बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी

छवि स्रोत,शुद्ध देसी बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉर्स सेक्सी फिल्म: बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी, वो जब मेरी तरफ चल रहा था, तो मेरी तरफ ही देख रहा था, मेरा दिल बहुत जोर जोर से धड़कने लगा.

सेक्सी सेक्सी चाहिए बीएफ

जब सामने बैठ कर टांगों को ज़रा सा भी ऊपर करती थी तो चूत पूरी नज़र आती थी क्योंकि स्कर्ट के नीचे भी कुछ नहीं था. मोठी बीएफअगली सेक्स स्टोरी में मैं आपको लिखूँगा कि कैसे ना ना करकेभाबी ने अपनी गांड मरवाईऔर कैसे अपनी शादीशुदा सहेली को भी मुझसे चुदवा दिया.

आशीष बोला- लो माँ, अब गया इसकी चूत में…इतना कहते ही उसने जोर का झटका मारा तो उसका लंड फिसल गया और लंड मेरी चुत के अन्दर नहीं गया. सेक्स फुल वीडियो बीएफ”अरे खोलो तो… यहाँ कौन है तेरे मेरे सिवा?” मैंने दोनों हाथों से प्रिया के दोनों कंधे थाम लिए.

अन्तर्वासना की कृपा से लंड को खड़ा कर देने वाली और चूत में उंगली करने को मजबूर कर देने वाली कामुक कहानियां यहाँ पर पढ़ने और लिखने को मिल जाती हैं.बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी: अब पलंग के ऊपर बेजोड़ हुस्न की मलिका का अछूता और कमिसन बदन मेरे सामने बिखरा पड़ा था.

दीदी ने मुस्कान दी और मेरी तरफ पीठ करके पूछा- अब?दीदी की पीठ बिल्कुल नंगी थी, टॉप एक बारीक धागे से बंधा हुआ था.विवेक बोला- अकेले नहाओगी?वो बोली- नहीं मेरे जानू तुम्हारे साथ नहाते हुए, पानी में भीगते हुए अपनी इस जान की चूत मार लेना.

छोटी लड़की के सेक्सी बीएफ - बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी

कुछ देर बाद अब भाभी फिर से मेरे लंड को खड़ा करने की ट्राई करने लगी और हाथ से लंड हिलाने लगी.दूसरी अपना प्रोमिस याद रखना, एक बार पूरा डाल कर निकाल लेना!मैं- जी भाभी!मैंने धीरे से धक्का लगाया, भाभी की चूत बहुत टाइट थी, सुपारा अंदर गया, भाभी को थोड़ी दिक्कत हुई,भाभी- देवर जी, आपका बहुत मोटा है!मैं- मैंने बोला था न कि नहीं जाएगा.

चिंता मत करो, मर्द और घोड़े अपनी खुराक जानते हैं!” मैंने हँसते हुए जवाब दिया. बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी वो स्प्रिंग को खींच कर टांगों के नीचे से अपनी चुत और चूतड़ों में फंसानी थी.

जैसे ही मैंने उन्हें टावेल पकड़ाया, उन्होंने मेरे हाथ पकड़ कर अपने तरफ खींच लिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी?

वो बोली कि मैं ये कैसे दिखा सकती हूँ?मैंने कहा- तुम्हें मुझे अपनी चुत दिखानी होगी, बाकी मैं खुद अन्दर झांक कर देख लूँगा. उसे मेरा सूट पहनना ज्यादा पसन्द था, इसलिए मैंने एक लाल रंग का सूट पहन लिया. तो अब मैंने आंटी से पूछा कि आप इतनी रात को एकदम अकेली कहाँ जा रही हैं?तो उन्होंने बताया कि वो बार में जा रही हैं, उसके पति कनाडा में इंजीनियर हैं, उनके दो बच्चे हैं जो देहरादून में पढ़ते हैं और वही होस्टल में रहते हैं.

उसका शर्ट जो मेरे हाथ में था, उसे लौटाते हुए बोला- नहीं, गान्ड में तो नहीं लूँगा… मुंह में जितनी चुदाई करनी है कर लो… मैंने गान्ड का बोला ही नहीं था. मैं थोड़ी देर रुक गया और भाभी के लबों को किस करने लगा, फिर जैसे ही मुझे लगा कि अब उन का दर्द कम हो गया है, मैंने फिर एक शॉट दे मारा. मैं बार बार उसे देखता था, वो मेरे सामने ही बैठा था, 5-6 खाना छोड़ कर.

