बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स

छवि स्रोत,संतोष सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

छोटी बहू की सेक्सी फिल्म: बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स, ”उनके हमारे खेल को अभ्यास बोलना मुझे बड़ा मजाकिया लगा, आज अंकल कल की तरह डर नहीं रहे थे और बहुत ही कॉन्फिडेंस में बात कर रहे थे.

हॉस्टल की सेक्सी पिक्चर

उस रात हमने 3-4 घंटे तक बात की और उसको बोला कि कल दोपहर को तुम मेरे पड़ोस में आना. सेक्सी नेपाली फुल एचडीउसके मुंह से कसमसाहट भरी कामुक सिसकारियाँ हल्की-हल्की बाहर आने लगीं.

इस देसी सेक्सी गर्ल चुदाई कहानी की शुरुआत तब हुई जब एक दिन मेरे सामने के फ्लैट में एक परिवार रहने आया. सेक्सी वीडियो हीरोइन का वीडियोइस कमरे में विक्रम और रीना को युद्ध स्तर पर चुदाई करने के लिए अकेले छोड़ दिया।चुदाई का महासंग्राम शुरू हो गया है दोस्तो, अपनो लौड़ों और चूतों को संभाल कर रखें.

एक दिन अचानक से मम्मी मुझसे से बोलीं- बेटा चलो, डॉक्टर के पास चलो, कुछ चेकअप करवाना है.बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स: मैं दर्द से कराहते हुए बोली- आशीष आराम से घुसाना … तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है और मेरी गांड बहुत नाजुक है.

मैंने बताया, तो उसी तरह के सवालात हुए और इन्हीं बातों में पता चला कि भाभी का नाम सृजन है और वो दो साल से यहीं अपने पति के साथ रहती हैं.मैं- ठीक है जीजू, आज पूरी रात आप अपने लंड को मेरी चूत में ही डालकर रखना और जब मर्जी करे चोदना शुरू कर देना अपनी साली की गोरी गुलाबी चूत को!पूरा बाथरूम मेरी चूत और जीजू के लंड के रोमांचक जंग से गूंज रहा था, मेरी चूत से फच फच फच की आवाज आ रही थी.

मारवाडी का सेक्सी व्हिडिओ - बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स

गुलाबो की योनि मेरे लिंग के सम्पूर्ण स्पर्श को पाकर व्याकुलता से पगला गयी थी.भाभी मेरा खड़ा लंड देख कर बोलीं- रोहन इतनी उम्र में तुम्हारा ये इतना बड़ा कैसे है? तुम्हारे भैया का तो इससे काफी छोटा है … अगर तुम कहो तो इसकी भी मसाज कर दूँ?मैंने हां में सर हिला दिया.

उनकी इस धमकी का पिंकी पर क्या असर हुआ ये तो मैं समझ नहीं पाई मगर खुद मैं एकदम ढीली हो गयी और उनका विरोध करना छोड़ दिया. बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स मैंने आवाज बदल कर मम्मी से पूछा- क्या मैं आपको अच्छे से चोद रहा हूँ?मां बोलीं- यस मेरे राजा.

दारू की मधुर मदहोशी मुझ पर चढ़ रही थी और मैं उसके हुस्न को आंखों से चोद रहा था.

बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स?

कल मैंने तुम्हारी गर्दन तक किस ली … आज गर्दन से पेट तक के हिस्से की किस लेनी है. इस तरह से मैंने कैसे भी करके आशीष को समझाया और उसने मुझ पर बड़ी मुश्किल से भरोसा किया. मैं दिलिया की जीभ चूसने लगा और मेरी दुल्हन दिलिया की चूत मेरे लण्ड का रस निचोड़ती रही.

10 मिनट के बाद मैं उठा और अपना लंड साफ किया।मैंने उसकी बुर को भी साफ किया।मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि अपने खुराफाती दिमाग की बदौलत मैं अपनी जवान भांजी की बुर मार चुका हूं।मैं उसको नंगी लेटी हुई देखता रहा। वो थकी हुई सी लग रही थी. सरिता ने अपना पैर बेड से नीचे रख दिया तो मैंने अपना तना हुआ लंड बाहर निकाल दिया. टी ने बता दिया कि दोनों ही ट्रेन में सीट नहीं हैं, वो परेशान हो गई.

वहां उन्होंने मेरा अंडरवियर उतार कर मुझ जमीन पर लिटा दिया व मेरे ऊपर चढ़ बैठे थे. शीतल भाभी ने मुझे अपने घर का पता दिया और कहा कि शाम को 6 बजे आ जाना, मुझको घर में कुछ काम है. कपिल ने फटाफट अपने लंड को हाथ में लेकर थोड़ा सा हिलाया और झट से चाची की चूत में घुसा दिया.

