सबसे अच्छा बीएफ

छवि स्रोत,मम्मी पापा की सेक्सी कहानियां

तस्वीर का शीर्षक ,

नाशिक सेक्सी बीएफ: सबसे अच्छा बीएफ, आप मुझे मेल करके जरूर बताइएगा। आपके प्यार और हौसला अफजाई की मुझे जरूरत है.

मारवाड़ी लोगों का सेक्सी वीडियो

रोहित काफी उत्तेजित हो गया, उसने भी अपने हाथों से मेरी चूचियों को उमेठना शुरू कर दिया. इंग्लिश सेक्सी फिल्म दिखानामैंने कहा- तुम्हारी सहेली है ही इतनी पटाखा!यह सुनकर ऋतु जल उठी और मुझे नीचे धक्का देकर मेरे ऊपर आ गई और जोर जोर से मेरे लंड के ऊपर कूदने लगी.

मैं मूल रूप से देहली का निवासी हूँ तथा मेरा पूरा परिवार वहीं रहता है, लेकिन आई-टी में इंजीनियरिंग करने के बाद पिछले तीन वर्षों से बैंगलोर में नौकरी कर रहा हूँ. सेक्सी फिल्म हिंदी हीरोइनरयान ने उसे मकान की बात बताई और कहा कि वो सोच ले, अगर वो चाहे तो रयान और वो मिलकर उस कोठी को ले लें.

जल्दी से दिमाग घुमाया और बोला- रात को टैम्पो वाले से लिफ्ट ली थी जब सुबह नीचे कूदने लगा तो उसके हुक में उलझ कर फट गई.सबसे अच्छा बीएफ: उसने खुद ही अपनी दोनों टाँगें खोली और मेरे लुल्ले को पकड़ कर अपनी दोनों टाँगों के बीच में रखा.

मैंने सहमति में आँख हिला दी और बस वो आकर मेरे मुँह पर अपनी चूत रखकर बैठ गई और बोली- चलो अब उधार चुकाओ.इसमें सुमन का वो वीडियो भी है जब वो पूरी नंगी होकर मॉंटी के साथ मज़े ले रही थी.

डॉग सेक्सी ब्लू फिल्म - सबसे अच्छा बीएफ

अपनी चूत पर हुए अलग तरह के हमले से पूजा सिहर उठी और उसने भी ऋतु की चूत पर दोगुने जोश से हमला बोल दिया और फिर दोनों झड़ने लगी.उनकी नाइटी को पास ही रखी हुई कुर्सी पर बेतरतीब से पड़ी हुई देख कर मैं समझ गया कि चाची चादर के अंदर बिल्कुल नंगी है और एक घमासान युद्ध के लिए तैयार हो कर आई है.

मेरी हवस मेरे काबू से बाहर हो गई थी… मैं भी चाह रहा था कि कोई लंड मेरे मुंह में भी चला जाए और मैं उसको ऐसे ही प्यार से चूसूं…कुछ देर बाद लड़के ने उसके सिर से पकड़ ढीली कर दी… मैं समझ गया कि उसका वीर्य निकल चुका है जिसे उस लड़की ने पी लिया. सबसे अच्छा बीएफ अब देखो।ये कह कर मैंने उसकी तरफ पलट कर बिस्तर पर लेट गया और उसे किस करने लगा।क्या मस्त होंठ थे उसके.

उसके थोड़ी देर बाद रोहन ने अमन और रोहित को कुछ बोला और आयेशा के पीछे बाथरूम में जाने लगा.

सबसे अच्छा बीएफ?

क्या लग रही थी वो… मामी मुस्कुरा रही थी… उन्होंने मुझे अंदर बुलाया फिर पानी पिलाने जैसे ही झुकी तो उनके बोबे के दर्शन हो गए, मज़ा आ गया. क्योंकि बुर कुँवारी थी और लंड मोटा और बड़ा था। वो हल्ला करने लगी कि निकालो इस लंड को. जॉय- अब तू जाती है या दो लगाऊं तुझे?फ्लॉरा- अच्छा अच्छा सॉरी मैं जाती हूँ.

डार्लिंग अभी तो जन्नत का सुख मिलेगा।’मुझे दर्द हो रहा था।‘बस डार्लिंग थोड़ा सब्र करो. मेरे फ्रेंड ने उससे हमारे 3 और दोस्तों के बारे में बोला तो उसने ‘हाँ’ बोल दिया. अपने बन्दों की नुमाइश के लिए कभी गुलफाम कली उनके पास भी जाती तब वे लोग उसकी चूचियों को ऊपर से ही दबा कर आनन्द प्राप्त कर लेते थे.

अचानक ऋषिका उठ कर बैठ गई और दरवाजे की ओर देख कर बोली- अंदर आ जाओ…रयान की तो जैसे चोरी पकड़ी गई… वो अंदर घुस और बेड तक पहुंचा. मैं फिर मम्मी के रूम से सिंदूर की डिब्बी उठा कर ले आया और शालू की माँग में सिंदूर लगा दिया. पूजा मज़े से संजय के लंड को चूसने लगी और उसकी आँखों में अब नशा चढ़ गया था.

मेरा सारा चेहरा उसके वीर्य से सन गया और वो जल्दी से अपना लंड पैंट के अंदर वापस फंसाकर झाड़ियों के पीछे से निकल गया. बेचारा मॉंटी इस हमले से बेख़बर था, उसका पूरा चेहरा चूत रस से भर गया और ना चाहते हुए भी उसने सुमन का रस पी लिया.

