बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई

छवि स्रोत,राखी सावंत बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी चायना: बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई, दस मिनट की लंड चुसायी के बाद उसने फिर से किस करना शुरू कर दिया और मेरा होंठ काट लिया.

सेक्सी बीएफ भाभी को चोदा

उसके बाद संजीव ने मेरे हाथ को अपने हाथ में पकड़कर अपने लंड पर रखवा दिया. सेक्सी बीएफ एचडी गुजरातीफिर थोड़ी देर मैंने उसकी चूत चाटने के बाद उसकी चूत में एक उंगली डाली, तो वो जगह बनाते हुई अन्दर घुस गई.

इसलिए उसके गीले कपड़ों के ऊपर से ही उसके गर्म बदन को भोगने में मुझे असीम आनंद मिल रहा था. सेक्सी बीएफ कॉलेज गर्ल्सकुछ बेसब्री के इंतजार के बाद वो दिन भी आ गया, जिसका मैं बड़ी बेसब्री से इंतजार कर रहा था.

अब वो अकेले में मुझसे गर्लफ्रेंड और लड़कियों के बारे में पूछते और मैं उनकी उम्र और मामा होने के चलते, शर्मा जाता.बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई: बस वो मुझे चूमता रहा और मेरे मम्मों को कस के रस निकलता रहा उन्हें ज़ोर ज़ोर से दबा दबा कर!कुछ देर इस तरह से करके उसने मेरा सारा ध्यान दर्द से हटवा दिया और मैं खुद ही अपने चूतड़ हिलाने लग गई.

अब कैसी तबियत है आपकी?मैं- अब ठीक है कल इलाज के लिए चंडीगढ़ ही आ रहा हूँ.इसलिए मैंने मौके की नजाकत को देखते हुए अपना लंड उनके मुंह से बाहर निकलवा दिया.

सेक्सी बीएफ गंदी वाली - बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई

… मेरी गांड में … अह्ह्ह फाड़ डालो … ऊऊहह … आआहह … अन्दर … और अन्दर आज्ज्जाआ … आअहह … मेरी गांड.ममता बोली- सही कहती है मामी …सुधा बीच में ही ममता को टोकते हुए बोली- अरे, आगे की बात तो सुन.

मैंने उसकी दोनों टांगें हवा में उठा दीं और लंड को चुत पर लगा कर धक्का मार दिया. बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई आरती ने मुझे इन दो लंडों के अलावा दो और भी लंड दिलवाये जिनसे वो चुदवाती थी.

डॉक्टर ने साफ कह दिया था कि अब प्रीति का शरीर अतिरिक्त गर्भ धारण के लिए सक्षम नहीं है.

बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई?

मैं बस यही सोच रही थी कि आखिर यह मुझे इस तरह से एकटक घूर क्यों रहा है?थोड़ी देर बाद जब मैं अन्दर गई, तो वह लड़का मेरे आगे पीछे होने लगा, नाश्ता की ट्रे लेकर आया और मुझे दो प्लेट नाश्ता दे गया. यह सब कार्य मैडम ने ऐसी फुर्ती से किया जिससे पता चलता था कि मैडम इसमें सिद्धहस्त हैं. उनको कहकर भी आई हूँ कि अगर किसी चीज की जरूरत हो तो वह मामी से मांगने में शर्म न करें.

अब मेरे घर में मैं और माँ ही बचे थे पिताजी की मौत के कारण खेत का काम मेरे सिर पर आ गया. मेरा लंड भी उसकी चूत रस से गीला होकर अपनी ही भतीजी की चूत में जाने को तैयार था. मैंने उसकी चूत का पूरा पानी चाट लिया और उसकी चूत को लगातार चाटता रहा.

मुझे लग गया कि ये सगे भाई बहन का नाता नहीं रहा, अब ये अलग नाता बन गया है. उसे घर से बाहर निकलने का बहुत ही कम मौका मिलता था इसलिए वो खूब खुल कर मस्ती कर रही थी. सुधा ने आगे की कहानी बताते हुए जारी रखी- ममता, हम लोगों का प्लान ‘ए’ तो कामयाब रहा.

इतना उसने कहा, मैं बाहर तरफ आ गई और मेरे थोड़ी देर बाद मामा भी निकले. पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैंने सोनू को सेक्स के लिए तैयार कर लिया था.

