बीएफ सेक्स देखना है

छवि स्रोत,मराठी बाई की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

स्तन क्या होता है: बीएफ सेक्स देखना है, वो बोला- देख कुछ दिन बाद तू भी कोशिश करना, तुझसे भी भाभी पक्का चुदवा लेगी.

घोड़ा घोड़ी की सेक्सी मूवी

थोड़ी देर मजे लेने के बाद हमने दुबारा अपनी पोजीशन संभाल ली और चुदाई बदस्तूर चालू रखी. ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियो में चाहिएउसने ब्रा नहीं पहन रखी थी, मैंने कहा- तू कह रही थी कि ठण्ड बहुत है लेकिन तू तो सिर्फ गाउन में है?वो बोली- तेरे आने से पहले मैं पोर्न मूवी देख कर अपनी चूत में उंगली कर रही थी इसलिए मुझे ठण्ड नहीं लग रही है।मैंने कहा- अब मैं आ गया हूँ तो तुझे अब तेरी चूत में उंगली करने की ज़रूरत नहीं है।वो बोली- हाँ मेरे राजा … अब तो तू मेरी जवानी की प्यास बुझाएगा.

वे अपना लंड घुसा नहीं रहे थे, पर अपने लंड से मेरी पूरी गांड के छेद को रगड़ रहे थे और वह अपनी जीभ से मेरी पीठ को चाट भी रहे थे. रोमॅण्टिक सेक्सी व्हिडिओऊपर फर्स्ट फ्लोर पर गए, अंकित ने एक दरवाजा खोला, जैसे ही अन्दर गई, देखा वहाँ दो तखत बिछे हुए थे.

मैंने नीरू से कहा- ठीक है … लेकिन इसकी चूत की दरार को चौड़ा करके फैला ना … तभी तो अंदर जाएगा!मेरे कहते ही नीरू ने सविता की चूत की दरार को दोनों उंगलियों से फैलाया तो अंदर से चूत बिल्कुल गुलाबी नजर आ रही थी.बीएफ सेक्स देखना है: मैं पागल हुई जा रही थी और मेरे हाथों की रेंज पर सिर्फ मुन्ना अंकल थे.

मैं अपने घर बाथरूम में अक्सर अपनी नंगी जवानी देख, अपने स्तनों को दबाती सहलाती रोंएदार चूत के गुलाबी होंठों को छेड़ लेती.इस तरह हेयरी आंटी की चूत बजाते बजाते मैंने उनकी गांड के अन्दर धीरे से उंगली दे दी.

18 साल की लड़की की सेक्सी वीडियो हिंदी - बीएफ सेक्स देखना है

मैं तब नीचे से उसकी नंगे चूतड़ों पर हाथ फेरते हुए उसके कान पर धीरे से बोला- डार्लिंग, अब तुम्हारी चूत को मज़ा दिलवाना तुम्हारे हाथों में है.मैंने वैसा ही अंकल का लंड पकड़ कर अपनी बुर में घुसवाने लगी, पर लंड ज्यादा मोटा होने के कारण अन्दर जा ही नहीं रहा था.

मैं भी कल दोपहर में किसी ट्रेन से मेरठ चली जाऊँगी वहां से एक घंटे का बस का सफ़र है शाम होने से पहले ही पहुंच जाउंगी अपने घर, रुक तो मैं भी नहीं सकती. बीएफ सेक्स देखना है वो बहुत प्यासी जान पड़ रही थी, मेरे होंठों को काट रही थी।मैंने अपने बायें हाथ से उसकी कमर को पकड़ा और मेरा दाहिना हाथ उसकी चूची और चूत दोनों को ही कपड़े के ऊपर से मसल रहा था। फिर वो मुझसे अलग हुयी और मेरा हाथ पकड़ कर बेड की तरफ बढ़ने लगी.

इस सेक्स कहानी के पहले भागमन्जू की चूतबीती-1में आपने मेरी चुदाई की शुरुआत, मेरी सुहागरात और मेरे ननदोई से मेरी चुदाई के बारे में पढ़ा.

बीएफ सेक्स देखना है?

उस रात हमने दो बार औऱ सेक्स किया और कुछ हफ्तों बाद मैंने उसकी गांड भी मारी. बात उस रात की है जब रिश्तेदार ज्यादा होने की वजह से मैं मेरी बहनों के पास आँगन के बाहर खुली जगह में सोया हुआ था. जब वो अपने पिता के कपड़े उतार रहा था तो अशोक ने उसको रोका और बोला- रजत…रजत- हाँ पापा?अशोक- सुना है कि तुम दोनों भाई लंड भी चूसते हो?रजत- जी पापा… आप देखना, एक बार पूरा परिवार एक साथ आपका लंड चूसेगा… आपको खूब मजा आएगा.