थोड़ी देर में शीनू नोट्स लेकर आई और फिर सीमा वहां से चली गई और कह कर गई कि थोड़ा ध्यान रखना कोई देख न ले. मैंने उसको डॉगी स्टाइल में आने को कहा और थोड़ी ज्यादा सी वैसलीन उसकी गांड की छेद में लगा दी. जैसा मैंने पहले बताया मैंने सत्य नारायण को अक्सर बाहर दूसरे शहर में भेजना शुरू कर रखा था.

तो पता चलता है कि तुम कितने अच्छे हो जो अपनी गर्लफ्रैंड की कसम को मानते हो।और ऐसे ही कहते कहते वो रोने लगे गयी, उसकी आंखों में आंसू आने लग गए. पूजा और भाभी पास आईं और सुहानी के सर पर हाथ फिराते हुए बोलीं- बन गई तू भी हमारी सौतन.

मैं जब उनके कमरे में गयी तो वहाँ उसकी सेक्टरी एक कोने में बैठकर रो रही थी और अनुज उसे मनाने की कोशिश कर रहा था.

पर मोहन मेरे पर ध्यान ही नहीं देता था, शायद वो लोक लाज के कारण डरता था.

फिर उसे भी मज़ा आने लगा और वो बोलने लगी- मेरे रज्जा कहां थे तुम अभी तक… ऐसा कामसुख तुमने मुझे पहले क्यों नहीं दिया… प्लीज़ फक मी हार्ड… उऊहह यसस्स्स… यस… फक्क फक…वो बड़बड़ाये जा रही थी. पूजा हटने को हुई तो मैंने मना करते हुए सुहानी से कहा कि साली से कैसी शर्म. मैंने कहा- मेम टॉवल कहां है?भाभी बोलीं- यहाँ टॉवल की क्या जरूरत है.

भाई बहन और माँ बेटा चुदाई की कहानी आप लोगों को पसंद आई? प्लीज़ मेरी मेल आईडी पर जरूर लिखिएगा कि कैसी लगी ताकि मैं अगली सेक्स स्टोरी लिखने की भी सोचूँ. पर खुद सोचा कि कहाँ यार एक बार भी सेक्स करने को नहीं मिलता, यहाँ खुद ही मौके और जगह बनती जा रही है. इस बार भी काफ़ी वीर्य निकला था… मैंने उसके काले मोटे लंड के खुले हुए सुपारे को जुबान से चाटकर साफ़ किया.

तीसरी बात अगर पापा को पता चला कि हमने डिस्को जाने का सोचा भी है तो मार मार कर चमड़ी उधेड़ देंगे.

ये सब नजारा देख कर मुझे अजीब भी लग रहा था और मेरा लंड भी खड़ा हो रहा था. उस मोहक, मादक दृश्य को निहारते हुए मैंने जल्दी जल्दी अपने कपडे उतार दिए. इस बीच नीना को अपने रूटीन हेल्थ चेक अप की जरूरत हुई तो मैंने उसे सभी सुविधा से युक्त सरकारी हॉस्पिटल बादशाह खान हॉस्पिटल में जाने को सजेस्ट कर दिया।इस पर नीना ने मुझे भी साथ में चलने को कहा.

”ये कहते हुए उन दोनों ने भी अपने लंड बाहर निकाल लिए और मुझे लंड दिखाते हुए आगे खेलने लगे. इसके बाद वो मेरी चुत में लंड पेलते हुए बोलने लगा- देखो बिंदु रानी, तुम्हारे थूक और मेरे थूक ने मिल कर हम दोनों के आइटम कितने चिकने कर दिए हैं. जब इतना बड़ा उपकार किया है तो फिर पूरी जिंदगी मेरी भाबी बन कर रहो ना.

आंटी बोली- चलो मेरे साथ मेरे घर पर!मैं बोला- नहीं आंटी, मैंने बस की टिकट नेट से बुक कर रखी है तो मैं नहीं जा सकता.

सर ने अपनी नाक से पहले मेरी फुद्दी को सहलाना शुरु किया, सांसों की गर्म हवा से मेरी चूत पिघलने लगी थी, फिर जीभ से फुद्दी को सहलाने लगे. लेकिन टंकियाँ अलुमिनियम की थी इसलिए मैंने रत्नेश भैया के कपड़े अपने पीठ और सिर के पीछे रख लिए ताकि मुझे टंकियाँ पीठ में चुभे नहीं।अब मैं मुँह चुदाई के लिए तैयार था और टिक हुआ आराम की मुद्रा में था, लेकिन मैंने अपने मुँह को थोड़ा ऊपर की ओर किया हुआ था जिससे लन्ड मुख में डालने में आसानी रहे।अब महाराजा रत्नेश राजपूत को अंतिम आनन्द प्रदान करने की बारी थी और इसमें मैं जी जान लगा देना चाहता था.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी मैंने बड़ी मुश्किल से अपनी नजर भाभी से हटाई मगर मेरा दिमाग बहुत खराब हो गया था. मैंने उसके होंठ चूसे और लंड बाहर खींच लिया- देखो जान, थोड़ा दर्द तो होगा ही पर बाद में मजा बहुत आएगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी साथ ही कहा- पूजा यार तुम भी मुझे प्यार करो, बस पांच मिनट में तुम्हारा दर्द कम हो जाएगा, तब मैं तुम्हारी चूत में धक्के मारना शुरू करूंगा. मैंने अपना एक हाथ धीरे धीरे उसके पेट पे फेरते हुए उसकी बुर तक ले जाना शुरू कर दिया.

