बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ

छवि स्रोत,ester expósito xxx

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्फ्क्ष्क्ष्क्ष्क्ष: बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ, ये बात नहीं है कि मेरा पहले मन नहीं करता था … मगर एक अच्छे रिश्तों में सेक्स का नाम लेकर उसे खराब नहीं करना चाहता था.

ಫುಲ್ ಸೆಕ್ಸ್ ಫಿಲಂ

दीदी ने भी अपनी गांड उठा कर पेटीकोट को निकल जाने में मदद की … अगले कुछ पलों में पेटीकोट की बंदिश को हटा दिया. লেডিস সেক্স ভিডিওअमित के द्वारा किस करने पर मैं पागलों की तरह बेड पर इधर-उधर सिर पटक रही थी.

मैम आइसक्रीम की भांति मेरी बांहों में पिघलने लगीं और उनके मुंह से मीठी सिसकारी आने लगी. हिंदी में सेक्सी वीडियो डॉट कॉममैंने देर न करते हुए भाभी की चुत पर मुँह लगा दिया और चुत को चाटने लगा.

ये सिस्टर हॉट सेक्स स्टोरी उस समय की है, जब मैं कालेज में प्रथम वर्ष का छात्र था.बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ: मैंने पूछा- आपको मेरी नजर कहां जाती हुई लग रही है?भाभी तो भाभी ने साड़ी का पल्लू गिरा दिया और अपने दूध तानते हुए बोलीं- यहीं देख रहे थे ना!मैंने दूध निहारते हुए कहा- हां बहुत बढ़िया इलाका है.

वो अपने पति की बांह में अपनी बांह डाली हुई थी, जिससे साफ़ मालूम चल रहा था कि ये आदमी इसका पति है.उसने- पति के अलावा बाहर किसी से सेक्स किया है?मैं यह सुन कर एकदम से चौंक गई और धीमे से जवाब दे दिया- जी नहीं, सिर्फ पति से ही.

सेक्सी पिक्चर नंगा सेक्स - बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ

काले रंग की साड़ी में … उसके साथ लाल रंग का स्लीवलैस ब्लाउज मेरे लंड में आग लगा रहा था और इन सब में घी का काम करती उनकी लाल रंग की लाली.तभी विक्की की मां उठकर जाने लगीं, तो मैंने नोटिस किया कि विक्की भी अपनी मां की गांड को बड़े ध्यान से देख रहा था.

उसकी लाल रंग की छोटी सी रेशमी ब्रा और थोंग पैंटी से उसकी गठीली गांड ने मेरे लंड को फनफनाने पर मजबूर कर दिया. बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ जैसे ही मैं गिरने को हुई, तो आशीष ने मुझे पकड़ लिया और उसका हाथ मेरे चूतड़ों पर आ पड़ा.

ऐसा कहकर मैं बाहर आ गया और घर पर कॉल करके मम्मी पापा को गुड न्यूज दी कि मेरी जॉब लग गई है.

बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ?

अलीज़ा की मादक सिसकारियां जैसे जैसे बढ़ रही थीं, मेरे लंड की स्पीड भी उतनी ही बढ़ रही थी. दिन गुजर रहे थे लेकिन मुझे कोई मौका नहीं मिल रहा था।एक दिन की बात है कि अश्मि सुबह के समय मुझे छत पर मिली. उस रात हमारी थोड़ी मैसेज से बात हुई, जिसमें मैंने उसको अपने बारे में … और अपने घर के बारे में बताया.

जब हम दोनों का मिलने का मन करता है तो या तो वो मेरे घर आ जाता है या मैं उसके घर चली जाती हूँ और हम दोनों जम कर चुदाई का मजा लेते हैं. अरे कुछ नहीं मम्मी, मैं तो मज़ाक कर रहा था, अगर आपका और पापा का हो गया हो तो आप कपड़े पहन लेना, तब तक मैं सुसु करके आता हूँ. उसने अपने बदन पर केवल एक तौलिया लपेट रखा था और सिर पर भी तौलिया बांधा हुआ था.