मैंने सोचा कि अगर ये कोट, स्वेटर वगैरह गर्म कपड़े पहन लेंगी तो फिर इनके जेवर, इनके कपड़े, इनके बूब्स इनकी जवानी कैसे दिखेगी सबको?मैंने तमाम सर्दियों के शादियाँ अटेंड की हैं और सभी में देखा है कि कितनी भी तेज सर्दी हो, ठंडी हवाएं चल रहीं हों पर ये महारानियां गर्म कपड़े कभी नहीं पहनेंगी चाहे बीमार पड़ जायें बाद में. कुछ देर अपनी चूची चुसवाने के बाद मैं मौसी के लड़के को मना करके सोने चली गयी. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि कौन चोदने आया था और कौन चुद रहा है?अब मैं चूत चुदाई चाहता था.

सुलेखा भाभी ने मुझसे पूछा भी, मगर मैंने ऐसे ही तबीयत खराब होने का बहाना बना दिया और अपने कमरे में आकर लेट गया. माइक ने खुद को रोका और जितना लिंग अन्दर घुसा था, उतने लिंग से ही मुझे फिर से हल्के हल्के धक्के देने लगा. ज़िंदगी में मैंने बहुत मोमे दबाए थे, पर उस जैसा कसाव किसी में भी नहीं था.

और उसी टाइम वो झड़ गयी और मुझे उसका रस अपने लंड पर महसूस होने लगा क्योंकि अब लंड और आसानी से अंदर बाहर हो रहा था. वो बोली- हप्प … हमारे प्यार की बातें भी उसको बता दोगे आप?मैंने कहा- नहीं रे.

रेवती बार बार किसी ना किसी काम के बहाने मेरे कमरे में आती तो मैं उसकी तरफ याचना भरी निगाहों से देखता.

फिर मुझे पता नहीं क्या हो गया मैंने एकदम से उसके लंड को चूसना शुरु कर दिया.

उनकी संभोग क्रिया के दौरान माइक ने फिर से वही तकनीक से संभोग की शुरुआत की. मैंने अपने होंठ उसकी चूत पे रख दिए, वो मेरा सर अपनी चूत पे दबाने लगी. आप मुझे मेल कर के बतायें कि कैसी लगी आप सब को मेरी कहानी! अगली बार फिर से हाजिर होऊँगा अपनी अगली कहानी के साथ।[emailprotected].

जिसमें से माइक का गाढ़ा वीर्य रिस रिस कर उसकी जांघों तक बहने लगा था. फिर मुझे पता नहीं क्या हो गया मैंने एकदम से उसके लंड को चूसना शुरु कर दिया. तब मैंने बहन से पहले गुस्सा करने की माफ़ी मांगी, फिर पूरी बात न बताने की माफ़ी मांगी.

रात में लगभग एक बजे उसका मैसेज आया कि बस में क्या कर रहे थे?मैंने रिप्लाई किया कि हाथों में गर्मी ला रहा था.

मेरी उत्सुकता माइक के लिंग को देखने की काफी बढ़ गयी थी … क्योंकि मैंने मोबाइल में देखा था, इसलिए उस समय अंदाज नहीं लगा सकी थी. मैंने फिर से अपने एक हाथ से अंकल के हाथ को पकड़ा और बुर में तेज़ी से खुद ही चोदने के लिए जोर लगाने लगी. नशे में धुत प्रीतम ने एक एक करके मेरे कपड़े उतारे और मेरी जवानी देख प्रीतम भी आपा खो बैठा.

लेकिन उतना मजा नहीं आया और दर्द भी काफी हुआ।”पहली बार में दर्द तो आगे भी होता है और उसका मजा एक दो बार में नहीं आता. चाची- ओह मेरे बुर-चटना भतीजे … बहुत मजा आ रहा है … चूत चटवाने में … आह … चाटो इसी तरह मेरी चूत को!मैं- चाचा कभी चाटते हैं कि नहीं इस चूत को?चाची- आज तक नहीं चाटा है तुम्हारे चाचा ने. आओ मैं तुम्हारी इच्छा भी पूरी कर दूंगा और तुम्हें नुक्सान भी नहीं पहुँचने दूंगा.

मैं समझ गया कि इसने मेरे जितना लम्बा लंड अपनी चुत में अब तक नहीं लिया था.

फिर उसके साथ मैंने ओरल सेक्स किया ताकि कहीं वो सेक्स के नाम से ही ना डर जाए. फिर वो अपनी जीभ से मुझे पीछे से मेरे कूल्हों को और पीठ को चाटने लगा.

बीएफ सेक्स देखना है अब जैसे ही सुलेखा भाभी ने अपनी चूचियों‌ को ब्रा की कैद से आजाद किया, उनकी बड़ी बड़ी और सुडौल भरी‌ हुई चूचियां ऐसे फड़फड़ा कर बाहर आ गईं … जैसे कि वर्षों की कैद के बाद कोई पंछी आजाद हुआ हो. मैं अब उत्तेजित होने लगी पर खुद पे काबू किया और अपनी आंखें बंद कर सिर सोफे पे टिका दिया.