फिर उसने चुटकी बजाई, मुझे आवाज देकर होश में लाई और मुझे अपने साथ घर के अन्दर चलने को बोली.

”उन्होंने मेरे हाथ में एक बड़ी कैडबरी रखी, उसे देख कर मैं भी पिघल गयी.

अब मैंने भी आहना की योनि का मर्दन शुरू कर दिया और साथ ही कभी उसके लबों को चूमना चालू कर दिया. अब तू ही बता ममता कि कमोड भी भला क्या चुदाई की जगह होती है?ममता बोली- हाउ स्वीट! मामा जी तो बहुत ही रसीले हैं. कभी वो मेरे नीचे तो कभी मैं उसके नीचे, पूरी रात चोदाई का यह खेल चलता रहा।घोष बाबू- ओ प्रधान जी, कहाँ खो गए सर? रात की बात खत्म हो गई.

मेरे लंड की लंबाई 5 इंच है, पर मैं किसी भी लड़की को पूरी तरह से संतुष्ट कर सकता हूँ. फिर मैंने कोमल को रोक लिया क्योंकि मेरे लंड में बहुत ज्यादा तनाव आ गया था. वो आयी, उसने बैल बजायी तो मैंने बाथरूम से मुँह निकाल के उसे बोला कि दरवाजा खुला है.

अगले ही पल मैंने उसकी पैंटी को भी निकाल दिया और निकालते समय मुझे ये पता चला कि उसकी पैंटी थोड़ी गीली हो चुकी थी.

फिर कुछ सालों के बाद उसे गर्भ ठहरा मगर उसकी तबियत इतनी बिगड़ गयी कि उसे गर्भपात करवाना पड़ा. शावर से गिरता पानी मामी जी के स्तनों से होता हुआ चूतड़ों तक ओर फिर नीचे चुदाई के साथ लंड से होता हुआ गांड के अन्दर बाहर निकल रहा था, जिससे पच पच पच की आवाजें बाथरूम में गूंज रही थीं. दोस्तो और सहेलियो … कैसी लगी मेरी और पायल की ये और एक चुदाई की कहानी.

सोनम बोली- मेरी दीदी की शादी यहां इस घर से नहीं हो रही है, चाचा और दादा जहां रहते हैं, वहां अहरी से होगी. मैं अक्सर राजेश को सोचकर या फिर रवि मामा के हैंगर पर टंगे कपड़ों की महक लेते हुए मुठ मार लिया करता था. मैंने कहा- आज पूरी रात मेरे घर कोई नहीं है, तुम चाहो तो रुक सकती हो.

और थी भी वही बात … वो बोली- मेरा होने वाला है।अचानक मेरे घर के मेन गेट की घंटी बजने लगी और बाहर से आवाज आई- दूध ले लीजिए।सन्जू पूरा गुस्साई कि अभी ही इसे आना था और बोली- दूध लेने छोड़िये ना अभी मुझे कीजिए ना!मैं बोला- नहीं, वो चिल्लाते रहेगा.

जहाँ पर मेरी मुलाकात शिखा से हुई जो मेरी फील्ड में जॉब ढूंढ रही थी. मिसेज पाटिल एक हाथ से मेरा लंड भी आगे पीछे कर रही थीं और मैं भी उनकी चुत में उंगली करने लगा था.

बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई उसने कहा- हम ज्यादा दिन साथ नहीं रहे पाएंगे क्योंकि वो मुझको अकेला नहीं छोड़ता, हर वक्त कॉल करता रहता है. सासू माँ ने लंबी सांस लेते हुए कहा- ह्म्म्म … एक मिनट तू रुक बेटा, मैं अभी आयी.

बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई पापा का लौड़ा जब मेरी चुत की गहराई में जाता तो मेरी जान निकल जाया करती थी. पहले ये तो देखूं कि कितना बड़ा हो गया है तू?उसने मेरी बेल्ट खोल दी और फिर बटन ओर चैन और मेरे लंड को कच्छे से बाहर निकाल लिया.

मुझे तो जैसे लोटरी ही लग गई, मैंने सीधा ही कह दिया- मुझे भी रूम ज़रूरत है, तो मैं ही तुम्हारा पार्टनर बन जाता हूँ.