आहह … और जोर से चोद … फाड़ दे मेरी गांड!उसके मुंह से निकलने वाले ऐसे शब्द मुझे उत्तेजित कर रहे थे। मैंने उसके मुँह के पास उंगली ले जाकर उसे चुप करने का इशारा किया. करीब पांच मिनट की बेदम दर्द भरी चुदाई के बाद मेरी चुत का दर्द धीरे-धीरे कम होने लगा.

कुछ देर बाद मैंने अपनी बहन की बुर में मुँह लगा दिया और उसकी चुत के जीभ अन्दर डाल दी.

एक-दो बार ही लंड के टोपे को खोला और बंद किया था कि लंड फिर से अपने पूरे आकार में आ गया और मेरे हाथ में भर गया.

वो मेरे चेहरे पर, मेरे होठों पर, मेरी गर्दन पर और मेरे कानों के लौ को बार बार चूमने लगा. अब राधिका ने मेरे 7 इंच के लंड को मेरे निक्कर से बाहर निकाला और हाथ में लेकर लंड को हिलाया. बाली रानी काम क्रिया में बहुत सिद्धहस्त थी, ताड़ गयी कि कब मेरा नियंत्रण हो गया, और तभी उसने अपनी कमर को गोल गोल घुमाना शुरू किया.

मैं- थैंक्स जॉन।मैं- रोहन कल रात कैसी रही आपकी?रोहन- अंजलि, मजा आ गया कल की रात में तो!मैं- ओह, ये तो अच्छी बात है. मैंने उसको इम्प्रेस करने के लिये उसके सब्जेक्ट्स में अपना इंटरेस्ट दिखाया और बस बड़ी मेहनत से उसके सब्जेक्ट का अध्यन करने लगा. सिर्फ थोड़ी ऊपर सरकाऊँगा … नहीं तो तुम्हारे आमों की चुम्मी कैसे ले पाऊंगा?”अंकल ने मुझे निरुत्तर कर दिया और ऊपर से उन्होंने मेरे स्तनों को आम कहा था.

बड़ी देर तक अन्दर घुमाते रहे, फिर तेल से लसड़ा लंड मेरी गांड पर रखा और धक्का दे दिया.

थोड़ी देर में लंड बराबर सेट हो गया और मैं भी नीचे से उसे जोर-जोर से चोदने लगा. वसुन्धरा के दोनों बाज़ू मेरी पीठ के इर्द-गिर्द सख्ती से लिपट गए और वसुन्धरा के दोनों पुष्ट स्तनाग्र मेरी छाती में छेद करने पर आमादा थे. अब निशा सिसकारियां लेने लगी थी- अअअ आआ आह ऊऊऊ ओह्ह … और जोर जोर से चूसो … ऊओहह बहुत अच्छा लग रहा है.

भाभी ने एक पारदर्शी नाइटी पहन रखी थी जिसमें अंदर गुलाबी रंग की ब्रा थी और लाल रंग की पैंटी जो साफ-साफ नजर आ रही थी. मैं घर के काम ऐसे करती हूँ कि मेरे पति अपना लंड मेरे चुत में डालकर मेरी चुत आसानी से चोद सकें. रात में अचानक मेरी नींद खुली देखा, तो निशा मेरे लंड को सहला रही थी.

फिर मैं अपने होंठों से सरिता के दोनों मम्मों के आस-पास किस करने लगा और फिर दोनों दूध बारी बारी से चूसकर मैं उसके पेट पर अपनी जीभ फिराने लगा.

वह भी कहने लगी कि वह शुभी को चुदवाने के लिए ले आएगी मगर उसके बाद मैं उससे कभी नाराजगी से बात नहीं करूंगा. थक गयी होगी, चेंज कर लो।मेरा दिमाग तभी काम कर गया, मैंने भी अपने अपने कपड़े उतारे और केवल नीली चड्डी में खड़ा हो गया.

बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स आपने जो बाथरूम के बल्ब को बदलने का आइडिया दिया उसने भले ही बाथरूम में अंधेरा किया लेकिन जमाई जी का लंड पाकर मेरी चूत में सैकड़ों बल्ब जल उठे थे. मेरे सभी पुरुष और महिला पाठक, आप महसूस कीजिये कि जब आपने पहली बार ये सब किया होगा या किसी महिला पुरुष के साथ इस स्थिति में रहे होंगे कि वो पुरुष आपके होंठों को चूम रहा है और उसका हाथ आपके स्तनों पर आ गया है तो क्या स्थिति होती है.

बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स बल्कि भाभी को इतना मजा आ रहा था कि वह बड़े भैया के चूतड़ों को पकड़ कर अपनी गांड की तरफ धकेल रही थी. अमर ने भी पिंकी भाभी की साड़ी उतार कर उसके जिस्म से अलग कर दी और पिंकी के ब्लाउज के ऊपर से साफ़ नुमाया ही रही उसकी चुचियों को ऊपर से ही चूसने लगा.

जिन दोस्तों को नहीं पता हो, उन्हें मैं बता दूं कि ज्यादातर कैफे एक ऐसी जगह होती है … जहां पर छोटे-छोटे केबिन बने होते हैं, जैसे कि हमारे साइबर कैफे में केबिन बने होते हैं.

सेक्स वीडियो बीएफ हिंदी मूवी

तू खुद देख लेना अबकी बार अगर तूने लण्ड नहीं चूसा तो वो तेरी चूत भी नहीं चाटेंगे. पापा बोले- क्या हुआ? तू रो क्यूं रही है?मैंने कहा- पापा आप नहा-धो कर फ्रेश हो जाओ. मैंने वक्त जाया न करते हुए उसके जिस्म को चूमना शुरू कर दिया, कभी उसके कंधे पर काट लेता तो कभी उसकी कमर को नोच लेता.

उन्होंने बोला- अच्छा तुम आराम करो, मैं तुम्हारे लिए खाना बना कर आती हूँ. थोड़ी देर ऊपर हाथ फेरने के बाद मैं अपना हाथ उसकी टाँगों के बीच ले गया और उसकी फुद्दी को महसूस किया, जो एकदम रूई जैसी मुलायम थी. मैं उसका निचला ओंठ चूस कर अपना लण्ड हल्का से पीछे करता था फिर कस कर धक्का लगा कर उसका ऊपरी ओंठ चूसने लगता था जिससे चूत लण्ड को जकड़ लेती थी, उसकी जीभ को चूसने लगता था तो जैसे चूत लण्ड को अंदर खींच कर चूसने लगती थी.

मुझे पश्चाताप हुआ कि कोई ब्वॉयफ्रेंड बनाया होता, तो आज काम बन जाता.

उसके बाद जीजू ने मेरी चूत की फांकें अपने दोनों हाथों से फैला दी और अपनी जीभ से मेरी चूत को चाटने लगे. वो भी गुर्राते और हाँफते हुए तेजी से चूत की झांटों पे झटके मारता हुआ एक के बाद एक पिचकारी मारने लगा, उसके लिंग से 4 बार तेज़ वीर्य की पिचकारी मैंने मेरी बच्चेदानी में महसूस की जो कि आग की तरह गर्म थी. मैंने उसे चूमा, तो वो झट से उठ कर बैठ गई और उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया.

उसने मुझे बताया कि उसके पति का लन्ड अब खड़ा ही नहीं होता है जबकि उसके सेक्स की भूख बहुत बढ़ गयी है. आंटी बोलीं- मैं यहां बड़े वाले सोफे में ही बैठ जाती हूं, तुम मालिश कर दो. सलोनी- रियली? ऐसा क्या देखा आप ने मेरे में जो किसी ने नहीं देखा? और आपने देख लिया? आप झूठ बोल रहे हैं.

उनकी आंखों से दर्द साफ झलक रहा था परंतु साथ ही संतुष्टि की भाव भी टपक रहा था. उसने एक हल्की मीठी सी सिसकारी ली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आम्म … हह आहह हह्ह!वह आँखें बंद करके मजे लेने लगी.

इससे पहले उनकी ट्रेनिंग होती रहती थी, जिसके लिए उन्हें आस पास में ही जाना होता था. उसकी छाती ज्यादा मजबूत तो नहीं दिख रही थी लेकिन फिर भी अच्छी लग रही थी. लेकिन नम्रता मेरी तरफ हाथ बढ़ाते हुए बोली- और मिस्टर सक्सेना कैसे हैं आप?मैं- ठीक हूं और आप कैसी हो?वो बोली- बस पीरियडस खत्म, दर्द भी खत्म.

वो अपनी तरफ से खूब जोर लगाकर मुझे ऊपर से दूर धकेलने लगी तो लौड़ा वापिस बाहर निकल गया.

लेकिन जब मैं सुबह जब उठा तो मैंने देखा कि मैं पैन्ट पहने हुए था और सब कुछ साफ था. उन्होंने घुटनों के बल बूथ कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. दिखने में अच्छा खासा होने के वजह से मैंने जल्दी ही उसके दिल में अपनी जगह बना ली थी.