फिर बोला करती थीं कि असली मज़ा तो तब मिलेगा, जब कोई लड़का तुम्हारे मम्मों को दबा दबा कर चूसेगा और अपना मूसल लंड तुम्हारी चुत में डालेगा.

सेक्सी आंटी के साथ सेक्स

काफी देर तक सोने के बाद जब मेरी आंख खुली तो शाम के 5:00 बज चुके थे. उसने भी हंस कर मुझे धकेला और कहा- चल चल बहुत देखे मैंने तेरे जैसे… कल आना फिर बताती हूँ. उन दिनों मैं छुट्टी पर घर आया हुआ था और अब लौट कर ड्यूटी पर वापस जा रहा था.

मैंने उन्हें अपने हाथ की तरफ देखते देखा तो मैंने भाभी से पूछा कि आप तो दोपहर को अर्चना भाभी को बोल रही थीं कि मैं कमरे में रहता हूँ तो तकलीफ होती है. विवेक सिसकारियाँ लेने लगा- आह्ह्ह ह्ह आआह्ह आह्ह…कामिनी पूरी चुदक्कड़ थी, वो विवेक का लंड दस मिनट तक चूसती रही. भाईजान ने 8-10 बार हाथ से चूचों को सहलाने के बाद धीरे से एक चुचे को दबाया और झुककर बारी बारी से दोनों को अपने लब लगा कर चूमा और मुझे देखा मैं शांत पड़ी रही.

रामसुख- बढ़ा चढ़ा कर फालतू बातें नहीं कर… मुझे चूतिया मत बना… टाइम कम है.

मैं जैसे ही उठा, देखा कि आंटी मेरे लंड को मुँह में लेकर चूस रही हैं. शाम को भैया ऑफिस से आ गए और आज गर्मी कुछ ज्यादा थी तो भाबी ने एक नाइटी डाल ली थी, जबकि मैं उनके कपड़ों में थी. कुछ ने तो मुझसे मिलने की इच्छा भी जाहिर की, लेकिन मेरी पहली कहानी की घटना के बाद तो जैसे लाइफ ही बदल गई.

”मेरे से रहा नहीं गया और मैं चिल्ला कर बोला- भेनचोद भाभी है मेरी… जुबान सम्भाल के बात कर. जैसे ही लंड लौड़ा बन गया तो वो बोला- हां अब तुम अपने कपड़े डाल लो ख़ासकर अपनी ब्रा और पैंटी जो सेमी मेटल की बनी है. कुछ देर चुदाई के बाद मंजू अकड़ने लगी, उसका होने वाला जो था, वो बोलने लगी- तेज और तेज संजू… आह हहहह सससस और तेज करो!मैं फिर से बोल पड़ा- जान, सच में तुम बहुत जोशीली हो गयी हो, तुमको तो एक कड़क लन्ड और डलवाना पड़ेगा!मंजू कुछ नहीं बोली, बस सुनती रही.

एरिक की जीभ के स्पर्श से नताशा उत्तेजना से कांपने लगी और उसने बाएँ हाथ से अपनी चूत के क्लिट को सहलाना शुरू कर दिया. कभी वो चूसता, तो कभी वो निप्पलों को अपने दांतों से काटता, दर्द और आनन्द के मारे ऋतु की चीख और सिसकारी दोनों निकल जाती.

जैसे ही गाड़ी पोर्च में पहुंची, मैंने आगे बढ़कर फाटक खोला तो उसमें से 56-57 साल का आदमी जिसके सर पर केवल गिनने को ही बाल बचे थे, काले रंग का सूट पहने नीचे उतरा और दूसरी ओर से बाहर आई एक कयामत जो 30-32 साल की अप्सरा, बेहद खूबसूरत 5 फुट 7 इंच लंबी गदराए बदन की मालकिन काले रंग का लॉन्ग गाउन जो उसके गोरे बदन से लेमिनेशन की तरह चिपका हुआ था. आज चूत के दर्शन की बात छोड़ो, तीन तीन बार चूत की चुदाई भी की और वो भी उसकी रज़ामंदी से. करीब पौने घंटे बाद वो तैयार होकर बाहर आया, मैं उसको देखते ही उसके रूम के पास पहुंच गया.