ભાભી નણંદ

मैंने उसकी टांगों को अपने कंधे पे रखा और एक ही झटके में उसकी चुत के अंदर लंड उतार दिया. वीर्य अन्दर न जा पाए, इसलिए मैंने जल्दी से उसके लंड को बाहर निकाल लिया. मेरे को उठती देख कर अचानक से भाभी चली गयी, मैं भाभी को आवाज़ लगाती रही पर वो नहीं रुकी।मुझे जो प्लानिंग बैडमैन ने बताई थी वो मैंने अम्मी को बता दी, अम्मी सुन कर बहुत खुश हुई.

कुछ देर बाद 69 की सी स्थिति बन गई और संजय का लंड कोमल के मुँह में आ गया. उसने अपनी ऊपर वाली ड्रेस उतार दी तो मैं उठ खड़ा हुआ और उसकी कमर पे हाथ रख कर कहा- अब मैं उतारूंगा. वह शायद पानी लाने के लिए किचन की ओर गई हुई थी। उसको देख कर मेरा दिमाग कहीं खो सा गया था.

उसने मेरी टांगों को इधर-उधर फैला करके सीधे अपना मुँह रखकर उसे चूमा और फिर जीभ निकाल कर मेरी चुत में जैसे जीभ को डाल दिया.

अजय के लंड को चूत जब अन्दर ले रही थी मैं आनंद के मारे अजय को दुआएं देने लगी. अब मुझे उसकी चूत मारने में मज़ा नहीं आ रहा था इसलिए मैंने उसकी गांड में उंगली करना शुरू कर दिया. आख़िरकार उसने अपना लंड मेरी गांड में डाल ही दिया और उसे अंदर बाहर करने लगा.

फिर उसने मेरे पेंटी के ऊपर हाथ रखा और हंसते हुए बोला- आलरेडी सो वेट. मैंने उसकी चड्डी को अपने मुंह के पास ले जाकर सूंघा तो उससे उसकी चूत के पानी की खुशबू आ रही थी. मैंने धीरे से उसकी चूत में लंड को धक्का दे कर उसकी पीठ पर लेटते हुए उसके चूचों को पकड़ लिया और उसकी चूत को चोदने लगा.

आदाब दोस्तो, आपने मेरी कहानीआपा के हलाला से पहले खाला को चोदापढ़ी, इस पर आप सबकी ढेर सारी ईमेल मिली आप सबका इस प्यार के लिए बहुत शुक्रिया. उस बीच वो लेडी मेरे पास आकर मुझसे बोली- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने कहा- कोई नहीं है.

दोस्तों जब लड़की लंड चूसती है ना … तो इसका मजा ही कुछ और ही होता है. मैंने उसके दूध ज़ोर-ज़ोर से दबाना शुरू कर दिया तो उसने कहा- आराम से करो, आज ही निचोड़ दोगे क्या?तो मैंने कहा- हाँ!फिर मैंने उसकी पैंटी के अन्दर हाथ डाल दिया और उसकी चूत में उंगली घिसने लगा. इस वक्त भाभी ने एक क्रीम रंग की पारदर्शी टाइप साड़ी पहन रखी थी और होली खेलने के लिए पूरी तरह से तैयार दिख रही थीं.

मैंने हाथ और अन्दर डाला तो मेरा हाथ सीधा उसकी ब्रा की पट्टी पर लगा.

मैं अपनी चूचियों को उछालते हुए उसके लंड पर जोर जोर से घुड़सवारी करने लगी. पर प्रीति को इन सब में घिन आती थी, तो सुखबीर ने ज्यादा दबाव नहीं दिया. लण्ड चूत के अंदर तक समाकर चूत की दीवारों में घर्षण पैदा कर रहा था तो चूत लण्ड को अपने में जकड़ लेने की कोशिश कर रही थी.

एक तरफ भाभी दीवार से सटी हुई थी और दूसरी तरफ से मैं उनकी चूत को अपने मोटे लण्ड से चोद रहा था, फ़च-फ़च … की आवाजें आने लगी थी. वो बोली- बैठो … क्या लोगे … चाय या कॉफ़ी?मैं उसकी तरफ देख कर मुस्कुरा दिया.