इधर हमारी साइड पे आपस में मग्न अरमान खड़ा हो गया, उसने अपना अंडरवियर और बनियान उतार दी थी, नेहा अल्फ नंगी होकर नीचे बैठी अरमान के टटों को पकड़ कर उन्हें सहला रही थी और उन पर केक लगा रही थी.

मगर मैं उसके सामने सिर्फ मुस्कुरा देती थी।देवर को मेरी यह बात पता थी कि मैं बहुत खुशमिजाज़ हूँ और मैं हर वक्त खुश रहती हूँ। लेकिन आजकल मैं बिल्कुल मुरझाए हुए फूल की तरह दिख रही हूँ। यह बात मेरा देवर जान चुका था।फिर थोड़ी बहुत बात करने के बाद वे लोग अपने घर चले गए।कुछ दिनों बाद अचानक मेरा देवर घर आया.

कुछ मिनट दीदी की गांड मारने के बाद मैंने उनकी गांड में ही अपने लंड का सारा पानी छोड़ दिया. बात उस समय की है जब मैं एक प्राइवेट जॉब करता था एक ब्रांडेड शोरूम में जहाँ पर कॉसमेटिक के चाहे लॉरेल, लैक्मे, पॉंड्स, हर तरह का ब्रांड था. सुधीर- आपको कैसे पता ये लड़की का चक्कर है?मोना ने तो अंधेरे में तीर मारा था मगर वो निशाने पे जाकर लग गया था.

हम कोई कामवाली रख लेते हैं, इससे तुम्हें भी थोड़ा आराम मिल जाएगा और रात को तुम अकेली होती हो तो मुझे तुम्हारे लिए बहुत टेंशन होती है। वो साथ होगी तो ठीक रहेगा।मोना- अच्छा आइडिया है. शुरू में तो उसके दिल में घबराहट थी मगर धीरे-धीरे वो अच्छी तरह उसकी मुठ मारने लग गई और गोपाल भी मज़े में आहें भरने लग गया, मगर ये दोनों नहीं जानते थे कि मोना छुपकर ये सब देख रही थी. मुझे पता भी नहीं चला। मुझे याद आया कि मैंने अपना गेम छुपा दिया था तो मैंने भाबी से आवाज़ लगा कर पूछा- भाबी, मम्मी बाहर चली गईं क्या?तो भाबी ने बोला- हाँ हाँ.

वो अंदर आई और तेल देकर बोली- मेम साब, आज तो आप मस्त लड़का लाई हो, आप कहो तो मैं इसकी जवानी चेक कर लूं?आंटी बोली- मैंने कब मना किया है… पर पहले मेरी मसाज तो हो जाने दे!फिर वो चली गई.

फिर उसने मेरे मुँह से चादर हटा कर मेरे मुँह पर अपना हाथ फेरा और फिर मुझे बुलाने लगी, बोलने लगी- सैम, क्या बात इतनी जल्दी तो कभी नहीं सोता था? आज कैसे सो गया!इतना बोल कर जाने के लिए मुड़ी ही थी कि मैंने मौके को देखते ही उसका हाथ पकड़ा और अपनी तरफ खींच लिया. शायद वो माफ़ कर देते।ममता- कैसे जाती, मेरी वजह से उनकी कितनी बदनामी हुई होगी, पता नहीं उनपर क्या गुज़री होगी?फ्लॉरा- फिर भी मॉम एक बार कम से कम एक बार तो आपको जाना चाहिए था।ममता- गए थे बेटा. जो उसे इसके बारे में सही से बता पाएगा। वो तैयार हो गई।उसने अपने घर पर बताया कि उसके अन्दर ही कमी है जोकि थोड़े से इलाज़ के बाद ठीक हो जाएगी। इससे घर में सब लोग खुश हो गए। अगले दिन डॉक्टर ने हमें सब कुछ सही तरीके से समझा दिया कि हमें क्या-क्या करना होगा, जैसे कि वीर्य का चयन.

अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि सुमन ने अपने पापा से फैशनेबल कपड़ों को लेकर डांट खाई थी। इससे पहले मोना की सुधीर से बात हो गई थी और वो आज सुधीर से चुदने के मूड में उसका इन्तजार कर रही थी।अब आगे. बहन की शादी के लिए जो भी आगे करना है इस बारे में उनसे कुछ विचार विमर्श करना है. वो उस समय 21 साल के थे।मेरी कमसिन उम्र में ही मेरे चूचे काफ़ी अट्रॅक्टिव हो गए थे और मेरा शरीर भी भर चुका था। मेरे भैया मुझे हमेशा इधर-उधर टच करते रहते थे और मेरे पूरे शरीर को घूरते थे।एक दिन घर में पूजा थी.

मुझे देखते ही ऋतु ने मुझे आँख मारी और बोली- भाई, दरवाजे पर ही खड़े रहोगे या हमें अन्दर भी आने दोगे?और ये कह कर वो पूजा की तरफ देख कर जोर से हंस दी.

वो वैसे ही हष्ट-पुष्ट थे। यदि अंकल किसी को पकड़ लें तो छुड़ा पाना आसान ना था।मैंने नजर डालीं आस-पास कोई नहीं था. और कब तक अपने लंड के अरमानों पर पानी डालता रहूँगा इसलिए अब तो रात को अपने कमरे के बजाए बाहर सोने लगा था.

सबसे अच्छा बीएफ दबाया और चाटा। निशा भाभी की साँसें तेज़ हो गईं। मैं उनके बोबों को चूमते हुए नीचे की तरफ आया और उनकी नाभि पर ज़ुबान फिराने लगा। वो इससे मदहोश हो गईं और उनका जिस्म अकड़ गया, वो अपनी जांघें मसलने लगीं। मैंने भाभी की सलवार का नाड़ा खींचा. लेकिन जैसे ही वो बस में यहाँ वहाँ देखती, मैं सीट से कमर लगाकर आँख बंद कर लेता था और हल्के से गर्दन उनकी तरफ टेढ़ी करके फिर देखने लगता.

