोस्त से हुई चुदाई याद आ गयी. फिर मैंने कुच्ची को बताया तो उसने शब्बो को फोन करके मामले की जांच करने को कहा. शब्बो को जैसे जैसे मजा आने लगा तो उसकी कराहने की आवाज अब सिसकारियों में बदल चुकी थी।खुद अपनी गांड ऊपर उठाकर वो वीरू का लौड़ा अपने भोसड़े में ले रही थी।आज तक उसके शौहर की लुल्ली से इतना मजा उसको नहीं मिला जितना ये जवान छोकरा उसको दे रहा था.

अगली में आपको फिर से अपनी गर्लफ्रेंड शनाया की चुदाई के कुछ और किस्से सुनाऊंगा. सरिता ने मुझसे कहा- देवर जी, और दो दिन रहते तो हम लोगों को अच्छा लगता. फिर मैं उसे लेटा कर अपना लंड उसकी चूत में डालने की कोशिश कर रहा था, पर पीरियड्स की वजह से लंड अन्दर नहीं जा रहा था.

ये जो भैया भाभी आए थे, वो मेरे चाचा के लड़के थे और अंजलि भाभी साथ में थीं. सामने अपनी बहन की नंगी चुत देख कर मुझसे ज्यादा कन्ट्रोल नहीं हो रहा था.

फिर मैंने उसे बताया- हां मेरी एक फ्रेंड है और मैंने उसे किस किया है, उससे ज्यादा कुछ नहीं. सोहल ने अपना लंड गांड से खींच कर बाहर निकाला और कपड़े से पौंछ कर हनी के मुँह में दे दिया. वो बोली- इससे तो परहेज नहीं है न … लो इसे पी लो, इससे सारी थकान मिट जाती है.

वे उछल उछल कर लौड़े को अन्दर ले रही थीं जिससे उनके दोनों बूब्स ऊपर नीचे हो रहे थे.

राजेश ने रेणु के सारे कपड़े उतार दिए और कुछ देर बाद राजेश ने मुझे अन्दर आने के लिए कहा. सोनाली सिसकारियां भरने लगी- आह ओह इस्स स्ह स्ह हा हा हाय रे हर्षद अब नहीं सह सकती मैं. मैं बिना डरे अम्मी से बोला- अम्मी मुझे आपसे प्यार हो गया है, दिन रात मैं सिर्फ आपके बारे में ही सोचता रहता हूँ.

मेरे लंड का हाल देखकर विलास मेरी ब्रीफ नीचे खींचने लगा तो मैंने अपनी कमर ऊपर उठा कर उसकी मदद की. भाभी- कभी किसी के साथ किया है?मैं- नहीं भाभी जी … लेकिन कोशिश कर रहा हूं.

मैं उसको देखना चाहता था, उसके चेहरे पर पूर्ण होने के भावों को पढ़ना चाहता था. अब मैं सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले आपको इस नगर के रीतिरिवाज बता देता हूँ. प्रकाश सोनू को लड़की की तरह सजाकर सुहागरात मनाएगा और उसकी गांड मारेगा.

फिल्म सेक्स सेक्स सेक्स

फिर भी मैंने आज मेरी चड्डी बाहर डाली क्योंकि मुझे पता था कि तुम ज़रूर वापस आओगे.

लेकिन भैया और भाभी भी गांव जा रहे हैं तो घर पर मैं रुकूँगा।भाभी- अच्छा तो आओगे पढ़ाने?मैं- जी भाभी. हमने तो सही से अपनी रिश्तेदारी भी नहीं पता कि हम भाई बहन लगते कैसे हैं. उसने मुझे ही अपनी वासना पूर्ति का साधन बनाया और मेरे लंड के साथ खेली.

फिर एक दिन दीदी की शादी हो गयी और दीदी अपना फटा भोसड़ा लेकर किसी और से चुदवाने चली गयी. वो मिन्नतें करने लगा- उई मां मर गया रे … सोहल प्लीज़ रुक जाओ … बाहर निकाल लो. हलवा कैसे बनाया जाता हैकरीब 5 मिनट बाद मैं भी उसकी चुत में झड़ गया और उसके ऊपर ही लेट गया.

मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया और उसके बड़े बड़े चुचों को हाथों में भरकर मसलने लगा. उन्होंने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरे होंठों को अपने होंठों में ले लिया मैं भी उनसे चिपक गई.

लेकिन भैया और भाभी भी गांव जा रहे हैं तो घर पर मैं रुकूँगा।भाभी- अच्छा तो आओगे पढ़ाने?मैं- जी भाभी. इस तरह हमारी बातचीत शुरू हो गई और लगभग आधे घंटे से ज्यादा हम नॉर्मल बातें करते रहे. चाची मीठे दर्द से कराह रही थीं मगर लंड को अन्दर से बाहर निकालने की कोशिश नहीं कर रही थीं.

तभी उसने एक हाथ निप्पल से मुँह हटा कर मेरा मुँह बंद कर दिया और अपने दाँत मेरे निप्पल में घुसा दिए. एक सिगरेट से दोनों ने मजा लिया और कुछ आराम के बाद आंटी वापस मेरा लंड चूसने लगीं. प्रिय दोस्तो और सहेलियो!काफी समय बाद मैं अपनी जानेमन नीना के साथ बीते दिनों जब होम टाउन घूमने गया तो बहुतेरी यादें ताज़ी हो गईं।इसलिए वो यादें इस मेरी चीटिंग वाइफ Xxx कहानी में लिख रहा हूँ.

श्रुति कुछ देर बाद बेड के किनारे पर बैठ गई और मेरा सिर दोनों हाथों से पकड़ कर मेरे होंठ पर किस करने लगी ‘मुआह्हह …’एक लंबे किस के बाद उसने ‘आई लव यू बेबी …’ बोला और मेरे सिर को अपने सीने पर दबा लिया.

मुझे जो आईडिया आया था, उसी के मुताबिक मैंने सोचा क्यों न अंकल को ही उत्तेजित करूं, शायद ये मुझे चोद भी दें. हम दोनों के पास कोई गाड़ी नहीं थी तो आस पास नदी किनारे रोज़ घूम आया करते थे.

मैं- वेदिका तुम मेरे सपनों की रानी हो … आज तो मैं तुम्हें रगड़ दूँगा. पीछे से उसकी चूत के फूले हुए होंठों के बीच वाली दरार में मैं अपनी जीभ को ऊपर से नीचे तक घुमाने लगा. जब भी गांव में जाता, वहां पर घूम रही भाभियों और लड़कियों के उठे हुए बड़े बड़े दूध व बड़ी बड़ी गांड को देख कर मेरा लंड कड़ा हो जाता.

सुम्मी ने दिनकर का लंड देखा, जो पहले से ही उसकी पैन्ट से बाहर निकल कर गुर्रा रहा था. कुछ देर बाद दीदी बोली- देख भाई, चुदाई में तो मज़ा आ गया, पर तूने जो अन्दर पानी छोड़ा है … इससे मैं प्रेगनेंट भी हो सकती हूँ. मैं उसे बड़े प्यार से देखता था, तो वो मुझे देख कर स्माइल पास कर देती थी.

चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ मैं आंटी की ब्रा पैंटी ले तो आया, मगर फिर घबरा गया कि कहीं आंटी को पता ना चल जाए कि मैंने उनकी चड्डी चुराई है. वो मेरी तरफ देखकर बोली- तुम्हारे जीजू को मेरी चूत चाटने में कोई इंटरेस्ट नहीं है.

सेक्सी फिल्म अंग्रेजी वीडियो में

यदि तू कहे तो मैं तुझे दो तगड़े पैग बना कर पिला देती हूं, जिससे तुझे मजा भी बहुत आएगा और दर्द भी ज्यादा नहीं होगा. शब्बो सिसकारने लगी।उसकी आँखें बंद हो चुकी थीं, साँसें तेज चलने लगी थीं।जो ख़ुशी उसको उसका शौहर ना दे सका वही सुख आज उसका छोटा मालिक दे रहा था. एक ने कहा- भाभी, कल ही रिकार्डिंग ही आपका काम करने के लिए काफी है, पर ये तो हम अपने पर्सनल कलेक्शन के लिए कर रहे हैं.