उसने मुझे सीधी लिटाया और मेरे चूचुक को मुँह में लेकर ऐसे खींच खींच के चूसना शुरू कर दिया.

मैंने पूनम से कहा- पूनम, मैं झड़ने वाली हूँ!कि तभी पूनम ने नकली लण्ड मेरी चूत से निकाला और मेरी चूत को चूसने लगी. फिर मैं सोचने लगी कि इसने ये वीडियो कब बनाई होगी, मेरे घर तो कोई आया नहीं… और जब में स्कूल जाती हूँ तो मेरा घर लॉक रहता है. जब मैं बाहर आया तो मैंने देखा कि खाना रेडी था तो हम दोनों ने खाना खाया और टीवी देखने लगे.

मैं भी उसकी चुत की गर्मी को सहन नहीं कर पाया और उसकी चुत में ही झड़ गया. एक तरफ तो चुत लंड की वासना के कारण हम दोनों अलग नहीं होना चाहते थे, दूसरी तरफ अपने साथियों के सामने खुद को लज्जित सा महसूस कर रहे थे.

जब भी मैं उसको अपने सामने देखता था तो मैं चोरी चोरी नज़रों से उसको देखता था और नज़र हटा लेता था. उसे दर्द होने लगा था, इतने सालों के बाद कोई उसके चूत के छेद को भेद रहा था. इतनी खूबसूरत लड़की, नंगी हसीना मेरे सामने मुझसे अपना बदन चुसवा रही थी.

छूत देखनी है

अब मैं और तेज़ तेज़ उसकी चूत को सहलाने लगा और वो पागलों की तरह ‘ई ई आ ऊही माँ शशशशश.

मेरी वाइफ कभी मेरे लंड को मुँह में ही नहीं लेती, इसलिए मैं बाहर लड़कों से चुसवाता रहता हूँ. मैं बोली- मेरे को इतना क्यों खिला रही हो भाबी… मैं इतना नहीं खाती हूँ. मगर हम नहीं चाहते कि तुम किसी एक को देखो और फिर समझो कि किस ने कैसे चोदा है.

फिर 4 दिन बाद रात को 9 बजे एक कॉल आया, मैंने वो कॉल उठाया तो वो कॉल पायल भाभी का था. फिर नवीन ने अपने हाथ से मॉम का सर पकड़ लिया और अपने लंड पे ऊपर नीचे करने लगा. हिंदी में हिंदी सेक्सी बीएफमैंने जैसे ही लंड उसकी चूत से बाहर निकाला तो उसकी चूत से खून निकलने लगा.

मेरी हालत बहुत खराब थी मेरी साँसें बहुत तेज चल रही थीं, पाँव सुन्न पड़ गए थे और लंड सिकुड़ के लटक गया था. सब कुछ बहुत मज़ेदार और स्वादिष्ट!उसके बाद अलका कॉफ़ी ले आयी; बहुत बढ़िया कॉफ़ी थी.

मैं भी बस यही पल तो जीना चाहता था, तो मैं भी पूरी तरह से खुल गया और उसका साथ देने लगा. आपकोमेरी चुड़क्कड़ चालू बीवीनीना की चुदाई कहानी कैसी लगी? प्रतिक्रिया देंगे तो और लिखूंगा. सवा दस बजे सोनू आई, वो बला की खूबसूरत लग रही थी, उस रेड टॉप और ब्लू जीन पहनी हुई थी; उसका टॉप एकदम टाइट और गहरे गले का था जिसमें से उसके स्तन बाहर की हवा खा रहे थे। उसके बाल खुले थे और एक बात… उसकी चाल बड़ी ही मस्त थी। जब वो अंदर आ रही थी तो मैं उसे शीशे में से देख रहा था और नून्नू महाराज अंगड़ाई ले रहे थे.

उसकी बुर काफी लपलपा रही थी, उसमें से प्रीकम निकल रहा था, जो चुदाई के लिए चिकनाहट बना रहा था. करीब 20 मिनट तक मैंने उनकी गांड मारी और वाइब्रेटर आगे उनकी चूत के चिथड़े उड़ाता रहा. मैंने पूछा- कहां चलना है?उन्होंने बताया कि बस और 4 किलोमीटर चलना है.

उसने मुझे धीरे से सीने से लगा लिया और बोला कि विराट तुम भी बहुत अच्छे हो.

तो ले… ले ले ले ले… और ले… काफी है तुम्हारी नन्ही सी चूत के लिए या और लगाऊं?” आर्थर ने नताशा से इस आशा में पूछा कि वो अब संतुष्ट हो चुकी होगी. फिर ब्रा को बिना खोले उनके बूब्स से ऊपर खिसका दिया और उनके सेक्सी मम्मे मेरे सामने एकदम बाहर आ गए.