मुझसे अब रहा नहीं गया और मैंने अपना हाथ अपनी सहेली की जांघों पर रखा, उसकी हालत भी बिल्कुल मेरी ही तरह थी. बस में एसी चल रहा था, तो मामी को ठंड लग रही थी, तो वो काँपने सी लगीं. इस जगह, परपुरुष से इतनी देर बातें करने का कोई गलत अर्थ भी निकाला जा सकता था.

बीएफ सेक्सी नंगी पिक्चर

मेरी सेक्सी कहानी अभी जारी है दोस्तों देखिए कैसे मैडम ने मेरी लाईफ सैट कर दी.

मैंने उसे बताया कि पहले अपनी वेशभूषा बदलो और रात में सोने के समय कुछ ऐसा पहनो, जिससे उसकी कामुकता झलके. मैंने पूछा- चड्डी में अंदर तुमने कुछ पहना हुआ है क्या?वह बोली- मेरे पीरियड्स चल रहे हैं. उसे जन्नत मिल गयी। अब तुम्हें जब भी मौका मिले, मुझे चोदते रहना।फिर भाभी उठी और बाथरूम की ओर जाने लगी तो मैंने देखा कि उनकी जांघें कांप रही हैं और वो थोड़ा लड़खड़ाकर चल रही है।मैं भी उनके पीछे बाथरूम में गया.

दोस्तो, इस बार इस कहानी का नायक दिलदार सिंह है कहानी उसी की जुबानी सुनिये. दो दिन बाद मैंने देखा कि वो मेरी तरफ बड़ी आशा भरी निगाहों से देख रही थी, तो मैंने उससे जबाव माँगा. सेक्सी वीडियो बीएफ करीना कपूरजैसे जैसे मैं ऊपर की तरफ बढ़ रहा था, वैसे वैसे उसकी बेचैनी बढ़ती जा रही थी.

मैं- पास आऊंगा तो जो भी करूँगा करने दोगी?वो- आओ तो सही … फिर देखूंगी. लेकिन नीचे बैठी फैमिली ने बोला कि कंबल नीचे लटक रहा है, इसे ऊपर कर लो.

उसने भी होंठों पर कटीली मुस्कान लाते हुए फिर कहा- हंस क्यों रहे हो … बताओ न क्या लोगे?मैंने भी कह दिया- जो चाहे पिला दो?वो आंखें झुका कर हंसते हुए ये कहते हुए अन्दर जाने लगी कि मैं चाय लाती हूँ. मैं अपने घुटनों पे फर्श पे आ गयी और एक उत्तेजना के साथ उसके अंडरवियर को उतारने लगी. इन सारी प्रक्रियाओं में मैं तीन बार झड़ चुकी थी और अब बैडमैन भी झड़ने की कगार में था.

लिहाजा वह अपने पुराने पोज में आ गई और साथ ही प्रशांत ने पीछे से चूत में समूचा लंड उतार दिया. करीब नौ बजे के लगभग मेरी नींद खुली; मैं बाहर आया तो हॅाल से नीचे झांकने लगा. उन्होंने मुझे अपने घर ही मिलने के लिए 4 दिन बाद बुलाया और मैं मान गया.

मैंने उससे कहा कि वह मुझे कोई ऐसा काम दिलवा दे जिसमें ज्यादा पैसा मिलता हो.

फिर थोड़ा समय बीच में अजीब सी शान्ति फ़ैल गयी जैसे कि कुछ होने वाला हो. उसने बोला- प्लीज बता दो!मैं चुप रही तो उसने आगे कहा- मैं सागर से पॉलिटेक्निक कर रहा हूं.

पड़ोस में रहने के कारण उनके यहाँ आना-जाना तो था ही और अच्छी जान-पहचान भी है. उनके व्यवहार से ज़रा भी यह नहीं लग रहा था कि उन्हें मुझमें कोई रूचि है. पापा का लौड़ा जब मेरी चुत की गहराई में जाता तो मेरी जान निकल जाया करती थी.

आप प्लीज़ मेरी इस पहली स्टोरी को अपना समर्थन दें और अपने कमेंट मुझे ईमेल से जरूर भेजें. अब मैं उनकी मेहनती मज़बूत छाती पर अपनी नाक रगड़ने लगा और लम्बी गहरी सांस लेते हुए सूंघने लगा. थोड़ी देर में जब लंड खाली हो गया तो मैडम ने हथेली पर इकट्ठे लावा को चाट लिया.

बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई सुबह तक उसकी हालत इतनी खराब हो गई थी कि वो सही से चल नहीं पा रही थी. कुछ देर तक मैं भाभी के गालों, होठों, और भाभी की नशीली आंखों को चूमता रहा, जिससे भाभी पूरी तरह से संतुष्ट हो गई.

સેક્સી ચાહિયે

मैं- आअह उफ्फ … बेटा तूने मम्मी समझ के तो मुझे रात भर चोदा है ना … अब रांड कॉल गर्ल छिनाल समझ के चोद … आअहह बेटा. वो लोग हमसे भी उनके साथ पानी में भीगने की जिद करने लगे लेकिन कोमल नहीं जा रही थी. अगले दिन शाम को मैं अपनी बुआ के घर पहुंचा, जहाँ सब मेरा ही इंतजार कर रहे थे.

उसने एकाएक मेरे चेहरे को पकड़ा और रोकते हुए कहा- सारिका जी बुरा न मानो तो एक बात कहूँ?मैंने कहा- हां कहिए?उसने अब अपने मन की बात कहनी शुरू कर दी- सारिका जी सेक्स तो सभी करते ही हैं पर कुछ अलग करने का मजा अलग ही है. मैं वहीं खड़ा रहा तो वो शर्म की वजह से पेशाब भी नहीं कर पा रही थी।मैंने उससे कहा- अब मुझसे क्या शर्मा रही हो. सेक्सी बीपी बीएफ बीपी बीएफइसीलिए मुझे उन पर थोड़ा तरस भी आ रहा था क्योंकि वो हमेशा ही यहां वहां मुँह मारते ही रहते थे.

मैं खुद पीठ के बल लेट गया और उनको लंड पर बैठने का बोला, वो भी पक्की चुदक्कड़ थीं, तो झट से घुटने मोड़ के लंड पर हाथ से थूक लगाने लगीं.

तौलिया उनके उभारों पर तो पूरा था, पर उनकी टांगें पूरी नंगी थीं, भीगे हुए बाल उनसे टपकता पानी, एक हाथ से तौलिया को पकड़े वो मेरी ओर आ रही थीं कि तभी वो पलट गईं. तेरी पैंटी गीली हो गई बहुत मस्त है तू!आशीष ने वहां फूली हुई जगह पर फिर से जोर से अपने होंठों को रख दिया.

उसके बाद मैंने उसके चेहरे को ऊपर किया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनको चूसने लगा. भैया बोले- अमित अभी तेरी भाभी किचन में काम करेगी, जब तक हम बाहर से मस्ती करके आते हैं, फिर तेरी भाभी के साथ होली खेल लेंगे, आज मुझे भी इसको जम के रंगना है क्योंकि ये हम दोनों की पहली होली है. फिर रूम सर्विस बॉय की हेल्प से अपने हब्बी को रूम में सुला कर एक बजे के आसपास वे हमारे कमरे में आ गईं.

फिर बड़े ज़ोर ज़ोर से झटके लगा कर उसने अपना सारा माल मेरी गांड में ही छोड़ दिया.

सोनू पहले तो झिझकी लेकिन फिर उसने सुपारे को अपने हाथ में लेकर दबाया. हम दोनों के चेहरे वासना की गर्मी से लाल थे और यह सोच कर एकदम से नीले पड़ गए कि मेरे फ्लैटमेट ने देख लिया ऐसी हालत में अकेले! तो क्या होगा. ममता बोली- सही कहती है मामी …सुधा बीच में ही ममता को टोकते हुए बोली- अरे, आगे की बात तो सुन.

बीएफ मूवी सेक्सी एचडी वीडियोसलोनी- उई माँ … मर गई … धीर् रे …और मैंने फिर एक रिदम में लण्ड को धक्के लगाना शुरू किया। कुछ ही पलों में सलोनी दर्द भूलने लगी और मेरी सिसकारियां ट्रेन के शोर के साथ सुर मिलाने लगीं. मैंने कहा- अगर तुम्हें कुछ और जरूरी काम नहीं है तो मैं अब सोना चाहती हूँ.