न्यूड भाभी हॉट कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी जवान पड़ोसन को सिर्फ पैंटी में देखा. उस वक्त मुझे भाभी की चूत के अलावा और कुछ नहीं दिख रहा था जिससे भाभी उस वक्त मुझसे जो भी बोल रही थीं, उसका मुझ पर कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा था. किसिंग इमेजमामी बोलीं- तुम्हारे साथ सूरज भी आया है क्या?मैं बोला- हां, वो नदी के उस पार खड़ा होगा.

सरिता ने मेरे पीठ और गांड को सहलाते हुए कहा- सच में हर्षद … पूरा अन्दर डाल दिया.

दीदी मेरे लंड को बहुत तेजी से चूस रही थी और मुझसे अब कंट्रोल नहीं हो पा रहा था. फिर हम धीरे-धीरे करके एक दूसरे के कपड़े निकालने लगे और हमने एक दूसरी को बिल्कुल नंगी कर दिया.

उसकी उखड़ती सांसों की आवाज के साथ साथ उसकी उतेजित करने वाली आवाजें भी आने लगी थीं ‘आह मेरी जान … मुझे और जोर से चोदो … आंह और जोर से करो. वो घोड़ी बन गईं और मैंने उनकी चूत में पीछे से अपना खड़ा लंड डाल दिया. तो जल्दी से काम करना होगा।अंगिका वहां से चली गई और मैंने मुग्धा को बांहों में लेकर चूसना शुरु किया.

मैं अपनी सगी बहन संगो को अपने लौड़े के नीचे ला नहीं पा रहा था, तो मैं बाथरूम में उसकी उतारी हुई पैंटी को ही चाट कर उसकी रसीली चुत का स्वाद ले लेता था.

कुछ पल बाद बबीता भाभी वापस आईं और उन्होंने मुझसे पूछा कि सैम कुछ चाहिए … मतलब ड्रिंक्स या सिगरेट!मैंने कहा- भाभी मैं ड्रिंक्स तो ज्यादा नहीं लेता हूँ … लेकिन सिगरेट दे दो. वो बोली- हां वही … यार इतने बड़े से मेरी चूत फट जाएगी … मेरा मतलब तुम्हारे इतने बड़े लंड से. कॉलेज गर्ल सेक्स एडवेंचर किया अपनी सहेली की मदद से! कॉलेज के आखिरी दिनों में दो सहेलियों ने ऐसा क्या खुराफाती टास्क परफॉर्म किया जिसमें सेक्स था?यह कहानी सुनें.

पाद कैसे आता हैउस लड़के ने लवी को सॉरी बोला और कहा- मैं आज के बाद मैसेज या कॉल नहीं करूंगा और ना ही तुमसे कुछ कहूँगा. दीदी मेरे बेड पर पूरी नंगी पड़ी हुई थी और उसका गोरा नंगा बदन बल्ब की रोशनी में बहुत ही आकर्षक लग रहा था.

शरीर रचना विज्ञान और शरीर विज्ञान

जानती हो मेरी बेटी की सहेलियां सब एक दूसरे के अब्बू से चुदवाती हैं। बड़ा मज़ा करतीं हैं ये बुर चोदी बेटियां!ससुर के 9″ के लण्ड से चुदवाने में मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था।मैं बस खलास होने वाली ही थी।तब तक वह भी खलास होने वाला था।पहले मैं हुई … फिर वह हुआ. मैं- मैं जल्द वापस आऊंगा, सेक्सी!हमने कॉल को समाप्त किया और मैं अब अंदर से हल्का और संतुष्ट महसूस कर रहा था।आप भी इस साइट को जरूर देखें दोस्तो, यहां पर हर किसी के लिए बहुत सारी हॉट इंडियन कैम गर्ल हैं।यह पूरा पैसा वसूल है।अंजलि के पेज पर विजिट करने के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें।. हनी की हालत खराब हो गई, दर्द से उसकी बेचैनी बढ़ गई और वो कराहने लगा.