अंकल मेरे से बात करने लगे और उन्होंने पूछा- क्या आप अक्सर इस स्टॉप पर आते हैं?मैंने कहा- हां हफ्ते में दो या तीन बार तो आता ही हूं. लाला बड़ा मादरचोद आदमी था, वैसे तो मैं उसे जब तब घिसती रहती थी… लेकिन वो थुलथुल टाइप का था इसलिए मुझे मालूम था कि ये मेरे मतलब का नहीं है. लेकिन मैं जान चुका था कि इस शरीफ लिबास के पीछे एक बहुत बेशर्म औरवासना की भूखीरंडी छिपी हुई है.

उसके बालों से आती हुई शैम्पू की सुगंध और उसके बदन से चारों तरफ फैलती हुई इत्र की महक मुझे पागल बनाये जा रही थी. अब मेरी पोजीशन बिल्कुल कुछ ऐसी थी कि मैं सीट पे लेट सी गई थी और मेरी जांघ राघव के जांघ पे थी. साक्षी दर्द के मारे बेहोश सी होने लगी, उसकी आँखों में आँसू आ गए थे और बस वो अपने आप को मुझसे छुड़ाने की नाकाम कोशिश कर रही थी.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी जिया का ही फोन था, मैंने फोन उठाया तो जिया बोली- ऊपर देखो आर्यन!मैंने सर उठा कर ऊपर देखा तो तीसरी मंजिल पर फ़्लैट की बालकनी में जिया अपने फोन की लाईट फ्लैश कर रही थी. जब वो लंड को मेरी चूत के अन्दर डाल रहा था तो बहुत आराम से जा रहा था क्योंकि मेरी चुत लंड को लेने के लिए हमेशा ही तैयार रहती है.

श्रद्धा कपूर का सेक्सी व्हिडिओ

जो काम आज मुझसे अपनी माँ के साथ हुआ है, उसकी वजह से अब मुझे जीने का कोई हक़ नहीं बचा. उधर मेरे सामने खड़े सुरेंद्र जीजा पैंट की ज़िप खोलकर अपना सामान अंदर से बाहर निकाल लिया, मैं बिल्कुल एकटक सुरेंद्र जीजा का लन्ड देखने लगी, वह बड़ी बेशर्मी से मेरे सामने अपने हाथ से अपना लन्ड रगड़ने लगे. मैंने पूछा- क्यों दीदी, मैंने ऐसा क्या कर दिया?दीदी ने कहा- पहली बात डिस्को रात को 9 बजे के बाद खुलता है.

थोड़ी देर के बाद सुहानी को जब आराम आया तो भाभी को देख थोड़ा शर्मा गई, पर मुस्कुरा कर रह गई. वो चिल्लाने लगीं और बोलीं- ये क्या कर रहे कमीने!पर मैं उनकी क्लिट को ज़ोर ज़ोर से खींचते हुए चाटता रहा. सेक्सी बीएफ तेलुगू मेंउसके दोनों हाथ मेरे बालों में थे और मेरे हाथ उसकी कमर को सहला रहे थे.

वो भी मेरे बदन से चिपकने के मज़े लेती, लेकिन मैं कुछ इससे ज्यादा ही पाने की सोच में था.

फिर अंजलि ने अपना हाथ मेरे पप्पू पे फेरा जो पैन्ट के अन्दर घुट रहा था. मेरे मुँह में अब उसका लंड जा ही नहीं रहा था लेकिन वो मेरे सर को पकड़ कर ज़ोर से अपना लंड मेरे मुँह में डाले जा रहा था.

अन्तर्वासना की सेक्स कहानी का मजा लेने वाले मेरे प्यारे दोस्तों को मेरा नमस्कार… मेरा नाम राजीव कुमार है, मैं कानपुर उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ. आप सभी ने मेरी पिछली कहानीबुर की प्यास ने लेस्बियन बना दियाको बहुत प्यार दिया, मुझे काफी ईमेल मिले जिनमें मेरी कहानी की तारीफें थीं और कुछ में मेरे लिए अपशब्द भी थे. आर्थर के दूसरे हाथ में «बर्ड्स मिल्क» केक का डिब्बा था और एरिक के पास बियर की क्रेट और पैकेट में लिकर्स की बोतलें, और भी बहुत कुछ.

मेरे सहयोग से विशाल की हिम्मत और बढ़ गई और उसने मुझे अपनी तरफ खींचा और किस करते हुए मुझे मसलने लगा.