सेक्सी चाहिए ब्लू पिक्चर सेक्सी

ह्हम्म!मैंने शरमाते हुए कहा- क्या बताएं काका हमें तो आदत ही है, अच्छी अच्छियों की चाल ढाल बदलने की. झटका देने के तुरंत बाद भाभी ने मेरे गीले टोपे वाले लंड को अपने मुंह में भर लिया और अपनी जीभ लगाकर लंड का स्वाद लेते हुए चूसने लगी. कुछ दिन बाद जब हमारा टेस्ट हुआ तो मेरा स्थान उन दोनों बहनों के बीच आ गया.

मैंने कहा- दीदी के भोसड़ी वाले भाई … निकाल लंड को … और पानी बाहर निकालना! मुझे अभी कोई बच्चा नहीं पैदा करना इस चूत से. मगर कह कर गए हैं कि जब वापस लेने आयेंगे तो सप्ताह भर की छुट्टी लेकर ही आएंगे. भाभी की लंड लेने की आदत से मुझे भी एक फायदा हुआ कि मेरे लंड को चूत का मजा मिलने लगा.

कुछ ही देर में हम दोनों साथ में झड़ गए और शॉवर ऑन करके वहीं फर्श पर नंगे पड़े रहे. मैं शादी के बाद 24 घंटे बस तेरी टांगों की नीचे लेटा तेरी चुत को चाटता रहूंगा. मेरा उतरा हुआ चेहरा देखकर वो बोलीं- समझो यार, मैंने कभी नहीं किया आज तक … इसलिए मना कर रही हूँ.

मैंने उसकी चूत पर लंड अच्छे से फिट किया और उसके मुँह पर एक हाथ रखा और एक जोरदार झटके के साथ एक ही बार में लंड उसकी चूत में उतार दिया. अगले दिन मैं दूध लेने गयी तो सुखबीर के चेहरे पर ताजगी सी दिख रही थी और अन्य दिनों के बराबर उसका व्यवहार बदला बदला दिख रहा था.

जैसे ही शावर का ठंडा पानी मामी जी के ऊपर पड़ा, उनकी जोर से सिसकारी निकल गई और वे मुझसे कसके लिपट गईं.

होटल से बाहर के लोग हमें कपल समझ रहे थे, लेकिन हम दोनों होटल में अलग अलग रूम में रहते थे. सेक्सी बीएफ हॉट वालीउसकी इतनी सी उम्र में इतनी चुदाई हो चुकी थी कि उसकी चुत का भोसड़ा बन चुका था. हिंदी नाबालिक बीएफजब मैं सुबह कोचिंग गयी थी, तो रास्ते में कुछ लड़के मुझ पर कमेंट मार रहे थे, तो मैं डर गयी थी. अब आगे:वहां से तो मैं अपने रूम में आ गयी, पर अभी भी समझ में नहीं आ रहा था कि अभी जो कुछ हुआ या मम्मी जी ने जो कुछ कहा, क्या वो सब सच था या मैं अभी कोई सपना देख रही हूँ.

यह सुनकर वो थोड़ी सी उठ गई और मैंने मेरा लंड उसकी गांड के बीच में रख दिया.

भाभी की चुत में मेरा लंड पैन्ट के ऊपर से जाने तैयार था, एकदम चिपका हुआ था. वह तो तुरंत ही लंड को चूत की सुरंग में ठेल देने को बेचैन हो गया मगर नीना के डर से ऐसा नहीं कर सका. भाभी ने मेरा पैंट उतारा और मेरे बाबूराव को हाथ में पकड़ कर उससे खेलने लगीं.

आखिर वो टाइम आ ही गया, जिसका शायद हम दोनों को ही बेसब्री से इंतज़ार था. वो समझ गए और मुझे बेड के किनारे पे लेकर मेरी टांगों को और खोलकर जोरदार धक्के लगाने लगे।मैं आज दुनिया के सबसे हसीन मज़े को महसूस कर रही थी और अपने प्यारे पापा से चुद रही थी।लगभग 20 मिनट तक मेरी लगातार चुदाई करने के बाद पापा मेरी चुत में ही झड़ गए और बेड पर लेटकर मुझे अपने ऊपर लिटा लिया और मेरी पीठ और चूतड़ों को सहलाने लगे. वह शायद पानी लाने के लिए किचन की ओर गई हुई थी। उसको देख कर मेरा दिमाग कहीं खो सा गया था.