शीतल भाभी कहने लगीं- यहीं खड़े रहकर ही मुझको देखते रहोगे या अन्दर भी आओगे. मैंने उसके सिर को दबाये रखा और तब ढीला नहीं किया जब तक कि मेरा पूरा वीर्य उसके मुंह में झड़ नहीं गया.

रात में भाभी का कॉल आया और मैंने हैलो बोल कर उन्हें हाय सेक्सी कह दिया. यह बात सही भी है लेकिन यह बात भी मान लीजिए कि लड़कियों में भी सेक्स को लेकर उतना ही जोश होता है बस हम लड़कियां लड़कों को पता नहीं लगने देती।आज मैं आप सभी से जो कहानी शेयर कर रही हूँ … इससे बस यही साबित होता है कि एक लड़का और लड़की के बीच सिर्फ एक ही रिश्ता हो सकता है और वह आप सभी जानते होंगे. हम दोनों ने एक ही कप में चाय पी और उसके बाद मेरा लंड काबू से बाहर हो गया.

देहाती बीएफ सेक्सी वीडियो चुदाई

बुर के निचले छेद वाला हिस्से से थोड़ा थोड़ा हल्का सफेद पानी निकल रहा था.

लगभग 15-20 धक्कों के बाद अपना वीर्य माया की चूत में ही छोड़ दिया और माया भाभी के ऊपर लेटकर हांफने लगा. मैंने फ़ौरन वसुन्धरा को अपने बाएं हाथ से अपने आलिंगन में लेकर कस लिया और लगातार उसके चेहरे पर यहां-वहाँ चुम्बन लेने लगा. मैं दर्द में चिल्लाई जा रही थी मगर वो नहीं माना और दनादन चुदाई चालू कर दी.

दोस्तो, यह भानजी की हॉट बुर Xxx कहानी यहीं पर समाप्त करता हूं।आपको मेरी भांजी की चुदाई की ये कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताना, कमेंट करना और मेरी ईमेल पर फीडबैक जरूर भेजें. इन्दु- मुझसे भी ज्यादा जरूरी काम है क्या?मैं- नहीं यार, लेकिन शादी वाले घर में सौ काम होते हैं।मैं अब ये सोच रहा था कि शारदा चाची और उनका भाई अकेले स्टोर में क्या कर रहे होंगे. नागा साधु सेक्सीफिर मैंने उसकी गांड पकड़कर दूसरा धक्का मारा और अपना आधे से ज्यादा लंड चूत में पेल दिया.

मैं फिर कई बार आरती से मिलने के बहाने उसके घर उसकी मां को मिलने लगी और उनसे अपनी ज़रूरत से ज़्यादा जान पहचान बनाने लगी. जब घर में कोई नहीं है तो जोक सुनाने के लिए बुलाती है क्या?मेरा मुँह खुला का खुला रहा गया.

मैंने ये सब पोर्न फिल्मों में देखा है और यही पोर्न फिल्मों की बात मेरी पसंदीदा भी है. एक बार तो मुझे देखने में मजा आया लेकिन अगले ही पल यह ध्यान आया कि चाची तो मेरे भाई को बिगाड़ रही है. कुंवारी भाभी की कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा था कि मुझे अपने ऊपर झुका देख कर मेरी इस हरकत का एहसास तो भाभी को भी हो गया था, पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं थी, तो मैंने भी मौके का फायदा उठाकर अपना एक हाथ उनके उभरे हुए वक्ष पर रख दिया.

मैंने कहा- नहीं, उससे पहले तुमको भी वैसे ही करना पड़ेगा जैसे मैंने किया. कुछ पल ऐसे ही करने के बाद मैंने निशा को पीठ के बल लेट गया और उसकी शर्ट को उतार कर उसके चूचों को जोर जोर से दबाने लगा. मैंने जोर-जोर से लंड को हिलाना शुरू कर दिया और उनकी चूत को चोदने के बारे में सोच कर मुट्ठ मारने का मजा लेने लगा.

उस दिन उसके पापा दिन में सो गए और मैं उसको अपने साथ मेरे ऑफिस में ले गया.

दस मिनट में दर्द रूक गया और मैंने भाभी को बोला- आप पता करो दर्द तो नहीं है. राशि ये खेल कभी-कभी तो डेढ़ घंटे तक करती थी और आज तो वो पूरी उफान पर थी, इसलिए मैं भी उसके बाल पकड़ कर उसका सर हिला-हिला कर उसका साथ दे रहा था.