बीएफ सेक्स देखना है अब मैंने भी और इंतजार ना करते हुए अपना लंड थोड़ा बाहर खींचकर एक और जोरदार धक्का मारा तो मेरा लंड पूरा नीरू की चूत में समा चुका था नीरू की चूत से अब हल्का हल्का खून निकल रहा था और वह चिल्ला रही थी. एक बार हम ऐसे ही बात कर रहे थे और जैसे ही मैंने उसकी दीदी का जिक्र किया, वो कहने लगी कि आप दीदी के बारे में बात न किया करें.

’मैंने पूरी की पूरी उंगली चूत के अन्दर कर दी और धीरे से उसे अन्दर बाहर करने लगा.

देसी बीएफ वीडियो 2020

मयूरी- माँ… अगर उनको पता चल गया तो मैं वादा करती हूँ… कि मैं उनको समझा दूंगी. मैं तो जैसे जन्मों से उनके लिए ही प्यासा बैठा था … मैंने तुरंत ही उनकी चूचियों के भूरे भूरे निप्पलों में से एक को अपने मुँह में भर लिया और दूसरी चूची को अपनी हथेली में भर‌कर जोर से मसल दिया. माइक भी हल्के हल्के धक्कों के साथ लिंग को और अन्दर घुसाने का प्रयास करने लगा.

कुछ ही टाइम बाद उसकी सांसें तेज चलने लगीं और वो मुझे और जोर से चोदने लगा. माइक के धक्के कुछ पलों में जोरदार झटकों में बदल गए और तारा की मादक सिसकारियां चीखों का रूप लेने लगीं. लेकिन कहीं नौकरी पसंद नहीं आई तो कहीं नौकरी देने वालों को मैं नहीं पसंद आई। अब यहां देखो क्या होता है।”यहां न बन पाये तो कह देना कि लखनऊ में करोगी। यहां मैं नौकरी की भी सेटिंग करा दूंगा, रहने की भी और लड़के की भी। रोज ही करना तब.

मैं निकलने ही वाला था कि उसने मेरा हाथ पकड़ा और बोली- प्रकाश, तुम सच्ची में बहुत अच्छे हो, मैंने आपको कितनी बार आपको बहकाने की कोशिश की, लेकिन आप शांत रहे, आजकल की दुनिया में कोई अकेली औरत दिखती है तो लोग कैसे झपट पड़ते हैं.

मामा मामी खुली छत पर सो गए, हम दोनों अंदर कमरे में पंखा चला कर लेट गए. उधर मेरी भाभी चुदासी हो चुकी थीं और बाथरूम से निकल कर अपनी चुदास दिखा रही थीं. मैं चंडीगढ़ से हूँ, मेरा नाम राहुल है और मैं एक कंपनी में काम करता हूँ.

‘अगर वो कमरे में आकर तुम्हें न देखेंगे तो क्या सोचेंगे?’‘वो क्या सोचेंगे, ये मेरा सरदर्द हो. वो बोली- मम्मी को नहीं कहोगे ना?मैंने कहा- अगर तूने, जो मैंने कहा, वो करोगी तो कसम से चाची से कुछ नहीं कहूँगा … और नहीं करोगी तो कसम से एक की दो कहूँगा. जिसमें से माइक का गाढ़ा वीर्य रिस रिस कर उसकी जांघों तक बहने लगा था.

उस दिन उसने मुझे दो बार पेला और मेरी अठरह साल की नाज़ुक क़ातिल जवानी में ही मुझे कली से फूल बना दिया. तो उसने बोला- मुझे समझ में नहीं आया, तुम क्या बोल रहे हो?मैंने कहा- इससे ज्यादा मैं और क्या बताऊं?तो उसने कहा कि मुझे एक बार और देखना है.

मैं अपना हाथ उनकी पीठ पे ब्लाउज के नीचे ले गया और उनकी स्किन को छूते ही जैसे उन्हें करेंट सा लगा. कुछ देर तो नेहा की चूची नमकीन स्वाद देती रही, मगर जब उसका सारा पसीना साफ हो गया तो धीरे धीरे‌ उसकी चूची की चिकनाहट अब मेरे मुँह में घुलना शुरू हो गयी. वो फिर से चुदाई के लिए तैयार थी, वो बोली- चलो अब असली खेल शुरू करो.

तब मैंने उनसे कहा- आप एक हफ्ते की छुट्टी ले लो और हम रूम पर ही प्यार करेंगे.

