हिंदी मूवी बीएफ सेक्स

छवि स्रोत,असली वाली सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

एचडी बीएफ चुदाई: हिंदी मूवी बीएफ सेक्स, फिर वो बोले- यार तेरी दीदी ने न जाने क्रीम कहां रख दी है … मिल ही नहीं रही है.

पंजाबी सेक्सी ओपन वीडियो

क्या वो तेरी औलाद नहीं हैं … किसी और के लंड की पैदाइश हैं?बहू का इतना ही कहना था और इस वक्त ऐसे हालात में नारी जब पुरुष पर भारी पड़ रही हो, तो पुरुष को तुरंत एक्शन ले लेना चाहिए. ब्लूटूथ सेक्सी फिल्म दिखाएंअब शायद शीना समझ चुकी थी कि मैं और संजना मेरे लौड़े के सफेद पानी की बात नहीं कर रहे थे.

वसुंधरा के जिस्म की खुशबू मेरे ख़ुद के जिस्म के रेशे-रेशे में समा गयी थी. फुल सेक्सी वीडियो सुहागरातबस हमारे लिए थोड़ी बुरी खबर है … क्योंकि हमें अब तीन लंड से चुदना पड़ेगा.

उसके बाद जब उसने मेरे लंड को देखा, तो उसकी आंखों में चमक आ गई थे कि जैसे उसने अपना पसंदीदा खिलौना देख लिया हो.हिंदी मूवी बीएफ सेक्स: वो- मेरी बुर तो कब से तैयार बैठी है तुम्हीं हो कि देरी किए जा रहे हो.

लड़के घूर घूर कर मेरे डीप बेक वाले ब्लाउज से मेरे बदन को घूर रहे थे.उसकी चूत को सामने करके अपने लंड का सुपारा उसकी चूत पर लगा दिया और लंड को चूत के मुंह पर लगा कर मिशनरी पोजीशन में उसके ऊपर लेटते चले गये.

सेक्सी वीडियो आम्रपाली दुबे - हिंदी मूवी बीएफ सेक्स

कुछ देर बाद जीजा जी ने एक वाइन शॉप से चार बोटल स्कॉच व्हिस्की की ले लीं.समय देखा तो पांच बजने को थे और ये समय अन्नू के स्कूल से लौटने का था। मैंने उठकर वापस से वही गाउन पहन लिया और दरवाज़ा खोलकर अपनी बेटी को अपनी बांहों में लेकर अंदर आयी।अन्नू के रूम में जाने के बाद मैंने सबके लिए चाय बनाई और फिर हम सबने खूब बातें की.

इस मस्त सेक्स कहानी को अगले भाग में आगे पूरे विस्तार से लिख कर आपके नीचे वाले आइटम गरम करूंगा. हिंदी मूवी बीएफ सेक्स मैंने ससुर जी से कहा- अभी एक हुई है दूसरी बार में फिर से कोशिश करेंगे.

पर आज माई बाबू के पुनर्मिलन की खुशी तथा उनकी चुदायी के सीन याद करते करते मैं सो गयी.

हिंदी मूवी बीएफ सेक्स?

मैंने बोतल नहीं ली और कहा- मेमरानी … मैं कोई भी ड्रिंक अपने आप नहीं लेता … तू सिप ले और उसको मेरे मुंह में डाल दे … मैं तो कोल्ड ड्रिंक और दारु सब कुछ इसी तरीके से पीता हूँ. मैंने कॉण्डोम पास में रखा हुआ था कि डिस्चार्ज करीब आने पर चढ़ा लूंगा. चूतनिवास[emailprotected]मेरी देसी पोर्न कहानी पर अपनी राय जरूर प्रकट करें.

ऐसी जवान, सेक्सी, सुंदर और वासनामयी औरत को पाकर एक चुदास भरा लड़का गर्म नहीं होगा, तो क्या होगा. मैंने बिना कुछ बोले चुदाई जारी रखी और झड़ने से ठीक पहले लंड उसके मुंह में घुसा कर पिचकारी दे मारी. अब मैं सीमांशी के गले मे चूमते हुए उसकी गांड दबा रहा था सहला रहा था!मैंने सीमांशी को बांहों में उठा लिया और रोहिताश को बाथरूम में ही रुकने का इशारा किया.

तो उस दिन घर जाते वक्त मैंने इकरा से पूछा- वो क्या क्या कर रहे थे?तो इकरा ने मुझे सब डिटेल में बताया तो उसकी बात सुनकर मेरी पैंटी फिर गीली हो गई। इकरा ने ही मुझे बताया कि बिना चुदाई चूत को बुर कहते हैं. मैं बोला- हां भाभी आप मेरी मदद कीजिए, कृपया करके मुझे कुछ बताइए, मैं क्या करूं. रोहित ने पीछे से ही संजू की उठी हुई गांड से साफ़ दिखती हुई चूत में अपना पूरा लंड घुसा दिया.