फिर कुछ देर बाद वो झड़ने लगी। अब मैं भी झड़ने लगा, मैंने अपना लंड बाहर खींच कर अपना माल उसकी चूत के ऊपर छोड़ दिया।फिर मैं वापस उसके साथ लेट गया।उस रात हमने कुल तीन बार चुदाई की।यह थी मेरी मौसी की बेटी की चुदाई की सच्ची कहानी। आपको कैसी लगी, मुझे मेल करके बतायें, मुझे आपके प्यार का इंतज़ार रहेगा।मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]. उसके साथ वापस उसके घर तक आने की वजह से मैंने उससे बात करना चालू कर दिया था. हम दोनों की सेक्स फेंटसी भी सेम ही है, हम दोनों को ही आंटियां पसंद हैं.

मैं कोई जबरदस्ती नहीं करना चाहता था, इसलिये मैंने सोचा कि रात को इसको मना कर चोद लूँगा. मैं उस थैंक्स बोलकर निकल गया और मेडिकल स्टोर्स से दवाइयां लेकर घर आया, तो साढ़े आठ बज रहे थे. वसुंधरा के गर्म जनाना जिस्म से उठती गर्मी को मैं अपने पूरे शरीर में महसूस कर रहा था.

बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स सिकाई के दौरान ही वो धीरे धीरे गर्म होने लगी थीं, जैसे जैसे पानी ठंडा हो रहा था, वैसे वैसे वो गर्म हो रही थीं. इस पर अमर भी उसका साथ ठीक उसी तरह से देने लगा, जैसे पिंकी उसको चूस रही थी.

देखना बीएफ

पता नहीं क्यों पर मुझे उस डॉक्टर का ये व्यवहार जरा भी पसंद नहीं आया. भाभी ने एक लम्बी आह भर कर कहा- मेरी जैसी लड़की के भाग्य में शौहर का सुख ही नहीं है. मैंने दो घंटे के बाद उसको फोन किया और उससे कहा कि मेरा दोस्त अभी तीन या चार दिन के बाद आएगा.

वो हर धक्के में लंड को पूरा अंदर तक पेल रहा था, उसकी हर चोट में लंड बच्चेदानी से टकरा रहा था, उसने मेरी जांघों को इतना जोर से दबाया हुआ था कि वहाँ से नीला पड़ गया था. प्लीज इसे बाहर निकाल लो … मुझे नहीं चुदना तुमसे! तुम बहुत जालिम हो! यह क्या लोहे की गर्म रॉड घुसा डाली है तुमने मुझ में! निकालो इसे … प्लीज बहुत दर्द हो रहा है … मैं दर्द से मर जाऊँगी … प्लीज निकालो इसे!और गुलाबो की से आँखों से आंसू की धारा बह निकली. मुस्लिम सेक्सी वीडियो बीपीमैं दिलिया को बेकरारी से चूमने लगा। चूमते हुए हमारे मुंह खुले हुये थे जिसके कारण हम दोनों की जीभ आपस में टकरा रही थी.

मैंने पूजा को अपनी तरफ खींच कर उसके होंठ अपने होंठों में दबा लिए और चूसने लगा.

अगले दिन जब सोने की बारी आई तो सब रात को 1:30 बजे तक बातें करते रहे. अब आगे:कुछ देर बाद मैं उस पर से हटा, गुलाबो की चुची फूल गई थी और उसके नर्म मुलायम बूब्स टाइट हो गए थे.

अब जब मैंने तुम्हे आधी नंगी देख ही लिया है तो अब तुम शर्म छोड़ कर मुझे प्यार करने दो. मायरा बोली- नहीं भैया, आप हमारे साथ ही सो जाइएगा, कोई प्रॉब्लम नहीं होगी. मेरे बेटों का बीज, तुम्हारी मम्मी की चूत का पानी, मेरे जन्मदिन का केक सब है, जांघों और चूतड़ों के बीच में ले.

मुझे रिया बहुत पसंद थी पर मैं अपनी दिल की बात उसे बात नहीं पाता था.

उसके अगले दिन फिर अंकल जी आते दिखे, मैं पिछली सुबह की तरह ही खड़ी थी और उन्होंने मुझे अपने पीछे आने का इशारा कर दिया. सोनू कहने लगी- मेरी भी अच्छी किस्मत है कि पहली बार ही मुझे इतना बड़ा और मोटा लौड़ा मिला है. हम दोनों कराह रहे थे ‘आआह ह ऊऊह्ह …’कुछ देर में वह फिर घूमी और अपनी पीठ मेरी ओर कर दी.