सबसे अच्छा बीएफ गुलशन- ये क्या है अनिता… तुम ऐसे करोगी तो मुझे लगेगा तुम ये सब मजबूरी में कर रही हो… ख़ुशी से नहीं. ’ की आवाजें आ रही थीं।कुछ देर बाद मुझे भी बहुत मजा आने लगा था, तब मैं उससे चिल्ला-चिल्ला कर कह रही थी- और दम दिखा साले, फाड़ दे मेरी चूत.

और इसको जल्दी से ठंडा कर, फिर मुझे भी तेरी गांड भी मारनी है।मोना ने नाइटी उतार दी.

करिष्मा सेक्स

फिर भी डरते डरते कई बार उसे कोचिंग के टाइम बाइक पर बैठा कर दूर जंगल में ले जा के या पास में बांध की तलहटी में चोद कर उसकी प्यास बुझाई भी!इसके लिए मैंने उसे टिप्स दीं थी कि वो सिर्फ सलवार कुर्ता पहन के आयेगी और इनके नीचे ब्रा या पेंटी नहीं पहनेगी साथ में मैंने उसे ये भी सिखाया कि चूत के सामने जो सलवार का हिस्सा होता है वो वहाँ की सिलाई उधेड़ दे जिससे बिना कपड़े उतारे उसकी चूत में मैं लंड पेल सकूं. रफीक- आहह… भाईजान जोर से फाड़ो मेरी गांड को और जोर से… आज तुम मेरी बहन सबीना की गांड भी ऐसे ही चोदना. लेकिन मैं उसे कस के दबोचे रहा और पूरी ताकत से एक धक्का और मार दिया.

मामी ने कहा- आज मेरा भांजा बड़ा हो गया है!फिर मामी ने कहा- मुझे पता था कि तुम मेरी पेंटी में मुठ मारते हो क्योंकि तुम्हारे माल का दाग रह जाता था. मगर आज वो घर पहुँचा तो उसकी मॉम और डैड जाग रहे थे जिन्हें देख कर संजय की हवा टाइट हो गई।वो सीधा अपने कमरे में चला गया। उसकी इतनी हिम्मत भी नहीं हुई कि वो कुछ पूछ सके क्योंकि वो कितना भी बिगड़ा हुआ क्यों ना हो. ऐसी कमसिन कली को चोदना कौन नहीं चाहेगा? मगर ये साथ दे तो ज़्यादा मज़ा आएगा.

जब मुझसे नहीं रहा गया तो मैंने उसकी साँसों की आवाज़ सुनते सुनते मुट्ठ मारी और ये भी सोचता रहा कि मानसी की चुत की चढ़ाई कैसे की जाए.

मेरे लेटते ही माला तथा मैं एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे और जैसे ही मैंने उसके उरोजों और भगांकुर को सहलाने लगा उसने भी मेरे लोअर के अंदर अपना हाथ डाल कर मेरे लिंग को सहलाने लगी. दोस्त ने मुझे कुतिया बनने को कहा, तभी दूधवाले ने मुझे गाली दी- चल रंडी झुक जा. जब सुमित उसके पास जाकर बैठा और उसके नंगे घुटने पर हाथ रख कर बोला- देखो बेबी, तुम भी जानती हो कि हम न तो तुम्हारे भाई हैं, न दोस्त हैं, न बॉय फ्रेंड हैं.

सुलेखा हड़बड़ा गई क्योंकि उसको ज़रा भी उम्मीद नहीं थी कि मैं ऐसा करूँगा. उसने इतनी ताक़त से मुझे बाहुपाश में बांधा हुआ था जैसे ज़िन्दगी में पहली बार कोई लड़की मिली हो. उन्हें कुछ सवालों के हल गलत मिले तो उन्होंने बोला- ये सब गलत किया है, मैं तुम्हारे डैड को बता दूँगी.

हैलो फ्रेंड्स, मैं राजवीर (बदला हुआ नाम) हूँ, ये रंडी की चुदाई की सेक्स स्टोरी कुछ दिन पहले की है, जिसमें एक चालू लड़की हम 5 दोस्तों के साथ चुदी थी. तभी मेरा निकलने वाला था सो मैंने पूछा- कहाँ निकालूँ?उन्होंने बोला- अन्दर ही डाल दो.

मैंने उसकी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया और पहले उसके होंठ आराम से चूसे. तभी भाभी ने अपना एक हाथ मेरी चूत पर फेरना शुरू कर दिया, वो मुझसे बोली- वाह… यह तो बहुत ही सुदंर चूत है. उसने पैसे दिये हैं जाना तो पड़ेगा मगर याद रखना कि वो पैसे दे रहा है तो तुम्हारी चुदाई भी जम कर करेगा.

फिर मैं चाची के कान के पास जा कर धीरे से बोला- जान अब ठीक है?चाची बोली- बस अशोक बस! अब बस करो! निकाल लो इसे! बहुत दर्द हो रहा है.

लेकिन मुझे अक्सर लड़के और मेरे रूममेट के हंसने की और खुसर-पुसर आवाजें आती थी. माला कहाँ गई होगी यह सोचते हुए जब मैं अपने कमरे की ओर लौट रहा था तब मुझे बाथरूम में नल चलने की आवाज़ सुनाई दी. पर बहुत सी लड़कियाँ ऐसी थी जो छोटी छोटी निकर पहन कर आई थी, अमीरी के नाम पर सिर्फ नंगापन, क्या इनके साथ आने वाले लड़कों को गर्मी नहीं लग रही थी जो जीन्स पहन कर आए थे और ये निकर पहन कर दिखा रही थी कि उनको गर्मी ज़्यादा लगती है, या फिर उनमें गर्मी ज़्यादा है.