जब ट्रेन मन्ज़िल की ओर चलना शुरू हुई तो मैंने भी शीना भाभी के दूध से सफेद मम्मों पर अपने हाथ रख दिए. फिर वो रुमाल को बाथरूम की खिड़की से बाहर फैंक आईं और वापस कम्बल में आकर लेट गईं. उसके कान पर किस किया, गाल पर चुम्बन किया और धीरे धीरे नीचे आकर उसकी नाभि को चाटने लगा.

अपने जन्मदिन के अगले दिन उसने मुझे अपने घर पर चिकन पार्टी के लिए बुलाया. मैंने फिर से मैम को किस करते हुए उनके ब्लाउज का हुक खोला तो मैम ने पूरा सहयोग किया.

फिर मैंने और दबाव नहीं डाला, बस रुक गया और अर्शिया के बोबों से खेलता रहा.

तुमने उसकी प्रोफाइल चैक नहीं की क्या? कितनी सारी लड़कियां उसकी गर्लफ्रेंड हैं.

मैं थोड़ा सा पीछे को हुई और झुक कर गप से उसका मोटा लंड मुँह में लेकर बड़े प्यार से चूसने लगी. उन्होंने भी देरी नहीं और मुझे जोर से पकड़ कर बिस्तर की ओर धकेल दिया और मेरे ऊपर ऐसे चढ़ गए जैसे कोई कसाई अपने जानवर के ऊपर आ गया हो. अंजुमन ने ‘हम्म …’ कहती हुई मेरे लंड पर निगाहें गड़ाए हुए थी और वो लंड को अकड़ते हुए बड़े ही गौर से देख रही थी.

उफ्फ क्या फीलिंग थी वो … पर मैंने उसे हटा दिया और कहा- पहले सेक्स कर लेते हैं … नहीं तो ब्लोजॉब में ही झड़ गया तो मज़ा खराब हो जाएगा. तभी चैट चुदाई से संबंधित हो गया और उनकी फ्रेंड ने लड़कों के लंड की पिक भेज दी. अब आगे हॉट सिस्टर सेक्स:अर्शिया की जांघें एकदम मुलायम गोरी गोरी रेशमी लग रही थीं.

नाज की चूत शबाना के मुँह पर टिकाकर मैंने शबाना की चूत में अपना लण्ड पेल दिया.

उसने मेरे 8 इंच के लण्ड को महसूस कर लिया था जल्दी से!वह सॉरी कहकर सीधी खड़ी हो गई, कहने लगी- सॉरी, ये गलती से हाथ रखा गया. अब मैंने ऊपर उठकर पहले तो उसके बोबों को एक बार फिर से मसला और उसकी ब्रा का हुक खोलकर उसे भी उसके बदन से अलग कर दिया. और अब तो खुशबू बिना पानी के मछली के जैसे तड़पने लगी।मैंने उसके होठों को चूसना शुरु कर दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा।अब फिर मौक़ा देखकर मैंने जोर से एक धक्का और लगाया तो अब मेरा लंड पूरा का पूरा खुशबू की चूत के अन्दर घुस चुका था।खुशबू दर्द और मजे के मिलेजुले प्रभाव से से मचलने लगी थी.

मैंने खुद के कपड़े ठीक करने का ऐसा नाटक किया जैसे मैंने कुछ देखा ही नहीं. मैं वापस रूम के अन्दर आ गया और चुपचाप उस कच्ची उम्र की प्यास को देखने लगा. एक शाम पार्टी में उसने कुछ ज्यादा ही पी ली तो मैं उसे अपने कमरे में ले आया.

मैंने हैलो कहा, तो उन्होंने कहा- मैं तुम्हारा जेठ बोल रहा हूँ प्रिया.

मैंने बोला- ठीक है, ये सब मैं श्रेया के घर वालों को बता दूंगा कि वो काम करने के साथ साथ तुम्हारे साथ चुदवाती है. उन्होंने भी आव देखा ना ताव … फटाक से मुझे नंगा करके अपने बिस्तर में लेटा दिया.

बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ हिंदी देसी सेक्स कहानी की सबसे मस्त साईट पर मैं अपना पहला अनुभव आप सभी के सामने प्रस्तुत कर रहा हूं. एक दिन उन्होंने मुझसे पूछा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैंने कहा- नहीं है.

बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ सीलपैक गर्ल की चुदाई कहानी के पिछले भागकुंवारी लड़की के साथ 69 सेक्समें अब तक आपने पढ़ा था कि निशा मेरी कामना के अनुरूप ही गंदा सेक्स पसंद करने वाली जवान लौंडिया थी. जेबा ने मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया और 5-7 मिनट बाद मैं उनके मुंह में ही झड़ गया.

दोस्तो, मेरी ये सिस्टर की गांड की कहानी आपको कैसी लगी … प्लीज़ मेल करना न भूलें.

नौकर नौकरानी की सेक्सी वीडियो

वो फ्लैट फुल फर्नीचर वाला था, हम दोनों ने एक घंटे में अपना सारा सामना जमा लिया और किचन को भी लगभग रेडी कर लिया था. मुझे ऐसा लग रहा था कि अर्शिया अपनी जांघों से मेरे लंड की मुठ मार रही हो. सक्सेना सोफ़े पर बैठ गया और मुझसे अपनी गोद में बैठने का इशारा किया.

मैंने उनके इस छुआ-छाई का कोई विरोध नहीं किया तो जेठ जी की हिम्मत बढ़ गई और अब तो वो मेरा हाथ भी पकड़ने लगे थे. पति जी भी ऑफिस के काम में बहुत बिजी थे तो हम लोग सेक्स कम ही कर पाते थे. फिर वो मुझसे कसकर चिपक गईं और उनकी चुचियां मेरे शरीर से रगड़ रही थीं … या ये कहो कि मेरे और उनके शरीर के बीच में दबी हुई थीं.

उसकी टी-शर्ट कमर से उठी हुई थी और शॉर्टस भी मुड़ी हुई जांघों पर ऊपर को हो गया था.

वैसे मुझे नवीन का लंड से कोई फर्क़ नहीं पड़ने वाला था … क्योंकि मैं सक्सेना का लंड भी अपनी चूत में सहन करने लगी थी. सविता आंटी के सामने मैंने अपने लंड को पैंट में एडजस्ट किया तो वो मुस्कुरा दीं. मुझे दिल्ली में 10 दिन रुकना पड़ा, तो मैंने सोचा कि मैं थोड़ा घूम भी लेता हूं.

सभी लोग अपने अपने काम में व्यस्त रहते हैं, तो किसी से भी ज़्यादा मिलना-जुलना नहीं हो पाता है. गांड के छेद में पेटीकोट के ऊपर से ही डॉक्टर उंगली डाल रहा था, जिससे मैं उछल उठी और मेरी मादक सिसकारी निकल गयी. मैंने सुमन की बहन सरोज को उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी सलवार उतार दी.

मैंने उसका मुंह पकड़ कर अपनी स्पीड को बनाये रखा और 15-16 झटकों के बाद अपना पानी उसकी चूत में छोड़ दिया. कुछ देर बाद हम दोनों ने रात का खाना खाया और उसके बाद हम रूम मैं बैठ कर सिगरेट पीने लगे.

हम दोनों में वासना गहराने लगी और हमारी जीभें एक दूसरे के मुँह में कुश्ती लड़ने लगीं. साहिल रोहित आयुष प्रकाश के बाद एक और फोल्डर था, जिसमें नाम नहीं लिखा था, बस लिखा था न्यू फोल्डर. ”मैं समझी नहीं कि मुझ जैसी नाचीज़ आपके किस काम आ सकती है?”तुम नाचीज़ नहीं हो, शबाना.

मतलब फोन पर दोनों बहनें अपनी बड़ी बहन की चुदाई के लिए मुझे उकसा रही थीं.