मैंने कहा- ठीक है, आज मैं आपको बॉडी लैंग्वेज के बारे में बताऊंगा, वो अंग्रेजी बोलने के समय बहुत जरूरी होती है, उससे कॉन्फिडेन्स नजर आता है. मैंने आपको अपनी पिछली कहानीमेरे दोस्त का भाई मेरा पति बन गयामें बताया था कि मैं अमित जी से कैसे चुदा. मैडम को डबल मजा आने लगा और कुछ ही देर में मैडम एकदम से अकड़कर बोलीं- आह मयूर मेरी जान.

बहुत सुंदर बीएफवो आहें लेने लगी- उहह यस… आहहह…फिर मैंने आम के इस बड़े पीस को आधा चुत में डाल दिया… और चुत को काटते हुए आम चूसने लगा. रात को रमन लेट से घर आए, मैंने उनको खाना परोसा, खाना खाने के बाद हम दोनों बेडरूम में गए.

तमिल सेक्सी तमिल सेक्सी तमिल सेक्सी

क्या नजारा था दोस्तो, मेरे नजरिये से दुनिया का सबसे खूबसूरत नजारा अगर कोई है, तो वो है औरत की चौड़ी की हुई चुत और बिस्तर पर गांड दिखाती हुई औंधी लेटी हुई औरत की मोटी गांड. मैंने उस रात काले रंग की ब्रा और पैंटी पहनी और ऊपर से वन पीस पहन के कॉलेज गई. मेरी बहुत सारी फंतासियां हैं, उनमें से एक ये भी थी कि मैं किसी अंजान आदमी से बस में चुदूँ.

जबकि फोन पर कह देते हैं कि आपको फलां ग्राहक की यौन संतुष्टि करनी होगी. मैंने हंसते हुए पूछा- क्या हुआ आंटी?आंटी ने भी हंस कर कहा- कुछ नहीं. अब आंटी भी मेरा पूरा साथ दे रही थी, मैं उनके होंठों को चूसता काटता जा रहा था.

ऐसा कह के उसने मेरे मोबाइल से साड़ी चेंजिंग का वीडियो डेलीट कर दिया. मैंने उसे गले लगा लिया और पीछे हाथों से ब्रा का हुक खोलने लगा, पर मुझसे नहीं खुला तो वो हँसने लगी और खुद ही ब्रा खोल कर मुझे दूध की तरफ इशारा करके आमंत्रित करने लगी. मैं अपना माल कहां निकालूँ?पायल भाभी बोलीं- अपना गर्म माल मेरी प्यारी और प्यासी चूत में ही डाल दो!मैं और ज्यादा तेजी से शॉट मारने लगा और भाभी की चूत में पूरा माल डाल कर पायल के ऊपर ही लेट कर उनके बोबे चूसने लगा.

उसने मुझसे भी मेरी हॉबी के बारे में पूछा तो मैंने कहा कि मैं सत्य घटनाओं को कहानी के रूप में लिखता हूँ. मेरे सहयोग से विशाल की हिम्मत और बढ़ गई और उसने मुझे अपनी तरफ खींचा और किस करते हुए मुझे मसलने लगा.

इसके बाद चंदर बोला- बिन्दु जी, ज़रा टांगें चौड़ी करके मेरा पास आओ ताकि मैं आपकी चुत को अच्छी तरह से देखूं, जिसने एक बहुत ही मादरचोद किस्म के चोदू लंड को निकाला है.

मेरा पप्पू तो इस ख्याल से ही उछलने लगता था कि उसकी बुर पर उगे बालों पर हाथ फेरने का कैसा मजा होगा. साड़ी वाली बीएफ साड़ी वालीअब मेरी पोजीशन बिल्कुल कुछ ऐसी थी कि मैं सीट पे लेट सी गई थी और मेरी जांघ राघव के जांघ पे थी. सेक्सी बीएफ साड़ी ब्लाउज वालीतो क्या आपके पास आपकी जैसी दिखने वाली कोई सहेली नहीं है?” आर्थर निराशा से बोला. मैंने जीभ से बार ज़ोर ज़ोर से स्वर्ण रस के छेद पर प्रहार किये तो रानी दसियों बार झड़ी.

थोड़ी देर आराम करने के बाद मेरे दिल में अलका रानी के शरीर का स्वाद चखने की तीव्र इच्छा जाग उठी.

मैं जैसे ही बाथरूम से बाहर आया तो देखा वो सोफे पर बैठी थीं और उंगली से इशारा करके मुझे अपने पास बुलाने लगीं. मेरे पास समय तो नहीं था, मगर अपनी जान से प्यारी चुदक्कड़ बीवी की बात भी तो नहीं टाल सकता था. एक रोज बारिश हो रही थी मौसम खुशनुमा था, तभी मुझे राघव का फ़ोन आया- वेयर आर यू साहिबा.