! सीधे-सीधे अपने और विशाल के बारे में बता!तो प्रेरणा ने कहा… हम्म्म्म तो ये बात है. उसने खेल करना शुरू कर दिया था, एक बार गांड मारता, फिर चूत में घुसेड़ देता… शायद उसे इसमें मजा आ रहा था… न सिर्फ उसको, बल्कि मेरी जानेमन को भी… क्योंकि वो भी पूरे उत्साह के साथ अपने पिछवाड़े को उभार-उभार कर स्वान को अपना लंड उसके छेदों में बदलवाने में पूरी मदद कर रही थी.

मैं फूट-फूट कर रोने लगा ‘उई मां… मर गया… रवि… यार तू कहाँ है… आ…हा… रवि… ले जा मुझे… यहाँ से… आ. कोई नसीब वाला ही होगा जो अपना पोपट इसके पिंजरे में डालेगा और इसे अपनी रानी बनाएगा. मैं नीचे लेटा भी उछल रहा था, मौसी ने मेरे लुल्ले को पूरी ताकत से अपने हाथ में पकड़ा हुआ था और ज़ोर ज़ोर से मेरे लुल्ले की चमड़ी नीचे को खींच रही थी.

कच्ची चूत की चुदाई

पहले तो वह थोड़ा कसमसाई फिर जब लंड अच्छी तरह चूत में फिट हो गया तो अपनी गांड हिलाने लगी.

थोड़ी देर में सबीना का शरीर अकड़ा और उसने मुँह में मस्ताना को भी दबा लिया और उसकी चूत ने मेरे मुँह में पानी की बौछार कर दी, नमकीन नमकीन चूत रस मेरे मुँह में भर गया और सबीना मेरे ऊपर ही लेट गई तो जमीला ने उसको साइड करके खुद मेरे साथ 69 हो गई. नर्म हाथों में आते ही मेरा लंड अपनी औकात पर आ गया और फूल कर कुप्पा हो गया. इससे पहले कि वह रस बाहर फैलता मैंने तुरंत अपना हाथ उनकी योनि के मुंह पर रख कर उसे बाहर निकलने से रोक दिया.

कुछ पल बाद वो भी अपने मम्मे चुसवाने के मज़े ले रही थी, पर रोने का नाटक कर रही थी. मैंने दर्द भारी आवाज में कहा- एआइईईई जानू, धीरे से दबाओ, मैं कहीं भाग नहीं रही हूँ. न्यूड सेक्सी मूवीकोई और भाई-बहन क्यों नहीं है?हेमा- ये कैसा सवाल है? भगवान की मर्ज़ी नहीं हुई बस!सुमन- प्लीज़ माँ आप नाराज़ मत हो.

अब उसने मेरी बहन की चूचियों को अपनी हथेलियों में भरकर मसलना शुरू किया तो मेरी बहन अपने बदन को उत्तेजना के साथ ऐंठने लगीं. मैं बार-बार उनके मम्मों को देख रहा था और और वो मेरे फूले हुए लंड को देख रही थीं.

’ कहा।विक्की की नज़रें बस उसके मम्मों पर थीं, जो टी-शर्ट फाड़ कर बाहर आने को बेताब थे।अजय- कॉलेज के नियम पता है ना. ’‘काश कि भाबी माँ मैं आपको अपना पकड़वा सकता, लेकिन मैं आपको माँ बोलता हूँ न! इसीलिए आपके नाम की सिर्फ मूठ मार लेता हूँ. अनिता- ओ माय गॉड… ये क्या है… इतना बड़ा और मोटा! नहीं पापा प्लीज़ मुझसे नहीं होगा, इससे तो मैं मर ही जाऊंगी.

उसमें बैठ जाना, सुबह तेरा पति घर आ जाएगा।मैं चुपचाप घर चली आई। मैंने अपनी सास और ससुर को कुछ नहीं बताया। उनको बोल दिया- मेरी सहेली का भाई अच्छा वकील है. और यह बोल कर मैं वहां से आ गया।अब मैं भाभी से बात नहीं कर रहा था और दो दिन निकल चुके थे तो शाम के टाइम भाभी का मेरे पास फ़ोन आया और बोली- मेरे रूम में आओ।मैं काफी गुस्से में था तो मैं जाकर बोला- अब क्या काम है?भाभी बोली- क्या बात है तुम मुझसे बात क्यों नहीं करते?तो मैंने साफ़ साफ़ बोल दिया कि आपने मेरे साथ ठीक नहीं किया।भाभी बोली- तुझे क्या चाहिए?मैंने बोल दिया- मुझे तो आपकी सेवा चाहिए. ! अभी तो उसे ही देख कर हम सेक्स करना सीख रहे हैं। अब तुझे भी सीखना है तो पुस्तक देख के सीख लेना। यार पर हम लोगों ने पुस्तक के सारे तरीके आजमा लिए। पर असल जिन्दगी में वैसा करना बहुत मुश्किल होता है। और पुस्तक में तो लिंग और चूत की साईज ऐसी दिखती है जो कि हमारी कल्पना से भी बाहर है। विशाल का लिंग तो उनके मुकाबले आधे से भी छोटा है। मुझे तो उस पुस्तक की तस्वीरें झूठी लगती है.

मैं अपने घुटनों के बल बैठ गया और अपना मुंह पूजा की चूत पर टिका दिया.