कभी उसके अधखुले उफनाते होंठों को चूमता तो कभी उसके लहलहाते मम्मों की कड़क चूचुकों को मसलता या हवा में झूलते उसके पांवों को सहलाता, जिनके बीचों बीच अपनी मस्त मुलायम गुलाब सी कोमल चूत में वो गोरा अंग्रेज अपने मूसल लंड के साथ जोरदार धक्के मार रहा था. क्या तुम मेरे साथ मेरी ससुराल चलोगे?मैंने पूछा- ससुराल चलूँ मतलब?पूजा बोली- अरे मेरी ससुराल में मेरे ससुर जी, जेठ जी, देवर जी सब गांडू हैं. तुझे पूरे 15 दिन जमकर चोदेंगे, तू अब आज से हम लोगों की रखैल है और पन्द्रह दिन के लिए इस जगत अंकल की तू बीवी भी है.

कुछ देर में उसने दीमा के लंड को भी अपने मुंह की ओर लाना शुरू कर दिया और फिर चाटना!दीमा इतना उत्तेजित हो गया था कि उसका लंड रह-रह कर झटके मार रहा था. यदि उस वक्त डैड मॉम के साथ सेक्स करते थे, तो वे कोई भी बहाना बना देते और हम भाई बहन मान लेते थे.

एक बार हम ऐसे ही बात कर रहे थे और जैसे ही मैंने उसकी दीदी का जिक्र किया, वो कहने लगी कि आप दीदी के बारे में बात न किया करें. उसके बाद मैंने नीरू की चुदाई की और सविता को भी और एक बार झाड़ कर संतुष्ट किया. तो मैं बिना लिंग को बाहर निकाले आराम आराम से हिलने लगा और बारी बारी से भाभी के दोनों स्तन चूसने लगा.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ चाहिए

सोनल बहुत ही उत्तेजित हो चुकी थी, वो मेरे सर को उसकी चुत पर दबाने लगी.

अंकल का लंड फंसा होने के बाद भी मेरी चूत की दीवारें ढेरों पानी छोड़ रही थीं. उसने कहा- तुम चलाओगे ये? या मैं चलाऊं?मैं कुछ नहीं बोला, बस चाबी ली और स्कूटर चालू कर दिया. मेरे राजा आज से में तुम्हारी गुलाम हो गयी, तुम जो बोलोगे, वो करूँगी.

मैंने यही किया और मॉम से बोल दिया कि मॉम सच में मुझे खुजली हो रही थी, घर पर कोई नहीं था तो पैन्ट खोल कर खुजा रहा था. अब मैं बहुत खुश थी कि मेरे दो ब्वॉयफ्रेंड हैं, लेकिन क्या करें धीरे धीरे मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड्स से अलग हो गयी क्योंकि परिवार की वजह से मुझे ये सब करना पड़ा. बहन भाई की ब्लू सेक्सी फिल्महाथ तो उसके बंधे ही थे, मैंने और स्टीव ने उसकी एक एक टांग भी पकड़ ली और उनको भी कुर्सी से बांध दिया.

लाइट बंद करने के बाद मैंने उनका हाथ अपने लंड पर रख दिया था, वे थोड़ी देर रखे रहीं, फिर हटा लिया. रेवती को आराम देने के मकसद से मैं अब रेवती के ऊपर लंड को उसकी चूत में डाले हुए ही लेट गया और उसके होंठों को चूमने लगा.

मेरी बुर पूरी तरह से भीग गयी थी, जिससे उंगली बुर में सट सट जा रही थी. उसने भी उत्तेजना के आधिक्य में नताशा के सिर को थाम लिया और सटाक-सटाक गहरे धक्के लगाता हुआ अपने लंड को मेरी बेचारी धर्मपत्नि के मुंह का जबरदस्त चोदन करने लगा. यह सुनकर तो मेरे मन में एक खुशी की लहर दौड़ गई, पर उसे इसका अन्दाजा नहीं था कि आज उसके साथ क्या होने वाला है.

ये लो तुम भी देख लो जो देखना है?” कहते हुए मैंने नेहा के एक हाथ को पकड़ कर अपने उत्तेजित लंड पर रखवा दिया. बारह बजे के करीब जब मेरी नींद खुली और जब तक मैं तैयार होकर अपने कमरे से बाहर आया तो दोपहर के खाने का समय हो गया था. मुझे भी उसका इस तरह से नम्बर माँगना नॉर्मल सा लगा, तो मैंने अपना नंबर दे दिया.

उस वक्त भैया को किसी काम से बंगलोर जाना था और भैया ने कहा था कि पीहू तुम दिल्ली आ जाओ.

उनका बेटा शायना भाभी के साथ रहने लगा, तरुण भैय्या ने शायना भाभी को छोड़कर उस रंडी लड़की के साथ शादी कर ली. मैं भी बेड को देख कर मन में ही सोचने लगा कि आज इस बेड की और मेडम की हालत खराब करके ही जाऊँगा.