बीपी सेक्सी गोलीमैंने गौर से देखा तो पता चला कि यह वो ही लुटिया थी जिससे हम दिन के समय पानी पीते थे. इधर मेरी व्याकुलता बढ़ती ही जा रही थी सो मैं बोल पड़ी- लंड को हाथ से पकड़ कर चुत में घुसाओ न.

करिश्मा कपूर सेक्सी बीएफ वीडियो

उसकी बात मान कर मैंने अपने लंड पर थोड़ा थूक लगाया और फिर से उसकी चूत पर लंड को सेट कर दिया. उसके मुंह से जल्दी ही आह-आह … की आवाजें निकलने लगीं जिनको सुनने के बाद मुझे ब्लू फिल्मों के सीन याद आ गये और मेरे दिमाग में आया कि लड़की चूत चटवाकर बहुत जल्दी गर्म हो जाती हैं. जीजू ने मुझे अपनी दोनों बांहों में कस लिया और मुझे किस करने लगे, मेरे दोनों बूब्स जीजू की छाती से चिपक गए एकदम से और धीरे धीरे मेरे दोनों हाथ भी जीजू से लिपट गए, अब हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे.

फिर सबसे पहले पिंकी ने धीरे धीरे अमर की टी-शर्ट को निकाला और वो अमर की छाती को चूमने लगी. आप सभी का दिल से आभार प्रकट करते हुए एक नयी कहानी आपके समक्ष प्रस्तुत करता हूं. शीतल- आह … मजा आ रहा है … साले भोसड़ी के खा जा मेरी चूत को … आह अनिल हां ऐसे ही और अच्छे से उफ्फ चाट ले हरामी आह इसे पूरा उफ्फ मजा आ रहा … आई मां मर गई.

चूंकि मैं एक प्राइवेट कंपनी में करता हूँ, तो अक्सर बाहर ही रहता हूँ और मेरा खाना अक्सर बाहर ही होता था. इस बीच हम दोनों में इतना अधिक बहनापा सा हो गया था कि मैं कभी कभी अपनी सहेली के घर भी रुक जाती थी और वो भी कभी कभी मेरे घर रुक जाती थी. मैं उसकी खूबसूरती से उस पर मोहित हो गया और उसे पटाने के चक्कर में पड़ गया.

वह मुझको बिल्कुल चिपक के पकड़ने लगा और मुझे बहुत गंदी गालियां देने लगा. उसने टांगें खोल दीं और मैं अपना लंड उसकी फ़ुद्दी पर रगड़ने लगा, उसके मुख से ‘आह.

ऐसा ही एक मेल मुझे मिला अजय का जो अपनी वाइफ के साथ पंजाब में रहता है, एक प्यारी सी बच्ची का बाप है.

तो मैंने बोला- भाभी, जल्दी से झोटे का डंडा पकड़ कर लाइन में लगा दो. राजस्थानी सेक्सी फिल्म देखने वालीप्लीज़ दोस्तो, मेरी इन्सेस्ट सेक्स स्टोरी पढ़ने के बाद अपना फीडबैक देना मत भूलिएगा. राजस्थानी सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी मेंफ्लाइट में सारा ज़िद करके मेरे साथ हो चिपक कर बैठी और पूरी फ्लाइट में उसका हाथ मेरे लंड को दबाता सहलाता रहा. यानि कि ये सब आपकी प्लानिंग थी।मैं सिर्फ हंस दिया और बोला- कि तुम इसी अवस्था में रहना।मैं बाहर गया और रोहित को कहा- अन्दर आ जाओ, भाभी से पैसा ले लो।वो बेचारा मासूम जैसे ही मेरे बेडरुम में घुसा, वो संजना को नंगी देखकर उल्टे पैर पीछे भागा.

अब चूंकि मेरे बाएं हाथ ने लहंगे के नाड़े वाला हिस्सा छोड़ दिया था तो मेरा बायां हाथ लटक कर वसुंधरा की दोनों जांघों के बीच आ गया था और मैं अपनी बायीं हथेली के पृष्ट भाग पर वसुंधरा की योनि से निकलती ऊष्मा स्पष्ट महसूस कर रहा था.

गुलाबो मुझे बेकरारी से चूमने चाटने लगी और चूमते चूमते हमारे मुंह में एक दूसरे का स्वाद घुल रहा था। फिर मैंने उसकी चूची सहलानी और दबानी शुरू कर दी वह सिसकारियां ले मजे लेने लगी. मैं बोला- भाभी, कोई बात नहीं आप फेसबुक पे अपना अकाउंट बना लो, इस तरह से आपको दोस्त भी मिल जाएंगे और आपका दिल भी लगा रहेगा. जब इसको चुदने की इतनी प्यास लगी है तो बिना कंडोम के करवाने में क्या दिक्कत है.