मैं रोशनी के होंठों पर किस कर रहा था और एक हाथ से अपने लंड को पकड़ कर पिंकी के मुँह में घुमा रहा था. इस बार भी कह रहे थे कि होली में साली से मिल कर भी आया और चोद कर भी आया. आंटी इतने मस्त तरीके से लंड चूस रही थी कि मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कि मैं आनन्द के सातवें आसमान पर हूँ.

हिंदी सांग सेक्सी

इतनी देर से वो नंगे थे लेकिन अभी तक मैंने उनका लंड ठीक से नहीं देखा था. मेरा घर गुडगाँव से 20 किलोमीटर दूर है, इसलिए घर वालों ने कहा कि अपनी बुआ जी के यहां रह ले. अब मैं एक हाथ से उसके चुचे दबा रहा था और दूसरे हाथ को उसकी पैंटी में डालकर चूत सहलाने लगा.

ज़रा भी नहीं छोड़ेंगे तुमको एक के बाद एक तुम दोनों पर मुँह और लंड मारे जाएंगे.

मेरी हॉट सेक्स स्टोरी में एक एक घटना सत्य है, पागलपन से भरी है, ऐसा कि कोई सोच नहीं सकता है। जो कोई सोच नहीं सकता है, उसे मैं कर चुकी हूं.

मैं भी तेज़ी से धक्के लगते हुए जबरदस्त चुदाई की और इस बीच वो 2 बार पानी छोड़ चुकी थी. फिर वो मेरी तरफ मुँह रख कर बोली- जैसे मैंने कल किया था पेट को हिला कर चुत तो घुमाना. फुल हिंदी बीएफ पिक्चरउसकी सांसें बहुत तेज चल रही थी उसकी गुदाज मांसल जांघें उसके यौवन रस से भीगी हुई थी और चमक रही थी उसकी तेज सांसों के साथ के साथ सांसों के साथ के साथ उसके ऊपर नीचे होते हुए पेट उसे और भी कामुक बना रहे थे, मैं भी उसके बगैर लेट गया लेट गया और उसका हाथ अपने हाथों में पकड़ लिया.

कुछ देर बाद वो सोफे पे बैठ गया और ऋतु से बोला कि अपनी टाँग को चौड़ा कर के फैला लो. लंड घुसवाते ही भाभी मेरे लंड पर उछल उछल कर चुत चुदाई का मजा लेने लगीं. पढ़ें कि कैसे हुआ ये सब!पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…मैं अपनी मम्मी के यारों से चुदी! कैसे? मेरी इस हॉट सेक्स स्टोरी में पढ़ें! मैं पूरी चालू हूं। मेरी मां भी मेरे जैसी है, हम दोनों मां बेटी को एक दूसरी के सब राज़ पता हैं। एक बार मां ने चुदना था अपने यार से पर कोई जगह नहीं थी, मैं मम्मी को जंगल में एक सेफ जगह ले गई चुदाई के लिए, मम्मी के यार भी वहीं आ गए.

उसकी इस बात पर मुझे हँसी आ गई और उसी का फायदा उठा कर उसने अपना पूरा मूसल मेरी सलोनी गांड में पेल दिया. जब मुझे उस लड़की ने, जिसने उसको फिक्स करना था, मुझे बताया तो मैं बहुत खुश हुई और बोली- साली को अच्छी तरह से चुदवाना और लंड भी पूरा 7 इंच से कम नहीं होना चाहिए.

फिर जानबूझ कर मनोरमा अपने मम्मे उसे दिखाने लग गई, जिससे उसका लंड और जोर मारने लगा.

हम दोनों के बीच में से एक दूसरे से शर्म-हया नाम का अहसास कब का विदा ले चुका था. सेजल भाभी ने मेरी तरफ़ नाराज़गी से देखा- शर्म नहीं आती ऐसी हरकत करते हुए?उन्होंने गुस्से में आकर कहा तो मैं डर गया. मोहन को लगा कि मैं नींद में हूँ, इसलिए गलती से मेरा सर उसके लंड पर आ गया होगा.

बांग्ला चैताली बीएफ वो कहने लगी- आज तो मेरी चूत की खैर नहीं!और वो मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर खेलने लगी. मेरे आने से पहले माँ ने चाचा जी को बता दिया था कि मैं आने वाला हूँ.

फिर मैंने राजधानी एक्सप्रेस की रफ़्तार से जो धक्के ठोके तो रानी की सिसकारियाँ बंध गई. जब मैंने उसकी नाभि में जीभ घुसा के भीतर घुमाई तो रानी ने मेरे बाल जकड़ के मेरा सिर ऊपर को खींचा और मेरे मुंह को चूचियों पर लगा दिया. हम दोनों खाना खा ही रहे थे कि घंटी बजी, बाई ने दरवाज़ा खोला तो दोनों मैडम ही थीं.