थोड़ी देर तक हम दोनों अपने मोबाइल में खोए रहे और अंतत: उन्होंने केबिन के माहौल की खामोशी को तोड़ा. अब हम दोनों ही मादरजात नंगे थे और एक दूसरे के मुंह से मुंह लगा कर एक दूसरे का रस पी रहे थे. पिछले भागगर्लफ्रेंड की मां की अन्तर्वासनामें आपने पढ़ा था कि मेरी जीएफ की मम्मी रेखा आंटी नहा कर बाहर आईं और वो मेरे सामने ही अपने अधनंगे जिस्म में बॉडी लोशन लगाने लगीं.

सरोज हंसने लगी और बोली- अम्मा की बहू को भी चोदेगा क्या?मैंने कहा कि अगर किस्मत में होगी … तो उसे भी पेल दूँगा. वो बोली- तू तो जाटनी को ऐसे चोद रहा है … जैसे किसी रंडी को चोद रहा हो.

[emailprotected]हॉट सेक्सी गर्ल बेडरूम कहानी का अगला भाग:गर्लफ्रेंड की चचेरी बहन की चुदाई. पहले मैं आप सभी को मेरी फैमिली और अपनी चुदककड़ बहन से परिचित करवा देता हूं. उसका नाम विजय माथुर था, जो उत्तर प्रदेश के मथुरा से इस सुनहरे सपनों की नगरी मुंबई में आया था.

वीडियो में सेक्सी चुदाई

सेक्सी हॉट भाभी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं एक भाभी के घर ए सी ठीक करने गया तो उन्होंने बड़े हंसमुख और दोस्ताना तरीके से बात की.

शायद इसको उसने ग्रीन सिग्नल समझा और अपना लिंग मेरे कंधे की कोर पर सटाकर धीरे धीरे रगड़ने लगा. उनकी कभी कभी वाली और जल्दी जल्दी वाली चुदाई से मेरी आग नहीं बुझ पाती थी. मेरी मां वैसे तो एक सामान्य घरेलू औरत हैं पर वो शरीर से इतनी ज्यादा मस्त दिखती हैं कि उन्हें देख कर कोई भी पागल हो जाए और उसका मेरी मां को उसी समय चोदने को मन करने लगे.

इससे पहले कि मैं उनसे कुछ पूछता, उससे पहले उन्होंने कमरे की लाइट्स ऑफ कर कर दीं. कॉलेज गर्ल की चुदाई कहानी में मैंने अपने दोस्त की बड़ी बहन की कुंवारी सील तोड़ी. पंजाबी में सेक्सी मूवीफिर मैंने निशा की जांघों को चौड़ा किया और उसकी चूत में घी को टपकाने लगा.

उसे चलने में थोड़ी दिक्कत हो रही थी … लेकिन थोड़ी देर बाद साली साहिबा ने सब अड्जस्ट कर लिया. तभी भाभी ने पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड है क्या?तो मैंने न में सर हिलाया.

वो बोले- शर्माओ मत … बताओ न, कैसा लगा अच्छा या खराब!मैंने धीरे से कह दिया- अच्छा. मैंने उससे कहा- जल्दी जल्दी चूस … तेज तेज चूस … रबड़ी खाने को मिलेगी. आज ऐसा मैंने इसलिए किया था क्योंकि मेरे न जाने से आज आशीष पक्का इसको होटल ले जाकर चोदता.

लेकिन पिछले कुछ दिनों पहले की एक और घटना ने मुझे ये मानने पर मज़बूर कर दिया कि दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है. फिर तीसरे दिन मैंने उसे झुका कर सिस्टर की गांड में लंड घुसाया क्योंकि उसको अब लंड लेने की आदत हो चुकी थी. मुझे जब भी कोई बाजार का काम होता तो मैं उससे ही कहती और वो भी मेरे कहने पर हमेशा तैयार रहता.

मेरी बीवी श्रुति ने टांगें फैला दीं और दोस्त ने अपना लौड़ा बीवी की चुत में पेल दिया.