उसकी एक किशोर बेटी है और सुमन एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करती है।सुमन देखने में काफी सुंदर है वो, उसकी लम्बाई 5 फिट 6 इंच है, रंग गोरा, दूध का साइज 36 डी और गांड का 38″ की!लंबी होने के साथ साथ उसका बदन अच्छा भरा हुआ है।दोस्तो, सेक्स की भूख तो सब को होती है, उसे भी थी. मैंने उसे फील करने के लिए कहा- सोचो ये लन्ड तुम्हारी चूत में जा रहा है.

और फिर दो दिन बाद मैंने उनकी वो नारंगी रंग की साड़ी पहनी ठीक रात को सोने से पहले.

दोनों लड़के उठ कर बैठ गए और एक दूसरे के सामने घुटनों के बल खड़े होकर एक दूसरे की मुट्ठी मारने लगे.

और मैं वादा करता हूँ मैं फिर तुम्हारे पास आऊंगा, तुम जहाँ रहोगी, जहाँ कहोगी वहाँ आऊंगा. पहनावे से भी तू धंधे वाली लग रही है … या तुझे अपने जिस्म की नुमाईश करने का शौक है शायद. हम दोनों बात कर रहे थे कि उसने अपना लौड़ा अपनी पैंट से बाहर निकाल लिया.

कुछ मिनट तक पानी का आनंद लेने के बाद वहां के कामुक वातावरण में मेरा लंड पूरा तरह से खड़ा हो गया और राशि के जिस्म की भीनी भीनी खुशबू मुझे मदमस्त करने लगी. मैं उन लोगों से थोड़ी दूर जाकर डबल सीट सोफे पर बैठ गया और मोबाइल में सर्च करके गाना ढूंढने की कोशिश करने लगा. अब मैंने रानी के चूतड़ों पर हाथ फेरना, सहलाना, चूचों की तरह निचोड़ना और बीच बीच में एक थपकी मरना शुरू कर दिया.

सुबह ज़ेबा जाग चुकी थी और बच्चे के लिए दूध का फीडर तैयार कर रही थी.

और फिर लगभग भागता हुआ रसोई में आ गया। सानू जान ने सफाई कर ली थी और चाय बना रही थी।मैंने सानिया को पीछे से बांहों में भर लिया। मेरा लंड उसके नितम्बों पर जा टकराया। मैंने उसे बांहों में भर लिया और उसके उरोजों को दबाने लगा।ओह … क्या कर रहे हो … आह … चाय तो बनाने दो …”मेरी जान आज तो तुम्हें अपनी बांहों से दूर करने का मन ही नहीं हो रहा. मैंने कहा- इतने सारे माल दिख रहे हैं, तो फिर देर क्यों करता है … पटा ले किसी को. चाची मस्त आवाजों से बोल रही थीं- आह मां के लौड़े … अब चोद भी दे साले … अब नहीं रहा जाता.

मन तो कर रहा था कि लिफ्ट में ही उसकी चूचियों को दबा दूं लेकिन मैंने खुद को रोके रखा. लेकिन जब अम्मी ने उसे भाई की दूसरी शादी, घर का खर्चा, दूसरी पत्नी का बच्चे से बरताव जैसी दिक्कतें बताई और यह शंका जताई कि कहीं वो औरत बेटा को बहका कर अपने वश में ना कर ले, तो फिर हम कहां जाएंगे. चिकना, हल्का खट्टापन लिये हुए चूतामृत मेरी मस्ती को कई गुना बढ़ाये जा रहा था.

मैं सीमांशी का बदन चूमकर और उसकी सिसकारियां सुनकर तो रोहिताश किसी पराये मर्द के साथ अपनी बीवी को देखकर!तभी मैंने सीमांशी को अपनी और पलटा.

”एक मिनट वसुंधरा! सिर्फ इतना बता दीजिये कि आप खुश तो हैं ना?”राज! अब फर्क नहीं पड़ता. संजू उसकी मजबूरी को समझते हुए ऊपर से उठी और बोली- जाओ बाथरूम से उसे धो कर आओ … मैं उसे मुँह से झाड़ने का प्रयास करती हूँ.

हिंदी मूवी बीएफ सेक्स तब तक हम दोनों ऊपर यहां पर ठुकाई करते हैं और नीचे से अपने तू हाथों को अपनी चूत और गांड के अन्दर ही रखना. इसी सोच के साथ मैं उसके रोने की परवाह किये बिना उसे दम से चोदने लगा.