किसी को कुछ पता नहीं लगेगा और काका तो वैसे भी तुझे चोदना चाहते हैं।राधा- ये तू क्या कह रहा है? वो तो हमेशा मुझे अपनी बेटी समझते हैं। याद है. उम्म्ह… अहह… हय… याह… वेदना के चिह्न उसके चेहरे पर उभरे, साथ में उसने मुझसे छूटने की कोशिश में पीछे खिसकने का प्रयास किया.

मैं बोला- ठीक है जानेमन, अब दो दिन कोमल की अच्छे से सेवा करने दो।उसके बाद स्काइप बन्द करके हमने 1 घण्टे रेस्ट करने का प्लान किया और बेड पर नँगे ही सो गए।गुजराती भाभी ग्रुप सेक्स की यह कहानी जारी रहेगी. उसके जाने के बाद मैं उठी और दोस्त से सब के बारे में पूछा; तो हंसने लगी और बोली- कल सुबह बात करुँगी. मेरा इस कहानी का पूजा से क्या सम्बन्ध है?संजय- अबे साली तेरी समझ में नहीं आया क्या पूजा मेरी दीदी की बेटी है और आर्यन उसका छोटा भाई है?टीना- ओ माय गॉड… मगर कन्फ्यूजन फिर भी वैसा का वैसा है.

मुझे देखने दे कि अन्दर खुजा-खुजा कर तूने क्या हाल किया हुआ है।मॉंटी- नहीं दीदी, ऐसे ही तेल लगा दो, मुझे शर्म आती है। मैं आपके सामने पूरा नंगा नहीं हो सकता।टीना- ओये होये. वो मुझे गाली देते हुए चोद रहे थे कि साली इसीलिए तुझे वियाग्रा का डबल डोज दिया था ताकि तू मेरा लंड झेल सके. जल्दी से दिमाग घुमाया और बोला- रात को टैम्पो वाले से लिफ्ट ली थी जब सुबह नीचे कूदने लगा तो उसके हुक में उलझ कर फट गई.

सबसे अच्छा बीएफ मैं दबे पांव उसके रूम में गया और उसके बेड के किनारे जाकर खड़ा हो गया. दोस्तो, मैं लफ़्ज़ों में बयां नहीं कर सकता, मुझे उस वक़्त कितनी खुशी हुई यह सुनकर कि मैं 15 दिन बाद कैम्प में जा रहा हूँ लेकिन मैं उस खुशी से अभी तक अनजान था जो मुझे मैडम से मिलने वाली थी।किसी ने सच ही कहा है दोस्तो ‘भगवान जब भी देता है तो छप्पर फाड़ कर देता है, बस आपका दिल साफ होना चाहिए.

क्ष्क्ष्क्ष्क्ष्क्ष्

अब मेरी बारी थी, मैं जाना नहीं चाहता था पर मेरे तीनों दोस्त मेरे साथ जबरदस्ती करने लगे कि जा तू भी चोद के आ इस रंडी को,बड़ी मस्त रंडी है. ‘आआआआअह… मर गई माँआआ… आआह…’मैंने सविता के निप्पल को दांतों से पकड़ के खींचा और धक्के लगाने लगा. एक दिन ऋषिका को बुखार हो गया, रयान ने उसे सुबह चाय के साथ बिस्कुट दिया और मेडिकल स्टोर से दवाई लाकर दी.

चल इसको अभी बड़ी करती हूँ, देख तू मेरा जादू।टीना ने ढेर सारा तेल लिया और उसकी जांघ पर मालिश करने लगी, साथ ही साथ उसकी लुल्ली पर भी हाथ घुमाने लगी।अब दोस्तो किशोर हो या जवान. नमस्कारमोना रानी के शब्द समाप्ततो पाठक पाठिकाओ, आपने इस इंडियन चूत चुदाई कहानी में पढ़ा कि कैसे इस बदमाश मोनारानी ने अपने पति के सामने मुझसे चुदाई का सपना पूरा किया. हिंदी न्यूड सेक्सी वीडियोअब चलो सब बैठ जाओ, नहीं तो बियर गर्म हो जाएगी।सब वही गोल घेरे में बैठ गए। संजय ने शाम को टेबल कुर्सी का बंदोबस्त कर लिया था। अब पार्टी शुरू हो गई थी.

मैंने जमीला को गद्दे पर लिटाया और उसके ऊपर 69 में रफीक को करके जमीला को उसकी गांड चाटने और उसमें मेरे मस्ताना को घुसाने के लिए मस्ताना को कंडोम चढाने को कहा.

मैं उसके पीछे-पीछे अपनी हवस से बेबस होकर उसके लंड को करीब से देखने की चाह में बढ़ा जा रहा था. वो सिहर सी गई… काफ़ी दिनों से नहीं लिया होगा ना…यह चोद चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने उसको फिर बाहर निकाल लिया… वो पागल गई और मेरे को धक्का देकर मेरे ऊपर आ गई और अपनी चूत मेरे लंड पर रख कर उस पर बैठ गई और पूरा 5 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड अपनी चूत में ले लिया और अपने दांत भींच लिए.

पीटर ने जैसे रिया को नीचे सरकाया तो रिया की चुत पीटर के मुँह के पास आ गयी और उसका तना हुआ हलब्बी लंड रिया के मुँह के पास आ गया. मुझसे रहा नहीं गया और मैं उसको मुंह में लेकर चूसने के लिए नीचे बैठ गया और बैठते ही उसके खडे़ लंड को मुंह में भर लिया जिससे उसकी भी आह निकल गई. चुत अगर क्लीन हो तो आई लव टू लिक इट।मैंने एकदम भाभी की चुत के होंठ खोल दिए और अपनी जीभ को अन्दर-बाहर करने लगा। भाभी गर्म होने लगीं और मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चुत पर दबाने लगीं। भाभी जोर-जोर से कह रही थीं- खा जाओ मेरी फुद्दी.