उसने मेरी गांड के छेद में भी खूब सारा तेल भर दिया और अपने लंड पर भी खूब सारा तेल गिरा लिया. मॉम के बड़े बड़े बूब्स देखकर मेरा लन्ड उछलने लगा, मैंने सीधे मॉम के होंठ से होंठ मिला दिए और गहन चुम्बन करने लगे.

इससे मुझे लग रहा था कि शायद आज दीदी आशीष ने मिलने वाली हैं, इसी लिए घर खाली कराने में लगी हैं. मैंने उसके एक पैर को सोफे से नीचे लटका दिया ताकि अन्दर का नज़ारा लिया जा सके. वो भी गर्मा गई थी, तो उसने एक पल के लिए मुझे अपने से दूर किया और झटके से अपना गाउन निकाल कर अपने तन से अलग कर दिया.

रात को 3 बजे मामी अपने पति को छोड़कर हमारे पास आ गईं और हम तीनों ने फिर से थ्रीसम चुदाई का मजा किया. दो मिनट के किस के बाद मैंने उन्हें अपने से दूर किया और समझाया कि कोई आ जाएगा. इस समय मेरा लंड फूल कर उसकी पूरी चुत पर उसकी फांकों से भी मोटा हो रहा था … तो चुत में घुसना तो दूर, फांकों को अलग भी करना मुश्किल दिख रहा था.

बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ ना तो मैं इस पर कोई शारीरिक प्रतिक्रिया दे रही थी और ना ही मेरे दिमाग में कुछ सूझ रहा था. नाज से पहले मैं पचासों झिल्लियां फाड़ चुका था लेकिन जो मजा आज आ रहा था, अद्भुत था.

देसी बीएफ कुंवारी लड़की

उस दिन हमारे बीच में क्या हुआ, मैं वह सब अपनी अगली सेक्स कहानी में बताऊंगी. अंकल जी मुझे अपनी गोद में ले गए और उन्होंने भी मेरे सामने पेशाब की. जैसे ही मुझे पता चला कि हमारे घर में शादी है तो मैं तुरंत अपने शहर एटा लौट आया.

आपने मेरी और स्नेहा की सेक्स कहानी तो पढ़ी ही होगी, जिसको मैंने अपनी बहन की शादी में चोदा था. मां मेरी काफी चुदक्कड़ थीं … ये मुझे जब पता चला जब मेरे डैड बिज़नेस के सिसिले से शहर से बाहर गए. बहन भाई की सेक्सी बहन भाई की सेक्सीमैंने सांडे के तेल की शीशी निकाली और अपने लण्ड की मालिश करके लेट गया.

अब सुमोना सातवें आसमान का मजा ले रही थी और वो भी अपने आपको स्वर्ग में महसूस कर रही थी.

सुबह हम लोग 11 बजे तक सोकर उठे और साथ में ही नंगे बाथरूम में घुस गए और साथ में ही नहाने लगे. फिर जेठ जी ने मेरी कमर पर सर रखकर कुछ देर आराम किया और एक-दो किस भी की.

मैं उस बीच के हिस्से को सूंघने लगा जिसकी तलाश हर किसी मर्द को होती है. उसी समय एक औरत वहाँ से बाहर निकली तो दरवाजा थोड़ा खुला रह गया और अनजाने में मैंने आपको देख लिया. फिर भी वहां पोल पर लगी लाईट से धीमी धीमी रोशनी आने के कारण हम दोनों एक दूसरे को देख पा रहे थे.

मुझे ऐसा लग रहा था जैसे आज चुदाई नहीं … सिर्फ चुसाई ही होने वाली है.

करीब दस मिनट तक हम दोनों मस्ती करते रहे और एक दूसरे को गर्म करने लगे. मैं सोच रहा था अब या तो दीदी मुझसे नाराज हो जाएंगी या कुछ इशारा देंगी. मैंने उसकी ओर देखा, वो एक झीना सा नाईट गाउन पहन कर मेरे सामने बैठी थी.