सेक्सी सेक्स वीडियो ब्लू

वह जा चुकी थी और मैं अभी भी सोच में पड़ा था कि कहीं उसे पता तो नहीं चला होगा कि मैं कौन हूँ और मैंने उसके साथ क्या किया था. मैं क्लास खत्म होते ही जल्दी चला जाता था क्योंकि शाम की रेस का समय नहीं बचता था. लेकिन फिर कुछ दिनों बाद कुछ प्रॉब्लम के कारण हम दोनों का ब्रेकअप हो गया.

इससे उसको भी जोश चढ़ना शुरू हो गया और फिर नीचे से लंड को मेरी चूत में घुसाने की कोशिश करने लगा.

कैसी लगी आपको मेरी स्वीट हार्ट बीवी नीना की यह चुदाई?जरूर बताएं, मुझे बहुत अच्छा लगेगा.

उसके इस तरह से मेरा ख्याल रखने से मुझे वह अब अपने आप अच्छा लगने लगा. मैंने अपनी फुल स्पीड कर दिया, जिससे मिसेज पाटिल की आवाजें तेज़ हो गई थीं. बांग्ला बीएफ बीएफ बांग्लामैं अब झड़ने से अधिक दूर नहीं लग रही थी, सो मैं जल्द से जल्द संभोग चाहती थी.

मैंने भाभी को पलंग में थोड़ा बाहर तरफ खींचा और उनकी दोनों टांगों के बीच में खड़ा हो गया. वो मुझसे बोला- अगर तू गाड़ी से नीचे भी उतरा, तो फिर तेरी जीएफ की खैर नहीं … अभी तो हम आराम से चुदाई करेंगे … तूने चूँ-चपड़ की तो चुदाई के साथ ठुकाई भी करेंगे. फिर मैंने प्यार से उसके माथे को चूमा और पूछा- ज्यादा दर्द तो नहीं हो रहा?तो उसने पलक झपका कर उत्तर दिया और वो हैप्पी हो गयी.

मैं शादी के बाद 24 घंटे बस तेरी टांगों की नीचे लेटा तेरी चुत को चाटता रहूंगा. मैं भाभी को पकड़ कर एकदम टाईट हग करने लगा और बोला- भाभी, भैया की किस्मत अच्छी है, वरना मैं तो आपसे ही शादी करता.

बात करते करते मैंने इंदु से कहा- आज का वादा तो याद है ना?उसने कहा- जीजा जी, सब याद है, मैं रात को फोन करूँगी, जैसे ही आस पास सूना हो जायेगा, आप आ जाना.

पार्टी भी समाप्त होने को थी, सभी ने डिनर किया, एक दूसरे को गुड बाय किया और अपने अपने घर को निकल पड़े. मुझे लंड लिए एक महीना हो गया था, तो मुझे थोड़ा दर्द सा हुआ जिसकी वजह से चुत ने लंड को कस लिया. मैंने उसे समझाया कि उसका चूत का पानी मेरे लंड को बहुत मीठा और तीखा लगा और इसने तो बहुत एन्जॉय किया.

हिंदी सेक्सी बीएफ मुंबई वो रशीद का सामान कितना गंदा और बड़ा था, मैं तो हमेशा से ही आपके लिए रेडी थी. आशीष अब बिल्कुल हांफने लगा, मैं करीब दो-तीन मिनट तक उसका लंड चूसती रही.

अगर ऐसा नहीं होता तो सोचिए आपको इतनी अच्छी मामी जी मिलतीं क्या?मैंने हंसते हुए कहा- हां वो तो है. मैं फिर दोबारा अपने घुटनों के बल भाभी की छातियों के ऊपर चढ़कर उनके मुंह में लंड देने लगा. मैं बिल्कुल पागल होकर उसके दोनों तरफ गर्दन में अपनी टांग कैची करके फंसा दी और बोली- आह मर जाऊंगी आशीष अब मुझसे नहीं बर्दाश्त हो रहा आशीष … अब तू चोद डाल … अपना लंड डाल दे … मेरी फाड़ दे चुत को … नहीं मैं पागल हो जाऊंगी.