और मेरा लंड धीरे-धीरे खड़ा हो रहा था। कुछ ही पलों में मेरा लंड मेरी चड्डी से बाहर आ गया।मैंने ऐसा दिखाया कि जैसे मुझे कुछ पता ही नहीं चला हो। मैंने देखा मेरी मामी की नजरें मेरे लंड को देख रही थीं।मामी ने मुझे मजाक में पूछा- ये क्या है.

उसके बाद दोनों ने अच्छी तरह से लंच किया और टीवी के सामने बैठे एक-दूसरे को देख कर मुस्कुराने लगे।गोपाल- क्यों जानेमन, अब क्या इरादा है. वो मुझे अब अलग करने लिये झटके मार रही थी, मैं पूरा झड़ने के बाद उठ गया. उसका लंड सख्त होकर किसी मोटे डंडे की तरह मेरे मुंह को घायल करता हुआ अंदर बाहर हो रहा था.

तेलंगाना का सेक्सीजिससे उसकी चुत मेरा पूरा लंड लेने लगी।मैंने दीदी की चुत की चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और एक हाथ से उसके मम्मे दबाए जा रहा था। साथ में उसके होठों की पंखुड़ियों को भी चूस रहा था।दीदी भी अपनी गांड उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगी। उसे बहुत मज़ा आ रहा था, वो कह रही थी- आ. कुछ समय तक तो मेरा लंड खड़ा नहीं हुआ तो वो बोली- क्यों रे तू हिजड़ा तो नहीं है?मैं- नहीं यार, मुझे भी लंड पसंद हैं.

प्रियंका चोपड़ा सेक्सी ब्लू

उनकी तरह वो ज्यादा चीखी चिल्लाईं नहीं और थोड़ी देर की दनादन चुदाई के बाद हम दोनों ही झड़ गए. थोड़ी देर के बाद राजे ने करवट मेरी तरफ लेकर मेरा चेहरा प्यार से थाम लिया और फुसफुसाया- मोना रानी तूने बहुत मज़ा दिया चुदाई में… तू तो मेरी जान है मोनारानी… बहुत इश्क़ करता हूँ तेरे से!और फिर उसने मेरे होंठ चूम लिए. पूरा लंड अन्दर-बाहर होते ही मुझे भी जलन और दर्द होने लगी थी लेकिन मजा भी आ रहा था क्योंकि ये मेरे पहली बार का सेक्स था.

‘आह बेबी धीरे, आह प्लीज प्रतीक, कम ऑनलाइन, चोदो!’ उसकी सिसकारी निकलने लगी. मैंने तुम्हें साफ-साफ कह दिया था, अगर तुम चाहो तो मैं कभी यहाँ नहीं आऊंगा और तुम्हारी माँ को भी संभाल लूँगा. इसी के साथ रुस्लान ने भी उसका अनुसरण करते हुए अपना विकराल लंड मेरी पत्नी के चूतड़ों से बाहर कर दिया.

नीतू- ठीक है जीजू… अब आप उठ जाओ, मैं हाथ धोकर आपके लिए खाना लगा देती हूँ. दोस्तो! मुझे औरत को उसके दोनों पैरों को अपने कंधे पर रख कर चोदना पसंद है. नताशा का चेहरा राहत भरी मुस्कान से खिल उठा, लेकिन राहत ज्यादा देर के लिए नहीं थी, चंगेज़ ने अगले ही पल दुबारा अपने पत्थर जैसे लंड को नताशा की गुलाबी गांड में घुसेड़ दिया.

इसलिए सबीना और जमीला में लेस्बियन सम्बन्ध बन गए और वो जब भी मौका मिलता इसका मजा लेती और कभी रफीक जब किसी को अपनी गांड और जमीला को चुदवाने बुलाता तो आज की तरह दोनों ननद भाभी उस से दिन में मजा लेती और रात को रफीक और जमीला मजे लेते. शालू मेरे सिर को पकड़ कर चुत के अन्दर घुसी मेरी जीभ का मजा लेने लगी.

मैं उन दोनों को अपने घर के अंदर ले आई, आसिफ अंकल ने घर मैं आते ही मेन गेट को लॉक कर दिया.

भाभी ने तपाक से बोला- तोमुझे अपनी गर्लफ्रेंड बना लोना!मैंने सोचा कि मेरा काम तो फ्री में ही हो गया है. चिड़ावा सेक्सीफिर अचानक 1 बजे रात को मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि दीदी की आधी चूचियाँ उनकी नाइट ड्रेस से दिख रही थीं. भोजपुरी की फिल्म सेक्सीतो मैंने भी बात को आगे बढ़ाते कह दिया- घुमा तो दूंगा पर तू मेरे से दूर रहेगी. यही ना चलो अब बोलो।मोना के मुँह से चुदाई शब्द सुनकर सुधीर का लंड पेंट में अकड़ने लगा।सुधीर- ओके मोना तुम्हें प्राब्लम नहीं है तो सुनो, हम दोनों जब बड़े हुए.

दोस्तो! मुझे औरत को उसके दोनों पैरों को अपने कंधे पर रख कर चोदना पसंद है.

उस रात हमने बेइन्तहा चुदाई की, लेकिन इसके बारे में फिर कभी…मेरी बीवी की ग्रुप में चुदाई की सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी?[emailprotected]. जब मेरी चूत ढीली हो जाएगी।मामा भी समझ गए कि मेरी चूत का छेद बहुत छोटा है. मैं बहुत डर गया और मैंने उससे कहा कि अगर उसने ऐसा किया तो मैं उसका वीडियो इंटरनेट पर डाल दूँगा और उसे वीडियो दिखाने लगा.