देसी सेक्सी व्हिडीओ देसी सेक्सी व्हिडिओमुझे बाद में याद आया कि मैं नाइटी में हूँ तो जल्दी से अपने रूम में आ गयी. मैंने तो बल्कि इनसे कई बार कहा भी कि ऐसा कैसा प्यारा दोस्त … जी एक बार भी अपनी भाभी से मिलने नहीं आया.

बीपी सेक्सी हिंदी में सेक्सी

लण्ड को नाज की बुर में पेलते हुए मैंने एक जोर का धक्का मारा तो नाज की बुर की झिल्ली फाड़ते हुए मेरा लण्ड नाज की बच्चेदानी के मुँह तक पहुंच गया. असल में मेरी बीवी रश्मि एक बहुत सुंदर फिगर वाली और रंग से फिरंगियों जैसी कामुक बला है. फिर मैंने जानबूझकर बाहर आकर आवाज लगाई- आंटी!उन्होंने कहा कि हां … अन्दर आकर बैठ जाओ बेटा … मैं नहा रही हूँ, आती हूँ.

मैसेज में लिखा था कि जल्दी फैसला करो … मेरे पास और भी बहुत सी लड़कियां हैं. ऐसा 2-3 बार हुआ और हर रगड़ के बाद वो मेरी आंखों में सवाल भरी नजरों से देखता. उन्हीं दिनों मेरे दूर के रिश्ते की ममेरी बहन श्रेया मुंबई जॉब करने के लिए आयी थी.

कभी कभी वो लंड निकाल कर अपने लंड से मेरे मुँह पर थप्पड़ से मार रहा था. मैंने भी उसकी चूचियों को कसकर पकड़ लिया और चूत चुदाई स्टार्ट कर दी. उसकी गर्म सांसों ने जैसे ही मेरी चूत को छुआ, मेरा तो बहुत बुरा हाल हो गया था.

दो मिनट तो अर्शिया ने मुझे अपने बोबे दबाने दिए लेकिन फिर वो बोली- ये सब करने में टाइम मत वेस्ट करो. उनके बेड का गद्दा 10 इंच मोटा था, उस पर उन्हें घोड़ी बना कर चढ़ने में जो मज़ा आया … आह क्या बताऊं दोस्तों … फुल मस्ती हुई.

उस दिन से मैंने पूरी फिल्म देखी थी और मैं तुम्हारे दमदार शॉट्स की दीवानी हो गई थी.

बहुत देर तक तो वो आंखों में से कचरा निकालने का ड्रामा करती रहीं जबकि वो तो पहले ही निकल चुका था. हिन्दी सैक्सी कहानियांमैं आंटी की चूचियों को देखता, तो कभी कभी वो भी मुझे ये सब करती हुई देख लेती थीं. सेक्सी व्हिडिओ दाखवा सेक्स व्हिडिओउन्होंने मुझसे फिर से मिलने के लिए कहा तो मेरा भी होटल हॉट सेक्स के लिए मन हो गया. मैंने देर न करते हुए उसके होंठों पर होंठ रखे … हाथों को पकड़ते हुए एक के बाद एक करके 3-4 धक्के लगा दिए.

मैंने एक गहरी सांस ली और अपनी पूरी ताकत से एक धक्का उसकी चूत में मार दिया.

उनके मम्मे काफी टाइट हो गए थे इसलिए अब दूध दबाने और चूसने में काफी मज़ा आ रहा था. मुंतजिर की ये बात सुन कर मैंने अपना कामरस उनके मुँह में निकाल दिया. सब ठीक हो जाएगा, ये दिन ऐसे चले जायेंगे कि तुम्हें पता भी नहीं चलेगा.

फिर क्या था … उन्होंने धीरे-धीरे अपना लंड चूत में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. मैंने चुत में से लंड को बाहर निकाल लिया और मालती से कहा- सुबह होने वाली है. फिर भाभी ने मेरे लंड को अपनी चूत पर घिस कर रस से चिपचिपा करके एक दबाव बनाया और अपनी चूत में मेरा लंड लगाकर जोर से दबा दिया.