दोस्तो, मैं आपका अपना सरस एक बार फिर हाजिर हूं अपनी कहानी के अगले भाग के साथ. हम दोनों बाथरूम में जाकर पहले मैंने अपने हाथों से पूजा की गांड को साबुन लगा कर धोया और फिर पूजा ने मेरे लंड को पकड़ कर मसल मसल कर धोया. फुद्दी की चुदास के चलते मैंने उसके कंधे पर हाथ रख दिया और बोली- तुम अकेले लगे रहते हो, कोई काम मुझे भी दे दिया करो; मैं बोर होती रहती हूं.

मैं धीरे धीरे नीचे अपने हाथ को उसके मम्मों पर ले गया और एक चूची को दबाने लगा. जिसे उस मॉल के दो युवकों ने समझ लिया था और उन दोनों ने मुझे शीशे में उतार लिया था. फिर वापस आकर बेडरूम में आ गया। मैं बिस्तर पर बैठा और उसके पैर को छुआ। मेरा लण्ड खड़ा होने लगा।फिर मैं धीरे-धीरे उसकी नाईटी उठाते हुए ऊपर की तरफ जाने लगा। मैंने उसकी कोमल और भरी हुई जांघों को छुआ.

बीएफ सेक्स देखना है महेश ने फिर से ठाकुर को फोन लगाया और बोला कि यार ठाकुर दादा … ये वन्द्या बहुत चुदासी है … बहुत गजब का माल लेकर आए हो तुम … हम क्या करें, इसे लेकर अपने बंगले में निकलें क्या? तुम लोग आ जाओगे?ठाकुर साब बोले- एक मिनट, मैं राज भाई से बात करता हूं … लाइन होल्ड रखना. वो फिर अपने फोन से ही खाने का ऑर्डर देने लगी और मुझसे पूछा- क्या खाओगे आप?तो मैंने भी बोल दिया- आप जो खिला देंगी, खा लेंगे.

बीएफ वीडियो हिंदी में चुदाई वाली

उनकी उस बिल्डिंग में और भी मस्त पीस यानि औरतें थीं, जो शायद ये जासूसी करने लग गईं कि मैं कहाँ से और क्यों आता हूं. मैंने अपने हाथ शिवानी के कंधे पे रखे हुए थे और शिवानी बियर उड़ेल रही थी. फिर थोड़ा रुक कर वो गंभीर हो गई और बोली कि वो पहली बार उसी को दिल दे बैठी थी! मेरे कुरेदने पर उसने सारी स्टोरी बयां कर दी कि कैसे वो दीमा पर असक्त हो गई थी, लेकिन बदकिस्मती से दीमा का परिवार मास्को से कहीं और शिफ्ट हो गया, और उनका प्यार परवान चढ़ने से पहले ही मुरझा गया.

वैसे भी मुझे अपनी बहूरानी को दिखाने के लिए कम्मो को कपड़े दिलवाने ही थे नहीं तो वो जरूर टोकती कि अपनी नातिन को फोन दिलाने ले गये थे तो उसे अपने पैसे से कपड़े तो दिला ही देते कम से कम. बियर अपना काम कर रही थी और मैं उसको मस्त होकर काफी देर तक चोदता रहा. हिंदी मुस्लिम सेक्सी व्हिडिओचूंकि वो सारे मेरे ही हमउम्र थे, तो हंसी मजाक में वक़्त यूं ही कट जाता था.

वो बोली- नहीं … पहले जल्दी से अपना लंड डाल कर मेरी चुदाई करो … मुझे अभी बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

लेकिन वो बहुत जोर दे रही थीं, तब मैंने उनसे बोल ही दिया कि आप गुस्सा तो नहीं होंगी ना?भाभी ने प्रॉमिस किया, तो मैंने उनका हाथ पकड़ कर घुटने पे बैठे कर उनको आई लव यू बोल दिया. जब हम दोनों शांत हो गए तो मैंने उसकी चूत में से अपना लंड बाहर निकाल लिया.

तो मैं बोला- हां ठीक है ला दूंगा मेरी जान … अभी चोदने तो दो ठीक से …मैं उसके 34 इंच के मम्मों को चूसने लगा, जिससे वो ‘आह आअह आह प्लीज़ आह …’ करते हुए मादक सीत्कार भरने लगी. इसके बाद मैं दुकान खोजने बाहर निकला पर काफी देर बाद भी जब कोई दुकान खुली नहीं मिली, तो थकान के कारण मैं एक जगह पर बैठ गया. तब मैं बोला- अब क्या हो रहा है पूजा? अब तो तुम खुद ही मेरे लंड को अपनी गांड से खा रही हो.

मेरा हाथ अंकल के हाथ को पकड़ कर तेज़ी से बुर में चोदने की कोशिश करने लगा, जिसको देखते अंकल ने अपनी उंगली से मेरी काली बुर में बहुत ही तेज़ी से चोदना शुरू कर दिया.