हिंदी मूवी बीएफ सेक्स संजना की पेंटी बाथरूम के एक कोने में पड़ी है … और उसका मेन्सिस वाला नैपकिन भी एक कोने में फेंका हुआ था. उन्होंने कहा- इसके लिए घर जाने की जरूरत नहीं है, मेरे पास एक जगह है, वहां चले चलते हैं.

भाभी ने अन्दर जाकर चाय बनाने रखी और बाथरूम में कपड़े बदलने के लिए चली गईं.

देसी सेक्सी चुदाई

इस बार मैंने अपने दोनों हाथ कोमल की गांड पर ले जाकर उसकी गांड को सहलाना शुरू कर दिया था. दुध-मुँहे बच्चे की परवरिश की सारी ज़िम्मेदारी अम्मी और मेरी जवान हो चुकी बहन ज़ेबा पर आ पड़ी. मैं उसकी चूचियों को दबाने लगी और फिर उसके निप्पलों को मैंने चूसना शुरू कर दिया.

अम्मी के जाते ही मैंने दरवाजा लगा दिया … जल्दी जल्दी खाना खाया और प्लेट वगैरह धुलने में रख कर कमरे की तरफ आ गया. ’क्या आज वसुंधरा ने अपने प्युबिक-हेयर साफ़ किये होंगें?” मेरे मन में सवाल उठा. तो उन्होंने मेरे दोनों हाथों को अपने हाथों से पकड़ा और दीवार से सटा दिया.

मेरे इस अचानक हमले से बेखबर चाची की चीख निकल गयी और वो मेरी पीठ पर नाखून गड़ाने लगीं.

तुम इसे बचाने की कोशिश मत करो।और नेहा को देखकर कहा- तुमने कैसे कह दिया कि ये अच्छे नहीं लग रहे हैं? तुम्हें अच्छे बुरे के बारे में पता ही क्या है?नेहा बार बार सॉरी मैम, सॉरी सर की रट लगाये हुए थी. अम्मी की चोली ऊपर खिसका कर मैंने अम्मी की चूचियां पकड़ लीं और अम्मी की गांड मारने लगा. ‘कांटा लगा’ गाना चल रहा थाबंगले के पीछेहायबेरी के नीचेहाय रे पिया …रीना मेरे पास आती, साथ में धीरज को घूरती रहती थी.

साब अब लड़खड़ाता हुआ खड़ा हुआ और मेमसाब और शीला का सहारा लेते हुए अपने कमरे में जाने लगा. लेकिन तुम मुझे खास मेहमान समझकर या डर कर सर्विस दे रही हो तो रहने दो।मेरी इस बात के जवाब में हीना ने कहा- सर, क्या आप मुझे एक उपहार दे सकते हैं?मैंने कहा- हाँ कहो क्या चाहती हो!मुझे लगा कि कोई सामान या पैसे की बात होगी।पर उसने कहा- सर, मैं अपनी आबरू आपके हवाले करने वाली हूँ. फिर जब उनका लंड पूरा आकर लेकर चिड़िया से बाज़ बन गया और शिकार के लिए तैयार हो गया, तो वो उठे और बेड के साइड में खड़े हो गए.

जिसका मुंबई में एक छोटा सा बिजनेस है और अपनी इधर वो अपनी फैमिली के साथ रहते हैं. वो अपने हाथ से ही अपना लंड हिलाने लगा … और भार्गव कार चलाते चलाते ही मेरे उछलते हुए मम्मों देखे जा रहा था.

मैं बार बार बच्चे को देखने के बहाने ज़ेबा के क़रीब होने का मौका तलाश करने लगा. तो मैंने उन्हें नीचे उतरने को कहा, वो उतर गईं और बेड पर सीधी लेट गईं. लेकिन फ़ोन पर वसुंधरा खुश क्यों नहीं सुनाई पड़ रही थी?तो उसका जवाब तो यही हो सकता है कि इश्क़ की दुनिया का हिसाब उल्टा है.

फिर वो फ़ाइल दिखाने को बोला तो मैं जैसे ही उसकी तरफ झुकी, उसने पीछे से मेरी गांड पर हाथ मारा और मेरी गांड दबाने लगा.

जब मैं भाभी के करीब गया तो उसने उठ कर मेरे पैर छूना चाहा लेकिन मैंने भाभी को अपने पैर नहीं छूने दिया. मेरा हाथ पकड़कर चाचा बेडरूम में ले आये और बोले- दरअसल मैं रात से बड़ी उलझन में हूँ. चपत लगते ही संजू चिहुंक उठी और मुस्कुराकर बोली- लगता है वाकयी में बहुत ब्लू फिल्म देख चुके हो.