रयान ने फटाफट टीशर्ट डाली… दोनों ने चाय पी और शाम पिक्चर देखने का प्रोग्राम बनाया. हम दोनों की उत्तेजना बढ़ती ही जा रही थी और ऐसा लग रहा था कि किसी भी पल मेरे लौड़े से गरम लावा निकल पड़ेगा. मैंने जब उसकी पैंटी भी निकालनी चाही तो उसने कहा- जल्दी क्या है, हमारे पास बहुत टाइम है.

मौसी की चुदाई वीडियो में

पीटर रिया के मम्मे दबा रहा था, उसके निप्पल खींच रहा था जबकि रिया उसका लंड पकड़ कर आगे पीछे कर रही थी, उसके टट्टों को सहला रही थी. मुझे पता है कि आप यह भी जानना चाहोगे कि अगली सुबह क्या हुआ… मगर वो बात मैं आपको तब बताऊँगी जब आप मुझे मेल करोगे और पूछोगे कि मेरी प्यारी सेक्सी कोमल भाभी अगली सुबह क्या हुआ था…तो अब मेरी तरफ से आपके प्यारे प्यारे लौड़ों को बाइ बाइ…[emailprotected]. मैं वापिस जाने लगा तो रश्मि ने कहा कि यदि तुम चाहो तो तुम्हारा वही इलाज मैं भी कर सकती हूँ परन्तु एक शर्त है कि डॉक्टर साहिबा को नहीं बताओगे.

बहुत बड़ी परेशानी है अब आप ही मेरी मदद कर सकते हो। हाँ आप ही उसकी पुरानी कहानी जानते होगे.

मेरी पिछली लघु रचनाचाची की चुदाई फटाफट वालीको पढ़ने के लिए बहुत धन्यवाद.

थोड़ी देर बाद एक 50 साल का आदमी मेघा के पास आकर उससे डांस के लिए बोला, मेघा ने भी ‘हाँ’ कर दी. तो थानेदार के साथ सोना पड़ेगा, नहीं तो तेरे पति की वो धुलाई करेंगे कि जिंदगी भर तुझे चोद नहीं पाएगा. इंग्लिश सेक्सी करने वालाटीना- देख मेरे पीरियड के चक्कर में बहुत दिनों से मैं चुदी नहीं हूँ.

साथ ही मनोज ने म्यूजिक चला दिया और हम सभी केक से खेलने लगे और म्यूज़िक पे डांस करने लगे. जमीला- डार्लिंग राजेश, ये बताओ कि साबुन लण्ड वाली रानी से लगवाओगे या चूत वाली से? हा हा हा…मैं- चलो यार आज दोनों मिलकर नहलाओ. अनिता- ओ माय गॉड… ये क्या है… इतना बड़ा और मोटा! नहीं पापा प्लीज़ मुझसे नहीं होगा, इससे तो मैं मर ही जाऊंगी.

लेकिन उस समय ना तो उनको और ना ही मुझे पता था कि हॉस्टल में मेरी जिन्दगी बिल्कुल बदल जाएगी और मुझे उन्हीं चीजों की आदत लग जाएगी जिनसे मेरे माँ-बापू मुझे बचाना चाहते थे. डॉक्टरआंटी ने करीब 10 मिनट मेरे लंड को चूसाऔर मैंने भी उनके मुँह को चूत की तरह चोदते हुए उनका मुंह अपने वीर्य की पिचकारियों से भर दिया.

अभी चलते हैं ना थोड़ी देर में!और इतना कह कर उसने अपनी उंगली को यूँ चूसा जैसे लंड चूस रही हो.

सुमन- अरे मैं सच बोल रही हूँ, तुझे ऐसा क्यों लगता है मैं झूठ बोल रही हूँ और मैं तुम्हारे साथ क्या कर सकती हूँ?मॉंटी- दीदी, ये तो मुझे पता नहीं कि आप झूठ क्यों बोल रही हो मगर क्या कर सकता हूँ. अचानक मुझे सबीना की आवाज सुनाई दी ‘राजेश, खड़े हो यार, आज मेरा आइसक्रीम खाने का अलग मूड है, मस्ताना को मेरी चुचियों के बीच में इस आइसक्रीम में रगड़ो. हालांकि ये बात अभी तक मैंने अपने दोस्त को नहीं बताई थी…फिर अगले दिन जब दोस्त की बहन का फिर से कॉल आया तो उसने मुझे ‘आई लव यू’ बोला… फिर क्या था अपनी तो जिन्दगी झींगालाला हुउऊुउउ…मैंने फिर उसे बताया कि मैं और उसका भाई अच्छे दोस्त हैं.

jio सेक्सी ब्लू फिल्म पर वो तो मेरे लंड को चूसे जा रही थी।थोड़ी देरी बाद मेरे लंड का पानी निकलने को हुआ. मेरी नोन वेज स्टोरी में आपने पढ़ा कि मेरा यार हम दोनों सहेलियों का लेस्बियन सेक्स देख रहा था.

!मेरा इतना बोलना था किआंटी ने मेरे पास आकर मेरे लंड को पकड़ कर दबा दिया, मुझे बहुत दर्द हुआ। मैंने जानबूझ कर कुछ ज्यादा ही रिएक्ट किया तो वो ये देखकर थोड़ा डर गईं और मुझसे बोलीं- सॉरी गलती से हो गया।मैंने गुस्सा होने का नाटक किया तो बोलीं- दिखाओ तो क्या हुआ है?मैं शरमाने लगा तो वो बोलीं- शरमाओ मत. सो मुझे उसके धक्कों से मजा आ गया। वह करीब दस मिनट तक लगा रहा।धक्के पर धक्का. रश्मि जोर जोर से सिसकारियाँ भरने लगी, वह लगातार मेरे लंड पर ठाप मारे जा रही थी और लगातार आह… उह… की आवाजें निकाल रही थी.