मुसलमानी बीएफ

जैसे तैसे करके मैंने शॉर्ट्स पहना मगर लोअर के अन्दर जो शेर था वो बैठा ही नहीं था. मैंने भी एमबीए किया है, तो हम दोनों आपस में इसी को लेकर कुछ बातचीत करने लगे. भाभी पैंट के बाहर से भी काफी देर से मेरे लंड को रगड़ रही थी, इसलिए मेरा माल निकलने वाला था.

भाइयो, भौजाइयो और हरजाइयो, आप सभी का अन्तर्वासना सेक्स कहानी साईट पर स्वागत है.

अमिता से रहा नहीं गया, उसने खुद अपने हाथ से कंडोम निकाल के अलग कर दिया.

तो अर्शिया ने ही मम्मी को सजेस्ट किया कि मुझे आप अपना पेटीकोट दे दो, वो हल्का भी रहेगा और मुझे नींद भी आ जाएगी. थोड़ी देर उसकी चुत से खेलने के बाद मैंने अर्शिया की चड्डी को उसकी चुत के आगे से थोड़ा हटाया और एकदम मेरी नज़र उसकी चुत पर जा पड़ी. भाभी देवर की सेक्सी विडियोहम दोनों निवस्त्र हो चुके थे … पर सर्दी के अहसास का नामोनिशान तक नहीं था.

जो मुझे चूसने में और मजा दे रही थी क्योंकि चुत के रस का टेस्ट काफी अच्छा लग रहा था … तो मज़े से पूरे रस को पी गया. सरोज की चुदी चुदाई चूत में लंड आसानी से अन्दर बाहर जाने लगा और हम दोनों चिपक गए. चार दिन बाद मेरे घर से सबको फिर से बाहर जाना था, उस दिन फिर से मैंने जुगाड़ लगाया कि मैं घर पर ही रुक जाऊं और दिन भर आशीष का लंड चुत में लूं.

अब मैंने लंड निकाल लिया और सरोज को लंड चूसने को बोला, वो भी लंड को लॉलीपॉप समझकर चूसने लगी. मेरे शरीर की गर्मी साफ-साफ बता रही थी कि अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है और मुझे उस की चूत को पूरे मजे के साथ चोदना ही पड़ेगा.

और उस समय मेरी नजर वाशरूम के दरवाजे से अंदर गयी तो में अचानक शॉक हो गया.

उन्होंने धीरे-धीरे वैसलीन से सनी उंगली मेरी गांड की तरफ से छेद में फेरना शुरू कर दी. मैं कामवाली बाई के दोनों मम्मों का बारी बारी से रसास्वादन करने लगा. मैंने भाई का लंड को देखा तो आज वो कुछ ज्यादा ही लंबा मोटा और साफ दिखाई दे रहा था.

नंगी ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियो ये देख कर मेरा और आरू की खुशी का ठिकाना न रहा … क्योंकि हम दोनों को बारिश वैसे भी बहुत पसन्द है और साथ में हम दोनों मूड में भी थे. सात आठ मिनट में उसने अपने लंड का पानी दीदी की चूत में गिरा दिया और पानी निकाल कर लंड चुत से खींच लिया.

उसकी चाल कुछ धीमी हो गई थी और मेरे लौड़े ने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी थी. चुत के दाने को धीरे से रगड़ा और चूत की दोनों फांकों को अलग करके लंड घुसाने का रास्ता बनाया. मैंने धीरे से अपना हाथ उसकी कमर से उसकी साड़ी के अन्दर कर दिया, तो वो सहम गई और लंड से हाथ हटा लिया.