दीपिका मुझसे बुरी तरह से लिपट गई और अपनी जांघों को मेरे ऊपर दबाने लगी. लेखक की पिछली अन्तर्वासना हिंदी स्टोरी:मेरी माँ की कामवासनामेरा नाम आयुष है और मैं ठाणे में काम करता हूं.

तभी चाचा उठे, मेरी टांगों के बीच आकर उन्होंने मेरी चूत के लब खोलकर अपना लण्ड रख दिया, चाचा का लंड बहुत गर्म और चिकना था. फिर राजीव ने मुझे अपने दूर करके अपने कपड़े उतारने शुरू कर दिए और पूरा नंगा हो गया. कुछ दिन कॉलेज में सब ठीक ही था मैं रीतेश सर को घूर घूर के देखती थी और वो भी मुझे चोर निगाहों से देखते थे.

एक्स वीडियो सेक्सी फिल्म

अब शीना संजना की गांड में अपनी जुबान घुसा रही थी और मैं उसकी चूत में अपना लौड़ा घुसा कर धक्के मार रहा था.

अगर वो तैयार हुई तो हम तीनों आज मजा लेते हैं।वो एक बार में ही तैयार हो गया।उसके बाद मैं होटल आ गया, होटल में सुमन लेटी हुई थी। मैं भी उसके बगल में लेट गया।शराब की महक सुमन ने भाम्प ली, उसने तुरंत कहा- अरे तुम वहाँ पीने गए थे क्या?अरे नहीं वो दोस्त है और ये सब तो होता हैं दोस्ती में! तुम्हें भी पीनी है क्या?”कल तो पिलायी थी. दूर बर्फ से लदे पहाड़ों के नज़दीक रह-रह कर कौंधती बिजली अपने आइंदा इरादों का खुल कर ऐलान कर रही थी. जब मैं पूरी तरह से खत्म हो गया, तभी जाकर मैंने अपना लौड़ा उसके मुँह से बाहर निकाला … तब तक वह पीती ही रही.

मेरा दोस्त भी मेरी इस दरियादिली पर बहुत खुश हो गया। थोड़ी देर साथ में किताब पढ़ने के बाद हम भी अपने अपने घर के लिए निकल लिये।अगले दिन मैं टाइम से पहले जाकर सपना का इंतजार करने लगा। थोड़ी देर में वो आ गयी। मैंने उसे अपने बगल में बैठाया और उसका हाथ अपने हाथों में लेकर उससे प्यार मोहब्बत की बातें करने लगा।कुछ ही दिनों की मुकालात में मैं उसे अपने शीशे में उतार चुका था. धीरे धीरे मयंक ने सोनम की पैंटी को अपने दांतों से खींचना शुरू किया. रेखा सिंह का सेक्सी5 मिनट की चूत चुसाई के बाद मैं शालिनी के मुख में झड़ गयी और वो मेरा सारा पानी पी गयी.

जीजू ने कहा- एक दिन पहले बता देना तो मैं आ जाऊंगा।और जीजाजी वापस चले गये।कोई 20 दिन के बाद नज़मा के मामू के यहां पर कोई प्रोग्राम था तो उसके अम्मी अब्बू वहां गए और नज़मा की एग्जाम होने की वजह से उसे नहीं लेकर गए। और उसके पास रहने के लिए मुझे बोल कर गए।जैसे ही उसके अम्मी अब्बू गए तो मैंने जीजाजी से बात कर ली और कहा- आज मौका है मेरी सहेली का काम करने का!तो जीजाजी ने कहा- मैं रात को 10 बजे आ जाऊंगा. वो अपनी चूत में उंगली डाल रही थी और बोल रही थी- प्लीज़ फॅक मी यार … इतना मत तड़पाओ, नहीं तो मैं मर जाऊंगी।फिर मेरे हाथ में गाजर देख कर बोली- इसका क्या करोगे?मैं- देखती जाओ।मैंने नित्या को उठाया किस करने लगा। नित्या को लंड चूस कर खड़ा करने को बोला।नित्या ने मेरे लंड को चूस चूस कर खड़ा कर दिया।मैंने नित्या को तेल की शीशी दी और कहा- तेल को मेरे लंड पे अच्छे से लगाओ.

यह सब सोचते-सोचते पता ही नहीं चला कि मैं कितनी देर तक संजना को चोदता रहा था. मेरे बार बार कॉल करने पर उसने फोन उठाया और फोन उठाते ही मुझे गालियां देना शुरू कर दिया. मेरी हवस पहले हो राजीव का लन्ड देखकर उबाल खा रही थी, जिसे शालिनी ने चूत चाटकर और ज्यादा भड़का दिया था।अब मैं ‘आआह हहआ आहह हह हहह … मेरी जान चाट मेरी चूत को … खा जा साली को … बहुत तड़पती है बहन की लोड़ी … आआआ आहआ आआ शालिनी … मेरी रंडी चूस … आहह हह अहह बहनचोद’ बोल रही थी.