मेरी पत्नी ने उसको समझाया- देखो नीरू, तुम्हें थोड़ा दर्द तो बर्दाश्त करना पड़ेगा. गीले बदन के साथ उसके सामने खड़ी होती हूँ तो अपने पर ही मोहित हो जाती हूँ. मेरा लंड भी अब बुरी तरह से अकड़ गया था और मुझे लंड की जड़ में हल्का हल्का सा दर्द होने लगा था.

आपको सेक्सीअब मैं नंगा हो चुका था और मेरा 7 इंच का लंड पूरा तन तना कर खड़ा हुआ था. ब्रा हटते ही मैडम के अड़तीस इन्च के दूध मेरी आँखों के सामने फुदकने लगे थे.

हिंदी भाभी की बीएफ

थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि मेरी दीदी की सास किरण जी ने अपना एक हाथ और एक पैर मम्मी के ऊपर रख लिया और थोड़ी देर बाद वो धीरे धीरे मम्मी के ब्लाउज के बटन खोलने लगीं. अब आगे:वो बोली- मैं आपकी दोस्त हूँ तो दोस्ती की खातिर आपका मुझ पर और मेरा आपकर थोड़ा हक तो बनता है. शीतल (हैरानी से)- मतलब तुझे अपने बाप से के लंड से चुदने का मन करता है?मयूरी- मेरा तो मन किसी भी मर्द के लंड से चुदने का करता है माँ… फिर चाहे वो कोई भी हो अपना बाप या कोई और मर्द… और वैसे भी, दुनिया के हर लड़की का पहला प्यार उसका बाप होता है… जैसे दुनिया के हर लड़के का पहला प्यार उसकी माँ होती है.

मैंने कमलेश के बालों को सहलाना शुरू कर दिया तो वह समझ गया कि मैं उसको प्यार करना चाहती हूँ।कमरे की लाइट जल रही थी. अब क्या करती मैं, मैंने पहले हां में सिर हिलाया तो सतीश बोला- तू एक बार बस बोल दे … तुझे इतना मस्त कर देंगे कि हमेशा याद रखेगी. मेरी इस सेक्स कहानी के पहले भागसाली ने अपनी मौसी की बेटी को चुदवाया-1में आपने पढ़ा कि मेरी साली नीरू अपनी मौसी की बेटी सविता की सीलबंद चूत को पहली बार चुदाई के लिए मेरे पास ले आयी थी.

धर्मेन्द्र- गुड … अब मैं चलूं?मैं- जी, मगर मुझे यहाँ से दस किलोमीटर जाना है, अगर गाड़ी फिर बंद हो गयी तो?धर्मेन्द्र- वैसे तो बंद नहीं होगी अब आपकी गाड़ी, आप किस तरफ जा रही हैं?मैंने अपने घर की उल्टी दिशा के बारे में बता दिया. मम्मी ने पड़ोस वाली चाची के साथ डॉक्टर के पास जाना था, डॉक्टर से अपॉइंटमेंट ले रखी थी तो उनका जाना जरूरी था. दोनों अपने मजे में मस्त हो, मेरी आग कौन बुझाएगा?मेरी पत्नी अब नीरू की चूत में लग रहे धक्कों को उसके चूतड़ों की खाई फैलाकर मेरे लंड को अंदर बाहर जाते देख रही थी और कह रही थी- वाह क्या मस्त चूत है … एक भी बाल नहीं है.

मुफ्त में मिली है आज तुमको मेरी गांड, इसमें अपना लंड पेल पेल कर तुम भी मज़े लो और मुझे मज़े दो. दोस्तो, मैं पीहू (नाम बदला हुआ है) आपकोदीदी की सहली की चुदाई की कहानीसे आगे की घटना बताने जा रहा हूँ.

बड़ी उम्र की महिलायें, नव यौवनाएं, ताज़ी ताज़ी जवान हुयीं छोरियां, कमसिन कच्ची कलियां सब की सब झिलमिल झिलमिल कर रहीं थीं.

भाभी बाहर आईं और बोलीं- क्या कर रहे हो मेरी पैंटी से?मनीष- इसे बता रहा हूँ कि अब तेरी जरूरत कम पड़ेगी. पंजाबी सेक्सी वीडियो फिल्म दिखाएंटी-शर्ट उतारते ही उसके दोनों सफेद कबूतर एकदम से आजाद हो गए और फड़फड़ाने लगे. मजेदार सेक्सी बातेंपहले तो बोली कि पागल है क्या … फिर मेरे ज़ोर देने पर दीदी बोली- दिलवा तो दूँ, पर ये कैसे होगा?मैंने कहा कि शाम को तुम शॉपिंग जाओ और मुझे घर छोड़ दो. इसलिए कि जब जब स्टीव अपनी टांगें जरा सी खोलता, तो उसका सुन्दर गोरा लंड बीवी को नजर आ जाता.