शकीरा सेक्सी

सुधीर- ज्जजी… पूछिए क्या पूछना है?मोना- गोपाल के बारे में कुछ बताओ आप?सुधीर- हाँ, वो मेरा पक्का दोस्त था मगर अब हमारे बीच दोस्ती नहीं रही. मैं अपने होंटों से उन्हें चूस चूम व खींच रहा था, वो भी लंड को हाथ में लेकर मदहोश करने वाली अवाज निकाल रहीं थीं. तो देखा कि वही भाभी वहाँ कपड़े सूखने के लिए डाल रही थीं और मुझे देख रही थीं।पहले तो मैं थोड़ा घबराया.

कीकू आराम से लेटी रही, उसने अपनी आँखें बंद कर ली, पता नहीं वो सो गई, या मज़ा ले रही थी, या क्या था, पता नहीं, मगर वो बिलकुल शांत लेटी रही. अब तो मैं आपकी हो ही गई हूँ जैसे चाहो करो मेरे साथ!’हम लोग ऐसे ही बातें कर रहे थे कि उसकी चूत सिकुड़ गई और मेरे लंड बाहर निकल गया.

वैसे आज तो कोमल ने अपनी चूत और गान्ड में एक साथ लंड लेकर चुदवाई जैसे पोर्न मूवी में लड़कियां चुद वाती हैं। तुम चाहो तो हम सभी स्काइप पर ग्रुप चुदाई कर सकते हैं, राजेश कोमल की चूत चूस रहा है और कोमल हम दोनों के लंड चूस रही है।रफीक बोला- सच में? यार भाई रुको, मैं अपना लेपटोप ओन करता हूँ.

अब तो हर झटके के साथ मेरे मुँह से आहह आहह की आवाज़ निकल रही थी और मुझे ऐसा लग रहा था कि अब फूफा जी मेरी चूत फाड़ कर ही दम लेंगे. चलते-चलते जाखोद खेड़ा का साइन बोर्ड आ गया और उस पर लिखा था- 2 किलोमीटर. थोड़ी देर बाद संजय वापिस आया तब तक कुछ बहाना स बनाकर सी ए साब मेरी दायीं ओर बैठ चुके थे.

जब मैंने चूत पे हाथ डाला तो सारा रस सुख गया था और मेरी चूत में चिपचिपाहट सी लग रही थी. अब संदीप ने और जोर लगाया और उसके लंड के साथ राजू का लंड भी मेरी गांड को चीरता हुआ गहराई में धीरे-धीरे सरकने लगा. फिर कभी… आज नहीं…’ कहने लगी लेकिन मैंने उसको छोड़ा नहीं और हल्के से उसके गाल पे फिर से चूम लिया।‘हो गया अब… प्लीज… अब बस्स.

एक गोरी और दूसरी सांवली… एकदम ताजा माल…भरी हुई जांघें और सुडौल पिंडलियाँ…फिर दोनों घूम कर मेरी तरफ मुंह करके बेड के किनारे पर बैठ गई.

सबसे अच्छा बीएफ: मैं आ जाऊंगा तू पहले उस सुधीर को तो खोज ले।ये दोनों काफ़ी देर तक बात करते रहे। फिर मोना की सास आ गई तो काका इधर-उधर हो गए ताकि किसी को शक ना हो।दोस्तो वहाँ भी ऐसा कुछ खास नहीं हुआ जो आपको बताऊं।हाँ, संजय कॉलेज से घर आया तो पूजा रोज की तरह उससे पढ़ने उसके पास आ गई। मगर संजय के सर में बहुत दर्द था तो उसने पूजा को कहा कि वो अपना होमवर्क कर ले. मैं झट से रूम में गया और वीडियो देखने लगा, जिसमें कि वो कपड़े चेंज करते दिख रही थी.

मैं धीरे से मामा के कान बोली- आपकी झांट के बाल बड़े बड़े हो गये हैं साफ कर लीजिएगा. सोहन भैया ने अपने घर के पता दिया और उनके घर के पते पर पहुँचा तो भाभी ने दरवाजा खोला. फिर हम लोग कुछ देर तक लेटे रहे, दीदी मुझे चूमते हुए प्यार करती रहीं.

तुझे एक ना एक दिन किसी से तो शादी करके चुदवाना ही होगा, तो मेरे से क्यों नहीं? तेरी माँ को तूने देखा था ना.

हम लोग आज तक उस पुस्तक जैसा सेक्स नहीं कर पाये।मैंने उसे रोकते हुए तुरंत कहा- रोहन ने तो कहा था कि तुम लोगों ने हर तरीके से सेक्स कर लिया है।तब प्रेरणा ने कहा- अरे नहीं यार. थोड़ी देर बाद गुलशन ने अनिता को नीचे लेटा दिया, उसके पैरों को मोड़ कर कमर के नीचे एक तकिया लगा दिया, जिससे उसकी चुत ऊपर उठ गई. अब जमीला भी गर्म हो रही थी तो मैंने रफीक की गांड से मस्ताना निकाला और रफीक को बेड पर एक पलटी मारने को कहा तो दोनों ने पलटी मारी, अब रफीक नीचे और जमीला ऊपर आ गई और अब मैंने जमीला को कंडोम पैकेट पकड़ा कर कंडोम बदलवाया.