प्रिया ने दिन में ही अपनी चूत चिकनी की थी सुनील का लंड लेने के लिए और मजे ले रहा था विशाल. मेरा उसके घर आना जाना इतना अधिक हो गया था, समझो कि मैं उसके घर का ही सदस्य बन गया होऊं. ये उसके आगे की घटना है।पिछली घटना याराना का चौथा दौर की कहानी मुझे अपने साले श्लोक ने गोआ जाते वक्त सुनाई थी। उस वक्त रास्ते में हमने तय किया था कि याराना के जितने भी यार थे, उनको सबको एक साथ इकट्ठा करके एक महायाराना का मजा लिया जाये.

जब मेम रानी आगे को चूतड़ करती तो मैं पीछे को करता जिससे लौड़ा लगभग पूरा ही बाहर आ जाता.

मैंने लंड को चूत के मुंह पर सटाया हल्के से धक्का मारा जिससे सिर्फ टोपा चूत में घुस गया और रानी की बुर में भरे रस में सराबोर हो गया. इतना कि बस उसका लण्ड ही बाहर निकला हुआ था।उसने मेरी पीठ पर चूमते हुए एक हाथ को मेरी कमर से नीचे ले जाकर चूत को सहलाना शुरू कर दिया और दूसरे हाथ से अपने लण्ड को मेरी जाँघों के बीच में घुसेड़ना शुरू कर दिया।मैंने उसकी कोशिश को देखते हुए अपनी टांगों को थोड़ा फैला दिया जिससे उसका लण्ड मेरी जाँघों के बीच में पूरी तरह से फिट हो गया.

उनकी अकड़न कम करने के लिए मैंने चूसते हुए थोड़े थोड़े दांत भी गाड़ने शुरू किये. इस वक्त कमरे में फच फच फच की आवाज़ सुनाई दे रही थी और कोमल जोरों से चिल्ला रही थी. उसने कहा- देख अगर तू मुझे खुश रखेगा, तो मैं तुझे किसी बात से नहीं रोकूंगा.

जब मैं न रहूँ, तो अपने साहब को अपनी चूत का सुख दे दिया करना, बेचारे उसके बिना तड़पते रहते होंगे. मुझे किसी ऐसे लंड की तलाश थी जो मेरे मोटे और रसीले वक्षों को निचोड़ दे और मेरी प्यासी चूत को अपने लिंग के रस का अमृत पिला दे. दोनों खलासी ने मेरा एक एक हाथ पकड़ कर खींचा और मेरा टॉप नीचे गिर गया.

हिंदी मूवी बीएफ सेक्स साथ ही उसने भी एक धक्का मार दिया तो उसका पूरा लंड मेरी चूत में जड़ तक चला गया. दरवाजा बंद होने से कमरे में अँधेरा हो गया तो शीला ने सँभालते हुए बाथरूम की लाईट खोल दी जिससे कमरे में हलकी रोशनी आ गयी.

ब्लू वीडियो चुदाई

भाई और मैं जब नशे में टुन्न हो गए, तो भाई बोला- आज कुछ नया करते हैं. मैंने चूचियाँ छोड़कर दीपिका की स्कर्ट में हाथ डाला और पकड़ कर स्कर्ट को नीचे खींच दिया. चपत लगते ही संजू चिहुंक उठी और मुस्कुराकर बोली- लगता है वाकयी में बहुत ब्लू फिल्म देख चुके हो.

लाइट जलते ही हनी ने अपनी नाइटी नीचे कर दी और तकिये में मुंह छिपा लिया. मोनू फिर सीमा को बोला- तेरी फाड़ दें क्या?सीमा बोली- नहीं, अभी तो प्रियंका की फाड़ दो. ब्लू फिल्म भेजो सेक्सी ब्लू फिल्मवे चाहतीं तो अपने मुँह में फंसी स्पोर्ट्स ब्रा निकाल सकती थीं … लेकिन उन्होंने ये करने की कोशिश तक नहीं की.

उसने जीजा का नाम तो बता दिया पर फोटो नहीं दिया।फिर धीरे-धीरे हमारी साधारण बातें होने लगी। सामान्य बातों से देर रात तक बातें होने लगी। हम दोनों की बातें धीरे-धीरे प्यार की तरफ़ जाने लगी।मेरे पहले भी 2 लड़की के साथ अफेयर रह चुके थे तो मुझे उसके साथ कोई प्यार नहीं था.

उसे देख कर ऐसा लग रहा था कि किसी कलाकार ने संगमरमर की मूरत को मेरे सामने एकदम नग्न खड़ा कर दिया हो. एक खलासी उठ कर ड्राईवर की सीट पर चला गया और ड्राईवर पिछली सीट पर आ गया.