हमारे हाथ भी तो गन्दगी साफ करते हैं और हम उन्हीं हाथों को साफ करके खाना बनाते हैं, पूजा करते हैं कि नहीं?” डॉली ने मुझे ज्ञान दिया. इतने में मैंने उसकी छोटी सी गांड पर जोर से एक चमाट मारा और बोला- देख क्या रही है रंडी … अब चूस ना लंड. इसका अभास मुझे तब हुआ जब मैं उसकी चूत में जीभ डाल कर जीभ को घुमा रहा था.

सेक्सी गर्ल बीएफ एचडी

फिर उन्होंने जब मेरी सुपारे को बाहर निकालने के लिए खाल नीचे की, तो मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ और मेरे लंड ने अपना लावा उगल दिया … जो उनके पूरे चेहरे पर जा लगा और थोड़ा सा उनके मुँह में भी चला गया. साथ ही काफी दिनों से स्कूटी न चलाने के कारण उसकी सर्विस भी नहीं हुई थी. मैंने तब तक इतना बड़ा लंड लिया नहीं था तो मेरी गांड चिरने को हो गई थी.

मैं उन दोनों को पहले से जानती थी लेकिन यह नहीं जानती थी कि वो आज घर पर आने वाले हैं.

विशाल भाई ने मुझे उनकी कंपनी में आने के लिए कह दिया और बताया कि कल अपने सारे कागजात लेकर कंपनी में आ जाना.

इससे पहले कि वसुन्धरा के जिस्म में काम-विस्फोट हो जाए, मुझे इस काम-केलि की कमान अपने हाथ में लेनी थी. थोड़ी देर तक अनु दर्द से तड़पती रही और मैं उसके गोल गोल मम्मों को चूसता रहा. सेक्सी डाउनलोड चोदा चोदीमैंने ज्यादा देर न करते हुए उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और उसके होंठों का रसपान करने लगा.

इसी वजह से हम दोनों को एकांत नहीं मिल रहा था और मेरी सौतेली मम्मी और मेरे बीच सेक्स नहीं हो पा रहा था. वहां सूट कटिंग सीखी, फिर अपने कस्बे में तो केवल सूट से काम नहीं चलता, तो लेडीज के ब्लाउज, फ्रॉक, सलवार, कुर्ते, पैंट शर्ट, सब काम आता है. मम्मा को सभी ने दूसरी शादी की सलाह दी थी लेकिन तब तक मैं 4 साल का हो गया था और मम्मा ने मेरे साथ कुछ गलत ना हो, इसीलिए मेरी खुशी के लिए अपनी खुशी छोड़ दी थी.

थोड़ी देर बात करने के बाद बाद मोनू ने उसके होंठों पर चुम्बन करना शुरू कर दिया. वो अपना आपा खो चुकी थी और मैं भी … मैंने उसे पटक दिया और उसके ऊपर आ गया.

एलेक्स अपना लंड मेरे मुँह में डाल कर मेरी गर्दन आगे-पीछे कर रहा था.

बात करते हुए काफी रात हो गई थी तो गुड नाइट बोलकर मैं सो गया और कब नींद आ गई, पता ही नहीं चला. मैं- ठीक है जीजू, आज पूरी रात आप अपने लंड को मेरी चूत में ही डालकर रखना और जब मर्जी करे चोदना शुरू कर देना अपनी साली की गोरी गुलाबी चूत को!पूरा बाथरूम मेरी चूत और जीजू के लंड के रोमांचक जंग से गूंज रहा था, मेरी चूत से फच फच फच की आवाज आ रही थी. मेरे मुंह से कामुक सिसकारी निकल रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… जोर से करो … पी जाओ दीपक … मेरे दूधों को काट लो … आह्ह … बहुत मजा आ रहा है.

देसी सेक्सी वीडियो पंजाब उसकी आवाज तेज होने की स्थिति में आ सकती थी इसलिए मैंने पहले ही निशा का मुँह अपने एक हाथ से दबा दिया कि आवाज न निकले. तभी पटेल का दोस्त, जो मेरे सीने में टांगें फैलाए बैठा था, वह बोला- और तेज चाट बंध्या की चुत … जोर जोर से चाट इसकी चुत … अब यह गर्म हो रही है … दो चार मिनट में खुद चुदवाने के लिए बोलेगी.