इस वक्त मुझे झड़ी हुई चाची की चूत चुदाई में बहुत मस्त मज़ा आ रहा था. मौसी की नंगी जांघें और गांड कि कम्पन और उनके स्तनों की थिरकन मेरे मन में दौड़ रहे थे. उसके कुछ देर बाद मैंने अपना लंड निकाल कर अपनी बीवी के मुँह से लगा दिया और मेरी Xxx वाइफ ने मेरे लंड का माल खा लिया.

जीभ घुमाते हुए ही उसने एक बार में पूरा लंड मुँह के अन्दर ले लिया और रुक रुक कर मुँह हिलाने लगी, फिर निकाल कर सुपारे पर जीभ घुमाने लगी. शब्बो- हमने इतना कर दिया कि तुम्हारी बात करा दी … अब चोदना चुदाना तुम दोनों तय कर लो … समझे!उसका इतना बोलना था कि कुच्ची ने फोन ले लिया और उन दोनों की अपनी बातचीत शुरू हो गई. मैं बोला- तो फिर दीदी अब क्या करें?दीदी बोली- कोई बात नहीं, इस बार मैं देख लूंगी कुछ, मगर अगली बार से ध्यान रखना.

मैंने उसे समझाया कि अगर बिना किसी के जाने चुदवा लो, तो कोई दिक्कत नहीं है. फिर सरिता ने शॉवर बंद कर दिया और हम दोनों ने एक दूसरे को तौलिये से अच्छी तरह से पौंछा.

वे बोले- लुंगी या पजामा लाऊं?मैंने कहा- नहीं आपसे क्या शर्म, आपने तो मेरा सब कुछ देखा है.

रीना भी हसित के लंड को सहला रही थी और एक हाथ से हसित की पीठ और उसके बालों को पकड़ कर अपने ऊपर खींच रही थी. हिन्दू बॉयज नामलंड चूत में अन्दर बाहर होते हुए देखकर वो ज्यादा ही मदहोश होने लगी थी. कार्टून सेक्सीउसने पता नहीं क्या सोचा कि थोड़ी देर सहला कर उसने सारा माल मेरी नंगी गांड पर गिरा दिया. फिर भैया ने कहा- अब चूसना छोड़ और चढ़ जा लंड पर … कर सवारी लौड़े की भैन की लौड़ी.

हसित रीना के पूरे दूध को अपने मुँह के अन्दर लेने की कोशिश करने लगा तो रीना कामुक भाव से बोली- मेरे बहुत बड़े हैं … आपके मुँह में नहीं आएंगे.

आंटी की चुत ने बहुत दिन लंड नहीं लिया था, इस वजह से उनकी चूत टाइट हो गयी थी. मैं ज्यादा देर तक नहीं रुक पाया और दो मिनट में ही मैंने उनके मुँह में पानी छोड़ दिया. कुछ देर के बाद तो वो हाथ में हाथ डालकर घूमने लगा, दोनों फोटो लेने लगे.

हम दोनों की इस तरह बातें चल रही थीं और मैं मॉम के बदन को इधर-उधर टच कर रहा था. बिंदास हूँ, खूबसूरत हूँ और साथ ही साथ बोल्ड और हॉट हॉर्नी गर्ल हूँ।मुझे बुर्का वगैरह बिलकुल पसंद नहीं है मेरी अम्मी जान को भी नहीं!मैं पढ़ी लिखी हूँ और आज की लड़की हूँ। ओपन माइंडेड हूँ ब्रॉडमाइंडेड हूँ और आधुनिक विचारों वाली हूँ. मैं उठकर नीचे खड़ा हो गया तो मेरी लुंगी में लंड के तनाव की वजह से तंबू बन गया था.