यदि आपको मजा लेना है तो आपको मुझे अपना पति ही समझना पड़ेगा। आपने देखा नहीं कैसे आपकी बेटी अपनी टांगें उठा-उठा कर मेरा लण्ड अन्दर तक ले रही थी। वैसे ही आप भी जब करेंगीं तभी इस लण्ड का पूरा मजा ले पायेंगी। वैसे एक बात कहूं ‘आपकी चूत आपकी बेटी की चूत से बहुत मस्त है. फिर मुझे खड़ा करके उसने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और अपनी चुत के रस को मजे से चूसने लगी. और वो?वो हंसने लगी- पहले सब सही था, पर पता नहीं क्या हो गया … फैल गए हैं, तब से कभी कभी ही हो पाता है.

वो मेरी तरफ देखते हुए बोलीं- ऐसा क्या कर दिया रे तूने?मैं उन्हें ऐसा बोलता देख थोड़ा कन्फ्यूज था.

गुड्डी रानी किलस के बोली- बहनचोद कितना शोर मचाया तूने … पता है बाहर लिफ्ट तक तेरी चिल्लाने और घुंघरू की छम छम का हल्ला मच रहा था … पड़ोसी भी क्या सोचते होंगे कि पता नहीं कौन से डांस की प्रैक्टिस हो रही है जिसमें इतना चीख़ना पड़ता है … हरामज़ादी शांति से नहीं चुद सकती तू?मेमरानी ने कहा- अरे अब तो हो गयी न चुदाई पूरी … और कुतिया तू कम चिल्लाती है क्या जो मुझ पर इल्ज़ाम लगा रही कमीनी. मेरी रीढ़ की हड्डी में एक बिजली का करंट ने दौड़ लगायी और ऐसा लगा एक कुछ मोटी सी चीज़ रीढ़ की हड्डी में ऊपर से भागती हुई नीचे लंड में समा गयी. सुबह से ही मेरी गांड में दर्द हो रहा था और ठीक से चला भी नहीं जा रहा था.

आरती भाभी सेक्सीजिया- अगर भाई को पता चल गया, तो आपके साथ मेरी जिंदगी भी बर्बाद हो जाएगी … फिर भाई आपकी तरह मेरी भी शादी करवा डालेंगे. मैंने लंड को बिना देखे फटाक से मुँह में डाल लिया और किसी रांड की तरह लंड चूसने लगी.

এক্স ভিডিও বিএফ

तुझे ऐसे चोदूंगा कि ना तुझे कोई दूसरा दिखाई देगा और ना ही और कुछ भी दिखाई देगा. अगले ही पल मेरे दोनों हाथ उसके चूचों पर टिक गए थे और मैं भाभी की गर्दन को पागलों की तरह चूमने लगा. सोने से पहले वहां से लाई टेबलेट में से दो गोली पत्नी ने चुपके से गले में डाल कर पानी के साथ निगल लीं.

मुद्रा बदल बदल के बेबी रानी ने अपना पूरा बदन दिखाकर मेरी आँखें हरी कर दीं. मैंने अपनी बीवी की नाइटी खोल दी और उसकी नाइटी को उसके बदन से अलग कर दिया. इस पर दादी ने कहा- कोई छोटा सा गाना ढूंढ ले बेटा … और थोड़ा सा ठुमक कर सबका दिल रख ले.

मैं किसी भी तरीके से अपनी सहेलियों से पीछे नहीं रहना चाहती थी, पर जवानी की दहलीज पर आकर लग रहा था कि मेरी सहेलियां मुझसे पहले जवान हो गई थीं. कभी जेठजी अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल देते, तो कभी मैं उनके मुँह में अपनी जीभ घुसेड़ देती. जीजा जी- हां, अपनी बहन चोदने में मजा आता ही है, मुझे भी सबसे ज्यादा आलिया के साथ चुदाई करने में मजा आया.

मैं बोली- मेरी जैसी या ये चाहता है कि मैं ही बन जाऊं?पहले तो वो शांत हो गया और बस मुझे देखने लगा. तभी दीदी आकाश को देखकर मुस्करा दीं और उसके बाद हम सभी अपना पैग खत्म करने लगे.

मैंने कहा- अगर आप पेट से हो गयी तो?वो बोली- मैं तुम्हारे बच्चे को अपने पेट में और इस दुनिया में लाना चाहती हूं.