भाभी ने अपने एक हाथ से लंड पकड़ कर अपनी चूत पे सैट किया और एक ही बार में पूरा लंड अन्दर ले लिया.

वे मर्द सोच रहे थे कि तेरी चोली के पीछे क्या है, उन पायल के ऊपर तेरी जाँघों के बीच में क्या है. इस तरह चुदाई करते हुए सबा का बदन नीचे पड़े कंकड़ की वजह से रगड़ खा रहा था और उसे तकलीफ हो रही थी. अंकल ने होंठों को चूसना शुरू किया और एक चुची भी कस कस के दबाने लगे.

जिससे वो उसकी जांघों तक उतर गए और मुझे उसकी काले बालों से भरी हुई चुत व दूध सी सफेद गोरी चिकनी जांघों की झलक दिखने लगी. अब चोद जोर जोर से!मैं- कैसा लगा चाची?चाची- तेरे लंड का जवाब नहीं है … क्या लंड पाया है तूने. सोनाली और ख़ुशी मेरे निप्पलों को चूस रही थीं और वे हाथ से मेरे लंड को भी हिला रही थीं.

बीएफ एचडी में बीएफ एचडी

मैं पूजा से बोला- रानी तुम्हारी चूचियां इतने दबाने के बाद अब लंगड़ा आम नहीं रहेंगी. इस मस्त छोरी की अल्हड़ जवानी और जिस्म का मालिक बन मैं भी ख़ुशी से फूला नहीं समा रहा था. कुछ ही देर में हम दोनों एक बार फिर से गर्म हो गए और एक दूसरे को किस करने लगे.

हम दोनों ने हग किया और दो मिनट यूं ही चूमा चाटी के बाद वो मुझसे अलग हो गई.

अब तो इतना खुला खेल चलने लगा था कि मैं नेहा को रवि के सामने ही चादर के अन्दर चोद देता और रवि को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता था कि मैं नेहा को चोद रहा हूँ.

हम दोनों पूरी मस्ती में सेक्स कर रहे थे और साथ ही एक दूसरे को किस भी कर रहे थे. कम्मो, मेरी बात का बुरा तो नहीं लगा न?” पता नहीं अचानक मुझे वो क्या हो गया था. सेक्स मूवी एचडी सेक्सीएक दिन मौका आया कि भाभी अपने फ्रेंड के घर जो हमारे घर से 2 से 3 किलोमीटर दूर रहती हैं, वहां गई थीं.

जीजू मुझे बड़ी ताकत से चोदे जा रहे थे और अब तो वे मुझसे नजरें भी मिला रहे थे. यदि उस वक्त डैड मॉम के साथ सेक्स करते थे, तो वे कोई भी बहाना बना देते और हम भाई बहन मान लेते थे. थोड़ी देर आराम करने के बाद नेहा मैडम फिर से मेरे लंड से खेलने लगीं.

अब्दुल उधर से जो भी बोले हों, सुनील ने उत्तर में बोला- अरे फोटो भेजने की जरूरत नहीं अब्दुल भाई … आज तक अपन ने जितने भी आइटम बुलवाए हैं … उनमें से सबसे टॉप की है. उसे भी बहुत मज़ा आने लगा तो मैंने फ्रंटियर मेल की रफ्तार से उसकी चूत चुदाई आरम्भ कर दी.

तो मैं उठा और पूरी ताकत से अपने लंड को पकड़ कर उसकी चुत में डालने लगा.

कुछ देर ऐसे ही बैठ कर ब्लू फिल्म देखी फिर कपड़े ऊपर किये और मुठ मारने चल दिए. जैसा तू बोल वन्द्या, नहीं तो अगर बोलेगी तो हम लोग तुझे पहुंचा देंगे. वो बोला- देख कुछ दिन बाद तू भी कोशिश करना, तुझसे भी भाभी पक्का चुदवा लेगी.

फुल सेक्सी अमेरिकन मेरी मम्मी के साथ 3 लोग लिपटे थे और मम्मी पूरी नंगी टांगें ऊपर किये हुए उन लोगों को ठीक वैसे ही गाली दे रही थीं. परमात्मा से मेरे लिए दुआ करना कि मैं इतना सेक्स करूँ कि तेज तेज करके भी मेरा वीर्य ना निकले, मेरा लंड न झड़ पाए!और आखिर में यही कहूंगा … यही दुआ मैं आप लोगों के लिए करूंगा.

मैं- नहीं चाची … आपकी चूत की कसम खा कर कहता हूँ … आपको चोदना नहीं छोडूंगा. अब मैंने डिल्डो को अपने प्यारे छेद से बाहर निकाल लिया और दीमा संग हम दोनों अपने घुटनों के बल दरी के ऊपर बैठी नताशा के दाएं-बाएँ अपने लंड तन कर खड़े हो गए. वापस आते समय उन्होंने मेडिकल से एक कॉन्डोम का पैकेट लिया और बोली- फूल के बदले कुछ तो देना पड़ेगा … बस तेरी माचिस की तीली ठीक जले.