हिंदी सेक्सी नंगी स्केन

फिर आंटी कामवासना से पागल होकर जोर जोर से चिल्लाने लगी- चोद दो मुझे… उम्म्ह… अहह… हय… याह… फाड़ दो मेरी चुत को!आंटी की ऎसी बातें सुनकर मैं भी और ज्यादा जोश में आ गया और आंटी के नंगे बदन के ऊपर आकर मैंने अपना 8 इंच लम्बा लंड आंटी की चूत में डाल दिया और धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा. ऊपर की तरफ थोड़े कम और मोटे चूचों की वजह से हल्के से लटकने का आभास देते हुए उसके गोल गोल बोबे. फिर मैंने आंटी को बेड पर लिटा लिया और उनकी पेंटी को उनकी चिकनी जांघों पर से सरका कर उतार दिया.

जैसे ही मैंने अपना अंडरवियर निकाला और उसने मेरा 8 इंची लौड़ा देखा, उसने भागकर बेड पर छलांग लगा दी. अगर आपके पास चूत या लंड का इंतज़ाम नहीं है तो लड़के मुट्ठ मारेंगे और लड़कियां अपनी चूत में उंगली डालकर अपनी चूत का पानी निकालेंगी.

मेरी हिंदी सेक्सी स्टोरी के पहले भागपति के दोस्तों संग ग्रुप सेक्स करके चुत चुदाई-1में अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे पति के दोस्तों के साथ मेरी ग्रुप सेक्स चुदाई का खेल शुरू होने वाला था.

उसे किसी ने बताया था कि पीरियड के बारह दिन के बाद चुदाई करने से बच्चा ठहरने सबसे ज्यादा चांस होते हैं!बात भी सही थी तो मैंने भी उसकी हां में हां मिला दी और उसे अपने फ्लैट पे ले गया. बिंदु ने पापा को कहा कि एक दिन उनको अपने घर पर लंच या डिनर पर बुलाओ और नेहा और आपके फ्रेंड के लड़के को मिलवा देते हैं. आप मुझे[emailprotected]पर मेल द्वारा संपर्क कर सकते हैं और बता सकते हैं आपको मेरी बस यात्रा में चुदाई की कहानी कैसी लगी.

अपनी चुत पूरी पूरी तरह से धो पोंछ कर उस पर खुशबूदार क्रीम लगा कर चंदर के रूम में चली गई. मैंने उसको देखा और 2 मिनट में वापिस आ गया उसको देख कर!उसने फ़ोन करके मेरी तारीफ करते हुए कहा- वाह यार, तुम तो मस्त लग रहे थे!मैंने भी उसको थैंक्स बोला. अब उसे देखने पर वह किसी सेक्सी मर्द से कम नहीं लग रहा था और उसका गान्ड फाड़ू रूप देखकर तो मेरी अन्तरवासना का बाँध टूट चुका था.

विवेक बोला- भोसड़ी के बहरा है क्या… क्या नाटक है? साले गांड पे लात खा के ही मानेगा… जल्दी कर, जैसा मैडम ने कहा.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी: चूत का दाना ऊपर को उभरा हुआ था क्योंकि इस वक्त भाभी की कामवासना पूरे उफान पर थी. चाची पहली बार कोई लंड चूस रही थी तो उनको आ नहीं रहा था, तो वो जोर से चूस रही थीं जिससे मेरे लंड पर उनके दाँत लग रहे थे.

क्या आपने इससे पहले कभी मसाज नहीं करवाई थी?तो वो बोलीं कि मैंने कई बार मसाज़ कराई है, पर इतना मज़ा और सुकून नहीं मिला था. इस प्रक्रिया में मेरे को मुश्किल से 3 मिनट लगे होंगे और हम दोनों अपने कपड़े पहन कर अपने अपने घर चले आए. एक दिन वो ही आकर मुझसे बोली- आप किसी से बात नहीं करते हो क्या?तो मैंने कहा- नहीं ऐसी कोई बात नहीं है.

नवीन लौट कर आया तो मॉम नीचे उतर चुकी थीं और अपनी ब्रा ठीक करके अपना गाउन पहन रही थीं.

मॉम- गांव जाने के लिए बहुत खुश है तू??नवीन- नहीं ऐसी बात नहीं है मालकिन. मैं उनके किस से बहुत ज्यादा गर्म हो गया था और मेरी गांड में खुजली होने लगी. मैं अब कुछ नहीं बोल सकती थी सिवाए अपनी किस्मत को गालियां देने के…जब मैं वापिस घर आई तो कहा कि मैं इंटरव्यू में पास नहीं हुई.