फ़क यू मीनिंग

मैं जब भी कॉल करती, वो ‘अभी थोड़ा बिजी हूँ, शाम को करता हूँ बात!’ऐसा बोल कर फ़ोन रख देता. दूसरे दिन जब मम्मी नहाकर रूम में कपड़े पहन रही थीं, तब मैं अचानक से वहां पहुंच गया. भैया का प्लास्टिक से रिलेटेड कुछ बिज़नेस था, तो उस चक्कर में वो अक्सर घर से बाहर टूर्स पर जाते थे.

कमरे में आंटी की सिसकारियां गूंजने लगीं, साथ में फच फच की आवाजें भी आ रही थीं.

मैंने धीरे से उसकी गर्दन पर किस किया, जिससे उसके मुँह से एक बड़ी आह निकल गई.

वैसे तो मैं नॉर्मल लड़कों की तरह ही हूं, लेकिन पता नहीं मुझे लड़कों में बहुत इंटरेस्ट था. कार की पीछे की सीटों पर मेरी मम्मी, दादी, बुआ के दो बच्चे और बुआ बैठी थीं. देहाती ब्लू फिल्म हिंदी मेंअब जब सर ने स्वेटर निकाला तो आधे स्टूडेंट ने भी निकाल दिया लेकिन मैंने नहीं निकाला.

वे उछल उछल कर लौड़े को अन्दर ले रही थीं जिससे उनके दोनों बूब्स ऊपर नीचे हो रहे थे. आखिर ढाई घंटे तक सबने मुझे रगड़ा और सबने अपना अपना पानी निकाल कर मुझे छोड़ दिया. वो मेरे नीचे जाते जाते अपने सर ऊपर करके और आंखें बंद करके कुछ बड़बड़ा रही थी.

कुछ देर बाद लंड फिर से खड़ा हो गया अबकी बार मैंने आंटी को घोड़ी बनाया और पीछे से लंड अन्दर डाल दिया. मैं और कामुक हो गया और उसके दोनों स्तनों को बारी बारी से तब तक चाटता रहा जब तक चॉकलेट का स्वाद खत्म नहीं हो गया.

उन दोनों ने सुम्मी की गांड और चुत में एक साथ लंड चलाने शुरू कर दिए और दूर खड़ी प्रियंका अपनी मम्मी की सैंडविच चुदाई की लाइव ब्लू-फिल्म देख कर अपनी चुत को अपनी टांगों से ही रगड़ने लगी.

कुछ देर बाद दीदी बोली- देख भाई, चुदाई में तो मज़ा आ गया, पर तूने जो अन्दर पानी छोड़ा है … इससे मैं प्रेगनेंट भी हो सकती हूँ. वो दोनों बिस्तर पर आ गईं और मुझे सिगरेट पीने लगीं, मुझे गंदी गंदी गालियां देने लगीं. दोस्तो, मेरी पिछली कहानीचिकने लड़के को बीवी बना कर चोदामें आपने पढ़ा था कि प्रकाश ने सोनू को सोनम बनाकर सुहागरात मनाई, दोनों 8 दिन साथ रहे.

रवि सेक्स वीडियो तीन बार की सिस Xxx चुदाई के बाद उसको बाथरूम जाना था तो वह बाथरूम में जाने लगी. फिर भाभी खड़ी हुईं और साड़ी को घुटनों तक ऊपर करके उन्होंने अपनी पैंटी उतार दी.

मैं खिड़की को बंद करने लगी तो अंकल ने कहा- क्या चल रहा है … बताऊं तेरे पापा को!मैंने कोई जवाब नहीं दिया और झट से खिड़की बंद कर दी. हालांकि आंटी मेरी मम्मी की सहेली थीं और मम्मी उनके घर अक्सर आया जाया करती थीं. मुझे भी जोश आ गया और मैं कुत्ते की तरह दीदी की चूत को जीभ से चाटने लगा.

न्यू गोल्डन डे बॉस मटका

उसने पैग बनाए और हम दोनों ने चियर्स करके शराब की चुस्कियां लेना शुरू कर दीं. मैंने सरिता को किस करते हुए कहा- सरिता, अब दुनिया की हर खुशी तुम्हें दूँगा मेरी रानी. जिया दीदी- क्या सच में तुम मेरे साथ सेक्स करना चाहते हो!मैं- हां दी, मेरा बहुत मन है और आप ही मेरी मदद कर सकती हो.