मौसी और बेटे की बीएफ

उसके बाद अनुष्का ने मेरे कच्छे को भी उतार दिया और मुझे नीचे से पूरा नंगा कर दिया. अगले दिन शाम में हम नहीं मिले लेकिन हमारी चैट पे बात हुई और उसने बताया कि उसका पति पिछली रात को फ़ोन न उठाने के लिए डाँट रहा था. मैं भाभी की चूत को धीरे-धीरे सहलाने लगा, उन्होंने मुझे खींच लिया और मेरे मुंह को अपनी चूचियों में दबाने लगी.

मैंने उन पर बहुत डोरे डालने की कोशिश की, पर उन्होंने कभी भी मुझे मौका नहीं दिया. मैंने उसी वक्त उसकी दोनों जांघों को पकड़ कर एक जोर का झटका मोनिका की चूत मैं दे मारा, जिससे पूरा लंड मोनिका की चुत में जड़ तक घुस गया था.

नमकीन सा स्वाद और साथ में उनके मुंह से निकलती सिरहन … आह्ह् … लगता है कि असली घोड़े की सवारी की जा रही है.

मैंने भी मौके का फायदा उठाकर दोनों हाथ उनके टॉप के अन्दर करके उनकी कमर और पीठ को सहलाने लगा. झुकने के कारण मुझे उसके टॉप के अंदर से उसकी लाल रंग की ब्रा दिखाई दे गई. उनकी उंगलियां सोनल की पैंटी के बॉर्डर पर घूम रही थीं और एक उंगली उसकी चूत की दरार पर पैंटी के ऊपर घूम रही थी.

मैंने कहा- चलो … जो तुम कहो, पर मुझे कुछ पता नहीं है, मेरा यह फर्स्ट टाइम है. मामी जी की सिसकारी निकल गई- अह्ह्ह्ह ओह राहुल … तुम मुझे मार ही दोगे. उनकी मुस्कराहट से मैं समझ गया था कि भाभी मुझसे जरूर चुदवाएंगी, तो मैं मौका ढूँढने लगा.

मैंने भी पास की एक दुकान से एक घड़ी लेकर उसे गिफ्ट कर दी और उसने वहीं पर मुझे एक छोटा सा किस दे दिया.

बीएफ सेक्सी फिल्म चुदाई चुदाई: मेरी सेक्स स्टोरी के पहले भागशौहर के लंड के बाद चूत की नई शुरूआत-1में आपने अब तक पढ़ा कि शौहर से सम्बन्ध खत्म होने के बाद मेरे ऑफिस में मेरे साथ काम करने वाले स्टीव से मेरी हसरतों ने कुछ खेलना शुरू कर दिया था. साथ ही नीना की चूत को अपने लंड का सैल्यूट, नमस्ते या सलाम भेजना न भूलें.

भैया भाभी का ब्लाउज और ब्रा खोल चुके थे और उनके मम्मों को मसल मसल कर रंग मल रहे थे. वहां भी सब सिर्फ सेक्स के लिए बात करते हैं, लेकिन तुमने मुझे अच्छे से बात की, मेरा ध्यान रखा. इससे अब मेरी भी हालत ख़राब होने लगी और मेरी चूत में अपनी जीभ घुसा कर जीभ से मेरी चूत चोदने लगा.

तूने चुदाई की तस्वीरें लीं?’‘हाँ राजिंदर को भेज भी दीं और उसका जवाब भी आ गया.

रात के करीब साढ़े ग्यारह बज चुके होंगे, सुनसान पगडंडी रास्ता, गर्मी की रातों की लम्बी हवाएं, चाँद की हल्की रोशनी में पैरों की स्पष्ट आवाज़ आ रही थी. भाभी हंसने लगी, कहने लगी- अभी तो वह बिल्कुल छोटी लड़की है, तुम्हारा इतना बड़ा लंड कैसे लेगी?मैंने कहा- वह पूरी जवान हो चुकी है, उसके मम्मे बड़े-बड़े हैं और कई बार मैंने उसकी स्कर्ट में से उसके पट भी देखे हैं, अपने आप ले लेगी. इंदु पूरे जोश में भर गयी, आहहह हहह करने लगी, सिसकारियां लेने लगी- सीईईई आयी ईईइ जीजा जी, अब अंदर डाल दो अपना लंड आहहह … अब नहीं होता बर्दाश्त!मैं बोला- मेरे लंड को और चूसो!वो जल्दी से मेरे लंड को जोर जोर से चूसने लगी, कभी कभी आंड को भी चूस लेती.