बीएफ सेक्सी वीडियो में वीडियो

मैंने दो-चार और धक्के मार कर पूजा से पूछा- पूजा रानी, अब कैसा लग रहा है? अब तुम्हारी गांड में मेरा लंड घुसा हुआ है, तेरी चुत में मेरी उंगली घुसी हुई है और तेरी एक चूची मेरे हाथों से मसली जा रही है. उसके बाद बीच में एक दो दिन आए तो मुझे यही बोल के गए कि मैं एक महीने नहीं आऊंगा. मुझे बाद में ये महसूस हुआ कि मुझे उन लड़कों को देखकर स्माइल करना चाहिए.

फिर उन्होंने बताया कि मेरे बारे में उनकी एक सहेली ने बताया है उन्हें … और उन्हें मेरा नंबर भी उनकी सहेली ने दिया है इसलिए मेसेज किया. मैंने देरी ना करते हुए उसको अपने दोनों पैरों के बीच में ले लिया और उसके होंठों पर लंड टच करने लगा.

मेरी गांड की अंदरूनी दीवारों की वो मसाज मुझे गे सेक्स के सुख के चरम पर ले जा रही थी.

स्टोर वाले ने नीचे का गेट खोला, फिर वो गाड़ी के पास आ कर हम लोगों से बोला- आ जाइए. जब वो आई, तब मैं छत पर किनारे की तरफ कुरसी में बैठा गाना सुन रहा था. आह … उम्म्ह… अहह… हय… याह…” सुशीला बोली- इसे निकालो। मैंने पहले कभी गाण्ड में नहीं चुदवाया।दीपक- चुप साली रंडी, तब तो बहुत अच्छा हुआ। तेरी गाण्ड की सील आज मैं तोड़ता हूँ।और उसकी गाण्ड में और एक जोर का धक्का लगाया … आधा से ज्यादा लंड सुशीला की गांड में घुस गया, सुशीला फिर चिल्ला उठी.

नमस्कार, मैं अनिल एक बार फिर से अपनी मस्त चाचियों की चुदाई की कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. थोड़ी देर मजे लेने के बाद हमने दुबारा अपनी पोजीशन संभाल ली और चुदाई बदस्तूर चालू रखी. तभी नीरू ने सविता से पूछा- पहले तेरी चूत में डलवा दूँ या थोड़ा प्रैक्टिकल करके तुझको हम दोनों दिखलाएं कि चूत में लंड किस तरह घुसाया जाता है?सविता ने कहा- नहीं, पहले आप दोनों करो, आपको देख कर मैं भी मजा लूंगी.

एक दिन रात को सब लोग सो गए थे तो मैं और चिराग हम दोनों लोग अकेले में एक दूसरे से बात कर रहे थे.

बीएफ सेक्स देखना है: मैंने अपना लौड़ा हिना भाभी के शरीर से रगड़ना शुरू कर दिया और हाथ उनकी गांड पर चलाने लगा. मुझे कमलेश के लंड को देखने का इससे अच्छा मौका फिर कभी शायद मिले न मिले.

थोड़ी देर बाद उन्होंने अपने होंठों को मेरे होंठों पे रख दिए और हम दोनों जोर जोर से किस करने लगे. वो मेरे ऊपर झुकते हुए बिल्कुल मेरे मुँह के पास आ गया और हल्के और बड़े ही कामुकता भरे स्वर में बोला- भरोसा रखो. मगर आज उसकी भीगी हुई चुत को छूते ही मेरा दिल अचानक उसे देखने‌ के‌ लिए बेताब हो गया.

मैं निकलने ही वाला था कि उसने मेरा हाथ पकड़ा और बोली- प्रकाश, तुम सच्ची में बहुत अच्छे हो, मैंने आपको कितनी बार आपको बहकाने की कोशिश की, लेकिन आप शांत रहे, आजकल की दुनिया में कोई अकेली औरत दिखती है तो लोग कैसे झपट पड़ते हैं.

मेरी सासू माँ के गीले गीले मुँह से मेरा लंड और भी गरम हो रहा था और बढ़ता ही जा रहा था. उसने बाहर के लिए कदम रखा और वहीं से उसको अपनी गोद में उठाया, वो भी मुझे देख कर बड़े प्यार से लपक कर मुझसे लिपट कर मेरी गोद में चढ़ गई. आओ ना जीजू!मैंने देर ना करते हुए नीरू की जंघाओं को चौड़ा कर उसकी चूत के छेद पर अपने लंड को सेट किया तो नीरू बोली- अभी लंड नहीं डालना है.