इस सेक्स स्टोरी में आपने एक चुदक्कड़ लड़की की चुदाई की लालसा का मजा लिया. सेक्सी एक्स एक्स एक्स सेक्स वीडियोसोनम का एक हाथ मेरे लंड को सहला रहा था और दूसरी तरफ दूसरा हाथ मेरे दोस्त मयंक के लंड को सहला रहा था. फुल सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्सउसके बाद क्या हुआ?दोस्तो, एक बार फिर से आप सभी को मैं उस रॉंग नम्बर वाली लौंडिया की देसी सेक्स चैट कहानी के दरिया में नहलाने आ गया हूँ. इस बीच वो मेरे लंड को भी हिला रहा था तो मेरे लंड ने भी पिचकारी छोड़ दी.

अब बारी थी असली काम की … नशा भी चढ़ चुका था!सीमांशी उठते हुए बोली- आप लोग लीजिये, मैं अभी आती हूँ!उसके जाते ही रोहिताश ने मुझे बोला- अब आगे क्या विचार है?मैंने उसे समझाया- तुम बाथरूम में जाकर ही सीमांशी को किस करो, उसमें थोड़ा जोश जगाओ!रोहिताश ने तुरंत ही मेरा कहा मान कर उसको चूमना शुरू कर दिया.

वो भी परम संतुष्टि के भाव से हट कर बाथरूम में जाकर फ्रेश होकर बाहर आ गयी. आज होलिका दहन था … तो मम्मी ने जल्दी घर आ जाने के लिए कहा था … ताकि मुहल्ले वालों के साथ रह कर होलिका दहन मना सकें. जब मन करता था हम दोनों सेक्स करते थे अलग अलग पोजीशन में … अलग अलग जगह … अलग अलग लिबास में!वो सच में काम की देवी है.

वो अपने बड़े से मुँह में मेरा छोटा सा मुँह ऐसे खा रहे थे, जैसे कि मेरा मुँह नहीं, कोई गुलाब का फूल हो. सबेरे अगर मैं दस बजे भी घर से निकलूं तो सारा काम निपटाता हुआ मैं आराम से चार बजे तक डगशई पहुँच सकता था. फिर वो फ़ाइल दिखाने को बोला तो मैं जैसे ही उसकी तरफ झुकी, उसने पीछे से मेरी गांड पर हाथ मारा और मेरी गांड दबाने लगा.

एक्स ब्ल्यू फिल्म हिंदी

अविनाश ने पल्लवी की चूत चूस चूस कर उसे इतना उत्तेजित कर दिया कि पल्लवी शायद झड़ ही गयी और उसने अपने पाँव ढीले छोड़ दिए और बैठ गयी. आप बस कॉल पिक कर लेना और सब कुछ देखना और सुनना।रोहन मेरे सामने ही उठा और अपने बैग से टेबलेट निकाला. अमनप्रीत अपना लंड अपनी पैंट की जिप से बाहर निकाल कर बेड पर लेटा हुआ था.

तभी प्रिया ने मसाज आयल उसके और अपने मम्मों पर और सुनील की छाती पर उड़ेल दिया.

फिर मैंने बिना रुके ताबड़तोड़ आठ दस धक्के पूरी ताकत से साली जी की चूत में और लगा दिए ताकि चूत अच्छे से खुल जाये.

हम तीनों ने मिल कर साथ में खाना खाया और फिर मेरी बीवी ने टीवी पर ब्लू फिल्म चला दी. मैं वापिस आया, तो उसने अपना अंडरवियर दुबारा पहन लिया था जो मुझे अच्छा नहीं लगा. राजस्थानी जंगल में मंगल सेक्सी वीडियोउन दोनों की इस काम क्रीड़ा को मैं खिड़की से देखते हुए अपना लंड हिला रहा था.

ये मेरा पहला अवसर था जब कोई लड़की मुझे इस तरह से अपने करीब लेकर बिस्तर पर थी. तौलिये के अंदर हमला होते ही लंड ने बगावत कर दी और तन गया, टॉवल नीचे गिर गया. अनीता ने शीला को फुसफुसा कर कहा- इसके बस की कुछ नहीं है पर इस समय अपनी जान बचाने के लिए साब को भी घसीट लो इसमें.

[emailprotected]मेरी जेठ जी के लंड से चूत चुदाई की कहानी जारी रहेगी. नताशा- अपनी दीदी को भी ऐसे चोदते हो?मैं- हॉट फिगर देखकर लंड काबू में नहीं रहता है.

वो कराहने लगी- आह्ह … मार डाला आआ … आह्ह … आराम से यार!दर्द के मारे उसकी आंखों में पानी आ गया.

जैसे ही मैंने उसकी चूत पर जीभ लगाई, वो तड़प उठी और गांड उठा उठा कर चूत चटवाने लगी. कोमल- कैसी शर्त?मैं- मुझे आज तेरी गांड मारनी है … क्योंकि तेरी गांड बहुत मस्त लग रही है. शीला घूमी और जैसा उसने एक दिन पहले देखा था, उसने अपने होंठ अरविन्द के होंठ से मिला दिए और एक हाथ उसके तौलिये के अंदर कर दिया.