कल्पना- आज तो मेरी सच में सुहागरात हो गयी … तुमने तो आज मुझे अपना दीवाना बना दिया … क्या क्या और कैसे कैसे करते हो तुम ये सब?मैं- कल्पना जी, यही तो मेरा काम है, अगर बाकी मर्दों जैसा हम भी करने लगें, कि बस आए, डाले, हिलाये अपना पानी निकल गया बस … सामने वाला पूरी तरह से सैटिस्फाइड हुआ या नहीं … इससे मतलब नहीं रखेंगे, तो हमे पूछेगा ही कौन. मैं रिम्पी के साथ जब भी उसके घर जाती थी, तो वो मेरे सामने बहुत बार आता था. मेरे लंड का साइज ज्यादा बड़ा तो नहीं है लेकिन इतना तो है कि एक बार लेने के बाद कोई भी चूत उसको दोबारा लेने की ख्वाहिश जरूर करेगी.

बीपी ब्लू पिक्चर सेक्सी बीएफ

फिर मैंने धीरे से फुद्दी के फांको को अपनी जीभ से छुआ तो सरनी ने मेरे सर को दबाना शुरू कर दिया. उसने अपनी एक उंगली मेरी चुत के छेद में डाली तो मैं एकदम से उछल गई और चिल्लाई- उईईई ईईई!उसने मुझे हिलने नहीं दिया और एक पूरी उंगली चुत में डाल दी. फिर जब भी मैं छुट्टी पर आता, तो भाभी की देसी चुदाई करने को मिल ही जाती थी.

मैंने उससे पूछा- मजा आया?वो हंस कर बोली- साले तूने मेरी चुत फाड़ दी … मगर अब तक ऐसा मजा नहीं आया था. मैंने ज्यादा देर न करते हुए उसकी चूत पर अपने मुँह को लगा दिया और अपने होंठों से उसकी चूत के होंठों को चूमने लगा.

मैं उनकी चुत को चूसने और चाटने लगा, साथ में चुत में 2 उंगली डाल कर लंड के लिए जगह बनाने लगा.

उसके स्थान पर एक भारतीय मर्द होता तो शायद वो इतना खुला नहीं कह पाता. जब मेरी चड्डी में खून के छींटे मिलते थे तो मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहता था. सरिता मेरी पीठ और गांड को सहलाती हुई अपनी गांड आगे पीछे करके अपनी चूत और गांड के छेद को मेरे लंड पर रगड़ने लगी थी.

उन्होंने अपना हाथ पिंकी की जाँघ से नहीं हटाया।पिंकी के चेहरे से मुझे साफ लग रहा था कि वो पूरी तरह विचलित हो चुकी है मगर शायद पेपर करने का लालच या फिर उसकी उम्र या फिर दोनों ही कारण थे कि वह चुप बैठी अब भी लिख रही थी. वापिस रखने से पहले सोच क्यों ना तुम्हें भी दिखला दूं … फिर मौक़ा मिले या ना मिले. मैं मायरा के रूम में गया तो मायरा ने बायोलॉजी की बुक निकाली और बोली- भैया, मुझे ये समझना है कि बच्चा कैसे बनता है.

वो बेसिन का सहारा लेकर थोड़ा झुक गई और बोली- मार पीछे से … चढ़ जा साले हरामी.

बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स: जब मैंने आंगन में आकर पता किया, तो पता चला कि वो मेरे रिश्ते में भाभी लगती है. थोड़ी देर किस के बाद उनकी कामेच्छा दोबारा से जागने लगी और अब वो सम्भोग चाहती थीं.

पिंकी जैसी लड़की के सामने इस तरह खुद को नंगी होते देख मेरी आँखें एक बार फिर डबडबा गयीं. मुझे बहुत तकलीफ हो रही थी और मैं जोर जोर से चिल्ला रही थी मगर जैसे उसे बहुत मजा आ रहा था. अरे अभी तो कह रही थी चोद दो!धीरे-धीरे शारदा चाची ने दर्द कम होने का नाटक करते हुए अपनी गांड को उछालते हुए अपने भाई के लंड को अपनी बुर में लेना शुरू कर दिया.

मुझे पता था मोनी खुद तो कुछ करेगी नहीं इसलिये अब मैंने ही उसके दोनों पैरों को उठा कर अपने पैरों पर रखवा लिया ताकि मेरे साथ साथ उसको नीचे से धक्के लगाने में आसानी हो जाये.

उस दिन रात को बार-बार उसी के ख्याल आ रहे थे और मेरा लंड मेरी पैंट में बार-बार खड़ा हो जाता था. रूम में जाते ही जागृति मेम ने रूम बंद किया और हम दोनों किस करने लगे. उसके अगले दिन सन्डे था तो दोपहर में मैं डॉली के घर चली गयी और उसे अपनी पहली चुदाई की खबर दी.