यह देख मेरी भी उत्तेजना बढ़ रही थी और मेरी चूत ने भी अपना पानी छोड़ दिया. मैंने उनकी नंगी और मोटी मोटी चूचियों को नंगा देखा तो ऐसा लगा जैसे मुझ पर कुछ नशा सा चढ़ गया हो.

मैं उसके कपड़ों के ऊपर से उसकी चूची पर ही अपना मुँह रगड़ने लगा और दांतों से निप्पल को काटने लगा.

कुछ देर बाद मैंने पोजीशन बदल दी और उसको अपनी कुतिया बना कर उसको पीछे से चोदने लगा. लेकिन जन्मदिन के 3 दिन पहले अचानक रात में मुझे तेज बुखार आया।जिस दिन मामा का जन्मदिन था, उस दिन की सुबह तक मेरा बुखार काफी कम हो चुका था पर मुझे अच्छा महसूस नहीं हो रहा था. यह लड़का लड़का सेक्स कहानी उस समय की है, जब मैं जॉब करने दिल्ली आया था.

वो खुद मुझसे चुदने को मचलने लगी थी, लेकिन मिलने का कोई मौका नहीं मिल रहा था. ये बोलते हुए उन्होंने अपना टॉप और ब्रा दोनों निकाल दिए और अपने बूब्स मुझे थमा दिए. 30 बजे जब छुट्टी की घंटी बजी तो मैंने हल्के से उसे इशारा किया तो उसने भी हां में इशारा किया।मैं बहुत खुश था क्योंकि मेरा घर गांव के बाहर की तरफ आता है और कल मेरे घर पर कोई नहीं था।अब मुझे बस कल 10 बजे का इंतजार था।मैं खुशी के मारे फूला नहीं समा रहा था।मैं सुबह उठा तो मैं बुखार का बहाना बनाकर स्कूल नहीं गया.

दीदी- कितनी गर्लफ्रेंड हैं तेरी?मैं- एक ही है।वो बोली- कभी उसके साथ कुछ किया है तूने?मैं- उसके साथ तो कुछ नहीं किया है, हां मगर मेरे ऑफिस की एक कुलीग (सहकर्मी) है जिसके साथ मैंने ऑफिस में सेक्स किया है.

चुदाई सेक्सी वीडियो बीएफ: मैं हाथ आई उन चूचियों दबाना तो बहुत चाहता था पर डर के मारे नहीं दबा रहा था कि मौसी मां कहीं जाग न जायें।इधर मेरा खड़ा लंड अपने चरम पर था मानो वह बेड में छेद करना चाहता हो।जैसे जैसे मैं अपने हाथ में उनकी चूची और जांघ उनकी जांघ पर महसूस करता, मेरा लंड और टाइट होता जाता. उस रात मुझे लगा कि राहुल बिना सेक्स के घर पर शायद नहीं जाएंगे, तो मेरा भी मन उनकी चुदाई की आवाजों को सुनने के लिए तरसने लगा था.

मैंने मेरे हाथ से उसके पैर से लेकर सर तक हर अंग को सहलाना शुरू कर दिया. मैंने कहा- हां भाभी, मैंने कल रात को और आज सुबह आपकी याद में मुठ मार ली थी. सिमर बहुत सुंदर थी, उसका जिस्म बेहद ही खूबसूरत था, उसका गोरा रंग था और बड़े बड़े कूल्हे थे और पतली कमर थी.

दोनों ने एक दूसरे को अपने अन्दर समा लिया और साथ साथ झड़ने का आनन्द लेने लगे.

ऊपर से उनकी बदन की मादक खुशबू, मीठी सॉफ्ट सी आवाज़ मुझे एकदम पागल बना देती थी. आख़िर में हनी डरते डरते दिल्ली जाने को तैयार हो गया क्योंकि वो सोहल को खोना नहीं चाहता था. इसके बाद जब उसने मुझे मिरर दिखाया तो मैं खुद को ही नहीं पहचान पा रहा था.