सुमित्रा की सेक्सी वीडियो मैं सोच रही थी कि जेठजी अब मुझे अपना लंड चूसने को बोलेंगे या फिर मेरी चूत को चाटेंगे. यानि, एक का मुंह दूसरी की चूत पर, दूसरी का मुंह तीसरी की चूत पर और तीसरी का मुंह पहली की चूत पर.

मैंने सोचा कि आज मौका है, उसे प्रपोज करके देखता हूं कि क्या होता है. ऑफिस का काम करते करते थक गया, तो छत पर फ्रेश हवा लेने जैसी ही बाहर निकला. उसके दो दिन बाद फिर से उन्होंने अपनी गांड की खुजली मेरे लंड से मिटवाई.

देहाती बूर

अब दोनों की सांसों की आवाजें धीरे धीरे कम होती जा रही थी।इस सब काम में बाबूजी को लगभग 15 मिनट लगे थे, करीब दो मिनट बाद बाबूजी ने भाभी के होंठ चूमे और गाल थपथपाये और बिस्तर से उतरने लगे. इसे पाने के लिए या तो मैं बाहर जाती … और कोई देख लेता तो बड़ा खराब लगता. शरीर के बदलाव के साथ ही हमारे स्वभाव मिजाज व्यवहार और हंसी मजाक के तौर तरीकों में भी बदलाव होने लगा.

अम्मी की बात सुनकर मैं जितना चौंका, उससे ज्यादा मैं अम्मी की मांसल जांघें देखकर चौंक गया था. रात को मैं अपनी स्कूल की पढ़ाई कर रही थी कि अचानक से मुझे इकरा की बताई हुई वेबसाइट याद आयी तो मैंने सोचा कि चलो देखते हैं कि उसमें क्या है.

दोनों ने अब तक मेरी जांघें भी फैला दी थीं और मेरी चुत पर उंगली फिराने लगे.

वो लगातार अपने धक्के लगा रहा था और मुझे इतना अलग लग रहा था कि मैं उसकी पीठ भी सहला रही थी. जिस तरह उन्होंने मेरी मालिश की थी, उसी तरह मैं भी उनकी मालिश करता रहा. मैं मुंबई एयरपोर्ट पर शाम को करीब सात बजे पहुंचा, मुझे लेने के लिए जीजा जी आए थे.

मैंने इधर उधर देखा और किसी को अपनी तरफ न देखते हुए, मैंने अपना गिलास थोड़ा टेढ़ा करते हुए उनके ऊपर गिरा दिया. मैं बोला- आज सिर्फ देख देख कर हाथों से ही करता रहेगा क्या?मेरी बात समझ कर राहुल अपनी जीभ निकाल कर मेरे निप्पल्स पर फेरने लगा. अब पायल ने आंखें नचाते हुए कहा- हां तो समधी जी, कल संगीत पर आप किस गाने में परफार्म करेंगे.

आपको अन्तर्वासना भाभी की चुदाई हिन्दी में सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताना.

हिंदी मूवी बीएफ सेक्स: मैंने उसको जमीन पर सीधी करके लेटाया और खुद घुटनों पर आकर उसकी टांगों को ऊपर अपने कंधे पर रख दिया. ये बोल कर वो ड्रेस लेकर बाथरूम में जाने लगी, तो मैं बोला कि यहीं मेरे सामने बदल लो.

मैंने चोदते हुए नीरा से पूछा- नीरा, मजा आ रहा है ना?नीरा- हाँ अमन, बहुत मज़ा आ रहा है. वो भी अपनी जवानी को किसी के हाथों में सौंपने के लिए जैसे तरस रही थी. एक दिन मुझे प्यार से सहलाते हुए माई से बोले- सीमा की माई, अपनी गुड़िया बड़ी हो गयी है, इसकी शादी के बारे में क्या सोची हो?वो बोली- हां कह तो सही रहे हैं.

मयंक उसकी नंगी चूचियों को देख कर अपना कंट्रोल खो बैठा और उसकी चूचियों को एक एक करके पीने लगा.

अब मेरी बीवी से भी नहीं रुका गया और उसने अमनप्रीत के लंड को अपने मुंह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगी. चाची की 38 इंच की गांड को सलवार में देख कर ही मेरा लंड फटने को हो जाता था. फिर हीना थोड़ी नीचे सरकी और काम वासना से लाल हो चुकी अपनी नजरों से मुझे एक बार और निहारा और मेरे मुंह पर अपना मुंह टिका दिया.