सनी लियोन की सेक्सी बीएफ फिल्म

उसने एक एक करके मेरे सारे कपड़े निकाल दिए, साथ में अपने कपड़े भी निकाल दिए. मैंने उसकी पोजीशन बदली और उसकी टांगें हवा में उठा करचुत में लंड पेल कर चुदाईकी ट्रेन चला दी. मेरी चुदाई का तीसरा राउंड साढ़े ग्यारह बजे से शुरू हुआ, जिसमें आशीष ने मेरी चूत और गांड का एकदम भुर्ता बना दिया.

उसने मेरे पैर छुए और सामने रखा सिंदूर लेकर बोली- ले चौधरी भर दे मेरी मांग, बना ले अपनी लुगाई. एक दो बार कोशिश भी की लेकिन अब वो सबसे पहले हमारी छत पर ही देखती थी कि कहीं कोई देख न रहा हो।मुझे पता चल गया था कि अब वो सावधान हो गयी है और उसके जिस्म को देख पाना अब वैसे तो संभव नहीं है.

और आप भी उसे इलाज का हिस्सा ही समझना।मैंने कहा- ठीक है … आप प्लीज अब दवा लगाइए।डॉक्टर ने अपनी पैंट उतार दी और फिर अंडरवियर भी उतार दी.

मैंने देखा कि इनबॉक्स में उसके सीनियर गमन के साथ उसकी चैट रोज़ होती थी और उस चैट में वो दोनों ‘आई लव यू’ भी लिखते थे. मैं उसके पीछे आ गया और गांड को सहलाते हुए उसकी गांड के छेद को चूम लिया. वो चिल्ला उठी- ऊईईईई अम्मा बचा लो … आह मर गई निकाल बिहारी मादरचोद लंड निकाल … साले बिना थूक की गांड मार रहा है … आह निकाल ले भैन के लौड़े … मुझे दर्द हो रहा है.

उसने मेरी शर्ट उतारी और मैंने उसकी कुर्ती। फिर उसने मेरी पैंट खोली और मैंने उसकी पजामी।वो ब्रा पैंटी में आई तो मैंने उसके बदन को कसकर चूमना शुरू कर दिया. मां की गांड काफी मस्त लग रही थी, एकदम गोरी गोरी गोल गांड पिंक कलर की पैंटी में फंसी हुई बड़ी ही मादक लग रही थी. वो किसी से किस करने लगी और जब संजना ने उसके सामने से अपना चेहरा हटाया तो एक पल को तो मेरे पैरों के नीचे से ज़मीन खिसक गई.

ये कहकर मैंने उसे देखा, तो उसने मेरी तरफ प्यार से देखा और हम दोनों एक दूसरे को बड़े प्यार से होंठों पर चूमने लगे.

बीएफ हिंदी सेक्सी व्हिडीओ: इस बीच सक्सेना की मृत्यु हो गयी है, मैं अब राजीव से और नवीन से सेक्स करती हूँ. मुझे किस करते हुए अब भी मेरे बूब्स उसके हाथों से मसले जा रहे थे और नीचे मेरी चूत उत्तेजना से गीली हो रही थी.

जब ट्रेन मन्ज़िल की ओर चलना शुरू हुई तो मैंने भी शीना भाभी के दूध से सफेद मम्मों पर अपने हाथ रख दिए. मैंने कहा- क्यों न हम दोनों कुछ दिन तक चैट करें … फिर मिलना मिलाना देखेंगे. वो मेरे मुँह में लंड आगे-पीछे करते हुए मेरे मुँह को ही चोदे जा रहा था.

तभी भाई की रफ्तार अचानक तेज होने लगी और भाई ने अपना सारा का सारा माल मेरी गांड के अन्दर ही छोड़ दिया था.

आप सभी से निवेदन है कि मेरी सेक्स कहानी पर आप अपनी राय मेल से भेजें और मुझे कोई वेश्या न समझें. उसके घर के पास पहुंचते ही मैंने मेडिकल स्टोर से कंडोम का बड़ा पैकेट ले लिया और पान की दुकान से सिगरेट की दो डिब्बी लीं. 5 इंच मोटा लंड उसकी गांड में ठोकते हुए अपनी गांड से उसकी गांड को जमकर दबा लिया था.